Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM
पहली बार जब उसने अपनी नई मकान-मालिकन पर नजर गड़ाई, जो एक विधवा और उससे ग्यारह साल बड़ी है, तो उसे एक मौका दिखाई पड़ा। उसके पास अमीर बनने का एक प्लान है और वह उसे पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करता है, जब तक कि उसकी मुलाकात पीहू से नहीं होती। वह एक अपरिपक्व टीनएजर है, जो नील को चाहती है, और आंख मूंदकर मान लेती है कि वह एक फरिश्ता है, जो उसकी जिंदगी की सारी मुश्किलें दूर कर देगा। बेवजह की इस चाहत और प्लान का कांटा बनती पीहू से नील नफरत करता है, लेकिन नील को बेहतर इनसान बनाने की पीहू की जिद नील को अंदर तक झकझोर देती है। क्या पीहू उसे बदल पाएगी? क्या जो इनसान सारी हदों को पार कर चुका है, उसका हृदय बदला?
Read More
Transcript
View transcript

नौ अंततः शनिवार का देना ही गया जिसका बहुत समय से इंतजार था । मुझे अनुशासात्मक समिति द्वारा बुलाया गया था । समिति के असहज बैंच मुझे मेरे पीछे से तंग कर रही थी और मेरा इंतजार करना और भी ज्यादा तनावपूर्ण बना रही थी । मैं लगभग एक घंटे से इंतजार कर रहा था और कुछ भी करने के लिए नहीं था । सेवाएं प्रतीक्षा के ऐसा था जैसे मेरे लिए ये निर्णय लेने जैसा हो कि मैं स्वर्ग में रहूंगा । ये नरक में मैं खुद को ऐसा महसूस कर रहा था हैं जैसे मैं बलिदान के लिए तैयार की गई भेड हो । एक चपरासी मेरे पास आॅल वे आपको अंदर बुला रहे हैं हूँ । मुझे बैंच छोडने के लिए खेद नहीं था लेकिन मुझे अगले कदम उठाने के लिए कुछ प्रयास करने थे । पूरा मामला भरा हुआ था । तीन महिलाओं सहित ग्यारह शिक्षक एक लंबी में इसके पीछे बैठे थे । मैं इस तथ्य के बारे में जानता था कि उनमें से कुछ बहुत ही बेकार शिक्षक हैं जिन्हें अपने विषय को पढाने के लिए बहुत कम ज्ञान था । इसलिए स्वैच्छा से पूरी पीढी की नैतिक जिम्मेदारी ले ली थी । मैंने देखा था कि उनमें से कुछ स्कूल में अपना पूरा समय ये देखने में बर्बाद कर रहे थे कि जिसमें उन्हें ये देखना था कि कौन सा लडका किसी लडकी के साथ घूम रहा था कि इनकी स्कर्ट बहुत छोटी थी । इनके मौजे बहुत कम लम्बे थे और इसी तरह के सभी विवरण । मुझे पूरा यकीन नहीं था कि क्या ये वास्तव में उनके कर्तव्य क्षेत्र का हिस्सा था? क्या उनकी झाऊ के प्रति कर्तव्य था? स्कूल दोपहर दो बजे समाप्त हुआ और हम चार बजे सब समाप्त सा हो गया था । कमरे में कोई भी जल्दी में नहीं लग रहा था । उनके चेहरे पर कोई बेचैनी नहीं थी । वे सफेद से देख रहे थे कि जैसे वह दुनिया में हर समय था । वास्तव में वे मजेदार शो के शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं । जैसे कोई मजेदार मूवी चलने वाली नहीं । मैंने लंबी में इसके दूसरी तरफ रखी हुई एकमात्र अकेली गोरसी को लिया । मुझे लगभग दो मीटर दूर बैठाया गया । जैसे कि कहीं मैं उन पर कुछ उछाल दूंगा या अगर में बहुत करीब बैठूंगा तो उन्हें मार दूंगा । किसी भी बढिया के बिना उनमें से सबसे पुराने में से एक प्रिंसिपल ने मुझे कडाई से बात करनी शुरू की । श्रीमान नील कुमार हमें एक लिखित शिकायत मिली है कि आप एक छात्रा को निजी तौर पर पढा रहे थे । मैं अंदर तक हिल गया था । क्या ये निजी ट्यूशन के लिए केवल विस्तृत सेंटर पर? मैंने माना कि अनन्या के माता पिता उच्च पद पर कार्यरत थे । तभी उनकी बेटी का नाम जांच में आया । इसके अलावा उसे नाम देने और आरोप लगाने से घोटाला हो गया होगा । मैंने माना कि वे उन आरोपों से बचना चाहते थे । आदरणीय प्रिंसिपल मैडम ने एक पेपर को पढना जारी रखते हुए तथा स्कूल के नियम स्पष्ट रूप से बताते हुए की, आपको ऐसी गतिविधियों में शामिल नहीं होना चाहिए । फिर उन्होंने अपने दोनों हाथ बांधकर में इस बार रखते हुए मेरी तरफ देखते हुए मुझसे पूछा कृप्या ये बताइए कि ऐसा करने के लिए आप की क्या मजबूरी थी? आप आरोप स्वीकार करते हैं, ऐसा मेरा मानना है । आरोप मुझे लगा जैसे भारत का मुखिया मेरे खिलाफ फैसला घोषित करने वाला था और सबसे बुरा हिस्सा ये था कि मुझे बचाने के लिए कोई नहीं था । क्या आरोप स्वीकार करते हैं? उन्होंने अपनी आवाज ऊंची जब की सभी मुझे बिना पलक झपकाए देख रहे थे । नहीं मैं उन्हें स्वीकार नहीं करता हूँ । मैं विनती करता हूँ एक बार फिर से गौर कीजिए । मैंने किसी स्वतंत्रता सेनानी की तरह बाद की और अंग्रेजों के सामने आत्मसमर्पण करने से इंकार कर दिया । हमें पता चला है कि एक छात्रा अक्सर आपके कमरे में आती रहती हैं । उसने अपनी बात समाप्त किया और समिति के पुरुषों को देखकर समझ सकता था कि वे बडे खुश थे और एक दूसरे की ओर एक अजीब चमक से देख रहे थे । मैंने अपने सारे को इकट्ठा किया और उन परिस्थितियों में जितना संभव हो उतना विनम्रतापूर्वक उत्तर मैडम । मैंने उसी रात में आपको सब कुछ समझाया था जब मुझे स्टाफ क्वार्टर छोडने के लिए कहा गया था । मैंने अनन्या के बारे में भी आपको बताया था । मैंने आपको बताया था कि वह अपने सवालों से संबंधित संदेह दूर करने के लिए आई थी लेकिन बॅाल आपसे सुनना चाहता है । आरोप लगाने और सफाई देने का शुरुआती दौर पूरा हो गया था । मैंने एक लंबी साथ नहीं अनन्या को गणित की कुछ समस्याओं पर चर्चा करनी थी जिसके लिए वो अपनी माँ के साथ मेरे घर पर आती थी । मैंने उससे कभी पैसे नहीं लिए । वो सिर्फ दो बार समझाने का दौर था जिसके लिए पैसे लेने की आवश्यकता नहीं थी । वो किसी भी तरह से ट्यूशन नहीं था, बल्कि स्थिर परामर्श था, क्योंकि बदले में मैंने कोई फीस भी नहीं मांगी । बनावटी हंसी यहाँ अधिक आप हो गई । मैंने कडवाहट भरा शब्द फीस का हो । उन्होंने कल्पना करने शुरू कर दी होगी कि अगर नगर नहीं है तो मुझे कुछ दयालु भुगतान किया जाना चाहिए । मैं इतना मूर्ख कैसे हो सकता था? हूँ? मिस्टर नील एक छात्रा परीक्षा के बाद भी आ रही है और काफी लंबे समय तक वो सब चल रहा हूँ । आॅटो में से एक बयान ने कई व्यंगात्मक बहुत है उठाई । मैं चुप रह गया । मैंने अनुमान लगाया कि वे उन घंटों के बारे में अधिक जानते थे । मैंने गुजारे थे ऍम आपके गैर जिम्मेदाराना व्यवहार के कारण अन्य छात्राएं भी ट्यूशन की मांग कर रहे हैं । इन सब के चलते किसी के लिए कोई अधिमान ने उपचार नहीं होना चाहिए । वह मुझ से पेपर पर चर्चा कर रही थी, क्योंकि उसने महसूस किया कि उसने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था । लेकिन अगर आप को लगता है कि वह चार वरीयता के तहत था तो मुझे खेद है । मैं सुनिश्चित करता हूँ कि भविष्य में इसे दोहराया नहीं जाएगा । आप क्या पढा रहे थे? जी विज्ञान एक शिक्षक ने मजाक कर दिया उनमें से बाकी की राशि छोटे जैसे कि उन्होंने सबसे मजेदार मजा किया था । प्रिंसिपल और मैं गंभीर बने रहे । कमरा बेकार के लोगों से भरा था जिसमें सभी को अपने मालिक को खुश करने के लिए चापलूसी की भाषा में महारत हासिल थी । मुझे अपना शिकार बनाने में असमर्थ एक टिप्पणी से दूसरे पर जाते हैं । एक शिक्षक ने बडा साहसिक प्रश्न किया, क्या आपने उसके साथ सेक्स किया था? मैंने अपनी कलाई घडी पर देगा एक बिंदु बनाने के लिए उन्हें पंद्रह मिनट लग गए थे । ये सब बेकार का ड्रामा और बकवास अनुशासात्मक समिति ऍफ इस बात में दिलचस्पी रखते थे कि क्या मैंने सेक्स किया था? गलती नहीं मान रहा था क्योंकि इस बार मेरी एकमात्र गलती नहीं थी । नहीं मैं ऐसा क्यों करूंगा? मैं उसका शिक्षा को और ट्यूशन में ये सारी बातें कहाँ से आ जाती है? सब तरफ फेंक असहज माहौल था । वे मेरी इस रूकी प्रतिक्रिया से खुश नहीं । क्या आप कुछ और पूछना चाहते हैं? मैंने स्पष्ट रूप से अपनी ना पसंदगी को जाहिर किया । मिस्टर नीलेश बाहर इंतजार कर सकते हैं । हम आपको जल्दी कॉल करेंगे । प्रिंसिपल ने निर्देश दिया, असहज बैंच पर कुछ देर और इंतजार करने के बाद फैसले की घोषणा की गई । मुझे दोषी पाया गया था । मैंने सोचा कि कैसे और क्यों? लेकिन फिर ये समझ आ गया कि स्कूल की छवि मेरे जैसे शिक्षक की तुलना में कहीं अधिक महत्वपूर्ण थी । ये दो विकल्प दिए गए थे । या तो मैं अपना इस्तीफा दे सकता हूँ, नोटिस की अवधि तक सेवा कर सकता हूँ और फिर छोड सकता हूँ । यावे मुझे तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर देंगे । अगले ही दिन मैंने अपना इस्तीफा दे दिया और आपने नोटिस अवधि के दिनों की गिनती शुरू कर दी ।

Details
पहली बार जब उसने अपनी नई मकान-मालिकन पर नजर गड़ाई, जो एक विधवा और उससे ग्यारह साल बड़ी है, तो उसे एक मौका दिखाई पड़ा। उसके पास अमीर बनने का एक प्लान है और वह उसे पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करता है, जब तक कि उसकी मुलाकात पीहू से नहीं होती। वह एक अपरिपक्व टीनएजर है, जो नील को चाहती है, और आंख मूंदकर मान लेती है कि वह एक फरिश्ता है, जो उसकी जिंदगी की सारी मुश्किलें दूर कर देगा। बेवजह की इस चाहत और प्लान का कांटा बनती पीहू से नील नफरत करता है, लेकिन नील को बेहतर इनसान बनाने की पीहू की जिद नील को अंदर तक झकझोर देती है। क्या पीहू उसे बदल पाएगी? क्या जो इनसान सारी हदों को पार कर चुका है, उसका हृदय बदला?
share-icon

00:00
00:00