Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Transcript

1 - सुधार के बाद पुनरुद्धार

हाँ, आप सुन रहे हैं तो उनको असम पर भविष्य कुमार सिन्हा के लिखी किताब बडी जासूसी कहानियाँ और मैं आरजे निखिल ऍम सुनी जो मनचाही सुधर के बाद पुनरूद्धार एक गार्ड यानी चौकीदार जेल के जूतों की दुकान में आया जहाँ जिम्मी वैलेंटाइन बडी लगन से जूतों का ऊपरी भाग सिलने में लगा हुआ था और वो उसे अपने साथ फ्रंट ऑफिस यानी जेल के प्रवेश द्वार के निकट बने दफ्तर में ले गया । वहाँ वार्डन ने जिम्मी को उसका क्षमा पत्र सौंपा जिस पर गवर्नर ने उस सुबह ही दस्तखत किए थे । जिम्मी ने उस माफीनामे को बडे उचाट मन से हाथ में लिया । उसे चार साल की सजा हुई थी और अभी उसने करीब दस महीने की ही सजा का की थी । उसने सोचा था कि उसे अधिक से अधिक सिर्फ तीन महान जेल में रहना पडेगा । जब बाहर किसी आदमी के इतने सारे मित्र हो, जितने जिम्मी वैलेंटाइन ने उस जेल में बना लिए थे । ऐसे में उसके बहाल का करने का कोई अर्थ नहीं था । अब वैलेंटाइन वार्डन ने कहा, सुबह तो बाहर चले जाओगे, तैयार हो जाओ और एक इंसान की तरह समझ जाओ दिल से तो मैं बुरे आदमी नहीं हो तो जोरिया तोडना बंद करो और सीधे सच्चे बनकर जी हो मैं । जिम्मी ने कहा आज चले में क्यों? मैंने अपनी जिंदगी में कभी कोई तिजोरी नहीं थोडी हरे नहीं ऍम बेशक नहीं चलो अब देखते हैं क्या कारण था कि तुम ने उस स्प्रिंगफील्ड जॉब यानी दलाली करने के काम के लिए अपना नाम है जवाया क्या इसलिए कि तुम अत्यधिक कर कर समाज में किसी को जोखिम में डालने के भय से अन्यत्र होने का बहाना अपने सिर नहीं लेना चाहोगे? अथवा क्या ये सिर्फ किसी तुच्छ हम पुराने पंचनिर्णय का एक मामला था जिसमें तुम्हारे लिए ये इंतजाम किया गया था । तुम जैसे मासूम पीडितों के साथ हमेशा ऐसा या वैसा होता है मैं जिम्मी ने अभी भी खुद को पूरी तरह नहीं और ईमानदार जताते हुए कहा मैं अपनी जिंदगी में कभी भी स्प्रिंग फील्ड में नहीं था । इसे वापस ले जाओ । वार्डन ने कहा और इस से बाहर जाने वाले कपडे पहना दो सुबह सात बजे से खोल देना और आदेशपत्र के लिए आने देना ऍम बेहतर होगा कि मेरी सलाह पर विचार करो । अगली सुबह सवा सात बजे जी वार्डन के बाहरी कार्यालय में खडा था । उसने बनी बनाई कपडों के ऊपर एक भद्दा सूट पहना हुआ था और शहरों में सख्त चढ चलाने वाले होते थे । सरकार की ओर से यही वस्तुए बाध्यता वर्ष रिहा किए गए मेहमानों को देने का रिवाज था । क्लर्क ने उसे रेल टिकट और पांच डॉलर कहा । एक लोग कानून की अपेक्षा के साथ हम आया कि ये उदार मदद उसे भले नागरिकों के बीच सुख संपन्नता के साथ पुनर्प्रतिष्ठित होने के काम आएगी । वार्डन ने उसे एक सिगार दिया और हाथ मिलाए । ऍम नौ हजार सात सौ बासठ का नाम गवर्नर द्वारा जमा किए गए कैदियों की पुस्तक में दर्ज हुआ और इस औपचारिकता की पूर्ति के साथ ही महोदय जेम्स वैलेंटाइन ने जेल के बाहर चमकती धूप में अपने कदम बढाए । पक्षियों की कलरव, झूमते लहराते हरे वृक्षों और फूलों की सुगंध की परवाना करते हुए जिम्मी ने सीधे करे इस तरह की ओर रुख किया । वहाँ उसने भुने मुर्गे और एक बोतल वाइट वाइन के रूप में अपनी आजादी का पहला मीठा आनंद उठाया । फिर एक सिगार सुलगाई जो वार्डन द्वारा उसे दी गई सिगार से कहीं अधिक बेहतर थी । वहाँ से उठकर जिम्मी मस्त मस्त चलता हुआ डीपो पहुंच गया । उसने दरवाजे के निकट बैठे हुए एक अंधे आदमी के हैड में एक चवन्नी डाली और ट्रेन में चढ गया । तीन घंटे का सफर पूरा करके वो राज्य की सीमा के निकट एक छोटे से शहर में पहुंचा । वहाँ किसी माइक डॉन का एक था वो कैसे में गया और उसने माइक से हाथ मिलाया जो बार के पीछे अकेला बैठा हुआ था । अफसोस हम और जल्दी नहीं कर सके । जमीन मेरे बच्चे माइक ने कहा लेकिन हम ने गिरफ्तारी के खिलाफ स्प्रिंगफील्ड से वह विरोध प्रदर्शन कराया और वो गवर्नर लगभग हतोत्साहित हो गया था । ठीक महसूस कर रहे हो तो बढिया तो जिम्मी ने कहा तो मेरी चार ही मिली । उसने अपनी चाबी पकडी और ऊपर चला गया तो पिछवाडे में एक कमरे के दरवाजे का ताला खोलकर सब कुछ वैसा ही था जैसा वो छोडकर गया था । फर्ज पर अभी भी बेन प्राइस का कॉलर बटन पडा था जो प्रतिष्ठित जासूस की कमी से उस समय उखड गया था जब उन्होंने जिम्मी को गिरफ्तार करने के लिए पछाड दिया था । दीवार से फोल्डिंग बैड बाहर खींचकर जमीनी दीवार में एक केवार पीछे सरकाया और धूल मिटटी से ढका एक सूटकेस बाहर निकाला । उसने वो सूखी खोला और शुरू में सैम हमारी अर्थात चोरी में काम आने वाले उन सब उससे बढिया औजारों को बडे प्यार से देखा । ये विशेष रूप से टाइम पर किए गए स्टील से निर्मित हजारों का एक पूरा जिसमें नवीनतम डिजाइन के ड्रिल्स, छह तक हाथ वर्मा और पहने नुकीले टुकडे, लोहे की जाली काटने की आरी, क्लैम्प, बस और वैध नी आदि के अलावा दो तीन नए तरह की ऐसे हजार थे जो जमीन खुद बनाये थे और जिन्हें देखकर वो गर्व महसूस कर रहा था । इन्हें बनवाने के लिए उसने नौ सौ डॉलर से अधिक खर्च किए थे और जहाँ बनवाई थी वो जगह किसी कारोबार के लिए ऐसे हजार बनाने के लिए मशहूर है । आधे घंटे में जिम्मी सीढियों से नीचे उतारा और कैसे की बाहर निकल आया । अब उसने अपनी पसंद के बढिया कपडे पहने हुए थे जो उस पर फब रहे थे और उसके हाथ में वही सूटकेस था जिसे उसने झाड पहुंचकर साफ सुथरा कर लिया था । क्या कोई काम है? माइक डॉलर ने सौहार्दपूर्वक खासकर पूछा मुझे जिमी ने कुछ कुछ उलझन भरी आवाज में कहा । मैं नहीं समझता मैं न्यूयॉर्क हमलोग फॅमिली ट्वीट कंपनी का प्रतिनिधित्व कर रहा हूँ । इस वक्तव्य ने माइक को इतना अधिक खुश कर दिया कि जिम्मी को तुरंत एक फॅमिली कर लेना पडा । वो शराब को कभी हाथ भी नहीं लगता था । वेलेंटाइन चार हजार सात सौ बासठ को रिहा किए जाने के एक सप्ताह बाद रिचमंड इंडियाना में बडी सफाई से तेज चोरी साफ करने की एक घटना घटी । चोरी की सुबह रात को इतनी सफाई से अंजाम दिया गया कि किसी को भी कोई सुराग नहीं मिल सका । बस आठ सौ डॉलर कि थोडी सी रकम सुरक्षित रह गई । उस घटना के दो सप्ताह बाद लोगान स्पोर्ट में एक एकस्वर अधिकार प्राप्त पेटेंट कंपनी द्वारा निर्मित मजबूत सेंधमारी निरापद अलमारी को बडी आसानी से खोलकर पंद्रह सौ डॉलर चुरा लिए गए । प्रतिभूतियों और चांदी के सिक्के को चोर ने छुआ भी नहीं । बदमाशों को पकडने वालों की आंखे खुलने लगी । फिर जैप्सन सिटी में एक पुराने ढंग की बैंक तिजोरी सक्रिय हो गई । उसके क्षेत्र में से ज्वालामुखी के विस्फोट की तरह बैंक नोट उछल उछल कर बाहर आने लगी जो कुल मिलाकर पांच हजार डॉलर बनते थे । इस तरह की घटनाओं की बढती संख्या और भारी नुकसान को देखते हुए मामले को तहकीकात के लिए अब बैंड प्राइज जैसे दिमाग की जरूरत थी । नोटों की तुलना करने पर सैम हमारी के तरीके में एक विलक्षण समानता देखने में आई । बेन प्राइज ने घटनास्थल पर जाकर हकीकत की ओर उसे ये कहते हुए सुना गया ये तो डाॅन टाइम का काम है । उसने फिर अपना काम शुरू कर दिया । उसके पास ही ऐसे ऍम यानी शिकंजे हैं जिससे उसने नौ अर्थात भुंडी को एक ही झटके में इतनी आसानी से निकाल डाला जैसे बरसाती मौसम में गाजर या मूली को खींचकर बाहर निकाल लिया जाता है और देखो किस तरह उन खट को को किस सफाई से निकाल फेंका गया । जिम्मी कभी भी एक से अधिक छेद नहीं करता है । हाँ मेरा शक सही है, मुझे जिमी वैलेंटाइन चाहिए । अगली बार वो अपना काम अत्यल्प समय क्या तीर मूर्खता के बिना करेगा? वेन प्राइस को जितनी की आदतों का पता था ये आदतें उसने स्प्रिंग फील मामले पर काम करते समय सीखी थी । लंबी छलांग, तुरंत भाग निकलना कोई मित्रबंधु नहीं और उच्च वर्ग की संगती में रहने की रूचि इन सब तौर तरीको ने श्री वैलेंटाइन को प्रतिशोध का एक सफल चालबाज बनाने में बहुत मदद की । ये खबर फैला दी गई कि बेन प्राइज ने इस बार बचकर निकल जाने वाले सनकी चोर का पता लगाने का बीडा उठा लिया है और दूसरे लोग जिनके पास अभेद तिजोरियां थी उन्हें बहुत राहत महसूस हुई । एक दोपहरी जिम्मी वैलेंटाइन और अपने सूटकेस के साथ अरब के न्यास के काले मजदूरों के देश में रेलमार्ग से पांच मील दूर तेल मोर नामक एक छोटे से शहर में रेल के डाक डिब्बे से बाहर कूद निकला । जिम्मी दिख ऐसे युवा सीनियर एथलीट जैसा लग रहा था जो अभी अभी कॉलेज से निकल कर आया हूँ । वो पटरी के किनारे किनारे चलकर एक होटल की ओर गया । एक युवती ने सडक पार की होने पर पहुंचकर उससे आगे बढी पर एक दरवाजे के अंदर चली गई जिस पर लिखा था दी ऍम जिन्होंने उसकी आंखों में दिखा भूल गया कि वह क्या है और एक दूसरा ही आदमी बन गया । जिमी की रंग ढंग और रूप रन सूरत शकल वाले लोग एल मोर में बिरला ही थे । जिमी ने बैंक की सीढियों पर इस तरह लफंगा ही करते हुए एक लडके को गर्दन से पकडा मानो वो बैंक का कोई शेयर होल्डर हो और फिर जिमी ने उस लडके से उस शहर के बारे में सवाल पूछने शुरू कर दिए । बीच बीच में वो उसे दस दस पैसे की सिक्के भी पकडा देता था । थोडी देर में वो युवती बाहर आई और सूटकेस वाले जवान आदमी की मौजूदगी से देख खबर अपने रास्ते चली गई कि हाँ वो महिला ऍम नहीं जिम्मी ने बडी चालाकी से पूछा नहीं । लडकी ने कहा वो ऍम उसका पापा इस बैंक का मालिक है । आप किस लिए एल मोर आए हैं? क्या ये सोने की घडी चीन है? मैं बुलडॉग लेने वाला हूँ क्या कुछ और पैसे है आपके पास? जिम्मी इसके बाद प्लांट होटल गया । अपना नाम राल्फ डी स्पेंसर लिखाया और एक कमरा लिया । वो टेस्ट पर झुका और क्लर्क को अपने काम और इरादे के बारे में बताया । उसने कहा कि वह अपने व्यवसाय के वास्ते कोई जगह तलाशने के लिए एल्मो हराया है । इस शहर में जूतों का व्यवसाय अब कैसा है? उसने जूतों का व्यवसाय करने के बारे में सोचा था । क्या उसके लिए कोई गुंजाइश है? जिमी की वेशभूषा और बात करने के तरीके से क्लर्क प्रभावित हुआ । वो स्वयं एल मोर के थोडे कम सजेस्ट हमरे युवकों के लिए फैशन का एक नमूना था । लेकिन अब उसे अपनी कमियों का कुछ कुछ एहसास होने लगता है । जिमी की मोहक रंग ढंग से प्रभावित होकर उसने सौहार्दपूर्वक जानकारी दे दी । सचमुच जूता व्यवसाय में एक अच्छी शुरुआत होनी चाहिए । यहाँ कोई एक क्रांतिक शू स्टोर नहीं था । ड्राई गुड और जनरल स्टोर उन्हें संभाल रहे थे । हर तरह के काम धंदे में व्यवसायिक काफी अच्छा था । उम्मीद है किस पैंसठ बहुत दें । एल मोर में काम आरंभ करने का फैसला करेंगे । उन्हें शहर में बस ना अच्छा लगेगा । यहाँ के लोग बडे मेरे अनुसार हैं । श्रीमान्स कैंसर ने सोच लिया कि वह दो चार दिन शहर में रुकेंगे और स्थिति का निरक्षण करेंगे । नहीं क्लर्को, लडके को बुलाने की जरूरत नहीं है । वो अपना सूट के खुद ही ऊपर ले जाएगा । ये कुछ अधिक भारी था । श्रीमान राल्फ स्पाॅन्सर जिम्मी वैलेंटाइन की राख से उत्पन्न फिनिक्स वो रात जो एक अकस्मात लपट और प्रेम के वैकल् तक आवेश ने छोडी थी । एल मोर में बस गया और खूब फला फूला । उसमें एक सु स्टोर खोला और अपना व्यापार अच्छा जमा लिया । समाज में उसकी अच्छी पटने लगी । उसने बहुत सारे मित्र बना लिया । उसने अपनी दिल की इच्छा पूरी कर ली । वो ऍम से मिला और उसके आकर्षण में अधिकाधिक बंधता चला गया । एक वर्ष के अंत में राजस् कैंसर की स्थिति इस प्रकार थी उसे समाज में सम्मान मिलने लगा । उसका शु स्टोर धडल्ले से चल रहा था और दो सप्ताह के अंदर उसकी तथा ऍम अल की शादी होने जा रही थी । श्री एडम्स ने जो एक स्टेट परिश्रमी हरदम काम में जुटे रहने वाला देशी बैंकर था, स्पेंसर को इसकी स्वीकृति दे दी । एनेबल को उसके प्रति जितना अनुराग था उतना ही उसे अपनी पसंद पर गर्व था । श्री ऍम उसके परिवार और एना बल्कि शादीशुदा बहन के परिवार में वो ऐसे घुल मिल गया था जैसे वो पहले से ही इस परिवार का एक सदस्य हो । एक दिन जिम्मी ने अपने कमरे में बैठ कर ये पत्र लिखा जो उसने अपने पुराने मित्र सेंट लुइस की सुरक्षित पते पर भेज दिया । मैं चाहता हूँ कि आप अगले बुधवार की रात करीब नौ बजे लिटिल रॉक स्थित सुलिवान के निवास पर आने की कृपा करें । कुछ छोटे मसले हैं जिन्हें मेरे वास्ते निपटा सकते हैं और इसके अलावा में अपने औजारों की किट भी आपको भेंट करना चाहता हूँ । मैं जानता हूँ उन्हें पाकर आप खुश होंगे । एक हजार डॉलर देकर भी आपन हजारों की नकल नहीं बनवा सकते । मिली मैं सच कहता हूँ । मैंने पुराना कारोबार एक साल पहले छोड दिया । मेरे पास एक अच्छा स्टोर है । मैं एक सच्चे ईमानदार इंसान का जीवन जी रहा हूँ और आज से दो सप्ताह बाद एक बहुत ही सुंदर, आकर्षक और शालीन लडकी से विभाग करने वाला हूँ । यही एकमात्र जीवन है । मिली मेरे दोस्त सीधा सरल जीवन हमें किसी दूसरे व्यक्ति के धन को स्पर्श भी नहीं करूंगा । चाहे मुझे कोई दस लाख का प्रलोभन क्यों नहीं? शादी हो जाने के बाद मैं अपना स्टोर बेच दूंगा और पश्चिम की ओर चला जाऊंगा जहाँ मेरे खिलाफ पिछले लफडा को घसीट लाने का इतना खतरा नहीं होगा । मैं तो मैं बताना चाह रहा हूँ । मिली वो एक फरिश्ता है, उसे मुझे विश्वास है और मैं सारे जहाँ के बदले भी अब और कोई गलत काम नहीं करूंगा । सोनी के यहाँ अवश्य पहुंच जाना मुझे तुमसे मिलना बहुत जरूरी है । मैं तो सारे औजार अपने साथ ले आऊंगा । तुम्हारा पुराना यार जी सोमवार की रात जमीन है । ये खत लिखा और उसी रात बेन प्राइस वर्दी होने वाली गोला गाडी के जरिए बडी सावधानी से एल मोर में उतरा । अपने में ही गुमसुम रहते हुए वो शहर में इधर से उधर मटर गस्ती कर रहा था जब तक कि उसे इस बात का भान नहीं हो गया कि वह क्या जानना चाहता है । स्पेन्सर शू स्टोर से सडक पार ड्राॅ स्टोर उसने हाॅरर को नजर भर की देखा कि आज में तो बैंकर कि बेटी से शादी रचाने वाले बीनने अपनी आपसी कहा चुप चाप खैर मैं नहीं जानता । अगली सुबह जमीने एडम्स परिवार के साथ नाश्ता किया । उसने वो दिन अपनी शादी का सूट सिलने, देनी और एनाबेल के लिए कुछ बढिया उपहार खरीदने के लिए लिटिल रॉक जा रहा था । एल्मो हर आने के बाद से वो पहली बार शहर के बाहर जाएगा । उस समय से अब तक एक साल से अधिक समय बीत चुका था जब उसने पिछला अपना पेशेवर काम किया था और उसने सोचा कि वह निरापद होकर बाहर जा सकता है । नाश्ते के बाद वो एक पारिवारिक गुट श्री ॅ, जिम्मी और अंडा बल्कि विवाहित बहन अपनी पांच साल और नौ साल की दो बेटियों के साथ शहर के मुख्य बाजार के लिए निकला । वो उस होटल तक आ गए जहां जिम्मी अभी भी ठहरा हुआ था और वह दौड का ऊपर अपने कमरे तक गया तथा अपना सूटकेस अपने साथ ले आया । फिर वो लोग बैंक गए जहां जिमी का घोडा और बग्गी तथा डॉॅ खडा था जो उन्हें घोडागाडी में रेलवे स्टेशन ले जाने वाला था । सब लोग ऊंची ओ की नक्काशीदार रेलिंग के अंदर से बैंकिंग रूम में जिम्मी भी साथ में था क्योंकि श्रीमान एडम्स के भावी दामाद को देखने स्वागत करने के लिए हर कोई उत्सुक था । देखने में सुंदर आकर्षक युवा पुरुष जिससे कुमारी आॅल शादी करने जा रही थी, से मिलकर बैंक के क्लर्क बहुत खुश हुए । एना बाल जिसका दिल खुशी और जवानी के जोश से अंदर ही अंदर उछाले मार रहा था । नज्मी कहा, हेट पहन लिया और सूटकेस उठा लिया । क्या मैं अच्छी ड्रमर यानी ढोलकिया नहीं बन जाऊंगी? अनेबल ने कहा मेरे प्यारे हालत ये कितना भारी है । ऐसा लगता है जैसे इसमें सोने की ईंटें भरी हूँ । इसके अंदर निकल पॉलिस किए हुए ढेर सारी शुरू हो अर्थात र सिखने हैं । जिम्मी ने धैर्य रखते हुए कहा नहीं नहीं लौटाने जा रहा हूँ । मैंने सोचा के इस भारी सूटकेस को घोडागाडी में ले जाऊंगा तो भेजने का खर्चा बच जाएगा । मैं बहुत ज्यादा किफायती हो रहा हूँ । फिलमोर बैंक में अभी हाल ही में एक नई तिजोरी यानी सेफ और हॉट यानी स्ट्रांग रूम स्थापित किया गया था । श्री एडम से से लेकर बहुत गर्मी ली थी और चाहते थे कि हर कोई उसका निरीक्षण करें । वॉट अर्थात स्ट्रांग रूम काफी छोटा था लेकिन इसका दरवाजा नया और गारंटीशुदा था । ये स्टील की ठोस तीन सिटी चीनी से मजबूती से बंद हो जाता था, जो एक ही हैंडल से एक साथ जुड जाती थी और एक टाइम लॉक भी लगा हुआ था । ऍप्स महोद देने खुशी खुशी इसकी कार्यविधि स्पेंसर को समझाई जिसने शिष्टाचार वर्ष कुछ रोजी तो दिखलाई लेकिन बहुत अधिक बहुत ही करो । जी नहीं, दोनों बच्चे मी और गाथा चमकीली धातु और अनोखी घडी तथा घुंडी को देखकर बडे खुश हो रहे थे । जिस समय वह लोग वॉल्ट को देखने पर रखने में इस तरह व्यस्त थे, उसी समय बेन प्राइज टहलते हुए अंदर चला आया और अपनी कोहनी के सहारे झुककर रेलिंग्स के बीच से ही योगी अंदर देखने लगा । उसने टेलर यानी गणात को बता दिया कि उसे कुछ लेना नहीं है । वो सिर्फ एक आदमी की प्रतीक्षा कर रहा है जिससे वो जानता है । अचानक स्त्रियों की तरफ से एक दो ठीक है, सुनाई दी और शोरगुल मच गया । जो हुआ उसके बारे में बडो ने कभी सोचा भी नहीं था । नौ वर्षीय बच्ची में अपने खेल खेल में अगाथा को वॉल्ट में बंद कर दिया था । फिर उसने जैसे कि श्री एडम्स को करते हुए देखा था । तीनों सिटकनी को एक साथ जोडने वाली संयोजन मूट यानी कॉम्बिनेशन ऑफ को घुमा दिया । बूढे बैंक करने उछालकर मूड को पकडा और क्षण भर के लिए उसे पूरा जोर लगाकर खींचने का प्रयास किया । दरवाजा नहीं खोल सकता । उसके मुँह से बाहर निकल के घडी को घुमाया नहीं गया है और न संयोजन सेटको लगा था की माँ ने फिर चीख पुकार मचाई । अचानक आन पडी विपत्ति ने उसे विक्षिप्त सा कर दिया था । चुप हो जाओ । श्री एडम्स ने अपना काम का पाता हाथ उठाते हुए कहा भर के लिए सब चुप रहो पढ रहा था । उसने अपना पूरा दम लगाकर पुकारा । मेरी बात सुनो बाद में कोई चुप्पी के दौरान वो उस बच्चे की हल्की सी आवाज सुन सके । वो वर्ल्ड के अंदर अंधेरे में भयभीत होकर चीख रही थी । मेरी प्यारी बच्ची मां लिख नहीं नहीं वोटर के मारे मर जाएगी । दरवाजा खोलो, हरित तोड दूध ऍम क्या आप में से कोई कुछ कर सकता है? यहाँ आस पास कोई नहीं है । लेटर रॉक में एक आदमी है जो इस दरवाजे को खोल सकता है एकदम बहुत देने का आपकी आवाज में कहा मूॅग हम क्या करेंगे वो बच्चे अंदर खूब अंधेरे को ज्यादा देर नहीं पाएगी । अंदर पर्याप्त हवा नहीं है और इसके अलावा भय के कारण वो पागलों की तरह छटपटाने लगेगी । अत्यंत व्यग्रता में लगा था की माँ ने अपने हाथों से दरवाजा पीटना शुरू कर दिया । किसी ने सनकी पानी में डायनामाइट का सुझाव दे डाला । आॅल ने मोडकर जिमी की तरफ देखा । उसकी बडी बडी आंखों में वेदना थी लेकिन अभी भी निराशा की झलक नहीं थी । एक स्त्री जिस पुरुष की पूजा करती है, उस पुरुष की शक्ति के आगे उसे कुछ भी असंभव नहीं लगता है । क्या तुम कुछ नहीं कर सकते? राॅय कोशिश करूँ क्या? इतना भी नहीं करोगे तो अपने वोटों पर और अपनी दीक्ष, आंखों में एक अनूठी कोमल मुस्कान ये राल्फ ने उसकी ओर देखा ऍम अल । उसने कहा मुझे वो गुलाब दे दो जो तुमने अपने वक्ष पर सजा रखा है । क्या नहीं होगी? अपने कानों पर विश्वास ना करते हुए उसने अपनी पोशाक के वक्ष से गुलाब की । वो काली तीन खोलकर निकली और जिमी के हाथ में रखती । जिम्मी ने उसे अपनी बास्केट की जेब में डाला अपना कोट उतार फेंका और अपनी कमीज कि आसनों को ऊपर चढाया । इस क्रिया के साथ ही फॅस दिवंगत हो गया और उसका स्थान जिम्मी वैलेंटाइन में ले लिया । दरवाजे से दूर हट जाओ आप सभी उसने रूखाई से आदेश दिया । उसने अपना सूटकेस मेज पर रखा और उसे सपाट खोल दिया है । उसी क्षण से वह किसी अन्य की परवाह किए बिना इस तरह काम में जुट गया मानो कोई दूसरा मौजूद ही ना हो । उसने सारे चमकीली विचित्र किस्म के उपकरणों को बडी तीव्रता और तार तीन से बिछाया और जैसा की वो अपने काम में व्यस्त होने पर हमेशा क्या करता था वो स्वयं को मगन रखने के लिए कोमल स्वर में सीटी बजा रहा था । सब लोग चुप्पी साधे और बिना हिले डुले उसे देख रहे थे । एक मिनट के अन्दर जिम्मी का दुलारा वर्मा तीन के दरवाजे में बडे प्यार से छेद करने लगा । सिर्फ दस मिनट में सेंधमारी का अपना पिछला रिकॉर्ड तोडते हुए उसने बोल उसको पीछे भेज दिया और दरवाजा खोल दिया गया था जो लगभग गिरने लगी थी लेकिन सही सलामत थी । अपनी माँ की राहों में सिमट गई । जिम्मी वैलेंटाइन ने अपना कोट पहना और रेलिंग्स के बाहर प्रमुख द्वार की ओर चल दिया । चलते चलते उसे लगा उसने दूर से आती आवाज सुनी है जिस आवाज ने उसे एक बार ऍम कहकर पुकारा था । लेकिन वो कभी हिचकिचाएं नहीं । दरवाजे पर एक तगडा आदमी कुछ कुछ उसके रास्ते में खडा था । हलो जी ने कहा अपनी उसी विलक्षण मुस्कान के साथ जो अभी तक उसके होठों पर कायम थी । अंत में इधर पहुंच गए गए क्यूँ ठीक है चलो चलते हैं मैं नहीं समझता कि अब इससे बहुत फर्क पडता है और तब बेन प्राइज ने अजब तरीके से बर्ताव किया । लगता है तुम गलत समझ रहे हो? श्रीमान्स कैंसर उसने कहा ये मत मान लेना कि मैं तो मैं पहचानता हूँ, तुम्हारी बग्गी तुम्हारा इंतजार कर रही है क्या ये मेरे लिए हैं और बीन प्राइज मोडकर चहलकदमी करते हुए सडक की ओर चल दिया हूँ ।

2 - इजराइल गाँव का सम्मान

इसराइल गांव का सम्मान जैसे ही फादर ब्रॅान्ज पट्टू में लिपटे हुए एक दूसरे गौर घाटी के छोड तक आए और उन्होंने ग्रैंड घायल के विचित्र महल को देखा उस समय हरित और रूपहले रंग की एक तूफानी संध्या करने लगी थी । ये एक बंद गाली की भर्ती घाटी अथवा गड्ढे जैसी खाली जगह है की एक छोर पर आकर ठहर गई और इसे देख ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे कि यही दुनिया का अंतर है । किसी पुरानी फ्रेंड स्कॉट दुर्गा की भारतीय ढालू छतो तथा सागर जैसे हरे रंग वाली स्लेट के मिनारों में ऊंचे और ऊंचे उठते हुए इसका दृश्य परिकथाओं में डायनों के ड्राम ने स्टीपल हैट पहने किसी अंग्रेज की याद दिलाता था और हरे बुजुर्गों को चारों ओर से घेरे हुए चीड के वृक्ष तुलना करने पर घने काले कोई की झुंड तरीके प्रतीत होती थी । ये स्वप्नल करीब करीब एक निद्रा जनक शैतान का कलरव परिदृश्य से कोई कल्पना मात्र नहीं था क्योंकि उस जगह पर घमंड और पागलपन तथा रहस्यमय के शोक के उन बादलों में एक बादल पडा हुआ था जो स्कॉट लाइन के भव्य एवं प्रभावशाली घरों पर इतनी अधिक भद्देपन से घिरे या पडे रहते हैं । जितने बेढब तरीके से इंसानों की किसी अन्य संतान पर नहीं पढते क्योंकि स्कॉटलैंड ने अनुवांशिकता कहलानेवाले विश्व की दोगुनी खोराकी पी रखी है । अभिजात वर्ग में रखते बूद और काली बनवा दी में प्रारंभ बोर्ड पूरोहित ने अपने मित्र फ्लैम बो से भेंट करने की खातिर ग्लास्गो में अपने व्यवसाय से एक दिन का अवकाश लिया था । एक सौ की आ जाता हूँ फॅस उस समय एक और औपचारिक जांच अधिकारी के साथ गाॅगल महल में था, जो स्वर्गीय अल ऑफ क्लैन घायल के जीवन और मृत्यु की जांच कर रहा था । वो रहस्यमय व्यक्ति एक ऐसी जाति अथवा वंश का अंतिम प्रतिनिधि था जिनकी बहादुरी, मूर्खता तथा हिंसक दूध लता ने उनको सो नवी शताब्दी में उनके राष्ट्र के अशुभ अभिजात वर्ग में भी भयानक बना दिया था । स्कॉट की मैरी क्वीन के चारों ओर बनाये गए झूठ के उस महल के कक्ष डर कक्ष में महत्वकांशा में उससे अधिक होटल कोई और नहीं था । देहात में लोगों की जुबान पर बैठी इस तुकबंदी से उनकी साजिश वह चालबाजी के परियोजन और परिणाम का स्पष्ट पता चलता है । हरा रस जिस तरह बहुत को छोडती से खत बता देता है, उसी प्रकार सोने की लाली देखकर और फिर भी लोग बौखला जाते हैं । एस ग्रीन से आप टू दी समझ अवॅार्ड गोल टू दी ऑॅफ अनेक सदियों से ग्रेनडाइन महल ने कभी कोई अच्छा शालीन स्वामी नहीं देखा था और विक्टोरियन युग के साथ लोगों ने सोचा होगा किसन की जबकि पन का दौर समाप्त हो गया है तथापि अंतिम गंगाई ने अपनी जनजातीय परंपरा को केवल वहीं करके संतुष्ट किया । जो करना उसके लिए बाकी बचा था वो गायब हो गया । मेरा ये मतलब नहीं है कि वो बाहर चला गया । मैं कुछ भी कहाँ जाएगी अगर वो कहीं था तो अभी तक महल में था । लेकिन उसका नाम यद्दपि चर्च के रजिस्टर में था और बडे क्रांतिकारी अभिजात वर्ग में किसी ने भी कभी भी बाहर निकलते नहीं देखा । अगर किसी ने उसे देखा तो वो एक एक कल्याण नौकर था । कुछ कुछ एक साइज और एक मालिक के बीच वो इतना बहरा था की अधिक कार्यकुशल एवं व्यवहारिक लोग उसे गूंगा मान बैठे थे । जब की अधिक गहरी पेठ रखने वालों ने उसे अल्पबुद्धि घोषित कर दिया था । उस मरियो से देखने वाले मजदूर का नाम इसराइल मौत था । उसके बालों का रंग लाल था, जबडा और थोडी हटीला होने का आभास कराते थे तथा आंखि एकदम भावशून्य किन्तु नहीं ली थी उस गुजार जागीर पर वो एक मौन नौकर था । लेकिन जिस फूलती से वो आलू खोद लाता और जिस नियमितता के साथ वो रसोई यानी किचन में गायब हो जाता है उससे लोगों के मन में ये बात बैठ गई की वो किसी बडे व्यक्ति के लिए भोजन की व्यवस्था कर रहा है । और ये भी कि वह अनोखा अजीब अध्याप्ति आज भी उस महल में छिपा हुआ है । अगर समाज ये साबित करने का कोई और सबूत मांगता कि वह महल में मौजूद हैं तो नौकर लगातार इसी बात पर अडा रहता । वो घर पर नहीं है एक सुबह न्यायाधीश और मंत्री को क्योंकि बॅाल वंशज पुरोहिता आश्रम को मानने वाले धर्म वृद्ध अर्थात प्राॅक्टोरियल थे, महल में बुलाया गया । वहाँ उन्होंने पाया कि वह अकेला नौकर, माली साइज और बावर्ची का काम संभालने के साथ साथ अंत्येष्ठि प्रबंधक भी बन गया था और आपने कोलीन मालिक को उसमें ताबूत में जड दिया था । इस अजब तथ्य के बारे में कितनी अधिक क्या कितनी कम जांच पडताल हुई ऐसा अभी तक कुछ प्रतीत नहीं हुआ क्योंकि जब तक फॅालो या तीन दिन पहले उत्तर की ओर नहीं चला गया तब तक इस घटना की कानूनी रूप से कभी कोई जांच नहीं हुई थी । तब तक लॉर्ड गाॅगल का शव अगर ये शव था कुछ समय तक पहाडी पर छोटे से कब्रिस्तान में पढा रहा था । फादर ब्राउन जैसे ही उस धुंधले बगीचे से होकर निकलने और महल की छाया के नीचे आई बादल तब तक घने हो चले थे और पूरी हवा, नाम तथा गर्जना पूर्ण डरावनी थी । हरित सुनहरे सूर्यास्त की अंतिम धारी पर उसने काली मानव छाया देखी हैं । एक आदमी जिसने चिमनी शॉर्ट हाईट पहना हुआ था और उसके कंधे पर एक बडा फाडा था । कुल मिलाकर ये दृश्य एक विचित्र सैक्स्टन यानी गिरजे का एक निम्न श्रेणी कर्मचारी जो कब्रें खोदने का काम करता है, का आभास कराता था । लेकिन जब ब्राउन को उस बाहरी नौकर का ध्यान आया जो आलू खोदकर निकालता है तो उसे ये बहुत स्वाभाविक बात लगी । उसे स्कॉच कृषि के बारे में कुछ कुछ मालूम था । वो इस बात से वाकिफ था कि किसी आधिकारिक जांच के लिए आने वाले भद्रजन को प्रतिष्ठा की खातिर काले वस्त्र पहनना जरूरी होता है । वो मृत्यु विविधता को भी समझता था जो उसके लिए एक घंटे की खुदाई गवाना नहीं चाहेगी । उस आदमी के वो इसमें और उसकी संदेहजनक टकटकी जिसे पुरोहित को झेलना पडा । इस प्रकार की सतर्कता और एशिया के अनुकूल थी । दुर्ग का बडा दरवाजा ऍम ने खुद खोला जिसके साथ पूरे बालों वाला एक पतला दुबला आदमी था और अपने हाथ में कुछ कागजात पकडे हुए था । ऍम प्रवेश का बडा कमरा लगभग विवस्त्र और खाली था लेकिन दुष्ट अगली वियू एक के बाद एक या दो उपहासपूर्ण शहरी काली पैर इर्विग और धुंधला इक्यानवे से नीचे झांक रहे थे । उनके पीछे पीछे भीतर के कमरे में पहुंचकर पादर ब्राउन ने पाया कि सन मित्रों यानी अलायंस को एक लंबी ओ टेबल पर बैठाया गया है जिसका उनके पास वाला सेना लिखे हुए कागजों से ढका हुआ था और आस पास उसकी के ग्लाॅस तथा सिगार पडे थे दे बल्कि शेष सारी लम्बाई पर ऍम वस्तुओं का कब्जा था जिन्हें थोडी थोडी जगह छोडकर तरतीब से रखा गया था । इन वस्तुओं का वर्णन करना आसान नहीं था । एक छोटा भी टूटे हुए चमकीले शीशे जैसा लगता था । दूसरा ढेर भूरे रंग की गर्द जैसा दिखता था । एक तीसरे ढेर में लकडी की बनी सादा छडियां थी । बैठते बैठते उसने भूरी मिट्टी के ढेर और शीर्ष के चमकती टुकडों की दिशा में है । क्षण भर के लिए अपना सिर झटकते हुए कहा, लगता है आपने यहाँ एक प्रकार का भूवैज्ञानिक संग्रहालय बनाया हुआ है । कोई भूवैज्ञानिक संग्रहालय नहीं फ्लॅाप दिया । एक मनोवैज्ञानिक म्यूजियम कही वो भगवान के वास्ते पुलिस जासूस हसते हुए ठीक था हमें इतने लम्बे शब्दों से शुरुआत नहीं करनी चाहिए । आपको बता नहीं मनोवैज्ञानिक क्या होता है? ऍम बोने मित्रवत आश्चर्य से पूछा । मनोवैज्ञानिक का मतलब है सनकी मूर्ख होना । मैं अभी भी समझा नहीं । अधिकारी ने जवाब दिया ठीक फॅसने निश्चित साथ कहा, मेरा मतलब है कि हमें लॉर्ड ग्लैन घायल के बारे में केवल एक बात पता चली है । वो एक सनकी पगला आदमी था । अपना हैट पहने और कंधे पर कुदाल के साथ गांव की काली छाया खिडकी से गुजरी । जिस समय आकाश में अंधेरा गहराने लगा था पादर ब्राउन ने उदासीनता के साथ उसकी ओर देखा और जवाब दिया, मैं नहीं समझ सकता कि उस इंसान के बारे में कुछ ही रहा होगा या उसने खुद को जिंदा दफनाया नहीं होगा ना उसे खुद को मृत्यु दफन करने की इतनी जल्दी नहीं होगी । आप किस कारण सोचते हैं कि ये पागलपन था हूँ । खैर प्लैन उन्होंने कहा, अभी आप सिर्फ उन चीजों के बारे में सुने जो श्री क्रे वन नहीं घर में पाई । हमें मोहम्मद ही चाहिए । ट्रेवन ने अचानक कहा, तूफान उठ रहा है और इतने घोर अंधकार में पढना मुश्किल है । क्या आपको कोई मोहम्मद थी? मिली? ब्राउन ने मुस्कुराते हुए पूछा था आपकी विलक्षण वस्तुओं में फॅसने अपना गंभीर चेहरा उठाया और अपनी काली आंखे अपने दोस्त पर करा दी । ये भी अच्छी बात है और उसने कहा पच्चीस मोमबत्तियां और एक भी कैंडल्स टिक यानी शमादान नहीं । कमरे में तेजी से गहराते अंधकार और तीव्रता से उठती हवा में ब्राउन मोहन है । टेबल के साथ साथ उधर गए जहाँ मोमबत्तियों का एक बंडल अन्य बेकार चीजों में पडा हुआ था । जैसे ही वो उसे उठाने के लिए बढा वो अचानक लाल भूरे रंग की धूल के ढेर पर झुक गया और एक तीखी ठीक ने खामोशी भंग कर दी । हलो उसने कहा सोंग नहीं । उसने एक मोहम्मद तीली उसे सावधानी से जलाया । वापस आया और उससे जिसकी की बोतल की गर्दन में फंसा दिया रात कि अशांत हवा जो जीर्णशीर्ण खिडकी से तेजी से अंदर आ रही थी । मोहम्मद थी की लंबी लोगों को एक ध्वज की तरह लहरा रही थी और महल के हर तरफ मीलों मीलों तक चीड के घने जंगल को किसी चट्टान के चारों को एक काला सागर की भर्ती उत्तेजित क्रुद्ध होते सुन सकते थे । अब मैं वस्तु सूची पढूंगा । क्रे वन ने कागज उठाते हुए गम्भीरता से कहा वस्तु सूची जो हमें महल में बिखरी हुई और विवरण के बगैर प्राप्त हुई । आपको समझना होगा कि ये स्थान आम तौर पर खंडित और उपेक्षित पढा रहा है । लेकिन किसी ने प्रकट रूप से एक या दो कमरे में बसेरा कर लिया । लेकिन उसकी शैली कुछ टेस्ट नहीं बल्कि सीधी सरल थी । कोई व्यक्ति जो नौ कर्मों नहीं था । सूची इस प्रकार है पहली वस्तु बहुमूल्य रत्नों का काफी बडा ढेर लगभग सभी हीरे और वह सभी अलग अलग किसी भी प्रकार के जडाव के बिना देशक स्वाभाविक है कि गिरवियों के पास पारिवारिक जडाऊ, गहने जेवर होने चाहिए लेकिन वो ठीक वैसे ही नगवा रतन है जो प्रायः हमेशा विशेष प्रकार के आभूषणों में जडे जाते हैं । ऐसा प्रतीत होता है कि ऑरवेल वी परिवार अथवा कुल के सदस्य अपने खुले रखने को अपनी जेब में रखते होंगे । सिक्कों की तरह दूसरी वस्तु खुली सुंघनी अथवा हुलास के ढेरों ढेर सुंघनी को ना तो किसी सिंह जी में रखा गया था ना ही किसी थैली में मेंटल पीसों साइनबोर्ड पियानो पर हर जगह इसके ढेर लगे पडे हैं । ऐसा लगता है मानो उस बूढे भले मान उसको किसी जेब में देखने या कोई ढक्कन उठाने की तकलीफ भी गवारा नहीं थी । तीसरी वस्तु घर में इधर उधर पडे स्टील तथा स्प्रिंग जैसे धादू के छोटे छोटे टुकडों और सूक्ष्म पहियों के ढेर ऐसा लगता था जैसे उन्होंने किसी पे क्या निकल खिलाने के अंजर पंजर अलग कर दिए हूँ । चौथी वस्तु मोमबत्तियां जिन्हें बोतल की गर्दन में लगाना पडता है क्योंकि ऐसी और कोई चीज नहीं है जिसमें उन को दिखाया जा सके । अब मैं चाहूंगा आप इस बात पर ध्यान दे कि ये सब कुछ उस से कितना अधिक विचित्र है जिसकी हमने प्रत्याशा की थी क्योंकि हम मुख्य पहेली सुलझाने के लिए तैयार है । हम सब एक नजर में देखी चुके हैं कि अंतिम अल के बारे में अवश्य कुछ गडबडी थी । हम ये पता करने यहाँ आए हैं कि क्या ये वास्तव में यहाँ रहता था? क्या उसकी मृत्यु असल में यही हुई? क्या उस लाल बालों वाले का तो भगोडे विकेट रूपधारी का उसके मरने में कोई हाथ था इसलिए उसे दफनाने का कार्य किया परंतु मान लो सारे घटनाक्रम अथवा कांड का अंत बहुत खराब, अत्यंत डरावना या उत्तेजनापूर्ण मेलोड्रामेटिक निकला तो मान लो कि नौकर ने मालिक को मारा या मान लो के मालिक असल में मारा नहीं है । क्या माने कि मालिक ने नौकर का भेज बनाया हुआ है या फिर मान ले मालिक की जगह नौकर केशव को गाना गाया है । आप की कॉलेज की जो भी तरह साडी पसंद करते हैं वैसी कल्पना कर सकते हैं और आपने अभी तक ये स्पष्ट नहीं किया है कि मोमबत्ती है तो मोमबत्ती लगाने का । बेस यानी शमादान यानी कैंडल्स टिक क्यों नहीं है? अथवा एक अच्छे परिवार का कोई वृद्ध भला मानव सुनने को ब्यानों पर भी खेलने का आदी क्यों होगा? कहानी की भीतरी बात के बारे में हम सोच सकते हैं कल्पना पर कितने भी क्यों ना पसार लेंगे । फिर भी मानव मुद्द्े, सोमनी और हीरे जवाहरात तथा मूंग एवं घंटी यंत्र का संबंध नहीं छोड सकती । मैं सोचता हूँ मुझे संबंध दिखाई देता है । पूरोहित में कहा, ये गंगाई फ्रेंच क्रांति के विरुद्ध पागल था । उसे प्राचीन शासन प्रणाली के प्रति गहरा लगाव था और वो वास्तव में अंतिम ऍम फुल्के पारिवारिक जीवन को पुनः विधिवत स्थापित करने की कोशिश कर रहा था । वह सुंगरी अर्थात बुला लेता था क्योंकि ये अठारह शरावती की विलास वस्तु थी । शताब्दी में प्रकाश के लिए मोहम्मद क्यों का ही प्रयोग होता था? लोहे के छोटे छोटे मशीनी टुकडे, लुइस वन, जीरो सिक्स के तालों की मरम्मत करने की शौक की कहानी कहते हैं । ये जो ही रहे हैं मेरी सेंटोरिनी के गलुहार यानी नॅशनल । इसके लिए अन्य दोनों व्यक्ति गोल गोल आंखों से घूम रहे थे । क्या कमाल की अद्भुत कल्पना ऍम? क्या तुम वास्तव में समझते हो कि ये सच है? मुझे पूरा यकीन है ये सच नहीं । फादर ब्राउन ने जवाब दिया तो नहीं कहा कि कोई भी सुनी तथा हीरो और घंटे यंत्र तथा मोमबत्तियों का संबंध नहीं बता सकता है । मैं तो बस उसी संबंध के बारे में आपको बता रहा हूँ । असल सच्चाई मैं बहुत यकीन से कह सकता हूँ और भी गहराई में पडी है । वो एक्शन के लिए रुका और उसने कंगूरों में हवा का विलाप सुना । तत्पश्चात उसने कहा गंगाजल का और अर्थात सामंत एक जोड था । एक निराश एवं उद्दंड सेंधमार के रूप में वो एक दूसरी तथा कल घोषित सिंदगी बता रहा था । उसके पास कोई कैंडल स्टिक इसलिए नहीं थी क्योंकि वह मोमबत्तियों को छोटा काटकर उस छोटी लालटेन में इस्तेमाल करता था । जो लालटेन वो लेकर चलता था । सुंघनी का इस्तेमाल वो उस तरह करता था जैसे अत्यंत प्रचंड फ्रेंच अपराधियों द्वारा मिर्ची पाउडर का इस्तेमाल किया जाता रहा है । भारी भीड में किसी किसी पकडने वाले या पीछा करने वाले के चेहरे पर फेंकने के लिए । किन्तु अंतिम सबूत हीरो स्टील के छोटे छोटे पहियों के अजब संयोग में है । निश्चय ही इससे आपके लिए सारी बात साफ हो जाती है । धीरे और स्टील के छोटे पहले ही ऐसे दो करण हैं जिनसे आप किसी खिडकी का शीशा काट सकते हैं । एक टूटे हुए चीर के पेड की एक शाखा हवा के तीव्र झोंकी से उनके पीछे खिडकी के शीशे पर टकराई । मानव किसी सेंधमार की पैरोडी लिखने आई हो लेकिन उन्होंने गर्दन नहीं घुमा । उनकी आंखे फादर ब्राउन पर जमी हुई थी । जीरे और छोटे चक्के कृ वन ने गंभीर सोच विचार करते हुए कहा क्या यही सब है जिसके कारण आप इसे सही स्पष्टीकरण समझते हैं । मैं ऐसे ठीक स्पष्टीकरण नहीं समझता हूँ । पुरोहित ने संजीदगी से कहा लेकिन आप ने कहा कि कोई भी चारों चीजों में संबंध स्थापित नहीं कर सकता । नहीं पसंद है असल कहानी, कुछ से भी अधिक । मेरे से गंगाजल ने अपनी जागीर पर बहुमूल्य रत्न खोज ली थी । क्या सोचा कि उसे उनका सुराग मिल गया है? किसी व्यक्ति ने उन खुली चमकदार चीजों से झांसा दिया था अर्थात उल्लू बनाया था । ये कहकर की इन है महल कंदर आओ यानी गुफाओं में पाया गया है । छोटे छोटे चक्के हीरा काटने के काम आते हैं । उसे ये काम बडे अनगढ भूनने तरीके से बहुत छोटे पैमाने पर करना पडा और इस काम में उसे इन पहाडियों पर कुछ चरवाहो या उजर गवार लोगों की मदद लेनी पडी । ऍम चरवाहों के लिए सुनी बडे ऐश की चीज होती है । इसी चीज से आप इन्हें घूस दे सकते हैं । उनके पास समाधान जिसमें मोमबत्ती दिखाई जाती है नहीं थे क्योंकि उन्हें इन की जरूरत नहीं थी । गुफाओं में खोज के लिए जाते समय मोमबत्तियों को अपने हाथ में पकडे रहते थे । क्या बस यही ऍम बोने लंबे विराम के बाद पूछा क्या हम अंततः मेरा सच्चाई तक पहुंच गए? अरे नहीं, फादर ब्राउन बोलेगा । हवा ने जैसे ही बहुत दूर सीड की जनरल में नकल उतारते हुए एक लंबे सीट कर के रूप में आखिरी सांस ली । पागल ब्राउन ने एक बहुत ही मेरा भी उदासीन शहरी के साथ अपनी बात को आगे बढाते हुए कहा मैंने ये ऍम सिर्फ इसलिए की क्योंकि आपने कहा की कोई सुनने का संबंध घडी के अनुसार कार्य करने के साथ क्या मोमबत्तियों का संबंध चमकदार पत्थरों के साथ युक्तिसंगत रूप से स्थापित नहीं कर सकता हूँ? दस । असत्य सिद्धांत संपूर्ण सृष्टि में ठीक ठीक समाज आएंगे । दस झूठे सिद्धांत गाॅगल महल में ठीक बैठ जाएंगे । लेकिन हम इस महल और सृष्टि की सही सही व्याख्या सही कैफियत चाहते हैं । लेकिन क्या कोई और प्रदर्शन नहीं है? क्रिवेन हसन और प्लाॅन मुस्कुराते हुए उठा तथा उस लंबी मेज के साथ साथ चलता गया वस्तु पांच छह, सात आदि । उसने कहा और निश्चित रूप से शिक्षाप्रद होने की तुलना मैं विवेक अधिक है । ऍम है शीर्ष की पैंसिलों का नहीं बल्कि शीशे कि पैंसिलों से निकले शीशे का बासकी एक बेकार छडी जिसका ऊपरी भाग क्षेत्रा हुआ । ये अपराध का हथियार हो सकता है । बस इतनी बात है कि इसमें कोई अपराध नहीं है । जो दूसरी कुछ एक चीजें हैं उनमें कैथोलिक ईसाइयों के प्रार्थना, ग्रंत और छोटी छोटी कैथोलिक तस्वीरें हैं । तो मैं समझता हूँ गलवी कुल की लोग मध्ययुग से अपने पास रखे हुए थे । उनका पारिवारिक अभिमान उनके लिए उनके प्रयो रिटन बाद यानी अनैतिकता बाद से अधिक प्रभावशाली था । हमने उन्हें संग्रहालय में केवल इसलिए रखा क्योंकि उन्हें उत्कंठा वर्ष काट कर निकाला गया और विकृत किया गया प्रतीत होता है । फाइनल ब्राउन ने जैसे ही कुछ कुछ प्रभास इत पृष्ठों को जांच के लिए उठाया, उसी समय बाहर उठी प्रचंड तूफान के कारण बादलों का एक भयंकर विध्वंसक हिस्सा बॅाल पर टूट पडा जिसके भीषण प्रभाव से लंबा कक्ष अंधकार में डूब गया । अचानक चाय अंधकार के गुजर जाने से पहले वो बोले, लेकिन वो आवाज नितांत किसी नहीं आदमी की थी । श्रीमान ऍम । उसने कहा, एक ऐसे व्यक्ति की तरह बात करते हुए जो उम्र से दस वर्ष कम लगता है, आपके पास कानूनी वारंट है नहीं है कि जो आपको ऊपर जाकर उस कमरे की जांच करने का अधिकार देता है । हम ये काम जितना जल्दी करें और इस विभास मामले की जड तक पहुंचाएं, उतना ही अच्छा होगा । अगर मैं आपकी रखे होता तो मैं अभी काम शुरू कर देता हूँ । अभी चकित जासूस ने दोहराया और अभी क्यों? क्योंकि ये गंभीर मामला है । ब्राउन ने जवाब दिया, ये चटक सुननी या खुले कंकड नहीं है जो वहाँ सौ कारणों से पडे हूँ । ऐसा किए जाने का मुझे एक ही कारण समझ में आता है और वो कारण संसार की जडों तक नीचे जाते हैं । इन धार्मिक चित्रों को सिर्फ गंदा करके या फाड फोडकर या उन पर चीन को ये बनाए नहीं छोड सकते हैं । ये काम तो बैठे ठाले या धर्मांधता मैं बच्चों यह प्रोटेस्टेंट तो द्वारा किया जा सकता है । इनके साथ बहुत संभलकर और बडे बचित्र ढंग से छेडछाड की गई है । पुराने चमकीले प्रश्नों में जहाँ जहाँ भी ईश्वर का बडा अलंकृत नाम आता है वहाँ वहाँ से विस्तृत रूप से निकाल लिया गया है और जो एकमात्र दूसरी चीज हटाई गई है वो है बालक यानी शिशु के सिर के चारों ओर का प्रभामंडल । इसीलिए मेरा कहना है हमें अपना वॉरेंट और अपना फावडा तथा अपनी कुल्हाडी लेकर ऊपर चलना चाहिए और उस ताबूत को तोडकर देखना चाहिए । आपको अभिप्राय क्या है? लंदन से आई एक अधिकारी ने पूछा मेरा अभिप्राय उस नाते पुरोहित ने जवाब दिया और उसकी आवाज तेज हवा के गर्जन में कुछ कुछ ऊंची उठती लग रही थी । मेरा मतलब है कि संसार का सबसे बढा सौ हाथियों के बराबर का दाना होगा और एक आकाशवाणी की तरह घर जा रहा होगा । इसके नीचे किसी जगह काला जादू है काला जादू, फ्लैम बोने, धीमी आवाज में दोहराया क्योंकि वो इतना अधिक ज्ञान था कि उसे ऐसी बातों की जानकारी न होने का मतलब ही नहीं था । लेकिन दूसरी चीजों का क्या मतलब हो सकता है? ऍम कुछ घृणास्पद मैं समझता हूँ । ब्राउन ने व्यग्रता से जवाब दिया मुझे कैसे पता होगा नीचे उनकी सभी भूल भुलैया ओं का अनुमान मैं कैसे लगा सकता हूँ? शायद आप सुननी और बांस की छडी से सताने का कोई यंत्र बना सकते हैं । शायद पागलों को मोम और लोहे के बुरादे की बडी लालसा होती है । शीर्ष की पैंसिलों से संभवतः पागलपन लाने वाली कोई दवा बनाई जाती है । इस रहस्य तक पहुंचने का सबसे छोटा रास्ता ऊपर पहाडी से होकर कब तक जाता है । उसके साथियों को बिल्कुल पता नहीं था कि कब वो उसकी बात मानकर उसके पीछे चल पडे । जब तक की रात की हवा के तो प्रचंड थपेडे ने उनको बगीचे में हूँ, केबल गिरा नहीं दिया तथापि उन्होंने स्वतः चलत मशीन की तरह उस की आज्ञा का पालन किया क्योंकि क्रेबिन ने अपने हाथ में कुल्हाडी पाई और उसकी जेब में वारंट पडा था । फॅस विचित्र मालिका भारी फावडा लेकर चल रहा था । फादर ब्राउन के हाथ में वो उत्कृष्ट पुस्तक थी जिसमें ईश्वर का नाम हार दिया गया था । ऊपर पहाडी से हो कि कब्रिस्तान तक जाने का रास्ता टेडा । मेडा तीन तो छोटा था सिर्फ उस हवा के दबाव की वजह से रास्ता श्रमसाध्य तथा लम्बा लगता था । जैसे जैसे वो ढलान पर और आगे बढते चले गए, आंखें उतनी दूर तक देख सकती थी । चीड वृक्षों की घने जंगल ही जंगल नजर आते थे । हवा के नीचे अब सभी एक ढालू मार्ग पर थे और वह व्यापक सद्भावना संकेत जितना नया थक लगता था उतना ही अपहर था । इतना निर्थक जैसे की हवा किसी निर्जन और निरुद्देश्य ग्रह यानी प्लेनेट के बारे में सीटी बजा रही हो । उस तमाम पूरे नीले वनों की अपरिमित वृद्धि के जरिए टीके और ऊंचे स्वर में जो गीत सुनाई पड रहा था वो कोई प्राचीन शोक गीत लगता था । ऐसा शोक जो सभी अशिष्ट विद इंद्रियों के दिल में है, कोई भी कल्पना कर सकता है की अथाह पारडा वाली के नीचे की दुनिया अर्थात पाताललोक से आ रही वो आवाजे विलुप्त एवं भटक रहे वो आदमी देवताओं की चीखपुकार है । वो देवता जो अवे विक्की तार कर ही जंगल में घूमने निकल गए थे और जो फिर कभी वापस वर्ग को लौटने का अपना मार्ग खोज नहीं पाएंगे । आप समझे पादर ब्राउन ने धीमी किंतु सहज सुर में कहा स्कॉटलैंड वजूद में आने से पहले कौन लोग बडे जिज्ञासु किस्म की थी? वास्तव में वो आज भी जिज्ञासु है । लेकिन प्रगति हासिल युग में मुझे लगता है वो सच में दानवों की उपासना करते थे । इसी कारण उसने कहा वो शुद्धतावादी अर्थात प्यूरिटी धर्मशास्त्र पर कूद पडे मेरे दोस्त ऍम बोने । कुछ कुछ क्रोधावेश में आकर कहा आखिर सुनने के ढेर का क्या अर्थ है? मेरे मित्र ब्राउन ने उतनी ही गंभीरता से उत्तर दिया । सभी सच्चे धर्मों का एक लक्ष्य है हाँ, टिक बाद अब पूछताछ पूजा पूर्ण तैयार एक वास्तविक धर्म है । वो पहाडी की घास भरी छोटी तक ऊपर आ गई थी । एक ऐसी साफ सपाट जगह जहाँ तो परिणाम ली थी और ना गर्जन करता । चीड का जंगल वहाँ एक छोटा सा बाडा था जो आंशिक रूप से लकडी और आंशिक रूप से तार का बना था । ये बाडा तूफानी हवा में खडा खडा कर बता रहा था कि आप अब कब्रिस्तान की सीमा पर है । लेकिन जब तक इंस्पेक्टर कैरेवन गब्बर के कोने तक पहुंचे और फ्लैम बोने अपना फावडा नीचे क्या अर्थात उन्हें मूरख दिया और उस पर झुका । वो दोनों लगभग उतने ही काम पर थे जितना कि उस बाडे की लकडी और तार था तरह हुए थे । कब्र के निचले भाग में लंबे लंबे गोखरू यानी भटकटैया थे और अपनी जीर्णावस्था में भूरे और धूसर हो चली थी । एक या दो बार जब गोखरू का कोई गोला तेज हवा के चलते झुक जाने के कारण पेड से छिटक कर उछाला और उसको करीब छूटे हुए आगे चला गया तो करीबन एकता मुझे बडा मानो कोई तीर रहा हूँ । ऍम ए आपने फावडे का फल नीचे गीली मिट्टी में संसद करती घास में चलाया, फिर रुक गया और उस पर झुक गया जैसे किसी लाठी के सहारे टिका हूँ, चालू हो । पुरोहित ने बडी सौम्यता से कहा, हम केवल सच जानने की कोशिश कर रहे हैं । आपको किस बात का डर है? मुझे उसे ढूंढ निकालने और परिणाम का डर है? ऍम ने कहा, लंदन जासूस अचानक एक ऊंची उल्लसित आवाज में बोला, जो संभाषण संबंधी और प्रसन्नचित प्रतीत होती थी । मुझे आश्चर्य है कि उसने खुद को वास्तव में इस तरह क्यों छिपाया? मुझे लगता है कुछ गणित रहस्य है क्या? वह कोडी अर्थात कुष्ठरोगी था? उस से भी कुछ अधिक बुरा ऍम उन्होंने कहा और तुम कहना क्या चाहते हो तो हम बोले पूछा एक थोडी से भी बुरा होगा । मैं ये नहीं समझता । ऍम कहा वो कुछ शहरों के लिए भयावह खामोशी में डूबा रहा और फिर एक भी थी । आवाज में बोला मुझे उसकी सही शक्ल में न होने का डर है, ना ही वो एक कागज का टुकडा सही शकल में था तुम जानती हूँ । फादर ब्राउन ने शांति से कहा । और हम उस कागज के टुकडे के बावजूद बच्चे रह गए ऍन ऊर्जा के साथ खुदाई कर रहा था । लेकिन जिस समय उसने खुदाई में इधर उधर की मिट्टी हटाकर लकडी का एक भद्दा सा ताबूत देखा और उसे किसी तरह उठाकर घास भरे मैदान में पटक दिया, उसके पहले ही अंदर उन दम घोंट भूरे बादलों को कंधे पर उठाकर दूर ली गई जो धुए की तरह पहाडियों से लिपटे हुए थे और मंदिर नक्षत्र प्रकाश के धुंधले क्षेत्रों को उद्घाटित कर दिया था । तकरीवन अपनी कुल्हाडी के साथ आगे बढा भात किया कि को फुनगी ने उसे छुआ और वह झटके से पीछे हट गया । फिर उसने ज्यादा मजबूती से एक लंबी डग भरी और ऍम बुक के माफिक पूरी ताकत से उस ताबूत पर कुदाल से प्रहार करना शुरू कर दिया और तब तक करता रहा जब तक कि उसका ढक्कन पूरी तरह से टूट नहीं गया । फिर जो कुछ सामने आया वो सब धुंधले नक्षत्र प्रकाश में झिलमिलाता हुआ उसके अंदर पडा था हाँ! दिया । ट्रेवन ने कहा! और फिर उसने ये भी जोड दिया लेकिन ये तो एक आदमी है मानो ये कुछ अप्रत्याशित था क्या ऐसा है फ्लैम बोने अनियमित रूप से ऊंची नीची होती आवाज में पूछा क्या वो ठीक है लगता जो है । अधिकारी ने संदूक में पडे मलिन एवं शुरू हो रहे कंकाल पर झुकते हुए भर्राई आवाज में कहा फॅमिली विशाल दही को एक दीर्घ निश्वास ने थरथरा दिया और अब मुझे ख्याल आ रहा है पूछ ही खाते हैं पागल पन के वास्ते वह क्यों ठीक नहीं होना चाहिए? क्या चीज है जो इन शापित ठंडे पहाडों पर किसी आदमी को पकडने लेने में है । मेरे विचार में ये वही कालिक बुद्धिहीन फोन खराब रहती है । ये सारे जंगल और कुल मिलाकर अज्ञानता बेहोशी का एक प्राचीन है है । ये किसी के सपने जैसा है । चीड के पेड और चीड के पेड तथा लाखों करोडों चीड के गोल्ड ताबूत के गरीब आदमी ठीक है लेकिन उसका सिर नहीं है । जबकि दूसरे लोग जहाँ के तहत खडे रहे । पुरोहित ने पहली बार ऐसी चिंता जताई जैसे वह सुनकर हक्का बक्का रह गया हो । फिर नहीं उसने दोहराया सिर्फ नहीं मानूस ने किसी दूसरी कमी की आशा लगाई हुई थी । उन लोगों के दिमाग में ऐसे दृश्य घूम गए जैसे कि गंगा । इनको एक बेसिर बच्चा पैदा हुआ था । बिना सिर का एक जवान आदमी महल में छिपा हुआ है । बेसिर का एक आदमी उन पुराने बडे बडे कमरों में या उन शानदार उद्यान में चहलकदमी कर रहा है । इस तरह की मूर्खतापूर्ण विचार आ जा रहे थे । लेकिन उस कठोर क्षण में भी कहानी उनके अंदर जमी नहीं और उसमें कोई तर्क प्रतीत नहीं होता था । हो थके मांदे जानवरों की भारतीय वहीँ खडे खडे जंगल के कोलाहल और चिंघाडते आकाश को मूर्ख बने सुनते रहे तो उन्होंने सोचा कोई बहुत बडा रहते है जो अचानक उनकी पकड से बाहर निकल आया है । बिना सर वाले तीन आदमी है । फादर ब्राउन ने कहा जो इस खोली कब्र के इधर उधर खडे हुए हैं । लंदन से आए निस्तेज जासूस ने बोलने के लिए अपना भूल खोला और एक असब है । गवार आदमी की तरह उसे खुला छोड दिया । जिस समय हवा की लंबी चीखने हवा कुछ ही रहा फिर उसने अपने हाथों में अपनी कुल्हाडी देखी जैसे कि ये उसकी अपनी हो और उसे छोड दिया अर्थात गिरा दिया । फादर फॅसने ऐसी शिशु मत एवं भारी आवाज में कहा जिनका प्रयोग वो विरले ही करता था । हमें अब क्या करना है उसके मित्र का जवाब भावा को लहजे में इतनी शीघ्रता से आया जैसे अचानक कोई बंदूक चल गई है । नींद लोग पादर ब्राउन जी के तीन हमारे पास कोई रास्ता नहीं है । क्या आप जानते हैं नींद क्या होती है कि आपको मालूम है कि नींद लेने वाला हर आदमी ईश्वर में विश्वास करता है । ये धार्मिक संस्कार है क्योंकि ये श्रद्धा एवं विश्वास का कर रहे हैं और ये एक साथ है और हमें एक संस्कार चाहिए । काश ये एक स्वाभावित संस्कार होता हूँ । हमारे ऊपर कुछ मुसीबत आ पडी है । कुछ ऐसे विपत्ति जो मनुष्य पर बहुत कम आती है । शायद सबसे बुरी विपत्ति जून पर पड सकती है । क्रीड इनके अलग हुए हूँ । आपस में मिले ये कहने के लिए आप का तात्पर्य क्या है? पुरोहित ने अपना चेहरा महल की तरफ घुमा लिया था । जहाँ से ये उत्तर दिया हमें सच्चाई का पता चल गया है और उस सच्चाई का कोई अर्थ नहीं है । उनके सामने वह नाजुक और लापरवाह कदमों के नीचे चलता गया और जब वो दोबारा महल में पहुंचे वो इतना थक चुके थे कि धडाम से नीचे पढकर गहरी नींद में डूब गए । जिस तरह एक कुत्ता सहजता से हो जाता है । नींद की रहस्यात्मक प्रशंसा करने के बावजूद पादर ब्राउन की नींद उस खामोश माली को छोडकर सबसे पहले खोली और पाया कि वह एक बडी नली से धूम्रपान कर रहे हैं और उस विशिष्ट कुशल प्राणी को किचन गार्डन में खामोशी से काम करते हुए देख रहे हैं । मालिक को देखकर ऐसा भी लग रहा था जैसे वो बात कर रहा है लेकिन जासूसों की मौजूदगी है । उसने अपना फावडा क्यारी में गाड दिया और अपने नाश्ते के बारे में कुछ कहते हुए पट्टा बंद हो गया । वो एक महत्वपूर्ण आदमी है वो माली फादर ब्राउन ने कहा वो आलू की बढिया खेती करता है । फिर भी उसने निष्पक्ष उदारता के साथ आगे कहा उसके अपने दोस्त हैं, हम में से किस में नहीं । वो इस किनारे खुदाई नियमित रूप से नहीं करता है । मिसाल के लिए उधर और उसने अचानक एक जगह पर पांव मारा । मैं उस आलू के बोरे में बहुत आशंकित हूँ और क्यों? रेवन ने नाते आदमी की शौक से खुश होकर पूछा मैं संबंध में आशंकित हूँ । दूसरे ने कहा क्योंकि वृद्ध गांव को इस बारे में स्वेनसन था । उसने अपना भावडा इस जगह को छोडकर सब जगह है बडे तरीके से चलाया । यहाँ अवश्य ही कोई बढिया दमदार आलू होना चाहिए । फॅमिली खींचा और बडी तेजी से उस जगह हावडा चलाने लगा । उसने बहुत सारे मिट्टी खोदकर और फावडे में भरकर बाहर निकली मिट्टी का जो बडा ढीला बाहर आया तो आलू नहीं लगता था बल्कि कम टिकरान अतीश है । कल शाकर यानी गुबंद के आकार का कुकुरमुत्ता जैसा प्रतीत होता था लेकिन उसने एक ठंडी खटके यानी कोर्ट लिख से बडे गोल्ड टक्कर मारी । एक दिन की तरह लडका हूँ और फिर बुलेट कर उनको अपने दाद दिखा दिए । ऍम ब्राउन ने दुख जताते हुए कहा । और फिर नीचे झुककर उस खोपडी को उसने बडे गौर से देखा । तत्पश्चात दिख क्षणिक चिंतन के बाद उसने फॅसे भावना खींच लिया और ये कहते हुए हमारी से दोबारा छुपा देना चाहिए । खोपडी को शिकंजी से पकडकर नीचे मिट्टी में दबा दिया । फिर वो जमीन में धंसे फावडे कोटेक लेकर अपने नाटिकल तथा बहुत बडे सिर के साथ खडे हुए । उसकी आंखें कहाली का ली थी और उसका मस्तक झुर्रियों से भरा था । अगर कोई उसकी एकमात्र अंतिम विरूपता का अर्थ की कल्पना कर सकता हूँ, बढाया है और उस बडे भाडे पर झुकी हुई उसने अपनी वो ही अपने हाथों में भी ठीक जैसा लोग चर्च में करते हैं । आसमान हर दिशा में नीली और रूपहले रंग में जमा कर रहा था । पक्षी उस छोटे उद्यान में खडे वृक्षों पर जहाँ तक रहे थे । पक्षियों का कलरव इतना तेज था मानो वृक्ष आपस में बातें कर रही हूँ लेकिन तीनों आदमी बहुत खामोश थे । अस्तु मैं ये सब छोड ता हूँ । फॅसने अंत में असभ्यता और उजड तरीके से कहा मेरी बुद्धि और ये दुनिया एक दूसरे से मिल नहीं खाते हैं और इसका एकांत भी है । सुबह विकृत की गई प्रार्थना पुस्तकें और दस्ती अर गेंदबाजों के अंतर भारत क्या क्या ब्राउन ने अपनी परेशान बहुत को ऊपर उठाया और भावना की मूड पर ठोक ठोक की एक ऐसी अजीब सही शूरता के साथ जो समानता हूँ वह कभी नहीं करता था । वो हूँ वो सीखा । वो सब उतना ही साफ और स्पष्ट है जितना कि एक डंडा सुबह जब मैंने पहले पहल, आंखे खोली सुनी और नियमानुसार काम करने इत्यादि को समझ गया और तब से मैं उस पुराने माली गांव के साथ यही सब करता रहा हूँ । माली के बीच में वो आदमी ना तो इतना बहरा है और ना इतना हूँ जितना वह बनने और दिखाने का नाटक करता है । जहाँ तक अलग अलग बिक्री भी खरीद चीजों का सवाल है, उनके बारे में कुछ भी गडबड नहीं है । मैं धार्मिक समारोह की फटी हुई पुस्तक के बारे में भी गलत था । इसमें कुछ हानि नहीं है लेकिन उसका यही अंतिम पेशा है । खबरों को भ्रष्ट एवं दूषित करना और मृत व्यक्तियों के सिर चुराना निश्चय ही इसमें अनिष्ट है । अवश्य ही इसमें अभी तक काला जादू है । वो सुंघनी और मोमबत्तियों की सरण कहानी में ठीक जमता नहीं है और दोबारा लम्बी डक भर्ती हुई । उसने दुष्टतापूर्ण, धूम्रपान क्या मेरे दोस्त ऍम बोने एकनिष्ठ पर हादसे के साथ कहा आपको मेरे साथ सचेत रहना चाहिए और याद रखना मैं अपराधी था । उस जागीर का एक बडा लाभ ये था कि हमेशा कहानी मेरी बनाई होती थी और मैं अपनी मर्जी से जल्दी से जल्दी उसे निभाने का प्रयास करता था । प्रतीक्षा करने का जासूसी कार रहे मेरी फ्रेंच आधार ता के लिए दृढ से ज्यादा है । जीवन भर मैंने अच्छे या बुरे के लिए तक्षण काम किया है । मुझे अगली सुबह हमेशा द्वंद युद्ध करना पडता था । मैंने बिलों का भुगतान हमेशा विलंब किया दंतचिकित्सक यहाँ भी जाना मैंने कभी नहीं डाला । पाउडर ब्राउन का पाइप उसके मुंह से छूटकर बजरी बिछे रास्ते पर गिर पडा और उसके तीन टुकडे हो गयी । वो खडे खडे अपनी आंखें घुमाता रहा हूँ हूँ किसी बोरखड की तरह प्रभु मैं कितना मूर्ख हो फिर शराब पीकर लडखडाने वाले एक मतलब वाले की तरह वो खास नहीं लगता है । डाॅ । उसने दोहराया छह घंटे आध्यात्मिक पाताल में और ये सब इसलिए क्योंकि मैंने दंतचिकित्सक के बारे में कभी नहीं सोचा हूँ । कितना सरल, कितना सुन्दर और कितना अच्छा विचार दोस्तों हमने एक रात नर्क में गुजरा है लेकिन अब सूरज निकल आया है पक्षी गा रहे हैं और दंतचिकित्सक का दुख तमान स्वरूप विश्व को सांतवना देता है । मैं उसमें से कुछ अर्थ निकालने का प्रयास करूँगा । ॅ आगे कदम बढाते हुए ठीक है अगर मैं तहकिकात जांच पडताल की यंत्रणाओं का प्रयोग करता हूँ । पादर ब्राउन ने अब सूर्य से प्रकाशित उद्यान में नाचने की अपनी श्रमिक चाह को दबा दिया और एक बालक की भांति दयनीयता से रोने लगा । अरे कुछ थोडा मूर्ख रहने दो आपको नहीं पता नहीं कितना दुखी हूँ और अब मैं जानता हूँ । इस व्यवसाय में कतई कोई गहरा पाप नहीं रहा । सिर्फ थोडा सा मानसिक विकार अथवा पागलपन शायद उस पर कौन धन देता है । उसने एक कोरचक्का मारा, फिर संजीदगी से उनका सामना किया । ये कोई अपराध खतरा नहीं है । उसने कहा बल्कि ये तो एक विचित्र तथा होटल सच्चाई की कहानी है । संभव था हम धरती पर एक आदमी से निपट रहे हैं जिसने आपने हद से ज्यादा नहीं लिया है । ये वहशी जंगली जीवन यापन संबंधी तर्कशास्त्र में एक अध्ययन है जो इस जाति का धर्म रहा है । ग्रेनडाइन के घर के बारे में वो पुराना चाँद हरा रस जिस तरह रक्षा को स्फूर्ति से खत बता देता है, उसी प्रकार सोने की लाली देखकर और गिल वी लोग बौखला जाते हैं । शाब्दिक तो था ऍम अर्थात अलंकारिक भी था । इसका अर्थ सिर्फ ये नहीं था कि गंगाई लववंशी धनसंपत्ति की तलाश में रहते हैं । ये भी सच था की उन्होंने वास्तव में सोना इकट्ठा किया हुआ था । उनके पास सोने के गहने और बर्तनों का बडा भंडार था । वो असल में कंजूस लोग थे जिनकी सनक ने वो छोड लिया है । उस सच्चाई के प्रकाश में कहा जा सकता है कि सोने के पीछे उनका पागलपन महल में पाई गई हर चीज में दिखता था । सोने की अंगूठियों के बिना हीरे मोमबत्तियां, सोने के कैंडल्स, टैक्स के बिना सुंघनी रखने की, सोने की डिब्बियों के बगैर सुगनी कैंसल का शीर्षक लेकिन कैंसल रखने की सोने की डिप्टी नहीं, शहर के लिए जाते समय साथ ले जाने वाली छडी जिसकी सोने की मूठ गायब, घडी के पुर्जे, सोने की घडियों के बगैर और पागल पन इस हद तक था कि पुराने प्रार्थना ग्रंथों में जहाँ जहाँ असल सोने के प्रभामंडल थे और ईश्वर का नाम अंकित था, उन्हें भी निकाल दिया गया था । झक्कीपन की सच्चाई का खुलासा किए जाने के साथ ही ऐसा लगने लगा कि सूत्रे की बढती तेजी में उदान प्रकाशमान हो चला है और घर अधिक खुशनुमा है । अपने दोस्त के चालू रहते फॅसने एक सिगरेट सुलगाई निकाल लिए गए थे । फादर ब्राउन ने कहना जारी रखा निकाले गए थे लेकिन चुराए नहीं गए तो उन्होंने कभी ये भेद नहीं छोडा होता है । चोर सोंग नहीं रखने की सोने की डिब्बियों के साथ साथ सुगनी भी ले गए होते । सोने के पैंसिल के केस के साथ कैंसल का शीशा आदि सब कुछ ले गए होते । हम एक विशिष्ट विवेक किंतु निश्चय ही एक विवेक रखने वाले व्यक्ति से निपटना है । मैंने उस बादल सदाचारी को सुबह उधर सामने की किचन गार्डन में देखा और मैंने पूरी कहानी सुनी दिवंगत आर के बाद और गिर गया ऑनलाइन । मैं कभी जन्मे एक देख के इंसान की छवि से सबसे अधिक मेल खाता था लेकिन उसकी ये कडवी भलाई एक मानव द्वेषी में बदल गयी । उसने अपने पूर्वजों की बेईमानी पर पोछा फेरने का बोझ उठाया जिससे किसी तरह उसने ये मान लिया । आपके सभी लोग बेईमान होते हैं । इससे भी ज्यादा विशेष बात यह हुई कि उसका विश्वास मानव प्रेम लो कब कार तथा दानशीलता पर से उठ गया और उसने कसम उठाकर कहा कि क्या उसे कभी एक भी ऐसा आदमी नहीं मिल सकता जो आपने पूरे अधिकारों के साथ दावा कर सके कि गंगा इनका सोना, सारा खजाना उसे ही मिलना चाहिए । मानवता को खुल्लम खुल्ला ये चुनौती देकर उसने खुद को बंद कर लिया । जरा भी इस बात की आशा किए बिना की उसे उसकी बात का कोई जवाब मिलेगा । तथापि एक दिन दूर की एक गांव से एक बस फिर और दिखावटी तौर पर बेसमझ एक लडका देरी से मिला । एक टेलीग्राम लेकर उसके पास आया और गाइडलाइन ने अपनी ताकत विनोदप्रियता में एक नया पार्थिक यानी एकदम बडी उसे दे दिया । कम से कम उसे विचार आया कि उसने ऐसा किया है । लेकिन जब उसने अपनी रेजगारी को पलट कर देखा तो पाया कि नया सिक्का अर्थात फाॅयरिंग अभी भी वही है और एक अशरफी जायज है । इस घटना ने उसके लिए उपहासजनक अटकलबाजी के रास्ते खोल दिए । किसी भी तरह वो लडका मानव जाति की चिकनी चुपडी लिप्सा दिखाएगा या तो वह गायब हो जाएगा । सिक्का चुराने वाले चोर या वो एक एक धर्म परायण व्यक्ति की भारतीय उस सिक्के के साथ चुपके से वापस आएगा । एक घमंडी किसी पुरस्कार की तमन्ना लेकर उस रात के मध्य में लॉर्ड ऍम घायल दरवाजा खटखटाने की आवाज से अपने बिस्तर में चौक कर उठ बैठा क्योंकि वो अकेला रहता था और उसे मजबूरन इस बाहरी मूल्क के लिए दरवाजा खोलना पडा । वो बेवकूफ अपने साथ अशर्फी तो नहीं आया मगर उसके बदले पूरी छोटे पैसे पर था । उन्नीस शिलिंग, ग्यारह पेस और तीन पायरिंग लेकर आया था । फिर इस करते कि उग्र एवं प्रचंड यथार्थ तक ने उस पागल जागीरदार के दिमाग को आपकी तरफ कर दिया । किस में कसम खाई के डायोजीनस है, जो लंबे समय से एक ईमानदार आदमी की तलाश में था और अंत में उसे वैसा एक मिल ही गया । उसने एक नई वसीयत बनाई, जो मैंने देखी है । उसने उस युवक को अपने विशाल उपेक्षित घर में रख लिया और उसे अपने एकाकी नौकर के रूप में ट्रक शिक्षित किया और एक नियमित भ्रष्टाचार के बाद अपना उत्तराधिकारी बना दिया और वह विचित्र प्राणी जैसी भी समझ रखता है तो उसने अपने मालिक के दो जड विचारों को पूरी तरह से मन में बैठा लिया । पहला कि वह अधिकारपत्र ही सब कुछ है और दूसरा कि ग्रैंड घायल का स्वारा सोना अब उसका अपना है । अब तक सारा किस्सा यही है और ये सरल है । उसने घर का सारा सोना बटोर लिया और ऐसी किसी चीज को हाथ नहीं लगाया जो सोने की नहीं थी, सुंघनी के एक करोड के बराबर भी नहीं । उसने प्राचीन ग्रंथ में से स्वर्ण सजद एक प्रश्न निकाल लिया और शेष को बिना बिगाडी छोड दिया । वो सब कुछ तो मैं समझ गया, लेकिन ये खोपडी वाला धंधा मेरी समझ में नहीं आया । मानव सिरका आलू में दबा होना एक विचित्र घटना है और मेरी समझ के परे हैं । इस बात से मैं दुखी हो गया था । जब तक की फॅसे मैंने ये नहीं सुना सब ठीक हो जाएगा । वो खोपडी को वापस कब्र में रख देगा जब वह दात में से सोना निकाल चुका होगा । और वास्तव में जब फ्लैमिंगो सुबह पहाडी के पार गया उसने देखा की वही विचित्र आदमी वहीं कर पढ कंजूस मक्खीचूस आप पवित्र की गई कब्र पर खुदाई कर रहा है । उसकी गर्दन के इर्द गिर्द पडा पट्टू पर्वतीय हवा में तडातड लहरा रहा है । सिर पर उसने वही ऊंचा सादा उन्हीं हैड पहना हुआ है ।

3 - फाँसी को झाँसा देना

कहते हैं कि दो व्यप्त हस्तियों का मिलन सबसे अधिक संतुष्ट एवं सुखी विभाग में संपन्न होता है और शायद इसी सिद्धांत के अनुसार कहा जा सकता है कि गहरी दोस्ती हमेशा अलग अलग किस्म के लोगों में होती है हैं । आप एक विद्वान साहित्यकार को किसी नीलामी करने वाले के साथ गनवेश ना करते हुए और एक मेडिकल स्टूडेंट को किसी स्टॉक ब्रोकर के कलर के साथ निकृष्ट तरीके से रहते खाते पीते देख सकते हैं । संभव रहा इस प्रकार प्रत्येक व्यक्ति अपने फोर सक के समय में खरीददारी की बातचीत के लालच में पडने से बच जाता है और इसके साथ ही वो अपने साथी के जीवन से अपने जीवन के अनुभवों में वृद्धि करने का लाभ भी प्राप्त कर लेता है । टोम पीटर और ऍम से अधिक विषम जोडी चाय भी कोई और हो सकती है । विरोधाभास यानी वैश्य में उनके नामों से शुरू हुआ और पूरा अध्याय खा गया । उनके पास एक शयन कक्ष यानी बेडरूम और बैठने का एक साझा कमरा था । लेकिन ये पता लगाना आसान नहीं होगा कि इसके अलावा और क्या क्या साझा था । उनकी मकानमालकिन माननीय श्रीमती सिकॉम को टॉम पीटर्स के काम धंधे के बारे में स्पष्ट रूप से कुछ खास जानकारी नहीं थी किन्तु हर किसी को पता था कि रॉडर सिटी ऍन बैंक का मैनेजर है और ये सोचकर वह उलझन में पड जाती की एक बैंक मैनेजर को क्यों किसी एक निहायत ही सुस्त मलिन रोगी जैसे दिखने वाले व्यक्ति के साथ रहना चाहिए जो जब घर पर रहता है तो शाम को हर समय मिट्टी का होगा यानी प्ले पाइप सुरक्षा रहता है और विस्की तथा पानी पीता रहता है क्योंकि रॉक दाल जितना चुस्त, फुर्तीला, सजा सौरा एकदम सीधा खडा रहता था उसका साथ ही उतना ही अस्तव्यस्त, फटीचर और गोल गोल कंधों वाला था । वो कभी धूम्रपान नहीं करता था और रात्रि भोज के समय खुद को एक छोटा ग्लास क्लैरिटी यानी फ्रांस की लाल शराब तक सीमित रखता था । आप किसी व्यक्ति के साथ रहे और उससे बहुत कम ही हूँ, ये संभव है । यहाँ प्रत्येक साझेदार अपने निजी मित्र मंडली और बाहरी मनबहलाव के साथ अपनी खुद की जिंदगी अपने ही तरीके से व्यतीत करता है और उस स्थिति में ऐसा हो सकता है कि कई कई दिनों तक सात बैठ कर बात करने के लिए पांच मिनट का भी समय ना मिले । यही कारण है किस प्रकार की साझेदारी का जीवन विभाग की अपेक्षा अधिक शांति से चलता रहता है । शादी में जंजीर इतनी सख्ती से खींची जाती है की जोडी दार एक दूसरे से करीब आने के बजाय एक दूसरे से तंग आ जाते हैं । तथापि उन दोनों के आने जाने का समय और आदत ही अलग अलग होने के बावजूद वो प्रायः नाश्ता साथ साथ क्या करते थे और एक बात में उनकी आपसी सहमती थी । वो रात में कभी बाहर नहीं रहते थे । शेष समय पीटर्स पत्रकारों की संगती में और तर्क वितर्क कक्षों में जा जाकर बिताया करता था जहाँ उसने मूर्ति भंजन संबंधी विचारों का सबसे बढकर प्रतिपादन किया । जबकि रॉक दल के लिए नगर के आसपास के इलाकों में अत्यंत प्रतिष्ठित घरों के दरवाजे हमेशा खोले रहते थे और वास्तव में उसका विवाह एक सेवा निर्मित अनाज व्यापारी एक विधुर की इकलौती सुंदर पुत्री क्लारा न्यूगल के साथ होना निश्चित था । स्वाभाविक है रॉक दाल का अधिक से अधिक समय लेना । सारा अपना हक समझती थी और वह सब समर कर प्रायः उसके साथ नाटक देखने जाये करती थी । जबकि पीटर घर में रहता था एक के ड्रेसिंग गांव और ढीली चप्पलों में श्रीमती सिलिकॉन शाम कि ड्रेस में उन भले मान उसको घर के आस पास देखना पसंद करती और उनकी तुलना क्या करती जो पीटर्स के पक्ष में नहीं थी और ये इस सच्चाई के बावजूद कि पीटर्स ने श्रीमती सिकॉम को भी उतनी तकलीफ नहीं थी जितनी तकलीफ छोटा देता था । पीटर्स ने ही पहले पहल वो फ्लैट किराए पर लिया था और उसके आलसी स्वभाव की ये विशेषता थी कि उसने शयन कक्ष की खिडकी से दिखने वाले टेम्स नदी के दृश्य पर इतनी खुशी जताई के श्रीमती सिकॉम ने अपेक्षित किराये से पच्चीस प्रतिशत ज्यादा मांगने में कोई संकोच नहीं किया । तथापि जब अगले दिन उसके मित्र रॉक दल ने कमरे का निरीक्षण करने के लिए श्रीमती सिकॉम को तलब किया और अनेक प्रकार की कमियां बताकर उसे अत्यंत व्याकुल कर दिया तो वह बहुत जल्दी आसमान से नीचे उतर आए । उसने इंगित की आज के उनका ग्राउंड फ्लोर पर रहना उनके लिए किसी भी तरह फायदेमंद नहीं है बल्कि घाटे का सौदा है क्योंकि सडक के नजदीक होने से सडक का शोर उनकी शांति भंग करता है । असल में ये मकान कोने पर होने की वजह से उन्हें एक नहीं दो दो सडकों का शोर झेलना पडता है । रॉकडेल ग्रह प्रबंधन की छोटी छोटी बातों के बारे में भी किसी प्रकार की दिखावटी तुनक मिजाजी का इजहार करता रहा । कमीज के ऊपर पहने वाले कॉलर आदि को कभी अच्छी तरह कल नहीं किया गया और ना उसके जूते कभी ठीक से पहुँच हुए हैं । टॉम पीटर जिसे कलफ के कपडे कतई पसंद नहीं थे, हमेशा हसमुख और संतुष्ट रहता था । कभी आपने मकानमालकिन का आदर अर्जित नहीं करता था । वो रविवार को भी नीले रंग की चार खाना कमीज और ढीली ढाली पैंट पहनता था । सच है कि वो चर्च नहीं जाता था, लेकिन तब तक सोया रहता जब तक रॉक सेडर प्रातःकालीन प्रार्थना से वापस नहीं आ जाता था और तब भी उसे बिस्तर से निकालना या नित्यक्रिया के लिए जल्दी निपट कर आने के लिए मनाना मुश्किल होता था । यहाँ दोपहर के भोजन का मतलब था कराया है टेबल पर धूम्रपान करना, जबकि पीटर्स बिस्तर में लेटे लेटे धूम्रपान करता है और रॉक दल शयन कक्ष को बैठक खाने से अलग करने वाले फोल्डिंग दरवाजे में से अपना सिर्फ खेलकर उस आलसी आदमी से उठने तथा अपनी नींद झटकने की विनती कर रहा होता है और उसके बिना ही रात का खाना खाने के लिए बैठ जाने की धमकी दिया करता था । बदले में टॉम सप्ताह अंत में आम तौर पर पहले उठ जाता हूँ । कभी कभी तो इतनी जल्दी के पॉलिने उस समय तक शयन कक्ष के दरवाजे के बाहर से जूते भी नहीं उठाए होते थे और अपनी हजामत यानी शेर के लिए पानी लेने झल्लाते हुए किचन में चला जाता है क्योंकि आलसी तथा कम चोट और एक ऐसे आदमी की अचूक नियम ता से सेव करने का आदी था जिसके लिए सेव करना नैसर्गिक प्रवति बन गई हो तो श्रीमती से कौन ने उसे एक्टर ना मानने के लिए खुद को दोष दिया होता । इतना सुगर वह सुन्दर था । वो रॉक जल शिव नहीं करता था । उसने पूरी दारी रखी हुई थी और अगर वो ठाट बाट वाला शौकीन व्यक्ति ना होता है तो कोई भी बेचैन व्याकुल निवेशक उस बैंक की मजबूती और स्थिरता के बारे में उन्हें आश्वस्त किए बिना उसकी तरफ नजर उठाकर भी नहीं देखता । जिस बैंक को उसने बडी सफलता से संभाला हुआ था और इस प्रकार दोनों आदमी एक मितव्ययी मित्रता अर्थात किफायती यारी दोस्ती में रह रहे थे । शायद उनकी आपसी विषमताओं ने उनकी मित्रता को और भी मजबूत बना दिया था । ये मध्य अक्टूबर में एक रविवार की दोपहर की बात है जब रॉक जल को अपने नए कमरे में बसेरा किए हुए दस दिन ही बीते थे कि क्लारा नोवल पहली बार उससे मिलने वहाँ उसने स्वच्छंदता का भरपूर आनंद लिया और उसके चाय के निमंत्रण को स्वीकार करने में उसे कुछ बुरा नहीं लगता । पढाई लिखाई में खास रुचि न होने के बावजूद ज्ञान प्राप्त उस अनाज व्यापारी को संस्कृति के महत्व की कुछ ज्यादा ही समझ थी और इसीलिए क्लारा जो बहुत अधिक प्रतिभा के बिना कलात्मक रूचियां रखती थी, मैं चित्रकारी को ग्रहण किया था और उसे सुंदर प्रसाधनों यानी शौचालय में म्यूजियम में प्रदर्शित चित्रों की नकल करता देखा जा सकता था । एक समय तो ऐसा आने लगा था जैसे कि वो पूरी गंभीरता से अपनी कला में ही समर्पित हो कर रह जाएगी क्योंकि शैतान जो निठल्ले हाथों में कुछ काम देने के वास्ते अभी भी शरारत खोज लेता है नहीं उसके पिता को वर्षों की मेहनत के फल अर्थात तो वर्षों की कमाई को लुभावनी धोखा देने वाली कंपनियों में लगाने के लिए प्रेरित किया, फिर भी हालात उतने नहीं बिगडे जितनी बिगड सकते थे । तबाही से कुछ बचा लिया गया था और ऍम जी रॉक दाल के रूप में एक प्रेमी के प्रकट हो जाने से उसके लिए एक भावी संपन्नता पूर्ण जीवन पक्का हो गया था, भले ही उतना सुख वैभव ना मिले जितना की अपेक्षा करने का उसे हक था । ऍम के प्रति उसे गहरा अनुराग था, जो असंदिग्ध रूप से एक होशियार, चतुर आदमी था और सुन्दर था । भावी जीवन अच्छा और निष्कंटक प्रतीत होता था । इन दो प्राणियों के ऊपर कितना भीषण तूफान टूटने वाला है, इसका कोई पूर्वाभास या संघ के तक नहीं था । इस रविवार की दोपहर तक उनके परस्पर संतोष एवं प्रसन्नता को भंग करने का कभी एक क्षण भी नहीं आया था । अक्टूबर का आसमान नीला और सूर्य के प्रकाश के द्वीप मान भारतीय ग्रीष्मकाल की उसम लिए हुए उसके जीवन की एक बिलकुल सही तस्वीर पेश करता प्रतीत हो रहा था, जिसमें कहीं संकेत भी था कि जो खुशी मिली है, उस पर भयंकर वज्रपात होने वाला है । अच्छा एब्रॉड, हमेशा से इतना सावधान, सतर्क, ध्यान रखने वाला और ललायित करने के लिए इतना अतुर उत्सुक प्रवर्ति का था कि उसे ये देख कर बहुत आश्चर्य के साथ बहुत संताप एवं कलेश भी हुआ कि वो नियत समय यह स्थान पर पहुंचने का वचन देकर भूल गया था । चकित होकर जिस समय तो गलियारे में पॉली से पूछताछ कर रही थी तो हम अपने बैठक खाने से अपनी ढीली चप्पलें तथा चार खाने वाली अपनी नीली कमीज पहने और मुंबई मिट्टी के चिलम लगाए लडखडाते हुए फटाफट चल कराया और उसे खबर दी । रॉक दल दोपहर में अचानक बाहर चला गया हैं । बाहर गया बिचारी क्लारा के मुँह से निकला हूँ । सब कुछ उसकी समझ के परे था, लेकिन उसने तो मुझे चाय पर आने के लिए कहा था । अरे, आप मिस नोवल है, मेरा अनुमान सही है तो टॉम ने कहा हाँ ऍम उसमें मुझे आप के बारे में बहुत कुछ बताया, लेकिन मैं उसके पसंद पर आज तक उसे सच में ठीक से बधाई नहीं दे सका । क्लारा इस प्रशंसा के तले और उसकी सरहाना युक्त तब तक ही भरी दृष्टि के उत्ताप की तरह घबराहट के मारे लग जा गई । स्वभाव होता हा इस आदमी की बात पर उसमें विश्वास नहीं किया । उसकी गहरी बंद आवाज के प्रथम सो भरोसे ही उसे एक विशेष कम कंपनी महसूस होने लगी और फिर उस घटिया मिट्टी की चिलम से उसका बेशर्मी से धुआ उडाना बिल्कुल व्यर्थ था वो तब आप आवश्यक ही श्रीमान पीटर होनी चाहिए । उस ने जवाब में कहा, उसने आपके बारे में अक्सर मुझे बताया है । फॅमिली हसते हुए कहा मैं समझता हूँ उसने मेरी सभी बुरी आदतों के बारे में आपको बता दिया है । तब तो आपको रविवार की मेरी पोशाक पर आश्चर्य नहीं हुआ होगा । वो थोडा मुस्कुराई । अपने मोदी जैसे दांतों की झलक दिख रहते हुए एडवर्ड आपको सारे अच्छे गुणों की खान मानता है । उसने कहा यही तो है जिससे मैं एक मित्र कहता हूँ । वो अत्यंत हर्षित होकर चलाया परन्तु क्या अब अंदर नहीं आएंगी वो बस अभी आने वाला है । वो आप के साथ किया हुआ वादा बिल्कुल नहीं छोडेगा । अंतिम सर्वनाम सोवर उच्चारण में निहित सराहना लगभग घृणाजनित थी । उसने अपना सिर झगडा हो रहा है । एडवर्ड के खिलाफ उसे एक ठीक शिकायत थी और वो गुस्से में तुरंत वहाँ से चले जाकर उसे दंड देगी । मुझे आपको एक प्याला चाय देने का मौका दें । टॉम ने याचना की, इस मौसम भरे मौसम में आपको बहुत अधिक प्यास सता रही होगी । वहाँ पे आप के साथ एक सौदा करूंगा । अगर आप भी अंदर आ जाएगा मैं वादा करता हूँ एडवर्ड के वापस आते ही में हट जाऊंगा और आपकी एकांतप्रियता में कोई खनन नहीं डालूंगा । लेकिन सारा जिद्दी थी । उसे उस आदमी की संगती बिलकुल भी पसंद नहीं आई और इसके अलावा वह गैरार्ड की विरुद्ध अपनी शिकायत व्यर्थ नहीं जाने देना चाहती थी । मुझे पता है अगर मैं आपको जाने देता हूँ तो फॅार्म मुझे बुरी तरह बताएगा । टॉम ने जोर देकर कहा मुझे कम से कम इतना तो बता दें कि आप उसे कहाँ मिल सकती है । मैं चेयरिंग क्रॉस पर बस लेने जा रही हूँ और मैं अब सीधे घर जाउंगी । क्लारा ने निश्चयपूर्वक कहा उसने अपनी छतरी झुंजलाहट में रखी और ऊपरी सडक से होते हुए स्टैंड की ओर चलते हैं । लगता था जैसे सभी चीजों पर कोई ठंडी निष्ठुर छाया पड गई हो । लेकिन जैसे ही वो बस में घुसने लगी थी एक तेजी से दौडती बग्गी तो सफल गार्ड्ज स्क्वायर आकर रुकी और एक बहुत जानी पहचानी आवाज में उसे पुकारा, फॅमिली से बाहर निकला और अपना हाथ उसकी और आगे बढाया । खुशी की बात है तो मैं कुछ देर हो गयी आने में । उसने कहा मुझे अचानक बुला लिया गया था और तब से मैं समय पर वापस आने की कोशिश कर रहा हूँ । अगर आप बिलकुल ठीक समय पर आए होते तो मुझे नहीं मिल पाते लेकिन मैंने सोचा उसने हसते हुए आगे कहा मुझे आप पर भरोसा था एक स्त्री होने के नाते मैं बिल्कुल समय पर थी । क्लारा ने गुस्से में कहा, मैं बस से उतर नहीं रही थी । जैसा की आप सोच रहे हैं बल्कि मैं बस में चढ रही थी और घर जा रही थी तो है । उसने अफसोस जताते हुए कहा, एक हजार बार माफी मांगता हूँ । उसके सुंदर चेहरी पर खेद का भाव देखकर उसका गुस्सा ठंडा पड गया । उसने नवीन शैली के अनुरूप जिले कोर्ट के बटन बोल में अटका गुलाब का फूल निकाला और उसे दे दिया आप इतनी निष्ठुर होती वो बुदबुदाया जब भग्गी में उससे चिपक कर बैठे जरा ये तो सोचो मैं कितना निराश होता । अगर घर आकर मुझे पता चलता कि आप आए और चले गए क्यों? एक्शन मेरा इंतजार नहीं किया । उसके बदन में एक सिर्फ दौड गई । उस आदमी पीटर्स के साथ एक्शन भी नहीं । वो बडबडाए उस आदमी पीटर्स के साथ नहीं । उसने मैं कल उतारते हुई थी । क्षमता से पूछा पीटर के साथ क्या बात है? मुझे नहीं पता । उसने कहा मुझे वो पसंद नहीं ऍम उसमें कुछ सकती से कुछ चापलूसी करते हुए कहा मुझे लगता था तो मैंने स्त्रियोचित दुर्बलताओं से ऊपर हो । तुम समय की बात हो, न्यायसंगत होने की भी चेष्टा करती हूँ । टॉम मेरा सबसे अच्छा दोस्त है । सडक से ही हम हमेशा साथ रहते आए हैं तो हम मेरे वास्ते कुछ भी कर सकता है और मैं टॉम के लिए तुम है उसको पसंद करना चाहिए । क्लारा मेरी खाते ही सही हो । तुम को अच्छा लगना चाहिए । मैं कोशिश करूँगी । सारा ने वादा किया और फिर उसने आभार मानते हुए खुला रखकर चुम्बन लिया । तीन । तुम्हारे चाहे पर तुम उसके साथ अच्छा बर्ताव करोगी, क्या नहीं करोगी? उसने बेताबी से कहीं । मैं तुम दोनों को बुरे दोस्त के रूप में नहीं देखना चाहूंगा । मैं भी नहीं चाहती कि हम पूरे दोस्त हूँ । क्लारा ने प्रतिवाद किया । बात इतनी है कि उसे देखते ही एक प्रकार की आर ऊँची और अविश्वास उसके प्रति मेरे मन में उत्पन्न हो गया । उसके संबंध में तुम्हारी धारणा बिलकुल गलत है । बहुत गलत । उसने क्लारा को गंभीरतापूर्वक अश्वस्त किया । जब तुम उसे अच्छी तरह जानने लोगों की अब उसे तो मैं बहुत अच्छा साथ ही मानोगी । मैं जानता हूँ । उसने अचानक कहा, मैं समझता हूँ बहुत मैला कुचैला था और आप महिलाएं बहारी सूरत एवं दिखावट पर बहुत जाती हैं, कतई नहीं । क्लारा ने पलट कर जवाब दिया, दिखावट पर जाना तो आप मर्दों का काम है? हाँ, तुम कर दियो तभी तो तुम मेरे लिए चिंतित रहते हो । उस ने मुस्कुराते हुए कहा उसने अर्थात तुम्हारा ने उसे विश्वास दिलाया कि ऐसी बात नहीं है और वो उसकी इतनी परवाह नहीं करती । ये सुनकर वो अंदर ही अंदर फूला नहीं समा रहा था लेकिन वह हस्ता रहा तथापि उसकी मुस्कान एक दम गायब हो गई । जब उसने अपने कमरे में प्रवेश किया और तो हम को कहीं नहीं पाया । हो ना हो तो तुम ने जरूर उसे मेरी तलाश में भेज दिया है । वो बहुत बनाया । शायद उसे मालूम था मैं वापस होंगी और इसी कारण वो हम दोनों को एकांत में सात बिताने कि खातिर बाहर चला गया । उसने जवाब दिया और फिर भी तुम कहती हो तो मुझे पसंद नहीं करती हूँ । वो पूरा विश्वास दिलाते हुए मुस्कुराई किन्तु अंदर ही अंदर उसने खुशी महसूस की । उस आदमी की गैर हाजिर रहने पर अगर क्लारा ने टॉम पीटर्स को गलियारे में बोली के साथ छेडखानी करते हुए देख लिया होता तो उसने उसके प्रति अपनी आर ऊंची को उचित मान लिया होता । हालांकि ये स्वीकार करने में कोई कोताही नहीं होनी चाहिए की फॅमिली के साथ प्यार की मस्ती ले रहा था । उस ये सोचकर डर लगना जरूरी है कि जहाँ तक औरतों का संबंध है, मर्द सारे करीब करीब एक समान होते हैं । मैले कुचैले आदमी और बन ठनकर रहने वाले आदमी, बैंक मैनेजर और पत्रकार कुमारे और अर्ध नियुक्त कुमारी । बहरहाल ये कहना शायद एक भूल थी कि एक साथ रहने वाले गहरी यार दोस्तों में कुछ भी सामान नहीं होता । मुझे आशंका है एंड्रॉयड ने क्लारा की अपेक्षा होली को बहुत अधिक बार चुना होगा और यद्यपि इसके पीछे कारण यह था कि उसको कम सम्मान के लायक समझता था । फिर भी ये कारण उसकी विभाग के लिए वचनबद्ध पत्नी को पूरी तरह सांतवना देने एवं उसके आंसू पूछने के वास्ते शाहिद काफी नहीं होता । क्योंकि पॉली विषेशकर तो वैकल्पिक रविवार की दुपहरी को अच्छी सुंदर दिखती थी और जब रात दस बजे वो बाहर से घूम कर लौट थी तो आम तौर पर गलियारे में उसकी भी एक या दूसरे आदमी से अवश्य होती हैं । होली को असल भद्रजन का सम्मान पाना अच्छा लगता है और वो अपनी सफेद टोपी बडी फॅसे पहनती है । अतः उस स्मरणीय रविवार की दोपहर को जब क्लारा ने दरवाजा खटखटाया उसके कुछ क्षण पहले पौली नौकरों को नियंत्रित करने संबंधित अलिखित नियम वाली द्वारा घर में बंद रहने के कारण पीटर के साथ चोंचलेबाजी करते हुए अपना मन बहला रही थी । दोनों को मुझे कुछ प्यार भरा लगा है । निर्णय जाॅब्स आया क्या तुम नहीं मानती और आप जानते हैं मुझे आप अच्छे लगते हैं । होली में जवाब दिया तुम इस घर में मेरे सेवा किसी और को पसंद नहीं करती है । अरे नहीं आपकी सेवा किसी और को मैंने कभी मुझे किस करने नहीं दिया । सर पॉलिने चतुराई से जवाब दिया और मम्मी दे दो मुझे तो हमने कहा उसने कौन चुम्मी दे दी? और पुजारा की दस तक का जवाब देने के लिए तेजी से दरवाजे की ओर दौड गई और उसी शाम जब सारा जा चुकी थी और ऍम अभी तक बाहर था । पॉलीनेशन भर भी संकोच एवं पसंद है या ईर्षा के बिना अधिक चित आकर्षि रॉक दाल की तरफ झुकाव दिखाया और उसके कहाँ मुख विलासी निवेदनों को स्वीकार कर लिया । अगर ये पहली नजर में ऐसा प्रतीत हो की इस प्रकार के छिछोरेपन के लिए एम्ब्रॉएडर्ड के पास अपने दोस्त की अपेक्षा कम बहाना था तो उसने इस भेंट वार्ता में जो गंभीरता दिखलाई शायद वो गंभीरता आदमी के जटिल चरित्र पर एक अलग प्रकाश डाल सके । तुम है यकीन है तुम मेरे सेवा किसी और को प्यार नहीं करती हूँ । उसने गंभीरतापूर्वक पूछा । निर्देशक नहीं सर । बॉलिंग गुस्से से जवाब दिया मैं ऐसा करके सकती हूँ, लेकिन तो वह सैनिक को पसंद करती हूँ । जिसके साथ पिछले रविवार को तुम्हें मैंने घूमते देखा था । हरी नहीं सर, मेरा इकलौता प्रेमी है । उसने क्षमा याचना भरे स्वर में कहा क्या तुम उसे छोड होगी? उसने अचानक संस्कारी भरी पौली के चेहरे पर भेज झलकने लगा । मैं नहीं छोड सकती वो मुझे मार डालेगा । वो कितना ईर्ष्यालु दुष्ट है आप नहीं जानते ठीक । लेकिन मान लो अगर मैं यहाँ से तुम को भगा ले रहा हूँ । उसने उत्सुकतावश कुछ बताते हुए कहा किसी ऐसी जगह जहाँ वो तुमको खोज नहीं सकता । दक्षिण अमेरिका अफ्रीका समुंद्र पर कहीं हजारों में हिंदू ही सर, आप तो मुझे डरा रहे हैं । पौली ने उसकी प्रचंड तीक्षण आंखों के सामने सहन कर धीमी आवाज में कहा । गलियारे के मध्य प्रकाश में रॉक दल की आंखें जो हालांकि तरह चमक रही थी, क्या तुम मेरे साथ होगी? उसमें बहुत धीरे से पूछा । उसने जवाब नहीं दिया । उसने खुद को उसकी पकल से किसी तरह मुक्त किया और दौड करके चल में चली गई । एक संदिग्ध भय से कहते हुए एक सुबह शिवलिंग के लिए पानी मांगने के समय से ही पहले तो हमने जोर जोर से घंटी बजाएगी और हैरान चकित पौली से पूछा कि श्रीमान रॉकडेल का क्या हुआ? मुझे कैसे पता होगा सर? उसने हाफ ते हुए कहा क्या वो कमरे में नहीं ऐसा स्पष्टता नहीं । टॉम ने चिंता दिखाते हुए जवाब दिया, वो कभी बाहर नहीं रहता है । हम यहाँ तीन सप्ताह से रह रहे हैं और वो एक विराट ऐसे नहीं गया जब बारह बजे से पहले घर ना आ गया होगा । मैं नहीं समझ पा रहा हूँ कि माजरा क्या है । सब जगह पूछताछ व्यर्थ साबित हुई । श्रीमती से कौन ने उसे याद दिलाया कि रात के पहले अचानक गहरा गाना कोरा गिराया था? कैसा कोहरा? तो हमने पूछा लॉट क्या आपने देखा नहीं सर? नहीं, मैं जल्दी अंदर आ गया । स्मोक क्या पढा और करीब ग्यारह बजे सोने चला गया । मुझे खिडकी के बाहर देखने का ख्याल तक नहीं आया । ये करीब दस बजे शुरू हुआ । श्रीमती सरकण ने कहा, और फिर गहरा एवं घना होता चला गया । मैं अपने शयन कक्ष की खिडकी से नदी की लाइट्स नहीं देख सकती । वो विचारा भला मानुस नदी किनारे टहलने का शौकीन उधर गया और टहलते टहलते पानी के अंदर चला गया । उसने तभी आना बिसूरता शुरू कर दिया । बकवास मे कार्बन । हालांकि उसके हावभाव उसके शब्दों को चोट ला रहे थे । मैं सोचता हूँ बुरे से बुरा ये हुआ होगा कि वह अपने घर का रास्ता नहीं खोल सका होगा । कोई टैक्सी ना मिली हो और इसी कारण रात बिताने के लिए किसी होटल में ठहर गया हूँ । मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूँ सारी बात साफ हो जाएगी । वो सीटी बजाने लगा मानो खुशी लौट आई हूँ । आठ बजे के आस पास रॉक दाल के लिए एक खत आया जिसके ऊपर तत्काल लिखा था । किन्तु जब वो नाश्ता करने के समय तक भी वापस नहीं आया तो टॉम स्वर्ण उसकी खोज खबर लेने सिटी ऍम गया । उसने वहाँ आधा घंटा इंतजार किया लेकिन मैनेजर आता नहीं दिखा । फिर उसने वह खतरे खजांची के पास छोड दिया और चेहरे पर चिंता का भाव लिए चला आया । उस दिन दोपहर तक पूरे लंदन में खबर फैल गई की सिटी एन सबर्बन बैंक का मैनेजर गायब हो गया है और ये भी के कई हजार कौन सोना और करेंसी नोट भी उसके साथ गायब है । स्कॉटलैंड यार्ड ने तत्काल चिन्हत खत को खोला और पाया कि खतरे की डिलीवरी होने में कुछ देरी हुई है क्योंकि पता अस्पष्ट था और आधिकारिक तब्दीली की गई थी । ये किसी तरी के हाथ का लिखा हुआ लगता है और खत में कहा गया है, फिर से गौर करने पर निर्णय किया कि मैं आपके साथ नहीं आ सकती । मुझे दोबारा मिलने की कोशिश मत करना । मुझे भूल जाओ । मैं आपको कभी नहीं भूल पाऊंगी । कोई दस्तखत नहीं था । उस पर क्लारा नोवल विक्षिप्त हो गई और उसने इस खत के बारे में कुछ भी जानकारी ना होने का दावा किया । बोली ने बयान दिया कि उस शरणार्थी ने उसे भाग चलने का प्रस्ताव किया था और अफ्रीका तथा दक्षिण अमेरिका के रास्तों की विशेष चौकसी की गई थी । महीनों गुजर गए, पर कोई नतीजा नहीं निकला । कॉम्पीटिटर्स शॉक और अचंभि से आक्रांत था । पुलिस ने लापता आदमी की सभी चीजों को कब्जे में ले लिया । धीरे धीरे सारा शोर शराबा ठंडा पड गया । अंततः हमारा मिलना हुआ कॉम्पीटिटर्स को रोना आ गया । यह भी उसका चेहरा खुशी से चमक उठा था । आप कैसी हैं प्रोब्लेम्स नोवेल क्लारा उससे ठंडेपन से मिली । उसके चेहरे पर अब एक पक्का पीलापन था उसके प्रेमी का भाग जाना और उसके कारण मिली शर्मिंदगी ने उसे हफ्तों के लिए पस्त कर दिया था । उसकी अंतरात्मा झटपटाती मूल प्रवर्तियों का युद्ध क्षेत्र बनी हुई थी । सारी दुनिया में एकमात्र वही था जिसे एडवर्ड की निर अपराध ता अर्थात बेगुनाही में अभी भी विश्वास था क्योंकि उसे ऐसा महसूस हो रहा था कि कुछ जरूर है जो नजर में नहीं आ रहा कि सारे कार्ड के पीछे कुछ पेश आ चिक अथवा जघन्य रहस्य अवश्य छुपा हुआ है और फिर भी किसी अज्ञात महिला के उस खत्म हैं उसे बुरी तरह हिलाकर रख दिया । इसके बाद होली का बयान भी था । उसने जब उसका िवादन करते पीटर्स की आवाज सुनी । उसकी सारी पुरानी घर ना फिर से जीवित होती थी । उसके दिमाग में ये बात कौन कई किस आदमी रॉक दाल के अमोद प्रिय साथी को बहुत कुछ पता है जो उसने पुलिस को नहीं बताया है । उसे याद आया फॅसने उसके बारे में कितने प्यारे और विश्वास के साथ उसे बताया था । क्या ये संभव है कि उसे एबॅट के गमनागमन, उसकी चेष्ठा एवं उसके मनोभाव के बारे में कुछ भी बता ना हो । अपनी घृणा पर काबू रखते हुए उसने अपना हाथ बढाया उसके साथ संपर्क बनाए रखना ठीक होगा । संभव रहा । वहीं इस रहस्य का सूत्र था । उसने गौर किया कि आज उसने पहले के मुकाबले कुछ अधिक साफ सुथरी पोशाक पहनी हुई है और वह एक उम्मीद शाम पी रहा था । वो उसके साथ साथ चल रहा था और उसने अपनी चिलम हो जाने का कोई निवेदन नहीं किया । आपको ऍसे कोई खबर नहीं मिली है । उसने पूछा वो तमतमाते क्या तुम सोचते हूँ कि मैं अपराध में सहयोगी हूँ । वह ठीक पडी नहीं नहीं । उसने संतावना देते हुए कहा मुझे क्षमा करें । मैं सोच रहा था कि उसने कदाचित आपको लिखा हूँ देश अब कोई सही बताना देकर मर्दों कभी कभी स्त्रियों को लिखने में इस प्रकार का जोखिम उठाते हैं । परन्तु निसंदेह वो आपको बहुत अच्छी तरह जानता है । आपने पुलिस को उसके पीछे लगा दिया होता हूँ । निश्चित रूप से उसमें गुस्से में चला कर कहा, अगर वो निर्दोष है तब भी उसे आरोप का सामना तो करना ही चाहिए । क्या आप अभी उसके निर्दोष होने की संभावना को पाले हुए हैं? निश्चय ही उसने निर्भिकता से कहा और भरी नजर से उसके चेहरे को देखा । उसकी बल्कि कम्पन के साथ नीचे चुके है । क्या तुम नहीं मैं व्यर्थ की आशा लगाए हुए हैं । उसने जवाब दिया, भावावेश में हिचकोले खाती, आवाज में विचारा बूढा आॅल लेकिन मुझे खेद है । संध्या की कोई गुंजाइश नहीं तो धन दौलत का ये ग्रह इत अभिशाप हमने से अच्छे अच्छों को लालच में फंसा लेता है । सप्ताह के बाद सप्ताह बीत गई । धीरे धीरे टॉम पीटर्स के साथ उसकी मुलाकातें बढने लगे और कहने में भले ही अजीब लगे, धीरे धीरे क्लारा की नजर में उसके प्रति आरोपी कम होती चली गई । उन दोनों की आपस में जब जब और जो भी बातचीत हुई, उस पर मनन करने के फलस्वरूप उसकी समझ में आने लगा कि एम्ब्रॉएडर्ड में विश्वास करने का वास्तव में कोई तर्क नहीं । उसकी अपराधिता, उसका विश्वासघात, बहुत संगीन धन पीटर्स के प्रति आरंभ में उसके मन में जो अविश्ववास था, उसके बारे में सोचकर उसी शर्म महसूस होने लगी । पश्चताप से सम्मान, उपजाऊ और सम्मान का ये भाव अंततः इतनी सुने है । सिख भावनाओं में पर हो गया कि जब टॉम ने अपना प्रेम अधिक खुलकर व्यक्त किया, जिससे तुम्हारा ने पहली मुलाकात में ही भाग लिया था, उसने टॉम के प्रेम का तिरस्कार नहीं किया । ये बात सिर्फ किताबों में मिलती है कि प्यार हमेशा जीवित रहता है । अतः क्लारा के पिता ने ठीक ही सोचा कि क्लारा ने एक अयोग्य प्रेम प्रसून को अपने दिल से जल समेत उखाड फेंक कर स्वयं को एक समझदार लडकी होने का सबूत दिया है । उसमें क्लारा के नए प्रेमी को अपने घर बुलाया और तुरंत उसे अपना बना लिया । रॉक दाल का कुछ कुछ अहंकारपूर्ण रवैया सीधे साधे अनाज व्यापारी को यहाँ खटकता था । टॉम के साथ उस बूढे आदमी की अधिक अच्छी दरार पडने लगी । यह भी तो वो प्रमाणिक अर्थात जाहिर तौर पर आपने पहले के दोस्त की तरह विद्वान सब है एवं सुसंस्कृत था । फिर भी टॉम जानता था कि उसे किस तरह अपने श्रेष्ठ ज्ञान का प्रकटीकरण ज्ञान की उत्कृष्टता के बजाय ज्ञान पर अधिक बल देते हुए करना है । साथ ही उसका इरादा ये दिखाना भी था कि बदले में बहुत अधिक ज्ञान प्राप्त कर रहा है । जो लोग अपनी आरंभिक शिक्षा के दोषियों को बहुत अच्छी तरह समझ चुके होते हैं, वो अपनी जागृति था, अपने अनुभवों को दूसरों के साथ साझा करने में अत्यंत आक्रोशित होते हैं । इसके अलावा टॉम का मृदुल स्वभाव बूढे की पसंद एवं चाह के बहुत अधिक अनुकूल था । उसके पूर्ववर्ती मित्र की बनावटी विनम्रता की तुलना में किसी कारण टॉम ने पुत्री की अपेक्षा पिता के दिल में अधिक जगह बनाने में सफलता पाई । फिर भी क्यारा किसी भी मायने में ऐसी नहीं थी कि टॉम के प्रेमानुराग के प्रति संवेदनशील ना हो या हमदर्दी ना दिखाए । और जब कई बार की भेंट मुलाकात के बाद तो हम एक बार उसके घर आकर जा चुका था । बूढे आदमी ने प्यार से चूम लिया और हालात उन खुशनुमा हो जाने की बातें करने लगा और बोला कि उनके जीवन में किस तरह हालात दोबारा बदल गई हैं, सुधर गए हैं । जबकि एक समय उन पर मुसीबत के घने काले बादल छाए हुए थे । ये सारी बातें सुनकर उसका दिल कृतज्ञता और खुशी तथा करुणा से भराया और वह सुबह रखती हुई अपने पिता के बाहों में सिमट गई तो हमने हिसाब लगाया कि वह यदा कदा पत्रकारिता के जरिए साल में पूरे पांच सौ डॉलर का मान लेती है । इसके अलावा उसके पास कुछ लाभप्रद निवेश है जो उसे अपनी माँ से विरासत में मिले हैं । अतः विभाग को आगे डालने का कोई कारण नहीं है । विभाग मई दिवस को होना निश्चित हुआ और हनीमून इटली में लेकिन कुरारा के नसीब में शायद खुशी नहीं थी । जनशिक्षण से उसने अपने पहले प्यार के दोस्त को अपना हाथ देने का वचन दिया था । पुरानी यादव ने सिर उठाना और उससे धिक्कारने शुरू कर दिया । उसकी आत्मा की गहराई में अजीब बाजी विचार खलबली मचाने लगे और रात की शान दोपहर में उसे ऐसा लगा जैसे गहरे शोक एवं व्यथा से भरी और लानत मलामत देती ऍफ की आवाज उसे सुनाई दे रही हो । जैसे जैसे विभाग का दिन निकट आ रहा था, वैसे वैसे उस की घबराहट बढती जा रही थी । टेम्स नदी के उच्चतर पार्टियों के बीच नाव खेते हुए । एक सुखद दोपहरी में टॉम के साथ अच्छा समय बिताने के बाद एक रात वो जब आराम से सोने का उपक्रम करने लगी तो उसके मन मस्तिष्क को अस्पष्ट भविष्यवाणियों ने घेर लिया और उसने एक भयानक सपना देखा । ॅ की पानी में तरबतर आकृति उसके बिस्तर के बगल में खडी हुई है । भयावय आंखों से उसे खून रही थी । क्या हूँ अपने देश से इतना दूर निकल गया था कि लौटने का मार्ग खोजते खोजते बीच में ही डूब गया है के मारे जम सी गई । क्लारा ने सवाल किया मैंने इंग्लैंड कभी नहीं छोडा है । उस छाया ने उत्तर दिया, उसकी जीव उसकी हूँ कि तालू से चिपक गई । इंग्लैंड कभी नहीं छोडा है । ऐसे स्वर में दोहराया जो उसका अपना नहीं लगता था । प्रेतात्मा की पथराई आंखे टकटकी लगाए रहे लेकिन वहाँ खामोशी थी हूँ तो फिर तो अब तक कहाँ रहे? उसने अपने सपने में पूछा तुम्हारे बहुत निकल जवाब आया तो फिर जरूर कुछ धोखा हुआ है मुझे कि प्रेतात्मा ने शोकपूर्ण सहमती में अपना सिर हिलाया । मैं जानती थी उसने चित्कार क्या फॅसने तुम से छुटकारा पा लिया है क्या ये वही नहीं है? बोलो हाँ जी वही ऍम जिससे मैंने सारी दुनिया से अधिक प्यार किया । उस सपने की भयानक पीडा में थी वो और की तरह खुद को ये कहने से नहीं रोक सके । क्या मैंने उसके विरुद्ध तुमको खबरदार नहीं किया था? प्रेतात्मा चुप्पी साधे पूर्ति रही और जवाब में कुछ नहीं कहा । लेकिन उसकी मंशा क्या थी? उसने देर से पूछा होना पानी चाहिए और तुम और तुम खुद उसे अर्पित कर रही हूँ । प्रेत ने कठोरता से कहा नहीं नहीं आॅड, मैं ऐसा नहीं करूंगी । मैं वचन देती हूँ, मुझे क्षमा कर दो । प्रेतात्मा ने संशय पूर्वक अपना सिर हिलाया तो उसे प्यार करती हूँ और तो झूठी होती हैं । उतनी झूठी जितने झूठे आदमी होते हैं । उसने दो बारह विरोध करने का प्रयास किया, लेकिन उसके जीतने अपना काम करने से मना कर दिया । अगर तुम उस से शादी करती हो तो मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगा । सावधान रहना, पानी में सराबोर वो आकृति जैसे अचानक आई थी, उसी तरह था । अचानक गायब हो गई और क्लोराइड ठंडे पसीने में सिहर कर जाग उठी । बहुत कितना भयानक सपना? थाई जिस आदमी को उसने बिहार करना सीखा था, उसी आदमी के हत्यारे को बुलाना उसने सीख लिया था । उसका मूल पूर्वग्रह किस प्रकार सही प्रमाणित कर दिया गया? विधान हाथ बुद्ध अंतर्तम तक हिल उठी, खिला रहा, अब अपने पिता की भी सलाह नहीं लेगी । अभी तो उसने अपने संदेहों के बारे में पुलिस को सूचित कर दिया तो हम के कमरों में छापा मारा गया और देखो चुराए गए नोटों का एक बडा पुलिंदा बरामद हुआ । ये पाया गया कि उसके कई बैंकों में खाते थे और हाल ही में प्रत्येक बैंक में बडी रकम जमा की गई थी । टॉम की गिरफ्तारी हुई । पूरा ध्यान अब उन शवों की ओर गया जो नदी द्वारा बाहर ले आए गए थे । बहुत देर होने के पहले ही रॉक जल का शव नदी किनारे हालांकि लंबे समय तक पानी में डूबे रहने से चेहरा इतना विकृत हो गया था की पहचान कर पाना लगभग असंभव था । लेकिन कपडे नहीं पसंद हैं उस की ही थी और बेस्ट पॉकेट में मिली पॉकेट बुक ने अंतिम संध्या भी दूर कर दिया । श्रीमती सिकन और पॉली तथा क्लारा नोवल इन सबने शव की शिनाख्त की । दोनों निर्णायक मंडल ने टॉम पीटर्स के खिलाफ हत्या का एक फैसला सुना दिया । इस फैसले में क्लारा के सपने का वर्णन अदालत एवं पूरे देश में एक असाधारण प्रभाव जमाने में बडा कारगर सिद्ध हुआ । अभियोजन पक्ष के सिद्धांत का आधार ये था कि रॉकडेल वो धनराशि घर लाया था अकेले उड जाने की नियत से या उसका बंटवारा करने के इरादे से । या फिर हो सकता है किसी अबोध अनजाने परियोजन से जैसा कि क्लारा का मानना था । लेकिन इस बात को ध्यान में रखते हुए की सारी बातें निरर्थक सिद्ध हो जाती है कि पीटर्स ने कुल रकम को हडपने का पक्का इरादा कर लिया था कि वो मृतक के साथ टहलने के लिए बाहर गया था और कुहासे का लाभ उठाकर उसने रॉक दाल को नदी में धक्का दे दिया था और इस अपराध को अंजाम देने के लिए क्लारा के प्रति उसके प्यार ने भी उसे बाध्य कर दिया था । जैसा कि बाद में क्लारा के साथ उसके संबंधों से स्थापित होता है । जज ने काली टोपी पहन ली । टॉम पीटर्स को विधिवत गर्दन से फांसी पर लटका दिया गया । उसकी मौत हो जाने तक अपराधी की को बोलना में अर्थात अपराध स्वीकरण का संक्षिप्त विवरण जब आप सभी पढेंगे मैं मर चुका होगा और आप पर हस रहा होंगा । मुझे मेरी अपनी हत्या के लिए फांसी दी गई है । मैं ऍम हूँ तो मैं टॉम पीटर भी हैं । हम दोनों एक व्यक्ति है । मैं एक जवान आदमी हूँ । मेरी मूझे दाडी अभी नहीं आई । मैंने अपना रूप रन अपनी दिखावट सवारने के लिए नकली दाढी मूंछ खरीद रखी थी । तो एक दिन मैंने सिटी एन सन वन बैंक का मैनेजर बन चुकने के बाद घर में अपनी दाढी और मूंछ उतारी और तब मेरे मन में ये विचार आया । केन के बिना मुझे कोई भी पहचानेगा नहीं प्रदक्षिण मेरे दिमाग में ये बात बिजली की तरह कौन गई कि अगर में बैंक से भाग जाऊँ तो उस दूसरे आदमी को लंदन में छोडा जा सकता है जबकि पुलिस काल्पनिक भगोडे की खोज में दुनिया भर का चक्कर लगा रही होगी । लेकिन उस विचार का सिर्फ पाँच चक्की रहा था । धीरे धीरे मैंने योजना को पूरी तरह परिपक् को होने दिया । जिस व्यक्ति को लंदन में रहने देना था वो जानकर लोगों के बीच पहले से भलीभांति परिचित होना चाहिए । शाम के समय, बिना दाढी मूंछ के अलग अलग तरह की पोशाक पहनकर और आवाज बदल करते चाँद संदेश घूमना तो बहुत आसान होगा लेकिन ये विचार अथवा यह योजना भी बहुत बढिया नहीं थी । मैंने फिर उसके साथ रहने की योजना बनाई । हम साथ रहने के लिए श्रीमती से कौन के मकान में भाडे पर कमरा लिए ये बडे श्रमसाध्य काम था लेकिन ये सिर्फ कुछ सप्ताह के लिए था । मेरे शहर कक्ष में मेरे पास धोके में डालने वाले कपडे थे । जैसे कपडे जल्दी जल्दी पोशाक बदलने वाले कलाकारों के होते हैं । मैं एक मिनट में राॅयल के भेज में आ सकता था । होली को सुबह दो जोडी जूते पॉलिश करने होते थे । दो लोगों के लिए रात का भोजन बताना होता था आदि आ रही है । हम दोनों में से कोई एक वॉली तथा श्रीमती इस्कॉन की नजर में हर समय रहता था । उन्हें इस बात का ध्यान कभी नहीं आया कि उन्होंने हम दोनों को कभी एक साथ नहीं देखा था । भोजन के समय मुझे कोई रोक तो पसंद नहीं थी । मैं दोनों प्लेटों में से खाता रहता और अपने दोस्त के साथ ऊंचे स्वर में बातचीत किया करता था । दूसरे समय हम अलग अलग समय पर भोजन करते । रविवार को वह सोया रहता जबकि मैं चर्च में होता है । दुनिया में ऐसी कोई मकानमालकिन नहीं है जैसे ये बात समझे कि एक आदमी खुद को दो साबित करने की तकनीक उठा रहा होगा और दो आदमियों के रहने, खाने और कपडा धुलाई का खर्चा भी उठा रहा है । मैंने डॅाल के भागने की योजना बनाई । होली को मेरे साथ चलने के लिए कहा । मेरे गायब हो जाने की सुबह जो स्त्रियोचित खत आया वो भी मेरे दिमाग की उपज थी । मैं कॉम्पीटिटर्स के रूप में पत्रकारों के एक समूह में शामिल हो गया । मेरे पास एक और कमरा था जहाँ मैंने सोना और नोट छिपाकर रखे थे । जब तक की मैंने भूल से ये सोच लिया कि भांडा फूट गया है । मत किस्मती से मेरे गायब होने की रात को राॅयल के कपडों का पुलिंदा लिए जिसे मैं नदी में डाल देना चाहता था । यहाँ से लौटते समय कुहासे में वह पुलिंदा किसी ने चुरा लिया और ऐसा प्रतीत होता है कि जिस आदमी के कब्जे में वह पुलिंदा आया उसने अंततः आत्महत्या कर ली और शायद जिस चीज ने मुझे बर्बाद किया वो थी क्लारा का प्यार पाने और उस प्यार को उत्तरजीवी को सौंपने के मेरी इच्छा फॅसने उसे बता दिया की मैं सबसे अच्छा साथी हूँ । एक बार उससे शादी हो जाने पर मेरे लिए बहुत डरने की कोई बात नहीं रह जाती है । अगर वो मेरी चालबाजी के बारे में जान भी जाती, उस दशा में पत्नी अपने पति के खिलाफ साक्ष्य नहीं दे सकती और प्रायास देना भी नहीं चाहिए । मैंने साधारण या मामूली भूलों में से कोई भूल नहीं । लेकिन कोई भी आदमी दिन में नौका विहार का आनंद लेने और रात का भोजन स्टार रन गार्टर में करने के बाद किसी लडकी के बुरे सपने के विरुद्ध बचाव नहीं कर सकता । मैंने जज को बता दिया होता कि वह गधा था किन्तु फिर भी मुझे बैंक डकैती के लिए कठोर कारावास की सजा हो सकती है और वह सजा मौत से भी बुरी होती है । हालांकि मुझे जैसे एक बात में उलझन में डाल रखा है वो ये है कि क्या कानून ने हत्या की है या मैंने आत्महत्या की है हूँ ।

4 - स्वत: स्फूर्त दहन

स्वतःस्फूर्त दहर कैनेडी और मैं सुबह जल्दी उठ गए थे क्योंकि हम एक सप्ताह अंत के लिए अटलांटिक सिटी में निकल जाने की हडबडी कर रहे थे । कैनेडी आपने दस में खींचकर कस रहा था और दस में थे कि बार बार पकड से बाहर हुए जा रहे थे । इस कशमकश को लेकर वो बडबडा रहा था कि तभी दरवाजा खुला और एक संदेश वाहक लडकी ने अपनी मुंडी अंदर घुसेड क्या श्रीमान कैनेडी यही रहते हैं । क्रेक ने तुरंत पैंसिल उठाएगी । बुक में अपने दस्तखत की और लिफाफे को हारकर उसमें से एक पत्र निकाला । उसके बाद की लंबी चुप्पी से मैं भाग गया कि कुछ गडबड है । कम से कम मैंने तो अटलांटिक सिटी के भ्रमण पर जाने का पक्का इरादा कर लिया था । लेकिन संदेश लाने वाले लडके को देखकर मुझे अंदर से ना जाने क्यों ऐसा लगा कि उस सप्ताह जहाज पर चढना और समुद्री यात्रा का मजा लेना संभव नहीं हो पाएगा । मुझे अटलांटिक सिटी यात्रा केटल जाने का खटका ऍम क्रेग ने गंभीरता से कहा तुम है उस फॅमिली की याद हैं जो यूनिवर्सिटी में हमारी कक्षा में हुआ करता था । खैर पढो मैंने अपना सेफ्टी रेजर नीचे रखा और मैसेज पकडा तो हमने शब्दों के प्रयोग में क्या फायदा नहीं की थी और मैंने मजबून की लंबाई से ही अंदाजा लगा लिया कि कोई महत्वपूर्ण मसला है । ये संदेश आॅलआउट से था । डियर ओल्ड की संबोधन से शुरू हुआ लागत की परवाह ना करते हुए एक क्या तुम इसके मिलने के बाद अगली ट्रेन से यहाँ आ सकते हो? अंकल लुइस नहीं रहे अत्यधिक रहस्यपूर्ण पिछली रात सोने जाने के बाद हमें घर के आस पास एक अजीब तरह की गंध महसूस हुई । हमने ज्यादा ध्यान नहीं दिया । सुबह हमने अंकल को लिविंग रूम में फर्श पर पडे पाया । फिर और सीना जलकर लगभग हो चुका था । लेकिन शरीर का निचला हिस्सा और बातें पूरी तरह सही सलामत थी । कमरा देखकर कताई ऐसा नहीं लगता कि आग लगी हो, किंतु पहले ही कालिख से कमरा भरा हुआ है । अन्यथा कुछ भी असमान्य नहीं है । शव के समीप मेज पर साइट सुंदर यानी सोडावाटर की नली आयात, निंद बुक की बोतल और एक चीज के लिए शीर्षक का ग्लास रखा था । शव हटा दिया है । लेकिन हमने तुम्हारे आने तक कमरा वैसा ही रहने दिया जैसा हमने पाया था । जैमसन को ले आना । अगर नहीं आ सकते तो तार कर देना । लेकिन आने की पूरी कोशिश करूँ और हर चीज की परवाह मत करना हो । उत्सुकता से प्रतिक्षारत ट्रॅाली मैं जल्दी से वो खत पढने में लगा हुआ था और उधर क्रेग बेचैनी से अपनी घडी देख रहा था जी जल्दी करो वॉल्टर वो चीखकर बोला हम अभी अभी हम पास पेट पर कर सकते हैं । शेयरिंग की फिक्र छोडो यू ठेका में हमें रुकना पडेगा । फॅस के इंतजार में था । सारी जरूरी चीजें जल्दी से हाथ के थैले में डालो और उसे कसकर बंद करो । उम्मीद है गाडी पर हमें खाने के लिए कुछ मिल जाएगा । मैं ताज सूचित कर दूंगा कि हम आ रहे हैं । दरवाजे को कोंडी लगाना मत बोलना कैनेडी पहले ही लिफ्ट के आधे रास्ते तक पहुंच चुका था और मैं लटका होली उसके पीछे आ रहा था । मेरा मन अभी भी समुद्र और पोत घट ब्रैंडो और रोलर कुर्सियों के बारे में ही सोच रहा था । कैंप हैंगआउट के निकटतम छोटे से स्टेशन तक दस घंटे की यात्रा की और फिर वहाँ से कम से कम दो घंटे की घोडे की सवारी थी । हमारे पास इस बात पर विचार करने के लिए काफी समय था कि तो हम और उसकी बहन के लिए इस मौत का क्या अर्थ हो सकता है और ये मौत किस तरीके से हुई उसके बारे में भी हम सोच विचार कर सकते थे । तो हम और ग्रीस लैंगली लूइस लॉली की शादी से रिश्तेदार थे जिसने अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद उन्हें अपना आशीर्वाद बना लिया था । जहाँ तक मुझे याद है फॅमिली का नाम न्यूयॉर्क और लंदन के सबसे विख्यात क्लबों का सदस्य होने के लिए विशेष रूप से विख्यात था । न केनेडी ने और नाम मैंने उसके बारे में दुनिया की राय जानी चाहिए थी क्योंकि हमें मालूम था कि वो कॉलेज में टॉम के लिए बहुत सद्भाव रखता है और कौन से वो ग्रेस को भी बहुत चाहने लगा था । वास्तव में उसने ही टॉम को लैंगली नाम अपनाने के लिए कहा था और वो भाई बहनों दोनों को अपने बच्चों जैसा मानता था । तो हम एक शानदार घोडे के साथ हमें स्टेशन पर मिला है जो इस बात का पर्याप्त संकेत था । अगर हमें पहले से ज्ञात नहीं होता उस अशोक को उसमें कैंप हैंगआउट के रूप में बहुत ही विलासमय ऍफ में सजधजकर तैयार किया था । वो हमको देख प्रभावित रूप से खुश था और उसके चेहरे में उस जनता का पढ पाना मुश्किल नहीं था जो चिंता प्रस्तुत मामले के कारण उसे पहले ही मिल गई थी तो हम मुझे बहुत अफसोस है । क्रेक ने कहना शुरू किया ही था जब उसने ट्रेन आने के समय रेलवे स्टेशन पर हम से पहले ही जमा हो जाने वाली उत्सुक भीड की ओर फॅमिली की दृष्टि का चेतावनी भरा इशारा समझ कर अपनी बात को बीच में काट दिया । हम एक्शन खामोश रहे जबकि टॉम हमारे लिए घुड सवारी की व्यवस्था कर रहा था । जैसे ही हम सडक में उस मोड से चक्कर लेकर घूमें जो समय से स्टेशन और उसकी तमाशबीन भीड को अलग करता है । सबसे पहले कैनेडी बोला तो हम उसने कहा, पहले पहले मैं तुमको ये कहना चाहता हूँ कि हम जब हम पहुंचे हम आपस में सिर्फ दो सहपाठी बने रहेंगे, जिन है तुमने दुखद घटना के घटने से पहले दो चार दिन सात बताने का न्यौता दिया था । जो भी हो चलेगा तुम्हारे प्रकट संदेहों के मुताबिक शायद कुछ भी ना हो और फिर क्या पता वो भी संभलकर खेलना । कोई ऐसी भावना ना भडकाना जो यदि तुम गलत साबित हुए बाद में कटुता का कारण बन सकती है । मैं तुमसे बहुत सहमत हूँ तो हमने जवाब दिया तुमने तार भेजा, शायद अलवानी से मैं समझता हूँ तथ्यों को यथा सम्भव अखबारों से दूर रखने के लिए मुझे आशंका है उसके लिए बहुत देर हो चुकी है । निसंदेह सर ने एक में मामले की अस्पष्ट सी हवा फैल गई । हालांकि काउंटी अधिकारी हमारा बहुत लेहाज रखते हैं और सुबह एक न्यूयॉर्क रिकॉर्ड पत्रकार आया और उसमें हम से बातचीत की थी । मैं मना नहीं कर सका । उससे इस मामले पर बहुत बुरा असर पडता है । बहुत बहुत बुरा । मैंने चिल्लाकर कहा मैंने इतनी आशा तो अवश्य की थी कि स्टार में रिपोर्ट को कुछ पंक्तियों तक सीमित रखा जाएगा । लेकिन रिकॉर्ड इस बारे में एक ऐसी शंका एवं संदिग्ध कहानी बनाकर पेश करेगा की उसका खंडन करने के लिए मुझे कुछ करना ही पडेगा । ठीक क्रेग ने सहमति जताई लेकिन हमें पहले रिकॉर्ड में छपी रिपोर्ट देख लेनी चाहिए । ऑफिस को पता नहीं कि आप यहाँ मौजूद हैं । आप स्टार को रोक सकते हैं और हमें स्थिति पर नजर रखने का समय दे सकते हैं । कदाचन असल किससे की धडकन महसूस करने और हालत को ठीक करने के वास्ते खबर निकल चुकी है । ये निश्चित है हमें फुर्ती से काम करना होगा । ऍम बताओ मुझे कैंप में रिश्तेदारों के अलावा भी कोई है? नहीं । उसने अपने शब्दों की नाप तोलकर रक्षा करते हुए जवाब दिया । अंकल लुइस ने अपने भाई ड्रीम्स और अपनी भतीजी और भतीजे ईसाबेल तथा जेम्स जूनियर हमसे जूनियर को करते हैं को बुलाया था । फिर वहाँ ग्रेस है और मैं हूँ और एक दूर का रिश्तेदार फॅस और निसंदेह अंकल की फिजिशियन डॉक्टर पंचमी हैं । हैरिंगटन राउंड कौन है? क्रीड ने पूछा वो लेंगे परिवार के दूसरी ओर अंकल उसकी माँ की तरफ से हैं । मैं समझता हूँ ये कम से कम ग्रेस का तो सही विचार है कि वह इस अप्रैल से बहुत प्यार करता है । हैरिंग्टन राउंड जाल में फंसाने लाए थे । एक बढिया शिकार होगा । देश आपको धनवान नहीं है लेकिन उसका परिवार बडे बडे परिवारों से संबंध रखता है । वो करीब लैंगली ने गहरी सांस भरी । मेरा मंतव्य है अंकल लुइस को ऐसा नहीं करना चाहिए था । उन्होंने क्यों अपने भाई को इस समय यहाँ बुलाया जबकि उन्हें न्यूयॉर्क में पिछली सर्दी की तीव्र गति से पुलिस स्वास्थ्य लाभ करने की जरूरत थी । आप जानते हैं या आप नहीं जानते हैं मैं समझता हूँ लेकिन आप ये बात अब जान जाएंगे । जब वो और अंकल जी हम साथ साथ होते तो फिर एक के बाद एक मदिरापान के अलावा कुछ नहीं होता था । डॉक्टर पट्टनम इस बात से बहुत खेलते थे । कम से कम वो दिखाते हैं तो ऐसा ही थे लेकिन करेगा उसने अपनी आवाज खुसपुसाहट जितनी धीमी कर ली । मानो जंगल के भी कम है । वो सारे एक समान है । वो सिर्फ इस बात की प्रतीक्षा कर रहे हैं कि अंकल लुइस शराब पी पीकर खुद को खत्म कर दे तो उसने तीखे स्वर में आगे कहा हूँ मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ । उस विषय में मेरे और सुधारों के बीच नफरत के सिवा कुछ नहीं है । उस सुबह तुमने उसे किस हालत में पाया? कैनेडी ने पूछा मानो वो पारिवारिक रहस्यों को अजनबी लोगों के सामने खोलने के पक्ष में ना हो । सारे मामले का वह सबसे बुरा हिस्सा है तो हमने जवाब दिया और शाम के धुंधलके में भी उनके चेहरे की लकीरों को पकडते हुए देख सकता था । आपको पता है अंकल ऊॅट करते हैं मगर वो कभी ऐसा प्रकट नहीं करते थे । हम सारी दोपहरी मोटर बोट में सवार हुए । खेल में मछली पकड रहे थे और हम मुझे यह स्वीकार करने में कोई संकोच नहीं । मेरे दोनों अंकल ने बहुत बार जे बी पिस्तौलों का सहारा लिया था और मुझे याद है उन्होंने हर बार से कौन टी अर्थात बेट यानी चाहे के काम की छोटी मछली बताया । फिर रात के भोजन उपरांत कुछ और नहीं बच्चा और शराब मैं गया था और बहुत थोडा पढने के बाद सोने चला गया । अंकल जम के अनुसार हैरिंगटन और मेरे दोनों अंकल डॉक्टर पट्टनम के साथ दो तीन घंटे और देर तक बैठे रहेंगे । फिर ऍम, डॉक्टर पट्टनम तथा अंकल जम सोने चले गए । अंकल लो इसको अभी भी पीते हुए छोडकर मुझे याद है मैं रात में उठा और पाया के सारे घर में एक अजीब तरह की गंध भरी हुई है । मैंने अपने जीवन में इस प्रकार की गंध कभी सुना ही नहीं । इसलिए मैं उठ बैठा और अपना ड्रेसिंग गाउन पहन लिया । हाल में मेरी भेंट ग्रेस से हुई । वो सुसु कर रही थी । क्या तुम्हें को जलन की भी नहीं आ रही हूँ? उसने पूछा । मैंने कहा हाँ बुआ रही है और मैं जहाँ पडताल करने नीचे चल दिया । सब कुछ अंधेरे में था लेकिन वह गन्दा पूरे घर में मौजूद थी । मैंने नीचे हर कमरे में जाकर देखा लेकिन कुछ नजर नहीं आया । रसोई और भोजन कक्ष बिल्कुल ठीक थे । मैंने बैठक में झांककर देखा लेकिन वहाँ गंद अधिक भरी होने के बावजूद भी मुझे आपका कोई सबूत नहीं मिला । अंगेठी में बोलते हुए अंगारों के सुबह गुजरात मौसम ठंडा था और हमने कुछ लट्ठे भट्टी में डाले थे । मैंने कमरे की जांच नहीं की । ऐसा करने का कोई कारण भी नहीं था । हम अपने कमरों में लौट गए और सुबह उन्होंने वो भयानक चीज देखी जिससे मैं बैठक खाने के अंधकार और धुंधली छाया में देख नहीं पाया था । फॅमिली बडे ध्यान से सुन रहा था । किसने देखा हूँ? उसने पूछा । ऍम ने उत्तर दिया उसने हमें जगाया । हैरिंग्टन का मानना है कि अंकल ने अपनी सिगार की चिंगारी से खुद को जला डाला । एक जाली से कार का ठीक फर्श पर पडा मिला । टॉम के रिश्तेदारों को हमने इस दुर्घटना के कारण शोक में डूबे और खामोश बैठे हुए पाया । कैनेडी और मैंने उनके शोक में वेज में डालने के लिए बहुत खरीद क्या? लेकिन तो हमने ये स्पष्ट करते हुए तुरंत हस्तक्षेप क्या किस की कोई जरूरत नहीं क्योंकि मैंने बता दिया था कि मेरे मित्र रही हैं । दिन भर में भरोसा कर सकता हूँ और वह अखबारों में विषेशकर इस मामले को सुलझाने में हमारी बहुत मदद कर सकते हैं । मैं समझता हूँ । फिर एक ने इस रहस्यपूर्ण घटना में परिवार के लोगों की खामोशी पर बहुत गहराई से वो और क्या मेरे विचार में ये मामला संदेह के परे नहीं था । शायद उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि वहाँ से सिर्फ एक दुर्घटना माने । क्या उससे भी बुरा कोई कांड और लगता था? हर कोई अपने मन में बाकी लोगों से कुछ छिपा रहा है जो बहुत कष्ट था । न्यूयॉर्क में श्री लैंगली के अटॉर्नी को अधिसूचित कर दिया गया था लेकिन वो ऐसा प्रतीत होता है शहर से बाहर गया हुआ हूँ क्योंकि उसे अटॉर्नी से कोई खबर नहीं मिली थी । उसका संदेश पाने के लिए वो अधिक उत्सुक सेवन जनता तो लग रहे थे । रात्रि भोज समाप्त होने के उपरांत तो हम को छोडकर पारिवारिक सदस्य समूह अलग हो गया और टॉम को मौका मिल गया ताकि वह हमें उस बैठक खाने में ली जा सके जहाँ ये भयावह घटना घटी थी । बेशक अवशेष हटा दिए गए थे, लेकिन अन्य प्रकार से कम रह बिल्कुल उसी दशा में था, जैसा उस समय था जब हैरिंगटन ने दुखद घटना के बारे में पता लगाने पर पाया था । मैंने शव नहीं देखा जो पूर्व कमरे में पडा हुआ था लेकिन कैनेडी ने देखा और कुछ समय वहाँ बिताया । दोबारा हमारे साथ मिलने के बाद कैनेडी ने अग्नि स्थान यानी फायर प्लेस की जांच की । ये प्राण घाटी की रात को इसमें जलाई गई मोटी मोटी लकडियों की रग से भरा हुआ था । उसने अग्नि स्थान से लुईस लेंगे की कुर्सी की दूरी को बहुत ध्यान से देखा और फिर ये कहा कि कुर्सी की वार्निश तक पर कोई असर नहीं पडा है । वरना आज की गर्मी से रोगन पर छाले तो पड ही जाते हैं । कुर्सी की जांच करने से पहले उसने फर्श पर जिस जगह शव पाया गया था हमें उस जगह है के आसपास रात के कुछ विचित्र निशान दिखाए । लेकिन मुझे वास्तव में ऐसा प्रतीत हुआ कि राख के निशानों की अपेक्षा उसकी आंखे कुछ और खोज रही थी । कमरे की जांच पडताल करते हुए हमें करीब आधा घंटा हो चुका था । अंत में क्रेग अचानक रुपया अच्छा तो हम उसने कहा मैं सोचता हूँ आगे और खोजबीन करने से पहले दिन निकलने और उजाला होने तक इंतजार कर लेना चाहिए । इन व्यक्तियों के नीचे मैं निश्चित तौर पर नहीं बता सकता । हालांकि वो मुझे कुछ ऐसी चीजें दिखा रही हैं जो सूरज की रोशनी में तो नहीं देखेंगे । बेहतर होगा कि हम सब कुछ सुबह तक जैसा है, वैसा ही रहते हैं । अच्छा हाँ, हमने कमरे को दोबारा ताला लगा दिया और हॉल पार करके लाइब्रेरी जैसे एक कक्षा में चली गई । हम खामोशी में बैठे थे । हर व्यक्ति से रहस्यमय घटना पर अपने ही विचारों में हो गया हुआ था कि उसी समय टेलीफोन की घंटी बजती । फोन न्यूयॉर्क से खुद कॉम के बाद देखते उसके अंकल के अटॉर्नी को घटना की खबर लोंग आयलैंड स्थित उसके घर पर मिली थी और वह जायदाद की देखभाल का भार ग्रहण करने के लिए उसी वक्त शहर के लिए चल पडा था । लेकिन जैसे ही वो लौटकर गंभीर चेहरा लिए हमारे पास घबराहट में आया, उसका कारण ये खबर नहीं थी । तो अंकल का वकील थक क्लाॅक से उसने कहा, उसने लैंगली स्टेट के दफ्तरों में अंकल कि व्यक्तिगत अलमारी खोली है । तुम्हें याद है जहाँ लैंगली वारिसों की कोई संपत्ति का बंदोबस्त ट्रस्टियों द्वारा किया जाता है । उसका कहना है कि उसे वसीयत नहीं मिल रही है । हालांकि उसे पता है कि एक वसीयत थी और ये की कुछ समय पहले वसीयतनामा उसी अलमारी में रखा था । उसकी कोई न कालिया दूसरी कॉपी नहीं । इस सूचना का पूरा अभी प्राइम तुरंत मेरे मन में कौन गया और मेरी सहानुभूति एकदम फट पडने के कगार पर थी । जब मैंने क्रीड तथा टॉम के आपस में नजर मिलने को भाग लिया कि वो इस बात को पहले ही समझ गए थे, उनकी आपसी समझ कह रही थी की वसीयत के बिना सगे संबंधियों को पुराने लैंगली संपत्ति में लुईस लैंगली का पूरा अधिकार विरासत में मिल जाएगा तो हम और उसकी बहन दरिद्र और बेघर हो जाएंगे । काफी देर हो गयी थी फिर भी हम करीब एक घंटा और बैठे । मुझे नहीं लगता कि इतने समय में हमने एक दूसरे से छह बात के भी बोले हैं । फिर एक अपने ही विचारों में खोया प्रतीत होता था । समय बीता जैसे ही बडी घडी ने मध्यरात्रि का घंटा बजाया, हम उठ गए जैसे कि इसमें हमारी सामान्य सहमती रही होगी । टॉम क्रेग ने कहा, और मैं उसी आवाज में भर आई हमदर्दी को महसूस कर सकता हूँ । तो हम मेरे पुराने दोस्त मानव बुद्धि का वास्ता मैं रहस्य की गहराई में पहुंचकर होगा । मैं जानता हूँ तो कर सको के तरह तो हम ने मुझे और उसकी बाजू से पकडकर का हाल । इसलिए मेरी बहुत इच्छा थी कि आप लोग यहाँ जाए कैनेडी ने सुबह जल्दी मुझे जगह दिया हूँ । अब वॉल्टर मैं तो मैं कहने जा रहा हूँ कि तुम मेरे साथ नीचे बैठक खाने में चलो और हम वहाँ दिन के उजाले में एक नजर डालना चाहेंगे । मैंने जल्दी जल्दी अपने कपडे पहने और हम एक साथ चुपके चुपके नीचे गए । उस जगह से शुरू कर के जहाँ उस अभागी इंसान को भरा पाया गया था । कैनेडी ने अपने पॉकेट लैंसों का उपयोग करके फर्ज की एक मिनट जांच की । मैंने उसे अपने चाकू के फलक से कई बार कुछ खुरचते और खुरची हुई चीज को अलग अलग कागज के टुकडे में लपेटकर रखते हुए देखा । मैंने टहलना बैठा सब कुछ देखता रहा है और ये बात मेरी समझ से परे थी कि मेरे वहाँ रहने से क्या कुछ अच्छा होने वाला था । और जब मैंने इतना कहा तो कैनेडी को चुपके से हंसी आ गई तो मैं एक मुख्य दवा हॅूं । उसने जवाब दिया, शायद किसी धन मुझे तुम्हारी जरूरत होगी ताकि तुम गवाही दे सकता हूँ कि मैंने ये दाग धब्बे इसी कमरे में पाए थे । तभी तो हमने अपनी मुंडी अंदर निकली क्या नहीं मदद कर सकता हूँ । उसने पूछा तो तुमने मुझे बताया क्यों नहीं? कितनी सुबह सुबह ये सब करने आ रहे हो? नहीं धन्यवाद! ग्रेग ने वर्ष से उठते हुए जवाब दिया, मैं किसी के भी उठने से पहले इस कमरे की बडी सावधानी से जांच कर लेना चाहता था ताकि कोई ये ना सोचे की मैं बहुत ज्यादा दिलचस्पी ले रहा हूँ । मेरा काम खत्म हुआ फिर भी तो मदद कर सकते हो । क्या तुम थी ठीक बता सकते हो कि उस रात किस किसने कैसी पोशाक पहनी हुई थी । क्यों मैं कोशिश करता हूँ मुझे मंथन करने दो । पहले अंकल से शुरू करता हूं । अंकल ने एक शूटिंग जैकेट पहनी हुई थी तो काफी जली हुई थी । जैसा कि आप जानते हैं । इसीलिए कह सकता हूँ कि असल में हम सभी शूटिंग जैकेट पहने हुए थे । महिलाओं का प्रधान सफेद था । क्रेग नहीं क्षण विचार किया लेकिन वो शायद इस विषय को और आगे बढाना नहीं चाहता था । जब तक की टॉम ने अपनी तरफ से ये सूचना नहीं दी की दुखद घटना का पता चलने के समय से ही उन में से कोई भी शूटिंग जैकेट नहीं पहन रहा है हूँ । हम सभी शहरी कपडे पहनते आ रहे हैं । उस ने टिप्पणी की, क्या तुम सुबह अपने अंकल जेम्स अपने कजन जूनियर को साथ लेकर एक घंटे के लिए झील पर या जंगल में किसी ढलान पर मस्ती मार नहीं जा सकते हो । क्रीड कनेक्शन सोच विचार के बाद पूछा क्या सच में करे तो हमने संधि पूर्वक प्रतिक्रिया दी । मुझे अंकल लुइस का शव न्यूयॉर्क ले जाने के लिए सारी व्यवस्था करने के वास्ते सर ने एक जाना चाहिए । बहुत अच्छा है उनको भी तुम्हारे साथ जाने के लिए मना हूँ, कुछ भी करूँ परन्तु एक दो घंटे तक मुझे किसी भी तरह की दखलंदाजी से दूर हो । वो ऐसा करने के लिए राजी हो गए और क्योंकि उस समय तक परिवार के अधिकतर सदस्य उठ गए थे, हम नाश्ते के लिए अंदर चले गए । खामोशी और संधि के माहौल में एक बहुजन खाने नाश्ते के बाद कैनेडी चतुराई से परिवार से अलग हो गया और मैंने भी उसका अनुसरण किया । हम घूमते घूमते अस्तबल की तरफ गए और कुछ घोडे हमें इस कदर अच्छे लगे कि हम उनकी सराहना किए बिना नहीं रह सके । घोडो की देखभाल करने वाला साइज एक समझदार और हसमुख आदमी था । बात करने के लिए उसकी उत्सुकता देखकर करेगी । उससे बात करने लगा हूँ और थोडी ही देर में वो दोनों उत्तरी देश के अखेट की चर्चा में डूब गए । क्या वहाँ खरगोश बहुत है? कैनेडी ने पूछा जब उनकी आखिर संबंधी चर्चा लगभग खत्म हो चुकी थी । अरे हाँ, एक तो मैंने आज सुबह ही देखा सर सा इसमें जवाब दिया सचमुच । फॅमिली ने कहा क्या मैं ये मानु के तुम एक दो घर वो मेरे लिए कर सकते हो । बेशक मैं बता सकता हूँ सर आप का मतलब है जिंदा ॅ । वहाँ जिंदा ही मैं नहीं चाहता की तुम आखिर नियमों का उल्लंघन करूँ । अभी शिकार का मौसम बंद है, नहीं गया हाँ सर, लेकिन अब ठीक है सर, यहाँ स्टेट पर आज ही दोपहर के समय उन्हें मेरे पास लेकर हूँ अथवा नहीं । उन्हें यहाँ अस्तबल में एक पिंजरे में रखो और मुझे बताना मत भूलना और अगर कोई उन के बारे में पूछे तो कह देना की एक खरगोश श्री टॉम के हैं । क्रेग ने एक छोटा करेंसी नोट सा इसको थमाया जिसमें एक चीज के साथ उसे ले लिया और अपने हैट में लगा लिया । शुक्रिया । उसने कहा मैं आपको खबर दूंगा जब मैं कब्जे में होंगे । जिस समय हम अस्तबल से धीरे धीरे चल कर लौट रहे थे, हमें टॉम दिख गया जो नीचे बोट हाउस में अपने अंकल और कजन के साथ मोटर बोर्ड से उतरने की तैयारी में था । ऍम हमने उसे हाथ मिलाया और वह जल्दी से हम से मिलने चला आया आप करने को क्रीड ने कहा मेरे वास्ते करीब एक दर्जन टेस्ट ट्यूब अर्थात परखनली खरीद लेना । इसके अलावा यहाँ घर में किसी को भी खबर मत होने देना कि तुम उन्हें खरीद रहे हो । वो तुमसे सवाल कर सकते हैं । जब वो चले गए कैनेडी चुपके चुपके जेम्स फॅमिली के कमरे में घुस गया और कुछ ही क्षणों के बाद हंटिंग जैकेट के साथ हमारे कमरे में लौट आया । उसने अपने जेब जीलैंड्स से उस की अच्छी तरह जांच की । फिर उसने पीने के ग्लास में उबला गर्म पानी भरा और उसमें दो चार छुटकी खाने का नमक डाल दिया । डॉक्टर पट्टनम की दवाइयों की पेटी से एक विसंक्रमित जाली निकालकर उसने कोर्ट के कुछ हिस्सों को सावधानी से धोया और गिलास तथा उसमें डूबी जाली को एक तरफ रख दिया । फिर उसने कोर्ट को उसी छोटी कोठरी में रख दिया जहां उसने उसे पाया था । उसके बाद वो उतनी ही खामोशी अर्थात चुपके से जूनियर के कमरे में घुसकर उसकी हंटिंग जैकेट ले आया और एक दूसरे ग्लास तथा जाली के टुकडे का इस्तेमाल कर की । वही प्रक्रिया दोहराई जिस समय में कमरे से बाहर रहूँ वॉल्टर उसने कहा मैं चाहता हूँ की तो मैंने ग्लासों को उठा ले जाओ, उन्हें ढक दो और उन पर क्रमांक डाल दो तथा कागज की पर्ची भी लिख कर अपने पास रख लेना और कोर्ट के मालिकों के नाम अवश्य लिख देना । मुझे जांच की प्रक्रिया बिल्कुल पसंद नहीं । मुझे जहाँ सूस की भूमिका निभाने से नफरत है और मैं ऐसा करने की बजाय सबके सामने आना अधिक पसंद करूंगा । लेकिन कुछ और करने के लिए है ही नहीं और सभी संबंधित लोगों के लिए बहुत बेहतर होगा कि मैं भी अपना काम गोपनीयता से करुँ । संदेह का कोई कारण नहीं होना चाहिए । उस स्थिति में एक पारिवारिक झगडा आरंभ करने के लिए मैं खुद को कभी माफ नहीं करता हूँ और फिर दोबारा । लेकिन हम समझ लेंगे । मैं जब नंबर डाल चुका और ग्लासों को क्रमांक अनुसार दर्ज कर चुका, उसके बाद कैनेडी लौट आया और हम दोबारा नीचे चले गए । वसीयत के बारे में उत्कंठित हो क्या? यही बात नहीं मैंने कहा था जब हम एक्शन के लिए चौडे बरामदे पर खडी थी । हाँ । उसने जवाब दिया । इससे पहले की हम किसी निष्कर्ष पर पहुंचे हमें न्यूयॉर्क वापस जाकर उसकी भी खोज कर लेनी चाहिए हूँ । लेकिन मैं समझता हूँ अभी नहीं हम प्रतीक्षा करेंगे हूँ । इसी समय आकर साइंस ने ये बताने के लिए दखल दिया कि उसने खरगोश पकड लिए हैं । कैनेडी तुरंत अस्तबल की तरफ दौडा वहाँ उसने अपने बाजू अर्थात आज तीनों पर की । अपनी वहाँ की एक नस में सोचो हुई और अपने खून की बहुत थोडी सी मात्रा एक खरगोश में इंजेक्ट कर दी । दूसरे को उसने हुआ भी नहीं तो बाहरी में काफी देर से तो हम वापस आया आपने अंकन और कजन के साथ । उस समय वह सामान्य से कुछ अधिक शब्द लग रहा था । उतरते ही कुछ भी बोले बिना वो जल्दी जल्दी ऊपर आया और हम से मिला । इसके बारे में तुम्हारा क्या कहना है? रिकॉर्ड अखबार की कॉपी खोलकर और उसे लाइब्रेरी की नीज पर सपाट फैलाते हुए मुझे बनाया । अखबार के मुख्य पृष्ठ पर फॅमिली का चित्र छपा था । एक बडे सनसनीखेज शीर्षक किसान सोता हस पूरब बहन का रहस्यपूर्ण मामला खबर फैल चुकी है । टॉम ने वहाँ भर्ती हुए कहा जब हम सारा किस्सा पढने के लिए अखबार पढ चुके हैं और इस तरह की कहानी पिछले तारीख के अंतर्गत करने से प्रेषित समाचार वृतांत इस प्रकार था न्यूयॉर्क में आखेट के शौकीन और क्लब मेंबर के रूप में सुविख्यात और दिवंगत फॅमिली बैंकर के सबसे जेष्ठ पुत्र लुइस फॅमिली को इस शहर से बाहर मील दूर ऍम आउट मैं सुबह अत्यंत रहस्यमई परिस्थितियों में मृत पाया गया । डिकन्स के लिखा उसमें ओल्ड ग्रुप की मौत या मैरियट कि एक बहुत ही सनसनीखेज कहानी में एक पीडित की मौत वास्तविक सच्चाई से अधिक भयावह नहीं थी । ये नहीं संदेह स्वतः स्फूर्त मानव बहन का एक मामला है । वैसा ही जैसा पिछली दो शताब्दियों कि मेडिकल और मेडिकोलीगल पाठ्यपुस्तकों में विवाद से परे दर्ज है । रिकॉर्ड के लिए नगर में जिन वैज्ञानिकों से परामर्श किया गया वह भी इस बात से सहमत हैं कि ऐसी घटनाएं यादव फीवर ले ही होती हैं । फिर भी स्वतः स्फूर्त मानव बहन एक स्थापित सत्य है और ये भी किस विलक्षण मामले में हर चीज दर्शाती है कि अमेरिका और यूरोप में दर्ज किए गए मामलों की सु प्रमाणित सूची में एक मामला और जुड गया है । परिवार को भेंट एवं साक्षात्कार क्या जाना मंजूर नहीं है जिससे यह संकेत मिलता है कि सर निक में मेडिकल हलकों में चल रही अफवाहों का एक ठोस तथ्य परक आधार है । वह फिर लैंगली के जीवन के संबंध में एक विवरण दिया गया था और शव के पाए जाने तक की घटना का ब्यौरा था जो अपने आप को काफी सही था । लेकिन अत्यधिक रंजन था रिकॉर्ड की तरफ से आए आदमी ने यहाँ पर इस समय का सदुपयोग किया होगा । मैंने टिप्पणी जब मैं उस लेख को लगभग पड चुका था और अच्छा उन्होंने इस किस्से को इतने विस्तार के साथ पूरा करने के लिए न्यूयॉर्क में कुछ कडी मेहनत की होगी । देखिए, रिपोर्ट के बाद अनेक भेंटवार्ता आएँ हैं और यहाँ सोता हस पूरा दहन पर एक संक्षिप्त लेख भी है । कॅप्टन और परिवार के शीर्ष सदस्य अभी अभी अंदर आए थे । हम ये क्या सुन रहे हैं? रिकॉर्ड में एक लेकसभा है हो गया है वो हैरिंग्टन ने पूछा इससे जोर से पढे प्रोफेसर ताकि हम सभी सुन सकें सोता हस भू रत मानव हैं अथवा कॅरियर्स । क्रेग ने पढकर सुनाना शुरू किया ग्रोथ तादत मानवीय वैज्ञानिक रहस्यों में से एक है सच मुझे कोई संदेह नहीं हो सकता लेकिन ये भी सच है कि कुछ बचत र एवं अवर्णीय परिस्थितियों में सजीव तरीके से कुछ एक लोगों के बदन में आग जल उठी है और कुछ आंशिक रूप से अथवा पूरी तरह से आग में जल मारे हैं । कुछ ने इसका कारण बदन में गैसों का होना बताया है जैसे कि कार्बोरेटेड हाइड्रोजन एक बार पैर उसके होटल । डीयू में ये देखने में आया कि एक शव की चीरफाड किए जाने के दौरान एक ऐसी गैस फूट निकली जो ज्वलनशील थी और चलने पर नीले रंग की लौ दे रही थी । दूसरों ने शराब कोई बहन का कारण बताया है । कई साल पहले एक भला आदमी बुक लेन और न्यूयॉर्क में एक तार की जाली से अपनी साफ निकालकर और उसे जलाकर दिखाने का प्रदर्शन करके पैसे कमाएँ करता था । कारण चाहे जो मेडिकल साहित्य में दो सौ वर्ष के इतिहास में सोता हठपूर्वक मानव बहन के मामले दर्ज हैं । इस प्रकार का दहन अचानक होता है और प्रकट तरहा केंद्रों, पेट, छाती तथा सर तक सीमित रहता है । साधारण आग लगने की दुर्घटना के पीडित लोग बावले होकर धरोधर दौडते हैं, थकावट एवं शीघ्रता से मर जाते हैं, उनके अंग खाता हूँ, चल जाते हैं और उनके कपडे पूरी तरह नष्ट हो जाते हैं । लेकिन होता हास भूरट बहन में वो बिना चेतावनी आपके शिकार हो जाते हैं । हात पाओ चलने की संभावना अगर नहीं होती है और सिर्फ सिर और छाती को ढकने वाले कपडे चलते हैं । अवशिष्ट किसी पशु के उदक यानी टिशू के द्रविड जैसा होता है । वो पूरा और काला जिससे प्रकार के असहनीय बदबूदार गंधाती है । वो एक झिलमिल करती दमघोटू नीले लपट के साथ चलते बताया जाते हैं और पानी बहन को रोकने के बजाय उसे और बढा देता है । दिन में विशेष तौर पर ज्वलनशील सडांध वाले तेलों की मात्रा अधिक होती है और अधिकतर मामलों में ये बात दर्ज है । किस होता हा सब पूरा बहन की घटना यानी ऍफ जिन पीने वालों और वृद्ध एवं मोटे लोगों में हुई है । पिछले कुछ वर्षों के मामलों का रिकॉर्ड बताता है कि स्वतः पूरा दहल निसंदेह सच्ची घटना है । एक मामले में तो आप इतना बढ गया बताया जाता है कि पीडित की जेब में रखे पिस्तौर में विस्फोट हो गया अर्थात पिस्तौल एक धमाके के साथ फट गई । एक और घटना में एक औरत पीडित का पति धुएं से दम घुटने के कारण मर गया और आपका वजन जब वह जीवित थी एक सौ अस्सी पहुंच था । लेकिन रात का वजन केवल बारह पहुंच निकलते । इन सभी मामलों में स्वतः ऐसा पूरा बहन का प्रमाण आप कटे प्रतीत होता है । क्रेग ने जैसे ही पढना समाप्त किया, हम हक्का बक्का और भयातुर होकर एक दूसरे को देखते रहेंगे । ये इतना भयावह था कि समझना मुश्किल था । आप इस बारे में क्या सोचते हैं? प्रोफेसर जेम्स ने अंत में पूछा, मैंने ऐसी घटना के बारे में कहीं पढा है लेकिन ये कभी नहीं सोचा था कि ऐसी घटना वास्तव में हो सकती है और वो भी मेरे अपने भाई के साथ । क्या आप सच में मानते हैं कि लुइस की मृत्यु भीषण तरीके से हुई होगी? कैनेडी ने कोई उत्तर नहीं दिया । हैरिंग्टन सोच विचार मैं सोया लगता था । इसके बारे में सोचकर ही हमारे ऊपर से भय की लहर दौड गई । घटना वृत्तांत भीषण अवश्य थी लेकिन ये बात स्पष्ट थी कि रिकॉर्ड में प्रकाशित रिपोर्ट ने पारिवारिक गुट की भावनाओं को एक अर्थ में राहत देने का काम किया था । एक सफाई पेश करने का प्रयास अवश्य क्या लगता था? ये बात गौर करने योग्य थी कि हर व्यक्ति जिस संदेह भरी निगाह से एक दूसरे को देख रहा था तो संदेह का पर्दा काफी हद तक हट गया तो हम ने कुछ नहीं कहा । जब तक की दूसरे लोग उठ कर चले नहीं गए । केनेरी वो फट पडा क्या? तो मानते हो कि इस प्रकार का दहन नितांत होता । हस भूरट होता है क्या? तुम नहीं मानते कैसे शुरू करने के लिए कुछ और भी जरूरी है । मैं इस विषय में फिलहाल कोई राय व्यक्त नहीं करूंगा । क्रेग ने सावधानी से जवाब दिया, अब अगर तुम हैरिंगटन और डॉक्टर पंचम को कुछ समय के लिए घर से दूर ले जा सकते हो । जैसे तो मैं सुबह अपने अंकल और कजन को ले गए थे तो इस मामले के बारे में तुम्हें जल्दी बता सकता हूँ । कैनेडी फिर चुपके से दूसरे शहर कक्ष में घुस गया और एक अखेट जैकेट के साथ हमारी कमरे में लौट आया । जैसे कि उसने पहले क्या था । उसने लवण गोल में भीगी जाली से उसे सावधानी से साफ किया और पूरी प्रक्रिया को दोहराने के बाद डॉक्टर पंचम का कोर्ट तथा अंत में टॉम का कोर्ट उसी प्रक्रिया से गुजारने के बाद वापस वहीं रखती है जहाँ से लेकर आया था । अंततः उसने पीठ फेरी । जबकि मैंने गिलासों को सील बंद किया और उन पर निशान लगाने के बाद अपनी पर्ची पर उन का ब्यौरा दर्ज कर लिया । अगला दिन मुख्यतः फॅमिली का शव न्यूयॉर्क ले जाने की तैयारियां करने में भी था । कैनेडी मेरी समझ के अनुसार कुछ गुड रासायनिक प्रयोगों के लिए तैयार करने में व्यस्त था । मैंने खुद को देशभर से विशेष संवाददाताओं पर पलट कर चीखते चलाने में व्यस्त पाया । उस शाम रात्रि भोज के बाद हम सब बोट हाउस के ऊपर खुले ग्रीष्मकालीन छात्रावास में बैठे हुए थे । कीडों को भागने के लिए हर चीज की लकडियों की आग जल रही थी और झील के किनारे पत्थर के छोटे से कृत्रिम टापों को धुआँ देती हुई । दोनों तरफ खडे वृक्षों को एक लाल चमक से प्रकाशित कर रही थी । टॉम और उसकी बहन कैनेडी के साथ बैठे हुए थे और एक तरफ मैं बैठा हुआ था, जबकि हम से कुछ दूरी पर हैरिंगटन ईसाबेल के साथ जी लगाकर बातें करने में मशगूल था । परिवार के अन्य सदस्य काफी दूर दूर बैठे हुए थे । पारिवारिक गुटके सदस्यों का इस तरह अलग अलग होकर बैठना मुझे कुछ अजीब लगता है । श्रीमान कैनेडी एक विचारपूर्ण धीमे स्वर में ग्रीस ने कहा, रिकॉर्ड में छत्ते उस लेख के विषय में आपका क्या निष्कर्ष है? बहुत निसंदेह क्रेग ने जवाब दिया । लेकिन आपको ऐसा नहीं लगता कि वसीयत के बारे में आश्चर्यजनक ऍम फुसफुसाया क्योंकि इसाबेल और हैरिंगटन ने बात करना बंद कर दिया था और शायद सुन रहे होंगे । उसी समय एक नौकर एकता अर्थात टेलीग्राम लेकर ऊपर आया हूँ तो हमने जल्दी से उसे खोला और समर हाउस के कोने में चल रही आप की रोशनी में उसे उत्सुकता से पढा । मुझे अंतर्भूत से ऐसा महसूस हुआ कि ये उसके वकील ने भेजा होगा । वो पट्टा और कैनेडी तथा मुझे इशारे से बुलाया । इसके बारे में आपका क्या विचार है? उसने भर्राई आवाज में धीरे से पूछा हमने झिलमिलाती रोशनी में संदेश पढा । न्यूयॉर्क के अखबारों में स्वतः पूरा दहन का किस्सा प्रमुखता से छपा है । कल रिकॉर्ड अखबार में एकमात्र किस्त प्रकाशित हुआ था । लेकिन आज सारे अखबारों में और भी अधिक लेख छपे हैं । क्या यह सच है? कृप्या अतिरिक्त ब्यौरा तुरंत भेजे । वसीयत गुम होने के संबंध में तत्काल अंदेश भी दे । अलमारी से चोरी से निकाली गई है । फॅमिली खुद उसे ले गया होगा । जब तक नहीं तथ्य सामने नहीं आती । वसीयत हो जाने की बात सार्वजनिक करें या जी विवरण जारी करें । फॅमिली बिना कोई वसीयत छोडे मर गया डाॅॅ तो हमने अचंभित होकर कैनेडी की ओर देखा और फिर अपनी बहन के बगल में बैठ गया जो अकेली बैठी हुई थी । मैंने सोचा मैं पढ सकता हूँ जो मेरे दिमाग में चल रहा था । आपने तमाम दोषों के बावजूद फॅमिली ने अपने दत्तक बच्चों की नियमित एक अच्छे पालक तथा का फर्ज निभाया था । लेकिन अगर वसीयत हो गई तो ये सब खत्म हुआ । समझो मैं क्या कर सकता हूँ? तो हमने बेचारगी से पूछा मेरे पास उसे उत्तर देने के लिए कुछ भी नहीं है लेकिन मेरे पास है । कैनेडी ने उस संदेश को जानबूझ कर तय करते हुए वापस लौट आते हुए चुपके से जवाब दिया उन सभी को पंद्रह मिनट के अन्दर लाइब्रेरी में खट्टा होने के लिए कह दो । इस संदेश के खाते मुझे जल्द कार्रवाई करनी है लेकिन मैं तैयार हूँ । उसके बाद तुम्हें तार द्वारा श्री क्लार्क को कुछ सूचित करना होगा । फिर वो लम्बी ढक भर्ती घर की तरफ चल दिया । हमें गुटके सभी सदस्य को इकट्ठा कर लाने के लिए काफी घबराहट में छोड कर करीब पंद्रह मिनट बाद हम सभी लाइब्रेरी में एकत्रित हो गई थी । लाइब्ररी उस कमरे से हॉल अर्थात बडे दल, नानके पार्टी जिस कमरे में फॅमिली को मारा पाया गया था । हमेशा की तरह कैनेडी ने अपने विषय के ठीक बीच में छलांग मारकर कहना शुरू किया । शताब्दी के आरंभिक काल में उसने अपनी बात धीरे धीरे शुरू की । एक औरत को आग में जलकर मरा पाया गया था । आग लगने का कोई सुराग नहीं था और उस समय के वैज्ञानिकों ने इस घटना का कारण होता है पूरा दहन बतलाया । इस व्याख्या को स्वीकार कर लिया गया । इस व्याख्या का आधार हमेशा ये रहा विश्वसनीय की जिस प्रक्रिया द्वारा बदन के उत्तकों को खपाया जाता है और उनसे पेंट छुडा लिया जाता है तो प्रक्रिया शरीर में एक आप पैदा करती है और ऐसा अनुमान लगाया गया है जो संभव हो सकता है कि आपको निकलने का रास्ता ना मिलने पर ये शरीर को आग लगा देता है । हम इस विचार से भयभीत होकर कि शायद रिकॉर्ड में जो छपा है, आखिरकार सच था, आशा लगाए आगे की ओर झुककर खडे हुए थे । अब कैनेडी ने अपना स्वर बदलकर आगे कहना आरंभ किया, मान लो हम एक छोटा सा प्रयोग करने की चेष्टा करते हैं । वही प्रयोग जो अमर लिपिक द्वारा बडे ही विश्वास उत्पादक तरीके से प्रयुक्त किया गया था । ये एक स्पंज है । इसे मैं बोतल से जिनमें भी होने जा रहा हूँ, ये वही बोतल है जिससे श्रीमान लैंगले उस रात पी रहे थे जिस रात ये दुखद घटना हुई । कैनेडी ने पूरी तरह भीगा हुआ स्पंज उठाया और उसे रसोई से लाई गई एक सुलेमानी पत्थर लोहे की कढाई में रख दिया । फिर उसने उसे जलाया । नीला । अब लपट ऊपर की ओर उठे और तनावपूर्ण खामोशी में हमने उसे नीचे और नीचे की तरफ जलते देखा । जब तक किस पाँच में मौजूद शराब पूरी तरह खत्म नहीं हो गई फिर उसने स्पंज उठाया और फिर चारों तरफ सबको दिखाया । ये सूखा था लेकिन स्पंज अपने आप में बिल्कुल भी जला हुआ नहीं था । अब हम जान गए हैं । उसने कहना जारी रखा बहन की प्रकृति से ये संभव है कि मानव शरीर उसी प्रकार स्वतः जल उठे और जैसा की पिछली सदी के वैज्ञानिक और विशेषज्ञों का मानना था, शरीर को मोटे से मोटे उछलता और संचालको यानी नॉन कंडक्टर्स ऑफबीट अर्थात शरीर में उष्मा प्रभावित न होने देने वाले कपडों में लपेट दो और देखो क्या होता है । बहुत ज्यादा पसीना निकलता है और इससे पहले की इस तरह की आग लगे अथवा प्रजनन हो । शरीर की पूरी नमी को भगवान उठ जाना होगा क्योंकि शरीर में पचहत्तर प्रतिशत से भी अधिक पानी होता है । इसलिए स्पष्ट है कि बहुत अधिक उष्मा आवश्यक होगी और नमी बडी रक्षा कवच है । मैंने जो प्रयोग आपको दिखाया है, उसे संग्रहालयों में, वर्षों से शराब में सुरक्षित रखे गए मानव अंगों के नमूनों के साथ फिर से करके दिखाया जा सकता है । वो इस पाँच की तरह ही चलेंगे । शराब के चलने का उस न होने पर कोई असर नहीं होगा । तो प्रोफेसर कैनेडी । आप ये मानते हैं कि मेरे भाई की मृत्यु किसी ऐसी दुर्घटना से नहीं हुई । जीन्स लैंगली ने सवाल किया, बिल्कुल नहीं । क्रेक ने जवाब दिया, इस असाधारण घटना में ऐतिहासिक विश्वास के अत्यंत महत्वपूर्ण पहलुओं में से ये एक है । किस का प्रयोग बडी दक्षता के साथ ये स्पष्ट करने में किया जाए की हत्या के आरोपों के मामले में अन्यथा क्या परिस्थितजन्य साक्ष्य हो सकता है जो विश्वास करते योग्य प्रतीत हो । इसके अलावा आप श्रीमान लैंगली की मृत्यु को किस तरह स्पष्ट करना चाहेंगे? हेरिंगटन ने मांग की, किसी से गार्की चिंगारी से आग लगने की मेरी बात बहरहाल सच हो सकती है । अभी मैं उसी पर आने वाला हूँ । कैनेडी ने शांति से उत्तर दिया, मेरा पहला संदे उस चीज से ज्यादा जैसे डॉक्टर फैंटम ने भी शायद नहीं देखा था । श्री लैंगली की खोपडी पर हिंसा या चोट के निशान नहीं थे । हालांकि ये पूरी तरह जली हुई थी । मैंने जिस पर गौर किया है वैसा खोपडी की हड्डियाँ टूटने से हो सकता है या फिर उसके अवशेषों को पहले वाले कमरे में ले जाते हुए किसी टक्कर के कारण हो सकता है । फिर उसकी जीत कुछ कुछ बाहर निकली हुई प्रतीत होती थी । इसका कारण स्वाभाविक श्वास अवरोध यानी दम घुटना हो सकता है अथवा जबरन गला घोटने से भी ऐसा हो सकता है । मैं केवल अनुमान लगा सकता था या कल्पना कर सकता था कि क्या हुआ होगा । लेकिन बैठक खाने का निरीक्षण करने पर मैंने मेज के पास पक्के फर्ज पर एक दाग देखा । सिर्फ एक छोटा गोल दाग । अब अगर हम ये मानकर चले कि वह खून का दाग है, उस स्थिति में वो दागों से किसी परिणाम पर पहुंचने में बहुत सावधानी बरतना आवश्यक है । ये खून का दाग है या नहीं मुझे ये नहीं पता था और इसी कारण पहले पहले मैंने बडी सावधानी से काम लिया । फिर भी मान लेते हैं कि ये खूनी था । इससे क्या पता चलता है, ये सिर्फ एक छोटा सा सामान्य गोल डाल था । बिंदी जैसा, लेकिन मोटा डाल था । अब सिर्फ कुछ एक इंच ऊपर से गिरते खून की बूंदे समान्यता एक गोल दाग बनाती हैं और उस गोल दाग का एक सा किनारा होता है । फिर भी जिस होता है या फर्श पर बूंद गिरती है, उस को भी ध्यान में रखना उतना ही जरूरी होता है, जितना कि उस ऊंचाई को जिस ऊंचाई से वह बूंद गिरी होती है । लेकिन ये कितनी सपाट सतह थी । अगर सकते खुद ही होती तो किनारा एक सा नहीं होगा । लेकिन ये चौदह सपाट सतह थी और प्रतिशत नहीं देखा । अर्थात सोक लेने वाली सतह नहीं । एक सूखे खोनी, दाग की मोटाई अगर खून की बूंद एक गैर अवशोषक सतह यानी ना रोकनेवाले सतह पर गिरे कम होती है । यदि वह ज्यादा ऊंचाई से गिरी होती है, एक मोटा डाल था । अब मान लो अगर ये छह फीट ऊपर से गिरी होती, जो श्री लैंगली की ऊंचाई थी तो बाग इतना मोटा नहीं बल्कि पतला होता । उस दाग के आसपास को छोटे देखे गए होते या कम से कम रात के चारों ओर का किनारा तो अवश्य ही असम या बेहतर तीन होगा । इसलिए यदि एक सोनी डाल था तो ये सिर्फ एक दो फीट की ऊंचाई से गिरा था । मैंने इसके आगे ये भी पता कर लिया कि शरीर के निचले भाग में कोई जख्म या खरोंचे नहीं, जिस शरीर से खून रिस रहा हो । शरीर को घसीटने से छोडे गए खून के निशान धमनी खून के निशान अथवा चिन्हों से बहुत होते हैं क्योंकि ये दूसरे वाले निशान उस स्थिति में रह जाते हैं जब पीडित व्यक्ति में स्वयं चलकर क्या विजिट कर जाने की ताकत होती हूँ । अगर मेरा अनुमान सही है और हम इसे होनी दाग मानकर चलते हैं तो इससे क्या संकेत मिलता है? साफ तौर पर यही कि किसी व्यक्ति ने असम होता हा कमरे के किसी दूसरे भाग में श्री लैंगली के सिर पर एक भारी औजार से प्रहार किया था जिससे कि उसका दम घुटने लगा था कि जब उसके सिर पर लगी चोट से खून की बूंद टपक रही थी, उसे घसीटकर फर्ज के पार अग्नि स्थान की दिशा में ले जाया गया था । लेकिन ट्रॅफी डॅा का क्या आपने साबित कर दिया कि वो धागे खूनी था? ऐसा नहीं हो सकता कि ये रंगरोगन किया उस प्रकार के किसी चीज का दाग रहा हूँ । कैनेडी स्पष्टता हा ऐसे ही किसी सवाल की प्रतीक्षा कर रहा था । आमतौर पर रंगरोगन पर पानी का कोई प्रभाव नहीं होता । उसने जवाब दिया, मैंने पाया कि इस दाग को पानी से धोया जा सकता है । इतना ही नहीं मेरे पास खून के लिए जांच करने की एक विधि है जो सूक्ष्मता की दृष्टि से इतनी संवेदनशील है कि मिस्त्र की हजारों वर्ष पुरानी मम्मी यानी सुरक्षित शव का खून भी प्रतिक्रिया अवश्य दिखाएगा । इसका आविष्कार एक जर्मन वैज्ञानिक डॉक्टर उन्हें नहीं द्वारा किया गया था और इसे पिछली सर्दी के मौसम में इंग्लैंड में कॅाम हत्या के मामले में प्रयोग में लाया गया था । उससे पहले नहीं, संदिग्ध हत्यारे ने कहा था कि उसके कपडे पर पडे दाग रंगरोगन के छोटे हैं लेकिन उस परीक्षण से साबित हो गया कि वह खून के दाग थे । बॉर्डर खरगोशों वाला पिंजडा लेकर हूँ । मैंने दरवाजा खोला और साइड से पिंजरा लाया जो इसे अस्तबल से ऊपर ले आया था और उसके लिए कुछ दूरी पर खडा था । ये परीक्षण बहुत आसान है । डॉक्टर पंडल क्रेग ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा, जैसे ही मैंने वो पिंजडा मेज पर रखा और कैनेडी ने विसंक्रमित बरक नलियों को खोला । एक घर वो उसको मानव रक्त का टीका लगाया जाता है और कुछ समय बाद खरगोश से लिया गया सीरम परीक्षण के काम आता है । मैं इनमें से खरगोश के सोई घुसे दूंगा जिससे मानव रक्त का टीका लगाया जा चुका है और थोडा सा सीरम निकाल लूंगा । जैसे मैं इधर रखी इस फॅमिली में डाल सकता हूँ । मैं इसकी सिरम की थोडी सी मात्रा लेता हूँ और उसे बाई तरफ की परखनली में डाल देता हूँ । हमें से अपनी नियंत्रन नली कहेंगे । ये हमारे परीक्षण के परिणाम की जांच करें । इस कागज में मैंने उस जगह की छीलन लपेटी हुई है जो मैंने फर्श पर पाई थी । काले और सूखे हुए चूरन के मात्र कुछ कर यह दिखाने के वास्ते कि ये परीक्षण कितना संवेदनशील है । मैं इस बारी कुछ एलन में से सिर्फ एक लघुतम मात्रा लूंगा । मैं ऐसे आशन्वित पानी यानी डॅाल वॉटर भरी इस तीसरी परखनली में खुला देता हूँ । मैं ऐसे आधे में विभाजित कर दूंगा और दूसरी आधी मात्रा इस चौथी परखनली में डाल देता हूँ । इसके बाद अब हम इस खरगोश का कुछ सीरम जैसे मानव रक्त का टीका नहीं लगाया गया । इस आधी भरी नली में डाल देंगे आप देखते हैं कुछ नहीं होता है हमें टीका कृत खरगोश का बहुत थोडा सा सीरम इस दूसरी नली में दूसरे आधे में छोड देता हूँ । आप देख सकते हैं ये परीक्षण कितना शोक समुद्र ही है कैनेडी आगे की ओर झुका हुआ था कमरे में शेष लोगों की मौजूदगी से लगभग देख खबर जैसे की स्वयं से बात कर रहा हूँ । हम लोगों की निगाहें भी क्यूब यानी परखनली पर गडी हुई थी । जैसे ही उसने टीका लगाए गए खरगोश से लिया गया सीरम बनाया । उसी समय एक प्रकार का धूसर दो दिया घेरा उस बहुत पतले खून के गोल में बन गया जो अब तक दे रहा था । ये क्रेक ने क्यूब को हाथ से पकडकर ऊपर उठाते हुए विजयोल्लास के साथ कहा असंदिग्ध रूप से साबित करता है कि पक्की लकडी के फर्श पर छोटा गोल दाग रंग का नहीं बल्कि खून का था । कमरे में मौजूद किसी ने एक शब्द भी नहीं कहा । लेकिन मैं समझ गया कि कोई जरूर रहा होगा जिसने अभी बीते कुछ ही क्षणों में अतः सोच विचार और मंथन कर लिया होगा । एक दाग मिलने के बाद मैंने और खोज शुरू कर दी । लेकिन सिर्फ दो या तीन निशान ही हो सका जहाँ खून के दाग रहे होंगे । सच तो यह है कि खून के निशानों को प्रत्यक्षतः आ सावधानी से साफ कर दिया गया था । सरल बात है गर्म पानी और नमक । क्या केवल गर्म पानी, ठंडा पानी भी ताजा खूनी धब्बों का सुराग देने में ज्यादा समय नहीं लगेगा कम से कम सभी बाहरी आकृतियों को भरने में । लेकिन उन्हें एक बहुत अच्छी तरह सोच समझकर की गई सफाई के सिवा कुछ भी ऑनलाइन हत परीक्षण से छुपा नहीं सकता, भले ही उन्हें ऊपर ऊपर से साफ कर दिया गया हूँ । ये फिर वही लेडी मैं पद का मामला है, जो आधुनिक विज्ञान के सामने रो रोकर सीखती है । बाहर बाहर निकलो अभिशप्त घणित दाद खून के दागों का एक अनुक्रम अग्रस्थान से लेकर बैठक खाने के दरवाजे के निकट एक जगह तक बहुत स्पष्टता के साथ खोज पाने में सफल रहा । लेकिन उस दरवाजे के आगे बडे कमरे में कुछ नहीं मिला । फिर भी हैरिंगटन ने मामले में तथ्यों की ओर लौटने के उद्देश्य से टोका । वो दोनों तरफ से मेरे ही पक्ष का समर्थन करते हैं । चाहे मेरा सुधार संबंधी सिद्धांत या मत हो अथवा रिकॉर्ड का सोता । हस पूरा दहन संबंधी सिद्धांत आप तो क्यों को किस तरह स्पष्ट करना चाहोगे । मैं समझता हूँ कि आप जली हुई बूंद जाली, गर्दन, छाती के ऊपरी भाग में शेड की बात कर रहे हैं जबकि बाहों और टांगों का कुछ भी नहीं मिल रहा था था और फिर वह ज्वलनशील फर्नीचर के बीच में था जिसका कुछ भी नहीं बिगडा मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि खून के दागों के बारे में इस बहुत रोचक पर स्तर तक साक्षी के बावजूद सपा हस पूरा दहन संबंधी सिद्धांत को पर्याप्त समर्थन प्राप्त है । अगर आप अपने मन में नए सिरे से सोच विचार करेंगे कि जिन बातों का पता लगाया गया है वो सभी बातें सही साबित हुई है । उन बातों को छोडकर जो रिकॉर्ड में छपी रिपोर्ट में अलग से जोडी गई तो आप मुझसे सहमत होंगे कि मेरा सिद्धांत सोता हस पूरा दहन के सिद्धांत की अपेक्षा अधिक तर्कसम्मत है । क्रीक ने दलील देकर समझाया, मेरी बात ध्यान से सुनो और आप देखेंगे कि जो भी तथ्य सामने है वह मेरे काम, काल्पनिक स्पष्टीकरण अथवा मेरे द्वारा प्रस्तुत व्याख्या के साथ अधिक मेरे खाते हैं । नहीं किसी व्यक्ति ने या तो पागलपन में या फिर निर्दय आता के साथ फॅमिली पर प्रहार किया और फिर ये देख कर के उसने क्या कर डाला । घबराहट में हिंसा के साक्ष्य को मिटाने का पूरा प्रयास किया । मेरी अगली खोज पर विचार करेंगे । कैनेडी ने सभी पांचों ग्लासों को हमारे सामने मेज पर रखा जिन्हें मैंने बडी सावधानी से सील बंद किया था और उन पर लेबल लगाया था अगला कदम । उसने कहा, ये पता लगाना था कि क्या घर में कोई ऐसे कपडे हैं जिन पर कुछ ऐसे निशान दिखाई देते हूँ जो खूनी दाग होने का संदेह पैदा करते हैं और यहाँ मैं इस कमरे में मौजूद सभी लोगों से उनकी निजी अलमारियों में ताकझांक करने के लिए माफी चाहता हूँ । लेकिन संकट में ये बेहद जरूरी था और इस प्रकार की परिस्थितियों के अंतर्गत मैंने न्याय के सामने सामाजिकता को कभी खडा नहीं होने दिया । मेज पर रखे इन पांच ग्लासों में मैंने उन कपडों पर बडे दागों की धोवन रखी है जो कपडे टॉम श्री जॅाली जूनियर हैरिंग्टन राउंड और डॉक्टर पंचम ने पहने थे । मैं आपको यह नहीं बताऊंगा कि कौन सा कपडा किसका है । वस्तु ता मैंने उन पर सिर्फ निशान लगाया है और मैं खुद भी नहीं जानता कि कौन सा निशान किस के कपडे पर है । लेकिन श्रीमान जैमसन की जेब में कागज की एक पर्ची है जिसपर निशानों के सामने नाम लिखे हैं । मैं परीक्षण करके केवल ये देखना चाहता हूँ कि कोटों पर पाए गए धावों में से क्या कोई दाग खून का था? उसी समय डॉक्टर बैंटम ने बीच में टोका एक सवाल प्रोफेसर ऍम एक खूनी को पहचानना अपेक्षाकृत आसान है लेकिन ये बताना सामान्यता आसान नहीं होता कि वह खून किसी आदमी का है या किसी जानवर का । मुझे याद है कि उस दिन हम सभी ने अपनी अपनी आखेट जैकेट पहनी हुई थी और पूरे दिन उसी में थे । अब हुआ ये कि सुबह के समय अस्तबल में घोडे का ऑपरेशन करना जरूरी था और मैंने शहर से आए पशु चिकित्सक की सहायता की । हो सकता है उस ऑपरेशन से खून के एक या दो बार मेरी कोर्ट पर पड गए हूँ । क्या मैं समझो कि ये परीक्षण साबित करेगा कि नहीं? फॅसने जवाब दिया, ये परीक्षण वो नहीं दिखाएगा, दूसरे परीक्षण दिखा देंगे । लेकिन ये नहीं किंतु मानव खून का दाग यदि सुई की नोक से भी छोटा होता तो ये दिखा देगा । ये बता देगा कि क्या उस दाग में एक ग्राम एल्ब्यूमिन का बीस हजार वांस भी है । हो तो किसी आश्व, किसी हिरण, किसी सूअर, किसी कुत्ते का भी लिया जा सकता है । मगर जब परीक्षण का प्रयोग किया जाता है तो वह दृव्य प्रदार्थ जिसमें उन्हें पतला किया जाता है, पानी मिलाकर साफ बना रहता है । किसी भी तरह का सफेद प्रपात अथवा आवक शेप नहीं बनता है किंतु उतना ही पतला किया गया । मानव रक्त टीका लगाए गए खरगोश के सीरम में मिलाया जाएगा । परीक्षण एकदम शुद्ध असंदिग्ध परिणाम देता है । कमरे में मौत जैसी खामोशी छाने लगी थी । कैनेडी ने गिलासों में भरे खोल का परीक्षण शुरू कर दिया । धीरे धीरे और जानबूझ कर सीरीज तोडने के बाद प्रत्येक क्लास में खरगोश का कुछ सिर्फ डालकर उसने ये देखने के लिए कुछ क्षण इंतजार किया की कुछ परिवर्तन होता है अथवा नहीं । परिणाम अत्यंत रोमांचकारी था । मैं समझता हूँ उन पंद्रह मिनट के अंदर जिसने भी रोमांचक दृश्य देखा उसका प्रभाव उसकी स्मृति पर अमिट छाप छोड गया होगा । मुझे याद है फॅमिली जैसे ही एक ग्लास उठाता तो मेरे मन में तलाक से ही विचार पहुंचाता । ये किसी का भी है, उसकी किस्मत में क्या है, दोषी है या निर्दोष जिंदगी है या मौत? क्या ये संभव है? किसी आदमी की जिंदगी इतने पतले धागे पर लटकी हो? मुझे पता था फॅमिली इतना सही और गंभीर है कि हमें धोखा नहीं दे सकता हूँ । ये केवल संभव ही नहीं था । ये वास्तव में एक सच्चाई थी । पहले ग्लास ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाई । कोई निर्दोष हो गया था । दूसरा उसी प्रकार निष्पक्ष रहा । कमरे में एक और व्यक्ति निर्दोष साबित हो गया । तीसरा कोई परिवर्तन नहीं । विज्ञान ने तीसरे को भी मुक्त कर दिया था । करीब करीब ऐसा प्रतीत हुआ पानी मेरी जेब में रखी कागज की पर्ची जिसपर ब्यौरा लिखा था जल उठी हो अपनी हाँ मेरी संवेदना, इतनी दारु इतनी तीव्र थी उस क्लास में वही घातक चुगलखोर भीड खोलने वाला अब क्षेत्र था । भगवान जी तो दूधिया कोलाबा है तो मेरे कान के पास बहुत धीमे स्वर में बोला कैनेडी ने बिना देरी की सिरम पांचवी क्लास में डाल दिया । ये एकदम स्वस्तिक के सामने साफ बना रहा हूँ । मेरा हाथ का गया । जैसे ही मैंने उसे लिफाफे कुछ हुआ, जिसमें नामों वाली पडती थी । जिस व्यक्ति ने खून के दाग वाला ये कोर्ट पहना हुआ था, अच्छा कैनेडी ने संजीदगी से ऐलान किया । वही व्यक्ति है जिसने लुईस लैंगली पर प्रहार किया । किसने उसका गला दबाया और फिर जो उसकी लगभग मृतदेह को फर्स्ट के पार घसीटकर ले गया तथा हिंसा के निशानों को जिसने लकडियों की तेज आग में मीठा डाला जाॅनसन जिसका नाम इस क्लास पर निशान के सामने हैं । लिफाफे में बंद पर्ची पर लिखा नाम पडने के डर से सील तोडने में मेरे हाथ कांपने लगे । अंततः मैंने उसे खोला और दृष्टि ठीक उस प्राणघातक निशान के सामने वाले नाम पर पडी लेकिन मेरा मूड सूख गया था और मेरी जीतने हिल्ली से मना कर दिया । ये मौत की सजा पडने जैसी भयंकर अनुभूति थी । नाम पर उंगली रखे रखे मैं क्षण के लिए डगमगाया । टॉम मेरी कंधे पर झुक गया है और उसने खुद पढा क्योंकि वो अपनी उत्सुकता अब रोक नहीं पा रहा था । ये भगवान जैमसन पूछो था । नाम पडने से पहले महिलाओं को यहाँ से जाने दो जरूरी नहीं है कोई मोटी हवा हूँ । हमारा झगडा संपत्ति के ऊपर था । मेरा हिस्सा पूरा का पूरा गिर भी रखा है और लो इसने मुझे और उधार देने से मना कर दिया जब तक कि मैं ऐसा बल्कि खुशी खुशी शादी नहीं कर देता हूँ । अब लूज एक बाहरी व्यक्ति हैरिंग्टन को कहता है बालाकि साबल का ध्यान रखो, ऐसा हो या ना हो बढिया किसी ने जेम्स लैंगली की वहाँ पकडने जैसे ही उसने स्वचलित रिवॉल्वर अपनी कनपटी पर दवाई वो एक नशेडी की तरह लडखडाया बनाया और पिस्तौल को एक कसम के साथ फर्श पर गिरा दिया । दोबारा मात खा गया जो धुन बुलाया । रचित को सेफ्टी से फायर की स्थिति में सरकार ना भूल गया । एक पागल आदमी की भांति हमसे खींचातानी करके उसने खुद को छुडा लिया । छलांग मारकर दरवाजे से निकल गया और तेजी से सीढियाँ चढ गया । मैं आपको कुछ बहन दिखला हुआ वहाँ बोला होकर चलाया । हमने दरवाजे को कब्जे समय बुखार दिया और जैन्स लैंगली के कमरे में घुस गए । वो व्याकुलता से अग्निकुंड के ऊपर झुका हुआ था । कैनेडी एक लंबी छलांग मारते हुए उसके पास पहुंचा । वसीयत का काफी ऐसा हिस्सा बिना जले रह गया था, जिसे एक प्रमाणित वासी दवा इच्छापत्र स्वीकार किया जा सकता था ।

5 - कोरिडोर एक्सप्रेस

कॉरिडोर एक्सप्रेस और फैजल अपने लंदन फ्लैट में अपने अध्ययन कक्ष में खडा था । सामने की दीवार पर उसने करीब एक वर्ग का कागज का टुकडा अपनी आंख की ऊंचाई पर फिल लगाकर तान दिया था और अब एक मदारी की भांति वो अत्यंत असाधारण विकृत रूप बनाने की कवायद कर रहा था । कागज पर अपनी आंखें गडाए हुए वो अपनी गर्दन सारस की भारतीय यथासंभव दूरी तक लंबी पसारने का प्रयास कर रहा था और अपना सिर हर दिशा में घुमा रहा था । इसके लिए जरूरी था कि अगर कागज पर आंखें गडाए रखना है तो आंखों को डरावने ढंग से बहुमत से रहना होगा । और इस व्यायाम से एक लाभ ये भी होता है कि कोणीय दृष्टि के लिए आंखों की मांसपेशियां मजबूत यानी सुदृढ हो जाती हैं । इसी बीच दरवाजे पर एक दस्तक हुई, अंदर आ जाओ । हैजल ने अपना सिर्फ घुमाना जारी रखते हुए जोर से कहा, एक सज्जन आपसे तुरंत मिलना चाहते हैं सर नौकर ने उसको कार्ड हम आते हुए कहा । हैजल ने अपने व्यायाम को विराम दिया और ट्रेन से उस कार्ड को उठाकर पढा । श्री एफडब्ल्यू ऍम बीएससी! अरे उन्हें अंदर बुलाओ । हैजल ने कुछ अधिक ही व्यग्रता से कहा क्योंकि उसे पसंद नहीं था की आंखों की कसरत करने के बीच कोई विघन डाले । करीब पच्चीस वर्ष का एक युवक अंदर आया । इसके चेहरे पर तीव्र चिंता झलक रही थी । आप श्रीमान थॉर फैजल हैं । उसने पूछा हाँ मैं ही हूँ । अपने कार्ड पर मैंने नाम देख लिया होगा । मैं वैलिंगटन स्कूल में एक अध्यापक होगा । मैंने आपका नाम सुना हुआ था और उन्होंने स्टेशन पर मुझे बताया कि आपसे परामर्श करना अच्छा होगा । आशा है आप बुरा नहीं मानेंगे । मैं जानता हूँ आप कोई साधारण जासूस नहीं है लेकिन बैठो चुनिइंग हैजल ने उसकी भाषा के कातर प्रभाव में विभिन्न डालते हुए कहा तुम बहुत अस्वस्थ जीवन थके हुए लगते हूँ । मैं भी अभी एक बहुत ही कष्टकर अनुभव से गुजरा हूँ । बिग्रेड ने एक कुर्सी मैं भास्कर बैठते हुए जवाब दिया, एक लडका जो मेरी देख रेख में था, अचानक गायब हो गया और मैं चाहता हूँ कि आप मेरे वास्ते उसकी तलाश करेंगे । मैं आपकी राय मांगने आया हूँ । वो कहते हैं कि रेलवेज के बारे में आप सब को जानते हैं लेकिन अब श्रीमान आप जरा इधर देखे । आगे एक भी शब्द बोलने से पहले आप कुछ गर्म टोस्ट और जल ग्रहण कर मैं समझ गया हूँ । कि आप रेलवे संबंधी किसी मामले पर मेरी सलाह चाहते हैं । मैं जो भी कर सकता हूँ आवश्यक करूंगा । लेकिन जब तक आपको जलपान ग्रहण नहीं कर लेते, मैं आपकी कोई बात नहीं सुनूंगा । आपको शायद उसकी ज्यादा पसंद है । हालांकि मैं उसकी सलाह नहीं देता हूँ । तथापि विंग ने विस्की चुनी और हेजल ने कुछ विस्की डाल कर दी । सोडा पानी मिलाकर धन्यवाद । उसने कहा उम्मीद है आप मुझे सलाह दे सकेंगे । मुझे डर है वो बेचारा लडका कहीं महाराणा जाए । सारा मामला एक रहस्य बना हुआ है और मैं थोडा रुको श्रीमान रंग रहे । मुझे आप शुरू से पूरा किस्सा सुनाया । वही सबसे अच्छा तरीका है । हाँ, बिलकुल ठीक है । इस मामले की फिक्र ने मुझे ऐसा बना दिया की कुछ ठीक से बता भी नहीं पा रहा हूँ । लेकिन मैं कोशिश करूंगा और जैसा आपका सुझाव होगा वैसा ही करूंगा । सबसे पहले क्या अपने कार में था उसका नाम सुना है? हाँ सुना हुआ तो लगता है बहुत अमीर है है कि नहीं । एक लखपति उसका एक ही बच्चा है करीब दस साल का एक लडका जिसकी माँ से जन्म देकर चल बसी । अपनी उम्र के बच्चों से वो छोटा लगता है और उसके पिता उसे बेहद प्यार करते हैं । करीब तीन माह पहले इस काम साॅस कार मैं उसको हमारे स्कूल फॅमिली हाउस में भेजा गया । हमारा ये स्कूल श्रीलंकन के थोडा पहले ये कोई बहुत बडा स्कूल नहीं है लेकिन एक बहुत ही खास कूल है और प्रधान अध्यापक डॉक्टर स्प्रिंग का नाम उच्च वर्ग के लोगों में सुविख्यात है । मैं आपको बता दूँ कि हमारे स्कूल में कुछ बडे कुलिन परिवार के लडके हैं जो पब्लिक स्कूलों के लिए तैयारी कर रहे हैं । आप तुरंत समझ जाएंगे कि हमारे जैसी अत्यंत सतर्क एवं आचार नेशनल संस्था में लडकों के ऊपर बहुत ध्यान दिया जाता है । केवल उनकी नहाते केवल बहुत एक बेहतरी के लिए बल्कि किसी भी बाहरी प्रभावों से उनकी रक्षा करने के लिए भी । मिसाल के तौर पर अपहरण हैजल ने बीच में टोका बिल्कुल ठीक ऐसे मामले जानने में आए हैं और डॉक्टर स्प्रिंग अपने स्कूल की उच्च प्रतिष्ठा बनाये रखने के लिए अत्यंत जागरूक रहते हैं । स्कूल के विरुद्ध जरा सी भी हुआ उन्हें और हम सब अध्यापकों को कलंकित कर देगी । शहद सुबह प्रधानाध्यापक को और इस कार में था । उसके बारे में इफ्तार मिला जिसके द्वारा अनुरोध किया गया था कि उसे शहर भेज दिया जाएगा । क्या आपको ठीक शब्द पता है । हैजल ने पूछा ये मेरे पास ही है । विंग ग्रेव ने अपनी जेब से टेलीग्राम निकालते हुए जवाब दिया हैजल नेता उससे ले लिया और पढा रुपया हॉर्स को दो दिन अनुपस्थित रहने का अवकाश मंजूर करें । उसे श्रीलंकन से पांच पैंतालीस की एक्सप्रेस से प्रथम श्रेणी के डिब्बे में लंदन भेज देंगे और गार्ड को उसका ध्यान रखने के लिए कहते हैं । हम शहर में ट्रेन से मिलेंगे । कार में थे । हैजल ने हल्की सी की निकली और टेलीग्राम से लौटाते हुए कहा । फिर वो टेलीग्राम का खर्चा उठा सकता है हूँ । अरे वो किसी न किसी बात के बारे में हमेशा तार भेजते रहते हैं । बिग गरीब ने कहा वो खत्म कभी नहीं लिखते । हाँ, जब डॉक्टर को ये तार मिला उन्होंने मुझे अपने अध्ययन कक्ष में बुलाया । मैं समझता हूँ मुझे लडकी को जाने देना चाहिए । उन्होंने कहा, लेकिन उसे बिल्कुल अकेले भेजने के हक में नहीं । अगर उसे कुछ हो गया तो उसका पिता हमें और रेल कंपनी को जिम्मेदार ठहराएगा । इसलिए बेहतर होगा की तो उसके साथ शहर तक जाएॅंगे हूँ । ठीक है तो मैं उसको उसके पिता के सुपुत्र करने के अलावा और कुछ नहीं करना है । अगर श्रीकार मैं तो उसको उसको ऍम स्टेशन पर ना मिले तो तो उसे अपने साथ कैब में लेकर हॉटलाइन प्लेस में उसके घर चले जाना । तुम सम्भवता आखिरी ट्रेन पकडना सकोगे घर आने के लिए लेकिन यदि ना पकडता को तो किसी होटल में एक बिस्तर ले सकते हो । बहुत अच्छा है । पता है मैंने कुछ ही समय बाद साढे पांच बजे खुद को श्रीलंकन में प्लेटफॉर्म पर लंदन एक्सप्रेस के लिए प्रतीक्षा करते खडे पाया हूँ । अभी एक्शनों हैजल ने एक ग्लास फिल्टर्ड वॉटर का घूंट भरते हुए उसे टोका । मैं आपकी इस यात्रा का एक स्पष्ट अभिप्राय शुरू से जानना चाहता हूँ क्योंकि मुझे ऐसा लगता है आप बहुत जल्द मुझे बता रहे होंगे की यात्रा के दौरान कुछ विचित्र घटना हो गई । ट्रेन के चलने से पहले गौर करने लायक कोई बात थी । उस समय कुछ नहीं था लेकिन मुझे बाद में याद आया कि जब मैं टिकिट ले रहा था, दो आदमी काफी नजदीक से मुझे देख रहे थे और मैंने उन में से एक को उसकी सास के नीचे हैरान परेशान कहते सुना लेकिन उसमें मेरा संदेह नहीं जाएगा । मैं समझ रहा हूँ अगर इसमें कुछ है तो शायद इसीलिए क्योंकि वह घबरा गया था जब उसने देखा कि आप उस बच्चे के साथ सफर कर रहे हैं । क्या ये दोनों आदमी ट्रेन में चढे? मैं उसी बता रहा हूँ । ट्रेन बिल्कुल ठीक समय पर थी और हमने प्रथम श्रेणी डिब्बे में अपनी फीस ले ली । कृपया सही स्थिति बदलना है । हमारा डब्बा आगे से तीसरा था । ये कॉरिडोर ट्रेन थी । अंदर ही अंदर एक डिब्बे से, दूसरे डिब्बे में, दूसरे से तीसरे में और इसी तरह पूरी ट्रेन में शुरू से आखिर तक आना जाना हो सकता था और इस और में डिब्बे में अकेले थे । मैं उसके लिए कुछ सचित्र पत्रिकाएं पढने के वास्ते ले आया तो ताकि वो यात्रा में बोर ना हो । और फिर कुछ समय वो पत्रिका के पन्ने पलटते हुए चुप बैठा रहा लेकिन थोडी देर के बाद ही कुलबुलाने लगाते हैं । जैसा कि इस उम्र के बच्चे प्रायः बेचैन होने लगते हैं । एक मिनट रुको मैं जानना चाहता हूँ कि आपकी गाडी का कॉरिडोर यानि गलियारा भाई तरफ थाई दाई तरफ मान लो कि आप इंडियन की तरफ हूँ की ये बैठे हो बाई तरफ बहुत ही अब आगे कॉरिडोर में जाने का दरवाजा खुला हुआ था । दिन की रोशनी अभी थी लेकिन धुंधलापन तेजी से बढने लगा था । मेरे अनुमान के मुताबिक साढे छह या उससे थोडा ऊपर समय था और इस समय खिडकी के बाहर ट्रेन के दायां तरफ देख रहा था । मैंने उसका ध्यान रगर हैॅ कॉल की ओर खींचा जिसके पास से हम गुजर रहे थे । ये दूर के जैसा की आप जानते हैं, पटरी के बाई तरफ पडता है । उसी और अच्छी तरह से देखने के उद्देश्य से हम गलियारे में चली गई और वहाँ खडे रहे । मैंने डिब्बे में सीधे हाथ की तरफ की सीट पर ही बैठा रहना ठीक समझाते हैं ताकि मैं समय समय पर उसे देखता रहूँ । उसे कॉरिडोर नहीं ज्यादा अच्छा लग रहा था । कभी वह खुद को देखता, कभी हमारे डिब्बे का दरवाजा बंद करता और फिर खोलकर देखता हूँ । मैं समझ सकता हूँ कि मुझे उस पर कडी नजर रखनी चाहिए थी लेकिन मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा कि कोई दुर्घटना हो सकती है । मैं खुद एक अखबार पढ रहा था और एक पैराग्राफ में मेरी दिलचस्पी को ज्यादा ही बढ गई । मैंने करीब सात या आठ मिनट बाद सर उठाकर देखा लेकिन जब तक फॉरेन गायब हो चुका था । अच्छा मैंने पहले तो इस बारे में कुछ नहीं सोचा सिवा इसके कि वो कॉरिडोर में चहलकदमी करने चला गया होगा । आपको पता नहीं चला के उस तरफ गया । हैजल ने पूछा, नहीं मैं नहीं कह सकता । मैंने एक या दो मिनट इंतजार किया और फिर उठा तथा बाहर कॉरिडोर में इधर उधर देखा । वहाँ कोई नहीं था, फिर भी कोई शक नहीं हुआ । शायद वो शौचालय गया होगा । मैंने सोचा मैं बैठ गया और इंतजार करने लगा । तत्पश्चात मुझे कुछ चिंता होने लगी और मैंने उसे तलाशने का पक्का इरादा कर लिया । ऍर के एक सिरे से दूसरे सिरे तक छान मारा । शौचालयों में झांककर देखा लेकिन दोनों खाली थे । फिर मैंने गाडी के सभी डिब्बों में जा जाकर भी देखा और वहाँ बैठे यात्रियों से पूछा क्या उन्होंने उसे उधर से जाते देखा था? लेकिन उन में से किसी ने उस पर ध्यान नहीं दिया था । अगर वो उधर से गुजरा भी होते हैं । मैंने कॉरिडोर के एक सिरे से दूसरे सिरे तक छान मारा । मैंने शौचालय में झांककर देखा लेकिन दोनों खाली थे । फिर मैंने गाडी के डिब्बों में जा जा कर देखा और वहाँ बैठे यात्रियों से पूछा कि क्या उन्होंने उसे उधर जाते देखा था । लेकिन उन में से किसी ने उस पर ध्यान नहीं दिया था । अगर वो उधर से गुजराती हो तो क्या आपको याद है किस किस दिन हैं? कितने कितने लोग थे? हाँ पहले तो महिलाओं के लिए आरक्षित था । उसमें पांच महिलाएं थे । अगला डिब्बा धूम्रपान के शौकिनों के लिए था और उसमें तीन भद्रपुरुष थे । अगले दिन हमारा ही था । इसके आगे वाले डिब्बे में ट्रेन के जाने की दिशा की ओर हूँ कि बैठे वो दो लोग थे जिन्हें मैंने श्रीलंकन में देखा था । आखिरी डिब्बे में एक सज्जन और एक महिला तथा उन के तीन बच्चे थे । वहाँ उन दोनों आदमियों के बारे में क्या क्या है? वो क्या कर रही थी? उनमें से एक कोई किताब पढ रहा था और दूसरा हो गया रखता था । मुझे बताऊँ क्या उनके डिब्बे में कॉरिडोर तक की पहुंच का दरवाजा बंद था? हाँ, बंद था । मैं बहुत अधिक डरा हुआ था और मैं अपने डिब्बे में लौट आया था तथा डिब्बे में वापस आते ही मैंने खतरे की जंजीर खींचती । दो चार पल के अंदर ही आगे का गार्ड कॉरिडोर से होकर मेरे पास आया और उसने मुझसे पूछा कि मुझे क्या चाहिए? बहनों से बताया कि मेरे साथ में आए लडका हो गया है । उसने अनुमान से बताया कि लडका किसी दूसरे डिब्बे में चला गया होगा और मैंने उस से पूछा कि क्या वह मेरे साथ चलकर पूरी गाडी में उसकी खोज करने में मदद करेंगे? मेरी बात उसमें तुरंत मान लीजिए । हमने सबसे पहले पीछे की ओर जाकर पहले डिब्बे में खोजा । हमने ट्रेन के एक छोर से दूसरे छोर तक हर डिब्बे छान मारे । कुछ यात्रियों के विरोध के बावजूद हमने एक एक सीट के नीचे तक ठीक से देखा । सभी शौचालयों ट्रेन के हर कोने में खोज की और फिर भी हमें और इस कार मैं उसका कोई सुराग नहीं मिला । किसी ने भी उसे कहीं नहीं देखा था । ट्रेन रुकी हुई थी, एक पल के लिए भी नहीं । ये पूरे समय पूरी गति से दौड रही थी । इसकी गति तभी थी में हुई जब हम तलाश खत्म कर चुके थे । लेकिन ये पूरी तरह हूँ की कभी नहीं । हम उस बात पर भी अभी आएंगे । पहले मैं आपसे कुछ सवाल पूछना चाहता हूँ । क्या अभी भी दिन का उजाला था? सान गिरने वाली थी फिर भी साफ साफ देखने लाये । काफी रोशनी थी । इसके अलावा गाडी की बत्तियां भी जल गई थी । बिलकुल ठीक है । अब उन दो आदमियों की बात जो आपके डिब्बे से अगले डिब्बे में थे । मुझे निश्चित रूप से बताया कि जब आप गार्ड के साथ दोबारा उनके पास गए तब क्या हुआ । उन्होंने बहुत सारे सवाल पूछे । जैसे अनेक दूसरे यात्रियों ने पूछे थे और वह बहुत चकित प्रतीत हो रहे थे । आपने उनकी सीटों के नीचे देखा था । अवश्य ही सामने में टांड सामने रखने के लिए । ऊपर बनी जगह पर एक छोटे बालक को किसी कम्बल या कालीन में लपेटकर आसानी से ट्रैक पर रखा जा सकता है । हमने ट्रेन पर प्रत्येक रेट की जांच की तो फैजल ने एक सिगरेट सुलगाई और बहुत गुस्से से सिगरेट फूंकने लगा । अपने साथी को चुप रहने का इशारा करते हुए वह स्थिति के बारे में सोच विचार कर रहा था । अचानक ही उसने कहा, उन दोनों आदमियों के डिब्बे में खिडकियाँ कैसी थी? खिडकियां बंद थी । मैंने विशेष रूप से देखा था । आपको पूरा विश्वास है अपने पूरी गाडी की तलाशी ली । पूरा यकीन है गार्ड को भी उतना ही विश्वास का और ही डीजल ने टिप्पणी की, कभी कभी गार्ड भी भूल कर बैठते हैं । आपने केवल ट्रेन के अंदर खोजबीन की क्यों देशक? बहुत अच्छा फेजल ने जवाब दिया । अब इससे पहले कि हम आगे बात करें, मैं आपसे ये पूछना चाहता हूँ कि क्या उस बालक को मारने में किसी का लाभ हो सकता था? मैं ऐसा नहीं समझता । जितना मुझे मालूम है उसके आधार पर कह सकता हूँ, ये कैसे हो सकता था? मेरी समझ के बाहर है । बहुत हो । हमें से एक निराकरण का मामला मानकर चलेंगे और हमारा अनुमान है कि वह जिंदा है और ठीक है । इस शुरुआत से आपका ढांढस बढना चाहिए । क्या आप समझती हैं आप मेरी मदद कर सकते हैं? मैं अभी तक नहीं जानता है परन्तु आगे बढो और जो कुछ हुआ, मुझे सब बताऊँ । जब हम ट्रेन की तलाशी ले चुके थे, मेरी सूझबूझ जवाब दी गई और गार्ड की समझ में भी कुछ नहीं आ रहा था । तथा भी हम ने दोनों ने मान लिया कि लंदन पहुंचने से पहले तक कुछ और नहीं किया जा सकता है । किसी तरह उन दो आदमियों के बारे में मेरे सबसे मजबूत संधि जाते थे और शेष यात्रा मैंने उन के डिब्बे में रहकर पूरी की । कुछ हुआ क्या? कुछ भी नहीं । उन दोनों ने मुझे गुडनाइट कहा । आशा जताई कि मैं लडकी की खोज कर लूंगा, बाहर निकल गए और एक बग्गी में बैठकर चले गए और फिर मैंने श्रीकार में था । उसको खोजने के लिए दर दर देखा लेकिन वो कहीं नजर नहीं आए । फिर मुझे एक इंस्पेक्टर दिखाई दिया और मैंने उसे सारे मामले से अवगत करवाया । उसने पूछताछ करने और रास्ते के उस हिस्से पर खोजबीन करने का वादा किया जहाँ मैंने होरोस्कोप खोया । मैंने पोर्टलैंड प्लेस के लिए एक बघेली और वहां पहुंचकर यही पता चला कि श्रीकार मैथर्स यूरोप के मुख्य भूभाग के भ्रमण पर हैं और उनकी एक सप्ताह तक घर आने की कोई उम्मीद नहीं है । फिर में आपके सामने चला आया क्योंकि इंस्पेक्टर ने मुझे आप से मिलने की सलाह दी थी और बस यही है सारा किस्सा मेरे लिए ये बडी गंभीर बात है । संकट की घडी है बॅाल आप इसके संबंध में क्या सोचते हैं? ठीक है ऍम में जवाब दिया ये बहुत स्पष्ट है कि इसके पीछे कोई विशेष षड्यंत्र है । जिस किसी ने भी वो तार भेजा, उसे स्वीकार मैं उसकी रूचियों के बारे में जानकारी की तो उद्देश्य था भारत का अपहरण करना । इस देश में लुटेरों और फिरौती की बात करना व्यर्थ है । लेकिन देखने वाली बात यह है कि ऐसी घटनाएं बार बार हो रही हैं । जाहिर है इस लडके को अकेले सफर करना चाहिए और ये भी के अपहरण के लिए ट्रेन को चुना गया इसलिए विस्तृत निर्देश दिए गए । मैं समझता हूँ उन दो लोगों पर आपका शक जाना काफी सही था और मेरे पास आने से बेहतर होता कि आप उनका पीछा करते हैं लेकिन वो अकेले ही गई । बिल्कुल सही । मेरा मानना है कि मूल रूप से उनका इरादा हो । रस से छुटकारा पाने के बाद ऐसा करना था और अपने इरादे को अंजाम देने में कामयाब हो गए । लेकिन बच्चे का क्या हुआ, उन्होंने किस तरह रुक सकते हैं । मुझे पूरा मामला अभी तक पूरी तरह स्पष्ट नहीं हुआ है । लेकिन आप ने कहा कि जब आप गार्ड के साथ खोजबीन समाप्त करने वाले थे, ट्रेन की गति कम हो गई थी । जी हां ये करीब करीब रुकने लगी थी और फिर एक दो मिनट के लिए इसकी रफ्तार बहुत धीमी रही । मैंने गार्ड से इसका कारण पूछा तो उसका जवाब मेरी समझ में नहीं आया हो गया था । उसने कहा कि ये पीडब्ल्यू ऑपरेशन था । फैजल को हसी आ गयी । पीडब्ल्यू का मतलब है परमानेंट में उसने समझाया मैं पूरी तरह समझता हूँ आपका क्या अभिप्राय है? लोंग मूड के पास एक बडा काम चल रहा है । वो पटरी के ऊपर कर रहे हैं और बाकी ट्रेने अस्थाई पटरियों पर चलती है । इसलिए उन्हें बहुत धीरे जाना होता है । अब इसके बाद अब वापस उन दो आदमियों के पास गए जिन पर आपको संदेह था । हाँ, बहुत अच्छा । अब मुझे इस पर फिर से सोचने तो क्या थोडी और जिस करेंगे आप मेरी किताबों की अलमारी में एक नजर डालना पसंद करेंगे । अगर आप प्रथम संस्करणों और पुस्तक आवरण की कुछ जानकारी रखते हैं तो वो आपको रोचक लगेंगे । बिग्रेट ने पुस्तकों की ओर कुछ खास ध्यान नहीं दिया तो उत्सुकता से हेजल को देखता रहा । जो एक के बाद एक सिगरेट पीए जा रहा था । उस की बहुत ही गहरे विचार में डूबे होने के कारण सिकुडी हुई थी । कुछ समय के पश्चात उसने धीरे से कहा, आपको समझना होगा कि मैं कल्पना पर काम करने जा रहा हूँ कि बालक का अपहरण हो गया है और ये की ट्रेन में आपकी अकस्मात मौजूदगी के बावजूद असल उद्देश्य को पूरा करने में वो कामयाब हो गए । इस बीच बालक को किस प्रकार ठिकाने लगाया गया ये सोचकर मैं उलझन में हूँ लेकिन वह विवरण है । हालांकि ये जानना दिलचस्प होगा कि ये किस प्रकार किया गया । हमें कोई झूठी आशाएं लगाना नहीं चाहता हूँ क्योंकि मेरे गलत होने की बहुत संभावना है । फिर भी हमें बहुत ही उपयुक्त अनुमान पर कार्रवाई करने जा रहे हैं और अगर मैं बिल्कुल सही हूँ, मैं निश्चित रूप से आपको पटरी पर ले आऊंगा । ध्यान रहे मैं ऐसे करने का वादा नहीं करता हूँ और अच्छे से अच्छी स्थिति में मैं आपको सही दिशा दिखाने के अलावा और कुछ करने का वादा नहीं करता । मुझे समझने सोचने दो अभी सिर्फ नौ बजे हैं । हमारे पास काफी समय है । हम गाडी चलाकर पहले स्कॉटलैंड यार्ड जाएंगे क्योंकि अपने साथ एक जासूस को रखना और भी अच्छा होगा । उसने थर्मस में दूध भरा कुछ प्रोटीन, बिस्किट और एक बनाना सेंडविच केस में रखा और उसने नौकर कोई टैक्सी बुलाने के लिए कहा । एक घंटे बाद ऍफ का एक आदमी मिड ईस्टर्न रेलवे के एक निजी कार्यालय में रेलवे के एक प्रमुख पदाधिकारी के साथ गुप्त वार्तालाप कर रहे थे । रेलवे का वह पदाधिकारी बडे ध्यान से ही जन को सुन रहा था लेकिन उस बालक का ट्रेन में कहीं बिना पाया जाना मेरी समझ में नहीं ॅ । उसने कहा, मैं समझ सकता हूँ कुछ कुछ डीजल ने जवाब दिया लेकिन पहले मुझे ये देखने देंगे । क्या मेरा अनुमान सही है, वो नहीं पसंद है । कुछ एक मिनट में एक डाउन ट्रेन आ रही है । मैं आप के साथ चलूंगा क्योंकि मामला बहुत दिलचस्प है । जल्दी करो, महान था । वो तेजी से चलकर इंजन तक गया और चालक को उसने कुछ अनुदेश दिए और फिर वो ट्रेन में जाकर बैठ गए । करीब आधे घंटे के सफर के बाद वो एक स्टेशन से गुजरे । वो लोंगू है । उस पदाधिकारी ने कहा, अब हम जल्दी ही उस जगह पर होंगे । ये उस लाइन से लगभग एक मील उतरकर है जिसे ऊंचा किया जा रहा है । हैजल ने अपना सिर खिडकी से बाहर निकाला । अभी वहाँ एक लालबत्ती देखी । ट्रेन लगभग रुक सी गई और फिर धीरे धीरे आगे चल पडी । जिस व्यक्ति ने लालबत्ती दिखाई थी उसने अब लालबत्ती को हरी बत्ती में बदल दिया । आगे जाते हुए उन्होंने उस आदमी को एक छोटी सी आस्थाई कोटिया के निकट खडे देखा । आने वाले चालकों को खबरदार करना उसका कर्तव्य था और उसे उद्देश्य से उसे पटरी की उस खंड के सामने करीब तीन सौ गज की दूरी पर तैनात किया गया था जिस पर काम चल रहा था । बहुत शीघ्र उस खंड से गुजरने वाले थे । मिट्टी के तेल की क्लालिटी ने एक व्यस्त सुदृश्य के ऊपर एक अद्भुत प्रकाश डाल रही थी क्योंकि उस जगह दिन रात काम चालू था । करीब बीस एक हट्टे कट्टे बेलदार खुदाई मजदूर उस रेलमार्ग के किनारे किनारे हावडा चला रही थी और मिट्टी निकाल रहे थे । एक बार फिर अंधेरा रास्ता आ गया । जहाँ पर काम चल रहा था उसकी दूसरी तरफ उतनी ही दूरी पर एक और झोंपडी थी । अब ट्रेनों को चेतावनी देने हेतु रखे गए गार्ड के लिए इस झोंपडी के पास से गुजरते हुए आम तौर पर गाडी की रफ्तार तेज हो जानी चाहिए थी । लेकिन ड्राइवर ने गति बढाने के बजाय ट्रेन को एक दम बहुत धीमा करा दिया । इतना चार आदमी डिब्बे से निकले और पायदान से जमीन पर कूद पडेंगे । ट्रेन आगे चली गई । उन लोगों को निचले मार्ग के बाई तरफ छोडकर ठीक उस छोटी सी झोपडी के सामने वो उस आदमी को देख सकते थे जो उनकी तरफ पीठ किए खडा हुआ था । पासी एक अंगूठी चल रही थी जिसकी मंदिर रोशनी में उसकी शक्ल सूरत कुछ कुछ दिख गई । जैसे ही उन्होंने पटरीपार की उस की ओर बढे वो अचानक चल पडा । आप यहाँ क्या कर रहे हैं? वो चिल्लाया यहाँ का कोई काम नहीं है । आप अतिक्रमण यानी अनाधिकारिक प्रवेश कर रहे हैं । वो एक बडा हट्टा कट्टा दिखने वाला आदमी था और वो बोलते बोलते वापस अपनी कोटिया की तरफ जाने लगा । ऍम लाइन आगे आकर उस पदाधिकारी ने कहा श्रमण परिसर लेकिन मुझे ये कैसे पता होता है? वो आदमी गुर्राहट में बोला बिल्कुल थी तो तुम्हारा काम अजनबी लोगों को खबरदार करना है तो कितने समय से यहाँ तैनात हो? मैं सुबह पांच बजे आया हूँ । मैं नियमित रात को चौकीदार हूँ सर बडे आराम की ड्यूटी है ना? ठीक धन्यवाद सर । उस आदमी ने जवाब दिया । उसे इस बात पर आश्चर्य था की ये सवाल क्यों पूछा गया लेकिन वो ये भी सोच रहा था जो अस्वभाविक नहीं है । फॅमिली लेने के वास्ते कई इंजीनियरों को लेकर आया हो वो छुट्टियाँ तुम्हें मिली हुई है जी सर एक भी और शब्द बोले बिना ऍम उसको टिया के द्वार तक चले गए । उस आदमी का चेहरा अचानक पीला पड गया और वह कुटिया की तरफ पीठ करके खडा हो गया । ये ये निजी प्राइवेट है सर । वो कुछ गुस्से से बोला ऍम हजार ठीक है मेरे भाई । उस ने कहा मैं सही था, मैं सोचता हूँ अखा तैयार रहना उसे जाने मत देना क्योंकि उस आदमी ने हडबडाकर दौडने की कोशिश की थी । लेकिन स्कॉटलैंड यार्ड अधिकारी और हैॅ एक्शन में उस पर टूट पडे और कुछ पलों के बाद ही उसके हाथों में हथकडी पड गई । फिर उन्होंने झट से दरवाजा खोला और हाँ नमस्कार! मैं उसको एक कोने में गट्ठर की तरह बंधा पडा पाया । उसका मूवी कपडा ठूंसकर बंद किया गया था । विंग गरीब ने जैसे ही रस्सी काटने के लिए अपना चाकू निकाला उसके मुंह से खुशी की चीख निकल पडी लेकिन हैजल ने उसे रोक दिया । बस एक आधी क्षण के लिए । उसने कहा मैं देखना चाहता हूँ उन्होंने उसे किस तरह बनना है । ऐसा करने के लिए कोई विशिष्ट तरीका अपनाया गया था । उसकी कलाइयाँ उसकी पीठ के पीछे कसकर बनी हुई थी । एक मजबूत रस्सी उसकी बदलों के नीचे से मिलाकर उसके शरीर के चारों तरफ बांधी गई थी और एक रस्सी उसके घुटनों के ऊपर बनी गई थी । इनको रस्सी के एक अतिरिक्त टुकडे से आपस में जोडकर बात दिया गया था । बिल्कुल ऍम बोला हम पहले बेचारे बालक को उसकी इस मुसीबत से बाहर निकालने वही बेहतर है तो मैं कैसे लग रहा है? मेरे बच्चे बहुत बुरी तरह खडा हुआ और इसने कहा लेकिन मुझे कोई चोट नहीं लगी है । मैं कहता हूँ सर । उसने विंह गरीब से कहना जारी रखा आपने कैसे जाना कि मैं यहाँ हूँ । मुझे खुशी है कि आप यहाँ सवाल यह है कि तुम यहाँ कैसे पहुंचे? विंह ग्रेव ने जवाब दिया, यहाँ श्री हैजल को शायद पता था कि तुम कहाँ हूँ लेकिन अभी मेरे लिए पहली है । अगर आप एक घंटा बाद आए होते तो आपसे यहाँ नहीं पाते । हथकडी लगे आदमी ने बढ बढाते हुए कहा इसमें मेरा दोस्त इतना नहीं है जितना उन का है जिन्होंने मुझे काम पर लगाया हो तो इस तरह हालत बनाए जाते हैं । हैजल चीज उठा मैं समझता हूँ मेरे बच्चे तो मुझे अभी बताओगे कि ये कैसे हुआ । इस बीच मैं बहुत है तो सोचता हूँ कि हम एक छोटा सा फंडा तैयार कर सकते हैं क्या क्या कहते हो पांच मिनट के अंदर सारा प्रबंध हो गया । दो चार मजदूरों को पटरी से ऊपर लाया गया । एक को बाहर ट्रेनों पर निगरानी रखने और कुछ अन्य हिदायते देकर तैनात किया गया और दूसरी को झोपडी के अंदर बाकी लोगों पर नजर रखने के लिए एक तीसरे खुदाई मजदूर को पुलिस को खबर करने भेज दिया गया । वो कैसे आ रहे हैं? फैजल ने हथकडी लगे आदमी से पूछा । वो तेईस नार्दन मार्ग पर लंदन से रॉक हम स्टेट के लिए डाउन ट्रेन पकडने वाले थे और फिर सडक के रास्ते आगे जाना था । उन्हें ये करीब दस मिंट दूर है । बढिया उन्हें जल्दी यहाँ होना चाहिए । हैजल ने कुछ बिस्कुट चबाते हुए उन्हें दूध की खुराक के साथ गले के नीचे उतारते हुए जवाब दिया । इसके बाद उसने हाजमा दुरुस्त रखने की कसरत करके सबको अचरज में डाल दिया । कुछ ही देर बाद उन्होंने रेल पटरी के बगल वाली सडक पर सहयोग की आवाज हुई । फिर चौकसी रखने वाले आदमी ने कर्कश स्वर में कहा, ऋण का अंदर है लेकिन उन्होंने लडके के अलावा और भी लोगों को अंदर पाया और एक घंटे के बाद तीनो साजिश करने वालों को बेखटक लॉन्ग मूड जेल में बंद कर दिया गया । उस ये बहुत ही ग्रहण कर रहा था । मैं आपको बता सकता हूँ और इसका मैथर्स ने कहा है । जब उसने बाद में साफ साफ बतलाया मैं कॉरिडोर में गया । आपको बता है और मैं आती जाती चीजों को देख रहा था । तब अचानक किसी ने पीछे से मेरे कोर्ट का कॉलर पकड लिया और एक हाथ में हूँ के ऊपर रख दिया । मैंने ठोकर मारने और चिल्लाने की कोशिश की लेकिन कुछ नहीं हुआ । उन्होंने मुझे डिब्बे में ले जाकर फिल्मों में करो माल्टोज दिया और उसके अंदर बांदिया । फिर उन्होंने मेरे हाथ पांव बांदी और कॉरिडोर के सामने दाहिनी हाथ की तरफ की खिडकी खोल दी । मैं एक आतंक में था क्योंकि मैंने सोचा वो मुझे बाहर फेंकने जा रहे हैं । लेकिन उनमें से एक ने मुझे मेरी हिम्मत मानते रखने के लिए कहा क्योंकि उनका इरादा मुझे चोट पहुंचाने का नहीं था । फिर उन्होंने मुझे उसी ढीली रस्सी के सहारे खिडकी के बाहर नीचे लटक जाने दिया और फिर दरवाजे के बाहर हफ्ते से कसकर बांदिया । ये बहुत पूरा था । उधर में दरवाजे के हफ्ते से मुडी हुई दिशा में लटक रहा था । मेरी पीठ डिब्बे के पायदान पर टिकी थी और ट्रेन पागल की तरह आगे जा रही थी, पर डरा हुआ बीमार महसूस कर रहा था और मैंने अपनी आंखे बंद कर ली थी । मुझे लगा मैं वहाँ युगों से लटका हुआ हूँ । मैंने आपको बोला था कि आपने ट्रेन के अंदर ही सिर्फ जांच पडताल हॅाल नहीं । अंग्रेज से कहा मुझे संदेह था कि वह सारे समय कहीं बाहर की तरफ रहा हो सकता है लेकिन मैं उलझन में था कि किधर होगा । ये चतुर मक्कारी थी शायद लडकी ने आगे कहा, कुछ देर बाद मैंने अपने ऊपर वाली खिडकी खोलने की आवाज सुनी । मैंने ऊपर की तरफ देखा और पाया कि एक आदमी हफ्ते से तरह से निकाल रहा है । ट्रेन की रफ्तार अभी अभी धीमी हो चली थी । फिर वो खिडकी के बाहर लटक गया और उसने एक हाथ से मुझे लटका रखा था । झोले की तरह ये सब बहुत डरावना था । हमें पायदान के नीचे लटक रहा था । फिर ट्रीन करीब करीब रुक गई और किसी ने मुझे कमर में हाथ डालकर पकड लिया । एक दो मिनट के लिए मेरे होश हो गए और फिर मैंने इस्लाम को झोंपडी में पडे पाया ठीक ऍम, आप बिल्कुल सही थे और हम सब को आपके प्रति कृतज्ञ होना चाहिए रहे ऐसा कहा ये तो ज्यादा से ज्यादा सिर्फ एक अनुमान था । मेरी कल्पना के अनुसार ये कुछ और नहीं बल्कि सीधा साधा अपहरण का मामला था । और सुलझाने वाली समस्या ये थी कि बालक ट्रेन से कहा देना छोड आए और कैसे उतरा । इसमें कोई शक नहीं कि ट्रेन के लंदन पहुंचने के पहले ही उसे ठिकाने लगा दिया गया था । केवल एक अनुमान और था । ड्यूटी पर तैनात आदमी अपराध में सहकारी था क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो उसकी मौजूदगी के कारण सारी योजना खटाई में पड जाती है । मुझे बहुत खुशी है कि मैं कुछ काम आ सका । इस मामले के बारे में कुछ बडी रोचक बातें हैं और इस काम का जिम्मा उठाना मेरे लिए एक सुखद अनुभव साबित हुआ है । इसके कुछ समय बाद ही श्रीकार, मैथ्स तरने स्वयं हेल्थ से भेंट करके उसे शुक्रिया कहा । मैं वही दिल से आपके प्रति भरपूर आभार व्यक्त करना चाहूंगा । उन्होंने कहा, लेकिन मैं जानता हूँ कि आप एक साधारण जासूस नहीं फिर भी क्या कोई उपाय है जिसके द्वारा मैं आपकी सेवा कर सकूँ? ऍम जिहाद दो तरीके हैं । कृपया बताइए इस मामले की वजह से श्री वेडिंग रेवडिया डॉक्टर स्प्रिंग के लिए कोई मुसीबत खडी हो तो मुझे अफसोस होगा । मैं आपकी बात समझ रहा हूँ, उस रहे थे । एक तरह से दोष दोनों का था । लेकिन मैं देखूंगा कि डॉक्टर स्प्रिंग की प्रतिष्ठा पर कोई आंच लाये थे और विंग को भी इस पचडे से बेदाग निकलने में कोई दिक्कत ना हो । आपका बहुत बहुत धन्यवाद । आप ने कहा कि कोई दूसरा उपाय भी है जिसके सहारे में आपके कहाँ हो सकता हूँ, वो तो है । पिछले महा डन की बिक्री में आपने दिन न्यू बात गाइड के दो प्रथम संस्करण खरीदे थे । अगर आप उनमें से एक को निकालना चाहिए तो मैं और कुछ मत करूँ । ऍम उनमें से एक आपकी संग्रह के लिए देने में मुझे आपार खुशी होगी । हैजल कर गया । आप मुझे गलत समझ रहे हैं । उसने रूचा ही दिखाते हुए ठीक है मैं आगे कहने वाला था कि यदि आप एक प्रतीक का निपटान करना चाहिए तो मैं चेक लिख डालूंगा । वो निश्चित रूप से श्री काॅमिक मुस्कान के साथ जवाब दिया, मुझे अत्यंत हर्ष होगा । इसी पर लेन देन समाप्त हो गया ।

6 - ईश्वर का फरिश्ता

ईश्वर का फरिस्ता हम मैं हमेशा सोचा करता था कि मेरे पिता नहीं कल लंबा खतरा आपने कर लिया है लेकिन किसी ना किसी को तो जोखिम उठाना ही था और निश्चित रूप से मुझ पर शक जाने की आशंका बिल्कुल ही । ये एक जंगली देश था, वहाँ बैंक नहीं थे । हमें मवेशियों के लिए भुगतान करना था और किसी को तो पैसे लेकर जाना ही था । मेरे पिता और मेरे अंकल पर तो हमेशा नजर रखी जा रही थी । मेरे पिता सही थे, मैं समझता हूँ आपने । उसने कहा मैं मार्टन को भेज रहा हूँ । कोई भी कभी ऐसी कल्पना भी नहीं करेगा कि हम रकम ले जाने की जिम्मेदारी किसी बच्चे पर डालेंगे । मेरे अंकल ने मेज पर ठकठक की जैसे नगाडा बजा रहे हूँ और फर्श पर सीढियों से खटखटाहट की । वो कुमारे हटी अडियल और अल्पभाषी थे लेकिन वो बात कर सकते थे और जब बोलते वो आरंभ से शुरुआत करते और आपको शुरू से अंत तक पूरी बात सुननी पडती हैं और वो जो कुछ भी कह देते हैं उसके पीछे वो अटल रहते हैं । मार्टिन को रोकना मेरे पिता कहते गए मतलब सिर्फ रुपये पैसे का नुकसान लेकिन तुम को रोकने का मतलब होगा किसी की हत्या करवाना । हाँ मैं समझ गया कि मेरे पिता के कहने का भी ट्राय किया है । उनका मतलब था कि अब मेर को लूटने की हिम्मत कोई नहीं करेगा । जब तक उसकी जान में जान उसे जान से मारने के बाद भले ही कोई उसको लोगों के लिए मैं अपने अंकल के बारे में कुछ कहना चाहता हूँ । वो कट्टर नेतान् धार्मिक लोगों में से एक थे जो धर्म आंदोलन की उपज कहलाते हैं । वो अपनी जेब में हमेशा एक बाइबल रखते और जब कभी इच्छा होती उसे निकालकर पडने लगते हैं । एक बार रॉय मदिरालय यानी रॉयल ऍम में भीड ने उनका मजाक बनाने की कोशिश की जब उन्होंने अंग्रेजी के पास बैठ कर अपनी किताब निकली । लेकिन उन्होंने फिर कभी ऐसी कोशिश नहीं जब झगडा खत्म हुआ । अब मेर ने टूटी कुर्सियों और मेज के लिए रॉय को अठारह रजत डॉलर चुका है और उस मदिरालय में वही एक आदमी था जो एक घोडे की सवारी कर सकता था । अब मेरे ईसाई धर्म योद्धा था और उसका ईश्वर एक युद्ध नायक था । अतः इस कारण उन्होंने मुझे भेजने का फैसला किया । हरे हरे नोटों के बंडलों को अखबार में लपेटकर दो खुद रियों में भर दिया गया और मैं अपने सफर पर चल पडा । मैं करीब नौ वर्ष का था नहीं, ये इतना बुरा नहीं था जैसा आप सोचते हैं । नौ वर्ष की आयु में मैं किसी भी प्रकार के घोडे की सवारी कर सकता था और सारे दिन कर सकता था । मैं हिट लेदर की माफिक मजबूत था अर्थात बिल्कुल भी मजबूत नहीं था । और मैं उस देहाती क्षेत्र से भी बात सिर्फ था जिसमें मैं जा रहा था । आप के मन में किसी ऐसे छोटे बच्चे का ख्याल नहीं आना चाहिए जिसे आप पार्क में एक लोचदार घेरा घुमाते हुए अकसर देखते हैं । ये पतझड का मौसम शुरू होने की दोपहर थी । मिट्टी की सडकें रात में जम जाती हैं । दिन में ये नरम और कुछ चिपचिपी हो जाती हैं । मुझे नदी की दक्षिणी और रॉॅकीज और सुबह वहाँ से चल देना था । यदा कदा में मवेशी हांकने वालों के पास से गुजरा लेकिन सूर्यास्त के समय तक कोई मेरे बराबर नहीं आ सका । फिर मैंने अपने पीछे घोडे क्या हटसन और एक आदमी आगे आया । मैं उसे जानता था । वो पशुपालक था और उसका नाम दिख था । वो कभी बहुत वणिक यानी जहाज से माल भेजने वाले और मांगने वाला व्यापारी था । लेकिन दुर्भाग्य से उस पर बडी मुसीबत आ पडी । उसका साझेदार अल कीरा चरवाहों के वास्ते रखी एक बडी रकम लेकर चंपत हो गया । डिक्स बर्बाद हो गया था । उसने अपनी जमीन जो बहुत ज्यादा तो नहीं थी चरवाहों के लिए छोड दी । इसके बाद वो पहाडों पर अपने लोगों के पास चला गया था । वहां उसने सबसे मिलकर एक बडी रकम इकट्ठा की और एक बडी चरवाहा भूमि खरीद ली । विदेशी दावेदारों ने किसी पुराने स्वस्थ तो विलेख को लेकर अदालतों में उस पर मुकदमा भी ठोक दिया और वह पूरी जमीन और उसकी खरीद के लिए चुकाई गई कुल रकम से हाथ धो बैठा हूँ । उसने हमारी दूर के कजन से विभाग किया था और वो हमारे चाचा अपने घर की जमीन से लगी उसकी जमीन पर बसेरा डालकर रहने लगा था । वो डिस्को मुझे सडक पर देख कर कुछ अच्छा हो रहा था तो ये ऍम उसने कहा मेरा ख्याल था कि अपने घर जा रहा होगा । देहाती क्षेत्र में तो इस आयु में भी एक छोटा काफी चला हो जाता है और मैंने किसी को नहीं बताया कि मेरा इरादा क्या है । पिता चाहते हैं कि ढोल डंगर को एक महीने तक नदी के उस तरफ रहने दिया जाए । मैंने सहज रूप से उत्तर दिया और अपने पिता का आदेश शर्मा हो को पहुंचाने जा रहा हूँ । उसने मुझे घूरकर देखा । फिर उसने अपने टखनों से खुद ही हूँ यानी ऍम ठोक बजाकर देखा । तुम काफी सामान ले जा रहे हो मेरे बच्चे, मैं उस पर घोडे का चारा । मैंने कहा आप तो मेरे पिता को जानते ही हैं । घोडे को उसका भोजन डिनर के समय जरूर मिलना चाहिए, लेकिन एक आदमी खाना मिलने तक इंतजार कर सकता है । सडक पर साथ मिल जाना हमेशा सुखद होता है और हम इधर उधर की बातों में मशगूल हो गए । डिक्स ने कहा कि वह दस मील देहाती प्रदेश में जा रहा है और मैं हमेशा उसी सोच में रहता आया कि वास्तव में यही उसका इरादा था । सडक आगे करीब एक मील के बाद मदिरालय की ओर मुड गई । जिस तरह हम मुझे कभी पसंद नहीं था, स्वभाव से वह शमा याचक के सरीखा लगता था, लेकिन उसके चेहरे से धूर्तता हटीला पर ही रहता था । थोडी देर बाद एक आदमी सरपट दौडता हम से आगे निकल गया । वो एक पशु ठीक रहता था जिसका नाम मास्टर मेरे अंकल अपने घर के आगे रहता था और वो रात से पहले पहुंचने की जल्दी में तेजी से जा रहा था । उसने हमें सलाम किया लेकिन वह रुका नहीं । हमारे ऊपर की चढ की बौछार पडी और डिक्स ने उसे बुरा भला कहा । मैंने से अधिक दुष्ट चेहरा कभी नहीं देखा है । मैं समझता हूँ ये इस कारण था क्योंकि उसके मुँह के आसपास समान्यता था । एक प्रकार की धूंध तापूर्ण मुस्कुराहट रहती थी और जब ऐसा चेहरा रहता है तो बहुत भयानक बन जाता है । इसके बाद वो चुप हो गया । वो सिर झुकाए हुए और अपने जबडे पर नोच खसोट मारते हुए खोडी की सवारी कर रहा था । जैसे कोई बडा आदमी बडी उलझन में पडे होकर करता है था चौराहे पर आकर रुक गया और कुछ देर जीन पर बैठे बैठे अपने सामने देखता रहा । मैंने उसे वहीं छोड दिया लेकिन पुल पर उसने पकडा दिया । उसने कहा वाह रात का खाना खाने के लिए रुके का और उसके बाद जाएगा । रॉयल ऍम में एक ही बडा कमरा था और उसके ऊपर सोने की जगह के लिए एक अटारी थी । एक संघ के ढका हुआ रास्ता इस कमरे को उस घर से जोडता है जिसमें रॉय और उसका परिवार रहता था । हम अपनी काठी इस ढक के गलियारे में लकडी की खूंटियों पर टांग देते मैंने वो दिवार देखी है जिसपर भिन्न भिन्न कौन सवार अपनी काठिया टंगा करते हैं और ऐसा मेल कराने वाली जगह है । आपको कहीं और नहीं मिलेगी । लेकिन आज की रात डिक्स और मैं उस मंत्रालय में अकेले थे । उसने मक्कारी भरी नजर से मुझे देखा जब मैं खुजरिया को बडे कमरे मिलाया और उन्हें उठाकर सीढी से ऊपर अटारी मिले गया लेकिन उसने कहा कुछ नहीं । असल में उसने एक बार भी हूँ नहीं खोला था । सर्दी थी जब हम अंदर आए सडक जमने लगी थी । रॉय ने एक बडी अंगीठी जला दी । इससे पहले मैं डिक्स को छोडकर चला गया । मैंने अपने कपडे नहीं उतारे क्योंकि रॉय के बिस्तर ई अथवा बिच होने गेहूं की भूसी के गड्डी थी जिन पर बछडे की चमडी चढी हुई थी जो गर्मियों के लिए तो ठीक रहते हैं लेकिन ऐसी रात में बहुत दर्द हो जाते हैं । भले ही उन पर हाथ के बुने, सफेद और काले चर खाने वाले कपडे का खोल क्यों ना चढा हो । मैंने खुद रियों को अपने सिर के नीचे रखा और लेट गया । मुझे तुरंत नींद आ गई लेकिन अचानक में जाते हैं । मुझे लगा कि अटारी में एक मोमबत्ती है लेकिन ये नीचे चल रही एक आग की रोशनी की किरण थी जो फर्श में एक दरार से चमक रही थी । मैं लेटे लेटे उसे देखता रहा मैंने रजाई अपनी थोडी तक खींचना फिर मुझे इस आश्चर्य ने घेर लिया कि आदमी इतनी चमक क्यों है? कुछ देर में डिक्स को निकलना होगा और ये विवाद था की सबसे बाद में जो आएगा वो आपको कुरेदकर जाएगा । कोई भी आवाज नहीं थी । दरार में से रोशनी बराबर आ रही थी । अचानक मुझे ख्याल आया कि डिक्स आपको कुरेदना भूल गया होगा और मुझे नीचे जाना चाहिए तथा आपको रेत करानी चाहिए । रॉयल्स होने के लिए जाने से पहले आपके बारे में हमेशा आघा कर जाता था । मैं उठ खडा हुआ लिहाफ अपने बदन पर लपेटा और पाँच में जब दरार से नीचे ध्यान से देखने के लिए मुझे तख्ते पर पूरा लेट जाना पडा हूँ । बिक्री यानी अखरोट के वृक्ष की लकडियां बडे अंगारों में बदल गयी थी और लाल कोयले की भट्टी के माफिक चमक रही थी । इस भाग के सामने दिख खडा था । वो अपने हाथ आगे प्रसार कर सीख रहा था मानो उसकी हड्डियां अंदर तक हो गई । लेकिन उस तमाम ठिठुरन के बावजूद जब उस आदमी का चेहरा रोशनी में आया मैंने उसे पसीने में तर देखा हूँ । कुछ चेहरा हमेशा मेरी याद में रहेगा, पर वही धूर्त मुस्कान लेकिन मुस्कान जबरदस्ती खींची गई थी बल्कि अंदर घुसी हुई थी । डाॅ आपस में जकडे हुए थे । मैंने स्ट्रेटनिंग से विशाल एक कुत्ते को देखा है जो ऐसा ही दिखता था । मैं महान लेटा हुआ देखता रहा । ऐसा प्रतीत होता था मानो उस आदमी के अंदर बसी कोई ताकतवर एवं बुरी चीज आपने आकृति पर उसका बदला हुआ चेहरा चिपकाने के लिए कडी मेहनत कर रही हो । आप समझ नहीं सकते कि उस पैशाचिक भयानक पीडा नहीं । मुझे किस कदर बांधे रखा चेहरा लगता था जैसे प्लास्टिक का बना हो और उसमें से पसीना टपक रहा हो । फिर वो सर्दी सेट हो रहा था । वो आदमी घुसे जा रहा था, खुद को घूमा फिरा कर से एक रहा था और अपने हाथों को आपके ऊपर फैलाकर ताप ले रहा था । और ये ऐसा था मानो आप की तपिश बर्फ के अंदर घुसकर बर्फ को भले ही पिछला दे लेकिन उससे ज्यादा तपेश ना तो उसके अंदर जा पाएगी और नाम से उससे ज्यादा गर्मी दे पाई । ऐसा लगता था जैसे आपकी गर्मियों से झुलस दी थी और फिर ठंडा छोड देती हूँ और भीषण रूप से तथा अत्यंत निराशा के कारण भावशून्य एवं वेपर वहाँ था । मैं उस पर आपकी झुलसन सोंग सकता था । लेकिन दुर्दांत ठंडक के सामने उसकी कोई शक्ति नहीं थी । मैं स्वयं ऍम महसूस करने लगा । हालांकि मैंने मोटा लिहाफ अपने ऊपर लपेटा हुआ था । स्थिति ने एक चिंता आरक्षक भय का रूप ले लिया था । मुझे लगता था जैसे में किसी भी बहुत प्रसूति कक्ष में नीचे झांक रहा हूँ । कमरा आपकी रोशनी से बराबर भरा हुआ था । उसमें एक भी छाया हिलडुल नहीं नहीं थी और वहाँ सन्नाटा था । उस आदमी ने अपने वोट उतार लिए थे और उन्हें वो बेआवाज आपके सामने झुकना रहा था । ये दृश्य किसी डरावनी प्रेत कथा या किसी ड्रग से रूप परिवर्तन जैसा था । मैंने सोचा कि वह खुद को आग में जलाकर मार डालेगा । उसकी कपडों से धुआं उठ रहा था । वो इतना ठंडा कैसे हो सकता था । फिर अंततः हार रहस्य समाप्त हुआ है । मैं देख नहीं पाया क्योंकि उसका चेहरा आग में था लेकिन अचानक वो स्वस्थ चित्र शांत एवं गंभीर हो गया और वो वापस कमरे में चला गया । मैं आपको बताऊंगा । मुझे देखने में है लग रहा था । मुझे नहीं पता कि मैं क्या देखना चाह रहा था लेकिन मैंने ये भी नहीं सोचा था कि वह डिक्स होगा । ठीक वो टैक्सी था लेकिन वह डिक्स नहीं जिसे मैं क्या आप यह हम में से कोई जानता है । इस दूसरी डिक्स में एक प्रकार की शमा याचना, एक प्रकार का निर्णय एक प्रकार का दास से भाव था और ये सब उसके चेहरे पर झलकती थी । लेकिन इस आदमी में इनमें से कोई कमजोरी नहीं थी । उसका चेहरा दृढता और निश्चय की अवस्था में आ गया था । उस की सूरत शक्ल में जो ढीलापन था वो हट गया था । उसकी आंख की छह लूँगी चंचलता जा चुकी थी । अब वह तनकर अपने पांव पर खडा हुआ था और वो हिम्मत से भरा था । लेकिन मैं उससे डाला हुआ था क्योंकि मैं दुनिया में कभी भी किसी मानव प्राणी से नहीं करा । कुछ नीच प्रवर्ति जो उसमें रही है वो उसकी छदम देश के पीछे छिप गयी थी । उसने छल कपट वधों केबाजी का निवास पहन लिया था और अब वो सामने यहाँ गए थे और उस नीच प्रवर्ति ने आदमी की सूरत शक्ल को उसकी घिनौनी हिम्मत में बदल दिया था । फिलहाल उसने कमरे में इधर उधर तेजी से ताकझांक करना शुरू कर दिया । उसने खिडकी के बाहर देखा और दरवाजे से कान लगाकर सुना । फिर वो धीरे से आठ वाले गलियारे में गया । मैंने सोचा कि वो अपने सफर पड जा रहा है लेकिन फिर ख्याल आया कि वो अपने बूट आपके पास छोडकर कैसे जा सकता है । तो दक्षिण वो अपने हाथ में घुडसवारों के समय काठी बिछाने वाली एक कंबल ये वापस आया और चुपके चुपके कमरे पार करके सीडी तक पहुंचा । तुमने उसका इरादा समझ गया और डर के मारे निश्चित हो गया अर्थात हिलडुल भी नहीं सका । मैंने उठने का प्रयास किया लेकिन असमर्थ रहते मेरे वर्ष में इतना ही था कि लेटे लेटे फर्ज की दरार में पाक गडाए रख सकता हूँ । उसका पैर सीढी पर था और मुझे पहले ही ऐसा महसूस होने लगा जैसे उसका हाथ मेरे गले पर हूँ और वो कम्बल मेरे ऊपर और मेरे अंदर मौत की घुटन । उसी समय मैंने दूर कडी सडक पर एक थोडी की आवाज सुनी । वो आहत उसने भी सुनी क्योंकि वो सीढी पर ठीक थक गया और अपना चेहरा उसने दरवाजे की तरफ मोड लिया । घोडा पुल के आगे लंबी पहाडी पर था और वह चला रहा था जैसे कि काठी पर शैतान सवार हो जी एक कठोर अंधेरी रात थी । जमी सडक चकमक पत्थर जैसी थी । मैं लो ही की नाल की आवाज सुन सकता था । जो कोई भी उस घोडे पर सवार था । वो अपने जीवन की आखिरी सवारी कर रहा था या उसे जिंदगी की परवाह नहीं लिया । वो पागल था । मैंने घोडे को पुल पर चोट करते और बिजली की गति से पुल पार करते सुना था और इतने समय तक अपने हाथ सीडी पर रखे लटका और आहत सुनता रहा । अब वो धीरे से नीचे कूद गया । उसने अपने जूते खींचे और आपके सामने खडा हो गया अपनी चेहरे के साथ जो अपनी पहचान चिक दिलेरी के साथ चमक रहा था । मैं सुन सकता था कि उसने लगाम खींची है और घोडे से उतरा है । उसकी लो ही के जूते जम गयी । साथ कुछ छीलते हुए आगे बढ रहे हैं । फिर दरवाजा खुला और मेरा अंकल । अब नीर कमरे के अंदर मैं इस कदर खुश हुआ कि मेरे दिल में मेरा सांस लेना मुश्किल कर दिया और एक्शन के लिए मैं कुछ नहीं देख पा रहा था । एक तरह का धुंध आंखों पर छा गया लगता था । अब नीर कमरे में तेज नजर डाली इधर उधर छूकर देखा और फिर गया खुदा का शुक्र है । उसने कहा, मैं समय पर आ गया और उसने अपनी कठोर उंगलियों वाला हाथ अपने चेहरे पर फेरा और अगले ही क्षण उसने कोई चीज जोर से खींचकर हटा दी । समय पर किसी डिक्स ने कहा, अब देर ने उसे नजर भर देखा और मैं उसकी विशाल कंधे की मांसपेशियों को सख्त होता देख सकता था और उसने दोबारा डिक्स पर नजर डाली । फिर वो बोला और उसकी आवाज अजीब थी । डिप्स उसने कहा क्या ये तुम हो? ये मेरे सिवा और कौन होगा? डिक्स बोला ये दोस्त भी हो सकता है । अब नीर ने कहा तुमको पता है तो तुम्हारा चेहरा कैसा लगता है जैसा भी लगता हूँ परवाह नहीं । डिक्स ने कहा और इसलिए अब नीर ने कहा हमें इस नए चेहरे से हिम्मत मिली है । डिक्स ने अपना सिर ऊपर करते हुए कहा अब इधर देखो अपनी तुम्हारी बडी बडी बातें मैं बहुत देख चुका हूँ । तुम घोडे की जान की बाजी लगाकर यहाँ अचानक पहुंचे हो और आखिर तो हमारे साथ क्या गडबड है । मेरे साथ मेरे साथ कोई गडबड नहीं है । अब नींद ने जवाब दिया और उसकी आवाज धीमी थी लेकिन तुम्हारे साथ कोई भीषण गडबड जरूर हैंड्रिक्स तो है, शैतान ले जाए । डिक्स ने कहा, और मैंने उसे अपने घर से आंख मिलाते देखा । ये डर नहीं था । जिसने उसे रोक लिया उसके अंदर का डर निकल गया था । मैं समझता हूँ एक प्रकार की समझदारी थी । अब नीर की आंखे सोलह उठी लेकिन उसकी आवाज धीमी और सुख स्थिर बनी रही । वो बडी बातें उसने कहा ठीक दिख चलाया तो फिर दरवाजा छोडो और मुझे निकलने दो, अभी तो नहीं अभी नहीं । मैंने कहा मुझे तुमसे कुछ कहना है तो कहो दिख सीखा और दरवाजे से बाहर जाओ । जल्दी क्या है अब नहीं ने कहा सुबह का उजाला होने में अभी बहुत देर है और मुझे तुमसे बहुत कुछ कहना है तुम ये मुझे नहीं कहोगे । डिक्स ने कहा मुझे आज रात कहीं जाना है दरवाजे से हटाओ । अब देर नहीं मिला । तुम जो सोचते हो उससे भी कहीं अधिक लंबे सफर पर तुम को जाना है आज की रात लेकिन तो मैं सफर पर निकलने से पहले मेरी बात सुन नहीं होगी । मैंने डिक्स को अपने पंजों पर उठते देखा और मैं समझ गया कि उसकी मंशा क्या है । उसे एक हथियार चाहिए था और वो इतनी ताकत समेट लेना चाहता था कि अब देर का सामना कर सके, लेकिन उसके पास में हथियार था और न ताकत और उसने अपने पंजों पर खडे खडे शुरू आपको गलना शुरू कर दिया । नीट छिछली होती कश्मीर चाकू की चोट के माफिक नहीं । अब मेर ने उसे एक अजीब दिलचस्पी से देखा । ये अजीब बात है मानो जैसे खुद से बात कर रहे हो लेकिन इससे स्थिति स्पष्ट हो जाती है । जो व्यक्ति किसी का दास नहीं है उसके पास किसी की हिम्मत भी नहीं हो सकती । लेकिन जब हम तो कहाँ अपनी इच्छा जाहिर करता है, उसे वो सब मिल जाता है जो उसका मालिक उसे देना चाहता है । तो फिर उसने देख से कहा बैठ जाओ और ये उस गहरी संतुलित आवाज नहीं जिसका प्रयोग आपने तब करता था जब अपने शब्दों के पीछे सटकर खडा होता था । पहाडों में हर व्यक्ति उस आवाज को पहचानता था । उस आवाज को सुनने के बाद व्यक्ति को सिर्फ एक क्षण मिलता था । तय करने के लिए डिक्स को ये मालूम था और फिर एक्शन के लिए वो अपने पंजों पर खडा रहता है । उसकी आंखें िकलकर बंदगी की आंखों की तरह चमक रही थी और उसका बैठा हुआ था । वो भी नहीं था । अगर उसे अपने घर के विरुद्ध कोई मौका मिलने की संभावना होती तो वो उस मौके को छोडना नहीं । लेकिन उसे पता था कि कोई मौका नहीं है और उसने कसम के साथ काठी का कम्बल एक उन्हें में फेंका तथा आज के पास बैठ गया । तब अपने दरवाजे से हट गया । उसने अपना बडा कोर्ट उतारा । आग में लकडी का एक था डाला और डिक्स के सामने बैठ गए । अग्निकुंड के दूसरे सिरे पर लकडी पढते ही चक चक्कर की लगते थे । कुछ देर तक खामोशी रहे दोनों में से किसी ने एक शब्द भी नहीं बोला । अब नहीं लगता था सामने बैठे आदमी के बारे में गंभीर सोच विचार कर रहा हूँ । अंततः उसने चुप्पी तोडी दिख । क्या तुम प्रभु की अनुकंपा में विश्वास करते हैं? दिखने झटके से अपना सिर उठाया । अब देर वो चीज अगर तुम फिजूल की बातें करने वाले हो तो मैं अपनी कसम खाकर तुमसे वादा करता हूँ कि मैं तो सुनने के लिए रुकूंगा नहीं । अभिनिर्णय तुरंत कोई जवाब नहीं दिया । वो किसी और मुद्दे पर बात शुरू करने जा रहा था । डिक्स उसने कहा तो तुम्हारे साथ पहले ही काफी बुरा हो चुका है । शायद तो मुझे दूर रखना चाहोगे । अभी अब मेर तुम सच बोलो मैंने बहुत नारकीय यातना सही है । तुम नारकीय यातना सह चुके हो । अब मेर ने जवाब दिया, ये अच्छा शब्द है । मैं इसे स्वीकार करता हूँ । तुम्हारा साझेदार नदी के दूसरी तरफ के चरवाहों की सारी रकम लेकर गायब हो गया । मुकदमे में तुम अपनी जमीन हो बैठे और आज रात तुम्हारे पास एक डॉलर भी नहीं है । वो बडी जमीन थी जो तुम्हारे हाथ से निकल गए । तुम्हें इतनी बडी रकम कहां? फॅमिली मैं तुमको सौ बार बता चुका हूँ दिखने जवाब में कहा मैंने वो रकम पहाडों पर अपने लोगों से खट्टा की, तुमको पता है कहाँ से मिली हूँ । अब नहीं कहा मुझे मालूम है तुम्हें वो रकम कहाँ मिलता है था । मुझे एक और बात मालूम है लेकिन पहले मैं तुमको ये दिखाना चाहता हूँ और उसने अपनी जेब से एक कदम तराश अर्थात जी बीज को निकाला और मैं तुमको बताना चाहता हूँ कि मैं ईश्वरीय कृपा में विश्वास करता हूँ । तुम किस में विश्वास करते हो, तुम जानो, मैं उस की जरा भी परवाह नहीं करता । डिक्स ने कहा लेकिन मैं जानता हूँ तो उस की परवाह अवश्य करते हो । अब देर में जवाब दिया तुम क्या जानते हो । डिक्स ने सवाल किया, सही मैं जानता हूँ तो तुम्हारा साझेदार कहाँ है? डिक्स क्या करने जा रहा था? मैं इस बारे में निश्चित नहीं था । लेकिन अंततः उसने ताना मारते हुए जवाब दिया, तब तो तुम कुछ ऐसा भी जानते हो जो कोई और नहीं प्रांत ठीक है । अब निर्णय जवाब दिया एक और आदमी है तो जानता है कौन तुम डिक्स अपनी कुर्सी में कोर्स धन गया और उसने अपने को नजदीक से देखा । आपने मुझे मिला था तो बकवास कर रहे हूँ । कोई नहीं जानता कि हल्की ने कहा है । अगर मुझे पता होता तो मैं उसका पीछा जरूर करता दे । आपने ने जवाब दिया और इस बार फिर वही गहरी संतुलित आवाज की । अगर मुझे यहाँ आने में पांच मिनट की देरी हो जाती है तो तुम उसके पीछे चले गए होते हैं । मैं तुम्हें इसका वादा कर सकता हूँ । अब सब मैं देहाती इलाके में था जब साझेदारी के बारे में तुम्हारा संदेश मिला और मैं वापस आ रहा था । जब एक रन में मुझसे रकात का दस मटूडा हूँ । मेरे पास कोई चाकू नहीं था और मैंने स्टोर में जाकर ये खरीदा । तब स्टोरकीपर ने मुझे बताया कि अल की रहे । आपको मिलने गया था । मैं उसके साथ उलझना नहीं चाहता था और मैं वापस मुड गया । इसलिए मैं तुम्हारा साझेदार नहीं बना और इसी कारण में गायब नहीं हुआ । वो किया था जिसमें रोका रकाब का टूटा दस मई चाहती हूँ । पुराने जमाने में डिस्क लोग इतने अंधे होते थे कि ईश्वर को पहले उनकी आंखें खोलनी पडती थी ताकि वो अपने सामने उसके फरिश्ते को देख सकें । जिस रातल की रे गायब हुए उस रात में तुम्हारे घर के रास्ते मैं उससे मिला था । मैं वहाँ बाहर पुल पर था हूँ । उसका एक रकार दस मार टूट गया था और वो उसे तीन से कसने की कोशिश कर रहा था । उसने मुझसे पूछा कि क्या मेरे पास चाकू और मैंने ये चाकू से दे दिया । तभी लगा कि बरसात आने वाली है और मैं आगे चल दिया उसे । वहीं हाथ में चाकू लिए सडक पर छोड कर अब मेरे बोलते बोलते रुक गया । उसके बडे जबडे की मांसपेशियां सिकुड गई । ईश्वर मुझे क्षमा करें । उसने कहा ये उसका ऑफर रहता था । उसके बाद मैंने लाल किला को कभी नहीं देखा । उसके बाद किसी ने उसे नहीं देखा थे । डिक्स ने कहा वो गुजरात पहाडियों से निकल गया था नहीं अब नहीं इतने जवाब दिया बल्कि रे रात के समय अपनी यात्रा पर नहीं निकला । दिन में निकला था अब मेर डिक्स ने कहा तोमिक मूर्ख की तरह बात कर रहे हो । अगर हल्की रे ने दिन में सडक के रास्ते सफर किया होता तो किसी ना किसी ने उसे अवश्य देखा होता । जिस सडक से वो गया वहाँ कोई उसे देख नहीं सकता था । अब नींद नहीं जवाब दिया कौन सी ऍम टिक्स ने पूछा डेक्स अब नींद नहीं जवाब दिया तो वो भी बहुत जल्दी पता चल जाएगा । अब नीर ने कठोर दृष्टि से उसे देखा । तुमने हल्की रे को देखा था जब उसने अपनी यात्रा शुरू की लेकिन क्या तुमने देखा वह कौन था जो उसके साथ गया उसके साथ कोई नहीं गया? डिक्स ने कहा बल्कि रे अकेले गया था, अकेले नहीं कोई और भी था । मैंने उसे नहीं देखा । दिखने कहा और फिर भी तुमने अल कि मेरे को उसके साथ जाने दिया । मैंने डिक्स के चेहरे में मक्कारी को घुसते देखा । उलझन में पड गया था लेकिन उसने सोचा के अपनी और उसकी मक्कारी भाप नहीं पाएगा और मैंने और मेरे को किसी के साथ चले जाने दिया । क्या मैंने ऐसा है तो वो कौन था क्या तुमने उसे देखा, किसी ने भी उसे कभी नहीं देखा । वो कोई अजनबी रहा होगा नहीं । आपने ने जवाब दिया, हमारे आने से पहले ही वो पहाडियों को चढ चुका था । वास्तव में डिक्स बोला और वो किस प्रकार के घोडे पर सवार था । सफेद अब नहीं ने कहा डिक्स को कुछ अंदाजा हो गया कि अपनी का अब क्या अभिप्राय है और उसका चेहरा गुस्से से लाल हो गया तो क्या कहना चाह रहे हूँ वो लाया तुम यहाँ बैठकर भर उसमें लट्ठा चला रहे हो । अगर तुम कुछ जानते हो तो साफ साफ हो हमें सुनने दो । क्या है वो अब? नीर ने अपना बडा ताकतवर हाथ झटके से आगे बढाया । मानव डिक्स को वापस कुर्सी में खेल देना चाहता हूँ सुनो । उसने कहा उसके दो दिन बाद मैं उस दस मिनट देहाती क्षेत्र यानी तीन माल कंट्री में निकल जाना चाहता था और मैं तुम्हारी जमीनों से होकर गया । मैं तुम्हारे घर के पश्चिम की तरफ घाटी से होकर निकला । उस रास्ते में उधर एक सेम का पेड है । किसी चीज की तरफ अचानक मेरा ध्यान गया और में रुक गए । पांच मिनट बाद में जान गया किसी की उस पेड के नीचे असल में क्या हुआ था । कोई घर सवार वहाँ तक आया था । वो उस पेड के नीचे ठहरा था । फिर कुछ घटना घटी और घोडा भाग गया । उस रास्ते पर किसी घोडे के खोरों के निशान से मैं समझ गया । मुझे पता था कि उस घोडे पर एक सवार था और वो उस पेड के नीचे रुका था क्योंकि एक निश्चित ऊंचाई पर उस पेड से शाखा कटी हुई थी । मुझे मालूम था कि थोडा बाहर का है क्योंकि सेब के पेड की छोटी छोटी टहनियों को ओ एंड की शकल में काटा गया था और वो रास्ते पर एक ढेर में पडी थी । मैं समझ गया कि किसी बात से डरकर घोडा वहाँ से भाग गया क्योंकि झांक छोडेने छलांग मारी थी । वहाँ तृणावर्त मिट्टी खिलाई थी । दस मिनट बाद मुझे ध्यान आया कि घोडे ने जब छलांग मारी उस समय घुडसवारों जीन अथवा काठी पर बैठा हुआ नहीं था । मैं जान गया कि किस बात से थोडा डर गया था । मुझे ये भी समझ आ गया की घटना एक दिन पहले घटी थी । अब मुझे ये सब कैसे पता चला? सुनो मैंने अपने घोडे को उस पेड के नीचे दूसरे घोडे के खुर के निशान में खडा किया और जमीन को बडे गौर से देखा । तत्काल मैंने देख लिया कि रास्ते के बगल में घास बात, हर पथराव किस जगह कुछ ही हुई है और उस क्यारी के बीचों बीच मैंने ताजा मिट्टी का ढेर देखा । विचित्र बात थी देख वो जगह ताजा मिट्टी को होना जहाँ वो पशु लेट रहा हूँ । घोडा जब उठ खडा हुआ उसके बाद ये मिट्टी आई थी अन्य रहा । ये दमकर सपाट समतल हो गई होती । लेकिन ये मिट्टी आई कहाँ से थी? मैंने उतरकर सेब के पेड के इर्दगिर्द और उसके चारों ओर एक बडा चक्कर काटकर देखा । अंततः मुझे छुट्टियों का एक टीला मिला जिसकी छोटी कुछ इस तरह खुरची गई थी, मानो कोई वहाँ से हाथों में उठाकर खुल्ली में टी ले गया हूँ । फिर मैं पीछे गया और कुछ मिट्टी उखाड लेगी । इस मिट्टी के नीचे के ढेले लाल रंग से रंगे हुए थे । नहीं, ये रंगरोगन नहीं था । कुछ पचास गज आगे एक ग्रुप के समान एक झाडी थी या कहना चाहिए कि झाडी का खेला था । मैं उसके पास गया और वो झाडी नीचे जहाँ तक जा रही थी, वहाँ तक चला गया । सीट के पेड के सामने हर पतवार फिर दबी कुछ नहीं मिली जैसे कि कोई वहाँ पशु लेट रहा हूँ । मैं उस जगह बैठ गया और बाडी के कल लट्ठे से लेकर सेब के वृक्ष की एक शाखा तक अपनी आग सेक लकी रखी थी । फिर मैंने अपने घोडे पर सवार होकर उसे दोबारा पेड के नीचे दूसरे घोडे के खुर के निशान पर खडा किया । काल्पनिक रेखा मेरे पेट के गड्ढे से होकर जा रही थी । मैं कद में हल्की रे से चार इंच लंबा हूँ । तभी डिक्स ने कोसना शुरू कर दिया । अब नेट जब बोल रहा था उस समय मैंने उसके चेहरे को हरकत करते देखा था और वो पसीने की फुहार दोबारा प्रकट हो गई थी । लेकिन उसने हिम्मत बनाए रखी है जो उसने पाई थी । प्रभु महाबली है मानव । उसने चिल्लाकर कहा तुमने कितनी खूबसूरती से सन शेप में कह डाला हमें अभी अभी आपने नाम के एक वकील मिले हैं अपने संक्षिप्त विवरण के साथ क्योंकि मेरे पट्टेदारों ने एक बछडा मार दिया है क्योंकि उनका एक घोडा खून देखकर डर गया और भाग खडा हुआ क्योंकि वो इस कारण खून को मिट्टी से ढक देते हैं ताकि उस रास्ते से गुजरने वाले दूसरे घोडे वैसा ना करें । मैंने हल्की रे को उसकी काटी पर ही गोली से एकदम उडा दिया है । क्या काल्पनिक खोज है अब? वकील बनेर आपने स्पष्ट तुच्छ निष्कर्षों के साथ ये भी खुलासा कर दें । हल्की रे की हत्या करने के बाद मैंने उसका क्या क्या? क्या मैंने उसे गंधक सुबह हवा में गायब कर दिया या मैंने जमीन पारदी और हल्की रे को जमीन की अंतडियां निकल गई दे? अपनी जवाब दिया तो तुम्हारी बातें कुछ कुछ सच के आसपास घूम रही हैं । कसम मेरी आत्मा की डिक्स चीखा तो मेरी तारीफ कर रहे हो । यदि मुझे जादू का करता बाता तो सच मानो तो अब तक जमीन के बहुत मीठे होते । अब नीरिक्षण चुप रहा देख उसने कहा जब कोई जमीन का एक खंड घास लगी मिट्टी के ढेरों से दोबारा भरा ढका हुआ पाता है तो उसका क्या होता है? क्या ये कोई पहली है? डिक्स ठीक था ठीक है अगर मैं इसका जवाब न दू तो मुझे परेशान कर सकते हो तो मुझ पर हत्या का आरोप लगाते हूँ और फिर तो मैं चतुर पहेली में डुबकी मारते हो और इस पहेली का क्या उत्तर हो सकता है । अब देर अगर किसी ने कोई हत्या की होती तो ये घास वाली मिट्टी किसी कब्र के ऊपर पडी होती है और हल्की रे उसके अंदर अपनी खूनी कमीज में होता है क्या? मैं जवाब दूर तो जवाब मंजूर अपनी ने कहा है नहीं डिक्स टीका तुम्हारा घास फूस मिटटी से भरा वह गड्ढा कोई काम नहीं है और न हल्की रे उसके अंदर लेटा हुआ गैब्रियल के दूर याद की प्रतीक्षा कर रहा है । क्यों जवान तुम्हारे वो तुच्छ ग्राहक निष्कर्ष कहा है? डेट अपनी बोला तो मुझे जरा भी धोखे में नहीं रख सकते देंगे हल्की रे किसी कमरे में नहीं हो रहा है । तो फिर हवा में डिक्स ने कटाक्ष किया सफर की गंध से धवा में भी नहीं । अपनी ने कहा है तब आप खा गई होगी बाल के पुरोहितों की तरह आदमी भी नहीं खाया । अब नहीं नहीं बोला ब्रिक्स के चेहरे की शांति लौटाए । इस ठिठोली ने उसको वहीं पहुंचा दिया जहाँ वो समय था । जब पनीर अंदर आया ये सब मूर्खों वाली बातें उसने कहा था अगर मैंने हल्की रे को मारा होता तो मैं उसकी अर्थी को लेकर क्या कर सकता था और वह थोडा मैंने घोडे के साथ क्या क्या होता है । ध्यान रहे किसी भी आदमी ने हल्की लेके घोडे को अलग मेरे से ज्यादा कभी नहीं देखा और इसका कारण ये है कि अल की रे उस पर सवार होकर उस रात पहाडों से निकला था । अब इधर ब्लॅक तो मुझे बहुत सवाल पूछ चुके हो । मैं तुमसे एक सवाल पूछूंगा तुम्हारे जितने भी तो अच्छे निष्कर्ष है क्या? तो उनमें से किसी भी निष्कर्ष के आधार पर कह सकते हो कि मैंने ये काम अकेले किया था क्या दूसरों की मदद से देख अब नींद नहीं जवाब दिया मैं इसका उत्तर अपने निजी विश्वास पर दूर है तो तुम्हारे अपराध में कोई और शामिल नहीं था । तब मैं घोडे को कैसे ले जा सकता था बल्कि मेरे को मैं उठा सकता था लेकिन उसके घोडे का वजन तेहरा सौ पौंड था दे ये काम करने में किसी ने तुम्हारी मदद नहीं की लेकिन कुछ लोग थे जिन्होंने इसे छिपाने में तो भारी सहायता की और अब डिक्स ने कहा ये आदमी पागल हो रहा है । मैं ऐसे काम में किस पर भरोसा करता है । मैं तुमसे पूछता हूँ क्या मेरा कोई पट्टेदार है जो किसी और की जमीन पर काम करने के लिए आकर भी इस बारे में नहीं बताएगा । जब शराब का एक पहुँचा उसके गले के नीचे उतर जाएगा । कहाँ है वो लोग जिन्होंने मेरी मदद की देख अब नींद में कहा, उन्हें मरे हुए पचास साल हो चुके हैं । मैंने डिक्स को तब हंसी उडाते सुना और उसका दुष्ट चेहरा ऐसे दमक उठा जैसे उसके पीछे कोई मोहम्मद की चल रही होगी । और सच में मैंने सोचा उसने अपने काम बंद कर दिया । ऍम ठीक हूँ, ऐसे सबूतों के बावजूद हैरानी की बात है । तुम्हें पूछे फांसी नहीं दिलवाई और तुम फांसी चढ गए होते अब नहीं । मैंने कहा अच्छा जाओ और शरीर को बता दूँ और इन तुच्छ खरे निष्कर्षों को उसके सामने रखना मत भूल जाना । किस तरह तुमने घोडे के खुरों के निशान और उस जगह का हवाला देकर यहाँ एक बछडा काटा गया था बल्कि रे की हत्या का निष्कर्ष निकाला है और शव तथा घोडे कुछ पाने के लिए तुमने अपने तर्क में उन लोगों से मदद मिलने को आधार बताया जो उस वक्त अपनी कब्र में सड रहे थे । जब मैं पैदा हुआ था और फिर देखना वो किस तरह तुम्हारा सत्कार करेंगे । अब नीर में उस आदमी के शूद्र भाषण पर कोई ध्यान नहीं दिया । उसने अपनी जेब से चांदी की घडी निकले, डंडी दबाई और देखा । फिर वो अपनी गंभीर और संतुलित आवाज में बोला देख करीब करीब आधी रात का समय है । एक घंटे में तुम्हें अपनी यात्रा पर निकलना होगा । इसके अलावा मुझे कुछ और भी कहना है । सुनो मुझे पता है ये काम पिछले दिन किया गया था क्योंकि जिस रात अल की रे से मेरी भेंट हुई उस रात बारिश हुई थी और चीटियों केस टीले की मिट्टी उसके बाद उलट पुलट की गयी थी । इसके अतिरिक्त ये मिट्टी जल गई थी और उससे पता चलता है कि मिट्टी को वहाँ डाले हुए एक रात बीत गई थी और मैं जानता था कि उस घोडे पर हल्की रे सवार था क्योंकि रास्ते की बगल में काटी गई टहनियों के पास मेरा चाह को पडा हुआ था जहाँ ये उसके हाथ से गिर गया था । ये सब मैंने करीब पंद्रह मिनट में जान लिया । बाकी जानकारी इकट्ठा करने में कुछ अधिक समय लगा । घोडे के रास्ते का पीछा करते करते उस निचली छोटी घाटी तक पहुंच गया जहाँ वो रुका था । घोडा जहाँ तक दौड कर गया हो उस रास्ते का पीछा करना आसान होता है क्योंकि घोडा पैरों के निशान छोडना जाता है लेकिन जब थोडा रुक जाता है तो आगे के रास्ते की पहचान के लिए कोई निशान नहीं मिलता । मेरे साथ भी यही हुआ घाटी में टेढे मेढे रास्ते बनाकर भेजती । एक छोटी नदी थी और मैं जंगल से शुरू होकर धीरे धीरे वहाँ तक पहुंच गया ये पता लगाने के लिए कि घोडे ने कहाँ से उसे पार किया था । अंततः मुझे घोडे के जाने का रास्ता मिल गया और वहाँ आदमी के चलने का भी एक मार्ग था जिसका मतलब था कि तुम थोडी तक पहुंच गए और उसे दूर लेकर वहाँ ऊपर उठते मैदान पर एक पुराना बगीचा था । जहाँ कभी घर हुआ करता था । उस घर का निर्माण करीब सौ वर्ष पहले हुआ था । ये बुरी तरह टूट फूट गया था और पूरी तरह उठ गया था । तुम नहीं बगीचा चरागाह में खोल दिया था । मैंने इस पहाडी के सबसे ऊपर हिस्से को पार किया और अंत में मैं उस बगीचे में दाखिल हो गया जहाँ वो घर खडा था । उस से कुछ ही कदम पर एक बडा चौरस काई से ढका पत्थर पडा था । जैसे ही मैंने उस पर नजर डाली, मेरा ध्यान दिया कि इससे मिट्टी में उग्र ही काई पत्थर के किनारे के साथ साथ टूटी हुई थी और फिर मैंने गौर किया कि उस पत्थर के आस पास कुछ पीठ तक जमीन को आस पास लगी मिट्टी के ढेरों से दोबारा ढका गया है । इसके नीचे की मिट्टी उस लाल रंग से सराबोर थे । वो डाॅ तुमने जमीन को दोबारा घास पात और मिटटी से ढककर बडी होशियारी दिखाई । इसमें बहुत कम समय लगा होगा और इसमें उस स्थान को पूरी तरह ढक भी दिया जहाँ हमने घोडे को मारा था तो लेकिन तुमने ये भूल जाने की बेवकूफी की की उस बडे चौरस पत्थर के किनारे पर चारों टूटी काई को फिर से ठीक नहीं किया जा सकता है । आपने बस करूँ और मैंने उसके चेहरे से पसीना ही देखा । उसका चेहरा खुद ही हुई रोटी की तरह हरकत कर रहा था और उस पर वही जगन ने उदासी भरी । सिर्फ अच्छाई हुई थी । अब्रीनी क्षण के लिए चुप रहा और फिर शुरू हो गया लेकिन एक दूसरे पहले से दो बार अब नहीं । आपने कहा ईश्वर का फरिश्ता मेरे सामने आया लेकिन मैंने उसे जाना नहीं लेकिन तीसरी बार में उसे समझ गया ये ना तो हवा के कारण में होता है और ना अनेक नदियों समुद्र की आवाज की, हमें उसकी मौजूदगी का भान हो सके । इजराइल में उस इंसान को केवल संकेत मिलता था कि उसके अधीन शत्रु अब और लज्जाजनक आचरण नहीं करेगा । मुझे दो बार ऐसा शुभसंकेत मिला और आज रात जब माँ ने मेरे घर के सामने खराब चश्मा तोड दिया और मुझे दरवाजे तक आने की पुकार लगाई थी तथा मुझसे चार को मांगा ताकि वो दस में को ठीक कर सके । तब मैंने देखा और मैं आया । अब नीर में जो लकडी का लगता भट्टी में डाला था वो जल कर राख हो गया था और आप फिर अंगारों का एक ढेर बन गई थी । कमरा उसमें स्टेज नीरज लाल रोशनी से भर गया । एक उठकर खडा हो गया और अब वह आगे सामने हटकर खडा था । उसने अपने हाथ आगे तक फैला दिए जैसे सर्दी उसकी हड्डियों में घुसी जा रही हो तथा की गंद उस पर चढ गई थी । अब नहीं उठा और वो ऐसी आवाज में बोला जिसमें गहराई होती है और वजन होता है डेक्स उसने कहा तुमने चरवाहों को लूटा । तुमने हल्की रीको काठी से उतारकर गोली मार दी और तुमने एक बच्चे की हत्या कर दी होती है और मैंने अपनी र्की कोर्ट की आज तीन को हरकत में आते देखा फिर ये रुक गयी । वो दीवार पर कुछ बडे गौर से देखते हुए खडा रहा । मैंने दिखाना चाहा कि क्या चीज है लेकिन नहीं उसे नहीं दिखाया । अपनी रविवार के आगे देख रहा था मानो वो चीज आगे खिसक गई हो । और इस पूरे समय डिक्स उस भीषण ठंड से कापता रहा । अंगीठी पर अपने हाथों से देखने और आग में घुस जाने की कशमकश करता रहा । फिर वो पीछे झुक गया । उसकी आंख में अच्छा था और बुरी तरह ठहरा भी हुआ था । यूसी शेर की कर रहा थी, जिसने अपनी को जगह दिया । उसने अपना हाथ उठाया और अपनी उंगलियों को कठोरता से उसके चेहरे पर रखा । फिर उसने इस नई प्राणी पर नजर डाली जो खुशामद पर उतर आया और बहुत घबराया हुआ था । डेक्स उसने कहा, अल कीर एक ईमानदार आदमी था । वो उस परित्यक्त हुए में अपने घोडे के नीचे उतनी ही शांति से सोया हुआ है जैसे वो कब्रिस्तान में सोया होता । मैंने अपना हाथ पीछे खींच लिया है तो जा सकते हो । प्रतिशोध मेरा है । मैं चुकाउंगा । प्रभु का कहना है, लेकिन मैं जाऊंगा किधर? अब नहीं । उसने विलाप किया, मेरे पास कोई पैसा नहीं है, ठंड से मर रहा हूँ । अब नहीं । घर में अपने चमडे के बातें हुई, को निकाला और उसे दरवाजे की तरफ फेंक दिया । उसमें पैसे हैं । उसने कहा था एक सौ डॉलर और ये रहा में रखूँ जब लेकिन अगर मैंने तुझे कल पहाडियों में पाया या अगर कभी तो मुझे मिलेगा तो खुदा की कसम मैं तेरी जान ले लूंगा । मैंने उसको दस्त आदमी को अपनी की कोर्ट में लिपटे हुए और पर्स उठाते हुए तथा दरवाजे से बाहर निकलते देखा और एक्शन के बाद मैंने थोडी की आवाज सुनी तो प्रचार मैं लिहाफ में घुस गया । जब मैं दिन के उजाले में नीचे आया मैंने अपने अंकल अपने को आज के पास पढते हुए पाया नहीं ।

7 - लंदन की आग

लंदन । क्या आपके लिए टेलीफोन है सर? श्री पहुँच बावरी प्रबंध निदेशक ऍम पूंजी दो मिलियन आरंभिक मूल्य एक पाउंड प्रतिशत जो बढकर फिलहाल सत्ताइस पौंड और छह शिलांग पर पहुंचा हुआ है । मैंने पीछे मुडकर बिजली की रोशनी में जगमगाते अपने शानदार ऑफिस में आपने उस विश्वस्त क्लब की ओर चिडचिडे मन से देखा जिसने उन्हें संबोधित किया था । श्री बॉलिंग अपनी आज तीन वाली कमीज पहने हुए एक फ्लोरेंटाइन शीर्षक के सामने अपने बाल काट रहे थे और शायद अपनी उस माँ की तीव्र इच्छा को पूरे करने के बारे में सोच रहे थे जो एक बडे परिवार का पालन पोषण करने में अधिकतर असफल रही है । कौन है ये? उसने पूछा मानो उसके लिए ये मांग डूबते को तिनके का सहारा बन गई हो । शुक्रवार की शाम लगभग सात बजे उसने आगे कहा, शहीद होने का समय मैं समझता हूँ, कोई दोस्त है सर अधेड वित्त प्रबंधक ने अपने सोने का मुलम्मा चढा हुआ भ्रष्ट, थोडा और और एंटल कालीन के घनी ढेर को लांघते हुए वो जल्दी से टेलीफोन कैबिनेट में हो सकता है और दरवाजा बंद कर लिया । चलो उसने ट्रांसमीटर को नमस्कार किया और उससे क्रोधित ना होने का वादा किया । हलो क्या उस तरफ आप हैं हाँ मैं बोल रही हूँ ऍर इसी वार की धीमी अमानवीय आवाज उसके कहन में घर राइट कल मैं दोस्त हूँ, नाम क्या है कोई नाम नहीं । मैंने सोचा आप ये शायद जानना चाहेंगे कि आज रात लॉन्ग स्क्वायर में आपके घर में पक्की एक डकैती होने वाली है । नकदी के लूट और नौ बजे के पहले मेरा विचार था आप जानना चाहेंगे । श्री बायरिंग ने ट्रांसमीटर से कहा पहली बार में एक शेर वेस्ट में बोधक शब्द ही उसके कानों में पडेगी । टेलीफोन कैबिनेट के सीमित गर्म सन्नाटे में प्राप्त संदेश ने उसे अचानक बुरी तरह है बीत कर दिया और वो सोच में पड गया कि उसके द्वारा इलेक्शन रूप से बनाई गई योजना अंतिम क्षण में भी कहीं खटाई में ना पड जाए । क्योंकि उसे नहीं पता कि लंदन के व्यापक वस्तिृत अनजाने क्षेत्र से रहस्यमय तरीके से संदेश भेजने वाला कौन हो सकता है । सब रातों में से वही रात क्या और नौ बजे से पहले क्यों? क्या ये हो सकता है की भेद खुल गया है तो फिर कोई और दिलचस्प विवरण? उसने खुद को धैर्य रखने के लिए तैयार करते हुए सवाल किया लेकिन कोई उत्तर नहीं था । और जब कुछ कठिनाई के बाद उसने टेलीफोन स्टेट की लडकी को वो नंबर बताने के लिए मना किया । जिस नंबर से कॉल आई थी तो उसने पाया कि उसके साथ बातचीत करने वाला ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट में पब्लिक कॉल ऑफिस यानी सार्वजनिक टेलीफोन सेवा केंद्र का इस्तेमाल कर रहा था । वो अपने कक्ष में लौट आया । उसने अपना प्रॉप कोर्ट पहला एक बन दरवाजे से बडा लिफाफा निकाला और उसे अपनी जेब में रखने के बाद कुछ सोच विचार करने के लिए बैठ गया । उस समय श्री ब्रूस बायरिंग नगर में सबसे अधिक प्रसिद्ध चतुर जादूगर में से एक था । दस वर्ष पहले जब उसने शुरुआत की थी तब उसके पास एक रेशमी हैट के अलावा कुछ भी नहीं था और उस हैट में पहले अनगिनत सरकारी मोहरी तथा अविरत लाभांशु की एक दक्षिण अफ्रीकी सोने की खान खूब पला लिमिटेड निकली । फिर हो पाला नंबर दो लिमिटेड सोना उगलने की ऐसी खाये जिसके बुद्ध की जितनी नहीं का उतार थे और फिर चकाचौंध करने वाली खानों और संयुक्त खानों का तांता लग गया है । खुद को जितना खाली करता उतना ही अधिक ये भर जाता हैं और उभरते लक्ष्य जिनमें अब ब्लॉन्ड एस्क्वायर में घर और हैम्पशायर में एक बहुत शानदार स्थान शामिल था । लगातार बडे होते गए और जादूगर पहले से भी अधिक प्रभावशाली तथा पटाने में अधिक माहिर बन गया तथा दर्शकों से अधिक प्रशंसा एवं सराहना मिलने लगी । अंत में एक अद्भुत गर्वोक्ति के साथ और आस तीनों को ऊपर की ओर एक और नया मोड देकर यह दिखाने के नंबर के साथ की कोई दगाबाजी नहीं । हैट में से एक प्रकार का अविश्वसनीय रूप से विशाल यूनियन जाए सी । एम । आई । सी । निकल आया था जिसमें अपनी शानदार ता हूँ में सभी दूसरे लक्ष्य लपेटे हुई थी सीएनआईसी के शेयर का । फिर सर्कस में प्यार से सॉलिड अर्थात टिकाऊ कह रहते थे । कंपनी या कारोबार स्थापना के नाम पर सट्टेबाजी के द्वारा की गई कमाई से वो नियमित लाभांश के जरिए भारी लाभ देते थे । सरकारी स्कूल में भरोसा था और अगले मंगलवार दोपहर को होने वाली शेयर धारकों की वार्षिक सभा को ध्यान में रखते हुए जादूगर कुर्सी में था और उसका ऍम मेज पर मंदी के दौर के बाद शेयरों का बाजार मूल्य कठोर हो गया था । श्री बॉलिंग के चिंतन में एक टेलीग्राम के कारण मुँह पडा । उन्होंने उसे खोला और पढा । कुक ने फिर पीली । साढे सात बजे डेवन शायर में आपके साथ खनक होंगी, यहाँ मुमकिन नहीं । सामान ठीक ठाक कर दिया है । मेरी मेरी श्री बायरिंग की पत्नी थी । उसने अपने आप से कहा कि उस तार से उसे बडी राहत मिली है । उसने वो तार मुट्ठी में जकड लिया और उसका हौसला बढ गया । बहरहाल चुकी अब उसे लॉर्डस स्क्वायर के समीप नहीं जाना होगा तो निश्चित रूप से डकैती की धमकी पर खुलकर हर सकता था । उसने सोचा तो विधाता भी आखिरकार क्या अद्भुत चीज है । जरा इस पर नजर डालो । उसने परिहास समय दिखावटी निराशा के साथ वो तार अर्थात टेलीग्राम दिखाते हुए अपनी क्लर्क से कहा । क्लर्क ने अय्याश एवं लंपट बावर्चियों द्वारा उत्पीडित आपने नियुक्त थक के प्रति चतुराई से सहानुभूति दर्शाते हुए कहा मैं समझता हूँ कि आप आज रात हमेशा की तरह पुराने हैम्पशायर जा रही है । सर श्रीमान बॉलिंग ने जवाब दिया कि वह सच में वहीं जा रहा है और मुलाकात के लिए सब कुछ इंतजाम हो गया लगता है और ये भी कि सोमवार दोपहर तक अथवा अधिक से अधिक मंगलवार को सुबह तो जल्दी ही वापस लौट आएगा । फिर जाते जाते कुछ हिदायतें देने और अपने निजी कमरे तथा चारों तरफ की कमरों में गिद्धदृष्टि डालने के बाद जो वास्तव में कुशल प्रशासक कामकाज के सिलसिले में सप्ताहांत के लिए जाने से पहले करना कभी नहीं भूलता । श्री बायरिंग ने गंभीरतापूर्वक फिर भी शानदार तरीके से सी । एम आई सी के पंजीकृत कार्यालयों से प्रस्थान किया हूँ । मेरी नहीं लिख कर भेजने के बजाय टेलीफोन क्यों नहीं किया वो सोच में पड गया । जैसे ही उसके दो घोडों की बग्घी के कोच वालों ने चाबुक घुमाया और उसका वर्दीधारी सेवक पायदान पर सावधान की मुद्रा में खडा हो गया । श्रीबाबू रिंग के शानदार सवारी चल पडी डाॅलर की होगी डाॅ । फॉस्टर एवं डिक्सी शैली में निर्मित एक ग्यारह मंजिला चमक दारे मार जिसका निर्माण संबंधी लो ही का काम हॉफमैन द्वारा किया गया है । लिफ्ट लगाने का काम वी गुरुद्वारा सजावट का काम वेयरिंग द्वारा तथा पक्की मिट्टी की मूर्तियां लगाने का काम रूट द्वारा किया गया है । हाईड पार्क के किनारे पर स्थित है इस की नींव पक्की तौर पर ट्यूब रेलवे में जुडी हुई है । इसके ऊपर शराब के भंडार है फिर विशाल लॉंड्री और उसके बाद सडक की मुश्किल से मेल खाती खिडकियों की एक कतार यानी सपोर्टिंग एक दुसरे लूँ और एक सिगरेट व्यापारी है जिसका नाम ऑफर्स है । प्रथम तल पर डाॅलर मेंशन रेस्ट है । लंदन में हमेशा एक ऐसा इस तरह अवश्य होता है जहाँ यदि आप पूर्ण दया एक सही व्यक्ति हैं । आपको एक बढिया भोजन मिल सकता है । मौसम यानि सीजन बदलने के साथ साथ स्थान भी बदल जाता है । लेकिन कभी भी एक से अधिक नहीं मिलेगा वो सीजन इस बार डाॅलर होना था । डाॅलर के शेफ अर्थात मुख्य खान सामान्य, घटिया निशा हार इजात किया था । प्राइस डाला मोदी गए और ये रात्रि भोग सात फॅालोइंग प्रति व्यक्ति की दर से खाने वालों के बीच तीव्र लालसा का विषय बन गए थे । परिणाम कहा सर्वथा सभी सही लोग बहुजन करने दे वेंचर आने लगेगी क्योंकि इसकी समान अच्छा कोई दूसरा स्थान नहीं था जहां हो जाते हैं । रेस तरह इतना अधिक लोकप्रिय हुआ कि रेस्तरां के ऊपर नौ मंजिल तक सभी सुसज्जित कमरे हमेशा मेरे रहने लगे और सबसे ऊपर बनी कोठरियां जहाँ रहता कि नौकर चाकर अपनी भडकीली पोशाक उतारते और मनुष्य बन जाते हैं, बहुत धनवान हो रही थी । रेस तरह के चलन का एक लाभकारी प्रभाव किटकैट क्लब की प्रतिष्ठा पर भी पडा जो नवीनतम शैली का एक मुर्गा मुर्गी क्लब अर्थात प्रेमी जोडों के मिलने का स्थान था और उसकी सराय तीसरी टर्न पर थी । साढे सात बजे से कुछ ऊपर का समय था जब श्री रूस बढ रही इस वैभवशाली समागम भवन की सीढियां चढकर आए और शिखर पर विशाल अंगेठी के निकट एक्शन के लिए रुक गए । सितंबर में मौसम नहीं था और आग अच्छी चल रही थी । वो फॅसे पूछना चाहते थे कि क्या श्रीमती बॉलिंग ने कोई टेबल बुक कराई थी लेकिन मेरी नहीं पहुंची थी मेरी जो कभी लेट नहीं होती थी । बेचैन और चिडचिडी श्री बहुत उनको है । ट्विटर चमचमाती विशाल कक्ष साल उॅगली गया जहाँ उन्होंने अपनी सुबह की पोशाक के कारण एक ऐसी चीज चुनी जो सुलेमानी पत्थर के हमले के पीछे आधी छुपी हुई थी । महीने के बावजूद बडे हॉल में सुन्दर स्त्रियां तथा उन पर अपना अधिकार समझने वाले पुरुष काफी भरे पडे थे । कुछ ही देर के बाद एक तरुण युवा केवल युवती का जोडा आदमी के साथ आई औरत की अपेक्षा अधिक सुंदर और बेहतर कपडों में था, वहां पहुंचा और खम्बे की दूसरी तरफ की मेज पर बैठ गए । श्री बायरिंग में पांच मिनट इंतजार किया फिर सोल मॉल रहे तथा रोमेनी कौन टी की बोतल लाने के लिए कहा और उसके पांच मिनट का इंतजार और क्या उन्हें अपनी पत्नी के बारे में कुछ आशंका होने लगे और पत्नी के बिना शुरुआत करने की उन्हें इच्छा नहीं हुई हूँ । क्या तुम पढ नहीं सकती? ये वही तरुण युवक था जो अगली मेज पर बैठा था और अपने हाथ में टेलीग्राम लिए तेज आवाज में भैंगी नजर वाले लम्बे पतले आदमी को कह रहा था ॅ मेरे दो बच्चे कॉलेज किसी भी कीमत पर कल सोमवार समझ गया थी । चलता काॅल बिल्कुल ठीक मेरे वाले उस लंबू ने कहा और भाग गया । उस जवान लडकी ने श्री बाउलिंग पर नजर गडाई लेकिन अन्य मान सकता से लगता था जैसे कि वो श्री बहुत को तार रहा होगा उनके पीछे के परिंदे कुछ देखने के बाहर । श्री बोरिंग का चेहरा अपनी ही तीखी खीच के कारण लाल हो गया । कुछ तो नहीं कुछ पाने की खातिर और कुछ इसलिए क्योंकि पौने आठ बज रहे थे और ट्रेन पकडनी थी । उसने अपना चेहरा झुका लिया और मछली खाने लगा । कुछ मिनट बाद लंबू लौट आया । उसने कुछ रेजगारी तरुण युवक को दी और श्री बॉरिंग की ओर कदम बढाकर तथा एक लिफाफा उनको थमाकर उन्हें अचरज में डाल दिया । उस ने फांसी फ्लैट पर किटकैट क्लब लिखा था । लिफाफे के अंदर पर्ची पर उनकी पत्नी ने पैसों से कुछ लिखा हुआ था जो इस प्रकार था अभी अभी पहुंचे सामान के कारण देर हो गयी । मेरे इस तरह में आने से घबरा रही है और यहाँ अकेले एक चौक यानी बोटी खा रही हैं । सौभाग्य से स्थान खाली है । तैयार होते ही आकर मुझे ले जाओ । श्री बहुरंग ने गुस्से में वहाँ भरेंगे । उन्हें अपनी पत्नी की क्लब से नफरत थी और एक के बाद एक संदेश टेलीफोन द्वारा तार द्वारा हाथ के लिखे संदेश द्वारा मिलने से उनका मिजाज बिगड गया था । कोई जवाब नहीं । वो ऐसा बोल उठे और फिर उन्होंने लम्बे को पास आने का इशारा किया । अगली मेज पर वह सज्जन कौन है? एक महिला के साथ उन्होंने धीरे से पूछा खुद ही कुछ नहीं पता सर उसका जवाब कुछ लोग कहते हैं कि वह रिपोर्ट रूम में एक दबंग अधिकारी हैं जबकि दूसरों का कहना है कि वो अमेरिका का कोई अमीर आदमी है लेकिन तुमने उसे मेरे मालिक कहकर पुकारा । उसी समय मुझे ध्यान आया कि वह दबंग आदमी है सर नमूने जाते जाते कहा मेरा बिल श्री बॉरिंग ने क्रोधवश में वेटर से मांग की और उसी समय वह जवान युवक और उसके साथ आई युवती भी खडे हुए और चले गए लिफ्ट में श्री बायरिंग को वहीं लंबू लिफ्ट का संचालन करते मिला । तुम लिफ्टमैन भी हो आज रात सर मैं बडे सारे काम करता हूँ । वास्तव में नियमित लिफ्टमैन दो चार घंटे की छुट्टी लेकर गया है । वो हाल ही में जुडवा बच्चों का बाप बना है । ठीक है ऍम लिफ्ट तेजी से बहुत ऊपर जाने लगी और श्री बावरी ने सोचा कि लंबू चाइन सही फ्लोर भूल गया है । लेकिन कॉरिडोर आते ही अपने सामने उन्हें सदर दरवाजों के पार वो दिल खुश संकेत पट नजर आ गया जिस पर लिखा था किटकैट क्लब केवल सदस्य । उन्होंने दरवाजे को धक्का देकर खोला और अंदर चले गए । अपनी पत्नी के क्लब के जाने पहचाने दालान के बजाय श्री बॉलिंग ने एक छोटा बाहरी दालान पाया और उसके पर एक चिक से आधे ढके द्वार मार्ग में से उन्हें शानदार गुलाबी बत्तियों से रोशन डाइनिंग रूम की झलक मिलेगी । द्वार मार्ग में एक हाथ चिक की तरफ उठाये हुए वही तरुण युवक खडा था जिसमें उन्हें रेस्तरां में जीतने के लिए बाध्य कर दिया था । शमा करें श्री बाउलिंग ने एंड दिखाते हुए कहा क्या यही किटकैट क्लब है? दूसरा आदमी बाहरी दरवाजे की तरफ बढ गया । उसकी चमकती होशियार अंक है । श्री बॉरिंग पर गडी हुई थी । उसकी भुजा दरवाजे के पल्ली के इर्द गिर्द असर की और सोने का चेन दिखाते हुए वापस आ गई । फिर उसने दरवाजा बंद करके बताना लगा दिया नहीं ये ऍम बिल्कुल रही । उसने जवाब दिया ये मेरा फ्लैट है । आइए और बैठे मैं आप के आने की प्रतीक्षा कर रहा था । मैं ऐसा कुछ भी नहीं करूंगा । श्री बाउलिंग ने उपेक्षा से कहा लेकिन जब मैं आपको बताऊंगा कि आज रात आप रफूचक्कर होने जा रहे हैं तो होते हैं वो जवान आदमी शालीनता से मुस्कुराया रफ्फूचक्कर वित्त प्रबंधक कि रीड अचानक कमजोर पड गई । मैंने इस शब्द का इस्तेमाल किया आखिर तुम हो । श्री बावरी ने अपनी रीड को पढाते हुए तलाक से कहा मैं वही टेलीफोन वाला दोस्त हूँ । मैं आज रात आपको विशेष रूप से दे वेंचर में देखना चाहता था और मैंने सोचा कि डॉक्टर स्क्वायर में डकैती की आशंका से आपको यहाँ ना अधिक निश्चित हो जाएगा । मैं ही हूँ जिसने शराब में डूबे बावर्ची की कहानी बनाएंगे और आपको मेरी के दस्तखत से एक तार भिजवाया । मैं ही वह दिल्लगी बात हूँ जिसमें एक रोटी आबाद में फॅस बेचने की हिदायत थे । तार द्वारा भेजने का नाटक किया क्योंकि मैं आपके व्यवहार को पर रखना चाहता था । मैंने ही पर्ची में किटकैट से आपकी पत्नी के दस्तखत की नकल की थी । मैं ही स्तर की आंखों वाले घरेलू नौकर का संरक्षक हूँ जिसने आपको वो पर्ची दी और जो आपको लिफ्ट में बहुत ऊपर ले गया था । मैं ही सोने के निशान का शिल्पकार हूँ । इसमें दो तल नीचे प्रदर्शित वास्तविक निशान की हूँ, बहु नकल की और जिस निशान ने आपको मुझसे मिलने के लिए प्रेरित किया । सर्विस प्रतीक के लिए मुझे नौ पाउंड और छह शिलिंग चुकाने पर नौकर की वर्दी दो कौन से अधिक कीमत में आई लेकिन मैं कभी खर्चे पर ध्यान नहीं देता हूँ । जब किसी उदाहर विनियोग के बल पर मैं हिंसा का परिहार कर सकता हूँ । मुझे हिंसा से नफरत है । उसने नाम बता से वो निशान इधर उधर लहराया । फिर मेरी पत्नी श्री बॉरिंग धमकी भरे अंदाज से आवेश में सप्लाई शायद लॉर्डेस कोयर में है । सोच रही होंगी कि आखिर तुमको हुआ क्या है? श्री बहुत सिंह ने सांस भरी । उन्होंने धीरे से कहा तुरंत ये दरवाजा खोलो, शायद अजनबी नहीं ईमानदारी से स्वीकार किया । शायद इस प्रकार का पागलपन ही है । लेकिन फिर भी आइए और बैठिये । हमारे पास खोने के लिए कोई समय नहीं है । श्री बॉलिंग ने उस खूबसूरत चेहरे को घूरकर देखा । सुंदर नथूने बडा हूँ और चौरस सुगर, थोडी काली काली आंखे काले बाल और लम्बी काली मुझे और उन्होंने उसके लंबे पतली हाथों पर भी गौर किया । पत्र उन्होंने तय किया । फिर भी यद्दपि ये किसी पागल की सडक में शामिल होने के बराबर था । उन्होंने वास्तव में उस अजनबी का अनुरोध मान क्या ये खूबसूरत चिम पंडेल ड्राइंग रूम था जिसमें वो दाखिल हुए? अग्निकुंड में हल्की हल्की सुर्ख आग चल रही थी । उसके पास दो आराम कुर्सी हाँ पडी थी और उनके बीच एक मेज थी पीछे एक विस्तृत चौगुना नक्शा था । मैं तुमको सिर्फ पांच मिनट दे सकता हूँ । श्री बायरिंग ने दंडनायक की भर्ती बैठते हुए कहा इतना समय पर्याप्त होगा । अजनबी ने भी बैठे हुए जवाब दिया आप अपनी जेब में बॉलिंग बहुत हैं । शायद अपनी सीने वाली जेब में बैंक ऑफ इंग्लैंड के एक एक हजार पाउंड के पचास नोट रखे हुए हैं और को छोटे नोट में जो कुल मिलाकर दस हजार के आस पास की राशि होगी अच्छा मैं आपसे पहले वाले पचास मांगता हूँ । श्री बायरिंग ने गुलाबी रोशनी वाले ड्राइंग रूम की खामोशी में समस्त डेवेन सर मेंशन और उसके अंतहीन गलियारों तथा अनगिनत काम रुक लम्बे चौडे ढेरों कालीन हूँ फर्नीचर के हम बाहर सोने, चांदी और यही हो तथा विविध प्रकार की मदिरा, उसकी सुंदर आकर्षक महिलाओं तथा उन पर अपना हक समझने वाले पुरुषों के बारे में सोच विचार क्या ये सारा गुंजार करने वाला शूद्र जगत एक ऐसे मध्य के की नींव पर खडा था की संपत्ति की पवित्रता एक नैसर्गिक नियम है और उन्होंने सोचा कितनी गडबड और पवित्रता एक नैसर्गिक नियम है और उन्होंने सोचा की कितनी गडबड और भ्रांति जान की योजना थी । क्यों उन्हें बहुत बडे मिथ्या आडंबर के बीचोंबीच निरुपाय जाल में फंसा लिया जाए और फिर ये स्वीकार करने के लिए बाध्य कर दिया जाए की संपत्ति की पवित्रता हूँ अथवा परंपरानुरूप खोलता एकदम अस्वभाविक अथवा वास्तविक रखा है । दिखा तुम किस अधिकार से मांग कर रहे हो? उन्होंने हिम्मत से कटाक्ष करते हुए पूछा अपनी असाधारण जानकारी के अधिकार उस अजनबी ने एक दम्पति मुस्कान के साथ कहा हो केवल आप और मैं जानते हैं वो बात सुनो आप अकड के अंतिम छोर पर है । कंसोलीडेटेड यानी संसद क्या हुआ उसी जगह है । पिछले दिनों आपने मुख्य रहा उन्नीस फर्जी कारोबार चल आए हैं । आपने उधार ली गई निवेश पूंजी में से तब तक जवान चुकाया जब तक पूंजी पूरी तरह चुप नहीं गई । आपने सट्टेबाजी की और गवा बैठे । आपने फायदा दिखाने के लिए नकली बैलेंस शीट बनाई और ड्रेस की आंखों में धूल झोंकने का काम किया । आपने दस राजाओ जैसी जिंदगी बताई है । आपके घर गिरवी रखे हुए हैं । आपके पास बिना रसीद के बिलों का अनूठा भंडार है । आप एक साधारण चोर से बहुत अधिक बुरे हैं । मेरे प्यारे भलेसर श्री बॉलिंग को बडप्पन दिखाते हुए तो कर मुझे अनुमति दें और भी अधिक गंभीर बात तो ये है कि आपका आत्मविश्वास धीरे धीरे आपसे दूर भाग रहा है । अंत में ये अनुभव करते हुए कि कोई भारी गडबड करने वाला आदमी आपके आडंबरपूर्ण कमजोर कच्चे खोलने अपना पाव डालेगा और आप पैरो तले कुछ न होते हुए भी चल पडेंगे और मुख्य था खोखले रास्ते वो बोलोगे के आधार पर अपने लिए एक तत्काल भविष्य की पूर्वकल्पना सामने रखकर आपने आपने आसाधारण प्रतिभा का इस्तेमाल करके सी एमआईसी शेयरों पर सप्ताह के लिए साठ हजार पाउंड का कर्ज उठा लिया और आपने बंदोबस्त कर लिया । आपने और आपकी पत्नी ने बाहर ही हवा में घुल जाने के लिए आप हमेशा की तरह है । हम शहर में अपने देहाती स्थान के लिए प्रस्थान करने की इच्छा पाले हुए होंगे । लेकिन ये साउथंपटन है जो आज रात आपको देखेगा और है । अगर आपको कल देखेगा और आप कुछ नोट बदलने के लिए पैरिस जा सकते हैं लेकिन सोमवार तक फिर अपने रास्ते पर होंगे । सच मैं मुझे पता नहीं किस दिशा की ओर शायद मोंटेविडियो देशक आप प्रत्यपर्ण का जोखिम उठाते हैं लेकिन ये जोखिम उस निश्चितता से बेहतर है जो इंग्लैंड में आपकी प्रतीक्षा कर रही है । मैं समझता हूँ प्रत्यपर्ण से बच निकलेंगे । अगर मैंने दूसरे तरीके से सोचा होता तो मुझे आज रात आपको यहाँ नहीं बुलवाना चाहिए था क्योंकि एक बार प्रत्यर्पित कर दिया गया है तो आप मेरे बारे में बात करके अपना मनबहलाव करने लगेंगे । ये तो ब्लैक मेल है । श्री बॉरिंग ने दुखी मन से कहा उनके सामने वालों की काली आंखे खुशी से जमा कोठी ये बात मुझे दुःखी करती है । उस युवक ने कहा था की आपको केवल दस हजार के साथ कष्ट रहने के लिए छोड दिया जाए । लेकिन आपके दिलचस्प स्थिति का मैंने अध्ययन करने में जितना मगज खपाया उसका बदला पचास हजार से कम में पूरा नहीं होगा । श्री बहुरंग ने अपनी घडी देखेंगे आओ उन्होंने भर्राए स्वर में कहा मैं तुमको दस हजार दे दूंगा । मैं इस बात से फूला नहीं समाता के मैं तुम्हारे चेहरे में सच्चाई देख सकता हूँ और इसी कारण मैं तुमको दस हजार देने के लिए तैयार हूँ । मेरे दो लडका बोला आप चरित्र के निर्णायक हैं क्या आप ईमानदारी से सोचते हैं कि मेरा मतलब ठीक वो नहीं होता है तो मैं कहता हूँ छह ऍम अब साढे आठ का समय है आप अगर मुझे कहने की अनुमति दें बहुत सही जा रहे हैं और मान लो मैं देने से मना कर दूँ । श्री बाउलिंग ने दोबारा सोचने के बाद कहा फिर क्या मैं आपके सामने का बोल कर चुका हूँ की मुझे हिंसा पसंद नहीं । अतः आप इस कमरे से सही सलामत बिना सफाई निकल जाएंगे लेकिन अब टापू के बाहर कदम नहीं रख पाएंगे । श्री बोरिंग ने अजनबी की मानने योग के खास बात पर गौर किया फिर जिस समय लिफ्ट ऊपर नीचे जा रही थी और ग्लासों में शराब चमक रही थी खीरे जवारा जडे आभूषण नमक रहे थे और सोना खनक रहा था और खूबसूरत और तो से भरा डाॅलर खुशी के माहौल में डूबा हुआ था । उसी समय श्री ब्रूस बॉलिंग ने एकदम शांत प्राइवेट कमरे में पचास नोट गिनकर टेबल पर रखती आखिरकार तिरमिजी रंग की पॉलिस चमचमाती टेबल पर पडा । सफेद नोटों का छोटा साढे छप्पर फाडकर मिली । समृद्धि ही तो था शुभयात्रा । अजनबी ने कहा ऐसा मत सोचना के मेरा दिल आपके लिए सहानुभूति से भरा हुआ नहीं है । मेरी पूरी सहानुभूति है । आपकी किस्मत खराब है । चलिए शुभयात्रा नहीं ऊपर वाले की कर सकते । श्री बाउलिंग दरवाजे से पीछे की तरफ दौडते हुए और पैंट के पीछे वाली जेब से कर रहे बॉल पर निकालकर लगभग चीखते हुए बोले ये बहुत हो गया । मैं तकलीफ देना नहीं चाहता हूँ लेकिन इसमें उलझन में डाल दिया । रिवॉल्वर है किस लिए तो युवक झट से कूदा और उसने अपने हाथ नोटों पर रखती । हिंसा हमेशा मूर्खता दर्शाती है । श्रीमान बढ रही है । उसने बडबडा कर कहा तो मैं छोडोगे या नहीं मैं नहीं छोडूंगा । इस नाटक में अजनबी की सुंदर आंखों में खुशी की झलक प्रतीत हुई । फिर रिवॉल्वर उन्होंने जैसे ही ऊपर उठाई उसी क्षण एक नन्ही हाथ में उसे श्री बॉलिंग के हाथ से छीन लिया । पीछे मुडे और देखा कि उसकी बगल में एक औरत है बडा विशाल पडता धीरे धीरे और बिना कोई आवाज किए फर्श में डूब गया और देखा इस तरह गिरना बडा आश्चर्यजनक था तथा अन्य पदों की अपेक्षा अनूठा थी । श्री बोरिंग अधिक कारण एक सही अपराधी । मुझे अंदाजा हो जाना चाहिए था उत्तर अस्कार इवन क्रोध में पढ बनाए । वो दरवाजे की तरफ दौडी, उसे खोना और फिर कभी नजर नहीं आए । महिला की उम्र सत्ताईस वर्ष के आसपास रही होगी । मध्यम कद और छरहरे बदन एक साफ सुथरी, बहुत समझदार एवं बुद्धिमान और अभी व्यंजक चेहरे वाली इस महिला में साहस नमक था । उसकी आंखों का रंग पूरा था और उसके बहुत घनी कोमल बार बिखरे हुये थे । जैसे ही उसने पिस्तौल झटक कर गिराई शायद दे । घने घुंघराले बालों का कमाल था या शायद सहसा फडक उठे उस मुक्का उन कह सकता है । लेकिन गुलाबी रोशनी वाले कमरे में पूरा माहौल अचानक बदल गया । माहौल में अनिश्चितता समा गयी थी तो चकित लग रही हूँ । ॅ बैंक नोटों को कब्जे में लेने वाले नहीं, खुशी से हसते हुए कहा अचंभित । उस को नियंत्रित करते हुए महिला ने दोहराया माय डीएसवी थौल । जब मैंने सिर्फ एक पत्रकार की हैसियत से आप का निमंत्रण स्वीकार किया तब मैंने बाद के सिलसिले की कल्पना नहीं की थी । सच में ऐसा सोचा नहीं था मैंने उसने ये सोच कर के पत्रकार को काम के दौरान सेक्स के चक्कर में नहीं पडना चाहिए । शांति वन संगत रूप से बोलने की चेष्टा लेकिन उसी समय वो ना तो किसी औरत से कम रही और ना किसी औरत से ज्यादा हो तो हमेशा औरत रहती है अगर मैं इतना बदकिस्मत होता कि तुमको खेल जा सकता था ऍम प्यार की भूखी रसिक की भर्ती अपनी बही उछालीं खेल जाना सही शब्द नहीं है । मिस ऍम घबराहट भरी मुस्कान के साथ कहा हूँ क्या मैं बैठ सकती हूँ । अब विस्तार से सुने आप छह मिलियन डॉलर के लगभग धनसंपत्ति छोडकर स्वर्गवासी हुए न्यूयॉर्क ऑपरेटर आॅइल के पुत्र और उत्तराधिकारी के रूप में किसी जगह से फॅमिली आई । पता लगा कि जब आपको वसंत ऋतु में अल्जियर्स में थे, आप होटल्स ऍप्स में ठहरे थे जो ऍम मिस्ट्री कहलाने वाला घटना के लिए प्रसिद्ध है और जिसके बारे में अंग्रेजी अखबार पढने वालों को पिछले अप्रैल से जानकारी है । इसीलिए मेरी पत्रिका के संपादक ने आपसे साक्षात्कार करने के लिए कहा है । मैं उसे सिलसिले में आई हो । पहली बात जिस पर मैंने गौर किया यह है कि एक अमेरिकी होने के बावजूद आपका लहजा अमेरिकी नहीं । इसके बारे में आप ये सफाई देते हैं कि आप बाल्यकाल से ही अपनी माँ के साथ हमेशा यूरोप में रहे हैं । लेकिन निश्चय ही हाँ संदेह नहीं करेंगे कि मैं सफल थेरॉन हूँ । उस आदमी ने कहा हूँ उनके चेहरे मेज के ऊपर बहुत पास पास थे, सचमुच नहीं । मैं शुरू से केवल दोहरा रही हैं । मैं आपसे अल्जीरिया की रहस्यमयी घटना के बारे में बात करूंगी और उससे संबंधित कुछ खास बातें जानना चाहूंगी । फिर आप चाय के साथ साथ अपने विचारों से मुझे प्रसन्न करें और मेरे तब अधिक व्यक्तिगत होते जाएंगे तो हम उसी विषय पर आते हैं और केवल अपने समाचार पत्र की तरफ से मैं जानना चाहती हूँ कि आपके मनोरंजन क्या क्या है? मेरे मनोरंजन आज रात खाने पर आइए बिलकुल अनौपचारिक रूप से और मैं आपको दिखाऊंगा की मैं ऐसे अपना मन बहला हूँ करता हूँ मैं आती हूँ खाना खाती हूँ । मुझे उस पर्दे के पीछे रोक लिया जाता है और सुनने के लिए कहा जाता है और वह करोडपति मेरा ब्लॅक आप को समझना चाहिए । फॅमिली मैं सब कुछ समझती हूँ । आॅफिशयल में मुझे शामिल करने के आप के उद्देश्य को छोड कर एक बहन फिर और जोश से ठीक घर मेरे एक सडक सम्भवता हस तरीके सामने दिखावा करने के लिए मनुष्य की चिरंतन और सामान्य अच्छा के कारण पत्रकार ने मुस्कुराने की चेष्ठा की लेकिन उसके चेहरे पर कुछ देखकर थाएरॉइड को एक सज्जन अलमारी की तरफ दौडना पड गया । इसे भी हो एक ग्लास के साथ वापस आकर उसने कहा मुझे कुछ नहीं चाहिए । आवाज बडी धीमी थी, मुझ पर उपकार करें । नॅशनल ने उसे पी लिया और खांसी आपने ये क्यों किया? उसने नोटों पर नजर डालकर दुख जताते हुए पूछा, आपके कहने का मतलब ये तो नहीं है । राहुल भडक उठा आपको श्री रोज बॉलिंग के लिए दुख का अनुभव हो रहा है । उसने चुराए हुए धन में से ही ये रकम छोडी है और जिन लोगों का धन उसने चुराया उनका भी चुरा हुआ था । स्टॉक एक्सचेंज के आस पास होने वाली सभी गतिविधियां एक ही मूल प्रवृत्ति कि सिर्फ विविध अभिव्यक्तियां होती है । मान लो मैंने दखल नहीं दिया हो तक किसी की भी जेब में एक कौडी ज्यादा नहीं रह गई होती । सिवाय श्री एवरेज ब्राउन कीजिए थी यहाँ पे क्या आपकी राशि ॅ को वापस देने का इरादा रखते हैं । उस दिन का सुनने उत्सुकता से कहा बिल्कुल नहीं फॅस के योग्य नहीं है । आपको ये नहीं समझना चाहिए । किसके शेयर होल्डर कोई भोले भाले मेम ने हैं, खेल के जानकार हैं । उन्होंने उसी में हाथ डाला जो हासिल कर सकते थे । इसके अलावा मैं खुद को दिए बिना धन कैसे बता देता हूँ? मुझे अपने लिए पैसा चाहिए, लेकिन आप तो एक लगती है । मैं धनि आदमी हूँ और इसीलिए मैं और अधिक धन पाना चाहता हूँ । सारे लखपति ऐसे ही होते । एक चोर नहीं मैं वो सीधी कार्रवाई करता हूँ । मैं बिचौलियों से बचता हूँ । रात्रि भोज पाॅल । आपने संपत्ति विभाग और बुड्ढी की श्रेष्ठा के बारे में किंचित आधुनिक विचार व्यक्त किए । आप ने कहा कि लेबल और नाम एवं पद बताने वाले मिलने अधिकतर मूर्खों के लिए होते हैं और ये भी कि बुद्धिमान अल्पसंख्यक वर्ग लेवल के पीछे के विचारों की जांच करता है तो मुझ पर एक चोर का ठप्पा लगा सकती हूँ । लेकिन अगर विचार की जांच करोगी तो हो सकता है तो खुद को भी चोट समझने लगा । आपका अखबार रोजाना शहर के बारे में सच कुछ पाता है और ये ऐसा करता है जीवित रहने के लिए । दूसरे शब्दों में ये पिच को स्पर्श करता है, खेल में भाग लेता है । आज के अखबार में कौन सा डेटेड की झूठी बैलेंस शीट का पचास पंक्ति का एक विज्ञापन हैं । दो शिलिंग प्रति पंक्ति की डर से वो पांच पैंट एक बडे शहर की लूट का हिस्सा है । इस दोपहर हमारी भेंटवार्ता से संबंधित आपकी रिपोर्ट के लिए भुगतान करने के काम आएंगे । इन शब्दों को सुनकर वो उठ खडी हुई और जैसे ही सोशल फॅमिली उसके चेहरे को ताकत उसका चेहरा बदल गया । नहीं ये काम ना करूँ । उसने धीरे से कहा इस शाम आपके साथ का सुख पानी में मैं वंचित रह गया । अगर आपने ऐसा किया होता तो यहाँ आप की लाश पडी होती । मूॅग कर जवाब दिया और उसका सफेद चेहरा देखकर उसने पिस्तौल को हाथ लगाया । क्या आप पहले ही भूल गई है? उस ने कटाक्ष किया, निर्देशक ये भरी हुई नहीं थी । उसमें कहा था सच में है मुझे दिन में पहले उसे देख लेना चाहिए था । मैं कोई ऐसा अनाडी नहीं तो फिर मैंने आपकी जान नहीं बचाई । आप मुझे ये कहने के लिए विवश कर रही हैं कि आपने जान नहीं बचाई और आप मुझसे आपको ये याद दिलाने की भी उम्मीद करती है कि आपने परदे के पीछे से बाहर ना आने का मुझसे वादा किया था । युवती उद्देश्य को देख कर मैं उस स्कूल के लिए आपको केवल धन्यवाद कह सकता हूँ । लेकिन खेद की बात ये है कि वो भूल निराशाजनक रूप से आपके पक्ष में जाती है । मेरे मुस्लिम कसम ने चीखते हुए पूछा हाँ क्या देख नहीं सकते कि आपस में शामिल हैं इस लूटने इस खान को एक ठप्पा एक नाम देने के लिए आप उस लुटेरे के साथ खेली थी आपने एक संकट के समय लुटेरे की मदद की से अपराधी श्री बॉलिंग ने स्वयं ता मेरे प्रिय पत्रकार स्टॉल कांड । हालांकि पिस्तौल खाली थी, आपका हो बंद कर देता है । ऍम एज पर हाथ टिकाकर झुके हुए जोर जोर से हंसने लगीं जैसे उसे हंसी का दौरा पडा होगा, हूँ लखपति महाशय उसने तेजी से बोलना शुरू किया । आप नई पत्रकारिता के बारे में कुछ नहीं जानते जो मेरा पेशा है । आपको इसके बारे में अधिक जानकारी होती अगर आप न्यूयॉर्क में अधिक समय रहे होते । मुझे अभी बस इतना ही कहना है कि मामला रफा दफा हुआ क्या ना हुआ हूँ । इस मामले का पूरा विवरण कल सुबह मेरे अखबार में सबके सामने होगा नहीं । पुलिस को खबर नहीं करूंगी । मैं केवल पत्रकार हूँ लेकिन एक पत्रकार हूँ मैं और आपका वादा जो आपने परदे के पीछे आने से पहले मुझे क्या था आपका पुननिर्वाचन की आप कोई पर्दाफाश नहीं करेंगे । मैं इसका जिक्र करना नहीं चाहता था । कुछ वादों को तोडना थेरॉन महोदय, फौज बन जाता है और इस वादे को तोडना नहीं कर सकते हैं । मैंने ये वादा कभी नहीं किया होता अगर मुझे जरा भी अनुमान होता कि आप किस प्रकार के मनोरंजन का शौक रखते हैं । ऍम भी मंद मंद मुस्कुरा रहा था । असलियत में आप जानती वो बढ बढाया । ये मामला थोडा थोडा गंभीर होता जा रहा है । ये बहुत ही गंभीर मामला है । उसने हकलाते हुए कहा । और फिर हेरॉल्ड ने देखा कि नई पत्रकार हल्के हल्के हो रही है । दरवाजा खुला फॅस भूतपूर्व लिफ्टमैन ने पुकारा जो सादा कपडों में था और रहस्यमय ढंग से उसका भेंगापन गायब हो गया था । एक सुंदर लडकी जो असाधारण रूप से चिंता शक थी और इस बात को बखूबी समझती थी । व्यग्रता से दौड कर कमरे में गई और उसने माॅडल को हाथ से पकड लिया । मेरी सबसे प्यारी की तो हो रही हो बात क्या है? लेकिन है रोल नहीं तरफ नौकर से कहा, मैंने तो मैं कहा था कि किसी को भी अंदर बताने देना । वो सुंदर लडकी तेजी से थे रॉड की तरफ थोडी मैंने ही उसे कहा की मैं अंदर जाना चाहती हूँ । उसने अपनी यहाँ की आधी बंद कर हेंकडी से कहा ये सर लेकिन कहा यही बात थी ये महिला अंदर जाना चाहती थी । थरोल ने सिर झुकाया ये काफी था । उसने कहा इससे कम हो जाएगा ऍम लेकिन मेरा कहना है लेकिन जब तुम अगली बार आम लोगों के बीच मुझे संबोधित करो तो याद रखने की कोशिश करना कि मैं अभिजात वर्ग में नहीं हूँ । नौ करने से तिरछी नजर से देखा । निश्चित रूप से सर और चलता बना । अब हम अकेले हैं । फॅसने कहा हम लोगों को परिच्छेद हो ईव और तफ्सील समझाओ । आत्मविश्वास पुनः प्राप्त कर लेने के बाद माॅडल ने अपनी सहेली कर रेजेंसी थियेटर की चमकदार एवं प्रतिभाशाली अभिनेत्री के रूप में परिचय दिया और अपनी जान पहचान के व्यक्ति को लखपति बतलाया । ये आप के बारे में कुछ दुविधा थी । अभिनेत्री ने कहा, और इसीलिए हमने प्रबंध किया कि अगर नौ बजे तक मेरे फ्लैट में तस्वीर नहीं लाये तो मुझे नीचे आना होगा और जांच पडताल करनी होगी । आप ऐसा क्या करते रहे कि रोने लगी? इरादत कुछ भी नहीं मैं आपको विश्वास दिलाता हूं ऍम कहना शुरू किया हूँ आप दोनों के बीच कुछ है की टीम फॅसने अत्यधिक चतुरता से विशेष लहजे में कहा वो क्या वो बैठ कर उसने अपना हेल्थ हुआ, अपना सफेद गाउन ठीक किया और अपना पाॅल अब ये क्या है श्रीमान? हैरॉल्ड बेहतर होगा की आप मुझे ठीक से बताएं । हैरॉल् ने अपनी वो ही चढाई और अपनी पीठ आगे की तरफ की खडा होकर आज्ञानुसार कहना शुरू किया कितनी सच्चाई और शानदार तरीके से किट्टी चीन कोठी मुझे खुशी है आपने श्री बहुत को घेर लिया । एक रात मेरी उससे भेंट हुई थी और मेरे विचार में वह भीषण व्यक्ति था और ये नोट हैं । खैर सब में से हेरॉल्ड अपनी किसी के साथ आगे बढा आपको लेकिन आप ये नहीं कर सकती । कितनी ने अचानक गम्भीरता से कहा आप नहीं जा सकते और ना अलग हो सकते हैं । इसका मतलब होगा हर प्रकार की परेशानी बोल लेना । आपका तुच्छ नकारा अखबार आपको लंदन में धर धर लटका रखेगा हूँ और हम कल आपने अवकाश पर नहीं जा सकेंगे । ईद और मैं कल एक लंबी यात्रा पर जा रहे हैं श्रीमान ऍम हम और स्टेट से आरंभ करेंगे । साॅफ्ट बोला मैं भी जल्दी उसी दिशा में जा रहा हूँ । शायद हमारी भी हो जाएगा । मैं भी ऐसा करती हूँ । किट्टी मुस्कुराए और फिर उसने ई फॅार की और देखा आपको वास्तव में ये नहीं करना चाहिए । उसने कहा मुझे करना है आवश्य करना है । फॅमिली अपने हाथों को कसते हुए जोर देकर कहा और वह करेगी । किट्टी ने अपनी दोस्त के चेहरे के भाव पढने के बाद दुख जताते हुए कहा वो नहीं माने की और हमारी छुट्टी का मजा बिगड जाएगा । मैं देख रही हूँ साफ जाहिर है वो अपनी किसी मूर्खतापूर्ण सच्चाई के मिजाज में हैं । वो सिद्धांत में भयंकर रूप से उन्नत हूँ और लापरवाह तथा रोडी मुक्त है जी हाई लेकिन बाद पेशे की आती है अथवा कार्यप्रणाली की आती है । श्रीमान हेरॉल्ड अभी अभी आपको सब कुछ एक भीषण गांठ में मिला है । आपको नोटों की इतनी की आवश्यकता थी । मुझे उनके विशेष रूप से इतनी अधिक आवश्यकता नहीं है । ऐसा है तो ये बहुत ही कठिन परिस्थिति है । श्री बॉलिंग हिसाब में नहीं लेते हैं और ये ऍम जो है और ये कोई बुरी चीज नहीं है । ऐसे किसी व्यक्ति को नुकसान नहीं होता जिससे नुकसान नहीं होना चाहिए । ये आपका गैरकानूनी लाभ है, जो गलत है । इन दुष्टों नोटों को आग के हवाले क्यों नहीं कर देंगे? किट्टी अपनी ही ठीक हो लिया । मजाक पर हस पडी ऍफ ने कहा! और एक तीव्र गति से उसने पचास शुद्र नोटों को अंगीठी की जाली में डाल दिया जहाँ वो एक नीली पीली निपट में तब्दील हो गए । दोनों महिलाओं ने चित्कार किया और उछल कूद करने लगे । ॅ जो घटना मैं आशा कर सकता हूँ अब समाप्त हो गई । ॅ शांति से कहा लेकिन ये कहते हुए उसकी आंखें चमक रही थी । शायद किसी दिन मुझे अपना सुधांत । आपको आगे समझाने का एक और अवसर मिले ।

8 - लॉर्ड चिजॅलरिग का लापता खजाना

प्लॉट ऍफ का लापता खजाना मेरी भविष्यदृष्टा पैगंबर या आत्मा मेरे हम कर स्वर्गीय लॉर्ड ऍफ का नाम देने मन में तब तक कभी नहीं आता है जब तक कि उसी समय श्री टी एडिसन के नाम का जिक्र ना किया जाए । मैंने स्वर्गीय लॉर्ड ऍफ को कभी नहीं देखा और मैं अपने जीवन में श्री एडिसन से सिर्फ दो बार मिला हूँ और ये श्री एडिसन द्वारा की गई टिप्पणी थी जिसमें मुझे उस रहस्य को सुलझाने में बहुत मदद की जिस रहस्य को स्वर्गीय चिजल रखने अपने कार्यों के इर्द गिर्द लपेटा हुआ था । अभी ऐसा कोई स्मरण ले क्या कोई चिट्ठी मेरे पास नहीं है जिसके आधार पर मैं कह सकते ऑडिशन के साथ ये दो मुलाकात किस वर्ष में हुई थी मुझे पेरिस में इटली के राजदूत से इस आशय की एक सूचना मिली की मैं अंदर ऐसी अर्थात राजदूत कार्यालय में उनकी प्रतीक्षा करने मुझे जानकारी मिली के अगले दिन हम वैसी से एक शिष्टमंडल किसी एक प्रमुख होटल के लिए प्रस्थान करेगा । वहाँ महान पैर के अविष्कारक की शान है, समारोहपूर्वक प्रतिक्षारत रहेगा और फिर उन्हें औपचारिक रूप से विभिन्न तमगे पेश करेगा जिनके साथ कुछ ऐसे सम्मान भी होंगे जो इटली की सम्राट उन्हें प्रदान किए थे क्योंकि इस अवसर पर इटली की अनेक उच्च पदस्थ हस्तियों को आमंत्रित किया गया था और चुकी इन प्रतिष्ठित महानुभावों को न केवल अपनी पद मर्यादा के अनुसार पोशाक पहन कराना था बल्कि उनमें से अनेक हस्तियों को तो आगात मूल्य के जेवरात धारण करने आने की परिपार्टी का निर्वाह करना था । इस कारण मेरी मौजूदगी वांछित थी । विषेशकर इस बात को ध्यान में रखते हुए कि अवसर का लाभ उठाकर अगर कोई चुस्त चालाक व्यक्ति, देश कीमती वस्तुओं पर आज साफ करने का प्रयास करें तो मैं ऐसी दुर्घटनाओं को टाल सकता । उन्हें मुझ पर शायद इतना भरोसा था कि मेरी निगरानी में ऐसे किसी दुर्घटना की आशंका नहीं रहेगी । श्री एडिसन को बेशक काफी पहले इस आशय की सूचना मिल गई थी कि शिष्टमंडल उनकी प्रतीक्षा करेगा । लेकिन जब हम आविष्कारक को दिए गए सुसज्जित बडे वार्तालाप कक्षा में दाखिल हुए तो एक नजर में ही समझ गया कि वो प्रख्यात व्यक्ति समारोह के बारे में बिल्कुल भूल गया है । वो एक अनावरत मेज के पास खडे थे जिससे कपडे उतारकर एक कोने में फेंक दिए गए थे और उस मेज पर मशीनरी के काले और ग्रीस लगे कई पुर्जे पडे हुए थे । दांतेदार जबकि गिरनी बोल्ड एहतियाती । ये पूर्व फ्रांस के कामगार के लगती थी जो मेज के दूसरी तरफ खडा था । कालिक से भरे अपने हाथ में एक पुर्जा ली । ऍम के अपने हाथ भी कोई ज्यादा साफ नहीं थी क्योंकि वह सम्भवता हा उस साज सम्मान की जांच परख कर रहे थे और उस कारीगर से बातचीत भी कर रहे थे जिसमें लोग ही की छोटी मोटी कार्यकारी करने वालों की साधारण लम्बी कुर्ती पहनी हुई थी । मेरे अनुमान के अनुसार उसके पीछे की किसी गली में अपनी छोटी सी दुकान थी जिसमें वो मशीनों एवं मशीनी पुर्जों को सुधारने, मरम्मत आदि करने का काम किसी एक या दो कुशल सहायको तथा कुछ एक शागिर्दों की मदद से करता था । जैसे ही आडम्बरपूर्ण शोभा यात्रा प्रवेश करने लगी, एडिसन ने कडी नजर से दरवाजे की तरफ देखा और उन के काम में विभिन्न पडने के कारण उनके चेहरे पर गुस्से की एक झलक थी और उसमें किंचित उलझन भी थी । कितनी आडंबरपूर्ण जुलूस का क्या मतलब हो सकता है । जहाँ तक समारोह का संबंध है, इटलीवासी और स्पेनवासी पूरी तरह सज धज कराते हैं । आगे आगे वह चल रहे थे और उनके बीच पदाधिकारी था जिसमें बहुत परिश्रम से सजाई हुई संदूकची पकडी हुई थी, जिसके अंदर बिछे मखमली कपडे पर जेवरात थे । ये जो भी धीरे धीरे चलकर आगे आया और उस अचमत अमेरिकी के सामने ठहर गया । तत्पश्चात राजदूत ने बुलंद आवाज में संयुक्त राज्य और इटली के बीच विद्यमान मैत्री के संबंध में कुछ लुभावने शब्द कहे और कामना व्यक्त की कि उनकी प्रतिस्पर्धा से सदैव मानव जाति का लाभ हो और सम्मानित व्यक्ति को संसार का एक ऐसा उत्कृष्ट उदाहरण बतलाया जिसके जैसा कोई दूसरा पैदा नहीं हुआ है और जिसने शांति विषयक कलाओं में सभी राष्ट्रों पर उपकार किया है । भाषण कला में माहिर राजदूत ने ये कहते हुए अपनी वाणी को विराम दिया कि आपने प्रतापी अधिपति के आदेश से आप को ये सम्मान अर्पित करना मेरा कर्तव्य भी है और मेरी खुशी भी आ दिया गया । श्री एडिसन ने सहज दिखने के बावजूद कम से कम शब्दों में एक उपयुक्त उत्तर दिया और छोटे से समारोह के इस प्रकार समापन के बाद उदास पुरुषों का जत्था अपने राजदूत की अगुवाई में लौट पडा और मेरा स्थान उस शोभा यात्रा में सबसे पीछे था । अंतर्मन से मेरी गहरी सहानुभूति उस फ्रैंड कार्य कर के साथ जैसे कल्पना भी नहीं होगी कि अचानक उसे इतनी चमक दमक और ठाट बाट का सामना करना पडेगा । उसने उडती निभा उस पर डाली लेकिन पाया की उसका पीछे हटना मुमकिन नहीं है । इन तडक भडक वाले महानुभावों में से कुछ कुछ जगह से हटाए बिना फिर उसने अपने में सिमटने की कोशिश की और अंतर रहा । एक पक्षाघात की शिकार व्यक्ति के समान लाचार बना खडा रहा । लोकतंत्र के समर्थक संस्थाओं के बावजूद प्रत्येक फ्रांस निवासी के दिल में ऐसे राजकीय समारोह के प्रति गहरा सम्मान और गहरी श्रद्धा होती है । लेकिन वह है दूर से देखना पसंद करता है और अपने साथियों के समर्थन से भद्दे ढंग से ऐसी चीजों के बीच घुसना नहीं चाहता जैसा कि इस भयाक्रांत इंजीनियर के साथ हुआ । जाते जाते मैंने बढकर एक नहीं था, उस विनम्र कार्यकर पर डाली जो हर दिन कुछ फ्रैंक पाकर ही संतुष्ट रहता हैं और उसके सामने मौजूद लखपति आविष्कारक को भी देखा । एडिसन का चेहरा जो भाषण के दौरान उदासी और शांत बना हुआ था और जिसे देखकर मुझे नैपोलियन की एक आवक्ष प्रतिमा की याद आने लगी थी । अपने विनम्र मुलाकाती की ओर होल्कर अब चमक रहा था । उसने खुशी से चीख कर उस कारीगर से कहा एक मिनट का प्रदर्शन ही घंटे के स्पष्टीकरण के बराबर होता है । मैं कल लगभग दस बजे तो तुम्हारी दुकान पर आऊंगा और तुम्हें दिखाऊंगा की किस चीज को काम करने लायक कैसे बनाया जाता है । मैं हॉल में टिका रहा जब तक कि फ्रांसिस आदमी बाहर नहीं आया । फिर उस से अपना परिचय देने के बाद मैंने पूछा कि क्या मैं कल दस बजे उसकी दुकान देखने आ सकता है? उस ने मेरा अनुरोध उसी विनम्रता से स्वीकार कर लिया जो विनम्रता फ्रांस के औद्योगिक वर्गों में हमेशा पाई जाती है और अगले दिन मुझे श्री एडिसन से मिलने का अवसर प्राप्त हुआ । अपनी बातचीत के दौरान मैंने उन्हें तापूर्ण दीप विद्युत प्रकाश का अविष्कार करने के लिए बधाई दी और उनका ये जवाब था जो मेरी याददाश्त में अब तक बना हुआ है । ये कोई आविष्कार नहीं था बल्कि खोज थी । हमें पता था हम क्या चाहते हैं । एक कार बनी कृत को लगभग एक हजार घंटे तक सहन कर सके । अगर ऐसा कोई इशू नहीं होता तो ये विद्युत प्रकाश जिसकी हम बात कर रहे हैं, संभव नहीं था । मेरे सहायको ने उसकी खोज शुरू कर दी और जो भी चीज हमारे हाथ लगी हमने उसका कार्बनिक रन क्या और एक रिक्तता में उसके जरिए करंट दौडाया । अंततः हमें सही चीज मिल गई क्योंकि हम हार मानकर बैठने वाले नहीं थे और ये चीज मौजूद थी तो हम उसे खोजने में लगे रहते हैं । चाहे कितना भी समय लगे धैर्य और कडी मेहनत किसी भी बाधा को पार कर लेती है । ये विश्वास मेरे व्यवस्थाएँ, मैं मेरे लिए बहुत मददगार साबित हुआ । मैं जानता हूँ ये धारणा बनी हुई है कि एक जासूस ऐसे सुरागों के जरिए नाटकीय ढंग से आपने समाधान पर पहुंचता है जिन्हें एक साधारण आदमी नहीं दे पाता । बेशक ऐसा बारंबार होता है लेकिन सामान्य तौर पर धैर्य और कठिन परिश्रम, जिसकी सिफारिश श्री एडिसन करते हैं, एक अधिक सुरक्षित सिद्धांत है तो यहाँ बहुत बार ऐसा हुआ कि अच्छे से अच्छे सुरागों का पीछा करने के बावजूद मेरे हाथ कुछ नहीं लगा । दुर्भाग्य के अलावा जैसा की पांच सौ हीरो की पहेली सुलझाने के पद किस्मत प्रयास में मेरे साथ हुआ । जैसा की मैं कह रहा था, मैं कभी स्वर्गीय लॉर्ड ऍम के बारे में सोच भी नहीं सकता, यदि उसी क्षण श्री एडिसन का नाम मेरे ध्यान में नहीं आएगा और फिर भी दोनों एक दूसरे से बहुत भिन्न थे । मैं समझता हूँ कि लॉर्ड्स ऍम कभी इस धरती पर रहे । लोगों में सबसे निकम्मा नाकारा आदमी था जबकि एडिसन उसके एकदम वितरि । एक दिन मेरा नौकर मेरे पास एक कार्ड लेकर आया, जिस पर लॉर्ड ॅ अंकित था । कृपया अंदर तशरीफ लाएं । लॉर्ड बहुत है । मैंने कहा । और फिर जो व्यक्ति मेरे सामने आया वह चौबीस पच्चीस वर्ष का एक जवान आदमी था । उसने बढिया कपडे पहने हुए थे और उसकी चाल ढाल एवं हावभाव अत्यंत लुभावनी थे । यह थापी उसने एक ऐसा प्रश्न पूछकर बातचीत शुरू की जैसा प्रश्न पहले कभी मुझसे नहीं किया गया था और वो अगर किसी वकील या दूसरे पेशेवर आदमी से किया गया होता तो इसका उत्तर उसने कुछ नाराजगी से दिया होता । वस्तुतः मेरा मानना है कि लॉर्ड्स जलरंग ने जो प्रस्ताव मुझे पेश किया, उसे स्वीकार करना अगर साबित हो जाता है, वकील के लिए अपमानजनक होगा और उसे बर्बाद करने वाला होगा । श्रीयुक्त वालमॉर्ट लाॅन्ड्रिंग ने अपनी बात शुरू की, क्या मात्र अनुमान पर आधारित मामले का भी हाथ में नहीं लेते हैं? मात्र अनुमान पर सर नहीं नहीं समझ पा रहा हूँ कि आप क्या कहना चाहते हैं । लॉर्ड बहुत देख लडकी की तरह शरमाई और फिर कुछ कुछ हकलाते हुए सफाई देने लगे । मेरे कहने का मतलब है कि क्या आप कोई केस शर्तिया फीस पर लेते हैं? कहने का अर्थ है महोदय अच्छा, कोई बहुत अच्छा शब्द सूझ नहीं रहा । कैसे कहूं, कोई परिणाम नहीं तो कोई भुगतान में नहीं । मैंने कुछ गंभीरता से जवाब दिया । ऐसा कोई प्रस्ताव मुझे कभी पेश नहीं किया गया है और मैं आपको भी बता दूँ कि ऐसा कोई अवसर मुझे दिया गया होता तो मैं उसे ठीक कराने के लिए बाध्य हो जाता है । जो भी मामले मेरे सामने आते हैं, मैं उन का हल निकालने के लिए अपना समय देता हूँ और उन पर सोच विचार करता हूँ । मैं सफल होने की चेष्टा करता हूँ, लेकिन मैं उस पर अधिकार नहीं हो सकता और चुकी इस बीच मुझे नहीं ना दी है । इसीलिए मैं अपना समय देने के बदले कुछ फीस वसूलने के लिए विवश हूँ । आप मेरी बात से सहमत होंगे कि डॉक्टर आपने बिल भेजना नहीं भूलता । यद्दपि मरीज मार भी जाएगा । वो जवान आदमी असहज रूप से हजार और लगता था कि आगे कुछ कहने में उसे कठिनाई हो रही है । पर अंततः उसने कहा आप का उदाहरण संभव होता है । उस की अपेक्षा अधिक सच्चाई से भरपूर चोट करता है जिसकी कल्पना अपने से व्यक्त करते समय की थी । मैंने अभी अभी उस डॉक्टर को अंतिम बिल का भुगतान कर अपनी ये पूरी खाली कर दी है जिसने मेरे स्वर्गवासी अंकल लॉर्ड ऍफ का इलाज किया था और जो छह महीने पहले मर गए । मैं भलीभांति समझता हूँ कि मैंने जो सुझाव आपको दिया वो आपकी कुशलता पर एक प्रश्नचिन्ह लगाने जैसा प्रतीत होता है या फिर आपकी योग्यता के बारे में संधि करने के समान है । लेकिन श्रीमान अगर आप ऐसी भूल कर रहे हैं तो मुझे बहुत दुख होगा । मैं यहाँ आ सकता था और आपको कह सकता था की मैं एक विचित्र स्थिति में हूँ जिससे स्पष्ट करने की जिम्मेदारी आप उठाए । और मुझे कोई संदेह नहीं है कि आपने अनगिनत काम हाथ में लेने के बावजूद मेरा प्रस्ताव स्वीकार कर लिया होता है । फिर कर आप विफल हो जाते हैं । मैं आपको आपकी फीस चुका नहीं पाता हूँ क्योंकि मैं असल में दिवालिया हो चुका हूँ । पता है मेरी इच्छा पूरी एक ईमानदार शुरुआत करने की थी और आपको अपने बारे में सब कुछ स्पष्ट कर देना चाहता था । अगर आप कामयाब हो जाते हैं तो मैं एक अमीर आदमी बन जाऊंगा । अगर आप सफल नहीं होते तो मैं वहीं रहूंगा जो मैं भी हूँ । असहाय और निर्धन । क्या अब मैंने स्पष्ट कर दिया कि मैंने अपनी बात एक सवाल से शुरु क्योंकि जिस पर कुपथ होने का आपको पूरा अधिकार है बिल्कुल स्पष्ट माॅ और इसका श्रेय आपकी साफ दिल्ली यानी निष्पक्षता को जाता है है । उसके विनम्र एवं सरल व्यवहार और झूठे वाहनों के अंतर का कोई सेवा स्वीकार नहीं करने की उसकी स्पष्ट इच्छा का मैं घायल हो गया । मैं जब अपनी बात समाप्त कर चुका अंकिचन भला आदमी उठ खडा हुआ और उसने सिर झुकाकर धन्यवाद प्रकट किया । श्रीमान मेरी आवभगत करने में आपने जो शालीनता दिखलाई है, मैं उसके लिए आप का बहुत अधिक रही हूँ और मैं व्यर्थ के सवाल पर आपका समय लेने के लिए केवल शाम मान सकता हूँ । सुप्रभात आपका दिन मंगल में हो । एक मिनट ॅ उसकी कुर्सी की ओर दोबारा इशारा करते हुए मैंने प्रत्युत्तर दिया यद्यपि आपके द्वारा सुझाई गई शर्तों पर मैं एक दलाली स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हूँ । फिर भी मैं आपको एक दो संकेत दे सकता हूँ जो आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगे । नए समझता हूँ । लॉर्ड ॅ की मृत्यु की घोषणा के बारे में मुझे कुछ कुछ याद है । कुछ सनकी या झुकी थे? नहीं थे क्या संकेत उस युवक ने कुर्सी पर दोबारा बैठते हुए कहा हल्की सी हंसी के साथ ठीक है । वस्तुतः मुझे धुंधला सा याद पडता है कि उन्हें लगभग बीस हजार एकड भूमि के कब्जे का अधिकार प्राप्त था । तथ्यात्मक रूप से सत्ताईस हजार उसने जवाब दिया, क्या उन जमीनों तथा उन पर हलफनामे के आप वायरस निकल आए हैं? अरे हाँ, संपत्ति का उत्तराधिकारी अपरिवर्तनीय था । वो वृद्ध सज्जन आदमी चाहकर भी उसे मुझ से अलग नहीं कर सका और मुझे बहुत बंदे है की ये बात उसके लिए कुछ चिंता का कारण रही होगी । लेकिन निश्चित रूप से महिला कोई भी कह सकता है कि जिस आदमी के पास इंग्लैंड के इस घने, उपजाऊ एवं मूल्यवान क्षेत्र में जागीर हो वो दर्द या गरीब कैसे कहना सकता है । वो युवक फिर हजार हो अच्छा नहीं । उसने जवाब दिया और झट से अपनी जेब में हाथ डालकर कुछ एक सामने के सके और एक चांदी का सिक्का निकाला । मेरे पास आज का खाना खरीदने के लिए काफी पैसे हैं लेकिन इतने नहीं के होटल्स असल में खाना खा सकता हूँ । आप समझ ये ये इस प्रकार है । मैं किंचित एक प्राचीन परिवार से नाता रखता हूँ जिस के विभिन्न सदस्य तीव्र वेग से चले और उन्होंने अपनी अपनी जमीन पूर्ण तैयार गिरवी रखती । मैं अगर कडी से कडी मेहनत करता तब भी में अपनी संपत्ति पर एक भी पैसा और नहीं उठा सकता था क्योंकि जिसका पैसा उधार दिया गया था । जमीन की कीमत आज के जमीन मूल्य से बहुत अधिक था । कृषक मंदी तथा उससे जुडी अन्य खराब परिस्थितियों ने मुझे अगर मैं ऐसा कह सकूं हजारों के कर्ज तले दबाकर बहुत ही बत्तर हालत में छोड दिया है । इससे तो अच्छा था की मेरे पास कोई जमीन होती हैं । इसके अलावा मेरे स्वर्गीय अंकल की जिंदगी के दौरान संसद ने उन की ओर से एक या दो बार हस्तक्षेप करके उन्हें न केवल मूल्यवान लकडी काटने की मंजूरी दिलाई बल्कि जाॅर्ज के चित्रों को क्रिस्टीज यहाँ बहुत बडी रकम पर भेजने की भी अनुमति दिलाई और उस धन राशि का फिर क्या हुआ? मैंने पूछा भद्रपुरुष मेरे सवाल पर उन्होंने एक बार हम क्या, ठीक ही यही बात जिसे जानने के लिए मैं लेफ्ट में ऊपर आया कि क्या श्रीमान बॉल माउंट पता लगा सकते हैं? महिला आप मुझे दिलचस्प लगते हैं । मैंने कहा सच में एक असहज आशंका के साथ की उसका केस बहरहाल मुझे लेना पड जाए क्योंकि मुझे दिलचस्पी युवक ने पहले ही मुँह लिया था । उसके बिना किसी बहानेबाजी के बाद करना मुझे अच्छा लगा और उसको लपेटे हुई वो सहानुभूति जो मेरे देशवासियों में इस कदर सर्वव्यापक है, जैसा की मैं अपनी निजी स्वतंत्र, अच्छा से कह सकता हूँ । बहुत थी मेरे अंकल लॉर्ड फॅसने कहना जारी रखा है हमारे परिवार में कुछ सिलेक्शन व्यक्ति थे परंपरा के विरुद्ध चलने वाला । वो एक बहुत बहुत पुरानी नीति के विपरीत रहे होंगे । एक ऐसी नीति जिसका हमारे पास कोई लेखा नहीं, वो उतने ही कर पढते जितने उनके पूर्वज उडाऊ अर्थात मुक्त हस्ते जब करीब बीस वर्ष पहले उन्हें जागीर और उसका स्वत्वाधिकार मिला । उन्होंने सारे नौकर चाकरों को बर्खास्त कर दिया और वस्तु रहा । वह कई कानून मुकदमों में प्रतिवादी रहेगा जहाँ हमारे परिवार के सेवकों ने गलत बर्खास्तगी क्या नोट इसके बदले कोई भी मुआवजा दिए बिना नौकरी से निकाले जाने पर उनके खिलाफ मुकदमे होते थे । मुझे कहते हुए खुशी है कि वह सारे मुकदमे हार गए और जब उन्होंने गरीबी की दुहाई दी, उन्हें कुछ कलागत वस्तुएं बेचने की मंजूरी मिल गई ताकि वह मुआवजा दे सकें और कुछ उनके जीवन निर्वाह के लिए भी बचाएं । परिवार की ये मौरूसी वस्तुएं अप्रत्याशित रूप से इतनी अच्छी कीमत पर बिकी की मेरे अंकल को परिवार की पुरानी पुरानी वस्तुएं एवं संपत्ति बेचने का एक चस्का लग गया । वो हमेशा साबित कर देते कि किराया रहन धारको जाता है और उनके पास अपना गुजारा करने के लिए कुछ भी नहीं है । इस प्रकार कई अवसरों पर उन्होंने लकडी कटवाने और चित्रों की बिक्री करने के लिए अदालतों से मंजूरी ले ली जिसका नतीजा ये हुआ की जागीर पूरी तरह कंगाल हो गई तथा पुरानी हवेली एक उजाड कोठार में तब्दील हो गई । वो एक मजदूर की तरह रहने लगे । कभी बढाई बन जाते, कभी लोहार वस्तुत है । उन्होंने लाइब्रेरी को एक लोहार की दुकान में बदल दिया जो ब्रिटेन में बहुत ही श्रेष्ठ कमरों में से एक है और जिसमें हजारों मूल्यवान पुस्तकें भरी हुई थी । उन्होंने इन पुस्तकों को बेचने की मंजूरी के लिए कई बार आवेदन किया लेकिन ये मंजूरी उन्हें कभी नहीं दी गई । ये संपत्ति मेरे अधिकार में आने पर मुझे पता चलता है कि मेरे अंकल ने लगातार कानूनको अंगूठा दिखाया और लंदन में व्यापारियों के जरिए शानदार संग्रह को पूरी तरह खाली कर दिया । चोरी छिपे एक एक पुस्तक निकालकर उनकी मृत्यु से पहले अगर ये बात उजागर हो जाती तो निसंदेह उनके लिए बडी मुसीबत खडी हो सकती थी । लेकिन अब वो मूल्यवान पुस्तकें जो जा चुकी हैं और क्षतिपूर्ति का कोई चारा नहीं रह गया है । उनमें से अनेक पुस्तकें नहीं, संधि अमेरिका में है । क्या यूरोप के म्यूजियमों तथा संग्रहों में आप शायद मुझ से उनकी तलाश करने की अपेक्षा रखते हैं? अरे नहीं, उनको वापस पाने का वक्त बीत चुका उस वृद्ध आदमी ने दस हजार की लकडी बेच डाली और क्षेत्रों को बेच बेचकर भी दस हजार कमा । घर का सारा बढिया पुराना फर्नीचर गायब है जिसकी कीमत का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है । और फिर वह किताबें जैसा की मैं कह चुका हूँ । बहुत बडी कीमत भी की होंगे अगर उसे उनके मूल्य का कुछ अंदाजा रहा हूँ और आपको इस बारे में कोई संदेह नहीं होना चाहिए । क्यों से उनकी असली कीमत का पता नहीं होगा? इस मामले में उसका दिमाग बहुत चलता था । अदालत ने पिछली बार करीब सात वर्ष पहले आगे और राहत देने से मना कर दिया । वह कानून की अवज्ञा करके गुपचुप तरीके से किताबों और फर्नीचर की बिक्री करता रहा । मैं उस समय अवैध था, लेकिन मेरे अभिभावकों ने अदालत में उसकी अर्जी का विरोध किया और उसके हाथ में पहले से आई रकम का हिसाब मांगा । जजों ने मेरे अभिभावकों द्वारा किए गए विरोध को सही ठहराया और जायदाद की आगे लूटपाट करने की इजाजत नहीं दी । लेकिन उन्होंने मेरे अभिभावकों द्वारा की गई हिसाब किताब की मांग नहीं मानी क्योंकि पहले की बिक्री का पूरा निपटान मेरे अंकल पर निर्भर था और अदालत में उन्हें मंजूरी दी थी की वो अपने स्तर के अनुसार जैसे चाहे रह सकते हैं । अगर वह खुले हाथो खर्च करने के बजाय कंजूसी से रहते जैसा कि मेरे अभिभावकों का कहना था तो जजों के अनुसार ये उनका अपना मामला था और बात वही समाप्त हो गई । उनकी आखिरी अर्जी के इस विरोध के कारण वह मुझ से अत्यधिक नफरत करने लगे । यद्दपि सच में उस मामले से मेरा कुछ लेना देना नहीं था । वो तो एक सन्यासी की तरह अधिकतर लाइब्रेरी में रहते हैं और एक बूढा आदमी तथा उनकी पत्नी उनकी सेवा टहल में प्रस्तुत रहते थे और ये तीन व्यक्ति एक इतनी बडी हवेली के बाद शिंदे थे जिसमें सौ लोग आराम से रह सकते थे तो किसी से मिलने नहीं जाते थे और किसी को भी चीज अलग चेंज से मिलने नहीं देती थी इस उद्देश्य से कि जिन लोगों का बदकिस्मती के साथ लेनदेन रहा वो उनकी मृत्यु के पश्चात मुसीबत झेले । उन्होंने एक वसीयत छोडी जिसे मेरे नाम एक पत्र अधिक कहा जा सकता है । उस की कॉपी ये रही मेरे प्यारे तो तो मैं अपनी किस्मत का खजाना लाइब्रेरी में कागज के दो तीन पन्नों में मिलेगा । स्वस्थ नहीं तो भारत अंकल राॅक ऍफ ऍम मुझे कानूनी दृष्टि से वसीयत होने के बारे में संधि है । मैंने कहा किसी कानूनी वसीयत की जरूरत नहीं है । उस युवक ने मुस्कुराकर कहा मैं ही निकटतम संबंधियों और उनके पास जो कुछ भी था उसका एकलौता बारिश भी में यह भी सच में वो अपनी धन संपत्ति अगर चाहते तो किसी अन्य को दे सकते थे । मैं नहीं जानता कि उन्होंने इसे किसी संस्था के नाम क्यों नहीं किया । वो अपने नौकर चाकर उसके अलावा किसी को व्यक्तिगत रूप से जानते भी नहीं थे और नौकरों का कहना है कि उन्होंने भरपूर दुरुपयोग किया, यहाँ तक कि उन्हें भरपेट भोजन भी नहीं लिया । लेकिन जैसा की नौकरी से उन्होंने कहा उन्होंने खुद को इसलिए भूकर का ताकि नौकर चाकर को शिकायत करने का मौका ना मिले । उन्होंने कहा कि वह उनको एक परिवार की तरह मानते हैं । मैं समझता हूँ उन्होंने सोचा होगा की अगर वो अपनी संपत्ति मुझसे छिपाते तो मुझे और ज्यादा तकलीफ, सेवन चिंता होगी और मुझे गुमराह किया । जिसके बारे में मुझे पूरा यकीन है कि उन्होंने अपनी धन संपत्ति, किसी व्यक्ति के नाम करने या खैरात में देने की बजाय मुझे गुमराह करके मुझे कष्ट देने के उद्देश्य से ऐसा किया है । मुझे पूछना तो नहीं चाहिए । क्या आपने लाइब्रेरी में खोजबीन की? लाइब्रेरी में तलाश क्यों? दुनिया शुरू होने के समय ऐसी तलाश कभी नहीं की गई । सम्भवता आपने तलाशी का काम के लिए अकुशल हाथों में सौंपा हूँ । श्रीमान वॉलमॉर्ट आप ये इशारा कर रहे हैं कि मैंने दूसरों को तब काम में लगाया जब तक की मेरा धन चला नहीं गया । फिर में आपके पास एक कल तक प्रस्ताव लेकर आया । मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूँ कि ऐसी कोई बात नहीं है । आप अकुशल आयोग गया, हाथों की बात कर रहे हैं । आप ठीक हो सकते हैं लेकिन हाथ मेरे अपने थे । पिछले छह वहाँ से मैं वस्तु रहा उसी दशा में रहा है जिस दिशा में मेरे अंकल रहते थे । मैंने उस लाइब्रेरी को भी तरी छत से लेकर फर्श तक पूरा छान मारा । इस तलाशी ने लाइब्रेरी की हालत बिगाड दी है । हर तरफ पुराने अखबार, बही खाते और न जाने क्या क्या बिखरा पडा है । बेशक लाइब्रेरी में अभी भी कुछ किताबों का भीषण संग रहे हैं । क्या आपके अंकल धार्मिक प्रवृत्ति के आदमी थे? मैं नहीं कह सकता मैं अटकलें नहीं लगता है आप समझ मैं उनसे अपरिचित था । मैंने उनको कभी नहीं देखा । उनकी मृत्यु होने के बाद तक मेरे विचार से वह धार्मिक नहीं थे अन्यथा वो ऐसा व्यवहार नहीं करते जैसा उन्होंने किया । फिर भी उन्होंने खुद को एक ऐसी विकृत मान सकता वाला आदमी साबित किया की कुछ भी संभव है । मुझे ऐसे मामले की जानकारी थी जहाँ एक बडी धनराशि की आस लगाए वार इसको वसीहत में अपने नाम एक पारिवारिक बाइबल मिली जिसे उसने आप के हवाले कर दिया और वो बाद में ये जानकर स्तब्ध रह गया की उसमें बैंक ऑफ इंग्लैंड में कई हजार पौंड के नोट जमा होने की बात लगी थी । वसीयत करने वाले का उद्देश्य यह था कि वसीयत पानेवाला अच्छी पुस्तक पर है या फिर उसकी उपेक्षा का परिणाम होते हैं । मैंने ग्रंथों को भी उलट पुलट कर अच्छी तरह देख लिया उस युवक ने एक हसी के साथ कहा, ले के नैतिक लाभ से ज्यादा कोई बहुत एक लाख नहीं मिला केसहयोग वर्ष ऐसा हो सकता है कि आपके अंकल ने अपना धन किसी बैंक में जमा कर दिया हूँ और उस राशि का एक लिखित किसी पुस्तक के दो पन्नों के बीच रख छोडा हूँ । श्रीमान कुछ भी मुमकिन है लेकिन ये अत्यंत असंभाव्य है । मैंने हर ग्रैंड का एक एक पन्ना देख लिया और मुझे संदेह है कि पिछले बीस वर्षों में बहुत कम पुस्तकों को खोलकर देखा गया है । आपके अनुमान से उन्होंने कितना धन इकट्ठा कर रखा होगा । उन्होंने एक लाख से अधिक इकट्ठा किये होंगे । लेकिन जहाँ तक इन्हें बैंक में रखने का सवाल है, मैं कहना चाहूंगा कि मेरे अंकल को बैंकों पर बहुत अधिक अविश्वास था और उन्होंने अपने जीवन में एक भी चेक नहीं काटा । जबकि मुझे जानकारी है सभी खाते उनके पुराने दिवान अथवा कार्य द्वारा सोने में चुकाए जाते थे जो पहले प्राप्ति का बिल मेरे अंकल खुला कर देता हूँ और फिर सही सही रकम ले जाता । कमरे से निकलने के बाद उसे तब तक इंतजार करना पडता जब तक घंटी बजाकर बुलाया नहीं जाता ताकि उसे पता ना चल सके कि मेरे अंकल ने किस खजाने से अपना भंडार निकाला है । मेरा मानना है कि अगर कभी धन का पता चल जाता है तो ये सोने के रूप में होगा और मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूँ कि ये वसीयत अगर मैं इसे वसीयत का नाम दे सकता हूँ, हमें गुमराह करने के लिए लिखी गई थी । क्या आपने लाइब्रेरी को साफ कर दिया है? अरे नहीं, ये वास्तव में उसी दशा में है जैसा इसे मेरे अंकल ने छोडा था । मैंने महसूस किया कि अगर सफाई के लिए किसी को अन्दर बुलाता हूँ तो अच्छा यही होगा कि नवांगतुक उसे दिशा में पाए अर्थात उसे ऐसा ना लगे कि इससे हाल ही में उत्तर बितर किया गया है । आप बिल्कुल सही थे । महिला आप कहते हैं अपने सभी कागजात ठीक से देख लिए । अवश्य जहाँ तक इस बात का संबंध है, कमरे का बहुत अच्छी तरह निरीक्षण कर लिया है । लेकिन किसी भी चीज को वहाँ से हटाया नहीं गया जो उस दिन तक वहाँ मौजूद थी । जिस दिन मेरे अंकल की मृत्यु हुई, यहाँ तक कि उनका संधान भी नहीं संधान हम मैंने आपको बताया कि उन्होंने लाइब्रेरी में एक लोहार की दुकान बनाई थी और एक शहर कक्ष बनाया था । ये बहुत बडा काम रहा है जिसके एक छोर पर एक काफी बडा अग्निकुंड है जो एक बढिया लोहार खाने का काम देता है । उन्होंने और उनके सेवक ने पूर्वी अग्निकुंड में अपने हाथों से ईंट और मिट्टी की भट्टी बनाई और लोहार की पुरानी धौंकनी खडी कर दी । भट्टी में वो क्या करते थे? अरे कुछ भी जिस काम में भी उसे लगाया जा सकता था । ऐसा लगता है कि वो एक बहुत निपुण त्यौहार रहे होंगे । वह बाग या घर के लिए कभी कोई नया उपकरण तब तक नहीं खरीदेंगे जब तक की कोई पुराना उपकरण नहीं मिल जाता है और वो कभी कुछ भी पुराना नहीं खरीदते । जब तक वो पहले से इस्तेमाल किए जा रहे उपकरण को भट्टी में तपाकर ठीक ठाक करके उस से काम चला सकते हैं । उन्होंने पुराना टट्टू रखा हुआ था जिस पर बैठकर वो पार्क का चक्कर लगाते थे और जैसा की उनके परिचर ने खुद मुझे बताया वो अपने छोटे कद के घोडे अर्थात टट्टू को जूते यानी नाल खुद पहनाते थे ताकि उन्हें लोहारकी ओ हजारों का प्रयोग अच्छी तरह समझाते हैं । उन्होंने मुख्य बैठक खाने को एक बढाई की दुकान बना लिया था । और वहाँ एक बैंक जमा दी थी । मैं समझता हूँ कि जब मेरे अंकल एक अलग अर्थात रियासतदार बन गए, उसी समय से एक बहुत उपयोगी मिस्त्री एक अच्छे कार्य कर खराब हो गया । आपके अंकल की मृत्यु हो जाने के बाद से ही आपको चेस में रहे हैं । अगर आप कहते हैं तो ठीक है । पुराना नौकर और उसकी पत्नी उसी तरह मेरी देखभाल करते आ रहे हैं जैसे मेरे अंकल की करते थे और दिन प्रतिदिन मुझे बिना कोट पहने और धूल मिटटी से ढका देखकर वो शायद यही सोचते हैं कि मैं उस बूढे आदमी का दूसरा संस्करण अथवा दूसरा उतार हूँ । क्या उस नौकर को धन लापता होने की जानकारी है? नहीं मेरे सेवा किसी और को कुछ नहीं पता । ये वसीयत संधान पर छोड दी गई थी । मेरे नाम एक लिफाफे के अंदर आपका व्यक्तित्व एकदम स्पष्ट है ऍम लेकिन मैं स्वीकार करता हूँ कि इसमें मुझे बहुत अधिक रोशनी अर्थात उम्मीद नजर नहीं आ रही । क्या चीज जरूरी चीज के आस पास कोई रमणीय देहाती क्षेत्र है? बहुत विषेशकर वर्ष के सीजन में पतझड और सर्दी के मौसम में घर कुछ ज्यादा ही हवादार रहता है । इसकी मरम्मत आदि कराने के लिए कई हजार पहुंच चाहिए । गर्मियों में हवा के झोंकों से फर्क नहीं पडता है । मैं लंबे समय तक इंग्लैंड में रहा हूँ इसीलिए मेरे देशवासियों का तेज हवा के झोंकों की भय का राग अलापना मुझे अच्छा नहीं लगता । क्या उस बडी हवेली में कोई अतिरिक्त बिस्तर है या मुझे अपने साथ कोई पलंग अथवा कोई हिंडोला उतार कर ले जाना होता है? सच में और फिर से लग जाते हुए हकलाए आप ऐसा मत सूची की मैंने इन सब परिस्थितियों का वर्णन विस्तारपूर्वक इसीलिए क्या क्या प्रभाव में आकर इस बेकार मामले को हाथ में ले ले? मैं बेशक बहुत ज्यादा इच्छुक हूँ और इसी कारण में एक प्रकार से उस समय भावना में बहुत चला जाता हूँ जब मैं अपने अंकल के इसकी पाने की बातें सुनना शुरू कर देता हूँ । अगर आप मुझे अनुमति दे तो मैं ही क्या दो महा में आपके पास फिराना चाहूंगा । आपको सच बताऊँ । मैंने पुराने नौकर से कुछ पैसे उधार लिए और अपने कानूनी सलाहकारों से मिलने लंदन गया । यह आशा लेकर के इन हालातों में कुछ बेचने की मंजूरी मिल जाएगी तो मैं भूका रहने से बच सकता हूँ । घर में अभी भी बहुत सी ऐसी पुरानी चीजें हैं जिनके बदलेगा अच्छी खासी रकम मिल सकती है । मेरे अंदर ये बात बैठ गई है कि मुझे अपने अंकल का सोने का भंडार खोजना ही होगा । थोडे समय पहले ही मुझे संदेह ने घेर लिया कि मेरे अंकल ने सोचा होगा । अब लाइब्रेरी ही एक मूल्यवान संपत्ति रह गई है और इसी कारण उन्होंने अपना वो नोट लिखा ताकि मैं उस कमरे से कोई भी चीज बेचने के बारे में सोचूंगी नहीं । उस बूढे दुष्ट ने उन अलमारियों से किताबों को बीच बेठकर पैसे से घडा भर लिया होगा । सूची से पता चलता है कि इंग्लैंड ऍम द्वारा छापी गई पहली पुस्तक की एक प्रति थी । इसके अलावा शेक्सपियर की कई अनमोल करती थी था । अनेक ऐसी दूसरी पुस्तके थी जिनके लिए कोई भी पुस्तक संग्रह प्रेमी ऊंची से ऊंची कीमत देने के लिए तैयार होगा । ये सभी पुस्तकें गायब है । मेरा ख्याल है जब मैं उन्हें ये सारी बातें बता दूंगा । संबंधित अधिकारी मुझे कुछ बेचने का अधिकार देने से मना नहीं कर सकते हैं और अगर मुझे मंजूरी मिल जाती है, मैं फौरन आपसे भेंट करूंगा । बकवास लाॅन्ड्रिंग अगर आप चाहे तो अपनी अर्जी आगे कर सकते हैं । इस बीच मेरी आपसे विनती है कि आप मुझे अपने पुराने नौकर की अपेक्षा एक अधिक मजबूत एवं भरोसेमंद बैंकर मान सकते हैं । चली आज रात हम एक साथ सिल सिल में डिनर करते हैं बशर्ते कि आपने मेहमान होने का सम्मान मुझे देने को तैयार हूँ । कल हम ऍफ चेंज के लिए प्रस्थान कर सकते हैं । ये कितने दूर है यहाँ से करीब तीन घंटे लग जाएंगे । युवक ने जवाब दिया । जवाब देते समय उसका चेहरा महारानी एन के एक नए बंगले की भर्ती लाल हो गया । सच में श्रीमान वॉलमॉर्ट आपकी अनुकल्प ना से मैं पहले ही अभिभूत हूँ लेकिन फिर भी मैं आप के उदार प्रस्ताव को स्वीकार करता हूँ तो फिर निश्चित हो गया उस पुराने नौकर का क्या नाम है । लेकिन आप निश्चित है उसे इस खजाने को छिपाकर रखने की जगह के बारे में कोई जानकारी नहीं है । वो पूरा यकीन है । मेरे अंकल ऐसे इंसान नहीं थे कि किसी को भी विश्वास पात्र बना ले । लेकिन जैसे किसी बूढे, वाचाल एवं हडबडी को तो बिलकुल भी नहीं । ठीक मैं चाहूंगा के हिगिन्स को आप मेरा परिचय एक अनजान विदेशी के रूप में नहीं । ये सुनकर वो मुझे तो अच्छा समझेगा और मेरे साथ एक बच्चे जैसा व्यवहार करेगा । अरे मैं कहना चाहता हूँ अर्ल् ने विरोध किया । मुझे मान लेना चाहिए था कि आप इंग्लैंड में बहुत लंबे समय तक रह चुके हैं और इस धारणा को मन से निकाल चुके हैं कि हम विदेशियों को महत्व नहीं देते । वास्तव में हमारा देश की दुनिया में एकमात्र देश है । ट्रिक विदेशी का अमीर हो या गरीब, हार्दिक स्वागत करता है । निश्चित टाॅस मुझे गहरी निराशा होनी चाहिए । अगर आप मुझे उचित महत्व नहीं देते हैं, लेकिन है गेंस जिस तिरस्कार की भावना से मुझे देखेगा, उसके बारे में मुझे मलाल होने वाला नहीं है । वो मुझे ऐसा अनाडी या अ महक समझेगा जिसके प्रति ईश्वर इसीलिए कठोर रहा है क्योंकि मैंने इंग्लैंड को अपनी जन्मभूमि नहीं बनाया । अब है गेम्स को ये विश्वास कराना होगा कि मैं उसकी अपनी श्रेणी का हूँ अर्थात आपका सेवक वसंत की सर्द शामों में है । गेंस और मैं आप के पास बैठ कर आपस में गपशप करेंगे और दो या तीन सप्ताह गुजरने के पहले पहले मैं आपके अंकल के बारे में इतनी अधिक जानकारी हासिल कर लूंगा जिसकी आप कभी कल्पना भी नहीं कर सकते । ऍम अपने मालिक की अपेक्षा एक साथी नौकर से अधिक खुलकर बात करेगा । भले ही वो अपने मालिक का बहुत आदर करता हूँ और फिर क्योंकि मैं एक विदेशी हूँ, वो मेरी समझ में आने वाली बोली में बड बड करेगा और मुझे एक एक बात बताने के बारे में कभी सोचेगा भी नहीं । उस युवा रिसायत दार ने जिस शालीनता से अपने घर का वर्णन किया था उसके बाद तो मैं कल्पना भी नहीं कर सकता था की मेरे सामने इतनी विशाल हवेली होगी जिसके कोने में उसका बसेरा था । ये एक ऐसा स्थान है जैसा क्या मध्ययुग की वीरगाथाओं में पडते हैं । यूस युग का कोई कुंग रेडार या निंदा फ्रेंच महल अथवा किला नहीं बल्कि लाल गुलाबी रंग की सुंदर और काफी बडी पत्थर पर निर्मित हवेली है जिसका गाढा भडकीला रंग इसके वास्तुशिल्प की तीक्षण को एक कोमलता देता हूँ तब होता था । ये एक बहारी और एक अंदरूनी प्रांगण के चारों ओर निर्मित हैं और इसमें करीब एक हजार लोग रह सकते हैं । हालांकि इसके मालिक को केवल सौ लोगों को साथ रखने का अधिकार प्राप्त था । इसमें पत्थरों की छत वाली अनेक खिडकियाँ है और लाइब्रेरी के एक छोर पर बनी विशाल खिडकी जो किसी बडे गिरजाघर का भान करती थी, ये शानदार निवास था । इमारती लकडी के घने वृक्षों वाले पार्क के बीचोंबीच स्थित है और फाटकों पर द्वारपाल की कोठारी अर्थात डीओडी से हमें कम से कम डेढ मील तक का रास्ता गाडी से तय करना पडा और ये रास्ता ओ के विशाल वृक्षों से ढका हुआ था । ये बहुत विश्वसनीय नहीं लगती थी । इतनी जागीर के मालिक की जेब में शहर जाने के लिए किराया चुकाने तक की पूरे पैसे ना हो । बूढा हैकेंस हमें स्टेशन पर लगभग जज्जर गाडी के साथ खिलाते हैं । इस गाडी के साथ वही पुराना टू जुडा हुआ था जिसके हो रोकी नाल दिवंगत होगा करता था । हमने बढिया हॉल में प्रवेश किया जो किसी भी प्रकार का फर्नीचर मौजूद ना होने के कारण ज्यादा बडा लग रहा था । मैं जोर से हजार जब दरवाजा बंद हुआ और आवाज इस तरह मुझे जैसे मेरे ऊपर अंधकारमय लकडी की छत से भूत प्रेत मजा ले रहे हैं । आप किस बात पर हस रहे हैं? ने पूछा मैं आपको अपना आधुनिक, लंबा ऊंचा है । उस मध्यकालीन हेलमेट के ऊपर रखते देखकर हस रहा हूँ तो ये बात है आप अपना है दूसरे पर रख दें । जिस पूर्वज ने ये सूट पहना हुआ होगा मैं उसका अनादर नहीं कर सकता । लेकिन हमारे पास हानिकारक आवश्यक है । ट्रैक की कमी है इसलिए मैंने अपना ऊंचा है तो पुराने हेलमेट पर रखा और छाता यहाँ पीछे अटका देता हूँ और उसके नीचे कर देता हूँ । जब से ये चीजे मेरे कब्जे में आई है तो लंदन से धूर्त किस्म की व्यापारी मेरे पास आने लगा और उसने इन बख्तरबंद परिधानों की बिक्री के बारे में मुझे बताने का प्रयास किया । मैं समझ गया कि वह लंदन निर्मित नए परिधान अंदर रखने के लिए जीवन भर काफी धन देगा । लेकिन जब मैंने ये जानने की कोशिश की की क्या मेरे भविष्यवक्ता अंकल के साथ उसके व्यापारिक संबंध थे तो वो डरकर भाग गया । मुझे ऐसा महसूस होता है कि अगर मेरे पास समय तली बुद्धि होती की मैंने उसको अपने अत्यधिक कष्टदायक खानों में से किसी एक में झांकने के लिए मना लिया होता तो शायद मुझे पता लग जाता है कि परिवार की कुछ बहुमूल्य वस्तुएं किधर गायब हो गई । इन सीढियों से ऊपर शॅर्ट मैं आपको आपका कमरा दिखा देता हूँ । हमने आते समय ट्रेन में लंच खा लिया था इसलिए अपने कमरे में हाथ होने के बाद मैं फोन लाइब्रेरी का निरीक्षण करने चल दिया । वास्तव में ये बहुत ही शानदार प्रकोष्ठ सुद्ध हुआ और पुराने नीट व्यक्ति इसके दिवंगत किरायदार द्वारा इसका निदास पद रूप से इस्तेमाल किया जाता रहा था, जहाँ दो बडे अग्निकुंड यानी फायरप्लेस थे एक उत्तरी दीवार के बीच में और दूसरी पूर्वी सिरे पर । बाद वाली में कच्ची पक्की भट्टी खडी की गई थी और उसके बगल में एक बडी कहा ले रंग की धौंकनी लटकी हुई थी जो इस्तेमाल किए जाने पर धुएं से काली हो गई थी । संधान के ऊपर लकडी का एक ठीहा पडा था और उसके आस पास कई बडे और छोटे हथौडे रखे थे । जान लगे हुए पश्चिमी सिरे पर एक शानदार खिडकी थी । पुराने दागदार श्रीशेष बडी खिडकी जो जैसा की मैं कह चुका हूँ, किसी गिरजे की रही होगी । पुस्तकों के व्यापक संग्रह को देखते हुए इस बहुत बडे कक्ष की वजह से आवश्यक समझ गया । किसी बाहरी दीवार किताबों से ढकी हो और इनके बीच बीच में ऊंची ऊंची खिडकियाँ थी । सामने की दीवार खाली थी । एक का तुक्का तस्वीरें वहाँ महान अटकी हुई थी । और ये तस्वीरें होती जिन्हें पत्थर पर उकेरकर छापा गया था और जो क्रिसमस के दौरान लंदन की साप्ताहिक पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए थे । इन चित्रों को सस्ती फ्रेमों में चढकर किलों पर लटकाया गया था । पाँच पर जगह है जगह कागजों का ढेर पडा था कहीं कहीं तो वो कागजों का अंबार घुटने तक था और भट्टी से सबसे दूर कोने में अब भी वो पलंग पडा था हूँ जिस पर उस बूढे कंजूस ने दम तोडा था । एक अस्तबल की तरह लगता है नहीं लगता क्या? जब मैं निरीक्षण कर चुका तब ने टिप्पणी की मुझे पक्का यकीन है । बूढी ने कमरे को इसका बार से सिर्फ इसीलिए भर दिया ताकि मुझे एक एक चीज उठाकर या हटाकर देखने की तकलीफ दे सके । लेकिन इसमें मुझे बताया कि उसके मरने के पहले एक महीने के अंदर तमाम कूडे कबाड को बहुत हद तक साफ कर दिया गया था । सच में सफाई करना तो जरूरी था वरना भट्टी से छूट की चिंगारी से आग लग जाती है । बूढी ने हैवेंस को हर जगह से सारे कागज, पत्र, कुराने, वही खाते अखबार आदि यहाँ तक कि पार्सलों से उतारे गए फटे कागज भी खट्टा करके लाने को कहा और उन्हें सुन फर्श पर बिखेर देने के लिए कहा था क्योंकि उसे शिकायत ही के हिगिंस के जूते तख्तों पर बहुत शोर करते हैं और लेगिंस ने जो जरा भी पूछताछ करने लायक दिमाग नहीं रखता, इस सफाई को स्वीकार कर लिया और मामले की दृष्टि से तो बात बिल्कुल साफ हो जाती है लेकिन एक बड बड करने वाला बूढा साथ ही साबित हुआ जिसे दिवंगत जागिरदार के बारे में बात करने के लिए उकसाने की कोई जरूरत नहीं होती थी । वास्तव में उस की बातचीत को किसी दूसरे विषय की तरफ मोडना लगभग असंभव था । सनकी बूढे के साथ बीस वर्ष की घनिष्ठता ने उसके सम्मान की भावना को बहुत हद तक मिटा दिया था । जिस आदर सम्मान के साथ अंग्रेज नौकर अपने मालिक के पास जाता है, एक अधीन अनुचर अथवा छोटा नौकर कुलीनता को इस अर्थ में लेता है । ये वो इंसान होता है जो संभव तैयार कभी भी अपने हाथों से काम नहीं करता है । लॉर्ड्स ऍफ का बढाई की बेंच पर मेहनत करना, ड्रॉइंग रूम में सीमेंट का मिश्रण बनाना, संधान की ॅ आधी रात तक जारी रखना लेकिन उसको कतई रास नहीं आया । इसके अलावा बूढा अमीर आदमी अपने खातों की जांच बडी सूक्ष्मता से करता था और एक एक पाई का हिसाब रखता था । यही कारण था कि विनम्र खिदमतगार स्टेशन से फॅस का सफर गाडी से समाप्त करने के पहले मैंने महसूस किया कि है गेम्स को मेरा परिचय एक विदेशी तथा एक सहयोगी नौकर के रूप में देने का कोई लाभ नहीं है । उस बूढी नौकर की एक बात भी समझने में मैंने खुद को पूरी तरह समर्थन पाया । उसकी बोली मेरे लिए उतनी ही अंजान थी जितना कि चौक । तो भाषा मेरी समझ के परे होती थी और उस युवा को दो भाषीय के रूप में काम करना पडा । जब जब हमने इस बात होनी मशीन को चालू करने के लिए उसमें चाबी घुमाएंगे, फॅमिली के नए अगले एक लडके वाली जोश से खुद को मेरा शिष्य और सहायक घोषित कर दिया और कहा कि उसे जो भी कहा जाएगा वो करेगा । लाइब्रेरी की पूरी और निष्फल छानबीन कर चुकने के बाद उसे पक्का यकीन हो गया था कि चल बसा बूढा एक ऐसा पत्र छोडकर जो उसने लिखा था उसे केवल झांसे में रखने की कोशिश कर रहा था । महामहीम को यकीन था कि धन को कहीं और छिपा कर रखा गया है । शायद पार्क में किसी पेड के नीचे बेशक ये संभव था और दर्शाता था की को मूर्ख आदमी किस तरीके से धन से पाता है । मेरे विचार में यह संभावना नहीं था लेकिन उसके साथ सारी बातचीत से जान पडता था कि अल अर्थात जागीरदार एक बहुत ही शक की आदमी था । बैंकों के बारे में । यहाँ तक कि बैंक ऑफ इंग्लैंड के नोटों के बारे में हर व्यक्ति को लेकर खुद हिगिंस के बारे में भी उसके मन में संदेह रहता था । अतः मैंने उसके भतीजे को कह दिया वो कंजूस आदमी अपने खजाने को कभी भी अपनी नजर से दूर रखने वाला नहीं था । मुझे चौंकाने वाली पहली अजीब बात तो ये लगी कि उसने भट्टी और संधान को अपने शयन कक्ष में क्यों रखा । मैं अपनी प्रतिष्ठा को दांव पर लगाकर कह सकता हूँ कि रहते उस भट्टी क्या संधान में या फिर दोनों में छिपा है । आप देखिए वो बूढा आदमी कभी कभी आधी रात तक काम क्या करता था क्योंकि हैकेंस को हथौडा चलाने की आवाज सुनाई देती थी । अगर वह भट्टी में पत्थर के कोयले का इस्तेमाल करता तो आग रात भर ठहरती और चौकियों से चोरों का डर बराबर रहता था । जैसा की ही दिन का कहना है, हर शाम अंधेरा होने से पहले हवेली की घेराबंदी करना लाजमी होता था । जैसे कि ये कोई हवेली नहीं बल्कि किला हो । जो व्यक्ति इतनी चौकसी बरतता हूँ वो खजाने को किसी ऐसी जगह कैसे रखता है जहाँ से कोई चोर उसे आसानी से ले उडे । अब सोचिए कोयले की आज रात भर दो व्यक्ति हो और यदि सोना भट्टी में अंगारों के नीचे दबा हो तो किस की हिम्मत होगी । सोने तक पहुंचने की कोई भी लुटेरा अंधेरे में खोजते हुए एक से अधिक अर्थ में अपनी उंगलियां झूल जानेगा । फिर क्योंकि लॉर्ड बहुत दे अपने तकिए के नीचे चार भरी हुई पिस्तौल रखा करते थे तो किसी चोर के उसके कमरे में प्रवेश करने पर उसे इतना ही करना था कि चोरों को खजाने की तलाश करने देते हो, जब तक कि वह भर्ती के पास ना पहुंच जाएगा । तब निसंदेह वो बिस्तर से उठकर बैठ जाता और एक के बाद एक प्रस्ताव से गोलियाँ राजनेता क्योंकि उसका निशाना बहुत अच्छा था । दिन हो या रात कुल मिलाकर अट्ठाईस गोलियां दागी जा सकती थी । गोलियों की संख्या से दोगुनी सेकंड में । हाँ हाँ, आप समझ सकते हैं कि गोलियों की ऐसी बौछार में लुटेरों के लिए बचने का कोई मौका ही कहाँ रह जाता है । मेरा प्रस्ताव है कि हम भट्टी को ध्वस्त कर दी । लाॅट मेरी तरफ से हैरान रह गया और एक दिन अलग सुबह हमने बडी धोकनी काटकर गिरा दी । उसे चीरकर खोल दिया तो उसे खानी पाया । फिर हमने कल गदाली यानी लोहे की छड से भट्टी की एक एक निकाल डाली क्योंकि उस बूढे आदमी ने अपनी समझ से आगे बढकर उसे पाॅइंट से बनाया था । असल में हमने ईटों के बीच और भट्टी के पेट से कचरा साफ किया तो हमें सीमेंट का ऐसा क्यों बहुत लगता है जो ग्रेनाइट जितना कठोर था लेकिन उसकी मदद से और कुछ बेलेनो तथा लीडरों का इस्तेमाल कर हमें भारी टुकडे को बाहर पार्क में ले जा सके और फिर हमने लोहारों के बडे हथौडे से इसे छूट चूर करने का प्रयास किया जिसमें हम पूरी तरह नाकाम रहे । इसलिए जितना अधिक हमारे प्रयासों को रोका उतना ही अधिक हमें निश्चित हो गया की सिक्के के अंदर मिलेंगे क्योंकि ये इस अर्थ में ने खास निधि अर्थात गडा हुआ धन नहीं कहलाएगा की सरकार इसपर कोई दावा कर सके । गोपनीयता की कोई विशेष आवश्यकता नहीं थी । अतः हमने पास की खदानों से एक आदमी को बरमो तथा डायनामाइट के साथ पर बुलाया जिसमें बहुत जल्द उस ब्लॉक के लाखों टुकडे कर दिए । अब सोच इसके मलबे में मिट्टी के ढेलों में सोने के सिक्के का कोई निशान भी नहीं था । जिस समय डायनामाइट विशेषज्ञ मौके पर था हमने उसे संधान तथा सीमेंट के ब्लॉक को ध्वस्त करने के लिए प्रोत्साहित किया और फिर वो मजदूर नई जागीरदार को निःसंदेह पुराने जागीरदार के बराबर ही पागल समझकर और अपने औजारों को कंधे पर लादकर वापस अपनी खान की तरफ चला गया । अरे अपनी पहली दलील पर लौट आया कि सोना पार्क में ही कहीं छिपा हुआ है । जब की मेरी यह धारणा और भी अधिक मजबूत हो गई कि खजाना कहीं और नहीं बल्कि लाइब्रेरी में खडा है, ये स्पष्ट है । मैंने उससे कहा की अगर खजाना बाहर कहीं गडा हुआ है तो किसी ने अवश्य ही छेद खोदा होगा । आपके अंकल जैसा अत्यंत भीरू और चुप आदमी ये काम किसी दूसरे को कभी नहीं करने देता बल्कि खुद करता है । लेकिन उसके कहे अनुसार सभी खोदनी युवा भावनाओं को उठाकर हर रात को स्वयं उन्हें हजारों वाली कोठरी में रखने के बाद ताला लगा देता था । हवेली की इतनी अधिक सावधानी से घेराबंदी की गई थी कि आपकी अंकल चाहकर भी बाहर नहीं निकल सकते थे । फिर आपके अंकल सरीखे आदमी के बारे में बताया गया है कि वह हर समय अपनी आंखों से देखकर संतुष्ट होना चाहते थे कि उस की बचत सही सलामत है और अगर सोना पार्क में कहीं बार दिया जाता तो उनकी इच्छा का पूरा होना वास्तव में संभव था । मेरा सुझाव है कि अब हमें बल प्रयोग डायनामाइट को छोड देना चाहिए और दिमाग लगाकर लाइब्रेरी में खोजबीन करनी चाहिए । बहुत अच्छा युवा जागीरदार ने जवाब दिया, लेकिन मैं पहले ही लाइब्रेरी में अच्छी तरह हो चुका हूँ । आपने बहुत ही शब्द का जो प्रयोग किया श्रीमान वॉलमॉर्ट वो आपकी व्यावहारिक विनम्रता से मिल नहीं खाता । फिर भी आपसे सहमत हूँ । आप बस आदेश दे मेरा काम आप की आज्ञा का पालन करना है । मुझे जमा करे महिला मैंने कहा मैंने बहुत ही एक शब्द का प्रयोग डायनामाइट शब्द के विपरीत अर्थात उसके विरोध में किया था । इसका आपकी पहली की तलाश से कुछ लेना देना नहीं था । मैंने सिर्फ ये सुझाव दिया कि हमें अब रासायनिक प्रतिक्रिया का प्रयोग छोड देना चाहिए और मानसिक सक्रियता का प्रयोग करना चाहिए जो एक बहुत बडी शक्ति है । क्या आपने अखबारों के हाशिये पर कुछ लिखा देखा हूँ? नहीं, मैंने नहीं देखा क्या ये संभव है कि किसी अखबार के सफेद किनारे पर कोई सूचना रही है । ये भी संदेह संभव है । तब क्या आप प्रत्येक अखबार के हाशिए पर एक नजर डालने का कष्ट करेंगे? प्रत्येक अखबार को अच्छी तरह देख लेने के बाद आप उन्हें दूसरे कमरे में रखते हैं । एक साथ कुछ भी नष्ट मत करें लेकिन हमें लाइब्रेरी पूरी तरह साफ कर देनी चाहिए । मुझे खातों में दिलचस्पी है, उनकी जांच करूंगा । ये गुस्सा दिलाने वाला ढाका हूँ । काम था लेकिन कई दिनों के बाद मेरे सहायक ने बताया कि प्रत्येक हाशिए को गौर से देख लिया गया है किंतु कोई नतीजा नहीं निकला जब की मैंने सारे बिल और महमूद एकत्र कर लिए थे और उन्हें तिथि के अनुसार वर्गीकृत कर दिया था । मैं एक बंधे से छुटकारा नहीं पास कहा कि उस वृद्धि बूढी दुष्ट ने किसी खाते के पीछे या किसी किताब के सादा पन्ने पर खजाना खोजनी संबंधी हिदायतें लिख छोडी हैं । और जैसे ही मैंने लाइब्रेरी में अब भी पडी हजारों किताबों पर नजर डाली । एक एक किताब की बारीकी से जांच करने की सोच कर मेरा धैर्य सहम गया । लेकिन मुझे एडिसन की शब्द याद आ गए कि अगर कोई चीज मौजूद है तो तब तक उस की खोज में लगे रहो जब तक वो मिलना चाहिए । ढेरों खातों में से मैंने कुछ दिए । बाकी खातों को मैंने दूसरी कंपनी में रख दिया । अरे के अखबारों के अंबार के साथ ही तब मैंने अपने सहायक से कहा, अगर आपको ठीक लगे तो हम मुझे गेम्स को अंदर बुलाना चाहेंगे क्योंकि मुझे इन खातों के बारे में कुछ सफाई चाहिए । शायद मैं आपकी कुछ सहायता कर सकती हूँ । लॉर्ड महोद देने उस मेज के सामने कुर्सी खींचते हुए कहा, जिस पर मैंने हिसाब किताब के विवरण फैलाए हुए थे । मुझे यहाँ रहते छह महीने हो चुके हैं और मुझे भी चीजों के बारे में उतनी जानकारी है । जितनी है उसको है । वो एक बार जब बोलना शुरू करता है तो फिर उसे रोकना बहुत मुश्किल हो जाता है । पहला खाता कौनसा है जिसके बारे में आपको कुछ और जानना है? तेरा वर्ष पहले आपके अंकल ने शेर फिल्में एक पुरानी अलमारी खरीदी थी । यहाँ उस काबिल है । मेरे विचार से उस अलमारी को खोजना आवश्यक है । प्रार्थना है मुझे क्षमा करें श्रीमान वॉलमॉर्ट उस युवक ने अपने पैरों पर उछल कूद करते और हसते हुए चीखकर कहा, अलफायरी! जैसे एक भारी चीज किसी आदमी की यादाश्त से इतनी जल्दी फिसल नहीं नहीं चाहिए लेकिन मेरी आवाज से बदल गई । वो अलमारी खाली है और मैंने उसके बारे में आगे नहीं सोचा । इतना कहकर जागीरदार किताबों की कल मारी के पास गया । जो दीवार से लगी हुई थी उसे ऐसे खींचा मानो कोई दरवाजा हो, उसे किताबों आदि के साथ खींच कर एक तरफ कर दिया और फिर लो ही केक अलमारी दिखाई जिसका दरवाजा भी उसने खींचकर खुला है । अलमारी अंदर से एकदम खाली थी । मुझे इसका पता तब लगा । उसने कहा जब मैंने इन सब किताबों को उतार लिया । ऐसा लगता है कि जिससे समय यहाँ गुप्त दरवाजा रहा होगा लाइब्रेरी से बाहर के कमरे तक जाने के लिए जो बहुत समय से गायब है । दीवार काफी मोटी हैं । मेरे अंकल ने ही निसंदेह इस दरवाजे को निकलवा दिया होगा और खाली जगह के बीच में अलमारी रखकर अगल बगल वाला ऊपर तक ईंटों की चुनाई करा दी । सचमुच यही हुआ होगा । मैंने अपनी निराशा छिपाने का प्रयास करते हुए कहा क्योंकि ये तिजोरी पुरानी खरीदी गई थी, ऑर्डर देकर नहीं बनवाई थी । इसीलिए इसके अंदर कोई गुप्त दरार नहीं हो सकती । ये एक सामान्य बागवानी के अलमानी जैसी लगती है । मेरे सहायक ने कहा लेकिन हमें से बाहर निकाल देंगे । अगर आप कहीं तो अभी बिल्कुल नहीं । मैंने उत्तर दिया हम पहले ही बहुत तोड फोड कर चुके हैं जैसे कि हम सेंधमार हूँ । मैं आपसे सहमत हूँ । कार्यक्रम में अब अगला आइटम गया है । जहाँ तक मैं खातों की जांच से समझ पाया हूँ आपके अंकल ने पुरानी चीजें खरीदने की सडक को तीन बार थोडा है । करीब चार साल पहले डैनी क्रमांक से एक नई किताब खरीदी जो फोन का एक सुविख्यात पुस्तक विक्रेता है । दैनिक कंपनी केवल नहीं पुस्तकों का व्यापार करती है । क्या लाइब्रेरी में अपेक्षाकृत कोई नई पुस्तक है? एक भी नहीं । क्या आप निश्चित रूप से कह सकते हैं? पूरे यकीन से मैंने घर में सारा साहित्य छान मारा । उस पुस्तक का नाम क्या है जो उन्होंने खरीदी मैं नहीं पढ सकता । कुछ जीत नाम है शुरू का अक्सर ऍम जैसा लगता है । लेकिन शेष सिर्फ एक लहर याद आ रहा है । तथापि मैं समझता हूँ कि इसकी कीमत और छह पैंट थी । जबकि पार्सल डाक से भेजने की कीमत छह पैंट थी । इसका मतलब है कि इसका वजन चार कौन से कुछ काम रहा होगा । ये और पुस्तक की कीमत दोनों मुझे सोचने के लिए प्रेरित करते हैं कि कोई वैज्ञानिक कृति थी । भारी कागज पर सशस्त्र छपी हूँ । मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है । अरे ने कहा तीसरा हिसाब दिवारी कागज से संबंधित हैं । महंगे तिवारी कांग्रेस के सत्ताईस रोल और एक सस्ते कागज के सत्ताईस रोल जिसकी कीमत महंगे वाले का आदत से आदि थी । ये कागज फॅमिली गांव में स्टेशन रोड में स्थित एक व्यापारी ने सप्लाई किया प्रतीत होता है । यहाँ पे आपका वॉलपेपर । उस युवक ने अपना हाथ हिलाते हुए चीखकर कहा फॅसने मुझे बताया इसका यादा पूरे घर की दीवारों को कागज से ढकना था किंतु वो लाइब्रेरी का काम समाप्त करने के बाद थक गया । जिसे पूरा करने में करीब एक साल का वक्त लगा क्योंकि वह रुक रुककर काम करता था । अपने निजी कमरे में ले ही बनाने मिलने का काम करता हूँ और एक बार में सिर्फ एक बाल्टी भर नहीं बनाता था । अपनी जरूरत के मुताबिक ये बहुत ही घृणित एवं लज्जाजनक कार्य था क्योंकि कागज के नीचे वो की अत्यंत सुन्दर एवं बढिया पट्टी है । एकदम साधन लेकिन रंग के हिसाब से बहुत चाहता है । मैंने उठकर दीवार पर कागज को ध्यान से देखा नहीं । ये गाढे भूरे रंग का था । बिल में लिए महंगे कागज का हल निकल आया लेकिन सस्ते कागज का क्या हुआ, मैंने पूछा मुझे नहीं पता मैं समझता हूँ । मैंने कहा हम गुत्थी सुलझाने के रास्ते पर हैं । मेरा मानना है कि उस कागज से किसी सरगंवा पट्टी या गुप्त दरवाजे को धक्का गया है । बहुत संभव है । अलका जवाब था मैं कान उसको हटवा देना चाहता था लेकिन इस काम के लिए मजदूरों को देने वास्ते मेरे पास पैसे नहीं थे और मैं अंकल जैसा उद्यमी और खाद मेहनती नहीं हूँ । अब और क्या हिसाब देखना बाकी रह गया है । आखिरी भी कागज के बारे में है लेकिन वह बजरोल लंदन ईसी में किसी कंपनी से आये लगता है । ऐसा प्रतीत होता है उसने करीब एक हजार सीटे मंगवाई और ये कागज ऐसा जान पडता है जैसे बहुत अधिक महंगा है । ये बिल भी दुर्वा अच्छे है अर्थात स्पष्ट है लेकिन मैं इसके एक हजार शील मान कर चल रहा हूँ । हालांकि बेशक के एक हजार दस्ते हो सकते हैं जो वसूली गई कीमत की दृष्टि से अधिक तर्कसम्मत होगा या एक हजार रिम हो । तब तो बहुत ही सस्ता पडा होकर मुझे इस संबंध में कुछ भी नहीं पता है कि उसको बुला लेते हैं । कागज मंगवानी के इस अंतिम ऑर्डर के बारे में फिर उसको भी कुछ जानकारी नहीं थी । दीवारी, कागज की गुत्थी एकदम सोलह गई । प्रत्यक्षतः हा बूढी जागीरदार को आजमाइश से पता चल गया था कि महंगा तिवारी कागज चिकनी पट्टी पर चिपकेगा नहीं । इसीलिए उसने सस्ता कागज खरीदा और उसने पहले ये कागज चिपकाया । लेकिन उसने बताया कि अब उसने पूरी दिलाया बंदी यानी पैनलिंग को पीले से सफेद कागज से ढक दिया और जब वो सूख गया उसके बाद उसने अधिक कीमत का कागज उसके ऊपर चिपकाया लेकिन मैंने आपत्ति जताई । दोनों किस्मत के कागज एक ही समय खरीदे गई थी और यहाँ पहुंचाए गए थे । इसलिए उसने कंपनियों क्या और पाया कि ये महंगा का अगर सकेगा नहीं । मैं नहीं समझता कि इसमें बहस करने लायक कुछ है, मरने अपनी बात कही । भारी कागज पहले खरीदा गया होगा और उपयुक्त नहीं पाया गया होगा और फिर मोटा सस्ता कागज बाद में खरीदा गया । बिल केवल ये दिखाता है कि हिसाब तारीख में भेजा गया था क्योंकि डाॅॅ गांव असल में कुछ ही मील दूर है इसलिए बहुत संभव है । इसलिए बहुत संभव है कि इसका प्रयोग किया गया हूँ और सादा कागज मंगवा लिया हूँ । पर किसी भी स्थिति में ऐसा नहीं हो सकता के ऑर्डर के बाद महीनों बीत जाने पर बिल प्रस्तुत किया जाए । इसलिए दोनों खरीद को एक ही बिल में छोड दिया गया होगा । मुझे मानना पडा ऐसा हो सकता है । अब डैनी कंपनी से मंगाई गई पुस्तक की बात क्या हिगिन्स को इस बारे में कुछ याद है? ये चार साल पहले आई अरे हाँ, लेकिन उसको वास्तव में बहुत अच्छी तरह याद है । एक सुबह वहाँ के लिए चाय लेकर आया था और वो बूढा आदमी बिस्तर में बैठा हुआ इस खिताब को इतनी दिलचस्पी से पढ रहा था कि दरवाजे पर है । गेम्स के दस तक का भी उसे पता नहीं चला और क्योंकि खुद फॅस को कुछ कम सुनाई देता था वो दस तक के जवाब की परवाह किए बगैर अंदर चला गया ने किताब को झट से तकि के नीचे पिस्तौल के बगल में किसका दिया और ऑडियंस को अंदर आने की इजाजत लिए बिना अंदर आने पर बडी हिकारत से देखा । उसने अर्ल् को इससे पहले कभी इतना गुस्से में नहीं देखा था और उसकी नजर में सारा दोष इसका किताब का था । फॅसने वो किताब फिर कभी नहीं देखी थी । लेकिन एक सुबह के निधन से छह माह पहले भट्टी की रात निकालते समय उसकी नजर जिस चीज पर पडी वो उसके अनुमान के अनुसार उस किताब का एक हिस्सा था । उसने विश्वास कर लिया कि उसके मालिक ने किताब जला दी । मैंने उनसे कहा, पहले ये काम करना है कि ये बिल स्ट्रॉन्ग में पुस्तक विक्रेता डैनी कंपनी को भेज देंगे । उन्हें बता दें कि किताब आपसे हो गई है और उन्हें उसकी दूसरी प्रति भेजने के लिए काहे संभव है । उस दुकान में कोई व्यक्ति किताब का नाम जो स्पष्ट अक्षरों में लिखा है ठीक ठीक पढ सके । किताब से हमें अवश्य ही कोई सुराग मिलेगा । अब मैं ब्लॅक बच्चों को लिखूंगा । ये स्पष्ट रूप से कोई फ्रेंच कंपनी है । ये नाम मैंने कहीं देखा या सुना है और किसी कागज बनाने वाली कंपनी से संबंध रखता है । मेरे जहन में तो है लेकिन अभी निश्चित रूप से कुछ नहीं कह सकता हूँ । मैं उनसे पूछूंगा कि ये कागज जो उन्होंने दिवंगत उनको भेजा था, किस काम आता है । तदनुसार ये काम किया गया और जैसा हमने सोचा जवाब आने तक हम दो आदमियों के पास कोई काम नहीं रहा । फिर भी अगली सुबह मुझे ये कहते खुशी होती है और मैं हमेशा सच्चाई को दिल में समय बैठा रहा हूँ । लंदन से जवाब आने के पहले मैंने रहस्य को सुलझा लिया । सच में वो किताब और पेपर एजेंटों का जवाब दोनों को साथ साथ रखकर देखेंगे तो हमें रहस्य की कुंजी अवश्य मिल जाएगी । नाश्ते के बाद मैं लाइब्रेरी में ही यू चहलकदमी करने लगा जिसके फर्श पर भूरे रंग का लपटने वाला कागज, सुतली के टुकडे इत्यादि बिखरे पडे थे । जैसे ही मैंने इन बिखरी चीजों को अपने पांव थोडा इधर उधर क्या जैसे हम जंगल के रास्ते में गिरी हुई पत्तियों के ढेर को उत्तर हटाते चलते मेरा ध्यान अचानक कागज के कई दस्तों की ओर चला गया है जो वैसे की वैसे ही पडे थे और कभी भी इनका इस्तेमाल नहीं किया गया था । कागज के पन्ने मुझे विलक्षण रूप से जाने पहचाने लगे मैंने शीट उठाएगी और तुरंत ब्रॉनसन के नाम का महत्व मेरे मन में कौन गया तो फ्रांस में कागज निर्माता है । वो एक चिकना बहुत मजबूत कागज बनाता है जो महंगा तो अवश्य होता है फिर भी ये उस बढिया ऍम की तुलना में अत्यधिक सस्ता पडता है जिसे इस कागज ने उद्योग की पति पे शाखा में अब दस कर दिया । वर्षों पहले पेरिस मेन पर उन्होंने मुझे जानकारी दी थी कि चोरों के गिरोह ने किस तरह अपने सोने का निपटान किया था । सोने का पन्ना अर्थात वर्क बनाने की घटिया एवं काम चलाऊ प्रक्रिया में प्रॉब्लम के बजाय कागज का प्रयोग किया जाता था । हाँ, थोडे से लगातार चोट को ये विलम के सामान ही सही लेता था और इधर तुरंत मेरे दिमाग में बिजली से कौन गए? जैसे ही मुझे उस बूढी के आधी रात के संधान कार्य के रहस्य का ध्यान आया, वो अपनी स्वर्ण मुद्रा यानी अशर्फियों को सोने के वरक में तब्दील कर रहा था । सोने की ये पन्नी कुछ कुछ मोटी खरखरी रही होगी क्योंकि व्यापारिक दृष्टि से सोने की पन्नी अथवा वर्ग बनाने के लिए उसे अभी भी विलम और एक खाद्य तथा अन्य मशीनरी चाहिए थी जिसका हमें कोई निशान नहीं मिला । माय लॉर्ड मैंने अपने सहायक को पुकारा वो कमरे की दूसरे छोर पर था । मैं आपके निजी ताजा सामान्य बोध के संधान पर सुधान को परखना चाहता हूँ । हथौडा मार करने का लोग अर्गल ने अपने सामान्य सद्भाव चेहरे पर हंसोड मुद्रा लेकर मेरे पास आते हुए उत्तर दिया हम अपनी जांच के दायरे से अलमारी को निकाल देते हैं क्योंकि ये तेहरा वर्ष पहले खरीदी गई थी । लेकिन किताब की खरीद दिवार पर चढाने वाला कागज की खरीद फ्रांस के इस मजबूत कागज की खरीदा दी । कुल मिलाकर ऐसी घटनाएं हैं जो एक ही महीने के अंदर घटी हैं जैसे संधान की खरीद तथा भट्टी का निर्माण । ये जांच के विषय बने रहेंगे क्योंकि मैं समझता हूँ ये सारी घटना एक दूसरे से जुडी हुई है । ये कागज के कुछ पन्ने हैं जो उसने बाजारों से प्राप्त किये । हम अपनी जांच के दायरे से अलमारी को निकाल देते हैं क्योंकि ये तेहरा वर्ष पहले खरीदी गई थी । लेकिन किताब की खरीद, दीवार पर चढाने वाले कागज की खरीद, फ्रांसिस, मजबूत कागज की खरीद आदि । कुल मिलाकर ऐसी घटनाएं जो एक ही महीने के अंदर घटी हैं जैसे संधान की खरीद तथा भट्टी का निर्माण ये जांच के विषय बने रहेंगे क्योंकि मैं समझता हूँ ये सारी घटना एक दूसरे से जुडी हुई है । ये कागज के कुछ पन्ने हैं जो उसमें बाजारों से प्राप्त किए । क्या आपने इसके जैसा कुछ देखा है? कागज के इस नमूने को फाडने की कोशिश करके देखें । ये वाकई काफी मजबूत है । लौट बहुत देने, उसे छीनने की नाकाम कोशिश करते हुए स्वीकार किया हाँ, ये फ्रांस में बना था और उसका प्रयोग सोना कूटने में क्या जाता है? आपके अंकल ने आशार्थियों को कूटकर सोने के वर्क बनाएगा । आप देखेंगे कि डैनी कंपनी से मंगवाई पुस्तक भी सोना कोर्ट ने के बारे में है और अब मुझे ध्यान आ रहा है कि उस पुस्तक का शीर्षक जो पहले पढा नहीं जा रहा था, मेरे ख्याल से मेटालर्जी होना चाहिए । इस पुस्तक में निसंदेह अध्याय सोने की पन्नी अर्थात सोने के वर्क बनाने के बारे में है । मुझे आपकी बातों पर विश्वास है । बादल ने कहा था लेकिन मुझे नहीं लगता कि ये खोज हमें अपने लक्ष्य की ओर आगे ले जा रही है । अब हम आशा रुपयों के बदले सोने के वर्क तलाश रहे । पहले हमें दिवारी कागज की जांच करने मैंने कहा मैंने अपना चाकू फर्श पर इसके कोने के नीचे रखा और बडी आसानी से उसका एक बडा टुकडा बुखार लिया । जैसे कि लेगिंस ने बताया था बादामी काजल सबसे ऊपर था और मोटा हल्के रंग का कागज उसके नीचे लेकिन वो भी वो पट्टी यानी पैनलिंग से इतनी आसानी से निकल आया मानो या आदतन महा लटक रहा हूँ ना कि चिपकाने के कारण । जरा इसका वजन तो देखें । मैं चलाया रविवार से चीरकर निकाला गया । भारी कागज का बडा सा टुकडा उसे सौंपते हुए बाईजू । अरे ने घूर आश्चर्य भरी आवाज में कहा मैंने वो कागज का टुकडा उससे ले लिया । उसे लकडी की मेज पर उल्टा बिछाया थोडा पानी, उसकी पीठ पर छिडका और एक चाकू से छिद्र सफेद कागज सूरज कर हटाया प्रत्यक्षण सोने की अनिष्टकारी सोने की पीली चमक हमारी आंखों को चौधरी आने लगी । मैंने अपने काम भी उसका आएगी और अपने हाथ पसारती आप समझे कि हर तरह थे । मैंने कहा । उस बूढे आदमी ने पहले पूरी दीवार को सफेद कागज से ढक दिया । फिर उसने अपनी अशर्फियों को भर्ती में दबाया और उन्हें संधान परकोटा । तत्पश्चात उसने फ्रांस के कागज के पन्नों के बीच प्रक्रिया को उजडे पन से पूरा किया । संभव है उसने रात में अपना कमरा अंदर से बंद करने के साथ ही दीवार पर सोना चिपकाने का काम शुरू कर दिया और सुबह तक पूरी दीवार को ज्यादा महंगे वाले कागज से रख दिया । लेकिन के आने से पहले । तथापि बाद में हमें पता चला कि उसने सोने की मोटी मोटी पत्रों को दीवार पर वास्तव में कालीन बुनने की बेर एनजीके टांकों से जड दिया था । मेरी खोज के फलस्वरूप लॉर्ड महौल देके जेब में एक लाख बीस हजार पौंड से भी अधिक रनों कम आ गई और मैं इन शब्दों के साथ इस युवक की उदारता की प्रति सहर्ष आभार प्रकट करना चाहता हूँ कि उसने स्वेच्छा से मेरे मेहनताने का निपटान करने में कोई कोताही नहीं की और नगर के एक और मुख्य के रूप में मेरे बैंक खाते को सुदृढ कर दिया हूँ ।

9 - सख्त उबला अंडा

सख्त उबला अंडा, तख्ते के चर्च चटाक करने वाले, फर्स्ट से बचने के वास्ते, दीवार से सटकर चलते हुए दीवार पर कागज मरने वाला और रायॅल एजेंसी के कॉरस्पॉन्डेंस स्कूल ऑफ डिटेक्टिंग का छात्र धीरे धीरे उस शयन कक्ष के दरवाजे की तरफ बढ रहा था जो उसका और रहस्यपूर्ण श्री कृष्ण का साझा कमरा था । देखने में मिस्टर गम ऊंचे कद का दुबला पतला आदमी था जो किसी आधुनिक निपूर्ण व्यक्ति या एक मानवीय राज हंस की याद दिलाता था । स्वभाव से मिस्टर कब सज्जनता की मूर्ति और बहुत ही सरल ज्यादा आदमी था । अब अपने लंबे श्रीन बदन को जरूरत से ज्यादा झुकाते हुए उसने अपनी आंखे दरवाजे के चौखट में एक दरार पर ठीक थी । श्री गम की दृष्टि जहाँ तक जा सकती थी, उसी सीमित दायरे के अंदर रोस्को क्रेड अपना काम करते करते रुक गया और ध्यान से सुनने लगता हैं । उसने श्रीमान गजब की सांस की तेज सीटी सुनीता क्योंकि उसके साथ दरार में पहने किनारों से टकरा करा रही थी और वह समझ गया कि कोई उसकी जासूसी कर रहा है । उसने अपने मोटे ताजे हाथ अपने घुटनों पर रखें और दरवाजे की तरफ देखकर मुस्कुराया और उसी समय उसके चेहरे पर जीत की लाली मच्छा गई दरवाजे में दरार के जरिए तेरी कब को हाथ होने की मूवीज का ऊपर का हिस्सा दिख रहा था जिसकी बगल में रिकॉर्ड बैठे हुए थे लेकिन वह श्री क्रेडिट को नहीं देख पा रहा था । किन्तु जैसे ही उसने टका उसने एक मास्टर हाथ को वो स्टैंड पर पडी चीजों को एक एक कर उठाते हुए देखा । ये चीजे इस प्रकार पहली अंग्रेजी अखरोट के सात या आठ आधे आधे खोल, दूसरी रबड के जूते की एक रेडी जिसमें से एक टुकडा काट लिया गया था । तीसरी रबड की एक और छोटी गोली मटर के दाने के बराबर, चौथी एक कागज चढी किताब और अंतिम एक बडी और चमकदार पीले सोने की । जैसे ही हाथ में सोने की ईंट को पीछे क्या श्री कब ने और अधिक देखने के प्रयास में अपना चेहरा दरवाजे के ज्यादा करीब लगा दिया और तभी दरवाजा फटाक से खुला और श्री गब् अपने हाथों तथा घुटनों के बल शयन कक्ष की कालीन पर जाकर देंगे कौन ऑफ श्री? क्रेज ने कहा कौन? हाँ अपराधी को दंड मिला । आशा है कि आपको चोट लगी, गजब धीरे धीरे उठाना और एक जिराफ की तरह उसने अपने घुटनों को झाडा जो उस तरह भेद जानने और चुगलखोरी करना । श्रीकृष्ण ने जिक्र करते हुए कहा, इस तरह डराने की कोशिश की की मैं चक्कर खाकर गिर पडे । मैं कैसे जानूंगा कि ये कौन था । अगर तू मैं अंदर आना है तो सीधे चले आओ । इस तरह चोरी, चोरी, भेद जानने और गिरने की क्या जरूरत है? अच्छा उसके बात करते करते स्वीकृत जिसने बॉल स्टाॅपर से अखरोट के खोल रबर की ईडी, रबड की मटर के दाने जैसी गोली और सोने की पीठ हटा दी, वह गोलमटोल छोटे कद का आदमी था । उसका सिर्फ एक दम गंजा था और एक सफेद बुच्ची दारी यानी बकरे जैसी गाडी थी । उस की बातचीत के चलते उसने अपना सिर नीचे झुका लिया ताकि वो अपने चश्मे के शीर्ष से ऊपर देख सकें और उसके कपटी कुरूद के बावजूद हूँ । इतना दयालु शुभचिंतक मूल है भले मानो जैसा बिल्कुल नहीं लगता था । इस प्रकार का बोर्ड का भला मानुष जो एक छोटे से गांव में छोटी दुकान चलता है और लिखने के काम आने वाले कागज भेजता है जिसमें साहब उनकी गंदा आती है और शीशे के ढक्कन वाले शीशे के मर्तबान में से मिश्री की डंडी निकाल कर देता है । मैं कैसे जानूंगा की आप एक जासूस नहीं तो और क्या है । मैं उन जासूस श्री गभने दोनों में से एक पलंग पर बैठते हुए कहा मैं कॅश उसके पास रह रहा हूँ । आप कह सकते हैं घंटी बजाओ । श्री क्रेज नहीं रहा । अब मुझे कोई दूसरा कमरा तलाशने जाना पडेगा । ऍम उसके साथ नहीं रह सकता है । अच्छा अब क्रेज महाशय श्रीगर आपने कहा मैं नहीं चाहता की आप इस तरह पहुंचे ये जानकर की आप एक जासूस हैं । मैं और भी ज्यादा समझाने लगाओ । श्री कृष्ण ने शिकायती लहजे में कहा, और मेरे पेशे में रहने वाले आदमी का हाथ सो स्थिर सादा होना चाहिए । ठीक है या नहीं आपने मुझे अभी तक बताया नहीं है कि आपका पेशा किया है । श्री गर्ग ने कहा आपको ढोंग करने की जरूरत नहीं है कि आपको पता नहीं है । श्रीकृष्ण ने कहा बॉस्टन पर रखी चीजों को देख कर कोई भी महसूस समझ जाता । यही सही श्रीमान गभने कहा मैं अभी तक पूरा जासूस नहीं बनता हूँ । आप मुझसे अपेक्षा नहीं कर सकते कि पूरा जासूस जितनी जल्दी कोई चीज तलाश लेता है मैं उतनी जल्दी वो काम कर सकूँ । निसंदेह वो चमक पीईटी एक सोने की एक जैसी दिखती थी वो सोने की है । इसमें कोई संदेह नहीं । श्री कृष्ण ने कहा सच में श्रीनगर आपने कहा लेकिन मेरा मतलब भावना को आहत करना नहीं था । श्रीमान क्रिकेट जिस दृष्टि से आप देखते हैं, मैं कुछ कुछ सोचता हूँ । ठीक यही वो सोने की है जो आपने खरीदी थी । क्रिट्ज महोदय का चेहरा एक दम लाल हो गया । भला क्या हो गया? अगर मैंने इसे खरीदा तो उसने कहा वो कोई कारण नहीं है कि मैं इसे भेज नहीं सकता । सिर्फ इसलिए कि कोई आदमी एक बार या दो बार अंडे खरीदता है । अंडे बेचने का व्यवसाय करने वाले का ये कोई कारण नहीं बन जाता बनता है क्या? क्या मैं सिर्फ इस वजह से सोने की तो बेचने का काम नहीं कर सकता क्योंकि मैंने अपने जीवन में सोने की ईंट एक या दो ही खरीदी है । ऐसा है क्या? गम महाशय ने श्री ट्रेड्स को प्रकट आश्चर्य से घूरकर देखा । आपको चार बाजे ठंड नहीं है, बताइए हैं वैश्वीकृत उसने पूछा अगर मैं अभी तक नहीं हूँ तो ये इस बात का संकेत तो नहीं है कि मैं ऐसा हो नहीं सकता । श्रीकृष्ण ने दृढता से कहा किसी भी आदमी को इस पर हाथ आजमाने का उतना ही हक है जितना किसी दूसरे को विशेष करता हूँ जब किसी आदमी ने इसमें मेरा तजुर्बा हासिल किया है । श्रीमान कब ऐसी कोई ठग विद्या नहीं है जिससे मेरा पाला नहीं पडा । मुझे विश्वास में लेकर बहुत चला गया है । अपना दूसरों को विश्वास में लेकर चलो ना मैं वही करने जा रहा हूँ और मुझे कोई परेशानी नहीं होगी अगर कोई जासूस एक ही कमरे में मेरे साथ ना रहे । आजकल जासूस और चाल बाज की आपस में पटती नहीं । नहीं सर, अच्छा सर । गर्ग ने कहा, मैं उसका अर्थ समझ सकता हूँ, लेकिन आप को भी अन्यत्र जाने की जरूरत नहीं है । मुझे सच में जासूसी शुरू करने में अभी एक दो महीने और लगेंगे । मुझे कागज, मरने और ऊपर से सज्जित करने के कुछ काम मिले हुए हैं और मैं अपना भाग्य कतारा मिलने तक खुफियागिरी शुरू नहीं कर सकता । किसी भी तरह और मुझे अपना स्टार तब तक नहीं मिलेगा जब तक मैं एक और पांच नहीं पढ लेता हूँ । उसे सीखता नहीं हूँ और परीक्षा पत्र में अपने नाम से भेज नहीं देता हूँ । डिप्लोमा के लिए पांच डॉलर अलग से देने होंगे । फिर में नियमित रूप से अपना ही काम कर सकूंगा । ये एक अच्छा धंधा है । हर रोज नए नए चालबाज निकल करा रहे हैं । शमा करें मेरे कहने का मतलब वो नहीं था । वो सब ठीक है । श्रीकृष्ण ने निर्माही से कहा, साफ साफ बात कहना ठीक होता है अगर मैं अभी तक एक धूर्त नहीं हूँ, जल्दी बन जाऊंगा । मुझे पता नहीं था कि आप इस बारे में कैसा महसूस करेंगे । श्री गन्ने सफाई थी ऍम स्कूल ऑफ डिटेक्टिंग के पाठों में चतुराई से काम लेने की बडी सिफारिश की जाती है । स्लो काम वहाँ हूँ । श्रीकृष्ण इतने जल्दी से पूछा, आपने हर सून और फार्म साइड में विज्ञापन नहीं देखा । क्या देखा आपने? वो हूँ स्लो काम ओहायो श्रीनगर ने कहा, और वही अखबार ना जिसमें मैंने वहाँ पर देखा । जासूसी में पैसा ही पैसा एक जासूस बने । हम आपको बारह सबका ने शरलॉक होम्स के बराबर बना देते हैं । क्यों यही वाला ठीक सर श्रीमान? क्रिकेट ने कहा अजीब है वो विज्ञापन उस अखबार के एकदम शीर्ष पर था और मैंने उसे बडे ध्यान से बढा । इससे पहले कि मैं अपना निश्चय कर पाता कि क्या मेरे एक जासूस बनना और उन लोगों को जेल में डलवा कर अपना हिसाब बराबर करना होगा जिन्होंने मुझे धोखे से सोने की तथा अन्य चीजें भी चीज यहाँ ये किताब मंगाकर जो ठीक ऍम स्कूल के नाम तो विज्ञापित की गई थी । हालात एक समान कर दूँ । मैंने जीवन निर्वाह करने के लिए क्या क्या नहीं किया मैं ही जानता हूँ । शुरुआत के लिए मेरे पास को चीजों का छोटा मोटा भंडार था जिसमें बढिया सोने की थी और कुछ मेरी खरीदी गई हरित वस्तुएं थी । और ये किताब सिर्फ एक चौथाई डॉलर की पडी और एक चौथाई डॉलर के लिए । ये किताब एक हमर है एक हमारे उसने कागज चढी । किताब अपनी जेब से निकली और श्री कब को सौंपती? किताब का शीर्षक था भी कम्पलीट ऍम जिसे किंग ऑफ ॅ लिखा था, मूल्य पच्चीस ऍम ये वो किताब है । क्रिट्ज ने इतनी गर्व से कहा जैसे ही उसकी ही लिखी हुई हो ये किताब वो सब कुछ बताते है जो एक आदमी को ठग विद्या पर काम करने के लिए जानना जरूरी है । एक बार में से पूरी पीता हूँ । फिर कोई भी चाल चलने में मुझे डर नहीं लगेगा । बेशक मुझे छोटे छोटे करतबों से शुरू करना पडेगा । आरंभ में मुझे उम्मीद नहीं है कि मैं बाहर में जोड लगाकर सुनने का खेल दिखा सकूंगा क्योंकि उसके लिए मिल कर काम करने वाली एक टोली की जरूरत होती है । क्या तुम किसी को जानते हूँ जिसे तुम टोली में शामिल होने के लिए कह सको । नहीं तो मत करो गम मोहन देने विचारपूर्वक कहा आप मेरा सहयोगी बनने के लिए बिल्कुल ठीक रहेंगे । आप कुछ कुछ इमानदार लगते हैं, बहुत होशियार किस्म की नहीं । और ये बात बहुत महत्व रखती है या इस आसान से छोटे खोल वाली खेल में भी मुझे शिंबुन चाहिए । एक ऐसा शिंबुन चाहिए जिस पर मैं भरोसा कर सकूँ जिससे मैं इस रूप में पेश कर सकूँ कि देखने वालों को लगे कि वह मुझ से पैसे जीत रहा है । आप समझे उसने वो स्टैंड की तरफ बढती हुए स्पष्ट किया । खोल का ये खेल बहुत आसान है जब आप ये जान लेंगे कि ये कैसे खेला जाता है । मैं तीन खोल एक मेज पर इस प्रकार नीचे रखता हूँ और फिर मैं रबड की मटर के दाने जितनी गोली नेट पर रख देता हूँ । इसके बाद में तीन खोल हाथ में लेता हूँ । इस तरह दो एक हाथ में और एक दूसरे हाथ में और मैं उन्हें इस गोली के चारों तरफ खिलाता हूँ । हो सकता है मटर के दाने के बराबर उस गोली को थोडा इधर उधर धकेल दू और फिर मैं कहता हूँ बढो हो हाथ आंख से अधिक तीव्र होती है और मैं अचानक खोलों को नीचे रख देता हूँ और आप सोचते हैं कि मटर का दाना अथवा गोली किसी खोल के नीचे हैं । इस तरह मैं नहीं समझता कि गोली उनमें से किसी एक के नीचे श्री कब ने कहा मैंने उसे फर्श पर लुढकते देखा है ये उस समय फर्श पर लडकी जरूर थी । श्री कृष्ण ने शर्मा पूर्व कहा फिर भी सामान रहा ये अधिकतर मेरा कहाँ मानती है अभी तक इस ने पूरी तरह ठीक से सीखा नहीं । ऐसे इस तरह काम करना चाहिए वो चीज ही ये फिर फर्स पर चली गई । उस वक्त है पलंग के नीचे गई थी । अब यहाँ इसको इसी तरह काम करना चाहिए । लोग ये फिर गायब हो गई । आम लोगों के सामने करतब दिखाने से पहले आपको इस खेल का काफी अभ्यास करना होगा । क्रिकेट बहुत है । गबनी गम्भीरता से कहा क्या ये बात मैं नहीं जानता हूँ? श्री कृष्ण ने कुछ अधिक व्यग्रता से कहा ठीक वैसे ही जैसे आपको भेद लेने का अभ्यास करना है । श्रीमान कब संभव है आपने सोचा हूँ की मुझे पता नहीं है । कल रात में जिधर भी गया । आप मेरी तो ले रहे थे आपको पता था छुट्टी कब ने पूछा चेहरे पर साफ झलकते । आश्चर्य के साथ मैंने रात नौ बजे से ग्यारह बजे तक एक एक क्षण आपको देखा था । श्रीकृष्ण ने कहा, मुझे ये भी अच्छा नहीं लगा । मेरा इरादा को नाराज करने का नहीं था । श्री गभने क्षमा याचना की मैं सबका चार का अभ्यास कर रहा था । आपको बिल्कुल भी ये जानने की जरूरत नहीं थी कि मैं यहाँ हूँ । फिर मुझे ये पसंद नहीं आया । श्रीकृष्ण ने कहा, पिछली रात तो फिर भी सब ठीक था क्योंकि मेरे हाथ में कोई महत्वपूर्ण काम नहीं था । लेकिन अगर मैं ठाक विद्या का अभ्यास कर रहा होता है तो वो व्यक्ति क्या सोचता जिसका मैं हर जगह पीछा कर रहा था । मेरा इस तरह उसका पीछा करना क्या उसे अजीब नहीं लगता? अगर आप चुपके चुपके और सावधानी अथवा प्रच्छन्न में रूप से काम करते हैं तो मुझे बुरा नहीं लगता । किन्तु अगर कोई ग्राहक सात में होता है और उसने आपको देख लिया होता तो उसे व्यर्थ में घबराहट हो जाती है । वो सोचता है कि एक झक्की आदमी हमारा पीछा कर रहा है । मैं सिर्फ अभ्यास कर रहा था । श्री गभने क्षमा याचना की । ये इतना बुरा नहीं होगा जब मैं इसके गुण सीख लूंगा और उसमें परवीन हो जाऊंगा । कभी कभी हम सबको नौ से क्या बनना पडता है, मैं ऐसा नहीं मानता हूँ । श्रीकृष्ण ने तीनों खोल और रबड की छोटी गोली को पुनर्व्यवस्थित करते हुए कहा, अच्छा अब मैं गोली को इस प्रकार नीचे रखता हूँ और मैं आपको ये बाजी लगाने की चुनौती देता हूँ कि ये गोली किस खोल के नीचे जाने वाली है और बाजी नहीं लगाना चाहते हो तो देखो तहां मैं खोल को नीचे रखता हूँ और आप शर्त लगाने को तैयार है कि आपने मुझे पहला पोल गोली के ऊपर इस तरह रखते देखा है । इसलिए आप अपनी दृष्टि उस फोन पर लगाए रखते हैं और मैं खोलों को इस प्रकार इधर उधर करता हूँ । गोली उसी खोल के नीचे हैं । गप महाशय ने कहा ठीक है वही श्रीकृष्ण ने संजीदगी से कहा लेकिन यहाँ नहीं होना चाहिए था । जिस समय नहीं खोलो को इधर से उधर घुमा रहा था । इसे खोल के नीचे से निकल जाना चाहिए था और मुझे से उंगलियों के बीच पकड लेना चाहिए था और इस तरह का खडे रहना चाहिए था कि कोई उसे देखना पडेगा । फिर जब आप कहते हैं की गोली किस खोल के नीचे हैं । ये किसी भी खोल के नीचे नहीं होती । मेरी उंगलियों के बीच होती इसलिए जब आप अपना पैसा नीचे रखते हैं, मैं आपको वो फोन ऊपर उठाने के लिए कहता हूँ और उसके नीचे कुछ नहीं रहता और इससे पहले क्या पर दूसरे खोल उठाएं । मैं एक फोन उठा लेता हूँ और मैं बोली को मेज पर इस प्रकार गिर जाने देता हूँ । जिस प्रकार ये सारे समय उसको बोल के नीचे पडी रहती थी यही खेल है । अब तक मैं इस में दक्षता हासिल नहीं कर पाए होंगे । गोली उंगलियों के बीच जबकि नहीं रहती है और जब ये उंगलियों के बीच अटक जाती है तो सही समय पर गिरती नहीं । उस बात को छोड दें तो शेष प्रदर्शन में गोली ने आपका सही साथ दिया है क्या आपने मना श्रीनगर आपने पूछा सेवाएँ उसके श्रीकृष्ण ने कहा और मैंने उसे पकड लिया होता । मेरी उंगलियां ही टूट दार हैं । वहाँ आप क्या कहना चाह रहे थे । अगर मैं महसूस नहीं बन पाया तो आप मुझे साथ रखेंगे श्रीनगर । आपने पूछा आपको जो काम करना होगा वो होगा कैम्पिंग का काम । श्रीमान क्रिज ने कहा उसके लिए पेशेवर नाम है क्या? पर आपको कल्पना करनी होगी गोली किस खोल के नीचे दी वो आसान होगा जिस प्रकार आप अब करते हैं । श्री गर्ग ने कहा मैंने आपको बताया मुझे बेहतर ढंग से सीखना होगा क्या नहीं सीखना होगा । श्री क्रिज ने व्यग्रता से पूछा आप क्या पर होंगे और आपको अंदाजा लगाना होगा की गोली किस खोल के नीचे है । आपका अंदाजा चाहे जो मैं इसे उस खोल के नीचे छोड दूंगा ताकि आप जीत जाएगी और आप हर बार बाजी लगाने पर दस डॉलर जीतेंगे लेकिन रखने के लिए नहीं । इसलिए मुझे ईमानदार क्या पर की जरूरत होगी मैं समझ सकता हूँ । श्री कब ने कहा लेकिन मुझे जीत नहीं देने का क्या फायदा? अगर मुझे जीती हुई रकम वापस करनी होगी वहीं से बोले वाले लोगों को जाल में फंसाने की शुरुआत होती है । श्रीमान क्रिट्ज ने कहा, वो दो लोग देखते हैं कि आप जीते हुए कैसे लगते हैं और वो भी देखना चाहते हैं लेकिन वो नहीं देते जब वो बाजी लगाते हैं । जीत मेरी होती है । ये कोई खराब खेल नहीं है । श्री गभने गम्भीरता से कहा क्या ऐसा है एक साल बाद से ईमानदार होने की आशा नहीं करनी चाहिए । श्री कृष्ण ने कहा इसके पीछे तर्क है अगर एक ठक ठक बनना चाहता है तो उसे ठग बनना चाहिए क्या नहीं आम देशक श्री कब ने कहा मैंने इसे उस नजर से नहीं देखा था जहाँ तक मैं समझता हूँ । किसने कहा मैं जितना अधिक जानूंगा की एक जासूस किस तरह काम करता है मैं उतना ही अधिक सुखी समृद्ध रहूंगा जब मैं असल काम धंधा करना शुरू करूंगा । क्या ऐसा नहीं है? मेरा अनुमान है जब तक मैं काम की बारीकियों में माहिर नहीं हो जाता तब तक मैं यही ठहरूंगा । आपको ऐसा कहता सुनकर मैं खुश हूँ । श्री गवने राहत महसूस करते हुए कहा तो मुझे अच्छे लगते हो । तुम्हारी सूरत शक्ल अच्छी है और ये करने की जरूरत नहीं । अगली बार मेरा किरायेदार कौन हो सकता है? मुझे कोई ऐसा साथ ही मिल सकता है जो सच्चा नहीं था तो ये करार हो गया और श्री क्रिड बॉस टाइम पर खडे खडे रबड की छोटी गोली तथा तीनों खोल को लेकर कारस्तानी करने में लगे रहे जबकि गम मोहंते पलंग के किनारे पर बैठ के और रॅाव एजेंसी के कॉरस्पॉन्डेंस स्कूल ऑफ डिटेक्टिंग का सातवाँ सबका सीखने में लीन हो गए । श्रीमान क्रिड फिलहाल जिस समय नन्ही गोली को साधने का अभ्यास करने में लगे थे । उसने श्री कब को क्या पर की भूमिका निभाने के लिए कहा और जब जब श्रीमान कब जीते थे वो हर बार उसे पांच डॉलर का नोट पकडा देते । फिर श्रीगर बिक मूर्ख की भूमिका में आ गए और श्री कृष्ण इसने अपना सारा पैसा वापस जीत लिया । एक मूर्ख को हराने की खुशी उसके चेहरे से टपक रही थी और इसी खुशी में हस्ते हस्ते उसे इतनी जोर की खांसी आई कि उस पर काबू करना उसके लिए बहुत मुश्किल हो गया । उसकी खांसी जब तक नहीं रुकी तब तक उसने हाथ होने वाले पानी के घडे में से पानी निकाल कर नहीं पी लिया । वो कभी भी ऐसा नहीं लगा जैसे ये वही दयालू किस्म का बूढा भला मानुस हो जो एक छोटे से गांव में कैंडी काउंटर के पीछे बैठा होता था । वो वो स्टैंड पर झुका हुआ रबर की उस बहुत छोटी गोली को साधने में लगा रहा है । मानव गोली ने उसे मंत्रमुग्ध कर दिया हूँ । क्या यह विचित्र बात नहीं है कि कोई व्यक्ति किसी चीज के आकर्षण में एक बार ही इतनी बुरी तरह फंस जाए? उसने कुछ देर के बाद कहा, अगर ये ऐसा नहीं होता है जिसके लिए मैं इतना अधिक उत्सुक था तो मैं उसके साथ सप्ताहों तक बेवकूफी करता रहता है और कहीं नहीं पहुंच पाता । मेरी दिली इच्छा है कि आप मेरे लिए कुछ समय तक क्या पर का काम करें जब तक की मुझे कोई मिल नहीं जाता । मुझे अपना सारा समय अध्ययन में लगाना है । श्री हमने कहा जासूसी को डाक के जरिए सीखना आसान नहीं है, इस समय हूँ । श्रीकृष्ण ने कहा मुझे सच में आप सोच है हो सकता है अगर मैं आपके समय और कष्ट के लिए आपको एक रात की पांच डॉलर चुका हूँ । क्या कहते हूँ गम महाशियन सोच विचार किया अच्छा मुझे पता नहीं । उसने धीरे से कहा उस तरह की मदद करने के लिए मुझे पैसे लेना अच्छा नहीं लगता हूँ । अब उस तरह सोचने की कोई आवश्यकता नहीं । श्री कृष्ण ने कहा आप के वक्त की मेरे लिए कुछ कीमत है । सोने की ईंट के इस खेल का गुण सीखने के लिए ये मेरे वास्ते बहुत महत्व रखता है । मैं एक बार इसमें कौशल हो जाऊँ फिर इस प्रकार के सोने के हिट भेजने में मुझे कोई तकलीफ नहीं होगी । एक ही एक हजार डॉलर से अधिक में मिलेगी । सीट के लिए मैंने खुद पंद्रह सौ डॉलर चुका है और मैं समझता हूँ मुझे सस्ती बडी बढिया फायदे का सौदा है क्योंकि इस ईद की कीमत एक सौ डॉलर से एक्सेंट भी ज्यादा नहीं । मैं जानता हूँ क्योंकि मैं से खरीदने के बाद से लेकर बैंक गया था और यही कीमत है जो इसके बदले वह मुझे देने के लिए तैयार थे । सीखने के दौरान मुझे सहयोगी की जरूरत है जिसके लिए कुछ तो डॉलर चुकाना मेरे लिए कोई बडी बात नहीं । मैं आपको आसानी से कुछ डॉलर चुका सकता हूँ और उतने ही आपके किसी दोस्त को भी । खैर श्री कब ने कहा मैं नहीं जानता हूँ लेकिन उस तरह से जो थोडा बहुत मैं कमा सकता हूँ । कोई भी दूसरा काम आ सकता है । मेरा एक दोस्त है वो बीच में ही रुक गया आपका इरादा उसको सोने की तो बेचना तो नहीं क्या यही बात है श्रीकृष्ण की आंखे उनकी चश्मे के पीछे चौडी हो गई कसम से नहीं । उन्होंने कहा था ठीक है मेरा एक दोस्त है शायद वो आपकी मदद करने को तैयार हूँ । श्री गर्ग ने कहा उसे क्या करना होगा आप हूँ । श्री कृष्ण ने कहा वो आगे आगे रहेगा और ही खरीदने का ढोंग करेगा । और आप क्या आपका वो दोस्त ऐसा स्वांग करेगा जैसे ही सीट को बेचने में मेरी मदद कर रहा हूँ, ईद पाने के लिए बेहतर बाजी लगा सकते हैं क्योंकि आप बुद्धू जैसे देख सकते हैं और जिस व्यक्ति के पास ही है उसे सुनिश्चित करना होगा कि आप झांसे में आ जाए हूँ । मैं हर हालत में एक हद से ज्यादा मोर लग सकता हूँ । श्रीगर अपने घर से कहा पक्का होता हूँ । श्री कृष्ण ने कहा । और फिर ये तय हुआ कि सोने के ईद के खेल का पहला अभ्यास अगली शाम होगा लेकिन जैसे ही श्रीनगर वहाँ से हटे श्री कृष्ण ने बडी होशियारी से जासूसी के छात्र की कोर्ट की जेब में कुछ डाल दिया । अगले दिन लगभग दोपहर का समय था जब श्री क्रिड अपने चश्मे के ऊपर से झाकते और लेह की हांडियों से बचते बचाते खाली मकान की बैठक खाने में दाखिल हुए । जहाँ श्रीमान गब् काम कर रहे थे । मैं यूपी घूमते घूमते चलाया । श्री क्रीड ने कुछ अधिक संकोच से कहा आपसे ये कहने की अभी आपने दो से कुछ ना करें । मुझे लगता है वह करार खत्म हुआ । श्रीनगर आपने कहा आप का मतलब ऐसा नहीं है । दो सौ रुपए करने जैसा कुछ भी नहीं आप समझे । श्री कृष्ण ने अच्छा से कहा लेकिन ऐसे छोडना ही बेहतर होगा । बेशक जहाँ तक मैं जानता हूँ आप सही है । मैं नहीं जानता असल में आपका निष्कर्ष क्या है? श्री कब ने कहा आप खुलकर कहते क्यों नहीं? अरे मुझे इतना अधिक और इतनी बार तो किया गया है । श्रीकृष्ण ने कहा लगता है कोई भी किसी भी समय और किसी भी तरीके से मुझ से पैसा हो सकता है और मुझे इसी चीज के बारे में सोच विचार करना है । आप के बारे में कुछ नहीं जानता है क्या मैं जानता हूँ और यहाँ मैं आपको एक सोने की एक देने जा रहा हूँ जिसकी कीमत मैंने पंद्रह सौ डॉलर चुका हूँ और मैं आपको बाहर जाने देता हूँ और इंतजार करने देता हूँ । जब तक की मैं इसके लिए आपके दोस्त के साथ नहीं आता । और हाँ अगर आप सीट को लेकर चले जाते हैं और कभी वापस नहीं आती तो आपको ऐसा करने से कौन रोकने वाला है श्री गम ने श्रीकृष्ण इसको हक्का बक्का होकर देखा । मैं गया था और मैंने तो उसको बता दिया है । उसने कहा वो आने को पूरी तरह तैयार है । मुझे ये कहना अच्छा तो नहीं लगता है । श्रीकृष्ण ने कहा, लेकिन हम में नोट गिनने आया जो मैंने आपको बाजी लगाने के लिए दिए थे तो पाँच डॉलर काम निकले मैं जानता हूँ । गर्ग ने कहा, कहते हुए उसका चेहरा सुख हो गया और अगर आप मेरे कोर्ट तक जाएँ तो आपको मेरी जेब में मिलेगा जो मैं आपको वापस करने वाला था । मुझे नहीं पता ये किस तरह मेरे जेहन में पहुंच गया । शायद मुझ से चूक हो गई जब मैंने बाकी नोट आपको वापस किए । ठीक मुझे अनुमान था कि ऐसा ही हुआ होगा । श्री कृष्ण ने नम्रतापूर्वक कहा आप ईमानदार हैं, आप ऐसे लगते नहीं है श्रीमान कब? लेकिन एक हजार डॉलर मूल्य के सोने की जिसके लिए बैंक एक सौ डॉलर देगा । मुझे किसी पर भी इतना विश्वास करने से बचना होगा । श्री क्रीड सच में परेशान था अगर आप के सिवा कोई और होता । उसने सायास कहा मैं एक ईटकी लागत वसूलने के लिए उससे सौ डॉलर पहले ही रखवा लेता हूँ । मैंने कह दिया और मुझे लगता है कि आप पागल है । मैं पागल नहीं हूँ । श्री कब ने विरोध किया जब तक आप मुझे और बेटे को पैसे देते रहेंगे ये कारोबार चलता रहेगा । मैं इस बात के पीछे नहीं पडा हूँ की ईद की कीमत कितनी है । श्रीकृष्ण ने राहत की गहरी सांस ली । आप नहीं जानते मुझे ये सुनकर कितना अच्छा महसूस हो रहा है । उसने कहा मानव जाति में मेरा बच्चा कुछ विश्वास भी उठने लगा था । श्री कब ने वॉलस्ट्रीट पर मुख्य सडक से दूर पाई वैगन में शाम का अपना किफायती खाना खाया जहाँ दिन में पाई वैगन पेटी हल्की भोज्य पदार्थ वितरित करता था और ऍम पेटी वो दोस्त था जिसे उसने श्रीकृष्ण की उदारता में हिस्सा लेने के लिए न्योता दिया था । चूडी गब् उसके सामने काम का प्रस्ताव रखने और वो उसे स्वीकार या अस्वीकार करता उससे पहले ही पाई । बैगन बेटे के होठों पर गोपनीयता की सील जहाँ भी गई थी और जब श्रीगर आपने संध्या भोज के लिए रुके आॅप्रेटिंग काम से निजात पाकर अब उसका ही इंतजार कर रहा था श्रीकृष्ण और उसके ठग विद्या संबंधी शौकिया कारोबार का किस्सा सुन कर आई वजन बेटे का मन गदगद हो गया । उसे विश्वास नहीं हुआ कि कितनी अधिक मासूमियत भी मौजूद है । शायद उसे विश्वास नहीं हुआ के ऐसा भोलापन भी मौजूद है क्योंकि वो शहर से था और रिवर बैंक में बस ने से पहले उसके संगी साथियों का चाल चलन अच्छा नहीं था । वो पहनी आंख रखने वाला आदमी था । उसका सर लाल था । मुठ्ठी कठोर थी और उसके चेहरे पर एक लंबा चोट का निशान था और श्री गन्ने उसे श्री क्रिड तथा उसके कार्य के बारे में बताया था तो उसे इसमें एक देहाती में हमने को मूंडने का एक अच्छा अवसर नजर आया । आज रात क्या होने वाला है । फिर वो उसने श्री गजब के नजदीक स्कूल पर बैठते हुए पूछा । बिल्कुल ठीक श्री कब ने कहा सारा बंदो बार संतोषजनक हो गया है । ठीक नौ बजे घाट बाडा चौकी के पास पुरानी हाउस बोट पर रहूंगा । इसके साथ ही श्री गभने जमादार की पीठ पर नजर डाली और अपनी आवाज धीमी करके और श्री क्रेड तुझे वहाँ लेकर आएंगे । नौ बजे ऍम बोला मैं उसे आपके कमरे में मिलता हूँ क्या ये ठीक नहीं रहेगा तो उसे नौ बजे रिवर बैंक होटल में मिलूं । श्री कब ने कहा ऐसा समझो जैसे हकीकत में होता है । मैं अपने कमरे की तरफ जा रहा हूँ । उसे पैसे देने के लिए कौन से पैसे पाई? वेगन बेटे ने तुरंत पूछा ही तुम समझा करूँ? श्रीगर आपने कहा वो ऐसा आदमी है जो विश्वास नहीं करता हूँ । उसके हाथ में जब तक पैसा नहीं पहुंचेगा वह भरोसा नहीं करने वाला । उसके लिए पैसा ही सब कुछ है । इसलिए मैंने सोचा मैं एक सौ डॉलर रख देता हूँ । बिल्कुल ठीक है । फॅमिली ऍम उसने श्री गप पर नजर डाली जो सेब का समोसा भुक्कड की तरह खा रहा था और उसके बारे में एक नई दृष्टि से विचार क्या एक्सॅन आप इसी समय सौ डॉलर जमा रखने के लिए देंगे और वो आपको नौ बजे मिलेगा और मुझे पौने नौ बजे शिकागो के लिए आठ टाॅपर छोडती है । हाउस बोट और होटल के बीच आधे रास्ते बोलो तो कभी ये बूढा आदमी दिखता कैसा है? श्री गजब की जुबान यदपि वर्णन करने की अभ्यस्त नहीं थी । फिर भी उसने श्री कृष्ण जी के व्यक्तित्व का ब्यौरा देने की भरसक कोशिश की और जिस प्रकार उसने बोलना शुरू किया ऍम बेटे को सुनने में मजा नहीं लगता । गुलाबी और गंजा उसका फिर एकदम ऊपरी हिस्सा यानी खोपडी सकता । उबले अंडे जैसी है । उसके चेहरे पर चोट का निशान नहीं है, उस शैतान के बारे में और क्या कहूँ? हाँ, छोटा कद और थुलथुला बदन और सच मुझे बूढा बिहार से ज्यादा नीली आंखें उसे खासी का दौरा पडता है । कहता है और खास खास चेहरा भी हो जाता है । बिल्कुल ठीक सर एक बिलकुल नए नवेले जासूस के वास्ते आपने बहुत अच्छा किया है सुनु जिम गब्बी के पास एक सख्त उबला अंडा है । जमादार का कॉफी का प्याला गिरते गिरते बचा जाॅन आपने नहीं ये ठीक है और सामान के साथ उसे पकड लिया । कहने दो सुनो गंभीर पाई रेगन पेटी ने पांच मिनट तक बात की जबकि श्री कब चौडा हो खोले बैठा रहा । देखो स्पाईवेर गन्ने अंत में कहा आप मेरा जिक्र बिल्कुल ना करें, किसी का भी नाम ना ले सिर्फ उस चीज को कहीं और । यहाँ तक उसका पीछा करने और माल के साथ उसे पकडवाने का इंतजाम करने के बाद श्री विटेकर । अब आपको देखना है देखिए और आप की बात कहते हैं उसे आपके साथ दो चार साल भेजने का आग्रह करें और अगर वो ये कर सकते हैं तो वो उस कठमुल्ले को नकदी लेते पकडेंगे कल जब सुबह के अखबारों में खबर छपेगी तब पुराने खुफिया और शरलॉक होम्स उसमें नहीं होंगे । समझे गभने समझ लिया जब वो उसकी शयन कक्ष में दाखिल हुआ क्रिड उसका इंतजार कर रहा था । समय आठ बजे के थोडा ऊपर था शायद सवा आठ बजे होंगे । श्री कृष्ण ने ऐसा लगता था सोने की ईद अखबार में अच्छी तरह से पेट रखी है और उसने अपनी सोम में नीली आंखे उठाकर देखा था । वो कम्पलीट कॉनमैन पड रहा था और श्री गब् के अंदर आते ही उसने अपना चश्मा माथे पर चढा लिया । मैंने वही तो कागज में अच्छी तरह लपेटकर आपके लिए तैयार रखी है । उसने अपने हाथ से उस तरफ इशारा करते हुए कहा ताकि आप जब सडक से जा रही हूँ ये चमके नहीं । अगर शहर में सोने की ईंट होने की खबर फैल गई तो लोगों को कुछ कुछ बंदे हो सकता है । सुभाव नहीं रह सकते । बाहर निकलने के लिए है ना । आज दोपहर मुझे अपनी पत्नी से खत्म मिला वो भी बंद कर के हजार किसकी । वो कहती है इससे उम्मीद है कि मेरा काम अच्छा चल रहा है । रैली का दौरा पड जाएगा अगर उसे पता चल गया कि मैं क्या कारोबार कर रहा हूँ । खैर तो समय निकल रहा है मैं काम लेकर आया हूँ । श्री कब ने अपनी जेब से पैसा निकालते हुए कहा ये जरूरी तो पता ही नहीं लगता । लगता है क्या । श्रीकृष्ण ने सौम्यता पूर्व कहा लेकिन मैं समझता हूँ कि ये भी है ऍम मैं जैसे अभी आपने कोर्ट में रख कर आता हूँ । श्री गभने सोने की ईंट उठा ली थी और संरक्षण उसने ईद को डेढ जाने दिया । एक बार फिर झट से दरवाजा खुला था लेकिन इस बार ये तीन तगडी पुलिस वालों के लिए खुला है जिन्होंने अपनी पिस्तौल श्री कृष्ण पर तांदी उस गोलमटोल नाते आदमी ने एक निभा डाली और अपने हाथ खडे कर दिया । ठीक है बच्चों आखिर तुमने मुझे पकड नहीं लिया । उसने बिलकुल दूसरी आवाज में कहा और उन्हें अपनी बाहें पकडने दी । उसने पुलिस की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया लेकिन श्री कब को नजर भर देखा जो हीट पर निपटा कागज हटा रहा था ईद को अच्छी तरह देखा तो वही साधारण ईद निकली जो खरंजे लगाने के काम में आती है वो सुस्त और भावशून्य लग रहा था कहूँ श्री कृष्ण ने श्री कब से कहा मैं दुराचारी व्यक्ति हूँ । आपने मुझे सही ढंग हमारा । मुझे नष्ट करने में आपने कडी मेहनत की और अच्छा चल बिछाया । मैं समझता था की मैं आप सबको बर्नर से यहाँ तक भली बातें जानता हूँ लेकिन आप मेरे लिए बिल्कुल नए हैं । वैसे आप कौन हैं? श्री गभने ऊपर देखा मैं । उसने गर्व से कहा क्यों? किस लिए मैं कब रिवरबैंक आईओवा का सर्वोत्तम जासूस?

10 - रहस्यमय रेल यात्री

रहस्यमय रेलयात्री मैंने अपनी मोटर कार पिछले दिन सडक के रास्ते रोवेन भेज दी थी और मैं ट्रेन से उसे मिलने वाला था । फिर मुझे आगे कुछ दोस्तों से भेंट करने जाना था जिनका सीन पर एक घर है । पेरिस से चलने के कुछ मिनट पहले मेरे डिब्बे में सात भलेमानस घुसाए जिनमें से पांच लोग धूम्रपान कर रहे थे । फास्ट ट्रेन से सफर यदपि छोटा पडता है । फिर भी ऐसे लोगों की संगती में सफर करना मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा था । विषेशकर इसलिए भी क्योंकि पुराने चलन की गाडी में कोई गलियारा अर्थात कॉरिडोर नहीं था । अतः मैंने अपना ओवर कोट उठाया, अपने अखबार समेटे अपनी रेलवे गाइड उठाई और पास की बोगियों में से एक में जाकर शरण ली । इस डिब्बे में एक महिला बैठी थी । मुझे देखकर उसमें कुछ खीज प्रकट की जो मेरी नजर से बच नहीं पाई और वह पायदान पर खडे एक भद्रपुरुष की तरफ झुक गई । बेशक वो उसका पति था जो से विदा करने आया था । उस सज्जन ने मुझे बडे ध्यान से देखा और इस तरह मेरा निरीक्षण करने के बाद उसका निर्णय मेरे पक्ष में गया क्योंकि उसमें बहुत धीमे स्वर में अपनी पत्नी को कुछ कहा और मुस्कुराया जो इस बात का संकेत था कि सब ठीक है । चिंता करने की कोई बात नहीं । जिस तरह हम एक भयभीत बच्चे का धानक मानती है, पलट कर वो भी मुस्कुराई और मेरी तरफ उसने एक मित्रवत दृष्टि फेंकी मानो उसने अचानक महसूस किया हो की मैं उन सब है एवं सुशील लोगों में से एक है जिसके साथ कोई महिला छह वर्ग फीट के एक छोटे डिब्बे में एक दो घंटे तक बिना किसी भय के बंद रह सकती है । उसके पति ने उससे कहा, बुरा मत मानना है लेकिन मुझे एक अत्यावश्यक कम है और मैं ज्यादा नहीं रोक सकता । उसने पत्नी को प्यार से चूमा और चला गया । उसकी पत्नी ने भी खिडकी से कुछ चुनियां उसकी तरफ उछाली और अपना रोमांस हिलाया । इसके बाद गार्ड ने सी बीमारी और ट्रेन चल पडी । उसी क्षण और रेल पदाधिकारियों की चीख चिल्लाहट के बावजूद दरवाजा खुला और एक आदमी हमारे डिब्बे में जबरन घुसाया । मेरे साथ यात्रा कर रही महिला जो खडी होकर ऊपर टाइम में अपना सामान व्यवस्थित कर रही थी, डर के मारे चीख पडी और अपनी सीट पर धर्म से गिर गई । मैं कोई कायर नहीं हूँ, उस से बहुत दूर हूँ । लेकिन मैं स्वीकार करता हूँ कि आखिरी शरण में है । अचानक इस प्रकार की घुसपैठ हमेशा खीज पैदा करती है । घुसपैठ की ऐसी घटनाएं बहुत संदिग्ध और अस्वभाविक प्रतीत होती हैं । इनके पीछे जरूर कोई गलत भावना होती होगी । अन्यथा तथापि नवागत कि सूरत शक्ल और उसका आचरण डिब्बे में अचानक घुसाने की उसकी तरीके से उत्पन्न बुरे प्रभाव के विपरीत था । उस की पोशाक बहुत साफ सुथरी और आकर्षक थी । उसकी टाई से उसकी बढिया पसंद का पता चलता था । उसके दस्ताने एकदम साफ थे । उसका चेहरा प्रभावशाली था लेकिन उसके चेहरे की बात करते मुझे ध्यान नहीं आ रहा था कि मैंने पहले ही चेहरा कहाँ देखा था । क्योंकि ये चेहरा मेरा देखा हुआ था । इसमें किसी संदेह की गुजारिश नहीं थी । यह सच कहूँ तो मुझे ऐसा अवश्य महसूस हुआ कि कोई बार बार देखी हुई ऐसी तस्वीर जरूर मेरी याद में बसी हुई है जिसका मौलिक रूप मैंने कभी नहीं देखा । और इसके साथ मैंने ये भी महसूस किया कि ये ऐसी याददाश्त को जब जोडने का कोई भी प्रयास व्यर्थ है जो इतनी बेमेल और अस्पष्ट होगा । लेकिन जब मैंने अपनी निभा वापस उस महिला पर डाली, मैं उसके पीले पडे और बिगडे चेहरे को देखकर हैरान रह गया । वो अपने पडोसी को पूछ रही थी वो सवारी डिब्बे के उसी तरफ बैठा हुआ था । उसकी आंखों में सच्चा भेज लग रहा था और मैंने उसके एक हाथ को समय खाते हुए देखा जब वो अपना हाथो ट्रेवल बैग तक बढाने की कोशिश कर रही थी जो सीट पर उसकी गोद से कुछ इंच दूर पडा था । अंततः उसने बैग पकड लिया और हम राहत में पीसकर अपनी गोद में रख लिया । हमारी आंखें मिली और मैंने उसकी आंखों में इस कदर बेचैनी और फिक्र देखिए कि मैं खुद को ये कहने से रोक नहीं सकता हूँ । मैं आशा करता हूँ की आप ठीक तो है मैडम आप चाहे तो मैं खिडकी खोल लूँ । उसने कोई जवाब नहीं किया लेकिन एक सहमे इशारे से मेरा ध्यान उसकी बगल में बैठे व्यक्ति की ओर खींचा । मैं उसी तरह से मुस्कुराया जैसे उसका पति मुस्कुराया था । मैंने अपने कंधे उसका और इशारे से उसे समझाया कि डरने की कोई बात नहीं । मैं यहाँ और इसके अलावा ये भी कि वह भला आदमी बिल्कुल भी हानिकारक नहीं लगता । तभी वो हमारी तरफ थोडा हम दोनों में से प्रत्येक को ऊपर से नीचे तक गौर से देखा । कुछ सोच विचार किया और फिर आपने कोने में सिमट कर बैठ गया । इसके बाद उसमें कोई हरकत नहीं । कुछ देर खामोशी छाई रही लेकिन वह महिला शायद अपनी तमाम ऊर्जा को एक निराशा व्यक्त कराने के लिए जुटाने में लगी हुई थी । उसने एक दबी आवाज में मुझसे कहा, आपको पता है वो हमारी ट्रेन में है कौन? क्यों? वहीं वो खुद मैं आपको विश्वास दिलाती हूँ । आपका इशारा किसकी तरफ है? आज ट्रेन यू पेन उसने यात्री पर से अपनी आंखें नहीं हटाई थी और उसने उस चौंकानेवाले नाम के अक्षय मुझसे ज्यादा उसकी कोई इच्छा लिखे । उसने अपना हैट नीचे खींचकर अपनी नाक पर रख लिया । क्या उसका इरादा अपनी खलबली छुपाने का था या फिर वो केवल सोने की तैयारी कर रहा था? मैंने आपत्ति की फॅारेन यूपी को कल उसकी गैर हाजरी में बीस वर्ष जेल में बिताने की सजा सुनाई गई थी । ऐसी संभावना नहीं थी कि वह खुद को आज सबके सामने प्रदर्शित करने की मूर्खता करेगा । इसके अलावा अखबारों की माने तो वो जब से सेंटर से भागा है तब से सर्दी का मौसम टर्की में बता रहा है । वो इसी ट्रेन में है । महिला ने दो बार जोर देकर इस इरादे से कहा कि हमारे साथी के कान में पड जाएगी । मेरा पति उपजेल गवर्नर है । स्टेशन इंस्पेक्टर ने स्वयं हमें बताया कि वह आज ट्रेन ल्यूपिन की तलाश में हैं । ये कोई कारण नहीं है कि क्यों उसे बुकिंग ऑफिस पर देखा गया था । उसने रॉयन के लिए टिकिट खरीदी उसे वहीं पक्का लेना आसान होता वो गायब हो गया । प्रतिक्षालय के दरवाजे पर टिकट कलेक्टर ने उसे नहीं देखा लेकिन उन्होंने सोचा कि वह उपनगरीय प्लेटफार्मों से घूम घाम करा एक्सप्रेस में चढ गया होगा जो हमारी गाडी के दस मिनट बाद छूटती है उस स्थिति में उन्होंने उसे वहीँ पकड लिया होगा और मान लो के आखिरी शन में वो एक्सप्रेस ट्रेन से बाहर कूद पडा हूँ और इस ट्रेन में यानी हमारी ट्रेन में चढ गया हूँ जैसा कि उसने शायद नहीं जैसा कि उसने निश्चित रूप से क्या यदि ऐसा है तो वो उसे यहाँ पकड लेंगे क्योंकि कुलियों ने और पुलिस ने उसे ट्रेन से उतरकर दूसरे ट्रेन में सवार होते अवश्य देखा होगा और जब हम रोहन पहुंचेंगे वो निश्चित रूप से दबोच लेंगे । उसी कभी नहीं । वो बच निकलने का कोई रास्ता फिर खोज लेगा । उस स्थिति में मैं उसे शुभयात्रा की दुआ देता हूँ लेकिन जरा सोचो इस बीच में वह क्या नहीं कर सकता? क्या मतलब मैं कैसे बता सकती हूँ? व्यक्ति को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए । वह बहुत घबराई हुई थी और सच में उस स्थिति में उनका बेचैनी तथा घबराहट महसूस करना कुछ हद तक वाजिव भी था । मेरी उपस् थिति के बावजूद । अतः मैंने कहा कुछ ऐसी चीजें हैं जो विचित्र संयोग कहलाती है । ये सच है । लेकिन आप स्वयं को शांत रखें, घबराए नहीं । मानवी ले के आस रेंज यूपीएनएस गाडी के किसी डिब्बे में हैं । वो बिल्कुल खामोश रहेगा और अपने ऊपर कोई नहीं । मुसीबत लेने के बजाय उसके पास ये सोचने के सिवा कोई और चारा नहीं होगा कि अपने ऊपर मंडराते किसी भी खतरे को कैसे डाला जाएगा । मेरी बातें उसे आश्वस्त नहीं कर सके । फिर भी उसने आगे कुछ नहीं कहा । शायद इस डर से मैं उसे कहीं परेशान करने वाली ना समझ लूँ । जहाँ तक मेरा प्रश्न है, मैंने अपने अखबार खोले और आस नहीं न्यूपेन के मुकदमे से संबंधित तो रिपोर्ट पढी । उनमें ऐसा कुछ नहीं था जो पहले से पता ना हो । इसके अलावा मैं थका हुआ था । रात में ठीक से सो नहीं पाया था । मेरी आखिरी भारी होने लगी थी और मेरा सिर झूलने लगा । सर आप निश्चित ही सोने तो नहीं लगे हैं । उस महिला ने मेरे हाथ से मेरा अखबार छीन लिया और मुझे गुस्से से देखा था । निश्चित रूप से मेरी सोने की कोई इच्छा रही हैं । मैंने जवाब दिया ये बडी लापरवाही होगी । उसने कहा बहुत बडी । मैंने दोहराया प्राकृतिक दृश्य पर और आसमान में इधर से उधर आते जाते बादलों पर आखिरी गडाए रखना मुझे बहुत भारी पड रहा था और जैसे ही सब अंतराल में गडबड हुआ, उत्तेजित महिला और उन डे आदमी की शवि मेरे मन में मिटा दी गई और मेरे अंदर बहुत अधिक नींद का गहरा सन्नाटा भर गया । प्रकाश और सम्बन्ध सपनों इसे शीघ्र माँ फूल दृश्य बना दिया जिसमें आस रेन्यू पन की भूमिका निभाने वाले और उसका नाम धारण करने वाले व्यक्ति एक निश्चित स्थान पर कब्जा कर लिया । अच्छा वो थोडा और क्षितिज पर छा गया । उसकी पीठ पर बहुमूल्य वस्तुओं का बोझ लगा हुआ था । वो हाथ पैरों के बल दीवार पर चढ रहा था और देहाती घरों का सारा माल मत्ता चुनाव कर ले जा रहा था । लेकिन उस व्यक्ति की रूपरेखा जो अब आॅरेंज यू । पी नहीं रहा था । अधिक स्पष्टता के साथ उभरने लगे । मेरी तरफ आया, बडा और बडा होता गया और विश्वसनीय फुर्ती से उछलकर सवारी डिब्बे में आ पहुंचा और पूरा मेरी छाती पर आ गिरा । एक तीस रुपये एक चुभती हुई चीज मैं जहाँ का बुआ मेरा । साथ ही यात्री एक घुटना में छाती पर रखे मेरा गला पकड रहा था । मैंने ये बहुत स्पष्ट रूप से देखा क्योंकि मेरी आंखें फोन से लाल थी । मैंने उस महिला को भी कोने में भयंकर पीडा से कर रहते । देखा मैंने प्रतिरोध करने का भी प्रयास नहीं किया । अगर करना भी चाहता है तब भी इतनी ताकत बटोर नहीं पाता । मेरी दोनों कनपटी जकड गई थी । मेरा दम घुटने लगा था । मेरा गला घर घर आया । एक मिनट और मेरी सास रुक गई होती है । उस आदमी को ये महसूस हुआ होगा । उस ने पकड ढीली कर रहे हैं । अपनी पकड से मुझे छोडे बिना अपने दाहिने हाथ से उसने एक रस्सी खींची जिसमें उसने एक सख्त गांठ लगाई हुई थी और उसने तीव्र गति से मेरी दोनों कलाइयों को एक साथ बांदिया एक्शन के अंदर ही मुझे बांध दिया गया । मेरा हूँ बंद कर दिया गया । मैं निश्चेष्ट और असहाय हो गया और उसने ये काम बहुत ही स्वाभावित तरीके से क्या इतनी सरलता के साथ जो चोरी और अपराध की दुनिया में कोई उस्ताद माने जाने वाला ही कर सकता है? एक शब्द तक नहीं । किसी प्रकार की विह्वलता नहीं निरी उदासीनता और निर्भिकता और उधर सीट पर मैं पढा था एक मम्मी की तरह रस्सी में बना हुआ है मैं आॅस्टिन ये वास्तव में हासिल पद था और परिस्थितियों की गंभीरता के बावजूद में हालत अथवा स्थिति की विडंबना के कद्र किए बिना और उसका लुफ्त उठाए बिना नहीं रह सका । आस्ट्रेलिया ओपन ने जो किया एक नौ सीखी की तरह क्या अपराध की दुनिया में पहला कदम रखने वाले की तरह चीन झपट की? क्योंकि बेशक उस दुष्ट ने मेरी पॉकेट बुक और मेरा पर्स छीन लिया । आज ट्रेन ल्यूपिन को उसकी बारी आने पर सजा मिल ही गई । वो ना केवल ठगा गया बल्कि मार खानी पडी तो गलत क्या जबरदस्त साहसिक कार्य? उधर जो महिला थी उसकी तरफ उसमें कोई ध्यान नहीं दिया । वो फर्श पर पडा, उसका हैंड बैग उठाकर और उसमें रखे गहने, पर्स, सोने व चांदी की छिटपुट चीजे लेकर संतुष्ट हो गया । महिला ने अपनी आखिरी खोली, डर से कहाँ उठी? उसने अपनी अंगूठियां उतारी और उसके हवाले कर दी । मानों से फालतू की लूट खसोट करने से बचाना चाहती हूँ । उसने अंगूठियां पकड ली और उसकी तरफ देखा । वो बेहोश हो गए । फिर पहले जैसी शांति और खामोशी हमें और अधिक परेशान किए बिना वो दोबारा अपनी सीट पर जा बैठा, एक सिगरेट सुलगाई । इसके बाद वो बेफिक्र होकर उन कीमती वस्तुओं की जांच परख करने लगा जो उसने लूटी थी और जिन्हें देखने पर रखने के बाद वो पूरी तरह संतुष्ट हो गया था । मैं बहुत कम असंतुष्ट था । मैं बारह हजार फ्रैंक की बात नहीं कर रहा हूँ जो मुझसे अनुसूचित रूप से लूट लिए गए थे । इस नुकसान को मैंने हाल फिलहाल के लिए स्वीकार कर लिया था । मुझे कोई संदेह नहीं था कि वह बारह हजार कुछ समय बाद मेरे कब्जे में आ जाएंगे और साथ में वो बहुत जरूरी कागजात भी जो मेरी पॉकेट बुक में थे । योजनाएं, आकलन, विशेष विवरण, पत्ते, पत्रकारों की सूची, सिक्के की विषेशता का ज्ञान रखने वाले एक व्यक्ति के पत्र । लेकिन अभी मुझे अधिक तत्कालिक एवं गंभीर चिंता ने घेरा हुआ था । अब आगे क्या होने वाला है? जैसा कि सहत ही कल्पना की जा सकती है, जिस समय में गैर सेंट लेजर से होकर गुजर रहा था । उस समय जो उत्तेजना उत्पन्न हुई वो मुझसे बच नहीं सके क्योंकि मैं कुछ ऐसे मित्रों के साथ ठहर नहीं जा रहा था जो मुझे घायलों में बर लेट के नाम से जानते थे और जिनके लिए आखिरी न्यूपेन से मेरी सूरत का मिलना अनेक दोस्ताना हसी मजाक का मौका होता था । मैं अपनी आदत के अनुसार स्वयं कुछ पाने में असमर्थ रहा और मेरी मौजूदगी का पता चल चुका था । इसके अलावा एक आदमी नी संधि आसरी न्यूपेन को एक्सप्रेस से उतारकर फास्ट ट्रेन में चढते देखा गया था । मैं कहा ये अवश्यंभावी था हीरोइन में कमिश्नर ऑफ पुलिस जिसे तार द्वारा खबर दी गई होगी वहाँ ट्रेन के आने की प्रतीक्षा करेगा । उसके साथ कई और सिपाही भी होंगे जो किसी भी संदिग्ध यात्री से पूछताछ कर सकते हैं और सवारी डिब्बे की एक सूक्ष्म जांच करने जा सकते हैं । मैंने इस बात का पहले से ही अनुमान लगा लिया था और इस बारे में मुझे बहुत अधिक उत्तेजना महसूस नहीं हुई है क्योंकि मैं निश्चित था केरोलाइन पुलिस पैरिस पुलिस की अपेक्षा कोई बहुत अधिक कुशाग्रता नहीं दिखलाई और ये कि मुझे अदृष्ट निकल जाने योग्य होना चाहिए था । क्या मेरे लिए ये काफी नहीं था कि मैं छोटे दरवाजे पर अपना पहचान पत्र लापरवाही से निकालकर पूरे आत्मविश्वास के साथ दिखा देता है, जिस पर लिखा था डिप्टी कलेक्टर, सेंट्रल इजरी । लेकिन तब से हालात कितने बदल गए थे । मैं अब आजाद नहीं था । मेरे लिए अब संभव नहीं था कि मैं अपने कोई भी सामान्य चाल चलने का प्रयास कर सकता हूँ । पुलिस अधिकारी किसी एक सवारी डिब्बे में फिर आस रेंज ओपन को खोज निकालेगा जिसकी किस्मत में एक मासूम में मैंने की तरह हाथ पैर बांधकर मंडल बना कर ले जाना बना हुआ था । उसे केवल सुपुर्दगी स्वीकार करनी थी । ठीक उसी तरह जैसे आप किसी रेल स्टेशन पर आपके नाम भेजा गया । कोई पार्सल खिलोनों की कोई पोटली, क्या सब्जी एवं फलों की कोई टोकरी प्राप्त करते हैं और इस कष्टप्रद अनर्थ वोट डालने के लिए मैं कर भी कह सकता था क्योंकि मैं रस्सियों में झगडा हुआ था और ट्रेन तेजी से रॉयन की तरफ दौड रही थी जो अगला और एकमात्र ठहरा था । ये वर्णन होकर सेंट होकर जा रही थी । मैं एक और समस्या के कारण उलझन में था जिसमें सीधे तौर पर मेरी कोई दिलचस्पी नहीं थी लेकिन इसके समाधान ने मेरी पेशेवर उत्सुकता जगह दी थी । मेरे साथ ही यात्री के इरादे क्या है? अगर मैं अकेला होता तो उसे रॉयन में चुपचाप उतर जाने का बहुत समय या मौका मिल जाता है । लेकिन वह महिला जैसे ही डिब्बे का दरवाजा खुलता, वो महिला जो फिलहाल डरी और सहमी बैठी हुई थी, एकदम चीख पडेगी, छटपटा आएगी और मदद के लिए गुहार लगाएगी । इसी कारण मैं मुंबई में था । उसने इस महिला को भी उतनी ही असहाय अवस्था में क्यों नहीं पहुंचा दिया जिसमें मुझे डाल दिया था क्योंकि उस हालत में उसे गायब होने का समय मिल जाता है और उसके दोहरे दुष्कर्म का पर्दाफाश नहीं होता । वो अभी भी सिगरेट पी रहा था । उसकी आखिर बाहर के दृश्य पर लगी हुई थी, जिसे सकुचाती हुई बारिश लंबी और तिरछी रेखाओं से भरने लगी थी । तथा भी उसने एक बार मुडकर इधर उधर देखा, मेरी रेलवे गाइड उठाई और उसे उलट पलट कर देखने लगा । जहाँ तक उस महिला का संबंध है, उसने बेहोशी कायम रखने का हर प्रयास किया ताकि उसका दुश्मन शांत बना रहे । लेकिन धुएं के कारण खांसी का दौरा पडने से उसकी बेहोशी का स्वांग टूट गया । मैं खुद बहुत कष्ट था । मेरे सारे बदन में दर्द था और मैंने सोचा मैंने योजना बनाई ऍम ट्रेन रफ्तार के नशे में खुशी खुशी दौडे जा रही थी । सेंट ऍम उस एक्शन वो यात्री उठा और उसने हमारी तरफ दो कदम भरे । जिसके जवाब में महिला ने एक नई चीज हमारी और उसे सच में बेहोशी का दौरा पड गया । लेकिन उसका उद्देश्य हो सकता था उसने हमारी तरफ की । खिडकी नीचे सरकारी बारिश बहुत तेजी से गिर रही थी और उसने कोई छाता या ओवरकोट पास में ना होने पर एक चीज भरी प्रतिक्रिया व्यक्त की । उसने ऊपर टांड में देखा । वहाँ उस महिला का छाता पडा था जो उसने उठा लिया । उस ने मेरा कोर्ट भी उठा लिया और पहन लिया । हम सेन पार कर रहे थे । उसने अपनी पतलून की मोहरी ऊपर चढाई और फिर खिडकी के बाहर झुककर उसने बहारी सिटकनी ऊपर कर दी । क्या उसका इरादा खुद को पक्के रास्ते पर फेंकने का था? तो जिस गति से हम जा रहे थे उसमें तो उसकी मौत निश्चित थी । हमारी ट्रेन अब कोटे सेंट कैथरीन के नीचे बनी सुरंग में घुस गए । उस आदमी ने दरवाजा खोल दिया । एक पैर से पायदान की टोली कैसा पागल पन अंधेरा, धुआ कोलाहल सब मिलकर ऐसी किसी प्रयास को एक अजीब शक्ल दे रहे थे, लेकिन अचानक ट्रेन धीमी हो गई । वेस्टिंगहाउस ब्रेको ने वही क्यूकि गति अथवा चाल में अंदर डाल दिया । एक मिनट में गति तेज से सामान्य हो गई और फिर धीमी होती चली गई । बेशक सुरंग के इस भाग पर मजदूर काम कर रहे थे । इसके चलते यहां से गुजरती गाडियों को कुछ दिनों तक बहुत धीमी गति से जाना जरूरी हो गया और उसी बात की इसको जानकारी थी । अतः उसने अपना दूसरा कदम नीचे क्या पायदान पर उतरा और दरवाजा बंद किए बगैर तथा सटक नी वापस लगाए बिना ही आराम से चलता बना । उसे गायब हुए एक्शन भी नहीं पीता था । तो जब दिन के उजाले में हुआ, ज्यादा सफेद दिखाई देने लगा । हम एक और घाटी में पहुंच गए थे एक और सुरंग, फिर हम रोए, इनमें होंगे वो महिला तुरंत होश में आ गई और सचेत हो गई । उसकी पहली चिंता थी आपने गहने चले जाने पर शोक मनाना । मैंने उस पर एक अनुयायी पूर्ण दृष्टि डाली । वो समझ गए और उसने मेरे ऊपर बंदी पट्टी हटा दी जिससे मेरा दम घुट रहा था । वो मेरे बदन पर बंदी रस्सियों को भी खोल देना चाहती थी लेकिन मैंने उसे रोक दिया नहीं नहीं पुलिस को सब कुछ वैसा ही देखना चाहिए जैसा था । मैं चाहता हूँ कि उस काले गार्ड के व्यहवार के बारे में उन्हें पूरी खबर हो । क्या मैं जंजीर खींचकर खतरे का संकेत दे दूँ? उसके लिए अब बहुत देर हो चुकी है । उसके बारे में आपको तभी सोचना चाहिए था जब मुझ पर प्रहार कर रहा था । लेकिन उसने मुझे भी जान से मार दिया होता । सर क्या? मैंने आपको बताया नहीं था की वो इसी ट्रेन में सफर कर रहा है । मैंने उसकी तस्वीर देखी थी । मैं उसे तुरंत पहचान गई और अब्बू मेरे गहने ले गया है । वो उसे पकड लेंगे । डरो नहीं फॅारेन ल्यूपिन को पकड लेंगे कभी नहीं ये सब आप पर निर्भर करता है । मैडम सुनी जब हम पहुंच जाएं खिडकी पर रही चिल्लाइए शोर मचाइए पुलिस और कुली दौडते आए हैं आपने जो देखा है संक्षेप में उन्हें बता देना । हमला जो मुझ पर भी हुआ और असरहीन न्यूपेन का भागना, उसका हुलिया बयान कर देना एक हल्का है एक छाता आपका वाला एक पूरे दिन का फ्रॉक । ओवर कोट आपका । उसने कहा मेरा नहीं, उसका अपना मेरे पास नहीं था तो मुझे लगता है उसके पास भी नहीं था । जब अंदर आया उसके बाद अवश्य रहा होगा बशर्ते वह कोर्ट किसी ऐसे व्यक्ति का ना हूँ जो से ऊपर रखने के बाद उठाना भूल गया हूँ । जो भी हो उसके पास कोर्ट था । जब बाहर गया और वही जरूरी बात है एक भूरे रंग का फ्रॉक ओवर कोट याद रहे तो मैं एक बात बोल रहा था । शुरू में ही उन्हें अपना नाम अवश्य बता दें । आपके पति के व्यवसाय के बारे में जानकर उन लोगों का उत्साह बढ जाएगा । हम पहुंचने वाले थे वो पहले से ही खिडकी के बाहर झुक रही थी । मैंने अपनी बात तेज आवाज में लगभग दबंग आवाज में फिर से शुरू कर दी ताकि मेरे शब्द उसके दिमाग में अच्छी तरह बैठ जाएगा । मेरा नाम भी बता दें गायले में बार्लेट अगर आवश्यक हो तो कह देगी । आप मुझे जानती हैं उससे समय बचेगा । हमें प्रारंभिक पूछताछ से जल्दी निपट ना होगा । जरूरी बात है आज ट्रेन लिए ओपन को पकडना । आपके जेवर गहनों के साथ आप ठीक से समझ रही हैं । नहीं गाय लाॅट आपके पति का एक मित्र बिल्कुल ठीक गाय में बार्लेट । उसने पहले ही चिल्लाना और इशारा करना शुरू कर दिया था । ट्रेन के बिल्कुल ठहर जाने के पहले ही एक भला मानुष चढकर अंदर आ गया । जिसके साथ कई और लोग भी थे । संकट की घडी करीब थी । वो महिला सांस लिए बिना चलना उठे ऍम उसने हमारे ऊपर प्रहार किया । उसने मेरे जेवर चुरा लिए । मैं हूँ ऍम मेरा पति डिप्टी प्रीजन गवर्नर है । अरे मेरा भाई जॉॅब का मैनेजर मेरे कहने का अभिप्राय है उसने एक युवक को चूमा जो अभी अभी ऊपर आया था और जिसमें पुलिस अधिकारी से परस्पर अभिवादन किया । उसने रोना जारी रखा । ऍम के पहले पर झपट पडा । जब हो रहे थे श्रीमान बर लेट ये मेरे पति के मित्र हैं । लेकिन ऍम कहा है हमने जब सेन पार की उसके बाद सुरंग में ट्रेन के बाहर खुद गया कि आपको यकीन है कि ये आदमी वही था तक का । मैंने उसे तुरंत पहचान लिया । इसके अलावा उसे कॅलेज एट में देखा गया था । वो एक हल्का टॉप पहने हुए था । नहीं एक मजबूत ऍम इस तरह का पुलिस अधिकारी ने मेरे हित की तरफ इशारा करते हुए कहा एक मुलायम है, मैं आपको विश्वास दिलाती हूँ । मैडम रेनॉड ने दोहराया और एग्री फ्लॉप ओवर कोट हाँ पुलिस अधिकारी बुदबुदाया तहार में लिखा है एक काले मखमली कॉलर वाला एक फ्रॉक हो, एक काला मखमली कॉलेज कोई है मैडम रिनोल्ट विजयोल्लास मिचला उठेंगे । मैंने फिर सांस खींची । मैंने उसमें कितना भला शानदार दोस्त पाया है । इस बीच पुलिस कर्मियों ने मेरे बंधन खोल दिए । मैंने जोर से अपने वोट काटे । जब तक की खून ना बहने लगे, मैं अपना रुमाल हूँ से लगाकर दोनों हाथों पर झुक गया । क्योंकि जो आदमी एक ही स्थिति में लंबे समय तक बना हुआ बैठा रहा हूँ और जिसके चेहरे पर ट्वेंटी के रक्तरंजित निशान हो उसके लिए यही उचित लगता है । मैंने स्क्रीन आवाज में पुलिस अधिकारी से कहा, सर, वो फॅमिली था, इसमें कोई संदेह नहीं है । अगर जल्दी करें तो उसे पकडो सकते हैं । मैं समझता हूँ मैं आपके कुछ काम आ सकता हूँ । वो डिब्बा कट गया जिसकी पुलिस द्वारा जांच की जानी थी । बाकी ट्रेन ली होवर की तरफ चली गई । हमें प्लेटफॉर्म पर जमा तमाशबीन की भीड के बीच से स्टेशन मास्टर के ऑफिस ले जाया गया । तभी मुझे झिझक महसूस हुई । मुझे हाजर मैं रहने का कोई बहाना बनाकर अपनी कार का पता लगाकर यहाँ से चलते बनना चाहिए । इंतजार करना खतरनाक था । अगर कुछ हो गया अगर पहले से कोई तार आ गया तो मैं कहीं का नहीं रखूंगा । ठीक है लेकिन मेरे लुटेरे की क्या खबर है? एक ऐसे जिले में जिससे मैं भलीभांति परिचित नहीं हूँ, मुझे अपने सहारे छोड कर चला गया । अब मेरा उससे कभी सामना होगा, ऐसी आशा नहीं रही । वहाँ मैंने अपने आप से कहा जोखिम की परवाह मत करो और रुके रहो । ये चाल जीतना कठिन है लेकिन से खेलने में मजा भी बहुत है और बाजी लगाई है मुसीबत से क्या डरना और चूंकि हम से अंतिम रूप से अपना बयान दोहराने के लिए कहा जा रहा था, मैंने चीखकर कहा हम सभी बहुत देर ऍम हमसे छूट रहा है । मेरी मोटर का यार्ड में मेरा इंतजार कर रही है । अगर आप को मेरी कार में बैठना मंजूर हो तो हम कोशिश करेंगे । उस अधिकारी ने मुस्कुराकर हामी भर कोई बुरा विचार नहीं है । वास्तव में ये तो बहुत ही अच्छी योजना है जिस पर पहले से ही अमल किया जा रहा है । हो । हाँ, हमारे दो अधिकारी साइकल पर चल पडे, कुछ समय पहले ही, लेकिन किधर जाने के लिए सुरंग के प्रवेश तक वहाँ वो सुरागों का पता लगाएंगे, सबूत उठाएंगे और फिर आस्ट्रेलिया ओपन के रास्ते का पीछा करेंगे । मैं अपने कंधे उचकाकर बिना नहीं रह सका । आप के दो अधिकारियों को कोई सुराग और कोई सबूत नहीं मिल पाएगा । स्वच्छ में आखिरी ल्यूपिन ने पहले ही प्रबंध कर लिया होगा कि कोई उसे उस सुरंग से निकलते ना देख पाए । उसने सबसे करीबी सडक पकडी होगी और वहाँ से वहाँ से रॉयन की तरफ गया होगा जहाँ हम उसे अवश्य पकड लेंगे । वो नहीं जाएगा । उस स्थिति में वहाँ पडोस में रहेगा जहाँ हम और भी अधिक निश्चिंत होंगे । वो आज पडोस में भी नहीं रहेगा । अरे अब वो कहाँ जाकर छिपेगा? मैंने अपनी घडी निकली इस समय आस ट्रेन ल्यूपिन, डर नेटल में स्टेशन के आसपास घूम रहा है दस पचास पर अर्थात अब से बाईस मिनट वो ट्रेन पकडेगा जोरो इनमें गेयर डू नॉट से एमियंस के लिए छूटती है । क्या तुम ऐसा सोचते हो? और तुम कैसे जानते हूँ? अरे ये तो बहुत सरल है । सवारी डिब्बे में आसरंग ओपन ने मेरी रेलवे गाइड देखी थी । किस लिए ये देखने के लिए की? क्या वहाँ उस स्थान के निकट कोई दूसरी लाइन है जहाँ वो गायब हुआ था । उस लाइन पर कोई स्टेशन है और कोई ट्रेन हैं जो स्टेशन पर रूकती है । मैंने अभी अभी गाइड में देखा है और जान लिया जो मैं जानना चाहता था कसम से सर उस अधिकारी अर्थात कमिश्ररी ने कहा आपके पास परिणाम निकालने के आसाधारण सकती है । आप अवश्य ही एक विशेष विद्वान लगते हैं । अपनी निश्चितता के बहाव में आकर मैं अत्यधिक चतुराई दिखाने की भारी भूलकर मैं उसने मुझे आश्चर्य भरी नजर से देखा था और मुझे समझते देर नहीं लगी कि उसके मन में कोई संधि झिलमिला रहा है । केवल अभी अभी ये सच है क्योंकि प्रत्येक दिशा में भेजी गई तस्वीरें इतनी भिन्न थी एक ऐसे आज फ्री न्यूपेन को डर जा रही थी जो मेरे सामने खडे व्यक्ति से बिल्कुल मेल नहीं खाता था । चाहे वो मेरे अंदर असल को नहीं पहचान सका । फिर भी वो शुद्ध बीच है और व्याकुल था । एक क्षण सन्नाटा छाया रहा । ऐसा लगता था जैसे एक प्रकार की दुविधा और एक प्रकार का संधि हमारी शब्दों में विघ्न डाल रहा हूँ । चिंता की थरथराहट मेरे अंदर से गुजर गई । क्या किस्मत मेरे खिलाफ जाने वाली थी । स्वयं को संभाल कर मैंने हटना शुरू कर दिया । ऍम रहे । इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है कि व्यक्ति को एक पॉकेट बुक हो जाने और उसे दोबारा खोजने की इच्छा की खातिर अपनी बुद्धि को तेज करना पडेगा । और मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि अगर आप मुझे अपने दो आदमी देते तो हम तीनों शायद वो प्लीज कमिश्नरी बहुत दें । मैं ऍम वैसा ही करें जैसा श्रीमान बर्लिन का सुझाव है । मेरी सास फिर दे मित्र के हस्तक्षेप में और लडा उलट क्या एक प्रभावशाली व्यक्ति की पत्नी के मुँह से निकला ये नाम बदले हकीकत में मेरी पहचान बन गया । ये नाम मेरी ऐसी पहचान थी जैसे कोई भी संधि छोड नहीं सकता था । कमीश्नरी ने खडे होकर कहा, मेरा विश्वास करें श्रीमान बरलैंड आपकी कामयाबी पर मुझे हद से ज्यादा खुशी होगी । ऍम को गिरफ्तार किए जाने के लिए मैं भी उतना ही उत्सुक हूं, जितने आप हैं । वो मेरे साथ कहाँ तक आया? उसने अपने दो आदमियों का परिचय मुझे दिया और मेहसौल और गैस्टन दिल्ली में वो अपनी अपनी सीट पर बैठकर मैं ड्राइवर के साथ वाली सीट पर मेरे ड्राइवर में इंजन चालू किया । कुछ ही पलों में हमने स्टेशन छोड दिया । मैं बच गया । मैं कबूल करता हूँ कि जैसे ही हम पैंतीस हॉर्स पावर की तेज रफ्तार गाडी मोड्यूल एफ्टन में बैठे मॉड्यूल ऐक्टन में बैठे हुए पुराने नॉर्मन नगर की छायादार चौडी सडक के साथ साथ हवा से बातें करते जा रहे थे । मेरा मन कुछ कुछ गर्व से भर गया था और अब आजाद एवं खतरे से बाहर मुझे कुछ नहीं कर रहा था । सिवा इसकी की कानून के इन दो योग्य प्रतिनिधियों के सहयोग से अपने को छोटे मोटे निजी मामलों को सुल्ताल आज सुबह ल्यूपिन जा रहा था । खास रिन्यू कॉटन की तलाश में आप विनम्र लोग परिस्थितियों की सामाजिक व्यवस्था के मुख्य आधार है । ऍम और और मेहसौल आपकी सहायता मेरे वास्ते अत्यंत महत्वपूर्ण है । आप के बिना मैं किधर निकल गया होता है? आप ने बचा लिया वरना मैंने ना जाने कितने चौराहों पर गलत मोड लिए होते हैं । यदि आप ना होते तो आप फॅमिली ओपन भटक गया होता और दूसरी साफ निकल गया होता है । लेकिन अभी सब कुछ समाप्त नहीं हुआ था । ये तो दूर की बात थी । मुझे पहले तो उसे पकडना था और फिर मुझे वो कागजात अपने कब्जे में लेने थे जो मुझसे लूट कर ले गया था । मेरे दो साथियों की नजर किसी भी हाल में उन कागजात पर नहीं पढनी चाहिए । उनको हाथ लगाना तो दूर की बात है उन को साथ लेकर और फिर भी उन से अलग रहते हुए मेरा काम करने का इरादा था और ये कोई आसान बात नहीं थी । ट्रेन चले जाने के तीन मिनट बाद हम डॅाल पहुंचेंगे । मुझे ये जानकर तसल्ली मिली की एक आदमी जिसने काले मखमली कॉलर वाले एक फ्रॉक ओवर कोट पहना हुआ था, इंडियंस जाने की टिकट लेकर द्वित्तीय श्रेणी के डिब्बे में चढा था । इसमें संदेह की कोई गुजारिश नहीं थी । एक जासूस के रूप में मेरी पहली उपस् थिति आशाजनक थी । डाॅ । ये एक्सप्रेस ट्रेन है और ये मोंटेरो लियर मुच्ची से पहले नहीं रखती है जहाँ पहुंचने में अब से नब्बे मिनट लगेंगे । अगर हम ऍम से पहले वहाँ नहीं पहुंचते हैं तो वो एशियन्स की तरफ जा सकता है । उधर से क्लैरिस का रास्ता पकड लेगा और वहाँ से डाइट पे क्या पेरिस चला जाएगा? मोंटेरो नियर कितनी दूर है? साढे चौदह में साढे चौदह मिनट में हम उससे पहले वहाँ पहुंच जाएंगे । ये एक उकसाने भडकाने वाली दौड थी । मेरी विश्वसनीय मॉड्यूल एफ्टन ने कभी भी बहुत अधिक जोश और नियमितता के साथ मेरे अधैर्य मेरी व्याकुलता के प्रति संवेदनशीलता नहीं दिखाई थी । ऐसा प्रतीत होता था मानो मैंने लेवर्स क्या हैंडर्स की मध्यस्थता के बिना अपनी इच्छा सीधे उसके कान में डाल दी हो । उसने मेरी इच्छाओं का स्वागत किया मेरी दृढता को पसंद किया वो बदमाश आस रन ल्यूपिन के प्रति मेरी दुश्मनी समझ गयी । वो गुंडा बूत नीच आदमी क्या मुझे उसकी सारी तडी निकाल देनी चाहिए? क्या वो एक बार फिर सत्ता का चकमा देगा । वो सत्ता जिसका मैं बताता हूँ डाॅ लाया बाइक सीधे आगे हम जमीन पर उडते चली गई । मील के पत्थर छोटे सहमे जानवरों जैसे लगते थे जो हमें देखते ही भाग खडे होते थे और एक सडक के मोड पर अचानक धुएं का एक बादल नॉर्थ एक्सप्रेस जिसका परिणाम निश्चित था । हमने बीस कदम से ट्रेन को पराजित कर दिया । तीन सेकंड के अंदर हम प्लेटफॉर्म पर थे । सेकंड क्लास के सामने दरवाजा भडा से खुला । दो चार लोग बाहर निकल कर आए । मेरा चोर उनमें नहीं था । हमने बोगियों की जांच की । आज दिन न्यूटन का अता पता नहीं । खुदा की कसम मैं चिल्लाया । उसने मुझे मोटर कार में पहचान लिया होगा । जिस समय हम ट्रेन के साथ साथ जा रहे थे और टूट गया होगा । ट्रेन के गार्ड ने मेरे अनुमान की पुष्टि कर दी । उसने एक आदमी को स्टेशन से दो सौ गज की दूरी पर तटबंध से बेढंगे तरीके से नीचे आते देखा था । वो वहाँ है देखो ऍम मैं तीन की तरह भागता । पीछे मेरे दोनों सहायक या शायद उन में से ही था क्योंकि दूसरा मेहसौल एक असामान्य तीव्र धावक निकला जिसे गति और सहनशक्ति वरदान में मिली थी । कुछ ही पल में उसके और भगोडे के बीच पास लाभ बहुत कम रह गया । उसने धावक को देख लिया । वो एक बाडी के पहाड टूट गया और एक ढलान की तरफ बेताहाशा भाग का और ऊपर चढ गया । हमने उसे दूर से देखा । वो एक छोटे जंगल में घुस रहा था जब हम जनरल के निकट पहुंचे हमने मैं सोल को हमारी प्रतीक्षा करते पाया । उसने सोचा चलते जाने का कोई लाभ नहीं है वरना वो हमसे बिछुड जाएगा । आप बिल्कुल सही हैं । मेरे प्रिय साथी मैंने कहा इस तरह के दौर के बाद हमारे मित्र का थक जाना स्वाभाविक है । हम ने उसे घेर लिया है । मैंने जंगल की ऊर छूट का निरीक्षण किया । ये सोच विचार करते हुए कि मैं अकेला किस प्रकार उस भगोडे को गिरफ्तार करने आगे बढ सकता हूँ ताकि में उन चीजों को बरामद कर सकूँ जिन्हें कानून नहीं, संधि कुछ अप्रिय पूछताछ, सवाल जवाब के बिना ले जाने की आज्ञा नहीं देगा । फिर में अपने साथियों के पास लौट आया । उधर देखो ये बहुत आसान है तुम मैं कॉल बाई तरफ अपना क्या ले लो और डाॅट तुम दायां तरफ दर्जा हूँ । वहाँ से तुम जंगल का पूरा पिछला हिस्सा देख सकते हो और वहाँ से नजर में आए बिना निकल नहीं सकता । उसके निकलने का एक ही रास्ता बचता है ये खाली जगह जहाँ मैं उसकी तो हमें रहूंगा । अगर वो बाहर नहीं आता है मैं अंदर चला जाऊंगा और उसे मैं तुम दोनों में से किसी एक की तरफ जाने के लिए बाध्य कर दूंगा । हताहत उनको सिर्फ इंतजार करना है और कुछ नहीं तो मैं एक बात बोल रहा हूँ । खतरा होने पर मैं गोली जाऊंगा । मैं ऍम अपने अपने स्थान की ओर चले गए । जैसे ही वो मेरी नजर से ओझल हुए, मैं पूरे एहतियात के साथ जंगल में अपना रास्ता बनाते हुए घुस गया ताकि मुझे कोई न तो देख सकें और ना मेरी आहट सुन सके । जंगल में घनी झाडियां थी । शायद शिकार करने के लिहाज से उनको ऐसी शक्ल दी गई थी और बीच बीच में घनी झाडियों को काटते तंग रास्ते अर्थात पंगडंडियों थी जिनमें नीचे झुक कर ही जाया जा सकता था । मानव किसी पाटीदार सुरंग में घुस रही हूँ । उनमें से एक संकरा रास्ता खुले मैदान में जाकर समाप्त हुआ, जहाँ नर्मदा गीली घास पर पैरों के निशान थे । मैंने उन पदचिन्हों का पीछा किया । तल झाडी से बचते बचाते चलते चलते मैं छोटे टीले की तलहटी पे जा पहुंचा, जिसके शिखर पर फट्टे का प्लस्तर क्या हुआ? एक छोटा सा उजाड मकान था, वो वहीं होना चाहिए । मैंने सोचा उसकी चौकसी के लिए एक अच्छा अड्डा चुना । मैं सरकता हुआ उस मकान के पास पहुंचा । एक हल्की सी आवाज ने मुझे उसकी मौजूदगी के बारे में बातचीत कराया और वास्तव में एक छह से मैंने देख लिया । उसकी पीठ मेरी तरफ थी । दो छलांग मारकर में उसके ऊपर चढ बैठा था । उसने अपनी पिस्तौल से मुझ पर निशाना साधने की कोशिश की जो उसके हाथ में थी । मैंने उसे कोई मौका नहीं दिया बल्कि उसे इस तरह खींच कर जमीन पर गिरा दिया कि उसकी दोनों बाहें जिन्हें मैंने पीछे मोड दिया था, उसकी पीठ के नीचे दब गई और मैंने अपना घुटना उसके सीने पर टेक दिया ताकि वो उठना सके हूँ मेरी पांच सौ पुराने खिलाडी मैंने धीमे से उसके कान में कहा मैं आज सुबह ल्यूपिन हूँ, तुमको अभी अभी और कुछ भी खलबली किए बिना मेरी पॉकेट बुक और उस महिला का ऍम वापस करना होगा । उसके बदले में मैं तुझे पुलिस के शिकंजे से बताऊंगा और अपने मित्र मंडली में शामिल कर लूंगा । क्या कहता है हाँ या ना? हाँ हाँ वो बुदबुदाया ये ठीक है । तुम्हारी सुबह की योजना बडी होशियारी से बनाई गई थी । हम अच्छे दोस्त बनेंगे । हम अच्छे दोस्त बनेंगे । मैं उठ गया था । उसने अपनी जेब टटोली और एक बडा चाह को निकाला । उस चाकू से उसमें मुझ पर वार करने की कोशिश की । वो गए थे । मैं चिल्लाया एक हाथ से मैंने हमला रोका और दूसरे हाथ से मैंने उसकी गर्दन की पेशी पर इतना जबरदस्त घूसा मारा कि वह स्तब्ध होकर पीछे गिर पडा । इस वार को कैडिट ठीक कहा जाता है । ऍफ में मुझे मेरे कागजात और बैंक नोट मिलेगा । मैंने उत्सुकतावश उसके कागजात भी निकली । उस को संबोधित एक लिफाफे पर मैंने उसका नाम पढा ऍम मैं चौंक उठा । पि ऍफ ऑॅल में रोल फोंटेन में हत्या को अंजाम देने वाला पीयरे ऑन फ्री वो आदमी जिसमें मैडम दाल, बॉस और उनकी दो बेटियों के गले कार्ड दिए थे, मैं उसके ऊपर झुक गया । हाँ यही चेहरा था जिससे रेल डिब्बे में देखकर मुझे वो नाक नक्श याद आ गए । वो पूरी शक मेरी आंखों के सामने आई जो मैंने देखी थी । लेकिन समय निकला जा रहा था । मैंने दो सौ फ्रैंक एक लिफाफे में रखे और एक विजिटिंग कार्ड भी रख दिया । जिस पर लिखा था आज सदन ल्यूपिन की फोर्स, उसके योग्य सहायको ऍम और गैस्टन इलेवेट के लिए शुभकामनाओं सहित मैंने इसी कमरे के मध्य में ऐसी जगह रख दिया जहां से इसे आसानी से देखा जा सकेगा । इसकी बगल में मैंने मॅूग रख दिया । जी जिस की चीज है उसे वापस देने में क्या हाल है और फिर वो महिला तो मेरी दयालु मित्र है जिसने मेरी जान बचाई । फिर भी मैं कबूल करता हूँ की मैंने उस बैग में से सभी दिलचस्प चीजें निकली । सिर्फ कछुए के खोल की तंगी, लिप्स्टिक का लेप लगाने की एक सलाह और एक खाली पर छोड कर कुछ भी हो या करो, धंधा तो धंधा है और इसके अलावा उसके पति ने कितना बुरा पेशा अपना अब रहा । वो आदमी आपको हाथ पहुंच चलाने की कोशिश कर रहा था । मुझे क्या करना था? उसे बचाना या दंड देना मेरा काम नहीं था । मैंने उसके हथियार ले लिए और हवा में अपनी पिस्तौल ताकि गोली की आवाज सुनकर दूसरे भी चले जाएंगे । मैंने सोचा उसे अपनी निजी मुश्किलों से निकलने का कोई उपाय आवश्यक होना चाहिए । किस्मत को अपना काम करने दो और मैं दौड कर नीचे खाली सडक खून नापता चला गया । बीस मिनट बाद एक कतार अर्थात क्रॉसरोड ने मुझे वापस मेरी कार तक पहुंचा दिया । करीब चार बजे मैंने रॉयन के अपने दोस्त को तार द्वारा सूचित किया । एक अप्रत्याशित घटना के फलस्वरूप मुझे वहाँ आने का कार्यक्रम रद्द करना पड रहा है । ये बात हमारे बीच ही रहे तो अच्छा है । मुझे भयंकर आशंका है कि वह अब तक जान चुके होंगे । उसे ध्यान में रखते हुए मुझे अपना कार्यक्रम अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करना पडेगा । उनके लिए ये भीषण निराशा होगी । छह बजे मैं ऍम इंजीन और स्पोर्ट बिना होता हुआ पेरिस लौट गया । सांध्यकालीन अखबारों से मुझे पता चल गया कि पुलिस अंततः पि ऍफ रे को पकडने में कामयाब हो गई । दूसरे दिन सुबह हमें बहुत ही एक विज्ञापन के फायदों का तिरस्कार क्यों करना चाहिए? ईको डिफरेंस मैं अलग छपा हुआ ये सनसनीखेज परिच्छेद था । कल बूची के निकट कई एक घटनाओं के बाद आज सरे न्यूपेन ने पि ऍफ रे को गिरफ्तार करा दिया । ऑटो ट्यून हथियाराें नेरेन और नाम की एक महिला डिप्टी प्रीजन गवर्नर की पत्नी से पेरिस और ली है । वर के बीच ट्रेन में लूटपाट की थी । ऍम लौटा दिया है जिसमें उनके जेवर थे और उन दो जासूसों को भी उदारता से पुरस्कृत किया है जिन्होंने स्नातक की गिरफ्तारी के मामले में उसकी सहायता की थी । समाप्त

share-icon

00:00
00:00