Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Transcript

Pratham Antariksh Yatri Yuri Gagrin- Trailer

ऍम तो हुआ है तो फॅस शुरुआत से ही इंसान के मन में प्रमाण को जानने की एक उत्सुकता रही है । और इसी उम्मीद में दुनिया भर के वैज्ञानिकों ने अपने अपने स्तर पर कई खोज और आविष्कार किया है । इसी क्रम में मानव इतिहास का सबसे महत्वपूर्ण पल वो था जब पहली बार किसी इंसान के कदम चांद पर पडे थे । ये वो पल था जब से इंसान ने आसमान से भी ऊंची छलांग लगाने की शुरुआत की थी । साथ ही उस बाहर मौजूद ब्रम्हांड की खोज का आरंभ हुआ । आकाश को सबसे पहले छूने का श्रेय एक सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाले यूरी गैगरीन हो जाता है । आज से उनसठ साल पहले बारह अप्रैल उन्नीस सौ इकसठ को सत्ताईस साल के पायलट ने अंतरिक्ष में कदम रख कर इतिहास रच दिया था । ये सब कैसे संभव हो पाया? तो आइए सुनते हैं उनके रोमांचक अंतरिक्ष सफर के बारे में केवल एक ऊॅट हूँ ।

1. Bachpan Ki Shair

आप सुन रहे हैं कुछ हुआ था किताब का नाम है प्रथम अंतरिक्ष यात्री यूरी गागरिन जिसे लिखा है राकेश शर्मा ने आवाज आशुतोष की है । कुछ हुआ है सुने जो मनचाहे यूरी ऍफ गागरिन को इतिहास में प्रथम अंतरिक्ष यात्री के रूप में जाना चाहता है । सन उन्नीस सौ इकसठ में अचानक सुर्खियों में आने वाले इस व्यक्ति को अपनी महान उपलब्धि हासिल करने में मात्र दो घंटे ही लगे तो इसकी पृष्ठभूमि में वर्षों की बहादुरी और कटिबद्धता मात्र सत्ताईस वर्ष की आयु में सफलता का कीर्तिमान स्थापित करने वाले इस महानायक हूँ तैंतीस वर्ष की अल्पायु में संसार से विदा लेना पडा । इस छोटे से जीवन काल में उन्होंने अपने देश और मित्रों की भलाई की दिशा में कई जोखिमभरे कदम उठाया । यहाँ तक कि उनका बचपन भी रोंगटे खडे कर देने वाले बहादुरी के कारनामों से भरा पडा है । उनका जन्म नौ मार्च को मॉस्को से एक सौ साठ किलोमीटर पश्चिम में स्थित स्मोलेंस्क क्षेत्र के मशीनों नामक गांव में हुआ था । उनके पिता ऍम इवानोविच एवं हाँ ॅ एक स्थानीय संयुक्त कृषि फार्म में मजदूरी करते थे । यूरी का एक ढाई ऍम उनसे दस साल बडा था जबकि दूसरा भाई बोरिचा उनसे दो साल छोटा था । गरीबी के हालात के बावजूद परिवार संतुष्ट एवं खुश था । स्टालिन द्वारा निजी संपत्तियों को राजकीय स्वामित्व में रखे जाने के प्रारंभिक दौर की कठिनाइयों के दौरान इस परिवार को कई बार अपने मित्रों और पडोसियों से दूर भी जाना पडा हूँ । हाँ, अन्ना एक शिक्षित महिला थी । उन्होंने परिवार को काफी अनुशासित एवं धार्मिक वातावरण में ढल लगाना, पिता ॅ एक निष्ठावान पति एवं कठोर किंतु बच्चों के प्रति इसने रखने वाले पिता थे । स्टालिन के निजी उत्पादक साधनों को राजकीय स्वामित्व में परिवर्तित किए जाने वाले कार्यक्रम के मजबूती से जड जमा लेने के पश्चात अलेक्सई को फार्म के भवनों एवं सुविधाओं के रख रखाव की जिम्मेदारी सौंपी गई । सन उन्नीस सौ की ग्रीष्म में जर्मनी की सेना ने सोवियत यूनियन की रेड आर्मी के खिलाफ कुछ कर दिया । ये कूच सोवियत यूनियन के तीन हजार किलोमीटर फ्रंट में बडी तेजी से किया गया । परिणामस्वरूप परिस्थितियां तेजी से बदलने लगी । कुछ सप्ताहों तक कायम हैरान कर देने वाली निष्क्रियता के पश्चात स्टालिन ने सोवियत सेना को हर जंग से पीछे हटने का आदेश जारी कर दिया । परिणामस्वरूप जर्मनी की सेना सोवियत में बहुत अंदर तक प्रवेश करती है । नाजियों की छोटी सी कामयाबी के बाद दोनों सेनाओं का संघर्ष जारी रहा और दोनों ओर से सैनिक बडी संख्या में मारे गए । स्मोलेंस्क क्षेत्र सीधे उस दिशा में पडता था जहाँ से होकर नाजी सेना पीछे हट रही थीं । परिणामतः गजासुर एवं कृषि नो समेत इसकी सभी बाहरी गांव भगदड के शिकार हो गए और उन पर कब्जा कर लिया गया था । अक्टूबर के अंत में जर्मन आर्टिलरी यूनिट ने मशीनों पर गोलीबारी शुरू कर दी । इन आक्रमणों से उत्पन्न परिस्थितियों का किशोर वही यूरी के मन पर गहरा प्रभाव पडा । एक हस्ते खेलते बालक की जगह अब वह गंभीर मनोवृति में रूपांतरित हो चुका है । जर्मन सेना से भयाक्रांत आस पास के क्षेत्रों से भागकर वहाँ पहुंचे शर्णार्थियों के लिए वो भोजन की व्यवस्था करके उन तक पहुंचाया करना स्वभाव से खुशमिजाज यूरी के चेहरे पर अब काम मुस्कुराहट देखने को मिलती थी । एक पायलट एवं अंतरिक्ष यात्री के रूप में बाद में विकसित होने वाली उनकी अनेक विशेषताओं के बीच इसी युद्धकाल के दौरान पड गई थी । मशीनों पर जर्मन सेना के कब्जा जमा लेने के साथ ही शुरू हुआ दरिंदगी, कान, नंगा नाच जर्मन सैनिक घरों के किवाड तोडकर लोगों को खींचकर बाहर निकालते और गोली से उडा देते हैं । कई बार कारतूस खर्च न करने के लिए लोगों को बंदूक के संगीनों से छेद कर वो पीटपीटकर मार डालते हैं । ये कत्लेआम का दौर शीत ऋतु की शुरुआत तक बदस्तूर जारी रहा है जिसकी क्रूरता के आगे उन्होंने स्वयं घुटने देखती हूँ । इसी दौरान यूरी और बोरिस भी अल्बर्ट नाम आके जर्मन सैनिक का को भाजन बनते बनते रह गए । अल्बर्ट को जर्मन वाहनों की डिस्चार्ज बैटरियों को संग्रहित करके उन्हें हमलावर शुद्ध पानी के प्रयोग से पुना चार्ज करने का काम सौंपा गया था । इधर यूरी वह बोरिस समेत गांव के बहुत से लडके कांच की बोतलों को तोडकर उन सडकों पर बिखेर देते थे जहाँ से जर्मन के सैन्य आपूर्ति वाहन गुजरते थे । तत्पश्चात सडक के किनारे लगी झाडियों में छिपकर टायरों के फटने से उन वाहनों के मजबूरन रुक जाने का नजारा देखा कर जाए । फॅस को ये विश्वास हो गया था कि बोरिस इन शैतान बच्चों में से एक था । एक दिन उसने बोर इसको यूरी के साथ खेलते हुए देखा । बेंच पर बैठे हुए उसने बोल इसको कुछ चॉकलेट देने का लालच देकर बुलाया । उसने चॉकलेट जमीन पर रख दिया ताकि बोरिस जब उन्हें उठाता तो वो उसके हाथ को पैरों तले कुचल सकता । जो ही बोर इसने चॉकलेट उठाने की कोशिश की । बिलबोर्ड ने जूते के कठोर तलवे से उसकी कोमल हथेली को इतनी पूरी तरह से कुछ लाभ की उसकी उंगलियों की चमडी ही निकल गए । इतना ही नहीं उसने बोर इसको पकडकर उसके स्कार्फ से फंदा बनाकर उसके नजदीक ही सेब के एक पेड पर फांसी के फंदे पर लटकाने की तरह चला दिया । उसी समय वो रिस्की माँ है ना वहाँ दौडती हुई आई और उस जर्मन सैनिक एलवर्ट से झगडने लगी । एल्बर्ट ने गुस्से में है ना पर गोली दागने के लिए राइफल उठाइए । तभी उसके किसी अधिकारी ने उसे आवाज देकर बुला लिया और खतरा टल गया । सौभाग्य वर्ष उस उन्नीस कार्ड से बने फंदे से बोर इसकी गर्दन पूरी तरह नहीं कर पाई । एलवर्ट के चले जाने के बाद फॅमिली ने बोर इसको पेड से नीचे होता है क्योंकि जर्मन सैनिकों ने गागरिन परिवार को उनके घर से खदेडकर पहले ही बेघर कर रखा था । इसलिए वे जमीन में गड्ढा खोदकर काम चलाऊ आश्रय तैयार कर रहे हैं । ऍम किसी आश्रय में आपने मरनासन्न बेटे बोर इसको लेकर आए और अथक प्रयासों से उसके जीवन की रक्षा की । इस घटना के बाद पुलिस इतना भयभीत हो गया था कि कई दिनों तक वो बाहर ही नहीं इस घटना के बाद जूरी एलवर्ट पर लगातार नजर रखने लगा । जब कभी भी एल्बर्ट कहीं जाता तो वो उसके द्वारा इकट्ठा की हुई टैंक की बैटरियों के ढेर पर चढकर उन्हें नष्ट करने के लिए उनमें मुट्ठी भर भर कर मिट्टी डाल देता हूँ या उनके रसायनों को एक दूसरे से मिला देता हूँ । एल्बर्ट जब वापस लौट कर आता है तो उसे बैटरियों में कहीं कोई खराबी नजर नहीं आती । सुबह गश्ती वाले टाइम ड्राइवर आकर उन बैटरियों को ले जाने के लिए आते और अल्बर्ट से नाजी शैली में अभिवादन करके उन बेटियों को ले जाते हैं । लेकिन शाम होते होते वो एल्बर्ट पर आज बबूला होकर वापस लौटते हैं क्योंकि वे बैटरियां बेकार होती नहीं । अधिकतर टैंक कमांडर ऐसे अवसर हुआ करते हैं इसलिए उनकी नाराजगी हर किसी पर भी । चाहे वो रूसी हो या जर्मन, बहुत भारी पडती थी । उन्हें शांत करना बहुत मुश्किल होता था । नतीजतन एलवर्ट को हमेशा उनके गुस्से का शिकार होना पडता था । ऐसे सब सरों की खिंचाई से तंग आकर एल्बर्ट गांव में यूरी की तलाश में बुरी तरह जुड गया । इस तलाश कार्य में उसे पैदल ही घूमना पडता था क्योंकि यूरी ने उसकी मिलिट्री कारके एक्जॉस्ट पाइप में आलू ठोस ठूँसकर भर दिए थे । एलबर्ट ने जमीन में खुदे हुए सभी आश्रयों में तमिल उसने ये ऐलान कर रखा था कि वो उसे देखते ही गोली मार देगा । लेकिन गिलबर्ट की ये इच्छा पूरी न हो सके क्योंकि एलवर्ट कि निष्क्रिय बैटरियों से तंग आकर उच्चाधिकारियों द्वारा उसे हटा दिया गया था । सन उन्नीस सौ की वसंत ऋतु के दौरान यूरी के बडे भाई वैलेंटीन और बहन जोया का एस एस गार्डों द्वारा अपहरण कर जर्मनी ले जाने के लिए उन्हें बच्चों की एक ट्रेन में डाल दिया गया । सबसे पहले उन्हें पोलैंड के डांस के शहर ले जाया गया जहां उन्हें लेबर कैंप में काम पर लगा दिया गया । जोया बताती है कि उसे सप्ताह में सैंकडों जर्मनवासियों के कपडे धोने पडते थे । उन्हें गुलामों की तरह रहना पडता था । डर की वजह से उन की स्थिति मृत्युदंड की सजा पाए कैदियों की भर्ती हो गई थी । उन्हें खंडर से मकानों में रखा गया था जो या अपने इस कटु अनुभव को सुनाते हुए कांपने लगती है । एक दिन वैलेंटीन और जोया लेबर कैंप से भाग निकले । रूसी सेना के आने के इंतजार में उन्होंने जंगल में रहकर दो सप्ताह बिताया । आखिरकार उनकी उम्मीद के मुताबिक रूसी सेना वहाँ पहुंच भी गई लेकिन अभी भी उनकी घर पहुंचने की इच्छा पूरी नहीं हो सकी । उन्हें बतौर स्वयंसेवी सेना के साथ रहना पडा । जोया को सेना के घोडों की देखभाल में लगा दिया गया । वेलेंटीन को सहायक सैनिक के रूप में इस्तेमाल किया गया जहाँ वो जल्द ही एंटी टैंक ग्रेनेड लॉन्चर एवं अन्य भारी हथियार चलाने में दक्ष हो गया । इस दौरान अन्ना ॅ को ये यकीन हो गया था कि वैलेंटीन और जोया अब इस दुनिया में नहीं रहे । ऍम जो पहले ही अस्वस्थ था जर्मन सैनिकों द्वारा बुरी तरह पिटाई किए जाने के कारण लंबे समय तक अस्पताल में दाखिल रहा हूँ और स्वास्थ्य लाभ होते ही उसी अस्पताल में अर्दली के रूप में कार्यरत हो गया । इस तरह उसमें शेष युद्धकाल किसी अस्पताल में रहते हुए गुजारा वहीं है ना के बाएं पैर में गहरा जख्म था हूँ क्योंकि ब्रूनो नामक एक जर्मन सार्जेंट द्वारा हंसी से वार करने के कारण हुआ था । जूरी ने अपनी माँ को बचाने के लिए उस सार्जेंट की आंखों में धूल झोंक दी थी । अंत तक नौ मार्च उन्नीस सौ चौवालीस को रूसी सेना द्वारा जर्मन सैनिकों को कृषि नौ से खदेड दिया गया अलेक्सई ने जर्मन सैनिकों द्वारा बिछाई गई लैंड माइन्स की जानकारी देकर इस कार्य में रूसी सेना की अहम मदद की । सन के अंत तक वेलेंटीन और जोया घर लौट सकें और अपने बिछडे माता पिता और भाइयों से मिल सकें । युद्ध के पश्चात गागरिन परिवार गजान नामक स्थान पर एक मकान बना कर रहने लगा । ली संदेह युद्ध के बाद का जीवन काफी कठिनाई भरा था । ब्रेस्ट से लेकर मॉस्को तक सब कुछ निश्चित नाबूत हो चुका था । मकान खंडहर में तब्दील हो गए थे । सारे के सारे मवेशी कहीं और चले गए थे या मारे जा चुके थे । गांव में ले देकर दो मकान ही क्षतिग्रस्त होने से बच गए । गजान के निवासियों ने वहाँ एक विद्यालय प्रारंभ कर दिया, जहां से लेना एलेक्जेंड्रो ना नामक एक युवती ने स्वेच्छा से अध्यापन कार्य की जिम्मेदारी संभाल यूरी वगोर्ं । इसने दूसरी सेना के एक पुराने मैनुअल से पढना सीखा । सन उन्नीस सौ छियालीस में लेट मिकाइलो बिच बेस्ट सब लोग नामक व्यक्ति नहीं । गणित और भौतिकी विषयों के अध्यापक के रूप में इस विद्यालय में अपनी सेवा देने शुरू । इस अध्यापक का यूरी के जीवन वक्त करियर में काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा । सन में यूरी ने मिखाइल ओ विच बिस पाव लोग की चर्चा एक ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार से करते हुए उनके सहयोग एवं मार्गदर्शन की सराहना की थी । बिस पाव लोग पानी में पिनों को तैराकर उनमें अपने बालों को जोडकर बिजली पैदा करता था । यूरी खासतौर से इस अध्यापक द्वारा प्रायः पहनी जाने वाली धुंधले रंग की वायु चालक यूनिक से प्रभावित होता हूँ । एक दो बार सोवियत याद लडाकू विमान और दो जर्मन लडाकू विमानों की जंगी मुठभेड में क्षतिग्रस्त होकर एक रूसी याद लडाकू विमान गांव के बाहर लगभग आधा किलोमीटर दूर पर एक दलदली जमीन पर गिरा । इसका एक लैंड इंग्लैंड जमीन पर टकराने से उठ गया था और प्रॉपेलर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया । पायलट की जान तो बच गई थी लेकिन उसका एक पैर बुरी तरह से चोटग्रस्त हो गया । देखते ही देखते ग्रामीणों की भीड वहाँ इकट्ठी हो गई । उन्होंने उसके घायल पैर में मरहमपट्टी की और उसके लिए दूध वह भोजन की व्यवस्था कुछ ही देर बाद एक दूसरा विमान बोली कारपोर्ट पीओ टू जमीन पर सुरक्षित उतरा । इसका वायु चालक इस विमान के हल्के प्लाइवुड निर्माण के कारण किसी कौन प्लांटर नाम से संबोधित करता था जिसकी वजह से ये उबड खाबड मैदानों वह खेतों में भी उतर सकता था । आज ये अपने दोहरे बचाव कार्य के मिशन पर था । पहला हो इसके वायु चालक को क्षतिग्रस्त याद विमान के पायलट के स्वास्थ्य की जानकारी लेनी थी । दूसरा ये सुनिश्चित करना कि ये लडाकू विमान कहीं जर्मन सैनिकों के हाथ न लग जाएगा जिसके लिए यह भी आवश्यक हो तो इसे नष्ट भी किया जा सकता था । उप घटनाओं को देख जूरी मंत्रमुग्ध रह गया । गांव के कुछ लडकों को उस स्थान पर भेजा गया जहाँ पीओ टू उतरा था । वे अपने साथ जितनी व्यवस्था हो सके उतना पेट्रोल भी लेकर आएंगे ताकि उस विमान को ईंधन दिया जा सके । पायलट के पास कुछ चॉकलेट बार थे जो उसने यूरिको देती है । यूरी ने उन्हें अन्य लडकों में बात किया । वो हवाईजहाजों के विषय में सोचते हुए कितना हो गया था कि उसने स्वयं के लिए एक टुकडा भी नहीं रखा । इन वायुयानों के गांव के निकट उतरने की घटना का जूरी के दिलो दिमाग पर बहुत गहरा असर पडा । रात में दोनों पायलट पीओ टू विमान के पास ही रहे हैं ताकि उस पर नजर रखी जा सके । अत्यधिक थकावट के कारण उन्हें नींद आ गई हैं । जब उनकी आंखें खुली तो उन्होंने यूरिको वहीँ खडे होकर अपनी ओर एकटक निहारते हुए ताया दिन के प्रकाश में क्योंकि क्षतिग्रस्त याद लडाकू विमान की निगरानी संभव नहीं थी इसलिए उन पायलटों ने उसे चला गया । तत्पश्चात दोनों पायलट पीओ टू में सवार होकर आसमान में ओझल हो गए जबकि यूरी वहीँ खडे रहकर कुछ जलते विमान से उठते कालेधन की ओर एकटक निहार रहा था ।

2. School Jiban

विद्यालय की शिक्षिका । ये लेना को याद आता है कि यूरी एक प्रतिभाशाली छात्र था । अपनी उम्र के दूसरे बच्चों की तरह वो भी शरारत क्या करता था । लेकिन पूछने पर वो अपनी गलती स्वीकार कर दोबारा ऐसा न करने का वादा करता है । वो कहती है कि यूरी को एक बार उन्होंने अपनी निगरानी में कुछ दिनों के लिए कक्षा में सबसे आगे की कतार में बैठाया था । किंतु उसकी इस चौकसी के बावजूद वो शरारत करने से नहीं चुका है । उसने बेंच की सारी कीलें निकाल डाली थी ताकि जब कोई उस पर बैठे तो धाराशाही हो जाएगा । यूरी की रूचि संगीत में नहीं नहीं शेष सभी इवेंट्स में कुछ शौकिया तौर पर भाग लिया करता था । स्कूल में बहुत ही की एवं गणित उसके पसंदीदा विषय है । वो मॉर्डल हवाई जहाज बनाने वाले अन्य छात्रों के साथ खासतौर से संलग्न रहता था । कई बार इससे स्कूल के शिक्षक विशेष रूप से ये लेना परेशानी में पड जाती थी । एक बार उन्होंने खिडकी से हवाई जहाज उडाया क्योंकि वहाँ से गुजरते एक राहगीर पर जा गया । उसने आकर स्कूल के शिक्षकों से शिकायत कर दी । पूछने पर कक्षा में हर कोई तब बैठा रहा हूँ । अन तथा यूरी ने खडे होकर अपनी गलती स्वीकारी और क्षमा याचना की । मॉर्डल हवाई जहाज बनाने का ये शौक यूरी के उडान के प्रति जुनून को प्रकट करता है । सोलह वर्ष की आयु पूरी करने पर यूरी घर से बाहर जाकर आजीविका कमाने के प्रति चिंतित रहने का, अपने माता पिता को आर्थिक परेशानियों से घिरा देखकर उसे लगता की जल्द से जल्द उसे किसी काम धंधे में लग कर उनकी मदद करनी चाहिए । लेकिन उसकी माँ चाहती थी कि वो अपनी पढाई आगे भी जारी रखी है । यूरी ने लेनिनग्राड के कॉलेज ऑफ फिजिकल कल्चर में प्रवेश हेतु अपनी इच्छा व्यक्त जहाँ वो जिमनास्ट या स्पोर्ट्स मैन के रूप में प्रशिक्षण लेना चाहता था । उसके पिता उसके इस रुझान से खुश नहीं थे । लेकिन यूरी के भौतिक विषय के शिक्षक बेस्ट पाव लोग ने उसके पिता को उसकी इस रूचि के लिए मनाने का प्रयास किया । अलेक्सई को उम्मीद थी कि बडे होकर उसके तीनों बेटे बतौर कारपेंटर उसके काम में हाथ बटाएंगे लेकिन ऐसा नहीं होना था । मॉस्को के लिए ओवैसी स्टील प्लांट में प्रशिक्षुओं के लिए एक संस्थान भी था । जूरी संस्थान में किसी ट्रेड में प्रशिक्षण ले सकता हूँ । सन उन्नीस सौ पचास में उसे प्रशिक्षु के रूप में प्रवेश में मॉस्को चला गया जहां उसके एक रिश्तेदार सेवली इवानोविच की यहाँ उसके लिए कुछ दिनों तक ठहरने खाने की व्यवस्था कर दी गई । युवक सी में प्रवेश के दौरान यूरी को व्लादिमीर गोल्डस्टीन नामक फोरमैन के अधीन कहना होता था वो कठोर किंतु अनुशासन प्रिय व्यक्ति था । यूरी उसके व्यक्तित्व जीवन निष्ठापूर्ण कार्यशैली से बहुत प्रभावित हुआ । सन उन्नीस सौ इकसठ में दिए गए एक साक्षात्कार में उसने व्लादिमीर के बारे में कहा, आग शक्तिशाली होती है । पानी आग से भी ज्यादा शक्तिशाली होता है लेकिन इंसान तो सबसे ज्यादा शक्तिशाली है । सबसे पहला कार्य जो उसे करने के लिए सौंपा गया वो था नए बनकर तैयार हुए धातु के प्लास्टिक के कब्जों में की हो । यूरी को स्मरण आता है कि एक बार जब वह कब्जों में कील ठोक रहा था तभी उसके काम का अवलोकन करते हुए ब्लादिमीर ने उस पर झल्लाते हुए कहा कि उसने ये कार्य बिल्कुल गलत ढंग से किया था । अगले दिन से ही यूरी के काम में सुधार हो गया । प्रशिक्षण के दौरान एक ही बार में कोई काम सही सही करने में यूरिको कठिनाई महसूस होती है । शायद ऐसा काम को एक ही बार में न समझ पाने की वजह से होता है किन्तु वह हार नहीं मानता था और बारह बार अभ्यास जारी रखते हुए अंततः सफल हो ही जाता है । व्लादिमीर ने कई वर्षों बाद एक साक्षात्कार में बतलाया । शुरू शुरू में यूरी मुझे काफी कमजोर वह अक्षम महसूस हुआ । मेरे पास काउंट्री ग्रुप में ही एक जगह खाली था, जहाँ काम करने का मतलब था भयंकर धूल । धुआ और गर्मी का सामना करते हुए वजन उठाने का काम करना है । मैंने सोचा कि ये काम यूरी के बूते का नहीं है, लेकिन मुझे याद नहीं है की क्यों? मैंने उसके प्रति नकारात्मक सोच को दरकिनार कर उसे इस काम में लगा गया । शायद मुझे उस की संकल्प शक्ति का भान हो गया था । फिर मेहनती तो था ही । प्रशिक्षण वर्ष के अंत में यूरी की रिपोर्ट सराहनीय और साथ में नवनिर्मित टेक्निकल स्कूल में प्रशिक्षण हेतु चयनित मात्र चार प्रशिक्षुओं में एक उसका नाम था । यहाँ उसे ट्रैक्टर के मैकेनिजम पर प्रशिक्षण लेना था । सन उन्नीस सौ इक्यावन की वसंत ऋतु के दौरान यूरी अन्य तीन चयनित प्रशिक्षुओं वो एक नए शिक्षक टीमों ही नहीं की फोटो के साथ साथ चारो पहुंचा । उनके वहां पहुंचने के कुछ ही घंटों के अंदर उसकी नजर एक सूचना पर भी जिसमें लिखा था रोकना । उसने उत्सुकता वर्ष अंदर जाकर सदस्यता के लिए अपना नाम दे दिया । कुछ दिनों में उसका नाम स्वीकृत कर लिया गया किंतु ज्यादातर समय वो टेक्निकल स्कूल में जारी प्रशिक्षण में व्यस्त रहता था । इस वजह से वह कई सप्ताहों बाद ही सातारा की सीमा पर बने एरो क्लब के एयरफील्ड पर पहुंच सका । एरो कब की प्रमुख प्रशिक्षक थे दामित्री मारकिनो जिन्हें युद्ध के दौरान वायुयान चालन का अच्छा खासा अनुभव था । उन्होंने पहली बार यूपी को कैनवास से ढके एक प्रशिक्षण विमान याद अठारह को एक तक घूमते हुए देखा । यूरी के नजदीक पहुंचकर उन्होंने विमान में उडने का प्रस्ताव रखा जिसे यूरी ने सहर्ष स्वीकार कर लिया । अगले ही क्षण पंद्रह सौ मीटर की ऊंचाई पर सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उडान भर रहे थे । कुछ मिनटों की उडान के बाद इस जमीन पर लौट आए यूरी कहते हैं, इस पहली उडान में मैं गर्व से फूला नहीं समा रहा था । इस उडान नहीं मेरे जीवन को एक मकसद दिशा दी । भारतीय लोग नहीं । यूरी की प्रशंसा करते हुए कहा, तुमने काफी अच्छा कर दिखाया । कोई भी यही सोचेगा कि तुमने पहले भी कभी विमान उडाया है । उत्तर में यूरी ने कहा अब तक मैंने सारी जिंदगी उडान तो भरी है हूँ । मार्च भलीभांति उसका तात्पर्य समझते थे और उसी क्षण से दोनों में गहरी मित्रता हो गई । सन उन्नीस सौ पचपन में इक्कीस वर्षीय यूरी ने उत्कृष्ट ग्रेड लेकर सातारा ट्रेनिंग स्कूल में अपना प्रशिक्षण पूरा किया । अब डॉक्टर के प्रति उनमें कोई रूचि नहीं रह गई । आखिर एरो क्लब में विमान चालन याद अठारह को सीखते हुए हैं । उन्होंने पिछला यादगार समय जो बताया था । जहाँ एक ओर उसे उपनयन के सिद्धांत पर शाम को व्याख्यान में शामिल होना था वहीं दिन के दौरान टेक्निकल स्कूल में प्रशिक्षण पाठ्यक्रम हेतु जागते रहना पडता था और सफल न होने के निश्चय के साथ वो अतिरिक्त कार्यभार संभालने में जुटा रहता था । उसने एक विमान के विंग से पैराशूट की मदद से छलांग लगाने का रोंगटे खडे कर देने वाला कारनामा कर दिखाया जिसके लिए उन्हें क्लब द्वारा सम्मानित किया गया था । मार्च जनों द्वारा यूरिको यूरल नदी के तट पर स्थित पायलट स्कूल के लिए भी अनुशंसित किया गया जहां प्रवेश लेने के लिए उसे बतौर मिलिट्री कैडिट आवेदन करना पडता है । ये कुछ छोटा मोटा शौकिया ना क्लब न होकर सैन्य उडा को को तैयार करने वाला एक ट्रेनिंग सेंटर था । हालांकि एयर उपलब्धि केवल शौकिया तौर पर चलाया जा रहा केंद्र नहीं था । यूरी ने सातारा में बहुत से स्पोर्टिंग क्लब में सदस्यता ले रखी थी जिससे उसकी शारीरिक संरचना, पर्याप्त व्यायाम, भोजन शैली से मजबूत हो गई थी । फुटबॉल और वॉलीबॉल खेलने के अलावा वो वोल्गा में एक पैर से वॉटर्स का ये भी क्या करते हैं । परिणामस्वरूप औसत से भी कुछ काम कद काठी के साथ वो खूबसूरत नवयुवक देखते थे । अच्छे चाल चलन वह मृदुभाषी स्वभाव के कारण उनके बहुत से मित्र बन गए और इन बहुत के प्रशिक्षक सक्रिय ड्यूटी पर लगे हुए सैनिक जिन्हें आसानी से खुश नहीं रखा जा सकता था । आगामी वर्षों में यूरी को उनके कठोर अनुशासन के प्रति स्वयं को कटिबद्ध रखना, प्रशिक्षण समाप्त होने के उपरांत उसे युद्ध पर लडने वह शहीद हो जाने के लिए भेजा जा सकता है । उनके माता पिता मिलिट्री सेवा में शामिल होने देने के पक्ष में नहीं थे । उडान के प्रति उसके जुनून को विक काफी गैर जिम्मेदाराना मानते थे । किंतु यूरी के भविष्य के मिलिट्री पायलट बनना है तो आवश्यक कठोर अनुशासन की झलक पहले ही नजर आने लगी थी । ऑरेनबर्ग प्रशिक्षण केंद्र में कुछ अंक प्राप्त करना आसान नहीं था । यूरी के एक वरिष्ठ प्रशिक्षक ने सन उन्नीस सौ में कहा था, ये कल्पना मत करो कि यूरी बचपन से ही अति प्रतिभाशाली था । ऐसा कुछ भी नहीं । वो एक उत्साही पूर जवान युवक था और अन्य लोगों की तरह सामान्य गलतियां उससे भी होती थी । लैंडिंग में वह बडी गंभीर गलतियां क्या करता हूँ । खडे चढाव युक्त मोडों पर उसका कार्य संपादन सही नहीं हुआ करता था । लेकिन उसके लंबवत टाइप चढाव को देख मैं दातों तले उंगली दबा लेता था । इसके बाद जमीन पर उतरना भी बिल्कुल त्रुटिहीन रहता था । जब उसके वरिष्ठ प्रशिक्षक ने पूछा तुम इसी तरह हमेशा लैंडिंग क्यों नहीं करते तो उसने कहा अब मुझे हल मिल चुका है । वो अपनी सीट के नीचे एक गति रखता था ताकि रेलवे में उसकी दृष्टि बेहतर जमी रहे हैं । वस्तुतः वो गड्डी वह कुछ अन्य बातें लैंडिंग की समस्या के हल खोजने की दिशा में उसकी संकल्पित प्रयास का हिस्सा थी । इसके बाद बात आती है लक्ष्याभ्यास एक मिलिट्री पायलट के लिए अपने विमान से गोलीबारी करने में प्रमीण होना अति आवश्यक है । शुरू शुरू में वह लक्ष्यों पर गोली चलाने में बडी चुकी क्या करता था जबकि उसके अन्य साथी लक्ष्यों पर बिल्कुल सटीक निशाना साथ लेते हैं । यूरी इससे संबंधित सैद्धांतिक कक्षाओं में पुणे शामिल हुआ । उडान के दौरान लक्ष्य पर निशाना दागने की बार बार कोशिश और अंततः उसने सही तरीके से लक्ष्यों को उडाने में महारत हासिल कर ली । किसी दौरान ऑरेनबर्ग में ही यूरी की मुलाकात वेलेंटीना गोरियां सेवा से हुई । पूरी आंखों वाली ये युवती काफी खूबसूरत थी । वो यूरी से उम्र में एक साल छोटी थी । वो ऑरेनबर्ग बेस में कार्यरत थी । यही से दोनों की मुलाकातों का दौर शुरू हुआ है । वेलेंटिना के माता पिता उसे प्यार से वालिया भी कहाँ कर देते । वालिया के माता पिता इवान गोरिया जो और वारवरा सोम्य इनोवा और इन भरके चेरिन स्ट्रीट में रहते थे, वे भी यूरी को पसंद करते थे । उनका घर यूरी के लिए एक और ठिकाना बन चुका था । फरवरी में यूरी ने ऍम ट्रेनिंग सेंटर से सार्जेंट का दर्जा हासिल कर अपना प्रशिक्षण पूरा किया और छब्बीस मार्च उन्नीस सौ सत्तावन को उसने मिग पंद्रह जेट में अपनी प्रथम सोलो उडान भरी । चार अक्टूबर को सोवियत ने दुनिया का प्रथम कृत्रिम उपग्रह लॉन्च किया । इस खबर से ऑरेनबर्ग में प्रशिक्षण लेने वाले वह प्रशिक्षण ले चुके कैडेटों में काफी उत्साह वार रोमांच भर गया । यूरी का सबसे खास मित्र जूरी डर गुनो हवाईपट्टी पर तेजी से दौडते हुए यूरी के पास पूरी ताकत से स्पुतनिक चलता हुआ पहुंचा । यूरी भी काफी रोमांचित था हो लेकिन तब उसका रुझान पायलट स्कूल में होने वाली अंतिम परीक्षाओं वह कुछ हद तक वालिया के साथ बढते प्रेम के प्रति ज्यादा था । उनकी शादी की तारीख सत्ताईस अक्टूबर पहले ही तय हो चुकी थीं । इस विषय में स्वर्ण करते हुए उसने बताया कि अंतरिक्ष में उडान के विचार के बदले शादी के इंतजाम का बोझ उस पर ज्यादा पड रहा था । उसने कभी ये कल्पना नहीं की थी की साढे तीन साल की अवधि में ही वो अंतरिक्ष की कक्षा में भ्रमण कर रहा होगा । वाला को भी ये बयान नहीं था कि उसने भविष्य में अंतरिक्ष का हीरो कहलाने वाले व्यक्ति से शादी की थी । उसे इस ऐतिहासिक कार्य के साथ जुडे जोखिमों का भी ऐसा था । उसे यूरी के साथ एक स्थान से दूसरे स्थान आना जाना भी पडता था क्योंकि यूरी को अलग अलग स्टेशनों में जाने की आवश्यकता होती थी । जहाँ एक ओर उसे इस बात की खुशी होती थी कि सेना विभाग द्वारा उसकी आवाज, स्वास्थ्य सुविधा, बच्चों की शिक्षा, वो पेंशन की व्यवस्था की जाएगी । वहीं दूसरी ओर जेट प्लेन में उडान के दौरान अपने पति को खो देने का अज्ञात भय भी मन में घर बनाता रहता था । अन्य सैनिक पत्नियों के साथ भी चर्चा के दौरान ये बात उभर कर सामने आ ही जाया करती थी लेकिन इस बात की तो उसने कल्पना भी नहीं की थी कि दुनिया के सबसे प्रसिद्ध इंसान की पत्नी बनने का गौरव उसे हासिल होगा । ऑरेनबर्ग से छह नवंबर को उत्कृष्ट ग्रेड लेकर उत्तीण होने के बाद शीघ्र यूरी का लेफ्टिनेंट में कमीशन हो गया । तत्पश्चात उसे आर्थिक सर्कल से तीन सौ किलोमीटर उत्तर में उत्तरी छोर बिंदु पर स्थित निकल एयरबेस में सैन्य निरीक्षण हेतु मिग पंद्रह जेट की उडान है तो भेज दिया गया । वाल्या भी उसके साथ नहीं जहाँ उसे शून्य डिग्रीसेंटीग्रेट से भी कम तापमान की स्थिति का सामना करना पडा । यही दस अप्रैल उन्नीस सौ उनसठ को उसने अपनी पहली संतान सुपुत्री लीना को जन्म दिया । यहाँ शीत ऋतु के महीनों के दौर में यूरी को मिगके नियंत्रन में बाधाएं होती नहीं ऍसे यहाँ लगातार खतरा बना रहता था । साथ ही आकाश और जमीन सफेद चादर के रूप में इस तरह मिले हुए नजर आते थे कि क्षितिज स्पष्ट रूप से दृष्टिगोचर नहीं होती थी । उन दिनों उडान के दौरान इलेक्ट्रॉनिक अप्रोच वन लैंडिंग सिस्टम विशेष तौर पर संवेदनशील नहीं हुआ करते थे । स्नो ब्रांडेड पायलटों को अपेक्षाकृत बडे जमीनी नियंत्रण, गिटार पर भरोसा करना होता था । साफ मौसम के दौरान भी खतरा मंडराता रहता था । एक दिन यूरी ने अपना विमान काली बर्फ से ढकी लैंडिंग स्ट्रिप पर उतारा जो की खुली आंखों से पारदर्शी नजर आती थी तो उसमें तेल जैसी फिसलने ऑरेनबर्ग में प्रशिक्षण के दौरान उसने इस तरह की दशाओं में अभ्यास नहीं किया था । उसका विमान तेजी से बेकाबू होकर एक ओर फिसल गया और लैंडिंग गियर का टायर अचानक ब्रेक लगने के दबाव के चलते हट गया और इन बहुत पायलट स्कूल में यूरी के एक अच्छे मित्र यूरी डेर चुनाव की मौत ऐसी ही स्थिति में उसकी भर्ती के एक माह के भीतर ही निकल के निकट हो गई थी । इस घटना के कई सप्ताह तक यूरी मानसिक रूप से परेशान रहा था ।

3. Space Station Mein Dakhila

सन के अक्टूबर महीने में सोवियत यूनियन के प्रमुख एयर स्टेशनों में बडे रहस्यमय तरीके से भर्ती अभियान शुरू हुआ । इससे निकल भी अछूता ना रहा । किसी को स्पष्ट रूप से इन भर्ती दलों के विषय में जानकारी नहीं । उनका मकसद क्या है, किस संगठन से आते हैं इत्यादि नहीं । इन दलों के द्वारा किसी को इस संबंध में बताया जाता था । बहुत से पायलटों का चयन करके उन्हें कार्यालय में बुलाया जाता है, जहाँ कुछ डॉक्टरों के साथ उनकी औपचारिक बातचीत हुआ करती थी । भारती के अगले चरणों में इन चयनित पायलटों की संख्या घटती चले जाते हैं । अंततः प्रत्येक एयरबेस शॉर्टलिस्ट किए गए लगभग दर्जनभर उम्मीदवारों में से भरती करता हूँ, द्वारा किसी एक से साक्षात्कार लिया जाता है । ऐसे ही चुनिंदा अभ्यार्थियों को मॉस्को के बोल दे को मिलिट्री हॉस्पिटल में कुछ कठोर स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भेजा जाता था । अंततः इन प्रक्रियाओं से चयनित होकर आए दस में से नौ अभ्यार्थी बाहर कर दिए जाते हैं, जिसका निर्णय बडे ही रहस्यमय ढंग से बंद कमरों में लिया जाता था । स्वयं यूरी ने एक प्रकाशित साक्षात्कार में बोर्ड को हॉस्पिटल में स्वयं पर हुए अलग अलग आंखों के सात परीक्षणों, मनोवैज्ञानिकों के साथ अनेक साक्षात्कारों और एक कठिन गणितीय जांच से गुजरने की चर्चा की है । डॉक्टरों द्वारा जांच के दौरान मुख्यतः ऋषय जांच पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, जिसके माध्यम से वे अन्य अभ्यार्थियों की लाइफ हिस्ट्री की जानकारी प्राप्त कर लिया करते हैं । इसके अलावा सिर से लेकर पैर तक चिकित्सीय जांच की जाती जिसके लिए जटिल यंत्रों को भी प्रयोग में लिया जाता था । ये यन्त्र स्वास्थ्य संबंधी छोटी से छोटी खामियों का पता लगाने में सक्षम हैं । यूरी और उसके चयनकर्ताओं के मध्य हुई बातचीत का सही रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है । किंतु निकल एयरबेस में उसके एक सहपाठी पायलट जॉर्जी सोनी जिसे यूरी के बाद शीघ्र ही कोर्स नॉट प्रशिक्षण के लिए चयनित किया गया था, उसकी चयन की प्रक्रिया का अनुभव उपलब्ध है, जो की लगभग यूरी की की तरह रहा हूँ । प्रारंभ में हम वही उबाऊ विषयों के संबंध में बात करते रहे हैं जैसे मुझे एयरफोर्स कैसा लगता है । अपने खाली समय में मैं क्या करता हूँ, मुझे क्या पढना पसंद था या उडान भरने में मेरी रूचि क्यों थी इत्यादि । कुछ दिनों के बाद दूसरे दौर की बातचीत शुरू हुई है जिसमें हम ने से पहले की अपेक्षा कम लोगों को बुलाया गया था । इस बार की बातचीत ज्यादा तथ्य परक वह विशिष्ट थी । इसके पश्चात शोल इनको मॉस्को जाना पडता है किन्तु उसे अपने उद्देश्य की जानकारी नहीं थी । वापस निकल आने पर वो काफी हारा, थका सा लगा किंतु डॉक्टरों ने उसे किसी भी नए काम के लिए उपयुक्त घोषित कर दिया । चयनकर्ताओं ने अंतिम बार उससे बातचीत के दौरान पूछा था, यदि तुम्हें किसी अपेक्षाकृत अधिक आधुनिक विमान में उठने का मौका दिया जाए तो मैं कैसा महसूस होगा । उन्होंने फिर उससे पूछा, यदि किसी बिल्कुल नए विमान में उडने की बात की जाए तो आपकी क्या राय है? इस बात से वो एकदम उत्साहहीन हो गया है क्योंकि उस समय एयर रेजीमेंट नए उच्च कार्यक्षमता वाले लडाकू विमान की तरफ अपना रुझान बनाए हुए थे । उसे निकल स्क्वाड दाल में भी किसी बात की थी । जब चयनकर्ताओं में से एक ने रॉकेट में बैठकर पृथ्वी के चारों ओर उसकी कक्षा में उडान भरने की बात कही तो कौन इनका चेहरा सफेद पड गया था तो उसने इस काम के लिए हामी भर । यूरी का चयन शॉन इनसे हफ्ते पहले हो चुका । निश्चित ही इस चैन से यूरी और वाला खुश हुए हैं क्योंकि उन्हें सम्मानपूर्वक मार मांस के से छुटकारा पाने का अवसर जो मिल गया । यूरी ने वालिया को बताया कि उसे एक नए तरह के विमान में बतौर टेस्ट पायलट चयनित कर लिया गया था जिसके लिए उसे मॉस्को से बाहर रखा जाएगा । आठ मार्च को खुशी खुशी निकल छोड कर चले गए अपने इस नए कार्य की शुरुआत करने पर छब्बीस वर्षीय यूरी को मालूम हुआ कि वह उन बीस सदस्यों के समूह में से एक है जिनका चयन विविध प्रक्रियाओं से संपूर्ण सोवियत यूनियन से पहुंचे । बाईस सौ अभियार्थियों में से किया गया है अन्य काॅस्ट यूरिको काफी सहज वह मिलनसार पाते थे । वहीं एक अन्य ऍम अघोषित तौर पर यूरी को अपना प्रतिद्वंद्वी समझता था और स्वभाव से काफी घमंडी और स्वयं को दूसरों से अलग थलग रखता था । वह आत्मकेंद्रित चरित्र का व्यक्ति था । उसने वोल्गोग्राड स्टेशन से दो वर्ष का प्रशिक्षण विशिष्ट योग्यता के साथ ले रखा था । उन्होंने में यूरी की तरह उसका भी साक्षात्कार लिया गया था । वो स्वभाव से दृष्ट तुनक मिजाज और मुंहफट उसने मिग विमान से अपनी मातृभूमि की रक्षा करने में अपनी पहचान बना ली थी । बतौर कॉस्ट नॉट यूरी के लिए जीवन में दूसरा अहम नाम था अलग साई आरकाॅम । मई उन्नीस सौ चौंतीस में जन्मे यू नो लगभग यूरी का हम उम्र था । युवावस्था में आर्टिस्ट बनने का सपना संजोए हुए उसने ऐकेडमी ऑफ आर्ट रीगा में प्रवेश भी ले लिया था । लेकिन अचानक मनोदशा में आए बदलाव के चलते उसने जो मुझे के एयरपोर्ट स्कूल में प्रवेश नहीं जहाँ वो एक अच्छा पैराशूटिस्ट वह प्रशिक्षक बना । सन उन्नीस सौ में अंतरिक्ष चयनकर्ताओं की टीम द्वारा एक नए पद हेतु उसका चयन कर लिया गया । अपने दूसरे कॅश साथियों के बीच उसकी छवि काफी मिलनसार, खुशमिजाज व्यक्ति के रूप में थी । इसके साथ ही अपने इस नए कार्य में कामयाबी पाने के लिए उसमें कटिबद्धता नजर आती है । अभी भी उसमें कला के प्रति रूझान बना हुआ था । जहाँ कहीं भी उसे जाना होता हूँ वो अपनी स्केचबुक ले जाना ना बोलता हूँ । चाहे वो अंतरिक्ष यात्रा का दौर ही क्यों न हो । कला के प्रति अपने समर्पण के कारण सोवियत स्पेस चित्रकारों में उसका नाम अग्रणी प्रशिक्षण के प्रारंभिक दिनों से ही वो यूरी का अच्छा मित्र बन गया । आज लेना वो कहता है मैंने स्वयं इस इंसान के स्वभाव की सारे देता महसूस कर ली । यूरी अपने मित्रों को काफी पसंद करता था और उनका ख्याल रखता हूँ जहाँ पुराने मित्रों से उसका संपर्क कायम रहता हूँ । वही बडी आसानी से उसके नए मित्र बन जाते हैं । हमारे संबंध खासतौरपर मधुर थे क्योंकि हमें एक दूसरे को लंबे समय से जानते थे । शोहरत हासिल करने के बावजूद वो बदला नहीं था । उस सादा ही एक अच्छा मित्र बन कर रहा हूँ । ग्यारह जनवरी को चिकित्सीय वैज्ञानिक येवजेनी कार प्रो के निर्देशन में एक विशेष कॉन्सर्ट प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ हुआ । कॅण्टकी भर्ती प्रशिक्षण वस, सैद्धांतिक विश्वसनीयता हेतु प्रत्यक्ष दायित्व निर्वाहन करने वाले सेकंड इन कमांड जनरल निकोलई काम नहीं थे । वे अनुशासनप्रिय कठोर । वहाँ अत्यधिक महत्वकांक्षी अनुभवी लडाकू विमान पायलट अंतरिक्ष इतिहासकार जेम्स को बहुत ने उन्हें बुजुर्ग होते युद्ध नायक कहकर संबोधित किया । प्रारंभिक सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रम से नजदीकी तौर से जुडे यार उसने गोलो उसे एक दहशत पैदा करने वाले इंसान के रूप में याद करते हैं । समय अंतराल में बहुत से छात्र उनसे घृणा करने लगे थे किन्तु उसके कठोर सैन्य अनुशासन, संबंधित विवरणों के प्रति उसकी कठोर एकाग्रता एवं अपने छात्रों से सर्वोच्च मानकों के अलावा अन्य सभी बातों को स्वीकार न करने की उसकी फितरत के कारण वो उन्हें अंतरिक्ष में आने वाली कठोर परिस्थितियों के लिए सफलतापूर्वक तैयार कर देता था । जब यूरी एवं अन्य उन्नीस सहकर्मी यहाँ प्रशिक्षण के लिए पहुंचे तो उन्हें अंतरिक्ष के लिए तैयार करने हेतु उपयुक्त सुविधाएं काफी कम थी । कार पर ओवर और ऍम को मॉस्को से चालीस किलोमीटर उत्तर पूर्व में चीड वक्त ताड के जंगली इलाकों में एक बडा हिस्सा आवंटित किया गया था । मार्च में उन्होंने स्टार सिटी का निर्माण शुरू कर दिया । उस स्थल के मध्य में एक विशाल चौकोर भाग काटकर साफ किया गया और जंगल के आसपास की सडकों से पूरी तरह से उसकी स्क्रीनिंग की गई । वहाँ एक सामान्य सा हॉस्टल निर्माण किया गया जिसमें कुछ सैनिक छावनियां और प्रशिक्षण सुविधाओं को रखे जाने हेतु कुछ भवन सम्मिलित थे जिसमें से कुछ इस तरह से डिजाइन किए गए थे जिससे प्रशिक्षुओं में तनाव, मानसिक कष्ट, अकेलेपन, थकावट पैदा की जा सके । स्टार सिटि का आकार एक छोटे कस्बे जैसा तय किया गया था जिसमें इसकी स्वयं की बार होटलों, स्पोर्ट्स क्लब एवं प्रशासनिक केंद्रों को प्रस्तावित किया गया था । दक्षिण में थोडी दूर पर च कालोस की मैं एक विशाल फैलाव में जेट प्रशिक्षणकर्ता होंगे तो सुविधाजनक लैंडिंग स्ट्रिप प्रदान की गई थी । इसके अलावा फॅस के छोटे परिवारों के तू आवास तैयार किए गए । स्टार सिटि निर्माण क्षेत्र के आकार के बावजूद बहुत कम बाहरी लोगों को इस संबंध में जानकारी दी । चकाला उसकी से गुजरने वाली सडक से ये कॉम्प्लेक्स बडी आसानी से घने ताड के जंगली हिस्से से छिप जाता था । दाहिने हाथ की तरफ निर्मित एक छोटे से गार्ड पोस्ट से इसे सुरक्षित किया गया था । जब यूरी और उसके सहकर्मी यहाँ प्रशिक्षण है तो पहुंचे तब स्टार सिटि की सुविधाएं प्रारंभ नहीं हुई थी । ऍफ के प्रारंभिक प्रशिक्षण में मॉस्को की विविध वैज्ञानिक और चिकित्सीय संस्थानों विशेष कर चुका ऑॅयल साइंसिस फॅस की प्रॉस्पेक्ट्स, उसमें शैक्षणिक एवं शारीरिक प्रशिक्षण ही शामिल थे । पेट्रोल की पार्क में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल आॅप्टिकल प्रॉब्लम्स इन्हें चिकित्सीय, शारीरिक और मनोवैज्ञानिक जांचों से गुजरना पडता था । यहाँ इन्हें आइसोलेशन चैंबर की प्रक्रिया से गुजरना पडता था जिसके तहत इन्हें एक बडे टैंक के भीतर अलग थलग रहना पडता था । डॉक्टरों द्वारा प्रशिक्षुओं को अंदर बंद करके अपनी वैज्ञानिक सूझ बूझ के आधार पर टैंक के अंदर का वायुदाब घटाया बढाया जाता था । इसके साथ ही इस दौरान उन्हें बहुत से कष्टप्रद कार्य जैसे गणितीय सवाल, बौद्धिक परीक्षण, शारीरिक व्यायाम इत्यादि कार्य सौंपे जाते थे । वहाँ उन्हें किसी प्रकार भी आमोद प्रमोद मनबहलाव के द्वारा समय बिताने कि छूट बिल्कुल नहीं मिलते हैं । बिना तो आपस में कोई बात कर सकते थे न पुस्तक वह पत्रिकाएं पड सकते थे । यहाँ तक कि बाहरी दुनिया से कोई संपर्क स्थापित नहीं कर सकते हैं । ज्यादा से ज्यादा इस आइसोलेशन चैंबर पर नजर रखने वाले टेक्निशियन से ही वे अपनी कोई बात कर सकते थे । एक सत्र एक से दस दिनों का होता था तो इसमें रखे जाने वालों को निर्धारित अवधि के विषय में पहले से कभी नहीं बताया जाता था । प्रशिक्षण की इस कठोर प्रक्रिया का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना होता था कि व्यक्ति अंतरिक्ष यात्रा के दौरान अकेलेपन वह उबाऊपन के हालत में रह सकते हैं क्योंकि पृथ्वी के ऊपर उन्हें कक्षा में कई दिनों तक घूमते रहना पड सकता था । एक कॉस्ट नॉट को इस प्रशिक्षण को हसते हुए स्वीकार करना पडता था वरना उन्हें अंतरिक्ष में उडने की अनुमति नहीं मिलती थी । यूरी ने इसके कई सत्रह सफलतापूर्वक पूरे किए और बाद में उसने इस अनुभव को काफी कष्टप्रद बतलाया । मनोवैज्ञानिकों द्वारा उसे अपने विचार या भाव चैंबर के भीतर लगी घडी में निर्धारित अंतराल में बदलने के लिए कहा जाता था । जब वो अपने कोई बात कहता तो उसकी बात सुनने वाले प्रायः कोई जवाब नहीं देते थे । वो ये तय नहीं कर पाता था कि वे उसे जानबूझकर अनसुना कर रहे थे या वे किसी और काम से कहीं चले गए थे । चैंबर के भीतर लगी घडी से उसे बाहर के समय या पहर, सुबह शाम इत्यादि का सटीक आवास भी नहीं हो पाता था । इसके अलावा चैंबर में खिडकियां भी नहीं हुआ करती थी । चैंबर के भीतर बिजली का प्रकाश किसी भी अप्रत्याशित समय आता जाता रहता था । जैसे जब वो किसी विशेष काम में व्यस्त होता तो बत्ती गुल हो जाती हैं और कभी सोने के वक्त ही अचानक बत्ती जलती समय का तात्पर्य ही खो चुका था । बाद में उसने इस विषय में कहा था, इस तरह अलग थलग पडे रहने के दौरान आपका मन भूतकाल की बातों में आसानी से एकाग्र हो जाता है । लेकिन मैं तो भविष्य में ही मन को एकाग्र किए रहता था । आंखे बंद करके मैं स्वयं को वो स्टक में उडान भरते हुए महसूस करता हूँ कि नीचे सभी महासागर वह महाद्वीप पीछे छूटते जा रहे हैं । लीडिया आबू खोवा नामक एक महिला पत्रकार को ऐसे ही एक प्रशिक्षण को प्रत्यक्ष रूप से देखने वह महसूस करने की इजाजत इस शर्त पर मिली थी कि वो इसे अंततः यूरी की अंतरिक्ष उडान कीतिथि यानी अप्रैल के कुछ महीनों बाद तक प्रकाशित नहीं करेंगे । चैंबर के भीतर यूरी अपने आप से ही मसखरी करता हूँ । वो माइक्रोफोन पर बाहर खडे किसी भी व्यक्ति से बात करने में नहीं चूकता चाहे उसकी बात का उत्तर उसे मिले या ना मिले । इस तरह कुछ दिन बीते चैंबर के बाहर हर कोई ये जानता था कि इस तरह अलग थलग रहने की उसकी ये अग्नि परीक्षा का वो अंतिम दिन था । लेकिन यूरी को इस बात का कतई अंदाजा नहीं था । उसने चैंबर के भीतर कुछ वस्तुओं को लेकर ही गाना गाना शुरू कर दिया । मेरे बिजली के तार एकतार पीले रंग का दूसरा लाल रंग डॉक्टरों ने बताया चैंबर में उसका ध्यान अपनी ओर खींचने वाली बातें कुछ रह ही नहीं गई थी इसलिए वो कुछ नया खोज रहा है । बिल्कुल उसी तरह जैसे रेगिस्तान में भ्रमण करते हुए यायावर को रेत के अलावा जो कुछ भी नजर आता है वो उसी पर गीत गाने लगता है ।

4. Kamiyabi Ki Suruwat

मनोवैज्ञानिकों द्वारा दी जाने वाली मानसिक यातनाओं के बावजूद यूरी ने अंतरिक्ष में उडान भरने के अपने सपने को सादा आंखों के सामने रखा । उसने सभी परीक्षणों को हस्कर स्वानुशासन और बहादुरी के साथ झेला और उनमें कामयाबी भी हासिल की । जब टॉकीज चैंबर में जाने की बारी आई तो उसने इस अग्नि परीक्षा के विषय में गहन विचार क्या है? ये मात्र विभिन्न वायुमंडलीय दावों में शरीर की परख मात्र नहीं थी । नहीं केवल उबाऊपन सहने की बात थी । उसे यकीन था कि उसे बहुत सी सूक्ष्म जांचों के दौर से गुजरना पडेगा । आपको बताया जाता है कि चैंबर के भीतर कोई भी शोर शराबा नहीं होता है लेकिन ये सब बकवास है । एयरकंडीशनिंग सिस्टम वॅाटर तो काम कर ही रहे होते हैं जिनसे आवाजें आती रहती है किंतु आप जल्द ही इनके अभ्यस्त हो जाते हैं । सबसे अहम बात है अलग थलग रहे हैं । क्या आप दस दिन स्वयं अकेले वह सबसे कटे रहते हुए बिता सकते हैं? आपके कि होल से कोई नहीं झांक रहा होता है लेकिन आप जानते हैं कि आप पर नजर रखी जा रही है । भोजन के डिब्बे और छोटा सा कुकिंग तो भी अग्नि परीक्षा का हिस्सा दे । चैंबर में मात्र पीने के लिए ही पानी था । उसे और किसी काम में खर्च नहीं किया जा सकता था । कुछ फॅसने सत्र के प्रथम दिन फटाफट भोजन के डब्बे खोलनी है ताकि जलपान करके अपनी थकावट मिटाने उन्होंने एक सॉसपैन में डिब्बे के भोजन को खाली कर स्टोर पर गर्म करने के बाद भोजन तो कर लिया लेकिन बाद में उन्हें साथ हुआ कि इसके बाद सॉसपैन की सफाई करने का कोई तरीका नहीं है जब की आगे उन्हें कई बार भोजन करना था । टिटो कहता है, मैंने सोचा कि मैं अपनी नियुक्ति से काम चला लूँ । मैंने सॉसपैन में पानी भरकर भोजन के डिब्बे उसमें रखती है और स्टोर पर रखकर उन्हें गर्म कर लिया । इसके बाद आप डब्बा खोलिए भोजन करके डब्बे को फेंक दीजिए । ऐसा करने से आपको बाद में कुछ धोना नहीं पडेगा । टिप टॉप की तरह सॉसपैन को बिना हुए दोबारा भोजन कर्म किया जा सकता है । उसके पास पानी बचा रहा है । उसका स्वास्थ्य पैन साफ सुथरा रहा और उसके मनोवैज्ञानिक परीक्षक उससे खुश हैं या कम से कम उस से नाखुश नहीं थे जिसकी उम्मीद कॉस्ट नॉट को चैंबर में समय बिताने के बाद हुआ करती है । डॉक्टरों द्वारा टिप टॉप को चैंबर में पढने की अनुमति प्रदान नहीं की लेकिन वो उन पर बीस साबित हुआ । उसने उनसे येवगेनी होने दिन की एक प्रति अंदर ले जाने की इजाजत मांगी । उत्तर था नहीं, बिलकुल नहीं । इस तरह के मनोरंजन की अनुमति नहीं थी । फॅसने उन्हें बताया कि क्योंकि वो इस पुस्तक को शुभ मानता था इसलिए वह महज शगुन के लिए इसे साथ ले जाना चाहता था । मैंने उनसे कह दिया कि ये पुस्तक तो मुझे पहले ही कंठस्थ । मैंने उन्हें मना लिया और वे इसके लिए तैयार हो गया जबकि मैं इसके विषय में कुछ भी नहीं जानता था । इस तरह चैंबर के भीतर किट ऑफ ने आराम से ये पुस्तक पढते हुए अपना समय हो जा रहा हूँ । चैंबर में टिक टॉक के कुछ अन्य सत्रों की फिल्म फुटेज अभी भी विद्यमान है जिसमें वो बडे मजे से उसकी उनकी कविताओं को स्मरण करके सुना रहा है । जब की डॉक्टरों द्वारा एक मोटे कांच वाली खिडकी से उसका अवलोकन किया जा रहा है वो अपनी याददाश्त वह साहित्य की ज्ञान पर गौरवान्वित होता महसूस होता है । किन तो उसका स्वयं के विषय में औसत दर्जे से अधिक शिक्षित होने को लाभकारी मानने का यहाँ कोई खास औचित्य नहीं था । समय आने पर टिटो को ये जानकर निराशा हुई कि ये उसकी गलत पहले से बढकर और कुछ नहीं था । भवन उत्पन्न करने वाले अब कर षणयंत्र यानी सेंट्रीफ्यूज जिसे गति बढाने वह घटाने में होने वाली जी लोड के विकल्प के रूप में प्रयोग किया गया था । उसमें इतना आत्मविश्वास नहीं था । टिटो जैसे स्वयं पर गर्व करने वाले पायलट के लिए दूसरों के रहन पर इतना ज्यादा आश्रित रहना काफी निराशाजनक था । किसी एयरक्राफ्ट में आप उच्च जी लूट में उड सकते हैं । इससे बाहर आने पर आप नियंत्रण कर सकते हैं । लेकिन आकर्षण यंत्र यानी सेंट्रीफ्यूज बडा बाध्यकारी था । इससे उत्पन्न जीफोर्स का आप पर दबाव पर दबाव बढता ही जाता है और आपका इस पर कोई नियंत्रण नहीं रहे । आप असहाय से बैठे रहने के अलावा कुछ नहीं कर सकते हैं । यूरी को भी ये पसंद नहीं है जबकि जीफोर्स इसका सामना करने में वह अग्रनी तौर पर प्रतिभाशाली था । एयरफोर्स सेंट्रीफ्यूज में उसकी पूर्व की योग्यता लगभग सात जी के शिखर पर उसके मिग लडाकू विमान में ये नौ और उच्च गति में आने वाले मोड के दौरान लगभग दस थी । फिर अंतरिक्ष प्रशिक्षण सेंट्रीफ्यूज में तो वो बारह तक पहुंच गया । मेरी आंखें बंद ही नहीं होती थी सांस लेने में काफी मशक्कत करनी पडती थी । मेरे चेहरे की मांसपेशियां हैट रही थी । मेरे दिल की धडकन की गति बढ गई थी और मेरी रगों में खून पारी की तरफ वजनदार महसूस होता था । ऑक्सीजन के अभाव में रखें यानी ऑक्सीजन स्टार वेशन का प्रयोग । शायद प्रशिक्षण की सर्वाधिक अप्रिय प्रक्रिया फॅस को आइसोलेशन चैंबर में बंद कर के अंदर की वायु आपूर्ति को धीरे धीरे किन्तु निर्दयतापूर्वक बाहर निकाल दिया जाता था । अंतरिक्ष मिशन है तो चयनित किए जाने के लिए उपयुक्त घोषित होने हेतु यूरिको इस परीक्षण को बिना किसी शिकायत के स्वीकार करना था । डॉक्टरों द्वारा उसे बंद कर दिया गया । तत्पश्चात टेलीविजन मॉनिटर में उसे देखा जा रहा है । वो बार बार एक पेपर पैड पर अपना नाम लिख रहा था । पत्रकार लीडिया उखडवाने इस प्रक्रिया को प्रत्यक्ष अपनी आंखों से देखा था । टेक्निशियनों द्वारा लिया गया टीवी फुटेज आज भी मौजूद हैं । चैंबर में ऑक्सीजन की मात्रा का स्तर घटते ही यूरी के लिखने में गलतियां होने और अंत तक वो अनाप शनाप लिख नहीं लगा । वायु का स्तर और कम होता गया । अब तो यूरी के हाथ से पेंसिल वो पेड गिर गए । वो हवा में घूमने लगा और उसका चेहरा काला पडने लगा । उसकी चेतना का स्तर इस परीक्षण में सफल होने के लिए यकीनन पर्याप्त ऊंचा रहा होगा वरना ऍप्स के दल में उसका स्थान तय नहीं होता । इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता हूँ कि इस परीक्षण से गुजर चुके अन्य काॅस्ट की तरह उसमें भी इस प्रक्रिया के प्रति अपनी ना पसंदगी जताई होगी क्योंकि इसके कारण भी डॉक्टरों को एकदम मूर्खता नजर आ रहे हैं । वरिष्ठ अंतरिक्ष इंजीनियर्स ने भी इस परीक्षण के प्रति अपनी आपत्ति जताते और हैरानी व्यक्त करते हुए कहा कि आखिर डॉक्टर प्रशिक्षुओं को इस दमघोटू प्रक्रिया से गुजार कर क्या जानना चाहते थे । अंतरिक्ष में किसी को स्पोर्ट को वायु आपूर्ति की स्थिति का सामना मात्र तभी करना पड सकता था जब उसके ऑक्सीजन कैप्सूल में रिसाव पैदा हो जाएगा । ऐसी स्थिति में भी वो अपने अंतरिक्ष हेलमेट के मुखौटे को बंद करके एक अलग से दी हुई आपातकालीन वायु आपूर्ति चालू कर सकता था । कैबिन और स्पेससूट यानी अंतरिक्ष पोशाक दोनों ऑक्सीजन आपूर्ति में रिसाव शुरू हो जाने की स्थिति में कॉस्ट मिनट के मरने के अलावा और कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा रहेगा और इस दोहरी खराबी के आसार बिल्कुल नगर नहीं थे । अंतरिक्ष में आपको दोनों ही स्थितियों का सामना करना पड सकता है । या तो आपके पास सांस लेने के लिए वायु है या फिर उसका पूर्ण । तब अभाव आपूर्ति खत्म होने पर ऑक्सीजन की कम उपलब्धता का तो प्रश्न ही नहीं होता । इसीलिए वरिष्ठ रॉकेट इंजीनियरों का मानना था कि ऑक्सीजन की कमी रख कर जांच की प्रक्रिया का कोई औचित्य ही नहीं था । प्रशिक्षण की इन कठोर और यात्रा दाई प्रक्रियाओं के बाद पैराशूटिंग अभ्यासों के दौरान उन्हें कुछ राहत महसूस होती है । इस अभ्यास मेरे डॉक्टरों पर छुट्टी ले सकते हैं क्योंकि उनमें से अधिकतर ऐसे थे जिनमें पायलटों की तरह एयरक्राफ्ट के दरवाजे से बाहर आने का साहस ही नहीं होता था । पैराशूटिंग अभ्यास का प्रशिक्षक एक अनुभवी पैराशूटिस्ट निकोलेई कॉन्स्टेंट डोविच था जिसने पंद्रह किलोमीटर की ऊंचाई से कूदने का कीर्तिमान अपने नाम कर रखा था । भविष्य में अंतरिक्ष यान के कर्मियों को किसी तरह की ऊंचाई से पैराशूट लेकर कूदने की आवश्यकता पड सकती है और प्रशिक्षक निकोलई का कार्य उन्हें ऊपर होने वाली गडबडियों के विषय और उनसे बाहर निकलने के लिए प्रदर्शन करके बतलाना था । उदाहरण के लिए कॉर्प्स करू की होने वाली समस्या जिसमें पायलट अपनी सीट से छिटककर घूमने की स्थिति में आ जाता है । इस स्थिति में वह सुरक्षित तरीके से अपना पैराशूट नहीं खेल सकता है क्योंकि इस की लाइनें एक दूसरे के ऊपर रस्सी के बल की तरह रहती है । इस कारण इसका रेशमी छत्र नहीं खेल पाता है । निकोलई अपने प्रशिक्षुओं को सिखाता था कि वे विमान से कूदने के बाद धरती पर पहुंचने की कुछ समय पहले नियंत्रण स्थापित है । यूरी ने स्मरण करते हुए बताया, ये बहुत ही परेशानी भरी स्थिति होती है । आपका शरीर भारी गति से घूमने लगता है । आपका सिर शीशे की तरफ भारी हो जाता हैं और आंखों में भयंकर दर्द होता है । शरीर बिल्कुल बलहीन हो जाता है और आप में दिशा का बिल्कुल भान नहीं रह जाता हूँ । कम से कम पैराशूटिंग सचमुच अंतरिक्ष प्रशिक्षण महसूस होता था । जब यूरी और उसके साथ ही विमान में सवार हो जाते थे तो उन्हें कुछ बेहतर महसूस होता था । टेस्टर्स कहलानेवाले दूसरे समूह के सदस्यों के लिए डॉक्टरों की सुन लिया । गैस टैंकों और आइसोलेशन चैंबरों से बचने का ऐसा कोई उपाय नहीं होता था । उन्हें तो चिकित्सीय प्रक्रियाओं के इससे भी बदतर दौर से गुजरना पडता था । इन युवाओं को उड्डयन अकादमी के कुछ निचले स्तर से चयनित किया गया । जरूरी तौर पर लडाकू पायलट नहीं थे । उनकी भर्ती के समय उनसे स्पष्ट रूप से यह नहीं पूछा गया था कि वे अंतरिक्ष यान में उठना चाहेंगे या नहीं । इन टेस्टर्स का कार्य फॅस के उलट व्यावसायिक रूप से मान्यता प्राप्त करना नहीं था तथा उन्हें उनके पूर्व सैनिक कार्यों जैसे सैनिक टेक्नीशिन या मैकेनिक के आधार पर वेतन प्रदान किया जाता हूँ । हालांकि उनके चयनकर्ताओं द्वारा उन्हें उनके पौधे की विशिष्टता के प्रति बढा चढाकर बताया जाता हूँ किन्तु हकीकत में उन्हें प्रयोगशाला के प्रयोग के बाद फेंक दिए जाने वाले चूहों से ज्यादा कुछ नहीं समझा जाता हूँ । उनके घायल होने पर उन्हें या उनके परिवार को क्षतिपूर्ण करने का कोई प्रावधान नहीं होता था क्योंकि अधिकारिक तौर पर उनके कार्यों को सार्वजनिक रूप से स्वीकार नहीं किया जाता था । आज ब्लाॅस्ट के इतने लम्बे अरसे के बावजूद रूसी अंतरिक्ष अधिकारीगण प्रारंभिक अंतरिक्ष प्रयासों में टेस्टर्स के योगदान की चर्चा करना पसंद नहीं करते हैं । कुल मिलाकर तीन दशकों के दौरान विभिन्न अंतरिक्ष कार्यक्रमों में लगभग बारह सौ टेस्ट शामिल थे । ये सभी टेस्टर्स, सैन्य स्वयंसेवी, वहाँ अच्छे सैनिक जो विपरीत परिस्थितियों में अपने साथियों के आगे हार नहीं मानते थे, फॅस के अंतरिक्ष में सबसे पहले उडने के संजोए ख्वाबों की तरह उनके भी खाओ की ऊंचाइयां होती थी जहाँ पे पहुंचना चाहते थे । जैसे सबसे ज्यादा वो सबसे कम वायुदाब कौन सह सकता है? कैटापुल्ट की सर्वाधिक तीव्रतम गति वृद्धि में कौन बच सकता है? हड्डियाँ झकझोर देने वाले क्रेस्ट आपको कौन झेल सकता है? विमान चालन में सेंट्रीफ्यूज के दौरान सबसे ज्यादा समय किसने बताया और उन्हें कितने जी मिल सकते हैं । उनमें से कौन सर्वाधिक मजबूत, ताकतवर और बहादुर था । सर जी ऍफ नामक एक अनुभवी सैनिक जिसने बतौर टेस्टर प्रशिक्षण लेकर उन दिनों कार्य किया, चेहरे पर कुटिल मुस्कान के साथ अपना अनुभव कुछ इस तरह बतलाते शुरू में हमें मालूम ही नहीं था कि किस बात के लिए हमारा परीक्षण किया जा रहा था । लेकिन जल्द ही यह बात बडी गंभीर रूप से साफ हो गई । उन्होंने कहा कि वे हमें हल्के लैंडिंग अभ्यासों में इस्तेमाल करेंगे । ये सुनकर हमे हंसी आ गई । टेस्टर्स को एक बहुत ज्यादा तो नहीं किंतु पर्याप्त ऊंचाई पर स्वयं को सीट से एकदम अलग होना होता था । परिणामस्वरूप मानसिक तनाव की स्थिति निर्मित हो जाती थी । सर्वाधिक गंभीर स्थिति तब निर्मित हो जाती है जब कुछ टूट फूट जाता है । यह सिस्टम सही काम नहीं करता था । इस परीक्षण के बाद कुछ लडाके फिर से विमान पर सवार नहीं हो सकता है । आज भी नॅान किस बात का दंभ भरता है की टेस्ट बारी बारी से सेंट्रीफ्यूज के ऐसी परीक्षण से गुजरते थे जिसमें मासूम को स्पोर्ट्स का अस्तित्व ही दांव पर लग जाता है । फॅस को सेवेन जी में मात्र दो या तीन मिनट और ट्वेल्थ जी में मात्र बीस सेकंड की अवधि झेलनी होती थी जबकि मैंने टेन जी में सात मिनट हासिल की है । मेरे एक सहकर्मी एक्टर को स्टॅाफ से तीव्र झटके सहने के बाद अल्पकाल में सत्ताईस जी हासिल कर सकता था । यह काफी संक्षिप्त होते थे जिन्हें माइक्रोसेकंड में मापा जाता था । एक बार वह सेकंड के एक भाग में ही फोर्टी जी तक चला गया । मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि हम किस तरह कोई कीर्तिमान स्थापित नहीं करना चाहते हैं । हम ये महसूस करना चाहते थे कि आखिर व्यक्ति कितना झेल सकता है । हमने कभी कीर्तिमान शब्द का प्रयोग नहीं किया क्योंकि हम किसी खेल कूद से जुडी उपलब्धियों के दावे नहीं कर सकते हैं । इसमें उन्हें कुंठा के दौर से भी गुजरना पडता था । टेस्ट किसी से अपने कार्य की कठिनाई की चर्चा नहीं कर सकते क्योंकि उनके कार्यों को काफी गोपनीय रखना होता था । उन्हें अच्छी तरह मालूम रहता था की कॉसमॉस की तुलना में उन्हें ज्यादा कठिन दौर का सामना करना पडता है । कभी कभी उनके डॉक्टर भी जब आपने डायल वह मॉनिटरिंग यंत्र से उनकी जांच करते तो स्वयं हत्प्रभ रह जाते हैं । ऍम बताते हैं कि एक ओर जहां डॉक्टर दया और करुणा का प्रतिनिधित्व करने वाले पेशे से ताल्लुक रखते थे, दूसरी ओर जीफोर्स आ जाती और टेक्निशियन पूछा करते क्या उनका परीक्षण रोक दिया जाए? लगता है कि प्रशिक्षु और ज्यादा नहीं झेल सकता हूँ । वो लाल पडता जा रहा है । उसका दिल तेजी से धडक रहा है । पसीना बढ रहा है लेकिन डॉक्टर परीक्षण रोकते ही नहीं थे । टेस्ट के लिए ऐसा करना घातक था । परीक्षण कार्यक्रम के एक विशिष्ट एकेडमिक प्रशिक्षक का इस विषय में कहना था, हमने तो कुत्तों पर प्रयोग किए हैं और वे जीवित बच गए थे । फिर इंसान तो कुत्तों से ज्यादा था । कतर होता है । हमारे परीक्षण के परिणामों के विषय में कुछ भी नहीं कहा जाता है । ये परीक्षण इतने कठोर निर्दयतापूर्वक किये जाते थे कि इनके बाद जिंदा बचे रहने के बावजूद बाद के जीवन में व्यक्ति आसक्त हो जाता था । उसके फेफडे हृदय वो अन्य आंतरिक अंगों के गडबड होने की स्थिति का सामना करना पडता था । यद्यपि हम किसी परीक्षण से गुजरने के लिए स्वेच्छा से मना कर सकते थे किंतु लिखित नियम के तहत हम ऐसा नहीं कर पाते हैं । यदि आपने किसी परीक्षण के लिए असहमती जताई तो आपको टीम से ही बाहर कर दिया जाता । ॅ कहता है कि जिन टेस्टर्स के साथ उसने सन उन्नीस सौ साठ के दशक में काम किया था, उनमें से आधे भी सन उन्नीस सौ नब्बे के दशक तक जीवित नहीं रह सकते हैं । इसके बावजूद उसमें अपने कैरियर के प्रति कोई दुःख या निराशा या शिकायत का भाव नहीं था । उसे अंतरिक्ष कार्यक्रम में स्वयं के द्वारा किए गए योगदान पर काफी गर्व महसूस होता है । इसका एकमात्र दुखद पहलू यह है कि बतौर पेशा हमारा कार्य कभी भी अस्तित्व में नहीं रहा है । किसी बिलकुल गोपनीय रखा गया । इसलिए शासन की ओर से न तो हमें कोई सामाजिक सुरक्षा मिली नहीं, हमारे दीर्घकालीन स्वास्थ्य की सुरक्षा को कोई तवज्जो दी गई । आज हमारे पुराने मित्र व सहकर्मी मौत के मुंह में समाने लगे । एयरक्राफ्ट के वायु शोधन सिस्टम के खराब हो जाने की दशा निर्मित करने से संबंधित एक खतरनाक परीक्षण का स्मरण करते हुए वो कहता है, टेस्ट चैंबर में एक सहकर्मी के साथ मुझे साढे तीन चार पांच प्रतिशत किस तरह से गुजरना पडता है । ईमानदारी से आपको बता रहा हूँ कि ऐसी स्थिति में आपकी सांस रूप चाहिए । आपका चेहरे का रंग विचित्र सा नजर आ नहीं । होठों का रंग नीला पड जाएगा । दिमाग काम करना बंद कर देगा, बुरी तरह सिर दुखने लगेगा और आपकी सारी शक्ति जवाब देने लगेंगे । मेरे सहकर्मी और मेरी नाक से खून बहने लगा था लेकिन हम निर्धारित समय सीमा तक काम करते ही रहे हैं । मुझे उसका ये कहना कभी नहीं बोलता । मात्र आधा घंटा हो । मैं भी उसे किसी तरह उत्साहित करता जा रहा था । येवजेनी ट्यूशन नाम के एक टेस्टर को इस परीक्षण के दौरान अपनी चेतना के रूपांतरण की दशा का अनुभव होने लगा था । अंधेरी की स्थिति के बाद अचानक पहले पीले रंग का प्रकाश आंखों के सामने तैर नहीं लगा । फिर बैंगनी रंग का अचानक आपने सारी संवेदना खोरसी जाती है । आपको ऐसा महसूस होगा कि आपने दिमाग है, हाथ है और आंखे हैं । अब बिलकुल भारहीन महसूस करेंगे । मानव स्वयं को अपने ऊपर से देख रहे हैं । यही रूपांतरण कनेक्शन है । उन कुछ ही क्षणों में आपकी सभी वास्तविक उपलब्धियां घटित होने लगते हैं, लेकिन बिना किसी अपवाद के ये प्रयोग भयंकर होता है । फॅमिली यूरी से मुलाकात पहली बार दो जनवरी उन्नीस सौ अडसठ हुए हैं । जब मेडिकल प्रयोग की सुविधा का निरीक्षण करने और टेस्टर्स के साथ नए साल की खुशियां बांटने आया था, उस समय मैंने एक्सप्लोजिव डिकंप्रेशन पर काम करना शुरू किया ही था । इसमें मेरी रूचि बहुत ज्यादा थी । वो मुझसे पूछता रहता था, ये कैसा है तो मैं डर नहीं लगता । क्या तुमने पचास किलोमीटर दाबके वायुमंडलीय गिराव को महसूस कर लिया है? इन सब विषयों पर उस से बात करना बहुत अच्छा लगता था । तभी यकायक उसने मुझसे मेरे उदास नजर आने की वजह जाननी चाहिए मेरी नीरव, ताकि प्रकृति को उसने मेरी उदासी समझ लिया था । उसने मुझे गले लगाते हुए कहा था, सर्जरी सबकुछ तुम्हारे हाथ में है । तुम में अदम्य इच्छाशक्ति होनी चाहिए । एक कदम में इच्छा शक्ति है । यही तो कॉमर्स में पाई जाती है और जिसकी तारीफ सारी दुनिया करती है । टेस्टर्स में भी इच्छा शक्ति थी, लेकिन वे इसके विषय में यूरी के अलावा और किसी से नहीं कह सकते । टेस्टर से मुलाकात के दौरान उनमें से एक को उसने एक्सॅन में किसी पागल की तरह दौड कर अपनी सेवा देते हुए देखा । कुछ क्षणों के लिए मुझे कुछ कहे बिना की गम हत्प्रभ साहब उसे देखते हुए हैं । वो ये समझने का प्रयास करने लगा कि वो ऐसा क्यों कर रहा है । वस्तुतः ऐसे एक से बढकर एक खतरनाक कामों के लिए अपनी सेवा देने वालों की कोई कमी नहीं नहीं । व्लादिमीर नाम के एक वरिष्ठ प्रबंधक जो प्रारंभिक सोवियत अंतरिक्ष मिशन के सभी पहलुओं से जुडे थे, अपने संस्मरण में कहते हैं, दूसरे स्पुतनिक में ले का एक कुत्ता उसकी उडान के बाद एकेडमी ऑफ साइंस में पैंतीस सौ आवेदन पत्र पहुंच गए । जो की जेल के कैदियों, विदेश में रहने वालों अनेक संगठनों से आए थे । उन सभी की इच्छा अंतरिक्ष में जाने की थी । निसंदेह हम सभी को जवाब नहीं दे सके । इसके अलावा जब तक हम भेजे हुए लोगों की वापसी सुनिश्चित न कर पाते तब तक हम किसी को भी नहीं भेज सकते हैं ।

5. Dosti

यूरी के अब तक के जीवन में एक शख्स का खास तौर पर असर रहा शुरू शुरू में छिपे तौर पर और बाद में एक समर्थ संरक्षक के रूप में । यद्यपि काफी पहले अपने यौवनकाल में उसने विमान उडाना सीख रखा था किन्तु घोषित तौर पर ऍफ नहीं था । अंतरिक्ष प्रबंधन में सर्वोच्च श्रेणी के लोगों में उसकी गिनती होती थी । सोवियत एयरोस्पेस इंडस्ट्री से जुडे ज्यादातर लोग उसे दखिन या ऍम या प्यार से उसके नाम के दो प्रारंभिक अक्सर एसपी कहकर पुकारते थे क्योंकि उसकी पहचान को आधिकारिक तौर पर गोपनीय रखा गया था । इसलिए उसका पूरा नाम कभी भी नहीं जाना जा सका । वर्षों तक सोवियत रॉकेट उपलब्धियों से जुडे रेडियो प्रसारण प्रेस रिपोर्टों में उसे चीज डिजाइनर के रूप में संदर्भित किया जाता था । इस शख्स का नाम था सर जी पावलो विच कोरोली । मॉस्को में शिक्षा प्राप्त करने के बाद कोरोलेव ने अपने कैरियर की शुरूआत बतौर एयरक्राफ्ट डिजाइनर की । इसके बाद उनका रुझान रॉकेट की तरफ बढता गया । पहले तो उसे अपने एयरक्राफ्ट के लिए रॉकेट टिक उपयोगी ऊर्जा स्रोत लगा लेकिन सन उन्नीस सौ के उत्तरार्ध में उसने रॉकेट को बतौर शक्तिशाली हवाई वाहन के रूप में मान्यता थी । युद्ध के पूर्व के सैन्य विन्यास कों ने रॉकेट के प्रारंभिक प्रणेताओं द्वारा किए गए काम में गहरी रुचि दिखाई । मार्शल मिखाइल तो काचिंस्की ने गैस डाॅक्टरी नाम से सेंट पीटर बॉक्स में पेट्रोपावलोवस्क । क्या फोटो इसकी भारी दीवारों में छिपकर एक नया अनुसंधान केंद्र स्थापित किया, जबकि एक अन्य रिएक्शन फॅमिली ऐसी समस्या पर काम करने के लिए मध्य मॉस्को में प्रारंभ इन समानांतर प्रयासों से कोरोलेव के प्रतिद्वंदी बॅाल उसको रॉकेट रोज चैंबर वो फ्यूल पंथों के सबसे होनहार डिजाइनर के रूप में उभरे । जब की स्वयं कोरोलेव विस्तृत मायनों में फ्यूल टैंक से इंजन जोडने, गाइडेंस इक्यूपमेंट वहाँ पे लोड के विषय में सोचते थे ताकि ऐसे रॉकेट निर्मित किए जाएं जो बमों को डिलीवर करने, ऊपरी वायुमंडल में मौसम माप बनाने और अंतरिक्ष की खोज हो जैसे उपयोगी कार्य किए जा सकें । मार्शल दुखता दिवस की प्रारंभिक रूप में रेड आर्मी के लिए विंग रॉकेट बम एवं अन्य उपयोगी आयोध्या स्तर में रूचि रखते थे । में उन्होंने विविध रॉकेट कार्यक्रमों का एक विशाल एकीकरण प्रारम्भ किया । दुर्भाग्य वर्ष स्टालिन बुद्धिमान सैनिकों से भी था और सन तक उसने सोवियत समाज के सभी स्तरों पर आतंक के सामान्य साम्राज्य स्थापना के हिस्से के रूप में अधिकारीवर्ग को सेवा से हटाना शुरू कर दिया था तो खा दिवस की को ग्यारह जून को गिरफ्तार कर उसी रात गोली मारकर खत्म कर दिया गया । शीघ्र ही सभी रॉकेट जिनरों जिन्हें उसने नियुक्त कर रखा था, उनको स्टैलिन विरोधी भावनाएं रखने के संदेह में गिरफ्तार कर लिया गया । कोरोलेव को सत्ताईस जून को गिरफ्तार कर दस वर्ष की कठोर सजा देकर साइबेरिया भेज दिया गया । जून उन्नीस सौ इकतालीस में नाजी आक्रमणकारियों ने तैयारी रहित रेड आर्मी पर भारी विजय हासिल कर ली । स्टालिन को अपने अधिकारीवर्ग को हटाए जाने के प्रति काफी अफसोस हुआ । उसके बच्चे कुछ कमांडरों के प्रतिभाहीन होने के अलावा उनमें युद्ध, कला या सैन्य विन्यास का अनुभव नहीं था । इसके पश्चात सर जी कोरोलेव व अन्य सिद्धस्त इंजीनियरों को जेल से रिहा कर दिया गया ताकि वे एयरक्राफ्ट वहाँ आयुध फैक्ट्रियों में काम कर सके । युद्ध के अंत तक कोरोलेव को पूरी तरह स्वतंत्र कर दिया गया । उसकी पूर्व प्रतिष्ठा भी कुछ हत्या को से लौटा दी गई । सितंबर में उसे वर्नर वॉन ग्राउंड द्वारा निर्मित बीटू रॉकेट प्रोग्राम के किसी अवशेष की खोज में जर्मन हार्टलैंड जाने की अनुमति दी गई । इसके बाद सन उन्नीस सौ पचास के दशक के दौरान कोरोलेव ने अपने निश्चय के बल पर रॉकेटों और मिसाइलों की नवीनतम श्रेणी विकसित की जब की कल उसको ने कुछ ऐसे प्रोपल्जन इंजन निर्मित किए जिन्हें इस से पहले कभी नहीं देखा गया था । जो इंसान साइबेरिया के लेबर कैंप में जूझ कर अपना अस्तित्व बरकरार रखने में कामयाब रहा हूँ उसे अपने प्रतिद्वंदियों और क्रेमलिन के असहयोगी अधिकारियों से टक्कर लेना कोई बडी बात नहीं रही होगी । खासकर स्टैलिन साम्राज्य के बाद के सन उन्नीस सौ पचास के उत्तरार्ध वो के दशकों के प्रारंभिक वर्षों में निकिता ख्रुश्चेव के काम दमनकारी शासन कोरोलेव ने अपनी प्रतिद्वंदियों के समर्थन से बढकर फॅार में जटिल वह सूक्ष्म प्रभाव के नेटवर्क तैयार की तक वो अपने स्वयं के औद्योगिक साम्राज्य का मालिक बन चुका था जिसका प्रमुख भाग मॉस्को के उत्तर पूर्व में कालिनिनग्रेड में रहस्यमय कारखाना सुविधा था जिसे स्पेशल डिजाइन ब्यूरो वो के भी वन के रूप में जाना जाता था । कोरोलेव यहाँ का पूर्व शासक था । यद्यपि वो कॅालिंग स्तर पर मार्शल यूज दिनों के अधीन सुरक्षा मंत्रालय एवं जनरल मशीन बिल्डिंग मिनिस्ट्री के प्रति उत्तरदायी था । यहाँ जनरल का अर्थ रॉकेट वहाँ उपग्रह का छद्म शब्द था । सन उन्नीस सौ इकसठ में मॉस्को के एक पत्रकार ओल्ड गाने हूँ के भी वन के लोगों पर कोरोलेव के प्रभाव का वर्णन किया है । हालांकि उसने उसकी वो उसकी फैक्ट्री के नाम का उल्लेख न करने की पूरी सावधानी बरती । नियमानुसार उसने हर जगह उसे सिर्फ चीफ डिजाइनर कहकर संबोधित किया है । भारी भरकम शरीर संरचना सामने रंग और स्वभाव से कठोर नजर आने वाले स्पेश चिपका चीज डिजाइनर जैसा नजर आता था । वो उस से कहीं बढकर था । जब कभी वह किसी कमरे या कार्यस्थल पर उपस् थित होता तो अपने इर्द गिर्द व्यवस्था दर्शाने वाली हलचल सुनाई देते थे । वो अपनी धीमी आवाज में जो कुछ कहता हूँ उसे समझ पाना बडा कठिन था । उसकी बात में भाई सम्मान वह इन दोनों का मिला जुला रूप था । किसी वक्त शॉप में उसके प्रवेश करते ही वहाँ का माहौल बदल सा जाता था । फॅस के कार्यकलाप कहीं ज्यादा सघन वह सूक्ष्म हो जाया करते थे और ऐसा लगता था मानो मशीनों की हलचल भी ज्यादा लवणयुक्त बहुत तीव्र हो जाती थी । इस आदमी की ऊर्जा से शॅल उनकी गति बढ जाती है । गाइडेंस ट्रेजेक्ट्री पर कार्यरत कोरोलेव के एक विशिष्ट विशेषज्ञ का कहना है कि वो एक महान इन्सान वो एक और सामान्य व्यक्ति था । आप उससे किसी भी सामान्य वह जटिल मुद्दे पर बात कर सकते हैं । आप यही सोचते हैं कि कारावास में रहने के कारण वो टूट गया होगा । उसका जोश मंदा पड गया होगा । लेकिन नहीं । जब वीट ऊपर अन्वेषण के दौरान मेरी जर्मनी में उससे मुलाकात हुई तो वो मुझसे तीव्र इच्छा शक्ति वाला और अपने मकसद में पक्का इंसान नजर आया । वैसे तो बहुत कठोर, आपसे कार्यकुशलता की अपेक्षा रखने वह भडक जाने वाला व्यक्ति था लेकिन वो कभी भी आपका अपमान नहीं करता था । वो हमेशा आपकी बात सुनने को तत्पर रहेगा । सच तो यह था कि सभी उसे पसंद करते हैं । ऍम उसको जैसा उतना ही जोशोखरोश वाला व्यक्ति और लगभग सभी लोग उसके अपने स्पेशलिस्ट डिजाइन ब्यूरो में ही कार्य करते थे । कोरोलेव के रॉकेटों में ग्रुप उसको के इंजनों के लगाए जाने तक दोनों व्यक्ति किसी भी आपसी मतभेद, वो टकराव को टालते रहे । लेकिन सोवियत रॉकेट कार्यक्रम के इन दो महान दिग्गजों की पटरी कभी बैठी नहीं । दोनों के बीच तनाव सन उन्नीस सौ अडतीस कि ग्रीष्म के दौरान तभी शुरू हो गया था जब किसी कारण वर्ष ब्लू उसको को आठ महीने घर में ही नजरबंद रखने वक्त कोरोलेव को एक कारावास कैंप में भेजने की सजा सुनाई गई थी । माना जाता है कि कल उसको ने अपने अधिकतर सहकर्मियों को धोखा दिया जबकि कोरोलेव ने चुप्पी साध रखी थी । उसका एक अन्य प्रतिद्वंदी था मिखाइल यांजी जो मात्र सैन्य प्रयोग के लिए यूक्रेन में टॅाक नामक स्थान में बने अपने ब्यूरो में मिसाइलें तैयार करता था । सोवियत रॉकेट विकास कार्यक्रम की चौथी बडी हस्ती थी । व्लादिमीर खेलो में उसने निकिता ख्रुश्चेव के बेटे सर्जेई को बतौर इंजीनियर सेवा में रखा था । कुरुली की स्वायत्तता को सबसे बडी चुनौती क्रैमलिन व इसके आसपास के उच्चवर्गीय सैन्य अधिकारियों पर रक्षा मंत्रालय से मिली । उनका मानना था की उसकी अंतरिक्ष परियोजनाओं से आवश्यक आयुद्ध सिस्टम के विकास में बाधा पड रही थी । उसने एक दोहरे उद्देश्य को पूरा करने वाला एक मिसाइल स्पेस लांचर तैयार कर उन्हें करारा जवाब दे दिया । तत्पश्चात ये सिद्ध कर दिया कि उसके मेंड्स पे शिपकी डिजाइन को फाॅर्स केरूप में प्रयोग लाया जा सकता है । इस तरह अहम सैन्य लक्ष्यों की पूर्ति कर उसने यान जेल वह खेलों में दोनों की बोलती बंद करती और मृत्यु पर्यंत यानी सन तक सभी महत्वपूर्ण सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रमों में अपना दबदबा कायम रखा हूँ । उसके तीक्ष्ण बुद्धि कौशल जिसके आगे नासा के इंजीनियर भी नहीं ठहरते थे, उसका प्रयोग उसके बहुत से प्रमुख अंतरिक्ष यान के घटकों के प्रमाणीकरण हेतु होना था ताकि उसी हार्डवेयर से मैन्ड और ऍम वाहनों की श्रृंखला तैयार हो सके । अमेरिकी अंतरिक्ष विश्लेषक ऍफ का पुत्र कोरोलेव की चालाकी के विषय में कहता है, सैन्य मिसाइल कार्यक्रमों को चला रहे लोग युद्ध के समय से ही उसके साथ एक बडी हद तक में अपने कैरियर के लिए उसकी ऋणी थे इसलिए वो सीधे तौर पर उसे टकराना नहीं चाहते हैं । फिर सेना को उसकी तकनीक की समझ भी नहीं थी और वे दवे तौर पर उसका यकीन करते थे । यही वजह थी कि जब कोरोलेव ने कहा की जासूसी उपग्रह अभी कारगर नहीं होंगे । हमें पहले मानव चलित कैप्सूल तैयार करना है तो उसकी बात मानने के अलावा उनके पास कोई विकल्प नहीं था । कूटनीतिक तंत्र से निपटना अच्छी तरह जानता था । चीफ डिजाइनर के सर्वाधिक दबंग सहयोगियों में से एक था माॅस् जो उसके नए अंतरिक्ष मिशनों एवं कक्ष में वैज्ञानिक प्रयोगों का बराबर समर्थन करता । ना वो मिसाइल के गणित ऍफ का विशेषज्ञ था । उसने मॉस्को में अपने विशाल कस्टम द्वारा निर्मित कंप्यूटिंग फेसिलिटी में पावर बेस तैयार कर रखा था । कोरोलेव की तरह वो भी कुशल व कूटनीतिक कौशल रहता था जहाँ कोरोलेव रॉकेट निर्मित करने का काम करता था वही ऍम उनके उडान के रास्ते तय करने में जुटा रहता था । कुरुर को सबसे ज्यादा कुंठा इस बात से होती थी कि उसे रेड आर्मी के और विवेकपूर्ण सहयोग पर भरोसा करना पडता था । उसकी वजह ये थी कि रॉकेट और मिसाइलों पर उसके काम सैन्य क्षेत्र से काफी जुडे हुए थे । फिर भी और चाहता था कि उससे वैमनस्य रखने वाले सेना के जनरल अपने वजूद में कायम रहे हैं । तो यदि उनमें से एक भी उसके रास्ते पर अडंगा डालता तो वो उस आदमी को उसकी औकात का आभास कराने में जरा भी नहीं सकता था । कोरोलेव के ब्यूरो के एक वरिष्ठ इंजीनियर ओलेक इवानोव उसकी उन्होंने अपने संस्मरण में कहा है, एक बार एक पति, उच्च रैंक धारी कमांडर ने एक अंतरिक्ष उडान के दौरान किसी अहम रेडियो संचार बहन का लिंक जोडने से मना कर दिया । तब कोरोलेव भडककर ओपन फोन लाइन में सिका तो मैं तो अपना काम करना भी नहीं आता । मुझे तो नहीं तो मैं तो मैं कमांडर से सर्जन बनवा कर ही दम लूंगा आपने उच्चधिकारी के प्रति उसकी दृष्टता देखकर हम दंग रह गए थे । उसकी प्रथम सचिव निकिता ख्रुश्चेव और पोलित ब्यूरो में उसके सहकर्मियों का कोरोलेव के प्रति काफी सहयोगात्मक रवैया रहता था । हालांकि उन्हें स्पेस हार्डवेयर की सूक्ष्मताओं का ज्ञान नहीं था । वे रॉकेट तकनीक में इसकी चकाचौंध वह इससे जुडी राजनीतिक प्रभाव की ओर अपना रुझान रखते हैं । उन्हें इसके जटिल इंजीनियरिंग पत्तियों से ज्यादा कुछ लेना देना नहीं था । सन उन्नीस सौ बचपन में जब कोरोलेव की प्रारंभिक मिसाइल और रॉकेट विकास का कार्यक्रम प्रारंभ हुआ तो उसने पोलित ब्यूरो के अपने वरिष्ठ सदस्यों से उसके काम का निरीक्षण करने को कहा था । इस संबंध में खुश्चेव का संस्मरण इस तरह गुरुदेव ने अपने काम की रिपोर्ट पेश करने के लिए पोलित ब्यूरो की एक मीटिंग में पहुंचा । ज्यादा अतिश्योक्ति का प्रयोग न करते हुए मैं कहूंगा कि उसने हमें इतना नौसीखिया समझकर अपनी बातें पेश की मानो हम भीड के कैसे झुंड थे । जो पहली बार कोई नया द्वार देख रहे थे वो हमें लॉन्चिंग पैड पर ले गया और रॉकेट की कार्यप्रणाली समझाने की कोशिश करने का प्रयास किया । ये उड सकता था इस बात का हमें यकीन ही नहीं हुआ । हम बाजार में घूमते साधारण भोलेभाले किसानों की तरह रॉकेट के चारों ओर से छूटे हुए तब तक पाते हुए चल फिर रहे थे । कोरोलेव का एक सहकर्मी सर्जेई जो कॉसमॉस के शैक्षणिक अध्यनों के लिए उत्तरदायी था, उसने पोलित ब्यूरो के दृष्टिकोण को इस तरह प्रस्तुत किया कोरोलेव के प्रति शीर्षस्थ लोगों का रवैया बिल्कुल ग्राहकों की तरह था । जब तक उसकी सेवा परिहारी थी, जब तक देश के लिए मिसाइलें तैयार करने है तो उन्हें उस की जरूरत थी । तब तक जो भी जरूरी होता है उसे करने की अनुमति थी की तो मानव चलित अंतरिक्ष अनुसंधान को सैन्य कार्य का अनुसरण करना पडता था । मुद्दे की बात ये है कि कोरोलेव आपने कॅश को उन्हें मिसाइलों पर ही लॉन्च करता था । दोहरे उद्देश्य वाला आर सेवन मिसाइल स्पेस लांचर जिसे इसके निर्माण करता और उडान भरने वाले लगा । वर्ष लिटिल सेवन भी कहते थे दुनिया का प्रथम कार्यशील अंतरराष्ट्रीय बैलिस्टिक मिसाइल आईसीबीएम इस यान के प्रत्येक चरण या ब्लॉक में उसको द्वारा निर्मित फोर चैंबर इंजन लगा हुआ था । यहाँ तक बताना प्रासंगिक है कि ग्रुप उसको द्वारा निर्मित मिसाइल लॉन्चर बेहतरीन थे । वस्तुतः आज भी उन्हें सुधरे आॅटों पर प्रयोग किया जाता है, जो आधुनिक सोयूज कैप्सूल को पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगाते हुए मीर स्पेस स्टेशन ले जाता है । उसको के नवप्रवर्तन से एक ही समय चार दाहक चैंबरों की सर्विस करने के लिए मजबूत ईंधन पंपों और पाइप वर्ग को डिजाइन किया जाना था । आर सेवन में बीस अलग अलग इंजनों की ऊपरी प्रेरक ऊर्जा वस्तुत पांच से दी जाती थी ।

6. Sputnik Ki Kissa

और सेवन के पहले दो प्रक्षेपण और सफल हो गए । लेकिन तीन अगस्त उन्नीस सौ सत्तावन को आईसीबीएम ट्रेजेक्टरी के अनुरूप पन में इसने सफलतापूर्वक उडान रहे । इसके पश्चात इसका प्रयोग अंतरराष्ट्रीय प्रक्षेपण के रूप में शुरू । चार अक्टूबर को इससे दुनिया का प्रथम कृत्रिम उपग्रह स्पुतनिक प्रक्षेपित किया गया । जिस गति से कोरोलेव ने अंतरिक्ष विजय की जादूगरी दिखाई, एनडीए एल्ड्रिन उसकी प्रशंसा करते नहीं लगाते हैं । स्पुतनिक के प्रक्षेपण के पश्चात और उनकी खुशमिजाज रॉकेट इंजीनयरों का समूह अवकाश पर जाने का प्रयास करने लगे किन्तु जब कोरोलेव को खुशियों का फोन मिला तो दो दिन के लिए रुक गए । फोन पर कहा गया, मित्र, यहाँ फॅमिली में हमें आप की जरूरत है । निसंदेह वहाँ गया और सोवियत नेताओं के साथ उस की बैठक हुई जिन्होंने कहा की एक महीने में हम गौरवशाली सोवियत समाजवादी क्रांति की चालीसवीं वर्षगांठ मनाएंगे । हम चाहते हैं कि आप एक अन्य उपग्रह तैयार करें जो कुछ अहम कार्य कर सके । उन्होंने ऐसा उपग्रह प्रस्तावित किया जो अंतरिक्ष से कम्युनिस्ट इंटरनेशनल का प्रसारण कर सके । लेकिन कोरोलेव के दिमाग में एक दूसरी नियुक्ति नहीं । वो गाँव में एक जिंदा जानवर रख कर भेजना चाहता था ताकि वह अंतिम मानव चलित मिशन की रूपरेखा तैयार कर सके और देखते ही देखते महीने भर के अंदर उसने अपने साथियों के साथ मिलकर ऐसे अंतरिक्ष यान का निर्माण संपन्न भी कर लिया और उसे प्रक्षेपित भी कर दिया । स्पुटनिक दो को तीन नवंबर को लाइक का कुत्ते के साथ अंतरिक्ष में भेजा गया । ये सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रम के तेजी से आगे बढने की स्पष्ट चेतावनी थी । अमरीकी तो पहले स्पुतनिक और फिर लाइक का के कारण स्तंभित रह गए । दुनिया के दूसरी ओर अंधेरे में पडा ये रहस्यमय और पिछडा समझा जाने वाला देश उनसे आगे निकल गया था । अंततः एक छोटा सा अमरीकी रॉकेट जनवरी उन्नीस सौ अट्ठावन को उनके प्रथम उपग्रह एक्सप्लोर एक्टर वन को पृथ्वी की कक्षा में ले गया । ये स्पुतनिक जो अस्सी किलोग्राम का था, स्पुत्निक दो जो पांच सौ किलोग्राम का था । उनके जवाब में वो मात्र चौदह किलोग्राम का जिसके कारण खुश्चेव ने इसे अंगूर फल कहकर इसकी अवमानना की थी । किन्तु इसके बाद शीघ्र ही जब डॉक्टर वाइॅन् के सामान्य यंत्रों ने पृथ्वी के चारों और विकिरण विलय का पता लगाया तो ये एक्सप्लोर एक्टर वन की एक अहम खोज साबित हुई । सन कि शरद ऋतु के दौरान जब मानव चलित अंतरिक्ष कार्यक्रम है तू अब बिहार थियों के चयन की बात आई तो कोरोलेव ने सभी सर्वाधिक होनहार व्यक्तिगत फाइलों का अध्ययन किया और अठारह जून तक उसने लेनिनग्राड के ओके भी बन में वास्तविक अंतरिक्ष यान देखने के लिए बीस सफल अभ्यार्थियों को बुलावा भेजा । उस समय तक हार्डवेयर अपनी पूर्णता पर नहीं पहुंचाना । फॅमिली को याद है कि किस तरह चीफ डिजाइनर ने एक संक्षिप्त भाषण में कॉसमॉस को व्यग्र न होने के लिए अश्वस्त किया था । उसने कहा था कि हम जो कर रहे हैं यकीनन वो दुनिया का सबसे सरल काम हम कोई आविष्कार करते हैं, उसे सही तरीके से बनाने के लिए उपयुक्त व्यक्तियों को रखते हैं और देशभर की सर्वोत्तम और सर्वाधिक अनुभवी कंपनियों को इसके घटकों के लिए बहुत से ऑर्डर देते हैं । जब भी हमारे ऑर्डर की डिलीवरी कर देते हैं तो हमें उन सभी विभिन्न हिस्सों को जोडना होता है । ये बहुत जटिल कम नहीं है । नहीं संदेह हम जानते थे कि अंतरिक्ष यान को तैयार करने में इससे कहीं ज्यादा मशक्कत होती है । लेकिन कोरोलेव के मित्रवत उत्साही व्यवहार से सभी कॉस्ट मिनट्स रवित रह गए । वो उन्हें माॅडल्स कहकर संबोधित किया करता था । लियोन के मुताबिक यूरी गागरिन ने उस दिन कोरोलेव के कार्यालय में सभी बातों को एकाग्रता से सुनते हुए वह अंतरिक्ष वह रॉकेट के विषय में संबंधित प्रश्न पूछते हुए अपनी अच्छी छवि प्रस्तुत की । किसी औपचारिक अर्द्धसैन्य प्रकरण में जब नए नए भर्ती हुए लोग पहली बार किसी वरिष्ठ से परिचित हो रही हूँ, जूरी की उत्सुकता को लेकर दृष्ट होने की गलतफहमी हो सकती थी । लेकिन चीफ डिजाइनर इस बात से काफी प्रभावित था कि कम से कम किसी फॅसने, उससे सीधे तौर पर प्रश्न तो क्या दोनो अपने संस्मरण में बताता है । उसने यूरिको खडे होने के लिए कहा और फिर कहा, मालिक लीगल! मुझे अपने जीवन और परिवार के विषय में बदलाव दस बीस मिनटों तक तो कुरुली मानो शेष सभी को भूल सा गया था और मेरा मानना है कि यूरी उसे तुरंत पसंद आ गया था । घर मांॅ नाम का कुछ घमंडी सा लगने वाला एक कॅन्सर्ट चीफ डिजाइनर की प्रतिष्ठा और उसके आधिकारिक रवैये से दबने वाला नहीं था । पछतावे के भाव से स्वीकार करता है । मैंने जो कुछ भी जाना वो ये था कि एक युवा लेफ्टिनेंट जिसकी आंखों से साहस चलता था । इसके अलावा एक भी विचार मेरे दिमाग में नहीं आया । आगामी वर्षों में कोरोलेव के साथ उसके संबंध सही अर्थों में कभी भी मधुर न रह सके । शायद इसीलिए की दो शेर एक ही पिंजडे में साथ नहीं रह सकते हैं । मैं ये नहीं कहना चाहता की मुझे कोरोलेव जैसा ही दमखम था । लेकिन हमारे संबंध तो कठोर थे । यूरी गागरिन और ऍम दोनो ही चीज डिजाइनर की विंग के पसंदीदा ऍप्स के रूप में सामने आए । हालांकि वह उन सभी कॉस्ट मिनट्स के प्रति बहुत ही वफादार सुरक्षात्मक रहा करता था जो उसके आदेश पर उडान भरते थे और उसके रॉकेटों वह कैप्सूलों पर अपना यकीन जाहिर करते हैं । इस प्रथम परिचय के बाद कोरोलेव इन कॉसमॉस को वो भी वन के अंदर ले गया । उन्होंने प्रमुख निर्माण क्षेत्र में प्रवेश किया । तभी कोरोलेव उसके वरिष्ठ स्पॅाट फॅस की उन्होंने सभी चीजों के विषय में बताना शुरू कर दिया । किन्तु उन बातों को ग्रहण करना आसान नहीं था । वहाँ दर्जनों अंतरिक्ष यान एक कतार में लगे हुए थे । उनकी वरीयता की स्थिति उनके निर्माण के चरण पर आधारित थी । प्रत्येक यान में तारों और नलियों की शंक्वाकार रचना थी जिस के ऊपरी हिस्से पर रुपहले रंग की परत चढी हुई थी । दूसरी शंक्वाकार रचना इसके ठीक उलट जानी नीचे नहीं । इस पर नालीदार धातुई परत चढाई गई थी । इसका दोहरा शंक्वाकार भाग अलग कर देने वाली यंत्र का मॉड्यूल था और निचले शंक्वाकार भाग पर लगी हुई नालीदार धातु परत विकिरण का कार्य करती थी । इसमें लगे बडे स्फेयर इसकी कार्मिक स्टाफ के केबिन थे । इन यंत्रों में न तो फॅमिली थे न कंट्रोल सरफेस ना जाहिर तौर पर कोई प्रोफेशन थे, ऍम था वो फर्श पर सही ढंग से खडे भी नहीं हो पाते । उन्होंने सीधा खडा करने के लिए इसके आंतरिक धातुई ढांचे से सहारा देना पडता है । टी तो कहता है ये कुछ ऐसा था जो हमारी समझ में नहीं आया । ये किसी पायलट कि समझ से परे की बात थी । भिषक बतौर पायलट हमें पहले ऐसी कोई चीज मिली ही नहीं थी जिससे हम इसकी तुलना कर सकते हैं । ये वो स्टेट अंतरिक्ष कैप्सूल थी । ये फैक्ट्री में विविध टेस्ट, बक्सों और नालियों से होकर गुजरने वाली बिजली के तारों के बंडल थे जिन्हें छत से प्रवेश कराकर दीवारों से निकाला गया था और ये फर्श पर सर्पाकार आकारों में बिखरे हुये थे । उन सभी के अंतिम भाग में एक एक प्लग लगा हुआ था जिनका उपयोग स्पेस मशीनों को जांचने, ऊर्जा देने उन्हें बंद करने के लिए किया जाता था । इस यान के घटकों के विषय में बोलेगा इवन हवस की ने कॉसमॉस के दिमाग सुन्न कर देने वाले व्याख्यान दिए हैं जिसके दौरान हर समय वो बीस भावी कॉसमॉस के चेहरों के हावभाव देखता रहा । इस समय तक कोरोलेव उन सभी को जान चुका था लेकिन ऍम उसकी शिक्षण से पहले उन में से किसी एक से भी नहीं मिला था । वो सब के सब बडी उत्सुकता से इंसानों को तब तक ही लगाए देख रहे थे क्योंकि पहले पहले ही उन्होंने कोई अंतरिक्ष तकनीक देखी थी । मैं जानता था कि वे सभी विमानचालक थे जो उड्डयन से परिचित है । लेकिन उनमें से एक एक को ईमानदारी से इन नए यंत्रों में अभ्यस्त होने के विषय में बताना था । कोरोलेव ने इवानोव उसकी को व्याख्यान के बीच में ही रोक दिया और वो स्टॉक की उडान की । विशेषताएं मिग प्रशिक्षित विमानचालकों को कितने सहज तरीके से बताऊँ कि वे आसानी से समझ गया । उसने अपने श्रोताओं को सूचना दी, अभी आप लोगों को बहुत कुछ सीखना है । हम आपको सब कुछ एक ही दिन में नहीं बता सकते हैं । हम विशेष कक्षाओं की तैयारी करेंगे ताकि आप पूरी तरह से इस प्रणाली को समझ सके । आप पहले कक्षाओं में व्याख्यान सुनेंगे, तदुपरान्त हम आपके लिए कक्षाएं आयोजित करेंगे । उनमें से एक खूबसूरत साल नवयुवक कोरोलेव से स्वयं को एक प्रश्न पूछने से रोकना । सरकार सर जी पावलोविक क्या आप आप पर नजर रख रहे होंगे? हाँ और हम आपको बाहर भी कर देंगे । कोरोलेव खर्चा और मुस्कुराना बंद करो । आखिर किस बात पर तो मुस्कुरा रहे हुई हुई उसकी प्रतिक्रिया जानने के लिए कोरोलेव नहीं उसकी ओर देखा । शायद जानबूझ कर ही करो लेने, उसके उस मिजाज को भंग करने के लिए ऐसा किया था जो उसने कार्यालय में पहले निर्मित किया था । यूरी के चेहरे का भाव एकदम से गंभीर तो हो गया लेकिन वो भी बिलकुल नहीं था । वो पूरी तरह शांत रहा और शायद कोरोलेव को उससे किसी प्रत्युत्तर की उम्मीद थी । सिवान नेवस्की का इस संबंध में अपना एक निजी अनुभव था । कुछ ही हफ्ते पहले कुरु लेने एकदम से बढ कर तत्काल से सेवा से हटा दिया था । वो इसी तरह अपना गुस्सा निकाला करता था । इस मौके पर वह असेंबली में खर्चा अब तुम मेरे लिए आगे काम नहीं करोगे । मैं तुम्हारी ऑर्डर को खराब कर रहा हूँ । ये वाला उसकी ने भी बढकर जवाब दिया । आप ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि आपने मुझे डांट जो लिया है । अब मैं आपके लिए काम नहीं करूंगा । कोरोलेव ने फिर से डांट पिलाई, लेकिन कुछ ही देर में जो कुछ हुआ उसे भुला दिया गया । चीफ डिजाइनर ने ऐसे स्पष्टवादी लोगों की प्रशंसा की जिन्होंने भले ही उसे जवाब दे दिया था, लेकिन अपनी नौकरी बचाने के लिए अहम बातों को दबा कर नहीं रखा । इसके बाद इवान हवस की के साथ उसके संबंध काफी भरोसेमंद रहे हैं । अब ऐसा ही कुछ स्मोलेंस्क क्षेत्र से आए यूरी के साथ भी हुआ । अचानक ही कोरोलेव में एक उस वोस्टोक का गहन परीक्षण करने के लिए कॉसमॉस को बुलाया जिसे जमीनी परीक्षणों के लिए प्रयोग किया जाना था । ऍम को याद है जब कोरोलेव ने यान की सफाई बनाए रखने हेतु, उन्हें जूते बाहर उतारने के लिए और एक सीढी चढकर यान के अंदर जाने के लिए कहा । एक अन्य कॉस्ट नॉट वैलरी इस बात पर जोर देते हुए कहता है कि वस्तु तो यूरी को जूते न उतारने के लिए कहा गया था । आखिर किसी पायलट से जूते उतारकर नए मिग में बैठने की उम्मीद नहीं की जा सकती थी । ऐसा तो रूसी गांवों में घरों में प्रवेश करने से पहले सम्मान शुरू किया जाता है । बाइक बस की नहीं । यही सोचा उसे यकीन था कि यूरी उसी क्षण से चयनित हो गया । यूरी अपने दूसरे साथियों से बे खबर था । वे सभी उसके पीछे अपना जूता उतारने में लगे हुए हैं । वो उस अंतरिक्ष यान का केबिन देख कर ही खींचा चला जा रहा था । ये पूरी तरह से एक धुंधले रबर फोन से ढका हुआ था । इस आवरण से उसके पाइप वक् वह विद्युतीय वितरण प्रणाली थके हुए थे । कुछ ही हफ्तों के बाद उन में से किसी एक कॉस्ट नॉट को इसके गुप्त रहस्यों के विषय में विस्तार से बताया जाना था । अभी तो त्वरित अवलोकन से मोटे तौर पर थोडी बहुत जानकारी ही यूरी के दिमाग में चढ पाई । उसने अपने मिगके कॉकपिट की अपेक्षा इसके आंतरिक भाग को बहुत ही कम जटिल महसूस किया होगा । निश्चित तौर पर इसमें अपेक्षाकृत कम डायल्स उपकरण थी । इसकी इंजेक्शन सीट नहीं बहुत ज्यादा स्थान के रखा था । इसमें सीधे बैठने की अपेक्षा लेटना पडता था । इसके ऊपर की दीवार पर उसके चेहरे के ठीक सामने एक साधारण पैनल था जिसमें कुछ स्विच, कुछ स्थिति को बताने वाले प्रकाश संकेतक, एक ऍम मीटर और पृथ्वी का प्रतिनिधित्व करने वाला एक छोटा सा सब लोग लगे हुए थे । आम तौर पर किसी भी व्यक्ति को देखने में ये किसी बच्चे का शैक्षणिक खिलाना जैसा महसूस होता है । लेकिन आगामी महीनों में यूरी और उसके सहकर्मियों को इसकी सभी गुड बातों की जानकारी होने वाली थी । पैनल पर लगे दूसरे संकेतकों से यान के आंतरिक तापमान, दाब, कार्बनडाइऑक्साइड, ऑक्सीजन आपूर्ति, वह विकिरण स्तरों की रीडिंग को दर्शाया जाता था । इन दर्शाने वाले यंत्रों से बीच बीच में डायलॉग को स्कैन करके रेडियो लिंक से धरती पर जानकारी प्रेषित करनी थी । फोन रीडिंग के ताक पारी को समझने और ज्ञान में अगला कदम उठाने है तो आदेश देने का कम दूसरों का भाई और एक और छोटा सा पहना था जिसमें स्विच की चार कतारें थी । यू नो कहता है कि उसने उसमें से कुछ को छु कर ये समझने की कोशिश की कि वो इन और के कंट्रोल तक दायें हाथ से पहुंच सकता है या नहीं । इस यान में कॉकपिट में स्वाभाविक तौर पर प्रयोग की जाने वाली आर्मचेयर स्टाइल इस्तेमाल नहीं की गई थी । दाहिनी ओर कुछ और ऊंचाई पर एक रेडियो रिसीवर था । एस्ट्रोनॉट की पहुंच वाला एकमात्र और यंत्र पोर्ट लगा है । इस तक किसी हाथ का प्रयोग कर पहुंचा जा सकता था । नीचे वह उसके पंजों के कुछ आगे एक गोल पाठ होल था जिसपर निर्देशांक काम के थे । एक हजार एक ऑप्टिकल युक्ति थी जिसमें आॅकलैंड लगे हुए थे जिससे पृथ्वी का क्षितिज अपने आकार से कहीं बढा महसूस होता है । जब वो स्टॉस पृथ्वी की सापेक्ष एक खास फोन की सीट में होता तो बाजार के बाहरी छोड पर क्षितिज का जोरदार भृत्य नजर आता । इससे यह संकेत मिलता यान रीएंट्री है तो सही स्थिति में इस वाॅक आउट वास्तविक यान की तरह नहीं था । समय अंतराल में यूरी को और भी साधनों की जानकारी होनी थी जिसे टेलीविजन कैमरा जिसकी दिशा ठीक उसके चेहरे पर ही होती है और एक चमचमाता हुआ लैम जो सीधे उसकी आंखों में ही पडता है ताकि उसके हर एक भाव को डॉक्टरों द्वारा रिकॉर्ड किया जा सकता है । बाएं हाथ के स्विच पैनल पर एक संख्यात्मक कीपैड था । तीन अंकों की दो पंक्तियां कुल मिलाकर छह संख्या जिसकी उपयोगिता उसे या उसके बाद आने वाले कॉसमॉस को नहीं थी । उन्होंने कुछ मिनटों के बाद जूरी को बाहर बुला लिया और बारी बारी से क्या दिन के अंदर गए जबकि कोरोलेव और इवानोव उसकी उन्हें इसकी नियंत्रण प्रणाली समझा रहे हैं । इसके बाद जब निर्माण हॉल से बाहर आ गए उस समय सभी काॅस्ट बडी उत्सुकता से वो स्टॉक । वह उसे सर्वप्रथम लेकर उडने वाले भावी कॉस्ट मिनट के विषय में बात कर रहे थे । सभी को यूरी के नाम पर ही यकीन था । इस बीच वालिया को किसी कॉस्ट नॉट की पत्नी होने की खामियां नजर आने लगी । उसने सन में पत्रकार यार उस लेवल को एक साक्षात्कार में कहा था ज्यूरी प्रायोग देर से घर लौटा था और अपने काम से बाहर चला जाता था । वो जो कुछ भी करता था उस विषय पर वह बहुत ज्यादा बातचीत नहीं करता था । यदि मैं कभी जानने की उत्सुकता दिखाती भी तो हँसी मजाक में टाल देता था । मुझे मालूम था कि उसे इन विषयों की चर्चा अपने परिवार में भी करने की अनुमति नहीं थी । मुझे महसूस होने लगा था कि स्टार सिटि में चलने वाला उसका कार्य उसे मुझ से दूर ले जा रहा है । प्राइस मैं इस एहसास को स्वयं से दूर रखने की कोशिश करती हूँ, लेकिन समय समय पर मैं एक अजीब सी चिंता में डूब जाते । एक दिन सम्भवता के उत्तरार्ध में यूरी आपने कॉस्ट नॉट मित्रों को घर लेकर आए । बाल्या तब स्टार सिटि क्लीनिक से ड्यूटी करके लौटी थी । उसने उन के बीच जारी कानाफूसी में सुना । अब समय आ ही गया है या तो यूरी या घर में

7. Arctic Scale

जब करो ले और उसके सहकर्मी जर्मन ने वीटो विमानों को लाकर उन्हें जलाना शुरू किया । तभी उन्होंने ऍम यार नामक एक छोटे से कस्बे के नजदीक स्थित बोल को ग्रेड से एक सौ अस्सी किलोमीटर पूर्व में एक छोटा सा टेंटिंग स्टेशन निर्मित किया । जनवरी में आर्थिक सर्कल पर प्लेस है । टेस्ट में अपेक्षाकृत अधिक बृहत और स्थायी स्तर पर कार्य शुरू हो गया । इसका कारण ये था कि ट्रांसपोर्डर ट्रेजेक्ट्री से उत्तरी अमेरिकी महाद्वीप का रास्ता निकटतम था । प्लाॅट सोवियत इंटरनेशनल परमाणु मिसाइलों का प्रमुख केंद्र बन गया । यद्यपि जिस मिसाइल गैप के विषय में जॉन एफ कैनेडी ने सन उन्नीस सौ के चुनाव में बढ चढकर बोला था वो तो मातृक कपोलकल्पित धारणा थी । कैनेडी ने बडी मिसाइलों की बडी तादाद को यूएस की ओर लक्षित किए जाने की चर्चा की थी । इसीलिए उन्होंने यूएस रूस के बीच तथाकथित मिसाइल क्षमता के गैप यानी अंतर को कम करने के लिए प्रति मारक क्षमता बढाने पर बल दिया था । वस्तुत था उस समय प्लेस एडजस्ट एक समय में मात्र चार से अधिक आॅड रॉकेट का रखरखाव नहीं कर सकता था और उनके एक ही समय पर प्रक्षेपित किए जाने की संभावना भी नहीं थी । मिसाइल गैप एक तरह से अमेरिका के लिए ही फायदेमंद था । सोवियत वासियों के प्रक्षेपण केंद्र का निर्माण भूमध्यरेखा के जितना करीब संभव था, किया गया था ताकि पृथ्वी के पश्चिम पूर्व घूर्णन गति के कारण गतिमान रॉकेट में अतिरिक्त ऊर्जा जोड सके । वही को निरीक्षण कारी अभियंता व्लादिमीर बार मिनट और उसके सहयोगियों ने पृथ्वी के सर्वाधिक निर्जन तम स्थानों में से एक कजाकिस्तान के दक्षिण रिपब्लिक के मध्य में विशाल समतल बंजर स्टेपी में निर्माण कार्य प्रारम्भ किया । ऍम नाम कजाख नामक बंजारों द्वारा दिया गया था, जिसे गैंग इस खान के प्रिय बेटे क्यूरा के शमशान है तो प्रयोग किया गया था । यद्यपि इसका दूसरा अनुवाद ऍम था, जिसे रॉकेट प्रक्षेपण केंद्र हेतु उपयुक्त नहीं समझा गया था । सोवियत के लोगों ने पुराने नाम को दरकिनार कर इस स्थान के लिए बैकोनूर शब्द इस्तेमाल किया । वस्तुतः बैकनूर तीन सौ सत्तर किलोमीटर उत्तर पूर्व में स्थित एक छोटा सा कस्बा था । ऐसा वेस्टर्न इंटेलिजेंस एजेंसियों को केन्द्र के स्थान के विषय में उलझन में डालने के लिए किया गया था । हालांकि तीन अगस्त उन्नीस सौ सत्तावन को जब पहले आर सेवेन आईसीबीएम को बैकोनूर से सफलतापूर्वक प्रक्षेपित कर टर्की के केंद्रों से रडार के माध्यम से उसकी मॉनिटरिंग की गई तो उन्हें इस बात की जानकारी हो गई थी । रॉकेट केंद्र के नजदीक सोवियत वासियों ने एक लाख रूसी तकनीशियनों, वहाँ उनकी सुरक्षा के लिए तीस हजार सैनिकों को बताने के लिए लाॅक नामक एक शहर की स्थापना कि अक्टूबर से मार्च के दौरान स्टेपी के मैदान कई मीटर मोटी बर्फिली परसों से ढके रहते हैं । वो बर्फीले तूफान बार बार आते रहते हैं । अप्रैल में ही ये स्थान कुछ सामान्य होता है क्योंकि तब यहाँ बर्फ पिघलने लगती है और स्टेपी दो या तीन सप्ताह के लिए खेल उठता है जो ही भूल मुरझा जाते हैं और बचा रह गया । पिछला पानी वाष्पित होने के बाद केवल यत्र तत्र गट्ठों में ही बच्चा रहता है तो उनमें मच्छर पनपने लगते हैं । तत्पश्चात ग्रीष्म की लंबी अवधि के दौरान धरती ईद की तरह कठोर हो जाती है । भयंकर गर्मी पडने लगती है । वह रेतीले तूफान मनुष्य व मशीनों दोनों के लिए खतरा उत्पन्न कर देते हैं । शुरुआत में सन् में बैकोनूर कॉम्प्लेक्स में काम करने वाले इंजीनियरों को गलतफहमी के कारण राजनीतिक बंदी समझ लिया जाता था । बारी बारी से खून जमा देने वाली सर्दी वह झुलसा देने वाली गर्मी सहते हुए खेमों में रहते थे । उनके साथ सामान कितने अपर्याप्त रहते थे कि उन्हें फावडा वो बेलचों का प्रयोग करते हुए अपना काम शुरू करना पडता है । उन का सबसे पहला काम मॉस्को से त्रिकोणीय यात्रा करना होता था । नासा का प्रक्षेपण केंद्र क्लोरिडा में था, जहाँ पहुंचने के लिए कार गोयान, नौका हेलीकॉप्टर और चिकने राजमार्ग पर चलने वाले सोलह पहियों वाले ट्रकों जैसे वाहनों का प्रयोग करना होता था । स्टेपी के आंतरिक भागों में रेलमार्ग निर्माण के पूरा होने के बाद ही निर्माण की उपयुक्त यंत्र बैकोनूर पहुंच सके । दो वर्षों के भीतर ही निर्माणकर्ताओं द्वारा एक रिपोर्ट रॉकेटों को एकत्र करने का एक विशाल हैंगर खाडी नियंत्रन ब्लॉक हाउसिज सपोर्ट प्लेटफॉर्म वह प्रथम प्रक्षेपण टावर के आधार हेतु फ्लेम ट्रेंच का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया । ठोस कंक्रीट स्तंभों पर टिका ढाई सौ मीटर लम्बा चबूतरा हूँ एक पुराने खनन कार्यस्थल से बाहर निकला हुआ ऐसा नजर आता था मानव किसी पहाडी की ढाल पर । बालकनी रॉकेटों को उनकी इन दिनों के साथ प्लेटफॉर्म में बने हुए बडे चौकोर क्षेत्र से लटका कर रखा जाता था ताकि उन्हें प्रक्षेपित करने की शुरूआती क्षणों में इंजन से बाहर आने वाला धुआ इत्यादि उस क्षेत्र से नीचे ढाल में चलना चाहिए और लॉन्चिंग पैड को कोई नुकसान ना पहुंचे । इसके बाद कई लॉन्चिंग पैड बनते गए । इस तरह आगामी दशक तक बैकानूर की विभिन्न सुविधाएं स्टेपी के सैंकडों वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में विकसित की गई । उन्होंने तक किसी भी अमेरिकी शख्स हो इस स्थान की जानकारी नहीं थी । हाँ, काफी जोखिम उठाकर तरकी से बाहर उडान भरते हुए एक जासूसी ध्यान से काफी ऊंचाई से धुंधली चौकौर फोटो जरूर ली गई थी । एक मई उन्नीस सौ को एक अमेरिकी यूटूब वायुयान को इसकी जासूसी गतिविधियों के चलते यूराल पर्वतों पर रॉकेट लॉन्चर से धारा शहीद कर दिया गया था । ये बैंगलोर के ऊपर उडान भरते हुए लॉन्चिंग पैड की तस्वीरें खींचने की फिराक गैरी पावर्स नाम के विमान चालक को गिरफ्तार कर उस पर मॉस्को में मुकदमा चलाया गया । अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति ने इसका विरोध करते हुए कहा था ये कोई जासूसी ध्यान नहीं था बल्कि अमेरिकी मौसम अनुसंधान यान था जो टर्की से उडान भर रहा था और ये उनके उडान मार्ग से काफी दूर था । इसके बाद शीघ्र अमेरिकी राष्ट्रपति ने सोवियत वायुसेना के यू टू की उडानों पर रोक लगा दी थी । इस घटना के बाद शीघ्र ही एक अत्यधिक खर्चीले रहस्यमय मत तकनीकी दृष्टि से नवीनतम अंतरिक्ष प्रयासों की शुरुआत हुई । ये था यूएस जासूसी उपग्रह स्पाइ सैटलाइट कार्यक्रम जिसे सी आई वह रक्षा विभाग द्वारा चलाया जाता था । उनका ये प्रोजेक्ट ब्लैक नाम से प्रकाश में आया क्योंकि इसके विषय में किसी को ज्यादा कुछ जानकारी नहीं हो सकी । इसका बजट नासा के अंतरिक्ष अनुसंधानों के बजट के लगभग बराबर या बढकर था । प्रथम आॅड जो रहस्य नहीं रहा, आज भी कार्यशील है । धातु के चौखटों पर बने सितारे प्रक्षेपणों की संख्या की जानकारी देते हैं । एक सितारा पचास प्रक्षेपणों का प्रतिनिधित्व करता है । धातु निर्मित एक चौखटे पर छह सितारे सच होते हैं । यहीं से दुनिया का प्रथम मानव चलित अंतरिक्ष कार्यक्रम लांच किया गया था । आज यहाँ से पृथ्वी के चारों ओर कक्षा में चक्कर लगा रहे रूसी अंतरिक्ष केंद्र मीर में सोयूज क्रूफ पेरिस प्रेक्षित की जाती है । बैकोनूर का आधुनिक प्रक्षेपण रिकॉर्ड अच्छा है तो इस कॉम्प्लेक्स के प्रारंभिक वर्ष और सफलताओं से भरे हुए हैं । खासतौर से वोस्टोक के प्रथम मानव चलित प्रक्षेपण के पहले छह महीने अत्यधिक हतोत्साहित करने वाले थे । दस अक्टूबर उन्नीस सौ साठ गुरुदेव का रोबोट प्रो मास एक आकाश में एक सौ बीस किलोमीटर की ऊंचाई पर जाकर निष्फल वापस धरती पर आगे रहा हूँ और सेवन बूस्टर के बेस ब्लॉको योजना अनुसार फायर किया गया था लेकिन काफी जल्दबाजी में तैयार किया गया इंटरप्लेनिटरी स्टेज ग्रुप को पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण से बाहर नहीं खेल सके । दूसरा भी इसी तरह वापस जमीन पर गिर गया । उस समय निकिता क्रिश्चियन न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र की सभा में थी । उन्हें मार्च प्रोजेक्ट की प्रतीक्षा थी किंतु मॉस्को से गुप्त संकेत वाले एक आवश्यक टेलीग्राम के कारण उसने अपना निर्णय बदल दिया । वो काफी गुस्से में था । अक्टूबर के मध्य में एक नए रॉकेट और सोलह को बैंगलोर से प्रक्षेपण के लिए तैयार किया गया । ये मिसाइल यान जेल के सैन्य यंत्रों में से था जिसे कोरोलेव के आर सेवन के बदले डिजाइन किया गया था । सोवियत रूस को आईसीबीएम की विश्वसनीय शक्ति को तैनात करने के लिए एक सक्षम रॉकेट का प्रयोग करना जरूरी था । आर सेवन इस दृष्टि से उपयुक्त रहा हूँ लेकिन इससे ईंधन देने को तैयार करने में तकरीबन पांच घंटे लगे । इसकी वजह ही इसमें द्रवित ऑक्सीजन का प्रयोग जो इंजन के अंदर जलते समय एक बहुत उम्दा रसायन होता है । लेकिन लॉन्च के पूर्व बहुत समय तक नहीं चल सकता हूँ । ऐसा निश्चित रूप से इसके गर्म होने वदलाव से गैस बनने के बाद होता है । बैंकों में दबाव विस्फोट बिंदु तक पहुंच जाता था और उसमें एकत्र गैस को बाहर निकाला जाना होता था । तत्पश्चात इसके स्थान पर ताजा ठंडा पानी भरना होता था । जितनी ज्यादा देर तक आर सेवेन पैड पर खडा रहता है उसे उतना पुनर्निर्धारित करने की आवश्यकता होती थी और सोलह को इस तरह तैयार किया गया था कि इसमें लॉन्च से पहले अपेक्षाकृत कम तैयारी करनी पडेगी । ऐसा सेना कि द्रित प्रत्युत्तर वाली मिसाइल की जरूरत को ध्यान में रखकर किया गया था । किसी इस की आवश्यकता के कई दिनों यह सप्ताह पहले ही ईंधन दिया जा सकता हूँ और इसमें ऑक्सीडाइजर का नुकसान भी नहीं होता था क्योंकि यानी झेलने, सुपर कोल्ड, द्रवित ऑक्सीजन और घासलेट के स्थान पर नाइट्रिक एसिड वह हाइड्रोजन को प्राथमिकता दी थी । इन रसायनों को रॉकेट के अंदर सामान्य दाब वो आप पर संग्रहित करके रखा जा सकता है । आठ सोलह विमान को किसी गुप्त और स्थायी साइडों में खडा करके रखा जा सकता है जिसे क्षण भर की सूचना में ही अमेरिकियों परदादा जा सकता था । एक मात्र परेशानी रही थी कि इसमें ईंधन को संग्रहित नहीं किया जा सकता था । ये अत्यधिक छीजने वाले होते थे और उसमें रिसाव पैदा हो जाता है जो बिल्कुल होना ही नहीं चाहिए । अक्टूबर में मार्च प्रोब की असफलता से सबक लेकर निकिता ख्रुश्चेव यूनाइटेड नेशंस कॉन्फ्रेंस में साहसपूर्ण रुख अख्तियार करते हुए सोवियत सैन्य श्रेष्ठता पर अपनी बात केंद्रित करना चाहता था । हम धडल्ले से अपनी मिसाइलें तैयार कर रहे हैं । उस ने जोर देकर कहा मॉस्को से लौटने पर उसने मिसाइल तैनाती के प्रमुख मार्शल फॅमिली इनसे शक्ति प्रदर्शन की तैयारी में जुटने के लिए कहा । कृष्ट इस बार कोई नाकामी नहीं चाहता था । अक्टूबर को होने वाले यान जेल के आठ सोलह की शुरूआती प्रक्षेपण का निरीक्षण करने के लिए निर्णय लेने बैकोनूर के लिए उडान भरी जो ही शून्यकाल शुरू हुआ । मिसाइल के निचले हिस्से से नाइट्रिक ऐसे ड्रेस नहीं लगा । जब ईंधन से लबालब भरे रॉकेट से रिसाव फट पडे तो किसी ऍम कमांडर की क्या भूमिका होती है । वो सावधानीपूर्वक इसका ईंधन निकालकर बाहर करता है । तत्पश्चात बैंक से ज्वलनशील नाइट्रोजन इसके अंदर भरता है ताकि वातावरण में बची रह गई पांच से छुटकारा पाया जा सके । अगली सुबह रॉकेट को सुरक्षित करने के लिए वो कुछ अच्छे टेक्निशियनों को भेज सकता था ताकि इसे नीचे लाकर जांचा जा सके । फॅमिली ने सीधे दर्जन ग्राउंड स्टाफ को लॉन्चिंग पैड पर ये जांचने के लिए भेज दिया कि क्या वे कहीं कुछ बॉल को कसने, रिसाव को रोक सकने के बाद हाँ सोलह की उडान सुनिश्चित कर सकते हैं । उसके निर्देश इतने स्कूल जरूर जान पडते थे कि क्रू मेंबरों को समझ में ही नहीं आ रहा था कि काम की शुरूआत आखिर कैसे करें । फायरिंग ब्लॉक हाउस में सभी इलेक्ट्रॉनिक सिक्वेंस को पुणे लगाने की जरूरत है । मेडलीन ने फायरिंग क्रमों को दोहराने वह निलंबित करने का आदेश दे दिया किन्तु उन्हें रद्द नहीं किया जाना था । कुछ ऐसा हुआ कि आठ सोलह के ऊपरी भाग में कुछ गलत काम आॅडिट हो गई । किसके इंजन में आग लग गए और फिर निचले हिस्से में भी विस्फोट हो गया जिससे गेंट्री में उपस् थित सभी लोग मारे गए क्योंकि ऊपर स्टेज को कोई भी आधार नहीं था । इसलिए ये विस्फोट के बाद जमीन पर धाराशाही हो गया और उससे ईंधन आपकी लगते निकलने लगे । गेंट्री के आसपास की टायॅज रोडवेज गर्मी में पिघलने लग गई और उनमें आग लगाते हैं । अपनी जान बचाकर भागते हुए ग्राउंड स्टाफ के सदस्य चलते हुए तारकोल में फंस कर रहे हैं । ये तांडव हजारों मीटर के क्षेत्र में फैला हुआ था । आपकी लगते हैं । इसके रास्ते में आने वाली हर एक वस्तु वह जीव को भस्म करती जा रही थी । कुल मिलाकर इसमें मारे गए लोगों की संख्या एक सौ नब्बे से भी करी थी । मारे जाने वालों में स्वयं फॅमिली भी था जो कंट्री के पास चलते हुए रसायनों की लपटों में पढकर बुरी तरह झुलस गया था । लगभग तीस सालों तक पश्चिमी देशों को उसकी बिल्कुल जानकारी नहीं थी । हालांकि बहुत से इंटेलिजेंस की रिपोर्टों से कुछ संदेह जरूर हो गया था । खासकर एक अमेरिकी तो ही जासूसी उपग्रह ने एक दिन पहले ही बैकनूर की तस्वीर ले ली थी और सीआईए द्वारा उस नए मिसाइल के ढेर हो जाने की बात को काफी दिलचस्पी के साथ दिया गया था । चौबीस अक्टूबर को टोही ने एक बार फिर उडान क्षेत्र की सीमा लांघकर कुछ स्थान के ऊपर उडान भरी और पाया कि वहाँ तो न कोई रॉकेट था, न गेंट्री थी । एक विशाल काला धब्बा था जिसने वहाँ सारे भूभाग को अच्छादित कर रखा है । रॉकेट विस्फोट का शिकार हो चुका है लेकिन इस से क्या लेना देना? अमेरिकी रॉकेट भी कई बार विस्फोट के शिकार हो जाते हैं । कभी कबार दुर्घटनाएं तो होती ही रहती है । इस विनाशलीला का तत्कालीन आकलन तो नहीं किया जा सकता है जिसकी वजह से इस से जुडे सभी समाचारों को उजागर नहीं होने दिया गया है । सारा का सारा सोवियत रूस मार्शल नेफ्थलीन और बहुत से अन्य वरिष्ठ मिसाइल अपसरों के एयर क्राफ्ट दुर्घटना में मारे जाने की खबर से सकते में आ गया । इसके साथ ही बहुत से चिरपरिचित चेहरों की अनुपस् थिति बैकोनूर के अलावा हजारों दूसरे अंतरिक्ष कार्यकर्ताओं पर भी जाहिर हो गई किन्तु इतने दुखद और कठिन मुद्दे पर केवल निजी स्तर पर ही चर्चा हो सकती यानि जेल के दल से दर्जनों नौजवान सैन्य टेक्निशियनों के अचानक लापता हो जाने की जानकारी उनकी माताओं के अलावा दूसरे किसी को नहीं थी । यूरी और उसके सहकर्मी कॉसमॉस कोई ये बताया गया की एक प्रोटोटाइप मोबाइल जो कि सर जी पावलोव इचकू लिटिल सेवन में से नहीं था, का विस्फोट हो गया था जिसमें बहुत से टेक्निशियन घायल हो गए थे । बेशक उन्हें बेहतर जानकारी थी लेकिन कुछ समय तक स्टार सिटि के प्रशिक्षण केंद्र में इस भयंकर दुर्घटना को बुला कर रहे हैं । वस्तुत हुआ इस विस्फोट से बोस्टोक की तैयारियों में बहुत ज्यादा विलम्ब नहीं हुआ । बैंगलोर के जीवित बच्चे टीम के सदस्यों ने अपना कार्य लगातार जारी रखा । मानव चलित मिशन को दिए गए पैड ईंधन भरने के पाइप वो ब्लैक हाउस क्षतिग्रस्त नहीं हुए । इसके साथ ही आर सोलह में जुडे कोरोलेव के कुछ टेक्नीशियन ने सक्रिय तौर पर अपना काम जारी रखा था । पहली मानव चलित उडान के करीब तीन हफ्ते पूर्व उनमें से एक फॅर चौबीस वर्षीय वैलेंटीन इस दल का चुलबुला सदस्य था । ऍम चैंबर में जाने की जब उसकी बारी आई तो उसने इस काम को बखूबी निभाया । उसका सत्र पंद्रह दिनों का था । तेईस मार्च को उसके चैंबर से बाहर आने की तैयारी की । उस समय काफी ऊंचाई में रहने का अभ्यास जारी था और चैंबर को बहुत धीरे धीरे सामान्य दबाव तक की स्थिति में लाया जाना था । वरना कॉन्सर्ट को शरीर के मुडने वह जकडन की स्थिति का सामना करना पड सकता था । इससे पहले की टेक्निशियन चैंबर के दबाव को बराबर कर चैंबर की सिटकनी खोल पाते । अभी आधा घंटे का समय गुजरना बाकी था । बोंडारेंको ने अपने शरीर पर पडे उन्हीं कपडों को खींचतान कर हटा दिया था । वो उधर से लगे मेडिकल सेंसर पैड से भी छुटकारा पा चुका था ताकि उसे राहत महसूस होगा तो अच्छा पर हो रही खुजलाहट से राहत पाने के लिए अल्कोहल से भीगी हुई रुई से शरीर को पहुंचा । शायद उसने कुछ लापरवाही से पेडों को एक और उछाल दिया था । उनमें से एक पेड छोड से रसोई स्टोर के हॉट प्लेट पर पड गया और जल्द था । चैंबर के बंद ऑक्सीजन से परिपूर्ण वातावरण में आग काफी तेजी से फैल गई । उसे खींचकर निकाला गया । वो काफी चल चुका था और दर्द से बुरी तरह करा रहा था । वो कहता जा रहा था, गलती मेरी है, मुझे खेद है । डॉक्टरों द्वारा उसकी जान बचाने के लिए आठ घंटे प्रयास किया गया लेकिन उसके काफी बडे खतरनाक है । उसकी मौत की परिस्थितियों को सन उन्नीस सौ तक सार्वजनिक नहीं किया गया था । अंतरिक्ष की उडान का एक पहलू जिसके लिए स्टार्स इटिआॅस के पास स्वयं को पहले से ही अच्छी तरह तैयार करने के लिए व्यावहारिक साधनों का अभाव था वो था भारहीनता की स्थिति का सामना करना । कोरोलेव उसकी सलाहकार अपने प्रथम मानव चली विमान को कक्षा में एक चक्कर लगाने से अधिक समय की अनुमति देने के पक्ष में नहीं है क्योंकि किसी को यकीन नहीं था कि इसका यात्री गुरूत्वाकर्षण के सामान्य संवेदन के बिना सारा दिन रह सकता है । सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रम के शुरुआती दौर में भारहीनता के मुद्दे ने बडी मनोवैज्ञानिक अडचन अपस्थित कर दी गई । इस संवेदन को धरती पर महसूस करने का एकमात्र जरिया था मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी की अट्ठाईस मंजिला इमारत जोकि शहर की सबसे ऊंची इमारतों में से ठीक थी । एक विशेष पिंजरे की रचना जो शाफ्ट से होते हुए सीधे नीचे गिरती और नीचे तली पर काॅमर्स पर धडाम से जाती थी । इस तरह दो या तीन सेकेंडों तक गौर और स्वतंत्र रूप से पिंजरे के तले पर खडे होकर हवा में तैरते रह सकते हैं । कोरोलेव के गाइडेंस स्पेशलिस्ट जूरी माजूर इन इस पर प्रकाश डालते हुए कहते हैं, ये अनिश्चितता के सागर में हमारी पहली छलांग थी । हम हर एक चीज से भाई भी थे । इसलिए सर जी पाॅड टीवी गति के दृष्टिकोण का पक्षधर था । पहला मानवीय अंतरिक्ष मिशन के लिए एक चक्कर अगली उडान चौबीस घंटे की इससे अगली उडान व्यक्ति के जीवित बचे रहने की दशा को जानने के लिए तीन दिनों की थी । नासा में अमेरिकी एस्ट्रोनॉट लम्बे पर वलयाकार चाहूँ यानी ऍम को बोलिंग साॅफ्ट यान उसे उडाते थे । ये यान मुख्यतः सामान होने वाले एयरलाइनर थे किंतु इनके अंदर बैठने की सीटों वह सामान रखने के क्रेटों को निकाल कर बाहर कर दिया जाता था ताकि कैबिन का आंतरिक भाग पूरी तरह से खाली रह सके । फॅस इसमें एक समय में लगभग दो मिनट तक दीवार रहित स्थिति में हवा में कह सकते थे । कितना समय उनकी भारहीनता की स्थिति समाप्त करने के लिए पर्याप्त था । वहीं रूस ने अपनी कार गोयान ओके ऐसे प्रयोग पर कभी विचार नहीं किया हूँ । कम से कम सन उन्नीस सौ के प्रारंभिक दशक तक तो नहीं प्रशिक्षु कॉस्ट मिनट्स है । लगभग तीस सेकंड तक मिग पंद्रह लडाकू विमान की पिछली सीट पर पैराबोलिक आर उडाते हुए इधर उधर टकराते हुए भारहीनता किसी स्थिति महसूस की मॉस्को यूनिवर्सिटी की बिल्डिंग से लिफ्ट शॅर्ट को नीचे लाने की अपेक्षा कहीं ज्यादा उपयोगी था । टिटो को याद है कि मिक्का अनुभव काफी असहज वो असंतोषजनक था और इतना काम था कि सामान्य लडाकू प्रशिक्षण मिशन में जितने समय का वो अभ्यस्त था उससे बहुत ज्यादा नहीं था । जब आप कोई बडी कलाबाजी कर रहे हैं और इसे अच्छी तरह नहीं कर पा रहे हैं तो कॉकपिट की सारी गर्द और धूल उडकर आपके चेहरे पर पड सकती है । ये काफी अहम तब हो जाता है जब लंबे समय तक आपको भारहीन वातावरण में रहना पडता है । इसके अलावा मिगके कॉकपिट इतने सक्रिय या तंग रहते थे कि उसमें सही तरीके से हवा में तैरने का मौका ही नहीं मिलता था । सोवियत कॉस्ट मिनट का भारहीनता के प्रति भय अभी तक बरकरार रहा । बोस्टोक के ब्रेकिंग रॉकेटों को इसके ठीक कक्षा में लाने के लिए उन्हें प्रक्षेपित करने का अनुमान लगाया गया ताकि भारहीनता की अवधि को न्यूनतम रखा जा सके । इस बात की भी संभावना काफी ज्यादा थी कि यान कक्षा में बहुत से दूसरे सर्किटों में फंस कर रहना चाहिए जो की रिट्रो रॉकेट के फेल होने के कारण होता था । दुनिया के प्रथम अंतरिक्ष यात्री के सामने आये हुए जोखिम को एनडीए एल्ड्रिन ने बडे स्पष्ट तरीके से व्यक्त किया है । किसी कक्षीय ट्रेजेक्ट्री में होता ये है कि आप पृथ्वी से ऊपर जाकर इस के चारों ओर चक्कर लगाने लगते हैं । तदोपरांत जिस रॉकेट से आप वहाँ पहुंचे हैं उसे धीरे धीरे धरती पर नीचे लाने के लिए आपको पूरा काम करना होता है । यदि ऐसा नहीं होता है तो आप सादा उसी कक्षा में मरते दम तक घूमते रहेंगे । पहले मानव चलित प्रयास हेतु करुँगी । डिजाइनरों ने उप कक्षीय ट्रेजेक्ट्री को अपेक्षाकृत ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिए अपने सुझाव दिए । उसने ये साफ कर दिया कि केवल इतने से ही वो अमेरिकियों को बात नहीं देना चाहता था । उन्हें बडी मत देना चाहता था । वोस्टोक की हवा आपूर्ति अधिकतम दस दिनों तक देखी रह सकती थी । यान कक्षा को जानबूझकर पृथ्वी की सबसे बाहरी परत में उडते रहने के लिए तैयार किया गया था ताकि किसी गंभीर स्थिति में प्राकृतिक वातावरण से घर्षण के कारण यान की गति धीमी हो जाए और वह स्वतः कुछ दिनों में नीचे आ जाएगा । ये एक हुआ जैसा ही था क्योंकि ऐसा कुछ तय नहीं था कि ऐसी घटना कॉस्ट नॉट के हवा, पानी और भोजन समाप्त होने से पहले ही हो ।

8. Capsule Ki Gatibeg

शिक्षा शास्त्री ॅ और उसके कंप्यूटरों की मदद से माधुरी ने अनुमान लगाया कि वो स्टॉक की रीएंट्री बॉल प्रथम कक्षा की समाप्ति के बाद सुरक्षित रूप से रिकवर की जा सकती थी । किंतु इन रॉकेटों के अच्छी हालत में होने के बावजूद इनके ब्रेक के संचालन को विलंबित करना पड सकता ना । सैद्धांतिक रूप से इसके रिट्रो सिस्टम को किसी भी समय फायर किया जा सकता ना । लेकिन ये सुनिश्चित नहीं था कि इसके कैप्सूल सोवियत सीमा में ही कहीं नीचे गिर जाता । बोस्टोक की कक्षा डिग्री भूमध्य सागर पर ही चुकी हुई थी । पूर्व से पश्चिम प्रत्येक कक्षा में नब्बे मिनट का समय लगता था । इस दौरान यान के नीचे पृथ्वी अपनी स्थिर गति से गुड्डन करती रहती नहीं । प्रत्येक चौबीस घंटे में एक बार इसके परिणाम शुरू । हर बार यान उसी पद पर जमीन के ऊपर नहीं उठता था । इस स्थिति का गणित बहुत स्पष्ट था । यान के धरती पर लौटने की सर्वोत्तम अवसर प्रथम कक्षा में एक घंटे में या फिर पूरे एक दिन बाद कक्षा के बीच से अठारह घंटे में । किसी दूसरी कक्षा के दौरान रिएक्टरों, रॉकेटों को छोडने से यान की समुद्र या किसी और देश में गिर जाने का जोखिम था । ऐसी स्थिति में निराशा ही हाथ लगती । तकनीक का रहस्य इससे प्रकट हो सकता था, किंतु पूंजीवादी इस बात का श्रेय लेने का दावा कर सकते थे कि उन्होंने अपने देश की सीमा के अंदर एक कॉस्ट मिनट के जीवन की रक्षा की । अंततः प्रचार होने की इन सशक्त समस्याओं के समाधानों को तीन लिफाफे के भीतर रखकर मॉस्को की प्रतिनिधि न्यूज एजेंसी ताज के पते पर सील कर दिया गया । माधुरी ने विविध प्रलेख तैयार की है । उडान के अंत में कैप्सूल कहाँ और कैसे गिरेगा, इस बात की उसे इतनी विस्तृत समझ थी कि उसके द्वारा किसी अन्य देश में गिरने को लेकर अनुमान लगाना और आवश्यक कदम उठाना उचित जान पडता था । यदि ऐसी कोई स्थिति बनती तो ताज को लिफाफे के भीतर रखी उससे जुडी सूचना को प्रसारित करने का निर्देश दिया जाता । माधुरी इनको बुरे से बुरे हालात के दृश्य को तैयार करने के लिए कहा गया था । यदि कैप्सूल अंतरिक्ष में ही विस्फोट का शिकार हो जाता हूँ या बॉल में रिसाव हो जाता हूँ तो प्रेस ज्ञापन को उसी के अनुरूप निर्धारित किए जाने की जरूरत होती है । सभी संभावनाओं को दृष्टिगत रखना और पहले से ही विविध घोषणाओं की तैयारी करना उचित ही जान पडता हूँ मंजूर इनके मुताबिक हमने विभिन्न अलग अलग घोषणाओं के साथ ताज के लिए तीन लिफाफे तैयार किए । पूर्ण सफलता की स्थिति है तो लिफाफे नंबर एक, लिफाफा नंबर दो । किसी विदेशी जमीन पर लैंडिंग करने की स्थिति है तो लिफाफे नंबर तीन । किसी विपत्ति की स्थिति से संबंधित टेलीविजन और रेडियो स्टेशनों में लोग इंतजार कर रहे थे । जब हमने देखा कि कॉस्मो नॉट कक्ष में प्रवेश कर चुका था और हमारे पास ऊंचाई, रुझान और कक्षीय अवधि के आंकडे आ जाते तो क्रैमलिन द्वारा कास्को लिफाफे नंबर एक खोलने की इजाजत दी जा सकती थी । इस कामयाबी वाले लिफाफे को संकलित करने का काम भी आसान नहीं था । जब कैप्सूल पैराशूट पर लटक कर सात हजार मीटर पहुंचाता तभी कॉस्ट नॉट को बाहर आकर उसके अपने पैराशूट के नीचे आ जाना था । इस बात को सम्मिलित करने के प्रति हम निश्चित नहीं थे । समस्याओं साधारण थी । अच्छी उडान की स्थिति में अंतरराष्ट्रीय सहमती से स्थापित नियमों के मुताबिक सोवियत विश्व उड्डयन ऊंचाई के कीर्तिमान का दावा किया जा सकता था । कोरोलेव ने इन नियमों को सावधानी से पढा और यह देखकर आश्चर्यचकित रह गया कि ऐसे कीर्तिमान का दावा करने वाले किसी भी पायलट को टचडाउन तक आपने यान के अंदर ही रहना पडता है । यदि ध्यान उतरने से पहले ही पायलट बाहर आ जाता हूँ तो नियमानुसार यही माना जाता है कि फ्लाइट में कोई खराबी आ गई होगी । ऐसी स्थिति में कोई कीर्तिमान नहीं बनता हूँ । इसका विकल्प ये था कि वो स्टॉक के क्रू मैन को बाहर नहीं निकाला जाए । किंतु कोरो को लगता था कि सेंटरी बॉल के बेतुकी लैंडिंग से चोट लगे बिना रह पाना मुमकिन नहीं था और सेवन के त्रुटीपूर्ण प्रक्षेपण के भयंकर विस्फोट से पूर्व ही है । ऍफ के बाहर आने के लिए सोवियत रूस के लडाकू विमान के पायलट उपकरण के अग्रणी डिजाइनर ने पहले ही कैबिन के लिए एक आपातकालीन इंजेक्शन सीट डिजाइन कर रखी थी । यदि उसकी उडान के अंत में उसी प्रणाली का उपयोग उसे हटाने के लिए किया जाता तो बॉल की जमीन पर काफी तेजी से नीचे टकराने में कोई चिंता नहीं होती । भविष्य के रीएंट्री मॉड्यूल्स में अंतिम ठोकर को कम करने के लिए नीचे की ओर अपेक्षाकृत बडे पैराशूटों और कुछ रॉकेटों को जोडा जाता है । बाद में वर्षों में बॉल की हलकी उतरने वाले रॉकेट इसका विकल्प नहीं थे । पता इसके कॉस्ट मिनट के लिए बाहर आने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं था । निकोलई कम ने नहीं क्रीडा अधिकारी इवान बोली सिंह को को ऊंचाई कीर्तिमान नियमन पर अपेक्षाकृत अधिक गहन शोध करने का निर्देश दिया । फरवरी उन्नीस तक इस समस्या का समाधान नहीं हो पाया था । इस वक्त भी दिन में काफी देर दोस्तों के पुन डिजाइन की अपेक्षा यू रचनात्मक झूठ कहीं ज्यादा आकर्षक लगा । ताज के लिए माधुरी इनके सफल लैंडिंग वाले पहले लिफाफे में कॉस्मो नोट के यान में ही रहकर उतरने का आशय ही त्रुटिपूर्ण था । उसके अनुसार लंबे समय तक सभी प्राधिकृत पहले खो में किसी तथ्य की चर्चा नहीं । इस बात की हकीकत का राज ग्लासनोस्त युग में ही है । हमारे लोगों और दुनिया को मालूम हुआ दूसरे लिफाफे में एक दूसरी कहानी ही बताई गई होगी । उदाहरण के लिए यदि वोस्टोक किसी विदेशी जमीन पर लैंडिंग करता हूँ तो इंजेक्शन सीट का उपयोग खुले तौर पर विदेशियों को ज्ञात हो जाता । मुझे इन ने उस लिफाफे में जिन शब्दों का प्रयोग किया था, वो उसे बिल्कुल याद नहीं है । बाद में वे लिफाफे नष्ट कर दिए गए, जिसका उसे काफी अफसोस है । वो कहता है, बडे दुख कि बात है जो हमने उन्हें नष्ट कर डाला । आज उनका ऐतिहासिक मूल्य होता तास के पहले खो वाले सामान्य से सामान्य विवरणों में भी चुनौती सामने रखी थी । प्रथम मानव चलित विमान की प्रमुख विज्ञप्ति में कैप्सूल को वोस्टोक एक दर्शाना स्वभाविक था । ऐसा किसी प्रत्याशा में किया गया था कि इसके बाद दूसरे इसका अनुसरण करेंगे तो कैप्सूल के प्रमुख डिजाइनर बोल एक दीवाना बस की को स्मरण आता है । यदि हमने इसकी कोई संख्या निर्देश कर दी होती हैं तो इससे यही जान पडा होता कि कोई श्रृंखला प्रारंभ हो रही है । हम चाहते ही नहीं थे कि कोई ये जाने की हम और दूसरी उडानों की तैयारी भी कर रहे थे । इसलिए वोस्टोक को कोई नंबर नहीं दिया गया था । चौथा और बहुत अलग तरह का प्रलेख स्वयं वोस्टॉक कैप्सूल में स्टोरीज हेतु तैयार किया गया था । ऍफ कोई इसकी जानकारी की जरूरत नहीं थी । किंतु प्रथम मानव चलित यान की उडान के कुछ हफ्ते पहले तक इस बात पर बहस चल रही थी कि एक अंतरिक्ष विमान चालक को की सीमा तक कमांड और नियंत्रण की अनुमति होनी चाहिए । सब कुछ वोस्टोक के बाई और के नियंत्रण पैनल के छह अंकों के रहस्यमय कीपैड के आसपास केंद्र था । अब तक सभी अंतरिक्ष यानों को ऑनबोर्ड इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम से चलाया गया था जो जमीन पर स्टेशनों को कंट्रोल करने के लिए रेडियो लिंक से जुडे हुए थे और स्वयं में कठिन चुनौती का प्रतिनिधित्व करते थे । एक मानव पायलट के ज्ञान में शामिल किये जाने से कौन सी नहीं समस्या उत्पन्न हो सकती थी । डॉक्टर इस बात को लेकर चिंतित हैं की धरती के अपने साथियों से आध्यात्मिक वो मनोवैज्ञानिक अलगाव के कारण अकेला कॉस्ट नॉट विक्षिप्त ऐसा हो जाएगा । वहीं सुरक्षा एजेंसियों को ये चिंता थी की अपनी उडान के अंत में वो विदेशी जमीन पर लैंडिंग कर सकता था । सन उन्नीस सौ साठ की शीत ऋतु तक कंट्रोल के मुद्दे को लेकर की जा रही चर्चा ने नया मोड ले लिया था । इस चर्चा का लक्ष्य ये था कि पायलट को उसके यान के विषय में कोई प्रतिष्ठित प्राधिकार न दिए जाए बल्कि उससे वापस ले लिए चाहिए । वो तो का मार्गदर्शन पूर्ण तहस स्वचालित था, बिल्कुल उसी तरह जैसा सभी मानव रहित विमानों में होता है । किसी आपात स्थिति के दौरान ही पायलट को कुछ देर तक कंट्रोल संचालित करने की अनुमति दी जा सकती थी । इसके लिए भी उसे पहले अपनी सही मानसिक स्थिति को सिद्ध करना होता है । इंजीनियरों ने छह अंकों वाली कीपैड की युक्ति तैयार जिससे कंप्यूटरों से नेविगेशन प्रणाली खुल जाती है और पायलट हाथ से कंट्रोल करने की स्थिति में यान को चलता रह सकता था । कीपैड समन्वय की जानकारी उसे तभी दी जा सकती थी जब जमीन पर से मिशन डायरेक्टर उसकी सही मानसिक स्थिति का आकलन कर लेते हैं । सर जी कोरोलेव ने अपने चिरपरिचित अंदाज में इस योजना को खत्म करके इसकी आधारभूत अवधारणाओं पर प्रश्न किया । पायलट को विमान का नियंत्रण भला क्यों सौंपा जाएगा? शायद इसलिए कि स्वचालित प्रणाली फेल हो जाने की स्थिति में उसे संचालित करने की जरूरत पड सकती हूँ । किन्तु यदि जहाज लडखडाकर आनियंत्रित होने लगता है तो पृथ्वी से जुडी रेडियो लाइन में लगभग उसी समय अडंगा जाता जब पायलट को उस सीक्रेट कोड को सुनने की जरूरत रहती है जिससे मैनुअल कंट्रोल आरंभ हो जाता । कीपैड की प्रणाली अपेक्षाकृत ज्यादा कठिन प्रतीत होती थी तभी डॉक्टरों ने एक बीच का हल निकाला जिससे रेडियो के खराब हो जाने की स्थिति में भी पायलट स्वयं उस कोड का पता लगा सकता था । इस विषय में वोस्टोक समन्वयक बोलेगा इवानोव । इसकी ने बताया, उन्होंने निश्चित किया यदि केबिन के भीतर रखे लिफाफे तक पहुंचकर लिफाफा फाडने के बाद पेपर निकालकर उस पर मुद्रित नंबर पडता और कीपैड को सावधानीपूर्वक दबाता तो इन क्रिया कलापों के क्रम से यह सिद्ध हो जाता है कि उसने अपना मानसिक संतुलन नहीं खोया और अपने कार्य के प्रति अभी जवाब दे था । ये एक खतरनाक हासिब उन दिनों की हमारी गोपनीयता का अंग भी था । सारी प्रक्रिया स्वयं को पराजित करने वाली थी । जाहिर तौर पर उस लिफाफे को कैबिन के अंदर पायलट की पहुंच में ही रखा जाना था ताकि आवश्यकता पडने पर वो अगले ही क्षण हाथ में लिया जा सके । कोई अस्थिर वृत्ति का कॉस्ट मिनट कभी भी बिना अनुमति के उसे खोलकर विमान का नियंत्रण अपने हाथ में ले सकता था । सोवियत यूनियन के प्रमुख टेस्ट पायलट मार्क गाली की नियुक्ति अंतरिक्ष कार्यक्रम में वोस्टोक के कॉसमॉस को प्रशिक्षित करने के लिए हुई थी । इतिहासकार जेम्स हारफोर्ड को दिए हाल के एक साक्षात्कार में उन्होंने बताया, ऍम ये मानते थे कि ये बातें मूर्खतापूर्ण है । बहुत से पायलट रात के दौरान स्टेट्स पेरिया भारी बादल की दशाओं में उडान भर चुके थे । हमने की पैनल को लेकर काफी आवाज उठाई थी । हमारा सोचना ये था कि किसी पायलट के विकसित होने की संभावना रेडियो संचार वाहन के फेल होने की अपेक्षा कम है । करोले भी कीपैड को पसंद नहीं करता था तो उसने डॉक्टरों को शांत करने के लिए इसे स्वीकारने का निश्चय किया । मान लोग स्विचों को दबाते हुए किसी पायलट ने गलती कर दी तो उसे सजा कौन देगा? बडे कौतूहल की बात है कि अमेरिकी अंतरिक्ष पायलटों ने इस समस्या का समाधान खुलकर क्या? नासा के रॉकेट इंजीनियर सावधानी बरतते हुए शुरू में पूर्णतः स्वचालित प्रणाली चाहते थे किन्तु एस्ट्रोनॉट्स विस्तृत रूप से नियंत्रण की स्वतंत्रता की जिद पर अडिग रहे हैं । उन्होंने लाइफ मैग्जीन वो टेलीविजन पर प्रसारित कवरेज का सहारा लेकर अपने विमानों की कमांड के लिए एकजुट प्रयास किया । वो जमीन पर रहने वाले अपने मिशन प्रबंधकों के साथ बराबरी की साझेदारी नहीं चाहते थे । फॅसने अपना बहुतायत समय विविध एयरोस्पेस फैक्ट्रियों में रहकर बनाए जा रहे अंतरिक्ष यानों के कई पहलुओं को अपनी सुविधानुसार डिजाइन करते हुए बताया वोस्टोक कि मानव रहित उडानों के लिए कीपैड कोर्ट्स या ताज तैयार करने की कोई आवश्यकता ही नहीं थी, ना ही बचाव के प्रबंध किए जाने की । यदि वे किसी विदेशी जमीन पर उतर जाते तो दस किलो विस्फोटक चार से उन्हें रिमोट कंट्रोल की मदद से नष्ट किया जा सकता था । यदि डिस्ट्रिक्ट रेडियो कमांड फेल हो जाती तो एक ऑनबोर्ड टाइमर से लैंडिंग के घंटे बाद उन्हें विस्फोट से उडाया जा सकता है । इस से अमेरिकी रॉकेट विशेषज्ञ हताश होकर रहे जाते हैं क्योंकि वो ऐसे पदार्थ की जांच परीक्षण कर रहे होते जो उनसे सरोकार ही नहीं रखता था । वस्तुतः वोस्टोक की शुरूआती कैप्स उन्हें बडी आसानी से स्वयं को नष्ट कर लेती थी । पंद्रह । हमारी उन्नीस सौ साठ में प्रक्षेपित प्रथम प्रोटोटाइप अंतरिक्ष में अनियंत्रित होकर हो गई । चैका पॉलिसिज का नाम के दो कुत्तों को कैप्सूल में सुधार किए जाने के बाद जुलाई को रखा गया । अब आर सात के निर्माणकर्ताओं को निराश करने का अवसर था । प्रक्षेपण के कुछ देर बाद ही रॉकेट विस्फोट से टुकडे टुकडे हो गया हूँ भी मारे गए । कुछ दिन वो स्टॉक के सभी काॅरिडोर में थे और उन्होंने उस यान का प्रक्षेपण देखा जिसे उन्हें सुरक्षित रूप से अंतरिक्ष में ले जाने के लिए डिजाइन किया गया था । घर मान टिटो को स्मरण आता है । हमने देखा कि क्रॉकेट कैसे उठ सकता था उससे ज्यादा हम बात जो हमने जानी वो ये थी कि ये विस्फोट में कैसे टुकडे टुकडे हो सकता था । अगस्त को ट्रेल का और बेल का दो कुत्तों को अंतरिक्ष में भेजा गया । इस बार कोरोलेव और आर सात के इसके सीधी उडान में स्थापित हो जाने से काफी राहत मिली और मिशन बडी सरलता से आगे बढा । कक्षा में सत्रह चक्कर लगाने के बाद दोनों कुत्ते भी सुरक्षित नीचे जमीन पर आ गए । दुनिया भर के अखबारों में इसकी प्रशंसा की गई । निकिता क्रिस्टो गदगद था ।

9. Manab Uran Ki Taiyari

निजी तौर पर कोरोलेव अंतरिक्ष डॉक्टर उडान के दौरान हुई एक छोटी सी घटना को लेकर काफी परेशान थे । बेल का का भारहीनता के कारण सिर चकराने लगा और उसने कैबिन में उल्टी कर दी है । क्या इसका तात्पर्य यही था कि मनुष्य भी ऊपर उडान के दौरान बीमार हो सकते थे । ध्यान में लगे कैमरे से शुरू से अंत तक कुत्ते के हावभाव की तस्वीरें ली गई थी । जाहिर था कि इस यात्रा ने उसका मनोरंजन नहीं किया था बल्कि धरती पर उसकी वापसी के बाद उन्होंने राहत की सांस उन्नीस सितंबर उन्नीस सौ साठ हो । औपचारिक तौर पर कोरोलेव ने मानव उडान के लिए प्रस्ताव पेश किया जिसे कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति ने अनुमोदित कर दिया । इस प्रलेख पर दस वरिष्ठ व्यक्तियों ने हस्ताक्षर किए । इसमें सम्मिलित थे उनके पुराने सहयोगी गणित व कंप्यूटर विशेषज्ञ माॅल मिसाइल तैनाती के प्रमुख मार्शल नेफ्थलीन चीफ ऑफ डिफेंस मार्शल हॅाल । उसको यदि ये नया अभियान सफल होता तो इसके परिणाम स्वरूप दुनिया भर में ख्याति फैलती और यदि कोई अप्रिय घटना घट जाती तो इन दस लोगों को हर्जाना देना पडता कुरु लेने सन उन्नीस सौ साठ के अंत तक एक फॅार ने की योजना बनाई । किन्तु वोस्टोक अभी भी साथ देने के लिए तैयार नहीं था । एक दिसंबर को एक जोडे कुत्ते जलकर तब मर गए जब उनकी रीएंट्री बॉल काफी लंबवत कौन से नीचे गिरी । बाइस दिसंबर को जब आर सात दूसरा इनके ऊपर उडान के दौरान आधे रस्ते में ही खराब हो गया तो उसमें सवार दो कुत्ते एक स्पेशल कोर्ट में आपातकालीन इंजेक्शन के द्वारा जीवित बचे रहे हैं । ऊपर स्टेज इंजन में आग नहीं लगाई और वोस्टोक नीचे जमीन पर गिर गया । बहुत से कुत्तों को मेडिकल विशेषज्ञों ने बेहिचक प्रयोगशाला के दुखद परीक्षणों में रखा हूँ । लेकिन रॉकेट इंजीनियरों के मन में इसके प्रति काफी संवेदना का भाव था । यूरी माधुरी इनको इस संदर्भ में एक नाटकीय घटना का स्मरण हुआ था । सन उन्नीस सौ साठ के मार्च महीने का क्या है? हमने एक कुत्ते को एक घंटे की उडान में भेजा । अचानक हमें मालूम हुआ कि उडान निष्फल हो गई और हमें आगे के आंकडे नहीं मिल पा रहे थे । कैप्सूल कहाँ गिरा होगा? हमने सीधे इस बात का अनुमान लगाया । संयोगवश ये वही जगह थी जहां सन उन्नीस सौ आठ में एक विशालकाय उपग्रह गिरा था अर्थात साइबेरिया प्रदेश के । तुम उसका क्षेत्र में हर कोई परेशान होकर यही कह रहा था कि वो कुत्ता विस्फोट में मारा जाएगा । अचानक पैराशूट से जुडे रेडियो एरियर्स के संकेत हो गए । इसका तात्पर्य था कि यान अस्तित्व में था । कुछ जगह बातों के अलावा ये एक अच्छी खबर थी । उन्हें जो ही कक्षा के फेल होने का आभास हुआ था उन्होंने फौरन डिस्ट्रिक्स कमांड भेज दिया था । हूँ । कुछ भी नहीं हुआ । वस्तुतः अनियंत्रित रिएंट्री शुरू होने पर यान तब भी एक हिस्से में था । किन्तु ऐसा कोई संकेत नहीं था जिससे पुष्ट हो पाता कि कुत्ता इंजेक्शन पॉट में जीवित बच गया था । शायद ये तब भी रीएंट्री बॉल में फंस कर रह गया था । क्या विस्फोट का बॅाल था? यदि ऐसा था तो चौंसठ घंटों बाद भयंकर टक्कर के साथ नीचे गिरकर विस्फोट में कुत्ते के परखच्चे उड जाते हैं । बैंगलोर में शीघ्र ही दस लोग एक पॉल्यूशन चौदह पर सवार हो गए । उसमें एक खतरनाक होता था केजीवी ऑफिसरों को वोल्गा नदी पर स्थित समर की रंगीनियत वाली जगह पर शराब में मस्त रहने वाले टाइम बम विशेषज्ञों की खोज में भेजा गया । उन्हें एक पार्टी से ले जाकर साइबेरिया की उडान है । तू एक यान में बैठा दिया गया । अब हम उस यान के विस्फोट होने के बच्चे समय के बीतने का इंतजार कर रहे थे । चार्ज चौंसठ घंटों से पहले भी ब्लास्ट हो सकता था । टाइमर में क्या हो रहा था, किसी पता था एक बडा जोखिम था । ये कैप्सूल आर्क्टिक सर्कल के निकट गिर गया । मार्च का महीना चल रहा था इसलिए दुनिया के इस भाग में सूर्य का प्रकाश कुछ ही घंटों तक रहता था । सौभाग्य वर्ष अंधेरा होने से पहले ही ऊपर पैराशूट नजर आ गया । वो हमको डिफ्यूज कर के कुत्ते को बचा लिया गया । इस नाटक को अंतरिक्ष यान से उचित रेडियो संपर्क कायम रखने की कठिनाई के कारण चर्चा गया था । अमेरिका को नासा की दुनिया भर में श्रवण पोस्ट होने का फायदा मिलता था, जिससे वे अपने मर्क्यूरी स्पेस कैप्सूलों के साथ संपर्क में रहते थे । तो अमेरिका ने ऑस्ट्रेलिया, नाइजीरिया, इंडिया, ॅ और मैक्सिको के साथ कूटनीतिक संबंध बना रखे थे, ताकि उनके अंचलों में विशाल और शक्तिशाली देशों को स्थापित किया जा सके । तत्त्पश्चात संचार बहन इंजीनियरों ने रीले टावरों की ग्रेड और समुद्र के नीचे वाले केबलों का विस्तृत जाल बिछाया, ताकि इन स्टेशनों को कैप करने वाले ज्ञान प्रबंधकों से जोडा जा सकता हूँ । यूस्टन का विख्यात मिशन कंट्रोल सिस्टम का निर्माण तब पूरा नहीं हुआ था । कुल मिलाकर मर्क्यूरी ट्रैकिंग नेटवर्क एक डिप्लोमेटिक एवं तकनीकी उपलब्धि थी जो कि अंतरिक्ष यान की तरह ही प्रभावशाली थी । इससे एक अंतरराष्ट्रीय प्रणाली निर्मित हुई जो आज भी काम कर रही है । नासा के अंतरिक्ष यान कभी भी तब तक संचार से बाहर नहीं रहते जब तक कुछ देर के लिए चंद्रमा या अन्य ग्रह की कोर्ट में ना आ जाए । सोवियत रूस ऐसी व्यवस्था नहीं कर पाता था क्योंकि विदेशी सहयोगी सही ठिकानों में नहीं रहते थे । एक बार एक अंतरिक्ष यान देश के ही सुदूर क्षितिज में गायब होने के बाद संचार से कट गया । इसका हाल था बारह हजार टन कार्गो जहाजों का बेडा स्पेशल रेडियो मस्तूल के साथ सुसज्जित कर दुनिया के महासागरों में भेजना । वो इस अंतरिक्ष यान के आंकडों को रूस में भेजते जहाँ उन संकेतों को कोरोलेव के निरीक्षण में बैंगलोर में प्रसारित करना होता हूँ क्योंकि पश्चिम वासी कार्गो जहाजों की रेडियो कितनों को अवरुद्ध कर सकते थे । इसलिए सुरक्षा के दृष्टिकोण से उन्हें कोर्ट क्या जाना जरूरी था? माधुरी कहता है, हमारे जहाँ ऊपर से देखे जा रहे थे, विमान काफी नजदीक तक आकर तस्वीरें खींच लेते थे । यद्यपि विदेशी अवलोकन करता हमारे जहाजों में कभी नहीं आते थे, तथापि वे जहाजों के मकसद का अनुमान अपने ठिकाने से नौकायन के समय से जरूर लगाते थे । यदि वे जहाजों पर यात्रा करने आते तो जहाजी स्टाफ को ये निर्देश था कि वे तुरंत ही अपनी कोर्ट पुस्तिकाएं एक विशिष्ट स्टोर में जलाकर नष्ट कर रहे हैं, जो ही प्रत्येक अंतरिक्ष मिशन समाप्त होता हूँ । ये जहाजी बेडे निकल पडते हैं और पैसे कमाने के लिए अपने कार्गो, अनाज इत्यादि डिलीवर करते हैं । पच्चीस मार्च, उन्नीस सौ इकसठ यूरी गागरिन से एक महीने पहले वहाँ इवानोविच ने पहली बार वैसे ही अंतरिक्ष पोशाक में वो उसी मॉर्डल की इंजेक्शन सीट वह पैराशूट से सुसज्जित होकर उडान भरी है । उसने अपने वोस्ट को अच्छी तरह उडाया और आराम से कुछ रेडियो संकेत वापस भेजे । हालांकि अंतरिक्ष के विषय में उसका अवलोकन कुछ विचित्र था । वस्तुतः उसने गोभी का सूप बनाने का निर्देश प्रसारित किया । कुछ व्यंजन विधि के विवरण अब हो चुके हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि ये किसी पश्चिमी केंद्र को उलझन में डालने के लिए जानबूझकर किया गया प्रयास था । इवान की जमीन पर लैंडिंग या उतरने को लेकर प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा गहरी चिंता जाहिर की गई । स्थानीय ग्रामीणों ने उसे अपने स्वयं के पैराशूट से नीचे उतरते देखा और पाया कि कुछ गडबड जरूर थी । जो ईवान के पैर जमीन पर पडे । वो अचेत होकर गिर पडा । स्वाभाविक तौर पर ग्रामीण उसकी मदद के लिए दौडे । लेकिन शीघ्र ही सैनिकों की टुकडी ने जमीन पर पडे उसके अचेत शरीर को चारों ओर से घेर लिया । सैनिकों ने उसे बचाने का प्रयास नहीं किया । वे चुप चाप उसे घेरे खडे हुए थे मानो उन्होंने उसे मरने के लिए छोड दिया हो । ग्रामीण बहुत छक्के रह गए हैं । हाल के समय में एक तरह का रूसी रोजवेल था कि इस घटना से जुड गया है । एक जाना माना कॉस्ट नॉट यूरी गागरिन से पहले अंतरिक्ष में गया जो लौटने के चरण में मारा गया । एक कम्युनिस्ट समर्थित ब्रिटिश समाचार पत्र डेली वर्क करने यूरी की उडान से दो दिन पहले इसके मॉस्को संवाददाता डेनिस डेन द्वारा लिखित स्टोरी प्रकाशित जो एक प्रामाणिक इतिहास को नहीं दर्शाती हैं । एक कार दुर्घटना में एक विख्यात पायलट के घायल होने को ऑर्डेन ने दस मिनट बताते हुए उसे रूसिया नामक अंतरिक्ष यान से जमीन पर बुरी हालत में गिरा हुआ निरूपित किया । सन उन्नीस सौ उन्यासी में ब्रिटिश इंटर प्लेनेटरी सोसाइटी के विशेषज्ञों ने इनमें से कुछ अफवाहों को गंभीरता से लिया । अंतरिक्ष में प्रवेश करने वाले प्रथम व्यक्ति को लेकर कुछ विवाद सा हैं । एक फ्रांसीसी ब्रॉडकास्टर ने, जो अप्रैल के दौरान मॉस्को की यात्रा पर था, अपने विश्वसनीय स्रोतों से खुलासा किया की एक प्रसिद्ध रूसी यान डिजाइनर के बेटे और दुस्साहसी पायलट सर्जेई इल्यूशिन यूरी गागरिन के अंतरिक्ष यात्रा के तीन चार हफ्ते पहले अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए स्वयं अंतरिक्ष में गया । उसके पृथ्वी पर लौटने पर रिकवरी टीम ने उसे बुरी तरह क्षत विक्षत पाया । तभी से सर्जरी इल्यूशिन कोमा में है । वस्तुतः सर्जरी एक विख्यात वायुयान डिजाइन था । उसके बेटे का नाम व्लादिमीर था । ब्रा उसकी तो किसी फ्रांसीसी नागरिक का नाम बिल्कुल नहीं जान करता हूँ । इस बात का ताल्लुक इन सभी अफवाहों से नहीं था कि कोरोलेव के लॉन्च टेक्निशियनों द्वारा गहरे गाढे काले पेट से इवान के चेहरे उसकी पीठ पर मार्केट अर्थात डमी शब्द लिखकर वोस्टॉक के बॉल में बैठाकर उसे अंतरिक्ष के लिए रवाना कर दिया गया । और ये की उसकी सूप बनाने की अंतरिक्ष से प्रसारित विधि किसी मनुष्य द्वारा सीधी न बताई जाकर एक टेपरिकॉर्डर का रिकॉर्ड हिस्सा था । ओ लेकिव आ नेवस्की के संस्मरण के अनुसार हमें अंतरिक्ष से मानवीय बातचीत के परीक्षण करने की आवश्यकता नहीं । इसलिए हमने टेपरिकॉर्डर साथ रखने का निर्णय लिया । तभी सुरक्षा अधिकारियों ने कहा नहीं, क्योंकि अभी पश्चिमी देशों में ये मानव आवाज सुनी गई तो सोचेंगे कि हम चोरी छिपे वास्तविक कॉस्ट नॉट को जासूसी मिशन में अंतरिक्ष भेज रहे थे । याद रहे, ये सब कुछ गैरी पावर्स कार्य के कुछ महीने पहले की बात है, इसलिए हमने सोचा कि इसके बदले कोई गाना रिकॉर्ड कर लिया जाएगा । किन्तु सुरक्षा अधिकारियों का कहना था क्या पागल हो गए हो? पश्चिम वाले सोचेंगे । कॉस्ट मिनट का दिमाग फिर गया है जो कि अपना मिशन पूरा करने के बदले गाना गा रहे हैं । फिर तय किया गया कि एक कोरस गीत रिकॉर्ड किया जाए, क्योंकि कोई ये सोच भी नहीं सकता कि हमने सभी कोरस गायकों को अंतरिक्ष में भेजा है और अंतत था । हमने सूप बनाने की विधि के साथ साथ यही किया । नौ मार्च को इवान से पहले एक डमी को अंतरिक्ष भेजा गया । इन दोनों सफल परीक्षणों के बाद कोरोलेव ने तय किया कि वोस्टोक वास्तविक पायलट के लिए तैयार था । कुछ जोखिम उठाने के अलावा उसके पास कोई विकल्प नहीं था । नासा का मरकरी कार्यक्रम किसी अमेरिकी को अंतरिक्ष में भेजने की तैयारी में था । वे भी बहादुर सैन्य स्वयंसेवियों को मिसाइलों की मदद से सोवियत से पहले अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रचने वाले थे । संयोग वर्ष माधुरी और उसके मार्गदर्शक विशेषज्ञ के हाथ नासा द्वारा प्रकाशित कई प्रलेख लग गए । साथ ही उन्हें गोपनीय खुफिया विभाग से केप कार्निवल से आगामी प्रक्षेपण की तैयारियों की खबर मिल चुकी थी । इसके अलावा इंजीनियरिंग कार्यों में विलंब वह मानव रही । परीक्षणों की सफलताओं के बारे में उन्हें जानकारी थी जिसकी वजह से मरकरी प्रोजेक्ट प्रारंभिक चरण में ही लडखडा गया था । इस से ये तथ्य समझने में मदद मिलती है कि सोवियत की इतनी सारी अंतरिक्ष सफलताएं, अमेरिकी कामयाबी के मात्र कुछ सप्ताहों वह कई बार कुछ दिनों से ही पीछे रही । मुझे याद है कि एक बार मुझे वो तीन पेज का प्रलेख मिला जिसमें विभिन्न गोपनीय कक्ष यानी ऑर्बिट के आंकडे थे जिनका अनुसारण अमेरिकन उपग्रह कर रहे थे । उन्हें देख कर मैंने कहा इस की मुझे जरूरत है क्या ये न्यूटन का गुरुत्वाकर्षण का सिद्धांत मात्र है? शायद हमारे जासूसों को ये नंबर कहीं से हासिल करने पडे थे । बेशक हम जो कर रहे थे, अमेरिका को उसकी जानकारी थी लेकिन वे शांति रहे क्योंकि हम शांति दोनों पक्ष एक दूसरे के बारे में कुछ न जाने का बहाना कर रहे थे । ये कोई परिपक्वता का परिचय तो था नहीं तो ये दोनों और के तकनीकी विकास और हर किसी के लिए फायदेमंद वैश्विक उद्योग के विकास में सहायक रहा । अंतरराष्ट्रीय व्यू रचना के इन जटिल खेलों से बिल्कुल अलग है । जो सर्वाधिक साधारण सुस्ती, सुरक्षा ऐतिहात, माधुरी द्वारा अपनाई गई वो मात्र ऍप्स के लिए ही थी । हमने वो स्टॉक के सरवाइवल किट में एक पिस्तौल रख दिया ताकि यदि हमारे ऍम सहयोग वर्ष अफ्रीका के जंगलों आप ऐसे किसी स्थान पर उतरना पडेगा और उन्हें जंगली जानवरों से स्वयं की सुरक्षा की जरूरत पडे तो ये उन के काम आ सके । नि संदेह इसका आशय लोगों के लिए नहीं था । यदि कोई व्यक्ति उसे मिलते भी तो वो उनसे स्वयं की मदद करने को ही कहता है ना कि उन पर गोली चला था ।

10. Watchtop

सन के अंत तक बीस सदस्यीय काॅस्ट के समूह से छह अभ्यार्थियों को वो स्टॉक की प्रथम उडान के लिए चयनित किया गया । यह चयन सूची विगत वर्ष के दौरान सभी कॉसमॉस की योग्यताओं और उनके प्रशिक्षण रेकॉर्ड के आधार पर तैयार की नहीं । इसका एक और पैमाना था कद की ऊंचाई । यहाँ कहीं इसका अभाव बॉस टॉकी इंजेक्टर सीट में एक सामान्य कदकाठी का पायलट ही समझ सकता था । यूरी की छोटी कदकाठी इसके लिए आदर्श साबित हुई । यद्यपि अल ऍम इस कार्य हेतु अत्यधिक परवीन था किंतु वोस्टॉक की सीट के मुताबिक उसकी लंबाई बहुत ज्यादा थी । सात मार्च उन्नीस सौ इकसठ को वेलेंटीना गागरीन आने दूसरे बच्चे गालिया को चंदिया । इस खुशहाल माहौल के तीन हफ्ते बाद यूरिको बैंगलोर जाना पडा जहां उसे और बेटे को उनकी अंतिम उडान से पूर्व का परीक्षण करना था । अब तक छह लोगों की सूची में पहली उडान के लिए वे ही गंभीर अभ्यार्थी रहे थे । अंतिम दोनों ही अभ्यार्थियों को ये आभास था कि प्रथम उडान है तो अंतिम चयन निर्धारित थी बारह अप्रैल की पूर्व संध्या में घोषित किया जाएगा । दोनों के बीच कांटे की टक्कर थी । आज टिटो कहता है बेशक मैं चाहता था कि मेरा चयन हो मैं प्रथम अंतरिक्ष यात्री बनना चाहता हूँ । फिर होना चाहिए लेकिन प्रथम बनने के लिए नहीं । बल्कि इसलिए भी कि हमने ये जानने की काफी उत्सुकता थी कि बाहर क्या है । ऍम और यूरी आपसी सहयोग से ही एक दूसरे को पीछे छोडना चाहते हैं । एक तीसरा सशक्त अभ्यार्थी था ग्रिगोरोविच वैल्यू । वो भी इस ऐतिहासिक उडान की दौड में था । लेकिन मार्च के अंत तक वो दौड से बाहर हो गया । बैकोनूर आने पर इन दोनों को सुनो । उसका पहला काम स्वयं को अंतरिक्ष पोशाक में सुसज्जित करना सीखना था । पोशाक बनाने का निर्णय सन उन्नीस सौ साठ के मध्य के अथक विचार विमर्श के बाद लिया गया था । बहुत से डिजाइनरों का मानना था की वोस्टोक कि प्रेशर शैली पायलट की रक्षा करने के लिए काफी नहीं । वहीं करो ले सूट के और इसमें अलग से लाइफ सपोर्ट प्रणाली का अतिरिक्त भार लादे जाने को लेकर पसोपेश में था । इसकी सुरक्षा के तर्कों से वो विश्वस्त था । उसने रूस के सर्वाधिक अनुभवी पायलट पोशाक साझ और इंजेक्शन सिस्टम बनाने वाले व्यक्ति गाडी सेवरिन से संपर्क किया और कहा हमें नौ महीनों में पोशाक की चाहिए । सिवरी ने कोरिया युद्ध के बाद जो हाईप्रेशर वायुयान पोशाके तैयार की थी उसी आधार पर उसने इन अंतरिक्ष की पोशाकों को तैयार करने की योजना बनाई है । सोवियत निर्मित मिग विमानों में कम्युनिस्ट समर्थक पायलट लडाई के दौरान यदि विमान अचानक मोडना होता तो बेहोश हो जाते थे जबकि उनके अमेरिकी दुश्मन होशोहवास में रहते थे । सेवरिन को लगा कि जीफोर्स के विरुद्ध तंग प्रेशर सूट मददगार होगा । पायलटों के बेहतर तरीके से पोशाक सजा के पश्चात अमेरिकी मिग विमानों का पीछा करने में काम उत्सुक रहने लगे । ऐसे ही डिजाइन का प्रयोग करते हुए उसकी अंतरिक्ष पोशाक से आर सेवन की गति बढाने के दौरान ऍफ हो था में रहेगा । इस तंग पोशाक से विषेशकर पैरों के आस पास से खून धड के निचले हिस्से में जमा नहीं हो पाएगा । नहीं इससे दिमाग में खून की आपूर्ति रखी थी । अंतरिक्ष पोशाक की मजबूत वह एयरटाइट परतें कठोर नीले रंग की रबर युक्त योगिक से मिलकर बनी थी । जबकि बाहरी नारंगी रंग की सामग्री जिससे पश्चिम के अवलोकन करता प्रचारी तस्वीरों से परिचित थे, वो जीवन रक्षण के लिए अहम नहीं थी । यह ऊपरी आवरण मात्र था जिससे विभिन्न उभार वह जोड ढक जाते हैं और सतह चिकनी नजर आती है । इसे चमकदार रंगीन फैब्रिक से तैयार किया गया था ताकि बर्फ आच्छादित प्रदेश में उतरने पर भी ॅ को आसानी से पहचाना जा सके । सेवरिन इस अंतरिक्ष पोशाक की कार्यप्रणाली को समझने के लिए उपस् थित जबकि ऍम प्रशिक्षण का प्रमुख निकोली सामान इन इसका सूक्ष्म अवलोकन कर रहा था । ये सीख टेक्निशियनों के लिए भी उपयोगी थी, जिन्हें काफी कुशलतापूर्वक प्रत्येक घटक को संभालने में सक्षम रहना था ताकि प्रक्षेपण दिवस पर उन्हें सब कुछ याद रहे । दो अतिरिक्त पोशाकें भी आवंटित की गई नहीं ताकि जरूरत पडने पर असली पोशाकें साफ सुथरी रहे । तत्पश्चात पोशाक में पूर्ण रूपेण सुसज्जित होकर बारी बारी से कॅश एक नकली वोस्टॉक बॉल में सवार हुए । लॉन्चिंग पैड के कर्मी उनके पत्ते बांधने का अभ्यास कर रहे थे । काम आने द्वारा इमरजेंसी इंजेक्शन चर्या का लगातार निरीक्षण किया जा रहा था । कैबिन में समस्त नियंत्रन बच्चों को लगाना, पोशाक और हेल्मेट के अच्छी तरह सील होने को सुनिश्चित करना, शरीर को अच्छी तरह तैयार करना, मांसपेशियों में खिंचाव लाना ताकि आने वाले भयंकर झटके को सहन किया जा सके । वास्तविक आपातस्थिति में यूरी और टिटो को बिना एक क्षण गवाएं ये सब कार्य करने पडेंगे । तीन अप्रैल को दोनों प्रतिद्वंदी ॅ अंतिम बार अंतरिक्ष की पोशाक में सुसज्जित हुए हैं ताकि वो स्टॉक में चलते हुए उनकी फिल्म बनाई जा सके । उन्होंने बारी बारी से लॉन्च गेंट्री के नीचे खडे होकर मर्मस्पर्शी भाषण दिए । भाषण के दौरान आर सेवन के स्पष्ट विवरण प्रकट नहीं किए गए । असेंबली हैंगर में रॉकेट अब भी क्षति अवस्था में रखा हुआ था । इसके अलावा इसके डिजाइन के विवरण के संबंध में काफी गोपनीयता बरती जानी नहीं । प्रक्षेपण टेक्निशियनों द्वारा कॉसमॉस को बॉल में सील करने की प्रक्रिया का मूक अभिनय किया जा रहा था । इन प्रक्रिया क्रमों को प्रमुख अंतरिक्ष यान की तैयारी हंगर में प्रदर्शित किया जा रहा था न कि लॉन्च पैड पर । आगामी महीनों में बहुत से नकली दृश्यों को संक्षिप्त में जोड कर प्रक्षेपण की तैयारियों की एक असली फिल्म बनाई जा रही नहीं । निर्धारित प्रक्षेपण दिवस में कैमरा मैन को गेंट्री स्टाफ द्वारा कितनी छूट नहीं दी जाएगी । सात अप्रैल को टिटो वो यूरी कामान् इनके साथ लॉन्च पैड पर पहुंचे । उन्होंने विस्तार से गेंट्री साथ समानों का निरीक्षण किया और आग लग जाने की स्थिति में अपने बचाव के लिए वहाँ से दूर भागने का अभ्यास किया । यदि किसी कॉस्ट नॉट के बॉल के अंदर सील हो जाने के बाद आर सेवन रॉकेट जमीन छोडने से पहले कोई गडबडी होती है तो वो इंजेक्शन सीट उसे दूर उछालकर परेशानी से बचा लेंगे । लेकिन इतनी कम ऊंचाई पर वो ऊपर आकाश की ओर इतना दूर नहीं जा पाता जहाँ से उसका पैराशूट पूरी तरह खुल सकता हूँ । इसलिए इंजीनियरों ने बैठ से पंद्रह सौ मीटर की दूरी तक एक विशाल जालीदार बचाव युक्ति तैयार की थी जिसमें वो कॉस्ट नॉट सुरक्षित जा करता हूँ । कई बार एक आदमकद पुतले से ये रिहर्सल किया जा चुका हूँ । किन्तु अब इस बार बात हकीकत की नहीं काम आॅवर विकल्प के विषय में स्मरण कराया हूँ । यदि वे पैर पर बैठ कर ऊपर उठने का इंतजार कर रहे हैं और तत्क्षण ब्लैक हाउस के कंप्यूटर के रॉकेट में कुछ गडबडी महसूस हुई है तो कॉसमॉस की सीट स्वयमेव उन्हें बाहर फेंक देगी । यदि ऐसा नहीं हो पाता है तो कंट्रोल बंकर में सर्जेई कोरोलेव के पास रिमोट कंट्रोल से सीट को क्रियाशील करने का एक बटन था । साथ ही उसने आदेश दे रखा था कि बंकर में दो अन्य संतुलित दिमाग के लोगों के पास भी ऐसा ही बटन होना चाहिए । लेकिन इनमें से कोई सुरक्षात्मक उपाय कारगर न होने की स्थिति है । यदि बन जाए तब तब कोसो नॉट को स्वयं की पहल से सीट ऍम करनी होगी । ठीक उसी तरह जैसे हमला ग्रस्त मिक्स से पायलट बाहर आता है । इसी समय व्याख्यान के दौरान टिटो आपने एक बडी दुर्भाग्यपूर्ण टिप्पणी कर दी जो कामान् इनकी डायरी में सात अप्रैल की तिथि में दर्ज है । इसकी चिंता करना शायद समय की बर्बादी है और ऍम बेहिचक काम करेगा । कामान् इन तब अपने दूसरे अभ्यार्थी की ओर मुडा तो यूरी तुम्हारा क्या ख्याल है? यूरी ने उत्तर देने से पहले इस पर गंभीरता से विचार किया । उसके उत्तर को पढकर कोई भी ये समझ सकता है कि वो टिकटों को निराश नहीं करना चाहता है या उन इंजीनियरों के कौशल की अवहेलना नहीं करना चाहता था जिन्होंने ऑटोमेटिक प्रणाली को निर्मित किया ना हूँ । यद्यपि सामान इन एक अलग राय ही सुनना चाहता था । जूरी ने उत्तर में कहा हूँ, मैं इस बात से सहमत हूँ कि ऑटोमेटिक प्रणाली हमें निराश नहीं करेगी लेकिन यदि उसके असफल होने की स्थिति में मुझे स्वाॅट करना आता है तो उससे मेरे जीवित बचे रहने के अवसर बढ जाएंगे । इसपर कमाने नहीं । कोई खास प्रत्युत्तर नहीं दिया लेकिन उसने इस संपूर्ण विचार विमर्श को सावधानी से लिख लिया । मैंने यूरी पर पैनी नजर रखी थी और आज उसने अच्छा किया था । शांतचित्त ता, आत्मविश्वास और ज्ञानपरक होना उस की प्रमुख विशेषता थी । उसके व्यवहार में मुझे भी अनुपयुक्त बात नहीं । वस्तुतः सामान इन प्रथम अंतरिक्ष यात्री के चयन को लेकर काफी कशमकश में दिखाई देता था । एक दिन पहले तक उसका झुकाव टिटो की तरफ था । वो अपना अभ्यास को प्रशिक्षण ज्यादा मुस्तैदी से करता हूँ और व्यर्थ बकवास में समय नहीं बताता हूँ । यूरी के मामले में वो ऑटोमेटिक स्पेयर पैराशूट छूटने के महत्व को लेकर संदेह है । पूर्व की एक वार्ता में मैंने पहले ही सुझाव दिया था कि कॉसमॉस वायुयान से इंजेक्शन का प्रशिक्षण करते हैं, लेकिन यूरी ऐसा करने का इच्छुक नहीं था । सामान इनने दोनों में से प्रत्येक कॉस्ट मिनट पर पैराशूट से बचाव के प्रशिक्षण में असफल रहने का आरोप लगाया था । अंततः उसकी अंतिम अनुशंसा पर एक ऐसी बात का असर पडा, जो उसके बूते की बात नहीं थी । वो थी स्कूल शिक्षक के बेटे की जगह एक कृषक के बेटे का पक्षधर राजनीतिक दबाव । किन्तु उसकी डायरी में उसकी अंतिम अनुशंसा हेतु हूँ । अपेक्षाकृत अधिक सूक्ष्म कारण मिलता है । टिटो का चरित्र अपेक्षाकृत ज्यादा मजबूत है । केवल एक ही बात से मैं उसके पक्ष में निर्णय नहीं दे पा रहा हूँ । कोई ये कि चौबीस घंटे की उडान के लिए शारीरिक रूप से ज्यादा मजबूत सक्षम कोर्स मिनट की आवश्यकता थी । ये तय करना कठिन है कि उनमें से किसी मरने के लिए भेजा जाएगा और उतना ही कठिन ये तय करना है कि इन दो भद्र पुरुषों में से किसी पूरी दुनिया में शोहरत दिलाई जाए । जाहिर तौर पर काम आने इनको यकीन था कि यूरी सिंगल ऑर्बिट मिशन की उडान है तो सक्षम था जिस पर अब प्रथम मानव चलित अंतरिक्ष उडान के लिए निर्णय लिया गया था । उसने निकट भविष्य में अपेक्षाकृत लंबी अवधि की उडान के लिए टिकटों का नाम आरक्षित कर लिया था । ऐसी परिस्थितियों में संभव किटों को ये तर्क उसके बेहतर अनुशासन के लिए प्रशस्ति स्वरूप महसूस नहीं हुआ होगा । कुछ समय पहले आर सोलह में घातक गलती के बाद मार्शल नेट लिन्ने बैकनूर में जो पहले के ब्लॉक हाउस की अपेक्षा कार्यशीलता की दृष्टि से बेहतर था । पास ही ठंडी जलधारा धीमी गति से रहती थी । शीत ऋतु के दौरान कडाके की सर्दी में इस भवन का उपयुक्त प्रयोग संभव नहीं था । गर्मी में हवा न चलने की स्थिति भी उपयुक्त नहीं किन्तु अप्रैल में जब स्टेपी की हरयाली कुछ हफ्तों के लिए अस्तित्व में रहती है और हवा में पौधों की खुशबू महकती । तब ऐसे समय में ये समर हाउस पार्टी मनाने के लिए बेहतरीन स्थान हुआ करता था । आज वर्ष की उम्र में घर मंटो पुराने समय हाउस की जीर्णशीर्ण दशा पर दुख प्रकट करते हुए कहता है, अब यहाँ पर हवादार है । यहाँ कुछ फिल्म के विकसित थे, जिन्हें काट दिया गया, उन के बदले दूसरे वृक्ष लगाए जाने चाहिए । लेकिन परवाह किसी मैं रूस वासियों को इसमें रुचि ही नहीं है । उनके लिए तो अंतरिक्ष में उतना एक व्यवसाय है । कम से कम निकिता कृष्ण क्योंकि देख रेख में फॅस का विकास हो रहा था । आज के डेमोक्रेट्स के समय में तो सब कुछ पतनशील हैं । ये सारा इतिहास किसके लिए ये मूर्ख नहीं समझते कि उनकी मौत के बाद उनकी यादों को भी मिटा दिया जाएगा । टीला भी नहीं बचेगा, एक समाधि भी नहीं टिटो की नजर में इतिहास की अहमियत है क्योंकि नौ अप्रैल उन्नीस सौ इकसठ को प्रथम मानव चलित वोस्टोक उडान की नियत तिथि से तीन दिन पहले ऐतिहासिक महानता से उसे रहित करने के मौके पर वोट का ताजे संतरे सेव और दूसरे शाही भोजन को एक लंबी टेबल पर परोसा गया था । व्लादिमीर सुबह हो । अधिकृत कैमरा में उसने रंगीन फिल्में इस दृश्य को कैद किया हूँ । इसके एक दिन पहले बैंगलोर के दूसरे भाग में कॅामन इन की विशेष उपस्थिति में स्टेट कमेटी की विशेष बैठक में प्रथम अंतरिक्ष यात्री का चयन किया गया था । इस औपचारिक घटना को भी सुबह रोकने अपने कैमरे में कैद किया । उनके सामने छह प्रमुख अभ्यार्थी खडे थे । उसी समय यूरी गागरिन का नाम ऐतिहासिक कमीशन के लिए घोषित किया गया वस्ता सभी बातों का मंचन किया गया था । समिति के एक दिन पहले ही गोपनीय सत्र में बैठक संबंध हो चुकी थी जिसमें कोई भी कॉस्ट मिनट उपस् थित नहीं था । इसके पश्चात निकोलेई कमाने नहीं यूरी और टिटो को अपने कार्यालय में बुलाया और उन्हें सारी बातें बता दिया । गागरिन को कमांडर और टिकटों को उसका स्थानापन्न होने की बात का रहस्योद्घाटन किया गया था । कोई सफाई नहीं मांगी थी, है कुछ भी नहीं । यूरी अपनी स्वाभाविक मुस्कुराहट को दबाते हुए अपना कर्तव्य अच्छी तरह निभाने का वचन दे रहा है तो कहता है कुछ लोगों से तुम्हें मालूम हो सकता है कि मैंने उसे गले से लगा लिया । ये सब बकवास है । ऐसा कुछ भी नहीं हुआ की तो निर्णय तो लिया जा चुका था । इस बात को मैं समझता था । काम आने नहीं । अपनी डायरी में लिखा है किटों की निराशा बिल्कुल साफ थी । अगली सुबह समर हाउस में समारोह का आयोजन किया गया, जहाँ टटोलने अपने जज्बातों को काबू में रखा हूँ । बेशक मैं नाराज था । केंद्र सबकुछ पूर्वनिर्धारित तरीके से होता रहा । अब वह इस बात से खुश है कि उस दिन कुछ गडबड नहीं हुआ । यदि उससे कुछ गडबड हो जाती है तो क्या हो? तो इसकी वजह ये थी कि उसे पूरा यकीन था कि उसे ही प्रथम अंतरिक्ष यात्री के लिए चुना जाएगा । बेशक प्रथम अंतरिक्ष यात्री के चयन में सर्वोच्च स्तरों की मदद ली गई थी । कृष चौके, विश्वासपात्र सलाहकार, भाषण लेखक कॅण्टकी को पुख्ता जानकारी है कि क्यों टिटो के बदले यूरी के पक्ष में निर्णय लिया गया । यूरी और कुछ जो कई मायनों में है जैसे थे । दोनों का रूसी चरित्र भी एक सही था । टिटोज ज्यादा आत्मकेंद्रित था । वो खुलकर मुस्कुराता भी नहीं था । उसके व्यक्तित्व में आकर्षण नहीं था । ऐसा नहीं है कि अकेले कुछ तो नहीं यूरी का चयन किया । भाग्य भी उसके साथ था । क्रिश्चिन और यूरी दोनों कृषक पुत्र थे जबकि टिटो मध्यम वर्ग से ताल्लुक रखता था । यदि यूरी सर्वोच्च ऊंचाई पर पहुंच सकता तो उसी निम्नवर्ग से खुश्चेव की पदोन्नति भी वैध ठहराई जाती । क्या इस बात में सच्चाई नहीं थी तो अब इस बात को स्वीकार कर सकता है । उसके मुताबिक मैं प्रथम होना चाहता था क्यों नहीं कई वर्ष बीत गए हैं और मैं कहना चाहूंगा कि उनकी पसंद सही थी । ऐसा सरकार के कारण नहीं था । बल्कि यूरी एक ऐसा शख्स था जिसे सभी पसंद करते थे । जब उसकी मौत के बाद मैं उसके माता पिता से मिलने स्मोलेंस्क प्रदेश में गया था, तब मैंने ये बात महसूस की थी । मैं तुम्हें बताता हूँ । यूरी का चयन बिल्कुल सही था । यूरी का एक अकादमिक वृद्ध ट्यूटर सर्जेई बेलोफ सर को बस की मानता है कि एक अन्य कोर्स नॉट ब्लादिमीर प्रथम उडान के लिए चयनित होने वाला था । किंतु उसके परिवार को आधिकारिक तौर पर सजा हो गई थी । बिल्कुल सर कवर्स की । यूरी के अंतिम चयन को सौभाग्यशाली गलती का परिणाम मानता है । वो कहता है, जब मुझे इस बात का पता चला कि यूरी के भाई और बहन को जर्मन सैनिकों द्वारा बंधक बनाया गया था तो मैं हैरान रह गया । सामान्यतः ऐसी घटनाओं को परिवार के नाम पर डब्बा समझा जाता है । ये बात तो संबंधित अधिकारियों की नजर में नहीं आई । क्या उन्होंने इसे नजरअंदाज कर दिया? यदि आप इसे गलती करेंगे तो ये बहुत उपयोगी गलती थी । यदि महत्वपूर्ण और दो में चयन में ऐसी कुछ और गलतियाँ हमसे हो गई होती तो हमारे देश को इतनी सारी समस्याओं का सामना नहीं करना पडता हूँ । नियमों के प्रति अनौपचारिक दृष्टिकोण रखने वाले नेता जैसे की कर ले, सामान्य नैतिकता का ऊंचा स्तर अपनाने वाले सिद्ध होते हैं ।

11. Sair Asman Ki

ग्यारह अप्रैल को सुबह पांच बजे और साथ जिसके अग्रभाग पर वोस्टोक स्थापित था, उसे बोर से पहले की ठंड में लू रखते हुए निकाला गया । तत्पश्चात उसे रेलकार पर रखे हाइड्रॉलिक प्लेटफॉर्म पर छत्तीस रखा है । ऍफ के साथ साथ आगे चलते हुए एक चिंतित पिता की तरह रॉकेट पुत्र के साथ चल रहा था । रेलकार पैदल से भी धीमी गति से चल रही थी ताकि रॉकेट में कंपन्न के कारण कोई क्षति ना पहुंच सके । चार किलोमीटर की दूरी तक रास्ते भर कोरोलेव इनके साथ चलता रहा तो बताता है इस रॉकेट को आप चीज डिजाइनर का छोटा सा बच्चा कह सकते हैं । इसी कारण वह रास्ते पर पैदल यात्री की तरह इसके साथ चलता रहा हूँ । पैड तक जाने वाले ये वाहन काफी धीमे होते हैं । ऐसे मौकों पर गति के साथ समस्या भी जुडी रहती है । वोस्टोक रॉकेट शक्तिशाली होने के साथ साथ नाजुक भी होते हैं । खासकर वह पहले वाले हैं । उस दिन दोपहर के एक बजे कोरोलेव, यूरी और टिटो को अंतिम रिहर्सल के बोर्डिंग रिहर्सल के लिए लंबवत खडे रॉकेट के बराबर से चलते हुए कंट्री के शीर्ष तक ले गया । अचानक गहरी थकान के कारण उसे काफी कमजोरी महसूस होने लगी । गेंट्री से नीचे आते समय वो लॉन्च कॉम्प्लेक्स के बाहर उसके कॉटेज तक उसे सहारे की जरूरत पडी । उस समय यूरी ने पाया कि उसके रोबदार चेहरे के पीछे एक कमजोर व्यक्ति था । इस बीच सत्रह की सीमा पर बने सेना के बैरकों पर जनरल ऍम को को क्रैमलिन के किसी वरिष्ठ वार रसूखदार व्यक्ति के फोन ने पापा फटने से पहले ही जगह दिया । जल्द ही एक शख्स अंतरिक्ष में उडान भरने वाला है । वो अंतरिक्ष यात्री तुम्हारे क्षेत्र में हीं उतरेगा तो मैं उसके सुरक्षित उतरने वह स्वागत का प्रबंध करना है । अपने होशोहवास में तो इसका उत्तर दो स्टोर टैंकों ने आज्ञापालन का वचन दिया । उसने अपने अंचल का नक्शा उठाया तो पूरा दिन वहाँ अपने सैनिकों को तैनात करते हुए बिताया ताकि किसी लडके के आसमान से नीचे उतरने का आजोबा देखा जा सकें । उडान की पूर्व संध्या पर टिटो और यूरी लॉन्चिंग पैड से कुछ किलोमीटर की दूरी पर बने कॉलेज में बैठ गए । निकोलाई कामनी कुछ देर के लिए उससे मिलने गए जैसा कि उसकी डायरी में लिखा है । यूरी कुछ क्षणों के लिए उसे एक ओर ले गया और तनाव पूर्वक धीरे से उसके कान में फुसफुसाए चाहते हैं । मेरी मानसिक स्थिति शायद सही नहीं है ऐसा क्यों? कल सुबह की उडान है और मुझे जरा भी चिंता नहीं हैं । रंचमात्र भी नहीं क्या स्थिति सामान्य ये तो बहुत अच्छी बात है । यूरी मुझे बडी खुशी है । शुभ रात्रि कोरोलेव भी कुछ देर के लिए अपने कॉस्ट मिनट से मिलने आया । उसने कहा मुझे नहीं पता कि किस लिए इतना बखेडा खडा किया जा रहा है । अब से पांच साल बाद अंतरिक्ष में छुट्टियाँ मनाई जा रही हूँ । हर कोई हसने लगा कोरोलेव ने धीरे से अपनी घडी की ओर देखा और गुड नाइट का ये दोनों ऍप्स के लिए सो जाने का संकेत व्लादिमीर या आज दो बस की मेडिकल प्रीप्रेशन के वरिष्ठ डायरेक्टर ने अपने कमरे में डॉक्टरों के लिए एक पार्टी देने की तैयारी में दिन बताया था । उसने गद्दों में तनाव मापक यंत्र छिपा रखे थे ताकि कॉसमॉस की नींद में करवटें बदलने और बेचैनी की स्थिति को जांचा जा सकें । इसके तारों को कॉलेज के बाहर निकालकर बैटरियों के क्लच में लगाया गया था । एक डेटा केवल कुछ सौ मीटर लंबाई की दूरी से होकर एक अन्य भवन तक ले जाया गया था जहां डॉक्टरों द्वारा डायल इत्यादि लगाए जा सकें । बेशक प्रयोग को गोपनीय रखा जाना था लेकिन यूरी और बेटे को उनके कटु अनुभवों से समझ आ गया था कि निश्चित तौर पर डॉक्टरों द्वारा किसी भी समय ऐसा कुछ मनोरंजन किया जाएगा कि होल से कोई भी नहीं जानता है । लेकिन तुम्हें मालूम है कि तुम पर नजर रखी जा रही है । इतिहास में दर्ज है कि दोनों व्यक्ति बहुत अच्छी तरह से सामान्य मानसिकता से कुछ और ये सोचा जा सकता है । यूरी ने अंततः कोरोलेव के सामने स्वीकारा हूँ कि उसे झपकी भी नहीं आई । उसके मन में आगे होने वाली उडान की बात ही हावी रही । वो शांत होते हुए एकाग्र होने की कोशिश कर रहा था ताकि सुबह डॉक्टर से अच्छी तरह आराम किया हुआ घोषित कर सके । नि संदेह उसके अति अनुशासनप्रिय स्थानापन्न भी वहीं युक्ति अपनाई थी । परिणाम शुरू दोनों व्यक्ति सुबह काम तरोताजा लग रहे थे । सोने से पहले यूरी ने काम आने को बताया कि उसे सादा से प्रथम अंतरिक्ष यात्री बनने के लिए टिटो के प्रति उतना ही विश्वास था जितना स्वयं के प्रति उसे मालूम था कि पिछली रात नींद में गडबडी के संकेत मात्र से पासा पलट सकता था । महीनो बाद उसने मजाक में ही कोरोलेव से कहा कि बारह अप्रैल की सुबह उसकी अंतरिक्ष में उडान की एकमात्र वजह थी कि टिटो पिछली रात बिस्तर उलट पलट रहा था । अमेरिकी खुफिया विशेषज्ञों को अच्छी तरह मालूम था कि वो स्टोर के प्रक्षेपण की तैयारियाँ चल रही नहीं । वाशिंगटन का समय बैंगलोर से आठ घंटे पीछे था जब काॅल्स आपने तारीख लगी गद्दों में सो रहे थे । ब्लाॅस्ट टूट पेस्ट पर प्रायोजित एनबीसी के शाम के दूरदर्शन प्रोग्राम में उपस्थित हुए । वो और उसकी पत्नी रिपोर्टरों से अपने बच्चों का लालन पालन करने की कठिनाइयों और प्रेसिडेंट के कुशल प्रबंधन के विषय में बातें कर रहे थे । कैनेडी ने चर्चा के दौरान बताया कि राजनीतिक घटनाक्रम बाहरी दुनिया से उतना जटिल सूक्ष्म नजर नहीं आता जितना ओवल ऑफिस के अंदर से लगता है । टेलीविजन कैमरा के सामने मुस्कुराते और हसी मजाक करते हुए भी उसे मालूम था कि कुछ ही घंटों में एक महत्वपूर्ण पराजय उसका इंतजार कर रही है । बारह अप्रैल को सुबह साढे पांच बजे कोरोलेव वही आज तो बस की नहीं ऍप्स के अंधेरे कमरे में प्रवेश किया है । वे पूरी तरह तरोताजा और खुश थे और बिजली का प्रकाश ऑन कर दिया । ज्यूरी और टिटो गहरी और आराम की नींद से जाग पडे । नींद तो अच्छी आई । डॉक्टरों ने पूछा आपने हमें सिखाया था । यूरी ने सावधानी से उत्तर दिया । करोले अपने रॉकेट की जांच करने के लिए चला गया । टीटो वो यूरी के तैयार हो जाने के बाद वो दिन में उनके साथ नाश्ते और भोजन के लिए रहा हूँ । उस दिन की बातों के काफी सेंसर्ड प्रकाशित विवरण डर रोड स्टार्स में कोरोलेव की थकान स्पष्ट है । चीफ डिसाइन अंदर आया ये पहला मौका था जब मैंने उसे इतना परेशान मत थका हुआ देखा । जाहिर था कि वह रात भर सोया नहीं था । मैं अपने पिता की तरह उसके गले लगना चाहता था । आगामी उडान के लिए उस ने हमें कुछ उपयोगी सलाह दी और मुझे ऐसा लगा कि हम कॉस्ट मिनट से बातें कर के वो थोडा खुश नजर आ रहा था । ऍप्स की अंतिम जांच करने के लिए एक अन्य भवन से डॉक्टर थे । टीटो और गागरिन धैर्यपूर्वक अर्द्धनग्नावस्था में वहाँ खडे हुए हैं । उनके घर पर पेड चिपकाए जा रहे थे । स्टार सिटि के डायरेक्टर येवजेनी कारपोव ने दोनों को चीयर अप करने के लिए भूलों के गुलदस्ते भेंट किए हैं । वस्तुतः वो उनको दोस्तों को क्लॉडिया अकी मुन्ना नामक एक वृद्ध महिला की ओर से उन्हें भेंट कर रहा था । वो वहीं कॉलेज में रहती थी । ज्यूरी की तरह उसका एक बेटा पायलट था तो युद्ध में मारा गया था । नाश्ते के बाद जब डॉक्टरों ने पैड और ब्लू का काम पूरा कर लिया था तो फॅस को प्रमुख अंतरिक्ष यान भवन की तरफ ले जाया गया । वो स्टॉक के निर्माण का विशाल पर खाली था । रॉकेट और कैप्सूल को पहले ही बाहर लाकर पैड पर रखा जा चुका था । अब तक टिटो और यूरी के साथ समान व्यवहार किया गया । अब शूटिंग रूम में स्वच्छ दूधिया प्रकाश ने उन्हें पोशाक सजा कराई जा रही थी । टिटो को सर्वप्रथम पैड युक्त अंडरगारमेंट है । उसने अपना प्रेशर सूट भी पहले पहना हूँ । नारंगी रंग की चमकदार भारी पर भी उसमें ही पहले धारण की उसके पूरी तरह पोशाक पहनकर तैयार होने तक जूरी तैयार नहीं था । टिक टोक जानता था कि इसमें खुशी से उत्तेजित होने जैसी कोई बात नहीं ऍम । उन्होंने पहले उसे और बाद में यूरी को इसलिए तैयार किया था ताकि प्रथम को स्कूल नाटको वहाँ और लॉन्च पैड के बीच अपनी पोशाक में गर्मी सहन करते हुए कम समय बिताना पडता । अचानक कुछ हो जाने की स्थिति में टिटो को तैयार रहना था । टिटोज अपनी पोशाक में यूरी की तुलना में कुछ ज्यादा गर्मी महसूस कर रहा था लेकिन वो उतना ही तैयार था जितना यूरी । अब उसे मालूम हो गया था कि पहले तैयार होने का मतलब निश्चित तौर पर दूसरा रहना था । यूरी को स्वयं के सदमे से निपटना पड रहा था । इस उडान के अपने आधिकारिक वर्णन रोड फॅसने लिखा है । मुझे अंतरिक्ष को साथ रहने में मदद करने वाले लोगों के हाथों में कागज के टुकडे थे । एक ने तो अपने वर्ग पास कोई आगे बढाकर ऑटोग्राफ देने के लिए कहा । मैं इनकार नहीं कर सका और कई बार हस्ताक्षर किए । येवजेनी कार पर हो अंतिम क्षण तक जूरी को देखता रहा हूँ । उसने इन सभी ऑटोग्राफ्स के विषय में उस कॉस्ट नॉट यानी यूरी की चिंता को पडा । उसके बैंगलोर पहुंचने से लगभग अब तक पहली बार वो मंद और लोगों को हमेशा की तरह त्वरित उत्तर देने में अक्षम था । उसने पूछा, क्या ये सच मुच जरूरी है? मैंने कहा यूरी तुम इसके आदी हो जाएगी । अपनी सूडान के बाद इस तरह के करोडों हस्ताक्षर तुम कर रहे होंगे । इससे पहले कई महीनों की तकनीकी और शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान यूरी के पास इस बात को सोचने का समय ही नहीं था कि आज के मिशन से धरती पर वापस आने के बाद क्या हो सकता था । अब जब काफी देर हो चुकी थी, उसे उस बडी सामाजिक जिम्मेदारी की झलक मिल चुकी थी जो उसके कंधों पर रखी गई थी । बीसवीं शताब्दी की सर्वाधिक विशिष्ट पोशाक से सुसज्जित होकर यूरी और तो बस में अपनी सीटों पर आकर बैठते हैं । उनकी अंतरिक्ष पोशाक वाॅल एक जैसे नहीं । आज उन में से कोई एक उडान पर जा सकता था । किन्तु किस्मत का कुछ ऐसा खेल था की ये इतिहास ज्यूरी द्वारा ही रचा जाना था । जब बस लॉन्च गेंट्री के नजदीक पहुंची तो टिक टोक नहीं उसे शुभकामनाएं दीं । कैमरामेन व्लादिमीर सुबह रोकने इस दृश्य को अपनी डायरी में दर्ज किया है । हमारी पुरानी रूसी प्रथा के मुताबिक ऐसे अवसरों पर विधा लेने वाले व्यक्ति को तीन बार उसके गालों पर चुना जाता है किन्तु भारी भरकम पोशाक को हेलमेट पहने हुए ऐसा किया जाना बिलकुल नामुमकिन है । इसलिए उन्होंने अपना हेलमेट एक दूसरे से टकराया क्योंकि बडा मजेदार लगा । तत्पश्चात यूरी बस से उतरा और चीज डिजाइनर की तरफ बढ गया है । जाहिर तौर पर उसको शाक में उसका चल पाना सहज नहीं था तो बस में अपनी सीट पर ही बैठे हुए खिडकी से कंक्रीट से बना कंट्रोल बनकर बिहार रहा था जिसे साही है । जहाँ कहा जाता था ये छत पर विशाल नुकीली कांटों की संरचनाएं । इसके पीछे सिद्धांत ये था कि यदि कोई मिस फाइरिंग रॉकेट इस बंकर के ऊपर आगे तो इसकी नुकीली संरचना यानी है । जॉब से टकराकर टुकडे टुकडे हो जाता हूँ तो उस दिन के विचारों को अपने संस्मरण में लिखा है । हमने लंबे अरसे तक साथ साथ प्रशिक्षण लिया था तो हम दोनों लडाकू विमान के पायलट थे इसलिए हम एक दूसरे को समझते थे । वो उडान का नेतृत्व कर रहा था और जरूरत पडने पर मैं उसका बैठा था । लेकिन हम दोनों जानते थे कि ऐसी जरूरत नहीं पडेगी । इस अंतिम चरण में बडा क्या हो सकता था? बस और लाॅटरी के बीच से जुकाम तो नहीं हो जाता है उसकी तांत नहीं टूट जाती हैं । ये सब निरर्थक बात थी । हमें साथ साथ लांचपैड तक जाना ही नहीं था । हम में से कोई एक ही चला गया होता हूँ । फिर भी टिटो इस बात को स्वीकारता है की एक पूरी न होने वाली काम ना उसके दिमाग में घूम रही थी । शायद कुछ होगा तो नहीं है फिर भी यदि नहीं अब कुछ भी नहीं हो सकता हूँ । लेकिन अगर मेडिकल प्रीप्रेशन के डायरेक्टर व्लादिमीर ऍम अस की को टिकटों के बस में रहने के दौरान का स्पंदन शील तनाव याद है । बेशक उसे उम्मीद थी कि जब ऍम के नजदीक पहुंचेगा तब उसके एक्सप्रेशन तरिक्ष पोशाक पर एक छोटा काट भाग नजर आएगा और देखते ही देखते नंबर दो उडान की कमान संभालेगा । किन्तु यूरी बडी सावधानी से लॉस टावर लिफ्ट कॉलेज में प्रवेश करके कैप्सूल में चढा हूँ और कैबिन में बैठ गया । जब उसने मुझे रिपोर्ट किया कि वह अपनी जगह सुरक्षित तरीके से पट्टा बंद कर बैठ गया तो मैंने टिकटों को अपने अंतरिक्ष पोशाक उतारने के लिए कहा हूँ । उसने बेतुके ढंग से परेशान सा जवाब दिया लेकिन उसके बाद वो शांत हो गया । उसमें कोई और भाव प्रकट ही नहीं हुआ । गेंट्री बेस के आसपास यूरिको पहली अंतरिक्ष यात्रा की बधाई देने के लिए फॅमिली अन्य नामी गिरामी हस्तियां मौजूद थीं । कोरोलेव ने कहा अच्छा तो अब जाने का समय हो गया है । बॉल के अंदर कैसा महसूस होता है ये जाने के लिए मैं पहले ही वहाँ जा चुका हूँ । उसने अपनी जेब से एक छोटी षटकोणाकार कि धातु निकली जोकि सन में एक साधारण, स्वचालित यूनिक प्रोप में चंद्रमा में भेजी गई स्मृति पटल की अनुकृति थे । इसके निर्धारित कॅालिंग के कारण ऐसे दर्जनों स्मृति पटल सभी और बिखर गए थे । यूरी ऍम एक दिन तुम शायद ऐसा असली स्मृति पटल हो गया । निकोलई कम ने अपनी डायरी में लिखा है । यूरी के बस से उतरकर चले जाने के बाद सभी ने अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति की और एक दूसरे को गले मिलने वह चूमने लगे । उसे शुभयात्रा की कामनाएं करने की जगह कुछ लोगों की आंखों से आंसू टपक रहे थे मानो हमेशा के लिए विदा ले रहा हूँ । हमें जोर लगाकर ऍम नॉट को उनकी बाहों से अलग करना पडा । तब पश्चात कोरोलेव ने बंकर की ओर कदम बढा है और है । जॉब के नीचे अदृश्य हो गया यूरी ऊपर चलता रहा और टिटो नीचे रुक आ रहा है । जब यूरी पैड के शीर्षस्थ पर चढकर लिफ्ट में चला गया और वो स्टॉक ईरिन के ऊपर अपने पैरों को उठाया तो तकनीशियन होने उसके कंधों को सहारा देकर उसे इंजेक्शन सीट पर पहुंचाया । उसके सीट पर आ जाने के बाद बोलेगा लेवांडोवस्की और चीफ टेस्ट पायलट माँ गलाई ने कैबिन के अंदर झुककर उसके पट्टों के खुले छोटों को सीट से कसकर बांध दिया । इसके बाद उन्होंने उसकी पोशाक के पाइपों को वो स्टॉक के लाइफ सपोर्ट सिस्टम में जोड दिया ।

12. Life Support

अब यूरी अपने यान या यूं कहें आपने इंजेक्शन सिस्टम का अखंड हिस्सा बन चुका हूँ । काउच के सिलेंड्रिकल निचले भाग में एक छोटी सी अलग ऑक्सीजन आपूर्ति भी शामिल थे ताकि अभी कक्ष में बॉल में रिसाव हो या पृथ्वी, वह अंतरिक्ष के बीच कहीं अधिक यूरिको कूद कर बाहर यानी लगभग दस या पंद्रह किलोमीटर की ऊंचाई पर जहाँ हवा की उपस्थिति तो है किंतु इतनी ठंड या विरल है कि सांस लेना ही मुश्किल हो । वहाँ अगर बाहर आना हो तो इसका प्रयोग किया जा सकता हूँ । पाइपों की सही जगह पर लगा दिए जाने के बाद नीचे ब्लॉक हाउस में कोरोलेव और उसके तकनीशियनों ने देखा की लाइफ सपोर्ट मॉनिटर सकारात्मक संकेत दे रहे थे । जूरी की वायु आपूर्ति सही काम कर रही थी और उसकी पोशाक में रिसाव के दिन नजर नहीं आ रहे थे । लाॅटरी के नीचे बस में दुखी बैठी थी तो दिन का आखिरी संदेश मिला जिससे वो इस मिशन से हमेशा के लिए अलग हो गया । बस से पचास मीटर ऊपर लेवांडोवस्की यूरी के हेलमेट को अंतिम विदा के लिए खत्म पा रहा था तो एक अंतिम बात उसे अभी भी खटक रही, वो थी कीपैड । उसे लग रहा था कि यूरिको उसके अपने यहाँ पर उसके स्वयं के नियंत्रण के बगैर अंतरिक्ष में भेजना ठीक नहीं है । मनोवैज्ञानिक चाहे कुछ भी कहें किन्तु वह अब भी उचित प्रशिक्षण प्राप्त सेना का पायलट तो है ही । निश्चित तौर पर यूरी के प्रशिक्षण का प्रमुख उद्देश्य इस खतरनाक यान की भयंकर गति के दौरान आने वाली किसी आपातकालीन स्थिति में उसे बाहर निकालना ही था । इवानो उसकी कोई यूरी के पक्ष में व्यवस्था से नाराजगी हो रही है । डॉक्टर ये तय नहीं कर सकते कि दबाव में उसकी विवेकशीलता या स्वस्थ चित्ता समाप्त हो सकती है क्योंकि उन्हें उडान के संबंध में जरा भी जानकारी नहीं । यदि वो स्टॉक की स्वचालित प्रणाली में कोई गडबडी हुई तो निश्चय ही यूरी आपने बटनों का प्रयोग करके अपने तरीके से समस्या को हल कर लेंगे । बिल्कुल उसी तरह जैसे डॉक्टरों की समिति से अनुमति लिए बिना विपरीत परिस्थितियों में उससे मिग को बचा ले जाने की उम्मीद की जाती थी । वो स्टॉक एक विचित्र उपकरण किन्तु था तो एक उडने वाला यंत्र ही विमान की तरह ये भी उडान भरने के समय उडान के दौरान या लैंडिंग के समय विस्फोट का शिकार हो सकता है । इन सभी खतरे की स्थितियों को व्यक्त करने के लिए युवान दस की द्वारा और प्रसन्नता शब्द का प्रयोग किया । उसका कहना है कि हर तरह के उडान यंत्र से सरोकार रखने में अप्रसन्नता की संभावना हमेशा बरकरार रहे थे । वो किसी कॉस्ट मिनट के जीवन के आधारभूत जोखिम का सार कुछ इस तरह व्यक्त करता है उसके कार्य उसकी विशेष दक्षता की जरूरत उसकी मौत हो सकती है । इवानोव उसकी इन सभी आशंकाओं के प्रति चिंतित था । यद्यपि वो मानता है कि अंतरिक्ष समुदाय से जुडे किसी भी व्यक्ति ने इन मुद्दों पर खुलकर अपनी राय नहीं, कम से कम ॅ तो बिल्कुल ही नहीं । उस दिन लॉन्च कंट्री पर अपने निर्णय वो अपने अंतःकरण से विद्रोह के विषय में वो ये कहता है मैं कैसे जानो की मैंने सब क्यों क्या क्षण भर के लिए मैं अनुशासनहीन हो गया होगा । आखिरी बार वो स्टॉक के अंदर अपना सिर डालकर उसने यूरिको फेस प्लेट हटाने का संकेत क्या ताकि वे बिना रेडियो लिंक की बात कर सकते हैं । तार पर होने वाली बातचीत नहीं जी नहीं होती है । ये बात तो निश्चित रूप से निजी ही युवान उसकी एक बडा रहस्य बताने वाला था । वो था छह संख्याओं के कीपैड से तीन संख्याएं जिसे पाँच करने की जरूरत अंतरिक्ष यान के मैनुअल कंट्रोल को खोलने से पहले यूरिको पडती मैंने कहा यूरी वो संख्या है तीन, दो, पांच और मुस्कुराते हुए उस ने कहा है सामान इन ने पहले ही मुझे बता दिया । ऐसा कट्टर स्टालिनवादी भी अंतिम क्षणों में मानवता से द्रवीभूत हो गया था । बाद में मालूम हुआ कि गलाई और कोरोलेव ने भी ऐसा किया था । खैर बिग सीक्रेट की बात ही खत्म हो गई । ये जानना बडा सुखद रहा होगा की चीज डिजाइनर समेत तीन अन्य लोगों ने नियम का उल्लंघन किया था । सैद्धांतिक रूप से युवान हवस की आधिकारिक स्टेट सीक्रेट को ठेंगा दिखा रहा है । जिस अपराध के लिए उसे पॅन भेजा जा सकता, अंतिम बार यूरी के दस्ताने बन हाथ को दबाकर सिवाना उसकी को कुछ ज्यादा खुशी महसूस नहीं । उसने और गल नहीं नहीं रॉकेट ग्रुप के सैन्य प्रमुख व्लादिमीर शेरपो वालों व अन्य दो कनिष्ठ पैड कर्मियों की मदद से कैप्सूल को बंद करने की कोशिश की । सबसे पहले उन्होंने ऍम पर विद्युतीय संपर्क जांच कर ये सुनिश्चित करने का प्रयास किया की उन्होंने स्पष्ट संकेत दर्ज किया था जो ही है अपने आप बंद हो जाती तो संपर्क पुष्ट हो जाता हूँ की सब कुछ बिल्कुल ठीक था उन्हें अटैचमेंट रिंग में लगे छोटे छोटे बारूदी चार्ज को भी प्रयोग है तो तैयार करना था ताकि प्रक्षेपण और सफल होने की स्थिति में इंजेक्शन के लिए यूरी उसे प्रयोग कर सके । संपर्कों से सही संकेत मिलते लग रहे थे इसलिए उन्होंने हैच को संभाल कर उसको अपनी मुद्रा में रखती और तीस स्कूल बोल तो में से एक को इसके वलय में लगाना शुरू करते हैं । जो भी उन्होंने अंतिम बोर्ड लगाया, गेंट्री का टेलीफोन बज उठा । लेवांडोवस्की उसे याद करते हुए कहता है, हम ने सोचा कि ये ब्लॉक हाउसिंग कोरोलेव का फोन होगा । वो हमें लॉन्च प्लेटफॉर्म से उतरने के लिए कहना चाहता है । वो कोरोलेव था लेकिन वो खुश बिल्कुल नहीं लग रहा था । उसने कहा, वहाँ ऊपर जो चल रहा है उसके बारे में रिपोर्ट क्यों नहीं कर रहे हैं? हैच को ठीक ठाक सी तो कर दिया ना इवानो । उसकी ने उसे बताया कि अभी कुछ सेकंड पहले ही उसने ये कर दिया था । हमारे पास के पी थ्री नहीं कोरोलेव करता हूँ । के पी थ्री अटैचमेंट रिंग पर हुए संपर्क से प्राप्त आवश्यक विद्युतीय संकेत है । क्या तुम मैच को हटाकर उसे फिर से सील कर सकते हैं? इवानो उसकी नहीं चेतावनी दी कि हैच को फिर से लगाने से उसके बाद लॉन्च में तीस मिनट का विलंब हो सकता है । पितृ तो है ही नहीं । कोरोलेव ने आज तक मैंने करो जैसे कहा क्या मैं यूरिको बता सकता हूँ? वो परेशान हो उठेगा और सोचेगा कि उडान के रद्द हो जाने के कारण मैच खोला जा रहा है । हम उसे कैप्सूल से बाहर निकालने वाले । इस पर कोरोलेव ने कहा, चिंता मत करो, शांति से अपना काम करते रहो । हम यूरिको बता देंगे लेकिन जवानों उसकी उत्तेजित हो रहा है । शांति से हम जिस स्थिति में थे आप उसकी कल्पना कर सकते हैं । इन तीस छोटे छोटे स्कूलों ने छह हाथ व्यस्त कर रखे हैं और हमें उन्हें फिर से एक स्पेशल चाबी से खोलना था । कॅाल का वजन लगभग सौ किलोग्राम था और ये एक मीटर चौडा आकार में भारी था । ये शर्मनाक घटना कतई नहीं थी लेकिन परेशान करने वाली तो थी परेशानी वक्त अकाउंट इवानो उसकी और उसके साथियों ने पोस्ट कि प्रक्षेपण पूर्ण जांच में ग्यारह अप्रैल को लॉन्च पैड पर रॉकेट आने के बाद से अनवरत कार्य किया था । उन्होंने लाइफ सपोर्ट सिस्टम, ऍम सिस्टम, नेविगेशन जायरो, विद्युतीय ऊर्जा के भयंकर समन्वयकों एवं विस्फोटक रसायनों को जो कि किसी भी क्षण गलत तरीके से समन्वित होकर विस्फोट में यूरी को टुकडे टुकडे कर देते हैं और सम्भवता रॉकेट को पैड पर ही लडका देते । साथ ही लगभग आधे बैंगलोर में मौत और विनाश था जाता था । उन्होंने बार बार जांच की थी और अब हैच पर कुछ कुछ साधारण बटनों के फेल होने से । लॉन्च के पहले क्षणों तक सब कुछ बर्बाद होने की स्थिति में आ गया जब उन्होंने हैच खींचा युवावस् की के कैबिन के अंदर देखने की हिम्मत नहीं यूरी क्या सोच रहा होगा बस पता उस समय उसका चेहरा देख पाना संभव नहीं । केवल उसके सफेद रंग के हेलमेट का ऊपरी भाग ही देखा जा सकता है । अंतरिक्ष पोशाक की बाकी बाकी फैब्रिक पर एक छोटे से दर्पण को टाका गया था जिससे कॅश हैच या दूसरी ओर ऊपरी कैबिन की तरफ देख सकता था जो कि सामान्यता भारी हेलमेट केरिम के कारण नजर से अवरुद्ध हो जाती है । उसने अपनी बहन को चुकाया ताकि दर्पण में मैं उसके चेहरे की झलक देख सकूँ तो मुस्कुरा रहा था और सब कुछ ठीक था । यूरी अपने आप में सीटी बजा रहा था और उसके सहकर्मी हैच को फिर से लगाने में जुटे हूँ । फिर से उनतीस बोलतों को लगाया गया । तभी कोरोलेव की आवाज फोन पर सुनाई दी । के पी थ्री ठीक है सिवाना उसकी ये दोषारोपण स्वीकार नहीं करना चाहता हूँ । लेकिन जहाँ तक उसे याद आता है तो से शुरू से ही बिल्कुल ठीक नजर आ रहा हूँ । उसे लगने लगा कि ब्लॉक हाउस में किसी ने आंकडे पडने में गलती कर दी हूँ । अब चालीस मिनट की दूरी शीर्ष रहेगी । ब्लॉक हाउस के लोगों ने बिल्कुल समय पर कंट्रीज और रॉकेट के चारों ओर चलने के स्थान से थोडा पीछे हटने का संकेत क्या प्लेटफॉर्म जिसपर लेवांडोवस्की और उसके चार साथी खडे हुए थे वो वो स्टॉक से दूर हटना किसी भी क्षण ये घूमकर नीचे जाते हैं । एक नाटकीय मोड उस समय आया जब उन्हें गेंट्री टेलीफोन का प्रयोग कर पीछे हटने में कुछ विलंब करने है तो अनुरोध करना पडा उन्होंने जल्दी से वो स्टॉक की बॉल को सौभाग्य सूचक के तौर पर तब तब आएगा और तेजी से कंट्री के नीचे तक उनके पैर जमीन पर अभी पडने को ही थे कि हाइड्रॉलिक मोटर प्लेटफॉर्म को दूर करने के लिए पूरा शुरू होगी । इवानोव उसकी सबसे निकट के कंट्रोल बनकर की तरफ बढ गया जबकि कैमरामेन व्लादिमीर सुबह रोकने, खुले में ही रुके रहने का विकल्प क्योंकि वो अपने जीवन की सबसे अहम फोटोग्राफी का अवसर हाथ से जाने नहीं देना चाहता था । वो और उसके सहायकों ने कई काॅस्मेटिक दोनों पेडों के चारों ओर लगा ली है, जिसके चलते उन्हें सैनिकों द्वारा धक्के भी खाने पडेंगे । सैनिकों को कठोर आदेश दिया गया था कि प्रक्षेपण से पहले सारा क्षेत्र खाली करा लिया जाए, किसी फिल्म बनाने वाली टीम को अनुमति नहीं । अंततः येनकेन प्रकारेण सुवरो में उन ऐतिहासिक शाम को अपने कैमरे में कैद कर लिया । कर्मचारियों की बस स्टैंड से वापस हट गई और किटों को एक अवलोकनार्थ निर्मित बंकर में ले जाया गया ताकि वो अपनी पोशाक उतार सकें । गाई सेवेर इनके टेक्नीशिन उसके पास परजीवी पक्षियों की तरह पहुंचकर उसके दस्ताने खुलने, उस की वायु नलिकाएं इत्यादि निकालने लगे हैं । तभी वे बनकर के बाहर की ओर भाग खडे हुए । प्रक्षेपण शुरू हो गया, जिससे भी बाहर जाकर देखना चाहते हैं तो बडे दुख के साथ उस घटना को याद करते हुए बताता है । मेरे बारे में तो उन्हें ख्याल ही नहीं रहा । मैं बिलकुल अकेला पड गया, वो भी धीरे धीरे सब के पीछे । निकास की ओर पर सीढी चढकर बंकर की छत पर अवलोकन प्लेटफॉर्म पर आ गया । अगले ही क्षण टिटोज ने जो देखा और महसूस किया वो सब कुछ आज भी उसे स्पष्ट कंबशन चैंबर में ईंधन सप्लाई करने वाले फ्यूल पंप के चलने की तेज आवाज इस तरह सुनाई दे रही थी मानो कुछ सीटी बजा रहा था । इंजन स्टार्ट किये जाने पर हर तरह की आवाजें तेज और धीमी लगातार सुनाई पडती थी । उसे मालूम था कि आर सेवन आग की लपटों की खाई के ऊपर लटकी हुई जेंट्री की चार बहनों के आधार पर टिकी हुई थी । इंजन कुछ सेकंडों के लिए अपनी गति से चल रहे हैं । मैंने देखा कि इंजन को इग्नाइट करने पर रॉकेट के आधार से आग निकलने नहीं और आसपास चारों विस्फोट के कारण हवा में कंकड पत्थर उड रहे थे । उसने देखा कि रॉकेट के चारों ओर होल्ड डाउन क्लम जिसकी पकट से रॉकेट स्थिर खडा रहता है दूर हटना । इसके कुछ समय बाद इतने तेज धमाके की आवाज हुई जिसे कान से सुनना नामुमकिन नहीं है । इस सवाल से आपके अस्थि पंजर हिल जाए । आपकी सांस बाहर ही अटके रह जाएगा । अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि ठोस कंक्रीट से निर्मित बंकर भी इसकी आवाज से हिल गया । रॉकेट के एक्जॉस्ट से निकलने वाला प्रकाश अत्यधिक चमकीला होता है । मैंने रॉकेट को ऊपर उठते धीरे धीरे इसे एक ओर से दूसरी ओर बोलते थे । इससे मुझे मालूम हो गया कि सेकेंडरी स्टियरिंग नौं अपना काम सही ढंग से कर रहे हैं । रॉकेट प्रक्षेपण का वर्णन करना ठीक नहीं क्योंकि हर एक कुछ कुछ अलग सा होता है और मैंने तो ऐसे कई देखो । रॉकेट प्रक्षेपण को शब्दों में वर्णित करना निराशाजनक कम है । आपको इसे देखना ही पडेगा । हर बार ये पहली बार जैसा ही लगता है । टिटोज ने अग्नि को तेजी से ऊपर उठकर एक चिंगारी में बदलते हुए देखा था । ये धुएँ की लकीर में तक हो जाएगा । अचानक वहाँ छाई हुई चुकी इससे पूर्व हुए विस्फोट से ज्यादा हिला देने वाली लगी नहीं । इसके बाद वहाँ उपस्थित सभी लोग जो उस की ओर पीठ करके खडे थे, उस की ओर । इसके बाद नीचे बंकर में यूरी रेडियो लिंक से संपर्क बनाए हुए अंतरिक्ष से रिपोर्ट कर रहा था । यूरी की आवाज बडी विचित्र लग रही थी । अभी आधे घंटे पहले ही हम यहाँ साथ साथ बैठे थे और अब ऊपर ऊंचाइयों में कहीं था । कुछ समझ में नहीं आ रहा था । मेरे लिए तो मानो समय का आयाम हो गया था । मुझे ऐसा ही कुछ था । टिटो को जमीन पर भुला दिया गया । वहीं ऊपर यूरी प्रथम अंतरिक्ष यात्री मानवता के अस्तित्व वान रहने की सीमा तक अमर हो गया । आज सफेद दाढीधारी टिटो जो पेशे से व्यवसायी वार राजनीतिज्ञ है, कभी कबार बैकोनूर के समर हाउस चाहता है जहाँ उससे वो दिन छीन लिया गया था । टिटोज से भी ज्यादा निराश काॅपी कोई था तो वो शायद ग्रेगरी ऍम जो तकरीबन यूरी की उम्र का ही था । बीस लोगों के पहले समूह का कोर्स मिनट बनने से पहले उसने ब्लैक सी प्लीट के कार्यभार पर उन्नत मिग उनतीस लडाकू विमान उडाया था । उस मेधावी और बुद्धिमान व्यक्ति की एकमात्र सबसे बडी गलती यही थी कि हर समय वो आकर्षण का केंद्र बना रहना चाहता था । हालांकि कई क्षेत्रों में उसे प्रथम अंतरिक्ष यात्री बनने के लिए बहुत ज्यादा समर्थन मिल रहा था । टिटो के बाद तीसरा स्थान हासिल करने पर उसे बहुत निराशा हुई थी । ऍफ का अंतरिक्ष करियर ज्यादा समय नहीं रहा । वस्तुतः वो कभी अंतरिक्ष में गया ही नहीं । चार मई हो निकलो ही कमान इनने उसे शराब के नशे में रेलवे प्लेटफॉर्म पर एक सैनिक से झगडा करने के कारण अंतरिक्ष यात्री दल से बर्खास्त कर दिया । उस गश्ती सैनिक ने उसके बदतमीजी पूर्ण रवैये के कारण उसे गिरफ्तार कर लिया जिस पर उसने झल्लाकर कहा, आप ऐसा नहीं कर सकते हैं । मैं ॅ सैनिक अधिकारी माफी मांगने की शर्त पर उसे रिहा करने को तैयार हो गए लेकिन उसने माफी मांगने से इंकार कर दिया । दो अन्य अंतरिक्ष यात्री ऍम इस ड्रामे के मूक दर्शक थे लेकिन काम ने उन्हें भी हटा दिया । फॅमिली छुडाने के लिए सुदूर एयर स्टेशन पर चला गया जहां स्क्वाड्रन में उसने अपने साथ ही पायलटों को ये समझाने की पुरजोर कोशिश की कि वो कभी कॉस्ट मिनट रह चुका था और महान यूरी गैगरीन के बैकअप के तौर पर अपनी सेवाएं दी थी लेकिन किसी ने उसका यकीन नहीं किया । अठारह फरवरी उन्नीस सौ बासठ गहरे अवसाद की स्थिति में उसने चलती ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या करेंगे ।

13. Prakshepan

प्रक्षेपण के एक घंटे पहले कुरुली रेडियो लिंक पर आए यूरी ऍम तो मेरी आवाज तो सुनाई दे रही है । मैं तो मैं कुछ जरूरी बात बताना चाहता हूँ । आपकी आवाज तेज और साफ सुनाई दे रही है । मैं तो मैं याद दिलाना चाहता हूँ कि एक मिनट की तैयारी का ऐलान होने के बाद तुम्हारे पास उडान से पहले लगभग छह मिनट का समय होगा इसलिए चिंता मत करना । मैं आपकी बात समझ रहा हूँ । मैं बिल्कुल चिंतित नहीं हूँ । हर तरह की बात के लिए छह मिनट का समय होगा । उसका मतलब था एक छोटी सी उपकरणीय खामी निकल आई जिसके कारण प्रक्षेपण क्रम में छह मिनट की देरी होनी थी । फिर ॅ लाइन पर आया । अरे बताओ दूसरा मैं कौन बोल रहा हूँ? तुम फॅमिली हो होना हूँ । यूरी क्या तो मंदिर उग रहे हो । यदि कुछ संगीत की व्यवस्था होती तो मैं इसे बेहतर झेल सकता हूँ । कोरोलेव ने व्यक्तिगत तौर पर आपने टेक्निशियनों को किसी टेप या रिकॉर्ड की तुरंत व्यवस्था करने के लिए कहा । क्या उन्होंने अभी तक तुम्हारे लिए किसी संगीत की व्यवस्था नहीं की है? उसने कुछ मिनटों बाद पूछा, अब तक तो ऐसा कुछ भी नहीं । अब उन्होंने व्यवस्था कर दी है । उन्होंने प्यार का एक जीत रखा है । मेरे ख्याल से अच्छी पसंद है आठ बजकर इकतालीस मिनट पर यूरी दूर वालों को बंद होने की आवाज से सिर्फ ईंधन लाइनों के खिंच कर अलग किए जाने से रॉकेट खेलने लगा । यूरी हम बंकर कंट्रोल करने के लिए नीचे जा रहे हैं । पांच मिनट का ठहराव होगा । इसके बाद मैं तुमसे फिरसे बात करूंगा । आठ बजकर इक्यावन मिनट पर संगीत रुक गया रेडियो लिंक पर कोरोलेव की गहरी वह कठोर आवाज उभरती पूरी गंभीरता की स्थिति यूरी पंद्रह मिनट का दायरा । ये यूरी के लिए उसके दस्ताने बांध रहे और हेलमेट का अग्रभाग नीचे लेकर आने का संकेत । उठने से पहले के इन अंतिम मिनटों में नासा शैली से उल्टी गिनती । पांच चार तीन दो का प्रयोग पब्लिक एड्रेस सिस्टम पर नहीं अपना वस्तुतः पब्लिक एड्रेस सिस्टम था ही नहीं । रॉकेट को सुबह नौ बजकर छह मिनट मॉस्को टाइम के निर्धारित समय पर छोडा जाए वो टॉप के मार्गदर्शन विशेषज्ञ यूरी माधुरी इनका कहना है अमेरिका वाले उल्टी गिनती का प्रयोग अपने टेलीविजन में ड्रामा जोडने के लिए करते हैं । जमीन पर यूरी के अंतिम क्षण लगभग एंटी क्लाइमेटिक थे । लॉन्च की टू पोजिशन एयरपोर्ट जिंग आॅन इग्नीशिन अब हर तरह के कंपन्न भारी सनसनाहट वक्त गडगडाहट में कमी किसी समय बिंदुओं पर यूरिको उडान शुरू करने का आभास लेकिन बिल्कुल सही समय की पहचान थी गेंट्री की हो लाॅस का रॉकेट के पास से सेकंड के सौवें भाग की गति से एक दूसरे से हट के यूरी अपनी सीट पर हो कर लेता हुआ था और उसकी पेशियां तनावयुक्त किसी भी क्षण बूस्टर में कोई खराबी आ सकती है । उसके सिर के ऊपर का मैच उखडकर दूर जाकर गिर सकता हूँ और उसके इंजेक्शन चार्ज आसमान की तरफ उसे कारतूस की तरफ उछाल सकते हैं । जीवन रक्षक के झटके से उसकी मौत हो सकती थी । इन सब के लिए उसे तैयार रहेगा । जी लोड चल रहा है । अब तक इमरजेंसी इंजेक्शन नहीं उसे ये सब बाद में याद नहीं लेकिन कहा जाता है कि उसने जोर से कोई खाली यानी छोडो की आवाज लगाई थी । लिफ्ट ऑफ के प्रति उसका जोश करोड स्टाॅप आधिकारिक तौर पर स्वीकृत तथ्यों से जान पडता है । मैंने सीटी बजने की आवाज सुनने के साथ निरंतर बढता हुआ खोला । साथ ही संपूर्ण विशालकाय रॉकेट के कंपनी को महसूस बिल्कुल धीरे धीरे लॉन्चिंग पैड से हटकर ऊपर उठा ना इसका शोर । हालांकि जेट प्लेन के बराबर ही था लेकिन इसमें संगीत की ऐसी नहीं थी जिसे कोई भी संगीतकार तैयार नहीं कर सकते हैं । वजह से कोई भी संगीत वाद्ययंत्र या मानव पैदा नहीं कर सकता । ऍम मैंने तो मैं पढ लिया । सेवेंटी मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा है । उडान जारी है जी लोड बढ रहा है । सब कुछ ठीक है । टी प्लाॅट तो मैं कैसा लग रहा है । मुझे अच्छा लग रहा है आप कैसे हैं? उडान के दो मिनटों में यूरी को अपने रेडियो माइक्रो फोन पर बात करने में कुछ कठिनाई लग रही थी । जीफोर्स का खिंचाव उसके चेहरे की पेशियों पर पड रहा था । लेकिन यकीन ये इतना कठिन नहीं । मिगके मोड लेने में जितना दबाव पडता है उसकी तुलना में काफी कम उसे आगे ख्याल आया । एक्शन उसी बहुत विचित्र महसूस हुई जब सारा का सारा वजन तेजी से ऊपर की ओर था । उसे जो सिहरन महसूस हुई उसे मालूम हो गया कि आर सात के चार किनारे की बूस्टर अलग हो रहे हैं । लिटिल सेवन का गतिः वर्धन ठहर गया । अंतिम झटके के लिए लंबी सांस ले रहा हूँ । तत्पश्चात सेंट्रल कोर्नी गति पकडेंगे और विशाल वजन की संवेदना लौटाए । तीन मिनट तो नहीं आॅफरिंग से निकलने वाली आतिशी हाँ, बॉल को एक सपोर्ट करते हुए रॉकेट को ऊपर खींचती चले यूरी को काफी ऊंचाई पर गहरे नीले रंग के आसमान की झलक पॉटहोल से दिखाई । टेलीविजन लैंड की चमक से वो चला नहीं, ऊपर पांच मिनट पूरे हुए । समाप्त हो चुके सेंट्रल कोरके गिरने से दूसरा झटका । लाखों रूबल कीमत वाली इस जटिल मशीन को बिना कुछ सोचे एक और इस तरह उछाल दिया गया मानो खर्च हुई माचिस की तीली हो वोस्टोक ने कक्षा का बाकी रास्ता एक छूट से नजर आने वाले ऊपरी भाग पर केवल एक छोटे से रॉकेट इंजन के साथ पूरा किया । कम्पन रुक गई । फिर भी वहाँ निस्तब्धता की संवेदना जैसी कोई बात नहीं नहीं । ऐसे लोग जिन्होंने कभी भी अंतरिक्ष यात्रा नहीं की है, उन्हें ही बायें अंतरिक्ष में भयावह निस्तब्धता का वर्णन करने की आदत होती हैं । ज्ञान में लगे पंखे, वेंटिलेटरों, लाइफ सपोर्ट सिस्टम के पंपों और वॉल्वो और पीछे की ओर उपकरण पैनलों के पीछे विद्युत सर्किटों को ठंडा करने के लिए लगे अतिरिक्त अंकों की आवाज से शोर बना हुआ था । किंतु यूरी के काम तो माइक्रोफोन से थके हुए नहीं जिससे ग्राउंड कंट्रोल द्वारा खबरों है । तू लगातार जारी मांग की सिसकारी सी आवाज उभर रही थी । उसने रिपोर्ट किया भारहीनता शुरू हो गई है । इससे बिल्कुल खराब नहीं लग रहा है । मुझे अच्छा महसूस हो रहा है । वोस्टोक आराम से बडी भ्रमण कर रहा था जिससे कुछ हद तक अनावश्यक संचालनों से ट्रस्ट फ्यूल बर्बाद नहीं हो रहा था और आंशिक रूप से यान के किसी भी सतह को सूर्या उष्मा से आपको रोकने में सहायता मिल रही नहीं । अचानक यूरी ने पॉटहोल से आकाश का ऐसा नीला रंग देखा जैसा उसने पहले कभी नहीं देखा था । पृथ्वी का नजारा एक बॉल के पॉटहोल से गुजरकर दूसरे पॉटहोल में दिखाई पडने लगा और नीचे बढते हुए आंख से ओझल हो गया । आकाश अब एकदम काला नजर आ रहा था । यूरी ने तारों की ओर देखने की कोशिश की लेकिन ऍम सीधे आंखों में पढ रहा हूँ । अचानक एक पॉटहोल से सूर्य दिखाई बडा हूँ जिसकी चमक बुरी तरह चकाचौंध कर देने वाली नहीं । तभी फिर से पृथ्वी का नजारा क्षितिज सीधा न होकर किसी बडी गेंद के वक्र की तरह जिस पर वायुमंडल की अत्याधिक पतली परत नजर आ रही नहीं लगातार पूर्व की ओर आठ किलोमीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से ज्ञान पढ रहा था । डायलॉग में अट्ठाईस हजार किलोमीटर प्रति घंटे की गति का संकेत था । हालांकि यूरिको गति का कोई अनुभव नहीं हो रहा है । कैसा लग रहा है उडान लगातार सही चल रही है । मशीन सामान्य तरीके से काम कर रही है । आवाज बहुत अच्छी आ रही है । मैं पृथ्वी का अवलोकन कर रहा हूँ । मुझे बादल नजर आ रहे हैं । मैं सब कुछ देख पा रहा हूँ । कितना खूबसूरत है सब प्रक्षेपण के बीस मिनटों से भी कम समय में जब वो स्टॉक साइबेरिया के ऊपर से तेजी से गुजरा हूँ तो इसकी सीधी झुकाव अभियुक्त कक्षा आर्क्टिक वृद्ध की ओर चली गई । फिर उत्तरपूर्व गोलार्द्ध से और उत्तरी पैसे पे क्यूँ सोवियत उपमहाद्वीप के लगभग सुदूर अंतिम पूर्वी छोड पर कामचटका पेनिनसुला पर पेट्रोपावलोवस्क स्थित सुदूर रेडियो मॉनिटरिंग स्टेशन इनकमिंग टेलीमेट्री से वो स्टॉक की गति और ऊंचाई की गणना कर रहा था । ऍम से एक या दो दिन पहले पेट्रोपावलोवस्क पहुंच गया था और बैकोनूर की स्टेट कमेटी ने ब्रत अम् उडान के कॉस्ट मिनट का अंतिम चयन किया था । जब लियो नो अपने कैबिन के भीतर वोस्टॉक के संकेतों के साथ साथ टेलीविजन पिक्चरों का इंतजार कर रहा था तो उसे यह आभास भी नहीं था कि उसके मित्रों में से कौन वहाँ होगा । जब यूरी ने अंतरिक्ष में उडान भरी है । उस समय आज की तरह जैसे मॉस्को के उत्तर पूर्व स्थित कालिंग ग्राउंड में सेंट्रल मिशन कंट्रोल कॉम्प्लेक्स उपलब्ध नहीं था । इसलिए मिशन के सभी पहलुओं से परिचित बहुत से कॉस्ट नॉट सोवियत यूनियन के सभी प्रमुख श्रवण पोस्टों के कारण बाधा महसूस कर देते हैं और उसी ऑपरेशन के हिस्से के कारण मैं पेट्रोपावलोवस्क आया था । मेरे पास एक छोटा सा टेलीविजन मॉनिटर था और उस पर जब मैंने वोस्टोक से आती तस्वीर देखी तो मुझे पता नहीं था कि ये घर मन था ये यूरी लेकिन तभी मुझे कुछ शारीरिक हलचल नजर आई जो यूरी जैसी लगी हूँ । जो ही हमने उससे संपर्क स्थापित किया उस ने मेरी आवाज सुनी और मुझसे पाएंगे फॅस वोस्टोक से टेलिकाॅम करता हूँ । तत्पश्चात संकेतों को बडी मेहनत से सुरक्षित कोर्ट में कुंजी बंद कर लिया जाएगा । उसके बाद मॉस्को के ग्राउंड लिंक में प्रसारित कर दिया जाता था । जहाँ यूरी मॅन वो कंप्यूटर ऑपरेटरों के एक दल द्वारा कोडों को व्यवस्थित किया जाना था और आंकडों को विशालकाय मशीनों में रख दिया जाता था । पेट्रोपावलोवस्क का रेडियो संपर्क का अवसर काफी संक्षिप्त बेकानूर से भोर में प्रक्षेपित होने से तीस मिनटों से भी कम समय में बॉस टॉक पैसीफिक के ऊपर से गुजरा जहां रात थी और दुनिया के आधे लोग सो रहे थे । रात के अंधेरे में थके महाद्वीप उत्तर और दक्षिण यान के नीचे तीसरी से गुजर गए । अब इस भीषण तल अंधेरे वाले हिस्से में उसे तारे दिखाई पड रहे हैं । वे तीक्ष्ण चमकीले देंगे और टिमटिमा नहीं रहे हैं । तारों की संख्या उतनी जमीन से नहीं देखी नहीं । शीत ऋतु की स्वच्छतम रातों के दौरान भी नहीं । जब झुकी हुई कक्षा से वो स्टॉक दक्षिणी गोलार्ध होकर गुजरात तो दक्षिण अटलांटिक से होकर क्या फोन की ओर बढ गया । जमीन के नियंत्रणकर्ताओं ने रीएंट्री प्रक्रिया है तू यूरिको स्विचों की सेटिंग करने का निर्देश दिया । उसने सिस्टम द्वारा यान को सही पंक्तिबद्ध किए जाने की पुष्टि करने के लिए बस और की जांच यात्रा की दिशा के विपरीत संकेत करने वाले रिटर्न रॉकेट से की और सिटीज के ऊपर एक निश्चित कौन में लक्ष्य केंद्रित किया । लेकिन यूरी के पास बदलने के लिए कोई स्विच नहीं थे । जिस यान में वो था वो अपने आप जैसा था । इस बात को धरती पर बैठे नियंत्रकों को बताने का विषय कहीं ज्यादा था । किसी भी प्रकाशित विवरण के मुताबिक उसने कंट्रोल को कभी हाथ भी नहीं लगाया । नहीं अपनी कीपैड से सीक्रेट नंबरों को कभी पाँच क्या? मॉस्को समय दस बजकर पच्चीस मिनट पर उन्यासी मिनट की उडान के बाद बोस्टोक के रिएक्टरों रॉकेट समय पर गति काम करने लगे हैं । उस समय यान दक्षिण अफ्रीका के ऊपर तेजी से गुजरते हुए ठीक अडतालीस सेकंडों के लिए फायर कर ठीक ठीक शट्डाउन कर रहा था । बॉल के पीछे लगे रिकॅार्ड ड्यूल और उपकरण का ये अंतिम कार्य बॉल को अपनी सही स्थिति में रखने वाले चार मेटल राॅड विस्फोट के साथ खुलकर अलग अलग हो गए । जब बॉल दूर हटी तो यूरी ने तेजी से इसके मुड ने का झटका महसूस किया । कक्ष प्रतिरोधी दहन का पहला चरण योजनानुसार चला । स्वचालित प्रणाली अभी अपनी गति से संचालित थी । तभी नीरव ताकि एक्शन में ज्यूरी को महसूस होने लगा कि उसने कितना बडा काम किया है । मुझे ताज्जुब हुआ जब धरती पर लोग मेरी उडान के विषय में सुनेंगे तो भी क्या कहेंगे? मैंने अपनी माँ के बारे में सोचा कि वह किस तरह मेरे सोने के वक्त मुझे चूमा करती थी । क्या उसे मालूम है कि अभी मैं कहाँ हूँ? क्या वालिया ने उसे मेरी उडान के विषय में बताया था? नहीं गोपनीयता से घिरे सारे मिशन के कारण उसके परिवार को इस समाचार के लिए तैयार नहीं किया गया । हालांकि यूरिको इस विषय में वालिया को सूचित करने की अनुमति थी किन्तु उसने चौदह अप्रैल को उडान की बात कहकर उसे गुमराह कर रखा था ताकि वह प्रक्षेपण के वास्तविक दिन चिंतित ना है । जोया अजास में कुछ दिन मैन हॉस्पिटल की अपनी शिफ्ट के लिए तैयार हो रहे हैं तभी विस्फोट की तरह समाचार होंगे । उसने बताया, हमारे लिए ये बहुत कठिन था । हमें रेडियो से पता चला । यूरी ने तो वहाँ से बताया था कि वह काम धंधे से बाहर जा रहा हूँ । जब मैंने पूछा कितनी दूर तो उसने कहा बहुत दूर । इसलिए हमें पता ही नहीं था कि वह कहां और कब जा रहा है । वस्तुतः उस दिन सुबह रेडियो बजाने का उनका कोई इरादा नहीं है । जोया का बेटा तब घर में होमवर्क कर रहा था और उसे एकाग्र रहने की जरूरत है । अन्ना चुप चाप भोजन पका रही थी । जोया को स्मरण है अचानक वैलेंटीन की बीवी मारिया ने हफ्ते हुए तेजी से घर में प्रवेश किया और वो चीज है वहाँ के तो होश ही उड गई । क्या हुआ और मारिया ने कहा हूँ कुछ नहीं चिंता की कोई बात नहीं । आज सोचते हैं ये बडे मजे की लगती है । हालांकि तब हम बडे बेचैन हो गए थे । अंततः मारिया ने बताया कि यूरी अंतरिक्ष में मैं तो बिना कुछ सोचे समझे भडक उठी । हे भगवान, उसकी दो नहीं बेटियाँ हैं । उसने ये करने को सोच में कैसे लिया । पागल हो गया होगा । मैंने कहा लेकिन अन्ना बिल्कुल शांति । उसने अपना कोट उठाया और कहा मैं वाला से मिलने मॉस्को जाऊंगी । बच्चों के साथ वो अकेली हूँ । वो शांति लेकिन उसकी सोचने समझने की शक्ति लडखडा गई थी । वो घर के दरवाजे से निकलकर मॉस्को नहीं जा सकती थी । सबसे पहले उसे कई किलोमीटर की दूरी पार कर रेलवे स्टेशन पहुंचना चाय वेलेंटीन उसके लिए कोई वाहन की व्यवस्था कर सकता हूँ । तभी उन्होंने वीडियोकाॅॅॅन अन्ना ने अपना गद्देदार कोट पहना और ट्रेन की टिकट लेने चली गई । जोया ने अपने अस्पताल में संपर्क करके उन्हें बता दिया कि वह बहुत ज्यादा बीमार है इसलिए ड्यूटी पर नहीं आ सकते हैं । एक पडोसी हमारे घर बैठने के लिए आया और हम रेडियो सुनने लगे । समाचार के साथ चल रहा संगीत प्रफुल्लित कर देने वाला हूँ जिससे हमें कुछ सुकून मिला । फिर संगीत रुक गया और उद्घोषक ने कहा कि मेजर यूरी एलेक्से विच गागरिन का नाम कौन सोलन सेंट्रल कमेटी रोल ऑफ ऑनर में शामिल किया जाना हैं । शहीद हुए लोगों के साथ ऐसा ही तो करता है । मैंने सोचा टास रेडियो ने फिर से अपनी प्रफुल्लित कर देने वाली लाइन शुरू कर दिया जिससे जोया को कुछ चैन में ना संगीत देश भक्ति के मार्च के साथ होना शुरू हो गया । उद्घोषक ने बताया कि यूरी सुरक्षित जमीन पर उतर आया है । जोया याद करते हुए कहती है ऐसा लगा मानो मुझे मेरे कंधों पर भारी चट्टान के बोझ से छुटकारा मिल गया हूँ ।

14. Bichitra Ghatana

बगल के घर में ही रहने वाला वेलेंटीन गागरिन घर में एक घंटा बिताने के बाद काम पर जा रहा था । तभी उसने किसी से ही समाचार अचानक उसकी नन्ही सी बेटी आलिया ने उसे पीछे से आवाज थी पापा जल्दी वापस आओ, मार हो रही है । एक घर से दूसरे घर आना जाना तो शोर शराबा जारी है । यूरी अंतरिक्ष में था है पर अन्ना को स्टेशन ले जाने के लिए किसी की जरूरत है ताकि वो मॉस्को पहुंच पा नहीं वेलेंटीन को खडी हुई ट्रकें देखकर कुछ सही महसूस होने लगा । वो मोटर कोल में काम करता हूँ । जब ऑफिस पहुंचा तो उसने पाया कि कुछ विचित्र सही सब कुछ चल रहा था । हमेशा की तरह सभी ट्रकें हमेशा की तरह पंक्तिबद्ध खडी थी । कॅश एड के दरवाजे खुले हुए थे लेकिन ड्राइवरों में से कोई भी अपनी लॉरियों में नहीं बैठा था । सभी इंजन बंद थे । दूसरे छोड पर बैठे रास्तों के प्रबन्धक भारत त्यादि के विषय में कुछ शिकायत नहीं कर रहे थे । वेलेंटीन कुछ समय की छुट्टी लेने के लिए अपने फोरमेन के पास गया ताकि वो अपनी माँ को स्टेशन छोडने जा सकें । मेरे बॉस ने कहा देख नहीं रहे हैं । आज कोई भी ड्राइवर काम नहीं कर रहे हैं । वे सभी तुम्हारे छोटे भाई के बारे में रेडियो में सुन रहे हैं । वो अंतरिक्ष में है । मैंने पूछा हूँ क्या आप एक घंटे के लिए मैं ट्रक ले जा सकता हूँ? जोशी जोश में उसने कहा तो मैं जो भी ट्रक चाहिए ले जाओ सबसे नजदीक वाला ले जाओ । मैं एक ईंधन टैंकर में सवार हो गया क्योंकि ये पहला वाहन था जिसकी चाबी इग्निशन में लगी हुई थी । वेलेंटीन ने पुराने विद्युत उपकेंद्र के पास से अन्ना को साथ ले लिया । अभी मॉस्को ट्रेन के छूटने में पंद्रह मिनट का समय बाकी था । जब स्टेशन पहुंचे तो एक स्थानीय पुलिस के सिपाही को इस बात को लेकर उलझन सी हो गई कि वैलेंटीन को इतनी जल्दबाजी किस बात की थी । जब उसे मालूम हुआ कि उसके साथ ट्रक में प्रथम अंतरिक्ष यात्री की मौत ही तो बाकी सब कुछ आसान हो गया । ट्रेन प्लेटफॉर्म से पहले ही छूट कर जा रही थी लेकिन स्टेशन मास्टर ने जल्दी से इसे रुकने का संकेत दे दिया । हाँ, ट्रेन में सवार हो गई और टिकट अधिकारी भी डिब्बे की ओर भागा क्योंकि अपनी उलझन में विशेष पैसे लेना भूल गई थीं । इधर यूरी के पिता एलेक्सेई गागरिन सुबह तडके ही घर से निकल गए थे । उनके पुराने गृहग्राम के मशीनों के निकट सामूहिक कृषि फार्म में काम चल रहा था । वो आराम से अपना काम कर रहा था । तभी एक दूसरा कृषि फार्म कर्मचारी उनके पास आकर उसके बेटी यूरी के विषय में विचित्र सवाल पूछने लगा । तुमने सुना नहीं रेडियो पर बताया गया की मेजर गागरीन अंतरिक्ष में उड रहा है फिर नहीं मेरा बेटा तो वरिष्ठ लेफ्टिनेंट है । फिर भी हमारे हम नाम के लिए बनाई ये एक बडा विचित्र संयोग था । ऍम सोचा कि वो लोकल सोवियत के पास कुछ मिनटों के लिए जाकर देखें की बात क्या है । वहाँ जाकर जब उसने देखा तो पाया कि वहाँ भीड भाड । शोर शराबा मचा हुआ था तो स्थानीय चेयरमेन वासिली विडियो को गमय के डिस्ट्रिक्ट पार्टी अधिकारी से टेलीफोन पर बात करने में व्यस्त था । वो अधिकारी कह रहा था, हमें पता करना होगा कि इस अंतरिक्ष यात्री का जन्म का हुआ था । क्या वो तुम्हारे गांव के रिकॉर्ड में है? मुझे किसी रिकॉर्ड की जरूरत नहीं है । वीडियो को जोश में चीखा । कमरे में मेरे साथ उनके पिताजी है । यहाँ में उन्हें लाइन देता हूँ । विस्मित और बिना किसी तैयारी के । एलेक्सी ने रिसीवर उठा लिया । अब क्योंकि जो कुछ हो रहा था उस विषय में उन्हें पता लग चुका था इसलिए भावावेश में वो कुछ बोल नहीं पा रहा था । गजट के अधिकारी चाहते थे कि अलेक्सई सीधे वहाँ पहुंचे लेकिन गजार और मशीनों अभी एक दूसरे से बिलकुल कटे हुए हैं । हाल ही आई बाढ में सडकें जाम हो चुकी नहीं अलेक्सई अपने पैर की अपंगता । वह सामान्य स्वास्थ्य की वजह से कितनी दूर पैदल चलकर नहीं जा सकता हूँ । इसलिए ब्यू कोने कीचडयुक्त मार्ग से जाने के लिए घोडा गाडी का इंतजाम कर रहा हूँ । इसके बाद उसे ट्रैक्टर के पीछे बैठाकर खेतों की शॉर्टकट मार्ग से जांच लाया गया । वो वहाँ एक स्थानीय पार्टी के कार्यालय में पहले ही उपस् थित वेलेंटीन और बोर इसके साथ हो लिया । वे सभी लगातार फोन कॉलों का जवाब दे रहे हैं । ऍम को याद है हम में से प्रत्येक को एक एक कार्यालय वह फोन दी गई थी । क्षेत्रीय सोवियत के एक सेक्रेटरी ने हमसे पूछा, भगवान के लिए क्या उसके जीवन से जुडे प्रश्नों का उत्तर दे सकते हैं? हम आने वाले फोन कॉल को नहीं निपटा पा रहे थे । आप जानते हैं लोग ऐसे प्रश्न पूछ रहे होंगे जिनके उत्तर केवल आप ही दे सकते हैं हमारे पास मॉस्को लेनिनग्राड की गाडी । वो उस को अन्य अनेक ऐसे शहरों से फोन आ रहे थे जिनका हमने कभी नाम भी नहीं सुना था । विदेशों से बहुत होना रहेंगे जिसमें रोमानिया, पोलैंड, हंगरी जैसे प्रजातांत्रिक देश भी थे । स्विचबोर्ड ऑपरेटरों को दो या तीन मिनटों तक प्रत्येक कॉल का समय देना पड रहा था । दो बजे टेलीविजन की टीम आई डिस्ट्रिक्ट सोवियत बिल्डिंग में सारे दिन भर पूर गहमागहमी बनी रही । अब तक दुनिया भर में कोई भी इस क्षेत्र के फार्म बाद पायलट यूरी ऍफ का नाम नहीं जानता हूँ जो या कुछ बनाता है । हमें आराम तो मिल नहीं पा रहा । सभी जगहों से पत्रकार हमारे पास पहुंच रहे थे । कैमरा टीम रिकॉर्डरों के साथ पहुंचने वाले पत्रकारों का तांता लगा हुआ है । वो वोल्गा कारों से चेक का वह जेल से गजार पहुंचने का प्रयास कर रहे थे । लेकिन इस शहर के आसपास की सडकों पर जो हाल ही में आई बाढ के कारण टीचर से लगभग थी । ट्रैक्टर ही आसानी से चल सकते हैं । मॉस्को के पत्रकारों को गागरिन परिवार के मकान से कई सौ मीटर की दूरी पर रुकना पडता था । फिर खीचड से होकर अपने शहरी जूतों के साथ उनके घर की ओर चलना पडता है । उस दिन सुबह अन्ना ने वसंत की शीतल हवा के प्रवेश के लिए खिडकियां खोल रखे थे, लेकिन ऐसा करके वो गलती कर गई थी । कुछ पत्रकारों ने विनम्रतापूर्वक दरवाजे पर दस्तक देकर आने का अनुरोध किया । लेकिन बहुत से दूसरे पत्रकार तो खिडकी से कूदकर अंदर आ गए । अचानक मकान पत्रकारों से भर गया । वे उस परिवार की हर चीज को स्पर्श करके, जांच करके उन्हें उठाकर यहाँ वहाँ रख कर देख रहे थे । वे निजी पारिवारिक फोटोग्राफों को मांग कर लेंगे और लौटा देने के उनके वादे के बावजूद कभी वापस करने नहीं आई । जोया कहती है, हमें सभी जगहों से फोन चला रहे थे । वे जानना चाहते थे कि यूरी कौन था और वह कहाँ से आता था, उन्हें मालूम नहीं था । गागरिन परिवार में निजी टेलीफोन नहीं था । निकट ही सोवियत कम्युनिटी हॉल में फॅस उपलब्ध है, जहाँ ऍम फोन कॉलों से जूझते रहते हैं । इन्हीं फोन कॉलों में बाद में एक कॉल जूरी का होता है, जो उन्हें अपनी राजी खुशी की खबर देता हूँ । कुछ दिन मॉस्को आने के बाद अन्ना को उससे बात करने का मौका मिला, लेकिन उससे मिले बिना हमें सब कुछ ठीक होने का विश्वास ही नहीं हो पा रहा था । जोया कहती है, आपको मालूम है हम रूसियों में कहावत है छूकर विश्वास करना चाहिए । बहुत से प्रकाशित विवरणों से ज्ञात होता है कि यूरी को धरती पर उतरने में कोई परेशानी या गंभीर बात नहीं हुई । स्वयं यूरी ने भी इस बात का समर्थन किया । उसके उडान के आधिकारिक विवरण डर रोड स्टार्स कुछ तकलीफ की ओर संकेत करते हैं जो इतने नगर नहीं थे कि पश्चिमी विशेषज्ञ इस पर ध्यान नहीं देते हैं । रॉकेट को स्वयं ब्रेक लग गया । मेरी भारहीनता समाप्त हो चुकी थी और जी लोड के बढते दबाव के चलते मैं अपनी सीट पर ही जमा हुआ था । जी लोड बढते ही जा रहे थे । उडान के समय से भी ज्यादा यान घूमने लगा जिसकी जानकारी मैंने ग्राउंड कंट्रोल को दी । ज्ञान की जिस मोड लेने को लेकर में चिंतित था, जल्दी रुके और सामान्य तरीके से उतरना संभव हो गया । यान के जिस मोड लेने के प्रति में चिंतित था । जब कोरोलेव, कॉमन इन और कैंडिस्की प्रमुखता वाली स्टेट कमेटी के समक्ष उसका साक्षी लिया गया तो वह एकमात्र ऐसा अवसर था जब जूरी को सच बात बतानी पडेगी । ये मीटिंग मोस्ट ऑफ की उडान के दौरान संपूर्ण कार्य संपादन पर खुलकर रिपोर्ट करने का निजी अवसर था । बाहर के लोगों को इस से जुडे संवेदनशील तकनीकी विवरणों की जानकारी देने को उपयुक्त नहीं समझा गया होगा । निश्चित तौर पर यूरी का दुनिया को ये बताना आवश्यक नहीं था की उस की मौत हो चुकी होती । बॉल के रिएंट्री के ठीक पहले ही पिछले उपकरण मॉड्यूल के प्रमुख जोड सही तरीके से अलग हो गए । लेकिन बॉल को ऊर्जा और आंकडे स्थानांतरित करने वाला अंबिली कल के बाल स्पष्ट रूप से अलग नहीं हुआ था । कई मिनट तक बॉल और रियर मॉड्यूल ऐसे बने रहे मानव जूतों की एक जोडी एक दूसरे से बिना प्रयोजन के उनके लेंसों से बने हुए हैं । सारा का सारा यंत्र धरती पर सीधे उतरने के समय बुरी तरह लडखडा नहीं । बॉल को विशेष रूप से वजनदार बनाया गया था ताकि यूरी के पीछे ताप अवरोधी, अपेक्षाकृत मोटी पर पृथ्वी के वायुमंडल के अत्यधिक तेज आक्रमण का सामना करने के लिए स्वयं मोर्चाें उपकरण मॉड्यूल के हवा के बहाव को करप्ट करने, वो इकट्ठे वितरण को विकृत करने के कारण ये पंक्तिबद्ध अता संभव नहीं । यूरी ने गोपनीय स्टेट कमेटी को बताया, यान तेजी से घुर्णन करने लगा अलगाव चाहता था । लेकिन जब रॉकेट शट्डाउन हुआ तो कंसोल की सभी संकेत बत्तियां बुझ गई । फिर से चलने लगी । अलगाव हो ही नहीं रहा था । मैंने तय किया कि कुछ तो जरूर कर बढेगा । ज्ञान का घोंटना धीमा होने लगा था । मैं यान के दो लिख होने और इसकी बॉडी पेंट की चलने को महसूस कर रहा था । कहीं से चर्च छठ की आवाज भी आ रही है । या तो इसकी संरचना चटक रही थी या तपने के कारण आप आवरण का फैलाव हो रहा है । लेकिन चटकने की आवाज साफ साफ सुनाई दे रही थीं । मुझे तापमान बढता हुआ महसूस हो रहा है । रीएंट्री किताब के कारण बॉल के चारों ओर आयनीकरण निर्मित हो गया और रेडियो संदेश की आवाज नहीं आ रही थी । जमीन पर कोरोलेव और उसके नियंत्रक जूरी की इस समस्या से उसके उतरने तक रूबरू नहीं हुए थे । वायुमंडलीय आपने अंत तार को जलाकर इक्विपमेंट मॉड्यूल को अलग कर दिया, लेकिन इसके प्रभाव से बॉल एकदम से दूर जाकर छटका और इसका गोल्डन बुरी तरह बढ गया । एक समय तो गोल्डन कितना बढ गया था कि यूरी की चेतना जवाब देने लगी गयी । इंस्टूमेंटल पैनल पर लगे संकेत धुंधले हो गए और सब कुछ गुजरता सा महसूस हुआ । शायद इस समस्या पर स्टेट कमेटी के विचार विमर्श की जानकारी इंजीनियरों को नहीं ताकि वो इसके बाद घर मंटो के अंतरिक्ष मिशन के दौरान उचित सुधार कर सकते हैं । छह अगस्त उन्नीस सौ इकसठ को सम्पन्न उडान में उसे भी ऐसी ही कठिनाई का सामना करना पडा । ॅरियर से संबंधित यूरी की उडान के पश्चात की जानकारी का वर्णन बिल्कुल सामान्य लेकिन तो कहता है कि यदि उसके अनुभव की बात की जाए तो उसे हैरानी इस बात की थी कि कैप्सूल व अन्य मॉड्यूल में ज्यादा मजबूत किया था । पहले कौन था तो मैं पृथ्वी का छोटा सा लोग घूमता हुआ और घडी अब भी चलती हुई नजर आती है । जिसका तात्पर्य ये हैं कि तारों से होकर सूचना अब भी इक्यूपमेंट मॉड्यूल से आ रही है । कैप्सूल बहुत तेज घूर्णन करता है फिर ये तेजी से मिलता है । दोनों कम्पार्टमेंट एक दूसरे से टकरा रहे होते हैं । क्या ये डरावना इसी तरह की बातें अंत में यूरी ने अधिक सघन वायु सरसराहट के साथ बॉल के पास से गुजरती हुई और उसका भंवर जैसी खून की तीव्रता में कुछ कमियाँ जले हुए पॉटहोल से उसे धुंधला नीला आकाश दिखाई । वो हिल कर रहे हैं । साथ ही उसे आगामी किसी तनावपूर्ण स्थिति का अंदेशा भी था । सात किलोमीटर की ऊंचाई पर उसके सिर के ऊपर लगा हुआ है । हवा की जोर से खुल गया । आवाज की तीव्रता बहुत ज्यादा बढ गई । अचानक कैबिन खुली हुई सी लगने लगे । यूरी के प्रकाशित विवरण के अनुसार एक क्षण के लिए कुछ चकराणा क्या वो मैं ही था? क्या तभी मैं बाहर निकलते हैं । उसका विवरण कोरोलेव के मेडिकल प्रीप्रेशन के डायरेक्टर व्लादिमीर के स्मरण से मेल खाता हुआ । प्रतीत नहीं । वो उस समय ग्राउंड कंट्रोल टीम का सदस्य भी था । उसे जूरी द्वारा स्वयं इंजेक्शन का टिकट दबाना याद हैं । संपूर्ण प्रक्रिया स्वचालित मानी गई थी जब दबाव संकेतों ने सात किलोमीटर की ऊंचाई के अनुरूप वायुमंडलीय दबाव दर्ज क्या यूरी कुछ लकर बॉल से बाहर चार किलोमीटर इंजेक्ट, सीट का प्रोफेशन पैक और विशाल पैराशूट कैनोपी उसे रिलीज करते हुए दूर जाना पडेगा ताकि वो अपने व्यक्तिगत कर शूट से ज्यादा आराम से नीचे उतर सके । यदि वो सीट सही समय पर अपने आप ही नहीं छूटती तो उसके पास इंजेक्शन को स्वयं ट्रिगर करने का विकल्प भी था । लेकिन बिना उचित कारण के उसे ऐसा नहीं करना । जैसे जैसे बॉल की गति सघन तार वायुमंडल में धीमी होने लगी । वो प्रारंभिक रीएंट्री का आप धुंधला पडने । ग्राउंड कंट्रोल की रेडियो लिंग यूरी से जुड गए । उसने रिपोर्ट किया कि जो लोग अब भी बहुत भारी थे जिनकी वजह से वह अलग अलग दिशाओं में खेला जा रहा था । हमने कहा वहीं बने रहे । हमने उसे बहुत जल्दी इंजेक्ट न करने की सलाह दी लेकिन एक निश्चित ऊंचाई से पहले ही इंजॉय करें । ऐसा लगता है कि ग्राउंड कंट्रोलर यूरी के सैपरेशन की कठिनाई से अवगत नहीं थे । उन्होंने ये भी महसूस नहीं किया कि वह बहुत ज्यादा घूमना वाह जी लोडिंग की शिकायत क्यों कर रहा था । शायद यूरी के पास इतना समय नहीं था कि वह विस्तार से इस के विषय में बात कर सकते । ये शायद से मालूम था कि सेपरेशन की कठिनाई की चर्चा उसे वो इसलिए पर नहीं करनी चाहिए । पश्चिमी देशों के श्रवण पोस्ट किसी चोरी छिपे सुन सकते हैं । इस मिशन के अंतिम चरण के संवाद को कभी प्रकाशित नहीं किया । किन्तु इतिहासकर फिलिप्स का मानना है कि वो बॉल इक्यूपमेंट मॉड्यूल के अंत तक अलग होने के बाद अब भी अत्यधिक तेज गति से घूम कर रही है । पहले इन जब करने का यूरी का निर्णय भयाक्रांत पिता की प्रतिक्रिया नहीं । उसे विश्वास हो गया होगा कि उसके कैप्सूल के घूर्णन करने से उसके इंजेक्शन में बाधा पडेगी तो जितनी जल्दी वो करता उतना ही अच्छा होता है । उस घटनाक्रम में यूरी का इंजेक्शन और नीचे आने की प्रक्रिया आराम से संपन्न हुई । जो इंजेक्शन सीट के रॉकेट चार्ज खत्म हुए, एक बडा सा पैराशूट खुल गया । वो धीरे से नीचे आने लगा । तभी योजनानुसार सीट दूर जा पडी और वो आपने पैराशूट के नीचे ज्यादा आसानी से नीचे उतरने लगाओ । बॅालीवुड के सुबह के वक्त वॉशिंगटन में रात दी । इस्टर्न स्टैंडर्ड टाइम के एक बजकर सात मिनट हुए नहीं । अमेरिकी रिटायर स्टेशनों ने और सात रॉकेट के प्रक्षेपण को रिकॉर्ड किया । ना इसके पंद्रह मिनट बाद मलेशियन आइलैंड ऑफ अलास्का कि रेडियो मॉनिटरिंग सेवा नहीं किसी को दस मिनट के साथ जारी बातचीत का पता लगाया । वाइट हाउस के विज्ञान सलाहकार जेरोम बिसनेस ने प्रेसिडेंट कैंडी के प्रेस सचिव पियरे को फोन पर इस समाचार की जानकारी दी । उसने पहले ही एक बयान कैनेडी को पढकर सुनने के लिए तैयार कर लिया था । प्रेसिडेंट कुछ घंटे पहले ही सोचे थे । विस्नर ने उनसे पूछा कि क्या रॉकेट के प्रक्षेपण के समय वे स्वयं को जगाया जाना पसंद करते तो प्रेसिडेंट ने जवाब दिया, नहीं, ये समाचार मुझे सवेरे सुनाया जा सकता था । वाशिंगटन समय के अनुसार सुबह पांच बजकर तीस मिनट पर मॉस्को न्यूज रेडियो चैनल नहीं यूरी की सफल लैंडिंग और रिकवरी का समाचार प्रसारित किया । एक सचेत पत्रकार ने फ्लोरिडा के नासा प्रक्षेपण केंद्र में फोन करके पूछा कि क्या अमेरिका इस काम की बराबरी कर सकता है? प्रेस अधिकारी जॉन शॉर्टी पावर्स अपने ऑफिस में कुछ काम कर रहा हूँ । वो बहुत से दूसरे कर्मचारी दिन में सोलह घंटे काम करके एस्ट्रोनॉट एलन शेपर्ड की पहली उडान मरकरी कैप्सूल में सुनिश्चित करने में जुटे हुए थे । जब बोर के पहले की निस्तब्धता को भंग करते हुए फोन की घंटी बजी तो उसे काफी खींच हुई और एक ये क्या है? फोन पर ठीक है । हम सभी आज सोई हुई हैं । दूसरे दिन की हेडलाइंस ही सोवियत ने अंतरिक्ष में इंसान भेज दिया । प्रवक्ता ने बताया, यू । एस । हो रहा है बारह अप्रैल की दोपहर को प्रेसिडेंट कैनेडी ने वाशिंगटन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित आम तौर पर आत्मविश्वास से लबरेज रहने वाले प्रेसिडेंट की बातों में दम खम की कमी महसूस हो रही नहीं मिस्टर प्रेसिडेंट कांग्रेस के एक सदस्य ने आज का अंतरिक्ष के क्षेत्र में अमेरिका की रूस के बाद दूसरे नंबर की स्थिति देख देख कर हम थक गए । हमारी उनसे बराबरी करने की क्या प्रत्याशा हैं? कोई कितना भी थका हारा हूँ और मुझसे ज्यादा दूसरा कोई और नहीं थका है । इसमें कुछ वक्त तो लगी हो । बेहतर होने से पहले ये समाचार हो जाएगा । मुझे उम्मीद है अन्य दूसरे क्षेत्रों में हम प्रथम हो सकते हैं जिससे मानवता को शायद अत्यधिक दूर का फायदा होगा । लेकिन हम पीछे हैं ।

15. Antariksh

कोरोलेव माजिन ओके भी वन के फॅस अच्छी तरह जानते थे कि यूरी का बॉल वायुमंडल से होकर किस दिशा में धरती पर गिरेंगे । लेकिन जो बात उन्हें नहीं मालूम थी वो ये कि उस दिशा में कितनी दूर जाकर वो रुकेगा । माॅ कंप्यूटरों की कुछ ही किलोमीटर की गणनाएं सटीक बाहरी अंतरिक्ष की व्यापक ता को दृष्टिगत रखते हुए ये स्वीकार्य होने से भी बढकर था । वापस लौट इसमें वो स्टॉक बॉल के खाली मैदान में बिना किसी क्षति के सेवन किसी मकान की छत पर धाराशाही होकर अपने नीचे कई लोगों को कुचलकर मारने की लैंडिंग में काफी फर्क हो सकता हूँ । बोस्टोक के इनकमिंग रूट का चयन करते समय इस बात को ध्यान में रखा गया था कि संभव कम से कम मकान ही खतरे की राह पर हैं । आज रूसी कैप्सूल कजाकिस्तान के विशाल स्टेप पीस के मैदान में होता हैं । यह स्थान उनके उडान भरने के स्थान से ज्यादा दूर नहीं है । तीन दशकों से कैप्सूल लोकेशन की प्रक्रिया को व्यवहार में लाया जा रहा है । सन में कोरोलेव उसके मिशन की योजना बनाने वाले अपने प्रथम अंतरिक्ष यात्री को खतरे में डालना नहीं चाहते थे । यूरी ने जिस जगह से करीब छह साल पहले याद अठारह ज्ञान में सारा तो रोक लगनी उडान भरी थी । अंतरिक्ष से वापसी पर वो इसी स्थान से कुछ दूरी पर, उतना उसकी जमीन पर आने का बिल्कुल सही स्थान । सारा तो प्रांत के निकल शहर के छब्बीस किलोमीटर दक्षिणपश्चिम में स्मेल को का नामक गांव के बाहर था । जमीन स्तर से बॉल के हैच के खुलकर दूर जागीर नहीं या यूरी के इंजेक्शन के अचानक झटके का अवलोकन करने की संभावना नहीं । सात किलोमीटर की ऊंचाई पर होने वाली इन घटनाओं को नहीं देखा जा सकता हूँ । क्या कोहली सिंह को नामक एक ट्रैक्टर ड्राइवर को अपने सिर के ऊपर आकाश में होने वाली धमाके की आवाज साफ सुनाई पडी थी । उसका ऊपर देखना स्वाभाविक था । ऍसे विस्फोटक वो कट की हलकी गूंज को उस तक पहुंचने में बीस सेकंड का समय लगा । तब तक यूरी उसका यान धरती से तीन किलोमीटर की दूरी पर आ गया और उसके पैराशूट खुल गए । अब उन्हें नंगी आंखों से देखा जा सकता है । संभव है कि लिसेन कोने जमीन के आस पास का कोई दूसरा धमाका तब सुना जब बॉल का पैराशूट है । चार किलोमीटर की ऊंचाई पर धमाके के साथ अलग हुआ, लेकिन को कहता है विस्फोट की आवाज किसी विमान होने की स्थिति में सुनी जा सकते हैं । लेकिन विमान तो मुझे नजर ही नहीं आया । इंजन के शोर शराबे की आवाज भी नहीं थी । मैं खडा होकर ताक रहे तभी ऊपर मुझे कुछ नजर आएगा । पैराशूट से कुछ नीचे आ रहा मैंने सोचा कि ये कोई पायलट होगा जो विमान से उतरकर नीचे आ रहा था । पॉलिसिंग को भाग कर स्मेल को का गांव लौट गया ताकि वहाँ इस घटना के विषय में दूसरों को बता सके । उसने अपने कुछ मित्रों को इकट्ठा कर लिया और खेतों से होते हुए भी उस स्थान की ओर भागते हुए आए जहाँ उसने पायलट को करते हुए देखा । आम लोगों को सामने देखकर यूरी खुश सालाना हम उस जगह पहुंच गए और देखा कि वो हमारी तरफ चला रहा है । वो बहुत खुश था । खासकर सफलतापूर्वक करने के बाद वो जम्प सूट या जो भी से कहा जा सकता है पहने हुए । तभी उसने कहा, लडकों और हम आपस में परिचित होने मैं दुनिया का पहला अंतरिक्ष यात्री मेरा नाम यूरी गैगरीन । उसने हम सभी से हाथ मिलाया हूँ । मैंने स्वयं का परिचय भी दिया है । उसने कहा अभी मत जाना । किसी भी क्षण मेरे सभी अधिकारी यहाँ पहुंचाएंगे । कार से आएंगे । बहुत सारे लोग आप अपनी तस्वीरें खींचिए ताकि हम इस मुलाकात को यादगार बना । लेकिन उन के आने के बाद हमारी तरफ ध्यान ही नहीं दिया गया था । वे मिलिट्री गाडी से आए और उसे बैठा कर ले गए और तब से हमने उसे कभी नहीं आएगा । तभी अचानक शासकीय स्वागत दल भी मानव कहीं से प्रकट हो गया । जनरल स्टिचिंग को ग्लोज रेंज रडार से सुबह से ही आकाश में नजर जमाए बैठी हूँ । यूरी वह उस की भी एंट्री कैप्सूल का पता जमीन छूने से काफी पहले लगा लिया गया और तदनुसार स्टोर टैंकों ने सैनिकों को पहला रखा था । ऍम को बताता है, सेना विमान से आएगा । उनमें से कुछ तो पैराशूट से भी उतर रहे हैं । ये पूरी आक्रामक फोर थी । उन्होंने हमें बहुत नजदीक आने की अनुमति नहीं बडे विचित्र होते हैं लोग लेकिन को एक सीधा सादा व्यक्ति हो सकता है । वो एक साधारण ट्रैक्टर चालक हो सकता है । लेकिन उस दिन उसने जो भी देखा हूँ, उससे अंतरराष्ट्रीय राजनीति के प्रति उसका रुझान चलता है । उसने बताया, सोवियत यूनियन ने यूरी गैगरीन के माध्यम से अंतरिक्ष में पहला अंतरिक्ष यान है । सारा देश खुशी से फूला नहीं समा रहा हूँ । विदेशी मुल्कों के लिए तो ये शर्म से सिर नीचा करने वाली बात नहीं है । अमेरिका शक्तिशाली नहीं है लेकिन वो इस क्षेत्र में प्रथम हो सकता है । जैसा की कहा भी जाता है । देखने वाली बात ये हैं कि कौन पहले दलदल पार कर मैं तो इससे यही समझा । केवल इस इन को और उसके मित्रों ने ही कॉस्ट मिनट को तकलीफ नहीं देखा । ये बात यूरी द्वारा अपने उतरने के विषय में दी गई जानकारी से भी स्पष्ट हूँ । जमीन पर कदम रखते हुए मैंने एक औरत और एक छोटी बच्ची हूँ । एक बछडे के पास खडे होकर अपनी ओर देखते हुए । पांच । मैं तब अपनी भडकीली नारंगी रंग की अंतरिक्ष कोशामिल जिसे देखकर भी कुछ समय मैं मैं तुम्हारा दोस्त हूँ । अपना हेलमेट हटाते हुए मैं चुनना और और आपने पूछा हूँ । ऐसा भी तो हो सकता है कि तुम अंतरिक्ष से आई हूँ । यकीनन ऐसा ही है । मैंने उत्तर दिया सोवियत यूनियन में अमेरिकी जासूस गैरी पावर्स के विषय में सभी को जानकारी दी । पिछली मई में उसे रूसी अंचल में गोली मार दी गई थी । शायद नारंगी पोशाक धारी ये पायलट कोई दूसरा विदेशी जासूस हूँ जो आपने क्षतिग्रस्त विमान से पैराशूट लेकर खुदा हूँ । बहुत से पश्चिमी एयरोस्पेस विशेषज्ञों का मानना है कि खेत में काम करने वाले कुछ श्रमिक जूरी की तरफ पांचा हजार उठाकर दौडे । लेकिन जब उन्होंने उसके सफेद रंग के अंतरिक्ष हेलमेट पर सी सीसीसी चमकता हुआ देखा तो उन्होंने हजारों को नीचे रख दिया । आज सोवियत के अंतरिक्ष पत्रकार यार उस ले गोलोवानोवा हो ये स्वीकार करने के लिए तैयार हैं कि जब उन्होंने यूरी की नारंगी सुरक्षात्मक पोशाक देखी तो महिलाएं डर गई क्योंकि साल भर पहले ही पावर्स का हादसा हो चुका था । उन्होंने कहा, तुम कहाँ जा रहे हैं तो कहाँ पहुंचना चाहते हो? उन्होंने उसे जासूस समझ लिया था । यूरी के उतरने की प्रामाणिक जानकारी का प्रसारण ताज रेडियो द्वारा किया जा चुका था । पूरी संभावना है कि खेतिहर मजदूरों ने पहले चिंतित भाव से उसका अभिनंदन किया हूँ लेकिन एकदम दुश्मन जैसा रवैया नहीं अपनाया होगा । ये भी संभव है कि उनमें से कुछ सुबह जल्दी खेतों में काम करने निकल गए और अंतरिक्ष उडान विषयक रेडियो बुलेटिन न सुन पाऊं तो वह कौन था जिसे प्रथम अंतरिक्ष यात्री का स्वागत करने का अवसर सबसे पहले मिला था? क्या ऍम को और उसके मित्रों को या उस औरत और बच्ची को जिसकी चर्चा यूरी ने की लिसेन को कहता है, मैं उसके बारे में भूल गया । हाँ, जब हम उस जगह तख्ता रोवा पहुंचे जहाँ वो उतरा था । तब स्थानीय फॉरेस्ट वॉर्डन की पत्नी अपनी पोती के साथ आलू गुडाई का काम कर रही थी । नजदीक ही उनकी छोटी सी कृषि भूमि थी । जब उतरा तब हम वहाँ नहीं थे । वो डरकर भाग जाना चाहते थे, तभी उसने हमें देगा । बाद में उसी दिन उस जगह पर एक साधारण सब साइन पोस्ट खडा कर दिया गया । तकरीबन उसी जगह जहाँ यूरी के पैर पडे थे ऍम । दो दिन बाद एक स्थायी शिला स्मारक उसी जगह स्थापित कर दिया गया जिसके ऊपर लिखा था वायॅस यहाँ उतारा था, जहाँ उसका खाली अंतरिक्ष यान गिरा था । उस जगह पर ऐसे ही किसी चीज से पहचान नहीं बनाएंगे । समकालीन प्रलेख समस्त मुद्दे को स्पष्ट कर देते हैं । कैप्सूल के उतरने के स्थान को रिकॉर्ड करने का मतलब प्रथम कॉस्ट नॉट का । आपने पैराशूट के नीचे अलग से नीचे आने की निश्चित गोपनीयता की स्वीकारोक्ति होते किन्तु सही स्थान गैर आधिकारिक तौर पर ही सही की जानकारी थी क्योंकि बच्चों का एक समूह वोल्गा नदी की एक सहायक नदी के किनारे घास के मैदान में खेल रहा था । उन्होंने खाली बॉल को एक खाई के नजदीक गिरते देखा था । इसके गिरने से उस स्थान पर एक गड्ढा बन गया है । आज वो गट्टा आस पास के घास के मैदानों के बहुत सिख गड्डों के समान ही नजर आता है । तमारा और अशियाना नाम की दो स्कूली छात्राएं इस विस्मयकारी चीज को देखने के लिए दौडती हुई आई तब हमें स्कूल में होना चाहिए था । लेकिन सभी लडके भाग खडे हुए । उन्होंने एक बॉल उडती हुई देखी थी । अशियाना बताती है ये भारी भरकम थी । ये नीचे गिरी, कुछ ली और फिर और एक ओल्ड टिक गई । जमीन पर एक बडा छेद था जहाँ ये पहली बार गिरी । लडके दौडते भागते इसके करीब आए और चढकर अंदर की ओर चले गए । ऍम के खाने पीने की कई छोटी छोटी नलियों को उठाकर वापस स्कूल ले गए और उन्होंने ही हमें बताया कि एक बॉल वहाँ उतरी । उन लडकों ने बडे गर्व से वहाँ मिली भोजन की नलियों को सभी को दिखाया । अशियाना कहती है, हमने से कुछ की किस्मत अच्छी थी क्योंकि हमें चॉकलेट मिल गई । दूसरों को आलू के पेस्ट मिले । मुझे याद है मैंने कुछ चुकें और ठोक दी । अब तक तो बच्चे वह कुछ बडे बढ चढकर बॉल के अंदर बाहर वो ऊपर नीचे कर रहे हैं । सैनिक सुरक्षा दल भी पहुंच गया । हालांकि उनकी संख्या पर्याप्त नहीं थी । हमारा के अनुसार उन्होंने हमें डराकर बताना चाहता हूँ । भाग यहाँ से उन्होंने कहा इसमें विस्फोट भी हो सकता है । उनकी धमकियों का हम पर कोई असर नहीं । वस्तुतः सातार ओह के नागरिकों के पास निशानी एकत्र करने के अवसर बहुत है । जमीन पर उतरने के बाद शीघ्र ही यूरी ने स्वयं को पैराशूट से अलग कर लिया था । उसे इस बात की चिंता थी कि हम उसे उडाकर ले जा सकती है । उसके शीघ्र बाद शीघ्र ही वह पैराशूट गुम हो गया जब की बॉल के अपेक्षाकृत बडे वितान के स्मृति चिन्ह रखने वालों ने टुकडे टुकडे करके अपने पास रख लिया है । कैबिन का भारी है चीज कहीं नीचे आ गिरा था । उसी तरह डिटेचेबल रेडियो ट्रांसरिसीवर वह सर्वाइवल गियर की अन्य वस्तुएं और बॉल के पैराशूट कम्पार्टमेंट को ढकने वाला दूसरा है । वो स्टोर के सभी सामानों की बरामदगी के साथ एक नई कहानी छुट्टी गई क्योंकि यूरी नहीं योजना के अनुसार रूस में ही लैंडिंग की । इसलिए राफ उसके बचाव व्यक्ति नहीं बंद रखा था । यदि वो समुद्र में होता है तो उसे इस की जरूरत पडी होती है । जाहिर तौर पर किसी ने बिना कोई आधिकारिक अनुमति लिए इसे निकाल लिया था और एक दो दिन के बाद वो इसे मछली पकडने के लिए वल्गा नदी में ले गया । के जी भी अधिकारियों का एक बडा दल वहां पहुंचा और उन्होंने वो स्टॉक की रह समेत चोरी गई चीजों को लौटाने के लिए कहा । उन्होंने सभी लोगों को गुम हुई चीजें न मिलने की सूरत में कठोर कानूनी कार्रवाई का शिकार बनाने की भी धमकी थी । विशेष पुलिस बल भी बुलाया गया पुलिस ने कहा, ये सभी चीजें शासन की है । हम उन्हें लेकर रहेंगे । उन्होंने सभी घरों में जाकर लोगों पर दबाव बनाना शुरू किया । यार उस लिए गोलोवानोवा ने बताया, अंततः केजीवी अधिकारियों ने एक मछुआरे से राफ्ट बरामद कर लिया । मछुआरे ने डरते हुए कहा, मुझे खेद है कि नाम टूट फुट गई है । केजीवी अधिकारी मछुआरे की बात को सुधारना चाहते थे । उन्होंने कहा, नाव अच्छे हालत में है । इसमें कोई टूट फुट नहीं हुई है । बात साथ थी । केजीवी के अधिकारी अपने उच्चाधिकारियों को ये नहीं बताना चाहते थे कि प्रथम अंतरिक्ष यात्री की ऐतिहासिक वस्तुओं से उनकी बरामदगी के पहले कोई छेडछाड की गई थी । यूरी ने जो ही अंतरिक्ष से उतरकर जमीन पर पैर रखा उसका सामाजिक दायित्व शुरू हो गया । उसे बूढी औरत और छोटी सी बच्ची को आश्वस्त करना पडा कि वह दुश्मन का जासूस नहीं है । स्मेल कोका के लडके जो उससे आकर मिले थे उन्हें वो याद रखना चाहता हूँ क्योंकि वो उसके साथ काफी मित्रवत पेश आएगा । इसके बाद वहाँ सेना पहुंच गयी थी और सेना के अधिकारी मेजर गासी उसके पास चल करेंगे । यूरी ने मुस्तैदी से उसे सलामी देते हुए कहा कांग्रेस नीचे यू ऍम रिपोर्टिंग । मेजर ने कहा सुनो तुम भी मेजर क्या? तो मैं नहीं मालूम । तुम्हारी उडान के दौरान तुम्हारी पदोन्नति कर दी गई थी । दोनों एक दूसरे से सहृदयतापूर्वक गले में दोनों सामान वर्ग के अधिकारी थे । गासी ने प्रश्नों की झडी लगा दी थी । इसके बाद ऊंचाई की कीर्तिमान की बात थी । स्पोर्ट्स अधिकारी इवान बोरी सिंह को यूरी से कुछ पहले आँखों पर उसके हस्ताक्षर चाहता था । सन में प्रकाशित एक विवरण में बोरी सेंको ने बताया, डिसेंट मॉड्यूल की बगल में यूरी खडा मुस्कुरा रहा । ये असंभव सा लगता है क्योंकि कैप्सूल लगभग दो किलोमीटर दूर पर था और बोरी सिंह को की यूरी से मुलाकात उसके अलग टचडाउन साइट पर हुई । होगी या फिर स्मेल कों का के बाहरी छोड पर किसी दूसरे खेल जहाँ एक विशाल हेलीकॉप्टर यूरिको नजदीक ही ईगल्स एयरबेस पर ले जाने के लिए तैयार खडा हूँ । लैंडिंग के कुछ ही देर बाद प्रथम अंतरिक्ष यात्री ने खुशी खुशी बोरी सेंको के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कर दी । हेलीकॉप्टर में यूरी ने सात बैठे सैनिक अधिकारियों के पूछे प्रश्नों का बडी विनम्रता और उत्साह से उत्तर दिया । धरती कैसी दिखती थी भारहीनता वो जानता था कि जहाँ कहीं भी जाएगा ऐसे ही प्रश्न पूछे जाएंगे । लेकिन बात करते वक्त वो कुछ क्षणों के लिए शांत हो गया । वो लोग गाँव के अनुसार उस ने कहा चाहते हो आपने पॉटहोल से मैं चंद्रमा का नजारा नहीं देख पाया । कोई बात नहीं । अगली बार मैं इसे जरूर देखूंगा । इसके साथ ही उसने खुशी से दूसरे प्रश्न का उत्तर दिया । जनरल स्टोर टैंको ईगल्स की हवाईपट्टी पर यूरी से मिला । इस मुलाकात ने गोलोवानोवा की उपस् थिति में इस प्रथम अंतरिक्ष यात्री के सामने एक और जटिल सी सामाजिक चुनौती पेश कर दी थी । यूरी आॅप्टिक को स्वतंत्र कराने की लडाई में एक ही कमांडर था तो मेरी याद तो होगी नहीं, मुझे आज नहीं है । यूरी से ऐसे उत्तर की प्रत्याशा उसे कतई नहीं थी । उसे बडा खराब लगा । फिर यूरी ने कुछ सोच कर कहा, मेरा मतलब है मुझे आपका चेहरा याद नहीं है । लेकिन मुझे ये बात याद है कि एक कमांडर उस लडाई में था । अरे तो भी थे क्या हैरानी की बात है? तुम तो मेरे दोहरे संरक्षक निकले । एक बार तुमने नाजियों से मेरे जीवन की रक्षा की थी और अब अंतरिक्ष से मेरी वापसी पर मुझ से मुलाकात हो गई । ये उत्तर ज्यादा संतोषजनक था तत्पश्चात । स्टोर टैंकों ने पूछा यदि तुम्हारी पत्नी को मॉस्को से तुम्हारे पास लेकर आने के लिए एक विमान भेज दिया जाए तो कैसा लगेगा? वेलेंटिना यहाँ जाए और फिर तुम दोनों साथ साथ घर के लिए उडानभर । एक और विचित्र समस्या एक वरिष्ठ अधिकारी की ओर से किए गए ऐसी सर इस प्रस्ताव को कैसे इंकार किया जाए? यूरी ने कहा, ऐसा सोचने के लिए आप का बहुत धन्यवाद । जनरल लेकिन खेद है, ऐसा संभव नहीं है । वालिया इस वक्त हमारी नवजात बेटी की सेवा में लगी है ।

16. Taste of Success

स्ट्रेचिंग को गैगरीन को एयरबेस अधिकारी के क्वार्टर में ले गया जहां उसे अपने परिवार से फोन पर बात करने और फोन पर ही आपने फर्स्ट सेक्रेटरी को अपनी कामयाबी की रिपोर्ट देने का अवसर मिल गया । यूरी ने काफी सावधानी को रुकवा देंगी क्योंकि उसे अच्छी तरह मालूम था कि उसका प्रत्येक शब्द आने वाली पीढी के लिए इतिहास में दर्ज होगा । तुम्हारी आवाज सुनकर खुशी हुई गैंगरेप निखिता मुझे रिपोर्ट करते हुए खुशी हो रही है की पहली अंतरिक्ष उडान सफलतापूर्वक पूरी हो चुकी हैं । क्रिश्चिन कुछ देर तक तो अधिकारी के लहजे में बात करता रहा हूँ लेकिन बहुत देर तक वो अपने आप को आम स्तर के प्रश्न पूछने से नहीं रोक सका । उडान के दौरान तो मैं कैसा लगा? अंतरिक्ष में कैसा लगता है? मुझे अच्छा लगा । मैंने काफी ऊंचाई से धरती को देखा । मुझे समुद्र, पर्वत, बडे शहर, नदियाँ और जंगल नजर आ रहे थे । क्रिश्चियन काफी खुश लगा । उसने कहा इस खुशी को हम सभी सोवियत वासियों के साथ मिलकर मनाएंगे । अब दुनिया हमारी तरफ देखे और समझने की हमारा देश कितना सक्षम । वह समर्थ हैं । हमारे महान लोग और हमारे सोवियत का विज्ञान क्या कर सकता है । यूरी ने भी कर्तव्य निष्ठापूर्वक इसी भाव की प्रतिक्रिया नहीं हूँ । अब दूसरे देश कोशिश करें और हम से आगे बढने की सोचे बिल्कुल अब पूंजीवादी देश हमसे मुकाबला करें । उसके वरिष्ठ सहायक जोडो रॅाकी के मुताबिक कृष्य यूरी के जवाबों की प्रफुल्लता वह उत्साही स्वभाव से काफी प्रभावित था । मॉस्को में दो दिवसीय शानदार सार्वजनिक समारोह के दौरान यूरी से मिलने की प्रतीक्षा नहीं । प्यूरी ने कहा धन्यवाद निकिता मुझ पर विश्वास करने के लिए मैं आपको एक बार और धन्यवाद देता हूँ और विश्वास दिलाता हूँ कि अपने देश के लिए आगे भी कार्य करने के लिए तत्पर रहूंगा । शायद वो चंद्रमा के विषय में सोच रहा है । आखिर कोरोलेव ने उसकी उडान से पहले उसके हाथ में चंद्रमा अंतरिक्ष यान का एक स्मृति चिन्ह रखकर कहा था कि एक दिन वो वास्तविक अंतरिक्ष में पहुंच सकता था । ईगल्स में ठहरने के दौरान उन जरूरी फोन वार्ताओं के बाद यूरी ने कुछ देर आराम किया । तत्पश्चात उसने इल्यूशिन चौदह विमान से कोई विशेष जो कि आज का समर है वहाँ के लिए उडान भरेंगे जो वोल्गा नदी पार सातारा से साढे तीन सौ किलोमीटर उत्तरपूर्व स्थित है । यहाँ एक या दो दिन आराम करने के बाद चौदह अप्रैल को वो मॉस्को के लिए रवाना होगा । यूरी कि रॉकेट के लॉन्च पैड छोडने के ठीक एक घंटे बाद टिप टॉप गलाई काम आने और प्रतिनिधिमंडल बैकोनूर से एंटोनोव बारह विमान से कोई भी शेव के लिए रवाना हो चुके थे । इस विमान में कोरोलेव नहीं था । वो एक सुदूर रेडियो स्टेशन से संचार यानी कम्युनिकेशंस की मॉनिटरिंग करते हुए उन यानों के विषय में सुन रहा था जो वो स्टॉक की कक्षा और उतरने के अंतिम चरण को ट्रैक कर रहे थे । टिटोली का मिजाज कुछ खडा हुआ था । हम कोई विशेष एयरबेस पर उतरे जो कि यात्री विमान बनाने का एक बडा कारखाना था । इसके बाद इल्यूशिन चौदह से यूरिया गया । उसे सातारा उस क्षेत्र ले जाया गया । वो सेना के जंगलों से घिरा था और मैं उनके सामने मात्र एक वरिष्ठ लेफ्टिनेंट । लेकिन मैं ये जानने के लिए उत्सुक था कि भारहीनता कैसी होती है । यूरी गैंगरेपर चलकर आगे बढ रहा था । मैंने सभी को धकेलकर किनारे कर दिया । सभी ने मेरी तरफ देखा । ये पागल लेफ्टिनेंट कौन है? उन्होंने कहा है, हम अन्य काॅल्स बडे गोपनीयत लग रहे थे लेकिन मैं यूरी के पास पहुंच गया । भारहीनता का अनुभव कैसा था? मैंने पूछा ठीक था उस ने कहा था उसकी उडान के बाद यही हमारी पहली मुलाकात एयरफील्ड घेराव के बाडे उत्सुक दर्शकों के वजह से चुके जा रहे थे जिन्हें मालूम था कि क्या होने वाला था । जब जूरी की कार एयरबेस से निकलकर मोटर साइकिल सवार पुलिस की सुरक्षा में शहर के प्रमुख मार्ग से गुजरी तब सारा कोई विशेष शहर उत्साही भीड की गहमागहमी से भरा था । भीड में से ही किसी ने यूरी की कार के पहियों के बीच से एक साइकिल फिर क्योंकि वे लोग चाहते थे कि यूरी रूककर उनसे कुछ बोले टिटो कार नहीं था । वो कहता है, मैं नहीं जानता कि कार क्षतिग्रस्त हुई थी या नहीं लेकिन लोग उसे देखना चाहते कोई विशेष की सीमा पर वो लगा के किनारे एक विशेष ढांचा तैयार किया गया ताकि यूरी का चिकित्सीय परीक्षण हो सके और एक दिन आराम करने के बाद चौदह अप्रैल को सुबह मॉस्को के लिए रवाना हो सके । लेकिन युवा नेवस्की को उससे वहाँ की हुई मुलाकात और गले में ना याद है । मैंने उससे पूछा तो मैं कैसा लग रहा है? उसने जवाब दिया अपना तो बताओ जब लॉन्च पैड पर तुमने हैच खोला तब तो मैं अपने आप को देखना चाहिए था । तुम्हारे चेहरे पर तो इंद्रधनुष के सारे रंगों बनाए थे । हर कोई उस की तरफ भागा चला रहा था । लेकिन मैंने अपना आपा नहीं खोया । मैंने उस दिन सुबह प्रथम पेज पर छपे उसके हेलमेट पहने फोटोग्राफ बगल में कुछ शब्द लिखती है । वोस्टोक से जुडा हर व्यक्ति उसके पास आता जा रहा था और पूछता है क्या वो वो स्टॉक के उनके अपने विशेष उपकरण के विषय में कुछ कहना चाहता था । किसी तरह यूरी ने स्नान करने का समय निकाला । तत्पश्चात बोलेगा नदी के किनारे टहलता रहा । इस दौरान वो बीच बीच में साथ चल रहे लोगों से भी काफी खुशमिजाजी । वह सहयोगात्मक अंदाज में बात करता जा रहा था । एक प्रारंभिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उसने अंतरिक्ष से पृथ्वी के नजारे के विषय में अपने अनुभव सुनाए । पृथ्वी का दिन वाला भाग साफ नजर आता था । महाद्वीपों के तट, टापू, बडी नदियां, जल की विशाल सतहें मैंने पहली बार अपनी आंखों से पृथ्वी का गोलाकार रूप देगा । मुझे बताना ही होगा कि क्षितिज का दृश्य अनुपम वह खूबसूरत था । इसके बाद उसने कक्षा से सूर्यास्त के नजारे के विषय में और पृथ्वी के वायुमंडल की एक छोड से देखी गई और विश्वसनीय नाजुकता के विषय में बतलाया । आप पृथ्वी के चमकीले पन से अंतरिक्ष के अंधेरेपन के रंगीन परिवर्तन को एक पतली विभाजन रेखा के रूप में देख सकते हैं, जो ऐसा महसूस होता है मानो फिल्म की एक परत में पृथ्वी की गोलाई को लपेट दिया गया हूँ । ये हल्के नीले रंग की दिखाई पडती है और इसका परिभ्रमण अत्यंत धीमा और प्यारा लगता है । जब मैं पृथ्वी की छांव से बाहर आया तो क्षितिज रेखा के साथ साथ चमकीली नारंगी रंग की पट्टी नजर आई जो नीले और फिर गहरे काले रंग में तब्दील हो गई । कुछ पत्रकार और कुछ काॅफी नब्बे मिनट वोस्टोक का आधारभूत कक्षीय काल के अंतरिक्ष काल में सुर्योदय और सुर्यास्त विवरण से सहमत होने में संकोच प्रकट कर रहे थे ही, बहुत से लोग पृथ्वी की छांव के प्रति उसके तात्पर्य को समझ सके । अंतरिक्ष उडान का साहसिक अभियान जो आज इतना सामान्य माना जाता है, सन में काफी जादुई और विचित्र लगता था । शाम को जब उसके सभी सहकर्मियों को भेजा जा चुका था । यूरी ऍम टू घर मंटो के साथ बिलियर्ड्स में हम आ रहा हूँ । टी तो स्वीकार करता है । मुझे अभी भी इच्छा होती है बिल्कुल अभी तक मेरा चरित्र बहुत ही विस्फोटक है, में आसानी से रूखे शब्दों का प्रयोग कर सकता हूँ । किसी की भावनाओं को आहत कर चलता बन सकता है । लेकिन यूरी सभी से खुलकर बात करता है । चाहे वो स्काउट के लडके, कर्मचारी, वैज्ञानिक, कृषक कोई भी हूँ उनसे घुल मिल जाता है । इन बातों से मुझे दिशा होती थी । फिर भी दोनों पायलट दोनों में हमेशा यह बात बराबरी की रहेगी और एक दूसरे के प्रति प्रेम नहीं तो सम्मान रहेगा ही । बिलियर्ड्स खेल रहे थे । उस दौरान यूरी अपनी यात्रा के विषय में जो कुछ बता रहा था घर मान बडी रूचि से सुन रहा था । कुछ सफलता जिसे आज इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए याद रखा गया है उससे कम से कम अगले कुछ महीनों में कॉस्ट टू अंतरिक्ष में उडान का अवसर निश्चित हो सकता था । वो स्टॉक सफल हो चुका था और अब कोरोलेव के लिटिल सेवन के अब ज्यादा विश्वसनीय तरीके से काम करने की संभावना नहीं । किंतु ढांचा के बिलियर्ड कक्ष के सार्वजनिक स्थल होने के कारण इक्विपमेंट मॉड्यूल्स के असफल होने के विषय में यूरी पूरे विवरण नहीं दे पाया होगा । यही एक कमी रह गई । जिसका पता स्वयं यूरिको लगाना पडा हूँ, उसे यूरी द्वारा विशेष रूप से इसके बारे में दी गई चेतावनी याद नहीं है । एक अडियल पत्रकार ने बिलियर्ड्स की हल्की रोशनी में यूरी के जाने से पहले उस की कुछ तस्वीरें खींच ली थी तो मैंने कहा निश्चित ही वही तस्वीरें मेरे लिए अब काफी है । चाय ये तस्वीरें पर्याप्त नहीं अगले दिन करो ले ऍम कमेटी के अन्य सदस्य ढांचा पहुंचे और यूरी से उसकी उडान के सक्षी ली । बंद कमरे में उसने रेट्रो पैर की समस्या को खुलकर विस्तारपूर्वक बताया । आज तक इस बात का कोई स्पष्टीकरण नहीं । छह अगस्त को टिक टोक की उडान के समय पर इस मुद्दे को हल क्यों नहीं किया गया? पीछे के इक्विपमेंट मॉड्यूल से डेटा केलों को सत्रह दिन वाले प्लग से होकर बॉल पर लगी बडी गोल प्लेट पर घुसेडा जाता है । प्रत्येक दिन में छोटी दिनों का संग्रह होता है जिससे कुल मिलाकर अलग अलग अस्सी कनेक्शन तैयार किए गए थे । ऐसे जटिल प्लग को इंजॉय करना साधारण बात नहीं थी । रूसी अंतरिक्ष प्रयास के प्रारंभिक वर्षों में किसी तरह की आधारभूत तकनीकें रूसी अंतरिक्ष प्रयासों के प्रारंभिक वर्षों में किसी तरह की आधारभूत तकनीकी समस्याएं आ जाया कर दी नहीं । अमेरिका में नासा के इंजीनियरों ने भी उडान के बाद रीएंट्री केप्सूल के अलग होने की कठिनाई को पहचाना । रूस की तरह उन्होंने भी कैप्सूलों को उनके सपोर्ट मॉड्यूल से जोडने के लिए वायर के मोटे मोटे बंडलों पर भरोसा किया । इसमें खास अंतर यह है कि उनके लोगों के काम न करने की स्थिति में वो विस्फोटक बोर्ड से ऊर्जा ग्रहण करने वाली जिलेटिन ब्लेड अंबिली कल बंडलों को स्लाइस कर सकते हैं । यदि वो ब्रेड भी काम न करें तो दूसरे से काम चलाया जा सकता था । भारी लोगों की अपेक्षा लचीले तारों से ज्यादा आसानी से निजात पाई जा सकती है । अपनी फितरत से हटकर कोरोलेव के दिमाग में ये समाधान नहीं टकराया और ऍम से कुछ ज्यादा सुसज्जित चौदह अप्रैल की सुबह यूरी मॉस्को के लिए रवाना हो गया । वो लंबी उडान में सक्षम क्यो शिन अठारह एयरलाइनर के गैंग पर चढ गया । कुछ हफ्ते पहले तक वो इसे आईएल अठारह कतई न कहता था । मॉस्को की उडान के दौरान उसका ज्यादातर समय पत्रकारों के प्रश्नों का जवाब देने में बीत गया । कॉकपिट पर लगे रेडियो के माध्यम से लगातार बधाई संदेश आ रहे थे और एयरक्राफ्ट के स्टाफ बारी बारी से उससे कुछ बात करने के लिए यात्री केबिन में आ रहे हैं जो ही चार घंटे की लगातार उडान के बाद विमान अपने गंतव्य पर पहुंचा हूँ । यूरी ने आराम से खिडकी से बाहर जाकर देखा तो पाया उसकी पुरानी जिंदगी तो ऊपर आकाश में गुम हो गई और धरती पर एक नई जिंदगी उसका इंतजार कर रही नहीं । हमें लडाकू विमान के दस्तों के साथ मॉस्को में हमारी लैंडिंग तक ले जाया गया । ये सभी मैं एक विमान थे । वहीं जिले में पहले उडाया करता था । ये विमान हमारे इतने नजदीक आ गए कि मैं पायलटों के चेहरे की स्पष्ट पहचान कर सकता था । वे खुशी से मुस्कुरा रहे थे । मैं भी उनकी ओर देखकर मुस्कुराया । मॉस्को की सडकों पर लोगों की भारी भीड जमा थी । शहर के प्रत्येक हिस्से से मानव लोगों की नदियां बह रही थी और उनके ऊपर क्रैमलिन की दिशा में लाल बैनर लहरा रहे थे । ऍम अपेक्षित समय से पहले व नुकोवा एयरपोर्ट पर उतर गया । यूरी को कुछ समय तक विमान में ही तब तक बैठे रहना पडा जब तक पूर्वनिर्धारित समारोह शुरू नहीं हो गए । यूरिको खुशी के साथ साथ चीज भी महसूस हुई । नीचे धरती पर वैलेंटीन बोरिस सोया वाॅक मॉस्को में निकिता ख्रुश्चेव उसकी पत्नी नीना से मिल चुके थे । वहीं उन्हें अन्ना फालिया भी मिले थे । जोया को फर्स्ट सेक्रेटरी वह उसकी पत्नी का व्यवहार बहुत ही सहानुभूतिपूर्वक लगा । वो हमारे प्रति बिल्कुल साधारण अनौपचारिक था और उसने अपना सारा समय हमारे साथ गुजारा । हमने मॉस्को में चार दिन बिताएंगे और प्रतिदिन सुबह नहीं ना हमारे पास आ जाया करती थी और दोपहर को लौट थी । ये बडी अच्छी स्थिति थी । सबसे पहली औपचारिक घटना एयरपोर्ट पर संपन्न हुई । हमको चार आराम करने के लिए मॉस्को में ठहरे । तत्पश्चात चौदह तारीख को हमें यूरी से मिलने के लिए वनों को वाले जाया गया । उन्होंने एक लंबी लाल कालीन बिछा रखी थी । ऍम को बताया सामान्यतय नीले रंग का होता है । यूरी गैंगवे से नीचे उतरकर कालीन पर आ गए । मेजर की नई वर्दी और हरे रंग की कोर्ट में वो हर नजरिये से हीरो नजर आ रहा था । लेकिन तभी जोया को कुछ अजीब सा महसूस हुआ । मुझे जमीन पर उसके पीछे कुछ खींच कराता हुआ हूँ । ये उसके एक जूते का लेना था । यूरी को भी इसका आभास हो गया था लेकिन उसने चुपचाप शेष दूरी इसी तरह ये प्रार्थना करते हुए ते की कि कहीं उसमें फंस कर वो गिर ना पडे और ऐसे संजीदा मौके पर लोगों की हंसी का शिकार । बाद में उसने वैलेंटीन को बताया कि उसे अंतरिक्ष उडान के दौरान उतनी निराशा नहीं हुई जितनी उस दिन कालीन पर चलने के दौरान हुई । लेकिन सहयोग वर्ष उस प्लेस पर उसका पैर नहीं पडा । उसके जूते के लिए इसको आज भी उस दिन तैयार किए गए एक स्मरणोत्सव चलचित्रों में देखा जा सकता है । अंतरिक्ष यात्रियों के अधिकृत कैमरामैन व्लादिमीर सुबह रोज ने अपनी डायरी में लिखा है कि उस जूते के खुले लेस वाले दृश्य को हटाने, वह यथास्थिति में रखने के संबंध में बाद में बहुत ज्यादा तर ट्विटर हुआ । अंततः यूरी की जिद पर उन दृश्यों को उसकी मानवता की पहचान के रूप में रहने दिया । यूरी मुस्कुराते हुए फूलों से सजे स्वागत मंच पर पहुंचा, जहां नहीं किताब पार्टी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने उसका स्वागत किया । तत्पश्चात वो अपने परिवार के लोगों से मिला है । वाल्या पंक्ति में खडी होकर उसे आलिंगन करने वह चुम्बन लेने के इंतजार में थी । ऍम और अन्ना साधारण ग्रामीण शैली के वस्त्र पहने हुए थे । उन्हें कुछ शहरी अंदाज की पोशाक पहनने के लिए भी मना किया गया हूँ । लेकिन खुश्चेव की इच्छा थी कि वे सीधे साधे । खेतिहर किसान तबके के ही नजर अन्ना की आंखों में गर्व खुशी के आंसू छलक आए । यूरी को ये आभास था कि अंतिम दिन जब उसे ये खबर मिली होगी तो कितनी सहम गई होगी । उसने रुमाल से उसकी आंखें पहुंची और बचकानी से आवाज बनाते हुए कहा, लोग मतलब मैं दोबारा ऐसा नहीं करूंगा । वालों को वो का समारोह कुछ ही देर का था । उस दिन का ज्यादा अहम समारोह मध्य मॉस्को में रखा गया था । गैगरीन वक्त निश्चय परिवार काली जेल लिमोजिन में सवार होकर रेड स्क्वेयर की ओर बढ गए । जो यह सोच रही थी कि यदि उसकी ख्याति लब्ध भाई को आराम मिल जाता है तो हमेशा की तरह खूबसूरत वो ऊर्जावान नजर आता है । उस दिन यूरी को बडा दुर्लभ विशेषाधिकार दिया गया था । एक निजी ड्राइवर ने अधिकारियों से ब्रांड न्यू गोलघर ट्वेंटी वन कार हासिल कर ली थी । जो आधुनिकतम वह सर्वाधिक फैशन वाली एक्सेसिरीज से परिपूर्ण थी । थर्ड ऍम अब से वो और उसका स्थायी रूप से मेजर गैगरीन के पास नहीं । सर जी कोरोलेव की उतनी अच्छी तरह आवभगत नहीं हुई थी । उसने भी गैगरीन से वन गोवा में मुलाकात की थी । लेकिन चीज डिजाइनर प्रमुख स्वागत समूह की ओर खडा था । खुश्चेव ने उस व्यक्ति की सेवा को मान्यता देने के लिए कोई खुलेआम घोषणा नहीं की थी । जब की इस कामयाबी के पीछे किसी भी दूसरे व्यक्ति की अपेक्षा उसका योगदान कहीं बढकर था । कुरुली कुछ चमचमाती हुई नहीं बोल काका नहीं देंगे । उसने एक विदेशी दूतावास से एक पुरानी चौका लिमोजीन खरीद ताकि कम से कम एक शैलीगत तरीके से वो वालों को वहाँ पहुंच सके क्योंकि किसी और को से इस अंदाज में पेश करने की चिंता नहीं थी । वो एक स्टेट सीक्रेट था । उसके विषय में खुलकर बोला भी नहीं जा सकता था तो सार्वजनिक तौर पर सामने लाना तो बहुत बडी बात है उसे उसके अपने तमगे पहनने की भी बनाई थी । दुर्भाग्य वर्ष उसकी साॅफ्ट टूट जाने के कारण मॉस्को के रास्ते में ही इसमें धोखा दे दिया । हारकर उसे ट्रेड फेयर के लिए एक साधारण से वाहन में लिफ्ट लेनी पड । इस महान समारोह में शिरकत करने वाले वैज्ञानिकों, सैनिकों, अधिकारियों, शिक्षाशास्त्रियों, वार, राजनेताओं जैसी बडी हस्तियों की सूची में कुलिंग का नाम नहीं था । उसका सहकर्मी सर्जरी आज कहता है कि करौली की स्थिति बहुत ज्यादा अनुचित थी और यूरिको इसका दुख भी था । नोबेल पुरस्कार की समिति ने भी जानना चाहा कि क्या वे दुनिया का पहला उपग्रह बनाने वाले वह अंतरिक्ष में प्रथम मानव भेजने वाले व्यक्ति को पुरस्कृत कर सकते हैं, लेकिन आधिकारिक तौर पर इस प्रश्न का कोई जवाब नहीं दिया है । आज भी इस अन्याय की क्षतिपूर्ति नहीं की गई है । रेड्स फेर में यूरी और उसका परिवार ग्रुप जैव अन्य पार्टी नेताओं के साथ कम्युनिस्ट शक्ति के पारंपरिक शीर्ष पर खडा था । प्लेनिंग के विशाल स्मारक के ऊपर बने स्टैंड पर ऊपर हेलिकॉप्टरों से शहर के प्रमुख मार्गों पर लीफलेट गिराए जा रहे हैं । रेड आर्मी स्पेयर के खाली हिस्से में मार्च पास्ट कर रही थी । वहाँ पहुंचे खुशी से मदमस्त भारी समुदाय के लिए रखा गया था । जीवेम डिपार्टमेंट स्टोर के सामने के हिस्से को लेने में विशाल पोर्ट्रेट से ठक्कर ये नारा लिखा गया सामने वाद के विजय की प्रस्ताव । आज वो विजय कम से कम संभावनाओं की सीमा के अंदर उस दिन की गरिमा के लिए केवल इतना ही प्रचार बहुत नहीं था बल्कि और भी बहुत कुछ किया जाए । सोवियत यूनियन ने एक इंसान को अंतरिक्ष में भेजा । निकिता ख्रुश्चेव का वरिष्ठ एवं भाषण लेखक जो डोर पर लटकी अपने संस्मरण में बताता है । मेरी आंखों में आंसू थे और सडकों पर अनेक लोगों की आंखें बंद है । ये खुशी के आ सकते हैं । सर्वप्रथम तो एक इंसान आकाश में ईश्वर के प्रदेश में उड रहा था और जो सबसे अहम था वो ये कि वो रूसी था । उस दिन उत्सव का मिजाज स्वाभाविक लग रहा है । आम तौर पर रूस में स्टालिन के समय और खुशियों के समय भी लोकप्रिय भावनाओं के इन आयोजनों का बडी जोर शोर से प्रदर्शन किया जाता था । किन्तु इस आयोजन में ऐसा नहीं था । यह तो स्वाभाविक वह सोवियत यूनियन के प्रतिशत लोगों के दिलों के भावों की अभिव्यक्ति थी । टिटो प्रथम समूह के कई फॅसने सादे लिबास में इन समारोहों में शिरकत की । उन्हें लेनिन के स्मारक के शीर्ष पर यूरी के साथ खडे होने का मौका नहीं दिया गया इसलिए भी जमीन पर ही रहे हैं । मैंने लोगों को इससे आपको शोर करते मुस्कुराते हुए देखा । उन्होंने छोटे बच्चों को मंच की झलक दिखाने के लिए कंधों पर उठा रखा था । जूरी बडी शासकी हस्तियों के बीच स्मारक के शीर्ष पर खडा टिटो बताता है । उसे वहाँ देखकर बडा आश्चर्य होता । केवल इसी समय मुझे इस घटना की एहमियत का एहसास हर एक व्यक्ति भावुक हो था । सभी खुश थे । सारी दुनिया ही खुश थी । आखिर इंसान के कदम अंतरिक्ष में जो पढ चुके थे । एक असामान्य घटना यूरी ने मंच से अपना भाषण दिया । उसके भाव वैसे ही थे जैसे कि आमतौर पर ऐसे अवसरों पर देखे जाते । लेकिन उसके शैली में वहीं स्वाभाविक प्रसन्नता वन निष्ठा झलक थी जो सादा से उसके व्यक्तित्व का हिस्सा रही थी । उसके उद्बोधन में साम्यवादी धारणाएँ एक पल के लिए जीवन थी । हाँ ।

17. Kamiyabi ki Utsab

निष्कर्ष में यूरी ने कहा, मैं निकिता ख्रुश्चेव द्वारा हम सोवियत वासियों के प्रति जगाए गए पिता तुल्य प्रेम को विशेष रूप से व्यक्त करना चाहूंगा । मेरी लैंडिंग के कुछ मिनट बाद ही मेरी अंतरिक्ष उडान की कामयाबी पर आपने ही मुझे सबसे पहले बधाइयाँ दी थी । निकिता ख्रुश्चेव के नेतृत्व में बढ रही सामने वाली पार्टी को छाती मिलती है । यूरी के आभार प्रदर्शन का उद्बोधन काफी निकोलता वन निष्ठापूर्वक खुशी से झूमते विशाल जनसमूह को दिया गया था । ये बिल्कुल वैसा ही था जैसा फर्स्ट सेक्रेटरी सुनना चाहता हूँ । उसी क्षण से ये युवा कॅश उसका पक्का राजनीतिक चहेता बन गया । गर्व और खुशी से फूला न समाते हुए वो अपनी आंखों से खुशी के आंसू पहुंचते हुए क्रिश्चियन बार बार यूरी को गले लगाते नहीं थक रहा था । फिर उसने अपना भाषण दिया, जिसे वहाँ उपस्थित जनता ध्यानमग्न होकर सुन रही नहीं । भाषण के बीच जोरदार तालियां उसके समर्थन में नारे लगाए जाते हैं । हम कल्पना कर सकते हैं कि चौदह अप्रैल को सोवियत यूनियन ने सच मुझे स्वयं पर यकीन क्या? इधर खुश्चेव को ऐसे प्रदर्शनों से जनता की निष्ठा हासिल करने का तरीका मालूम हो चुका था । उसके नेतृत्व की आशावादी शैली में समाजवादी क्रांति का रक्तरंजित संघर्ष काफुर सा हो गया महसूस होता हूँ जो जब स्टैलिन नहीं मौत के दर्द के आधार पर लोगों में आज्ञाकारिता का भाव पैदा किया । लेकिन क्रिश्चियन बिना कष्ट दिए प्रेम का पात्र बनने की मनोवृत्ति के कारण स्टैलिन से कई गुना कम कठोरता सत्ता में आने के बाद उसने स्टैलिन की क्रूरताओं की अर्चना करने से भी परहेज नहीं किया था । ये अपने आप में बहुत बडा राजनीतिक जोखिम था क्योंकि पुराने साम्राज्य के बहुत से रहे गए प्रशासकों में अब भी पार्टी के प्रभावित करने का दमखम था और वो ये बात सुनना कतई पसंद नहीं करते की स्टालिनवाद के झंडे के नीचे उसके प्रयास गलत थे । आज यूरी की दुनिया को हिलाकर रख देने वाली उपलब्धि केशरी के बाद क्रिश्चयन का कोई पाल भी बांका नहीं कर सकता था । अब इस बात में जरा भी शक की गुंजाइश नहीं थी कि वह युवक जिसने ये हैरानी में डाल देने वाली जीत उसे हासिल कराई थी, उसे आगामी महीनों और सालों में फर्स्ट सेक्रेटरी से खुशी खुशी व्यक्तिगत आभार के तौर पर लाभ होंगे । दुर्भाग्य वर्ष बतौर मित्र खुश चयन का विश्वास हासिल करने के साथ ही यूरी के प्रतिस्पर्धी दुश्मन भी बढने लग गए । जब खुश्चेव के डिप्टी फॅसने नुकोवा एयरपोर्ट पर यूरी को बधाई दी और रेड स्क्वेयर पर स्मारक के शीर्ष पर उसका स्वागत किया तो औपचारिक रूप से उसने कांग्रेस शिप और निष्ठा तो दिखाई लेकिन उसकी शारीरिक हावभाव जो उस घटना पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म के रूप में संरक्षित हैं, उसके मन के विपरीत मनोभाव को दर्शाते हैं । अक्टूबर में उसके प्रथम अंतरिक्ष यात्री के साथ मतभेद शीघ्र ही खुश्चेव की सत्ता पर पकड के साथ खत्म हो जाते हैं । शाम को क्रैमलिन के जॉर्ज दिवस की हॉल में शाही भोज आयोजित किया गया था । ये बोझ आशा के विपरीत छह घंटे तक चलता रहा । पीडिता उत्साह बहुत गर्व युक्त, संयम की कोई सीमा नहीं और खुश्चेव ने इस समारोह का पूरा फायदा उठाया । भोज के दौरान धोखा और फटेहाल वेलेंटीन उत्साह में खोकर भोजन शराब पर टूट पडा । एक बडी गोल मेज पर सभी तरह के पकवान रखे गए थे । यूरिको कॉर्डन स्टार और ऑर्डर ऑफ लेने से नवाजा गया था । सबसे आखिर में उसे खोली फादर्स के द्वारा बधाई दी गई । उनमें से एक ने पूछा जो रिंग क्या तुमने धरती के काफी ऊपर जीजस क्राइस्ट को देखा? उसका जवाब था, खुली फादर, आप मुझसे अच्छा जानते होंगे कि मैंने उन्हें देखा होगा या नहीं । यकीनन यौन मत निकिता ख्रुश्चेव की अपनी अभी तक की सबसे बडी उत्साही दिनचर्या । उनमें से ये एक थी फॅसने आशावादिता के उस मिजाज को अपने संस्मरण में लिखा है । उस ने घोषणा कर दी की हमारी पीढी सच्चे सामने बाद में रहने जा रही है । हम एक दूसरे से गले मिल रहे थे, जयघोष कर रहे थे, खुर्रा चला रहे थे । सच मुच हमें उसका यकीन हो रहा था क्योंकि उस वक्त हमारे देश की कामयाबी दुनिया को साफ नजर आ रही थी । आगे चलकर काफी बाद में जब हम बडे हुए पर हमें आर्थिक वास्तविकताओं की कुछ जानकारी हुई तब जाकर कहीं हमें समझ में आया कि क्रिश्चियन की घोषणाओं में उतनी परिपक्वता नहीं थी । अप्रैल के अंत तक यूरी की चेकोस्लोवाकिया कुल गैरिया तत्पश्चात फिनलैंड की विदेश यात्रा में व्यस्त दिनचर्या चलती है । जून में वो वाली या तो बच्चों के साथ एक जरूरी अवकाश पर मॉस्को लौट आया । यद्यपि अब भी वो लगातार पहुंच रहे पत्रकारों को साक्षात्कार देने का समय निकाल लेता था । एक भारतीय लेखक ख्वाजा अहमद अब्बास ने यूरी का अवलोकन इन शब्दों में क्या है उसे हर जगह मैं ऑफ मोमेंट कहकर संबोधित किया जा रहा था, लेकिन जब मेरा उस से आमना सामना हुआ तो हमारी मुलाकात नीरज रही । दरवाजा खुला और दुनिया के सबसे ज्यादा पब्लिसिटी हासिल करने वाले शख्स ने अंदर कदम रखता हूँ । मैं उसे पहचान भी नहीं सकता । उससे हाथ मिलाते वक्त मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि ये छोटे कद काठी का इंसान अंतरिक्ष शुभ का हीरो हो सकता है । अपने आकर्षक वर्दी में भी कोई जूनियर अधिकारी ही नजर आता था जो मानो असली हीरो की घोषणा करने के लिए आ गया हूँ । यूरी के व्यक्तित्व के आकर्षण का अब्बास पर शीघ्र ही असर हुआ और यूरी के प्रति उसका रुख सकारात्मक हो गया । उस पत्रकार को शुरू में निराशा हुई होगी लेकिन प्रथम अंतरिक्ष यात्री के स्वाभाविक रवैये से वो बहुत प्रभावित हुआ हूँ । आखिर क्रिश्चयन और उसके सलाहकारों ने भी यूरी को कुछ देख सुनकर ही इस ऐतिहासिक कार्य के लिए चुनाव हूँ । नौ जून को दो ब्रिटिश पत्रकार बिल फ्रेंड बचट और एंथनी थोडी ने मॉस्को में फॅस क्लब में यूरी से मुलाकात की और उसके उत्साह, गर्मजोशी से हाथ मिलाने और अपने प्रश्नों के मिले विश्वासपूर्ण उत्तरों से पेट प्रत्यक्षण प्रभावित हुए । बिना नाॅट उन्होंने यूरी को बताया कि वे उसके साहसिक कार्यों तो उपलब्धियों पर किताब लिखने जा रहे थे । यूरी ने उन पत्रकारों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यदि लेखक के रूप में उनके निश्चय में कुछ करने का जज्बा है तो अंतरिक्ष में पहुंचने वाले दूसरे व्यक्ति को लेखक ही होना चाहिए । इसके बाद नासा के अभियानों के विषय में चर्चा होने लगी । यूरी ने मर्क्यूरी प्रोजेक्ट पर सतही तौर पर चुटकी जिसने पांच मई को अंतरिक्ष में फॅमिली के साथ मात्र पंद्रह मिनट उप कक्षीय उछल कूद की थी । दोनों पत्रकारों ने कहा कि अमेरिकी कैप्सूल में कंट्रोलर्स फॅस और नेविगेशन सिस्टम ज्यादा नवीनतम प्रणाली के प्रयोग किए गए हैं ताकि ये फोर्ड इस यंत्र को वोस्टोक के पायलट की अपेक्षा ज्यादा विस्तार से चला सकता है । ये बात बिल्कुल सही थी, लेकिन यूरी ने मर्करी मिशन द्वारा तय की गई कम अवधि पर ध्यान केंद्रित करते हुए ये सवाल को टाल दिया । उसने चुनौती देते हुए कहा, आखिर पांच मिनट का कितनी ड्राइविंग कर सकते थे और मैनुअल कंट्रोल की बात ही कह रह जाती है । यदि मैं चाहता तो मैं वोस्टोक को अपने हिसाब से चला सकता था । उसमें दोहरी नियंत्रण प्रणाली थी, लेकिन मैनुअल विकल्प जरूरी या अहम नहीं था । किसी पायलट के लिए ऐसे बात करने का मतलब है कि आवश्यक कौशल का कोई मतलब नहीं था । पत्रकारों ने इस बात को बदलते हुए कहा कि मर्करी के कैबिन के उपकरण वोस्टॉक के कैबिन उपकरणों से बेहतर है । ये बात भी काफी हद तक सच चोरी ने कहा दोनों की आपस में तुलना करना कठिन है । ऍम काफी बडा है और इसके इंजन का ट्रस्ट अपेक्षाकृत काफी अधिक है । हमने इस की तुलना में अधिक ऊंचाई पर ज्यादा गति से और ज्यादा अवधि तक यात्रा की । बच्चे और पूडी ने पूछा कि उसकी उडान के दौरान सबसे बुरा क्षण कौनसा था रीएंट्री का उसने बेहिचक उत्तर दिया । फिर एक्शन के लिए उसने अपने विचार जुटाए और कुशलता से अपनी बातें नहीं । लेकिन सबसे बुरा एक तुलनात्मक सकते हैं । वस्तुत अगर कोई खास बुरा क्षण नहीं होता हूँ, सबकुछ अच्छा था । हर एक चीज सही तरीके से व्यवस्थित की गई थी । कुछ भी गलत नहीं हुआ । वस्तुतः ये पैदल शहर की तरह ही था । रूसी अंतरिक्ष के इतिहास के आज के विशेषज्ञ ब्रिटिश पत्रकार फिल क्लार्क का मानना है कि यदि वो ऑॅपरेशन प्रणाली कि अ सफलता की बात सन में पता लग गयी होती तो इससे सनसनी ही फैल गई हूँ । लेकिन यूरी ने बडी कुशलता से अपने जवाबों में उन गलतियों को नजरअंदाज कर दिया । हमेशा की तरह उसके लैंडिंग का तरीका सर्वाधिक संवेदनशील होता था । मॉस्को में उसकी वापसी के समारोह के उपरांत जूरी पर कुछ विदेशी पत्रकारों द्वारा दबाव बनाकर इस विषय में पूछा गया । सत्रह अप्रैल को लंदन टाइम्स के एक संवाददाता नहीं लिखा लैंडिंग के तरीके के विषय में कोई विवरण नहीं दिए हैं । पत्रकारों से ठसाठस भरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस विषय पर सीधे सीधे प्रश्न दागने पर मेजर गैगरीन ने अन्य जवाबों की अपेक्षा कुछ अधिक झिझकते हुए अपना पल्ला झाडने के लिए अपने जवाब में कहा, हमारे देश में लैंडिंग की कई तकनीकी विकसित की गई है । उनमें से एक है पैराशूट तक नहीं थी । इस उडान में हमने वो प्रणाली अपनाई जहाँ पायलट कैबिन में ही होता है । प्रेस द्वारा प्रकाशित तस्वीरों में भी अंतरिक्ष यान की संरचना के विषय में बहुत कम तथ्य नजर आते हैं । लेकिन जब प्लेन शब्द को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रयोग करने में छह जने के प्रति मेजर गैगरीन के गर्व से ये तथ्य कुछ हद तक स्पष्ट हो गया । जुलाई उन्नीस सौ इकसठ में स्पोर्ट्स अधिकारी इवान बोरी सिंह को इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉटिकल द्वारा होस्ट एक से तय की गई ऊंचाई के दावों के संबंध में उठाए गए प्रश्नों का जवाब देने के लिए पेरिस गए आएएफ के डायरेक्टर जनरल ने बोरी सङकों के प्रतिनिधिमंडल से सीधे ये प्रश्न पूछा । लॉटरी पर पायलट कहा था अंतरिक्ष यान के संबंध में पूछा गया सवाल ऍम कोने दृष्टता पूर्व का अमेरिकी वासियों से पूछे कि क्या उन्हें यकीन है कि यूरी के इन कीर्तिमानों को वस्तुत हासिल किया गया? दुनिया भर के लोगों ने यूरी की उडान का पहले ही समर्थन कर इसे बतौर तथ्य स्वीकार किया है । ये नोक झोंक कई घंटों तक जारी रही, किंतु अंततः आईएएएफ ने सोवियत प्रतिनिधिमंडल पर बेहतर साक्षी के लिए दबाव डाले बिना हार मान नहीं । इसके बाद बुरी सिंह को आय के एफ से हासिल प्रमाणन को बतौर सबूत इस विषय पर संदेह करने वाले लोगों के समक्ष पेश करता रहा कि यूरी अपने ज्ञान में ही उतारा था और पूरे अधिकार के साथ ऊंचाई की रिकॉर्ड का दावा किया । ग्यारह जुलाई उन्नीस सौ हो जो भी आपने सहचरों के साथ तो बोले एक सौ चार एयरोफ्लोट एयरलाइनर से लंदन पहुंचे वाम समर्थक लंदन समाचार पत्र डेली मिरर नहीं उसके आवागमन का उत्साहपूर्वक अभिनंदन करने के साथ ही अनमने ढंग से किए गए आधिकारिक स्वागत की खबर छापी । आज कुछ समाचार को आने वाली घटनाओं के भयंकर संकेत के रूप में पढा जा सकता है क्योंकि तत्कालीन कंजर्वेटिव सरकार सन उन्नीस सौ साठ के दशक में आधुनिकता के दबाव में रहना शुरू हो गई थी । गैगरीन एक बहादुर देती है, वो अभी तक हासिल किए गए महानतम वैज्ञानिक चमत्कारों का प्रतीक है । सही प्रक्रिया को लेकर दो दिनों की रस्साकशी के बाद ब्रिटिश सरकार अंततः इस दुनिया भर के हीरो के स्वागत के तरीके का निर्णय कर सकती है, जिन्हें सारे ब्रिटिश लोगों की ओर से स्वागत के लिए भेजा जा रहा है कि लोग कौन है । बिना तो प्रधानमंत्री मैकमिलन है, विदेश सचिव लॉर्ड होम है और ना ही विज्ञान मंत्री लॉर्ड ऍम इस अद्वितीय अवसर पर ब्रिटेन के प्रवक्ता होंगे । छप्पन वर्षीय एक अज्ञात नौकरशाह मिस्टर फ्रांसिस ऍम सीबीपी इसकी वजह बताई गई कि गैगरीन उस राष्ट्र की प्रमुख नहीं, अंततः हैरॉल्ड मैक्मिलन नहीं, चोरी से मुलाकात की और उसे एक खुशमिजाज इंसान बताया । वस्तुतः यूरी की यात्रा मुख्य रूप से फाउंडरी वर्कर्स यूनियन द्वारा प्रायोजित की गई थी, न कि सरकार द्वारा, किंतु ब्रिटेन की आम जनता बडी तादाद में उसके स्वागत के लिए उमड पडे । टाइम्स ने लिखा कि उसका ऐसा स्वागत किया गया जो कभी कभी उन्माद की स्थिति तक आ जाता है । प्रफुल्लित उत्साहित भीड ने एयरपोर्ट से शहर के अंदर तक रास्ते के किनारे कतारें बना रखी थी । वो वाहनों के काफिले के साथ वेस्ट लंडन के बॉटलर्स कोर्ट एक्जिबिशन सेंटर तक छात्रों को संबोधित करने के लिए आए । तत्पश्चात ब्रिटेन दुनिया भर से आए हुए लगभग दो हजार पत्रकारों की समझ प्रेस वार्ता में भाग लिया । देखते ही देखते सरकार ने अपनी योजना में संशोधन किया उसे एडमिरल्टी एयर मिनिस्ट्री और रॉयल सोसाइटी द्वारा अंत तक तीन से मिलने बकिंघम पैलेस आमंत्रित किया गया । यार उस लेवल गोलोवानोवा नामक पत्रकार जो एक सहचर पत्रकार की तरह हमेशा साथ रहता था उसका कहना है कि यूरी के कार्यक्रम में एक अतिरिक्त जोडकर इस मुलाकात की व्यवस्था की गई थी जिससे ही जाहिर होता है कि शाही स्वागत दिए जाने की पूर्व योजना नहीं बल्कि ये माहौल मांग के मुताबिक जल्दबाजी में क्या जाने वाला इंतजार टाइम्स की रिपोर्ट इस बात की पुष्टि करती थी लगती हैं । शाही महल के आमंत्रण के चलते मेजर गैगरीन पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम शुक्रवार के बदले शनिवार को स्वदेश लौट सकें । पंद्रह जुलाई को एक अनौपचारिक भोज में तीन का रवैया फिलम रहा । विषेशकर तब जब जूरी को भोजन के तौर तरीके में व्यस्त न होने की समस्या का सामना करना पडा । गोलोवानोवा कुछ दृष्टि का स्मरण दिलाते हुए कहता है, महारानी साहिबा ये पहली बार ग्रेट ब्रिटेन की महारानी के साथ भोजन का मौका मिला है । मुझे तो कटलरी का सही प्रयोग भी नहीं आता हूँ । ऐसा कहकर मुस्कराने लगा । क्वीन ने कहा आप तो जानते हैं कि मैं इस महल में चली थी लेकिन अब भी मैं कटलरी के प्रयोग में भूल कर जाती है । इसके बाद मुलाकात बहुत ही उत्साह व निष्ठापूर्वक चलती है । बातचीत के दौरान क्वीन ने यूरी से सभी तरह के सवाल के सामान्य मानवीय उत्सुकता तडक भडक से हटकर सामने आ रही थी और एक बात पर उसने काफी चतुराई से कहा हूँ । शायद आपने मुझे किसी और के साथ मिलाकर रख दिया है । मुझे यकीन है कि मेरे जैसे कई पायलट आपके रॉयल एयरफोर्स में हैं । कुल मिलाकर प्रथम अंतरिक्ष यात्री सोवियत कूटनीति के लिए एक असामान्य परिसंपत्ति सिद्ध हो रहा था । लेकिन जैसा कि उसने फुर्सत के क्षणों में गोल बनो से स्वीकारा की एक पूर्ण राजदूत की भूमिका निभाने के तनाव से वो थकान महसूस करने लगा था । प्रथम उडान के विषय में बहुत से लेख लिखे जा रहे हैं । इससे मैं सहज नहीं रहता था क्योंकि वे मुझे सुपर हीरो निरूपित करने में लगे हैं । वस्तुत था, किसी व्यक्ति की तरह मुझसे भी गलतियां हुई है । मुझे भी कमजोरियाँ लोगों का आदर्श इकरन नहीं किया जाना चाहिए । इस तरह एक अच्छे खूबसूरत छोटे से बच्चे की तरह बनाया जाना भद्दा सा लगता है । किसी को बीमार करने की तो खत्म है । जब पत्रकार वार्ताओं में अपनी प्रशंसा से ऊब गया तो उसने अपने श्रोताओं के लिए एक युक्ति अपनाई कि सोवियत यूनियन में उसके तमगे पर ग्यारह हजार एक सौ पचहत्तर नंबर कट्टप्पा लगता है । इसका मतलब है कि ग्यारह हजार एक सौ चौहत्तर लोग मेरे से पहले कुछ उल्लेखनीय कार्य कर चुके हैं । मैं लोगों को सामान्य और सेलिब्रिटी वर्गों में बांटे जाने से तूफान नहीं रखता हूँ । मैं भी एक सामान्य व्यक्ति हूँ । मैं बिल्कुल भी नहीं बदला । एक बार मॉस्को में जब भीड में से एक महिला को उसने ये कहते हुए सुना अरे देखो तो उसने अब शेविंग करना छोड दिया है तो खुशी से हसने लगा । अगस्त में यूरी का भ्रमण दाल फाइनेंसर साइडिंग पीटन के निमंत्रण पर कनाडा पहुंचा । हैलीफैक्स से दो सौ किलोमीटर की यात्रा के बाद वे पुरवास नोवा स्कॉटिया पहुंचे जहां ईटन ने उनके ठहरने की शानदार व्यवस्था की थी । उसने दार्शनिक बर्टेंड रसल के साथ विख्यात परमाणु निरस्त्रीकरण सेमिनार का जिसे तुम वाश कॉन्फ्रेंस के नाम से जाना जाता है । आयोजन किया तो शाम को से मालूम हुआ कि घर मान टिटो अंतरिक्ष उडान पर गया है । उसने पूछा कि क्या वह बधाई टेलीग्राम भेज सकता है । इसका प्रबंध निकोलाई कॉमन इनके द्वारा कर दिया गया । टीटो ने अपनी छठवीं कक्षा के दौरान यूरी का संदेश पढा क्योंकि उसकी ग्राउंड कंट्रोलर के द्वारा प्रसारित किया गया था । सेना न्यूटन ने विनम्रतापूर्वक आगामी उत्सवों को कम कर दिया हूँ ताकि यूरी अपने सहकर्मियों के साथ शीघ्र ही रूस वापस लौट सकें । अचानक रूसी प्रतिनिधिमंडल ने देश के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों से स्वयं को अलग थलग महसूस किया । कॉमन इन ने कहा, जहाँ भाषण देते हुए हम व्यस्त हैं, वहीं अमेरिकी अंतरिक्ष यान तैयार कर रहे हैं । हमें आगे बढना है । यूरी की यात्रा तीन हफ्ते के अंदर ही शुरू हो गई । चौबीस अगस्त को उसका क्यूबा आना राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण घटना नहीं । फिदेल कास्त्रो के दो वर्षीय साम्राज्य के साथ सोवियत एकजुटता का अहम संकेत सफेद रंग की ग्रीष्म पोशाक में यूरी और कानून विमान से उतरे । उनके राजनीतिक परिदृश्य देखने पर बे ऑफ पिग्स पराजय के बदले पीछे ही रही है । कॉस्टर ओके सहयोगियों ने बडे हर्ष से यूरिको बताया फॅसने दुश्मनों को पीछे धकेल दिया और यूरी ने जवाब दिया जो लोग अपने कार्य की अधिकारपूर्ण का में गहरा विश्वास करते हैं उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर नहीं किया जा सकता है । प्रायर वो इस बात को जानता था कि बिना तत्परता के कब क्या बोलना होता था । एक सामूहिक आम रैली में उसने घोषणा की, समूचे दो करोड बीस लाख सोवियत वासी क्यूबा के सच्चे और समर्पित मित्र है । सन तक जो उसके जीवन का अंतिम वर्ष था । यूरी सोवियत साम्राज्य की प्रशंसा में अधिकतक पर नहीं होता था । इसकी किसी विजयन मत घोषणा पर बहुत अधिक यकीन नहीं करता था ।

18. Milestone

यूरी गैगरीन की संक्षिप्त अंतरिक्ष यात्रा बीसवीं शताब्दी की सर्वाधिक अहम घटनाओं में से एक थी । न केवल रूस के लिए बल्कि अमेरिका के लिए भी, जहाँ इसके जवाब में विशाल अनुपातों में औद्योगिक विकास शुरू किया गया । अंतरिक्ष दौड के परिणामस्वरूप न केवल ऍम, नॉनस्टिक, फ्राइंग पैन जैसी चीजें ऊपर कराई बल्कि आधुनिक तकनीक के समूचे फैब्रिक देखने को मिलेंगे । माइक्रो शिप का विकास किया गया क्योंकि उन्नीस सौ पचास के दशक की रखी उतरी इतनी छोटी नहीं थी कि उसे रॉकेटों, मिसाइलों के अंदर रखा जा सके । इंटरनेट का उदय एआरपी ए यानी एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी द्वारा बिछाए गए आक्रमण रोधी संचार बहन के नेटवर्क द्वारा हुआ, जो नासा से पहले का अंतरिक्ष में अमेरिकी भविष्य की योजना बनाने वाला विभाग था । आधुनिक रोगनिदान क्रिया यानी डाइग्नोस्टिक औषधीय अंतरिक्ष चिकित्सकों द्वारा किए गए अनुसंधान की भारी ऋणी है । अंतरिक्ष संचार वाहन उद्योग का विकास साइंस फिक्शन जैसे स्वस्थ्य साकार कराने की दिशा में उपग्रहों के आविष्कार के बाद द्रुतगति से हुआ । इन तकनीकों के आने से ही इसकी पूरी संभावना थी । लेकिन जितनी तेजी से यह बढी, उतनी तेजी से और कुछ भी नहीं पढा । इस की सारी वजह ही स्माॅल के एक किसान लडके द्वारा दुनिया के सर्वाधिक शक्तिशाली राष्ट्र को चुनौती दिया जाना । वाशिंगटन डीसी में स्पेस पॉलिसी इंस्टीट्यूट के प्रमुख डॉक्टर जॉन ऑस्टन जो कई राष्ट्रपतियों के सलाहकार रह चुके हैं । उन्होंने अमेरिकी मानसिकता पर यूरी की अंतरिक्ष उडान का उल्लेख किस तरह क्या है ये सोवियत यूनियन के साथ शक्ति संबंध का एक अचानक हुआ पुनर्संतुलन था जिसकी वजह बना उनका ऐसा जाहिर प्रदर्शन की यदि वे चाहें तो अंतरमहाद्वीपीय दूरियाँ लांगते हुए ऍम एरिका के ठीक बीचोंबीच परमाणु युद्ध के मिसाइल दाग सकते हैं । एक शोरगुल समझ गया । हम इस पिछडे समझे जाने वाले देश से मात के सिखा रहे हैं । अब तक राष्ट्रपति कैनेडी ने अंतरिक्ष को खास तौर पर गंभीरता से नहीं लिया था । लेकिन चौदह अप्रैल उन्नीस सौ कि शाम को यूरी की अंतरिक्ष उडान को मिले अंतरराष्ट्रीय समर्थन से वो बुरी तरह खिन्न हो गए थे । पे वाइट हाउस में अपने कदमों से अपने दफ्तर की तरफ पढ रहे थे । उन्होंने सलाहकारों से पूछा हूँ, हम क्या कर सकते हैं? हम बराबरी कैसे कर सकते हैं? कैनेडी के विज्ञान सलाहकार जेरोम विजनर ने स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए तीन महीनों की अवधि के अध्ययन का सुझाव दिया किंतु प्रेसिडेंट ज्यादा जरूरी प्रत्युत्तर चाहते थे । कोई मुझे बराबरी करने का तरीका मात्र बतला देंगे । किसी ऐसी को खोजें किसी को भी । भले ही वो किसी जूनियर पद पर हूँ, कोई फर्क नहीं पडता है लेकिन यदि वह कोई तरीका जानता है तो उसका स्वागत है । उसने जानबूझ कर ये टिप्पणी लाइफ मैग्जीन के पत्रकार हक सीधे को सुना करके अचानक प्रेसिडेंट अंतरिक्ष के पक्ष में दलील देने वाले समर्थक के रूप में देखे जाना चाहते थे । तीन दिन के बाद कैनेडी को एक दूसरी गंभीर पराजय का सामना करना पडा । तेरह सौ निर्वासित क्यूबाइयों की शक्तिशाली सेना जिन्हें सीआईए का समर्थन प्राप्त था । क्यूबा के बे ऑफ पिग्स में फिडेल कास्त्रो के सामने वाली साम्राज्य को उखाड फेंकने के लिए उधर कैनेडी ने व्यक्ति के तौर पर इस योजना की स्वीकृति दी थी । लेकिन कास्त्रों की सैन्य टुकडियों को इस ऑपरेशन की जानकारी समय से काफी पहले हो गई थी और वे समुद्र तट पर छुपकर उनके इंतजार में थे । विद्रोहियों का आक्रमण पूरी तरह से असफल रहा क्योंकि सीआईए वादा किये हुए समर्थन देने की अपनी बात से पीछे हट गया । सारी उम्मीदों के विपरीत क्यूबा की अधीनस्थ जानता नहीं कास्त्रों के तख्तापलट में भाग लेने के प्रति अपनी इच्छा जाहिर नहीं । सीआईए को इस बात से काफी निराशा थी कि आक्रमणकारियों के बचाव का कोई प्रयास नहीं किया गया । अपने प्रथम दस दिनों के दौरान कैनेडी प्रशासन लडखडाता महसूस हो रहा था । इस पारंपरिक शुरुआती अवधि में, जिसमें एक नए प्रेसिडेंट से व्यवस्थाओं को उलट पलट कर संभालने वो अपनी पहचान छोडने की उम्मीद की जाती है । अपनी विश्वसनीयता को पुनर्जीवित करने की कवायद में कैनेडी ने एकदम से अंतरिक्ष की ओर अपना रुझान बना लिया । बीस अप्रैल को जारी एक अहम मैमू में उन्होंने वाइस प्रेसिडेंट लिंडन जॉनसन से अमेरिकी रॉकेट प्रयास का संपूर्ण सर्वेक्षण तैयार करने के लिए कहा । क्या अंतरिक्ष में अपनी प्रयोगशाला स्थापित कर के हमारे पास सोवियत को मात देने का अवसर है या चंद्रमा पर मानव सहित रॉकेट भेजकर और वहाँ से वापस आकर ऐसा किया जा सकता है? क्या कोई ऐसा अंतरिक्ष कार्यक्रम है जिसमें हमारे जीत सकने के लिए नाट्कीय नतीजों की उम्मीद हो? इसका अतिरिक्त व्यय भार कितना होगा? क्या संचालित अस्तित्वमान कार्यक्रमों में दिन के चौबीस घंटे काम हो रहा है? यदि नहीं तो क्या आप इस बात की अनुशंसा देंगे की कार्य की गति कैसे बढाई जा सकती है? बृहद बूस्टर बनाने में क्या हमें परमाणु रसायन या द्रव ईंधन पर जोर देना चाहिए या इन तीनों की समन्वय पर क्या हम अधिकतम प्रयास कर रहे हैं? क्या हमें आवश्यक परिणाम मिल रहे हैं? इस एक पेज के प्रवेश हो या तो बीसवीं सदी के सर्वाधिक संवेदनशील नीति निर्देशक तत्व के रूप में पढा जा सकता है या व्हाइट हाउस में गुजरे मनहोर सप्ताह के प्रत्युत्तर में जल्दबाजी में लिखाए गए आदेश के तौर पर । लेकिन इस बात में कोई शक नहीं कि युद्धकालीन मैनहटन अनु बम के विकास के समय के बाद से यह विशालतम तकनीकी परियोजना अपोलो लूनर लैंडिंग प्रोजेक्ट नासा के प्रमुख प्रशासक जेम्स वेब को पूरा यकीन था । मैं तो में उल्लेखित अंतरिक्ष स्टेशनों की स्थापना जैसे लघुकालिक लक्ष्यों में सोवियत अमेरिका को पीछे छोड सकता था । उसने चंद्रमा पर कदम रखने की अपेक्षा कृत तीर पकालिक लक्ष्य का सुझाव दिया जिसमें संसाधनों वक्त तकनीकी विकास के इतने विशाल इनपुट की आवश्यकता थी कि सोवियत किसी भी तरह इस मामले में अमेरिका की बराबरी नहीं कर सकता । फॅमिली और जॉनसन को अपेक्षाकृत दीर्घकालिक दृष्टिकोण अपनाने के लिए मनाया रॉकेट सर्वोच्चता की अल्पकालिक लडाई में पहले ही पराजय मिल चुकी थी । अंतिम निर्णय नासा द्वारा संचालित मानव अंतरिक्ष कार्यक्रम परनिर्भरता पांच मई को यूरी की उडान के मात्र तीस दिनों बाद अमेरिकी ॅ को एक छोटे से रेडिएशन बूस्टर के शीर्ष पर अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षा में भेजा गया उसकी उडान पूर्ण कक्षा में नहीं थी । अभी तो मात्र पंद्रह मिनट की बैलिस्टिक उछल थी । वो स्टॉक की पच्चीस हजार किलोमीटर प्रति घंटे की गति की तुलना में शेफर्ड की मर्करी ने मात्र आठ हजार तीन सौ किलोमीटर प्रति घंटे की गति हासिल की और स्टॉक पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाया जबकि मरकरी एटलांटिक में इसके प्रक्षेपण स्थल से मात्र पांच सौ दस किलोमीटर की दूरी पर खिला । लेकिन तोप के गोले इस तरीके की उडान में ना ऐसा की आधारभूत क्षमताएं सिद्ध हो गई । शेपर्ड की कामयाब उडान के बाद शीघ्र ही वेब ने इस अवसर का सदुपयोग नासा की स्थिति सुदृढ करने के लिए क्या अंतरिक्ष एजेंसी के अंदर उसके बजट सलाहकार ने सुझाव दिया कि चंद्रमा की परियोजना हेतु उसे अपना लागत अनुमान संभव तक कम से कम रखना चाहिए । तभी इसके लिए प्रेसिडेंट का अनुमोदन प्राप्त हो सकता है । वेब इस बात से सहमत नहीं हुआ बल्कि उसने एक अपूर्व प्रशासनिक कदम उठाते हुए लागत को दोगुना करके प्रेसिडेंट के समक्ष प्रस्तुत कर दिया । इसके लिए विशाल वित्त की आवश्यकता नहीं उन्नीस सौ साठ के दशक के बीस डॉलर से भी बढकर जिसे अगले आठ वर्षों के लिए प्रस्तावित किया गया था । इतनी विशाल राशि का प्रोजेक्ट होने के बाद भी कैनेडी ने अपोलों का समर्थन करने का निश्चय किया । पच्चीस मई उन्नीस सौ इकसठ को कांग्रेस के समक्ष दिए गए अपने भाषण में उसने कहा, मेरा मानना है कि इस राष्ट्र को लक्ष्यप्राप्ति के इस दशक के समाप्त होने से पहले निश्चित करनी चाहिए । लक्ष्य होगा चंद्रमा पर इंसान को उतारने का और उसे धरती पर वापस लाने का । इस अवधि में एक भी कोई दूसरा अंतरिक्ष प्रोजेक्ट मानवता के लिए प्रभावशाली नहीं रहेगा या अंतरिक्ष के सुदूरवर्ती अनुसंधान के लिए अहम रहेगा और कोई भी कितना कठिन और इतना खर्चीला नहीं रहेगा जिसे हासिल न किया जा सके । इसी बीच वेब और जॉनसन एयरोस्पेस ठेके कि नेटवर्क निर्माण योजनाओं और चालीस राज्यों में अपोलो के लिए विद अनुमोदन कराने के लिए राजनीतिक संरक्षण का सूक्ष्म वह दूरगामी नेटवर्क तैयार करने में लग गए । चार साल के अन्दर नासा का खर्च देश के संपूर्ण वार्षिक फेडरल बजट का पांच प्रतिशत होना था और देश के एक छोड से लेकर दूसरे छोड तक तकरीबन दो लाख पचास हजार लोगों को नियुक्त किया जाता था । आधुनिक नासा का निर्माण वेब की इस मान्यता पर था की एजेंसी के पास अंतरिक्ष अनुसंधान की गति धीमी पडने से पहले स्वयं को राष्ट्रीय जनजीवन की स्थायी विशेषता के तौर पर स्थापित करने का केवल यही मौका था । उसका मानना बिल्कुल ठीक था, कैनेडी के बाद से पिछले चार दशकों के दौरान कोई भी प्रेसिडेंट अंतरिक्ष पर पैसा खर्च करने के प्रति कितना सहयोगी नहीं रहा हूँ । नहीं इच्छुक ये सब इसलिए हुआ क्योंकि यूरी की अंतरिक्ष उडान से महज तीस दिनों के अंदर ही एलन शेपर्ड ने अंतरिक्ष में उडान भरी । जॉन ऑक्शन का अनुमान बडा लुभावना है । ग्रीन के बाद ही शेपर्ड द्वारा पांच मई उन्नीस सौ इकसठ की अंतरिक्ष उडान का समय मार्च होना चाहिए था । लेकिन इकत्तीस जनवरी को पहले वाले परीक्षण में हम नामक चिम्पांजी को भेजा गया था । रिट्रो रॉकेट देर से फायर हुआ और हम सही स्पॅाट जून से दो सौ दस किलोमीटर दूर चला गया । उसे बरामद करने में कई घंटे का वक्त लग गया । इसमें तकनीकी खराबी बिल्कुल साधारण थी जिसे दूर करना बहुत आसान था । लेकिन मनुष्य को निश्चित करने से पहले उन्हें एक और परीक्षण करना था । ये बडा मजेदार प्रश्न है । यदि यूरी गैगरीन की अंतरिक्ष उडान दूसरे नंबर पर होती है तो क्या हो सकता था? मेरे ख्याल से इतिहास में बिल्कुल अलग ही मोड लिया होता । यूरी प्रथम था और इसकी अमेरिकी प्रतिक्रिया अनिवार्य ही थी, खासकर प्रेसिडेंट की ऊर्जा त्मक शख्सियत के कारण । ऍम का कहना है कि ये सोवियत की कामयाबी न होकर अमेरिकी नाकामयाबी थी । मैं इसे यूरी के बारे में लोगों की धारणाओं के प्रति कैंडी का प्रत्युत्तर नहीं मानता । मेरा मानना है कि ये उसकी अपनी व्यक्तिगत प्रतिक्रिया, वो हमेशा ही अपने देश को सबसे आगे रखने की तीव्र जरूरत समझते हैं । बहुत ही प्रतिस्पर्धी व्यक्ति थे । शायद वो नेतृत्वशीलता के प्रदर्शन और साहसी कदम उठाने के लिए किसी अवसर की तलाश में थे । लंदन टाइम्स के पत्रकार युगो यंग ने सन उन्नीस सौ में कुछ ऐसा ही अवलोकन किया । कैनेडी का प्रत्युत्तर और सफलता से व्यथित व्यक्ति के किसी दृष्टिकोण से बढकर कुछ था । गैगरीन की विजय से उस ऊर्जा शीलता को गति मिली जिसका प्रस्ताव उसने अमेरिकी नागरिकों के समक्ष रखा था । इसका बदला लगभग उतना ही स्वयं के लिए लिया जाना था जितना देश के लिए । विज्ञान सलाहकार जेरोम विजनर को नियति के आगे घुटने टेकने पडे । यद्यपि या पोलो प्रोजेक्ट पर कितनी राशि खर्च किए जाने की जरूरत वे अभी भी महसूस नहीं कर पा रहे थे । उसने कैंडी के एक वचन को स्वयं पर लादकर अपने विवेक को बना दिया । मैंने उससे कहा कि चंद्रमा पर कदम रखने को सार्वजनिक तौर पर मैंने कहा कि चंद्रमा पर कदम रखने को सार्वजनिक तौर पर वैज्ञानिक उपक्रम का हवाला न देकर वो अपना छोटा सा योगदान दे सकता है और उसने हमेशा ऐसा किया गया । पश्चिम में अंतरिक्ष दौड के प्रति मनो ग्रस्तता विकसित हो गई । इससे ऍम घर मांॅ और उसके मित्रों में उत्साह संचारित हो गया में किसी तरह की दौड की बात कर रहे थे । ऐसी कोई दौड थी ही नहीं, क्योंकि हम रूसी लोग तो पहले से ही सारी दुनिया से आगे थे । निकिता ख्रुश्चेव पोलित ब्यूरो ने तुरंत ही कैंडी के भाषण का प्रत्युत्तर स्वयं के चंद्रमा प्रोजेक्ट सिंह नहीं दिया । अभी तो खुश चेयर ने कोरोलेव पर अल्पकालिक रॉकेट के प्रदर्शन के लिए जोर दिया ताकि अमेरिकी अंतरिक्ष कार्यक्रम अनियंत्रित होने से पहले हतोत्साहित हो सके । अपेक्षाकृत दीर्घकालिक अवधि के लिए सोवियत की अर्थव्यवस्था अपोलो के लडखडाते बजट की बराबरी नहीं कर सकता है । जब तक वो स्टॉक और अपनी परिवर्तित आर सात मिसाइल का निरंतर परिणाम देता रहा करो ने बाॅलिंग के अंतरिक्ष अनुसंधान हेतु निरंतर समर्थन पर भरोसा कर सकता था । कुछ समय के लिए नासा पारंपरिक तौर पर निर्मित स्पेस बूस्टरों की अपेक्षा परिवर्तित अस्त्र प्रक्षेपकों का भरोसा कर रहा था । जुलाई उन्नीस सौ इकसठ के फिर जिन गस्त ग्रीस नामक एस्ट्रोनॉट मर्क्यूरी कैप्सूल में रेडस्टोन बैलिस्टिक मिसाइल पर पृथ्वी की कक्षा में कुछ दूरी तक उडान भरते हुए एक सौ नब्बे किलोमीटर की ऊंचाई तक पहुंचा । उसका मिशन तकरीबन धाराशाही ही हो गया क्योंकि उसके नीचे आने के कुछ समय बाद ही कैप्सूल का छोटा है हुए खुलकर दूर जा गिरा । आपको बिना हेलमेट के पानी भरे यान से बडी मुश्किल से बाहर आया । उसने बचाव भी तो आने वाले हेलीकॉप्टर की मदद के लिए संकेत करने का प्रयास किया लेकिन उसे ये देखकर हैरानी हुई कि सीधे मदद के लिए पहुंचने के बदले वे कैप्सूल के ऊपर हेलीकॉप्टर उडा रहे थे । हेलीकॉप्टर के पायलटों ने सोचा कि ग्रीस हम डूब नहीं रहा था बल्कि उनकी तरफ हाथ हिलाकर अपने लैंडिंग का संकेत दे रहा था । उसने अपना ध्यान कैप्सूल को हेलीकॉप्टर से जोडकर बाहर खींचने के प्रयास पर एकाग्र किया । लेकिन अब तक ये इतनी भारी हो चुकी थी कि हेलिकॉप्टर के ही खींच कर नीचे आ जाने का खतरा महसूस होने लगा था । अंत तक ग्रीस हम को बचा लिया गया किन्तु कैप्सूल एटलांटिक के तल में चला गया जिसकी बरामदगी की कोई उम्मीद नहीं । नासा ने इस तथ्य को नकार दिया और कहा कि उनका एस्ट्रोनॉट का मिशन लगभग पूर्ण तरह सफलता छह अगस्त को घर मन टटोलने बैंगलोर से उडान भरेगी और दूसरे मानव चालित को स्टॉक से पृथ्वी की कक्षा के सत्रह चक्कर लगाए । वो लगभग चौबीस घंटे उडान में रहा । इस दौरान कुछ देर तक उसने स्वयं यान हो रहा है । जब मुझे प्रक्षेपित किया गया तो मेरी पत्नी कुछ मशरूम लेने जंगल गई थी । उस दिन रविवार था और उसने जानबूझ कर पत्रकारों के प्रश्नों के उत्तर देने से बचने के लिए ऐसा किया था । उडान के दौरान टिटो को बहुत ज्यादा मितली से महसूस हो रही थी । केबिन के ताप तंत्र बिगड जाने से वो ठंड से लगभग चल गया था और रीएंट्री के पहले उसका रिट्रो पैक स्पष्ट रूप से अलग नहीं हुआ था जिससे वह चिंतित हो गया था । सारा तो क्षेत्र में उसका इंजेक्शन वाॅशिंग भी जोखिम भरे थे । आज वो उस घटना को याद करता है । आपने पैराशूट के नीचे मैं रेलवे पटरी से लगभग पचास मीटर ऊंचाई से गुजरा और मुझे लगा कि नीचे गुजर रही ट्रेन से टकरा जाऊंगा । तभी जमीन से लगभग पांच मीटर की ऊंचाई पर हवा के झोंके ने मुझे पीछे मोरदिया, जिससे जमीन पर गिरते समय मैं पीछे की तरफ मुड गया । जमीन पर मैं तीन बार लडका हवा तेज थी और पैराशूट इसके प्रभाव में आ गया और जमीन पर मैं कुछ दूर हो सकता चला गया । जब मैंने अपना हेलमेट उतारा तो फेस प्लेट कीरिन में मिट्टी खुरच कर चिपक । आप जानते हैं उस ऋतु में सात आरोप के किसानों ने अपने खेतों की अच्छी जुताई की थी वरना मेरी लैंडिंग और भी कठिनाई भरी रही होती । नीचे गुजरती हुई प्रेम एकदम से रुक और उसमें सवार कुछ यात्री टिक टोक की ओर दौडे तो उस समय ठीक हालत में नहीं था । मैंने उनसे कहा क्या घूम रहा हूँ अंतरिक्ष पोशाक उतारने में मेरी मदद करो । टिटो काफी थका हारा तो चोटग्रस्त था । वो अकेला ही ऐसा व्यक्ति था जिसने सारा दिन अंतरिक्ष में पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाते हुए बिताया था । शायद इस खेल में यूरी को पीछे छोडने से उसे कुछ अतिरिक्त संतुष्टि मिली हो । सात आरोप बैंगलोर से पंद्रह सौ किलोमीटर दूर है जिसका तत्पर हैं । बारह अप्रैल को यूरी की ऐतिहासिक किंतु अपूर्ण पृथ्वी की कक्षा उतनी ही दूरी से पूरी होने से रहेंगे । इसलिए वस्तुतः टिटो भी वह पहला व्यक्ति था जिसने पृथ्वी की कक्षा में एक पूरा चक्कर लगाया था । यूरो स्पेस की इतिहास की किताब में यूरी की ऊंचाई के कीर्तिमान की बात की गई है । लेकिन ये विवरण सभी की आंखों से चूक सा गया महसूस होता है । टिटो उन जोखिमों के विषय में जिसका यूरी और उसने वो स्टॉक में सामना क्या कहता है? मैं नहीं कह सकता कि उनमें से एक के लिए भी मैं तैयार था क्योंकि हमारे पीछे इतनी कम उडाने होने के कारण कोई भी नहीं जानता था कि किस तरह की चीजें खराब हो सकती थी । यूरी और मैंने अपने स्वयं की आपात मैनुअल तैयार किए थे और हमने उन सभी बातों के विषय में सोचा था जिससे कठिनाइयाँ पैदा हो सकती थी । मैं आपको बता सकता हूँ कि वो मैनुअल एक बिलकुल पतला पहले था । जब आप कार चलाते हैं तो आपको कहीं टायरों के पंचर हो जाने के लिए भी तैयार रहना पडता है । चलती मशीनों को बिगडने का अधिकार होता है ।

19. Berlin Wall

टिटो की लैंडिंग के एक सप्ताह बाद बर्लिन बॉल का निर्माण शुरू हुआ । कुरुमेदेव की जीवनी लेखक जेम्स हरफोर्ड के मुताबिक ऍम की उडान के समय का आदेश जानबूझ कर जर्मन डेमोक्रेटिक रिपब्लिक को मॉस्को के प्रति निष्ठा कायम करने के लिए दिया था । खुश्चेव और कैनेडी के संबंध पूर्व पश्चिम की आक्रामकता से आगे भी कुछ थे । ये स्पष्ट होता जा रहा है कि इन दोनों व्यक्तियों में अंतरिक्ष की खोज है तो सहभागिता की संभावना चाहिए । इस मुद्दे पर अनुसंधान करने वाले लॉकेशन का कहना है, अंतरिक्ष के विषय में अपोलो की घोषणा करने के बाद भी कैंडी मिली जुली विचारधारा के थे । अपने उद्घाटन भाषण में उन्होंने सुझाव दिया कि यूनाइटेड स्टेट्स और सोवियत यूनियन को एकजुट होकर अंतरिक्ष अनुसंधान करना चाहिए । उसने आपसी सहयोग बढाने के तरीको की तलाश करने के लिए सलाहकारों का समय भी निर्मित किया था । उन्होंने अपने भाई बॉबी को इस बात की तो लेने के लिए क्रैमलिन भी भेजा था । अब हमें जानकारी हो रही है कि कृष्य हाँ और साथ काम करें कहने के लिए तैयार हूँ । यदि ये दो व्यक्ति जीवित रहते तो इतिहास कुछ और ही होता । लेकिन कैंडी की जगह लिंडन जॉनसन आ गया जो एक कट्टर राष्ट्रवादी था । उधर क्रिश्चयन का तख्ता पलट कर ब्रेझनेव गद्दी पर काबिज हो गया । रजनी अपेक्षाकृत अधिक सैन्यवादी इतिहास की व्यवस्था यही है कि जो कुछ हुआ है, आप उसी का अध्ययन कर सकते हैं ना कि जैसा होना चाहिए था । नासा ने तीसरी आंशिक कक्षा में मर्क्यूरी में अपेक्षाकृत अधिक आवश्यक मिशनों की अर्हता प्राप्त करने के लिए विचार किया, लेकिन छोटे ऍम रॉकेट से ज्यादा शक्तिशाली एटलस पूर्णरुपेण आईसीबीएम का एक कैप्सूल को अंतरिक्ष में ले जाने के लिए तैयार था । साथ ही आंशिक कक्षा की उडान भी रद्द कर दी गई थी । बीस फरवरी को जॉन ग्लेन ने पृथ्वी की कक्षा के तीन पूरे चक्कर लगाएंगे । अमेरिका में उसका उसी तरह स्वागत किया गया, जैसा रूस में जूरी का । नासा मानवरहित प्रोटोटाइप के परीक्षण अपने विशाल सेटल लूनर रॉकेट के लिए करने लगा । व्यवस्तता वे उन सुपर्ब दोस्तों के आकार से मात्र आधे हैं, जो अंततः अपोलो को चंद्रमा पर उडा कर ले गए । लेकिन पहले से ही वे कोरोलेव के आर सात की शक्ति पीछे छोडने के निकट थे । कोरोलेव शीघ्र ही वोस्टोक का उत्तराधिकारी विकसित करना चाहता था, जिसकी अपनी सीमित क्षमता हूँ, लेकिन क्रिश्चयन हफ्तों महीनों में और हासिल करना चाहता हूँ । ऍम निकोलाई को ग्यारह अगस्त को चार दिवसीय मिशन पर लॉन्च किया गया और पॉवेल पापो विच को इसके ठीक दूसरे दिन तीन दिवसीय अवधि के लिए भेजा गया । पहली बार दो लोग एक ही समय पर अंतरिक्ष भेजे गए थे । कोरोलेव ने इन प्रक्षेपणों की समय सीमा तय की थी ताकि दूसरा वोस्टोक पहले के सात किलोमीटर के दायरे पर इससे सोवियत अंतरिक्ष की मुलाकात का दावा कर सकता हूँ । वस्तुतः दोनों यान शीघ्र ही अलग अलग उडान भरने लगे और अपनी शुरुआती नजदीकी को दोबारा कभी हासिल नहीं कर सकते । उडान के दौरान उनकी छोटी मोट रे निष्क्रिय पडी रही ताकि मिशन के अंत में रीएंट्री ब्रेकिंग के लिए ईंधन संचय कर सके किंतु कूपरी रूपरंग का काफी फर्क पडता है । पश्चिम के एयरोस्पेस से व्यावसायिक तौर पर जुडे बहुत से लोगों को ऐसी सोच से मूर्ख बनाया गया कि सोवियत वालों ने अंतरिक्ष में मुलाकात का असली कौशल विकसित कर लिया था । सन में अंतरिक्ष इतिहासकार जेम्स हारफोर्ड बिजली मिशन, जिन्हें कोरोलेव के बाद में आपको के भी वन डिजाइन ब्यूरो नियुक्त किया गया, उन्होंने कहा, उन दिनों गोपनीयता के कारण हमने सारी सच्चाई नहीं बताई । जैसा की कहा जाता है कि हाथ की सच्चाई सादा धोखा नहीं होती । हमारे पश्चिम के प्रतिस्पर्धियों ने स्वयं को धोखे में रखा । बेशक हम नहीं चाहते थे कि उनकी भ्रमपूर्ण चाहिए । डबल वोस्टोक मिशन अमेरिकी उपलब्धियों से बढकर महसूस होता था । नासा ने चौबीस मई को एस्ट्रोनॉट स्कॉट कारपेंटर को लॉन्च किया । लेकिन सोवियत मिशन की निर्दयी मौलिकता की तुलना में मर्क्यूरी को सेकंड बेस्ट नहीं कहा जा सकता । वोस्टोक की दोहरी उडान के बाद भी नासा का प्रत्युत्तर साधारण पहले से कुछ अधिक था, जिसके तहत तीन अक्टूबर के वॉर्टेक्स गिरा का लॉन्च मात्र नौ घंटे कक्ष की उडान का था । कुछ दिनों बाद अमेरिकी जासूसी विमानों ने सोवियत मिसाइलों की तस्वीरें क्यूबा के गोपनिय ठिकानों में ली । परिणामस्वरूप सन की उस भयानक शीत ऋतु में अंतरिक्ष से हटकर अंतरराष्ट्रीय परमाणु युद्ध की तरफ लोगों का ध्यान खींच गया । वो कोई धुंधला और सुदूर प्रत्याशा के रूप में न होकर एक ऐसा आतंक था जो किसी भी क्षण भयंकर विभीषिका में तब्दील हो सकता था । फॅमिली ने सोवियत नौकायान के खिलाफ जहाज बंदी प्रारंभ करती जैसा की अभी हाल ही में व्हाइट हाउस से जारी किए गए संकट बैठकों के टेप से स्पष्ट है । तेईस अक्टूबर की रात कैंडी और उसका स्टाफ जब अपने बिस्तरों पर सोये तो उन्हें यह नहीं मालूम था कि अगली सुबह वे या दुनिया में कोई और जीवित बचता है या नहीं । कैंडी और खुश छे इस राह पर इतना आगे निकल गए थे कि अब वापस लौटना नामुमकिन था । एक वरिष्ठ रॉकेट इंजीनियर पोलिस्टर टोको जेम्स हारफोर्ड को दिए गए एक साक्षात्कार की बात याद आती है कि बैकनूर से मार स्ट्रोब अक्टूबर में लॉन्च करने के एक और प्रयास में तब बाधा पडी जब सेना ने चेयर टोक के लॉन्च वाहन को पैड से हटाने का आदेश दे दिया ताकि इसके बदले वे आईसीबीएम को ला सकता । उस समय एक तरह की राष्ट्रीय आपात स्थिति निर्मित हो गई नहीं । सेना द्वारा सभी फोन लिंग का प्रयोग किया जा रहा था इसलिए मैं कुरुली से संपर्क स्थापित नहीं कर सका जो उस दौरान मॉस्को में सर्दी से पीडित था । उन्होंने मुझे बताया कि यदि मैंने मार्च रॉकेट को पैड से नहीं हटाया तो मेरा कोर्टमार्शल किया जाएगा और उन्होंने अपनी मिसाइलों की प्रणाली की जांच शुरू कर दी । इन भयंकर निर्देशों को वापस लेने के लिए करोड लेव्ही क्रिश्चियन को मना सकता था । चाय टोकने मॉस्को के लिए उडान भरी और कोरोलेव के घर पहुंचा जहां चीफ डिजाइनर ने क्रैमलिन को अतिशीघ्र फोन करके समस्या का समाधान कर लिया । जब थी क्यूबाई संकट के मध्य में चौबीस अक्टूबर को मार्च को लॉन्च किया गया तो इसमें विस्फोट हो गया जिससे यूएस बैलेस्टिक मिसाइल फॅमिली वॉर्निंग सिस्टम को परमाणु आक्रमण का संदेह हो गया । सौभाग्यवश उनकी खोजी कंप्यूटर स्थिति को कुछ ही सेकेंडों में भाग गए और बदले की कार्यवाही शुरू नहीं की गई । एक अन्य भयंकर संयोग चौबीस अक्टूबर उन्नीस सौ को बैंगलोर में आर सोलह मिसाइल विस्फोट जिसमें एक सौ नब्बे लोग मारे गए क्यूबाई संकट से पहले ही हो गए होते हैं । मार्शल नेफ्थलीन जैसे घमंडी के अलावा बडी संख्या में कुशल सैन्य मिसाइल इंजीनियरों की जाने, उस दिन गई परिणामस्वरूप एक विश्वसनीय अंतरमहाद्वीपीय सोवियत परमाणु मारक क्षमता के विकास में उनकी मौत से विलंब हो । कुछ समय के लिए अमेरिका के न्यू रचनात्मक लक्ष्य सोवियत यूनियन के भीतर से नहीं पहुंच सकते थे । क्रिश्चियन के पास उपलब्ध एकमात्र पूर्णरुपेण कार्य करने वाला आईसीबीएम के नाम से चीफ डिजाइनर का आर साथ ही था जिसे तैयार करने में कितनी देर हो चुकी थी कि उसे लॉन्च करने के लिए तैयार नहीं किया जा सका । इसके अलावा ये उतनी तादाद में उपलब्ध नहीं था जिससे कोई बडी धमकी दी जा सकती । क्यूबा को भेजी गई मिसाइलें तुलनात्मक रूप से साधारण और कम शक्तिशाली जंगी परमाणु अस्त्र है जो छोटे बहुतायत में और प्रक्षेपण में सरल तो हैं किंतु कम दूरी की उडानों तक ही सक्षम हैं । क्यूबाई संकट के समाप्त हो जाने के बाद क्रिश्चयन ने सोचा होगा कि अमेरिका के साथ अंतरिक्ष का क्षति हीन खेल खेलना ही अच्छा है न कि जमीनी स्तर पर परमाणु टक्कर का जोखिम उठा । जहाँ तक अनुमान लगाया जा सकता है । अगली अंतरिक्ष उडान का प्रचार मुख्यता इसी विचार से प्रभावित था । वो चाहता था कि कोरोलेव ऐसे व्यक्ति को लॉन्च करें जिस के विषय में पहले किसी ने कुछ सोचा भी न हो । कोई महिला तक लगभग चार सौ महिला अभ्यार्थियों को संभाव्य अंतरिक्ष उडान के लिए आजमाया जा चुका था । सोलह फरवरी को इनमें से पांच का चयन प्रशिक्षण है । तू क्या गया? क्रिश्चियन के आदेश के मद्देनजर महिलाओं का चुनाव खेतीहर किसानों और फैक्ट्री कर्मचारियों में से किया गया था ना कि विशिष्ट वैज्ञानिक और शैक्षणिक पृष्ठभूमि के लोगों से । सर्वाधिक उपयुक्त अभ्यर्थी थे जो निम्नवर्गीय पारिवारिक पृष्ठभूमि से खाने के साथ साथ अंतरिक्ष उडान है तो किसी तरह की उपयुक्तता रखते हैं । परिस्थितियां कुछ ऐसी निर्मित हुई कि उन दिनों पैराशूट पर उडना लोकप्रिय रूचि था और हॉबी के तौर पर बढ रहा था । अंतरिक्ष प्रशिक्षण हेतु उभरकर सामने आने वाली सर्वाधिक उपयुक्त अभ्यार्थी थी । पच्चीस वर्षीय वेलेंटीना टेररिस्ट होगा जिसके खाते में पैराशूट चैंपियनशिप के अट्ठावन जम्पिंग का श्रेय था । तेरे इश्क गोवा के पिता सामूहिक कृषि काम पर काम करने वाले ट्रैक्टर ड्राइवर थे । युद्धकालीन परिस्थितियों में वे मारे गए थे । उसकी माँ एक टेक्स्टाइल प्लांट में बुनकर का काम करने लगी । स्वयं वेलेंटीना इस ट्रेड में प्रशिक्षित हुई । वो खुश्चेव के उद्देश्य के लिए आदर्श अभ्यर्थी थी । स्वस्थ, खूबसूरत और अंतरिक्ष प्रशिक्षण से जुडी बौद्धिक चुनौतियों के लिए सजग नहीं लेकिन शिक्षा में इतनी आगे भी नहीं कि वो सामान्य, खेतिहर और मजदूर वर्ग का प्रतिनिधित्व ही नहीं कर सकते । गर्म टिटो ने अपने संस्मरण में इस बात की चर्चा की है कि किस तरह से महिला कॉस्ट मिनट के स्टार सिटि आने पर विश्वास से स्वागत किया जाता है । सच तो यह है कि हम यकीन ही नहीं करते थे कि महिला वर्ग का फ्लाइंग मशीन से कोई लेना देना था । उस समय हमें यही लगता था कि अंतरिक्ष उडान से सम्बंधित सभी कार्य केवल पुरुष ही कर सकते थे । जब पहली महिला इस कार्य के लिए आई तो मेरी सोच नकारात्मक थी । जैसा कि सभी जानते हैं टिटो सभी चीजों के बारे में अपनी राय देता है लेकिन अंत कर हमने पाया कि महिला कॉस्ट मिनट का होना बिल्कुल सही है और शीघ्र ही हम उन्हें अपनी तरह अच्छे मित्र समझने लगे । अंत में यूरी गागरिन को सार्थक कार्य उन्हें सौंपा गया । उसे स्टार सिटि में महिला को स्पोर्ट्स के प्रशिक्षण कार्यक्रम का प्रमुख नियुक्त किया गया । उसके सहयोगी के रूप में उसका कोर्स, मिनट, सहकर्मी और मित्र ऍम निकालो ये भी था । बारह जुलाई को लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर उसकी पदोन्नति कर दी गई और निकोलाई और पासपोर्ट की अगस्त में दोहरी वोस्टोक उडान के दौरान वापस अपने असली काम में प्रमुख रेडियो संवाहक की हैसियत से आ गया । तत्पश्चात उसने अपनी पांच महिला छात्रों के लिए एक सघन शारीरिक प्रशिक्षण कार्यक्रम तैयार किया । यद्यपि बीच बीच में उसे अभी भी विदेशी दौरे पर बुला लिया जाता था । अब पूर्णतः स्वचालित वोस्टोक मिशन का प्रशिक्षण कोई खास कठिन नहीं था । सोलह जून को टेरिस गोवा की अंतिम उडान में बहुत ही कम नई तकनीकी चुनौतियां सामने आएगा । उसकी सफलता से खुश्चेव को मनचाहा अवसर हाथ लग गया । स्त्री पुरुष की समानता का राग छेडने का जब इस प्रचार का प्रयोग सफलतापूर्वक संपन्न हो गया तो चुपके से महिला कॉस्ट मिनट कार्यक्रम समाप्त कर दिया गया । तीन नवंबर को तेरे को वह और निकोला ये मॉस्को में विवाह सूत्र में बंध गए । ये कार्यक्रम सामाजिक समारोह के रूप में आयोजित किया गया था । ये उस सीजन की सामाजिक घटना थी जिसमें खुश्चेव बडी खुशी से शामिल हुआ था । तीन दिन बाद ही गैगरीन की नियुक्ति पूर्ण रुपेन कर्नल के रूप में कर दी गई । ऐसा लगा कि उसका करियर ड्राप ऊपर जा रहा था लेकिन उसे आगे चलकर मालूम हुआ कि ज्यादा ऊंचे और देख की वजह से उसकी एक और अंतरिक्ष उडान में बाधा पड सकती है । वर्तमान अटकल के मुताबिक बाइक ऑवर्स की और टेरिस गोवा की दोहरी उडान कॉस्ट ऑफ का अंतिम मिशन था । उन्होंने की गर्मी तक सोवियत को अमेरिका के मर्क्यूरी से होड करने की जरूरत ही नहीं रह गई थी । पंद्रह मई से चौबीस घंटे के गार्डन ऊपर को लॉन्च करने के बाद नासा ने तय किया कि इस कार्यक्रम को कुछ सिद्ध करने को नहीं रह गया है । आखिर एक अलाॅट वाली ये साधारण कैप्सूल लें । संभव तक कर भी क्या सकती थी । वस्तुतः नासा यूएस एयरफोर्स द्वारा विकसित एक नई मिसाइल टाइटन के प्रयोग की योजना बना रहा था जिसे अनमने से लाइसेंस पर लिया गया । टाइटन का ईंधन टैंक एवं बाद परात एक ही घटक थे जो वजन की बचत करते हैं । लॉन्च पैड पर ये रॉकेट इतना हल्का था कि यदि उस पर अक्रिय गैस का दबाव डाला जाता तो ये सीधा खडा हो जाता है । लेकिन अपने वजन के सापेक्ष में ये इतना शक्तिशाली था कि ये मरकरी कैप्सूल से भी ज्यादा वजन उठाकर ले जा सकता था । नासा जानता था कि इसका तीन व्यक्तियों वाला चंद्रयान और इसका विशाल सेटर्न बी रॉकेट इसकी अपनी पहली उडान से वर्षों दूर थे । अभी तो उनके पास डिजाइनरों द्वारा तैयार मौका यानी अनुकृतियां ही थे न कि वास्तविक हार्डवेयर । इस बीच एक अंतरिम वाहन तैयार किया जा चुका था, पर गिरी की सहजता और उभरते हुए अपोलो की जटिलता की मध्यवर्ती स्थिति जैमिनी दो व्यक्तियों वाला कैप्सुल था जिसे टाइटन मिसाइल से जोडने के लिए डिजाइन किया गया था । इसमें इंजेक्शन, सीटें और बच्चे शामिल थे जिसे कक्ष में खोल कर अंतरिक्ष में चहलकदमी की जा सकती थी । नासा कि खुले साहित्य के कारण इसके डिजाइन की जानकारी कोरोली को थी । तक जैमिनी कब सुनें कैलिफोरनिया के मैकडोनल्ड डगलस प्लांट में निर्माणाधीन थी लेकिन वस्तुतः उनमें से एक भी तब तक उडान में प्रयुक्त नहीं हुई थी । कोरोलेव वोस्टॉक का उत्तराधिकारी कार्य शुरू करने के प्रति चिंतित था जो नासा के लिए डिजाइन से मेल खाता हुआ या उससे बढकर हो । यदि जैमिनी के लॉन्च से पहले वो मल्टी मैन यान साफ प्रतीत होने वाला यान लॉन्च कर सकता तो उसे वास्तविक अर्थों में अधिक शक्तिशाली प्रतियोगी लॉन्च करने के लिए जरूरी राजनीतिक समर्थन मिल जाता है । खुश्चेव यही चाहता था कि जैमिनी को झटका देने और अपोलो के प्रयास को निरुत्साहित करने के लिए कुरोली जल्द से जल्द तीन शक्ति मिशन की रूपरेखा तैयार है । हालांकि इस प्रोजेक्ट में जिस सीमा तक उसने कॉसमॉस की जाने दाव पर लगाने का जोखिम उठाया उसका निर्णय आज नहीं किया जा सकता । क्रिश्चयन पर प्राया कुरुमेदेव पर जोखिमभरे निर्णय लेने की दिशा में दबाव डालने का दोष लगाया जाता है लेकिन संभव था वह सारे तकनीकी विवरणों का निर्णय नहीं ले सकता था । इस संबंध में उसे चीफ डिजाइनर के निर्णय पर भरोसा करना पडता था की कोई खास अंतरिक्ष प्रोजेक्ट सुरक्षित था या नहीं । कुरुली ने जोखिम उठाते हुए वर्तमान वोस्टॉक के हार्डवेयर अपनाने का प्रयोग उसी बॉल में दो अंतरिक्ष यात्रियों को ले जाने के लिए क्या यदि अंतरिक्ष पोशाके न पहनी जाती तो तीन अंतरिक्ष यात्री भी जा सकते हैं । सीट का ये नया इंतजाम पूरी तरह काम चला था । इसमें वो स्टॉक में कोई सुधार नहीं किया गया था । ये पहले से अधिक सकरा और निश्चित रूप से अधिक खतरनाक था । अतिरिक्त व्यक्तियों को इसके अंदर बैठाने के लिए इसकी भारी भरकम इंजेक्शन सीट को हटा दिया गया था और लॉन्च पैड में यदि कोई गडबडी होती तो बचने का कोई मौका ही नहीं था । इस नई योजना को वो ऑस्फोर्ड नाम दिया गया जिसका शाब्दिक अर्थ है सुनियो । इसके तमाम खतरों के बावजूद वो खोड, अंततः सोवियत नेतृत्व को कायम रखने में सक्षम रहता । इससे अपोलो और कोरोलेव के अपने स्वयं के चंद्रमा पर जाने के महत्वकांक्षी कार्यक्रम को गति आपको के भी एक में कोरोलेव का अंतिम उत्तराधिकारी वैसिली मिशिन इस बात पर जोर देता है कि चीफ डिजाइनर ने क्रिश चेयर से आमने सामने का सौदा किया । कोरोलेव ने अतिशीघ्र मल्टी मैन कार्यक्रम को विकसित करने के एवज में क्रिश्चयन द्वारा विशाल नए रॉकेट का अनुमोदन किया जाना जो नासा की सेटर्न बी का समतुल्य एंड एक था तक सुपर पावर देखा । विभाजन के दोनों ओर अंतरिक्ष प्रयास पूरी तरह स्थापित हो चुका था । अगस्त में पोलित ब्यूरो द्वारा एंड एक के विकास के साथ साथ कोरोलेव के प्रतिस्पर्धियों के दो प्रतियोगी प्रोजेक्टों को भी अनुमोदित कर दिया गया । अंततः इस उलझन और सन में कोरोलेव की मृत्यु के कारण सोवियत का चंद्र कार्यक्रम और सफलता की भेंट चढ गया कि ग्रीष्म में सभी अंतरिक्ष यात्री चंद्रमा पर कदम रखने हेतु अपेक्षाकृत अधिक सुरक्षित उडानों की ओर लामबंद हो रहे थे । ऍफ को निराशा में ऐसा महसूस होने लगा कि इस खेल से जुडने के लिए उसमें रहता नहीं थी । ऐसा मात्र इस वजह से नहीं था कि उसके सार्वजनिक कर्तव्यों ने उसे स्टार सिटि से उसके वास्तविक दूतों से अलग कर दिया था । पहले सन उन्नीस सौ इकसठ में भी उसने अपनी ऐतिहासिक उडान के कुछ महीनों बाद भी छुट्टी लेकर बात हाथों का कोपभाजन बनने का बहुत ही मूर्खतापूर्ण कार्य किया था ।

20. Kala Sagar

क्रीमिया तकरीबन एक टापू है । ये काला सागर से निकला हुआ दो प्रायद्वीपों के मध्य से युक्रेन से जुडा हुआ है । इस टापू के सुदूर उत्तर क्षेत्र अच्छे तो हैं लेकिन नीरज है दक्षिण की बात ही अलग है । यहाँ खूबसूरत पर्वत जंगल आश्रयी समुद्री किनारा जहाँ यत्र तत्र ताड के वृक्ष खडे हैं । मौसम अक्टूबर में भी अच्छा रहता है और बादाम के वृक्ष फरवरी तक फल फूल जाते हैं । इसके चारों ओर स्थित कालासागर कभी भी इतनी निजी झील नहीं रहा है जितना मॉस्को इससे होना चाहता है । दक्षिणी भाग के आधे हिस्से में एक पुराने दुश्मन टर्की का कब्जा है । रूस को इस बात का गुरेज है कि क्रीमिया के बलाक गोवा में लॉर्ड कार्डिगन के नाइट ब्रिगेड ने वैली ऑफ डेथ में उनके दाहिने और तो पैदा किया किंतु अन तथा तरक्की के योगदान से रूस की युद्ध में पराजय हुई । सेवास्तोपोल से काले सागर का जहाजी बेडा टर्की और इसके नाटो सहयोगियों पर अब भी चौकसी करता है । याल्टा के क्रीमियन पोर्ट पर चर्चिल और रोज पीटने अंकल जो स्टाइल इनके साथ युद्धकालीन समय बिताया । याल्टा के पश्चिम में समुद्र तटीय भाग में निकिता ख्रुश्चेव ने अपना टाचार रखा था । आज के नेता अब भी ग्रीष्मकालीन अवधि नहीं बताते हैं । यद्यपि उन्हें अपने दुश्मनों की योजनाओं की भनक तक नहीं लगती, वे क्रैमलिन से हजारों किलोमीटर दूर आराम कर रहे होते हैं । अगस्त में मिखाइल गोर्वाचोव आपने डाचा में होंगे थे पाए गए सन उन्नीस सौ के दशक के चरमोत्कर्ष के दौरान फोटोस एक विलासिता युक्त ऍम जिसे सर्वाधिक खास लोगों की बुकिंग के लिए तैयार किया गया था । मनोहरम् समुद्र, ताजी मास्को, फल, अच्छी शराब, शायद रोजमर्रा के तनावों से कुछ आजादी, ये सभी और इससे अधिक सुख वहाँ उपलब्ध थे । ऐसा प्रत्याशित नहीं था कि फोर्स में आए अतिथियों के आमोद प्रमोद के तरीके पर कोई संबंधित अधिकारी काफी बारीकी से नजर रखते हैं । प्रथम ॅ और उनके साथ ही अपनी पत्नियों परिवारों के साथ छुट्टियां मनाने के लिए फोर ओ सा है । उसे अन्ना हूँ । शायद वहाँ दो अन्ना अन्ना रोमन सेवा नामक एक नर्स युवती जब उन्नीस सितंबर उन्नीस सौ इकसठ को किस लिए सेनेटोरियम में ड्यूटी पर थी तभी वहां यूरी और उसके कॉस्ट मिनट साथ ही ठहरने के लिए पहुंचे । वो फोर उसमें काम करने वाली अन्ना नामक अन्य नर्स के विषय में काफी अंतरंगता से बदलती है । शायद ये दोनों अन्ना एक ही व्यक्ति है । ये बात अहम नहीं आज अन्ना रोमन सेवा एक शादीशुदा महिला, सम्माननीय दादी, माँ और मेडिकल प्रैक्टिशनर है । वो कहती है, जीवन में कुछ ऐसे लोग विषेशकर पुरुष होते हैं जो निरंतर साहसिक कार्यों की प्रतीक्षा करते रहते हैं । यूरी ऍम गागरिन किसी तरह का व्यक्ति था । एक छोटी सी घटना है छत से कूदने की । उस कहानी को मैं संक्षेप में बताउंगी । मुझे नहीं लगता कि वह कुछ भी अपनी पत्नी वैलेंटीना से छिपाना चाहता था । नहीं । वो साधारण तब बचकानी हरकत करते हुए उससे कहना चाहता था । यदि तो ये सोचती हूँ कि वहाँ अंदर मैं कुछ गलत काम कर रहा था तो ये तुम्हारी भूल है । अन्ना की कहानी का अपेक्षाकृत विस्तृत भाग ज्यादा तथ्य फरक है । उस समूह में अट्ठाईस लोग थे । जूरी वैलेंटीना अपनी महीने भर की दूसरी बेटी कालिया के साथ सेनेटोरियम पहुंचे । घर मांॅ पत्रकार यार उस ले फॅस की भारी भीड । कुछ तकनीकी व्यक्ति, यहाँ तक कि निकोलाई कम दिन भी वही था । वो लडकों के साथ आराम से शराब भी रहा था । वहाँ काम मैंने पाया कि यूरी और वाला उनका साथ नहीं दे रहे थे । वह स्वभाव से उसके प्रति रूखाई बरत रहा था । वो कार में अकेली बैठी आंसू बहाती रहती है । और यूरी नजारे देखने व स्थानीय क्रीमियन लोगों से मिलने, वर्ष शराब पीने में मस्त रहना । कभी कभी वह कितने गलत ढंग से बर्ताव करता की वालिया फफककर रो पडते । कम दिन और उसकी पत्नी मारिया जूरी के ऐसे बर्ताव से अचंभित वह विस्मित रहेंगे । कुछ दिनों बाद कम दिन उसे एक ओर ले गया । उसने अपनी सादा चौकस रहने वाली डायरी में लिखा, मैंने उससे कहा ये पहला मौका है जब मैं तुम पर शर्मिंदा हो । तुमने वालिया का मन दुखाया है । यूरी ने स्वीकार किया कि उससे गलती हुई थी और वह आगे अपना व्यवहार सुधारेगा फोर उसमें टिटो का रवैया भी अच्छा नहीं था । जिसकी अनुशासनप्रियता की तारीफ करते हुए कम नहीं थकता नहीं था । वही आज उससे दुखी था । उसे अपने दोनों प्रमुख कॉसमॉस को चेतावनी देने की जरूरत महसूस होने लगी कि उनके रवैये के लिए उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे । उसने उन्हें चेताया भी कि वे खतरनाक रास्ते पर बढते जा रहे थे । यूरी के बर्ताव में कोई सुधार नहीं आएगा । दूसरे सप्ताह ही वो अपने कुछ साथियों को एक छोटी मोटर वोट से समुद्र में ले गया । फोर उसके कर्मचारी स्टाफ ने उस से अनुरोध किया कि ऐसा करना गैरकानूनी था । उसे स्थानीय दशाओं की जानकारी नहीं थी । हवाएं अनियंत्रित गति से चल रही हैं । मौसम खराब हो सकता था उसे नहीं जाना चाहिए । लेकिन फिर भी उसने अपने जाने की जिद पूरी की और मोटर वोट को तट से दूर समुद्र में ले गया । वो बडी लापरवाही से बोर्ड चला रहा था । अपने साथियों को पानी के छिडकाव से भिगाने के लिए वो बार बार राईट टर्न लेता । इसी बीच जैसी की चेतावनी दी गई थी लहरों का उफान बढने लगा । मोटर बोट दूर क्षितिज में जाकर विलुप्त हो गयी । किनारे से उन नजर ही नहीं आ रही थी । बचाव के लिए बडी मोटर बोर्ड को वहाँ भेजना पडता । उसे निकालकर किनारे लाया गया और चिकित्सकीय सहायता के लिए मेडिकल स्टेशन भेज दिया गया । खराब दशाओं में उसने मोटर बोर्ड के स्टेरिंग बिल को इतना तेज मोड दिया था कि उसके हाथों से खून बह रहा था और पिक्चर भी आ गए थे । लेकिन इतने दर्द वह इस दुस्साहसी घटना में मिली तकलीफ के बाद की खूबसूरत भूरे बालों वाली नर्स जो उसके घावों की मरहमपट्टी कर रही थी से उसका ध्यान एक पल भी नहीं हट रहा था । अन्ना कहती है यूरी एक अच्छा इंसान था । उसने पूछा क्या यहाँ काम करती हूँ । मैंने कहा जी हाँ अगले दिन टिटो कम दिन ग्रुप के दस अन्य लोगों ने जाने के लिए सामान पांच लिया । आखिरी दिन उन्होंने काफी मौज मस्ती की । तत्पश्चात शाम को उन्होंने और भी मौज मस्ती की । अन्ना ने बताया कामने ताश और शतरंज के खेल की चर्चा उस दिन डायरी में की है । लेकिन इस संभ्रांत खेल में पिछले दो हफ्तों की शराबखोरी व हो हल्ला बाजी की वजह से बाधाएं खडी हो गई थी । तीन अक्टूबर की घटनाओं के विषय में पत्रकार गोलोवानोवा ने लिखा, गैगरीन सेवास्तोपोल के ब्लैक सी फ्लीट के नाविकों का मेहमान । मैं उसके और घर मंटो के साथ था । इसके बाद हम फोर्स लौटाए । अगले ही दिन हम याल्टा के निकट स्थानीय पायनियर्स के पास चले गए । इसके बाद मसान डरा के वाइनयार्ड पहुंचे । वहाँ से काफी खुश होकर लौटे यूरी ने अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने का निर्णय किया । लेकिन हमें यहाँ पर उसके अच्छे चरित्र के बारे में कुछ कहना है । गोलोवानोवा ने अपनी कहानी की दिशा बदलती । आप तो जानते हैं कि यूरी की पत्नी जटिल स्वभाव की महिला थी । उसने यूरी को हर तरह के उन लालचों से बचाया था जो उसकी पोजीशन के कारण उसे दिए जाते थे । खैर वेलेंटीना को मालूम हो गया कि यूरी कहीं हो गया है और उसने उसे तलाशने का निश्चय किया । अचानक यूरी ने खिडकी से दूसरे माले में छलांग लगा दी । अन्ना बताती है, पार्टी में उन लोगों के खेल और हसी मजाक के माहौल को टालकर अन्ना खोज जाना पडता है । उसने बताया कि वह कमरे में जाकर एक सोफे पर बैठ गई । मुझे नहीं पता कि यूरी के मन में क्या चल रहा था । वो नशे में था । शायद वो बातें करना चाहता था । मुझे नहीं लगता कि उसके मन में कोई और विचार थे । गैस वो कमरे में चला गया, दरवाजा बंद कर लिया लेकिन इससे लॉक नहीं किया । उसके तुरंत बाद ही वॅाक कमरे में गई दरवाजा खुलता है । शायद ये कहना चाहता था की गलती उसकी है या शायद वो अकेले रहना चाहता था । मुझे नहीं मालूम इस घटना के बाद निकोलाई, कामनी, इनने सेनेटोरियम स्टाफ के अन्ना समेत विभिन्न सदस्यों से पूछताछ की और इन घटनाओं से अपना स्वयं का निष्कर्ष निकाला । नर्स अन्ना ने मुझे बताया कि अपनी शिफ्ट के बाद वो थोडा आराम करने के लिए अपने कमरे में गई । वो अपनी पूरी पोशाक में ही बिस्तर पर लेटी हुई थी और एक पुस्तक पड रही थी । तभी यूरी कमरे के भीतर आया और अंदर से दरवाजा बंद कर उसे चूमने की कोशिश करते हुए कहने लगा क्या तुम मदद के लिए पुकार होगी । तभी बाहर किसी ने दरवाजा खटखटाया और यूरी बालकनी से हो गया । शायद यूरी और वैलेंटीना के बीच कुछ कहासुनी हो गई थी और शायद कमरे में उसे हाफ टी अस्त व्यस्त अन्ना के अलावा को दिखाई नहीं दिया । शायद वैलेंटीना जानना चाहती थी कि उसका पति कहाँ था । तब अन्ना को उसे बताना पडता है कि वो बाल्कनी में छिपा बैठा था । उस दृश्य का अन्ना ने एक नहीं अनेक बार विवरण दिया जो निराज झूठा नहीं बल्कि आवश्यक बातों की जानकारी है । दोनों औरतों ने बालकनी के छोड पर छुपकर यूरी को जमीन पर छटपटाकर शांत होते हुए देगा । अन्ना बताती है, उस समय बालकनी पर भारी तादाद में अंगूर खडे हुए थे । जब उसने छलांग लगाई उस वक्त हुए उसे पड सकते थे । उसका माथा पत्थर से टकरा गया था । ये अच्छी लैंडिंग नहीं थी । अंतरिक्ष से वापस लौटने पर उसकी लैंडिंग सफल थी लेकिन यहाँ असफल हो गई । मुझे इस बात की जानकारी अन्ना से मिली । उसका भी नाम बनना था । निकोलाई कम दिन की डायरी में प्रथम संदर्भ संक्षिप्त और मुद्दे पर आधारित है । शराब के नशे में गागरिन ने खिडकी से छलांग लगा दी, जिससे उसके चेहरे पर गंभीर चोटें आई और लोगों के ऊपर निशान पड गया । जलसेना के चिकित्सकों ने शल्यक्रिया की । वो एक महीने से ज्यादा समय तक अस्पताल में ठहरा रहा और उसे कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस की याद आ रही थी । जूरी जहाँ गिरा था वहाँ पहुंचने वालों में सबसे पहला व्यक्ति काम नहीं था । उसके स्वास्थ्य की स्थिति से वो खुश नहीं था । खून इतना ज्यादा बढ रहा था कि पहले पहल उसे लगा कि उसने खुद को गोली मार रही है । इसी बीच जो कुछ हुआ था उसे देखने के लिए वालिया सीढी उतरकर भागी आई । वो काम दिन की ओर देखकर चीखने लगी । यही खडे मत रहो उसे बचाओ तो मार रहा है । तुरंत ही सेवास्तोपोल स्टेशन से डॉक्टरों को बुलाया गया । इस दौरान फोर उसके चिकित्साकर्मियों ने कुछ जरूरी प्राथमिक उपचार मुहैया कराया । उन्होंने यूरी के हाथ पैरों को छूकर स्पंदन महसूस किया । तदुपरांत यह तय किया कि उसे उस फोल्डिंग चारपाई पर रखना ठीक होता है जिसे कोई अपने घर से वहाँ से आया था । उसे अंदर ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसकी भवों को सुनने कर दिया । उसके माथे की कुछ हड्डियां भी प्रभावित जब स्वास्थ्य पोलकी सर्जन पहुंचे तो उन्होंने इलाज प्रारम्भ क्या इलाज यानी? ताकि आदि लगाने की प्रक्रिया के दौरान पूरे समय यूरी किसी का हाथ पकडे हुए था । उसने बिलकुल आवाज नहीं थी लेकिन पकडा इतनी सख्ती से था कि उसके हाथ पर यूरी के नाखूनों के निशान पड गए थे । यूरी को अब एहसास होने लगा था कि उसने कितनी बडी गलती की है । उसने एक क्षण के लिए नर्स अन्ना की ओर देखा और एक ही प्रश्न पूछा जो उसे अब भी आते हैं । क्या मैं दोबारा उडान भरने लायक रहूँगा? उसने कहा हम कोशिश करेंगे । अन्ना इस बात से खुश थी कि इतने दर्द परेशानी में भी यूरी ने अन्ना को अधिकारियों से बचाने का प्रयास किया । उसने एक सेनिटोरियम डायरेक्टर से कहा आप तो जानते हैं कि ये उसकी गलती नहीं थी और ऐसा था । उसे एक अन्य भवन में ले जाया गया लेकिन वो लगातार सेनेटोरियम में काम करती रही । सेनेटोरियम के प्रमुख भाग में एक विशेष निजी मेडिकल सुविधा की व्यवस्था की । अन्ना और एक अन्य नर्स अपनी अपनी बारी में ड्यूटी करते हुए यूरी को स्थायी चिकित्सक की अवलोकन में रखे हुए थे जबकि वैलेंटीना हो घंटों उसके बिस्तर की बगल में बैठी रहती थी । अन्ना के प्रति उसका व्यवहार मित्रवत ही था । वो यूरी के अंतरिक्ष में जाने से पहले की बातें याद करती कि किस तरह से वो उसके साथ रहा करते थे । उसने बताया कि कैसे वह कठिन अध्ययन कर रहा था और कभी कभी वो उस समय की जिंदगी के प्रति अफसोस जाहिर करते थे । जूरी यदि डॉक्टरों को पता लग गया तो मेरी नौकरी चली जाएगी । चिंता मत कर मैं स्वस्थ महसूस कर रहा हूँ । मैं तो कुछ करना चाहता हूँ । वो अपने हाथों की बाल उठाएंगे । अन्ना ने उसे वापस बिस्तर पर जाने के लिए मना लिया । उसने कहा, लोग अगले सौ साल तक इस विषय में बात करेंगे । एक दिन जब तुम दादी माँ बन जाओगी तो तुम अपने पोते पोतियों को ये बता सकती हो कि किस तरह तुमने यूरी गैगरीन का ध्यान रखा है । लेकिन उसे मालूम था कि खिडकी से कूदकर उसने एक मूर्खतापूर्ण कार्य किया था । शायद ये कदम उसके लिए दुर्भाग्यशाली था । उसकी मुस्कुराहट और झलकते आत्मविश्वास के पीछे गैगरीन अपने भविष्य के प्रति चिंतित नजर आता था ।

21. Utar -Charan

निकोलाई कम ने इनको इस बात की चिंता थी कॅश के बीच अनुशासन कायम रखने के प्रति वो जिम्मेदार था । अपनी डायरी में उसने लिखा, ये घटना मुझे और उन सभी लोगों को अच्छी खासी परेशानी में डाल सकती थी जो गैगरीन के प्रति जिम्मेदार थे । इसका परिणाम बहुत ही दुखद हो सकता ना गैगरीन एक व्यर्थ और मूर्खतापूर्ण तरीके की मौत से बाल बाल बचा था । तीन दिन के बाद एक चैका लिमोसिन गैगरीन को पार्टी कांग्रेस में ले जाने के लिए आई । उसे एक स्ट्रेचर पर ले जाया गया । यद्यपि वो उठ बैठ सकता था । उसे ये सारी प्रक्रिया बडी बेतुकी लगी और वह जोर से हंसने लगा । उसे सेवास्तोपोल ले जाया गया और मॉस्को रवाना होने वाले वायुयान में सवार करा दिया गया । मॉस्को आने पर उसे कांग्रेस बैठक में बहुत देर तक बोलने और दूसरे प्रतिनिधियों से मिलने मिलने की माना ही नहीं । आधिकारिक अभिलेख उस की सक्रिय सहभागिता के साक्ष्य हैं । हालांकि कम ने अपनी डायरी में ये लिखा है कि वह स्वस्थ न होने के कारण हिस्सा नहीं ले पा रहा था । गोलोवानोवा कहता है, वस्तुतः वो सत्र के शुरू होने के पांचवें या छठे दिन आया और फोटोग्राफर उसकी तस्वीरें इस तरह खींचते रहे ताकि उसकी भवों के पास का घाव नजर न आए । इस दौरान समाचारपत्रों ने लोगों की उत्सुकता पर लगाम लगाने के लिए एक कहानी गढी मुझे याद है हमें बताया गया की यूरी अपनी शिशु बच्ची को हाथों से संभाले हुए था तभी पैर कहीं फंस जाने से गिर पडा और बच्ची को चोट लगने से बचाने के प्रयास में उसकी भवों के पास चोट लग जाने से घायल हो गया । इसी तरह उन्होंने चोट के विषय में बताया । इजवेस्तिया में छपी एक और खबर के मुताबिक यूरी ने अपनी बच्ची को टूटने से बचाने के लिए काला सागर में छलांग लगा दी और उसका सिर एक चट्टान से टकरा गया । चोरी का इलाज करने वाले डॉक्टरों को प्रशस्ति वक्त पदोन्नति दी थी । निकिता ख्रुश्चेव को इस बात से नाराज की थी कि उसका पसंदीदा कॅश पार्टी कांग्रेस में उचित भूमिका नहीं निभा सका । लेकिन उससे भी ज्यादा उसे अपने युवा मित्र यूरी के स्वास्थ्य वो सुरक्षा की चिंता नहीं हूँ । क्रिश्चयन की सलाहकार फियोडोर पर लटकी का कहना है पार्टी की नैतिकता के बावजूद जिसे काफी शक्तिशाली माना जाता था, हर किसी को एक मजेदार कहानी से लगती थी । खुश्चेव को इस पर हंसी आती थी लेकिन शायद उसकी बीवी को नहीं । लेकिन मुझे लगता है कि कुछ ऐसे जनरल या उच्चस्तरीय सैन्य वर्ग के लोग थे जिनके यूरी के साथ अच्छे संबंध नहीं । मेरे ख्याल से उन्हें यूरी से फिर शादी क्योंकि वह खुश्चेव से इतना नजदीक चौथा । इन प्रतिस्पर्धियों को यूरी की ये कहानी बहुत मजेदार नहीं लगी । इधर निकोलाई कम निमकी फोर उसमें उसके कार्य की लापरवाही के लिए जमकर खिंचाई की गई । चौदह नवंबर को स्टार सिटी में आयोजित विशेष बैठक में उसे टीटो और यूरी के बर्तावों का स्पष्टीकरण देना पडता है । क्या ग्रीन टी टोकने हेल्थ रिसॉर्ट में पूरी तरह अपने व्यवहार का विवरण दिया? उन्होंने शराब के दुष्प्रयोग औरतों के प्रति और विवेकपूर्ण तौर तरीके दूसरी गलतियों को भी स्वीकार किया की तो शायद वाल्या के मन की शांति के लिए गैगरीन किसी बात पर कायम रहा कि जिस कमरे से उसने छलांग लगाई उसमें वो लडकी नहीं थी । काम ने बैठक को ये निर्णय करने के लिए मना लिया कि उसका प्रथम कॉस्ट नॉट लुका छिपी के बचकाने खेल में अपनी पत्नी कोखे जाने की कोशिश कर रहा था । जबकि टिटो अपने दूसरे साथियों के साथ बहक गया था । हर कोई जानता था कि ये एकदम सफेद झूठ था, लेकिन इस आधिकारिक दौरे से तो सहमत होना ही था जिसके साथ स्वयं ऍफ का हस्तलिखित माफीनामा भी था । काम नहीं पाया मुझे यकीन है कि गैगरीन का उस कमरे में जाने का इरादा कुछ और ही था लेकिन मैं इस बात पर जोर नहीं दूंगा कि कहीं इससे उसके परिवार में दरार ना पड जाए । ऍम उदार प्रकृति का था लेकिन दिसंबर में शुरू होने वाले यूरी के विश्व भ्रमण के दौरान उसने पाया कि उसके रवैये में कोई सुधार नहीं आ रहा था । चौदह दिसंबर को उसने अपनी डायरी में लिखा उसने क्रीमिया की घटना के बाद भी शराब पीना नहीं छोड । मैं स्वयं को दुर्भाग्य का मसीहा नहीं मानता हूँ लेकिन मुझे लगता है कि वह शराब पीने की अति कर रहा है । वो अपनी शोहरत की बुलंदियों पर हैं । उस पर एक बडी नैतिक जिम्मेदारी का बाहर है और उसे मालूम है कि उसकी हर कदम पर नजर रखी जा रही है । एक या दो साल बीतने के बाद स्थितियां बहुत ज्यादा बदल जाएंगे और वो बहुत संतुष्ट हो जाएगा । ये अब उसके पारिवारिक जीवन में भी नजर आ रहा है । अपनी पत्नी के प्रति उसके मन में कोई सम्मान नहीं है । कभी कभी तो वो उसे नीचा भी दिखाता है और उसके पास शिक्षा या सामाजिक कौशल जैसी सकारात्मक बातों का भी अभाव है जिससे वह उसे प्रभावित कर सकें । उसने ये भी पाया हाल ही में इंडोनेशिया के दौरे से लौटने के बाद तो अपने आप को किसी से कम नहीं समझ रहा है । कम नींद को ये साफ महसूस हुआ कि उसके पास एक और मनमौजी कॉस्ट मिनट हैं । इस बात को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए कि उसकी व्यक्तिगत डायरियां, उसकी नाराजगी की निजी अभिव्यक्तियां बिल्कुल सही ऐतिहासिक अभिलेखों की तरह सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रम में एक भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जिसकी वह कहीं न कहीं प्रायास अनुचित आलोचना न करता हूँ । क्रिश्चयन भी उसकी इस आदत से छोटा नहीं रहता । शायद वो रोज की घटना के पश्चात कम दिन का प्रशासनिक तनाव, उसकी डायरी में पार्टी कांग्रेस के प्रति एक और सामान्य भडास की अभिव्यक्ति है । यूरी की मूवी उपस् थिति से काफी परेशानी सामने आ गई थी । कांग्रेस में निकिता ख्रुश्चेव नहीं, जोसेफ स्टालिन के स्मारक को रेड स्क्वेयर से हटाए जाने का प्रस्ताव रखा था । पांच नवंबर को कम ने अपनी खीज इस तरह देते हैं । बहुत से लोग इसका अनुमोदन नहीं करते हैं तो इस विषय पर बसों मेट्रो और सडकों पर बात करते हैं । स्टाइल इनकी प्रतिष्ठा की बर्बादी से कई समस्याएं खडी हो जाती है । युवा वर्ग शासन तंत्र के प्रति अपनी निष्ठा हो रहा है । स्टालिन ने देश में तीन दशक तक शासन करे इसे एक शक्तिशाली राज्य के ढांचे में ढाला । उसकी शौहरत को दोनों की दुखद बहानेबाजी से नहीं रखा जा सकता है । खुश्चेव आज एक फिर शालू षड्यंत्रकारी वह कायर व्यक्ति है । चीन, अल्बानिया, यू । एस । ए, फ्रांस, इंग्लैंड इत्यादि से उसकी कूटनीतिक असफलता छुट्टी नहीं है । हकीकत यह है स्टालिन के समय में कोई भी ऐसी बात लिखने की हिम्मत इस डर से नहीं कर सकता था कि पकडे जाने पर उसे गोली से उडा दिया जाता हूँ । ये माना जा सकता है कि खुश्चेव के अधिकारी कम दिन पर ऍप्स को अनुशासित न रख पाने का दोष लगाते थे । इसलिए उसने अपनी डायरी के पन्नों में अपनी भावनाओं को अभिव्यक्ति लेकिन अपनी राजनीतिक धारणाओं में वो अकेला नहीं था । पश्चिम वालों के लिए यह समझना कठिन है कि किस सीमा तक स्टैलिन की यादगारों को संजो कर रखा गया था । अक्टूबर उन्नीस सौ इकसठ में उसके दिमाग में उपजी कटुता के विविध कारण रहे होंगे । लेकिन आपने मूल्यांकन में वो बहुत हद तक सही रहा होगा । फर्स्ट सेक्रेटरी निकिता ख्रुश्चेव अपने पतन की ओर बढ रहा था । वही हाल खुश्चेव का था । दिसंबर तक यूरी का विदेश दौरा फिर से शुरू हो गया । उसकी चोट के दाग को सावधानी से मेकप के माध्यम से छिपाया गया था । इस दौरे में मुख्यतः दिल्ली, लखनऊ, बम्बई, कलकत्ता, कोलंबो, काबुल, कैरो इत्यादि अन्य बहुत से स्थान सम्मिलित थे । सिलोन यात्रा के दौरान यूरी ने एक ही दिन में अलग अलग पंद्रह वार्तालाप कार्यक्रमों को पूरा किया । पैरों में एक समाचारपत्र ने घोषणा की कि स्मोलेंस्क अंचल के प्रतिनिधि के रूप में सुप्रीम सोवियत के चुनाव है, तू उसका नामांकन किया गया । एक जापानी पत्रकार ये जानना चाहता था कि यूरी ने अपने बच्चों के लिए ढेर सारे जापानी खिलाने क्यों खरीदे हैं? क्या इसलिए कि घर वापस लौटने पर रूसी खिलाने उपलब्ध नहीं रहेंगे? जूरी ने उत्तर दिया, मैं अपनी बेटियों के लिए हमेशा उपहार लेकर लगता हूँ । इस बार मैं उन्हें जापानी गुडिया देकर चौका देना चाहता हूँ । लेकिन अब ये बात हर कहीं समाचारपत्रों में छप जाएगी और सरप्राइज रही नहीं जाएगा । आपने दो लडकियों की खुशी पर पानी फेर दिया । उसने बडी मोहक मुस्कुराहट के साथ ये बात कही और प्रश्न पूछने वाले ने अपनी हार मानली कमरे में बैठे दूसरे पत्रकारों ने भी स्वीकृति में हामी भरी है । खेल का प्वाइंट ज्यूरी को मिला । वालिया भी इस दौरे पर साथ आना चाहती थी लेकिन बच्चों की देखरेख के साथ विदेशी यात्राएं करना सहज नहीं है । उसने मॉस्को में घर पर ही रहना उचित समझा और उसके पति ने अकेले ही द्वारा किया और सार्वजनिक मंचों पर उसे कठिनाई अनुभव होती थी । उसने ऐसी जिंदगी की उम्मीद तो नहीं की थी क्यों डेमचक यूरी के विदेश दौरे के दौरान वालिया के साथ घूमता था । उसने पब्लिसिटी के प्रति उसकी तीव्र घृणा को भाग लिया था । जहाँ एक तरफ उसकी अब तक होने वाली विदेश यात्राएं उसके तनाव का कारण थी वहीं मॉस्को की सडकें दुकानें भी कम बोझिल नहीं नहीं घर गृहस्ती की खरीदारी के वक्त डेमचौक उसे कार में बैठाकर ले जाया करता हूँ । वालिया एक आम मॉस्को वाली की तरह कतार में खडी अपनी बारी का इंतजार क्या करती है? लेकिन कतार में खडी दूसरी औरते उसे तुरंत पहचान लिया करती हैं तो तुरंत वापस कार में बैठ जाती है और कहती है आओ चले मुझे पहचानते हैं । हर कोई उसे कतार में पहले आ जाने के लिए कहता हूँ लेकिन वो बडी संभ्रांत लतापूर्वक कार के पास लौटकर किसी दूसरी दुकान पर चली जाती हूँ । निकोलाई कम ने मंजूरी के साथ कई विदेश दौरों पर साथ रहता था । चार दिसंबर उन्नीस सौ को भारत दौरे के दौरान उसने अपनी डायरी में लिखा है, हजारों लोगों ने गैगरीन का गर्मजोशी से स्वागत किया । ये देखकर मुझे ईसा मसीह के बच्चों से मिलने की बचपन की याद ताजा हो जाती है । उसे पांच हजार रोटी के टुकडे और मछलियों से चमत्कार दिखाने की जरूरत थी । लेकिन हमारा यूरी तो अपनी उपस्थिति मात्र से ही लोगों की प्यास बुझा देता था । हालांकि ये बात मुझसे अच्छी तरह और कोई नहीं जानता कि यूरी महज भाग्य वर्षीय है । उसकी जगह कोई भी बडी आसानी से ले सकता था । मुझे ग्यारह अप्रैल को ये लिखना याद है कि कल गैगरीन सारी दुनिया में विख्यात हो जाएगा । लेकिन मैंने उसके आकर्षण के पैमाने की भविष्यवाणी कभी नहीं की थी । नौ दिसंबर तक यूरी वालिया और सहगामी कोलंबो सिलोन में थे । जूरी ने काम ने इनको बतलाया कि वो थक कर चूर होने ही वाला था । कोलंबो में सोवियत के राजदूत ने जितना संभव हो उतनी उपर स्थितियां देने की स्थिति की कम दिन ये लिखने से नहीं चुके हो भी सरकार को अच्छा दिखाने के लिए यूरी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करके नहीं छोड लेना चाहते हैं । इससे उस पर क्या प्रभाव पडेगा इस बात से उन्हें कुछ भी लेना देना नहीं है । इस समय तक काम दिन यूरी की बढती शराब की लत और वालिया की सार्वजनिक उपस् थिति के परिणाम शुरू होने वाले तनावों से निपटने की अक्षमता से चिंतित हो रहा था । कम दिन गोलोवानोवा और दूसरे नजदीकी सहकर्मियों का भी इस विषय पर यही दृष्टिकोण था । ऐसा लगता है कि यूरी एक समझदार शराबी एक मौज मस्ती पसंद इंसान था । वो वैसे तो छककर पिता था लेकिन काम के वक्त शराब से बिल्कुल दूर रहता था । दुर्भाग्य वर्ष प्रचार दौरे के कारण उसे ऐसे सामाजिक माहौल में रहना पडता था जहाँ उससे शराब पीने की अपेक्षा की जाती थी । इसके साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रमों की अधिकता के कारण बिना प्रयोजन की बहुत ज्यादा शराब पीने में उसका रुझान पडता ही गया । यूरी के व्यक्तिगत केजीबी से चलो वो भाषण सलाहकार यामीन राॅकी ऐसी बातें होने देने के लिए खिंचाई की जाती थी । हालांकि इसे रोकने के लिए भी कुछ कर भी नहीं सकते । यूरी ने रूसा यह वह प्रत्येक उस व्यक्ति से जो दूसरे की रक्षा करने के लिए दबे तौर पर कार्य करते थे, से अच्छे संबंध बना रखे थे । आज गुरूसाई का कहना है, जूरी बहुत ही पवित्र हृदय का व्यक्ति था । वो हमेशा दूसरों के द्वारा पैदा की गई समस्याओं की जिम्मेदारी से हम ले लेता था । जहाँ तक घर मंटो की बात है, समस्याएँ तो उसके पास से ऐसे गुजर जाती थी जैसे बतख के पंख से पानी । उसकी उडान के बाद तकरीबन बीस गंभीर अनुशासनात्मक घटनाएं, कार्ड, टक्कर इत्यादि उससे जुडी हुई थी । लेकिन इन समस्याओं को यूरी के साथ जोडते थे और इसी समय मैं दखल दिया करता था । जब यूरी अपनी प्रस्तुतियां देता या पत्रकारों से बात कर रहा होता तब रुसा ये उसके नजदीक ही बैठता था । मैं उसके अंगरक्षकों की तरह नहीं था । मैं उसका सलाहकार और सहायक ज्यादा था । यूरी ने जिन कठिनाइयों का सामना सार्वजनिक जीवन वो विदेश यात्राओं में क्या है? उनकी कल्पना आपको करनी है उसकी देखभाल करना । मेरा काम ऐसा नहीं है कि यूरी सामाजिक रूप से अकुशल था । काम इनके ठीक उलट । उसे उन राजनीतिज्ञों, वह अधिकारियों के नाम अच्छी तरह याद रहते थे जिनसे वो मिलता था । जिस मुस्तैदी से वह कठिन से कठिन प्रश्नों का जवाब देता था तो मेरे लिए बडे अचरज का विषय था । रूसा ये एक बडी मार्मिक कहानी सुनाते हैं । निकिता सार्जेई विच खुश्चेव शराब के कुछ ही ग्लासों में झूमने लगते थे और यूरी हमेशा उसे बहने से बचाया करता था । हालांकि यूरी खुलकर खुश्चेव की प्रशंसा क्या करता है फिर भी वो दूसरे राजनीतिज्ञों से सुरक्षित दूरी बनाकर रखता था । सर जी ब्लोट सर को बस की यूरी से अच्छी तरह परिचित था । वो उसे एरोस्पेस विषय सन से पढा रहा था । मुझे लगता है कि उसका व्यक्तित्व बढने लगा । एक तरफ को राजाओं, राष्ट्रपतियों इंग्लैंड की क्लीन का अतिथि बनने लगा । वहीं दूसरी ओर वो आम लोगों से अपने आप को कभी अलग नहीं कर सका । मुझे ऐसा महसूस होता है कि उसने निम्न वर्गों के अधिकारों के अभावों से उनकी कठिनाइयों को समझा और समाज के सर्वोच्च वर्ग में भ्रष्टाचार देखा । उसने हमारे नेताओं को शराब के नशे में धुत टेबलों पर नाचते और दुर्व्यवहार करते देखा । इससे उसके सच्चे मन को चोट लगे बिना नहीं रही हूँ । मैं केवल ऊपरी रक्षाओं की बात नहीं कर रहा हूँ, बल्कि उस आंतरिक भ्रष्टाचार की बात भी कर रहा हूँ जो शीर्ष के नेतृत्व वर्ग में सरकारी था । यूरी के खिलाफ भी उनका ड्रॉप भडका हुआ था जो बिल्कुल अनुचित था । उनके इस रॉक की वजह से खुश्चेव के वरद हस्त से प्राप्त सभी तरह के विशेषाधिकार ये सच है कि उसे वो दूसरी कॉस्ट नॉट को औसत से बेहतर आवाज किए गए थे । लेकिन उनकी सुख सुविधाओं का स्तर मध्यमवर्गीय अधिकारियों से बेहतर नहीं था तो कहता है हमें कभी भी विशेष फायदे नहीं मिलेगी । लोग हमेशा मुझसे कहते थे तुम अपनी सुविधाओं की चाहत तो जाहिर करूँ, क्रिश्चयन उन्हें जरूर पूरा करेगा । मैंने कभी इस ओर ध्यान नहीं दिया । नहीं हो रही है हम तो ठहरे युवक दूसरा ये इस बात की पुष्टि करते हुए कहता है यूरी पूर्णता एक ईमानदार इंसान था । अंतरिक्ष में जाने वाला वह पहला कॉस्टली था । ये काम उसने अपने देश के लिए किया था । आज आप उस स्थान को देखिए जहाँ बालिया रहती है । ज्यूरी ने अपनी मातृभूमि के लिए ये बडा काम किया ना की दौलत की नहीं यूरी की मानसिक शांति को भंग करने में कुछ फिर शालू लोग लगे हुए थे । सर्जरी ब्लोट सर को बस की नहीं पाया । विदेशों में अपने देश का प्रतिनिधित्व करते हुए समस्याओं के जिन अंबार का सामना गैगरीन को करना पडा । उसकी कल्पना कभी कोरोलेव ने भी न की होगी । उसके कई दुश्मन पैदा हो गए क्योंकि वह विदेशी प्रतिनिधिमंडल के सोवियत प्रमुख लोगों की अपेक्षा अधिक लुभावने । वह सच्चे अंदाज में बात व्यवहार करना चाहता था । जो वरिष्ठ हैं वे आपको ऐसी बातों के लिए कभी मना नहीं करते । रूसा इयर ने ऐसे खतरों से यूरी को बचाने के लिए कडी मेहनत नहीं । वो हमेशा कहा करता था कि राजनीति उसे कठिन और जटिल लगती थी । राजनीतिक गंदा काम है । आप इस से दूर ही रहे तो अच्छा है । आपके पास आपका देश है, आपका परिवार है, जो आपके पास है उसका लुक लीजिए और राजनीति में मत पडिए । सन उन्नीस सौ में जब खुश्चेव के शासन का तख्ता पलट यूनिट नहीं किया तब तक गुरुसाहब गिव यूरी के साथ रहा । इसके बाद सभी काॅस्ट के संबंध केजीबी के साथ बिल्कुल अलग हो गए । मार्च में यूरी बहुत जरूरी राजनीतिक मार्ग दर्शन के लिए दूसरा ये से अंतिम बार मिला । तब तक दोनों के लिए काफी देर हो चुकी थी ।

22. Antariksh Ka Bimariya

रूसी और अमेरिकी चिकित्सीय विशेषज्ञ सन तक एक समान निष्कर्ष पर पहुंचे कि अंतरिक्ष उडान की कठिनाइयां, मिताली आना, सिर चकराना, सिरका, भारीपन, गले का सूखना जैसी छुटपुट परेशानियों से कहीं ज्यादा हैं । ये सभी लक्षण बेचैन कर देने वाले थे किंतु पारंपरिक तौर पर कोई भी स्वस्थ व्यक्ति पृथ्वी की कक्षा में चक्कर लगाने के बाद जीवित बचा रह सकता है । इसके बाद केवल शारीरिक स्तर पर ही प्रशिक्षण नहीं दिया जाता था बल्कि अंतरिक्ष यान के अपेक्षाकृत अधिक जटिल क्रम में कार्य करने के लिए सही मानसिक और बौद्धिक स्तर पर भी प्रशिक्षित किया जाता हूँ । कुबूले कम दिन और सोवियत रॉकेट कार्यक्रम के अन्य वरिष्ठ सदस्यों ने सोलह ऐसे होनहार कॉस्ट नॉट के अभ्यार्थियों की फाइलों पर दोबारा नजर डाली जिन्हें सन में मेडिकल बोर्ड द्वारा खारिज कर दिया गया था । उन्होंने उन्हें एक और मौका देने का निर्णय किया क्योंकि अब उनकी शारीरिक क्षमताओं की अपेक्षा उनका इंजीनियरिंग और शैक्षणिक कौशल कहीं अधिक अहमियत रखता था । वही तक अंतरिक्ष समुदाय में इस नए कॉन्सर्ट दल के साथ दस गैर विमानचालक तकनीकी विशेषज्ञों को भी रखा गया । वस्तुतः कोरोलेव के ओके भी एक डिजाइन ब्यूरो के प्रतिभाशाली इंजीनियर थे । इस दौरान सन के बीस दल वाले यूरी के अधिकतर मित्र और सहकर्मी घर मांॅग, अमीर हमारो और एंड्रियन निकोला ये नए आए लोगों के दल पर अपनी श्रेष्ठता कायम करने के लिए कठिन अध्ययन कर रहे थे । इक्कीस दिसम्बर में कर्नल यूरी गैगरीन को गौर ट्रेनिंग सेंटर का डिप्टी डायरेक्टर नियुक्त किया गया जो सीधे निकोलाई कम दिन के प्रति ही उत्तरदायी था । एक बडी हद तक ये नया कार्य उसे किसी तरह की क्षति से दूर रखते हुए हैं, प्रोत्साहित करने के लिए ही था । पिछले तीन वर्षों के दौरान अंतरिक्ष प्रशिक्षण के हर पहलू से वो पिछड चुका था और उसे जेट लडाकू विमानों में सन्निहित जोखिम के कारण उन्हें उडाने की भी अनुमति नहीं थी । अन्य सामान्य लडाकू विमान के पायलटों की तरह उस पर जोखिम नहीं उठाया जा सकता था बल्कि कूटनीतिक और सामाजिक प्रतीक के रूप में सुरक्षित रखा जाना था । भले ही वो एक त्वरित नोटिस पर अंतरिक्ष उडान की श्रेणी में लौटने में सक्षम था । किंतु वे कुंड जिनसे वो वोस्टोक के लिए आदर्श बन गया था, अब उतने अहम नहीं थे । अच्छे दृष्टिकोण, वहाँ पृष्ठभूमि वाला युवा पायलट होना अब पर्याप्त नहीं रह गया था । यदि यूरी फिर से अंतरिक्ष यान चलाना चाहता हूँ तो उसे आर्बिटल मेकैनिक्स उडान प्रणालियों, कंप्यूटर कण्ट्रोल और स्पेस नेविगेशन का अध्ययन करना पडता है । तत्पश्चात अपने वरिष्ठों को सक्रिय उडान की सूची में रखे जाने के लिए विश्वस्त भी करना पडता हूँ । कोरोलेव निश्चित तौर पर उसे सक्रिय उडान में रखना चाहता था किन्तु उसने अपने इस पसंदीदा लिटिल ईगल को काफी पहले ही चेतावनी दे रखी थी कि उसे जल्द से जल्द शैक्षणिक प्रशिक्षण लेना होगा । सब के दौरान चीफ डिजाइनर ने निरंतर जारी विदेश यात्राओं से तंग आकर शिकायत की थी । जहाँ तक अंतरिक्ष की बात है यूरी और तो हमारे हाथ से निकलते जा रहे हैं । उनकी देखरेख में असफल रहने के कारण चीफ डिजाइनर ने काम नाम की भी खिंचाई की थी । काम ने हमेशा की तरह अपनी डायरी में लिखा उसकी शिकायतों पर नजर डालते हुए हम उस कडवाहट को देख सकते हैं जो उसके नाम को गुप्त रखे जाने के कारण है । कोरोलेव पहले से ही वो स्कोर से परे एक महत्वाकांक्षी नए अंतरिक्ष यान की योजनाएं बना रहा था जिसमें और सामान्य कारगुजारियों की क्षमता हूँ जैसे कमान्ड देने पर अपनी कक्षा बदलना, इसकी आवाज, दिशा का एकदम सही समायोजन और इस सब में सर्वोपरि कक्ष में दूसरे यान से संपर्क साधना । इस नए अंतरिक्ष यान का नाम तो यूज रखा जाना था जिसका अर्थ है संघ यानी यूनियन । बेशक ये अमेरिका के अपोलो यान का सीधा जवाब था वस्तुतः सोयूज की सामान्य रूपरेखा, जिसमें रियर इक्विपमेंट, सेक्शन मध्य में एक रीएंट्री केप्सूल और सामने ड्रॉप डॉकिंग कम्पार्टमेंट लगे थे । इतना सा की संविदा के प्रयास में और सफल रहने वाली जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी द्वारा अपोलो के लिए तैयार की गई रूपरेखा से मेल खाती हुई लगती है । भविष्य की चंद्र योजना की दिशा में सोयूज प्रमुख तत्व था, किन्तु ये कम से कम अगले दो सालों तक तैयार नहीं हो पाता । इस बीच काॅस्ट तो जो कोरोलेव के सर्वाधिक विश्वासपात्र इंजीनियरों में एक और बोलेगी । इवानो उसकी का निकट सहकर्मी था, बडी तेजी से उस कोड तैयार करने में लगा था ताकि कोरोलेव द्वारा खुश्चेव से किया गया निजी सौदा पूरा किया जा सके । प्रैक्टिस तो भी वो स्कूल में प्रथम विशेषज्ञ इंजीनियर कॉस्ट मिनट के रूप में उडान भरने का प्रशिक्षण ले रहा था । वहीं ओके भी एक के अंदर एक ऐसा व्यक्ति था जो तकनीकी मुद्दों पर चीफ डिजाइनर को संतुष्ट रखने में सफल रहा । अडियल नहीं डरता के मामले में दोनों शख्सों में अजीब समानता थी । दुनिया ने पहले ही इन्हें बदतर से बदतर सबक सिखाया था । जहाँ कोरोलेव साइबेरियाई कारागार कैंप में मौत के मुंह तक बहुत चुका था वहीं तो तो रेड आर्मी की तरफ से लडते हुए नाजियों द्वारा कैद कर लिया गया था । बुरे सुलूक से पूछताछ करने के बाद उसे एक खाई के सामने खडा कर अंधाधुंध गोलियां चला दी गयी । वो मुर्दों के ढेर में किराए और रात होने तक मुर्दों के नीचे छिपा रहा है ताकि इसके बाद घायल हालत में वहाँ से निकल सके । बोस कोड कैप्सूल में उसे ऐसी कोई डराने वाली बात नहीं लगी । जब प्रेक्टिस तो और दूसरे उच्च दक्षता प्राप्त लोगों का ऍम वर्ग में स्थान बनने लगा तो यूरी के अध्यन में बराबरी करने और दूसरी अंतरिक्ष उडान का अवसर पाने के अवसर कम हो गए । उस की विदेश यात्राओं के बीच यूरिक ऑॅटो में प्रायर शामिल रहता था लेकिन कई अवसरों पर वो कक्षा में उस जगह पर बैठना जहाँ से किसी राजनयिक कार्यक्रम में बुलाया जा सकता है । जब से खुश्चेव का प्रशासन लडखडाने लगा यूरी अपना शैक्षणिक कार्य संभालने में लग गया क्योंकि तब उसे सुर्खियों में बने रहने की उतनी आवश्यकता नहीं रह गई थी । मार्च उन्नीस में वो मॉस्को की जुकोवस्की अकैडमी पहुंचा जो उड्डयन और एयरोडायनेमिक्स के सभी पहलुओं को सम्मिलित करती थी । इसका संचालन लाॅर्ड्स की प्रोस्पेक्ट पस्थित शानदार पेट्रोस की पैलेस में क्या जाता था पेट्रोल उसकी पैलेस का निर्माण शाही यात्रियों के ठहरने के लिए कैथरीन द ग्रेट नहीं कराया था । सन अठारह सौ बारह में मॉस्को उपद्रव के समय नेपोलियन यहाँ ठहरा था । अब ये अंतरिक्ष में उडान भरने वाले फॅस के लिए आवश्यक ठहराव था । अंतरिक्ष उडान के नए पाठ्यक्रम के लिए एक विशेष पाठ्यक्रम पायलट इंजीनियरिंग ऍम डिप्लोमा लागू किया गया था । अभ्यार्थियों को अंतरिक्ष के सभी पहलुओं का अध्ययन करना पडता था और चुने हुए विशिष्ट इकरन के क्षेत्र में शोध पत्र लिखना होता था । इस तरह फॅस अब लगभग अमेरिकी शैली में आ रहे थे जहाँ फॅस को अंतरिक्ष उडान में अर्हता प्राप्त करने के लिए डिप्लोमा लेना पडता था । एक विशेष शोधपत्र में नासा के एक छात्र बस एल्ड्रीन ने कक्षीय मुलाकात के लिए गणितीय क्रम सुझाया जिससे एस्ट्रोनॉट्स टुकडी में उसे सुरक्षित वर्ग प्राप्त हो सकता । जुकोवस्की में अपना स्थान तय करने के लिए यूरी ने अपने शोधपत्र के लिए हॉली ग्रेल ऑफ ऍम स्पेस फ्लाइट विषय चुना । ऍम जिसने यूरी के साथ कई महीने अध्यन किया । उसने बताया कि वो खुद के साथ काफी कठोर था । मुझे हमेशा हैरत होती कि आपने अध्यन के प्रति वो कितना ज्यादा कर्तव्यनिष्ठ था । वो अपना काम कितनी पूर्णता और परिश्रम के साथ तैयार करता था । दूसरों की बराबरी करने के लिए वो कितनी कठिन कोशिश करता था । जिस किसी को इतना नाम और शोहरत हासिल हो चुकी हो वो इतनी मशक्कत नहीं क्या करता हूँ । विंग वाले अंतरिक्ष यान बडे सामान्य तरीके से उपयोग में लाए जा सकते थे । वे किसी जुटे हुए खेत में या समुद्र में गिरने के बदले हवाई अड्डे पर उतर सकते थे । बिलिंग्स धीमे होकर अंतिम रूप से उतरने की प्रक्रिया को नियंत्रित कर सकते हैं ताकि यान सुरक्षित तौर पर भाइयों के बल जमीन पर खडा हो सके । स्पेस कैप्सूल के उलट विज्ञान का प्रयोग और भी उडान के लिए किया जा सकता था । इसमें एकमात्र कठिनाई विंग्स के एरोडायनेमिक उपयोगिता को संतुलित करने की थी जिसकी आवश्यकता रीएंट्री हीट्स बिल्डिंग के लिए थी । नासा ने तथा कथित लिफ्टिंग बॉडीज के लिए पहले काम करना शुरू कर दिया था । लिफ्टिंग बॉडीज ऐसे प्रयोगात्मक ज्ञान थे जो न तो पूरी तरह कैप्सूल थे और न ही वायुयान । बल्कि इन दोनों के मध्य की एक प्रणाली थी । उन्हें काफी ऊंचाई से नीचे गिराया जाता था और उनमें से अधिकतर सफल लैंडिंग करते थे किंतु उन्हें अंतरिक्ष में भेजा जाना कठिन था क्योंकि रॉकेट इंजन ओवर ईंधन टैंकों के कारण ये काफी भारी हो जाता था । फिर ही फील्डिंग की समस्या तो थी । उस समय ऐसी कोई मजबूत और हल्के वजन की सामग्री नजर नहीं आती थी जिसका प्रयोग लिफ्टिंग बॉडी के विंग्स को रीएल्टी के दौरान पिघलने से बचाने के लिए किया जा सकता है । परंपरागत कैप्सूलों की हीट सिल्टिंग मोटी और भरी हुआ करती थी, जो बुरी तरह जल जाया करती थी, जिससे कैप्सूल के साइड में भयंकर दाग पड जाते थे । शील्ड हेतु प्रयुक्त लाख और फाइबर जैसे भारी पदार्थ विंग्स के लिए उपयुक्त नहीं थे । कुल मिलाकर स्पेस प्लेन में अत्यधिक जटिल तकनीकी चुनौतियां सामने आ रही थी । नासा के वर्तमान स्पेश शटल के डिजाइन में भी खामियां है । वो वजनदार घटकों एवं थ्रो वेट टैंकों से निर्मित हैं और उसमें तापरोधी के रूप में सिरेमिक टाइल्स का उपयोग किया गया है । अच्छी तरह उपयोग डिजाइन की खोज अभी भी जारी है । यूरी द्वारा मध्य साठ के दशक में इन मुद्दों पर शोध किया जाना उसके अंतरिक्ष उडान में पुनर्प्रवेश पाने के प्रयास की गंभीरता को दर्शाता है । आज बहुत कम लोगों को उसका इंजीनियरिंग कौशल याद है, जो उसकी निश्चल मुस्कुराहट में बसता था । जो कॉमर्स की एकेडमी में उसका अनुशासित, वह परिश्रम पूर्ण डिप्लोमा कार्य, उसके निकटतम सहकर्मियों के अलावा बाकी सभी ने भुला दिया है । उन में से एक हैं सर्जेई । उनमें से एक हैं सरजेई फॅस की जो जुकोवस्की में डिप्टी डायरेक्टर और अंतरिक्ष उडान में फॅस के शैक्षणिक कौशल वह आर्बिटर डाइनेमिक्स के प्रति उत्तरदायी था । यूरी की महानतम उपलब्धियों में से एक थी सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से उसके स्पेस प्लेन का बिना ऊर्जा के लैंडिंग करने में सक्षम हो ना उसके कुछ प्रशिक्षकों की जिद थी कि ऐसा तकनीकी दृष्टिकोण से संभव नहीं था । यूरी का तर्क था कि यदि स्पेस प्लेन डेड स्केट नहीं उतर सकता है तो ये अनुपयोगी है । आखिर इंजन के फेल होने पर उसमें सवार लोग कैसे वापस आ सकते हैं? ठीक वो स्टॉक कैप्सूल की तरह एक छोटे ब्रेकिंग मोटर से स्पेस प्लेन को कक्ष के बाहर लाया जा सकता था । उसका कहना था, इसके बाद ये बिना इंजन के जमीन पर आ सकता था । उसका पहला हाल पैराशूट से विमान को नीचे लाने का था । लेकिन बेशक ये विचार कम व्यवहार था, अंततः उसने निश्चय किया कि ग्लाइडिंग करते हुए लैंडिंग करनी चाहिए । नासा के वर्तमान शटल बिल्कुल ऐसा ही करते हैं एवं अंतिम पहुंच के वक्त उनमें इंजनों का इस्तेमाल नहीं होता । कुछ अहम पहलुओं में यूरी की स्पेस प्लेन की धारणा उसके अपने प्रशिक्षकों से आगे थी । विशुद्ध एरोडायनेमिक साइंस में वे उसे काफी पीछे छोड देते थे । उसका स्पाॅट में कैसी प्रतिक्रिया करता? फिर अचानक छोटे छोटे झांकी आने की स्थिति में क्या होता है? क्या उसने यान के जमीन के पास आने के दौरान वायु प्रवाह के परिवर्तन की गणना की थी? यूरी ऍफ कंप्यूटरों पर एयरफ्लो संख्याओं का उसके आदर्श डिजाइन से मेल कराने के प्रयास में जटिल गणितीय अनुमानों का प्रयोग करता रहता था । वो अपने प्रशिक्षकों और सहयोगियों के साथ अपने विचारों में सुधार लाने के लिए तर्क वितर्क का सहारा लेता रहता था । यूरी का स्पेस प्लेन वाला कार्य शीर्ष रहस्य माना जाता था । वस्तु टाॅवर्स की में संचालित सारे डिप्लोमा कार्य बहुत ज्यादा वर्गीकृत थे । कोरोली की तरह बॅाक्स की की पहचान भी गोपनीय थी । वह सार्वजनिक रूप से उसकी शख्सियत जाहिर नहीं की जाती है । उसे अपने पसंदीदा छात्रों की फोटो खींचने की भी अनुमति नहीं थी इस घर से कि पश्चिम के जासूस कहीं उसे पहचानना लेंगे । फिर भी वो अपनी याद को बनाये रखने के लिए जासूसी कैमरे का प्रयोग करता था । हमने सभी फिल्में एक्सेस में छुपा कर रखी थी और काफी समय बाद उन्हें डेवलप करते थे । मुझे नहीं लगता कि हम कुछ गलत करते थे । अपने गैर अधिकारी क्रियाकलापों के कारण आज हमारे पास एक अहम वह ऐतिहासिक तस्वीरों का संग्रह उपलब्ध है । यूरी अपने काम में कितना हो गया की एकेडमी के हॉस्टल में रहते उसने लंबा समय बिताया । इस दौरान वो वालिया वो बच्चों से दूर रहा । लेकिन शैक्षणिक उत्कृष्टता का अनुगमन ही उसके अपने परिवार से दूर रहने की एकमात्र वजन नहीं थी । मॉस्को के गार्डन रिंग रोड के पश्चिमी पार्टियों पर स्थित यू नो कॉस्ट हॉस्टल में भी काफी समय बिताया । यू नो कॉस्ट कम्युनिस्ट यूथ मूवमेन्ट कम सुमूल से जुडा हुआ था । वहाँ यूरी के लिए सातवीं मंजिल पर कमरा नंबर सात सौ नौ हमेशा आरक्षित रहता था । विभिन्न अवसरों पर यू नो में स्वागत भोज इत्यादि कार्यक्रम मॉस्को एवं अन्य गणतंत्र से आने वाले को आसनसोल प्रतिनिधिमंडल के लिए होते रहते थे । जहाँ यूरी की उपस् थिति तो जोशीले भाषण अपेक्षित होते थे । पार्टियाँ प्रयास फोर तक जारी रहती थी । तब यूरी कडकडाती ठिठुरन भरी सर्दी में घर लौटने के बदले यू नो कॉस्ट में जाकर सो जाया करता हूँ । होटल की अनौपचारिकता और निजता के कारण वो आराम और अपने मित्रों से भेंट कर सकता था । वो बिलियर्ड्स का अच्छा खिलाडी था और कदाचित ही कभी किसी से हाथ था । एक बार खूबसूरत शतरंज खिलाडी नोना के लिए उसने स्वयं हार मान ली थी । यूरी के मित्र ये न समझ सके की एक लडकी से हारने का तिरस्कार वह कैसे सहन कर सकता था । लेकिन उसके दिमाग में तो कोई और ही खेल चल रहा था । यूरी एक स्वस्थ्य खूबसूरत युवक था जो दुनिया भर में बीटल पॉप ग्रुप के फोर के संभावित अपवाद के साथ सर्वाधिक विख्यात और वांछित हीरो भी था । लेकिन उसे गलती से विजय ही और बाज न समझ लिया जाए । इस मामले में उसकी स्थिति में कोई और सुपरस्टार जितना रहा होता उससे वह काम था और नहीं ज्यादा वो वाला से प्रेम करता था और अपनी दो बेटियों के लिए समर्पित था । लेकिन वालिया अपने पति से शादी के वचन निभाने की बात को लेकर उतनी संतुष्ट नहीं थी । परस्त्री गमन के एक ही कृति से वो उखडी उखडी रहती थी । एक बार वालिया ने यू नो होटल पहुंचकर अपने बिगडैल पति की खबर लेने की सोची । वहाँ जो कुछ भी हुआ उसके लिए यू नोट में यूरी का मन पसंद नहीं की । गोर खोखले वहाँ की सुरक्षा व्यवस्था में खेल हवाले को दोष देता है । उन दिनों एक अलग ही युग का दौर था । कोई भी औरत गैगरीन पर फिदा हो जायेगा थी । उसके साथ घूमा फिरा और सोचा है तक करती हैं । यू नो में ऐसे बहुत कम अवसर उसे मिले थे । एक पार्टी के बाद जब वह नशे में था तभी एक खास स्पोर्ट महिला चैंपियन का उस पर दिल आ गया । यूरी ने उसे नहीं छोडा बल्कि उसने ही यूरिको छोडा था । दोनों कमरे में साथ थे तभी उसकी पत्नी पाल्या वहाँ पहुंच गई । शायद वालिया को कुछ पूर्वाभास सा हो गया था । मेरे ख्याल से वो सामने की दस पर बैठे मिलिट्री पुलिस की गलती थी क्योंकि बडी आसानी से वे यूरी के कमरे में फोन करके उसे बता सकते थे । लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया । वालिया ने तो पहाड ही सिर पर उठा लिया और यूरी की तो उसने हालत बिगाडकर रखती । उसके साथ की लडकी ने तो अपने कपडे उठाए और वहां से चंपत हो गई । मैं तो कहूंगा की वो स्पोर्ट महिला यूरी को बहुत महंगी पडी है । वालिया के लिए तो ये एक चिरपरिचित बात थी । दरवाजे पर लात मारना कहा सुनी और उसके पति के चेहरे पर चोट लगना । लेकिन इस बार चोट की वजह बालकनी से कूदना न होकर गुस्से में वाल्या का उसके चेहरे पर नाखूनों से जोरदार आक्रमण था । अगले दिन उसके नई खोखले आपने यूरी के चेहरे से खरोंच के निशान को मैं कब से हटाया था ताकि वो खुश चेयर से मुलाकात कर सके । खोखले बताता है मैंने उसका मेकप किया बल्कि ये कहा जाए कि मैं उसके घाव चाट रहा था । वो ऐसा आदमी था जिसे औरतों का स्वाद लग चुका था । लेकिन मैं समझता हूँ कि वो हर समय किसी फिराक में नहीं रहा करता था । वेलेंटीना अपने पति से बहुत प्यार करती थी लेकिन जो कुछ हो चुका था उसके कारण वो काफी फिर शालू हो गई थी । इसके अलावा उसने उसे रंगे हाथों जो पकड लिया था । घर मंटो का कहना है उसकी पत्नी के लिए इस बात के प्रति आश्वस्त होना काफी कठिन था कि वह अब केवल उसका ही है । फोर उसके घटनाक्रम के बाद यूरी के व्यवहार में एक नियंत्रणकारी प्रभाव के लिए खुश्चेव के आदेश से उसे अंगरक्षक मुहैया करा दिया गया तक यूरी ने अंगरक्षक हटाने के लिए क्रिश्चयन को राजी कर लिया । लेकिन अंगरक्षक के बदले उसके अनुगमन में तीन सामान्य लोगों को लगा दिया गया । कुक लोग कहता है, यदि गैगरीन को कोई महिला पसंद करती है तो वो उसके साथ नहीं जा सकती थी । आप किसी अंगरक्षक के साथ तो उसे बात नहीं सकते थे ना ये बिल्कुल वैसा ही है जैसे यदि आपको शराब पीनी है तो आप अपने अंगरक्षकों के लिए भी शराब खरीदें । दूसरा अहम पहलू था काम के दबाव का हूँ जो जुकोवस्की के अलावा स्टार सिटि एवं सरकारी समारोह प्रचार कार्यक्रमों में भी रहता था । ये ब्रिज नहीं के युग में काम तो हो गया लेकिन खत्म नहीं हुआ । एक दिन जूरी खुद लोग के पास बाल कटाने के लिए आया । उसने उसे रास्ते में शराब पीकर पडे एक व्यक्ति के बारे में बतलाया जिसके ट्राउजर्स कीचड से सने पडे थे । यूरी ने मजाक करते हुए कहा, वो बडा समझदार व्यक्ति है । कम से कम वो आराम करने का समय तो पानी जाता है और बाकी के काम भी उसी समय निपटाता है कि गोरखू लोग प्रायः खुश्चेव के बाल काटने के लिए क्रैमलिन भेजा जाता था । उसे अपने संपर्क में आने वाले केजीबी स्टाफ के सदस्यों, वह गोपनीय पुलिस के सिपाहियों की कुछ बातें याद है । मैं कृष्णा देवी और उसके विशेष अंगरक्षक के साथ कमरे में था । वो अंगरक्षक अपने हाथ उस जेब में डाले हुए था जिसमें वह स्टॉल छिपाकर रखता था । मैं सोच रहा था ज्यादा तेज कौन हैं? तुम अपने पिस्तौल के साथ या मैं अपने रेजर के साथ । तभी एक वरिष्ठ प्रबंधक वहां पहुंचा । उसने अंगरक्षक को देखते हुए कहा, हम नई पर भरोसा करते हैं । जब ईगो यहाँ है तब अंगरक्षक की जरूरत नहीं है । इसलिए अंगरक्षक को बाहर जाकर दरवाजे पर इंतजार करना पडा । अंत में उस नई ईगो ने नहीं बल्कि खुश्चेव के निकटतम राजनीतिक साथियों ने उसका गला काटा ।

23. Capsule Ki nayi Design

कृष चेयर ने सोवियत यूनियन को एक आधुनिक तकनीकी राष्ट्र विश्व मंच पर अपनी मिसाइलों, अंतरिक्ष रॉकेटों, उपग्रहों, कंप्यूटरों, जेट, यानो, वायुयानों, वाहकों वो परमाणु अस्त्रों के साथ एक शक्तिशाली भूमिका में प्रदर्शित किया । कृष चाॅदी की तर्ज पर अपनी सफलता से ध्यान हटाने के लिए अंतरिक्ष की चकाचौंध की ओर अपना ध्यान एकाग्र करता था । बारह अक्टूबर को कुरुमेदेव ने वो स्कूल एक का सफल प्रक्षेपण तीन व्यक्तियों के साथ करके अपना वादा निभाया । व्लादिमीर कुमारों ऍफ तो और बोरी सीख को सक्रिय केबिन में इंजेक्शन सीटें नहीं मिलीं । उनके अंतरिक्ष पोशाक पहनने की भी जगह वहाँ नहीं थी । उन्होंने साधारण सूती वस्त्र की पोशाकों से स्वयं को पूरी तरह से ढक रखा था । किंतु वह खोड में पुराने वो स्टॉक डिजाइन के आधार पर कुछ सुधार किए गए थे । ज्ञान के सामने की ओर ब्लॅक रॉकेट पोर्ट लगा हुआ था ताकि प्राइमरी यूनिट के फेल होने की स्थिति से निपटा जा सके । रीएंट्री कैप्सूल का अंडर साइड कुछ समतल सा था जिसपर जमीन पर टकराने के प्रभाव को हल्का करने के लिए बहुत से छोटे छोटे रॉकेट लगे हुए हैं जिससे उसमें सवार सभी व्यक्ति टचडाउन तक आराम से अंदर बैठे रह सकें । सोवियत के प्रवक्ताओं ने बडे गर्व के साथ सॉफ्ट लैंडिंग धारणा के विषय में बातें वो स्कूल एक की उडान इतनी विलंब से हुई कि क्रिश्चियन को उसका लाभ न मिल सका । कैप्सूल की वापसी तेरह अक्टूबर को हुई और दूसरे दिन फर्स्ट सेक्रेटरी को अपदस्थ कर दिया गया । मॉस्को में पोलित ब्यूरो की एक विशेष बैठक में जब उसे सूचित किया गया है कि उसने अपनी उम्र वह बिगडती स्वास्थ्य की वजह से त्यागपत्र दे दिया है तो वह हैरान रह गया । क्रिश्चियन के डिप्टी लियोनिद ब्रेझनेव ने अनसुलझे अनाज संकट का फायदा उठाकर फर्स्ट सेक्रेटरी का पद हथिया लिया । आज खुश्चेव के निष्ठावान सहयोगी, जो डोर बरलाज की का कहना है, हाल ही में हुए तख्तापलट जो हाल ही में हुए तख्ता पलट जो गोर्वाचोव के समय हुआ, उसका बुरा मत मानना है । ये केजीबी और भेजने का क्रिश चिव और स्टालिन विरोधवाद के क्रिश्चिन और स्टालिन विरोधवाद के विरुद्ध हुआ । वास्तविक तख्ता पलट लगभग तुरंत ही यूरी का दर्जा भी प्रभावित हुआ । उस की विदेश यात्राओं में कटौती कर दी गई और क्रेमलिन से उसका संचार बहन समाप्त कर दिया गया । ब्रिज को अपने पूर्ववर्ती की ब्रिज को अपने पूर्ववर्ती की अंतरिक्ष विजय की परवाह नहीं थी । बदलाव की जो यूरी को भलीभांति जानता था । उसने युवा कॉस्ट मिनट के मिजाज में तुरंत आए बदलाव को पढ लिया । मुझे यकीन है कि वह नाखुश था । इसकी वजह यह नहीं है । इसकी वजह यह नहीं थी कि वह बेचने को पसंद नहीं करता हूँ । बल्कि बात इसके ठीक उलट नहीं । ब्रिज ने भी उसे दुनिया भर में खुश्चेव का प्रतिनिधि समझता था । देखते ही देखते यूरी का दर्जा वह अहमियत समाप्त हो गई । मुझे ऐसा महसूस हुआ मानो इस बात का उसे एहसास ही ना रह गया हूँ की क्या किया जाए । राजनीतिक रूप से तो सोवियत यूनियन की ओर से पश्चिम के देशों में शांति दूत के रूप में प्रतिनिधि प्रतिनिधित्व करता था लेकिन ब्रिज ने हथियारों की होड फिर से शुरू कर दी और तब ऐसे में उसे गैगरीन जैसे लोगों की जरूरत नहीं । बदलाव की रूस में राजनीतिक जीवन के निरंतर यथार्थवाद पर जोर देता है कि इतना अहम नहीं है कि कौन व्यक्ति क्या है बल्कि अहम यह है कि कौन किसके साथ है । गैगरीन खुश्चेव के साथ था और बिजनेस के समय यही बात उसके कैरियर को धाराशाही करने के लिए पर्याप्त थी । ये केवल बाॅस की की ही राय नहीं है कि नए कठोर साम्राज्य नहीं, यूरी के जीवन को इस कदर प्रभावित किया कि उसने सब कुछ खो दिया । उसे फिर से कुछ नए अनुभव में आने का प्रयास करना पडा । शायद शराब पीने की लत के कारण बर्बाद हो चुका था । किसी समय वो अपने देश का प्रतिनिधि हुआ करता था और अब बिना किसी रूपये का एक सामान्य पायलट रह गया था । किसी ने एक बार लिखा सबसे बडा दुख है । पहले सुख का अनुभव कर चुका हूँ । ब्रिज ने और उसके पोलित ब्यूरो मित्रों ने उससे वो खुशी छीन ली थी और आगे जूरी के साथ जो कुछ भी हुआ वो उसके गुनहगार थे । यूरी का निजी ड्राइवर जोडो डीएम चुक प्रथम कॉस्ट मिनट के पतन को बहुत ही खरीद ढंग से कहता है । उसे याद है कि खुश्चेव के जमाने में गैगरीन का बार बार क्रैमलिन जाना सुखद अनुभव रहा करता था । प्रायः मौज मस्ती और शराब के साथ बिजनेस के जमाने में उसकी क्रेमलिन की यात्राएं अपेक्षाकृत काफी कम हो गए । क्या ग्रीन उदास बाहर निकलता हूँ और कार में बैठ जाया करता हूँ? मैं उससे ये भी नहीं पूछता की बात क्या है । मुझे पूछने की जरूरत ही नहीं थी । मैं देख रहा था कि वह अपने विचारों में ही खोया रहता है । यूरी का सबसे बडा शुरुआती झटका था की अब अपने पास आने वाले बहुत से लोगों की मदद अपने प्रभाव के कारण नहीं कर पाता था । वो कोई साधु संत तो नहीं था लेकिन नहीं । संदेह एक अच्छी सुभाव का व्यक्ति था । सामाजिक और व्यक्तिगत उत्तरदायित्व के गुण जो उसने युद्धकालीन दौर में ग्रहण किये थे । जीवन भर उसके साथ रहे उसके पूर्व के सारे सहकर्मी जो आज उसकी सडक, दुर्व्यवहार और विचारहीनता की ओर संकेत करते हैं, भी जरूरत में मित्रों और परिचितों के प्रति उसके सहयोग और उदारता की भावना को नहीं । नकारते । वस्तुतः तक सभी काॅस्ट जिन्होंने अपने मिशन पूरे कर लिए थे विख्यात और उनका प्रभाव लंबी अवधि तक उच्च वर्गों में बना रहा हूँ । गैगरीन की उडान के दस दिनों बाद स्टार सिटि में सोवियत यूनियन वह विदेशों से भारी तादाद में आ रहे पत्रों से निपटने के लिए एक विशेष पत्राचार विभाग की स्थापना की गई । समय अंतराल में इस विभाग का विस्तार कर दिया गया है ताकि अन्य ऍप्स के पत्राचार से निपटा जा सके । इस विभाग में स्थायी ड्यूटी पर सात सेक्रेटरी तैनात रहते थे जिनमें से दो केजीबी के प्रतिनिधि सर्जे ये गुप ओरने दो प्रमुख उददेश्यों को मन में रखकर ऑपरेशन की अगुवाई की । पहला जूरी के कार्यभार की अधिकता में मदद करना दूसरा उभर सकने वाली संवेदनशील बातों पर नजर रखता हूँ । उसके कार्य राजनीतिक रूप से बहुत कम हैं और कॉसमॉस के प्रति दुनिया का खिंचाव विलुप्त हो चुका है । लेकिन वह अभी भी उस विभाग को चला रहा है । बहुत आने वाले पत्रों के संबोधन गैगरीन, मॉस्को या फॅमिली हुआ करते थे । अंत में उसे विशिष्ट कोड मॉस्को सात सौ पांच देने का निर्णय लिया गया । इन वर्षों के अंतराल में मेरे ख्याल से हमने दस लाख के करीब पत्र प्राप्त किया हूँ अधिकतर पत्रों में लेकिन सभी में नहीं । यूरी की उपलब्धियों पर खुशियाँ, आश्चर्य, प्रशंसा गर्व व्यक्त किये जाते थे । ये ग्रुप कहता है कि हमने अभी भी स्टार सिटि में सारे प्रलेख रखे हैं और हर कोई वहाँ पहुंच सकता है । आप पाएंगे कि पत्राचार में कोई भी गर्त पत्र नहीं है । ये मानना उचित प्रतीत होता है कि उनमें से कुछ छाट कर बाहर कर दिए गए होंगे । लेकिन मदद के लिए बहुत याचनाएं अब भी उनमें हैं । कुल पत्राचार का दस से पंद्रह प्रतिशत सामान्य नागरिकों द्वारा बेहतर आवास, जलापूर्ति व्यवस्था, पेंशन भुगतान में वृद्धि और किंडरगार्टन के लिए अनुरोध सम्मिलित है । संयोग वर्ष ये उन दिनों के काफी जटिल मुद्दे थे । सबसे ज्यादा सनसनीखेज मुद्दे जेल के कैदियों के हुआ करते हैं जो उनके मामलों की पुनरीक्षा से संबंधित थे । ऍफ को एक ऐसे ही कैदी का पत्र याद है । गैगरीन ने कहा, मैं क्या करूँ? मुझे मदद करनी है लेकिन यदि हम इस लडकी को बचाते हैं तो ये कहीं ज्यादा सहज और सरल होगा । यदि वह जेल में जाएगा तो सामान्य तौर पर वो हमेशा के लिए अपराध प्रणाली में खो कर रह जाएगा और इंसान बनने लायक नहीं रहेगा । वो हर जगह गया और हर किसी के कार्यालय वो सचमुच लगा रहा हूँ और मेरे ख्याल से उसे सकारात्मक परिणाम खाते हो गया । यूरी के सामने आने वाले निम्नांकित अनुरोधों पर नजर डालकर हम उसके व्यक्तित्व का अनुमान लगा सकते हैं । आदरणीय यूरी ऍम प्रथम श्रेणी विमानचालक जिसने एयरपोर्ट में उन्नीस वर्षों तक सेवा की से अनुरोध है कि मेरे बेटे का जीवन पर निर्भर है । यूरी एलैक्सिज सोवियत यूनियन का हीरो मेरी बेटी को विश्वविद्यालय में प्रवेश देने से इंकार कर दिया गया है वो भी यहूदी पृष्ठभूमि की होने के कारण । कृप्या जाब डाॅ । नागरिक आपसे अपनी बेटी के लिए अवैध रेजिडेंशियल होम में स्थान आरक्षित करने पर विचार करने का अनुरोध करता है क्योंकि वो मानसिक रूप से अस्वस्थ है । ये ग्रुप उन पत्रों के संग्रह से अन्य उदाहरण भी प्रस्तुत करता है । एक पत्र में सोलह वर्ग मीटर क्षेत्रफल के नौ सदस्यों वाला कर डिमोन परिवार यूरी से बेहतर आवाज के लिए अनुरोध करता है । एक मात्र कमरे वाले इस पुराने मकान में चारों ओर से दीवारों पर शीट चढी हुई है । एक मोरोजोवा नामक महिला नागरिक द्वारा किया गया है । उसका एक बच्चा है जो जन्म से रेवे रोग की जटिलता से रहते हैं । इसी तरह एक कैदी या कुट्टीन अपने पत्र में कहता है कि उसे गलत तरीके से फंसाया गया है । वो अनुरोधकर्ता है कि उसकी सजा के निर्णय को निरस्त किया जाए । यूरी सभी प्रश्नों का जिम्मेदारी के साथ जवाब देने की कोशिश करता है और जहाँ कहीं जितना बन पडता उनके लिए करने का भरसक प्रयास करता था । किन्तु वह कुछ पत्रों के प्रति बिल्कुल उदासीन रवैया अपनाता । जैसे रिचर एंड कंपनी नामक एक शराब कंपनी ने अपने नए उत्पाद के लिए एस्ट्रोनॉट गागरिन वोट का के रूप में उसका नाम प्रयोग करने का अनुरोध किया था । इस पत्र को पाने के बाद उसने ये गुप ओर से शिकायत की । आपने इस पत्र को मुझे दिखाया है क्यों इसे पढते हुए मैंने तीन मिनट काम आती है । वहीं उसने एक पंद्रह वर्षीय लडके को जिसने विनम्रतापूर्वक कैरियर पर सलाह मांगी थी, जवाबी पत्र लिखते हुए पूरे आधे घंटे का समय बिताया । प्राइवेट लोग यूरी के पास मदद के लिए व्यक्तिगत रूप से आते रहते थे । ऍफ कहता है कि जब भी यूरी कजाखस् में अपने परिवार के पास आता था तो उसके माता पिता के मकान में बहुत से स्थानीय बडे लोग उससे मिलकर राजनयिक लाभ लेने के लिए उसका इंतजार करते पाए जाते हैं । उसने अपने पुराने पडोसियों और स्मोलेंस्क के लोगों के लिए बहुत किया है । गजार स्वस्थता एक पुरानी शैली का व्यापारिक शहर था लेकिन सन उन्नीस सौ इकसठ के बाद ये फलने फूलने लगा और एक आधुनिक अत्यधिक विकसित नगर में तब्दील हो गया । यूरी के नाम और शोहरत से सारे क्षेत्र के भाग्य में एक महान परिवर्तन आया है । एक खास अवसर था जब यूरी ने मदद के लिए बिल्कुल साफ इंकार कर दिया । एक व्यक्ति की माँ ने उसे पत्र लिखकर बताया की उसका बेटा क्रिसमस के समय प्रतिबंधित क्षेत्र में पर का पेड काटने के कारण मुश्किल में पड गया था । यूरी ने इस मामले की पडताल की और पाया कि उसने एक से अधिक पेड काटे थे और अपने फायदे के लिए उन्हें बेच रहा था । उसने उस व्यक्ति को काम से हटा देने की अनुशंसा की । उसके ड्राइवर के मुताबिक यूरी बहुत नाराज हो गया और कहा, यदि हर एक व्यक्ति जाकर एक वृक्ष पर का काटे तो क्या होगा? हम रहेंगे हूँ । एक दिन हमारे लिए तो कुछ बचा ही नहीं रहेगा । यू नो इसे और ऐसी ही अनेक घटनाओं को जो अंतरिक्ष से यूरिको पृथ्वी के प्रति बोध हुए उस परिपेक्ष्य में लिखता है, अपनी उडान के बाद वो हमेशा कहता है कि दुनिया कितनी विशेष है और इसे बनाए रखने के लिए हमें कितना सावधान रहना होगा । आधुनिक मानकों में आज हमारे स्कूलों में सबको ये सिखाया जाता है लेकिन तब हमारे प्रथम एस्ट्रोनॉट के मन में ये बात कैसे उभरी होगी? अप्रैल में दुनिया की तीन बिलियन की जनसंख्या में यूरी ही एकमात्र ऐसा मनुष्य था जिसने दुनिया को एक छोटी सी फॅमिली गेंद के रूप में अनंत ब्रह्माण्डीय अंधेरे की ओर खिसकते देखा था । उस पेड काटने वाले व्यक्ति ने यूरी की विशेष अनुशंसा पर अपना काम खोल दिया । लेकिन प्रायर वो आपने याचिकाकर्ताओं को उच्च अधिकारियों से अपील करने में मदद करता था । यदि उस ने कह दिया तो ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो उसकी मदद नहीं करता हूँ । उसको इनकार कौन कर सकता था, ये ग्रुप कहता है ऍम कर सकता था । अपने पद पर आने के पहले ही महीने में ब्रिज ने अपने से षड्यंत्रकारी एलेक्सेई को जमीन पर प्रभाव जमाने में लगा था । कुरुमेदेव के प्रति ब्रिज नहीं का नजरिया खुश्चेव जैसा ही था । अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षा में प्रथम होने और विशुद्ध तकनीकी विवरण के प्रति उदासीनता किन्तु वह छोड दो के निर्धारित मिशन के प्रति ब्रिज गेम में गहरी रूचि थी । इससे एक बडी नई विजय श्री की संभावना प्रथम अंतरिक्ष चहलकदमी थी । करौली भी इस प्रोजेक्ट के प्रति काफी उत्सुकता में उसने लियोन को तैयार किया जो सभी अभ्यार्थियों में अच्छा स्थान रखने वालों में से था । उसने मुझे बताया कि किसी भी विमानचालक को तैरना सीखना पडता है और सभी काॅस्ट को तेरना और अपने वाहन के बाहर निर्माण कार्य करना आना चाहिए ।

24. Asafal Mission

तेईस फरवरी को कोरोलेव ने एक नया एयरलॉक छोडकर मानव रहित परीक्षण यान प्रक्षेपित किया । बी एंट्री के दौरान कैप्सूल के टूट जाने से ये मिशन बुरी तरह असफल हो गया जिसकी वजह ही जमीन से संकेत दी जाने वाली कमांड में गडबडी कुछ दिनों बाद एक विमान से कैप्सूल का ड्रॉप भी पैराशूट के न खुलने के कारण फेल हो गया था । इस सफलता से कुरुली बुरी तरह खीज उठा और लेख सिवाना उसकी ने उसे गुस्से में कहते हुए सुना मैं तो चीथडों के नीचे उडने से तंग आ गया है । उसे पैराशूटों से हमेशा ही चिढ नहीं । उसकी हमेशा यही इच्छा रहती है कि काश वो कुछ कठोर रोटर वाली प्रणाली या कुछ दूसरी एयरोडायनेमिक युक्ति इजाद कर सकता हूँ । शायद उसका सौभाग्य ही था कि वह अप्रैल का पैराशूट फेल होने का भयंकर हादसा देखने के लिए जिंदा नहीं रहा । किसी हादसे में यूरी गैगरीन की मृत्यु हो गई थी । वो स्कूल दो मिशन ने नासा के प्रथम जैमिनी मिशन से छः दिनों पूर्व अठारह मार्च को उडान भरी । इस बार कैबिन में मात्र दो अंतरिक्ष यात्री ही थे जिससे वे अपनी भारी भरकम अंतरिक्ष पोशाक पहनकर आराम से अपनी सीटों पर जमे रहे । पावेल बेलिया ये अंदर ही रहा हूँ जब की उसकी सहपायलट ऍम लचीले एयरलॉक में प्रवेश करके स्वयं को कैप्सूल से बाहर कर लिया । लगभग दस मिनट तक उसने अंतरिक्ष में चहलकदमी करने का आनंद लिया । तत्पश्चात वापस स्वयं को यान में खींचने लगा । उसने पाया कि पूरे दबाव में उसकी पोशाक बाहर की तरफ गुब्बारे की तरफ खुल गई थी जिससे वो एयरलॉक में समझ नहीं पा रहा था । काफी प्रयास के बाद हार कर लियो को अपनी पोशाक की कुछ हवा बाहर निकालने पडी ताकि वो वापस अंदर प्रवेश कर सकते हैं । इसके बाद अगले दिन घर आने से पहले ही बेलिया ये आपने पाया की यान की चाल ढाल ब्रेकिंग बॉन के लिए त्रुटिपूर्ण है । इससे पहले कि ऑटोमेटिक गाइडेंस सिस्टम में गडबडी पैदा हो, उस ने इसे बंद कर दिया । कोरोलेव और ग्राउंड कंट्रोल की मदद से उसे और लियोन को ब्रेकिंग मोटर्स को अगले कक्ष में मैनुअली स्टार्ट करना पडा जिससे अंतिम लैंडिंग स्थल दो हजार किलोमीटर दूर हो गया । परिणामस्वरूप कैप्सूल फॉर्म के नजदीक बर्फ से ढके मैदान में वोल्गा नदी के सुदूर क्षेत्र में उतरा । इस बीच रिकवरी दल दो हजार किलोमीटर दूर उस क्षेत्र में था जहाँ उन्हें कैप्सूल के उतरने की उम्मीद थी । अंत तक कैप्सूल फर्क के वृक्षों के झुंड में धाराशाही हो गया । कॉस्ट नॉट्स को रात बर्फीली ठंड सहकर बितानी पडी । उन्हें रिकवरी दल द्वारा साथ ले जाए जाने का इंतजार था । उन्होंने धक्का देकर कैप्सूल के हैच को खोला लेकिन नीचे आने की उनकी हिम्मत नहीं हुई क्योंकि बर्फीले भालुओं का एक झुंड पास ही अंधेरे में कहीं गुरा रहा था । सोवियत प्रेस रिपोर्ट में इन कठिनाइयों की बातें नहीं की गई थी और ये मिशन दुनिया भर में जमकर प्रचारित हुआ । खासकर यूरी द्वारा एलेक्से कोशिश चीन के कार्यालय से कडक फोन कॉल का जवाब देने के बाद उन्होंने कहा कि फॉर्म में लैंडिंग से जुडा एक भी शब्द मीडिया में नहीं आएगा । मुझे नहीं मालूम कि वह प्रदेश कैसा दिखता है लेकिन मुझे सभी टेलीविजन स्टेशनों में जाकर ये सुनिश्चित करना पडा कि आप उनके किसी भी न्यूज फुटेज में फॉर्म की पहचान नहीं कर सकते । अंततः ये तथ्यात्मक बात है कि फॅसने अमेरिकी प्रतिद्वंदियों से पहले अंतरिक्ष में चहलकदमी यानी स्पेसवाक की लंदन इवनिंग स्टैंडर्ड अखबार ने यूएस एस्ट्रोनॉट यंग वक्री सम के विषय में प्रथम जैमिनी उडान को लेकर फॉलोआॅन शीर्षक से एक लेख लिखा होगा । जबकि अखबार द टाइम्स ने यू नो के अभियान को इतिहास का जोरदार दल निरूपित किया हूँ । एक बार फिर नासा को मात दी गई । यू नो के स्पेस वाकिंग प्रतिद्वंदी इन वाइट तीन जून को द्वितीय जैमिनी मिशन वो उसको छोड दो की उडान के लगभग तीन महीने बाद इस बराबरी का मौका नहीं मिला । यू नो जो एक अच्छा चित्रकार भी था, अपनी अंतरिक्ष चहलकदमी को दर्शाने वाली डाकटिकट डिजाइन करने लगा । उसने पृथ्वी की कक्षा में कर विचर के बारे में अपने अनुभव बांटते हुए घंटों बिताए । इस विषय पर मेरा दृष्टिकोण यूरी के वर्णन से अलग था । ये कर विचर । यूरी के वर्णन की अपेक्षा ज्यादा लंबा, बहुत ज्यादा गोल था । इससे मैं असमंजस में पड गया । लेकिन तभी हमने महसूस किया कि वो स्कूल की अधिकतम कक्षा ऊंचाई पांच सौ किलोमीटर दिए जबकि वोस्टोक की ढाई सौ किलोमीटर । इस तरह मैं अपेक्षाकृत काफी ऊंचाई पर हूँ । आप देख रहे हैं कि हर एक चीजों का उपयुक्त तर्कसंगत आधार है । इस करीब करीब सफल मिशन के उपरांत वो स्कूल तीन कार्यक्रम निर्धारित किया गया जिसे मार्च उन्नीस सौ के पार्टी कांग्रेस के समय तक संपन्न होना था । जॉर्जी फॅसने एक मानव रहित लक्ष्य यान के साथ कक्षा में मिलन का प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया आगामी वो उसको एडमिशन के लिए एक पत्रकार यूरो स्लेव गोलोवानोवा वह दो लेखों की नियुक्ति भी की गई । इसके पीछे वजह ये थी कि कोरोलेव अंतरिक्ष यात्रा पर फॅस के नीरस तापूर्ण वर्णन से परेशान हो गया था । चौदह जनवरी उन्नीस सौ को कुल एव आठ के ऑपरेशन के लिए क्रैमलिन अस्पताल में था । वर्षों की बीमारी एवं कार्य की व्यस्तता वो साइबेरिया के फॅमिली लेबर कैंप में सन उन्नीस सौ अडतीस से उन्नीस सौ तक रहने के कारण उसका स्वास्थ्य काफी गिरने के साथ साथ वो शारीरिक कमजोरी का भी शिकार हो चुका था । उसका आंतरिक रक्तस्राव अनियंत्रित था और पेट में दो ट्यूमर पाए गए थे । काफी समय ऑपरेशन जारी रहा । अंत तक ऋद्धये गति रुक जाने से उसकी मौत हो गई । ये खबर सुनकर यूरी ने अपना आपा खो दिया और कहा कि उसके संरक्षक व मित्र कोरोलेव के इलाज तो उच्चस्तरीय चिकित्सकों को उपलब्ध नहीं कराया गया । इतने सम्माननीय व्यक्ति का इलाज इतने सामान्य वह गैर जिम्मेदाराना तरीके से कैसे कराया जा सकता है । यूरी हमेशा यही कहता था कि क्रेमलिन का विशेष अस्पताल अभिजात के लोगों के लिए ठीक नहीं है । सोवियत यूनियन को अंतरिक्ष कार्यक्रम में अग्रणी रखने के लिए इतने सालों तक काम करते हुए उसने स्टैलिन के शासनकाल में भुगती हुई गिरफ्तारियां, यातनाएं, मार खाने और कैद की चर्चा कभी नहीं की । लोग उसे भालू की तरह शक्तिशाली शरीर वाला व्यक्ति मानते थे जबकि फौलाद सा बन गया था । वो अपनी गर्दन नहीं घुमा सकता था । बगल में खडे व्यक्ति से आठ मिलाकर बात करने के लिए उसे धड के ऊपरी भाग को उसकी ओर घुमाना पडता था । नहीं जोर से हंसने के लिए उसकी जबडे खुलते थे । जिस दिन उसकी सर्जरी होनी थी उस से दो दिन पहले मॉस्को के उस कैंटीनों राज्य में स्थित अपने घर में वो आराम कर रहा था । जूरी और लियो नो अन्य कई सहकर्मियों के साथ उससे मिलने आए । और शाम के अंत में जब अधिकतर आगंतुक जाने के लिए अपने ग्रेट कोट पहन रहे थे तभी कोरोलेव ने अपने दो पसंदीदा काॅस्ट से कहा, अभी मत जाओ में बातें करना चाहता हूँ । इसीलिए उसकी पत्नी नीना, कुछ और भोजन और ड्रिंक ली आई । तत्पश्चात पूरे चार घंटे तक फोर के वक्त तक कोरोलेव अपने प्रारंभिक जीवन की कहानी सुनाता रहा । ये ऐसी कहानी थी जिसे लियो लोग कभी नहीं भूल पाया । उस ने हमें बताया कि किस तरह उसे गिरफ्तार कर ले जाकर पीता गया तो पानी से भरा चक उसके ऊपर मारकर तोड दिया गया । वे प्रारंभिक रॉकेट कार्यक्रम के तथाकथित देशद्रोही और तोड फोड में संलिप्त लोगों की सूची मांग रहे थे और उसका एकमात्र जवाब यही था कि उसके पास ऐसी कोई सूची नहीं । कोरोलेव ने बताया कि किस तरह उसे बंधक बनाने वालों ने उसकी कुछ नहीं हुई । उंगली के बीच कागज का एक टुकडा हस्ताक्षर करने के लिए रखा था । फिर किस तरह उसकी पिटाई की गई और साइबेरिया में दस साल से सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई । यू नो कहता है यूरी और मैं उसकी कहानी के अप्रत्याशित भाग को सुनकर अवाक रह गए थे । साइबेरिया की जिंदा मौत से कुरोली को उसके एक सहयोगी वह विख्यात वायुयान डिजाइनर एंड्री टूपोलेव के उससे युद्ध कार्य में भाग लेने के अनुरोध पर मॉस्को लाया गया । इसके लिए उसे इंजीनियरों के लिए अपेक्षाकृत कम कठोर विशेष कारागार सुविधाएँ, वो बेहतर जीवन की दशाएं उपलब्ध कराई जाती । वस्तुतः टूपोलेव खुद एक कैदी था लेकिन कुरोली को मॉस्को लाए जाने के लिए कोई खास इंतजाम नहीं किए गए थे । उसे यूज ही काम चलाना पडा । सहन से परे जाडे में ठिठुरते और भूख से तडपते हुए अचानक उसने रास्ते में पडा । एक गर्म पाव रोटी का टुकडा देखा जो बाहर फेंक दिया गया था । ये किसी करिश्मे से कम नहीं था । उसने यूरी और लियोन को बतलाया । रेल से मॉस्को लौटने के दौरान उसे अपने रास्ते का खर्च निकालने के लिए मजदूर और मोची का काम करना पडा । साल भर से उसने ताजे फल सब्जियां नहीं चुकी थी । उसके साथ ढीले पड गए थे । एक दिन धूलभरे रास्ते पर चलते हुए वो गिर पडा । एक बूढे से सचिन ने उसके मसूडों पर जडीबूटी किसी और उसके शरीर को सहारा देकर बैठाया ताकि उसके चेहरे पर सूर्य की हलकी किरणें पडती लेकिन वो फिर से बेहोश हो गया । जैसा के लिए लोग को एक धुंधली सी याद है । उस ने हमें बताया कि उसे कुछ पड पडा था हुआ नजर आ रहा था । ये एक तितली थी जो उसे जीवन की याद दिला रही थी । ऐसा लगता है कि इतने सालों की छुट्टी के बाद बीमार जीत डिजाइनर अपने मनपसंद युवा मित्रों के साथ अपने दिल का बोझ काम करना चाह रहा था । दोनों अंतरिक्ष यात्रियों ने जो कुछ सुना उसका उन पर गहरा प्रभाव पडा । ये पहला मौका था जब कुरोली ने गुलाब में अपनी कैद के विषय में कोई बात की थी क्योंकि सामान्यतय ऐसी कहानियाँ गोपनीय रखी जाती है । हमें महसूस होने लगा कि हमारे देश में कुछ गलत चल रहा था । घर लौटते वक्त जूरी ये पूछे बिना नहीं रह सका की कोरोलेव जैसे महत्वपूर्ण लोगों को प्रताडित कैसे किया जा सकता है । बडी साफ बात है कि कोरोलेव एक राष्ट्रीय खजाना था । अंतिम क्रियाक्रम के बाद यूरी कोरोलेव के घर रात बिताने कि जिद पर अड गया । यूरोस् लेवॅल गोलोवानोवा के मुताबिक गैगरीन ने कहा मुझे तब तक अच्छा नहीं लगेगा जब तक मैं कुरोली की रात को चन्द्रमा पटना ले जाऊँ । मुर्दा अदाकरी है यानी क्रिमेटोरियम में उसने ऍफ लादिमीर कुमार ओर से कुरुमेदेव के कुछ बस मैं अवशेष अगली अंतरिक्ष उडान वहां उतरने के दौरान भी खेलने के लिए कहा । यद्यपि रूढीवादी परंपरा के मुताबिक आप किसी व्यक्ति के बस मैं अवशेष को नहीं बता सकते हैं । यह तो स्पष्ट ज्ञात नहीं है कि कभी कोई अवशेष भस्म अंतरिक्ष में ले जाई गई या नहीं । लेकिन गुरुवार हो इस बात के प्रति अधिक है कि क्रिमेटोरियम से कई मुठ्ठियां भस्म नदारद नहीं । कुमार ओह नहीं खोली की मौत के बाद कुछ बस में छिडक दी नहीं गैगरीन और यूरी के पास भी कुछ बस थी । गुरुदेव की मौत से जुडी में एक बदलाव आया । वो अंतरिक्ष और चंद्रमा पर उडान भरने के लिए पुनः कटिबद्ध हो गया । उसका स्वानुशासन पुना लौट आया और उसने डिप्लोमा प्राप्ति के लिए काफी उत्साह से मेहनत करनी शुरू की । कम दिन उससे काफी प्रभावित हुआ । उसने उसे प्रथम सोयूज मिशन के लिए प्रशिक्षण लेने की अनुमति दे दी । लेकिन इस बात से उसका एक अन्य काॅस्ट से मतभेद हो गया जिसे पूरा भरोसा था कि ये काम उसका है न कि यूरी का विख्यात अंतरिक्ष इतिहासवेत्ता जीएमओ बार का कहना है गैगरीन और एक दो कॅश के बीच उत्पन्न हुए किस तनाव के विषय में ज्यादा कुछ नहीं लिखा गया है । शायद इसलिए लोगों को इस विषय पर बात करना पसंद नहीं है । आधारभूत रूप से गैगरीन एक ऊंची श्रेणी रखता है ।

25. Abibadit Byaktitwa

अधिकतर अंतरिक्ष यात्रियों के यूरी के साथ अच्छे संबंध थे । वो उसके व्यवहार, मन की उदारता को पसंद करते हैं । सभी को उसके साथ पीना, खाना, पार्टी मनाना पसंद हैं । अपने एक विवादित अगुवा के रूप में उसका सम्मान करते थे । उनमें से बहुतेरे उसे वापस अंतरिक्ष में देखना चाहते थे । एक ही अंतरिक्ष यात्री की सोच कुछ अलग थी । अप्रैल में जन्मा जॉर्जी बेरी को वही वरिष्ठतम अंतरिक्ष यात्रियों में एक था । उसकी भर्ती में तब हुई थी जब शुरूआती के अभ्यार्थियों को पुनर्मूल्यांकन किया गया था । सभी कॉस्ट मिनट्स में वो और पावेल उसको छोड दो । मिशन में लियोनोरा का कमांडर दो ही ऐसे थे जो एक पायलट की विशिष्टता का दावा कर सकते थे, वास्तविक हवाई जंग का अनुभव रखते थे । मेरे को हुई युद्ध के दौरान एक सौ पचासी मिशनों पर उडान भर चुका था और उसे बहुमूल्य हीरो ऑफ सोवियत यूनियन की उपाधि से नवाजा गया था । सन उन्नीस सौ पचास के दशक में उसने बतौर परीक्षण पायलट सेवा की थी । इसीलिए जब उसने कॉस्ट मिनट प्रशिक्षण प्रारम्भ किया तो उसे विश्वास था कि इस कार्य हेतु वो पूरी तरह योग्य है । सन उन्नीस सौ चौंसठ में उसके चयन के शीघ्र बाद उसे नियोजित वो स्कूल तीन मिशन के लिए बैकप पोस्टिंग दी गई और उसमें इस विश्वास के साथ प्रशिक्षण लिया कि अगले मिशन में वो उडान भरेगा । निकोलाई कामनी इनको युद्ध के अनुभवी साथी से कोई गुरेज नहीं था । उसी ने मेरे को वही की भर्ती प्रायोजित की और सफलता का हर मौका दिया । कुरोली की मृत्यु के बाद उसने डिप्टी वासिली मिशन के ओके भी एक का कार्यभार संभाल लिया । वो अच्छे स्वभाव का उत्सुक व्यक्ति था लेकिन उसके पास राजनीतिक प्रभाव का अभाव था और अपने पूर्ववर्ती से ज्यादा चला था । किसी कारण से वो छोड तीन की निर्धारित समय सारणी इस बुरी तरह आगे किसकी की इसे रद्द ही करना पड गया । नशील ने ओके भी एक की ऊर्जाएं सोयूज पर खपाने का निश्चय किया और आगे एंड एक पर मेरे गोगोई को उम्मीद थी कि उसका बैकप हौदा अगले मिशन सोयूज के प्रथम मैन्ड परीक्षण तक आराम से पहुंचेगा । इसी बीच यूरी ने इस पद का स्वयं के लिए दावा करते हुए अपने कॉस्टनर ट्रेनिंग के लिए डिप्टी डायरेक्टर के रुपये का पूरा इस्तेमाल किया । मेरे गोगोई ने अपनी नाराजगी खुले तौर पर हर किसी से साफ जाहिर करती है और अंत तक एक दिन स्टार सिटि में यूरी के कार्यालय में सीधा जा धमका । यूरी का ड्राइवर फॅर कार्यालय के अंदर पहुंचा हूँ । उसने किसी को कहते हुए सुना दूसरा आदमी अपने काम में सालों का वरिष्ठ है लेकिन उसने अभी तक अंतरिक्ष में उडान नहीं भरी है । उसने यूरी के बारे में अभद्र वादी कहीं और कहा कि सोवियत यूनियन का सही अर्थों में हीरो बनने के लिए काफी छोटा है और वो बहुत हो गया था । उसने गागरिन को नवोदित कहकर संबोधित किया । इस पर गागरीन ने कहा, जब तक मैं प्रभार में हूँ तो मैं अंतरिक्ष की उडान कभी नहीं भरोगे । दोनों में कुछ देर तक झडप होती रही । ऐसा लगता है कि दोनों तरफ से कुछ गलतियां आ रही होगी । मेरे को वही सोयूज के लिए स्वयं पात्र नहीं हो जाता है । भले ही उसने जो भी सोचा हूँ उसका एक बिल्कुल अलग हार्डवेयर पर प्रशिक्षण नये यान के लिए बिल्कुल अनुपयुक्त था और आपने दुर्भाग्य का ठीकरा उसके द्वारा गागरिन के सिर पर फोडा जाना बिल्कुल अनुपयुक्त था । उसकी उडान से पहले वो स्कूल सीरीज को समाप्त कर दिया गया था तो इसमें यूरी का भला क्या दोस्त था । मेरे को कोई ने उन्होंने में स्टार सिटि का प्रमुख बनने के तथ्य से ये अनुमान लगाया जा सकता है कि वह एक महत्वाकांक्षी व्यक्ति था । इसके बाद डीएम चुकने डरते हुए यूरिको बतलाया । स्टार सिटि कंपाउंड के कुछ दूसरे कॉरस्पॉन्डेंट्स वो वरिष्ठ स्टाफ सदस्यों ने यूरी कि कार्यालयीन कार का प्रयोग करने के लिए कहा था और एक सीधा साधा ड्राइवर होने की वजह से डेमचोक उन्हें इंकार नहीं कर सका । उसने कहा पर जोर से हाथ मारते हुए कहा यहाँ हमारा एक ही कमांडर है और वही एकमात्र व्यक्ति है जो कार का आदेश दे सकता है । उसके अलावा कोई और इसका प्रयोग नहीं कर सकता है । भावावेश में कार पर उसकी मुठ्ठी पढने से होकर लगने जैसा निशान बन गया । टीम चुप को विश्वास था कि ये उद्गार यूरी के चरित्र का हिस्सा नहीं था । ये दिखावा न होकर उसके तनाव में रहने की वजह से झल्लाहट की अभिव्यक्ति नहीं यूरोप ले गोलोवानोवा कहता है । लगभग इसी समय दूसरे कॉस्ट नॉट को कहते सुना गया तो इसमें गैगरीन का क्या? उसने एक बार पृथ्वी की कक्षा में पृथ्वी का चक्कर ही तो लगाया है उसने वो स्टॉक के ऑटोमेटिक सिस्टम पर ही तो नजर रखनी थी ऐसा कहना उचित नहीं है क्योंकि जब उसने उडान भरी थी तो अंतरिक्ष उडान का सारा कार्य बहुत छोटे स्तर से शुरू हो रहा था और हर काम जो उसके द्वारा किया गया काफी अहम और बहादुरी की बात थी । कोई नहीं जानता था कि आगे क्या हो जाता है । वो ये भी नहीं जानते थे कि आदमी अंतरिक्ष में ठीक से घूट भी निकल सकता है या गुरुत्वाकर्षण के अभाव को झेल सकता है या नहीं । गागरिन को भला बुरा कहना बिल्कुल गलत है । अपने आप में बुदबुदाने वाले ये आलोचक निश्चित रूप से बीस के प्रथम समूह में से नहीं थे । अभी तो ये सोयूज के लिए नए भर्ती किए गए थे । कुरुली की मृत्यु से यूरी का एक प्रिय मित्र और संरक्षक से ही साथ नहीं छूट गया था बल्कि अंतरिक्ष समुदाय में अब उसका सबसे अहम राजनीतिक संरक्षक थी नहीं रह गया था । ठीक उसी तरह जैसे खुश्चेव के अपदस्थ होने के बाद क्रेमलिन के फिर शालू जनरलों से अपने बचाव के लिए वो बेबस हो चुका था । कॅप्टन अधिक रम में अपनी स्थिति कायम रखने के लिए प्रथम अंतरिक्ष यात्री जूरी को कडी मशक्कत का सामना करना पड रहा था । इस तनाव का असर उसके पहले की सहज स्वभाव पर पड रहा था । इस बीच वासिली मिशेलिन के नेतृत्व में वो भी एक कमजोर ब्यूरो के रूप में कार्य कर रहा था । वासिली क्रीम लिंग के हस्तक्षेप से स्वयं को कोरोलेव की तरह बचा नहीं पा रहा था या प्रतिस्पर्धी एयरोस्पेस के ब्यूरोक्रेट्स अंतरिक्ष में अपना कद बढाने की होड में लगे थे । अचानक नासा के विशाल चंद्रमा कार्यक्रम में ठहराव आ गया । सत्ताईस जनवरी को गस गरी सम और उसके साथ ही एंड व्हाइट और रोज चर्चा की सैटल रॉकेट के आधे आकार के रॉकेट पर अपनी पहली उडान के लिए तैयार अपोलो यान में सवार हुए । ये एक तरह से दिनचर्या की जांच प्रक्रिया मनोबल में कमी नजर आ रहे हैं क्योंकि नया कैप्सूल उम्मीद पर खरा नहीं उतरा था । विद्युतीय और संचार वाहन प्रणालियों पर विस्तृत कार्य पर्याप्त था जिसके प्रति फॅसने अपनी नाराजगी व्यक्त की । जब परीक्षण शुरू करने के लिए चाहती ने हैड से होकर उडान यान में प्रवेश किया तो उसने शिकायत की की अंदर के हिस्से में फटे दूध की तरह दुर्गंध आ रही थी । वस्तुत वायुमंडलीय नियंत्रन हार्डवेयर से क्यू मुड रही थी । इसके अलावा रेडियो सिस्टम में भी गडबडी थी । ग्रीस हम गुस्से से बढकर चिल्लाया मिशन कंट्रोल से हम अंतरिक्ष से क्या खाक संचार वाहन करेंगे जब जमीन पर ही उनसे बात नहीं कर पा रहे हैं । कनाडी लॉन्च कॉम्प्लेक्स के आसपास तनाव का माहौल निर्मित हो गया जब तकनीशियनों ने अपोलो के भारी हैच को उसकी जगह ब्लॉक कर उसमें सवार लोगों को अंदर बंद कर दिया । पांच घंटे परीक्षण के दौरान ग्रीस नाम की अस्पष्ट आवाज रेडियो लिंक पर सुनाई । कुछ सेकंड के बाद दूसरी ज्यादा जरूरी आवाज रेडियो लिंक पर उभरी । अरे हम यहाँ चल रहे हैं । दर्द से चीखने की एक तेज आवाज उभरी । फिर कराने की आवाज के साथ ही रेडियो बंद हो गया । अचानक कैप्सूल खुल गया । बहुत भयावह दृश्य ना सनसनाहट की भयंकर आवाज आ रही है क्योंकि लॉन्च टावर का ऊपरी हिस्सा गाडी गुम मारते हुए धुएं से भरा हुआ था । पैड की कर्मचारी गेंट्री के काफी ऊपर कॉसमॉस को निकालने का लगातार प्रयास कर रहे थे । लेकिन हुआ इतना गहरा था कि उसे भेद पाना असंभव था । साथ ही ताप काफी बढता जा रहा था । अपोलो के हैच को खोलने में लगभग चार मिनट का समय लगा । तब तक सभी तीनों एस्ट्रोनॉट्स मर चुके थे । इस दुर्घटना से सन उन्नीस सौ साठ में वेलेंटीन बोंडारेंको के आइसोलेशन चैंबर में मरने की याद ताजा हो गई, लेकिन नासा उससे कोई सीख नहीं ले सका । इसकी वजह थी मन में बसी गोपनीयता जिससे सोवियत अंतरिक्ष का कार्यक्रम भी हमेशा प्रभावित रहता था । वो इस घटना से नासा के अंतरिक्ष कार्यक्रम में दो साल का अंतराल आ गया । ये स्व संदेह की स्थिति थी किससे इसकी तकनीकी व राजनैतिक प्रतिष्ठा बुरी तरह प्रभावित हुई । सोवियत की कॉस्ट नॉट्स अपने अमेरिकन साथियों के प्रति काफी दुखी हुए एवं उन्हें मृतात्माओं के परिवारों को आधिकारिक तौर पर शोक संदेश भेजने की अनुमति भी प्रदान की गई । सोवियत वालों का विशाल एंड वन ल्यूनर सुपर पोस्टर निर्धारित अवधि से काफी पीछे चल रहा था एवं हतोत्साहित अमेरिका वालों को भी मालूम था कि इससे उन्हें गंभीर खतरा नहीं था । नेशनल इंटेलिजेंस एस्टिमेट के दो मार्च के एक प्रदेश के मुताबिक उनका एन एक मूल्यांकन निम्नांकित था । सोवियत वालों द्वारा अपोलो की समय सारिणी की प्रतिस्पर्धा न कर पाने के कई कारण है । उनका चंद्रमा प्रक्षेपणयान परीक्षण के लिए शायद मध्य तक तैयार नहीं होगा । इसके भी चंद्रमा पर उतरने का प्रयास किए जा सकने से पहले एक वर्ष तक अनमैंड परीक्षणों की एक श्रृंखला के साक्षी बनने की उम्मीद है । इस बीच उन्हें अब भी अंतरिक्ष की कक्षा में मिलने और डॉकिंग तकनीक का परीक्षण करना है । चंद्रमा पर उतरने और वहाँ से वापस लौटने का कार्य मिशन और वो के भी एक की तीन के लिए बहुत दूर की बात लगती है । लेकिन जूल्स वर्ने शैली में चंद्रमा के चारों ओर की उडान का लक्ष्य हासिल किए जाने क्योंकि था वो भी भारी भरकम और अभी तक उडान नहीं करने वाले एंड एक बूस्टर के बगैर कोरोलेव के पुराने प्रतिस्पर्धी लो उसको एवं चेलो में प्रोटॉन नामक रॉकेट विकसित कर रहे थे । लेकिन ये इतना शक्तिशाली नहीं था कि वह चंद्रमा पर उतरने वाले मॉड्यूल होगी । उस पर सवार अंतरिक्ष यात्रियों समेत ले जा सकता मिशन के सामने कठिन विकल्प थे । यदि वह खेलों में के प्रोटॉन में चंद्रमा के चारों ओर की उडान का विकल्प चिंता तो उसे एंड एक देवंबद लाइक लैंडिंग क्राफ्ट पर अपना काम रोकना पडता हूँ । लेकिन यदि वह चंद्रमा के चारों ओर एक उडान में सफलता हासिल कर लेता तो इसके बाद का चंद्रमा की सतह पर अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों का उतरना दूसरा सर्वोत्तम कार्य माना जाता है ।

26. Phir Se Ud Chala

मन में इसी धुन के साथ नए सोयूज कैप्सूल पर जारी कार्य को गति दे दी गई । तदुपरान्त एंड एक प्रोजेक्ट को और पीछे धकेल दिया गया जिससे कोरोलेव के पुराने दुश्मन हो के भी एक पर और ज्यादा रूचि लेने हैं । अंतरिक्ष यात्रियों का दल इन सभी जटिलताओं से प्रभावित हुए बिना नहीं रह सका । यू नो आॅलराउंड मिशन के लिए एक दस्ते को प्रशिक्षित करने लगा जिसमें एक छोटा सा एकल व्यक्ति चंद्रमा पर उतरने वाला बोर्ड भी शामिल था । अंतरिक्ष यात्रियों के एक और दल को प्रोटॉन कि चंद्रमा की अर्धगोलाकार उडान के लिए तैयार किया गया । इसमें जो नामक सोयूज का ही एक पर्याय प्रयुक्त किया जाना था । इसी दौरान एक और दल यूरी समेत सोयूज के आधारभूत पृथ्वी कक्षीय परीक्षण जिसे आर सात के स्तर से जोड दिया गया था, के लिए प्रशिक्षण ले रहा था । नासा के प्रयास जिसमें अपोलो को बढा चढाकर प्रमुख लक्ष्य के रूप में रखा गया था । सोवियत का चंद्रमा कार्यक्रम बटा हुआ उलझन ग्रस्त और विरोधाभासी था । विशेष रूप से कोरोलेव के प्रबंध की अनुशासन के अभाव सन कि वसंत ऋतु तक सोयूज का विकास उसकी पहली महत्वपूर्ण उडान की तरफ बढ रहा था । बाईस अप्रैल को सोवियत के प्रचार विभाग ने बडे यकीन के साथ अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी यूपीआई को कुछ अफवाह ही खबर देने का निश्चय किया । आगामी मिशन में इतिहास का सर्वाधिक भव्या सोवियत अंतरिक्ष कदम का समावेश किया जाएगा । दो यानों के बीच इन फ्लाइट हो कब और दोनों यानों के अंतरिक्ष यात्रियों का एक दूसरे में आना जाना । लेकिन निकोलाई कामनी इनके दिमाग में कुछ संशय उठ रहे थे । उसकी डायरी में सोयूज के प्रक्षेपण की निर्धारित तिथि को आगे बढाने के लिए राजनीतिक दबाव का भी अंदेशा मिलता है । हमें पूरी तरह विश्वस्त होना चाहिए की उडान सफल होगी । ये पूर्व उडानों की अपेक्षा ज्यादा जटिल होगी और इसकी तैयारी में उचित रूप में अपेक्षाकृत ज्यादा लंबी अवधि का प्रयोग किया जाना होगा । हम अपने कार्यक्रम को हडबडी में आगे नहीं बढाना चाहते । अत्याधिक हडबडाहट से घातक दुर्घटनाएं होती है जैसे कि पिछली जनवरी में तीन अमेरिकी एस्ट्रोनॉट्स के मामले में हुआ कामान् । इनकी चिंता में आपदा का एहसास मिलता है । फॅसा है सोयूज का पहला मानव यान परीक्षण गागरिन के पैक अप के साथ लादिमीर कुमार को सौंपा गया था । बाद की तिथि में यूरी के उडान भरने के लिए एक नया सोयूज अंतरिक्ष यान तैयार किया जा रहा था । उसने दो वर्षों तक काफी कठिन प्रशिक्षण लिया और अपने प्रशिक्षण की विस्तृत रिपोर्ट स्टेट कमेटी को देता रहा । तत्पश्चात कुमार ओह में दो दिनों विशिष्ट रूप से सत्ताइस घंटे की उडान भरी और हमारे समक्ष एक बडी समस्या आ गई । कुमारों के लॉन्च के एक दिन बाद एक और सोयूज को तीन एस्ट्रोनॉट्स के साथ प्रक्षेपित किया जाना था । ये तीन ऍम थे वालेरी बाइको, बस की येवगेनी क्रोनो और ऍम दो सोयूज यान को तंग किया जाना था । उसके बाद ऍफ का कुमार ओह के कैप्सूल में अंतरिक्ष चहलकदमी करना निर्धारित वे यान की अतिरिक्त सीटों पर बैठ कर यात्रा करते । इस तरह ये भी अंतरिक्ष क्षेत्र में दुनिया का पहला कारनामा होता है कि वे एक यान से अंतरिक्ष में उडान भरकर जाते और दूसरे से वापस आते हैं । इसे रिहर्सल के तौर पर भविष्य में चंद्रमा के मिशन है तो डिजाइन किया गया था तो यूज में अभी तक एयर टाइप डॉकिंग चैनल को शामिल नहीं किया था । इसलिए कैप्सूल और भविष्य में चंद्रमा पर उतरने वाले यान के बीच एस्ट्रोनॉट ले जाने का एक ही चारा होता है जिससे एच तक स्पेस हो । ऐसा महसूस होता है कि बृज ने प्रशासन चाहता था कि डॉकिंग मई दिवस के आस पास हो जाएगा । सर की कम्युनिस्ट कैलेंडर में विशेष प्रासंगिकता है ये सन उन्नीस सौ में हुई क्रांति की पचासवीं वर्षगांठ दो अंतरिक्ष यानों का पृथ्वी की कक्षा में सहयोग स्थापित कर यूनियन बनाने की धारणा काफी हद तक प्रतीकात्मक थी । खासकर प्रतीकों की मानसिकता से ग्रसित सत्तारूढ सरकार के लिए सन उन्नीस सौ बयासी में सो यूज डेवलपमेंट टीम का एक इंजीनियर विक्टर ये सिकोडने जिसने हीट शील्ड के डिजाइन करने में भी हाथ बताया था । आपने सुरक्षित आश्रय कनाडा से इस बात की स्वीकृति वासिली मिशन बहु के भी एक पर कक्षा में दो सौ यूज जानो को समय पर ले जाने के लिए भारी राजनीतिक दबाव डाला गया था । कुछ प्रक्षेपण लगभग पूरी तरह से प्रचार के उद्देश्य से किए गए थे । इसका एक उदाहरण है सब में इंटरनेशनल सॉलिडेरिटी डे मनाने के समय ब्लादिमीर कुमारों की दुर्भाग्यजनक उडान का रखा जाना । वो के भी एक डिजाइन ब्यूरो के प्रबंधन को मालूम था कि सोयूज यान पूरी तरह त्रुटिहीन घोषित नहीं किया गया था । इसे कार्यशील बनाने के लिए अधिक समय की आवश्यकता नहीं । लेकिन चार अनमैंड परीक्षणों में त्रुटियां दर्शाये जाने के बावजूद कम्युनिस्ट पार्टी ने प्रक्षेपण का आदेश दे दिया और वासिली मिशन द्वारा एंडॉर्समेंट पेपरों पर हस्ताक्षर की मनाही के बाद भी क्योंकि वह सोयूज नियंत्रि यान की तैयारी अधूरी मानता था । उडान भरी गई । इस मिशन के निर्धारित अंतिम तिथि के नजदीक आने पर भी हो के भी एक टेक्निशियनों को अंतरिक्ष यान में दो सौ तीन अलग अलग कमियाँ क्या थी जिन पर अभी भी ध्यान दिए जाने की आवश्यकता थी । इस मूल्यांकन में यूरी गैगरीन काफी निकटता से जुडा हुआ था । नौ मार्च उन्नीस को उसने और उसके सबसे करीबी अंतरिक्ष यात्रियों ने कुछ इंजीनियरों की मदद से एक दस पेजों वाला प्रलेख तैयार किया जिसमें सभी समस्याओं की विस्तार से जानकारी दी गई थी । परेशानी ये थी कि इस बात को कोई नहीं जानता था कि क्या किया जाए । सोवियत समाज के बीच बुरी खबर की प्रतिक्रिया हमेशा खबर देने वाले पर पडती थी । मिशन के अलावा लगभग पचास वरिष्ठ इंजीनियरों को रिपोर्ट के विषय में जानकारी दी । क्या इसे तैयार करने में उन्होंने मदद की थी । लेकिन उन में से कोई भी क्रेमलिन जाकर इस बात को जाहिर करने का साहस नहीं जुटा पा रहा था ताकि इस प्रक्षेपण में विलंब कर आवश्यक तकनीकी सुधार लाया जा सकता है । फॅस और अंतरिक्ष प्रशासकों ने अंतत था एक बहुत पुरानी तकनीक को अपनाया । उन्होंने सोयूज कार्यक्रम के बाहर के व्यक्ति को उनकी ओर से प्रलेख सौंपने के लिए नियुक्त कर लिया । वो था यूरी गैगरीन का एक चीजे भी मित्र बेन्यामिन चाहिए । ऍम कहता है, कुमार ओह ने मुझे और मेरी पत्नी को अपने घर पर आमंत्रित किया । उसके बाद जब वो हमें विदा कर रहा था तो उस ने सीधे तौर पर बात की । इस उडान से मैं वापस नहीं लौटाउंगा क्योंकि मुझे स्थिति की जानकारी थी इसलिए मैंने पूछा यदि तुम्हें इतनी यकीनी तौर पर मालूम है तो इस मिशन से अलग क्यों नहीं हो जाते हैं? इस पर उसने जवाब दिया, यदि मैं सूडान पर नहीं जाता हूँ तो वे मेरे बदले मेरा बैकप पायलट भेज देंगे । वो पायलट हैं यूरिन मेरी जगह वो मारा जाएगा । हमें उस की हिफाजत करनी चाहिए । दूसरा यह ने कहा जिस विषय में वो बात कर रहा था उसका उसे ज्ञान था । ऐसा कहते हुए वह सुबह सुबह कर रोने लगा । हालांकि अपनी पत्नी के सामने वो अपनी भावनाओं पर नियंत्रण बरकरार रखे हुए था । लेकिन कुछ क्षण के लिए जब हम अकेले हुए तो वह पूरी तरह से धाराशाई हो गया । रूस आइए स्वयं से ज्यादा मददगार साबित न हो सका । रात भर बेचैन रहने के बाद अगली सुबह उसने के जीबी के वरिष्ठ मेजर जनरल कॉन्स्टेंटिन मेघा रोग की मदद लेने की सोची । मेघा रोका विभाग अंतरिक्ष के कार्मिक संबंधों को देखता था । वो कोरोलेव के साथ काफी करीब से जुडकर काम करता था । लेकिन वो रह नहीं गया था और उसका उत्तराधिकारी मिशन उसके जैसा व्यक्ति नहीं था । मेरे विभाग के लोग इस कार्य में अपना योगदान करते थे लेकिन मिशन से निपटना नामुमकिन था । खासकर तब जब कठोर निर्णय लेने की आवश्यकता होती है । उसे अत्यधिक मार्गदर्शन की जरूरत होती थी । मैं खा रोक के कार्यालय गया और उसे बताया कि रॉकेट में गंभीर खामी हैं । उसने बडे ध्यान से मेरी बात सुनी और फिर कहा, मैं कुछ करूंगा । इस बीच अपनी मेज पर पास ही डटे रहना । एक्शन के लिए भी वहाँ से मत हटना । मैंने अपना वादा पूरा किया और तभी अपनी मैच से हटा जब उसने मुझे फिर से बुलाया । उसने मुझे यूरी के नेतृत्व में एक समूह द्वारा तैयार किया गया एक पत्र दिया । अधिकतर फॅसने अनुसंधान में भाग लिया था । देखा रोकने पत्र ऊपर की मंजिल पर ले जाकर डिपार्टमेंट थ्री के प्रमुख ईवान फिर यकीन से मिलने के लिए कहा इस पत्र में सोयूज हार्डवेयर की दो सौ तीन खामियों का वर्णन करने वाला दस पृष्ठ का प्रलेख और सह पत्र था । गुसाई ने अपनी बात पर अडिग रहते हुए कहा मैंने इसे नहीं पडा । मेरे पास तो समय ही नहीं । तभी उसे केजीबी से जुडे होने के कारण ये ऐसा ऐसा हुआ कि उस प्रलेख पर चुपके से भी नजर डालना काफी खतरनाक हो सकता था । उसने जो ही से देखा फिर यकीन ने वहीं बात की और सीधे अपनी जिम्मेदारी से ये कहकर इतिश्री कर ली मेरी इसमें विशिष्टता नहीं है । उसने रूस आइए को लम्बा का में और ज्यादा खतरनाक की जॉर्जी किसी के पास भेज दिया किसी ने? वस्तुतः लियोनेड बिजनेस का नजदीकी मित्र था । वे युद्ध के दौरान मुकाबले में एक दूसरे के साथ थे । यदि फर्स्ट सेक्रेटरी को खास खबर देने की कोई हिम्मत कर सकता था तो वो था किसी ने दुर्भाग्य । वर्ष दो साल के लिए परिस्थितियां इतनी साधारण नहीं, केजीबी में किसी ने क्रेमलिन के अपने दबंग आपका की मदद से बहुत तेजी से उभर रहा था । वो उस मधुर संबंध में किसी भी तरह की कोई आंच नहीं आने देना चाहता था । रूसा ये कहता है पत्र पढते समय किसी ने मेरी ओर ये अनुमान लगाने की प्रतिक्रिया भागते हुए देखा कि मैंने ये पढा था या नहीं । उसे निश्चित रूप से पता था कि किसी देव को पहले से ही इस प्रलेख की पूरी जानकारी थी और वो इसके तकनीकी विवरणों से दूर दूर तक वाकिफ नहीं था । वो मेरी ओर एक गिद्ध की तरह एक तक होता रहा । फिर अचानक उसने मुझसे पूछा मेरे विभाग तक आने की पदोन्नति तो मैं कैसे लगी? उसने मुझे एक बेहतर पद का प्रस्ताव भी दिया । दूसरा ये अब बडे खतरे में था । किसी ने पदोन्नति से उसे खरीद लेना चाहता था । साथ ही ऐसे विभाग में उसे रखना चाहता था जहाँ से उस पर और बारीकी से नजर रखी जा सकती है । यदि रूसा ये ये सौदा स्वीकार करता तो कुमारो और गागरिन के मकसद में मदद करने का मौका चूक जाता हूँ । दूसरी तरफ यदि वोट किसी ने का प्रस्ताव ठुकरा देता तो उसके परिणाम के बारे में भी कुछ सोचा नहीं जा सकता था । ये सब मेरा मानना था, इस खेल का हिस्सा था । मुझे बहुत नाराजगी थी, लेकिन मैं इसे जाहिर नहीं करना चाहता था । मैंने बडी सावधानी से किसी ने के प्रस्ताव पर असहमती जताते हुए दे दी है कि मैं उसके विभाग में काम करने की योग्यता नहीं रखता था । किसी ने उसका लेख को अपने पास ही रहने दिया और दोबारा उसे खोलकर नहीं देखा । कुछ हफ्तों के अंदर ही पे दिए की इनका तबादला ईरान में एक जूनियर काउंसलर ऑफिस में कर दिया गया जिसकी वजह मात्र ये थी कि उसने प्रदेश की ओर एक नजर चुराकर देखा भर था । किसी ने इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट के सभी काउंटर के प्रमुख का पदभार संभाल लिया । गुरुसाई को अंतरिक्ष मामलों की संबंधित जिम्मेदारी से अलग कर उसे मॉस्को से बाहर लुब्यांका से काफी दूर किसी कार्मिक प्रशिक्षण विभाग में तबादला कर भेज दिया गया । वो कहता है, अगले दस सालों तक मैं किसी तपस्वी की तरह अपना सिर्फ नीचे की रहा । मूल निर्धारित तिथि के अनुसार तेईस अप्रैल उन्नीस सौ की सुबह सोयूज को प्रक्षेपण के लिए तैयार कर बेकानूर में कंट्री पर टिकाकर खडा कर दिया गया । जब कुमार ओह कैप्सूल पर अपनी सीट पर लिफ्ट से ऊपर जाने के पहले अंतिम तैयारी कर रहा था तभी ऐसा लगा मानो यूरी ये भूल गया था कि वोस्टोक के समय बैकप पायलटों को दी जाने वाली यातना अब व्यवहार में नहीं थी । उन्हें जबरदस्ती अंतरिक्ष पोशाक पहनाकर उनकी ज्यादा भाग्यवान सहकर्मियों को रॉकेट के शीर्ष तक ऊपर चढते हुए दिखाने के लिए उन्हें हांकते हुए पेड के नीचे तक ले जाने के बदले उन्हें बैकप पायलटों को अब उडान से पूर्व रात्रि में ही छुट्टी दे दी जाती थी । इस बार कुमारों को ज्यादा भाग्यवान तीन नहीं ठहराया जा सकता था । पत्रकार यार उस लिए गोलोवानोवा ने गागरिन को बडा अजीब बर्ताव करते पाया । उसने सुरक्षात्मक अंतरिक्ष पोशाक पहनने की मांग की । ये बात पहले से स्पष्ट थी कि कुमारो उडान भरने के लिए पूरी तरह तैयार था । वो लिफ्ट ऑफ समय के लिए मात्र तीन या चार घंटे रह गए थे । तभी अचानक वो बाहर निकल कर कहीं कुछ मांग करने लगा । ये दोनों से अचानक सवार हो गई । गोलोवानोवा को ये महसूस नहीं हुआ कि ये यही किया जाने वाला दुर्व्यवहार था । दूसरा, ये और अन्य दूसरे इस बात के प्रति अडिग हैं कि गैगरीन कुमारो को मौत के मुंह से बचाने के लिए स्वयं उडान पर जाने का प्रयास कर रहा था । ग्लोबल की बात के साथ समस्या के है कि इस मिशन के लिए कुमारों को अंतरिक्ष पोशाक नहीं दी गई थी । सोयूज के सामने के मॉड्यूल में दोनों छोरों पर एयरटाइट हैच लगे हुए थे जिसमें मॉड्यूल एक एयरलॉक के तौर पर काम करता था । दूसरे सोयूज के बाद से स्पेस वाकर्स को उनकी पोशाकों की जरूरत पडने लगी । लेकिन कुमार ओह ने इसकी मांग नहीं गैगरीन ने इस उडान में अंतरिक्ष पोशाक की मांग क्योंकि इसका ज्यादा यथार्थवादी कारण ये हो सकता है कि यूरी चाहता था की अतिरिक्त सुरक्षा के लिए कुमारो अंतरिक्ष कोषाध् धारण करें । ये जितना हम सुनते हैं उतना सरल नहीं है । अंतरिक्ष पोशाकें कैप्सूल प्रणाली का इतना अभिन्न अंग हैं । उन्हें किसी ओवर कोट की तरह सहज ढंग से हमेशा नहीं पहना जा सकता । दूसरी संभावनाएं किए बताई जा सकती है कि यूरी सारी तैयारियाँ निष्फल कर देना चाहता था, वो भी बिना किसी पूर्व कार्ययोजना के ।

27.Nirasha Ki Kahani

उस दिन सूटिंग रूम में जो कुछ भी हो किंतु प्रक्षेपण से पूर्व के फुटेज में कुमारो, नाखुश यूरी उदास और सभी टेक्नीशिन दबाव में नजर आ रहे हैं । कुमार ओह ने कक्ष में सफलता हासिल करते ही समस्याओं का सामना किया । पिछले एक्युपमेंट मॉड्यूल पर लगे दो सोलर पावर फलकों में एक ने काम करना बंद कर दिया । एक और यांत्रिक खराबी आ गई थी और दिशानिर्देशक कंप्यूटर में ऊर्जा खत्म हो गई । फॅमिली से ये सुनो और बाइक ओवर्स की वित्तीय सोयूज का प्रक्षेपण तुरंत रद्द कर दिया । वहीं दूसरी ओर ग्राउंड कंट्रोलर को मारो ऊर्जा की समस्या पर काम कर रहे थे । हालांकि वासिली मिश्री दूसरे प्रक्षेपण को रद्द किए जाने से तब तक रोके रहा जितना उससे हो सकता था । कक्षा के अठारह चक्कर छब्बीस घंटे में लगाने के बाद कुमार ओह की समस्या हल नहीं हुई और मिशन के डायरेक्टरों ने अगली कक्षा की उडान में इस मिशन को पूरी तरह समाप्त ही कर देने का निर्णय लिया । कुमार ओह को अपने कैप्सूल रीएंट्री के लिए पंक्तिबद्ध करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड रहा था । उसने शिकायत की ये शैतानी विमान इसकी कोई चीज चलती क्यों नहीं जिस पर भी मैं अपना हाथ रखता हूँ, काम नहीं करती । पुरानी वोस्टोक बॉल के बिल्कुल उलट अपोलो मॉड्यूल की तरह सोयूज कैप्सूल का अंडर साइड समतल था, जिससे वायु मंडल में किसी कुछ एयरोडायनेमिक लिफ्ट मिलती । इसकी कमी ये थी कि वोस्टोक की तुलना में कहीं अधिक यथार्थता पूर्ण लक्षित करना था । कुमारो की दिशानिर्देशन प्रणाली लगभग पूरी तरह बंद थी । इसलिए कुमार ओह अपने विमान को स्थिर कौन यानि एंगल पर नहीं रख सका और जब इसने गोल्डन करना शुरू किया तो अपना एटीट्यूड कंट्रोल चैट फायर कर दिया । दुर्भाग्य वर्ष को के भी एक के डिजाइनरों ने स्टार टैकर नेविगेशन सेंसर्स पर सिस्टर्स को बहुत ही नजदीक रख दिया था और कभी कभार परावर्तित होने वाले तारे नाजुक लेंसों से नजर नहीं आ रहे थे । पृथ्वी के रात्रिकालीन भाग से गुजरते हुए और आपने मंद उपकरणों से अपेक्षाकृत ज्यादा साफ रेफरेंस लक्ष्य की खोज करते हुए कुमार ओह हो ज्ञान को पंक्तिबद्ध करने के लिए निराश होकर चंद्रमा का सहारा लेना पडता है । कुमारो और ग्राउंड कंट्रोल के बीच हुए संवाद की अपवाहें कई वर्षों तक छाई रही जो अमेरिकन नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी ॅ के स्टाफ द्वारा इस्तानबुल के निकट यू । एस । ए । एफ । के रेडियो सिग्नलों से की गई मॉनिटरिंग पर आधारित अगस्त में एनएसए के पूर्व विश्लेषक पेरीफरल वॉक विन्स लोग पैक के नाम से दिए गए साक्षात्कार में इस अंतर रावरो धन यानी इंटरसेप्शन का काफी मार्मिक वर्णन प्रस्तुत किया । कुमार रोग की मौत से दो घंटे पहले तक उन्हें मालूम था कि कुछ समस्याएँ खामियां थी और वे उन्हें सुधारने का प्रयास कर रहे थे । हमने इन संवादों को टेप करने के बाद कई बार सुना कुर्सी । जिन ने व्यक्तिगत तौर पर कुमारी से बात की, उनके बीच वीडियो फोन वार्तालाप हुआ । इस वार्तालाप के दौरान कोनसी चीन रो रहा था । उसने उसे हीरो निरूपित किया । उसकी भी पत्नी ने कुछ देर उस से बात किया । उसने उसे हालात से निपटने और बच्चों के भविष्य के लिए कुछ टिप्स सुझाए । ये सब बडा, खौफनाक था । अंतिम कुछ मिनटों में वो सभी से कटता सा जा रहा था । विचित्र बात ये है कि इन सब बातों से हमें पता चला कि कई मायनों में जिस तरह के काम हमने किए, उससे रूसी लोग मानवतावादी हो जाते हैं । आप उन के विषय में इतना ज्यादा अध्ययन करते हैं । घंटो उनकी बातें सुनते रहते हैं कि बहुत जल्द तो मालूम पड जाता है कि वे तुम्हारे अपने लोगों से बेहतर है । जब कुमारो ने वायुमंडल में उतरना शुरू किया तब उसे ऐसा था की वह भयंकर परेशानी में था । तरकी में स्थापित रेडियो आउट पोस्टों द्वारा गुस्से और कुंठाग्रस्त स्थिति में उसके चीखने चिल्लाने की आवाज को अंतर रावरो धित यानी इंटरसेप्टर किया गया । तब वो लगातार उन लोगों को कोस रहा था जिन्होंने ऐसे गडबड इयान में उसे उडान भरने को मजबूर किया । यद्यपि बाद में फिर कॉक के विवरण में वर्णित उसकी अंतिम चीखें अतिशयोक्तिपूर्ण हो सकती है । कुरुली द्वारा चीथडों के नीचे उडने यानी प्लाइंग अंडर रैक्स की भविष्यवाणी सही साबित हुई । कुमारों का पैराशूट ठीक तरीके से नहीं खुला हूँ । एक छोटा रोग पैराशूट तो खुला लेकिन ये स्टोरेज पे में रखा हुआ बडे वितान के पैराशूट को खींचने में नाकाम रहा । ये एक और डिजाइनिंग की कमी उभरकर सामने आई । एक बॅायकॅाट को रिलीज किया गया । लेकिन ये पहले छोटे पैराशूट यानी रोक के वितान में फंस कर रह गया । कैप्सूल को तेज गति से गिरने से रोकने के सारे विकल्प समाप्त हो गए । परिणामस्वरूप और इन भग के निकट स्टेप पीस के मैदान में दो दशमलव आठ टन वजन की मृत्यु राइट के साथ गिरकर कुमारो जमीन पर टकराकर मौत के मुंह में चला गया । कैप्सूल तो जमीन पर टकराने से पूरी तरह चपटा हो गया था । इसके आधार पर लगे हुए बफर रिट्रो रॉकेट तक राहत के कारण हुए विस्फोट में नष्ट हो गए जिससे बच्चा कुछ मलबा भी चलकर रात हो गया । बरामदगी दलों ने आग की लपटों को शांत करने के लिए हाथों से मिट्टी उठाकर फेंकी । देश पर मिलने वाले रेडियो संदेश स्पष्ट थे । कुमार ओह के शरीर का कोई भी अंग पहचानने लायक नहीं रह गया था । हालांकि रूस आइए कहता है कि भस्मीभूत मलबे से एडी की एक हड्डी पाई गई थी । किसी वास्तविक अंतरिक्ष उडान के दौरान हुई ये पहली सोवियत दुर्घटना थी और ये बहुत ही विजय विदा रख रही नही है । इस आपदा के पीछे रही आधारभूत सच्चाई बाहरी दुनिया से छिपी रह सकें । हालांकि सोवियत अधिकारियों द्वारा इसकी स्वीकारोक्ति दुर्भाग्यजनक पैराशूट न खुलने के रूप में की गई न कि उन कमियों के रूप में जो उडान से काफी पहले लंबे समय से इसके डिजाइन और तैयारियों से जुडी रही । इस बार संवेदना संदेश पत्र भेजने की पारी ना सकी थी । दुनिया की दोनों सुपर पॉवर को ये बात समझ में आ चुकी थी कि अंतरिक्ष के वातावरण को किसी राष्ट्रीयता या झंडे से कोई लेना देना नहीं है । ये सभी अतिक्रमणकारियों, रूसी और अमेरिका के लिए सामान जोखिम प्रस्तुत करता है । कुमार की मौत के तीन हफ्तों बाद यूरी ने रूसा ये से उसके निवास में मुलाकात तो की, लेकिन वहाँ किसी भी कमरे में कोई बातचीत करने से इंकार कर दिया, क्योंकि उसे शक था कि घर की दीवारों के भीतर या बिजली फोन की फिटिंग में श्रवण यंत्र स्थापित क्या हो सकता है । लिफ्ट और दालान के क्षेत्र भी सुरक्षित नहीं थे । अच्छा दोनों व्यक्ति उस अपार्टमेंट के ब्लॉकों में सीढियों पर कदमों की गूंजने की आवाज करते ऊपर नीचे आ जा रहे थे । इससे वे लगातार गति में रहकर छिपकर बातें सुनने वालों को उलझन में डाल रहे थे । सन का यूरी के आशावादी वह खुशमिजाज युवक से बहुत अलग था । कुमारों की मौत ने उसके कंधों पर अपराधबोध का भारी पोजनान दिया था । राॅक के अनुसार उसने मुझे उडान रोकने की दिशा में किए गए विशाल अनुसंधान प्रयास की कहानी बतलाई । उसने बताया कि इसके परिणामों की जानकारी प्रमुख व्यक्ति ब्रिज को दी जा चुकी थी । उसने मुझे समझाया कि वे उस पत्र को संबंधित कार्यालयों तक पहुंचाने वाले व्यक्ति अठारह मेरे बारे में क्या राय रखते थे । मैंने यूरिको बताया कि किस तरह मैंने ये काम किया था और वो सब कुछ जो हुआ था उसने मुझे चेतावनी दी । दीवारों के भी कान होते हैं । लिफ्ट पर बातचीत न करने का विचार जूरी का ही था । किसी ने उसे बताया होगा कि मेरे अपार्टमेंट में श्रवण युक्ति यंत्र लगाया गया था । मुझे इस पर तब यकीन हुआ जब सुबह तीन बजे मेरी पत्नी ने मुझे चलाया और हम दोनों नहीं वेंटिलेशन गृह के पीछे सरसराहट की आवाज सुनी जहाँ ये श्रावण युक्ति लगाया जा रहा था । ये सोचकर ही मैं आगबबूला हो गया । वो अपने ही किसी एक एजेंट पर कैसे जासूसी कर सकते हैं । किसी को मैं सोवियत जीवन का सार मानता हूँ । किसी एक बात पर यूरी ने कहा, मुझे प्रमुख पत्ती मेन मैन से व्यक्तिगत रूप से मुलाकात करनी होगी । तुम्हें लगता है कि वह उनसे मुलाकात करेगा तो सही रहता है । मुझे बडा ताज्जुब हुआ कि वो ये सब मुझसे पूछ रहा था । मैंने कहा लेकिन यूरी तुम तो वही हो । उसके साथ हमेशा ही स्मारक पर उसकी बगल में खडे रहते थे तो हमेशा साथ साथ बातें करते हुए और अब तो भी मुझ से पूछ रही हूँ कि मैं तुम्हें बताऊँ कि वो तुमसे मिलेगा या नहीं । उस व्यक्ति से तो मैंने कभी हाथ भी नहीं मिलाया हूँ, लेकिन मैं कभी भी उससे गंभीरतापूर्वक बातें नहीं करता । वो मेरी विदेश यात्राओं से जुडा हँसी मजाक, भद्दी कहानियाँ सुना ही पसंद करता है । यूरी को इस बात का अत्यधिक दुख था कि वह ब्रिज से बात करके कुमार ओह के प्रक्षेपण को रद्द न कर सका । जैसा कि रूसा ये वाज कहता है, खुश्चेव और यूरी के संबंध बहुत अच्छे थे, लेकिन बिजनेस के साथ वो बात नहीं थी । यदि लोगों को आप की जरूरत नहीं है तो उनसे निपटना कठिन हो सकता है । यूरी के जाने से कुछ समय पहले उसकी नाराजगी की कडवाहट और उसकी तीव्रता साफ जाहिर हो गई थी । किसी तरह उससे संपर्क साथ होगा । यदि मुझे ये भनक लग भी गई की उस स्थिति की जानकारी थी, फिर भी उस ने सब कुछ होने दिया तो मैं अच्छी तरह जानता हूँ कि मुझे क्या करना है । रूसा ये अपनी बात कहता रहा है । मुझे ठीक ठीक नहीं मालूम कि यूरी के मन में क्या था । चाय उसकी बात सटीक थी । गुसाई आपने यूरी को भेजने के मामले में सावधानी बरतने की सलाह मैंने उसे बताया । कुछ भी करने से पहले मुझसे बात कर लेना । मैं तो मैं परामर्श देने की कोशिश करूँ । मैं तो मैं सावधान रहने की चेतावनी देता है लेकिन अब मैं अंतरिक्ष विभाग में नहीं था । मैं तो मॉस्को में ही नहीं था इसलिए मैं ज्यादा कुछ तो नहीं कर सकता था । यूरी कभी भेजने से मिला इस बात की मुझे कोई जानकारी नहीं है । इस बात का मुझे सादा दुख रहेगा कि जूरी का मार्ग दर्शन करने के लिए मैं उसके साथ न रह सका । इस संबंध में एक और कहानी भी सामने आती है जिसके मुताबिक यूरी ने बिजनेस के चेहरे पर शराब फेंक दी थी । यद्यपि यूरिको कुमारो के साथ जो कुछ हुआ उसका दुख था लेकिन वो उडान के लिए हमेशा की तरह दृढनिश्चयी बना रहा हूँ । जब उसके वरिष्ठ अधिकारियों ने आगे कि रॉकेट उडानों को रद्द कर दिया तो उसे बहुत निराशा ऍफ कहता है । कुमार ओह के बाद स्टेट कमेटी का निर्णय था की अब उसे उडान पर भेजना संभव नहीं था क्योंकि सोयूज से जुडी सभी कमियों को सुधारा जाना था और उस यान को फिर से डिजाइन करने में दो साल का समय लगता है । ये मात्र प्रक्षेपण के समय निर्धारण की भूल नहीं नहीं अभी तो किसी दुर्घटना में यूरी को खो देने से उपजी निराशा थी जो उसे उडान न करने देने के लिए जिम्मेदार । इसके साथ ही कुछ सैन्य परंपराओं को भी निभाना जरूरी था । सर जी बिलकुल सर को बस की ने बी मन से प्रथम अंतरिक्ष यात्री के आगे के मिशनों में प्रतिबंध लगाने के निर्णय पर सहमती दे दी । हालांकि उसे अच्छी तरह मालूम था कि यूरी चंद्रमा की उडान के प्रति गहरी इच्छा रखा था । उसके मुताबिक संभावित चंद्रमा पर छोडकर जाने के प्रयास हेतु प्रमुख उम्मीदवार एंट्री निकोला ये था गुरुदेव ने अपनी मौत से कुछ समय पहले मुझे यूरी के विषय में बता दिया था कि वह अब शायद ही कोई उडान भर सके । यूरी कठिनाई के तौर से गुजर रहा था जिसकी वजह थी कि वह ऍम ट्रेनिंग सेंटर का डिप्टी डायरेक्टर था और उस काम की जिम्मेदारी साफ तौर पर निर्धारित कर दी गई थी । अन्य ऍफ का नियंत्रण एवं प्रशिक्षण किसी ट्रेनिंग सेंटर के प्रमुख का उडाने भरना जरूरी नहीं रहता था । यूरी को इस निर्णय से काफी निराशा हुई । उसने स्टेट कमेटी को पत्र लिखकर अपनी दलील प्रस्तुत की । मुझे उडान भरने से नहीं रोका जा सकता है हिंदी में उडान भरना बंद कर दूंगा तो मुझे ऐसे लोगों का नेतृत्व करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रहेगा जिनके जीवन और कार्य उडान भरने से जुडे हैं । ईमानदारी से अपना काम करने वाले इंसान सीधी साधी बात के अंदाज में यूरी के फॅमिली कोर्स खोखले आपका कहना है यूरी बिना उडान भरे नहीं रह सकता था । यही तो उसका सारा जीवन था । आदमी अपने काम के बिना जीवित नहीं रह सकता । जब छब्बीस अक्टूबर को फिर से डिजाइन किए गए सोयूज ने पहली बार उडान भरी तो उस समय यूरी की सबसे तीखी आलोचना करने वाले व्यक्ति जॉर्जी बेरी गोगोई के हाथ में कंट्रोल की कमान थी । कुमारों की दुर्घटना और यूरिको उडान से हमेशा के लिए हटाने के पीछे की हकीकत अब होश नहीं आ रही है । लेकिन अब तक अधिकतर पश्चिमी विश्लेषण करता यही जानते थे कि प्रथम कॉस्ट नॉट के कैरियर में कुछ न कुछ गडबड तो है । पहले लगभग सन उन्नीस सौ बयासी में अमेरिकी अंतरिक्ष लेखक जेम्स कोबर्न ने अपनी सनसनीखेज पुस्तक रेड स्टार इन ऑर्बिट में लिखा, यूरी अपनी मृत्यु से पहले चौतीस साल की उम्र में एक खुशमिजाज, आकर्षक, आत्मविश्वासी पायलट से एक अर्ध देवता में रूपांतरित हो चुका है, जिसकी तब तक पूजा की जाती थी । उसका आदर्श के रूप में अनुकरण किया जाना था और सभी जोखिम वह साहसी कदमों से सुरक्षित रखा जाना था जब तक उसके अपने चारों ओर उठ चुकी सुरक्षात्मक दीवारों को तोडकर बाहर आने के उसके अपने प्रयास ही कुछ ज्यादा आगे नहीं निकल जाएगा । यूरी ने ज्यादा से ज्यादा पार्टियों में शामिल होकर स्वयं को अलग कर लिया । निराश काम नहीं पाया कुमार ओह की मृत्यु के बाद से गैगरीन को अंतरिक्ष की सभी उडानों से बर्खास्त कर दिया गया है । उसमें व्यक्तिगत विघटन की नई और ज्यादा तेज प्रक्रिया शुरू हो गई है । मार्च उन्नीस की शुरुआत में यूरी के जीवन का अंतिम महीना स्टार सिटि में अंतरिक्ष यात्रियों के लिए आरामदायक केंद्र का कार्य अंत तक पूरा हो गया । इस दौरान जैसे की अलग सहेलियों को याद है, जोरदार पार्टी का दौर चला तो शायद कुमारों की भयंकर मौत के सदमे से दूर रहने के लिए फॅस की इच्छा के कारण हुआ था । हम प्रायः किसी और जगह के बदले गैगरीन के अपार्टमेंट में ही ज्यादा मिला करते । आतिथ्य सत्कार की परंपराएं पहले ही निर्धारित की जा चुकी हैं । ये नियम था यदि आप पार्टी में देर से आते हैं तो आपको कमर तक कपडे हटाकर ठन्डे पानी से नहाना होगा और अपना सिर उसी ठंडे पानी में डूब होना पडेगा । कई नामीगिरामी लोगों को भी इस नियम से गुजरना पडता था । फिर नियम तो सभी के लिए था । वस्तुतः इस परंपरा की शुरुआत जरूरी नहीं की थी । किस ठंडे स्नान के बाद वोदका पिलाकर गरम किया जाता है जिससे सर्दी न लग सके । परेशानी ये हुई कि वोट का कि लालच में हर कोई देर से पहुंचने एक विशिष्ट अतिथि के आर्किटेक्ट कुमार हो बस की जिन्हें मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी के ऊंचे टावर बनाने का श्रेय जाता था । ये वही टावर है जहाँ सन उन्नीस सौ साठ के दशक के सभी काॅस्ट को लिफ्ट शाफ्ट से नीचे उतारा जाता था । उसका स्वागत प्राचीन रूसी अंदाज में किया जाता था । जैसे आज भी आधुनिक रूस वासियों मीर अंतरिक्ष स्टेशन में उडान करने वाले के द्वारा भी अपनाया जाता है । यात्री को भूख से सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रमुख खाद्य पदार्थों का । वहाँ हम कुमार उसकी को सबसे ऊपरी मंजिल पर ले गए जहाँ कुछ पावरोटी नमक और वोट का रखा हुआ था । यू नो आगे कहता है फिर ग्यारह मंजिल से उसे दसवीं मंजिल पर लेकर जहाँ कुछ ज्यादा पावरोटी और नमक था । इस तरह हर मंजिल पर उसे ले जाया गया । कुमार उसकी और कुछ दूसरे विख्यात साथ आए । लोगों ने अंत में कहा, हमने अपने जीवन में बहुत ही दुर्लभ चीजें देखी है, लेकिन इतनी पावरोटी और नमक कभी नहीं देखा । ठीक है जिन लोगों ने हमारे अपार्टमेंटों का निर्माण किया था, उन्हें हमने इसी अंदाज में धन्यवाद किया । निश्चित रूप से इन पार्टियों से यूरी का ध्यान बट जाया करता था और वो अपनी चिंताएं भूला रहता था । जोया को स्वर्ण आता है कि जब गजार में अपने घर पर रहता था तो उसके अंतर्मन का डर कभी कभी उभरा था । हाँ सही है, पांच दिसंबर का ही दिन था वो हमेशा इसी समय हम से मिलने घर आता हूँ और शिकार पर जाया करता हूँ । जब वो जाने के लिए तैयार हो रहा था तभी माँ को कुछ चिंता से हुई है । और मुझे वो सब कुछ याद है जो जूरी ने कहा दुनिया में हर कोई मुझसे कुछ मांगता है । मैं हमेशा उनकी भी मदद करता हूँ जिन्हें मैं जानता ही नहीं । लेकिन तुम मुझसे कभी कुछ नहीं मानती । तो बताते क्यों नहीं कि तुम्हें किस चीज की जरूरत है । वालिया और बेटियाँ पहले ही कार में बैठ चुकी थी और यूरी का कार्य में इंतजार कर रही थी लेकिन मुझे ऐसा लग रहा था कि यूरी हमें छोडकर नहीं जाना चाहता था । मेरे ख्याल से उसे किसी बात की चिंता सता रही थी हूँ ।

28. Star City

सन उन्नीस सौ साठ के दशक के अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री अपनी उडान कौशल पर बहुत गर्व करते थे और नासा में उनके नियोक्ता उन्हें उडान में अपने कौशल को निखारने के सभी अवसर प्रदान करते थे । उन्हें नॉर्थ प्रॉप्टी अडतीस ट्रेनिंग जेटों तक पहुंच के लिए स्वविवेक का अधिकार दिया गया था जिसका प्रयोग भी नासा की बडी सुविधाओं के बीच ॅ और अलबामा में बतौर नीचे यातायात के रूप में करते थे । ये हल्के तेज गति के विमान अंतरिक्ष युग की कंपनी कारों की तरह थे । इसके ठीक विपरीत सोवियत अंतरिक्ष कार्यक्रमों में विविध एयरपोर्ट स्क्वाड्रनों से भर्ती किए गए पायलटों के उडान समय को बहुत कम कर दिया जाता था । उन्होंने अकेले उडान भरने की पूरी तरह बनाई रहती थी, भले ही उन का पहले का अनुभव कितना भी अधिक रहा हूँ । कुछ लोस की के नजदीक का एयरबेस उडानों के लिए उपयुक्त स्थल था किंतु कॉस्ट नॉट को बहुत कम वायुयान उपलब्ध कराये जाते थे । स्टार सिटि को आधुनिक जेटों से सुसज्जित करना हमेशा ही संघर्ष की बात रहती थी क्योंकि इसके अधिकतर हार्डवेयर प्रतिद्वंदी संगठनों से मंगाए जाने पडते थे । विषेशकर एयरपोर्ट्स कम दिन के बाद प्रशिक्षण प्रमुख बने पूर्व फॅसने जिन्होंने सन उन्नीस सौ इकहत्तर में सेवा अवकाश ले लिया । बताया कि स्टार सिटि के उपयोग के लिए नए जेट हासिल करना कितना कठिन होता था । हमें बहुत ही साफ सुथरी बातों को सुलझाने के लिए काफी ऊर्जा व्यय करनी पडती है । उदाहरण के लिए हमें तीन वायुयान की आवश्यकता है और आवश्यकता क्यों हैं कि बिलकुल स्पष्ट है लेकिन नहीं इस पर निर्णय लेने के लिए हमें वित्त मंत्रालय वह उड्डयन मंत्रालय के कई चक्कर लगाकर एक के बाद दूसरा तीसरा अपॉइंटमेंट लेना पडता है और समय बीतता जाता है हमे धक्के खाने पडते हैं । ऐसा होना चाहिए क्या? सर्वाधिक जटिल अंतरिक्ष उडान भी इस भागदौड की लालफीताशाही से कहीं सरल होती है । सभी वायुयान पायलटों को अपना कौशल बनाए रखने के लिए प्रतिवर्ष न्यूनतम घंटे उडान भरने की जरूरत होती है । स्टार सिटि ऍप्स जिन्हें अपनी परंपरागत उडान के घंटे पूरे करने होते थे उन्हें एमआईजी पंद्रह यूटीआई की से सीटों वाले कुछ ट्रेनर का प्रयोग करना होता है । एकल सीट वाले प्रथम में एक लडाकू विमान इंजनों पर आधारित डिजाइन वाले रोज राइस कंपनी के अधिग्रहीत सन उन्नीस सौ सैंतालीस में सेवा के लिए गए । पूरे उन्नीस सौ पचास दशक के दौरान उन्हें दुनिया के सर्वाधिक शक्तिशाली लडाकू वस्त्रों के रूप में दिखाया गया है लेकिन अगले दशक के अंत में ये पुराने यंत्र उतने क्षमतावान नहीं रह गए । विदेशों में कम्युनिस्ट के सहयोगी अब भी बडी तादाद में उन्हें खरीदते थे लेकिन घरेलू एयरफोर्स अब ज्यादा विकसित हथियार खरीदना शुरू कर रहा था । कुमार ओह की मृत्यु के बाद आगे की उडानों के लिए मना कर दिए जाने के बाद गागरिन नए जेटों को उडाने की कर रहा था, हासिल करना चाहता था लेकिन ऐसा करने के लिए उसे काफी मशक्कत करनी पडती है । यद्यपि वो दुनिया का सर्वाधिक ख्याति प्राप्त पाइलट था लेकिन वह इतना कोई खास अनुभव भी नहीं था । स्टार सिटि के म्यूजियम में आज भी यूरी की व्यक्तिगत वस्तुओं को संभालकर रखा गया है । उसकी पायलट लव दुख सर्वाधिक सम्माननीय वस्तु है फिर भी इसमें कुछ निराशाजनक पाते हैं । जब सन के अंत तक प्रथम कॅाल में उसकी भर्ती हुई थी तब उसकी कुल उडान अवधि दो सौ बावन घंटे इक्कीस मिनट थी । इनमें से मात्र घंटे सोलो मिग पंद्रह पायलट कि उडान थे । पहले ओरेनबर्ग में फिर मुर्म आंध्र प्रदेश के खेल में एक युवा एयरफोर्स लेफ्टिनेंट के करियर शुरू करने के लिए ये कुल अवधि कोई बहुत कम नहीं थी । यद्यपि उसके समूह के दूसरे कॉसमॉस की यह अवधि लगभग पंद्रह सौ घंटे के बराबर थी । यदि वह एयरफोर्स में सक्रिय ड्यूटी करता रहता तो यूरी आपने उडने की अवधि कितनी कर सकता था कि वह उच्च श्रेणी का कुशल लडाकू पायलट बन सकता था । स्टार सिटि में प्रशिक्षण हेतु भर्ती किए जाने के बाद उसने ये अवसर पूरी तरह खो दिया । अपने पूरे कॅरियर के दौरान से तक उसने मात्र घंटे उडान में अतिरिक्त अवधि के रूप में जोडे उनमें से एक भी घंटे एकल उडान की नहीं थे । कुल मिलाकर ये प्रतिवर्ष दस घंटे से भी कम है । अठारह फरवरी उन्नीस सौ हो अंततः गागरिन ने जो को उसकी एकेडमी से आपने डिप्लोमा के पुलिस हासिल किए, मेहनत से हासिल की गई इस हम रहता के कारण उसके भविष्य में कैरियर की प्रत्याशा आएँ । काफी उज्ज्वल हो गई । इस दौरान स्टार सिटि में उसके ठीक ऊपर के अधिकारी निकोलाई कम दिन पर तलवार लटक रही थी जिसकी वजह से सोयूज दुर्घटना हुई थी जिसमें कुमार ओह ने अपनी जान गंवाई नहीं । यद्यपि जिस दुर्घटना में कोरोलेव की जान गई उसमें बहुत सी हार्डवेयर समस्याओं के लिए स्वयं जिम्मेदार नहीं था । काम नहीं नहीं वो अधिकारी था जिसने पहले उडान की स्वीकृति दी थी । और उस पर संकट आने की संभावना थी । इस बात की पूरी संभावना थी कि कामान् इनके स्थान पर यूरिको जनरल की श्रेणी में पदोन्नति देकर ऍम ट्रेनिंग के प्रमुख के पद पर नियुक्त कर दिया जा सकता था । उसके मन की प्रमुख चिंता ये थी कि उनको स्पोर्ट्स का सम्मान कैसे कायम रखा जाए जिनमें से अधिकतर लोगों का बतौर पायलट अनुभव उससे कहीं ज्यादा था । इजवेस्तिया के एक पत्रकार पूरी स्कूल वालों के अनुसार ये सब बडे विचित्र ढंग से हुआ । हर कोई मानता था कि कॉसमॉस पेशे से पायलट ही होते हैं किंतु उन्हें उडान के घंटे अपेक्षाकृत कम ही उपलब्ध होते हैं । जब स्टार सिटि में का अग्रिम को प्रशिक्षण का डिप्टी चीफ बनाया गया तब उसने उडान के लिए कठोर निर्णय लिया । व्लादिमीर नामक एक कॉस्ट नॉट ने हर तरह के जेट लडाकू विमान उडाए थे । लेकिन स्टार सिटि में उसे एक प्रशिक्षक की उपस्थिति में ट्रेनिंग विमान उडाने की अनुमति थी । ये बडा बेतुका लगता था । ज्यूरी द्वारा स्वयं वह दूसरों को उडान की अधिक से अधिक अवधि दिए जाने का औचित्य प्रमाणित करते हुए एलेक्सी लियानो कहता है, लोग पूछ रहे थे उसी उडान क्यों करनी चाहिए? इसकी वजह ये थी कि वो स्टार सिटि में प्रशिक्षण का डिप्टी चीफ था और ऐसा कार्य करने के लिए उसे दक्ष पायलट होना जरूरी है । दूसरे शब्दों में उडान भरने अन्य लोगों को अध्यापन कराने वाले व्यक्ति को खुद भी एक सक्षम पायलट होना चाहिए ताकि अपने छात्रों की नजर में उसका प्रभावशाली सम्मान बना रहे हैं । यूरी की पत्नी वैलेंटीना ने सन में यार उस लेवल गोलोवानोवा को दिए एक साक्षात्कार में उन समस्याओं की ओर संकेत क्या जिनका वह सामना कर रहा था । जब इस विषय पर विचार चल रहा था कि उसे उडने की अनुमति दी जाए या नहीं तब वो बडे कठिन दौर से गुजर रहा था और क्या उसे यकीनन उडने की आवश्यकता है? किसी ने पूछा तो मैं यूरी को जानने की जरूरत है । उसके लिए न उठने का मतलब जीवित न रहना होगा । उसके उडने के उत्साह का कोई विकल्प नहीं था । नाराज मत हो । मैंने उसे समझाते हुए कहा यदि मैं स्वयं उडान नहीं भरूंगा तो मैं और उनको उडान करने का प्रशिक्षण देने का प्रभारी कैसे रह सकता हूँ । उसने बडे दुखी मंजूर कर दिया । मार्च उन्नीस तक यूरी ने लगभग पांच महीने से उडान नहीं भरी थी । उसने एक अनुभवी पायलट और अच्छे शिक्षक व्लादिमीर सिरु जिनसे विचार विमर्श किया । युवावस्था के दौरान सिरोज इनने एक सौ चालीस जंगी मिशनों में नाजियों के खिलाफ विमान चालन किया था । स्वयं को फाइटर वर्ग में रख कर उसने दुश्मनों के लगभग अठारह एयरक्राफ्ट मार गिराए । युद्ध के अंत तक उसकी उम्र चौबीस वर्ष थी और सन उन्नीस सौ साठ के दशक में उपलब्ध सर्वोत्तम विमानों का चालन करने वाला वो प्रमुख उम्मीदवार था । में सिर्फ तीन लगभग पैंतालीस वर्ष के ऊपर क्या चूका था उस समय तक काफी उम्रदराज और धीमा पड चुका था । ऐसा नामुमकिन लगता है । उसकी शौहरत पतौर टेस्ट पायलट विमान के कठिन हालात से सुरक्षित बाहर निकलकर ले आने में थी । बारह मार्च उन्नीस सौ अडसठ को उसने मिग का अपेक्षाकृत नया मॉर्डल इक्कीस निकाला और हवा में ऊपर उठने से पहले ही टेक ऑफ को रोक दिया । उसे यकीन था कुछ गडबड है । विमान वापस हेंगर के पास लाकर इस बात पर अड गया कि मैकेनिक उसके इंजन की जांच करेंगे । उन्हें इसमें कोई खराबी नहीं मिलेगा । सिर्फ जिन फिर से विमान को रनवे पर ले गया और अंतिम क्षण पर कुकुना वापस आ गया । काफी बारीकी से जांच करने पर मैं सैनिकों को इंजन में कुछ खराबी नजर आएगा । इस कहानी से ये पता चलता है कि प्रारंभिक अधीर अवस्था तक एक पायलट अपनी एकाग्रता की चरम सीमा पर होता है । उसकी सुजात प्रवृत्तियां धुंधली नहीं पडती । दो हफ्ते बाद सत्ताईस मार्च को यूरी चका लो बस की स्टार सिटि से लगा एयरबेस ने टू सीटर मिग पंद्रह यूटीआई जेट से उडान है । पिछली सीट पर सिरोजिद्दीन बतौर प्रशिक्षक सवार था । इस उडान का मकसद यूरी को अत्याधुनिक मिक्स सत्रह के लिए रहता दिलाने हेतु तैयार करना था ताकि वो पुराने पड चुके विमानों से सदा के लिए छुटकारा पा सके । वैलेंटीना अस्पताल में अपेंडिक्स का ऑपरेशन कराने के लिए पडती थी । बाद में ऑफिस से लौटकर यूरी की उस से मिलने की योजना थी । शाम सात बजे देसिया से रोजिना को पति के घर न लौट कराने पर चिंता होने लगी । उसे याद है मैं सारी रात इंतजार करती रही । मैंने उसके वायु रेजीमेंट को फोन किया । हर बार भी यही कहते हैं । वो यहाँ उपलब्ध नहीं है । लेकिन सब कुछ ठीक ठाक है । वो अपने काम में व्यस्त हैं । किसी ने मुझे कुछ नहीं बताया । मुझे नींद नहीं आई और अगले दिन सुबह अपने काम पर चली । तभी उन्होंने मुझे सूचित किया कि एयरफील्ड पर कुछ परेशानी बनी हुई थी लेकिन मुझे इस पर बिल्कुल यकीन नहीं हुआ । मैंने सोचा कि यदि मेरे पति के साथ कुछ गंभीर बात होती तो कल ही नहीं मुझे इतना कर सकते थे । अचानक मेरी बेटी दौडी हुई मेरे पास आई । हाँ, कोच्चि की पिताजी नहीं रहे । इसके बाद क्या हुआ मुझे ठीक से याद नहीं है । सत्ताईस मार्च की सुबह फॅस के एक दल को पैराशूट प्रशिक्षण के लिए हेलीकॉप्टर में लेकर कर जेंट्स एयरपाेर्ट सिकुडा चाॅस की से सरोजी और यूरी का एयरबेस मात्र तेरह किलोमीटर की दूरी पर था । को खराब होते मौसम से होकर भारी हेलीकॉप्टर उडाते हुए बहुत दिनों से हटकर हेलीकॉप्टर को स्थिर करने का प्रयास कर रहा था ताकि प्रशिक्षुओं को पैराशूटों के माध्यम से कूदने को कैसे बादल चार सौ पचास मीटर की ऊंचाई तक छाए हुए थे और दृश्यता की स्थिति भयंकर थी । वर्ष और गोले हिमकणों कॉकपिट के वितान पर छाए हुए थे । उन्होंने अपनी पहली पैराशूट टीम को हवा में रिलीज कर दिया लेकिन दृश्यता बडी तेजी से खत्म हो रही थी । स्थानीय ट्रैफिक कंट्रोलर ने उसे बताया कि मौसम में सुधार की कोई संभावना नहीं है इसलिए वह हेलीकॉप्टर को आधे पैराशूट दल के साथ वापस कर जेटली गया । हमारे लैंड करने की कुछ क्षणों बाद ही हमने दो धमाकों की आवाज सकते । एक में तो मात्र धमाका था और दूसरे में टक्कर के साथ सुपरसोनिक प्रभाती तरंगे भी नहीं । हम हैरान रह गए । आखिर ये क्या था कि धमाका था या टक्कर? मैंने कहा शायद ये दोनों ही थे अर्थात घटनाएं एक दूसरे से जुडी हुई थी और इन दोनों आवाजों के बीच मात्र एक सेकंड का था । फॅालोअर्स की तेरह किलोमीटर दूर था और आवाजें मौसम की नमी के चलते मंदिर पड गई थी लेकिन इतनी दूरी से भी साफ सुनी जा सकती हूँ । यू नो की चिंता बढ गई । उसे अच्छी तरह पता था कि उस दिन यूरी उडान भर रहा था । स्वयं की जिम्मेदारी पर उसने हेलीकॉप्टर को खराब मौसम के बावजूद च कालोस की की ओर बढा दिया । रास्ते भर वो कंट्रोलर्स को मॉनिटर करते हुए रेडियो लिंक पर यूरी के कोर्ट नंबर छह सौ पच्चीस पर कॉल करता रहा हूँ जो हीलियो नोमनी चाॅस की पर हेलीकॉप्टर उतारा । एक रेजिमेंटल कमांडर ने उसके पास आकर पूछा । यूरी के विमान का ईंधन तो पैंतालीस मिनट पहले ही खत्म हो जाना चाहिए था लेकिन वो अभी तक एयरफिल्ड में नहीं पहुंचा । यू नो ने अपनी बात की आधिकारिक रिपोर्ट देना बेहतर था । मैं सीधे फ्लाइट कंट्रोल ऑफिस पहुंचा हूँ जहाँ निकोलाई काम नहीं मौजूद था । मैंने उसे बताया आपको सुनने में बडा विचित्र लगेगा लेकिन मैंने एक विस्फोट और सुपरसोनिक टक्कर अपने कानों से सुनी है । एक खोजी हेलीकॉप्टर उस क्षेत्र पर भेजा गया जहां रडार पर यूरी के विमान का संकेत पिछली बार देखा गया था । ये क्षेत्र मॉस्को से छाड में किलोमीटर उत्तर पूर्व में था । पायलट जमीन के ऊपर कम ऊंचाई पर उड रहा था । अचानक जंगल में एक जगह काला सा हिस्सा नजर आया जिससे कुछ वाश फट रही थी । लेकिन दृश्यता कमजोर होने की वजह से निश्चित नहीं हो पा रहा था कि वह मलबा स्थल था । यू नो के अनुसार खोजी पायलट ने सोचा कि वाष्प उठना एक तरह की कोई प्राकृतिक घटना होगी । उसे वहाँ हेलीकॉप्टर उतारकर पैदल उस स्थल का मुआयना करने का आदेश दिया गया । पेडों की अधिकता होने से हेलीकॉप्टर को उतारने का मौका नहीं मिल रहा था इसलिए पायलट ने नजदीक के खुले स्थान पर एक चर्च के करीब हेलीकॉप्टर ले जाकर उतार दिया । एक घंटे तक हिम की मोटी परत कहीं कहीं एक मिलीमीटर मोटी के बीच से गुजरने के बाद कुछ जंगल के उस स्थल पर पहुंचा जहां उसे ढूँढा दिखाई पडा था । जिस बात की खोज थी जब वो उसे वहाँ मिल गई तो वो वापस हेलीकॉप्टर के पास लौट आया और रेडियो से अपनी रिपोर्ट दे दी । उसने बताया कि वहां एक बडा गड्ढा बन गया था । इसके आसपास के कई पेड टूट गए थे और उस सारे स्थल पर टूटे फूटे मुडे सिकुडे धातु के टुकडे बिखरे हुये थे । जाहिर था कि ये एक विमान दुर्घटना थे लेकिन क्रिकेटर के मलबे के बीच वाला हिस्सा नजर नहीं आ रहा था जैसे कि फ्यूज लेज या प्रमुख इंजन सेक्शन यूरी और सिर्फ इनका चक लो । उसकी ट्रैफिक कंट्रोल से सुबह दस बजकर मिनट से संपर्क टूट चुका था । हेलीकॉप्टर के पायलट को विमान के मलबे वाले स्थान पर प्रयासपूर्वक पहुंचने और वहाँ से बाहर आने, अपनी रिपोर्ट भेजने और पूरी तैयारी के साथ बचाव टीम बुलाने की प्रक्रिया में दिन के चार बजकर तीस मिनट हो गए थे । शीत ऋतु के दौरान का हल्का प्रकाश तेजी से धुंधला पडता जा रहा था । खोजी टीम शक्तिशाली टॉर्च ओ के साथ वहां पहुंची लेकिन जाडे के अंधेरे में वो उतनी उपयोगी साबित नहीं हुई । शाम होते होते खोजियों ने व्लादिमीर सिरु जिनके जले फटे कपडे और यूरी के मैं आपकी इसकी पहचान कर ली थी लेकिन उन्हें उनके शरीरों के स्पष्ट निशान नजर नहीं आए थे और न ही विमान का प्रमुख हिस्सा नजर आया था । रात भर सैनिकों की दो बटालियन जंगल में खोज कार्य करती रही लेकिन उन्हें कुछ भी नहीं मिला । यू नो बताता है और अगले दिन जब हम क्रिकेटर में गहरी खुदाई कर रहे थे तो हमें गैगरीन की फ्लाइंग जैकेट नजर आई । अभी स्पष्ट हो गया कि वे दोनों भाई यहीं कहीं तभी होंगे बाहर नजर नहीं आएगा । विमान का अगला छोड तेजी के साथ टकराकर कठोर जमीन में कई मीटर अंदर समा गया था जो भारी इंजन ब्लॉक की तेज गति के कारण हुआ । बरामद की टीम को खुदाई करके कॉकपिट को बाहर निकालना पडा । ये बुरी तरह चकनाचूर हो चुका था और उसके अंदर दो व्यक्तियों के शरीर के अंग एक दूसरे में मिल गए थे । कई घंटों के प्रयास के बाद बचावकर्ताओं ने उनकी हाथ पैरों की उंगलियां, पसलियों के टुकडे खोपडियां उस गड्ढे के आसपास के स्थानों और पेडों से इकट्ठा की । ये स्पष्ट हो गया कि पेडों से टकराकर विमान का कॉकपिट बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था । जमीन से अंतिम बार टकराने से पहले ही चकनाचूर हो गया था । इस बीच यूरी का निजी ड्राइवर जो डोर टीम चुक जिसने उसे चक लो बस की तक पहुंचाया था, की वापसी का इंतजार कर रहा था ताकि वह शामको अपनी सवारी को सेंट्रल मॉस्को कुछ सेवा अस्पताल वालिया से मिलने के लिए ले जाता है । उस दिन लगभग ग्यारह बजे हम सभी को मालूम हुआ कि उसकी रेडियो लिंक हो गई थी । सभी ने सोचा कि उसका ट्रांसमीटर बिगड गया होगा या ऐसी कुछ बात होगी । लेकिन उस दिन बाद में जब खोजी टीम को आदेश मिला तो मन में संदेह हुआ । हमें बताया गया की एक विमान दुर्घटनास्थल देखा गया है और हमें शाम आठ बजे तक तैयार होने का आदेश दिया गया है । हमने एक दल बनाया, कुछ उपकरण साथ लिए और उस स्थान के लिए रवाना हो गए । जमीन पर हिम की मोटी परत पीछे थी जिससे रास्ता तय करने में परेशानी हुई । यही वजह थी कि रात को काफी देर तक हम दुर्घटनास्थल तक पहुंचने के लिए गाडी चलाते रहे । बेशक हर कोई परेशान था । इस दौरान सबसे भयावह जो बात रही वो थी अनिश्चितता की स्थिति । अगले दिन पढते ही विमान दुर्घटनास्थल साफ नजर आ गया । डीएम चुक खोज कार्य में काफी निकटता से जुडा रहा । मलबे के छोटे से छोटे हिस्से को भी उलट पलट कर देखा गया । मलबे की बडी चीजों में इंजन, लैंडिंग गियर और एक विंग ही बचे रह गए थे । टक्कर और विस्फोट की शक्ति में शेषमल बे को सारे जंगल में बिखरा दिया था । हम बर्फ से होकर चल रहे थे । चलते चलते बर्फ में एक छेद नजर आता हूँ और अपना हाथ अंदर कुछ देखते हैं और माफिया हट्टी का एक टुकडा बाहर निकले थे ।

29. Biman Durghatana Ki Bad

कभी कभी उंगलियाँ ही निकल आती । ये बहुत पूरे दिन थे । डेमचौक का सबसे बुरा दिन इस विमान दुर्घटना से दो दिन के बाद आया जब वह ऑपरेशन के बाद वेलेंटीना को कार में लेकर जा रहा था । अचानक जो ही उसके मुसी जूरी के शरीर की बरामदगी की बात निकल गयी वो मूर्छित हो गई । उसे ये मालूम नहीं था उसने सोचा था कि उसे सही हालत में पाया गया है या कम से कम उसके शरीर के अधिकतर अंग मिल गए थे । बेशक आदमी अच्छी तरह जानता है कि विस्फोट में क्या होता है लेकिन और थे इस बात को कैसे समझ सकती हैं । उसे ये महसूस नहीं हुआ था कि विस्फोट में उसके चीथडे चीथडे हो गए थे । मैंने अपनी नादानी में उसे ये बता दिया था । शायद एक कडवा सच मीठे झूठ से बेहतर होता है । भारी सुरक्षा की स्थितियों में यू नो काम ने और दूसरे सहकर्मियों को दोनों मृत पायलटों के शरीर के टुकडों की पहचान करने के लिए कहा था । यू नो के अनुसार जब मुझे गर्दन के एक हिस्से को दिखाया गया, मैंने देखते ही कहा जी ऍम, क्योंकि जन्म से बने निशान की वजह से शनिवार को यसनों होटल में हम एक सलून में थे । वहाँ एक नई गोरखों क्लोज था जो यूरी को काफी पसंद करता था और वही उसके बाल काटता था । मैंने तीन मिलीमीटर आकार का एक बर्थमार्क देखकर कहा, एक ओर सावधानी रखना इसे मत काट देना । इसलिए इसे देखते ही मैं जान गया कि हम आगे की खोज बंद कर सकते थे । ये वही था । इस बीच सोवियत इतिहास की सघन तम विमान दुर्घटनाओं की जांच पडतालों में से एक शुरू मलबे के दूर दूर तक बिखर जाने के बाद थी । मिग पंद्रह का मात्र पिचाड में प्रतिशत हिस्सा बरामद हो सकता है जिस पर अगले पंद्रह दिनों तक विश्लेषण जारी रहा हूँ । इस जीतोड बरामद की कार्य के बावजूद पायलटों के विजय और मांसपेशियों के तंतु रसायनिक विश्लेषण के लिए भेज की है । दुर्घटना में मारे गए सोवियत सेना के इन पायलटों के अवशेषों पर सभी बायोकेमिकल परीक्षण कराए गए । दुर्घटना के समय उनकी शारीरिक दशाओं की जानकारी मासपेशियां तंतुओं में लेफ्टी कैसेट के उच्च स्तर से क्या हुआ? एसिड के उच्च स्तर से मांसपेशियों की कठोरता वो पायलटों की पूरी सजगता की स्थिति में होना दर्शाता है । एसिड का निम्न स्तर शरीर के आराम की स्थिति में होने को दर्शाता है । शायद जीफोर्स इसके कारण शरीर के अचेतन स्थिति में रहने से ऐसे मामले में दुर्घटना की जांच पडताल बिल्कुल खरीदी दुर्घटना के लिए पायलट को दोषी ठहराया जा सकता था लेकिन उसका सम्मान सुरक्षित रहा । इंटरमीडिएट लैक्टिक एसिड स्तरों से पता लगने वाली दूसरी संभावना ये थी कि थकावट की वजह से पायलट का ध्यान भटक गया होगा । इस स्थिति में पडताल, उसके सारे कार्यभार और करियर तक विस्तृत की गई सबसे बदतर संभावना शराब की थी । यदि कोई पायलट अपने विमान के प्रभार के दौरान नशे की हालत में पाया जाता तो उसकी प्रतिष्ठा भी समाप्त हो जाते हैं । रासायनिक परीक्षणों में फॅस हो जाये गए गैगरीन और सिर्फ चीन की विमान दुर्घटना होने के बाद शीघ्र ही एक अफवाह फैला दी गई कि वे दोनों शराब के नशे में थे । ये बात आज भी कही जाती है । अपनी उडान की पूर्व रात्रि में वे एक सहकर्मी के पचासवें जन्मदिन की पार्टी में थे और पार्टी जमकर देर रात तक चलिए ऍम जीना इस बात को सिरे से खारिज करती है । उडान की पूर्व रात्रि में मेरे पति दस बजे हो गए थे । मैंने उनसे पूछा भी इतनी जल्दी हो रहे हो । उसने कहा कल मुझे यूरी का परीक्षण करना है इसलिए मैं सही हालत में रहना चाहता हूँ । सुबह वह अच्छे मिजाज में काम पड गया । उसने कहा आज का दिन अच्छा रहेगा लेकिन ये दुर्घटना हो गई । पैसिया इस बात को स्वीकार करती है कि दुर्घटना से पहले पार्टी हुई थी लेकिन ये पार्टी दो रातों पहले हुई थी । सोमवार को स्टार सिटि में एक सहकर्मी के जन्मदिवस की पचासवीं वर्षगांठ पर समारोह का आयोजन किया गया था । मंगलवार को मेरे पति ने आम दिनों की तरह काम किया । बुधवार को यूरी को उडान पर जाना था इसीलिए मंगलवार की शाम मेरे पति ने मुझे बताया कि उसे जल्दी सोना था । कैसिया द्वारा शराब के नशे की अफवाह का दोषारोपण सेरू जिनके चाॅस कि एयरबेस पर निकटतम वरिष्ठ जनरल कुज्नेत्सोव पर किया गया जिसने उसके साथ के कार्यकाल के दौरान सिरु जिनके साथ अभद्र व्यवहार किया । मेरे पति को ऑफिस खुला था और उसे बाहर खडा कर इंतजार कर आता था । अंततः मेरे पति गुस्से में आपा खो बैठे । रूपरा यही पाते कि वो आदमी उससे नहीं मिलना चाहता था । इसीलिए वो लौटकर वापस फिर चले जाते हैं । इन दोनों व्यक्तियों के बीच वर्ग की प्रतिद्वंदता की ही समस्या लगती है । यूरी और सिराजिन अच्छे मित्र थे और टेस्ट किया से रेजिना को यकीन था कि जनरल कुज्नेत्सोव को प्रथम अंतरिक्ष यात्री के साथ मेरे पति की घनिष्ठता खटक की थी । यूरी ने मेरे पति से कहा, कुजनेत्सोव की ओर ध्यान ही मानता हूँ क्योंकि बहुत जल्द में परीक्षण प्रमुख बन जाऊंगा और सब कुछ सही चलेगा । इसके बाद कुछ सोचने ये अफवाह फैलाई की उस अंतिम उडान के दौरान मेरा पति बीमार था । उसे पेट में कोई खराबी या अल्सर सा हो गया था । जब की अपने जीवन में मेरे पति ने कभी भी किसी बीमारी की शिकायत नहीं की, ऐसी बेकार बातें करना बेमानी ही दर्शाता है । यदि कुछ नहीं सौ अल्सर या पेट की किसी खराबी की बात कर रहा था तो ठोस साक्ष्य देसिया से रेजिना के पक्ष वाले तर्क का समर्थन करते हैं । क्या ग्रीन और सिर्फ चीन के अवशेष के नमूनों को कई संस्थानों में भेजा गया और उन पर सभी की रिपोर्ट सामान थी । दोनों आदमियों के मांसपेशीय तंतुओं में लैक्टिक एसिड स्तर अधिक था जिससे यह संकेत मिलता है कि दुर्घटना के वक्त ये पूरी तरह सचेत और सावधान हैं । वस्तुतः ये स्तर मिगके कंट्रोल योग, जिसे हम जॉय स्टिक कहते हैं कि सात सघन संघर्ष को दर्शाता है । इस बीच एल्कॉहॉल स्तर सार्थक नहीं पाया गया । विमान का मलबा तो कुछ और ही संकेत देता है । अगले और पिछले कॉकपिट कम्पार्टमेंट के योग वैसी ही स्थिति में थे जैसे उन्हें तब होना चाहिए था जब कोई पायलट रहते हुए विमान को नियंत्रित करने का प्रयास करता है । सैद्धांतिक रूप से दुर्घटना के कारण संयोग वर्ष पूरी तरह अपनी जगह से हट गए होंगे, लेकिन फट पैदल भी अपनी सही स्थिति में लगते हैं । ऐसे ही बातें थ्रॉटल लीवर्स और फ्लैट कंट्रोल को लेकर थी । कॉकपिट के यांत्रिक घटकों के पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो जाने के बाद भी इस बात के अक्षय साक्ष्य उपलब्ध थे कि दोनों पायलटों ने विमान को आपदा चुनाव खून से बचाने का भरसक प्रयास किया था । इसके अलावा ऐसा लगता है कि वायुयान को बीस डिग्री के झुकाव में रखने के लिए उनके द्वारा सही हथकंडे अपनाए गए थे । ऍम टीम का सदस्य था । जैसा कि वह संकेत करता है जमीन पर टकराने के समय विमान ड्राइव की मुद्रा में नहीं था । विमान सबसे पहले इसके अग्रभाग से दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ बल्कि लगभग इसके मध्यभाग से इसके नीचे की ओर गति इंजन, ब्लॉक को कई मीटर तक बर्फ से कठोर हुई जमीन पर ले जाने के लिए पर्याप्त थी । लेकिन पैन के की टक्कर से पता लगता है की दोनों पायलट आकाश में एक दूसरे के काफी नजदीक रहे होंगे । केंद्रीय प्रश्न था विमान का नियंत्रण क्यों हो गया? जाहिर तौर पर ये किसी दूसरे विमान से नहीं टकराया था वरना ये बीच रास्ते में ही टूटकर इधर उधर बिखर गया होता हूँ जिससे इसका मलबा जमीन पर दूर दूर तक बिखर गया होता है । साथ ही उस विमान के मलबे पर भी आसपास ही नजर आते हैं जिससे यह टकराया होता । ये विमान दुर्घटना एक पहेली सी लगती है । जांचकर्ताओं ने इसका हल तलाशने के लिए गैगरीन और सिर जिनके मिक्स सर्विस रिकॉर्डों की ओर अपना रुख किया । शायद पुराना होने के कारण ये जेट फेल हो गया होगा या ऊर्जा खो दी होगी । जांच आयोग ने कई बातों पर ध्यान दिया । उडान में प्रयुक्त उपकरणों एवं प्रक्रियाओं की कमियाँ मेरे पंद्रह यूटीआई विमान पुराना था जिसे सन में निर्मित किया गया था । इस की चार बार ओवर हॉलिंग हो चुकी थी । इसकी संरचना का अवशेष सेवाकाल तीस फीसदी तक गिर गया था । इंजन डी ए चार सौ पचास भी सर और में निर्मित किया गया था । इस की चार ओवर हॉलिंग हो चुकी थी । इसका अवशेष सेवाकाल तीस फीसदी था । विमान पर दो दो सौ साठ लीटर के बाहर टैंक स्थापित किए गए थे जो एयरोडायनमिक तौर से कमजोर थे । इंजेक्शन सिस्टम में प्रशिक्षक को पहले बाहर आने की आवश्यकता होती है । जमीन से ऊंचाई दिखने वाले अल्टीमीटर में तो था गैगरीन और सिर । जिनने विंग्स के नीचे ड्रॉप वे फूल पॉर्ट्स के साथ उडान भरी थी । यू नो का कहना है इस तरह की बनावट में एक कमी हमेशा बरकरार रहती थी । ईंधन टैंकों की डायनमिक डिजाइन से उडान की सुरक्षा पैमाने पर असर पडता है । जैसे आक्रमण का कौन बिंदु फिसलने के कौन बिंदु और जीफोर्स टैंकों का सामान्य उद्देश्य लडाकू में को समुचित ईंधन आपूर्ति करना है ताकि वो दुश्मन के क्षेत्र में पहुंच सकें । जब मैं अपने तय किए हुए युद्ध क्षेत्र में पहुंचता और लडना शुरू करता तो ये माना जाता था की अधिकतम फुर्ती और गति हासिल करने के लिए ये खाली हो चुके टैंकों को गिरा देता । सत्ताईस मार्च को एक जोडे टैंक यूरी के विमान में स्थापित किए गए ताकि वे उस अतिरिक्त सावधानी से परिचित हो सकें जो उन्हें उडान के दौरान लेनी पडती है । उन्हें किसी खास समस्या को प्रस्तुत नहीं करना चाहिए था । मेघ के सभी पायलट उन कठोर नियमों से परिचित थे जो उन्हें टैंक के साथ जुडे युद्धाभ्यास का प्रयास करने से रोकते थे । सामान्य रूप से मिग पंद्रह यूटीआई एक ताकतवर मशीन थी जिसमें इसके छात्रों को भूल करने की बहुत गुंजाइश रहती थी । हर कोई यूटीआई की बनावट को मदर कहकर संबोधित करता हूँ । जूरी के जेट की उम्र के संदेह हूँ और इसके ओवर हल्की रिकॉर्डों के बावजूद मलबे से ऐसा कोई संकेत नहीं मिलता कि दुर्घटना से पहले कोई संरचनात्मक सफलता हुई हूँ । तब पूरी तरह कार्य करने वाला सुरक्षित मेंग अचानक धरती पर कैसे गिरा, इस पर कारण जानने का आदेश देते हुए जांच आयोग ने दुर्घटना वाले दिन की मौसम रिपोर्टों का अध्ययन किया । कठिन मौसमी दशाएं धीरे धीरे बदतर होती चली गई जैसा कि मौसम विभाग के चार्टों पर निर्मित वलयाकार आकृतियों और चश्मदीदों वर्णनों से स्पष्ट है । उडान से पूर्व की तैयारी के दौरान इन पायलटों को मौसम की गलत सूचना दी गई थी । स्पष्ट है कि सर जिनको गलत सूचना मिली थी कि बादल का जमावडा जमीन से मात्र एक हजार मीटर तक की ऊंचाई पर है जबकि वस्तु तार ये चार सौ पचास मीटर की ऊंचाई पर था । मिगके इंस्ट्रूमेंटेशन में हल्की गडबड की वजह से विमान के ड्राइव होने की स्थिति में इसके अल्टीमीटर के सही प्रत्युत्तर देने में अवरोध खडा हो रहा था । सरोज इन बादलों की परत के बारे में ये सोच कर उतरा होगा की जमीन के ऊपर की ऊंचाई दोगुनी होगी । उडान के समय का अंतर कुछ सेकंडों से ज्यादा नहीं रहा होगा लेकिन ये काफी अहम हो सकता था । यदि बादल की परत के नीचे दृश्यता के ये कुछ ही सेकंड पर्याप्त होते तो सर्वजीत ये देख सकता था कि वह कम ऊंचाई पर उडान भर रहा था । यदि ऐसा था तो उसने विमान के जमीन पर आने का पूर्व आपातकालीन इंजेक्शन का आदेश क्यों नहीं दिया । यू नो के मुताबिक मिग से इंजेक्शन के लिए न्यूनतम सुरक्षित ऊंचाई लगभग दो सौ मीटर है । लेकिन दुर्घटना में जमीन पर विमान के मध्य भाग के पहले आने के संकेत मिलते हैं कि सिर्फ जी ने सोचा होगा कि वह सुरक्षित उतरने के कगार पर था और यही वजह हो सकती थी कि उसने इंजेक्शन का आदेश नहीं दिया और जैसा की हर किसी को मालूम था यदि वह कूदकर बाहर आने की बात सोचता हूँ तो स्वयं बचने की प्रक्रिया से कुछ कठिनाई उत्पन्न हो गई होती है । विमान दुर्घटना की जांच समाप्त होने के दो दशकों के बाद इगोर कचारा उसकी एक विशाल विमान इंजीनियर में सर्जेई बहुत सर को बस की को अपने अवलोकनों के विषय में लिखा है । नियमित पंद्रह यूटीआई एक कैडेट द्वारा उडान प्रशिक्षण की उपस् थिति में उडाया जाता है । प्रशिक्षक पिछली सीट पर बैठता है । फ्रंट सीट उसी स्थिति में रहती है जैसा एकल सीट वाला लडाकू विमान पंद्रह होता है । इंजेक्शन का आदेश निम्नानुसार हैं पहले प्रशिक्षक पिछली सीट से बाहर इंजेक्ट होता है । दूसरा पायलट सामने की सीट से बाहर होता है । यदि सामने की सीट वाला पायलट पहले बाहर आता है तो उसके इंजेक्शन मैकेनिजम से बाहर आने वाली तेज गैस के प्रवाह से पिछला कम्पार्टमेंट बाधित होता है जिस कारण इसमें से इंजेक्शन असंभव हो जाता है । एक बेहतर तकनीकी हाल प्राप्त करने के बदले डिजाइनरों ने कार्यप्रणाली विशेष निर्णय लेते समय परिणामों की परवाह नहीं । प्रशिक्षक का पहले बाहर आना सामान्य नैतिक स्तर के विपरीत है । कचार उसकी का तर्क था कि कोई भी योग्य प्रशिक्षक अपने से कम अनुभवी पायलट को संकटग्रस्त विमान में अपना बचाव करने के लिए खेला नहीं छोडना । प्रशिक्षक के लिए यही सम्मानजनक होता है कि पहले वो अपने छात्र को विमान से निकलने में मदद करता है ना कि अपने स्वयं के बचाव के लिए प्रयास करता है । पंद्रह यूटीआई के उडान के दौरान के प्रबंध इस सम्मानजनक परंपरा की धज्जी उडाते थे । हालांकि वो ऐसा कोई सबूत नहीं दे सकता है की इंजेक्शन का प्रयास या इस पर कोई विचार भी किया गया था । प्रचार उसकी नहीं निम्नांकित भयंकर दृश्य समझाया । किसी स्थिति की कल्पना करना सरल है । सिराजिन बतौर क्रोली डरने गैगरीन को इंजैक्ट के लिए कहा लेकिन गैगरीन समझता है कि उसका अपना जीवन बचाने का मतलब अपने दोस्त और शिक्षक के जीवन को खतरे में डालना है । हर आदमी दूसरे के विषय में सोचता है कच्चा रोज की ने दोनों व्यक्तियों की एक दूसरे के पहले इंजैक्ट होने पर बहस करने की स्थिति की कल्पना करते हुए कहा की इस दौरान उन्होंने कीमती क्षण गवां दिया और विमान जमीन पर आ गिरा । वस्तुतः ये कल्पना तार्किक कम और भावुक ज्यादा है । एक पंद्रह यूटीआई के डाॅक्टरों ने बाहर आने के क्रम को तवज्जो नहीं दिया । दुनिया भर के टू सीटर जेटों में किसी काम को अपनाया गया है जिसका सामान्य कारण है । यदि आगे वाला पायलट पहले बाहर आता है तो विमान बडी त्वरित गति से उसके नीचे से गुजर जाएगा और वो ऊपर उडता रहेगा । एक सेकंड के बहुत छोटे से भाग में पिछली कॉपरेट पोजीशन सीधे उसकी सीट के नीचे होकर गुजरती है । इसके अलावा पहली सीट से हुए रॉकेट ब्लास्ट की दाहकता पिछले वितान यानी कैनोपी से शुरू होती है जिससे दूसरे पायलट का जीवन गंभीर खतरे में आ जाता है । किन्तु यदि पिछली सीट का पायलट पहले उतरता है तो सामने की सीट का पायलट अपनी सीट को आसानी से इंटरैक्ट करने के लिए फायर कर सकता है क्योंकि उसके रॉकेट का एक्जॉस्ट पिछली खाली कॉपरेट की पोजिशन से पीछे जाएगा । इससे कोई भी नैतिक पश्चाताप नहीं जोडा जाता है । अलग अलग इंजेक्शन की सुरक्षा मार्जिन एक सेकंड से भी कम है । पिछली सीट पर बैठा सुपरवाइजिंग ऑफिसर इंजेक्ट का आदेश देता है और शीघ्र ही एयरक्राफ्ट छोड देता है । सामने की सीट पर बैठा क्रेडिट उसके बाद इतना शीघ्र प्रत्युत्तर करता है कि इसमें समय का अंतर कोई मायने नहीं रखता ।

30. Cockpit Ki Abadan

ये तथ्य कहीं अधिक महत्वपूर्ण है कि कॉकपिट का वितान मलबे में पाया गया । आधुनिक जेट लडाकू विमान में खतरे में फसा पायलट अपनी सीट का एक साधारण लीवर खींचता है और इंजेक्शन मैकेनिजम प्रणाली कैनोपी को हटाने समेत बाकी सब कुछ स्वयं कर लेती है । यदि बदतर से बदतर स्थिति भी आ जाए और केनोपी सही तरीके से ना हट पाए तो टैक्सी ग्लास में निर्मित विस्फोटक तारों के चाल इसे तोडकर खोल देते हैं जिससे सीट साधारण रूप से बाहर आ जाएगा । पुराने मिग में कैनोपी को अलग करने के लिए पायलट के भाई और एक अलग यांत्रिक लीवर को सबसे पहले खींचा जाना होता था तभी वो इंजेक्ट कर सकता था । स्पष्ट है कि दोनों में से किसी भी पायलट ने कैनोपी हटाने के लीवर को नहीं खींचा था लेकिन मलबे में पडे हुए कैनोपी फ्रेम में बहुत प्लेक्सी ग्लास बाकी नहीं था । ज्यादातर पारदर्शी भाग टूट गया था और मलबा स्थल से बहुत कम अनुपात में ही बरामद हुआ था । संपूर्ण पडताल का एकमात्र यही भौतिक साक्ष्य था जो सीधे तौर पर हवा में ही किसी तरह की टक्कर को प्रकट करता है । यदि मैं किसी और विमान से टकराकर चकनाचूर हो गया होता तो मात्र कैनोपी के टूटने की अपेक्षा उडान के दौरान ही और ज्यादा क्षति हुई होगी । केजीबी ने समानांतर पडताल की न केवल एयरफोर्स और आधिकारिक आयोग के सदस्यों के साथ मिलकर अभी तो उनके विरुद्ध भी उनकी रिपोर्ट भी संभवत सरल से सरल वर्णन पर आधारित थी । ठीक वैसे ही जैसी चकनाचूर कॉकपिट केनोपी पर आधारित आयोग द्वारा अपनी के जी भी पडताल करता हूँ । में से एक निकोलाई रुकिए जो आज राज्य सुरक्षा विशेषज्ञ है, को प्रारंभिक अंतरिक्ष प्रयास के सभी पहलुओं की जानकारी है । वो ऐसे कुछ लोगों में से एक था जो भारी भरकम मूल रिपोर्ट तक अपनी बहुत सुनिश्चित कर सकता था । उसका कहना है, कैनोपी के नजारत प्लेक्सी ग्लास का मतलब है कि क्रैश होने से पहले कॉकपिट से कुछ टकराया होगा । किसी पक्षी की टक्कर पहले तो कैनोपी के अग्रभाग में हुई होगी, ना की ऊपरी भाग । किसी वायुयान से टकराने पर और अधिक क्षति हुई होती है । तब क्या आयोग का निष्कर्ष वस्तुतः सही हो सकता है? एक ही गैरविवादित तथ्य है वो ये कि कॉकपिट के कैनोपी का कांच विमान की जमीन से टकराने के पहले ही टूट गया होगा । रुक के आगे कहता है, बाकी सब अनुमान ही है । गैगरीन और सरोजी नहीं हकीकत पतला सकते थे कि उस दिन क्या हुआ था । ऍम और सर जी ब्लोच सर को बस की आयोग के कार्य से पूरी तरह असंतुष्ट रहे हैं । उन्हें वेदर बलून छोरी भी निराधार लगती थी । ऍफ का मानना है कि उस दिन जो कुछ भी हुआ उसे सही सही मालूम हैं । बादलों से होकर एक अन्य विमान गैगरीन और सिर जिनके मिग के काफी निकट से गुजरा । लगभग दस, पंद्रह या बीस मीटर की दूरी से दूसरे विमान की भवर यानी वो टेक से पलट गया और अनियंत्रित होकर क्रैश हो गया । यू नो के किसी और विमान से एयरोडायनमिक दखल के सिद्धांत से इस आपदा की विश्वसनीय तस्वीर नजर आती है । लेकिन यदि हमर सत्ताईस मार्च की समस्या होती तो से रोज चीन आसानी से मिग को स्थिर करने में कामयाब हो गया होता । मेजर जनरल यूरी खुली को फ्लाइट सर्विसेज के पूर्व एयरफोर्स चीफ ये संकेत करते हैं कि मिग पंद्रह का भवन यानी वो टेक्स दशाओं में सघन रूप से परीक्षण किया गया था । उपयुक्त ऊंचाई की स्थिति में औसत रूप से अनुभवी कोई भी पायलट विमान को नियंत्रण करने में सफल रहा होता है । जनवरी में खुली कोर्ट द्वारा मॉस्को न्यूज में दिए गए साक्षात्कार में इस विमान दुर्घटना के लिए पायलट की गलती को ही प्रमुख वजह करार दिया गया था । उसने कहा, भले ही गागरिन और सिर्फ जिन भवर प्रवाह में पड गए हूँ, को संभाला जा सकता था । ऐसे बाहर से इंजन प्रभावित नहीं होता । मैं बताना चाहूंगा कि कई जटिल परीक्षणों के बाद इस नतीजे पर पहुंचा गया है । गागरिन ऐसी दशाओं के लिए तैयार नहीं था । आप समझ सकते हैं कि उस समय हमारे देश में गैगरीन का नाम कितनी अहमियत रखता था । ये अंतरिक्ष में समाजवाद की विजय का प्रतीक था । ऐसा लगता है कि पहला अंतरिक्ष यात्री गलती नहीं कर सकता था । लेकिन खुली को को भी अपना उल्लू सीधा करना है क्योंकि वह सन की जांच आयोग के मूल सदस्यों और उन वरिष्ठ अधिकारियों के प्रति वफादारी रखता है जो तत्कालीन सामान्य जनरल एयर ट्रैफिक कंट्रोल के लिए उत्तरदायी था । उल्लेखनीय है तो ये बताना भूल गया की पॉवर रिकवरी परीक्षणों में प्रयुक्त मिग पंद्रह और बहुत से अन्य विमानों में ड्रॉप टैंक कभी नहीं लगाए गए थे क्योंकि ड्रॉफ्टिंग को ऐसे काला कौशलों में उडाना निषिद्ध था । बिल्कुल साधारण सी बात है कि मिग पंद्रह में टैंकों को लगाकर अत्यधिक दुरु उडान की दशाओं में परीक्षण करने का विचार किसी को नहीं है क्योंकि बडे अनुभवी परीक्षण पायलट के लिए भी ये काफी खतरनाक हो सकता था । ऍम इस बात पर अडियल रुख अपनाते हुए कहते हैं कि ये किसी दूसरे मेघ का सामान्य बैकवार्ड नहीं था । अभी तो बिल्कुल नए उच्च कार्य संपादन वाले लडाकू विमान की शक्तिशाली सुपरसोनिक आघातकारी तरंग थी जो यूरी और सिर जिनके विमान से इस तरह टकराई जैसे कोई ठोस ईद की दीवार से टकराया हूँ । लियोनोरा को इस बात के प्रति हमेशा दृढ विश्वास था कि कर जेंट्स में अपने हेलीकॉप्टर उतारने के बाद जो दो धमाके सुनाई पडे थे उससे दो बिलकुल भिन्न तस्वीरें निर्मित होती हैं । पंद्रह यूटीआई तेज गति वाला विमान तो है लेकिन सुपरसॉनिक की गति के आगे वो कहीं नहीं ठहरता । जहाँ उस समय वो खडा था वहाँ से धमाकों की आवाज धीमी सुनाई पडी होगी । लेकिन उसे यकीन था कि वे विस्फोट को अतिरिक्त सुपरसोनिक धमाके के कारण हुए होंगे । इसीलिए एक अन्य अपेक्षाकृत काफी तेज एअरक्राफ्ट गलत क्षण में उसी स्पेस में प्रवेश कर गया होगा । लेकिन जब यू नो अपने अपने पडताल करता साथियों को ये बात समझाने की कोशिश की तो इस पर उसका कहना है किसी अदृश्य प्रभाव से मेरे सभी प्रयास रोक दिए गए । मैं समझता हूँ कि दुर्घटना आयोग में एक डिप्टी चीफ कमांडर को नियुक्त किया गया था । वो उस क्षेत्र के यातायात नियंत्रण का भी प्रभावित था । वहीं सत्ताईस मार्च की घटनाओं का जिम्मेदार हो सकता था । लेकिन उस ने अपनी रिपोर्ट में इन बातों पर ध्यान नहीं दिया । ये समस्या हो सकती थी । यू नो ऐसे अवरोध से नाखुश था । उसे पूरा यकीन था कि सुपरसोनिक धमाके वाली बात उसकी कल्पना का हिस्सा नहीं थी । दुर्घटनास्थल के नजदीक की जमीन पर मौजूद चश्मदीद गवाहों ने एक मजबूत साक्ष्य इस बात के समर्थन में प्रस्तुत किया लेकिन उसे भी रिपोर्ट में शामिल नहीं किया गया । इस तथ्य के अलावा की आवाजें मैंने स्वयं सुनी । तीन स्थानीय निवासियों से भी अलग अलग पूछताछ की गई । उन सभी ने कहा कि उन्होंने एक हवाई जहाज के अंतिम छोर से धुआं और आग निकलती देखी थी । फिर ये ऊपर बादलों में चला गया तो ये एक उल्टी प्रक्रिया थी । गैगरीन जमीन पर नीचे गिरा । लेकिन ये दूसरा विमान बडी तेजी से ऊपर चला गया । इन गवाहों की पहचान चार्ट को दिखलाया गया और उन सभी ने तुरंत नए सुखोई एसयू ग्यारह सुपरसोनिक जेट की रूपरेखा को ही चुना क्योंकि पुराने मिग पंद्रह जैसा कतई नजर नहीं आता था । यू नो कहता है हम जानते थे कि एस यू ग्यारह उस क्षेत्र में हो सकता था लेकिन वो तो दस हजार मीटर से अधिक ऊंचाई पर उडने के लिए जाने जाते हैं । उस रहस्यमय विमान की पिछले छोड से उठने वाले धुएं और अगर ऑफ्टर बर्नर की ओर इशारा करते हैं एस यू ग्यारह में आफ्टर बनना शामिल था जो की सापेक्षिक रूप से तकनीकी का नया भाग था । एक सुपर चार्जर जहाँ जेट का एक्जॉस्ट अतिरिक्त जोर पुरनदाहा हित होता है । विषेशकर तब जब विमान सुपरसोनिक गति या उसके परे के लिए बढ रहा हूँ । पूरे जोर पर एस यू ग्यारह ध्वनि की लगभग दोगुना गति हासिल कर सकता है । पुराना सबसोनिक पंद्रह में आपका बोहनर नहीं लगा था और इसके एक्जॉस्ट वास्को चलते हुए नहीं देखा जा सकता है । इस रहस्य में दूसरे वायुयान का साक्ष्य उस दिन ड्यूटी पर रहे । एक वायु यात्रा यातायात नियंत्रक द्वारा दिए गए बयान से स्पष्ट है । व्याचेस्लाव बाइक ओवर्स की ने आयोग को बतलाया कि उसने दो अन्य टारगेट को अपने नगर में देखा था । उनमें से एक पूर्व से आ रही थी । स्पष्ट रूप से ये संकेत लगातार दो मिनट तक उसकी स्क्रीन पर आता रहा । वस्तुतः दुर्घटना का समय बतलाना कठिन है । मॉस्को से सिस्मोमीटर में सवेरे दस बजकर मिनट पर एक संकेत दर्ज हुआ जो किसी एयरक्राफ्ट की टक्कर से मेल खाता है । लेकिन बाई कोस्की का कहना है, आज भी मुझे यकीन नहीं है कि गागरिन उस समय गिरा क्योंकि रडार पर हमारा उससे संपर्क लगभग इकतालीस मिनट पहले ही टूट गया था ना कि इकत्तीस मिनट पहले । फिर वो अपनी ही बात ये कहते हुए काटता है कि मिग का क्रोनो मीटर उस मलबे में पाया गया तो दस बजकर तीस मिनट पर ढेर हुआ । दुर्घटना के शीघ्र बाद बाई कोर्स की वह उस स्टेशन के अन्य नियंत्रकों को सुरक्षा के तहत रखा गया और उनके साक्ष्यों की बडी सावधानी से छानबीन की गई । आज वह कहता है, उस क्षेत्र में दो अन्य विमान थे । हमें उनके बारे में जानकारी थी । जनरलों ने हम सबको साथ इकट्ठा कर पूछताछ की और हम ने जो कुछ भी देखा उसकी जानकारी उन्हें दी । उसके बाद हम अलग कर दिए गए और एक सप्ताह से ज्यादा कार्य नहीं किया । लोगों से दूसरे विमान के बारे में पूछा गया और उन्होंने बताया कि उन्होंने उसे देखा था जैसा कि बाई कोस्की बतलाता है । रडार संकेत कि साक्ष्य जटिल और अस्पष्ट है । वो मानता है कि पता लगाने वाला उपकरण ऊंचाई, वार नजदीक वाले वायुयान की स्थिति का पता लगाने में सक्षम नहीं था । स्क्रीन पर रोशनी की चमक उभरती है या नहीं थी यदि विमान ऊंचाइयों में परिवर्तित करता है । ये रोशनी दस सेकंड के लिए गायब हो जाती है । अतः रडार स्क्रीन पर उभरने वाले संकेत सदा स्थिर नहीं रहते हैं । एयरबेस से चालीस किलोमीटर की दूरी पर संकेत पूरी तरह विलुप्त हो जाते हैं । यू नो कहता है बाई कोस्की की रिपोर्ट के रडार स्क्रीन पर कम से कम एक और संभव दो अतिरिक्त लक्ष्य आयोग द्वारा जांच में सम्मिलित नहीं किए गए । इस बात को उसके अनुभव का अभाव करती दिया गया । उसे कहीं दूर ले जाया गया और मुझे ठीक ठीक मालूम भी नहीं कि आगे उसका क्या हुआ । किसी भी स्थिति में इनमें से कोई भी बात बाद के प्रलेख एक रन में शामिल नहीं की गई । मेरे द्वारा इस जानकारी को मुहैया कराने दो धमाकों के विषय में और दूसरे विमान को देखने की बात बताने वाले लोगों से मेरी बातचीत जांच आयोग को पर्याप्त महसूस नहीं । इसीलिए पायलट और उसके अंतकरण के अलावा दूसरे विमान के विषय में और किसी को जानकारी नहीं है । वस्तुतः दूसरे में का पायलट फॅालो शो अप्रैल में सामने आया हूँ । उसने ये बात भी स्वीकारी की उस वक्त वास्तव में वो उस क्षेत्र में उडान भर रहा था । आर्ग्युमेंट टी आई फैक्टी नामक जर्नल को दिए गए साक्षात्कार में उसने बताया गैगरीन की मृत्यु का कारण ये था कि उसने लापरवाहीपूर्वक अनुचित जोखिम उठाया । वो और सिर्फ चीन उनकी सही फ्लाइट पैटर्न से अलग हो गए थे । खोलो शो में सुझाया की अपेक्षा कृत साफ मौसम की तलाश में दोनों पायलट अपने निर्धारित क्षेत्र से बाहर निकलने को सहमत हो गए ताकि वे कुछ आधारभूत कलाबाजियों के लिए प्रयास कर सकते हैं । उसने अपनी बात के कुछ पुख्ता प्रमाण नहीं दिए । शायद वो अपराधबोध से ग्रसित था । ट्रैफिक कंट्रोल का असली वो स्टेट जिसे संबंधित अधिकारियों से लंबी लडाई के बाद यू नो और लेक्चर को उसकी ने सन उन्नीस सौ छियासी में हासिल किया । दर्शाता है कि लापरवाही से विमान उडाना तो बहुत बडी बात है । सेरो जीने खराब मौसम के कारण बीस मिनट की प्रशिक्षण अवधि को पांच मिनट में ही खत्म कर दिया था । बाइको उसकी को याद है कि उस दिन से रोज इनकी रेडियो वाइस पर अंतिम बात ये थी उनका काम हो चुका है । उसने हमें वो सब कुछ बताया जो वो कर रहा था । उसने प्रशिक्षण का काम संपन्न कर लिया था । उसने करंट फ्लाइट जोन से बाहर आने की अनुमति मांगी, तभी रेडियो लिंक हो गई । कुल शोर द्वारा सिरोज इन पर लापरवाही का आरोप गलत प्रतीत होता है । लेकिन आज यू नो मिग पायलट के अनुदार साक्षी से कोई सरोकार नहीं रखता, क्योंकि उसे यकीन है कि ये पायलट और उसका सबसोनिक मिक पंद्रह पूरी तरह अन सबद्ध है और गागरिन की मौत से उसका कोई संबंध नहीं है । कोई भी मैं पंद्रह ऐसा सुपरसोनिक धमाका नहीं कर सकता था, जैसा उस दिन सुबह मैंने सुना यू नो और ब्लेड सर को बस की आज भी सुखोई एसयू ग्यारह जिसे अस्पष्ट रडार डेटा से कभी नहीं पहचाना जा सका, को ही असली दोषी मानते हैं । जो भी एस यू ग्यारह का पायलट था, यू नो का दृष्टिकोण उसके प्रति उदार हैं । यदि उस समय उस की पहचान हो गई होती तो गुस्से से आगबबूला भीडने चीर फाड कर उसके चिथडे उडा नहीं होता । एक और जानकारी को जारी कर देते हैं । दूसरी ओर यदि हम इसपर बुद्धिमानी से सोचे तो शायद नहीं । इससे कुछ हासिल नहीं होता है । गैगरीन की मौत का जिम्मेदार एक अकेला पायलट नहीं बल्कि तत्कालीन संपूर्ण तंत्र ही इसके लिए दोषी था । सारे तंत्र को तो अदालत में नहीं घसीटा जा सकता है । आप नैतिक रूप से इसका निर्णय तो कर सकती है लेकिन इसे यानी तंत्र को दंडित नहीं कर सकते । कोई भी तंत्र ये नहीं चाहता की उस पर निर्णय लिया जाए या उसे दंडित किया जाए । कुल मिलाकर जांच आयोग की रिपोर्ट से तकनीकी आंकडों के मोटे ग्रंट तैयार हुए हैं । लेकिन तथ्यों का संकलन कारणों के सही विश्लेषण पर आधारित नहीं था । सानू में आई जांच आयोग की रिपोर्ट का केंद्रीय निर्णय जानबूझकर एकांगी और अस्पष्ट रखा गया था । ये कारणों का कुल जोड था । इसका प्रमुख शोधलेख मौसमी गुब्बारे का प्रभाव सभी के लिए उपयुक्त था क्योंकि इसमें किसी का गुनाह नजर नहीं आता था । किसी को दोष नहीं दिया जा सकता था । कम से कम जमीन पर तो किसी को नहीं । जांच आयोग का एक मेहनत कर सदस्य गोथॅर्ड फॅस की की सोच से सहमत था की कोई सुपर सैनिक एयरक्राफ्ट गैगरीन और सिर जिनके मिक के करीब आकर टकरा गया था । आयोग की टालमटोल की प्रवृत्ति के बावजूद रुपए स्टोर ने साहस बटोरकर लुब्यांका में केजीवी हैड क्वाटर्स जाकर इस मामले पर पहले की । वो केजीबी के कर्नल ब्रुकलीन से मिला जिसने उस से जानना चाहा कि वह विमान की टक्कर की बात पर यकीन क्यों कर रहा था । रूबल्स टोकने रूसी शैली में झांसा देते हुए कहा, मैंने ऐसा इसलिए कहा कि यदि आयोग इसकी जांच नहीं कर पाया तो लोग सोच सकते हैं कि कुछ छिपाया जा रहा है । बेहतर है कि इस पहलू की जांच कर यह प्रदर्शित किया जाए कि इसका उन घटनाओं से कोई सरोकार नहीं था । कर्नल रुक इन उससे प्रभावित नहीं हुआ । उसकी मेज पर एक पतली सी फाइल रखी हुई थी जिसे उसने खोल दिया । ये राॅकी व्यक्तिगत फाइल कि कर्नल ने कहा तुम अनुशासन का बहुत सम्मान नहीं करते हैं । रोबोट तो जान गया कि वह युद्ध के समय की एक घटना का हवाला दे रहा था, जब स्टालिन गार्ड की एक उड्डयन इकाई जर्मन आक्रमण की वजह से बिल्कुल उचित आधार पर ज्यादा सुरक्षित पोजीशन लेने के लिए पीछे हट गई थी । बीस साल से अधिक अवधि तक इस घटना से कोई खास बात नहीं उठाई गई थी । लोग इन का मतलब ये था कि वो इस पुरानी बात को रुपए स्टोर के खिलाफ कार्यरता के सबूत के तौर पर पेश कर सकता था । मात्र इस आधार पर की वो उस पीछे हटने वाली यूनिट का सदस्य था । प्रवीन ने इस बात को बताने के लिए बहुत ज्यादा शब्दों का प्रयोग न करते हुए उसके सामने ये फाइल खोल कर रहे हैं ताकि वो इस की विषय वस्तु को बढकर स्वयं विमान टकराने वाली घटना को आगे ना बढाए । तो बस तो अनुमान से स्वीकार करते हुए कहता है बाद में इस बात को कुछ नहीं किया गया था । यू नो वो उसके निकटतम सहकर्मी इस विमान दुर्घटना से जुडा सत्य जानना चाहते थे । इसमें उन्हें पूरे दो दशक का समय लग गया । लेकिन सन उन्नीस सौ छियासी में बोहोत सर को उसकी ने एक नए जांच आयोग के लिए सफल लामबंदी की । उसने गोपनीय जांच पर लिखो ये वह मूल सहायक सामग्रियों तक अपनी पहुंच बनाए । किसी बीच यू नो आपको ये जानकर हैरानी हुई कि इन पहले खो को स्वयं उसके द्वारा सर उन्नीस सौ छियासी में लिखा गया था क्योंकि मौलिक जांच आयोग के इससे किसी और की लिखावट में थे । उन्हें दोबारा लिखा गया था और उसकी बातें गलत कर दी गई थी । यू नो के दोषारोपण से सुरक्षा विशेषज्ञ निकोलाई रुक इनको ज्यादा आश्चर्य नहीं होता है । मैं उस संभावना से इनकार नहीं कर सकता है । हमारे देश में नकली हस्ताक्षर बनाने में माहिर लोगों की कभी कमी नहीं नहीं इस कला में पहले से ही बहुत से लोग सिद्धहस्त ग्रोथ सर को । उसकी ने पाया कि सभी रडार ऑपरेटर इस विमान दुर्घटना के समय के प्रति उलझन में थे । सबसे पहले मैंने पाया कि फ्लाइट कंट्रोलर और गैगरीन के विमान के बीच वार्तालाप के टेपों में एक उत्सुक क्षण है । बात ये है कि गैगरीन का विमान क्रैश होने के बाद भी कंट्रोलर उसका काल चिन्ह छह दो पांच पर कॉल कर रहा था । कंट्रोलर की आवाज पूरी तरह शांत है । वो परेशान नहीं था लेकिन टेप के बयालीस मिनट से वो कुछ परेशान सा लगा । ये क्रैश होने के बारह मिनट बाद की बात है । वो तो सर को उसकी को कंट्रोलर की प्रतिक्रियाओं में लंबे विलंब को लेकर संदेह था । रडार उपकरण के मंदिर प्रत्युत्तर के बावजूद जब गागरीन का वायुयान जमीन पर गिरा, तब अंततः मिग पंद्रह की बत्ती बंद हो जानी चाहिए । लेकिन कंट्रोलरों को ये महसूस करने में पूरे बारह मिनट का समय लगा कि कहीं कुछ गडबड हुई थी । प्लोट सर को उसकी को ग्राउंड कंट्रोल प्रक्रिया और मौलिक आयोग की निराधार रिपोर्ट में कई दूसरी खामियाँ भी मिली । सन के दौरान ट्रैफिक कंट्रोल के रिकॉर्डों को निश्चित अंतराल में फोटोग्राफिक रूप में रखे जाने की व्यवस्था थी । इसके लिए कैमरों कि ऑटोमेटिक प्रणाली का प्रयोग किया जाता था । लेकिन सत्ताईस मार्च को चका लो बस की कैमरे काम नहीं कर रहे थे । इसलिए कंट्रोलर को क्रूड बैकप रिकॉर्डिंग सिस्टम का सहारा लेना पडा । वे रडार पर ट्रेसिंग पेपर रखकर उस पर चलती विविध स्थितियों को उतार लेते थे । वो तो सर को उसकी को पुराने और धुंधले कागज की सीट एक फोल्डर पर सावधानीपूर्वक रखी हुई मिली है जिसपर अंकित था गौर सामग्री यानी ऍम । इसे देखकर ऐसा लगता था मानो उसकी प्रासंगिकता को छिपाया जा रहा हूँ । मौलिक आयोग पर कार्य करते हुए ऐसी बहुत सी बातें हैं जिन्हें हमने विचार नहीं लिया । हम इस बात से सहमत हो गए कि साक्ष्य की दो खास पंक्तियां वाॅशिंग पेपर शीट से ये प्रकट होता है कि ट्रैफिक कंट्रोलर किसी और विमान से बात कर रहा था जिसे उसने ऍम दिया था । इस बात की अत्यधिक संभावना है कि गैगरीन का विमान दूसरे विमान के इतने नजदीक आ गया हूँ कि एक क्षण के लिए रडार स्क्रीन पर दोनों एक ही टारगेट नजर आया हूँ । जब गैदरिंग का विमान गोल्डन करने लगा तब भी दूसरा विमान स्क्रीन पर था । खराब मौसम दशाओं और ग्राउंड कंट्रोलरों के सूचना के अभाव के कारण दूसरे जेटके पायलटों को नियर मिस की जानकारी नहीं रही हूँ । लेकिन आज एस यू ग्यारह का एक सेवानिवृत्त अनुभवी पायलट इस बात पर शर्मिंदा हो जाता है । यूरी गागरिन की मौत शर्मनाक थी बल्कि इसलिए नहीं कि एक राष्ट्रीय हीरो की क्षति गडबड परिस्थितियों में हुई बल्कि उन खतरनाक खामियों के कारण जो तत्कालीन सोवियत मिलिट्री टेक्नोलॉजी में उभर कर सामने आएंगे, जाहिर है कि उनकी रडार प्रणाली एक ही समय पर वायुयान की ऊंचाई स्थिति को मापने में सक्षम नहीं था । नहीं, ये एक टारगेट से दूसरे टारगेट कि सकारात्मक रूप से पहचान कर पाती थी । ये बडी चौंकाने वाली बात थी । सैद्धांतिक रूप से कोई विदेशी जेट जो सोवियत एयरक्राफ्ट की सामान्य चिडियाओं और उडान पर्यटन की नकल करते हुए एक सोवियत एयरबेस या किसी अन्य सैनिक लक्ष्य से गुजरता तो उसे खतरनाक दुश्मन के रूप में नहीं पहचाना जा सकता था । जब किसानों सौ साठ में गैरी पावर्स के यु दो जासूसी यान को मात्र इसलिए मार गिराया गया था क्योंकि इसकी पहचान दुश्मन के यान के रूप में इसकी सोवियत उडान मार्ग में आ जाने के कारण कर ली गई थी ।

31. Controversy after Death

ये अफवाहें सादा से रही है कि यूरी गागरिन की हत्या लियोनिड बिजनेस प्रशासन द्वारा की गई । पत्रकार, मित्र और संबंधी अब भी किसी खतरनाक षडयंत्र की बातें करते हैं । ऐसा कोई वास्तविक साक्ष्य भी नहीं है जो गैगरीन की हत्या को एक दुर्घटना से हटकर बतलाए क्षमता और कमजोर प्रशासन का सच मुझे उसकी मौत में योगदान रहा है । लेकिन सोची समझी ईशा की भावना असंभव ही लगती है । जहाँ तक गैगरीन के परिवार की बात है तो वास्तविक अपराध तो संबंधित अधिकारियों द्वारा उन्हें सत्य के विषय में कम से कम जानकारी देना ही था । वेलेंटीन के मुताबिक हम सोचते थे कि यूरी की मृत्यु का आदेश भेजने के द्वारा जारी किया गया था । जब यूरी राजकीय यात्राओं पर भेजने के साथ निकलता था तो लोग उसकी ओर ध्यान नहीं देते थे और जब लोग भेजने की बात नहीं सुनते थे तो उसे बुरा लगता था । ब्रिज नहीं यही चाहता था कि लोग उसकी तरफ ही ध्यान दें, किसी और की तरफ नहीं । जीवन में कोई दुर्घटना नहीं होती, बल्कि ऐसे कारण उत्पन्न होते हैं जिनका अंत दुर्घटनाओं के रूप में होता है । मैं तो संयोगों पर भी यकीन नहीं करता हूँ । ये अंतिम मिनट तक की एक प्रणाली थी । ऍम पिछली बार अपने भाई से पंद्रह फरवरी को मिला । यूरी के डिप्लोमा हासिल करने के कुछ ही दिनों बाद उस दिन शाम के वक्त गैगरीन के मॉस्को अपार्टमेंट में कुछ बिना बुलाए आ धमके । पत्रकारों ने सारा मोड पर बात कर दिया । वेलेंटीन कहता है, उन्होंने घंटी बजाई । मैंने दरवाजे को थोडा ही खोला और धक्का देते हुए भी अंदर आ गए । बोला मैं क्या कर सकता था? यूरी ने कहा कि वे परजीवी की तरह है और वो घर में आराम भी नहीं कर सकता । उन्होंने तस्वीरें लेनी शुरू कर दी । तब एक पत्रकार की नजर यूरी के जापानी कैमरे पर पडी । उसने कहा, मैं आपको अपना कैमरा देता हूँ । आप अपना वाला मुझे दे दीजिए । दोनों की कीमत का जो अंतर होगा वो भुगतान में आपको कर देता हूँ । यूरी ने मुड करवा लिया की ओर देखा बल्कि ये पैसा ही हम उसे दे देते हैं । तो कम से कम वो ये प्रश्न दोबारा नहीं पूछेगा । ये सुनकर वो पत्रकार बडा शर्मिंदा नजर आया । यूरी की बहन जोरा भी एक कटु अनुभव सुनाती है । पिछली बार हम जूरी से उसके ग्रेजुएशन पर अठारह फरवरी को मिले । जहाँ जो को उसकी एकेडमी से उसे और घर मंटो को डिप्लोमा प्रदान किया गया । इतनी कठोर मेहनत के बाद डिप्लोमा हासिल कर यूरी बहुत खुश था । इसके पांच हफ्ते बाद हमें रेडियो पर उसकी मौत की खबर में नहीं । हमें न तो कोई सलाह दी गई और ना पहले से कोई चेतावनी दी गई । हमें कुछ भी बताया नहीं गया । मैंने स्वयं को बहुत बीमार सा महसूस किया । वही हाल माँ का भी था । डॉक्टर हमें शांत रखने के लिए इंजेक्शन पर इंजेक्शन दिए जा रहे थे । चोरी की मौत के कारणों की कोई स्पष्ट आधिकारिक सूचना हमें नहीं दी गई । तमाम अनुमान और अपना ही वे सारी व्यस्ततम बातें जो आपके जहन में आ सकती हैं । किसी ने मरने में उसकी मदद की । यही मेरा कैसा है? जोया को यूरी की अंतयेष्टि की याद बडा बेचैन कर देती है । हम दो दिनों तक सोवियत आर्मी के हाउस में बैठे रहे और अंतहीन अन्त्येष्टि संगीत की धुनें हमारे कानों में गूंजती रही । हमें तो लगा हम पागल हो जाएंगे । उसे अलविदा कहने के लिए आने वाले लोगों का तांता लगा था । लोग बडी संख्या में सभी तरफ से आ रहे थे । बडी बडी कतारें लगी हुई थी । गार्डों द्वारा कुछ कुछ देर में प्रवेश द्वार बंद कर दिया जाता था । बडा हृदयविदारक दृश्य था प्रथानुसार गागरिन की । माँ अपने बेटे के शरीर को शवदाहगृह कि लडकों को भेंट किए जाने से पहले अंतिम बार उसका मुंह देखना चाहती थी । इंजैक्शनों के बारे में वेलेंटीन कहती है, हम ताबूत खोलना चाहते थे, लेकिन अंतयेष्टि दल के प्रमुख इसकी इजाजत नहीं दे रहे थे और जो या नहीं उनसे बहस करनी शुरू कर दी और हर कोई चला रहा था । अंततः उन्होंने जो भी चाहते थे, करने दिया । उन्होंने लाल रंग का देश में कपडा हटाकर ताबूत खोला । उसके अंदर एक प्लास्टिक के थैले में मानव अवशेष रखे हुए थे । उनमें से कुछ की पहचान तकरीबन नामुमकिन थी । यूरी की नाथ अपनी सही जगह थी, लेकिन उसकी काल फटे हुए नहीं । किसी ने मुझे बताया कि सिर्फ चीन का भी ताबूत । ऐसा ही दिखाना तो हमने देखा और ताबूत बंद कर दिया । संगीत बच नहीं रखा और धीरे धीरे ताबूतों को भट्टी में डाल दिया गया है । अगले दिन राजकीय अंतयेष्टि में यूरी के प्रस्ताव शेष क्रेमलिन की दीवार में रख दिए गए । हमारे जोया कहती है कि माँ को अपने बेटे की मौत का बडा गहरा सदमा लगा । इतिहास की इस विचित्र क्रूरता ने उसके जीवन की शांति छीन लिए सामान्यतया लोगों को मृतकों को दफनाने का मौका मिलता है और समय बिताने के साथ उनकी गांव भर जाते हैं । लेकिन हर दिन माँ को इस की याद आती थी क्योंकि उसका यूरी कितना विख्यात जो था । सारे सोवियत यूनियन से लोग श्रद्धांजलि देने हमारे पैतृक निवास पहुंच रहे थे । माँ अस्सी साल की उम्र तक जीवित रही है और मुझे हमेशा बडा आश्चर्य होता था कि वो इस दौर से कैसे गुजर गई । मुझे यकीन है कि उसकी तकलीफ हम सबसे बढकर थी । यूरी के बहुत से मित्र और सहकर्मी उसके माता पिता से मिल अपनी संवेदना प्रकट करने आते रहते थे । सर जी बिलकुल सर को बस की को स्वर्ण आता है । गैगरीन की माँ से मेरी अंतिम मुलाकात के दौरान जब हम अकेले थे तब उसने मुझसे अचानक पूछा, क्या चोरी को मार डाला गया था? मैं बिलकुल स्तंभित रह गया । मैंने पूछा आपको ऐसा क्यों लगता है? उसने मुझे बताया कि एक बार यूरी ने उसे बताया था हाँ मैं बहुत भयभीत हो । उसने कहा तो मेरी समझ में नहीं आया कि ऐसा कहने से उसका मतलब क्या था । लेकिन ये बात उसे साल की जरूरत थी । बिलट सर को उसकी अपनी स्वयं की व्याख्या प्रस्तुत करता है । मैं नहीं मानता कि गैगरीन को अपनी जिंदगी कट था । ये एक अलग किस्म का डर था । ऐसा डर जिसे हम सभी उन दिनों आपस में बांटते थे । हमारे समाज और दुनिया का डर जहाँ हम रहते थे, उस समय पत्र, भयंकर पत्र, बडी तादाद में यूरी के ऑफिस में आ रहे थे । समाज के सभी दुखिया तकलीफ का उस पर असर हो रहा था । वो अपने कंधों पर जिम्मेदारी का बहुत भारी बोझ हो रहा था । उसकी चिंता और तनाव को कोई भी समझ सकता था । कोई भावुक था और कुछ न कर पाने की स्थिति में तो खुद ही परेशान हो जाता था । आपको पार्टी के अभी जाते वर्ग की जीवन शैली में कभी नहीं चल सका और न ही ब्रिज नेट की उच्च स्तरीय प्रणाली । उसकी सोच उनकी शैली से मेल नहीं खाती थी । इसलिए उन्होंने उसे नकार दिया था । उसे रबर स्टैंप बनाने खरीदे जाने का भी प्रयास किया गया । लेकिन वो इन जंगलों में नहीं फंसा । आपको बहुत ही ईमानदार, स्वेच्छाचारी और स्वतंत्र मानसिकता का व्यक्ति था । उसके परिवार में बेलोफ सर को बस की यू नो टिटो और अन्य लोगों को पारिवारिक सदस्यों साथ दर्जा हुआ करता था । लेकिन दूसरे काम अंतरंग लोग बेवजह परिवार के भावनात्मक कस्ट हो छेड देते थे में यूरी की अंतरिक्ष यात्रा के बाद से में उसकी मौत तक उसके पिता अलेक्सेई और छोटा भाई बोर । इससे लगभग प्रतिदिन ऐसे लोग मिलने आया करते थे । फर्स्ट कॉस्ट नॉट यूरी तक उन्हें अपनी गुजारिशें पहुंचाने के लिए कहा करते थे या ऐसे लोग तो यूरी के परिवार के किसी सदस्य से मिलने मात्र की इच्छा रखते थे । यूरी की मौत के बाद भी अजनबी लोगों के आने का क्रम जारी रहा और समय के अंतराल में अलग से ही और बोरिस दोनों भी वजह शराबी हो गई क्योंकि जब विनम्रतापूर्वक उन्हें शराब लेने का अनुरोध किया जाता था तो वे मना नहीं कर पाते थे । लोगों का आदित्य करने के इस दबाव और लोगों से बोर्ड का और ब्रांडी के उपहार स्वीकार करते रहने का उन पर घातक प्रभाव पडा । सानू में बोर इसमें फांसी लगा ली जबकि अलेक्सई का कमजोर स्वास्थ्य और भी होता क्या है? गैगरीन की पत्नी वैलेंटीना ने सफलतापूर्वक अपनी दोनों बेटियों को पाल पोसकर बडा किया । दोनों बेटियां आज अच्छा जीवन जी रही है । वैलेंटीना आज भी स्टार सिटि के एक छोटे से मकान में रह रही है । वो पत्रकारों से तकरीबन है, कभी बात नहीं करती । अंतरिक्ष से जुडे बहुत से अनुभवी लोग उसकी सामान्य आवास तो जीवन शैली को राष्ट्रीय अपमान की संज्ञा देते हैं लेकिन वो लोगों के आकर्षण का केंद्र नहीं बनना चाहते हैं । वो लोग के अनुसार निकिता ख्रुश्चेव द्वारा खर्चीला रहन सहन प्रदान किए जाने के बाद भी वो बहुत कम बदल सकी । क्रिश्चयन नहीं गागरिन की अंतरिक्ष यात्रा के बाद उसे ऑर्डर ऑफ लैंडिंग प्रदान किया । अपने जीवन में उसने कभी भी इसे नही दूसरे किसी पुरस्कार या मेडल को प्रदर्शित किया । वो अंदर से एक ईमानदार महिला थी और वही बात गैगरीन में थी । अपनी शोहरत की बुलंदियों पर होने के बाद भी तो ये कभी नहीं बोला कि वह ऐसे विशाल पिरामिड के शीर्ष पर खडा था जिसे इंजीनियरों, वह ठेकेदारों ने मिलकर उसके लिए तैयार किया था । पिरामिड के इस उपयुक्त रूपक से ये समझने में मदद मिलती है कि गैगरीन का जीवन विरोधाभासों से भरा हुआ था । वो एक महत्वाकांक्षी वह प्रतिस्पर्धी व्यक्ति था । कोई इस बात से पूरी तरह परिचित था कि उसके जीवन की केंद्रीय उपलब्धि कई और लोगों के प्रयासों पर आधारित थी । जिन्हें अपना नाम जाहिर करने तक की अनुमति नहीं थी, उसके साथ सार्वजनिक ख्याति की भागीदारी करना तो बहुत बडी बात है । एक खेती हर लडका होने के कारण वो इंजीनियरिंग के जटिल समीकरणों के प्रति सहज था । एक टेक्निशियन जो स्वयं कुछ सोच सकता था, आम समाज का एक वफादार जो प्रचलित व्यवस्था के खिलाफ विद्रोह कर सकता था, वो कुछ थोडी, कभी कभार विचारहीन, फिर भी अपने काम के प्रति अनुशासित और दूसरों के प्रति जिम्मेदार और प्राया स्वयं के प्रति भारी जोखिम की स्थिति में रहता था । उसे देश विदेश में राजनयिक कौशल के प्रदर्शन के दौरान राजनीति की ज्यादा समझ नहीं थी । वो ऐसा व्याभिचारी था जिसने वास्तव में अपनी पत्नी को परिवार को धोखा नहीं दिया क्योंकि उसके जीवन के लिए सभी प्रतिकूल तत्व एक दूसरे में मिल जाते हैं । इसलिए उसकी उभरकर आने वाली कहानी निश्चित ही एक संभ्रांत और बहादुर व्यक्ति की है जिसने असामान्य परिस्थितियों में भी अपनी बेहतरीन भूमिका अदा किया । वो एक हीरो था । इस शब्द के सर्वोत्तम तो सर्वाधिक ईमानदार करते हैं ।

32. Ek Naya Yug

बारह अप्रैल उन्नीस सौ इक्यासी की सुबह इंजीनियर, टेक्नीशिन और राजनीतिज्ञ सांस रोके खडे थे क्योंकि एक महान नया अभियान उनकी आंखों के सामने शुरू हो रहा था । इसमें भारी जोखिम था । इससे मिलने वाली सफलता से उन सभी को ख्याति मिलती जो इस से जुडे थे । इससे होने वाली असफलता में राष्ट्रीय शोक एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सिर नीचा हो जाता हूँ । फ्लोरिडा के तट पर हजारों लोग अंतरिक्ष शटल कोलंबिया के प्रक्षेपण की गवाह बनने के लिए खडे हुए थे जो रॉकेट यात्रा में एक नए युग का जन्म था । नासा के पूर्व प्रमुख डेनियल गोल्डिन अंतरिक्ष मामलों में इंजेक्शनों का वर्णन करते हुए कहते हैं, आप की सांसें धीमी चल रही है । आपकी दिल की धडकनें तेज हो रही है और मांसपेशियों के बेचैन युक्त चाव से आपका शरीर प्रभावित हो रहा है क्योंकि ये शटल प्रोग्राम तीस वर्षों बाद समाप्त हो रहा है । इसलिए निर्णायक मंडल इसके उत्तराधिकार को लेकर निर्णय की स्थिति में है । नासा की फ्लैगशिप एक ऐसी शक्तिशाली मशीन थी जिसने पृथ्वी की कक्षा में मनुष्य का सर्वप्रथम स्थायी निवास संभव कर दिखाया । इसे चालित करना खतरनाक वहाँ अत्यधिक खर्चीला हो सकता है । फिर भी सन उन्नीस सौ की सुबह फॅमिली लॉन्च सेंटर से पृथ्वी की कक्षा में पहुंच अमेरिका के लिए अपार खुशी गर्व के क्षण थे । उस दिन से ठीक बीस साल पहले सोवियत यूनियन की टेक्नीशिन इंजीनियर उस समय वहाँ की राजनेता मौजूद नहीं थे । वह केजीबी के अनेक प्रमुख सुदूर कजाकिस्तान के पीस के मैदानी स्थल बैकोनूर के कंक्रीट निर्मित बंकर से ऐसी ही गौरवशाली वार रोमांचकारी घटनाओं को देख रहे थे । एक युवक तीन के कनस्तर सी नजर आने वाली कैप्सूल में जो अंतरिक्ष में छोडे जाने वाले बंपर रखी