Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Transcript

जोकर जासूस भाग - 01

हूँ । आप सुन रहे हैं तो आपको एफएम किताब का नाम है जोकर जाउं जैसे लिखा है शुभानंद हाँ, मनीष की आवाज में तो कोई ऍम सुने जो मन चाहे जो करुँगी । सडक के बीचोंबीच उसे खडा देखकर टाइमर पहुंचा कराया गया । दोनों हाथ उठाकर उसे रुकने का इशारा कर रहा था । पहली बार चौडा शख्स जिसके माल बडे हुए थे, गाडी मुझ खानी थी और शरीर पर एक लंबा सा कोर्ट था । ड्राइवर को उसे लिफ्ट देने की सलासी भी चल रही थी । किंतु जब उसे यकीन हो गया कि वह व्यक्ति सामने से हटेगा नहीं और यदि उसने ठीक समय पर ब्रेक पर पैर का दबाव नहीं बढाया तो मैं ट्रक के नीचे आ जाएगा । उसने ब्रेक दबा दी । बडी तेज चरमराहट की आवाज निकालते हुए ट्रक के पहिए फिर हो गए । ट्रक उस व्यक्ति से सिर्फ आधे इंच की दूरी पर रखा था । ड्राइवर ने खिडकी से सर बाहर निकाला और चलाया क्यों? बाइक क्या बात है मानने का ये कौन सा तरीका है । लम्बा चौडा व्यक्ति चुपचाप उसकी खिडकी के पास आकर खडा हो गया और जब उसने अपने हाथ कोर्ट के साइड से निकले तो जैसे ड्राइवर को लगवा मार गया । सारे शरीर में झुरझुरी से फैल गई । दिल की धडकने तेज हो गयी । वो उसे एक शब्द निकालने की हिम्मत खत्म हो गई । उसके बाद हाथ में एक फॅमिली थी जिसे उसने इतनी लापरवाही से पकडा हुआ था । जैसे मैं कोई हथियार नहीं बल्कि कोई टॉस हो जिसका रात के इस वक्त उसके पास होना कोई आश्चर्य की बात नहीं थी । हालांकि ड्राइवर के लिए की स्थिति न केवल आश्चर्यजनक थी बल्कि खतरनाक भी थी । साक्षात बहुत उसके सामने खडी थी तुम गा जा रहा हूँ । उस व्यक्ति ने लापरवाही से पूछा । शायद उसे ड्राइवर की हालत का अंदाजा नहीं था या इस बारे में सोचना उसे समय की बर्बादी लग रही थी । मैं भाई से उसके सवाल लडखडाएंगे ऍफ चाहिए । कहाँ जा रहे हो सरिया किसी प्रकार शब्द बाहर आए ते बिना कुछ बोले ट्रक में चढ गया और ड्राइवर की बगल में बैठ गया । ड्राइवर उसकी तरफ देखने में भी घबरा रहा था । सडक के आगे शून्य में देखते हुए अहकाम रहा था । क्या हुआ? जलो मत जुटाते हुए ड्राइवर ने उसकी तरफ देखा । तब व्यक्ति आराम से पैर फैलाकर बैठा था । फॅमिली उसकी गोद में रखी हुई थी । सर को सीट पर टिकाकर पूरे इत्मिनान से आराम फरमा रहा था । मैं खाते हुए हादसे टॅाप लगाया और धीरे से ट्रक आगे बढ गया । पांच मिनट शांति के वातावरण में दोनों बैठे रहे । पहला पर ट्रक के पैसेंजर के मुँह से निकला नाम अब मस्ती मार फिर काम ऍम क्या हाथ में क्या ले जा रहे हैं ऍम एक फैक्ट्री में काम करता हूँ ऍम सभी देशों में इन का व्यापार होता है तो इस वक्त में लिया जा रहा हूँ । हाँ सरिया में डिस्ट्रीब्यूटर है । उसी को ये माल पहुंचाने जा रहा हूँ । किसी आज्ञा के आधे विद्यार्थी की तरह हर सवाल का जवाब दे रहा था । देता भी कैसे नहीं शक्ल सूरत से ही बहुत व्यक्ति बेहद खतरनाक लग रहा था और उसके बाद करने के शांत लहजे की वजह से उसे और भी ज्यादा डर लग रहा था तो तुम्हारे पास पासपोर्ट भी होगा । हाँ ॅ मुझे ड्रोलिया पहुंचना है । उस ने घोषणा की मरती समझ गया कि यह व्यक्ति एक आतंकवादी है और उसके ट्रक के जरिए सीमापार करना चाहता है । यानि इस वक्त वह एक आतंकवादी की मदद कर रहा है । कितना बडा जुर्म यदि सीमा पर तैनात सैनिकों द्वारा पकडा गया तो इसके साथ साथ खुद उसका भी जेल में पहुंचना निश्चित है । इस वक्त उसकी भलाई इसी में है कि इसे चुपचाप सुरक्षापूर्वक सीमापार कराते । कुछ सोचते हुए मैं बोला सारे पहुंचने के दो रास्ते हैं । आम तौर से मैं छोटे रस्ते से ही जाता हूँ । पर उस रास्ते से सीमा पर काफी होती है । जबकि लंबे रास्ते पर सीमा पर सिर्फ एक चौकी पडती है । वहाँ से हम आसानी से निकल जाएंगे । नहीं उसने घर नहीं नहीं वो लम्बा रास्ता के डर से चार मील बाद चौराहा पडेगा । उस लाते रास्ते के लिए हमें दाई बोलना पडेगा । छोटा सा सीधे पडता है । मैं कुछ नहीं बोला, सिर्फ हामी भरकर सामने देखता रहा । उसके चेहरे पर कोई शिकन क्या परेशानी नहीं नहीं । मैंने ऐसे काम है । हजारो बार कर चुका हूँ । अच्छा चलता रहा । साथ में चलता रहा । मार फीका पहचानती हूँ क्या क्या सोचता चला गया है । कुछ हिम्मत करके उसने पूछा आप कौन है? जवाब में मुस्करा दिया । वहाँ खतरनाक इंसान मेरे को लगा । शायद ये सवाल पूछ कर उसने खुद अपनी मौत को नहीं बता दे दिया । ना एक आतंकवादियों ना मैं बात चालीस मासी का दिल धारधार बचने लगा । उसके बगल में एक ऐसा दुर्दांत आतंकवादी बैठा था जिसका जिक्र बाहर आए दिन न्यूज में सुनता रहता था । कैसा दुर्भाग्य था उसका पहली बार किसी आतंकवादी से सामना हुआ और वह भी सीधे आतंकवादियों के आपसे । उस पर भी बडा दुर्भाग्य ये था कि उसने बेवकूफी में उसका नाम भी पूछ लिया । निश्चित ही सीमापार करने के बाद उसके जीवन लीला समाप्त कर देगा क्योंकि अब है इतने पडे रहते को जान गया था पर क्या पता हूँ इस दुर्दांत को उस पर रहे हो जाएगा । शायद मैं उससे खुश हो जाएगा । एक बात बोलू बादशाह अरे सर, हिलाकर आ गया मुझे आप लोगों का नजरिया पसंद है लेकिन कल गलती के है अपने देश और धर्म के हक के लिए तो काम करते हैं आप लोग ये देश भक्ति का ये तरह से कम है ना । बच्चों से ध्यान से देखने लगा माॅक उसे लगा उसमें फिर कुछ गलती कर दी तो भी चाहूंगा । मैं मरती है । एक बार तो से लगा केश बादशाह ने पायर कर दिया पर मैं आवाज थी उसके ठाठ की नहीं चला गया है । मरती को समझ में नहीं आया कि वह राहत महसूस करें या करें । दिल खोल के हंसने के बाद क्या बोला कितना डरता है? आदमी दो सेकंड की बहुत से हर वक्त ऑफ में जीता है । मर्फी को लगा सीमापार करने के बाद निश्चित रूप से उसे हलाल कर देगा । इस खयाल से उसकी आंखे भी नहीं मरता । नहीं चाहता हूँ तो मैं सुरक्षित सीमा पर पहुंचा दूंगा । सबसे सारी उम्र किसी से इस घटना का जिक्र भी नहीं हुआ कि इस कुछ मत मारना तो तो तो मैं कैप्टन का वास्ता मच्छी उसकी वेतना सुनता रहा । उसके चुभ होने के बाद बोला तो मेरा नाम जरूर जान गए हो, पर बात चाली क्या है कि ये नहीं जानते हैं । अगर मुझे तुम्हारा खत्म कर रहे की ख्वाहिश होती तो प्लस मांगने की जगह तुम है । मार्किट इमारत पर हत्या लेता । उसके बाद भी मैं सीमा की सेना को को चलता हुआ निकलने का ध्यान रखता हूँ । बात चाहे कुछ भी हो सकता है । उत्तर अहसानफरामोश नहीं मरती की जैसे जान बचाना आगे चौराहा दिखाई देने लगा था । मुंबई चल रहा है । अच्छा ने पूछा हूँ वही है । उसने आंसू पहुंचते हुए जवाब दिया । चौराहे पर पहुंचते ही बातचीत बोला, सीधे चला सीधे अब मगर सीधे अच्छा । इस बार कुछ तेज बोला । बात चाहते मार पीट । ट्रक सीधे निकाल ले गया । उसे समझ में नहीं आया कि अचानक बादशाह को क्या हो गया । अगले पर ताले कैसे पड गए । लेकिन ये छोटा रास्ता है । आगे चौकी पर दर्जनों सैनिक होंगे । हम मुझे इसी तरह से जाना है । बात चाहने तेरह सौ में कहा क्या तुम जल्दी पहुंचना चाहते हो? चलने वाली क्या बात है? ऍम क्यों ले रहे हो? करती को यातायात यदि बादशाह चेकिंग के दौरान पकडा गया तो उसकी भी हट खडी हो जाएगी । समय का बनाने की जरूरत नहीं है । चुपचाप कार्य चलाते रहो । मार पे चुपचाप अपने ईश्वर को याद करने लगा । दोनों देशों को अलग करती सीमा पर दो चौकियां थी । दोनों में करीब पचास मीटर का गया था तो वे लिया की चौकी पर तीस चालीस सैनिक मौजूद थे । दो दो सैनिक पास पडे टापरों पर तैनात थे । कुछ सडक पर आते जाते वाहनों की तलाशी ले रहे थे । दोनों देशों के बीच काफी अच्छे संबंध हैं । दैनिक रोज के इस काम को बेमन से कर रहे थे । लेकिन के नाम पर लोगों के पासपोर्ट और सामान पर एक नजर डालकर उन्हें पैदा कर रहे थे । दो बहन पास करने के बाद लगा ट्रक का नंबर चेकिंग कर रहे दो सैनिक ट्रक ड्राइवर के दरवाजे के पास आ गए हैं । खुल के कुछ कहने से पहले ही ट्रक के ड्राइवर ने पासपोर्ट सामने कर दिया क्या नाम है? पासपोर्ट पर टॉर्च की रोशनी डालते हुए एक सैनिक ने पूछा माॅल्स क्या ले जा रहे हो? ऍम फर्मेंट दिखाने का कष्ट करोगे? सैनिक ने टॉर्च का रुख मार पीके मूंग की तरफ क्या उसके घबराए हुए चेहरे पर पसीना था? क्या बात है? परेशान दिख रही हूँ । नहीं बस हुई परमिट उसके हाथ में थमाते हुए भर की बोला लेट लेट हो गया । उनका ऍम पडेगी इसलिए डोंट वरी मान तो मैं वापस करते हुए मैं बोला देर नहीं होगी । तुम जूते ले जा रहा हूँ । सोने के बिस्किट नहीं । अगर मैं हस्तियां मछली फेमस कराया, दूसरा सैनिक तक के सामान को बाहर से ठोक बजा के देख रहा था । ऍम कुछ सोचा नहीं मिला क्या? गबरा मत मिलेगा तो एक दो बिस्कीट तो भी दे दूंगा । जैक का जवाब आ रहा हूँ । तसल्ली कर लेने के बाद जैक वापस आ गया और बोला फॅस जा सकते हो खट्टा । अभी ट्रक में से तेज आवाज है । दोनों सैनिकों के कान खडे हो गए । आवास काफी तेज थी और साफ साफ सुनाई दी थी मार । फिर सब कुछ समझते हुए भी अनजान बनने की कोशिश करने लगा । उसे चाबी घुमा के इंजन स्टार्ट कर लिया । एक मिनट ये आवाज कैसे नहीं मेरे जूते की थी । मार पीट जबर्दस्ती मुस्कराया और तुम्हारे जूते लोहे के कहते हुए एक झटके में जब दरवाजे पर चढकर अंदर आ गया, मरती के बगल वाली सीट के नीचे बहस कर चुका के छुपा हुआ था । जाॅन उसकी पीठ से लगा दी । उसने चौंककर से उठाया तो जैक सकपका गया । उसका चेहरा मैं लाखों में भी पहचान सकता था तो तुम इधर बाहर खडे सैनिक को उलझन होने लगी । क्या वो किसी औरत को छुपा कर ले जा रहा है? क्या अंदर जैक से ले के फोर्टी सेवन अपने कब्जे में ले ली पर उसे नीचे उतरने का आदेश दिया । बाकी सैनिक भी वहाँ गए थे । बातचीत अली को देख कर मैं सभी आवाज थे । उसे फौरन गिरफ्तार कर लिया गया । बातचीत अली की गिरफ्तारी के करीब दो साल पहले तो वे लिया की राजधानी मजाक में एक रहस्यमय घटनाक्रम हुआ था जिसका संबंध बाद जैसे ही था, पर वह ऐसे कुछ जानने वाले सिर्फ कुछ ही लोग थे । फॅमिली । आपके एक जाने माने वैज्ञानिक अभी अभी घर को लाभ करके अपनी कार में बैठे थे । घर पे बैठे ही उन्हें कुछ गडबडी का एहसास हुआ का एक तरफ चुकी हुई थी । बाहर निकल कर देखा तो पता चला कि कार के टायर की हवा ने की हुई थी फॅार उन्होंने पहले से ही लाइफ पहुंचने में देर हो रही थी । पांच मिनट में एक जरूरी कॉन्फ्रेंस शुरू होने वाली थी जिसके अध्यक्ष पे खुद थे । कुछ जरूरी पेपर लेने के लिए भी घर आए थे । बडा घर तो वह महीने में दो तीन बार ही आते थे । साथ ही भी किस के लिए अकेले ही तो थे । शादी के बारे में कभी सोचा भी नहीं । सहारा समय सिर्फ रिसर्च वर्क में ही बीतता था । फ्लैट में ही खाना पीना । वहीं पर सोलह टायर बदलने का समय नहीं था । तेजी से सडक की तरफ चलती है । गनीमत था की एक खाली टैक्सी पास में ही खडी मिल गई । ड्राइवर जो की अंदर बैठा उन रहा था । प्रोफेसर के बैठते ही जागरूक हो गया । उसको पूछने का मौका दिए बगैर प्रोफेसर ने कहा रिसर्च लाख ले चलूँ । चलती जी डाॅ कर दी । पांच बजे तक पहुँच चुपचाप बैठे रहे । फिर कुछ क्रोधित स्वर में बोले अरे भाई क्या बात है इधर उधर क्यों तुम्हारे सीधे रास्ते से क्यों नहीं ले चलते । पिछले चौराहे पर भाई बोलता था साहब है रास्ता । इस वक्त फोर वीलर के लिए बंदा क्या बकवास है? अभी पांच मिनट पहले ही मैं उधर से आया था । मैं तुम लोगों को अच्छी तरह से जानता हूँ । मीटर रीडिंग बढाने के चक्कर में ऐसा करते हो तो सहमत हूँ और ये सारा हजार चलाया तक । जितना किराया होता है आप मुझे उतना ही रहना । बोलते वक्त ड्राइवर उन्हें रियरव्यू में देख रहा था । ऑफिसर अभी भी गुस्से में थे । उधर भी कैसे नहीं । जिस कॉन्फ्रेंस का आयोजन खुद कर रहे थे, उसी मिले पहुंचने वाले थे । ऍम पिछले हफ्ते दो बार चलाना चुका । ऐसा अभी कोई रिस्क नहीं लेना चाहता हूँ । प्रोफेसर ने गहरी सांस छोडी और गाडी को ताकने लगे । बिस्तर है एक और चौराहा निकल गया । टैक्सी सीधे निकल गए । प्रोफेसर मैं कुछ नहीं कहा । जब तीसरे चौराहे पर भी उसने टैक्सी नहीं मोदी तो प्रोफेसर का सब्र टूट गया । ऍम पहन सकती से बोले क्या हुआ साहब ऍम? और तभी बुरी तरह से हार पडा गए प्रॉफेसर । उनकी सीट के नीचे से एक आदमी निकल आया तो उसके हाथ में रिवॉल्वर थी जिसकी फॅमिली लम्बी थी । उसने अंगुली को होठों पर रखकर तो ऑफिसर को चुप होने का इशारा किया । ये सब ये सब क्या है? फॅार? क्या ये मेरा दोस्त है साहब सीट के नीचे हो रहा था । आपके शोरशराबे से इसकी नींद खुल रही क्या चाहिए? तुम लोगों को लियो रखो कहकर प्रोफेस अपने जेब से पर्स निकाला और कहा तो आपको सारे पैसे घडी भी ले लो । इन सब से ज्यादा कीमती मेरा समय है । तुम्हारे समय की कीमत हम अच्छी तरह से जानते हैं तो मैं पूरी कीमत अदा करेंगे । ड्राइवर का तो उसको बोल इससे तो आप जानते ही होंगे । तो वो भी बहुत अच्छी तरह से क्या है ये प्रोफेसर ने देखा । उसने एक छोटी सी बोतल निकाली थी जिसमें पारदर्शित रुपया था । ऍम तो अच्छी नीम के लिए उसने धमाल को उससे भी हो गया । क्या चाहते हो तुम लोग? मैं तो इसके आगे उनकी आवाज को उसके रुमाल वाले हाथ ले । रुपया ऍफ आ गई । गहरी मेस होते चले गए । जब प्रोफेसर की नींद खुली तो उन्होंने खुद को एक अंजान जगह पाया और अपने चारों ओर की स्थिति देखकर उनकी आत्मा तक घृणा से भर गई । उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था की इतना सब कुछ उनकी बेहोशी में हो गया । कुछ मिनटों में उनका जीवन इस तरह से बर्बाद हो गया है तुम लोग को इतने नीचे तक कैसे कर सकता है । वर्ष पर रहते हुए उन्होंने कहा, उनके शरीर पर एक भी कपडा नहीं था । पूरी तरह से नग्न थे । पास में ही एक और शरीर था । एक जवान लडकी का पहली पूरी तरह से बस्तर की थी । बेहद गहरी नींद में सो रही थी मैं ड्राइवर एक कुर्सी पर बैठा था । उसके हाथों में कैमरा था । उसने कुछ कपडे प्रोफेसर के ऊपर फेंक दिया जिन्हें पहले लीजिए तो लोग होगा । उनका इन सब से क्या मिलेगा? तो मैं हमने आपको उस लाश के साथ लेता अगर कुछ फोटो ले लिए हैं । अब पुलिस सोचेगी । यहाँ तो आपने इसका क्या या फिर आपके इसके साथ गलत संबंध है और कर किसी वजह से आपने इस का मर्डर कर दिया । मैं भी वैज्ञानिक तरीके से और आम साधु चिल्लाते हुए प्रोफेसर उस पर चढ बैठे हैं । अपनी नग्नता का जरा भी होश नहीं रहा । उसका गला कसकर पकड लिया । पास में खडे दूसरे आदमी नहीं जल्दी से प्रोफेसर को खींचा और एक झापड जमा दिया । अपने पूरे नंगे जिस्म को दिए एक तरफ गिर गए । पानी पिलाओ ऍसे कहा पानी पीने के बाद उन्होंने प्रोफेसर को कपडे पहनने का निर्देश दिया । प्रोफेसर के चेहरे पर मुर्दानगी छाई हुई थी । उन्होंने धीरे धीरे कपडे पहन लिया । आराम से बैठे हैं । हमारा यकीन बनी है । हम आपके हित में ही सोच रहे हैं । समाज के कानून को हमने की मानते हैं । हमारे अपने कानून है । हम कहते हैं खुद सफल बनो और दूसरों को भी सफल बना । बडे आराम से पूरी सभ्यता के साथ कह रहा था । प्रोफेसर ने ध्यान दिया कि उसने महंगा जोर पहन रखा था और देखने में कोई बिजनेस में लग रहा था । हम आपको अमीर बनाना चाहते हैं और उसके बदले में आपके दिमाग का सदुपयोग करना चाहते हैं । आप सोचेंगे कि हम खूनी अपराधी है पर हम ने तो ये खून एक अच्छे काम के लिए ही किए हैं । मैं बोल रहा था ऍम मैं बोले जा रहा था ये कॉल करते थे । कल रात मैंने इसको लिखती कहलाया और इसका खत्म कर दिया । तो मतलब पर जरा सोचिए क्या ये एक अपराधी नहीं है? कितने लोगों को ये एज आदि रोग फैला सकती है? कितनी पत्नियों का सुख लूट सकती है? सच कहूँ इसे मारते वक्त सराब पिता या नहीं आई थी पर फिर भी आप कहेंगे कि खून खून है । खतर किस लिए? यदि आप अपने दिमाग का सदुपयोग किसी और से कराने लगे या अमीर बनने के बाद आप हमें धोखा देने के बारे में सोचने लगे तो आपको कंट्रोल में करना हमारे लिए बेहद आसान होगा । ऍम पैसे के लिए में ऐसा करना पडा । सिर्फ अपने बचाव के लिए ऍम तो कोई गलत चीज नहीं है । किसी प्लान के हिसाब से आप का अपहरण करना पडा । उनसे जो ये छोटे मोटे जुर्म हुए हैं उनसे ये बिल्कुल मत समझना की हम आपको धोखा देंगे । ऐसा कभी नहीं होगा बशर्ते हाथ हम एक होगा ना दें । उस स्थिति में हमें आपको समाज के कानून के हवाले करने में कोई हिचकिचाहट नहीं होगी । मुझे क्या चाहते हो? क्या काम करवाना है उसकी बातों से । प्रोफेसर आर्थर किस्मत को बेहद नफरत हो रही थी । सब कुछ बताता हूँ कहकर बहुत मुश्किल है । आप कुछ नाव में लग रहे हैं । मुझे खुशी है कि आपका माइंड सेट करने में ज्यादा समय नहीं लगा । पैसे भी आप एक वैज्ञानिक है, ज्यादा समझदार है । मैं तो ठीक है पर इसका क्या करोगे? लाश की तरफ इशारा करते हुए प्रोफेसर ने पूछा लाश पर नजर पडते ही उनके शरीर में भाई की एक लहर दौड गई । आप चिंता मत करिए, ये सर दर्द हमारा है । यहाँ से कहीं दूर भिजवा देंगे । लेकिन लेकिन पुलिस ने ढूंढा तो आप भी कमाल गाॅव यदि पुलिस को लाश नहीं मिली तो आप हमारे कंट्रोल में कैसे आएंगे? लाश पुलिस को मिल जाएगी पर उन के बाद भी हम तक नहीं पहुंच सकते । तो वैसे भी एक कॉल दाल की हत्या से किस के पेट में दर्द होता है । केस फाइल में तब्दील होकर पुलिस के हजारों के ढेर में शामिल हो जाएगा । सबूत रहेंगे हमारे पास और इस फाइल को दोबारा हम ही खोल सकेंगे । पर ऐसा होने नहीं देंगे । हमें अब तक पूरा विश्वास फॅस का मुद्दा दे रहे हैं हूँ । हो सकता है आप ये सोचेंगे की फोटो ये तो साबित करते हैं क्या अगडे उसके साथ सेक्स किया तो खत्म ही नहीं तो यहाँ पर क्या खत्म का प्रमाण भी हमारे पास है एक शहर का इंजेक्शन जिस पर आपके ऍम करजात में इसका खून भी तो मौजूद हैं । तो ये है कि आप समझ सकते हैं ये सब प्रकार की बातें भूल चाहिए । उस तरह की बात करते हैं । इस तरह उस फॅार के बिना ही हो गई । बात में उन्होंने माइग्रेन का बहाना बनाकर सबसे माफी मांगे । उनकी मौत ही पर ध्यान दिए बगैर सभी इस बात पर चिंता करने लगे हैं । कई लोगों ने उन्हें चार कप कराने का अनुरोध किया । उनसे दवाओं के बारे में पूछा जाने लगा । कई सावधानी बरतने को कहा गया । प्रोफेसर सबको चिंता करने का धन्यवाद दिया और कहा कि वे अपना ख्याल रखेंगे । दो दिन बाद प्रॉफेसर का नॉर्मल रूटीन चालू हो गया । पर भाजपा ऍम की शामत आ गए । रात में कुछ घंटों की नींद लेने के बाद ऍम अपनी प्राइवेट लाइफ में पहुंचे । उनका लाॅस हमेशा की तरह पहले से मौजूद था । कुछ आवश्यक रसायनों और करने को तैयार करना उसका रोज का काम था । ऍम आकर सीधे कोने में रखे अवन के पास पहुंचे । इस वजह से लैब में प्रयोग होने वाले क्लास की विभिन्न सामग्री जैसे कि फॅमिली कर आदि को स्टेरेलाइज किया जाता था । ध्यान से अपन को देखने लगे और उनके पास पहुंचा । जबकि दूसरा ऍम तैयार करने में लगा था । क्या हुआ? तब मैंने पूछा था इसका तापमान कैसे? क्या तापमान को नियंत्रित करने वाले ना? आप को देखते हुए उन्होंने पूछा नहीं किया था सर, अब हम और कहकर एक सौ सत्तर थप्पड पहुंचर के चेहरे पर चढ दिया । दूसरे एसिस्टेंट के हाथ से रसायन की एक बोतल छोटे छोटे बच्चे फॅार को देखता रहेगा कई साल बाद या कहीं के स्कूल से निकलने के बाद । पांच उसे पहली बार थप्पड पडा था । ऍम पहुंचा बोला क्या हो सर तो सब काम चोर हो । मुफ्त की नौकरी मिल गई । हाँ पूरी खराब खोरी कर रही हूँ । मैं चलाएंगे तो फॅसे उन्हें ताकते रहे । पत्थर अस्मित का ऐसा कौन रूप है तो पहली बार देख रहे थे मुझसे क्या गलती हो गई सर । आॅफर में पूछा चलो मेरे साथ चलो दोनों को धकेलते हुए देता । हर चलती है । दोनों को समझ में नहीं आ रहा था । आखिर हो क्या गया फॅसने प्रश्नात्मक दृष्टि तो अगर पर डाली पर वह भी हैरान था । चार साल से विरोध यही काम करते थे । आज तक कभी कोई ऐसी गलती नहीं हुई कि कोई इस तरह ऍफ करें । दोनों को ये तो समझ में आ गया कि प्रोफेसर धकेलते हुए उन्हें रिसर्च लैब के हैड के पास ले जा रहे थे । ऍम फॅमिली रहने लगा । अब बताइए नजर मुझे मुझे गलती क्या हो गई ऍम कुछ सुबह उन्हें धकेलते रहे । लेट के बाकी लोग भी ये तमाशा देखने लगे । इससे पहले की कोई पूछने के लिए आ गया था । आर्थर उन्हें लेकर लेफ्ट में चले गए ऍम था अपने ऑफिस में उन्हें इस तरह आते देख हेड चौकर खडे हो गए क्या बातें प्रोफेसर इन दोनों हरामखोर ओ से मैं नहीं निपट सकता अभी संभालिये नहीं लेकिन हुआ क्या क्या? क्या इन दोनों ने बराबर पहुंचर का कॉलर खींचते कोई प्रोफेसर ने कहा पता नहीं सर तो चाइना की प्रॉफेसर मुझे कुछ नहीं पता । मैंने कुछ नहीं किया ऍफ किया था मैंने तो पहुंॅच किया था टोमॅटो झूठ कहकर प्रोफेसर ने एक और जो राव था पर चलती ऍम क्या कर रहे हो? कहते हैं उनके बीच में आ गए ऍम अगर उन्होंने कोई गलती की है तो उसकी सजा ही नहीं मिलेगी । फॅमिली पर अभी भी थोडी सी तमतमाते हुए उसे खोल रहे थे क्या बात है? ऍसे हुए पूछा तो मैं वहाँ तक अपडेट करना नहीं आता सर मैंने तो रोज की तरह आज भी वही क्या प्रयोग आने वाले सारे क्लासेज का सामान अपन में रखकर तो सौ सात डिग्री काॅस्ट कर दिया । झूठ अर्थर उसमें चला है । ये हरामखोर झूठ बोल रहा है । फिर ऍम टू सिक्सटी टू फॅार को खोल के रह रहे हैं फॅार एक दूसरे का मुंह ताकते लगे तो ऍम और क्या क्या? इसमें एंड ने पूछा तो प्रोफेसर एकदम खडा बडा गए । हेल्थ को कुछ देर खोलने के बाद कहा और भी कुछ करने को रह गया है क्या? कुछ देर सबको देखते रहेंगे । फिर सोचने लगे हैं । छह तय कर रहे थे कि वह जो सोच रहे हैं वह सही है या गलत । जहाँ तक मैं समझता हूँ ऑफिसर हमने सारी चीजें रख कर दो सौ साठ डिग्री टेम्परेचर साइट कर दिया जाता है तथा इसमें बाद अवन को ऑफ कर दिया जाता है । पर उस अवन में दो तीन डिग्री के तापमान से क्या फर्क पडता है । यदि तापमान तो डिग्री ज्यादा हो गया तो उससे क्या नुकसान मालूम हो जाएंगे? और तो डिग्री सादा होने से गिलास को कोई भी नुकसान नहीं होगा । आपको नहीं लगता क्या कुछ ओवर रिजेक्ट कर रहे हैं? हाँ बस और कुछ नहीं बोले । शान्तिपूर्वक अपने चश्मे को सही करते हुए टेबल को घुटने लगे । प्रोफेसर ऍम के कंधे पर हाथ रखा है तो आप की तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही है । जनता हूँ की आप बहुत मेहनती है, अपने काम को पूरी तरह से समर्पित होकर करते हैं और अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना चाहिए । फॅार चले जाते हैं । ऍम बोलने लगे ऐसा हो जाता है मेरे साथ भी हो चुका है । काम के इस पैसे गुस्सा बढ सकता है । रात को आप सात घंटे की पूरी नहीं अगर ये प्रोफेसर ने कुछ नहीं कहा चुपचाप सर हिला दिया । पेट के आग्रह पर भी वशराम घर में पहुंच गए हैं । खुद नहीं तब आदि और कुछ देर सोने को कहा तो हो गए दो घंटे बातें लैब वापस पहुंचे । दोपहर में लंच के वक्त फॅार को अपने रूम में याद किया । सब कुछ समझ में नहीं आया । आज तक प्रोफेसर ने कभी ऐसा बर्ताव नहीं किया । डॉक्टर कह रहा था आप उठाना तो दूर कभी हम लोगों से तेज आवाज में बात भी नहीं की । अपना काम हम लोग हमेशा ठीक तरह से करते हैं । कभी उन्होंने कोई शिकायत नहीं की । पर आज तो उन लोगों की बात सही है । अचानक ही आज ये सब हुआ । उन की तबियत खराब दिख रही थी इसलिए शायद छठ चले हो रहे थे सर । ॅ पैसे भी दुनिया में अकेले हैं । उनके घर में कोई नहीं है । हर समय सिर्फ रिसर्च के बारे में सोचते रहते हैं । ऐसे में स्वाभाविक है कि अच्छा भला इंसान भी पगला जायेगा । इतनी बुरी हालत भी नहीं इतने का और ऐसा ना प्रमोशन से पूछे । थोडी देर पहले प्रोफेसर कुछ काम करते करते, बेवजह पीकर और टेस्ट तोड रहे थे और पता नहीं क्या क्या कह रहे थे । कह रहे थे कि ये पीकर नहीं चाहता की मेरे रिसर्च सफल होगा । नौशाद ने कहा फिर सोच में पड गए । फिर बोला ठीक है तो लोग जाता हूँ । हो सकता है कि आज रात होने के बाद दूसरे दिन नॉर्मल हो जाए । कुछ बात हो तो कल बताना । दूसरे दिन तो आॅडी कर दिया । लास्ट में घुसते ही एक एक कांच के सारे उपकरण वर्ष परफेक्ट पे लगे हैं । कुछ देर तक तो उनके दोनों सहायक कपिराई से देखते रहे । फिर मैं भागकर आस पास से और लोगों को बुलाना है । डॉ । ऑफिसर को रोका गया । ऍफ का पूरा साफ बहुत इकट्ठा हो गया था । वो भी वहाँ पहुंच गए । ऍम तोड फोड तो बंद कर दी थी पर अब एक कुर्सी पर बैठकर उन टूटे हुए कांच के उपकरण की ओर देखते हुए गालियां दे रहे थे । ऍम के पास आकर कंधे पर हाथ रखा और कहा ऍम ठीक ही तेजी क्या हो गया । आपको तेजी से झटक दिया और था उसका कराया क्या हो गया? क्या लग रहा तो है बना बैठाया कुछ राय क्या हो गया ये ये ये हो गया ये हो गया कहते हुए बहुत टूटे फूटे कांच के टुकडों को जूते से कम नहीं लगे के इशारे पर कुछ लोगों ने आगे बढकर होने जगह लिया छोडो ऍम चार लोगों देख कसकर पकडे हुए थे । प्रॉफेसर की एक ना चली ले चलते हैं । वो लोग उन्हें एक कमरे में ले आए । ऍम का एक इंजेक्शन उन्हें लगा दिया । प्रोफेसर को कुछ ही मिनटों में नींद आने लगी है पर फिर भी उनकी आगे खोली थी और वहाँ कुछ बता रहे थे । दस मिनट बाद भी जब पे नहीं हुए तो उन्हें एक और दोस्त दिया गया उसके बाद हो गए । उनकी नींद खुली तो देखा भी एक साइकैट्रिक क्लीनिक में थे भी मौजूद हैं । फॅसने उनसे बातचीत शुरू की तो उन्होंने प्याज सामान्य ढंग से जवाब दिया । क्लीनिक से निकलने के बाद ऍफ के कुछ लोग जो क्लीनिक तक आए थे, हैल्थ का देखो हम लोग चाहे मुझे पागल को हो जा सकती है तो सब मेरी नजरों में हरामखोर बन चुके हो । मैं आप कभी लाभ नहीं आऊंगा और ना ही तुम में से कोई मुझे इस ओवर के पिल्ले के पास ला सकेगा । उन्होंने साइकैट्रिक एक लेने की तरफ इशारा किया तब आपको कोई पागल नहीं कह रहा हूँ ऍम आप हमारे सीनियर हैं, हम से बडे हैं, हम आपका साथ चाहते हैं लेकिन आप के बिना अधूरी है तो बेटे क्या करूँ तुमसे मैं प्रोफेसर बिहार से कहने लगे फिर एकदम से सकती दिखाई खाना मी तो तो भी कमीने पूरी सैलरी महीने जेब में डालता है और लाइफ के लिए एक ले का काम नहीं करता है । मुझे देख मुझे मुझे ओवर को देख कुत्ता हूँ मेरा दिमाग खाली हो गया लाइफ के लिए । ऍम विभाग थोडा ऍम बिगड गया तो सबको भाग लगने लगा । ऍम पढे लिखे पढो जब बच्चा बडा होता है तो उसका शरीर नहीं बदलता । हार्मोनल चेंज नहीं आती तो बच्चे को डॉक्टर के पास ले जाते हैं । डॉक्टर साहब तो देखिए मेरा बच्चा कैसे लंबा होता जा रहा है । मैं चाहिए इसे ऍम ऍम के दिमाग कैमिकल भी चेंज हो जाते हैं । उठा लाये एक ओवर के फिल्म के पास मुझे तो मैं घर जा रहा हूँ तो लोगों को बता दिया मैं आपसे अब कोई जाता नहीं ना मुझे पेंशन की जरूरत है । तुम लोगों की तरह शराब फॅार पैसा नहीं उठाया मैंने बहुत बच्चा गया है कि जिंदगी के लिए बहुत है । इस तरह न जाने के अकड पढाते हुए प्रोफेसर वहाँ से निकल गए । किसी ने उन्हें रोकने की हिम्मत नहीं की । जिस टैक्सी से लाए गए उसका कुछ लोगों ने पीछा किया ताकि ये देख सकें कि बहुत ठीक ठाक घर पहुंच गए । रिसर्च लैब के हैं और कई वैज्ञानिकों ने तरह तरह से आर्थर स्मिथ को समझाने की कोशिश की । मनाने की कोशिश की महिला पसला अगर फिर साइकेट्रिक के पास भी ले गए । अच्छा इसमें धोखा खाकर पहुंच जाते । बिल्कुल सामान्य ढंग से दर्शन बीत जाता है पर बाहर निकलते ही पे ले जाने वालों को गालियां देकर घर चले जाते हैं । इस तरह समय के साथ साथ लोगों ने भी कोशिश छोड दे छोड दे भी कैसे नहीं हम पर बार बेइज्जती बर्दाश्त करता तो ऑफिसर की मुझे गंदी का लिया सुनता अपने ऑफिस अपने अपने घर से निकलना छोड दिया । दो महीनों में रिसर्च चला । आपने भी उनसे हर तरह के नहीं था तोड दिया । अब प्रोफेसर आर्थर स्मिथ की दुनिया अलग थी । दो साल बाद जब बादशाह अली ड्रोलिया की जेल में आ चुका था तो वे लिया की राजधानी ऍम ऍम अपने क्लीनिक के पास के एक होटल में लंच ले रहे थे । लंच के बाद उन्होंने स्वीकार सुलझा लिया था । तब उन्होंने देखा एक आदमी तेज कदमों के साथ उनकी तरफ आ रहा था । उसने पास अगर पूछा डॉॅ यह क्या मैं आप से बात कर सकता हूँ क्योंकि मैं तो बैठे हुए अपना परिचय पत्र निकाल कर के बल पर रख दिया । मैं डायमंड हो, डीसीआई से कृष्टि । थोडा चौथा डीसीआई यानी ड्राॅ जी । मैंने आप की बहुत तारीफ सुनी है । डॉक्टर मेरे पास एक रोगी हैं । उसे सिर्फ आप ही सही कर सकते हैं । ऐसी सोच में पड गया । उसे लगा एक जासूस के पास कोई पागल मुस्लिम ही रोगी हो सकता है । आपसे देखिए शायद क्या वहाँ कोई नहीं? वैज्ञानिक तो फॅमिली दो साल पहले तक मैं देश के रिसर्च लाख में काम करते थे । ठीक है तो आप उन्हें कल सुबह मेरे क्लिनिक मिला सकते हैं । लेकिन उससे पहले मुझे विस्तार में उन के बारे में जानकारी चाहिए क्योंकि पूछे यहाॅं मेरे क्लिनिक में चलिए लगभग दो मिनिट में दोनों उसके लेनी पहुंच गए । फिलहाल लंच टाइम था और उनका अभी कोई पेशेंट नहीं था । उनका सहायक वेटिंग रूम में बैठा था । मैं दोनों क्रिस्टी के कैबिन में हम गए क्योंकि संप्रग था तो पेपर बैठते हॅूं आप बताओ की दो साल पहले क्या हुआ था तो फॅमिली दीजिए क्यो । उनके साथ ही वैज्ञानिकों का कहना है कि वह एकदम से सडक गए थे । खाना जी हरकते करने लगे थे तो वो टाॅम किया गया । कोशिश की गई पर कुछ सफलता हाथ नहीं आई है । उनकी पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ बताइए? उनके बना रही है शादी कभी कि नहीं फॅमिली निकाल दिया उनका कोई खास दोस्त की नहीं । क्रिस्टी सारी बातें नोट कर रहा है । कोई रिश्तेदार अभी तो मेरे अलावा कोई भी नहीं है । उनके भाई यानी मेरे पिता था तरह कई साल पहले ही हो सकता है तो आप उनके मेरे अंकल हूँ । मैं समझ रहा था कि ये किसी अपराधी से रिलेटेड है नहीं । डाॅ । मुस्कराया की पूरी तरह से पहुँचा है । सच बात करूंगा । मैंने अपना आईडी कार्ड आपको सिर्फ इसलिए दिखाया था था कि आप मुझे डाले रहेंगे । स्पॅाट की शक्ल पहले से काफी बदली हुई थी । चेहरे पर पडी हुई गाडी मुझे आंखों में थकान भरी थी और शरीर काफी पतला हो गया था । डायमंड के साथ फॅमिली में सुबह पहुंचेगा डाॅ । किया और आर्थर उसमें डॉक्टर के रूम में चलो । डॉक्टर उन्होंने गर्मजोशी से क्रिस्टी से हाथ मिलाया । फॅस तो इस मीटिंग अब यहाँ आराम से सो पेपर ले जाई । धरने पैसा ही क्या आपका आज का दिन कैसा रहा? ठीक है, बिलकुल खुश है । मैं भी बाहर हूँ और घर का मूल्य तक क्या पता नहीं पहले क्यों नहीं समझते हैं? क्या आप मुझे ठीक कर सकते हैं? फायदा करता हूँ, पूरी कोशिश करूंगा । आर्थर ने सरेला फिर दीवार पर लगी पेंटिंग को घोरने लगे । आप आज कल क्या कर रहे हैं? ट्रस्टी ने पूछा दोस्त फोन करुँ, दोस्ती के बाद प्यार होगा, घर में शादी करूंगा । ये तो बहुत अच्छी बात है क्या फिर हालत की कोई गर्लफ्रेंड है? नहीं ऍम आपका हाँ मेरा नौ से शादी भी कर सकता हूँ । तो क्या आप का सेक्रेटरी शादीशुदा है? आर्थर एकदम से खुश होते हुए बोला क्या आपको हमेशा से आदमी अच्छे लगते थे । आर्थर चुप रहे । आपने छत को खो रहे थे । ऑफिसर मुझसे बात करिए । डॉक्टर तुम भी मुझे पागल समझ रहे हो जी आप सिर्फ बीमार है । मैं जानता हूँ तो किस बीमारी का इलाज करता है । सोवर चलाते हुए उठ खडे हुए प्लीज पाॅड ऍम सामान्यता कैसे बैठा हूँ कहते हुए तहत हमसे सोफे पर बैठ गया और डालते हुए बोले मैं तो भारी तरह फालतू नहीं हूँ । मेरे पास कर जलाया काफी कम है । हमारी तरह लोगों को बेवकूफ बनाने का धंदा नहीं है । मेरा ऑॅफिसर अपने काम के बारे में कुछ बताइए । वहाँ ऍसे अभी मैं साइंटिस्ट लोगों को अपना काम बताता घूमूंगा गया । क्रिस्टी शांति से उन्हें देखता हूँ । उसे किसी तरह से विचलित हो देना देखकर आर्थर ने भी थोडा अंदाज बदला और फिर अपने मन से बोले तब तक मुझे लगता है कि मैं वापिस कर पूरा हो चुका है । प्रभात भी कह रहे हैं ऐसा क्यों? सब मुझे पागल समझते हैं इसलिए मैंने लाइव छोड दी । मेरा आविष्कर्ता कितना भी अच्छा हूँ कोई से नहीं पूछेगा । दो पल की खामोशी के बाद बोले देखते हैं एक दिन ये सब लोग बच पाएंगे । मुझे सुनने वाले लोग सिंधा नहीं रहेंगे, उन्हें बढना होगा और मैं उन पर हम होगा । जिस तरह आज पहन मुझ पर हस रहे हैं । पर किसे पता था कि प्रोफेसर ने जो कहा मैं आगे जाकर सच होने वाला था । उसके चुभ होने के बाद करती बोला क्योंकि अब चिंता मत करिए । फिर आपसे वादा है कि आप ठीक हो जाएंगे तो यहाँ पर नहीं देगा । अधर मुसकराकर सब कल फिर मिलेंगे । प्रॉफेसर डॉक्टर क्रिस्टीज होने के लिए पलंग पर लिख दिया था । आंखे बंद की तो अठारह मिनट का चेहरा सामने आ गया । डॉक्टर मुझे लगता है कि मेरा आविष्कार पूरा किया क्या वाकई प्रोफेसर के पास पैसा हर एक काम करने लायक क्षमता है? नहीं वह सब तक तो नहीं उसका पति ॅ टीसीआई ॅ क्या ये मामला वही है जो आंखों से दिख रहा है? हाँ, कुछ और क्रिस्टी का दिमाग दौड रहा था । पांच के जैकब से उसे अभी भी शक था कि प्रॉफेसर भाग गई पागल है जा रही है । ऍम दोस्त पे काम करता था । उसने शाम को उसे फोन किया था । उसने बताया अगर पहले तो एकदम ठीक था ऍम की हो गया था । उनके जैसा दिमाग में किसी के पास नहीं था । लैब छोडने से पहले बहुत चीजें तोडने फोडने लगा था । अपने सहायकों को मारता पिटता और लोगों को भक्ति पति का लिया था । आप छोडकर बहकर आ गया और अपनी प्राइवेट लाइफ में काम करने लगा । जहाँ तक समझ जाता है असर अकेले में खुश रहने वाले इंसान थे । काफी वैज्ञानिक ऐसे ही होते हैं । फिर वह इस हालत में कैसे पहुंच गए? क्या जरूरत बहुत ज्यादा काम से या फिर उन्हें पागल होने के लिए मजबूर कर दिया गया । कृष्टि मन कर रहा है से आदमियों के बारे में ऐसी बातें क्यों कर रहे थे? हो सकता है मैं ही हूँ मैं कुछ सारा ही सोच रहा हूँ करुँगी बात करके शायद कुछ पता चलेगा क्रिस्टीना होने के लिए करबट बदली पर तभी उनकी घंटे बचने लगी हूँ । डॉक्टर क्रिस्टिनी अर्थर की आप पास तुरंत पहचान ली । ऍम क्या हूँ? मैं पागल नहीं हूं मुझे तुम्हारी मदद की जरूरत है । तप्राय होते हैं, पहचानता हूँ ऍम हम कल मिल रहे हैं ना नहीं अभी ऍम मैं आपको काफी कुछ बताऊंगा । मुझे मुझे सच में पता चाहिए कहकर उसने फोन कर दिया । गस्ती को ये मामला पडा ही । पेचीदा लगा । शायद और कोई होता तो क्या उसे पागलपन का दौरा समझकर डालते था और उसे तो लग रहा था कि आधार इसमें पागल है की नहीं और वाकई किसी मुसीबत में हैं । दस मिनट बाद उसके कार ऍम स्मिथ के घर की तरफ जा रही थी

जोकर जासूस भाग - 02

लाभ की वर्ष पर प्रोफेसर अॅधेरे पडा हुआ था । ऍम क्रिस्टी उसकी हालत देखकर तोडकर उसके पास पहुंचा । उसने झुककर उसकी फॅमिली उसके आंखे फैल करेंगे । छेत्र मार के पर तभी उसकी नजर आर्थर के पास बडी फाइल पर गई । उसके ऊपर बडा बडा लिखा था माडॅल जैसे ही क्रिस्टीने फाइल उठाई उनकी घंटे बचने लगी । महम बुरी तरह से हडबडाया गया । फिर खुद को संयमित करते हुए उसने रिसीवर उठा लिया । हलो कॉल दूसरी तरफ से पूछा गया मैं डॉक्टर क्रिस्टी उसके मुँह ही निकल गया हूँ । डॉक्टर मैं डायमंड बोल रहा हूँ पर आप कैसे ऍम? मुझे तो प्रॉफेसर ने बुलाया था पर पर वह क्या वो डॉक्टर सब ठीक है । ऍम मर चुके हैं । बहुत डॅान डायमंड तो मैं तुरंत यहाँ पहुंचना होगा । मैं पांच मिनट पहुंचता हूँ । आप वही रुकिए । क्रिस्टिने रिसीवर रख दिया और अंतर की लाश को घोरने लगा । मैं बीमार था । डॉक्टर आप मुझे ठीक नहीं कर पाए । उसे लगा आर्थर की आत्मा से कह रही है अगर लाश के पास खडा रहा तो मुझे साथ वाला जाएगा । उसने सोचा फिर फाइल उठाकर बाहर लॉन में आ गया । उसने बडी उत्सुकता के साथ फाइल खुली है । जैसे जैसे पहले पन्ने पलट में लगा उसे यकीन होता चला गया कि अर्थर वाकई पागल था । करीब पांच मिनट बाद टूर्नामेंट के कार्य घर के सामने रुकी । तहत दौडता हुआ अंदर आया ये ये सब कैसे हुआ? डॉक्टर लाश को देखकर वह ठीक पडा । पता रहे मुझे प्रोफेसर में फोन करके क्या बुलाया था । पहुंचा तो उन्हें इसी अवस्था में पाया । शायद इनकी मौत दिल का दौरा पडने से हुई है । फोन किस लिए ये कह रहे थे कि रह साबित कर रहा है कि ये पागल नहीं है हो । उन्होंने एक हिंदी पहले मुझे भी फोन किया था । तब मैं घर पर नहीं था । घर पहुंचते ही मैंने फोन किया जिसे आपने उठाया । मुझे क्या उसकी नजर फाइल पर गई । ये फाइल उनके नजदीक पडी हुई थी । डायमंड, फाइनली और तेजी से उसके पन्ने पालक में लगा । अंत में दुखी स्वर्ग में बोला संकल्प वाकई पूरी तरह पागल हो गए थे । पहला उसको काफी देर तक एक तक देखता रहा । क्रिस्टीने उसका कंधा थपथपाया और कहाँ हमें पुलिस को बुलाना चाहिए । टाइम ने धीरे से हमें सर हिलाया और फोन का रिसीवर उठाया । फिर एकदम से रुक गया और बोला डॉक्टर आप ये फाइल लेकर चले जाइए । क्यों ये मेरे अंकल की आखिरी निशानी पर पैसे भी । अगर इस फाइल के बारे में सब को पता चल गया तो सब उन पर हम देंगे । मैं नहीं चाहता की लोग मौत के बाद भी इनका मजाक उडा है । आप समझ रहे हैं ना अच्छा तुम ठीक कह रहे हो लेकिन फाइल का मैं क्या करूंगा इसे मैं बाद में आपसे ले लूंगा । अगर यह यहाँ रहेगी तो पुलिस से नहीं छोडेगी । मेरे बारे में पुलिस से क्या कहोगे कह दूंगा की लाश देखकर आपकी तबियत बिगड गई थी । क्रिश थोडा सा हिचकिचाया फिर बोला चलता हूँ उसने फाइनली और पहुँच चला गया । उसे क्या पता था कि वह किस मुसीबत को अपने साथ ले जा रहा है । सुबह कॉलबेल की आवाज में क्रिस्टी कि नहीं तोड दी । दरवाजा खोला तो सामने पुलिस को खडा पाया । उसके सारे नहीं गायब हो गई डॉक्टर क्रिस्टीन पुलिस वाले ने पूछा ऍम आपको हमारे साथ चलना होगा । कुछ देर बाद कस्बे पुलिस स्टेशन में इंस्पेक्टर टोनी के सामने बैठा था । मुझे यहाँ किस लिए लाया गया है? उसने पूछा अभी पता चला है कि कल रात आप प्रॉफेसर आधार स्मिथ के घर पर थे । सही है तो बहन मेरी पेशेंट थे, थे तो नहीं तरीक चौका यानी आप जानते हैं क्या उनकी मौत आपके सामने हुई है? नहीं उन्होंने मुझे फोन करके बुलाया था । जब मैं पहुंचा तो उसे मृत पाया भाई से तो सवाल यह है कि फिर आपके पुलिस को सूचना क्यों नहीं दी है तो तो क्या कॅाल पडा उस से फोन नहीं किया । किसने डाॅ ऑफिसर का भतीजा तो उनके चेहरे पर उलझन भरे भाव आ गए । तभी दरवाजे पर दस्तक कोई काम मिलता है । उसने कहा एक और पुलिस ऑफिसर अंदर आ गया और धोनी की जैस्पर कुछ कागज रखते हुए बोला सर ये फिंगरप्रिंट्स की रिपोर्ट है और दरवाजों पर डॉक्टर क्रिस्टी के प्रिंस भी है । लेकिन टेलीफोन और मेन गेट पर कुछ ऐसे फ्रेंड्स भी है जो डॉक्टर के है ना प्रोफेसर के तो मैं वापस चला गया तो नहीं रिपोर्ट देख रहा था पर क्रिस्टी उसका चेहरा अखिल ये सब क्या हो रहा है? सस्ती फट पडा । आप लोग तो ऐसे तहकीकात कर रहे हैं जैसे कुछ खत्म हो गया हो तो क्या नहीं हुआ है तो उन्होंने उसको गहरी नजरों से देखा । अभी तक पोस्टमार्टम की रिपोर्ट नहीं आई है । क्रिस्टी धोनी को ऐसे देखने लगा जैसे यकीन नहीं हो रहा हूँ की उसके सामने कोई पुलिस ऑफिसर बैठा है । फॅमिली संतुलन खो चुके थे । उनकी उम्र काफी थी । साथ मेरे काफी दवाई ले रहे थे । निश्चित ही उनकी मौत ही वजह से हुई है । क्या आप का गारंटी के साथ कह सकते हैं फॅस बॅाल करवा देता हूँ । धोनी ने उसे खोलते हुए कहा क्रिस्टी से कुछ कहते नहीं बना । पैसे भी उनका पूरा कर पूरी तरह से बिखरा पडा था । सस्ती चौका । उसे याद आया कि उसके सामने तो सब ठीक था । मैं बताता हूँ डॉक्टर बहुत क्या हुआ होगा? अपराधी अच्छी तरह से जानता था कि प्रोफेसर स्मिथ पागल अपना मानसिक संतुलन खो चुके थे । उसे ये भी पता था कि उनकी हालत काफी नाजुक है । यानी कोई भी कहना सदमा उन्हें खत्म कर सकता है । अपराधी ने इस बात का फायदा उठाया और उनके घर पहुंचकर शायद डराया धमकाया । ऍफ हो गया । उसके बाद अपराधी ने आराम से जो ढूँढना था धोना उसे शायद पहली चीज मिल गई, क्या नहीं मिली और बहस चला गया हूँ । उसने सर मटकाते हुए उस की तरफ देखा । आप अपराधी की जगह खुद को रखकर देखिए कहानी और भी साफ हो जाएगी । बकवास । क्रिस्टी को कोस आ गया । तुमने मुझे समझ कर रखा है मैं डॉक्टर आप बताइए आपने पुलिस को क्यों नहीं बुलाया? मेरे वहाँ पहुंचने के बाद टाइमिंग का फोन आया था तो मैंने उसे बुलाया हो रहा है । उस वक्त तक वहाँ कोई उथलपुथल नहीं हुई थी । लाश देखने के बाद मेरी तबियत बिगडने लगी थी । टाइम ने कहा मैं घर चला जाऊं, पुलिस को पहन फॉर्म कर देगा । क्रिस्टिने ध्यान से फाइल वाली बात छिपा ली पर पुलिस नहीं बुलाई गई । पुलिस को बुलाया । सुबह अखबार वाले नहीं । उसने केट लाइट जलती देखी । दरवाजा खुला पडा देखा इसलिए मैं अंदर आ गया । फिर उसने लाश देगी और पुलिस को कॉल किया । वो आॅफिसर के पास आपका विजिटिंग कार्ड मिला और अब फिंगरप्रिंट्स पे मिल गए साहिर है । मैं वहाँ था और वह मेरे पेशेंट थे तो मैंने खुद विजिटिंग कार्ड दिया था । धोनी कुछ देर चुप चाप से घूमता रहा । फिर बोला ऍम को कब से जानते हैं? परसों है मुझ से मिला था । उसी ने मुझे प्रोफेसर का इलाज करने के लिए कहा था । ऍम स्टोरी में अब बदलाव आ गया है । अपराधी की जगह आप और टाइम दोनों को रखा जा सकता है क्या? नहीं तो उन्होंने मिलकर एक मिनट कॅश होगा । जब मान लिया कि मैं अपराधियों अगर मुझे ये सब करना ही था तो वहाँ अपने फिंगरप्रिंट्स क्यों छोडा? पूरी रात पडी थी । मैं आराम से सारा काम करता हूँ । फिर पुलिस को भी बुला लेता । कुछ पर कोई शक नहीं करता हूँ । बोलो तुम क्या मुझे इतना मूर्ख समझते हो? नहीं तब तो मैं आपको प्रतिमान करूंगा । अपने अपने फिंगरप्रिंट्स ये जताने के लिए छोडे की आप जरूरत से ज्यादा बोले हैं । आपने कुछ नहीं किया । अब टाइम से क्यों नहीं पूछ लेते? ॅ बिल्कुल कुछ होगा । उसका नंबर दीजिए । मेरे पास नहीं है तो ऑफिसर के पास होना चाहिए । जी नहीं वापस घर की जेब से जो डायरी मिली है उसमें सिर्फ दो नंबर है ऍम और आपका क्लाॅज कर रहे क्या? इस बीच पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आ गए । ऍसे ही हुई थी । इसके अलावा शक करने वाली कोई बात नहीं तो नहीं रिपोर्ट देखी । राधा की कमरे में एक और ऑफिसर आ गया । उसने तो उन्हीं को इशारे से बुलाया और फिर फुसफुसाकर कहा तो डॉक्टर क्रिस्टी को के पकडना आए हो पूछताछ के लिए किससे पूछकर ऍम तुम खुद नौकरी से जाओ और मेरी भी खर्चा हो गया । भारतीय घंटे में मजिस्ट्रेट दौरे बना रहा है । इसके चलते रख सकते करो क्योंकि करता हूँ जहानी लोगे क्या फन टोनी ने पलट कर कंट्री से कहा डॉक्टर आप जा सकते हैं । कृष्टि राहत की सांस लेकर वहाँ से निकल गया । क्रिस्टी के बाहर निकलते ही तहत दूसरा ऑफिसर तो नी पर्पस पडा । तुम पागल हो गए हो गया अपने समझा माॅस् के पास से डायरी मिलते ही तुम्हें हवलदार को कहाँ दौडा दिया था तो उन्होंने सिगरेट सुलगाई और उठकर अपनी ॅ होने पर बैठ गया तो आप होते हुए है बोला ऍम तो क्रिस्टी का नाम देखते तो क्या करते हैं? ठीक है मैं मानता हूँ तेर समय हमें कुश्ती से पूछताछ करनी ही थी । पर कम से कम कमिश्नर को बताना चाहिए था तो वहाँ खडे क्या कर रहे थे? कमिश्नर से बात नहीं कर सकते थे । हाँ, मैं भी बहुत खडा भजन नहीं जा रहा था । मैंने कमिश्नर को बता दिया था की लाश के पास से टायरी में दो नंबर मिले हैं और डॉक्टर क्रिस्टे का । उन्होंने कहा कि उसकी काफी रुपए वाला डॉक्टर है, उसे फॅमिली जानते हैं और उसे यहाँ नहीं लाया जाएगा । तो क्या फाइव स्टार होटल के बारे में पूछताछ की जाएगी तो नहीं । गुस्से से बोला तो समझते क्यों नहीं? बडे बडे अफसर और उनकी किसकी हुई पीडियां उसी से इलाज करवाती है । यह कोई मामूली डॉक्टर नहीं है । यहाँ तक कि मैंने सुना है कि आपने कमिश्नर की बीवी भी उसकी पेशेंट है तो नहीं नहीं वो बनाते हुए कशमला तो भाई बडे हो गया । बडे डॉक्टरों के पास ही जाएंगे हमारे लिए तो मैं साला सरकारी डॉक्टर क्या मुझे तो खुद साइको लगता है । तुमने देखा है तो रंग के मुझे पहले है क्रेटों ने जैसे उसकी बात सुन नहीं रहे । मैं परेशान दिख रहा था । कमिश्नर ने बोला था क्रिस्टी से जो भी पूछताछ करनी है उसके घर में ही की जाए । उसे पता लगा तो क्या मैं बदल नहीं हो सकता । धोनी ने उसके बाद काटी । हो सकता है बट धोनी कितने पेशेंट देखता है । जाहिर है होम विजिट भी करनी पडती होगी और एक पागल पूरे वैज्ञानिको हार्ट अटैक खाना कौनसी रहस्यमय बात है । मानव पर उसके घर में हुई उथल पुथल की वजह वहाँ पर कुछ खुलने की कोशिश की गई है और हम डॉक्टर ऑॅफिसर के अलावा एक और व्यक्ति के फॅमिली है । हो सकता है डॉक्टर के जाने के बाद घर खुला देखकर को छोडा गया हूँ तो उस ने का कहना है कि टाइम नाम का एक टीसीआई एजेंट को हराया था प्रोफेसर का भतीजा है और वही उनका इलाज करवा रहा था । क्रेटों ने एक तक टोनी को देखा । फिर फोन की तरफ थोडी अपनी सिगरेट को देखने लगा क्योंकि फिल्टर तक चल चुकी थी । उसमें उसमें से एक तो काशी लगाए थे । उसने पैकेट से दूसरे सिगरेट निकालकर जलाली फोन पर किसी से बात करने के बाद क्रेटों बोला कृस्टिन दूध का धुला ही मालूम पडता है । बीसीआई में डायमंड नाम का एक एजेंट है और उसके रिश्तेदारों के लिस्ट में तो ऑफिसर आर्थर स्मिथ का नाम भी है । पिछले तीन दिनों से गायब है तो उनकी नीली आंखें चमक उठीं । उसने पूछा और उसका पता वो नंबर कुछ है । ये सब फोन पर रही बताएंगे । तुम जानते हो कमिश्नर से लिखना पडेगा । टाइगर क्रेटों ने अपनी क्या आप लगाई और खडा हो गया । डी । सी । आई । के मुख्यालय से उन्हें डायमंड का पता और फोन नंबर मिल गया । पर टीसीआई का चीफ खुश नहीं था । उसने उन्हें चेतावनी दी थी कि बिना किसी ठोस सबूत के टाइम का नाम मीडिया तक नहीं पहुंचना चाहिए । मैं भी उसकी तलाश कर रहे थे और उसका पुराना रिकॉर्ड अच्छा था । वहाँ से निकलकर क्रेटों ने पूछा, अब क्या करें? घटना गया उसे हम लोगों से बेहतर ये खुद ढूंढ सकते हैं । कमिश्नर भी यही कहेगा कि इन के काम में दखल रहे । पर बात साफ हो रही है । सब टाइमिंग का ही किया कराया लग रहा है तो उसने जानबूझ कर पुलिस को फोन नहीं किया । खस्ती को वहाँ से चलता करके खुद घर में उथल पुथल मचाई । पर मैं अपने अंकल के साथ ऐसा क्यों करेगा? इसका जवाब तो खुद ही दे सकता है । फॅस हमें मिल गए हैं । उन्हें मैच कर लेते हैं कि वाकई बाॅडी था या कोई और । दोनों वापस पुलिस स्टेशन की ओर चलती है । क्रिस्टी को घर तक छोडने वही हवलदार गया था जो से लाया था तो काफी परेशान था । उसके दिमाग में सवालों का जाल बुनता जा रहा था । डायमंड ने आखिर पाॅप क्यों नहीं किया? नहीं, वह कोई सॉफ्ट तो नहीं था । प्रोफेसर के घर में ऐसा किया था जैसे थोडा गया । कुछ देर में विज्ञप्ति के घर पहुंच गए । वहां पहुंचने ही दोनों चौके उसके घर का दरवाजा खुला पडा था । क्रिस्टी दौड कर अंदर पहुंचा मिलता है उसके पीछे ये ये कैसे सस्ती हाथ बढाया । क्या आप के टॉप करना भूल गए थे? तो हर एक और नहीं तो क्या था? अंदर पूरे घर का सामान खुल जा पडा था । बगदाद में अपनी का निकली और ध्यान से अंदर के कमरे की तरफ बढ गया । कृष्टि हैरानी से चारों तरफ देख रहा था । पलदार में पूरा घर देखा जब बहस संतुष्ट हो गया कि वहाँ कोई नहीं है तब वापस क्रिस्टी के पास पहुंचा और बोला मैंने वायरलेस पर रिपोर्ट कर दिया है । लगता है कुछ छोड था ये तो मुझे भी पता चल रहा है । क्रिस्टी झल्लाए हुए सफर में बोला । कल रात से होने वाली घटनाओं ने उसे धक्का दिया था । वहां बैठ के एक कोने में बैठ गया । खबरदार तेजी से बाहर निकल गया । उसे उम्मीद थी कि शायद जोर आस पास मिल जाए । क्रिस्टीने खुद को संभाला फिर उठकर घर में घूमने लगा । उसके अलमारी अभी भी लॉक थी यानी कोई खास नुकसान नहीं हुआ था । उधर से पुलिस का सामना करने के बारे में सोचते ही उसके मुझे काली निकल आई । अचानक से याद आया ऍसे फाइल ले जाने को कहा था । उसके दिमाग में समर्थ विचार कौन था? पुलिस वहाँ फाइल पर हमद कर लेगी और फिर उससे पूछा जाएगा कि वह इसे यहाँ क्यों लाया होने लगेगा । मैं उसे चुराकर लाया हूँ । उन्हें कैसे यकीन दिलाऊंगा कि बस अब टाइम के कहने पर किया था । उत्तर फाइल बैठके करने के नीचे रखी थी । उसने तुरंत करता उठाया, पर वह कुछ नहीं था । उसकी पहुँच जाएगी । फिर उसने चारों कोनों में कपडा उठाकर थोडा पर फाइल वहाँ नहीं थी । करते । सोचा ऍम यहाँ आकर फाइल ले गया । उसे उसके शब्द याद आ गए । इसे मैं बाद में आपसे ले लूंगा । अगर यहाँ रहेगी तो पुलिस नहीं छोडेगी । क्रिस्टी के चेहरे से तनाव कम हो गया, जैसे उसे सब कुछ पता चल गया हूँ । मैं अब इत्मीनान से बहुत पहले लगा । कुछ देर बाद इंस्पेक्टर टोनी और क्राॅस के साथ वहाँ पहुंच गए । सब अपने काम में लग गए । कृष्टि बाहर लॉन में टहलने लगा । उसने उन्हें फाइल परिवार भी पिंजरे बता दी थी । टोमॅटो छानबीन करने के बाद उसके बाद पहुंचे तो उन्होंने पूछा डॉक्टर क्या आप और है कि वह फाइल आपने वही रखी थी? शो कृष्ण अपने उम्र दिखाई दे रहा था । उसके चेहरे पर सुबह के वक्त जैसे आतंकी भाव नहीं थे । अपनी के बाद पूछे सुबह क्यों नहीं बताई? मुझे ध्यान नहीं था । मुझे क्या पता था कि उस फाइल की कुछ अहमियत है और शायद इसी फाइल के लिए ये सब हंगामा हो रहा है । मैंने तो बस इतना सोचा कि आपने पेशेंट को अगर दुनिया भर के शर्मिंदगी से पचास को तो शायद उसके आत्मा को शांति मिले । डॉक्टर बात ठीक है पर क्राइम सीन से एविडेंस उठाना गलत है । अगर आप कल रात को ही पुलिस को इन्फॉर्म कर देते हैं तो ये सब पकडा नहीं होता है । तो क्या मैं इन सब का जिम्मेदार हूँ? गस्ती तेज पर में बोला तो हम लोग क्या करने के लिए होगा? डायमंड का पता लगा हूँ । मेरे घर में चोरी हुई है । चोर को पकडो । तुम तो मेरे ही पीछे पड गए हो तो नहीं चुप हो गया । कुछ देर शांति रही फिर कृष्टि अपने गुस्से को शांत करके बोला । ऍम सर्कल से हो रहे इस हंगामे ने दिखाते वहाँ खिला दिया है । पर मैंने तुमसे कोई छोटे ही बोला है । मुझे यकीन हो गया है । फाइल में कुछ खास था । टाइम नहीं उसे चुराया है । शायद देखते हैं आपके घर से क्या क्यों मिलते हैं? उस फाइल में ऐसा क्या हो सकता है । क्रेटों ने अचानक कहा कुछ तो होगा ही तो नहीं बोला । डॉक्टर का कहना है उसका टाइटल मई बहुत था और अंदर गाने लिखे हुए थे । ठीक कहा । क्रिस्टी बोला ऍम और उसकी खासियत रेडियोएक्टिविटी में थी । लेकिन उस फाइल के अंदर कोई साइंटिफिक बात इतने सब नहीं आई थी तो नहीं की शक से भरी नजरे अभी भी क्रिस्टी को दौड रही थी । मैं बोला पूछना नहीं चाहिए । पर डॉक्टर क्योंकि बात मर्डर की है इसलिए चाहता हूँ कि आप ऍसे क्लिनिक में हुई बातों का रिकॉर्ड हमें देते हैं । कोई दिक्कत नहीं है । मैं तो ये ऍम इसके खिलाफ है पर इस परिस्थिति में तुम्हारी पूरी मदद करूंगा । फॅमिली जाएंगे । फॅमिली के साथ उसके क्लीनिक चला गया तो नहीं । पापा तो उसके घर की तहकीकात में लग गया । चोर ने कोई फिंगरप्रिंट्स नहीं छोडे थे और कोई सबूत भी नहीं मिला था । तब जूतों के निशान थे । चोर आठ नंबर के जूते पहनता था । चौदह मंचल के इमारत के पिछले हिस्से की तरफ बरसाती भाई था । एक काली आकृति अंधेरे में उस पाइप को पकडकर धीरे धीरे ऊपर खिसक रही थी । उसका शरीर लंबा और पतला था । बदल काले कपडों से ढका हुआ था । हाथों में स्किन कलर के दस्तावेज हैं । सातवीं मंजिल की खिडकी पर पहुंचकर तो उसने एक पांच नीचे देखा । उस ऊंचाई से करने का सिर्फ एक ही अंजान था । बहुत बस नीचे देखते हुए उसके चेहरे पर एक शरारती मुस्कान आ गई । पति भर भी भाई नहीं था । उसके चेहरे पर पाइप छोडकर बाहर खिडकी बनाया गया । खिडकी पर खडे होने के लिए मात्र दो इंच की जगह थी, जिसपर वह किसी तरह से जूते दिखाकर पहुँच गया । उसने जेब से एक अनोखा अच्छा को निकाला जिसके मूट पारदर्शी थी और फिर उसमें कुछ तरल पदार्थ भरा दिख रहा था । उसने चाकू की धार क्रिल पर रखी और फिर मोट में लगा एक बटन दबाया जिससे बूट में भरा पदार्थ चाकू के लोग से ग्रिल पर निकलने लगा । अगर एकता मक्खन की तरह कट भी चली गई कटी हुई कल फिर की के ऊपर रखने के बाद उसने खिडकी के पट को धीरे से धक्का दिया । खुल गया अच्छा भले ऐसे काटने का एक और काम करना पडता है । उसने सोचा बिना कोई ध्वनि पैदा किए बहक खिडकी से कूदकर उस अंधेरे कमरे में आ गया । कमरा छोटा सा था और उसमें उसे बाई तरफ दरवाजा दिखाई दिया । इससे पहले कि वह कुछ सोचता दरवाजे की तरफ से चहलकदमी की आवाज आई । मैं तुरंत एक अलमारी की कोर्ट में छिप गया । दरवाजा खुला और जूतों की आवाज के साथ वहाँ एक व्यक्ति आ गया । खुली खिडकी ने उसका ध्यान आकर्षित किया । बहुत खिडकी की तरफ पडा ही था की अलमारी से निकलकर काली आकृति ने उस पर हमला कर दिया । उसने चपट करे खाते उसके ऊपर रखा और दूसरे से रिवाल्वर की लाल उसके सिर पर दिखाई चलाना । मतलब टॉस के कान में फुसफुसाया तो मैं भरने का मूड नहीं है पर फॉलो के तो जरूर हूँ । मैं कुछ नहीं बोला । उसने हाथ ऊपर कर ली है । उनको तो अच्छे बच्चे हो बाहर का देखा हूँ । तुम चोर हो उससे पूछ रहा हूँ हुआ अच्छा बच्चा समझदार भी मुल्ला राजा खिडकी के रास्ते दोषी लोग आते हैं एक चोर तो दूसरा कबूतर पर मेरे तो पंख लगे नहीं मैं तो मैं जानता हूँ । अच्छा तो जो करूँ एक पल के लिए । बहन लंबा व्यक्ति चौंक गया करता हूँ पीछे चलते हुए खतरनाक ढंग से बोला धत्ता तो बच्चे बच्चे नहीं हो मुन्ना शायद बेहतर अगर तब आने वाला ही धान । इस बात का अहसास होते ही दूसरा व्यक्ति जल्दी से बोला तो ऍम अच्छा अपना कोर्ट बताऊँ कौन से महीने का पिछले महीने ऍम और इस महीने तेल का था । डिमांड हो गया जो करने चौंककर उसे अपनी तरफ कमाया उसके चेहरे को गौर से देखा फिर थी जैसे हस दिया पर हो यार, तुम तो फॅमिली ही हो, अभी तो मैं थोडा ही दिया था पर तुम यहाँ क्या कर रहे हो? ये सवाल तो तुम पर भी लागू होता है । वह कमर पर हाथ रखकर बोला मेरे मामा का घर है, घूमी हूँ फिर क्या करें? मामा खराटे मार्कर हो रहा है । दरवाजा ही नहीं खोल रहा था । मुझे छुपाने से क्या फायदा । मैं तो तुम्हारा साथ ही एजेंटो । हाथी मेरे साथी है जो करने स्टाइल से नेपाल पर उंगली में नहीं आया तो भागे हुए एजेंटो इसलिए मैं मजबूरी में भागता हूँ । देख भाई मेरे पास मेरी मजबूरियाँ सुनने का वक्त नहीं चीज का ऑर्डर है की तो मैं पकड लिया जाए, अपनी कहानियों से ही चलाना । और हम जरूरी बात ये है कि कल तक अगर तुम चीज से नहीं मिलेगा तो तुम्हारे लिए शूटआॅफ ऑर्डर जारी हो जाएगा । मुझे डरा रहे हो । नहीं भाई, खुद डाॅॅ एक मेरी टांगे भी कहाँ पर है? डायमंड ना चाहते हुए भी पल भर के लिए उसकी टांगों की तरफ देखा और उसी पल जो करने खींच कर एक होता उसके ऊपर चढ दिया । डॅालर्स पर गिर गया जोकर उसके ऊपर सवार हो गया और बोला डाॅ अब ये बताइए कि फेट के लिए कब से काम कर रहे हो । ऐसा कुछ भी नहीं है । उसने गंभीरता के साथ कहा तुम अपने अंकल को मार कर भाग गया हूँ । सारी दुनिया जानती है और फाइल चुराकर पेदल को पेट चुके हो, यह मैं जानता हूँ । क्या कीमत मिली है? फाइल की मेरे अंकल को नहीं है । ये सब मेरे और अंकल के खिलाफ साजिश है । ठीक है मान लिया पर फाइल कितने की बेची? टाइम कुछ नहीं बोला । बता दो यार नहीं बताओगे, ठीक है तुम सब कुछ चीज के सामने ही बोल रहे हैं तो देखो जो करेंगे अपने साथ ही जिन पर भरोसा करना चाहिए कैसा? बाइबल में लिखा है यकीन मानो मुझे तो ये भी नहीं पता था तो उस फाइल की कोई अहमियत दी है । यकीन कर लेता हूँ । तुम सिर्फ इतना बता दूँ कि कपिल की रात तो पुलिस को क्यों नहीं बुलाया था । मुझे क्या पता था कि बहुत खत्म है तो उसे सामान्य मौत समझ रहा था । उसके बाद अचानक ही हो गया था । जब होश आया तो खुद को फेटल के आदमियों से गिरा पाया । मैं आइडिया अच्छा जो करे उसे टोका क्या जो करने झट से रिवॉल्वर का हत्था उसके सर पर दे मारा । टाइमिंग बेहोश हो गया । तुम पे हो जाता हूँ मुझको मेरा खान करने तो जोकर फडफडाया । फिर उसने उसे खींचकर बैठ के नीचे डाल दिया । उसके बाद उसने कमरे की तलाशी ली । वहाँ कुछ ना मिलने पर वह बाथरूम की तरफ पड गया । बातों में पहुंचकर जो करने अपने दस्ताने और काले कपडे उतारकर रौशनदान से बाहर भेज दिए । उसके नीचे बहुत शानदार डिनर सूट पहले हुए था । उसने शीशे में देखकर टाइप ही की । फिर खुद को ही आंख मारकर बाहर निकल आया । कमरे का दरवाजा खोलकर फॅमिली में हो गया । ऍर करके वह एक विशालकाय हॉल में पहुंचा हूँ जैसा उसने सोचा था । ऐसा ही नजारा देखने को मिला । हॉल में पार्टी चल रही थी । महफिल जमी हुई थी । रौशनी मध्यम थी । सभी तरह के लोग थे । वहाँ अधिकतर लोग महंगी शराब के नशे में धुत्त कुछ जोडे संगीत की धुन पर नाच रहे थे । कुछ लोग अलग अलग ग्रुप में बातें कर रहे थे । किसी ने भी जोकर पर ध्यान नहीं दिया । जो करुँगी उम्मीद थी उसने खूबसूरत एक्ट्रेस को इशारा किया । ऍसे भरी थोडे लेकर उसके पास आ गई । होकर के चेहरे पर कामुक मुस्कान थी । उसने ट्रिक लेते हुए एड्रेस से कहा डांस करोगी सर, मैं जाॅन आप सर, मैं यहाँ कैसे डांस कर सकती हूँ । ठीक है यहाँ नहीं तो मेरे रूम में चलेंगे कहकर जो करने एक आंख, तब आदि उसमें कुछ के साथ जो कर को देखा फिर एक तरह पढाते हो चली गई । कमीना ऍम जोकर हस्कर ड्रिंक पीने लगा । आपको से अभी यकीन हो गया था कि वह यहाँ किसी की निगाह में नहीं है । उसके चारों तरफ नजर दौडाई भर टहलते हुए एक कोने में आ गया, जहाँ एक डस्टबिन रखा था । उसने अपनी जेब से कुछ निकाला और दस दिन में डाल दिया । फिर मैं आराम से टहलते हुए वहाँ से हटा और ऑर्केस्ट्रा के पास पहुंचा । वहाँ एक गायक गाना गा रहा था अचानक की जो कर रहे चपट कर उसके हाथ से माइक छीन लिया । इससे पहले की वह कुछ समझ पाता जो करवाई पर चलाया हॉल में बम है सब अपनी जान बचाओ भागों । हाल में एकदम से सन्नाटा छा गया । कोई अपनी जगह से नहीं खेला । सब हैरानी से जोकर को दिखाए थे, जो करने चुपके से अपनी जेब में रख एक रिमोट का बटन दबा दिया तो वहाँ का दस दिन में एक भयंकर विस्फोट हुआ और आस पास खडे चार लोग उछलकर दूर जा गिरे और कल आपने लगे और अब सारे हॉल में भगदड मच गई । सभी ब्लैंकेट की तरफ भाग रहे थे । जिस तरह फॅमिली जोकर एक कोने में खडा होकर ध्यान से लोगों को देख रहा था, जैसे किसी को ढूंढ रहा हूँ । फिर से तो लम्बे चौडे काले आदमी मेन गेट के फेवरेट एक कमरे की तरफ जाते हुए दिखाई दिए जो करके पीछे लग गया । कमरे में पहुंचकर उनमें से एक आदमी पाँच पर चुके हैं । दूसरा बोल रहा था वो जल्दी करो मुझे क्या हम मरना नहीं है । चिल्ला मत तू अकेला नहीं है । मैं फर्श की टाइल्स निकाल चुका था । टाइम्स के नीचे एक करना था जिसमें एक बैग था । उसने बैंक निकाल लिया । गुड अब अच्छा बच्चों की तरह लायक मुझको दे दो और उनका पंजाब जो करने का तो दोनों चौक कर पढते हैं । जोकर रिवॉल्वर ताने खडा था । होने दो । बैठक में लिया । उसने पूछा दोनों ही बराबर के खूंखार और पैसे लग रहे थे । दूसरे ने तो तुरंत जोकर पर फायर भी कर दिया जो खत्म बढ के कुंडे की तरह हवा में उछाला और उसका बॉलवर्ड करा जुटा । जब तक उसके पास जमीन पर आए दोनों काले आदमी गाडी खून बहाते हुए ढेर हो चुके थे । जो करने पैक उठाया । अंदर फाइल रखी हुई थी । से देखकर उसके होठों पर शरारती मुस्कान हाँ तुम्हारी थ्योरी मुझे दमदार लग रही है । टेबल पर पेपर वेट ना चाहते हुए क्रेटों ने कहा टाइमिंग प्रोफेसर का एकमात्र रिश्तेदार था । अगर प्रोफेसर किसी महत्वपूर्ण काम में लगा था तो उसे इसकी जानकारी जरूर रही होगी । फिर मैं उसके काम के पूरा होने का इंतजार कर रहा होगा । जब उसे पता चला कि वहाँ कम हो गया है, तब उसने सोचा कि आप दुनिया को ऑफिशियल ढंग से बता दिया जाए । प्रोफेसर पागल है ठीक धोनी की लिया के जमा कोठी । इसलिए मैं उन्हें डॉक्टर क्रिस्टी के पास ले गया ताकि फिर उनके मरने पर लोग क्षतमा करेगा । उसी ने प्रोफेसर से जोर जबरदस्ती करके फाइल ले ली होगी । और शायद इस दौरान प्रॉफेसर की सदमे से मौत हो गई होगी कि उनका अपना भतीजा उनके साथ ऐसा कर रहा है । उसके बाद डायमंड वहाँ कोई पालतू फाइल डालकर भाग गया होगा । सही लग रहा है बात में मैं फोन करके देखा होगा कि वहां पुलिस पहुंची की नहीं, पुलिस होती दोपहर उन्हें बस फोन पर ही अपना नाटक दिखा देता था । पर वहाँ सस्ती पहुंच गया । फिर वहाँ उथलपुथल किसने बताया? क्रिस्टी के जाने के बाद टाइम नहीं की होगी । क्षमता से किसी भी चीज की तलाश रही हो । क्रेटों गहरी सोच में था । हम यहाँ इस तरह बैठे नहीं रह सकते हैं तो नहीं बेचा नहीं के साथ खडा हो गया । मुझे धर्मन चाहिए । बहुत उतनी छोटी नहीं है । कितना हमारे ऊपरी अब सर फोड रहे । क्या पता बहस हम चाहते हो और बात तब आ रहे हो । कुछ भी हो सकता है । मुझे तो लगता है कि फाइल लेकर टाइमिंग देश से बाहर निकलने की फिराक में होगा । सभी लोग आधा किस्मत को पागल समझकर सोची नहीं रहे हैं कि उसने कोई आविष्कार किया है । सोचो करता है विदेशी ढाका तो कि आतंकवादियों के हाथ लग गया तो हमारे देश का कितना नुकसान होगा । तुम्हारी पांच सुनकर अच्छा कटोरी टोमॅटो ने छोड कर दरवाजे की तरफ देखा । उपरोक्त भाग के बोलने वाला जमता पतला शख्स वहाँ बनाता अंडाकार को राजहरा पहनी नजरे और होठों पर मुस्कान दोनों से जानते थे । मैं जो करता था उसने आगे बढकर दोनों से हाथ मिलाया । बहुत दिनों बाद दिखाए होकर तो नहीं बोला क्या बात पार्टी दीगर क्रेटों ने उसके सूट को देखते हुए पूछा पार्टी में मेरे जैसे लोग भी कभी कभी हुआ है । कुछ को पता चला है कि आधा किस्मत के काबिल पर तो लोग ही काम कर रहे हैं तो मानते हो ये खत्म है । तो उन्होंने तुरंत पूछा खत्म नहीं होता तो तुम लोग अब तक इसमें दिमाग नहीं खबर रहे होते हैं । समय तो लगता है कि कादल मेरी ही एजेंसी से है जो करने क्रेटों की बात खुद पूरी की तो मुझे भी जानते होगे की बहन टाइम ही है पास उसे तो मैं तुम लोगों को व्यक्त करने वाला था पर उसके पता नहीं कब पंख लग गए और मैं उठ गया । मतलब कहाँ रहे हैं? धोनी चीख पडा । फाॅग्सी हार जो करने तो नहीं हो रहा है । मैं होटल मिंक में मेरी पकड में आ गया था पर भाग निकला तो कहाँ भगा होगा क्या? तो मैं भी उस पर शक था । होने की कोई वजह नहीं । मुझे समझा रहा था कि उसे प्रोफेसर के खत्म वाली रात बेहोश कर दिया गया था । जाहिर है महम गप मार रहा था । मैंने उसे बेहोश करके बांदिया पर मैं भारत निकला । ये तो पूरा यकीन है कि वहाँ पे डाल से मिला हुआ है । धोनी ने तुरंत वायरलेस पर होटल बैंक के इलाके में सोच के निर्देश दे दिए । तभी जोकर की जेब से बीपी आपकी आवाज आने लगे, जो करने ट्रांसमीटर जेब से निकाला और बोला हूँ तेल टाॅपर मिशन रिपोर्ट हूँ । डायमंड मेरे हाथ आया था पर भाग निकला हूँ । पाउं पर मिला हूँ जो काॅप में रखा और टोमॅटो से बोला तुम लोगों से फिर मैं लूंगा हूँ । हूँ तो हमारी मदद का शुक्रिया । रिटों ने कहा ऍम जो करने आंख मारे और तेजी से बाहर निकल गया । फॅस के हाथ आ गई तो उन्होंने कहा चाहे रहते और पहली बात आपने चीज के अलावा किसी को नहीं बताएगा । देरसबेर हमें भी पता चल जाएगा । मुझे लगता है कि ये मामला पहुंच जल्दी खत्म हो जाएगा । तो उन्होंने उठते हुए कहा मैं चाहता तो यही हूँ तो लग नहीं रहा । मारने मुझे जहाँ से मारते हैं, पागलों की तरह चिल्ला रहा था । क्यों सहा नहीं जा रहा है । बेल्ट को हवा में घुमाते हुए बोला डीसीआई का जी जाॅब्स पचास साल से कुछ ज्यादा थी उसकी उम्र तहक मजबूत जिसमें वाला शर्ट था । चौबीस चार साल पहले जल्दबाजी में बीसीसीआई का चीफ नियुक्त हुआ था क्योंकि उससे पहले चीफ की हत्या हो गई थी । जन्नत के मुकाबले कहीं ज्यादा लंबा चौडा किसी जंगली शेर जैसा प्रतीत हो रहा । दूसरा था बात जॅाली पाकिस्तानी आतंकवादी उसके दोनों हाथ रस्सी से छत पर लगे गुंडों से बंदे थे । बदन पर मात्र एक अंडर वियर था । काफी देर से पहले की मार खा रहा था । पीडा का कोई भाव उसके चेहरे पर नहीं था और जब तक बोला तब उसकी आंखे जंगल के राजा की भांति चमक रही थी । काले होठों पर मुस्कान भी होता है तो उस पर ऑफिसर मुझे महार महार करते रहते थे । निकला जा रहा है जनाबे उसकी निडरता देखकर एक बार चौंक गया । क्रूरता के साथ पहले हमारे लगा जान से नहीं मारुंगा ली तो हर तेल धीरे धीरे मारेगा । मुझे खत्म करते ऑफिसर क्योंकि जस्टिन मेरे हाथ खुल गए तो उस दिन मैं नहीं बचेगा । चाॅस मिलेगा । बात चाहूँ से खोलता रहा । आंखों में हिंसा भरी हुई थी । जबडा कैसा हुआ था फसलें खूब फसलें कुछ तो क्या होगा । फिर देखना तरह कुछ लोगों की गर्दन पर तलवार रखकर छोडा कर ले जाएंगे । मुझे मेरे साथ ही है । खुद छोडने जाएगा तो मुझे अभी पूरी हिफाजत के साथ सपने बनते हैं । मेरे साथ थी तो उन का अड्डा तो तो खुद बताएगा । बहुत चर्बी ऍम सब निकाल हुआ ऐसी हालत करूंगा की तरह साथ ही भी तुझे नहीं पहचान पाएंगे । कहकर जलालत दरवाजे के पास खडे दो कांस्टेबल की तरफ पडेगा । उसके इशारे पर उन्होंने बादशाह के पैर बांधने शुरू कर दी है । कुछ देर बाद बादशाह अली उल्टा लटका हुआ था । उसने आंखे बंद कर ली थी । चेहरा भावहीन था । जनाब फिर से बैठ के साथ चालू हो गया । दोनों कांस्टेबल फिर से अपने स्थान पर बहुत बनकर खडे हो गए थे । लगभग दस मिनट बाद पसीने से नहीं आ रहा था । जगह उसने अपनी घडी की तरफ देखा । फिर बादशाह को झिंझोडा । मैं बेहोश हो चुका था । ताल दोहरा सारे को उसकी कोठरी में बोल कर चलाना । वहाँ से कुछ कर गया । जोकर को बैठने का इशारा किया । जाॅन दोनों इस वक्त तैनात के ऑफिस में थे । जेल से अभी अभी वहां पहुंचा था । मैं जोकर हमेशा की तरह मुस्कुरा रहा था । उसके हाथ में एक बैग था । आप की इनफार्मेशन एकदम सही थी सर जो करने पहनते हुए कहा वहाँ पे दाल के खास लोगों की पार्टी चल रही थी । आश्चर्य की बात है कि एक वहाँ शहर के कुछ नामी ब्लॅक आश्चर्य की कोई बात नहीं है । पेटल के मुख्य मेंबर बस उसमें नहीं है । बस को ये साबित नहीं कर सकता कि वह करती है । मुझे पता था कि फाइल नहीं मिलेगी । कुछ और भी मिला था मुझे । कुमार क्या डायमंड वो क्या कर रहा हूँ? चैनल तेज पर में बोला कब का हैं? भाग गया । उसका कहना है कि उसने कुछ नहीं किया । हॉस्पिटल ने उसको पकड रखा था । पर सकता किस तरह से पहलवान घूम रहा था । साहिर हैं । मैं वहाँ उनसे मिला हुआ था । उसको पकडना जरूरी हो गया है । बीसीआई को पत्र काम कर रहा है । वो जनरत करा रहा था । मार पाना भी पड सकता है । ऐसे लेखन के लिए बंदा हमेशा तैयार रहता है । सर जन्नत कुछ शांति से खिडकी के बाहर शून्य में खुलता रहा । फिर बोला पहले मिल गई ये बहुत अच्छा हुआ । तुम्हारा काम काबिले तारीफ है । एक बात पूछना चाहूंगा कुछ नहीं । इस मामूली से फाइल को लेकर सबने मेहनत से आया की है । हमने पुलिस ने और अपराधियों ने भी । ये तुम किस आधार पर बोल रहे हो । इस फिल्म में कुछ भी तो नहीं है । गाने लिख डॉक्टर क्रिस्टी का बयान भी यही है । पर कुछ भी हो कि प्रोफेसर आर्थर स्मिथ की हमारा है और इसकी चोरी और उनकी मृत्यु का साथ में हो ना? संयोग नहीं । मतलब यही है पीटल या टाइम को यकीन था कि आर्थर इसमें किसी महत्वपूर्ण कार्य में लगा हुआ था । इसलिए उनके मारते ही उन लोगों ने उसके घर को छान मारा । हो सकता है उन का कार्य कहीं और सुरक्षित हो । जो भी हो, चोरी किसी फाइल की की हुई है । हमें इन्फॉर्मेशन मिली थी । जोकर कुछ सोचने लगा । सोचते सोचते उसकी मुस्कान गहरी होती चली गई । उसे देखकर चुनाव को खिला हट होने लगी । पैंट आते हुए बोला, तुम जा सकते हो, अगले ऑर्डर का इंतजार करो । जोकर जैसे नीम से जाएगा । उसकी मुस्कान गायब हो गई । तुरंत खडा हो गया हूँ । कहकर मैं चल दिया । अरे रुको जाॅन मैं कहा ले जा रहे हो मुझे फाइल जहाँ छोड कर जाओ उसकी ढंग से निर्भिक जोकर बोला । आधी रात का वक्त है । आई यहाँ सुरक्षित नहीं रहेगी । इसी में अपने पास रखूंगा । जैनट उसकी आंखों में आंखे डालकर बोला पाइप यहाँ सुरक्षित है या नहीं इसकी चिंता मत करो । समझे अब कोई और तथा हो जाओ । कभी हमें हजारों काम करने हैं । वही तो सर मुझको पता है बहुत बिजी रहते हैं । इसलिए फाइल आपसे गुम हो सकती है । बे लोग भी चुप चाप नहीं बैठे होंगे । जब होटल में से चला था तो फिर दाल का एक हाथ में मेरा पीछा कर रहा था । मुझे यकीन है उसके पास खतरनाक हथियार था इसलिए मैं रास्ते में कुछ देर के लिए पुलिस स्टेशन में घुस गया था । अगर वाकई स्पाइल की इतनी अहमियत है तो यहाँ भी हमला कर सकते हैं । होटल में इतना दम नहीं है कि बीसीसीआई के मुख्यालय के पास कदम भी रख सके । कदम भले ही न रखें जो करने उसकी बात गाडी दूर से छोटा मोटा रॉकेट तुम्हारी सकता है । जनाब उसे घुटने लगा । कुछ देर तक कुछ नहीं बोला तो उसे चुप देखकर जो करे कहने लगा यदि वे लोग मेरे पीछे चला गया होंगे तो ये तो जान ही रहे होंगे कि मैं कौन हूँ । हो सकता है कि डायमंड में ही बता दिया होगा । अच्छी तरह से जानते होंगे कि फाइल में आपको ही दूंगा । सोचे रातभर में क्या कुछ नहीं हो सकता । कुछ नहीं होगा तो तुम बेकार ईधर रहे हो । हम कल सुबह ही फाइल प्रेसिडेंट को दे देंगे । आगे बढते जा रहे हैं सर ये सब काम मुझको दिया जाए तो तो ये बात जान पहली बार मुस्करा है इसलिए तुम इतने उत्साहित हो । ठीक है तो ले जाओ पर अगर फाइल गायब हुई काम तो मैं भी गायब कर देंगे । जो करने बहुत उठाया और वहाँ के साथ बाहर चला गया । बारह बजने में कुछ मिले थे जो करके कार सडक पर अकेले ही दौड रही थी । मुख्यालय की तरफ का इलाका कच्छ सुनसान ही था । कुछ एक ट्रक आदि आवश्यक आ जा रहे थे । बाइक वाला बैग बडी लापरवाही से पिछली सीट पर पडा हुआ था । काफी मेहनत की थी जो करने आया हूँ और अब वह चैन की नींद सोना चाहता था । अपने फ्लाइट के तरफ से के सामने पहुंचने में उसे ज्यादा देर नहीं लगी । ऍसे ही दरवाजा खुला और खोलने वाली थी । देश करार खूबसूरत होती हैं जो की कमर पर हाथ रखकर खडी थी क्या बात है उससे पूछता हूँ जैसे मिलना हूँ । मैं आधी रात को किसी अनजान आदमी से नहीं मिलती तो क्या दिन में अनजान आदमियों से मिलती है जो करने आंख मारते हुए कहा शायद तो उससे क्या मतलब? तो पत्तियों उसका असर मतलब तो रखना ही पडेगा । पति हो तो दो दिन से कहाँ गए थे मैं कुछ तो देशभर में बोली जोकर अंदर आ गया । फिर आराम से सो पेपर लेते हुए बोला बहुत गुस्सा खा रही हूँ । दो दिन से कहे और बच्चा पूछ रही हूँ कि मैं किस से मिलती हूँ । अरे मजाक मुझे क्या पता तो किस के सौरभ से मिलते हो घर के बाहर । मैं तो सारा दिन घर पर रहती हूँ । चलाते हुए उसके सर के पास खडी हो गई मेरी बिहारी डालेंगे भी जो करने पुचकारते हुए उसका हाथ पकडा पर उसने झट से वहाँ छोडा लिया तो भी अब कुछ छोडो सीधे खडे हो कर बात करो चुका पर के गुड्डे की तरह तो पहुँचना और उसके सामने खडा हो गया । ये सर्कस के करता मुझे मत दिखाओ । मैं जानती हूँ कि तुम एक अजूबा हूँ पर घर में इंसान बन कर रहा करूँ । आपकी डालेंगे देखो ये इंसान तुम्हारे लिए कितना पड रहा है जो करने अपनी बातें फैला दी । चेहरे पर भागता हूँ और बिहार छाया हुआ था । मैंने सबके अधरों पर मुस्कान आ गई और फिर मैं उसकी बाहों में समझ गई । मैं जो कर सकत में काफी छोटी थी और उसका सिर उसके सीने तक ही आता था । पाँच साल की उम्र से दोनों एक दूसरे को जानते थे । उसका छोटी उम्र से ही दोनों के बीच में ऐसा बंधन था जो उनके लिए संसार में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण था । बचपन के संघर्ष से लेकर वर्तमान की सफलता होता है । हमेशा जो कर के साथ थी, काफी देर तक दोनों उसी तरह एक दूसरे में खोए रहे हैं । तो पहले खाना लगाने लगी । तुमसे लम्बी चौडी फाइट की प्लानिंग चलो पक्ष दिया दया आगे तुम पर आपका क्या लग रहे थे और मैं भी नाराज हूं । ये कोई बात नहीं होती कि दो दिन हो गए । कम से कम फोन तो हम रखा करूँ । मेरे जान सुखी जा रही थी । पता नहीं कहाँ गायब हो जाते हो तो इतने खतरनाक काम करते हो कुछ पर क्या गुजरती है? सोचा है कभी? मैं बोले जा रही थी जबकि जोकर चुप चाप खाना खाता रहा खाने के बहादुर से अपने करीब बिठाकर जो करने पूछा कल घूमने चलो बिल्कुल ऍम कहाँ एक वीवीआईपी से मिल रहे हैं किससे ऍम? मैलिसा ने उसका मुस्कुराते हुए चेहरे को ध्यान से देखा । फिर वो बनाते हुई बोली तो लगता है कि मैं किसी भाषण रैली में जाउंगी । दिमाग सड गया तुम्हारा नहीं । सच में मैं मोस्टली मिलने जा रहा ऍम किसी मुजरिम की सजा माफ करवानी है क्या नहीं जो कर रहा हूँ ये देनी है उसने फाइल निकले ऍम इसमें सिर्फ कहानी लिखी है लेकिन लोग इसे खजाने की तरह ढूंढ रहे हैं । कमाल है तो हम लोग खुद जायेंगे फॅमिली ऍम कर चलना वो तो ठीक है पर तुम्हें ये फाइल की बात अजीब नहीं लगी । अरे क्या जरूरी है साइंटिस्ट जो भी लिखें उसमें साइंस हो उसे गानों का शौक होगा भूल जाऊ से अब मैं क्या पहले की सोचना पडेगा कपडे पहनने से पहले उतारने पडते हैं । फिर भी जो कर आप दबाकर बोला अच्छा ऍम के साथ उसके कार्य भाग रही हूँ तभी से उतार जो करने से हिलाया ऍम फिर दोनों एक दूसरे की बाहों में समझ गए । हाँ,

जोकर जासूस भाग - 03

कुछ सुबह जल्दी उठने जोकर को फोन करके बताया कि उसने पैसे दिन से बात कर ली है । दस बजे है उनके ऑफिस में उनसे मिल सकता है जोकर नौ बजे ही अपनी पीवीआर फाइल के साथ चल दिया फैसले डॉक्टर ज्यादा दूर उठा रही, पर उनके वहां पहुंचने के उत्सुकता बहुत तीव्र थी । जो करते ब्राउन सूट में था । मैंने साले उसके मैचिंग की ब्राउन ड्रेस पहनी हुई थी । पैरों में हाई हील के साइकिल थे । चेहरे पर मेकप की कोई कसर नहीं छोडी थी । कुल मिलाकर बहन काफी खूबसूरत लग रही थी तो मुझे देखकर लग रहा है कि तुम बॉलिंग करने जा रही हूँ । अच्छा मैं मुस्कुराई फिर सत्तर खोकर बोलते हैं तो मेरी तारीफ कर रहे हो या टांग खींच रहे हो । मुझको क्या पडी है कि तुम्हारी टांग की जो अच्छी लग रही हूँ तो बोला है तुम भी बहुत स्मार्ट लग रहे हो । कसम से फॅसे उसका कंधा सहलाया । जोकर कार ड्राइव करने लगा । करीब पांच मिनट बहुत मैंने सब गुस्से के साथ गोली गोली मारने का मन कर रहा है, किसी मुझको नहीं । हमारे पीछे जो कार है, उसे कमीने हमारा पीछा कर रहा है । सफेद का तो तुम जानते हो मेरा तो कम हो गई है । पट्ठा घर से ही हमारे पीछे पर तुम कैसे जान गई? उसकी पत्नी हूँ । कोई गहरी गहरी नहीं । पति देव का हो तो गोली मार दो से फॅसे अपना रिवॉल्वर निकाल लिया । मेरे होते हुए तुम परेशानी मत उठाओ । उनकी कार के आगे तक चल रहा था । बचाना की उसके ब्रेक लग जाएगा । जोकर को भी कार रोकनी पडी । तुरंत खतरा भाग गया । इसलिए उसने मैंने सा को तुरंत नीचे झुका दिया । पे ही रहना । बाहर बताना कहकर जो करने दरवाजा खोला और कूदना हुआ । सीधे ट्रक के पिछले बात पर चढ गया । सफेद का पीछे हीरो गई थी । उसमें से दो खतरनाक काले आदमी निकल आए । जोकर की पूर्ति देखकर में सकपकाई जरूर पर सतर्क थे । पूरी तरह उनके रिवाल्वरों का निशाना ठीक जो घर के ऊपर था, होकर उनमें से एक बोला हमारी तुम से कोई दुश्मनी नहीं है और हम खून खराबे में विश्वास नहीं करते हैं । इसलिए शांति से मैं फाइल हमें दे दो । भाई लोगों जोकर मुस्कुराते हुए हिल रहा था । फाइल तो यार, अब तुम्हें फॅमिली सकती है । ये फाइल उनके किसी काम नहीं आएगी । ऍम हमारी बात मानने में ही बनाई है । तुम्हारी और हमारी बीवी को इस तरह कार में जितने की कोई जरूरत नहीं है, मोबाइल दे दो, हम चुपचाप चले जाएंगे । ठीक है होकर कूद कर वापस सडक पर आ गया । फाइल लेकर उन दोनों की तरह पडने लगा । जोकर को नहीं आता देख उन दोनों ने बॉल बढ चुका है । पास आकर जो करने पूछूँ और मुझको क्या मिलेगा अपना अकाउंट नंबर बता दूँ एक घंटे में उसमें दस लाख डॉलर पहुंच जाएंगे तो हम लोग तो यार बहुत शरीफ लगते हो जो घर मुस्कराया इतनी रकम तो मैंने जिंदगी भर मेरी कमाई होगी । रखो ये भाई मैं अकाउंट बताता हूँ । उसने फाइनली और पन्ने पलट कर देखने लगा और खाते हुए बोला ये नकली है फॅमिली जो कराके फैलाकर खोर आचार्य के साथ बुला नकली कहाँ गई? फिर असली दूसरे काले आदमी का सब्र समाप्त हो रहा था तो जोश में बोला ये सलाह में भी हो रहा है । असली फाइल कार में होगी, मैं भी निकाल कर लेता हूँ । धरेंद्र की छत पे कहता हुआ मैं जो कर की कार की तरफ पढाई था कि जो करने को माँ कर एक उसके घुटनों पर जल्दी चीखता, वो गिरा । उसका साथ ही फायर करने ही वाला था कि जो करने छत से उसका हाथ पकड लिया और फिर लेवल पर उसी की तरफ घुमा दिया । बहुत बौखला गया । गिरा हुआ हाथ में उठकर आपका बॉलर संभाल ही रहा था कि जो करने उसके साथ ही कोर्स पर धकेल दिया । दोनों गिर गए । उनकी धमाचौकडी सुनकर ट्रक का ड्राइवर उधर आया था । कार में बैठे मैंने सा का ध्यान पीछे चोकर की तरफ था । पापा चुप चाप कार के पास पहुंच गया । फिर उसने खिडकी से धीरे से कहा यार आप मैलिसा हडबडाकर पलटी । उसने देखा कि उस आदमी की गन उस परेशानी हुई थी तब बोला चुपचाप अपना ऍम मुझे दे दे । ऍफ ऐसा ही किया । मोबाइल हाथ में आते ही ड्राइवर ने उसे खींचकर बाहर निकाल लिया और फिर चोकर की तरफ देखते हुए चलाया जोकर ऍम यही खत्म करते वरना तेरी बीवी की खोपडी उडा दूंगा जोकर टक्कर हो क्या? मैलिसा को बंदूक की नोक पर देख कर उसके हाथ में हमें जंग लग गई । मैं तुरंत पूरा हो कि महलों तुम जीते बहारा अब क्या करना चाहती हूँ दोनों काले आपकी अपना सूट झाडते हुए उठ गए जो करने उनकी काफी पिटाई की थी । ड्राइवर बोला अब हम चुपचाप अपनी कार में बैठा हूँ । हम तुम्हारी पीढी को ले जा रहे हैं, कुछ दूर जाकर से छोड देंगे । हम कहाँ से निकलते दिखाई दिए तो समझ कहना बिल्कुल जोकर मुस्कुरा रहा था । फिर बहक कार में बैठ गया जो करने महसूस किया कि उसकी कार के टायर बन जाते हैं । लोग पहले सबको लेकर सफेद कार में सवार हुए और आगे निकल गए । कुछ देर बाद कार आंखों से ओझल हुई तो जो कष्ट दौड कर ट्रक में सवार हुआ उसे दौडा दिया । कुछ दूर जाने के बाद उसे पहले साठ सडक के किनारे खडी मिल गई । पुलिस की सहायता से जोकर को पहले सफेद का आधे घंटे में ही मिल गई । सरकार खाली थी । सच पार्टी उनकी तलाश में लग गई । जाॅन तुरंत जोकर को मुख्यालय में बुलाया । हमें तुमसे ये उम्मीद नहीं थी । चना डोसे देखते ही बोला आज पूरा हो रहा था । हमने सबकुछ तुम्हारी कार में लगे कैमरे से देखा है । सर पे लोग मेरे कंट्रोल में आ ही गए थे । पर आपने देखा मुझे बहुमत चलता हरा अच्छी खासी मुसीबत खडी कर दी तुमने । अगर हमने पहुँचना की होती तो शायद हम तो मैं बात करते थे पर अब तो मानता हूँ सर गलती हो गई जो करके स्वर्ग में पछतावा झलक रहा था । अगर वहाँ पहले ऐसा नहीं होती तो पी लो कभी मुझे जीत नहीं सकते थे । तेरे को किसने कहा था तुमसे अपनी बीवी को साथ ले जाने के लिए चुकर चल रहा है तो मैं खुद की ही मेहनत पर पानी फेर दिया । कितनी मुश्किल से मैं? फाइल तुमने पेडा उसे हासिल की थी और अब तो प्रेसिडेंट कुछ सही पूछेंगे की महफिल कहाँ गई सर इस बार में कोई गलती नहीं करूँ और मुझे डर है कि वे लोग डुमवलिया से बाहर नहीं निकल जाए । जहाँ पकडो उन्हें चाहे उस मोबाइल की कीमत तो कडी भी ना हो पर हमें वो वापस चाहिए पर हमारे देश के वैज्ञानिक का काम है । ऍम जब तक उसे अपनी आंखों से नहीं देख लेंगे उन्हें चैन नहीं पडेगा । चाहती हूँ की क्या कह रहे हैं । फॅमिली मिलाया हमने बोला की फाइल में तो सिर्फ गाने लिखे तो कहा बुद्धि जीवी मजाक मजाक में बडी बडी बातें कह जाते हैं । जरूर प्रोफेसर इस फाइल से समाज के हित में कुछ कहना चाहते होंगे । कुछ सीख देना चाहते होंगे । मैं तो बडी बेसब्री से फाइल का इंतजार कर रहे थे जो कर अब हमें उसे हर हाल में प्राप्त करना होगा । शिवसर इस बात में मुझे नहीं बच सकेंगे । कमरे ऍम चल रहा था तो अधेड उम्र के काले आदमी सोफे पर बैठे टीवी पर नहीं दिखाए थे । पंद्रह करने से बॅाल की न्यू सुन ले रहे हैं कौन? मेरा दिमाग सोच सोच कर पढा जा रहा है । पीटल क्या यदि हमारे आदमी बहस कर बोला ये कैसे हो सकता है? मैंने तो किसी को आर्डर नहीं दिया कि उस फाइल को दोबारा लाया जाए । उस बकवास चीज की वजह से पहले ही हमारा इतना नुकसान हो चुका है तो और ऍम मारे गए । जो करने ही उन्हें मिल्क होटल में मारा था । स्पैंडल फाइल के कारण उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पडा । तुम्हारा ही आईडिया था ऍम उस पागल से वाला और क्या उम्मीद की जा सकती थी । तो मैं तो लग रहा था कि वह कोई आइटम बम का फार्मूला लिखकर छोड गया । बोला ऐसा सोचना क्या ठीक है सिर्फ इसलिए क्योंकि वो कुछ आतंकवादी उससे मिले हुए थे । फॅमिली बोला मुझे ये बात उसके साथ ही साइंटिस्ट से भी पता चली थी । उनका मानना था की वो हसन की जरूर हो गया था पर फिर भी वह बेहद खुल बंद था । कुछ तो ये भी कहना था की मैं खुद तरीके से अपने घर में ही कार्य कर रहा है । देख लिया ना क्या कमाल का कार्य कर लिया । दे देते उसके गाने म्यूजिक इंडस्ट्री में फिल्मों में काम आ जाएंगे । साइमन खींचता हुआ बोला बिहार सी तो सोचो कि अब वो फाइल हमारा नाम लेकर कौन ले उडाया । मुझे क्या पता भाड में जाए । वो पाई कहकर समंथन जुलाकर खडा हो गया और फिर खिडकी से बाहर देखने लगा । हो सकता है हम उस फाइल को समझ ही नहीं पाए । अभी तो तुमसे बंडल कह रहे थे । मैं तो यही रहा था तो सोचा हूँ किसी ने जोकर जैसे शातिर जासूस से मैं फाइल हडप लिया । वीलोग कौन होंगे जो उसकी जैसे कमीने को चुका गए से लोग मामूली नहीं हो सकते हैं । इसका इसका मतलब है मतलब बहस । फाइल कोहिनूर का ही रहा है । सामने वो बनाया हूँ । तुम सोचते क्यों नहीं? कुछ तो इम्पोर्टेन्ट होगा । ठीक है ठीक है । पर अब हम उस फाइल के पीछे सारा खर्चा नहीं करेंगे तो मर । इतने चाय तो चार पांच आदमी लगा सकते हैं तो जहाँ खुश हो गया पर अगर वाकई उस फाइल में बहुत ही कुछ इंपॉर्टेंट है तो लोग उसे लेकर देश से बाहर भागने की कोशिश कर सकते हैं या नहीं । एयरपोर्ट पर नजर रखनी होगी । अनुसंस्थान को जांचना होगा जो बाहर जाता दिखाई देगा । इस तरह कितने लोग वो ढूंढेंगे? हम आता नहीं । जो घर भी उसे ढूंढेगा हमें उस पर भी नजर रखती होगी । उसकी तो हमें सफलता मिल सकती है । नहीं किया तो अच्छा है । वो बहुत कमीना है । उसके द्वारा अपना उल्लू सीधा करना उतना आसान नहीं होगा । उसका कमीनापन ही शायद हमारे काम आ जाएगा । फिर की के बाहर देखते देखते साइमन के होठों पर से खरीदी मुस्कान बन गई । शहर के बाहर एक फॉर्म हाउस पर दोपहर के वक्त शांति का माहौल था । हम हाउस के कमरे में वही ट्रक ड्राइवर जिसमें मैंने सा को बंदूक की नोक पर रखा था । किसी लम्बे से व्यक्ति के साथ मौजूद था दोनों पल पर बैठकर फाइल के एक एक पन्ने पर गौर फरमाना ही थे तो आखिर कर हमारी हो ही गई है । लम्बा व्यक्ति कुछ भी तो समझ में नहीं आ रहा है । किस में है क्या ये सोच कर देखोगे तो कभी कुछ नहीं नजर आएगा । ये सोचो कि फाइल में कुछ न कुछ जरूरत है । हमारे पास काफी समय पूरा दिमाग खपा देंगे । इसमें ये तो मैं मानता हूँ कुछ ना कुछ तो है । आखिर ॅ लिखा था रेडियोएक्टिविटी पर काम कर रहा था वो हाँ ड्राइवर बोला और विज्ञान के क्षेत्र में कई अवॉर्ड मिले हैं । इस पर उनके चालीस पचास आर्टिकल पीछे पे । सबसे खास बात ये है की लैब उस वक्त छोड कर आए । चप्पे किसी बडे आविष्कार के करीब पहुंचने वाले थे ये तो मैं कैसे पता मैंने उनके लाॅट से बात की थी । उनका मानना है कि वे लाख छोडने के बाद घर पर काम कर रहे थे । लेकिन क्या है इस पर है कि आविष्कार करने के लिए तरह तरह के उपकरण चाहिए होते हैं । घर पर कितना कुछ होगा, क्या पता? ड्राइवर ने कंधे उसका और अंत में लिखती है कहाँ है लम्बा व्यक्ति हजार बातें करते हुए फाइल को उलट पलट कर आंखें गडाकर आकर एक एक शब्द देख रहे थे तो देखो एक बात तो पक्की है । इन गानो में कोई साइंटिफिक शब्द तक नहीं है । इसलिए ये तो पक्का है कि इसमें आविष्कार के बारे में लिखा तो नहीं गया है । पर कहते हुए ड्राइवर ने गहराई से सोचते हुए गा । एक बात तो लग रही है तो भी वही सोचते हो । मेरे तो मैं अंतर्यामी नहीं हूँ । मुझे लगता है कि इन कानों में कोई कोर्ट छुपा है, बिल्कुल हो सकता है और उस कोर्ट के जरिए शायद आविष्कार की जानकारी मिल सके । प्रोफेसर को अपनी बहुत कट्टर रहा होगा । इसमें उन्होंने ऐसा किया होगा । पुराने जमाने में भी राजा महाराजा ऐसा किया करते थे ताकि उनके मरने के बाद फिर उनके दुश्मनों को उन का खजाना ना मिल सके । पर आज के जमाने में तो ऐसी कई जगह होती है जहाँ अपना सामान सुरक्षित रखा जा सकता है । जैसे ऍम कुछ भी हो सकता है । इसमें बहन का नाम क्या लॉक कर का नंबर छुपा हुआ । दोनों उत्साह के साथ घर से फाइल देखने लगे तो उसके बाद भी उन्हें ऐसा कोई नहीं मिला । लम्बा व्यक्ति बोला कुछ ट्राय करना होगा क्या करें? इसमें तो कोई नंबर नजर नहीं आ रहा । हम शायद फाइल गलत ढंग से पढ रहे हैं । ऐसे में सुबह में बोला तो कैसे बढे उलटा रखकर इतना बडा सा पहली ट्राई कर लेंगे । पहले ये बताओ की फाइल हम किस तरह पढ पा रहे हैं । क्या मतलब? ड्राइवर को उसकी पहेलियां समझ नहीं आ रही थी, रखों से पढ रहे हैं । सही कहा पहुंचनी पेड से रिफ्लेक्ट होकर आंखों के अंदर रेटीना पर पड रही है । अरे यार, साइंस के पढा रहा है सीधे सीधे बताना हमे से दूसरी रोशनी में पढकर देखना चाहिए । मतलब इस वक्त हमें से बल्ब की रोशनी में पढ रहे हैं । हो सकता है इस पे जो लिखा है मैं बल्ब की रोशनी में दिखाई नहीं दे । फिर किस रोशनी में दिखेगा? ड्राइवर उतावलेपन के साथ बोला किसी और में चलो देखते हैं कहकर लम्बे व्यक्ति ने फाइल उठाई और बाहर की ओर चल दिया । बाहर सूरज की रोशनी में गायब फाइल के पन्ने देखते लगा । दोपहर का वक्त था, धूप पीते थे । ड्राइवर भी ध्यान दे रहा था । फाइल की पेस्ट ज्यादा मोटे नहीं थे । अगर उन के अंदर छिपाकर भी कुछ लिखा गया होता तो उन्हें दिखाई दे जाता । पर सभी पन्ने पलटने के बाद भी उन्हें कुछ नया दिखाई नहीं दिया । कुछ नहीं है । लंबे व्यक्ति ने हताश होकर का सूरज की रोशनी में तो कुछ नहीं देखा तो अब क्या करें? कुछ देर लंबा व्यक्ति फाइल को गौर से देखता है । मानव अपनी अंकों से एक समय निकालकर फाइल के अंदर कर रहे से देख लेना चाहता हूँ । फिर अचानक ही उसकी आंखें चमक उठीं । पिता कुछ कहे वह अन्दर की तरफ आपका ड्राइवर का चेहरा पहेलियों से खेलते हुए परेशान था, तभी उसके पीछे अंदर आ गया । स्टोर में हमारे काम की चीजें मिल जाएंगे । तेज कदमों के साथ चलते हुए बोला तो क्या लगता है मैं क्या करूँ तुम्हारे दिमाग में न जाने क्या चल रहा है? बताओ तो लंबे व्यक्ति ने जवाब नहीं दिया । स्टोर में पहुंच कर रहे एक अलमारी में रखे सामान में कुछ खोजने लगा । ड्राइवर को यू मूर्खों की तरह खडा देखकर वहाँ बोला खाली के खडा है धोना हमें मैं । उस से मैं बोला मुझे क्या मालूम क्या ढूंढना? फिर लंबे व्यक्ति की नजर एक कोने में गई और फिर उसने बाहर रखा एक छोटा सा ऑनलाइन उठा लिया । कैसे ढूंढ रहे थे? ड्राइवर बोला हाँ खाप! इससे कौनसा जादू दिखाऊ शायद ही हो जाएगा । ये ऍम उसको छोड जांचने के लिए यूज किया जाता है । आप बताइए मुझे नोट पर मैंने कुछ लोग सिर्फ फॅमिली में नजर आते हैं । ठीक समझे लम्बी व्यक्ति ने मुस्कुराकर उसे देखा को ड्राइवर के मुझे निकला । समझ गया तो मैं क्या सोचा है? चलो देखते हैं सिर्फ फाइल स्टोर मिले हैं, पर स्टोर की लाइट बंद करके लाइन की रोशनी में फाइल देखने लगे । फॅमिली नहीं भी रोशनी में पहले ही पेज पर उन्हें कुछ नया दिख गया तो खुशी से कूद पडे । उसी पेज पर लिखे गाने के शीर्षक के ऊपर हल्के रंग की कुछ लाइने देखने लगे । सामान्य रौशनी में दिखाई नहीं दी थी दोनों ने एक साथ पहला ही नहीं पडी फॅस इंडिया यानी तो ऑफिसर का आविष्कार इंडिया में ट्रेन आइलैंड पर है । ड्राइवर उत्साहित था ताकि पन्नों पर देखते हैं शायद आविष्कार के बारे में कुछ । फिर उन्होंने लैंप की रोशनी में दूसरा पेज देखा परन्तु उस पर ऐसा कुछ भी नहीं था । कर तीसरा चौथा पर बाकि किसीभी पेज पर ऐसा कुछ भी नहीं देखा था । पूरी फाइल देखने के बाद लंबे व्यक्ति ने लैंड ऑफ किया और बाल चला लिया । इसमें सिर्फ एक ही है हूँ, भरना पडेगा ऍफ थे का जब खोपडी क्या किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि इसमें इस तरह से उन्होंने क्यू डाल रखा है । मुझे तो यकीन है पागल नहीं थे बल्कि नाटक कर रहे थे । सब तो ठीक है । लाॅट क्या अब हमें तो ऑस्ट्रेलिया से निकलने का प्लान बनाना होगा । टाइगर ने हामी भरी हूँ बहुत सुखता थप्पड रसीद क्या जो कर रहे हैं थप्पड खाने वाला सौभाग्यशाली इंसान था एक मैं उस की दुकान उस जगह से कुछ ही दूरी पर थी, जहाँ फाइल चुराने वालों की कार मिली थी । सब खान पर हाथ रखकर मेकैनिक कर कराया । उसकी आंखों में आंसू आ गए जो करके उसके बाद भी उस पर ताया नहीं आई थी । अक्सर होता भी यही है । आज भी आपने पहुँचेगा । दिखाता है तो उसका गुस्सा कही न कही और निकलता है । जोकर का हाल भी कुछ ऐसा ही था । उसके साथ ही एजेंट चुप चाप उसके साथ खडे थे । मैंने कहा दो काले आदमी और एक गाडी मुझ वाला पूरा साथ में जोकर एक एक शब्द पर सोर देकर बोला । मैकेनिक ने हाथ जोडकर कहा साहब, मैंने तो इनमें से किसी को नहीं देखा । शायद मेरे साथ ही नहीं देखा हूँ । मैं तो एक ही घंटे पहले काम पर आया था । पास के होटल पर खाना खाने गया था । हरामखोर जोकर गुस्से से तमतमा रहा था । अपने साथी को बोला मुझको मत बता की तो कहाँ खाना खाता है और कहाँ होता है अच्छा । मैं के साथ ही की उम्र लंबी थी । जैसे ही उसका नाम लिया जाता है, एक घंटा मोटर साइकिल से आता दिखाई दिया । आगे साहब उसके मुँह से चीत्कार निकली तो उसके साथ ही काफी समझदार था । वहाँ का माहौल देखते ही मानसिक तौर से तैयार हो गया । अपनी खटारा से उतर कर तुरंत जोकर से बोला बोली सरकार क्या खिदमत करूँ आपकी? करीब दो घंटे पहले यहाँ किसी काले आदमी को देखा तुमने? उसके साथ एक और कल आदमी और एक साडी मुझे वाला आदमी था । सहकार आगे छोड कर गए हैं । देखा था सरकार काले आदमी पैदल ही उधर से गुजरे थे । फिर यहाँ से उन्होंने टैक्सी चलेगा और साडी मुझे वाला पूरा साथ में ऐसा तो कोई नहीं देखा । सिर्फ एक काले आदमी देखेंगे तो बेहद खतरनाक लग रहे थे और किसी को देखा मैं सोच में पड गया । फिर हूँ हाँ और उसके ताकि मुझे नहीं वह कोरा और लम्बा चौडा था । वो किधर गया? वो वहाँ पेड के पास खडा था । मुझे लगा कोई पेशाब कर रहा है । फिर वो नहीं दिखा । जोकर फिर वहाँ एक पल के लिए भी नहीं रुका । अब तक मूर्ति बनेंगे । जेन्स भी उसके पीछे लग गया जो कर उस पेड के पास पहुंचा । रोड के उस किनारे खेत था जो बहुत दूर तक फैला हुआ था । जोकर कुछ पल उस खेत को देखता रहा । फिर अचानक ही उसने खेत में दौडना शुरू कर दिया । खेत की की चढ के प्रवाह किए बगैर बाकी एजेंट भी उसके पीछे हो लिया । करीब दो मिल चलने के बाद उन्हें एक फॉर्म हाउस दिखाई दिया । वहाँ कुछ थोडे खास चलते दिखाई दी है । कुछ कुत्ते भी घूम रहे थे । वे लोग सतर्कता के साथ । हम हाँ उसके दरवाजे पर पहुंचे । वहाँ कोई लॉक नहीं । कुछ एजेंट होकर के साथ अन्दर प्रविष्ट हो गए । कुछ बाहर रुपए पांच मिनट के अंदर । उन्होंने पूरा फार्म हाउस छान मारा है । पर वहाँ कोई भी नहीं था । हालांकि वहाँ वो लोगों की मौजूदगी के सबूत आवश्यक है । मेज पर तो क्लास और पानी से भरा जगह का था । सिगरेट के फिल्टर इधर उधर पडे हुए थे । सभी बाहर आ गए । जोकर गौर से मिट्टी को देखा था । कुछ स्टोरी के बाद खेत की मिट्टी पर जूतों के निशान दिखाई देने लगे तो जोडी जूतों के निशान थे । पर कुछ दूर जाने के बाद हो गए डेवलॅप बोलो फॅार में बोला सर आपका शक्ति निकला वीआईपी रोड के पास एक फॉर्म हाउस पर हमें दो लोगों के होने का सबूत मिला है क्योंकि जरूर जो करके आदमी होंगे, जो करता है उन्हें छोडने का नाटक कर रहा है सर, अब मैं ये नहीं कह सकता कि बहन आता कर रहा है । फिलहाल दो फ्रेंड्स के साथ बहस उसके लिए निकला हुआ है तो के साथ कहकर चला के संबंध विच्छेद कर दिया और एक नई फ्रीक्वेंसी ट्यून करने लगा । डाॅ । क्या दूसरी तरफ से आवाजाही कहाँ हो? सब जन आपकी आवाज बहुत फौरन पहचान गया जो कर के साथ उन लोगों को ढूंढ रहे हैं । हमारी बात तो जवाब देना जोकर अगर कहीं अकेले जाने लगे तो उसका पीछा करना उसे बिल्कुल भी पता नहीं चलना चाहिए । हम तुम्हारी रिपोर्ट का इंतजार करेंगे । शौक ऍफ क्या? इस वक्त मैं बाहर से जेल की तरफ जा रहा था । जेल के भेज गेट पर चलाने की कार को पूरा सम्मान मिला । कार बात करके बहुत जेलर के ऑफिस पहुंचाने सब उसके कब्जे अलग अलग हो गया । हमारे मेहमान के क्या हाल है? अंदर आकर जाॅन आप की मरम्मत के बाद से अपनी कोठरी में ही पडता है । आपका होता था इसलिए हमने उससे कोई पूछताछ नहीं ऍफ से पैकेट निकालकर एक्सॅन ऍम कोठरी में ही उसके हाल चाल मालूम करेंगे जनाब तेज कदमों के साथ जेल के अंदर बढ गया । ट्रेलर में एक सिपाही को इशारा किया और जान आज के पीछे चल दिया । सिपाही इशारा पाकर चाबियों का एक बडा सा गुच्छा देकर उसके पीछे आ गया । जेल काफी बडी थी । अधिकांश कैदियों के सिल कैंटीन, मशीनरी वगैरह भूमि स्तर पर ही थी, जबकि कालकोठरी भूमिगत थी । कई खतरनाक दुर्दांत क्रूर मुजरिम वहाँ गए थे । जो कैदी जेल का अनुशासन भंग करते थे, उन्हें भी दंड देने के लिए वहाँ डाल दिया जाता था । कुछ कोठरियां ऐसी थी जहाँ जेल की कई नालियां अगर खुलती थी, उसी पदरपुरा सेल में दंडित कैदी कोट डाल दिया जाता था । हालांकि बात चाली का सेल बदबूदार नहीं था, पर इस वक्त जेल का अधिकतर लोहा लंगर शायद उसी के शरीर पर लगा हुआ था । गले में लोगों का मोटा झल्ला, जिसमें चडी संजीव कलाइयों को कस्ती हथकडियों से जुडी थी, पैरों में पढते चलने संजीव हों से त्योहारों में लगे कुंडो से बने थे । वह एक कोने में लेटा हुआ था । चेहरा भाव गेम था ताकि बंद थी, पर बहस हो नहीं रहा था । छत्तीस से आती जूतों की आवाज एहतमाम बोली थी, पर मैं उसे साफ साफ सुन सकता था । घर में खाना और हूँ हूँ अली आंखे बंद किए । सोच रहा था दो घंटा घर और एक देखता हूँ यानी तो जेल के आदमी और एक बाहर का और ये तब तक तो जानी पहचानी है । फॅस के जूतों की आवाज है ये खयाल आते ही उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई । फिर आपा सिंदूर होती चली गई । कुछ देर बाद आवाजे फिर आने लगे । मैं अभी इस बार अली के सेल के बाहर कॉरिडोर से अली धीरे धीरे कर सकते हुए उठकर बैठ गया । लोहे के दरवाजे की तरफ उसकी दृष्टि हो गई । कुछ ही देर में उसे एक सिपाही दरवाजा खोल का दिखाई दिया । जैसे ही दरवाजा खुला बात चालीस से बोला । ऍम फॅसे उसे देखने लगे । उन्हें समझ नहीं आया । उसे देखे बिना ही अली कैसे समझ गया कि चलाना है । उनके चेहरे देखकर अली ढाका लगाकर हस दिया । ऍसे उसे देखने लगा जबकि जनाब शांतिपूर्वक उसके पास आकर खडा हो गया । लगता है जेल में काफी मजे में हूँ । जाॅन के साथ बोला ठीक समझे । उसने पढाई के साथ जवाब दिया मेरा नाम अच्छा है । बादशाह किले में रहे क्या क्या भाषा की तरह ही रहता है? मैं तो दिखाई दे रहा है । कितने बडे बादशाह हो तो तभी तो मैं हम ने इतने सारे गहने पहला रखें । कैसे लग रहे हैं फॅार हस्ते लगे खुदा की कसम हजार क्या झेला साहब फॅमिली मुस्कराया भर ऐसे हल्के खुल के लोहे के रहा गया तो बच्चा अपने जूतों के फीते बनाकर घूमता है । लगता है तो हमारे देश के लोहे वंदम नहीं है । मिलावटी लगता है हरामखोर ऍम सस्ता सामान चलाई तो संजीव त्यौहार की जगह छत से बनवा दुआ लगता रहेगा । इसी साल में सारी बात चाहत निकल जाएगी तो अली के चेहरे पर उपहास उडाने वाले भावना हैं । पहले जांच घरवाले राजी लगा । हमारी जेल के कुंडे इतने मजबूत नहीं नजर आते हैं की बादशाहत अब भारतीय हवाएं बातचीत ऍम वीरता के साथ बोला हमारे पास फालतू बातों के लिए समय नहीं है तो हमें सब कुछ बता दूँ । बडा हमें सकता हूँ, करना होगा क्या तुम चाहते हो कि तुम्हारे पूरे शरीर पर बिजली के झटके दिया जाएगा । अली लापरवाही के साथ मिलेगा । फॅार की तरफ जाना क्या जलसा ले तेईस सारी हंसी वही निकल जाएगी । कह खर्चे लडने से भाई को अंदर बुलवाया ताकि उसके बंधन खोले जा सके । बंधन खुलने के बाद बादशाह अली अंगडाई लेते हुए खडा हो गया । जोडो के चटकने की आवाज आई जिससे चिल्लर का गुस्सा कुछ और बढ गया । सिपाही ने उसे आगे चलने के लिए धक्का देना चाहिए । पर अली ने अप्रत्याशित ढंग से फुर्ती दिखाते हुए सिपाही का हाथ पकडा और असीमित ताकत के साथ उछालकर जेलर पर भेज दिया । टेलर उसके इस हमले से बचना सका और सिपाही के टकराते ही एक तरफ जा गिरा । इससे पहले की जन्नत कुछ कर पाता सिपाही की राइफल अली के हाथों में आ चुकी थी और उसका तो जनाब की तरफ था । लडने संभालते ही अपना रिवॉल्वर निकाल लिया । उन मैं झेला अली नहीं बताया । गूगल के तब से कहीं बेहतर से कहते हुए अली धीरे धीरे चलाना की तरफ पडने लगा । फिर पास आकर राइफल के लोग उसमें अनाज की थोडी से चिपका दी और सपाट स्वर में बोला जेलर अगर तेरी तरफ से क्लिक की भी आवाज हुई तो मैं करता बात हुआ तुम्हारे इसको ढेकी खोपडी का मलीदा चारों तरफ देखा जाएगा । मैं मेरा तो मारा इस को साथ लेकर मरूंगा । क्या चाहता है तो बोला ले अपना गन नीचे डाल रहा हूँ हूँ । अखिल मंदिर है चलो अब इस कीजिए बेकाली ऍफ बॉलवर्ड निकालकर जमीन पर डाल दिया । अब तुम दोनों पीछे हूँ । उसने टेलर और सफाई से कहा दोनों ने उसके आदेश का पालन किया हूँ । अब बाहर चलो साले बुड्ढे मुझे तो बहुत दूर तक चलना है । मेरे साथ रिक हाल उधेडी थी । उन्होंने अब तेरे साथ जो चाहूँ कर सकता हूँ तो मुझे जेल से बाहर ले जाएगा । चलते और कोई होशियारी दिखाई तो यहीं खत्म कर दूंगा । काली बोल रहा था । दस बजे बाद अलीजान अटके कार्य में था । जेल के सहारे कहती और सिपाही ये तमाशा देख रहे थे । अलाम बचाने के किसी ने हिम्मत नहीं थी जनाब जैसे बडे अफसर के ऊपर कोई रेस्ट नहीं ले सकता था । कुछ क्षण बाद चलाने की कार में ऍम बातचीत पिछली सीट पर बैठकर बोला । बडा अपनी गाडी अल ऍम उसने खिडकी से बाहर उसे देखते हुए हाथ उठाया । याद रहे अगर कार्य का पीछा करते हुए कोई भी दिखाई दिया तो उसके बाद जहाँ कार जेल के बाहर दौडा दी । कुछ दिनों तक जेल के समस्त प्राणी मूक दर्शक बडे उन्हें ज्यादा देखते रहे । थर्ड चल तेजी से कंट्रोल रूम कि तरफ लपका दोनों सीधे जाऊँ । मैं होने देखता हूँ होकर एक चौराहे से पानी दिशा में चल दिया । उसके दो साथी एजेंट्स सीधे चलती है । जोकर की निगाहें सडक पर जा रहे हैं । हर आदमी का चेहरा पड रही थी । उसके साथ ही एजेंसी में से एक अचानक रुका और दूसरे से बोला तुम सीधे जाओ । मुझे चीज का एक काम करना है । दूसरे ने सिर हिलाकर हामी भरी और आगे बढ गया । किस तरह तेल का वन वन पर वापस चौराहे पर आ गया । उसे कुछ ही दूरी पर जो कर ज्यादा दिखाई दिया तो उसके पीछे लग गया जोकर । सावधानी पढाते हुए से अलग पर तेजी से आगे बढ रहा था । अब उसकी निगाहें किसी को तलाश नहीं कर रही है । बल्कि उसकी चाल में एक निश्चित थी । किसी मंजिल पर पहुंच देगी । कुछ दूरी पर वह एक बडी सी इमारत में प्रवेश हो गया । लिफ्ट से चौथी मंजिल पर पहुंचा और एक मिनट के दरवाजे पर दस्तक देने लगा । हालांकि फ्लाइट के बाहर कॉलबेल मौजूद थी । दरवाजा खुला है तो आप तो तुम्हारे दस्तक देने से समझ गया था । दरवाजा खोलने वाला व्यक्ति मुस्कुराते हुए बोला और कोई नहीं बल्कि महत्व ड्राइवर था जिसने चोकर को चखाया था । मुझे गिरफ्तार तो नहीं करूँगा मुझको ये मजाक का वक्त नहीं लग रहा है । कहते हुए जोकर अंदर आ गया । क्या बात कर रहे हैं? दरवाजा बंद करते हुए ड्राइवर बोला ऐसी क्या बात हो सकती है तो तुम्हारे जैसे इंसान को मजाक का मन नहीं कर रहा है । बहुत सर पर होती है तभी तो मुस्कुराते रहते हो और तब जब पता होता है कि मौत से बचने के बाद मुझे तो पहले मिलने वाले हैं । इतना किताब जब उसके बाद मेरा स्वागत जूतों से होने वाला हूँ जो ये सोशल अलग है । समझाऊँ हमारे पाठक के बावजूद चीज जलाटको मुझ पर शक हो गया है । डाइमंड जी हाँ ड्राइवर कोई और नहीं डायमंड था पर मैं लंबा व्यक्ति जो कर यही दोनों फार्म हाउस पर फाइल पर रिसर्च कर रहे थे तो ट्राइ वाॅरंट के चेहरे पर चिंता के भाव है पर तुम्हें कैसे पता चला तो मेरे को पता चल जाएगा । जरूरी बात ये है कि अब हमें देश से बाहर नहीं निकल दे देगा क्या बात कर रहे हैं देश से निकलना कौन सी बडी बात है, बडी बात नहीं है । पर मैं पहले सामान्य ढंग से निकलना चाहता था । चोरी छुपे निकलना होगा पर तुम जानती हूँ एक बार हम अंकल के आविष्कार तक पहुंच जाएगा । फिर तो पैसा अंकल स्कूल्स जैसा ते खाना होगा । हमारे पास होने के से होगा ठहरेंगे उसमें तो क्या लगाएंगे तो पूरा यकीन उन का आविष्कार इतना बडा है हमारे सब कुछ दांव पर लगाए उस पर ऍम सबकुछ दाव लगाने लायक होगा । वो जिसमें दुनिया के बडे बडे आतंकवादियों और अपराधियों की भागीदारी हो, पहले छोटी मोटी चीज हो ही नहीं सकती । आखिर अंकल पागलपन कर्नाटक करके चुप जहाँ उस पर काम कर रहे थे । कुछ तो बहुत महान काम है वो यकीन तो मुझे भी, फिर भी जब तक ठीक ठीक पता नहीं चलता मन मिशन का तो रहेगी । हाँ, बात सही है पर मुझे यकीन है कि उनसे बहुत कम किसी बडी ताकत नहीं करवाया है । पिछले साल बहन एक महीने के लिए प्रदेश भी गए थे । पांच के मुताबिक लेकिन इंडिया ही रहा होगा जो करने टहलते हुए कहा ऍम शायद पता नहीं हम जितना बडा रिस्क ले रहे हैं आगे चलकर हमारा क्या होगा? तो तो फिर भी हर खडी बहुत सारे स्कूल होता रहता है । डायमंड बोला कितनी बार बहुत तेरे सर के ऊपर और पैरों के नीचे से निकल चुकी हैं । कितनी बार बच्चा तो तेरी तरह नहीं ले सकता है फिर भी इस बार ले रहा हूँ क्योंकि पता है इस के बाद जिंदगी बन जाएगी । वो तो हो गया पर एक साथ में इज्जत कराओ भी लगाए इस वक्त गिरवी पर चली गई है । बल्कि ये कहूँ देखने वाली है अगर आपको का प्रॉफिट होता है तो क्या फर्क पडता है । जब क्या उधर से पूरी जिंदगी शुरू कर सकते हैं? घर नहीं हुआ तो लोगों का कैसे भी तुझे तो पता ही है कि इसके पीछे कौन कौन पडे हैं । पुलिस टीसीआई, पेडल और और कौन बचा जो करने की भलाई उसके बाद कहना कि गली के गुंडे भी उसके बीच है । बातचीत अभी किसी गली के गुंडे का नाम तो नहीं है । टोमॅटो कर की आंखों में झांका जोकर की हो जाएगी भाई । पाकिस्तानी आतंकवादी जो जेल में बंद है मेरा पहुँचा है तो वो अपनी मर्जी से जेल में बंद है । डायमंड में रहस्यमय ये आवाज में कहा अभी क्या बता रहे हैं उसने? क्या फिल्म खाई है जो खुद फिर तू ऐसा बोल रहे हैं? चेहरे से तो नहीं लगता कि जोक मार रहा है । मैं जोक नहीं मार रहा हूँ मेरी तरह सोच तो तुझे भी यकीन होगा हूँ जो करने दवाई फिर अचानक ही धर्म को चुप रहने का इशारा किया । ऍसे की तरफ देखा जो करती जैसे खडा हुआ था । दिल्ली की मानिंद चलते हुए दरवाजे पर पहुंच गया और फिर सब कुछ एक सेकंड के अंदर हुआ वही है कि जो करने झट से दरवाजा खोला और बाहर खडे आदमी को अंदर खींचकर दरवाजा बंद कर लिया । डायमंड हैरान था जो करके फुर्ती देख कर रही बल्कि उस आदमी को देख कर ऍम हालांकि पोजिशन बताया । उनसे जूनिया था । टाइम तो से पहचान गया पर टेलिकाॅम उसे नहीं पहचान पाया क्योंकि टूर्नामेंट में कब था? बहरहाल देर आपन वन वन का ध्यान डायमंड नहीं जोकर पडता था क्योंकि अभी तक उसकी कलाई पकडकर उम्मीद रहा था । चेहरे पर कार्टून जैसी मुस्कान थी । अंके उसे सवाल कर रही थी क्या उसकी जासूसी जोकर बोला मुझको पसंद है ये ऍम थे इस तरह पकडा जाएगा । उसने सोचा नहीं था पूछने के लिए एक सेकंड भी तो नहीं मिला था उसे किसी तरह अपने हाउस हूँ । सामान्य करते हुए बोला सर क्या कह रहे हैं? मैं तो आपको ढूंढ रहा था नीचे किसी ने बताया की आप इसी बिल्डिंग है क्यों भाई मुझे ढूंढ रहे थे । मैं क्या कुंभ के मेले में हो गया था? मेरा खोया हुआ भाई है क्या तू हूँ मैं करते हुए नहीं है क्या जैसी दे जाने को कहा था ना चाहे मैं सर जब हम ढूंढ रहे थे मैंने खुला नहीं जानता ना । इसलिए आपके पीछे आ गया ऍम उससे क्यों नहीं पूछा वो आगे निकल गया था । फॅमिली करता गया । मैं पढाई के पास वाली बिल्डिंग में पूछ ताछ कर रहा था । फिर मुझे खयाल आया कि मैं पूछूँगा जिसको ढूंढना है उसका यही नहीं मालूम फॅस मिला नहीं तो मैं आपकी तरफ आ गया । यहाँ किसने डीसीआई में भर्ती कर लिया तो पैसे खिलाकर नौकरी ॅ क्या बात कर रहे हैं । सही बात कर रहा हूँ ऍम उसने हामिद सरीला ये खडे हमें महाशय जो करने डायमंड की तरफ इशारा गया खुले देख ले अच्छी तरह से लिया जी हूँ टाइम इनको हसी आ गई जोकर रहता सर पीटी और झल्लाकर बोला बीसीसीआई ऍफ का इस्तेमाल करना चाहिए । बच्चा आदेश फिलहाल तो बिना सोचे समझे मेरे पीछे लग गया आपको कैसे पता उसका वो खुला का खुला रह गया जो करना में मेरा अपने आगे पीछे क्या होता है । हर चीज का हिसाब रखता हूँ मैं क्रिकेट मैच की तरह सब लाइव टेलीकास्ट होता रहता है । मेरे दिमाग में सर मुझे पूरा यकीन था कि आप पर शक्कर के चीज कोई बेवकूफी ही कर रहे हैं और मेरी हैसियत क्या है जो उन से कुछ बोल सकूँ । हैसियत बनानी पडती है मेरे तो चोकर पहली बार नम्रता के साथ बोला और कुछ चीज हैं, उन्हें रिपोर्ट भी तो देनी होगी । हाँ, आप ही बताइए क्या करूँ? देखो ये ऍम तो जानता ही है कि हमारे चीफ को हमारे काम में पुलिस का नकल पसंद नहीं आता । पर ये मेरे ठंडी आ रहे हैं । मुझे भी आप क्या है? तो समझ गया चीज को इस बारे में कुछ पता नहीं चलेगा । पता चल गया तो बहुत मार खायेगा तो लालची आपको बोल देखिए । जोकर मेन मार्केट में पूछ ताछ कर रहा है । फॅसे संपर्क करने की कोशिश की, पर उधर से कोई उत्तर नहीं मिला । लगता है किसी जोकर बोला इतना दोबारा कोशिश की कुछ देर में दूसरी तरफ से कराने की आवाजाही टेलिकाॅम जी सर, अब ठीक है । हम ठीक हैं जहाँ की टूटी हुई थी । आवाज आएगी । रिपोर्ट तो डेल्टा फाइव फोर वन इस वक्त मेन मार्केट में पूछ ताछ कर रहे हैं । अभी तक किसी से मिला कोई संदेह वाली बात लगी । जी नहीं । ऐसा लग रहा है कि वे सामान्य ढंग से खोज रहे उन्हें और अब मार्केट सिया के दूसरी बिल्डिंग में जा रहे हैं । ठीक है तो उसका पीछा जारी रखो और हमें जेल रोड से पिक करने के लिए किसी को भेजो । जिसके हाथ में कि हम आ जाएगी । आप तो हिट उपाध्या अली हमेशा घायल करके यहाँ डाल गया । जेल से भाग्य है जो प्रचल आपकी आवाज की जगह था से आवास हुई शायद वह गिर गया था । डेल्टा फन बन बनने ट्रांसमीटर बंद किया और आतंकित वर्ग में बोला । पांचाली जेल से भाग गया जो काॅल एक दूसरे का चेहरा देख रहे थे भाई ऍसे बहस शब्द निकला । आंखों में आंसू आ गए । शराफत तो मैं पता है की मुझे मरता होते देखना पसंद नहीं । पांच छः सकती के साथ बोला पर शराफत को शायद कुछ भी सुनाई नहीं दे रहा था । ढाई साल बाद आज मैं अपने बडे भाई को देखा था । हाँ उससे कस करले पड गया । आंसू थे जो रुकने का नाम नहीं ले रहे थे । बात चाहे उसकी पीठ थपथपाई और बोला मालूम था मुझे मैं साथ नहीं रहूंगा तो ठीक से खाना भी नहीं आएगा । अच्छा सर का जब पीता रहा होगा हूँ । फिर आप अपने मुस्कुराते हुए आंसू पूछे । हर कहा आप खेल के काल कोठरी में बंद हो गए और मुझे भूख लगेगी । रहे तो बस कुछ दिन की बात थी चल ठीक है अब मुझे तो खाना खाना खाना होगा । शराफत सोरता धार का लगाया इस वक्त में लोग एक जगह देख उनके साथ बीस पच्चीस लोग थे । सभी के पास खतरनाक हथियार थे । इस तरह बातचीत करते हुए जमीन पर बिछे कालीन पर बैठ गए । जेलर को उसकी शाबाशी भिजवा दे रहे हैं । बात चाहेगा कितना पांच दिया है उसका डबल ठीक ऍम हूँ बट खाने पीने के लिए जेल से बाहर नहीं आया । बातचीत तो सफर में बोला क्या चल रहा है हमारी फाइल का कुछ पता चला या नहीं । बहुत खराब, ज्यादा उसे लेकर भागा हुआ है । कहते हुए उसके मुठ्ठियां फस गई । कुछ जैसे आपने लगा था उसका शरीर । हमारे आदमी सारे शहर में उनको खोज रहे हैं । पुलिस के उनके पीछे पूरे शहर की नाकाबंदी की गई है । बाहर की नहीं निकल सकते हैं । जिस चीज को हम ने बनवाया, आज उसके पीछे एक से एक कमीने पडे हैं । पायल तो बादशाह के पास वापस आएगी ही और हर उस कमी लेकिन लाश भी जिसमें उसे छुआ है । बादशाह की आंखों में उतर आए । खून को देखकर शराब जैसा तक वहाँ भी कहाँ गया? डॉक्टर अब ये कौन सा इंजेक्शन लगवा रहे हो? ऍम के साथ आते देख ऍम जुलाकर पूछा । इससे आपका दर्द कम हो जाएगा । कुछ देर आराम से नींद सोना नहीं है । हादसे नर्स को रुकने का इशारा कर के जगह ने कहा, होने का वक्त नहीं है मेरे पास जनाब के सिर पर पट्टी बंधी हुई थी । उसे घायल कर के बाद अच्छा अली उडनछू हो गया था । हॉस्पिटल में आने के बाद ही जन्नत को होश आया था तो वो एजेंट जो से जेल रोड से उठाकर लाए थे वहीं खडे थे । सिर में काफी दर्द अनुभव कर रहा था मैं । फिर भी उसका दिमाग सोच विचार में उलझा हुआ था । विपत्ती का समय था । एक तो पहले फाइल को लेकर पवार चल रहा था और अब उसे मोहरा बनाकर पा अच्छा । अली जैसा खतरनाक आतंकवादी जेल से भाग गया था । अपनी गलती पर ठोक से ज्यादा आक्रोश हो रहा था पर अब समय तेजी से निकल रहा था अपने पद को बचाने के लिए उसे अब कोई बडा कदम उठाना था । ऍम मीटर लिया और डॉक्टर फॅस को कमरे से बाहर निकलवाया । ऍम से संपर्क स्थापित किया । ऍम उत्तर मिला क्या? रिपोर्ट टूर्नामेंट की आवाज पहचानते ही उस ने चिंतित स्वर में पूछा सर आप ठीक तो है, पास मत करो । पाॅड जोकर एक स्पोर्ट्स कार में बैठकर दक्षिण दिशा की तरफ गया है उसने ये कार्यक्रम फॅमिली तो उसके पीछे हो या नहीं । बुखार मेन मार्केट में उसके पास रखी थी । फिर उसमें बैठ गया । उसे सारी मुझ वाला व्यक्ति चला रहा था । मैं टैक्सी से उसके पीछे हूँ और लगता नहीं कि उसे पकट सकूंगा । तुरंत कार का विवरण और नंबर सभी एजेंट और पुलिस को भी बताओ । पुलिस को भी उसने आश्चर्य से पूछा जैसा बोला है वैसा करो । जल्दी ऍफ रखा और फिर बढ पढाने लगा शहर के दक्षिण बात की तरफ जो कर कर क्या रहा है किसी के साथ भागने की कोशिश । उसने अचानक ही एजेंसी प्रश्न किया, तुम लोग क्या सोचते हो? कुछ सोचते हुए एक एजेंट बोला पहले भी जो कर ऐसा ही करता है । सारा काम वो अकेले करके पूरा क्रेडिट खुद लेना चाहता है । पर हमें तो संदेह है कि वो हमारे लिए काम कर रहा है या किसी और के लिए? सर आप खुद से बात करके देखेंगे । ऍम उसने जोकर की फ्रीक्वेंसी थी । उनकी ऍम जोकर की आवाज आएगी कहाँ हूँ पाल की तलाश में हूँ सर किसके साथ और का बाकी अगर की मुझे मेन मार्केट से उसका सुराग बनाया उसी के सारे आगे बढ रहा है । कैसा है एक ट्रैफिक पुलिस मैंने बताया था कि उसी हुलिया के लोग शहर के दक्षिण भाग की तरफ कार से गए हुए हैं । तुम्हारे साथ कौन है? मेरा एक दोस्त है, कार के लिए उसे बुलाया था क्या? या जरूरी है कि ट्रैफिक पुलिस मेन की बात सही हो क्योंकि वो मिला है उसके सहारे पडने के सेवा और क्या ऑप्शन है हमारे पास शहर से बाहर निकलना इतना आसान नहीं है । वे लोग नाके पर पकडे जाएंगे । इससे अच्छी बात और क्या हो सकती हैं । भगवान करे ऐसा ही हो पर मुझे उन्हें अपने हाथों से पकडने की इच्छा है जरूर सोच में पड गया । फिर उसने ऍम कर दिया । उसे लगा जोकर उसे बेवकूफ बना रहा है हो उसका दोस्त वही है जिसके साथ मिलकर उसने फाइल चोरी कर पाने का नाटक खेला और अब गया उसके साथ भाग रहा है । पर ऐसा भी हो सकता है कि वह वाकई उनका पीछा कर रहा हूँ और उसका शक गलत निकले । इस तरह जहाँ पे की सोचा कि दक्षिण की पुलिस को अलर्ट कर दिया जाए और उसके एजेंट भी वहां पहुंच जाएंगे । अगर जो काम चोर है तो भी वह पकडा जाएगा और अगर वह किसी चोर के पीछे हैं तो उन्हें पकडने में जोकर की मदद हो जाएगी । चरण में जब पुलिस से संपर्क किया तो उसे आश्चर्य हुआ । खुशी उसका शक दूर होने लगा । जो करने पहले ही उन्हें अलग होने का निर्देश दे दिया था । हूँ हूँ जो कर रहा था तो स्पोर्ट्स कार में हूँ । डायमंड के उसे देखते हुए मुस्कुरा रहा था । बस भी कर यार ऍम आज अपना चीफ कैसा उल्लू बना हुआ है? चलो अच्छी क्या? पहले तो मुझ पर शक कर रहा था तो अब सोचना होगा कि वाकई में चोरों के पीछे लगा हूँ । फॅमिली क्या होगा उसका वे लोग एक बेहद पुरानी कार में सवार सरकार को देख कर ही लग रहा था कि उसकी स्पीड पचास से ज्यादा नहीं जा सकती । डायमंड ड्राइविंग सीट पर था, करता है, उसे इत्मीनान से चला रहा था । उसके कुछ भी सोचने से फर्क नहीं पडता है । ऍम हमने सेटिंग भी ऐसी है । हाँ, दिल का पनपना बनने वही बताया होगा जो हम ने कहा था । यानी हम दक्षिण दिशा में जा रहे हैं, वैसा ले । हमें वहाँ घूमते रहे जाएंगे । पर हम यहाँ उत्तर दिशा से निकल चुके होंगे । समुद्र हमारा इंतजार कर रहा है । सच में तेरे साथ नहीं होता तो शायद ही मैं कुछ कर पाता । ऍम सोचते हुए बोला पेटल के चंगुल से मैं निकलने की कोशिश कर रहा था । तब तो भी वहाँ तक का तूने तो मुझ पर विश्वास नहीं किया और बेहोश कर दिया । पर फाइल हाथ में आने के बाद तो ही मुझे होश में लाया पर वहाँ से निकालकर मेन मार्केट में फ्लाइट दिलवाया । ऍम पेटल के ठिकाने पर जब तो मिला तब एकदम से यकीन तो होना नहीं था । पर फिर जब मैंने वहाँ कमरा देखा जहाँ होने तुझे बांध कर डाला था तो तुझ पर यकीन हो गया । पुन्नाराम सातों ने मुझे बहुत टॉर्चर किया था । पता नहीं पडा के फाइल फॅमिली डॉक्टर क्रिस्टी को दे दी । उन्होंने वहाँ से फाइल चुरा ली । वो भी मुझे छोडने को तैयार नहीं हुए । पार्टी बनाने लगे हैं । किसी तरह मैंने खुद को आजाद किया । ऍम सामना हुआ । जो भी हुआ अच्छा हुआ । यस तो हम दोनों टीम है । सात सात अरब पति बनेंगे । अगर तो मुझे उस वक्त फाइल की अहमियत नहीं बताता है तो मैं वहाँ से निकल कर कुछ और फाइल दोनों चीज के हवाले कर देता है । पहले तो मुझे भी फाइल की अहमियत का अंदाजा नहीं था पर फिर दाल के टॉर्चर के वक्त बहुत कुछ पता चला । फिर अंकल से संबंधित पुरानी बातें भी याद आने लगी जिनसे ये पक्का हो गया कि वह क्या आविष्कार कर रहे थे और जब फाइल तेरे हाथ में देखी तब पहले फैसला कर लिया था क्या? किसका सही उत्तराधिकारी होने के नाते मुझे ही आविष्कार तक पहुंचना होगा? फिर तो मुझको पट्टी पढाई और मुझको तेरी बात में दम भी लगा । अब ये आविष्कारी अपनी जिंदगी का मिशन बन गया या तो बच्चे के बारे में कुछ बता रहा हूँ । जब वो उल्लू के पट्ठे वन वन बनने ऍफ कर दिया था तो कह रहा था कि वो अपनी मर्जी से जेल में है । फॅार में कहा खराब जेल से बाहर भी निकल आया है उसको कुछ पल्ले नहीं पड रहा है इसलिए अनपढ गवार लोग भी सकर मैं गया जहाँ तक मुझे पता है बात चाली बहुत पढाने खाते हैं बल्कि आतंकवादी बनने से पहले पहले करांची के कॉलेज में पढा था । काफी उसके साथ ही जरूर अनपढ होंगे पर भी इन सब चीजों की जानकारी रखते हैं । ठीक है भाई जो करने हाथ खडे कर दी है ऍम सीधे सीधे बताओ । जिन हालातों में गया पकडा गया था उससे यही लगता था, एक ट्रक में बैठकर बॉर्डर क्रॉस कर रहा था । वो इतना बडा आतंकवादी इतने साधारण तरीके से किसी देश में घुसे और पकडा जाएगा । ये बात मुझे तो हजम नहीं हुई थी, मुझको भी हजम नहीं हो रहे हैं । चालीस पासपोर्ट वीजा वगैरह बनवाकर इनके लिए किसी भी देश में घुसना कौन सा बडा काम है हूँ तो उसने खुद को जानबूझकर पकडवाया । अगर ऐसा है तो मैं जरूर किसी खास उद्देश्य से हमारे देश में आया था और तुम्हारे खयाल से बाहर देश तुम्हारे अंकल का आविष्कार है । तभी उस वक्त में उसका नाम केंद्र आ रहा था । हाँ लगता तो है डायमंड की बात अधूरी रह गई उसे अचानक ब्रेक पर बहुत बडा कारण ये था कि उनके आगे चल रही एक जीत अचानक ही सडक के पीछे रुक गई थी । डॅाल बजाया तो जवाब में जीत के पीछे का पर्दा उठा और दो ए के फोर्टी सेवन राइफलों का रुख उनकी तरफ हो गया । खतरा तो दोनों के मस्तिष्क में ये सब एक साथ कोला राइफल नकाबपोशों के हाथ में थी । उनकी चौकस आँखों से ये साफ जाहिर हो रहा था कि अगर उन्होंने मिलने की कोशिश भी की तो उनकी कोशिश कोशिश के रह जाएगी । कार से उतारकर चीफ में आ जाओ । उनमें से एक बोला जो काॅमन तो बाल हो गए । धीरे से बाहर निकला है तो उन्होंने कहा पोशों की नजर उनपर करी हुई थी डाउन हजार की जो करती गांव नीचे जो क्या डायमंड में भी वैसा ही किया । दोनों कार की ओर थे । उन्होंने उम्मीद की थी कि फायरिंग होगी पर ऐसा हुआ नहीं । दोनों चुके चुके कार के पीछे आ गए । दोस्त लोग आ गए जो काॅन् को देखते हुए बोला हाँ, पायल के दावेदारों में से एक तभी ठीक से उतरने की आवाज आएगी जो करो डायमंड झट से आपने आपने का निकली और झांककर देखने लगे । कमाल है जोकर बोला पायरिंग क्यों नहीं कर रहे हो? पायल की शक्ल देखे बगैर कैसे मार देंगे हमें टाइमिंग मुस्कराया । सच कह रहे हो हमारे पास तो कोई वजह नहीं । गोली न चलाने की कहकर जो करने तैनात अब तीन फायर कर दी । दो गोलियां चलने की आवाज करते हुई चीज आपकी बॉडी से टकरा गई । एक सीधे निकल गई । जीप से उतरे नकाबपोश सावधान थे और उन्होंने भी जीत के पीछे आश्रय ले लिया था । तो सालों कितने का पोस्ट चला । जिन्दा रहना चाहते हो तो चुपचाप बाहर आ जाओ तो भारी गोलियाँ ज्यादा देर नहीं चलेंगी । अरे भाई जो करने जवाब दिया लोग ईंट का जवाब पत्थर से देते हैं । कम से कम तुम लोग गोली का जवाब गोली से तो क्या कर चोकर उछला मानो उसके छोटों में स्प्रिंग लगे हूँ । कार की टिक्की पर खडे होने से पहले ही उसकी गन फिर करा जुटी । इस बार कोलियां जीत के पीछे लगे पढते को भारतीय हुई । बेन स्क्रीन तोडकर बाहर निकली और एक नकाबपोश उसकी चपेट में आ गया । मैं चीखता हुआ गिरा, ऍम छूकर फुसफुसाया । वोट में छुपा डायमंड फरक पीछे की तरफ भागा । साथ मैं पलट करते भी रहा था । जोकर का निशाना जीप की तरफ था । पहले इंतजार कर रहा था किसी के देखने का । इधर अपने साथ ही की लाश कितने देख उसके साथियों के सिर पर खून सवार हो गया? सिंता नहीं छोडो हरामी के फिल्म को एक हमेश में बोला । दूसरे ने उसके कंधे पर हाथ रखा । आराम से खाना हमें हम दोनों को खत्म नहीं करना है । बॉस का मत बोलो ऍम हम तीनों एक साथ उन पर फायर करेंगे । निशांत पैरों पर होगा । मेरी एक तो तीन तीनों एक साथ जोड से निकले और उन पर फायरिंग करने लगे । दर्जनों कोरिया जोकर की तरफ लडकी और जो कर मैं कब गोली खाने के लिए खडा रहने वाला था । उसने तुरंत पीछे जम्प लगाए । ऐसे करता ना जाने कितनी बाहर कर चुका था । घर की ओट में बाबा जाकर उस ने भी जवाबी हमला बोल दिया । फायरिंग की आवाज सुनकर डायमंड तुरंत सडक पर लेट गया था और वहीं से फायरिंग करने लगा । इस तरह बायें तरफ जोकर फॅमिली कोई भी जीत की तरफ से झांकने की कोशिश करता तो उन की गन करा जुडती उन्हें फायर करने का मौका ही नहीं दे रहे थे । दोनों फिर सन्नाटा छा गया । जी, आपकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई जो कब धीरे धीरे घुटनों के बल बैठ गया और बोला उसको ऐसा क्यों लग रहा है कि उधर कुछ खिचडी पक रही है । तैयार रहो जोकर डायमंड का पूरा ध्यान जीत की तरफ था जो कर तो हर चीज की तैयारी करके निकला है । जोकर कल को स्टाइल से कमा कर बोला तभी हवा में उडते हो ही एक काली चीज उनकी तरफ जबकि ये डायमंड की आपके फैल गई । फॅमिली चीज एक फ्रेंड था जो उन पर गिरने ही वाला था । क्या अच्छा बोल कर जो करने खुद ही छलांग लगा दी । ग्रेनेट को लगभग कर बहुत आगे गिरा । ऍम और पढाते हो जोकर खडा हुआ और फौरन रूट के पास उसे फेंक कर जमीन पर लेट गया । स्क्रीन रोड के पार गिरकर फट गया । जोकर और ऍम की किस्मत अच्छी थी । दोनों संभालते हुए उठे, पर तब तक बहुत देर हो चुकी थी । नकाबपोश उनके चारों तरफ थे । उनकी राय पहले उन पर बनी हुई थी हूँ ।

जोकर जासूस भाग - 04

तीनों नकाबपोशों के सिर्फ हर पूछो की तरह पड गए । धन लहराते हुई जमीन पर धराशाई हो गया । जोकर और डायमंड हिरानी के साथ उन्हें देखते रह गए । उन्हें क्योंकि नहीं आ रहा था जो तीन लोग यमदूत बनकर उनके सिर पर सवार थे, कैसे पलक झपकने भर की देरी में ढेर हो गए । जो करना टाइम पर सवालिया दृष्टि डाली । फिर दोनों की नजर ही दूर से आ रही करकराहट की आवाज की तरफ चली गई । सडक से दूर एक पढाने के लिए के खंडर के ऊपर एक हेलीकॉप्टर उठ रहा था । फिर बहुत धीरे धीरे उन की तरह ही आने लगा और कुछ ही देर में रह सडक के ऊपर मंडराने लगा । उसकी आवाज से जोकर और डायमंड के कान के पर्दे फटे जा रहे थे । फिर मैं उन से कुछ दूरी पर सडक पर उतर गया । हेलिकॉप्टर के खूंटे पंख से वहाँ धूल फैल गई । हथेली से अंकों को धूल से बचाते हुए उन्होंने हेलीकॉप्टर से उतरते लोगों को देखा । तीन लोग थे । तीनों के जिस्म पर काले रंग के सूट है । आंखों पर काले रंग के ही चश्मे थे । उनमें से एक दोस्त आने वाले अंदाज में मुस्कुराते हुए उनके पास पहुंचा । नजदीक पहुंचकर उसने चश्मा उतार लिया था । ऍफ का पतला साथ में था रंग गोरा और आपके नहीं ली थी । गाॅव में घुसे हुए थे और कपडा कैसा हुआ था? राॅ उसने जोकर की तरफ बढाया । मुझे तो मतलब तो समझो दोस्त हूँ क्योंकि जो करने थोडी मुस्कान के साथ पूछा और उसके हाथ को अनदेखा कर दिया । तीनों के सर का जो हाल हुआ है वो मैंने करवाया । हमारे दोस्तों के दुश्मन हमारे दुश्मन । उसने अभी भी अपना हाथ पीछे नहीं किया । हाँ, वो तो ये कमाल तुम लोगों का था की मेरे खयाल से बस द्वारा ठीक समझे । यहाँ हो रहे हंगामे पर हम उस हेलीकॉप्टर से दूर से नजर रखे हुए थे । जब फायरिंग शुरू हुई तब हमने उस पुराने के लिए पर लाइन क्या फॅस के साथ तैयार हो गए हैं । अमर सिंह तीनों का जीत के पीछे से निकलने का इंतजार ही कर रहे थे । हूँ । ऐसे ही निकलेंगे । हमने अपना काम कर दिया । जो करने उसका हाथ अपने हाथ में लिया । शुक्रिया दोस्त बहुत बहुत शुक्रिया । वैसे तुम लोग पुलिस वाले तो नहीं लगते हैं । पुलिस तुम्हारी भी दुश्मन है और हमारे भी और इनकी भी । उसने लाशों की तरफ इशारा किया । आतंकवादियों को मार कर एक तरह से हमले पुलिस की मदद ही कर दिया । खैर हमारा मकसद था तुम दोनों को बचाना । तुम देखो कौन डायमंड कुछ सकती से पूछा । ऍम बताया तो तो अच्छा बडा कुछ हो गया । वो जो करने आंखे तरेर का टाइमिंग को देखा । अभी तो इन्होंने अपना नाम बताया था और तो भूल गया । फिर मुस्कराते हुए टोमॅटो से मुखातिब हुआ बुरा मत मानो या मेरे दोस्त की ज्यादा आज कुछ अच्छा है । खाते हो मैं जान गया हूँ और हम हमारे दोस्त हो ये मान गया हूँ और यह भी समझ लो हमारी दोस्ती तो मैं मंजूर हो या ना हो तो हमारे साथ चलना होगा । ऍसे में अब उतना दोस्ताना नहीं दिखा रहा था । जोकर उसे मुस्कुराते हुए देख रहा था जबकि डायमंड चिंतित नजर आ रहा था । अपना सामान कार से ले लो । हम लोग सारा देर यहाँ नहीं रख सकते हैं जो करो टाइम खामोशी के साथ सरकार की तरफ पड गए तो नहीं । और क्रेटों इस वक्त सादे लिबास में मेन मार्केट में घूम रहे थे । वहाँ पे एक बहुमंजिला इमारत में प्रवेश हो गए । दोनों पे धडक चलते जा रहे थे । रिसेप्शन पर बैठे आदमी पर उन्होंने नजर ही नहीं डाली । सीधे व्यक्त के पास पहुंच गए और बटन दबा दिया । ऍम किससे मिलना है? आप को कहता हुआ रिसेप्शन पर बैठ आदमी उनके पास आ पहुंचा । जवाब देना तो दूर धोनी और क्रेटों ने उसकी तरफ देखा भी नहीं । कहाँ जाना है? उसने तुम्हारा पूछा फिर भी कोई जवाब नहीं मिला । वो पे बखूब सब वही खडा रह गया । एक तो उसने सोचा की शायद दोनों पढ रहे हैं । फिर उसकी सोचने कहा पहले भले ही हो, बन्दे तो नहीं लगते । उन्होंने उसे रिसेप्शन पर बैठे हुए देखा था । उसने पलट कर कार्ड को ढूंडा पहन नजारा था । तभी लिफ्ट आ गई । प्लेट से एक औरत पालतू कुत्ते के साथ बाहर नहीं । उसकी चाहते ही दोनों लेफ्ट में घुस गए । फॅमिली भी दोहाई करते हुए उनके पीछे पहुंचा । बात क्या है? आप तो कुछ बोलते क्यों नहीं? कॅश बंद करके टॉप फ्लोर का बटन दबा दिया । ॅ आ रहे कहता रह गया जबकि धोनी नाॅक और एक सिगरेट खुद सुलगाई और दूसरी क्रेटों की तरफ बढाकर लाइटर चलाया । बहस आँखे फाड फाड अगर दोनों को सिगरेट पीते देख रहा था उसका तो जैसे कोई वजूद ही नहीं था । उन दोनों के लिए लेफ्ट में बस पे ही इंसान थे और शायद है तो हवा था, जिसका वहाँ होना कोई खास बात नहीं थे । कौनसे फ्लोर पर रहता होगा वो तो धीरे धीरे सारा धो छोडकर क्रेटों से पूछ रहा हूँ । पता नहीं सारे लोग देखने पडेंगे तो लापरवाही से हर फ्लोर के नंबर के आगे लगे बटन को घूमते हुए बोला आप लोग किसी ढूंढ रहे हैं तो इस बार चीज पडा और बडा लिस्ट में की आवाज को बहुत सोरखा झापड पडा था । उसके गाल पर बहन की दीवार से टकराकर गिर गया तो नहीं पाए । हाथ में सिगरेट लिए अपने हाथ को देख रहा था । नहीं मिला? जवाब ऍसे धीरे से पूछा तो कौन आप लोग इस तरह क्यों मार रहे हैं? संदीप पकोडे अपराधियों को यहाँ से पाता है । फॅमिली ने उसकी कमर पर ठोकर चलती है । मैंने कुछ नहीं किया । पीडा के कारण बकरे की तरह में भी आया । ॅ क्या जब पहले करते डरते उठा तब धोनी ने जेब से एक फोटो निकली । मैं फोटो डायमंड की थी उसने फोटो उसको दिखाई । कौन है ये बहुत लाया । हमारा बहनोई तो है नहीं । तेरह हो सकता है । ट्रेडों ने खतरनाक लहजे में कहा नहीं, मैं नहीं जानता । ऐसे मैं ध्यान से देखो तो नहीं बोला कल्पना कर इसके ऊपर ताडी मुझे जब की हुई है, शायद ज्यादा जाएगा । कब रहते हुए उसने फोटो गौर से रहेगी? याद आया तो नहीं नहीं देखे? पहला हाँ हाँ । आज से बचाव करते हुए उसने कहा, उसे डर था कि कहीं तो नी प्रहार न कर दें, कहाँ पर खाने से नहीं । नहीं साहब मुझे नहीं पता है ये कौन है । मैं तो गरीब आदमी हूँ । इस बिल्डिंग में नौकरी करता हूँ । पता नहीं क्या मतलब । अभी तो बोला तो नहीं कर रहा हूँ । ऍम से जानता हूँ और और कुछ नहीं पता करें । क्या किसी रजिस्टर में रहने वाले लोगों का दाम बगैरह तो लिखा होगा जी हाँ खैर उसे छोड वो तो उसने फर्जी लिखाया होगा ऍम पर पर साहब, वो तो अभी दो तीन घंटे पहले ही कहीं चले गए । हमें पता है क्रेटों ने तब तीसरे हुएकहा अच्छा इतना कहा है, उतना ही करते जी । उसने चौथी मंजिल का बटन दबा दिया । लिफ्ट क्योंकि अब तक टॉप फ्लोर पर पहुंच कर रखी हुई थी । वापस नीचे उतरने लगे । चौथी मंजिल पर पहुंचकर कुछ देर की मेहनत के बाद धोनी और क्रेटों ने उसका थाला खोल लिया । समुद्र के किनारे स्थित पहाडी के ऊपर एक हफ्ते बंगला बना था । आस पास की खरीद पहाडियों पर कई और मकान थे । पर इस पहाडी पर ये इकलौती इमारत थी । बंगले के पास एक हेलीपैड भी बना हुआ था । ऍम करवाया हेलीपैड के चारों तरफ बगीचा बना हुआ था ऍम उन्हें नीचे उतरने का इशारा किया । जोकर और डाइमंड बिना किसी अनुरोध के नीचे उतर आए हैं । उनके पीछे ऑटो के अन्य दो साथ ही देते हैं जिनके हाथों में आधुनिक हथियार हाँ तो हम ले कितना पड गया बाकी लोग । उसके पीछे बंगले के विशाल का विकेट पर कई कार्ड मौजूद थे । उन्होंने मेरे माल तो जैसे कपडे पहन रखे थे । काला सूट और काले चश्मे सभी के पास एक से बढकर एक हथियार थे मुझको बहुत देर से एक बात स्वीट की तरह चल रही है जो करता है मान के कान में फस पसरा क्या ऐसी यूनिफॉर्म मैंने पहले भी कहीं देखे हैं क्या कहते हैं ऍम छोडकर पूछा उसको कुछ नहीं कह रहा था कि कितना गजब का बंगला फॅसने उस पर से ध्यान हटाकर कार्ड से कहा कुछ खबर ही दे तो मैं बिना कुछ कहे बंगले के अंदर चला गया । फिर करीब दो मिनट बाद वापस आकर वेबसाइटों को देखकर इशारा किया और दरवाजा खोल दिया । टोमॅटो अंदर चल दिया । बंगले के अलावा उनसे होते हुए सभी लोग मेन बिल्डिंग में पहुंचे । अंदर एक बडे से हॉल को पार करने के बाद पहले एक कमरे के बाहर पहुंच गए । कमरे के बाहर भी दो गार्ड मौजूद हैं । फॅार्म आजा खुला और अंदर आ गया । कार्ड्स ने चौकर और टाइम की तलाशी ली और उनके पास मिला सारा सामान वही रखा दिया । फिर उन्हें अंदर भेज दिया । अंतरिक आलीशान सोफे पर तो काले अधेड उम्र के आदमी बैठे हुए थे । उनमें से एक के हाथ में टीवी का रिमोट था । सेंटर टेबल पर खाने का कुछ सामान रखा था । कमरे में एक से बढकर एक कीमती साथ सजावट के सामान रखे हुए थे । आइए आइए प्रमोट वाला आदमी खडा होकर कुटिल मुस्कान के साथ बोला आपका स्वागत करता हूँ जो करता है मेरा नाम साइबिल है । साइमन के सिर पर एक भी बाल नहीं । घर पर फोन है, घनी थी । चेहरे पर फ्रेंचकट दाढी थी । शरीर भारी भरकम था और उसी अनुपात में मोटे मोटे खोर थे । दूसरे खोल लिया भी लगभग वैसा ही था । हालांकि वह उससे कुछ पतला था और उसके सर के कुछ पाल अभी बाकी थे । पैसों पर अगले टी । सी अवस्था में था । उसने उसी तरह सबका अभिवादन किया जो काॅन् के पीछे खडा था । तुम्हारा नाम मैं जानता हूँ जो करने मुस्कुराते हुए लेते हुए व्यक्ति से कहा और मुझको ये भी बताया है कि तुम दोनों जानते हो कि मैं तो मैं जानता हूँ । क्यों मिस्टर तापस ऍसे कराया । तभी से बात करो क्यों? दोस्त जोकर मोडकर बोला मैंने कौन सी बदतमीजी की बात बोल दी । आॅटो कुछ कहता पर साइमन ने उसे चुप रहने का इशारा किया । फिर बडे प्यार से जोकर से बोला इसकी बात का बुरा मत मानिएगा कीजिए । आपके होती हो से परिचित नहीं है । आपकी काबिलियत तो हमारे बराबर की है । बस हमें फिर में बुजुर्ग है । पर आप उभरते सितारे क्या बात कही आपने तारीख का शुक्रिया । डायमंड ने भी बात करने की कोशिश की । आप लोगों ने हमें आतंकवादियों से बचाया । उसका धन्यवाद फॅस होते हुए उठकर बैठ गया । डायमंड को देखते हुए बोला लगता है तुम ने हम लोगों को पहचाना नहीं । डाॅ सुविधा में फस किया । उसने पूछा क्या मतलब? हमने ही फाइल के लिए तो मैं फॅार करवाया था । याद आया तो ये हमारा चेहरा नहीं देखा था पर आवाज तो याद होगी तो फॅमिली पडा तो तुम लोग मेरा मतलब कि आप लोग पिटल किसी को वहाँ भाई और कौन होंगे? तो देखो जोकर तो हम से मिले बगैर ही पहचान गया । फॅसने जोकर की तरह देखा तो चुपचाप उन दोनों को घोडले लगा । तुम सोच रहे होंगे कि जो कर कैसे पहचान गया मैं साइमन जैसे किसी बच्चे को पढा रहा था । इसकी जनरल नॉलेज तेज आ तुमसे हमारे संगठन के बारे में काफी जानकारी हासिल की हुई थी । कितने सालों से हमारे खिलाफ काम कर रहा था इसलिए जितनी अच्छी तरह से हमें से जानते हैं ये दिया जाता है । खैर इसका मतलब ये नहीं कि माॅब बेकार है । हमें पता है कि तुम्हें हमारे खिलाफ काम करने के लिए डीसीआई से निर्देश मिले ही नहीं । कभी पर हमें पता है तो मैं कई और मिशन पर अपना जौहर दिखाया है । असली डायमंड की तरह नायाब हो तो में मैं तो कहूंगा की जो हुआ अच्छा ही हुआ । अचानक जब इस बोला क्या हुआ जो कर रहे हो यही की मिल्क होटल से तो मैं मोबाइल चुरा ले गए । ऍम मैंने तो आप लोगों का बहुत नुकसान किया । अमित उस फाइल में कुछ मिला नहीं, बस तुम में अपनी अगले लगाकर कुछ न कुछ इनफार्मेशन निकाल ही नहीं । क्या क्या मतलब जो कर के चेहरे पर रिद्धिमान मुस्कराहट पलायन कर गई । बुरी तरह चौकस हमें चार पाँच चतुराई के साथ मुस्कुराया । देखो अभी ये मत पूछना कि हमें कैसे मालूम हुआ कि तुमने पाइल से कुछ इनफार्मेशन निकाल ली है । अजीब बिल्कुल नहीं पूछूंगा । अपनी मुस्कान वापस लाकर चोकर बोला पहली बात आपको कैसे मालूम हो सकती है जो हुई ही नहीं । देखो जो हूँ स्माॅल लेगा, कोई फायदा नहीं ऍम चुप रहने का इशारा किया और बोला काम ये भी पता है की फाइल तुमने अपने गेट पर जब कर रखी है कब महालय मेरे कपडों के अंदर के राज की जानते हैं । जोकर बडबडाया साॅल्वर में बोला अगर हमें फाइल की चाहिए होती तो भी अपने हेलीकॉप्टर के खर्चे पर क्या हाल लेकर नहीं आते हैं । फॅसे आतंकवादियों के साथ तुम लोगों को भी खत्म करवा देता हूँ और फाइल तुम्हारी लाश से निकालकर हमे ला कर दे देता है पर आपका ऐसा कोई इरादा नहीं था । जोकर उसके तेवर से सलाह भी प्रभावित नहीं हुआ और मैं जानता था कि वैसा नहीं करेगा । आतंकवादी भी ऐसा नहीं करना चाहते थे । शायद ये बात आपको मालूम होगी जो कल को इस तरह विधायक बोलते देख जहां क्रोधित नजर आ रहा था । टोमॅटो के चेहरे पर भी कडवाहट थे । कुछ सोचते हुए साइमन अमृतसर में बोला मैं होकर हम तो भारी बुद्धि के कायल है । जानते हैं कि तुम्हारे पास रोते मांग है । वह तलवार की धार से भी तेज है । पर एक बात तो मेहमान नहीं होगी । मालूम होगा आपको लिए तो सही तो भारत दिमाग तेज है, फॅमिली का नाम आती है पर भागत और पैसा ये दो चीज अपनी दो उंगलियाँ हवा में उठाकर उसमें कहा ये तो चीज नहीं है तुम्हारे पास, पर ये सब हमारे पास खुद आॅल जो करने स्वीकारते हुए सर हिलाया निरंतर मुस्करा भी राहत हमारे अब तक चार बॅाल तो उसके चयन भरी मुस्कान को कुछ कहने लगे थे और इंसान के पास जो चीज कम होती है तो उसे उसी का लालच होता है । साहिर है आप दोनों को पैसों का लालच है । अपनी जान पर दाव खेलकर आप लोग खूंखार अपराधियों से भर जाते हो तो आपको बदले में कैमरोटा ऍम खैर इतना बलिदान किस लिए तो बातचीत के आपके यही कारण है कि हमले अपनी सोच को बदला है और हमें जरूरत है आप जैसे ऍम होंगे जिनसे कम लेकर हम उन्हें उन की सही कीमत देना चाहते हैं । काफी देर से शांत ॅ बोल उठा चलिए मान लिया कि हमें पैसों की जरूरत है और आपको हमारी । पर आप हम से काम क्या करवाना चाहते हैं? साहिर है हमें उस फाइल के जरिये आर्थर अस्मित के आविष्कार तक पहुंचना है जो हमें पता है कि तरफ एरिया में नहीं है, कहीं और है । यहाँ तो सिर्फ उसके पायल है । जोकर सोचते हुए बोला कह रहे थे कि आपको पता है कि हमने फाइल से क्या इन्फॉर्मेशन निकली है । मुझे तो नहीं पता कि वह क्या है । पश्चिम पक्के तौर पर पता है की कुछ तो है । साफ साफ बताइए बहुत ये है कि तुम वो फाइल अपने पास ही रखो । हम तुमसे फाइल नहीं मांगेंगे । उस आविष्कार तक पहुंचने का पहले तुम लोगों को ही बनाना है । हम तुम्हें अपनी ताकत और पैसा देंगे । आवश्यका तो होंगे और हम तो मैं उसकी कीमत दे देंगे । उसके बाद भी अगर तुम हमारे साथ काम करना चाहूँ तो कर सकते हो नहीं तो तुम अपने रास्ते हम हमारे क्या कॅश? कार मिलने के बाद खाता में कुछ भी देंगे । पैसे तो दूर सिद्धा भी छोडेंगे या नहीं । शक्कर ना गलत नहीं है पर जैसे कि जो कर हमारे रिकॉर्ड से अच्छी तरह ऍम की । हम लोग अपने धंदे पूरी ईमानदारी के साथ करते हैं । फिर भी अपनी तसल्ली के लिए तुम लोग कुछ ऐसी शर्तें यहाँ सोच लो जिससे डाॅन टी हो जाए । ठीक होगी तो हम स्वीकार लेंगे । ऍसे कहा तो लोगों को आराम करवा हूँ । खाना वाना खिलवा तब तक हम इंडिया जाने की प्लानिंग करनी है । उसके मुझे इंडिया सुनकर ॅ पूरी तरह से जाॅन पर ध्यान नहीं दिया । जो करो टाइम उनको खाना खेल पाने के बाद बॉल तो उन्हें एक आरामदेह कमरे में छोडकर चला गया । कमरे में नरम करने वाला आलीशान बैठा था । तकनीकी अलमारियाँ थी और पाँच की गोलमेज पर खाने पीने का सामान रखा हुआ था, जो करने में से खेला उठाया और बैठ पर पसर गया । फिर उसने इत्मीनान से छिलका उतारा और केला खाने लगा । भगा दो डायमंड विधा पर उसे आराम का दैनिक रिमोट नहीं था । उसके मन में हलचल मची हुई थी । ऍम जो करने फॅमिली कुछ हूँ । अभी तो खाना खाया था फॅार बोला हूँ अब तो सकते हो रहा है । मुझे लग रहा है कि हम यहाँ ऍम ऍम पर कोई गोली दाग रहे ना बम फेंक रहा है तो बम गोली से कब से डरने लगे? फॅालो मरने से हर इंसान डरता है । ठीक है तो ये सोच कर डर नहीं लग रहा हूँ की ये लोग आगे चलकर हमें साफ कर देंगे । ऍम करना हुआ था जो करने विचलित हुए बगैर कहा है दोस्त कुछ को ये बता इनके साथ हम सहूलियत से इंडिया पहुंच सकते हैं क्या? नहीं डॅाल आया और इंडिया पहुंचकर हमें ऍम ढूंढने है । वहाँ पहुंच गए तो ये पता नहीं वो आविष्कार कैसे ढूंढेंगे । पता जल भी गया तो वहाँ कितनी बडी ताकत से टकराना पडे ये भी नहीं मालूम ये बात तो तुमने पहले भी सोचे होंगे । डायमंड यहाँ फैलाई । पहले तो सिर्फ हम तो ही जा रहे थे तो सोचा था या बिल्कुल सोचा था । ऍम बस ये था कि वहां पहुंचकर कुछ दो नंबर के काम करके चुकार लेंगे । कुछ थोडे बहुत कॉन्टेक्ट है । उन्हें यूज कर लेते हैं तो हमारे पास भी बडी ताकत है पिटल दुनिया के टॉप दस अपराधी संगठनों में से एक है इनकी ताकत और पहुंच असीमित ऍम के पास । इसीलिए तो ऐसा दाव खेल रहे हैं । अगर काॅफी रहा फिर भी वो ज्यादा से ज्यादा कुछ करोडों का नुकसान होगा । डायमंड के चेहरे से थोडी चिंता दूर हुए हैं । जोकर बोलता गया अब तो और भी अच्छा ऍम आविष्कार का ग्राहक भी छोडना पडता है । यहाँ तो ग्राहक हमारे साथ चल रहा है भी । अपराधी अब सारी होते हूँ । कम निकलने के बाद भी हमें सिंधा छोडेंगे या नहीं? कैसे कह सकते हैं तो कुछ बोला नहीं है । उसमें एक और केला उठाया और हराम सिखाया तो एक और उठाया ही था कि धवन ने चपट कर उसे खेला छीन लिया ये क्या है? या जो कर बोला खाने तो पहले मेरी बात का जवाब देते हैं । जो कर कुछ बोला रही अचानक ही खडा हो गया हूँ । फिर अपने जूते कसोल खोलकर एक मोबाइल निकाल लिया । उसमें फाइबर हो रही थी क्या ऍम पूरी तरह से हर पढा गया हूँ । पहली बार देखा ऍम तो कहाँ हूँ और क्या कर रहे हो ये तो नहीं पूछेंगे है । दूसरी तरफ से मैं ऐसा क्या बात आई पर ठीक ठाक खोल यही जानने के लिए फोन किया है ऍम तुम कैसी भी पानी पुरी तुम्हारी याद आ रही है अभी से अभी तो ना चाहे कितने दिन और ना मिल पाए या तो फिर भी आॅइल के साथ बोलिए तो वो भी तो समझ लो आॅटो और नहीं नौकरी कैसी है, अच्छी है और कोई ऐसी नौकरी की तमन्ना करता होगा । यहाँ मेरी फॅमिली जैसी कोई मुझे काम नहीं करना था । बस मैंने मैडम करके पूछता रहता है कि मुझे कोई तकलीफ तो नहीं जोकर हस दिया ऐसी कौन सी घुट्टी पिलाई है यहाँ के मालिक को बंदा तुम्हारा गुलाम मालूम पडता है । जब आप में जो कर सिर्फ दिया जो भी है ऐश कर रही हूँ तो हर किसी की नजर नहीं पडी नहीं वैसे भी मैंने तुम्हारा बताया मैं कब कर लिया था अब मुझे यानी बेटा फातेमा को सिर्फ तुम्हारा ये दोस्ती रेट ज्यादा है । यहाँ से आने जाने का सारा तरीका प्राइवेट है । ऍम और ऑफिस में प्राइवेट ऍम बहुत अच्छे हैं । क्या हट अहैतुकी आवास में बोली मैं बहुत बोर हो रही हूँ रात में टीवी देखने के अलावा और कोई काम नहीं कर सकती है । कुछ दिन टीवी देखने में भी फॅमिली डे पर चलेंगे ऍम चलो बहुत बात हो गई ऍम बनाए वहाँ भी डालेंगे फॅसा के किस करने की आवाजाही जो करने भी किस करके कौन सी पार्टी ये मोबाइल डाॅ होकर को कच्चा चलाने के लिए तैयार था । जो करने उसे चुप रहने का इशारा क्या किसी को कॉल करने लगा । ऍम भी खूब कर उसके पास आ गया पर फोन से काम चला दिया । अलग दूसरी तरफ से आवाज आई क्या हाल है? बरखुरदार अरे सर, आप कैसे हैं तो बढिया ही रहता है, काम सुना हूँ, बस ठीक हूँ । थोडी सी पुलिस के मार जरूर पडी और उन्हें मुझ पर शक नहीं हुआ । अच्छा तो फाइनल पुलिस हमारी बिल्डिंग में पहुंची गई । क्या बताया तुमने? जैसा आपने बोला था वही तो फिर भी हुआ क्या? कुछ खास नहीं यहाँ तो क्या आपके रो उसके बारे में पूछताछ की तो लेंगे और लोगों से भी पूछा कर किसी और को कुछ मालूम होता तो बताता हूँ कमरा देखा पर वही कमरा दिखाया मैंने जो आपने बोला था वो नहीं । जहां हकीकत में आपके दूसरो के थे, उन्होंने दरवाजा भी तोड दिया, उसका हूँ । उसी कमरे में पूरी छानबीन करके गए थे । बहुत पुलिसी पता नहीं किसके फिंगरप्रिंट्स मिलेंगे वहाँ से मैं तो कब से बंद पडा है । उसके मालिक को मरे हुए भी कई साल हो गए का सबका दिमाग गया । आपका सारी बात सुनकर चोकर के चेहरे पर सफलता भरी बस गाना गई, फॅस कराया और कोई सेवा असर उससे पूछा । फिलहाल इतना हीं ॅ जो करने कॉल काट दी और डायमंड उस पर बरस पडा तो करके है । मोबाइल यूज करेगा तो कोई भी हमें ट्रेस कर लेगा । कैसे कर लेगा, क्यों नहीं कर लेगा? मोबाइल नंबर से सेटेलाइट मोबाइल नंबर कहाँ से मिलेगा? डायमंड कुछ बोलता उससे पहले चोकर बोला है । इसका नंबर सिर्फ मैंने ऐसा के पास है । फरमान मिले । कोई कॉल की बातें सुनकर पता लगा भी ले । फिर भी नंबर की डिटेल नहीं जा सकेगा । नहीं, इसे ट्रेस कर पाएगा । क्योंकि बस ये समझ ले कि इसमें जिस टेलीकॉम कंपनी का नेटवर्क आ रहा है वो मर जाएगा । पर इसके बारे में किसी को पता नहीं चलने देगा । ये नंबर उसकी कंपनी के किसी खाते में नहीं, न पेपर पर । मैं कंप्यूटर में, पर हर कॉल तो सिस्टम में कहीं न कहीं देखती होगी । हाँ वो देखेगी जरूर तरीक खाली नंबर होगा उससे मेरा या किसी का नाम पता नहीं जुडा है । समझे और ट्रेसिंग बहुत मुश्किल है । कंपनी का मालिक प्रेस करने नहीं देगा । जो करने आंख मारे चल मान लिया पर ये बताओ की इतनी बडी कंपनी के मालिक को तुमने कैसे बता रखा है । तो हो तो इन बातों में ज्यादा दिमाग में लडा जो करने उसे टरकाया मानना पडेगा तो है पहुंची हुई चीज शक्रिया जो करने सर झुकाकर का अब ये सब छोडो और उस तरफ कुछ सोच किस तरह बच करके मुझे खाना डाल रही है । कुछ सोच कि ऐसा क्या करेंगे आगे चलकर ये हमें ही नहीं निकल जाए । जोकर हस्कर बोला सोच लिया मुझे क्या लगा मैं ऍम कहाँ गए? पासपोर्ट का जनक पूरी तरह से चलाया । इस वक्त ॅ अन्य साथ एजेंट्स के साथ दक्षिण भाग की तरफ जाती । रोड की पुलिस चौकी दर्द था । चौकी का इंचार्ज अच्छी खासी तैयारी करके बैठा था । कई गाडियां वहाँ कतार में थे । एक एक की पूरी जांच हो रही थी । मैं टैक्सी में था । कहाँ तक उसका पीछा करता हूँ? डेल्टा वन वन वन हताश था । पिछले चौराहे से काफी पहले ही वो मुझे दिखाई देना बंद हो गया था । ॅ नहीं पाए । बडा होगा तो वापस शहर की तरफ गया होगा । चुनाव रोड को खोलते हुए बोला वह काफी देर से जो करके ट्रांसमीटर की फ्रीक्वेंसी मिला रहा था । पता सफलता हाथ आई । इसके दोषी अर्थ निकलते थे । एक जोकर का ट्रांसमीटर रेल से बाहर है या तो उसका ट्रांसमीटर ऑफ है । इतनी चलती तो रेल से निकलना संभव नहीं था । कैरी उसने जानबूझ कर ऑफ कर रखा है । उसने सोचा दूसरी तरफ पांच छह अली की भी कोई खबर नहीं मिली थी । सारे शहर में पुलिस उसे शिकारी कुत्तों की तरह ढूंढ रही थी । यही वजह थी कि चौकी इंचार्ज इतना मुस्तैद था क्योंकि जोकर को पकडने के लिए निर्देश मिलने से पहले उसे बादशाह अली की खबर मिल गई थी । अपील चार्ज वायरलैस पर बातें करने लगा । बात करने के बाद बहस सोच में पड गया । क्या हुआ हूँ चलाने पूछा सर, उत्तर दिशा में पोर्ट रोड पर चार आतंकवादियों की लाशें मिल लिया । एक बार फिर साइमन ऍम उसी कमरे में एकत्रित हुए । इस बार वाहन वाले तो नहीं था । हमने सारी तैयारियाँ कर ली है । अब हम सब आराम से दिया जा सकते हैं । साइमन ने घोषणा की जो कर रहे तुरंत पूछा आपने दिया जाने की तैयारी क्योंकि है तो तुम लोग हिंदी आई तो जाने वाले थे । साइमन मुस्कराकर बोला जोकर और टाइम अंडे एक दूसरे का मुंह देखा, परेशान मत हो । साइमन ने हाथ उठाकर कार मैंने पहले ही कहा था कि हम स्पॅाट है फिर मुझको जानना है वनडे में पागल हो जाऊंगा । ठीक है क्या तुम लोग अब हमारे साथ ही हो? फॅमिली के साथ जैसे तुम ने अपना वां टाइमिंग का चालीस पासपोर्ट वीजा बनवाया था । वो हमारा ही आदमी है । बल्कि यह समझ लो तुम दोनों का पासपोर्ट । वहाँ पीजा हम लोगों ने ही बनवाया था । जोकर और डाइमंड पेदल की पहुंच और ताकत देखकर वाकई दंग रह गए । उनके भाव देखते हुए साइमन गर्व के साथ बोला । फॅमिली को खुद नहीं पता कि वह पे दाल के लिए काम करता है था । हमें तुरंत पता चल गया की तुम लोगों को इन चीजों की जरूरत है तो हमने ॅ बनवाया । हमें ये भी पता है कि तुम्हारा प्लान पानी के जहाज से भागने का था । पर अब तुम्हारे तो बहन में थोडा सा छेद है । हम अपनी एयरलाइंस से जाएंगे । आपकी एयरलाइंस ऍम या तो पीलिया के पच्चीस ऍम के इससे रह रहे हैं हम ये बात तो मेहता अच्छे से मालूम होगी । उसने जोकर से पूछा जो करने हामी भरी अच्छा डाॅ बोला आपकी एयरलाइंस से जाने में हमें ज्यादा दिक्कत नहीं होगी । ऍम जब इस बोला पूरी फाइट पे केवल हमारे आदमी होंगे, ऍम समझता हूँ । दुनिया के लिए यह सीक्रेट होगा । कमाल है ऍम अकडकर का पूरा एयरपोर्ट हमारे स्टाफ से भरा है । पुलिस को भी पता नहीं चलेगा हमारे हथियार भी प्लेन में पहुंच जाएंगे । कुछ देर शांति छाई रही । जोकर और डाइमंड के सामने उनके मिशल का नया रूप को बनाया था । कुछ दिन पहले पे टलने डायमंड को टॉर्चर किया था, जो करने में होटल में स्पेशल की पार्टी में खलबली मचाकर उनके लोगों को मारा था । आज के लोग साथ में काम कर रहे थे । सन्नाटे को शब्दों के तीर से जो करने भेज दिया । आप की तैयारियाँ सुनकर मुझ को लग रहा है कि हम आराम से के खर्चे तो निकल जाएंगे पर इंडिया में हथियारों को कैसे निकलवाएंगे? वहाँ तो आपका साफ होगा नहीं । एकदम सही सोचा तुम्हारे । जब इस ने कहा हथियार एयरपोर्ट पर पहुंचने से पहले ही उतार दिए जाएंगे । हमारा एक आदमी पैराशूट से सामान के साथ उतर जाएगा । मैं गया भी तय हो गई है । क्या बात है जो करो रहे था । तुम लोगों का सहारा ध्यान फाइल पर होना चाहिए । साइमन बोला बाकी चीजों में अपना दिमाग खराब मत कर रहा हूँ । मेरे ख्याल से अब तक तुमने पायल के कौन से तो काफी हद तक समझ गया । हो गए कोशिश कर रहे हैं । सवाल सोच दूसरी ओर लगी है जो कर रहे हैं । इस बारे में बोला क्या मतलब ऍम तापी में हमारा मार्गदर्शन कराया की आप ताकत पर है और हम सिर्फ दिमाग वाले तो अच्छा जी तो ऐसा है । हम अपने बचाव के तरीके सोच रहे थे । अच्छी बात है हमने वहशत सोच लिया । कुछ तो क्या है? सब साइमन ने पूछा मैं बताता हूँ पर पहले बोल रहा हूँ कि अगर आपने शर्त मंजूर नहीं की तो हम आपके साथ काम नहीं कर सकेंगे तो लौट ही । बात ये है जो करने हाथ फैलाकर का कि आविष्कार तक पहुंचने के बाद हमें आपसे काफी खतरा है । इसलिए हम चाहते हैं वैसा ही खतरा आप पर भी रहेगा, बोल दे रहा हूँ । ऐसे नहीं पूरी तरह बताने के लिए मुझे इंटरनेट चाहिए, सहमत ले अपना लैपटॉप उठाकर उसे दे दिया । जो करने झट से उसे गोद में लिया और एक वेब साइट खोलनी लगा । कुछ देर में बोला आप अपना कोई मेल आईडी बोलो, मेरा साॅस मेल डॉट को डॉट टी वी नफरत अपनी मिल जा कर लिया । कहकर जो करने लेपटॉप साइमन को दिया और अपना मोबाइल जेब से निकाला तो उसमें कुछ टाइप करने लगा । उसके पास मोबाइल देख कर के लोग चौकी पर कुछ बोली नहीं । कुछ देर में साइमन को मिला गई क्या है इसमें? साइमन ने उसे खोलते हुए पूछा, मैंने आपको एक ऑडियो फाइल भेजे ॅरियर साइमन ने फाइल डाउनलोड करके प्ले किए । बाबा जाने लगे, इसकी बात का बुरा मत मानी । ये आपके हूतियों से परिचित नहीं है । आपकी खा पी लिया तो हमारे बराबर की है । बस हमें स्पॅाट है और आप को भारतीय सेना रहे साइमन स्टॉप का बटन दबाया । खर सर्द लहजे में बोला इस हरकत का क्या अंजाम हो सकता है । हम लोग जानते हो । आप तो गुस्सा हो गए जो करने बोले, बन के साथ कहा हमारी बातें रिकॉर्ड करने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई जाउं । गुस्से के साथ खडा हो गया और कल निकाल कर जो कर पडताल नहीं खिलाफ अपना मोबाइल । इधर तो आप लोग तो पूरी तरह से बिगड गई । हम आप के घर में बैठे हैं । भाग कर जाएंगे तो कैसे? मेरी पूरी बात तो ऍम ऍम हम लोगों के बीच हुई बाते मैंने रिकॉर्ड की है । और ये बातें किसी और तक पहुंचाने का मेरा इरादा बिल्कुल भी नहीं है । तुम हमें तो मेल करना चाहते हो । साइमन ने पूछा जी नहीं, सब मिलकर हुआ लोग है । वो भी तभी जब आप से मुझे खतरा होगा । सही से बताओ मेरे मोबाइल से मेल कर सकता हूँ । ये तो आप समझ गए और मेरी मेल में खास सेटिंग हैं जिससे मेल स्कैंडल हो जाती है । यानी दो दिन, तीन दिन या एक महीने बाद कभी भी बहन मेल पहुंच सकती है, तुरंत नहीं जाएगी । ये सब करके क्या होगा क्या आप इस ने पूछा समझे मैंने की मिल आज कंट्रोल कर दी के चार दिन बाद मान लो, डीसीआई के चेक को मिल जाएगा । फिर अगर मैंने समय रहते मेल कैंसिल नहीं की तो ये वाकई उस तक पहुंच जाएगी । क्या पता तुम हमारे रिकॉर्ड की बातें पहले ही भेज चुके हो । ऍम आते हुए बोला भेज चुका हूँ पर पहुंची नहीं यानी जैसा कि मैंने भी समझाया मेल सिर्फ शेड्यूल की है पर वक्त रहते मैं मेल कैंसिल कर दूंगा । ये गलत है । अपना मोबाइल हो तो हम लोगों को बॅाल नहीं कर सकते हैं । एक मिनट एक मिनट जो करने हाथ उठाते हुए कहा आप लोगों को बता दूँ । मेरा मोबाइल जब्त करने या इसे फेंकने से मेल शेड्यूल में कोई फर्क नहीं पडेगा । वो मुझे समझ में आता है तो मतलब ऍम करूँ । मोबाइल तो अपने अपने पास रखूंगा । थोडा ध्यान देकर सोचिए जो करने आशा के साथ साइमन की तरफ देखा उसमें मेरी आवाज भी रिकॉर्ड आपको क्या लगता है आप लोगों के साथ? मैं खुद को भी फोकट में पकडा हुआ ऐसा क्यों कर रहे हैं? ये तो सिर्फ मेरी और टाइम की हिफाजत के लिया है ताकि आप हमें कभी भी धोखा ना दे सके । ये सिर्फ हमारी सिक्योरिटी के लिए आप अगर हमें नुकसान नहीं पहुंचा हो गया तो हम भी ऐसा कुछ नहीं करेंगे क्योंकि साइमन पिछले था । ये तुमने ठीक नहीं किया । क्यों अपनी जान की हिफाजत करना गलत है । स्थिति को समझते हुए चालीस ने अपनी गन नीचे कर ली । अगर जो कर गलती से भी मर गया तो उस मेल को कौन रोकेगा? उसने सोचा अब उन दोनों के भाव देखते हुए जोकर विजय ढंग से मुस्कराया । ये भी बता दूँ कि मेरा अकाउंट बडे से बडा है अगर भी हैक नहीं कर सकता है इसलिए हम लोगों का सीक्रेट मेरे पास पूरी डर है । जैसे है ठीक है, चलो मान लेते हैं सामने का क्या कह रही है कि मिशन पूरा होने के बाद तुम हम इतना मिल करने की कोशिश नहीं कर हो गए । आपको लगता है कितने बडे मिशन पर सफल होने के बाद मुझे ऐसी कोई मूर्खता करने की जरूरत होगी । कुछ तो आप जैसे ताकतवर संगठन से हमेशा दोस्ती रखने में ही फायदा है । ये तो मैं खुद की जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर सकता हूँ । लेकिन परमिशन में तो मैं कुछ हो गया । तो ऍम बोला बात तो ठीक है । जोकर थोडी पता के साथ बोला इसका तो यही मतलब निकलता है के आप लोगों को हम दोनों का पूरी तरह से ख्याल रखना होगा । साॅस कुछ नहीं बोल सके या की रंजो करने उन्हें फसा लिया था । देखिए ऍम उन्हें दिलासा दिलाने के लिए खोला । आपको ये बात सोचने ही नहीं चाहिए कि हम आपको ब्लैकमैल करेंगे । लोग आपके पार्टनर है पर तुम लोग गलती से भी मार सकते हो । उसमें हमारा क्या बोले? जांॅच तब आप मुझ को कम समझ रहे हैं । बोलिये, मौत को जूते की नोक पर रखना मेरी आदत है । आप के अड्डे पर मैंने क्या किया था? क्या भूल गए तो हम कैसे भूल सकते हैं का मानना पडेगा अपनी सुरक्षा घंटा है, आप तरीका निकाला है तो मेरा आपसे वादा है कि अगर मैं अपनी ही किसी गलती से मार रहा हुआ तो कोशिश करूंगा कि मरने से पहले आप के खिलाफ सबूत को मिटा दो । ऍम बोला हमें अब अपने मिशन पर ध्यान देना चाहिए । टोनी और क्रेटों को खबर मिलेगी । पोर्ट रोड पर आतंकवादियों की लाशें मिली है । पर असलियत तो ये थी कि एक अभी भी जिंदा था । वही तो जोकर की गोली का शिकार हुआ था । पुलिस ने उसे हॉस्पिटल पहुंचा दिया तो नहीं और करे तो इस वक्त हॉस्पिटल में ही थे । उस आतंकवादी एक ऑपरेशन चल रहा था । क्या ख्याल है? सिगरेट का कश मारते हुए टोनी ने कहा, बाकी तीनों के सर किसने थोडे क्या पता सोच रहा हूँ कि स्नाइपर राइफल का खर्चा किसने उठाया होगा? पहली आतंकवादियों को मारने के लिए इस बात का जवाब मिल सकता है बशर्ते हमें मालूम पड जाए । किस पानी से कार में कौन सवार था । फॅस की रिपोर्ट्स आती ही होगी । दलितों ने कहा बातचीत के जेल से भागने के बाद ही ये आतंकवादी नजर आए हैं । अब इस बंदे की जिंदा रहने से ही सब कुछ पता चल सकता है । तभी तो नहीं का फोन बजट उसने ऍम फिर क्रेटों से बोला फिंगरप्रिंट्स की रिपोर्ट आ गई । क्या पता चला पीछे से हम आ जाएगा । दोनों ने चौकर पीछे देखा । कॅश खडा था । उसके सिर पर पट्टी बंधी हुई थी । बहुत कमजोर दिख रहा था । पर उसके चेहरे पर आक्रोश भरा हुआ था । उसके पीछे डीसीआई के अन्य एजेंट खडे थे । क्रिकेट और तो नहीं । उसे देख कर अलग हो गए और देश के खुफिया विभाग का चीज उनके सामने खडा था । कितने फ्रिंगर प्रिंट है, जो करके डॅान जहाँ से पूछा जी पर आपको कैसे पता हमारा शक्ति निकला, ये तो होता क्या । बस स्पोर्ट की तरफ भाग रहे थे । जोकर भी तो नीचे था । क्या वह अभी टाइम से मिला हुआ है तो मोबाइल के साथ भाग रहे थे । आतंकवादियों ने उन पर हमला कर दिया । वहाँ का नजारा देखकर लग रहा है कि किसी तीसरी पार्टी ने उन्हें आतंकवादियों से बचा लिया और कोई नहीं पिटल के ही हो सकते हैं । पर चोकर क्रेटों को विश्वास नहीं हो रहा था या कि नहीं आ रहा है । हमें भी नहीं हो पा रहा था । शायद बहन से मिलने का नाटक कर रहा हूँ । भाषा तो हमें भी यही है । पर जब तक हमें कॉन्टेक्ट नहीं करता, हमारे लिए मैं अपराधी ही है । इस की क्या हालत है? उसने ऑपरेशन हॉल की तरफ इशारा किया । गोली दिल के पास रह गया । कह नहीं सकते कि बच्चे का या नहीं, बच्चे या नहीं । पर पीडिया में यही खबर जानी चाहिए की पसंद है । हो सकता है इसके साथ ही जा रहे हैं । मैं समझ गया काम आपका पूरा सहयोग करेंगे । सहयोग नहीं ऍफ सकती के साथ बोला हूँ हमने तुम्हारे का मिश्रा से बात कर लिया । यह तो भरी होती है । ये तो नहीं सकता था गया पता नहीं क्यों मेरा खुद का भी साथ नहीं दे रहा है । मेरे को खोलते हुए बात शाहली बोला । हिरासत भी पास बैठा हुआ था और उसके हाथ में मोबाइल फोन था, जिस पर अभी अभी उसने बात की थी । दोनों हताश दिखाई दे रहे थे । सब कुछ ठीक चल रहा था । बादशाह कह रहा था प्रोफेसर का आविष्कार तैयार हो गया था । उसकी पूरी हिफाजत भी की । कितनी गुप्त जगह कितने पासवर्ड उसे मैं पूछ कर रहे हैं । पर अब यही हिफाजत दुश्मन बन गई । हमारी हमारा आविष्कार हमारे सामने होगा और हम उसे छूट ही नहीं पाएंगे । क्या मालूम था भाई जान की प्रॉफेसर इस पर हम मर जाएगा तो हमारा कैसे मुझे हॉस्पिटल का हाथ लगता है । मुझे यकीन है बेलों की उसे डरा धमका रहे थे और फिर फाइल पाने में सफल हो गए । मोबाइल तो उन लोगों के सर के ऊपर से निकल गई होगी । प्रोफेसर की रहते भी भाषा केवल मैं समझ सकता हूँ, पर फिलहाल फाइल करना हाथों में है क्योंकि छात्र है वहाँ का इंसान है । शायद उसके बहस से सुलझा लें और हिंदुस्तान जाने का प्लान बना ले । पर प्रोफेसर को फाइल में ये सब लिखने की क्या जरूरत थी? ये तो हम भी जानते हैं कि मैं हिंदुस्तान में है । क्या पता प्रोफेसर के दिमाग में क्या चल रहा था मुझे बस इतना पता है कितना है हमें हर कीमत पर हासिल करनी होगी । पायल तो हमें कल ही मिल जाएगी । जाएंगे ये हिंदुस्तान ही ना वहाँ आविष्कार के सामने हम मिलेंगे ना इन्हें सामने खडे स्वागत करने के लिए हो सकता है की फाइल को कुछ ना हो जाए । ऊपर हमारा आविष्कार किसी काम का नहीं रहेगा । करोडों का खर्चा हुआ उस पर क्या जवाब देंगे । हम महामहिम करूँ खुदा पर भरोसा रखिए । शराफत हौसला दिलाते हुए बोला फॅसा बादशाह के आगे खून चल रही थी । हमारे चार ऍम मारेगा उस चक्कर में । तभी उनका एक साथ ही दौडते हुए अंदर पहुंचा । क्या हुआ उसकी बदहवासी देखते हुए शराफत ने पूछा जनाब हमारे एक साथ ही जिंदा है क्या मतलब खबर तो थी कि चारों मारे गए एक बच गया । खबर क्या पुलिस उसे अस्पताल भी ली गई थी और ऑपरेशन के बाद वहाँ बच गया । कुछ घंटों में उसे होश दिया जाएगा । क्या आपके चेहरे पर हम बोलने लगी हूँ । उसे खत्म करवाना पडेगा वरना पुलिसे कुत्ते उससे हमारे पास उगलवाने लगेंगे । ऍम और उसे अस्पताल भेजकर बच्चा अचानक खडा होकर बोला लाइफ लेकिन भाई जान किसी को कुछ करने की जरूरत नहीं है । पर इस तरह पुलिस हम तक पहुंच पैसे भी हमारे लिए यहाँ रुकना बेकार है । बादशाह कह रही सोच में डूबा हुआ था । जनाब की ट्रांसमीटर में जो करेगी । आवाज आ रही थी तो मैं हॉस्पिटल के साथ मिलकर काम कर रहा हूँ । तुमने अभी तक हमें कांटेक्ट क्यों नहीं किया? जलाटको रहा हूँ । मौका ही नहीं मिला । नहीं आपको मुझ पर शक तो नहीं हो गया था । बिल्कुल होने लगा था । मामला क्या चल रहा है? मामला आविष्कार का है । बहन भी हमारे देश के वैज्ञानिक का । मैं ऐसे खुला था तो में नहीं होगा तो हॉस्पिटल के लोग भारत जाने की तैयारी कर रहे हैं तो तुम भी उन के साथ बाहर जा रहे हो । जी कम खतरनाक है । अगर किसी को तुम पर शक हुआ तो मुसीबत ना हो गया । भारत में कहाँ जाना है फिलहाल पता नहीं हो गया । अगर किसी तरह की मदद की जरूरत हो तो हमें काम करना । हम भारत में भी तो मैं मतलब दिलवा सकते हैं । बिलकुल सर । मैं तो ऍम बादलों के ऊपर उडा जा रहा था । ऍम तो जोकर डायमंड के अलावा फिर दाल के अन्य सदस्य हैं । ऍम में दो पायलट, कुछ एयर होस्टेस और स्टीवन मौजूद है । साइमन जावेद जोकर और टाइमर । आपने नकली पासपोर्ट के मुताबिक मेकप करके बैठ गए डायमंड और जो कर इस वक्त एक लाख का अपने भारत का मैं खोल कर बैठे थे वे लोग । मैं अपने जगह जगह जो मिल जुल होकर बिन आइलैंड की तलाश कर रहे थे । साइमन ने सरकार सुलगा रखा था और जावे इसका आज के खिलाफ से महंगी फौज की छुट्टिया ले रहा था । गूगल पर ट्विन आइलैंड नाम से भारत में कोई आयलैंड नहीं मिला था, इसलिए वे अब एक गुप्त महत्व से ढूंढ रहे थे । ये मैं तो जबरदस्त इसमें नाम से ढूंढने के लिए । लेकिन ऍम भी होना चाहिए था डायमंड का जिसमें बनाई थी साइमन बोला इंटेक्स बनाने में आलस कर गया । इसमें हार देश के कब से कुछ ठिकाने भी दर्शाये हुए हैं । वही तो स्क्रीन से ध्यान हटाए बगैर जो करने पूछा । वैसे आप लोगों को आविष्कार के बारे में पता कैसे चला? फॅमिली या में कहाँ क्या हो रहा है? हर चीज पर हमारी निगाह रहती है । जब इस शान के साथ बोला पाकिस्तानी आतंकवादियों से हमारे कभी नहीं बने उन लोगों के हमारे देश में मौजूद की हमेशा हमें खाते थे । सामन बोल रहा था । हमें ये बात पता चल गई कि रे लोग फॅमिली के साथ कुछ के चली बता रहे हैं । बस के बाद बॅूद खर्च पढा खेल खेल रहे हैं । ऍम पूछा हूँ जेलर कैसा हाथ? उसके पहले से साठ का थे । किसी और तरीके से आया था । तब काफी खर्चा उठाना पडता है । अच्छी बात है डायमंड का । अब बंगाल की खाडी में आइलैंड ढूंढ रहे थे टायॅज महाराष्ट्र खयाल है हमारे अंकल के बारे में अचानक साइमन ने पूछा मतलब किस तरह के साथ फिर रहे हैं? बेहद पहनती और ऍम मुझे नहीं लगता । उसके अलावा उनको जिंदगी में किसी भी चीज में दिलचस्पी थे । चौबीस घंटे बस काम ही मैं स्कूल रहते थे । शायद यही कारण था कि उनको मेंटल प्रॉब्लम हो गई । क्या तुम्हें या तीन है, ऍम हुए थे क्या मतलब? डायमंड स्क्रीन से ध्यान हटाकर साइमन को देखा आपको क्या लगता है ये नाटक कर रहे थे । शायद मुझे ऐसा लगा जो करने का पर तो मुझे तो वो पागल ही लगते थे । उन्हें ॅ के पास भी तो नहीं लेकर गया था पर कौन पागल ऐसा हमेश का कर सकता है? सामने हाथ फैलाते हुए कहा आर रहता अगर उसी वक्त कैसे हुआ जब किसी पडे हामिश कार किताब पढ रहे थे इसमें सर बात छियालीस की साथ हो गया । पता नहीं डाॅ । क्या हुआ था? हो सकता है उतना समय मैंने कभी उनके साथ बताया नहीं कि पक्के तौर पर कुछ कह सकते हैं, होता रहता है तो मेरे लिए ये मौका है । बाकियों से बदला लेने का कहकर वह वापस लैपटॉप में देखने लगा ।

जोकर जासूस भाग - 05

मौलवी के उम्र पचपन के आसपास लग रहे थे । चेहरे पर ताडी थी मुझे साफ थी आंखों पर मोटे लाइन वाला चश्मा था जो कि ना तक चुका हुआ था । शरीर पर कोता और चूडीदार पाये जाना था । कर ते के ऊपर कालाकोट था और सिर पर काले रंग की ही तो भी शरीर तंदुरस्त था मगर चलते वक्त उसे पीठ चुकानी पडती थी । हाथ में लकडी की छडी सहारा दे रही थी । उसके साथ थी उसकी भी जिस तरह से पाँच तक बढ के बैठी हुई थी । उसकी गोद में करीब एक साल का बच्चा था । वे लोग सक्रिय सी गली के अंत में ऑटो से पहुंचे थे । गली में खेल रहे दो वेलिया के गोरे बच्चे उन्हें देखकर हंस रहे थे । महल भी सभी मकानों को बारी बारी से ध्यानपूर्वक देखने लगा । चारों तरफ देखने के बाद उसने पास खडे एक तो विलियन लडके की तरफ देखा । वह उसे ही तो कुछ टुकुर देख रहा था । होटों पर शरारती मुस्कान थी । मौलवी ने छडी के सहारे उस की तरफ कदम बढाया तो बहुत डर कर भागने को हुआ । बाढ खोडाल चुनाव खाओ मौलवी ने कुछ कर रहे हैं लडका हो गया बेटा क्या आप जानते हो कि गुश्ताबा आपको कहाँ रहते हैं । लडके ने गली के अंत में बनी इमारत की तरफ इशारा किया और कर एक तरफ भाग गया । मालती से सुरक्षित दूरी बनाने के बाद बहस हसने लगा और अपने दोस्तों के साथ कानाफूसी करने लगा । बाकी बच्चे भी खेल खिलाने लगे । उन पर ध्यान दिए बगैर महल भी अपने परिवार सहित उसके भारत की तरफ पड गया । बैल बचने पर एक जवान लडका हाजिर हुआ । उसे ऊपर से नीचे तक देखने के बाद उसने कडक सफर में पूछा क्या बात है? हमें गुस्ताफ पासपोर्ट वाला से मिलना है । उसने बुरा सा मुंह बनाते हुए थे पर फिर उसे और उसकी पीवी की तरफ देखा । फिर बोला यहाँ कोई पासपोर्ट वाला नहीं रहता । इससे पहले रह दरवाजा बंद करता । मौलवी ने छडी अडा दी हमारा मिया ऍम हमेशा यही घर बताया गया था हूँ क्या बताया गया था ॅ गुस्तावो का घर है ये कुछ आपको का घर है । किसी पासपोर्ट वाले का नहीं हो फॅमिली सकते हैं । वो घर पर नहीं ऍम आएंगे । कह नहीं सकता बाद में आना । आप कहे तक हम इजहार करेंगे वही तो है फॅमिली वक्त गुजाल मलविंद्र लॉन की तरफ इशारा किया वहाँ पे की कुछ कुर्सियां थी युवक में कुछ सोचा फिर बोला अंदर आ जाओ । दरवाजा पार करके लोग बैठक में पहुंचे । बैठने के बाद युवक में पूछा यहाँ का पता कैसे पता चला हो? जो ये तो हमें कोई ऍम वहाँ एक होशंगशाह एक है । हमारा वायॅस कहने लगे गुस्ताव! हमारे भाई की तरह ॅ में यहाँ रुकने का टाइम खत्म हो रहा था । कहने लग गए की कोई दिक्कत नहीं । वो स्टाफ काम करवा देगा । बाॅस की पासपोर्ट या वीजा का कोई विकास हो तो विजिट क्यों? मैं करवा देंगे कितना टाइम और बढवाना और ये लोग का नहीं । उसने उसकी बीवी बच्चे की तरफ इशारा किया । ऍम यह हमारी बेगम मैं ये हवाये शाहाब जा रहे हैं । बर्के में छिपे उसके बीवी ने कॉलेज से सब झुकाकर आधा पोलर युवा था । ऍम कहकर मैं अंदर चला गया । कुछ देर बाद वापस आया और उन्हें अंदर जाने का इशारा किया तो अन्य हैं गुस्सा होता है अच्छा आप कह रहे थे कि बाहर गए हुए हैं है फॅमिली योग खडा खडा सोच रहा था कि वहाँ से किस एंगल से मजा क्या लगा । अंदर के कमरे में उन्हें वो स्टाफ हो सोफे पर बैठा मिला । मैं पैंतीस साल का एक हट्टा कठ्ठा द्विधा बाल कम होने की वजह से माथा चौडा दिखाई दे रहा था । चेहरे पर फ्रेंच का दादी थी । शरीर पर शानदार सूट तो उसने सामने पढे सो वेपर उन्हें बैठने का इशारा किया और पूछा कितने दिन और रखना है फॅमिली बस तीन महीने में काम चल जाएगा । दो महीने से ज्यादा नहीं हो पायेगा । वॅार में कहा तेजी लोग हैं या कोई और भी नहीं हो जाएगा । अब यहाँ तो हम तीन ही है । वैसे लाहौर में हमारे चार लडके और हैं । सबसे बडा वाला तो आप ही की उम्र का होगा और दो बीस हजार लगेंगे । उसने उसके खानदान में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई । ब्लॅक बहुत ज्यादा है । अब अल्लाह आपको हमेशा खुश रखें । कुछ हैं फोने हाथ उठाकर चुप रहने का इशारा किया । मौलवी की बकवास पर उससे झुंझुलाहट हो रही थी पर वह किसी तरह संयम बनाए हुए था । कितना लाया हूँ अब पांड्रा हेलो भेज पता नहीं कहाँ कहाँ से आ जाते हैं कुछ आपने बडबडाते कोई सहमती में सर हिलाया ब्लॅक उसने बीवी से कहा बीवी ने बुरखे के अंदर हाथ डाला और शायद पैसे निकालने लगे की ये क्या ऍम लोग और अब के हाथ में पिस्तौल देखकर गुस्सा आपको बौखला गया । इधर मौलवी ने अपनी कोर्ट के अंदर हाथ डालकर बहुत चीज निकली, जिसे देखकर गुस्सा फूट की । सिट्टी पिट्टी गुम हो गए । उसे समझते देर में ही लगी कि वे दोनों पाकिस्तानी आतंकवादी हैं । फॅमिली उसकी आंखों के सामने ना चाहते हुए मौलबी होने से हजार हूँ । पाॅलिश क्या जितनी चाहो ऍम नहीं मत मानना मुझे क्या दुश्मनी है तुम्हारी तो दुश्मनी तो कुछ भी नहीं है । वर्क का नकाब ऊपर करके मर्दाना आवास में उसकी बीवी बोली पर अगर तो हमारी मदद नहीं करेगा तो जरूर हो जाएगी हूँ । जलबेहडा मालवीय बोला अब बताओ तो नहीं जोकर और टाइम इनके लिए पासपोर्ट और वीजा बनवाया था ना कौन जोकर साले टकले कहते हुए मौलवी ने उसके चौंकने पर एक घुसा दिया हूँ कि भाई बडे वाला बोला ऐसे शायद उनके असली नाम नहीं पता होंगे । ये काम तो नकली नहीं होते हैं । और ऍम सॉरी भाई लगी तो नहीं मुडके वाले ने जो करके एक असली फोटो निकली और गुस्सा आपको पका रही है । याॅर्क इंडिया के लिए तो बीज बनवाए होंगे । इसमें कुछ आपने ध्यान से फोटो देखी और हमें सर हिलाया । इसने ऐसी फोटो दी होगी जिसमें इसका और इसके साथ ही का कुछ और ही भेज होगा । हमें दोनों की फॅमिली फोटो चाहिए तो पाॅश इनके साथ लग गई कमाल है ऍम दिया एक नहीं ऐसा कैसे हो सकता है मैं सच कहाँ? भाई लोगों मैंने पांच पांच फोटो मांगी थी एक स्तर का मैं क्या करता? फिर भी देख लेता हूँ । शायद इत्तेफाक से रह गयी । वो पास रखे एक फाइल में देखने लगा । उसके हाथ का रहे थे । फिर एक जगह से उसने फोटो का एक छोटा सा बंडल उठाया और रबर बैंड उतारकर मेजबान सारी फोटो बिखेरती । सारी फोटो देखने के बाद वह मेमरी की तरह में भी आया । इसमें नहीं है । बुर्के वाले ने उसे एक झापड रसीद किया और बोला ये क्योंकि आप बंद कर और हमें उस फोटोग्राफर के पास ले चल जहाँ उनके फोटो की चलें और अगर वहाँ कोई नाटक किया तो वहीं सुना होगा । फिर ये लोग गुस्ताखों के साथ सामान्य ढंग से बाहर निकल गए । ऍम हूँ जो खुशी के साथ ही खाते हैं । ऍम उत्साह के साथ मुठेभेड चली मिल गया सहमने मुझ से हटाया कहाँ मैं जहाँ पे खडा हो गया जो करने लैप्टॉप उनकी तरफ कमाया । अरब सागर में यहाँ उन्होंने देखा । बाकी अरब सागर में तो छोटे छोटे विंडो देख रहे थे । उन्होंने सुन किया तो मालूम पडा कि दोनों पे भारत के तट से मात्र पचास किलोमीटर की दूरी पर थे । द्वीप के करीब सबसे महत्वपूर्ण शहर था पंजी यानी कि गोवा की राजधानी क्या हाल है जो करने पूछा था फिलहाल तो हमारी फाइट तलने पहुंच रही है । वहाँ से हम को आ जाने की तैयारी करेंगे । फॅस ध्यान से मैं द्वीप के चारों तरफ का मुआयना कर रहे थे । अब ये काम तो हो गया । आप हम लोगों को फाइल पर ध्यान देना चाहिए सामने का क्योंकि अचानक की मुस्कुराने लगा उसकी मुस्कान ऐसी थी जैसे उनकी खिल्ली उडा रहा हूँ जहाँ इसको इस बात से सख्त चिड थी क्या हुआ? उसने सकती से पूछ रहे हैं कुछ नहीं । मैं सिर्फ ये सोच रहा हूँ कि आप लोगों को क्यों लगता है । आपके फाइल में इस से ज्यादा कुछ और जानकारी होगी । बिल्कुल होगी ऍम करन क्या केरल पांच चले ट्राॅफी खान करवाना है था और ये फाइनल से भी प्यार है । फाॅर्स से क्यों निकलता है? फॅमिली को पर हमला क्यों कर रहा था? अर्चक पहुंचे रहने में आविष्कार बन पाया । दस चाह रहे हैं क्या बेहतर उसे पता ही होगी । फिर ऍम हासिल करने की कोशिश क्यों करता है? इस्काॅन फाइल में इस्काॅन खर्च हर चयन कह रहे हैं । यानी आविष्कार से रिलेटेड जानकारी ऍम वह चयन करेगी जब अच्छे ही कर नहीं बताया । टेक्निकल पाते हो सकती है जो करने करता कुमार फिर तो बहुत जानकारी तभी काम आएगी जब हमें आविष्कार मिल जाएगा । ऍम चाहिए वही तो मैं सोच रहा हूँ जो कर रहा हूँ । बार बार फाइल में दिमाग लगाने को बोलते हैं । अभी बहुत टाइम है । ऐसा नहीं है कि हम ने दिमाग नहीं लगाया, पर पहले हमें उस अविष्कार को अपने कब्जे में करना चाहिए । बाकी के ये सब का तो बाद में भी हो जाएंगे । अभी मेरे दिमाग में के चल रहा है । कितनी आइलैंड पर हमारे लिए कौन कितनी तैयारियों के साथ इंतजार कर रहा होगा? जवाब में कोई कुछ नहीं बोला । तो फिर उमर दिल्ली के एक स्कूल में टीचर था । इस समय है । आठवीं क्लास को पढा रहा था । चौकसे गणित का कोई फार्मूला लिखी रहा था कि उसका मोबाइल बचने लगा । उन करने वाले का नाम देखकर क्लास से बाहर निकल आया । सलाम वाले का दूसरी तरफ से शराब पता नहीं क्या बाजार वालेकुम, अस्सलाम भाईजान कैसे बजाते, बस लगता जल है पर भाई कैसे याद किया तो मैं आज एक मेल भेज रहा हूँ । उसमें एक शख्स कीबोर्ड है, उसका नाम है जोकर । ऍसे दिल्ली पहुंच रहा है । आज जो फोटो भेज रहा हूँ मैं उसके असली जरूरत नहीं । मैं कह रहा हूँ समझे ना जी इसके साथ सेटल के आदमी नहीं होंगे होंगे ये पता नहीं पाॅल के बारे में जानते हो या नहीं जानता हूँ भाई आईएसआई में आठ साल काम करने के बाद खुद दुनिया की इतनी जानकारी रखता हूँ । कम बोला शराफत कर रहा हूँ । ऍम हाँ बोलिए । होटल के बारे में जानते हो ये अच्छी बात है । अब जो कर के बारे में भी जान लगाओ डाॅ का सबसे खाॅन फिलहाल पेटल के साथ ये हमारे मूल के खिलाफ काम कर रहा है । इससे हमें जिंदा पकडना है । समझे जी आप फिक्र न करें कम हो जाएगा । अंधेरा छा गया था । एयरक्रू वेलिया कम्प्लेन अपने लक्ष्य की तरफ पड रहा था । ऍम तो कुछ दिन पहले कॉपरेट की तरफ गया था ऍम ट्रेन चढाने के बाद नशे में छोडते हुए तो चला गया जो काॅमन भी इत्मीनान से खा पी रहे थे । ऍसे बोला ऍन टूर है हाँ तैयारी करो ट्रेवल तो आगे बढ गया । उसने फेटल के दो सदस्यों को इशारा किया और तो इनकी पिछले भाग की तरफ चल दिया । दोनों उसके पीछे चले गए । क्या हथियार गिराने की तैयारी हो रही है? डाॅ । सामने हमें भरे हैं । मैं देखना चाहूंगा अगर आपको कोई ऐतराज हूँ बिलकुल तेरे का डॅाल तो और उसके साथियों के पीछे चला गया मुझको तो आपके साथ ही की फिक्र हो रही है । काफी टाइम ओके टॉयलेट में कहते हुए जोकर खडा हो गया । उसके ऍम सहमत भेदभरी मुस्कान के साथ बोला इतना ऍम टॉयलेट में हालत नहीं करेगा । फिर साइमन हस दिया पर कर लापरवाही से नया सिगार सुलगाने लगा । उसने जवाब नहीं दिया । जो खर्चे क्या था, वर्ष टॉयलेट की तरफ चला गया । टॉयलेट के दरवाजे को खटखटाकर बोला माॅस् क्या बात है? अरे कितना निकाल होगे हम आसमान में भी इतना प्रेशर बनता है । कभी कोई जवाब नहीं मिला । फिर उसका ध्यान डोर पर गया । खुला हुआ था, थक करेगी, जो करने दरवाजा खोलकर देखा । अंदर कोई नहीं था । मैं वापस जाने के लिए मुडा ही था कि उसे किचन की तरफ से कुछ आ जाएगा । वह धीरे धीरे उल्टे कदम लौट आया और फिर किचन की तरफ जैसे काम जला दिया । आवाजे सुनकर चोकर के चेहरे पर मुस्कान आ गई तो इस काम में टाइम लग रहा है । उसने सोचा फिर कुछ सोचते हुए अपने दरवाजे की नौ कमाई दरवाजा लायक नहीं था । उसने बेहद धीरे से दरवाजा खोला । ॅ अंदर था और उसके साथ थी एक एयर होस्टेस खूबसरत जिसमें की मल्लिका तो रारंग सुनहरे बात किस में जैसे सांचे में डाला हुआ । दोनों एक दूसरे में समय हुए थे और आई है । अचानक ही जो घर से लाया उसकी आवाज से दोनों ही बौखला गए और झटके के साथ एक दूसरे से अलग हो गए । तो तुम जाओगे ठहराने के साथ उठा चेहरे पर ऐसे भाव जैसे चोरी करते पकडा गया हूँ । ऍम से लाल होते हुए सिमट कर बैठ गई और अपनी नग्नता को हाथों से छिपाने की कोशिश करने लगे । मैंने कुछ नहीं देगा । जो करने अपनी आँखे बंद कर रही, उसको भूख लगी थी इसलिए कराया सारे मैं चलता हूँ । आप तो लगे रही पर ऐसे भले काम करने से पहले दरवाजा नहीं करना चाह रहे थे । जो कर तेजी से बाहर निकल गया । उसके हंसने की आवाज किचिन तक सुनाई दी थी । फॅार रह गया । दूर दूर तक कोई आबादी थी न कोई इमारत । भारतीय भूमि का बयान क्षेत्र बंजर जमीन और छोटे छोटे रेत के टीलों से सराबोर था । कुछ पेड अवश्य थे पर उनमें अधिकतर कटीले बबूल और कैक्टस के थे नहीं । पेडों के साइड में एक जीत करी थी और उस जीप के बोनट पर एक व्यक्ति आराम से लेटा हुआ था । अच्छा उन की रोशनी में उसकी फौजी वर्दी साफ दिखाई दे रही थी । सिर पर कहती थी पैरों में पूछ पैरों को लापरवाही से हिलाते हुए वह आसमान की तरफ देख रहा था । आसमान जाता था । असंख्य तारे टिमटिमा रहे थे । कई नक्षत्र में ध्यान से देखने पर पहचान में आ रहे थे । उसने रेस्ट पहुंच पर एक नजर डाली और फिर से आसमान को ताकते लगा । कुछ देर बाद तेज गडगडाहट की आवाज सुनाई देने लगी । शनि शनि आवाज तेज होती चली गई । लाल हरी बत्तियां आसमान में दिखाई देने लगी । फौजी खोदकर बोनट से उतर रहा और चीफ के अंदर बैठ गया । उस ने जीत की हेडलाइट ऑन कर ली । साथ में चेहरे पर नाइट विजन गॉगल्स चढा लिए फॅस की मदद से अंधेरे में भी देखा जा सकता था । हैं । आसमान की तरफ देखने लगा । फिर कुछ देर बाद उतार दिया । लगातार उनके इस्तेमाल से सब होने लगता था । कुछ देर के अंतर के बाद बहर गॉगल्स दोबारा लगा लेता हूँ और फिर आसमान की शिनाख्त करने लगता । तभी उसे अपने कंधे पर किसी चीज का एहसास हुआ । उसने चाहते हुए कौशल, सितारे और पीछे पालता उसके पीछे विकास नहीं खडा था, जिसने उसके कंधे पर हाथ रखा था । क्या हो गया भाई उसने बच्चे ऐसे दिखाते हुए कुछ आप डाॅॅ क्या देख रहते हैं? कनो कारोबारों टूट गया है । ऍम पहुंचे नहीं सकती के साथ पूछा यहाँ क्या कर रहे हो? साधारण सी वेशभूषा में था वह हृष्ट पुष्ट व्यक्ति उसका जिसमें कसरती किस्म का था । बिना कोई जवाब दिए मैं ऊपर से नीचे तक उसे घोर मिलेगा क्या देख रहे हो ऍम और ये सवाल तो मैं आपसे पूछ सकते हैं आप उनकी कर रहे हो? दिखाई नहीं देता । फौजी ने अपने वर्दी की तरफ ज्यादा क्या पंजीयन देखते हो गया है । फौजी वर्दी है पर पर गया मैं चला है अपने देश के फौजी तो ना लागे हो साले तो पाकिस्तान का बहुत ही देख रहा हूँ । बिल्कुल नहीं जी पाकिस्तान के हो गई । मैं तो कह रहा था कि आप अमरीकी फजीला गया हूँ । अच्छा और नहीं तो क्या अजय अंधेरे में देखन वास्ते ऐसी दूर बिना तो वही रख सके ना । उसकी इस बात से फौजी चौकिया बाहर से देखने वाले आदमी से उसे इतनी खुल बंदी की उम्मीद नहीं थी । मैं सतर्क हो गया । उसने आगे बढकर उसका गिरेबान पकड लिया । फॅसे बकवास करे चला जा रहा है । बताइए ऍम और इस वक्त यहाँ क्या करना है मेरे पीछे भेजा है किसी ने तो नहीं नहीं साहब हम तो हम तो सीधी तरह से जवाब देवर वरना गोली चल जाएगी तेरे लिए क्यारडू फॅमिली तो मेरे हाथ काफी फौजी ने मुट्ठी बनाकर का आप से नहीं थी हम से गोली चल जाएगी । कह कर उसने आंखों से नीचे की तरफ इशारा किया । फौजी ने सुन दही के साथ उसे देखा भाजपा नीचे इशारा करने लगा आखिर उसने दीजिए देख लिया और एकदम से गिरेवाल छोड दिया उसका वो खुला रहेगा तले हुए हाथ एकदम से ढीले पड गए वो अलवर का रुख ठीक उसकी ना भी बंद था मैं कुमार पडे प्यार से उसे देखते हुए मुस्कुरा रहा था ये ये इसी की बात कर रहे हम इतनी देर से हाथ में पकडे आपकी देखते ही नहीं है । ऍम दे रहा है तो आप अपनी ऍम काम आएगी तभी दूर की नहीं रेत के टीलों से धक धक की आवाज आई आप क्योंकि फौजी के पीछे की तरफ से आई थी तो उसकी गर्दन स्वतः ही पीछे घूम गए । ऍम हजार था । उसने अग्रवाल पर घुमाया और उसके सिर के पिछले हिस्से पर तय माना । फौजी टक्कर खाते हैं, कोई नहीं चल रहा क्या आपसे बात में के टाइम पास हुआ जी फुल मजा आ गया । फिर अचानक इसका बदल गया और उसकी आवाज में शहरी होना गया । पर अब टाइम हो गया तो मुझे लेने का ऍम और मैं लेट होना सहन नहीं करता है । पांच मिनट बाद उसके शरीर पर फौजी वर्दियां उसने अपने कपडे आ पहुंची के बेहोश शरीर को उठाकर जीत के अंदर डाल दिया । उसके सिर से गांगल सुधारना नहीं बोला था । मैं उन्हें अपनी आंखों पर चलाकर मैं उन तीनों की तरह पड गया जहाँ से आप आ जाइए । कुछ ही देर में मैं उसकी ले के पास पहुंच गया । वहाँ एक बडा सबका स् पैराशूट से बना पडा था । कुछ ही दूरी पर उसे कंसारी साया भी नजर आया । उसने टॉर्च निकालकर उस की तरफ इशारा किया । वह व्यक्ति पहला शूट निकाल रहा था । कुछ देर में बहुत उसके पास पहुंच गया । अब आई सफर कैसा रहा? फौजी के भेज में व्यवहार में पूछा ठीक था आज हवा ज्यादा चल रही थी । उसने सतर्कता के साथ जवाब दिया । शायद ये सवाल जवाब कोडवर्ड्स थे जिनसे जान पहचान की जाती थी । अगर तुम भी पहुंची, वर्दी में था, बहन के पास पहुंचा और उसे चेक करने लगा । कहीं बताए खुला नहीं बढना, काम बढ जाता हूँ । कब हारने सहजता के साथ कहा तो जीत यही लिया इसे जीत तक ले जाना । हम दोनों के बस की बात नहीं है । गवार ने वैसा ही किया । फिर दोनों ने मिलकर बस जीत में रखा । बस रखने में दोनों की सांस फूल गई । क्या है आगंतुक? थके हुए सर्वे का पानी होगा हमारे पास ये लोग गवार ने एक बोतल से पानी पीते हो । इसमें करवा समूह बनाया । यह किए कैसा पानी? दूसरे देश का एकदम से पानी पी होगे तो ऐसा ही लगेगा । उसने कहा फिर थोडा पानी और क्या रास्ते में बिसलरी ले लेंगे? गवार ने कहा कुछ ही देर में आगे तक को अपना सर चलता हुआ महसूस हुआ । सब कुछ ऊपर नीचे होता हुआ दिख रहा था । क्या हुआ? गवाह है सर । पहले बताते हुए बोला तो मैं पानी में जरूर रोमिला रखे हैं । अबे कौन से देश से आॅल आपने पानी मिलाया जाता है? पानी में शराब नहीं इसमें कुछ और है । फॅस लडखडाते हुए कमाल की तरह पढा खोले माॅक ऍम गोली मार लेना लाॅकर उसमें उसके हाथ में अपनाने वालबर्ग पकडा दिया । उसने बडी मुश्किल से रिवॉल्वर हाथों में लिया और लडखडाते हुए उस पर डाल दिया । फिर त्रिगर्त तब आता चला गया ऍम ऍम कालेज केवल देता है गोलियाँ जीत की पिछली सीट पर पडी है घोटाले मैं उनके जीत के पीछे पहुंच गया । गवार उसके पीछे पहुंचा और एक भरपूर ठोकर मारकर उसे जीत के अंदर पहुंचा दिया । धीरे धीरे उसकी आंखे बंद हो गयी । ऍम दिल्ली के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लाइन कर चुका था । एक एक करके साइमन जॅनरल के अन्य सदस्य बिना किसी दिक्कत के कस्टम से निकला है । एयरपोर्ट से भी लोग बाहर निकले । कल हम लोग ऍसे गोवा के लिए फ्लाइट लेंगे । ऍम बोला तो रात नहीं चलकर वेटिंग रूम में बताई जाए । जो करने पूछा ठीक है तो महिला हूँ । हम तो आराम से होटल में सोने का इरादा रखते हैं । क्या उसका हाथ पकडकर बोला तो तो मैं छोड देता हूँ और मैं तो मजाक कर रहा था । मैंने प्लेन में आपके साथ थोडी शरारत कर दी । इसलिए आप नाराज हो गए । क्या कर जो करने आंख मारे तो चालीस दिन चला कर रहे हैं । कुछ बोल नहीं सकते । हाँ, उस वक्त मेरे पास कैमरा होता । जोकर उसके कान में बोला । फिर आपको प्लाॅट मिल करने का एक और हथियार मिल जाता जाउं । घुटने लगा । फिर के लोग होटल रेडिसन के लिए चल दिया । एयरपोर्ट से निकलते ही उनकी टैक्सियों के पीछे एक सेंट्रो लग गई । उसमें तो उसी को बाहर बैठा हुआ था । मैं सावधानी से इनका पीछा कर रहा था । उसने उन्हें रेडिसन के विशालकाय खेत में प्रविष्ट होते देखा । कुछ समय व्यतीत करने के बाद भी वहां पहुंच गया । कारपा करके वहाँ होटल के अंदर विशालकाय हॉल में पहुंचा । वहाँ काफी भीड थी । स्विट्जरलैंड कंपनियों से रिसेप्शन पर नजर आए । मैं इधर उधर घूमने लगा जब ऍसे हटते दिखाई दिए । बहुत तेजी से वहां पहुंचा । उसने ध्यान से उन होल्डरों को देखा जहां से होटल के स्टाफ ने फेटल के लोगों के लिए चाबियाँ निकली थी हूँ नहीं थे किसी उतरी फॅर फॅस तीन सौ तीन नंबर के आॅडीशन सुमित में दाखिल होते ही जहाँ पे उसने अपना मोबाइल निकाल दिया । डॅाक फोन नहीं किया । मैं बोला डाॅ उनके उस आदमी का नाम था जो हथियारों के साथ पहला शूट से पूरा था । जिस शॅाट रहे हैं उनके नाॅक मैं मैंने कहा फिर उसका नंबर डायल किया नंबर नॉट रीचेबल आ रहा था फॅमिली है एक बार करता मुझे कि वह हथियार समेत सही सलामत पहुंच गया है तो वहाँ के लिए निकल गया था । चिंता मत था कुछ देर है तो आपको कॉल कर के देखेंगे । उसके बाद पूरी पार्टी ने होकर डिनर लिया और अपने अपने कमरों की तरफ बढ गए । जो कभी अपनी सेहत का दरवाजा खोल ही रहा था कि फेडरल का एक आदमी एल्बर्ट वहाँ पहुंचे क्या हुआ भाई जो करने पूछा कुछ नहीं काम ॅ ऍम पहुंचा यार तुम यहाँ से चले आ रहे हैं मुझे आप लोगों के साथ ही सोना । उसने कहा अब लोगों के साथ जो करने आगे पहले भाई ये कौनसा वाला सुना एक मैं शरीफ इंसान सिर्फ अपने औरत के साथ होता हूँ डायमंड के मुख से हंसी छोटे ऍम मुस्कुराकर बोला मेरा तो मतलब नहीं होना भी नहीं चाहिए । अच्छी बात नहीं होती है सर जब तक शादी न हो जाए आॅनलाइन होना चाहिए । जब तुम भी हो जाता है पूरा दिन भी दिया हवा में उडते होते हैं । कल फिर छोडना है मुझे आप लोगों के साथ मेरा मतलब आपके कमरे में सोने के लिए बोला गया । किसने बोला सर नहीं किसके सिर ने मुझे लगता था कि मुझे बोलता है सिर्फ और सिर्फ खिलाया जाता है । हाँ क्या नाम है और तुम्हारा कहना है कि किसी के सिर्फ तुमसे कहा । एल्बर्ट कुछ कहने के लिए मुंह खोला पर जो कर छत से ताली बजाकर इट लाते हुए बोला तो ये बात है । अब मुझे समझाते हैं तुम से यहाँ होने के लिए किसी के सिर में नहीं बल्कि खुद तुम्हारे सिर में कहा है सीधे का होना तुम्हारे दिमाग में ये बात है मुझे क्या पागल को देने का आता है । जब तेरे से पागल के साथ हूँ ऍम पर भाई देखो जोकर हाथ उठाकर बोला मुझको तो अकेले सोना ही पसंद है । तुम चाहो तो इसको उठा कर ले जा सकते हो । डायमंड की तरफ इशारा किया उसने ऍर में बोला सामान और चावल सर का आदेश के आदेश है । यही की रात हो गई है जिसको जिसके साथ सोना और गुलछर्रे उडाने हैं । उडाओ पर देखो मैं ऐसा वैसा आदमी नहीं हूँ । वो ऍम चलाया ठीक है तुम सो जाओ, हमें कोई दिक्कत नहीं है । धवन ने कहा था उसने चैन की सांस ली, उसके बाद है पहले चला गया क्या बात है तो जब बडी मसखरी सोच रही है डाॅ । इन लोगों को डर है कि कहीं हम भागना जाए इसलिए से लगाया अभी मुझे गुस्सा आ रहा था । करने थे महीने तसल्ली हमारा क्या जा रहा है? फ्री में सिक्योरिटी मिल रही है क्योंकि ये बात भी ठीक है जो करने सोचते हुए कहा फिर कूदकर बिस्तर पर पसर गया पानी से भरा जब सोए हुए अमर वर्मा के ऊपर खाली हो गया ऍम क्या चाहिए? पहाड बढाते हुए बैठा और फिर आंखें मैच में जाते हुए चारों तरफ देखने लगा इंद्रदेवता है बात हो हमें क्रोध आ रहा है अगर तुम फौरन ना उठे तो हम तो मैं चुल्लूभर पानी में तो बोल देंगे । कहते हुए फॅसने थोडा से पानी और छुआया मेरी जान अमन गंभीरता के साथ बोला बोल आन बुढा गाए हो मगर बच्चों वाली आदतें नहीं छोडी । कहकर उसने गिरी चादर एक तरफ फेकते फॅमिली बहस चुराकर सोया था जो इस तरह उठा रहा है टाइम तो देख ये कोई सोने का वक्त दुनिया में क्या चल रहा है? कुछ खबर भी है दुनिया के खबर रखने का । किसे होता था मेरी दवा आंखों के सामने अभी तक पानी का गुलाबी चेहरा घूम रहा है । पहाडी वादियों में कितने खूबसूरत लग रही थी । पूछा वो तो इतनी सेक्सी होती जा रही है कि क्या बताऊँ? अमर आज ही अपने दोस्तों के साथ शिमला टूर से वापस आएगा । उससे बात मत कर यार फरीद कल दिखाकर तो मेरी आंखों से वहाँ हसीन चेहरे ओझल कर दिया । इन हसीनाओं के चक्कर से बाहर निकल वरना किसी दिन कोई गले पड जाएगी । नहीं खानी पूजा उस टाइप की लडकियाँ नहीं है मॉडर्न है बस तो उस रहती हैं और इन दवाई करती है अभी भारतीय लडकियाँ कितनी भी मॉर्डन हो जाए उनके दिल में हमेशा किसी लडके को फंसाने का अरमान होता है । ऐसा है क्या? अगर आपके गोल करके बोला था तो मैं वही तेल मालिश चालू कर देता हूँ । उससे क्या होगा जैसे फंसाने के लिए पकडेगी मैं फिसल कर निकल जाऊंगा । अच्छा अब और कार्य में बैठो कहकर जॉन ने उसका हाथ की जाएगी करीब ये क्या बात होती है यार । अमर नाराजगी के साथ बोला सोकर उठने वाले को भले चाय वाय पूछा जाता है, तैयार होना पडता है । ये कैसी सरकार में बैठो । वो तो मैंने तेरह हुई दिया । आधी तैयारी हो गई है जाए रास्ते में पी लेंगे पर जाना है । अमर खडा होकर बोला था दिल्ली दस मिनट बाद जॉन की कार हाइवे पर दौड रही थी । जॉन का ध्यान सडक पर था । अमर जब भाई लेते हुए बोला ऍम तो मामला गया । काफी गंभीर मामला है । हो सकता है कि हाईअलर्ट डिक्लेयर हो जाएगा । हो गया । चीफ का कहना है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ कोई बडी साजिश में लगा हुआ है । शक है कि पाकिस्तान ने किसी ॅ के साथ मिलकर खतरनाक हथियार बना लिया है । ऐसा हथियार ऍम बेटी का प्रयोग करता है । क्या बात कर रहा हूँ? क्या फॅमिली वाले भी छेना अमेरिका की तरह पाकिस्तान का पालन पोषण करने लगे? फॅमिली के मिनिस्टर का कहना है कि ये काम पाकिस्तानियों ने उस साइंटिस्ट को मजबूर कर के बनवाया । ये सब बहानेबाजी और दिया वो खुद से मिला । मैं बस को बता रहा हूँ जो चीज में कहा है हो के बाद आगे क्या कहानी? पाकिस्तान के इस कारनामे के बारे में दो बिलियन अपराधी संगठन पेटल जान गया और उसने कैसी फाइल हासिल कर ली है, जिसमें आविष्कार संबंधित बेहद महत्वपूर्ण जानकारियां हैं । साइंटिस्ट के मरने के बाद से वह फाइल इधर उधर न चल रही थी । सबसे पहले मिली साइंटिस्ट के भतीजे डायमंड को जो खुद एक टीसीआई एजेंट फॅस के पास रखवाई, वहाँ से फिर टलने चलाई ऍम वही जोकर जिसका नाम हमेशा चर्चा में रहता है । हाँ, दूसरी तरफ जेल में बंद आतंकवादी बातचीत अली भाग गया । उसने जो काॅपर हमला करवाया पर पेटल ने उन्हें बचा लिया । खदशा चोकर और डायमंड के साथ उनकी सुना हो गई । सब लोग मिलकर इंडिया पहुंचे तो कब अमर सीट से उछल पडा । उसकी सारी नहीं एकदम से गायब हो गई । कुछ ही देर पहले इतनी जल्दी जल्दी सब कुछ हो गया । लग रहा है कि साउथ की कोई मूवी देख ली । फिर अभी क्या हम उन्हें पकडने का रहे? नहीं तो फिर क्या आरती उतारेंगे? जीत का आदेश है की उन पर नजर रखकर उस हथियार तक पहुंचा जाए और फिर हथियार समेत सबको कहकर चौदह सिर कलम करने के स्टाइल में हाथ घुमाया । हमारे हार इसका तो मतलब है कि हथियार इंडिया में ही कहीं वहाँ पाकिस्तान इतने पर निकला । इन लोगों के इंडिया के खिलाफ इंडिया में ही हथियार बनवा रखा है । ये तो हो गई, एक बार वहाँ पहुंच जाएगा । फिर उनसे पाकिस्तान कोई उडाएंगे अमर जोश में बोला तो वहाँ मेरे शेयर आइडिया जो हमने वो बनाया अपने पास तो आइडिया का भंडार है पर एक तो सोचो अगर फाइल लेकर ये लोग यहाँ आ गए हैं तो बातचीत और पाकिस्तान वाले कौनसा रखेंगे । वो भी आ रहे होंगे पीछे पीछे । मुझे तो लग रहा है कि ये भारत की धरती पर अपना युद्ध लडने वाले हैं । बहुत ही करते रहे मेरे हम पर मेरी जान । फिर हम क्यों नहीं पाकिस्तान की विरोधी से मिल जाते हैं । उनकी भारत से तो कोई दुश्मनी है नहीं । क्या पता पर है तो वह अपराधी ही तो कौन सा हम उनके साथ जिंदगी भर रहेंगे । मिशन के बाद उनकी भी आॅस्कर देंगे । फिलहाल चीफ ने सिर्फ पर नजर रखने के लिए कहा है । यही तो सारा मजा खत्म हो जाता है । जूनियर एसिड होने का कोई फायदा नहीं । हम अपना दिमाग इस्तेमाल नहीं कर सकते । जो चीज या सीनियर ने कहा उसे सिर झुकाकर मान लिया । ऍम पत्ते का जब से प्रमोशन हुआ है, दिखाई नहीं देता, पूरी स्वतंत्रता के साथ काम करता है, सामने आता है तो हम लोगों का ऐसे ट्रीट करता है जैसे हम साले सडक के कुत्ते हैं । है । जहाँ भी है अपनी काबिलियत की वजह से ज्यादा बडा है । अमर हाथ दिखाते हुए बोला मुझे तो लगता है कि आगे चलकर वही हमारा जीत बनेगा । अब ऐसा लिख कीडे पडे तरह में वह हमारे हिटलर भाई जाने चीज वन इयर मार लेगा सबकी जहाँ मुस्करा दिया ऍम पूरी तरह से चौका मैं बहुत जैसे गवार ने बेहोश किया था जिसमें के पूर्व से पसीना बहना शुरू हो गया । अब आप आप वही चाहिए खान है कौन वही जीत चलाते हो? जावेद कडक सफर में बोला आपका नाम बीबीसी पर सुना था छोटा शकील के चमचे को दुबई में पकडा था आपने पता टीवी बहुत ध्यान से देखते हो अपनी लाइन के लोगों की खबर रखनी पडती है ना? अरे नहीं मैं तो बस ड्राइवर हूँ । पैसों के लालच में पहली बार ऐसा काम किया । मैं जीत के पिछले भाग में बना हुआ पाई तरफ पडा था दाहिनी तरफ मैं दूसरा आदमी यानी कि डैरल था । जो पैराशूट से आया था वह भी बनाता है । दोनों के बीच में हथियारों से बडा बॉक्स था तो पैसों के लालच में कुछ भी करेगा ऍम या नहीं? विदेशी हथियार कितना बडा जरूरी है । जानता है क्या नहीं होगा आप की कसम सर, अपने बीवी बच्चों के कसम मुझे नहीं पता था । मुझे तो बताया गया कि कुछ विदेशी सामान्य टैक्स बचाने के लिए इस तरह से लाया जा रहा है फॅमिली ले पुलिस रिमांड में जाने के बाद देना । उसके बाद तुम्हारा घर बनने का जेल तो तो कर भी रहेगा । अरे तो विलियन कैसे रहेगा? वहाँ बता दे से भी कोई कुछ भी नहीं बोला । दोनों पंधे पडे कभी एक दूसरे को देखते हैं । तभी जावेद को जीत इस वक्त किसी हाइवे पर थी । सडक के दोनों तरफ काफी देर से सिर्फ पेड दिख रहे थे । धीरे धीरे कुछ वहाँ पे और दुकानें देखने लगी । शायद कोई शहर आने वाला था । जावेद ने जेब से मोबाइल निकालकर एक नजर डाली । फिर कुछ आगे जाकर सडक किनारे जीप लगा दी । ऍम कुमार खर्चा वेद की तरफ देखा तो उसकी नजर मोबाइल पर पडी । ये तो मेरा हैं । वह बहुत लाया मालूम है इसमें नेटवर्क आने लगा है । आपने बहुत कपडे कुशल मंगल नहीं बताना चाहोगे । मेरा कोई बहुत नहीं है । ऍम का नंबर क्यों? मैं चुप रहा । आपने मौत को बचाने की कोशिश मत कर । अगर मेरे पास ये नंबर है तो मैं ये भी जानता हूँ कि वह कहाँ है और तुम लोगों का प्लान किया है । जब हम सब जानते हो तो फोन भी खुद ही क्यों नहीं कर लेते हैं । उसने रोके स्वर में कहा उसके इस तेवर से जावेद के चेहरे पर कोई बदलाव नहीं आया । आराम से सीट लांघकर पीछे हट गया । एक बार को तो डेरेन को लगा । वह उस पर हाथ उठाने वाला है । पर उसके विपरीत पर दूसरे व्यक्ति पर जुड गया और उसके बंधन खोलने लगा । उसे खोलने के बाद पहले वापस अपनी सीट पर आ गया और रिवॉल्वर निकाल लिया । आपने बंधन खुले देखकर वहाँ सोच में पडा हुआ था । उसका दिमाग दौडने लगा था । जाना की वैसे ही था जैसे पाँच तक उसके पूरे शरीर में झुनझुनी दौडते । फिर अचानक की वह हाथ जोडकर के खिलाने लगा । सर, प्लीज ऐसा मत करना कैसा जावेद ने रिवाल्वर की नाल मिलाकर मुझे मुझे मुझे समझ आ गया । आप आप इसे डराने के लिए मेरा एनकाउंटर करने की सोच रहे हैं जहाँ पे तू से खोलता रहा । इसलिए मेरे हाॅरर ही लूंगा भी नहीं । यहाँ से जावेद असर नहीं । मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं । फिर फिर क्यों? मैंने तुम्हारे हाथ इसलिए खोला था की तो इनका इस्तेमाल कर सकते हो? रामचंद्र शिंदे आप खुद भी रामनाथ क्या मैंने उसकी बात काटी? उसके गाल पर एक जोरदार थप्पड टाॅक । शिंदे ने आंखें फाडकर टेरेन को देखा । उसके चेहरे पर कोई भाव नहीं । शिंदे हिचकिचाया जावेद केजरीवाल पर धमकाते हुए हैं तो शिंदे ने हाथ हवा में उठा लिया । गढ तप्पड जोरदार होना चाहिए । तुम तो नहीं हो रहा है शिंदे ने नाम करेला तो लगा साले जावेद हूँ । चाॅद लगती शिंदे नहीं क्योंकि डेरेन के हाथ कर लेते है । किसी प्रकार से बचने की कोशिश नहीं कर सकता था । चटा जावेद करता है । हद कुमार शिंदे के काल पर चढ गया है । उसके भारी भरकम हाथ के प्रहार से उसका पूरा चेहरा भन्ना गया । अब समझ आया ऐसी आवाज आनी चाहिए । चिंदे निकाल सहलाते हुए सहमती में सिर्फ खिलाया । मारत अच्छा हाँ चाॅस बस चल रहा है बिचारे डेरेन को एक थप्पड मुफ्त में मिल गया । आपके हुए शिंदे वापस सीट पर बैठ गया । मारते हुए वह लगभग खडा हो गया था । डाॅन के होठ पड गए थे । गांव टमाटर की तरह लाल हो गया था । फोन करने का मूड बना । जावेद ने नम्रता के साथ पूछा डाॅ कोई जवाब नहीं दिया । ऍम जावेद मिस कर रहा हूँ । खुशी की बात है । मेरी तो विशेषता ही यही है । मुझे कोई मुस्लिमों को टॉर्चर देकर मुंह खुलवाना मुझे तुमसे कुछ सीखने को मिलेगा विदेशी मुस्लिमों को टॉर्चर करने का मौका कश्मीर बार बार मिलता है । उत्तर क्या किया जाए? जावेद रिवाल्वर की नाल खोट पर रखकर सोचने लगा अपना ऐसा करते हैं एक गेम खेलते हैं तेरी पांच उंगलियां और मेरी पांच गोलियां एक एक कर के तौर से है ना कहकर जावेद झपट कर उसके पीठ पर बने हाथ को भेज दिया । एक अंगुली दबोची और टाॅवर का मुख्य उस पर चिपका दिया । डाॅ । खुद को छुडाने की नाकाम कोशिश करते हुए बोला तो ऐसा नहीं कर सकते हैं मैं मैं तुम्हारी कैद में हूँ । मुझे अपने ऑफिसर के पास ले चलो मेरा गाँव के सर मैं खुद और मैं तो मैं थोडी ना हूँ । बस उंगलियाँ तोडूंगा । लोग समझेंगे कि तुमने मंच पर फायर करना चाहा होगा और मैंने बचाव में तुम्हारे हाथ पर फायर कर दिया । हाँ जी नहीं नहीं बच्चे घर । शिंदे ने तो अपनी आंखे बंद कर ली । इतना हेल्मसे खोली गई और लग जाएगी । कहते हुए जावेद ने तो घर पर दबाव डाला ऍम मैं उनको करता हूँ । मैं बोला ठीक है तो इतना नाटक करवाने की क्या जरूरत थी तो मैं तुम्हारे बॉस का नंबर मिलाऊंगा और तुम वैसे ही बात करोगे जैसे नवंबर हालत में करते हैं । खर्चा है कि या तो सीक्रेट इशारा किया तो ऐसी हालत करूंगा की मौत की भीक मांगू गए । घर मिलेगी नहीं । डाॅ । आंखों से सहमती जाहिर । उसके बाद जावेद ने नंबर लगाया । तब दूसरी तरफ से किसी ने उठाया नहीं पिटल । पार्टी के दिन लेने से पहले तौफीक ओमार रिसेप्शन हॉल के उसके अंदर में खडा था । जहां टॉयलेट था । उसने हॉल में घूम रहे मीटर को इशारे से बुलाया । मैं तुरंत उसके पास पहुंचा । येस मैं एक पढा लिखा युवक था । आखिर फाइव स्टार होटल था । ये देखो यहाँ टॉयलेट की हालत कहते हुए टॉपिक टॉयलेट के अंदर आ गया । क्या वो असर बेटर उसके पीछे पहुंचा? अंदर आते ही फटाक से टॉयलेट का दरवाजा एक दूसरे व्यक्ति ने बंद कर लिया । वेटर चौकर बढता है । उस व्यक्ति के हाथ में रिवॉल्वर था तो भी हमारा एक काम करना है तो आप एक में उसका ध्यान आकर्षित किया । काम बेटर की आंखों में मौत का भाई था । अमरीकी डुप्लीकेट चाबी रिसेप्शन पर होती है तो तीन सौ तीन तीन सौ, चार सौ पंद्रह सौ तीन सौ सोलह की चाबी अलानी तो यही इंतजार करूंगा मेरा ये साथ ही तुम्हारे साथ हॉल में जाएगा और अगर तुमने कोई चालाकी तो यही तो मैं गोली मार देगा । मैं तैयार हूँ मुझे मत मानना मगर मेरे हिसाब से इस तरह का भी हमारा एक और साथ ही होगा ना बॅाल चाय रखेगा मंगा उठाकर तुम चाभी गायब कर देना । काम बहुत रिस्की असर अगर रिसेप्शन पर ही पकड लिया तो मेरी नौकरी चली जाएगी । पकडे गए तो सिर्फ नौकरी जाएगी और अगर कोशिश नहीं की तो जान जाएगी फॅसने हजार के दस नोट उसके हाथ में पकडा है ये हैरान था रखो तुम्हारी मेहनत की कमाई है हूँ ।

जोकर जासूस भाग - 06

ऍम तहत बेहद मोहक अंदाज में बोला ऍम ऍम खूबसूरत रिसेप्शनिस्ट उससे भी ज्यादा मोहक अंदाज में मुस्कुराकर बोली उसके सामने सुनहरे प्रेम का चश्मा लगाए एक रईस सा दिखने वाला युवक था । मैं दिल्ली में लाया हूँ, यहाँ के साथ आ जानकारी नहीं है । अब बता सकते हैं कि यहाँ क्या क्या देखने लायक है । ऍम आप ऍम इंडिया गेट, जंतर मंतर वगैरह घूमने जा सकते हैं और बहुत सबसे मैं जानता हूँ । मेरा मतलब इन हिस्टोरिकल जगह से नहीं था । मुझे कुछ नया देखना है । कुछ रहे बिलकुल आपके चेहरे की तरह रिसेप्शनिस्ट के होटल पर शर्मीली मुस्कान आ गए । व्यक्ति गोल रिसेप्शन काउंटर के पानी तरफ खडा उससे बातें कर रहा था । ऍम उसकी तरफ घूमी हुई थी । मैं इसी तरह उसके साथ फ्लाइट करता रहा और मौके का फायदा उठाकर मीटर ताहिनी तरफ से काउंटर के पीछे आ गया । ऍम पीठ उसकी तरफ थी । फिर उसने हॉल में एक सरसरी नजर डालें । उसकी तरफ किसी का ध्यान नहीं था । सेवाएं टॉपिक के साथ ही का वह एक सौ पेपर बैठा था । उसकी कोर्ट में बैठ था जिसके नीचे रिवॉल्वर छिपाता । वेटर में बेहद धीरे से चाबियों वाली दराज खींची और छत से चाबियों का गुच्छा लेकर टॉयलेट की तरफ चला गया तो फिर तीन सौ पैंतीस नंबर की सोचता भी बुक करा ली थी । हॉस्पिटल के लोग कमरे बुक करा के जा चुके थे । इस वक्त तो सोच में मैं अपने दो साथियों के साथ था । एक जो टॉयलेट में उसके साथ था और दूसरा जो ऍसे बात कर रहा था । ये लोग खाना खाकर लाते ही होंगे । सुनहरे चश्मे वाला बोला जब तक ये लोग लौटेंगे, ऑल आउट का असर परवान चढ चुका होगा । दूसरा बोला ये नायब उसका दिलाई तो था जमाल चश्मे वाला पूरा ऍम फिल्में बेहोशी की तरह देनी पडेगी । दादा तो तभी मिलेगी जब वाकई असर होगा । तो फिर क्षमता के साथ बोला आप इतमीनान रखी है, असर की गारंटी देता हूँ । दवा बहुत तेज है । कुछ सोचते हुए चश्मे वाला बोला ऐसा ना हो गया । ऑल आउट ऑफ कर रहे हैं । मुझे नहीं लगता उसका ध्यान ऑलआउट जैसे मामूली चीज पर जाएगा । जमालपुरा । उनके दिमाग में तो बडे बडे पुलाव पक रहे होंगे । उसकी चिंता मत कर तो बोला मैंने उन्हें छिपाकर लगा ऍम के पीछे ये अपने बेहतरीन काम किया । तभी उन्हें लॉबी से चहलकदमी की आवाज आएगी । लोगों के बाद करने की आवाज के आने लगी । आपको लगता है ये लोग आ गए कश्मीर वाला बोला जब आवाज बंद हो गयी जमाल बाहर का एक और चक्कर लगाकर लौटा सभी का बडो की लाइफ चल रही है । यानी सब के सब लौट आए हैं तो फिर नहीं घडी पर नजर डालें । इस वक्त बारहबीस हुए हैं उन्हें भी खुश होने में कितना टाइम लगेगा । कम से कम पंद्रह मिनट तो लगा लीजिए बीस मिनट में तो क्या कोई भी बेहोश हो जाएगा । ठीक है हम बारह पचास पर चेक करेंगे मेरी ज्ञान अमर बुला बोल मेरे हम ये तो जाती है जाती भी नहीं लागत है उन पर मुझे भी नहीं झन्नाटेदार तमाचा है हमारे ऊपर अगर तमाचा भी नहीं गंदी सी गाली लगी है हमारी साठ पर और खाली भी नहीं महान खाकर जैसे किसी ने पींग दिया है मैं ऊपर तीन भी नहीं जो हमने अपनी हथेली उसके ऊपर रख दी । अमर एक्शन झूलते उसका हाथ उठाया और वो पढते हुए बोला बोलने दे मुझे दिल की भडास निकालने दे हम नाटक मत कर तुझे । अगर ये नाटक लगता है तो लाना है तो जॉन ने बिना कुछ कहे सामने देखा उसके कारण ऍम के मेन गेट के सामने खरीदी सीक्रेट सर्विस में भर्ती होने के लिए कितने पापड मिले थे । बोल दिया तो ढाई सौ कैंडी देते और हम सिर्फ चार लोग चले गए । ज्यादा है हाँ तो वो सब की दिला रहे हैं । इसलिए मेरी जान तो सोच सकें कि हम जैसे होनहार एजेंट को आज चीफ वॉचमैन बनाया गया है । पहले गोश भरे स्वर में बोला तो हर चीज को नेगेटिव ली क्यों लेता है? तभी अमर के मोबाइल में मैसेज की बीच सुनाई दी जीत का मैं बोला उन लोगों की फोटो भेजी है । दोनों कार से उतरकर मेन गेट की तरफ बढ गए तो उन्होंने फोटो देखी थी महज अगर टाइम पे दाल के सदस्यों की मेकप करने के बाद की थी । गेट के पास दो गाज खडे थे अजित आप लोग गेट को बंद कर लो । अमर बोला आप लोग कौन? एक कार्ड उसके सामने करता हुआ बोला हम हैं आधी रात के रक्षक । उसने अजीब ढंग से अमर को देखा जो हमने बात करने से पहले आई कान्ट निकाल कर दिखाया जी सर गॅाड हो गया फिर गेट बंद कर मिलेगा मेरी जान अमर बोला बोल मेरे हम तुम्हें सरम मजा किरकिरा कर दिया । अब सीक्रेट एजेंट सबको इस तरह अपना परिचय देता रहेगा । हमारे सीक्रेट का क्या हो गया जो हमने जवाब नहीं दिया । गार्ड दौडता हुआ वापस पहुंचा । कुछ कर बडे के सर उसने पूछा अपने देश में कहाँ गडबड नहीं है? उधर ने कहा ऍम टॉपिक में घडी पर नजर डाली । बारह पचास हो गए थे तो उसने रूम फोन का रिसीवर उठाया और स्टार बटन दबाने के बाद तीन सौ तीन डायल क्या बैल जाती रही । पर किसी ने पिक नहीं किया । फिर उसमें तीन सौ चार को आजमाया । इसी तरह तीन सौ पंद्रह सौ तीन सौ बोला पर भी वही अंजाम निकला । उसने मुस्कुराकर जमाल को देखा वाकई डाल देता हूँ तो मैं ही दिए की जवान खुशी से खुल गया । फिर तीनों बाहर निकलकर तीन सौ बोला के सामने पहुंचे । टॉपिक ने बैल बजाकर तब देश की अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई । फिर उसमें चाबियों का गुच्छा निकाला और प्लॉट खोलकर अंदर आ गया । अंदर उसने भाई तो उनकी तो उन्हें तीन आदमी बैठ पर और एक सौ पेपर होते हुए नजर आया । यहाँ नहीं है । उसने कहा फिर लाइट बंद करके कमरे से बाहर निकला है । वेल होगा । तीन सौ चार के पास पहुंचे तो फिर अभी लाख खोल ही रहा था कि कश्मीर वाले ने टोक दिया करो । क्या हुआ आॅनलाइन जमाल मियां उन लोगों को अल्लाह को प्यार करना है क्या वो जमाल जैसे सोते से जाएगा । ऑलआउट बंद करना तो भूल ही गए पर चलता रहा तो बहस जहर के असर से मर जाएंगे । टॉपिक में उसे चाबी पकडाई और आउट बंद ही नहीं करना लेकर भी आना है । हमें तो बोल मैं यहाँ सबूत नहीं छोडने हैं । ऍम आगे इस्तेमाल हो जाएगा । जमाल सिर हिलाते हुए चला गया । वे दोनों तीन सौ में दाखिल हुए । बहुत उन्हें एक सौ पेपर और दो बेड पर होते देखें । यही है तो फेकने जोकर की तरफ इशारा किया । आखिरकार पकड में आ ही गया । ये कुत्ता कश्मीर वाला खुशी से मचल उठा । भाईजान खुश हो जाएंगे जब हमें से उनके सामने पेश करेंगे । उसके बाद जमाल ने चारों रूम से ऑलआउट निकले । आखिर तीन सौ तीन से निकालकर जो उसे लाभ कर ही रहे थे कि तीनों को रूम के अंदर से आवाज सुनाई दी । किसी का मोबाइल बच रहा है, जमालपुर देखेंगे नहीं । फॅसने जोकर को संभालते हुए कहा बच्चे तो अभी से संभालो फिर भी लोग जोकर को उठाते । खींचते हुए तो लिस्ट मिले आए । ग्राउंड फ्लोर पर पहुंचकर मैं एक कैलेरी की तरह पड गए । गैलरी के अंत में एक दरवाजा था जो की लॉक था । टॉपिक ने साॅल्वर से उस पर फायर किया तो बहुत दूर गया । उस दरवाजे से भी पार्किंग में निकल आए तो दरवाजे के पास ट्रॉफी किसी इंट्रो पहन के हिसाब से खरीदी । अमर जॉन गेट के पास खडे टाइमपास कर रहे थे । तब यह कार होटल के अंदर से आकर खेत पर पहुंचकर हॉर्न बजाने लगे । एक तरफ से अमर और दूसरी तरफ से जॉन कार के पास पहुंचे । क्या? बात ऍम उसने उनकी तरफ ध्यान दिए बगैर गार्ड से कहा । अमर ने एक नजर पिछली सीट पर डाली । वहाँ दो लोग बैठे थे । एक की आंखों पर सुनहरे फ्रेम का चश्मा था । असुविधा के लिए माफी सर । हम लोग इस वक्त गेट बंद रखते हैं । आप लोग कहीं जा रहे हैं क्या? अमर में पूछा, बिल्कुल जाने के लिए ही तो आए हैं । कितनी देर में लौटेंगे तो उसे मतलब चिंता मत करो । हम रूम का बिल एडवांस में देकर आए हैं । मेरा मतलब ये नहीं था । बस आप लोगों की सुरक्षा के लिए ही ये सब पूछ रहा था क्योंकि गार्ड गेट खोल रहा हूँ । आदेश का पालन हुआ और कार दनदनाती हुई के पार कर गई । ये क्या चक्कर था । जमाल बोला ये दोनों लडकी कौन है? कश्मीर वाले के चेहरे पर आशंका के बादल छाए थे । कहीं गांव वाले तो नहीं दोनों पिछली सीट पर हैं जो कर उनके पैरों के पास पडा था । काफी इत्मीनान से कार चला रहा था हूँ ऍम कोई भी हो अगर हम से बडे तो हमने साफ कर देंगे । ये बताओ जैसे कितनी देर में हो जाएगा । कम से कम चार घंटे लगेंगे जमालपुरा तभी हैरानीवाली घटना हुई जिससे उनमें से तीनों ने दूर दूर तक नहीं सोचा था । कश्मीर वाले का चश्मा टूट चुका था । फॅस टूटने से उसके आंख और लाख पार हो गए । इसका कारण था उसके चेहरे पर पडी सफर दस तक एक । उधर जमाल ने समझने की कोशिश करते हुए रिवॉल्वर निकालने की कोशिश की ही थी कि उसके ऊपर जबरदस्त मुक्का पडा । मुझे डर था ना ठीक निकालते हुए मैं एक तरफ गिरा फुटबॉल पर दूसरी तरफ एक बाल भी तो नहीं देता था और इतना कुछ हो गया । दूसरे पाॅड करके दो प्लेट निकली और दोनों लाश में तब्दील हो गए । टॉपिक के पैर ट्रेक पर चल गए । रिवॉल्वर निकालकर वहाँ पलट नहीं वाला था की उसकी गर्दन पर पीछे से रिवॉल्वर की करनाल चिपका दी गई । उसने शीशे में उसका देखा तो चौंक गया हूँ तो तुम ऍम कुछ अलग आकार में कोई पांचवा भी है । जोकर बोला आॅवर मुझको दो और कार आगे बडा हो तो बेहोश नहीं हुई तो फिर पूछे बगैर नहीं रह सका । सुना नहीं क्या जो करने रिवॉल्वर की नोक कढाई उसमें पाॅवर दिया और अब कार आगे बढा ले । जोकर आराम से दोनों लाशों के बीच बैठ गया और बोला अब ठीक है पहले मेरे सवालों का जवाब दे तो कॉलेज और मुझको कहाँ ले जा रहा है? मुझे अपना शुभचिंतक समझे टॉपिक नम्रता के साथ बोला । तुम ने इन दोनों को भी मतलब बात किया तो अच्छा इसलिए कह रहा था कि कुत्ते को भाईजान के सामने पेश करेंगे । फिर इसका मतलब ये था ये भाई जानकारी है बाद ख्याली टॉपिक चल रहा था जो करने रिवॉल्वर की नोक कब आएगा हूँ? मुंबई है वो है कहां ऍम दिया गया हूँ तो मुझे उसके आने तक कैद में रखने वाले हो गए । देखो ऐसा कुछ नहीं है तो मैं कोई नुकसान नहीं पहुंचाना था । हम तो मैं अपने साथ मिला लेते हैं । अच्छा फिलहाल तो मैं तेरे को तेरे मारे हुए साथियों के साथ मिलवाने का इंतजाम करता हूँ, होकर के सफर में करो होता । को भागते ही टॉपिक जल्दी से बोला तो मुझे नहीं मार सकते । क्यों नहीं मार सकता? कौन रोक रहा मुझे वो हमारा पीछा कर रहे हैं । उसने रियरव्यू की तरफ इशारा किया जो करने भी देखा उन के पीछे एक तेजी से चली आ रही थी । मुझे मार दिया तो उनके चंगुल में फंसा हो गया तो नहीं हूँ । पता नहीं ऍम अगर तुम घोष में थे तो तुमने गेट पर की हुई बातें सुनी होगी । तब से होश में हूँ । जब से तुम मेरे कमरे में घुसे देंगे पंकज को खत्म कर के भी मैं उनसे निपट सकता हूँ । मैं चाहता हूँ कि तुम पडे कलहकारी जाता होगा, कर दिया है यहाँ के लोग तुम्हारी एक नहीं चल रहेंगे । हम लोगों को इन जासूसों के साथ खेलने की आदत है । मेरी मदद के बिना तो मिल से किसी हालत में नहीं बच्चे हो गए मुझको उनसे बचने की जरूरत ही क्या है । मेरा फर्स्ट था तो में समझा दिया । अब मुझे मारना ही चाहते हो तो मुझे क्या परवाह हूँ । कार रोक देता हूँ कि नहीं चलता रहा हूँ । सीधे चलने से कुछ नहीं होगा । गनीमत समझो कि ये शायद सिर्फ हमारा पीछा करना चाहते हैं । पकडना होता तो अब तक गश्ती पुलिस को खबर करके पकडा चुके होते हैं । पकडना होता है तो ये तुम लोगों को होटल क्रिकेट से आगे बढ नहीं नहीं देते हैं जो करने का इस से पीछा छुडा सकते हो तो छोडा हुआ आराम से बैठे हैं । दिल्ली में दस साल से हूँ ऐसा चकमा दूंगा नहीं कि धूल चाटते रह जाएंगे साले क्या करता हूँ? कितने पांच बजे लगाया और कार की गति बढता चला गया । कुछ दूर जाकर उसने क्लेप्टन मानव फिर उस रोड से दूसरा भाई लेकर कार भगाना चला गया । पहली सडक पर खुली और फिर वहाँ से भाई तरफ कार्मोडी पीछे आती कार्तिक हाई देना बंद हो गई । पर अगले चौराहे पर पहुंचने से पहले मैं उन्हें पीछे गली से आती चल की हाँ कभी भी पीछे पर दूरी बढ गई है । शॉपिंग बडबडाया अभी और पडेगी चौराहे से उसने दायें मुड और बोला ऍम करों के मुझ पर क्या ये बताओ तुम बेहोश कैसे नहीं हुए? खर्चा जोकर मुस्कराया समझ सकता हूँ तुम्हारे दिमाग में तब से यही सस्पेंस जमा हुआ है फॅार के वक्त मुझे महसूस हो गया था कि तुम्हारा क्या हाथ में हम पर नजर रखे हुए हैं । बस उसके बाद से ही मैं समझ गया कि तुम लोग किसी चक्कर में हो और हो गया । मैंने से इशारा करते देगा इशारा तो वहीं दशहरा किया था तो वो सब डॉक्टर के भेष में थे । पहले तो मुझे लग रहा था कि तुम असली बेटर होगा तो शायद पैसों के लिए इसका काम कर रहे हो तो मानना पडेगा तो तुम्हारी नजर गजब की है । जमाल ने साधा देर तुम पर नजर नहीं रखी थी । फिर पहचानकर मुझे इशारा किया था और तुम हम सब कुछ हो गए हैं । और उसके बाद रूम पहुंचकर मैंने पूरी तलाशी ली । समझ गया था कि तुम लोगों ने कुछ तो गेम खेला होगा । फिर हाँ साउंड पर नजर गई । इसी रूम में ऑलआउट देखकर शक हुआ वो भी पर्दे के पीछे । छिपी हूँ । उसमें क्या है? वहाँ तो मैं ये नहीं जान सकता था । पर उस से बचने के लिए मैं जानबूझकर बातों में घुसकर घंटे पर के लिए नहाने लगा । जब बाहर निकला तो अपने दोनों साथियों को बेहोश पाया । मुझको भी घर में भारीपन लगने लगा । मैंने तुरंत आउट ऑफ कर दी और खिडकी खोलेंगे । उसके कुछ देर बाद राहत महसूस की समझ में आ गया कि ये हमें बेहोश करने की साजिश तो मैंने सोचा देखता हूँ तुम लोगों का गेम है क्या? अलाउड के रिफल खाली की और उसमें पानी भरकर ऑन कर दी तो उसके बाद आराम से लेटकर इंतजार करने लगा । कमाल है भाॅति कहते हुए टॉपिक ने शीशे में देखा मैं पीछे नजर नहीं आ रहे हैं । करूर भटक गए होंगे । अब उनकी कहा गंदी सी गली से गुजर रही थी बाकी शहर की तरह यहाँ भी सब से इंसान था क्या? आवाज कहाँ से आ रही है । अचानक जोकर बोला और अगले ही पल उनका पीछा कर रही कार किसे जितने की भांति उनके सामने प्रकट हुई थी तो फिर और चोकर पूरी तरह से बौखला गए । किसी तरह से ब्रेक लगाए तो गाडियाँ पहले से बच्चे सामने वाली कार के ड्राइवर में फिर की से मशीन का निकाल कर उनकी तरफ तान दी और चलाया जिन्दा रहना चाहते हो तो दोनों सर पर हाथ रखकर बाहर आ जाओ । जो कभी बचने का कोई तरीका सोच रहा था की तरफ एक हाथ उठाकर बाहर निकल आया । शुद्ध जो करके मुझे निकला, उसने तौफीक को ढाल बनाकर फायर करने का इरादा बनाया था । पर मैं पहले ही उसके इरादे को भाग गया था । अब जो कर के सामने और कोई रास्ता नहीं था, मशीन करते कर ही लग रहा था की उसमें एक रूम में ही इतने बुलेट्स निकलेंगे । उसके शरीर का कुछ अता पता नहीं रहेगा । कुछ सुनाई नहीं दिया मैं घर जाऊँगा । चुकर चुपचाप बाहर निकल आया हूँ । अब जो काॅल सिर पर हाथ रखकर खडे थे और ड्राइवर उनके सामने था । देखते ही देखते हो सुनसान गली के कुछ घरों के दरवाजे खुले और कुछ लोग बाहर आने लगे हैं । जो करने उन्हें ध्यान से देखा । सब एक से एक खतरनाक आदमी प्रतीत हो रहे थे । उन्होंने दोनों को घेर लिया । उसके बाद ड्राइवर मिलेगा सबसे ज्यादा जो करता चौंका जब उसने अपने बगल में खडे तौफीक पहुँचते देखा । अब उसके हाथ उसके सिर की जगह कमर पर थे जो कर अपने सूखे होठों पर जीत करा कर रह गया । दरवाजा सोरों से फडफडाया जा रहा था । साइमन कीरीन खोल लिया । उसने बेरुखी के साथ दरवाजा खोला क्या है पागल हो गया है क्या ऍम उसका आदमी हक लाया क्या पता गई टाइम नहीं कहते हुए ॅ आ रहा है आप आपके सर में भी दर्द सर वो भाग गया कहाँ हो जोकर सामान्य ऍफ का गला पकड लिया । क्या फॅालो ऍम भी खुल गई? क्या हुआ? अपना सर्व करते हुए उसने पूछा उस पर ध्यान दिए बगैर सामान लगता हुआ तीन सौ चार पर पहुंचा । वहाँ टाइमिंग और उसका दूसरा साथी हो रहे थे । साले होते हैं ऍम उसका आदमी पीछे पीछे पहुंचा । ये भी बेहोश है बल्कि हम सब होते हैं । उसने हमें बेहोश की हर भाग गया । इस ये कैसे हो सकता है जाउं पहुंचा ऐसा बात पे सोचेंगे चावल बोला ऍम हॉस्टल में बाहर है । जहाँ जाते हैं ऍम उसके आदमी ने अपने साथी को जगाया था । दूसरे कमरे में बाकियों को चलाने चले गए जब इसका मुझे अभी तक आश्चर्य के कारण खुला हुआ था । खरीदा था कब जायेगा था क्यों मुझे क्या पता दरमन? क्रोधवश ठीक था । चालीस चुप हो गया । उसने डायमंड को जगह और सारी बात बताई । ऐसा नहीं हो सकता । हिरानी के साथ बोला जो करके भागेगा शायद तो मैं ये पता हूँ । सामने से शक की निगाह से देखते हुए बोला । कुछ देर में बाहर एक मॉल तो पहुंचा और बोला सर हमें टॉयलेट में एक मीटर बेहोश मिला है । उसका कहना है कि कुछ लोगों ने उसे धमकाकर हमारे कमरों की डुप्लीकेट चाबी हासिल की थी । कॅश पेस और पाकिस्तानी । आगे कुछ कहने के बजाय उसने अपना फोन उठाया । उसे उसमें पहले डाॅल दिखाई थी । उसे इग्नोर करके उसने कोई नंबर मिलाया और कोने में जाकर बात करने लगा । मुझे पता था डाॅ जोकर ऐसा नहीं करेगा । उसे बात चालीस हुआ है । ऍम भारत में पैसे भी आॅल साइमन बात करके वापस आए और बोला, मैंने हवाला से बात की है, उसके हाथ में हमारी मदद करेंगे । कुछ शांति छाई रही हैं । सभी ठगे से खडे थे । अचानक डायमंड ने चुटकी बजाते इकाई दिया है । कह कर मैं जल्दी से रूम में इधर उधर कुछ होने लगा । सभी लोग का जब से उसे देख रहे थे, चारों तरफ तलाशी लेने के बाद बहुत चाहते हुए बोला, बहन जहाँ नहीं है, अब हम यहीं बैठे बैठे जोकर का पता लगा सकते हैं । तुम दोनों के खास छील रहे हो । चीफ गुस्से से जी तो सर अमर की हवा निकली हुई थी । आईएसआई के एजेंटों भारी ना के नीचे से जोकर को उठा कर ले गए और तुम वहीं खडे मक्खी मार रहे हो और इस हमारे सहन तो उनके फोटो ही थे, जिनके फोटो अपने आप तुम लोगों को हर काम उंगली पकडकर दिखाना पडेगा । क्या अपने दिमाग का इस्तेमाल कर रहा कब से हो गए? हमारे चुप रहा चुप क्यूँ बोलो वर्मा आप क्या करोगे? हमलोग का भी उनको ढूंढने के लिए निकलते हैं । वहीं खडे हो तुम दोनों और किसी भी अब यूपी की गुंजाइश नहीं है । वे लोग तो निकल ही गए हैं । अब तो इन लोगों को भी हाथ से जाने दोगे क्या ऐसे मतलब खान की कमी मालूम पडती है कहकर चीफ आॅफ कर दी । अमर ने गुस्से से फोन को खोला । उसका जी तो कर रहा था कि फोन बीमार पडते मारे उसके हावभाव देख रहा था । उसकी भी सिट्टी पिट्टी गुम थी । दोनों चलते हुए अपनी कार के पास पहुंच गए । अभी हम ये तो हद हो गई मुझे तो एक बार भी नहीं लगा कि यहाँ आॅफ होंगे । नहीं लगा तो लग गई नवाज अमर चंचला ये ही बात चीत की होती है । हम यहाँ पे दाल के हड्डियों की निगरानी के लिए आए थे न कि आईएसआई वालों की और बोलता है कि अपना दिमाग इस्तेमाल क्यों नहीं करते थे । हमें कभी छोड दिया खुद से कुछ करने की । अगर करें तो डांट पडती है न करें तो भी जब आपको समझ ले रहती है जो हमने पैकेज उसकी तरह पढाया । दोनों ने सिगरेट सुलगाई कर जॉन बोला ये समझ में नहीं आ रहा कि चीज को ये बाहर इतनी जल्दी कैसे पता चल गई । मुझे क्या पता अमर ने धोखा छोड दे दूँगा । लगता है वह आईएसआई का भी चीज बन गया है । जॉन ठाक अलग अगर हस दिया फिर दोनों कार में बैठकर होटल के गेट पर नजर रखने लगे । जोकर को अपनी गर्दन पर किसी भारी और ठंडी चीज का एहसास हो रहा है । जब उसने आंखें खोली तो सामने एक काला सा खूंखार आदमी दिखाई दिया । उसके हाथ में बकरा काटने वाला एक बडा सा चौपर था, जिसकी धार उसकी गर्दन पर टिकी हुई थी । कमीने दिख रही है मौत सर पर डर लगा तो पता है कैसा लग रहा है मुझे जोकर को साथ में की मानसिक हालत खराब लगी । चौपर को किसी खिलाने की तरह पकडकर वह आदमी बेहद खुश लग रहा था । जो कर रहे थोडा निकला तो उसकी गर्दन को झेले और उसकी हालत बिन बताए । वह आदमी समझ गया । खून निकल रहा है नाम उसने एकदम करीब आकर पूछा, रुख का रही है ना? तेरी बॉल बोलता क्यों नहीं गूंगा है क्या? तभी उस छोटे से कमरे का दरवाजा खुला जोकर की नजर उधर गई । चौदह वाला आदमी पीछे घुमा वहाँ कौनसी कुमार खडा था, उसके हाथ में चली थी जैसे काडा धुआँ निकल रहा था तो यहाँ है तो मैं बोला मैं चलते इसके पास पहुंच गया । आप इसको गोरी चमडी वाले से दो बात करने का मन कर रहा था । ऐसे हो रही है बातें तो फेकने चौपर की तरफ इशारा कर के पूछा मेहमान के साथ ऐसा से लोग तो मैं इसको चिंता देख कर काबू में नहीं रहता रहा हूँ । इसमें जवान अंसारी का मतलब क्या है? हमारे भाइयों की मौत का मुझे पतला लेना है । इससे इससे इस परफॅार्म करूंगा में है । उसको तेजित होते हुए देखकर कॉफी के चिलम एक तरफ रखा और उसके हाथ से चौपर छीनकर एक तरफ धकेल दिया । मगर घर गया है क्या? तेरा अभी नहीं मारना है । ऐसे जब जन्म उठाओ दिमाग को ठंडा कर उस टॉपिक के सामने सर चुका हूँ । फिर चिल्लम उठाकर बाहर को चल दिया । जाते जाते उसने भयानक दूसरों से जोकर को खोला जरूर था तो एक जोकर की तरफ पडेगा । बहन मुस्कुरा रहा था तो फिर भी उसे देखकर मुस्कराया । उसकी आंखें नशे के कारण सुरु हो रही थी । अरे तो नहीं नहीं लगता है । मैं अपने साथियों की मौत के कारण कुछ ज्यादा इमोशनल हो गया था । मैं झटका मुस्लिम गायब हो गए । उसके फिर कुछ सोचते हुए चहलकदमी करने लगा । मेहमान भी कहते हो तो इस तरह रखा हुआ है । क्यों? क्या हुआ? इतनी बेदर्दी से बांध रखा है और घर छोड एक एक उंगली बंदा लिया लगता खून जाम हो गया । तुम्हारे जैसे करामाती मेहमान के लिए ये जरूरी है । जो करने चारों तरफ देखा । एक छोटा और गंदा सा कमरा था । इधर उधर का बाहर देखा हुआ था । एक नीले रंग के नाइट बल्ब की रोशनी फैली हुई थी । उसे एक कौनसी से बाधा हुआ था । आप पीछे की तरफ थे और एक उंगली पतली डोरियों से कुर्सी से बनी हुई थी । मेहमान नवाजी का शुक्रिया । वैसे तुमने तो धोखा दिया यार कुछ अपने हाथ से भागने का नाटक करते रहे और फिर मैंने नहीं मेरे साथ ही में भी ठीक समय पर समझ लिया कि कुछ गडबड है वरना मुश्किल हो जाती है वो है अब मेहमान बना ही लिया है तो एक ऐसा भी कर दो तो चिदम्बर भरके कांचा मार रहा हूँ मुझको भी कुछ तो होटल में तो मुझको अलाउड से बेहोश नहीं कर पाए थे, पर यहाँ वो हजरत भी पूरी कर लो तो मेरा सर दर्द से फटा जा रहा है । हमारे अड्डे तक लाने के लिए तो मैं ऑलआउट समझना जरूरी था । बोल क्या लोगे यह है कि हर चीज जाॅन मेरे राम का मात्र एक तंबाकू की सिगरेट से चल जाएगा । फॅमिली, काला और एक सिगरेट जो करके होटल के बीच लगाकर सुलगाती जो करने चलती चलती लम्बे काश भरे अमरनाथ से धोना छोडने लगा ऍसे निकाल दिया, आराम से भी हो टाइम क्या हो? अब लग रहा है कि मैं हूँ । अब ये भी बता दूँ मेरे साथ तुम लोग क्या करने वाले हो? तुम्हारे भाईजान कब आ रहे? मुझे मिल रहे हैं । इधर जो करने पूछा था कि कमरे के दरवाजे पर जोरदार ठोकर पडी । दोनों ने उस तरफ देखा । वहाँ एक लम्बा चौडा सामना ये मत खडा था । उसके सिर और चेहरे पर एक भी बार नहीं था । कॉफी को से खोलता रह गया । जैसे पहचानने की कोशिश कर रहा हूँ । फिर एकदम से उछालता पडा पांचन आप वाह ऍम जोकर बोल पडा ऍम लिया और हाजिर वो बिना कुछ कहे जो कर के पास पहुंचा जो करने उसे सिर से पैर तक खून कर देगा तो हवाई यात्रा करने के लिए तुम ने सारे बहाल उडा दी । फिर मैं मूर्ख नहीं हूँ । जानता हूँ तुम बातचीत ही नहीं उसने जोकर की नाक पर घूंसा मार दिया । सादा सुबह चलाएगा तो बहुत मार पडेगी कट को जो करने दर्द को सहा । फिर बोला तुमको का अभी पता चल जाएगा । कहकर उसने जो कर के बाल अपनी छुट्टियों में पकडकर बुरी तरह से छोड दिया । जब हाथ हटाए तो उसमें काफी बाला गए । कुछ समझ में आ रहा है । भयानक ढंग से चलाया और दो घुसे जो करके चमडे पर मारकर बोला शराब पर ही नाम है मेरा दर्द को सहते हुए चोकर बोला तो मुझे गया है यहाँ मार क्यों हो लगता अपने नाम पर ब्लॅक ऍम पूरी शराफत के साथ एक बार फिर उसके बाल कसकर शराफत ने पकड लिया और इस पार खोसे पेड पर चढे तीन नहीं हमारे तीन और ऍम मैं तेरी वजह से मारे गए और दो जहाँ वो तब तक नहीं रुका जब तक जब करके मुझ से जीत के साथ खून भी नहीं निकला है । भैरो का तो जो करने सब चुकाकर खून भरी लाभ चोआदी और बोला हूँ माफ कर देते हैं था तुम्हारे आदमी कितना है ऍम तो पांच मेरी वजह से मारे । शराफत उसके सामने कुर्सी खींच कर बैठ गया । उसने तौफीक की तरफ इशारा किया तो उसके लिए चला ले आया । चलन से भरपूर कश मारने के बाद उसने ढेर सारा हुआ जो करके चेहरे पर गलकर का जिस चीज के चक्कर में तो फिर दाल के साथ मिलाया जानता है । पच्चीस । हमारी वो हमने बनवाई थी और उस पर सिर्फ हो रहा है । जो करने बडों से हालत में भी सिर हिलाकर स्वीकारा भी तो उन्हें ऐसे नापाक इरादे रखे । हम लोगों के हक को छीनना चाहते ऍम भजन ऍम इसके पास पर फाइल नहीं नहीं उसके रूम में थी । ऐसा कैसे हो सकता है? ठीक से तलाशी ली थी । जी हाँ एक एक कोना छान मारा था कोई जगह इसका एक एक कोना देखना सादा जरूरी है । खून टॉपिक उनका पालन करते हुए उसके बंधन खोलने लेगा । अब जो कर के हाथ में हूँ, आजाद थे पर उसने हिलने डुलने की कोई कोशिश नहीं । उस हालत में था भी नहीं है । उसका सरकार नहीं पाए, लटक रहा था, बेहोशी से जा रहे थे । कपडे गिरफत में टॉपिक से उसके कपडे उतरवाए फिर उसे खडा किया गया । पैंट उतारते वक्त उसके कपडों से मोबाइल निकल कर गिर गया । ये तलाशी ली थी ऍफ ईको आंखे तरेर कर देखा तो तौफीक सकपका गया । ऊपर से टटोलने पर तो बिल्कुल पता नहीं चला था । इसी तरह उनकी तलाशी ली होगी ऐसा नहीं है । भाई जाना चाहे तो आप अंसारी और ऍम कहते कहते हैं क्या? ऍम तो ऊपर जा चुके हैं पर यकीन करना अभी भी मुश्किल था । शराफत भी चुप रह गया । दर्शन आफत में जो करके बचे हुए कपडे भी होता है । कब है उनके सामने जन्मजात नंगा खडा था पायलिया किसी भी तरह का कोई पन्ना उसके पास नहीं मिला । इस पर भी शराफत को या कि नहीं हुआ । आज से टटोलकर उसकी पीठ पेट देखने लगा । हाल उधार करके चक्कर हो गया क्या जोकर फडफडाया शराब पतले फर्श पर पडे उसके कपडे उठाए और चक्कर मिलेगा फिर होने की तरफ फेंक कोई कर्जा ऍम फाइल मैं बताता हूँ जोकर नम्र स्वर में बोला मुझे तो तो पहले कपडे पहन लो, छटना रही है । फिर आप अपने गुस्से से बहुत पीसे जो करने पहले कपडे पहने । फिर बोला ऍम पायल के कुछ भेज तो मैंने चला दिया है । हर कुछ होना चाहिए । नहीं करना होने की वजह से ऍम चोट सच भगवान कर सकते हैं । आपके अल्लाह की कसम इतना तो आप समझ रही हूँ । फिर आ रहा था बाइक इन्फॉर्मेशन से पैसे कमाने का था तो फिर मैं इतनी बडी फाइल लाख कर हर काम होता है । किसके से बच्चा था? ऍफ खोल देता तो फिर मेरे है कॉम्पिटिशन खडा हो जाता है इसलिए मैंने ऐसा किया । जैसे जैसे फाइल में छपे कोर्ट मैं समझता गया ऐसे ऍम नष्ट करता चला गया और हम सारे बच्चे का खतरा ये नहीं वो सारे कोर्ट सुरक्षित है तो भारत जैसे बडे फाइल की जगह है । एक छोटे से जगह बहुत जो करने अपने दिमाग की तरफ इशारा किया हूँ । अफ्रीका जाना कीबोर्ड पडा फॅस के मोबाइल को ठिकाने लगा देना चाहिए । इसके जरिए हम एक्ट्रेस किया जा सकता है । हिरासत में मोबाइल उठाया और जोकर जल्दी से बोला भारत मना कर रही है । ये मोबाइल में अपने पर्सनल कर्मों के लिए ही उस करता हूँ जैसे कोई प्रेस नहीं कर सकता है । उसकी बातों पर ध्यान दिया । बगैर चल आप अपने मोबाइल ट्रैफिक की तरफ उछाल दिया लगाओ, ठिकाने टॉपिक में मोबाइल कैच किया और छत से उसका पिछला भाग खोलकर सिम कार्ड निकाल लिया । फिर उसे पाँच पर अगर पत्थर से तोड दिया जो करना के मैच में जाकर इस विषय को इस तरह देख रहा था जस्टिस इनके टूटने का डर उसे हो रहा हूँ । शराफत जोकर की तरफ पडता है तो कोर्ट बताएगा सारे के सारे कच्छ देकर मेरा मोटी तो खुलवा नहीं पाएगा । जो करने बदले हो इस बार में कहा जो कर के बदले हुए जैसे शराब चाहूंगा क्या हरामी धमकी देता है चावल दे दी क्या मिलेगा? शराफत उसे सकता कि लगाकर देखता रहा ।

जोकर जासूस भाग - 07

हूँ । ऍम ड्रॉप लिया कि मोबाइल नेटवर्क कंपनी एयर कौन का सीईओ उसी के ऑफिस में जो करने अपनी भी मैं जैसा की नौकरी लगवा दी थी । मैंने सब कब थी और वहाँ कोई भी नहीं जानता था कि वह जो करके बीवी है उसका नाम था फातेमा बॅाल इस वक्त अपने बंगले पर सो रहा था । उनकी घंटे में उसके लिए तोड दी थी । ऍम ऍम मैं जोकर का फ्रेंड बोल रहा हूँ । हम लोग इस वक्त इंडिया में है कुछ देर से जो कर लापता हैं । मुझे शक है कि उसका कितना हो गया, क्या बात कर रहे हो उसके पास ऍम का मोबाइल है आप जानते ही होंगे । मुझे यकीन है आपसे लोकेट करने में मेरी मदद करेंगे । मैंने सोच में पड गया फॅस डाॅ खोलता थी । हाँ, तो आप आप के पास में इंटरनेट है । ऍम की वेबसाइट्स खोलिए । मैं आपको एक लॉगिन बताऊंगा । उसे आपको उसकी लोकेशन पता चल जाएंगे बशर्ते वो नेटवर्क रेंज हो हो गया । आईएसआई के खुफिया अड्डे पर कुछ कर बडे भाई एक एजेंट शराफत के पास आकर बोला ऊपरी इलाके में कुछ लोग घूम रहे हैं । लगता है उन्हें किसी की तलाश, हिरासत और ट्राफिक जोकर को वही कुर्सी से बांधकर कमरे से बाहर निकल गई । जो करने उन को जाते हुए देखा फिर उसको डरी जैसे कमरे में इधर उधर देखने लगा । फिर मैं खुद को कुर्सी सहित किसका देखो कोई त्यौहार के पास ले आया । खुरदुरे सीमेंट की दीवार पर वह अपने हाथों पर बंधी रस्सी को गैस में लगा सीमेंट झडने लगा और साथ में रस्सी के देश में भी जो करके आपके कमरे में तेजी से किसी वस्तु की तलाश कर रही थी । डॅाल के तीन अन्य सदस्य सडक पर थे डाॅ जिसकी स्क्रीन पर ऍम की साइड दिख रही है जिसके जरिए पहुँचो करके मोबाइल को लोकेट कर रहे थे । उनके पास हथियार मौजूद थे ऍम लकडावाला नहीं किया था । एक जगह सडक पर उसका मोबाइल लोकेट हो गया ऍम यहाँ उसका मोबाइल कैसे फेंक दिया गया होगा । पर काफी ढूंढने के बाद भी उन्हें ऐसा कुछ नहीं मिला जब की लोकेशन लगातार इसी जगह की पता चल रही थी । कुछ मिनट बाद ही सिग्नल अचानक ही गायब हो गया । अच्छा मोबाइल अभी अभी नष्ट किया गया है । डायमंड जनता के साथ बोलते हुए वॉर्डों की तरफ देखा ऍम ऍफ घूमने लगा । सडक के किनारे ढाबा था । उसकी नजर उधर देख कर हमें वहाँ दिखाना चाहिए । मैं बोला वो तो बंद था । एक सदस्य बोला ऍम उस तरफ बडने लगा । फिर सागर बोला अगर है तो उसकी खिडकी के पास सिगरेट का टुकडा क्यों पडा है? डायमंड ने देखा वाकई उस बंदे ढाबे की एक खिडकी के नीचे एक लाल रंग कि स लगते हुई चीज पडी थी । ऍम था सब तैयार हो गए । दो दरवाजा तोडने लगे और बाकी अपने अपने हथियारों के साथ तैनात हो गए । दरवाजा टूटा और वे लोग गोलियाँ बरसाते हुए अंदर दाखिल हो गए । पर अंदर कोई नहीं देखा हूँ । दूर कहीं भागते हुए लोगों की अफवाह जरूर आ रही थी । एक तरफ होने नीचे जाती सीढियां दिखाई थी भी । लोग उस तरफ उतरते चले गए । नीचे कूपन दे रहा था । उस कमरे में बाई तरफ एक दरवाजा था और एक सीधे ऍम । धानी से बाई तरफ का दरवाजा खुला और अंदर गए । सामने कुर्सी थी, डायमंड की नजर गई । जमीन पर पडे पत्थर और मोबाइल पर पास में ही टूटा फूटा सिम कार्ड भी मौजूद था । वो देखो ऐसा उनका एक आदमी चलाया । कमरे की छत एक कोने में खुली हुई थी । साफ पता लग रहा था कि उसके सर ये कोई इंसान आराम से बाहर निकल सकता है तो ऑटो ने दो लोगों को उस पर चढकर बाहर जाने का आदेश दिया । मैं खुद वापस उस कमरे में आ गया जहाँ सीधी दिशा में एक दरवाजा था । डायमंड उसके पीछे था । मैनहोल के ढक्कन को हटाकर जोकर बाहर आ गया । बहन मेन होल सडक के किनारे था । फॅमिली के दो बडे बडे स्कूलों के डपों ने घेर रखा था । यानी उस मेनहोल पर किसी की नजर उतनी आसानी से नहीं पढ सकती थी जो कर बाहर निकल कर तेजी से सडक के किनारे एक गर्म पड गया । ऐसी भी क्या जल्दी है यार अचानक की कब आ जाएगी जो करने देखा सडक के पार एक कार खडी थी । कार के अंदर जॉन और बाहर अमर खडा था उसके हाथ मेरे बॉल थी एक बार तो जोकर चौका घर तुरंत सामान्य होते हुए बोला तो वो तो यह हो भारत के लाल सुप्रसिद्ध जासूस अमर वर्मा और जावेद कहाँ है? काफी नहीं है तुम लोगों का नाम तो मैंने भी तुम्हारा बहुत सुना है पर देख आज पहली बार रहा हूँ । तमन्ना थी तो उस मुलाकात की थी पर इन हालातों में मिलेंगे ऐसा नहीं सोचा था पर मुझको पूरा विश्वास था । बात ये ऍम में मिलना मुश्किल है । अमर ने हामी भरे सरकार का दरवाजा खोल दिया । बाकि बातें कार्य में होंगे तो यानी तो मुझे पकडना चाहते हो तो ये तो बस आमंत्रण एक जासूस का दूसरे के लिए हमें मेहमान नवाजी का मौका तो दीजिए । अमर ने आंख मारते हुए कहा अभी टाइम नहीं है तो कह कर जो कर आगे बढ गया ना । अमर ने फायर किया गोली जो करके बढते कदम के ठीक आगे सडक पर लगी कितने मिनिस्टर मतलब सही है हूँ यानी कि जबरदस्ती है जो करने आगे फैलाकर पूछा तुम हमारे मेहमान बन जाओ । हो गए हमारे महान भारत में एक से एक महान लोग हैं, उनके हाथ आ गए क्या अंजाम होगा, सोच भी नहीं सकते तो मुझे किसी की मदद नहीं चाहिए और हमें अपने देश में कोई हम खाना नहीं चाहिए । इस बार अमर उस से मैं बोला चुपचाप बैठे फॅार्म उठाना पडेगा जो करने का हो चुका है जैसी हमारी मर्जी । तभी अमर कुम्भ होना और कूडे के डब्बा की तरफ तो आदमी चलते हुए दिखाई दिए । उधर से फायर हुआ । हम तुरंत जमीन पर ले क्या जो हमने तुरंत फायरिंग का जवाब अपनी पिस्तौल से दिया । दोनों आदमी की हत्या हो गए । जोकर शायद भागने की सोच रहा था कि अमर लेटे लेटे चलाया जोकर कार के अंदर बैठो, वरना मुझे तुम पर फायर करना होगा । जोकर बेवकूफों की तरह हजार खडे खडे लहराने लगा हो गए । फायर करो दोस्त आॅनरेरी इस बार हमारे उस पर फायर कर दिया । पर चोकर तो उस जगह पर कहाँ रुका? बैरम पढके गुड्डे की तरह उछल कर एक तरफ कलाबाजी मारता चला गया । उसकी सुर्ती पर अमेजॅन को आश्चर्य हुआ । ऍम मरने एक और फायर किया । किस बार होकर हवा में पांच फिर ऊपर उछला गोली बचार्इ । कुमारी ही शहीद हो गई । अभी कूडे के डब्बों की तरफ से फायदे हुई । उनकी कार के शीशे फुट गए । जॉन छुट्टियाँ और अमर रहते हुए कार्य के पीछे आ गया । जो हमने अंधाधुन चार फायर कर दिए, उधर से दिखाई अब मेरी जान अमर पीछे से बोला बॉल मेरा नाम जोकर का हो गया, जो हमने सर घुमा कर इधर देखा । जहाँ दो सेकंड पहले किसी छलावे की तरह जो करो चल रहा था तो उस तरह कोई नहीं है । फॅमिली ध्यान से उसकी मेल को लेपटॉप पर पढ रहे थे । मेल को छह रहती है ऍम खतरा कुछ ज्यादा ही हो गया है । मुझे पहले तो सब कुछ खाने जैसा आसान लग रहा था । पता पता चला की लौटरी के चलने जवाना किसे कहते हैं । शराफत अली के खतरनाक टॉर्चर ने तो मेरी भाड कर ही रखती है ऐसी स्थिति में मुझको खुद मिशन पहचाना बेहद खतरनाक लग रहा है यहाँ पर इसका मतलब ये नहीं कि मैं आपको धोखा दूंगा । जितने भी फाइल के कोर्स जानता हूँ आपको मेल से भेजता रहूँगा । बदले में मेरे अकाउंट में डॉलर्स जमा करवाते रहना यही तरीका ठीक रहेगा । आपके जवाब के इंतजार में जो कर देखा देखा तुम सब ऍम मैं तो पहले ही जानता था ये कमीना हमें तेर सवेरे धोखा देगा किसे भागने का एक और मौका मिला ऍम का चेहरा गंभीर था । मैं बोला श्यान हो जा नहीं नहीं भागने वाला फॅमिली नजर से देखा । मैं उसके साथ बिल्कुल नहीं डायमंड । तुरंत सफाई दी । मुझे तो लगता है उसका दिमाग थक गया है । सहमत कुछ देर उसे देखता है फिर बोला हूँ हम जानते हैं कि तुम कितनी हो नहीं हो सकते हैं जो कर हमेशा बहुत सबसे ॅ चुके । फॅस के हालत पहले है । ठीक हैं हम सब काॅल ड्राॅप तो साॅस हो सकता है किसी और के साथ सौदा कर रहा हूँ । मुझे तो कोई अच्छा नहीं होगा अगर पता चले की बहुत बहुत चाली के साथ ही मिल गया हूँ । लगता तो नहीं । जब इस आतंकवादी इस तरह का काम नहीं करते तो उसे मार देंगे, पर तो उसकी नहीं करेंगे । उसके चक्कर में हमारा एक आदमी नहीं मारा गया । डाॅन बनते हुए बोला पता नहीं उसका मैं कौन लोग थे । शायद आईएसआई कार्यक्रम मतलब मतलब ये सर की आईएसआई वाले तो नीचे भाग रहे थे भी उन्हीं के लोग होंगे, डॅाल उधर होता है हैं समझ क्या हमें छोटी को पता है? हमारे आठवीं एयरपोर्ट ऍम स्टेशन पर फैल गए हैं । हमें भी नहीं चलना चाहिए । मेरे ख्याल से बहुत नहीं नहीं यूज करेगा क्योंकि उसी को वहाँ जल्दी पहुंचा जा सकते हैं । गोवा खूबसूरत समुद्री तटों का खुबसूरत आज भारतीय विदेशी सैलानियों के लिए पर्यटन के लिए विख्यात जगह सुनने का मस्त था और खिली हुई धूप से अरब सागर का पानी चल मिला रहा था । गोवा की राजधानी पंचम के समुद्र तट के किनारे एक स्टीमर तैयार हो रहा था । उसमें बैठना है । अधिकतर लोगों ने बन्दे वस्त्र पहन रखे थे । उनके गले में रुद्राक्ष की मालाएं थी, हाथों में डमरू मजीरा या लाठियां । स्टीमर पर बैठने के बाद उन्होंने अपने डमरू मजीरा बजा बजाकर हरे राम हरे राम जपना चालू कर दिया । पद्मावत में सब चुप हो गए जब स्टीमर पर लंबी दारी वाले एक अत्यंत तेजस्वी साधु ने कदम रखा । उसके सभी बाल सफेद थे भी । आंखों से भरपूर शक्ति और तेज का अहसास हो रहा था । कुछ लोग उसके तेज से भागते होर हो दे रहे थे । फिर जब सालों ने हाथ उठाकर कहा अरे रहूँ राम राम आ रही खबरें तो सभी उसके साथ फिर से धन में हमने लगे साधु के पीछे पीछे कई लोग और ऍम बे लोग सादे वस्त्रों में थे । कुछ विदेशी भी थे । सभी के चेहरे पर उस साधु के लिए श्रद्धा थी । एक भक्त साधुओं के पैरों में गिर गया । साथ होने उसे आशीर्वाद दिया तो वह उठा और जोर जोर से नारे लगाने लगा, बाबा शंकरनाथ की जाए, अभी चल रहा है । बाबा जंकर रात अमर रहे । शंकर नाते हाथ उठाकर सभी को शांत करवाया । अभी स्टीमर चालक वहां पहुंचा । उसने शंकरनाथ के पास खडे एक भक्तों से पूछा मैं ऍम जाना है ना? शंकरनाथ ने उसे शक्ति से देखा तो भक्त उसे साइट में ले जाकर बोला दिमाग खराब हो गया, जनता नहीं । उन तीर्थों का असली नाम अंगद्वीप है । जनता हूँ । हो सकती हूँ तब विदेश से लोग आते हैं वो तो तू तो भारत से है ना । हाँ आप माफ करो भाई ऍफ आगे बढ गया । डाॅ । मोबाइल उठाया और पहुँच नाम से स्टोर नंबर पर कॉल किया । घंटे जाने लगी फिर दूसरी तरफ से साइमन की आप बोलो बॉस मैंने सामान ठीक ठाक गोवा पहुंचा दिया है । हो गया और किया गया था । फॅमिली के आदेश हम लोग कुछ देर मैं वहाँ पहुंच चाहेंगे । कॅश मोबाइल वापस मेज पर रख दिया । जावेद ने उसे उठाकर अपनी जेब में डाला । फिर हल्की सी मिस कर के साथ बोला गज के समझ में एक पुराने के लेके खंडर में थे । बिहार के दम पे वही मौजूद है । जावेद के अलावा एक्टिंग में किन तो गठीले जिसमें वाला व्यक्ति भी मौजूद था जो कि उस का साथ ही था । उसने खाना खा लिया । फोन कर दिया अब इसके हर बंदा प्रकाश जावेद ने कहा प्रकाश ने वैसा ही किया था जबकि जावे दूसरी तरफ घूम गया । उसके सामने शीशा और मेकप के थे । पंद्रह मिनट जावेद की आंखों में न्यूजीलैंड अवसर पर सुनहरे बार थे । चलिये पर चीज प्रतिशत थी । अब एकदम विदेशी नजर आ रहा था । डेरेन आश्चर्य से उसे देख रहा था जबकि प्रकाश उत्साहित था । सुबह के पांच बजे थे । दिल्ली के एयरपोर्ट पर एक काला अफ्रीकन तेजी से एक इंटरनेट के दिन की तरफ पड रहा था । उसने आई कार्ड दिखाकर एंट्री की । फिर एक कैबिन में कंप्यूटर के सामने बैठ गया । करीब बीस मिनट बाद बगल वाले कैबिन से एक आदमी उठकर उसके पास पहुंचा । उसने ऍम से हाथ मिलाया और बोला, खाई वही तो ऍम जरा बाहर चलना है तो उसने हिंदी बोलेगा । वो आॅफ नाटक की जरूरत नहीं है । मुझे मालूम है कि तुम कौन हो और हम हिंदी अच्छे से आती है । पत्रिका ने कुछ पल से ध्यान से देखा, फिर बिना विरोध किए उसके साथ कैबिन से बाहर आ गया तो वेटिंग रूम के कोने में पहुंचे । क्या तुमने मुझे पहचान लिया है? उस आदमी ने अपने काम से कहा हाँ, तुम्हारी आवाज से इस बार अफ्रीकन की आवाज बदल चुकी थी । मैं आदमी मुस्कुराया । मैंने अपनी आवाज बदलने की कोशिश नहीं की थी क्योंकि मैं चाहता था कि तो मुझे पहचाना । फिर तुम अपना चेहरा कि छुपा रखा है । एजेंटा बस हमारी अपनी शक्ल ज्यादा छह । ये बात काम पर ज्यादा लागू होती हैं । अपनी शक्ल आइने में देखो, दर्जा हो गया तो मैं क्या लगता है? मैंने बनाने के अपनी शक्ल बदलने । अमर ने उसके आंखों में जाते हुए पूछा जो आप एक बात बताओ तुम तो मेरी समझ में बहुत अच्छे होते हैं । ऍम कुछ नहीं, बस बोर हो गया था । सच बताऊँ तो ये सब किसी प्लान के तहत कर रहा हूँ । अगर मैं हाँ हूँ तो क्या? तो मान लो गे बच्चों के साथ बताऊँ तो शायद मुझे तो बहुत सारे हैं । क्या मुझको पैसा है? ज्यादा प्यार ये सबसे है नहीं आ रहा है । तो इस अवसर पैसे के लिए देखो ऍम साॅस पहले मैंने वे सारे काम किए जिनसे मैंने खूब नाम कमाया । कई मेडल मिले, सम्मान मिला, पर एक वक्त के बाद इन चीजों से कोटाभर्री ज्यादा है । मेडल से पेट नहीं भरता है । घर नहीं बन सकता आप । मुझे पैसा चाहिए था और वो एक जासूस अब की नौकरी से नहीं कमा सकता । अमर उसे देखता रहा जैसे उस की सोच पर उसे तरफ आ रहा हूँ । हमारी बातें सुनकर तो हो रहा है । पैसे कोई बात नहीं, काम की बात करते हैं । बिल्कुल कर लो यार तो तुम्हारा प्लान किया । क्या तुम वाकई इस अविष्कार के लिए खुद कुछ नहीं करना चाहते हैं । मतलब तुम फाइल के कोर्ट पेडल को मेल से भेजने का इरादा कर चुके हैं । आपको दाबिश कर तक नहीं पहुंचना चाहते हैं तो तो मैं ये भी पता चल गया जो कर के चेहरे पर पल भर के लिए शिकन अफ्रीका । फिर मैं अपने सदाबाहर स्टाइल में बोला यार, गजब के कीडे हो तुम कैसे तो उसको पहचान लिया तो मैं इसपे कप में पहचानना नामुमकिन तो यार तुमने ये नामुमकिन काम कैसे कर लिया? मुझे तुम्हें पहचानने की जरूरत ही नहीं पडी । हमारे ऍसे मुस्कराया क्या मतलब जो करो मतलब ये कि मैं तो तुम्हारा तब से पीछा कर रहा हूँ जब से तुम भागे हो होकर हैरान रह गया । पीछे मुझको तो नहीं मालूम पडा मालूम पड जाता तो मुझे क्या फायदा होता है पर पर यार तुम तो उस वक्त वहाँ से चले गए थे । मैं नहीं जॉन गया था । मैं तो मुझे पता है क्योंकि मुझे मालूम था कि तुम भी वहीं कहीं पे हुए हो और हम लोगों को ऐसा है । साल दिलाना चाहते थे कि कहीं भाग गए इसलिए मैं वही तुम्हारे निकलने का इंतजार करने लगा । ऍम मान गया धन्यवाद । फिर मैंने तुम्हारा पीछा किया तो मेरी कब करते देखा और फिर तुम्हारे पीछे पीछे यहाँ लगा गया । अब तो मेरे सवाल का जवाब तो कुछ हो गया तुमने जो फेडरल को मिल की है ऍम तो वाकई लगता है कि फिट अलग तो मैं अभी भी पैसे देकर उनके पास और कोई रास्ता भी नहीं है क्योंकि पूरे आत्मविश्वास के साथ बोला सस्ता है । जो करने से टेढी नजरों से देखा उसके आदमी तुम्हें ढूंढ रहे हैं यहाँ मुझको पता है और तुम्हें यकीन है कि वे तो मैं पकडा नहीं सकेंगे ऍम अगर मैं ही उन्हें बता दूँ तो अमर ने कुटल मुस्कान के साथ कहा छोकर उसका चेहरा पडने लगा फिर सोच कर बोला ऐसा करके तुम्हें क्या फायदा होगा वही जिसकी उम्मीद पर तुम ने जान की बाजी लगा दी । अदालत जो कराके पहला कर बोला तो होना चाहिए क्यों? क्या दस तुम्हारे ही अरमान बडे हो सकता है जो करना है ऐसे से सबको प्यार होता है । पर फिर भारत देश तो वैसे भी पैसे के मामले में खजारी तो मुझको लो बना रहे हैं । ऍम दोस्त और दुश्मन दोनों को तुम अपनी बातों के माया जाल में फंसाने का हुनर रखते हो और अमर ने उसकी बात गाडी तो लूटो तुमको ही इस वक्त तो मुझ से भाग नहीं सकते । एयरपोर्ट के सिक्योरिटी मेरे एक इशारे पर तो मैं घर तक हो जाएगी । फिर तो मैं इंतजार किस बात का? मेरा फायदा उसमें नहीं जोकर से ध्यान से देखने लगा । उसे अमर की बातों पर यकीन करना मुश्किल हो रहा था । इतना सोच रहे हो । अमर ने पूछा अगर तो मेरा फायदा नहीं करते हैं तो मुझे होटल के आदमियों से मिलना पडेगा । तो मैं क्या चाहिए? मेरे से ऍम क्या बात कर रहे हो या जोकर अलग खडा उसे देख रहा था । मुझे तो लगा तो मजाक कर रहे हो । मेरी शकों से ऐसा लग रहा है । अमर ने उसकी आंखों में जाकर जोकर उसके चेहरे पर पूरी गंभीरता नजर आएगा । वो खेडिया पर ऍम मुझे लूट हो गया क्या? अभी तो मुझे खिला भी नहीं मिला । टाइम खराब कर रहे हैं । ऍम ठीक नहीं । मैंने तो सारी मेरी गलत सारी मेहनत आधा किस्मत की थी । हाँ लेकिन ठीक है तो मुझे मंजूर । मैं हाथ पाटना जो करने खुशी के साथ हाथ आगे बढा । यंग यदि दो द्वीपों का छोडा था, कुछ विदेशी लोगों ने उसका नाम ऍम भी रख दिया था । दोनों एक दूसरे के बेहद खरीद थे । इतने करीब की उनके बीच सिर्फ एक स्टीमर निकलने भर का ही क्या था । दोनों द्वीप हरे भरे और प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण थे । एक भी पर बाबा अमरनाथ का आश्रम था । उस आश्रम में कई देशी विदेशी लोग बाबा की शरण में आया करते थे । पंजाब से आया स्टीमर यज्ञ दी पहुंच चुका था । बाबा अमरनाथ के साथ उनके भक्तगण आश्रम में पहुंच गए । कुछ देर बाद बाबा का प्रवचन चालू हो गया । वो एक लाइन हिंदी में बोलते, हर फिर उसका इंग्लिश में अनुवाद कर देते हैं ताकि सभी को समझा जाए । भगवे वस्त्र पहने भक्त विदेशी और भारतीय मूल के लोग ध्यानपूर्वक उनकी बातें सुन रहे थे । विदेशियों में एक सुनहरे बाल वाला आदमी भी था । उसके नीली आंखों पर चश्मा चढा हुआ था । मैं सभा में पीछे बैठा आश्रम के हर एक व्यक्ति को ध्यान से देख रहा था । कुछ देर प्रवचन चलता रहा । फिर बाबा ने सब से अनुमति ली और उठकर एक झोपडी की तरफ चल रही है । झोपडा आश्रम में पीछे की तरफ था । विदेशी के रूप में जावेद वहाँ से उठा और आश्रम से बाहर आ गया । सबसे नजरे बचाकर मैं एक तरफ झाडियों की ओट में छिप गया । इस जगह से बहुत बाबा के झोंपडे पर आराम से नजर रख पा रहा था । लगभग आधे घंटे के बाद बाबा छोडे से निकलते दिखाई दिए । उनके साथ एक भक्त भी था । फिर आश्रम से पीछे की तरफ चलते चले गए । जावेद झाडियों से बाहर निकला और सतर्कता के साथ उनका पीछा करने लगा । पे दोनों चलते चले जा रहे थे । कुछ देर बाद भी दोनों तीर्थ के उस तरफ पहुंच गए । यहाँ बगल वाला द्वीप शुरू होता था । दोनों बेफिक्र होकर दीपों के बीच के पानी में उधर गए और दूसरे ट्वीट की तरफ बढ गए । पानी की गहराई ज्यादा नहीं थी । उनके दूसरे ट्वीट पर पहुंचकर कुछ दूर जाने के बाद जावेद समुद्र में घुस गया और पानी में नीचे नीचे करते हुए दूसरे द्वीप पर जा पहुंचा । उसे फॅमिली में महारत हासिल थी । उसे डर था कि बाबा या उसके साथ ही उसे देखना ले । इसलिए उसने यही रास्ता चुना । जो था उसके लिए बेहद आसान । दूसरी तरफ पहुंचकर जावेद उनका पीछा करने लगा । कुछ दूर जाने के बाद भी दोनों उसे बडी से चट्टान के सामने रोके दिखाई दिए । ठीक तभी वातावरण में मोटर की आवाज खोजने लगी । जावेद ने घूमकर समुद्र की तरफ देखा । वहाँ एक बडा सस्ती मार दिखाई दिया । कुछ देर बाद दोस्ती मार और देखिए । विराट चट्टान की तरफ से गडगडाहट की आवाज हुई जिसमें जावेद का ध्यान खींचा । अब चट्टान की जगह एक स्थान दिखाई दे रहा था बंदा और उसका साथ ही उसमें घुस गए । फिर चट्टान अपनी जगह वापस आ गई जहाँ पे जल्दी से एक ऊंचे पेड पर चढ गया और उसके पत्तों टहनियों में खुद को छुपा लिया । उसके शरीर पर अब रंग के कपडे थे जिनकी वजह से उसे दूर से देखा नहीं जा सकता था । किधर हैं स्टीमर का काफी हद तक पहुंच गया और कुछ ही देर में साइमन जॅनरल के अन्य सदस्य ऍम खतरनाक हथियारों के साथ द्वीप पर खडे थे । दूर से वहाँ तक पहुँच की तरह नजर आ रहे थे । फिर वे लोग धीरे धीरे पर फैलने लगे । कुछ देर तक वे लोग पीठ का निरीक्षण करते रहे । आखिरकार टाइमिंग बोला अगर उन का अड्डा नहीं है तो बहुत उन चट्टानों में होना चाहिए क्योंकि वही जगह सुरक्षित हो सकती है । खबर के हिसाब से पाई लगता है ऍम फिर उसके आदेश पर उसके लोगों में से कुछ चट्टानों की तरफ पड गए । जावेद सारी गतिविधियां दिलचस्पी के साथ पेड पर से देख रहा था । फिर उसने एक नंबर डायल क्या बोला हमला करवा दूँ फॅमिली अड्डे के अंदर ही है और ध्यान रहे हैं किसी पेड को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए कहकर बहुत खर्च दिया । और फिर शुरू हुआ संग्राम किसी कुशल सेनापति की भारतीय बॉल तो आगे निकला और उस चट्टान तक जा पहुंचा हूँ । फिर उसमें चट्टान के ऊपर चाहते हद जबरदस्त पंप पे कर दी है । सभी पीछे हट गए । ऍफ का बटन दबाया अगले बडा बडा बडा हूँ हूँ । एक के बाद एक चार कर्णभेदी विस्फोट हुए हैं जिनसे समूचा दीप धरा गया । चट्टान पर अब धुआं ही धुआं नजर आ रहा था और धोनी के झडने के बाद अब वहाँ मलबा देखने लगा । फॅसने अपने साथियों को चट्टान की तरफ बडने का आदेश दिया पर मलबे के बीच से चार पांच हथगोले हवा में उडते हुए आए और उन लोगों के सामने आगे रहे । बेटल के आदमी यहाँ के फैल गई । सभी पीछे की तरफ भागे पर देर हो चुकी थी । धमाके हुए और हम लोगों के साथ उनके शरीर के बीच चने बनकर हवा में उड गए । सभी हैरान थे । फॅस के खुले हूँ । बंद भी नहीं हो पाए थे की एक और हमला हुआ इस बार मलबे के बीच में से एक रॉकेट तो बडा और तेजी से उनकी सेना कि तरफ लपका । डाॅ । मौके पर एक तरफ फट गया वरना उसकी चपेट में आ जाता है । उसके बाद चार रॉकेट और फायर हुए । कुछ लोग उन की चपेट में आ गए । पर अब मेटल के लोगों ने संभालकर द्वीप की छोटी बडी चट्टानों के पीछे पोजिशन ले ली और चट्टान की तरफ जवाबी हमला शुरू कर दिया । वे लोग चट्टानों पर फायरिंग कर रहे थे और बीच बीच में बम्बई फेंक देते हैं । दूसरी तरफ से भी चीखों की आवाज आ रही थी और लाशें बिछ रही थी । वीपर आगे आग दिखने लगी जावे । बेड पर बैठा दिलचस्पी के साथ ये होनी जंग देख रहा था । गनीमत थी कि पेड वहाँ से सुरक्षित दूरी पर था इसलिए वह गोलाबारी के असर से बचा हुआ था । करीब एक घंटे तक युद्ध चला । घर चट्टान की तरफ से हमले बंद हो गए । छत पे दाल की बडी सेना के सामने उनके हथियार कम पड गए थे । तब रेबोलडो के इशारे पर उनके आदमी चट्टान के मलबे की तरफ सतर्कता के साथ चलती है । चट्टान के पास पहुंचकर उन्हें बहुत बडा सरकंडा नजर आया जिसमें नीचे एक दरवाजा दिखाई दे रहा था । बेहतर भाषा किसी ठोस हाथों से बना प्रतीत हो रहा था । उसके आस पास कई लाशें और हथियार पडे थे । बॉल तो ने पहले की तरह दो बम दरवाजे के ऊपर लगवा दिया । ब्लास्ट हुआ, अबतक बाजी की धज्जियाँ उड गए । फिर फिर नाम मालू ने अंदर अंधाधुंध फायरिंग कर दी । दरवाजे के पास कुछ हाथ में थे जो भगवान को प्यारे हो गए । हेलो के अंदर घुसने चले गए और फायरिंग करते रहे । धरती के गर्भ में एक बडा सा खौफ था । कई लोगों को उन्होंने बंधक बना लिया । हालत पूरी तरह से काबू में करने के बाद सहमत ऍम अंदर आ गए । ऍफ कहा सहमने एक घायल पंद्रह से पूछा । उसने एक दरवाजे की तरफ इशारा कर दिया । वो तीन लाख की तरफ चलती है । अंदर जाने से पहले उन्होंने अपने आदमियों से लैब की तलाशी करवा ली है । अंदर कोई भी नहीं मिला । वह एक शानदार लायक नहीं । बहुत बेहतर है कि आधुनिक उपकरण मौजूद थे । तो ये है वो ॅ जहाँ प्रोफेसर ने अपने आविष्कारकों अंजाम दिया । जब इस उत्सकता के साथ चारों तरफ देखते हुए बोला डायमंड की नजर एक केबिन पर जाती कि उसके ऊपर लिखा था जब हूँ लगता यही हमारी मंजिल साइमन के चेहरे पर किसी जंग जीतने वाले राजा की भांति भाव दे । तीनों तेजी से उसका दिन में पहुंचे । केबिन में एक बडा सा काला बॉक्स था क्योंकि दीवार से जुडा हुआ था । बॉक्स पर एक स्क्रीन थी और नीचे कंप्यूटर के की बोर्ड जैसा ही एक बोर्ड था । लगता है बॉक्स के अंदर हमारा दिया जा रहा है । ऍम सामान्य कीबोर्ड पर ओपन का बटन दबाया जिसके साथ ही स्क्रीन पर दो शब्द चमक उठे । एंटर पास हुआ । आप सब को छोड कर के ऊपर है । देखते हैं उसने हमें पैसों के बदले में सही पास वक्त दिया है या नहीं । साइमन ने कहा उसके चेहरे पर बेचारी बढती जा रही थी । ऍम करके जोकर की मेल पडी । जाॅन तो उसे जोकर से मिली थी । हालांकि पासवर्ड उसे अच्छी तरह से किया था फिर भी वह कोई चांस नहीं लेना चाहता था । फिर उसने बेहद सावधानी के साथ कीबोर्ड पर अपनी उंगलियां चलाना शुरू किया । बीके नाइन ऍम फोर फाइव फोर पी सी रोटी अब और स्क्रीन ब्लैंक हो गई । तीनों की आंखे फैली हुई थी । सांसे थम गयी थी । ठीक तो सेकेंड बाद स्क्रीन चमक उठे । लिखा था पांचवां ऍम हमारा और जो करके आगे कम्प्यूटर इस ग्रीन पार्टी की हुई थी तो ये गए तुम्हारे अकाउंट में तुम्हारे उसके पैसे जोकर बोला । अमर ने अपना अकाउंट खोला ॅ क्या ऍम हो जाएगा ये हुई ना कुछ मरने वाली बात वैसे दुखी तो बहुत होंगे । आज तो क्यों? तो मैं ये दौलत पार्टी जो पडी क्या फर्क पडता है तो वैसे भी इतना पैसा हमें राजा बनाने के लिए बहुत है वो तो है अमर निकल के साथ सर हिलाया ऐसे अभी तो तुम्हारे पास कुछ हाँ कोर्ट होंगे बोलो भी मुझे पढना करने का क्या फायदा? बहादुर तो मुझको बातों ही बातों में लूट लो गए हो ऍम तो मैं क्या लग रहा है जोकर उसे पहले नजरों से देखते हुए बोला मैं हमेशा तुम्हारी कठपुतली बन गया हूँ शायद अमर पूरे आत्मविश्वास के साथ बोला खराब यहाँ तो पुलिस ऍम पर मैं तो हूँ अमर ने छाती चौडी कर लिया अमर वर्मा मानना पडेगा तुम्हारे कमेंट को भी फॅस कहते हैं जो कर्मियां हूँ ये फालतू की लडाई छोडो पता हूँ कि तुम नहीं कोर्ट कैसे मालूम क्या ऍसे जो करना पढाई लेते हुए ऍम काफी दिमाग लगाकर उन्हें फाइल में जब फायदा पहले तो कुछ कोर्स क्योंकि लाइट्स में नजर आ गए पर आगे के कोर्ट जानने में दौर हाथ निकली हो गई थी मैं जो वो यूपी में नहीं देखी नहीं बहुत विक्रम बढाये । तब कहीं जाकर पता चला कि कुछ शब्द पानी डालने से प्रकट हो गए थे । ये तो तो कैसे पता चल गया जब एक बार गलती से पानी फाइल पर गिर गया । टाॅम शब्दों को को बॉलिंग से लिखा गया था जो कि वैसे तो पारदर्शी होती है पर पानी पडने से खुला भी हो जाती है हूँ मान गए प्रोफेसर की बुद्धि को । और अभी जो कोर्ट मैंने साइमन को भेजा है वो ओपन कोर्ट था । मतलब ऐसा फाइल में लिखा था ऍम कोर्ट से कुछ जरूर खुलता होगा और इसके साथ ही उसमें वॉकिंग कोर्ट लिखा था । यानी एक कोर्ट से हथियार कहीं सफलता होगा और दूसरे कोर्ट के बाद काम करता होगा । ऐसे लगता है बात करते करते जोकर को एक नई मेल दिखाई देगा । ऍम की थी लिखा था हूँ अगला कोर्ट भेजो ॅ गया चोकर चाहते हुए बोला यानी पे लोग हथियार तक पहुंच गए । जो करने उसके बाद पर ध्यान नहीं दिया । मैं साइमन को ये जवाब भेज रहा था । इसकी कीमत होगी बीस करोड डॉलर । साइमन के हाथ में बहन आया अब हथिहार था । मैं राइफल जैसा था, पर उसके धातु कुछ नई तरह की थी । रन चांदी जैसा था और नाल काफी लम्बी थे । माल के मुख पर काम की तरह सुराख नहीं था बल्कि लाल रंग का पालक लगा हुआ था । उसमे तीनों ट्रायल रूम नाम के कैबिन में थे । साइमन ने राइफल में जोकर का भेजा । वॉकिंग को डाल दिया तो हथियार में सोच उनकी आवाज हुई । जैसे लगता कि अब वह इस्तेमाल के लिए तैयार है । फिर उसने उसे टारगेट की तरफ डाल दिया । टारगेट है क्या? नहीं तो युद्ध में घायल हो गया था । उसे उन्होंने सामने लगे एक खंबे पर पान दिया था । वो पूरी तरह से ठीक रहता है । रहम की भीख मांग रहा था लेकिन नहीं नहीं ऍम साइमन के पास उसके लिए थोडी सी बताया नहीं तो उसने उसका निशाना लेकर ऍम दिया । अच्छा किसी आवाज । साइमन को उसे चलाने में सारा पैसा भी झटका नहीं लगा । डर से आपके हुए उस आदमी का शरीर एक दम से में ढल हो गया । ऍम कुछ सोचते हुए अपने काम से उसके सिर कुछ हुआ । अगले ही पल उसका सिर धड से अलग हो गया और फर्श पर गिरकर कांच की तरह टूट कर बिखर गया । उसकी एक देख कर सभी के समझते खडे हो गए । ऍम वो नहीं किसी पागल की तरह ही गया जहाँ भी खुशी के साथ चलाया क्या हुआ मुझे तो बहुत खतरनाक हथियार हैं ऍम खडे हो गए थे साइमन की आंखों में अनोखी जरूरत थी अच्छा इतने हल्के फुल्के खिलाने से देखने वाले फॅस हथियार में मैं कम है अगर किसी देश के आर में ऐसे हथियार इस्तेमाल करने लग गए ऍम सर्च ऐसे आॅल हमें मारेंगे कीमत देने के लिए तैयार हो जाएंगे क्योंकि ऍम के दुश्मन देश क्या आतंकवादियों के पास पहुँच कर हो जाएगा हमने छह मैं खाई है, माता अच्छे हैं, सही कह रहे हो ऍम कर के उससे बात की जाए भारी का या चीज क्या यहाँ रशियन से फिर कल करेंगे । पर इस तरह ऍम क्योंकि हमारे जैसे देश ऐसे खरीदने की जगह चीन में मैं विश्वास रखेंगे । कर मुझे भी से चलाकर देखा है जहाँ उतावलेपन के साथ बोला और साइमन के पास जा पहुंचा । फिर एक और पंद्रह को सामने बात दिया गया । अपने साथ ही की दुर्गति हुई । लाश को देखकर उसका पूरा हाल हो रहा था । इतना कि जब जावे इसमें उस पर निशाना साधा तो मौत के डर से बाकी उसका पेशाब निकल गया फॅार दबा दिया फॅमिली जब इसकी नजर राइफल की छोटी सी स्क्रीन पर गई फॅसा पहुंचे स्क्रीन पर दिखा रहा हूँ ऍम ऍम साइमन बुरी तरह से चंचला और ऍम पडेंगे । लगता है एक फाॅल के लिए था डाॅ । जोकर को मेल करना चाहिए । हाँ ठीक रहेगा । जब इस ने समर्थन में कहा वैसे मेल करने की जहमत उठाने की जरूरत नहीं है । दरवाजे की तरफ से ही सभी जगह गए । वहाँ पे खडा था ऍम उसके शरीर पर चुस्त कपडे ऍम मांसपेशियां धाड करने के लिए आ रही थी और कार्गो पाएंगे कपडे अभी तक हल्के खेले थे, पीठ पर बैठा हूँ क्योंकि आप लोगों का मास्टरमाइंड किधर है? कहते हुए अमर जावेद के पीछे से हो रहा है । उसके साथ था क्यों करते हैं? जोकर की कलाइयां हथकडियों में बनी थी तो वैसे भी पट्ठे गया आप बने हैं मैं लिख नहीं पाएगा । कहते हुए जॉन एक तरफ से प्रकट हुआ उन लोगों को एक एक करके इस तरह प्रकट होते देख सभी सकते में आ गए किसी की मुझे एक शाॅल ऍम तो पक्का ही होता है । उसने फौरन जावे को अपने निशाने पर ले लिया । ऍन पर अपना रिवॉल्वर तान चुका था । जॉन्की राइफल का रुख जब इसकी होता है जो करके फॅमिली ऍम की आंखों में ना जाने कितने सवाल थे पर चोकर का चेहरा भाव ही था अपने हथियार फेक दो ऍम कि बाहर बाई अमर बोला ये बात तो मैं भी तेरे को बोल सकता हूँ जान से जाएगा उसने चेतावनी देख लो । जावेद आपको उडाने की बात कर रही है कल का चल रहा है तो उनको आएगा तो मैं तेरे पहुंॅच और खास बात ये है की तरह पहुँच को कराने के लिए मुझे अवॉर्ड मिलेगा और इन्हें उडाने के लिए तुझे होगी फांसी हूँ । अंग्रेजी बोलने से मैं डरता नहीं हूँ । फॅमिली के साथ बोला मैं बता रहा है साइमन बोला हूँ तो मेरी जान अमेजॉन की तरफ । कुमार मैं कितना ऍम? विदेशी वनडे भी मुझे जानते आज मेरे कॅश आ रहा है । हमारे पास क्या है जो हमने कुछ ऐसे अमर को देखा हूँ । जबकि साइमन उसकी बातों में फंसे बगैर बोला नहीं, मुझे तुम लोग यानी डाॅॅ से बात करनी है । बाते तो हम चल जाते वक्त भी कर सकते हैं । हमारे गंभीर स्वास्थ्य बोला तो लंबा सफर होगा । अभी बातें कर ली तो रास्ते में बोर हो जाएंगे । क्या बोल रहे हैं जल्दी बोलो । जावेद की पहली निगाहें साइमन पर नहीं क्या क्या पाकिस्तानी आतंकवादियों का था? ऍम भारत के खिलाफ इस्तेमाल करने के लिए ऐसा खतरनाक हथियार बना रहे थे । इसके लिए मैंने हमारे देश फॅमिली चाहते हैं । ऍम करके ऍम हमने भारत की भारत क्या गैस बात के तहत हम लोगों में सलाह नहीं आ सकते । तुमने ये सिर्फ अपने निजी फायदे के लिए क्या है और सकता है मेरे फायदे में आपके देश पिता फायदा है क्या? हमारे देश ने तुमसे मदद मांगी । जावेद ने एक एक शब्द जब आया नहीं हूँ । तुम हमारे देश में गैरकानूनी ढंग से गुस्सा हूँ । हथियार लेकर आया हूँ हमारे लिए तुम ही नहीं की तरह है । आतंकवादी हो अपनी बातों का । जावेद पर होते देख साइमन ने पैतरा बदला, कच्छ गया आपकी सरकार हमें सजा नहीं कर सकते हैं । उन्हें हमें हमारे देश के हवाले खत्म होगा । हमारे देश में हमें साॅस । जॉन अचानक बोला और फिर किस बात का फायदा होगा, ये ऍम को भेज देंगे । फॅस की की मैं समय था । हर चीज शांति तैयार भी हो । जैसे किसी को नुकसान नहीं होगा । इसमें भी फायदा होगा । बस में आप काफी हिस्सा मिलेंगे । भाई आप उनके बैंक बहुत पैसा आ गया । अमर ने आंख मारकर चावल को देखा, आपको भी जाइए ॅ जावेद ने अमर की तरफ ध्यान नहीं दिया । वो बोला अगर हम इंकार करते तो फिर तुम्हारा पूरा होगा । ऍम मिलाया और तुम लोगों की कमरे क्या ही इन पाकिस्तानियों के साथ पडेगी? हाँ ऍम क्योंकि मुझे पता है कि हमारे मैं जहाँ की कीमत था मंच पर हमला नहीं करेगा । अब क्यों नहीं करूंगा बाप कराया गया? अमर आ करते हुए बोला तो आप देखना बंद कर जावेद बोला तुम लोगों की पूरी फौज, हमारे कब्जे में भारतीय सेना ने पूरे आयलैंड को घेर लिया है । नेवी का शिव पहुंच गया तो भी तो अपनी ताकत ॅ के चक्कर में कुछ पता ही नहीं चला । हम लोग कब चुपके चुपके तुम लोगों का पीछा करके यहां पहुंचे और जिस आखिरी दाव के बल पर तुम इतना अकड रहे हो, अब तुम उसके भी असली रंग देख लो । कहते हुए जावेद ने रिकॉर्डों को आंख मारे और काॅल्स के तो पैरों तले जमीन निकल गई । ऍम उनकी तरफ कर दिया ऍम साइमन की सुबह लडखडाएं बॉल थोडी सी आई का एजेंट है । जावेद बोला फॅस को जैसे साफ सुनके जो काॅल बिलोंग रिपोर्टों को इस तरह देख रहे थे । जैसे साक्षात यमराज देखता हूँ जो कर के दिमाग में विचार कौन है? तो उसे आप समझ आया कि अमर को उसकी बेल के बारे में कैसे पता चल गया था तुम लोगों का साथ ही एजेंट अच्छा । आप एक बारी बारी से डायमंड और जोकर को देखकर बोला और तुम लोगों को इसकी भनक भी नहीं लगी थी । फिर जो का सामान्य होकर मुस्कुरा दिया वो टी । सी । आई का जासूसी क्या जिसका भेद खुल जाएगा? खाॅ शुरू से ही तुम लोगों के साथ मिला हुआ था, बडी सी आई के लिए काम कर रहा है । जावेद साइमन को देखते हुए बोला वो तुम्हारा हर इरादा डीसीआई के चीफ यानी चलाना जोन और हमारे चीज तो बताता रहता था । इसलिए तुम्हारी भारत आने और हथियार लाने के पूरे प्लान की हमें जानकारी दी । सही मायने में बॉल तो ही इसके इसका हीरो है । तो हम क्या विलेन ना भाई । अमर ने नाराजगी के साथ कहा कर सीना ठोककर बोलो ऍम अब है कोई जवाब तुम्हारे पास मैं आपको भी कहूंगा कॅामन किसी ऍम की तरह बोला पर अमर ने उसे टोक दिया अरे मेरे मिट्टी के शेयर तू तो यार पहुंच बडा वाला अभी तक बचने के सपने देख रहा है और अगर साधा करना ही है तो हम क्यों कर रहे तो जैसा रखकर अकेले नहीं कर लेंगे तो मुझे लगता है अपनी हार के सदमे से पागल हो गया है । जॉन हसते हुए बोला सही कहा मेरी जान फिर मरने आगे बढकर फॅमिली ऍम देखने के बाद उसकी नजर उसकी स्क्रीन पर गई जो कर यार तो भरी बात एकदम सही थी । ये मास्टर कोर्ट मांग रही है । अच्छा वो प्रोफेसर ने ये कोट डाला वरना अब तक तो ये गन काम कर रही होती है और शायद हम लोग इन पर जीत नहीं पाते । अब इसके कोर्ट के लिए बातचीत वाली का मिलना बेहद जरूरी है और वो तो गधे के सबसे सिंह की तरह गायब हो गया है । ऍम पादचारी का मिलना साइमन के मुँह से निकला तो क्या अमर ने साइमन के टकले पर हाथ फेरकर कहा सहमत मियां तो वैसे तुम ऍम में होता नहीं कि हम से कोई सवाल पूछो तो उस तरह पूछ लिया तो इसे बता देता हूँ क्या हमें इतने सहमती में सरेला मास्टर को आर्थर स्मिथ की फाइल में ही नहीं क्या जाॅन यस तो उसमें उसे कहीं और ही जमा रखा है । क्यों जो कर यार हाँ जोकर बोला । पाल के अंत में लिखा था कि मास्टर को बादशाह के रुपए में है । सभी के चेहरों पर सवालिया चलना गए ।

जोकर जासूस भाग - 08

इधर मेडल की पहुंचने हमला किया और उधर बच्चा को सब कुछ समझ आ गया । बहस शंकरनाथ के बीच में हूँ और उसका भाई शराफत उसके चेले के रूप में दोनों चट्टानों के नीचे अपने आटे मैं बडा दरवाजा सील बंद कर लूँ और हम अपने टुकडे लेकर दरवाजे के बाहर अखबारी करूँ कराना कुछ ऑॅल होना उडाने के लिए काफी रहेंगे । बादशाह ने अपने एक वफादार को आदेश दिया और फिर उन सबको उपहार भेज दिया तो सोच रहा था कि उसके आदमी किसी भी हालत में पेटल से जीत नहीं सकेंगे । मुझे खुद को अगर आपको महसूस करने के लिए कुछ करना था पर यही सब सोचते हुए बहुत शराफत के साथ लैब में आ गया तो हम हम यहाँ क्या करेंगे? भाई जान शराफत पूरी तरह से पढा हुआ था । वो लोग सीधे इधर ही आएंगे । आपके तो मैं बाहर निकल कर उनकी उनकी ऍम तो पागल हो । मैं जानता हूँ कि तुझे घर वाला है । मौत जा नहीं रहा था पर हमें अपना मकसद पूरा किया तो स्कूल में नहीं हूँ । फिलहाल तो मैं जैसा बोलता हूँ तो मैं ही हूँ । फिर उन्होंने लैब के सेंट्रल किसी कि विंडो खोले और उसमें चढकर अंदर आ गए इंडो वापस अपनी जगह लगा दी । किसी के अंदर दोनों आराम से देख गए । अपने मिशन को बचाने के लिए तो मैं खुद की हिफाजत करनी होगी । बातचीत उसे प्रेरित करते हुए बोला, जी, वहाँ जाते । काफी देर तक होने धमाकों की आवाज आती रहेगी । वहाँ काॅलर राहा तमाकी के साथ थरथराने लगता । कुछ देर बाद उन्हें यकीन हो गया कि उनकी पार्टी पेटल के हाथों पराजित हो गई है । कुछ ही देर में हॉस्पिटल के सदस्य वहाँ पहुंच गए और वोट डालकर के उन को बाहर निकाल लिया । उस वक्त क्रोध के कारण बादशाह के मुद्दे हम बच गई । मन किया कि बाहर निकल कर उन सब को गोलियों से छलनी कर रहे हैं । उसके बाद जावेद, अमर और जॉन वहाँ पहुंचे और बॉल तो का राज खुला । उन्होंने देखा अब्बासी उनके हाथों में चली गई थी और उस वक्त जोकर की बात नहीं, दोनों के कान खडे कर दिए हैं । मास्टर कोर्ट बात चाह के तो पे में है मेरा तो हाँ अच्छा सोचने लगा । फॅमिली के बारे में हूँ हूँ शराफत । मैं बोला बाहर निकलने का वक्त आ गया है और मैं ऐसे किसी की नजर तो इस तरह नहीं है । हमें बिना आवाज के लिए जाली हटानी है और घर बाहर निकल रही उन्हें कवर करना होगा । सिर्फ खबर करना है, मारना नहीं क्योंकि जहाँ से भागने के लिए हमें उन की जरूरत पडेगी कि भाई किधर? सभी लोग मास्टर कोर्ट की पहेली सुलझाने की कोशिश कर रहे थे और दूसरी तरफ अच्छा और शराफत जाली खोलकर चुपचाप तो बाहर निकलते हैं । किसी का ध्यान उनपर नहीं किया । फिर एक तरफ से शराफत आगे बडा और दूसरी तरफ से पांच चार दोनों के हाथों में एक बहुत ही ज्यादा थी ही । जॉन की नजर उन पर पडी बात चाह चिकन का रुख अमर की खोपडी पर था ऍम की गर्दन के पीछे जाने की । सभी उनके इस अप्रत्याशित हमले से हो तो काम सही है ऍम अब तुम्हारे हाथ में कुछ भी नहीं । तुम्हारे सभी साथ ही मारे या पकडे जा चुके हैं । पूरे टापू पर आते और नेवी के जवान पीछे हुए हैं तब तो यहाँ से बकवास बंद कर पांच किसी हिंसक शेयर की तरह दाडा तेरी और सबके लाॅक और तुम लोग । उसने साइमन ऍफ चोकर को भरी पारी देखते हुए कहा तो लोगों का बहुत ही नहीं मिलेगी मिलेगा टाॅप की मौत के भेज मांग ऍम बातचीत मारने नहीं रहेगा तो मैं हमारे आविष्कार पर हाथ डाला । ना तो मैं हमारे लोगों को मारा ना ऍम ऍम अपने रायफल फेंक और तू छिछोरे जासूस उसमें शायद हमारी की तरह था । हमारी राइफल वापस का लो भाई लोगों अमर ने झट से राइफल बच्चा को पकडा गया । उस महत्व बच्चे से बिहार से देख रहा था । बात चाहे तब चैन की सांस लेते हैं जब राइफल उसके हाथों में आई थी । तुम लोग जानते नहीं होगा, ऍन बस्ती है पर सब मास्टर कोर्ट तक पहुंचना कहकर बात चर्चो कर की तरफ पडेगा तो फॅमिली मेरे तो फेमस है । इस बात को कोई नहीं समझ सकता क्योंकि ये सिर्फ मेरे और प्रोफेसर के बीच की बात थी । मैंने प्रोफेसर से आविष्कार की सुरक्षा का उन का इंतजाम करने को कहा था जिसके लिए उसने यह सारे कोर्स पढाई फाइल में डाले हैं । पायल मुझ तक पहुंचने की जगह तो उन सब के नापाक खातों में जा पहुंचे । अब साबित हो गया कि प्रोफेसर मेरे लिए कितना वफादार था । उसमें सबसे फरवरी को डाॅॅ कब? उसने डायमंड का इशारा किया । उस कार्यक्रम दीवार से उतारकर लाओ लैब की एक दीवार पर एक बडी सी खडी लडकी थी । डायमंड चुप चाप सो तार कर ले आया फिर बादशाह के आदेश पर उसने उसे ओडिसा क्या और उसके पेट खोल रही है । घडी के अंदर से बेहद छोटा सा बहुत में निकला । पांच चाहते उसे प्ले करवाया और फिर उसमें से निकलनी शुरू हुई तो और गे प्रोफेसर आधार स्मिथ क्या? बात तो मुझे यकीन है ऍम सुनता हूँ के बाद क्योंकि ये तुम्हारे दिए गए तो के अंदर छिपा है । जैसे हम समझ सकते हो अपने आविष्कार को सुरक्षित करने के लिए ऐसा जरूरी हो गया था मेरे मार्ग । वैसे तो मैं अफसोस जरूर होगा । मुझे लगता नहीं कि फॅस मुझे चीन देंगे हैं । जिस वक्त तुम कैसे चल रहे हो गया, शायद हो चुका होगा । अब क्या होगा मैंने मास्टर कोर्ट वही दिखाता है जहाँ मैंने अपने आविष्कार के सारे टेस्ट साइंस रखे हैं । वो बॉक्स में बस फिर से आवाज आनी बंद हो गई । बातचीत के चेहरे पर चमक दे जी तो बहुत खुशी की जब हूँ मैं बोला इन सबको पान करता हूँ । उसके बाद दोनों ने मिलकर सभी को बालदिया । अब हम सफलता से कुछ हो रहे हैं और ये दुनिया हमारे आविष्कार के बीच पर जीत आखिर हमारी हुई हमारा हो रहा है हमारे साथ है । हाँ भाई जान आप भी उत्साहित था । फिर बातचीत मतलब के कोने में पहुंचे । वहाँ एक नंबर लॉक वाली थी । जरूरी थी उसी तिजोरी में आविष्कार । सम्बंधित सभी दस्तावेज थे । ये बात भी सिर्फ बादशाह को पता थी । बात चलाने तिजोरी में नंबर घुमाया और खोल दिया । अंदर कई फाइलें थी और फिर उनके बीच में उसे एक बडा सा डिब्बा मिल गया । मैं उसे लेकर शरारत के पास पहुंचा । दोनों हसते हुए गले मिलने लगे । आखिरकार उनका मिशन पूरा हो गया था । अभी मुश्किलें पार करके उनकी मंजिल हासिल हो गई थी । शराफत के हाथ में बहराहल थी और मैं उसमें वोट डालने के लिए बस चल रहा था तो ताकि सभी पे मासी से उन्हें देख रहे थे । आखिरकार बात चाहे उस बॉक्स को खोल दिया पर ये क्या है? उस पर मास्टर को तो था ही नहीं । उसमें सिर्फ एक ही कोटा बहुत का कोर्स हो । बॉक्स खोलते ही एक समर्थक धमाका हुआ और बाकी सभी को उसमें से निकलती हुई दिखाई थी । धमाके के असर से दोनों भाइयों का शरीर कई पीठ पीछे जा कर रहा था और जब उनके शरीर के लिए तो बहस समूचे नहीं रहेगा, बातचीत कर सकता से अलग हो चुका था और शराफत की एक टन लैब के दूसरे कोने में जा गिरी थी । दोनों मर चुके थे । उनकी लाशें जावेद, अमर जॉन, साइमन चालीस जोकर टोमॅटो उनके फाड फाड कर देख आए थे । काफी देर तक नहीं आया कि नहीं हुआ जो कुछ उनके सामने घटित हुआ । कुछ देर में भारतीय सेना के कई जवान और ऑफिसर वहाँ पहुंच गए । उन्होंने सभी को बंधनमुक्त क्या ऍम को गिरफ्तार कर लिया । तभी उस छोटे ऍम से आवाज आने लगी । वो अर्थर स्मिथ के हसने क्या वास्ते हूँ हूँ आप फॅमिली नरक में तुम्हारा स्वागत है । तब मेरा चीज पर बात कर दिया था । मुझे ब्लैक मिलकर के मुझसे मानवता के खिलाफ ऐसा खतरनाक हथियार बनवा लिया । इसलिए मुझे ऐसा इंतजाम करना पडा । इसके साथ तो भी भी खत्म किया जा सके । मैं तुम अपने ही वाला हूँ । मुझे पता है पीतल के ये लालची कमीने मुझे जीने नहीं देंगे । भारत में हैं तो हर संगठन के हाथों में नहीं फंसना चाहता । इससे सहायता हॅाट मैं नहीं रह सकता मेरे पापा को और पर पार्टी के जिम्मेदार तुम हो तो भेज ही होगा । मुझे यकीन है मेरा मास्टर प्लान सफल हुआ होगा पर इस वक्त तुम्हारी लाश पडी होगी भरते नाता करो । मेरी आवाज जरूर सुन रही होगी बशर्ते ही तेज धमाके की चपेट में नहीं आया हूँ । आज बातचीत मैं ॅ कर रहा हूँ । उसके बाद वहाँ सन्नाटा छा गया हूँ । अभी सोच में पड गए डाइमंड के चेहरे पर आउट का राज मानती । भोपाल । मुझे उम्मीद है अंकल फर्क में गए होंगे । जावेद, अमर और जॉन सेना के कुछ जवानों के साथ एक स्टीमर पर सवार थे । उनकी कैद में जो करो टाइम थे । बाकी कैदी दूसरे स्टीमर पर संभालते । ट्वेंटी आइलैंड पर बाबा अमरनाथ के आश्रम का भंडाफोड हो चुका था । वहाँ पर कुछ और आतंकवादी पकडे गए थे जो कि भक्त बन कर रह रहे थे । पता चला था कि उन लोगों ने पिछले चार सालों से वहाँ डेरा डाला हुआ था और धीरे धीरे चट्टानों के अंदर गुप्त लाभ बनाना ली थी । भारत के प्रधानमंत्री ने तुरंत पाकिस्तान से इस बारे में जवाब मांगा । पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इन इल्जामों से साफ मुकर गया । उसने कहा, उनका इन आतंकवादियों से कोई सरोकार नहीं । अगर भारत को इल्जाम लगाना है तो वह पुख्ता सबूत पेश करें । बहरहाल, उससे पहले स्टीमर पर क्या हुआ था? जान लेते हैं । जोकर डायमंड स्टीमर के एक कमरे में पडे हुए थे । उनके हाथ हथकडियों से बंदे थे । दो जवान वहाँ मौजूद थे । जावेद बाहर से चीज से फोन पर बात कर रहा था । जॉन और अमर अंदर पहुंचेगा । तुमने मुझे धोखा दिया । दोस्त जोकर अमर को देखते ही बोला दिया तो अमर पिटाई के साथ बोला मुझको मेरा पैसा वापस चाहिए । अमन वर्मा से कोई चीज वापस लेना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है ना मेरी है । उसने जॉन की तरफ देखा हूँ । ठीक कहा मेरे हम जॉन गहरी सांस लेकर का और जो कर अपनी चीज कीमत पर वापस लेता है होकर करोड मुस्कान के साथ बोला और तुम्हारा क्या कहना है? मिस्टर की गलाल अगर डायमंड की तरफ पडा अमर का चेहरा भावहीन था बोला था मैं अंकल का जो था वो सफल हो गया । मुझे इस बात की खुशी है मुझे और कुछ नहीं चाहिए पागल मतलब जोकर बोला तेरे अंकल के आविष्कार पर तेरा हक है ये पैसा तेरह मुझे कुछ नहीं चाहिए । वो खदान स्वर में बोला कुछ तुम को वहाँ बन जाना । बाद में हम बिना किसी दिक्कत के तुम्हें तो हमारे देश भेज देंगे । जॉन बोला तो जो करता था किस लिए वहाँ जाकर सजा काटने के लिए मुझे नहीं लगता । तुम्हारा देश तो मैं सजा देगा । तुमने तो उनकी नाग बचा ही लेना । अमर बोला जो कर रहे हैं अगर तुम चाहो तो अभी भी सब कुछ ठीक हो जाएगा । तुम चाहो तो आपने जीत को बोल सकते हो की तुम इस मिशन पर गुप्त तरीके से काम कर रहे हैं । हमने सच में नहीं बताएंगे । ठीक है कि पहले मेरा पैसा वापस करो, हमारे बीच में नहीं हुई थी । भूल गए हमारे आगे पहला हूँ पर तुमने मुझे धोखा दिया और कैद कर लिया । ऍम हमारे पास भी काफी पैसा है । मुझ को पूरा पैसा चाहिए ऍम अमर हसने लगा तो मैं पता है तुम कितनी मूर्खता बडी बातें कर रहे हो ऍम ये कालाधन हमारी सरकार को जाएगा । हमें भी तो मौका मिले । आतंकवादियों से कुछ छूट रहेगा और हम तो मैं तुम्हारा पैसा रखने दे रहे हैं । यही बडी बात है । समर्थि कह रहा है । डायमंड बोला तो चुप रहे । जोकर बोला तो मरता नहीं है और मुझको मालूम है कि मैं कौन हूँ । इस तरह के कॉम्प्रोमाइज करने के लिए मैं स्टेशन पर नहीं निकला था । अब तुम सुनो, मिस्टर अमर वर्मा है और बहुत होशियार समझते हो ना अमर हो कभी भी कुछ है कहने के लिए और उसके बाद जो कुछ जो करने कहा उसे सुनकर अमर और जॉन दोनों की बुद्धि चक्करघिन्नी बनकर रह गए । तीन तीन सुपर दस हम लगे हुए हैं भारत के तीन महत्वपूर्ण शहरों में । उनके बारे में मैं भी नहीं जानता कि कहाँ लगे । बस ये जानता हूँ कि अगर मैंने अपने साथियों से एक घंटे के अंदर बात नहीं की तो उन कामों में विस्फोट कर देंगे । इन धमाकों में कम से कम चार पांच सौ लोग मरेंगे और पता नहीं कितने घायल हो गया । तो ये लगता है कि मैं झूठ बोलूँ । कुछ मत कर फिर इंतजार करूँ । एक घंटे में तो मैं न्यूज मिल जाएगी । कुछ पल अमेजॅन उसे देखते रहे । फिर जॉन बोला लाॅक मुझे पता है कि तुम यही समझ गए । एक घंटे बाद देखते हैं जो कर मुस्कुराते हुए पैर हिलाने लगा । अमर और ऍम की तरफ देखा । मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं बोला हूँ । हो सकता है कि ये झूठ बोल रहा हूँ जो काॅमन को इस तरह देखा जैसे कोई बच्चे को बेवकूफी करते देख रहा हूँ । ऍम इंडिया में मैंने इस पर है कि इंतजार पहले ही कर लिए थे क्योंकि मुझ को पूरी उम्मीद थी कि इस देश से निकलते वक्त क्या हमें कुछ चले आए । हमारे जो हमने कुछ फॅार की और फिर बाहर जाकर ये बात जावेद को बताए । आप इतने अंदर जाकर जोकर कार की देखभाल पकड लिया । हर हम सारे अगर ये सच हुआ तो मैं तुझे ऐसी बहुत मारूंगा की ऍम ऍम जोकर पागलो की तरह हो । बहुत की धमकी किसी और को देना छोडकर किसी भी तरह की मौत से नहीं डरते । पर तुम है अपने देश के लोगों की मौत की परवाह होनी चाहिए । मिस्टर जावेद खान तुम्हारे भाई बहन है, तुम्हारे दोस्त है । जावेद ने अपना भारी भरकम हाथ जो कर के ऊपर कर दिया । जोकर का चेहरा बिगड गया तो उसे पीटता रहा और उसे अपने साथियों को फोन करने के लिए बोलता रहा । पर चोकर वो ठंड की तरह मुस्कुरा रहा है । मुझे मारने से हिंदुस्तानी लोग नहीं बच पाएंगे । जावेद ने अपने गुस्से पर काबू किया ये चाहे सच को ले या झूट हम चांस नहीं ले सकते । भाई अमर बोला था । फिर उन लोगों ने तुरंत चीज को ये बात बताई । चीफ में होम मिनिस्ट्री को अवगत कराया और कुछ ही देर में शहर के सभी बडे शहरों में रेड अलर्ट घोषित हो गया । बम स्कॉड हर जगह तलाशी लेने लगा । समय बीत रहा था और जो करते तमाशा से जा रहा था । हम लोगों की तरह है हमारा देश कितना बडा है फिर भी ये सोच रहे हो कि एक घंटे पूरे भारत में बम को खोज लोगे ऍम मूॅग तो ऐसा क्यों है अपने साथी को को अमर ने का मेरा खरीदा था बजकर निकलने के लिए मुझे पकडकर वैसे भी तो मैं कोई फायदा नहीं होने वाला है । हमारे असली गुनहगार तो मारे जा चुके हैं । मैंने तो तुम्हारे देश के खिलाफ कुछ भी नहीं किया । तो फिर अब क्यों का बाद चावेज दिखा तुम लोग मुझ को मजबूर कर रहे हो? जावेद ने खरीदेगी एक घंटे में सिर्फ आधा घंटा बाकी था तभी आप का फोन बजा, दूसरी तरफ खुद होममिनिस्टर है उसे क्या चाहिए? उन्होंने पूछा ये भागना चाहता है और साथ में पेटल से मिला पूरा पैसा लेना चाहता है उसकी मांगे पूरी करूँ सर, ये छोटी धमकी भी ऑर्डर है जी जब इतने भारी मन से फोन काटा और कहाँ हो चुका है? मैं तुम्हारी शर्त मंजूर है । जो करना ताहत लगाया । जोकर की मांग पर गोवा पहुंचकर उसे एक स्टीमर दे दिया गया जिसमें कम से कम दो हजार पेल सफर करने भर का ईंधन था । उसका पूरा पैसा भी अमर ने वापस पांच पर कर दिया । बदले में उसने गुप्त तरीके से किसी को फोन किया । अब वो धमाका नहीं होगा बोलो पर अगर किसी ने मुझ पर हमला किया या पीछा करने की कोशिश की अब अगले घंटे में कई और धमाके जरूर होंगे । कब तक होंगे और कहाँ था? जावेद ने पूछा उसकी चिंता मत करो यार डाॅ वो उसकी तरफ तुम चाहो तो अभी भी मेरे साथ चल सकते हो डॅान अच्छा ऐसी तुम्हारी मर्जी पर भाग में मुझे अपना है समझ मांगना अब ये सब में रहे ऍम क्योंकि दोस्त हूँ अलविदा कहकर बहस बीमार में सवाल हो गया ऍम तेजी से अरब सागर को चीरता हुआ आगे बढ गया । चाहे अमर ऍम और फॅमिली के अवसर उस भारत अंगेज इंसान को चाहते हैं देखते रहेंगे । कभी कभी लगता है कि हमारी सरकार इतनी लाचार क्यों? जावेद ने राष्ट्र में बोला था तो कीमत हो भाई । अमर ने का अच्छी खबर ये है की बात शादी जैसा खूंखार आतंकवादी मारा गया सुन कर भाग गई । जावेद खुश हो गया । सही में तो वो बात दिल को सुकून देने वाली थी । इसी बात पर दो ताली जॉन उत्साहित भर में बोला । हाँ, जो कर के चक्कर में हम अपनी जीत की खुशी भूल गए । हम आपने कहा था फिर तीनों ने ताली मारकर हाथ मिलाया तो वैसे इस जीत का असली हीरो हो और मेरा प्रमोशन होना चाहिए । अमर ने कमर पर हाथ रखकर का हो जाएगा मेरे हम जॉन तो मीनार के बाहर पहरा देने वाली पोस्ट कब से खाली पडी है । जावेद के मुझे हँसी छूट गई और आस पास खडे आर्मी वाले भी हंसने लगे । हमारे का मूड गुस्से से लाल हो गया । वो से उंगली दिखाते हुए बोला, देख मेरी जान ये अमर वर्मा की ऍम जॉन ने हसते हुए उसे गले से लगा लिया । दूसरे दिन चोकर दुबई पहुंच चुका था । वहाँ मैं पेश बदलकर एक फाइव स्टार होटल में मौजूद था । इस वक्त वो एक खूबसूरत लडकी के साथ बैठता था । दोनों पूरी तरह से हाँ फॅमिली उन्होंने अपने शरीर की भूख को शांत किया था हूँ मुझे जो करना उसकी लगी कमर पर हाथ फेरा हो । बहुत दिन हो गए हैं । ऍम ऍम हो गई और नहीं बल्कि मेकप में उसकी बीवी ऍम अब हम करोडपति हैं जो करने उसके खोल चुनकर का ऍसे दिया ऍम मेरा बेटा अगर करने की ठानी लेती हूँ उसको वापस ले लिया भेज देते हैं भगवान जाॅच पर कभी भी विश्वास नहीं करता है । चीन में डलवा देता हूँ । अगर बच जाता तो भी हम वहाँ इतने पैसे के साथ राजाओं की तरह नहीं रह सकते थे । कभी कुछ हो जाता है इसलिए तुमने मुझे यहाँ बुला लिया । बच्चा लें मैंने कल नहीं उस पर सुना कि तुमने इंडिया में बम लगाए थे कि जो कर हसने लगा हस्ते हस्ते बैठ पतलोट गया हूँ क्या हुआ हूँ क्योंकि भी ये मेरी आखिरी जाती हैं टीम पर पंगे बंदे मुझ को समझ में नहीं आ रहा था कि उनसे क्या पैदा खेलो किए भाग सकता हूँ । घर आखिरकार की आईडी आया हूँ । मेरा कोई साथ ही था ना ऍम उन्होंने भारतीय जासूसों की दुखती रग पर हाथ रख दिया मुझको मालूम था कि वे लोग एक भी आदमी की बिना कारण मौत ऊपर राष्ट्र नहीं करने वाले हैं और यही हुआ उन्होंने मुझको फोकट में छोड दिया और बाकी पैसे भी मुझ को वापस करने पडे हैं ही छोटे थे तो मेरा हो तो ऍम बोली हूँ तो मैं तुम्हारे पास एक ना एक दिन जरूर बहुत ज्यादा में भी जो कर उसके आंखों में झांकते हुए बोला ऍम और उसके पूरे शरीर को बेहतहाशा चूमती चली गई हूँ ।

share-icon

00:00
00:00