Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Part 53

Share Kukufm
Part 53 in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
447Listens
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
Read More
Transcript
View transcript

बुक संघ है । दमन की दूसरी किताब ऍम जिसमें लडका अपने जीवन में फिर से बिहार ढूंढता है । नए और पुराने पाठकों द्वारा एक मत से पसंद की गई मुख्यपात्र दमन अपनी पर प्रशंसकों ने कई पत्र लिखे । इस किताब की सफलता के लिए एक पार्टी का आयोजन हुआ उन सभी लोगों के लिए जिन्होंने इस किताब के लिए काम किया था और जिन्हें इस किताब की सफलता आकाश गया था । पार्टी पूरे शबाब थी, धवन ने भी भी हुई थी और उसने अपनी की कमर में हाथ डालकर कहा, हाँ, अपनी तुम्हें किताब पसंद आई । मैंने अभी तक बडी नहीं है । अच्छा शायद मैंने एक ऐसी लडकी के बारे में लिखा है जो कुछ कुछ तो मिलती भी बोला ऐसा हाँ, वो बिल्कुल तुम्हारे जैसी है । मुझे लगता है हालांकि मैं उसे बिल्कुल तुम्हारे जैसा नहीं बना पाया । बी शायद मैं बोला तो पहुँचती हुए हो । अच्छा लगता है मुझे तो मैं घर ले जाना चाहिए और फिर तुम रोक होगी । ऍम ने मेरे बारे में किताब लिखी है तो अब हम रिलेशनशिप में हैं । लडखडाती यार आज मैं सामान्य पूछा फॅमिली किताबों की मुख्य पथ मैं ही रहूंगी और ऐसा न घरों में तो होंगी और अगर तुम्हें ज्यादा होशियारी दिखाने की कोशिश की तो इसका नतीजा भुगतना पडेगा । नहीं करूंगा दमन लडखडाकर बोला और अपनी को छू लिया । मैंने तो मैं कुछ बताया था इस बात के अलावा की मैं तो मैं बहुत बहुत बहुत प्यार करता हूँ क्या जयंती के पास उन लोगों का फोन आया था जो बेस्ट सेलर के दावों की लिस्ट तैयार करते हैं । उन लोगों ने बताया कि ये किताब लिस्ट में नंबर वन होने वाली है । तोफा अपनी ने भी पलट कर उसे झुंगिया और गले लगा लिया है । फॅमिली अभी काफी रात थे और घर पहुंचते पहुंचते सुबह के चार बज गए थे । किताब को बेस्टसेलर की लिस्ट में सबसे ऊपर आने की खुशी में अपनी को नींद नहीं आई थी । सुबह छह बजे उठ कर उसने दमन के पडोसी से अखबार लिया । बाहर में उसने सीधे वहीं पन्ना खोला जिसमें नहीं प्रकाशित पुस्तकों का विवरण होता है और उसमें डाॅट पहले नंबर पडती । उसमें सोते हुए दमन को गौर से देखा और दूर से ही एक हवाई चुम्मन दे दिया । जब से पेट पर बैठी हुई अखबार की शेष पन्ने पड रही थी उसने चौथे बनने पर एक छोटा सा लेख देखा । केंद्रीय दिल्ली के एक होटल के कमरे में शेयर सी नाम की लडकी ने जरूरत से ज्यादा नहीं की । गोलियाँ खाने ही नहीं क्या आए हैं । नींद से जागते हुए धवन ने पूछा कुछ नहीं अपनी बोली और अखबार को कूडेदान में फेंक दिया तो तुम्हारी किताब नंबर वन पर है । फॅस तुम्हारी वजह से जानती है तो मैं बोली ऍम यूट्यूब पे भी ।

Details
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
share-icon

00:00
00:00