Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
Read More
Transcript
View transcript

भाग सकता आएँ । कुछ घंटों तक लगातार प्रयास करने के बावजूद दमन के संदेशों का श्रेयसी की ओर से कोई उत्तर प्राप्त नहीं हुआ तो अभी उसका फोन बजट ऍम ऍम ऐसी मैं सुबह सहित मैसेज भेज रहा था । जानती हूँ मैं कहीं बाहर थी, ऐसा ऍम क्या था? मैं हमारे बारे में बात करना चाहता हूँ । उसने उत्तर दिया हमारे बारे में तो अच्छी शुरुआत है तो बताओ तो हमारे बारे में क्या बात करना चाहते हो? उस ने कहा इस तरह नहीं मैं तुम से मिलना चाहता हूँ । मैं आमने सामने बैठ कर बात करना चाहता हूँ ऍम चल अब थोडा धीरे ही सही तो क्या हैं तो उनको मुझे अंदर आ रहे हो क्या? तो मैं कुछ याद है नहीं । मुझे कुछ भी आज नहीं सब पहले जैसा ही है । क्या तो मुझसे अभी मिल सकती हूँ । तुम्हारे मन में जो कुछ भी चल रहा है मुझे पसंद आ रहे उनका मिलना चाहते हो । धनो मेरी कराना चाहोगे । आकाश वीजा के काम से दूतावास गया है । हमारे पास कुछ घंटे होंगे के यदि तुम चाहो तो मुझे नहीं लगता ये ठीक रहेगा । इससे बुरा महसूस होगा । जहाँ स्वयं को देखो नैतिक रूप से कितने अच्छे हो ठीक है तो मुझे क्या बताऊँ? मैं नहीं आ जाती हूँ । हो सकता है कि मैं तो मैं वह सब बाते बताओ जो हम ने साथ में की हैं तो फिर इस तरह का व्यवहार नहीं करोगे । ॅ सकती हूँ एक घंटे बाद कोस्टा कैसे मैं सुन रहे हो ना? हाँ सुन रही हूँ । थोडा अधिक खुश महसूस कर रही हूँ । मैं खुश हो कि तुमने मुझे याद किया ऍन तो हम वहाँ पहुँच जाओगी । हमें वहाँ पहुँच जाउंगी । एक घंटे बाहर दमन कोस्टा कैसे में शहर सी घायल हजार कर रहा था । उसने सफेद शर्ट, नीली पैंट और एक जोडी कालेज होते पहने हुए थे । उसने दोबारा समेत का नंबर मिलाया । इससे पहले उसकी कॉल का समेत ने जवाब नहीं दिया था । परंतु सुमित ने उसका फोन अब उठा लिया । अरे तुम कहाँ थे? आज सुबह ऍम कर चुका हूँ । केवल दस कॉल तो है तो सोना जरूरी बात है । पहली बात ये है कि मैं जानता हूँ कि अवनी तुम्हारे पास आई थी और तुम इतने बडे गधे होगी । तुमने इसके बारे में मुझे कुछ भी नहीं बताया । दूसरी बात यह है कि उसने मुझे ये बता दिया की तुमने श्रेयसी के नाम से एक जन ही ईमेल आईडी बनाई है । उसने मुझसे कहा था कि तुम्हें ना बताऊँ और तुम समझ सकते हो ना कि वो आई थी । मैंने तुम्हारे भले के लिए बनाई थी तो उसके बारे में सोचना बंद कर दो तो मैं बोला हूँ भैया चाहे जो भी हो लेकिन आप जैसी वापस लौट आई है । अपनी भी मुझे यही सब बकवास बता रही थी । मैंने उसे कहा है कि वो लडकी तुम्हारी कोई दीवानी पाठक हो सकती है । मैं किसी हालत विश्व ऐसी नहीं हो सकती है । हम लोग भी ऐसा ही सोचना शुरू कर रहे हैं । यदि वो लडकी फर्जी है तो कोई ना कोई वास्तविक ऐसी भी होगी । मैं और अपनी सुबह से ही उस अस्पताल के किसी ऐसे कर्मचारी को ढूंढ रहे हैं जिसमें मुझे और अपनी को ले जाया गया था ताकि मुझे कुछ रिकॉर्ड मिल सके तो मैं कुछ मिला । अस्पताल दूसरी जगह स्थानांतरित हो गया है और उनके पास अब सिर्फ छह वहाँ पुराने रिकॉर्ड ही उपलब्ध है । तो हमने पुलिस से भी संपर्क करने की कोशिश की लेकिन दर्ज की गई एफआईआर वर्ष वैसी का सिर्फ प्रारंभिक नाम है । उसका सामने नहीं लिखा है । हमारे सामने कोई रास्ता ही नहीं बचा था लेकिन तभी अपनी नहीं बात कहीं तुमने श्री उसी को अस्पताल में देखा होगा है ना यही मैं तो मैं श्री किसी की तस्वीर भेजो तो दोनों से पहचान लोगे । हैना धवन ने सुमित से पूछा हूँ घर पे मुझे बताओ क्या तुम से पहचान पाओगे? धमने गिनती की अन्यथा हमारे लिए उस लडकी की पहचान साबित करना बडा चट्टल कम होगा । नहीं मुझे लगता है मैं उसे पहचान होंगा तो मैंने बोला हूँ बहुत करो तुम ने मुझे बहुत बडी खुशखबरी दी है । सुनो अच्छा मैं उस से भी कुछ ही देर में मिलने वाला हूँ । मैं उसकी एक तस्वीर लेकर तो मैं भेजने का प्रयास करूंगा । यदि वही श्रेयसी हो तो मुझे बताना होता है । लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा है तो ऐसा क्यों कर रहे हो? फॅमिली को प्यार करते हो । जैसे ही मैं वास्तविकता से अवगत हुआ, कल्पना भूल गया । धवन ने कहा तो वो शिफ्ट हो गई चल तो मैं उसकी तस्वीर भेजने का प्रयास करता हूँ ।

Details
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
share-icon

00:00
00:00