Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Part 13 bnew

Share Kukufm
Part 13 bnew in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
585Listens
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
Read More
Transcript
View transcript

भाग तेरह व्यक्ति दो सहकर्मियों पर चलाई जिससे उनके हाथों से फाइल छोड गई । सौरी बोलते हुए मैं उनकी वार भागी । दरवाजा बंद करते ही उसने अपना हाॅट ओला और अपने कपडे तथा में कब सामग्री वर्ष वेस्टन के नजदीक लगती है । उसे दमन के कार्यक्रम में जाने के लिए पहले ही विलंब हो चुका था । ऍसे पहले से ही तो बार फोन कर चुका था । उसने उस कार्यक्रम के लिए काले रंग की सुन्दर सी ड्रेस का चयन किया था । जल्दी जल्दी उसने अपने चेहरे पर फाउंडेशन लगाया और ड्रेस पहनी । आहिस्ता आहिस्ता अपनी को वस्त्र बदलने और मेकप करने में पंद्रह मिनट का समय लगा । उसने अपने आॅटो से और वाशरूम से भाग लिया । आपने आरामदायक जूते बाद में बदलने का निर्णय लिया । पार्किंग तक पहुंचने के लिए दो दो सीढी लांदी गई । उसने अपना बैक बाहर की पिछली सीट पर फेंकते हुए जल्दी से ड्राइविंग सीट संभाली । उसने जल्दी से इंडियन स्टार्ट किया और कार को पार्किंग से निकाला । हम कुछ मीटर ही चली होगी । क्यों उसे तेज आवास और ठीक सुनाई दी । उसने तत्काल ब्रेक दबा दिया । उसका कलेजा हो आ गया । स्टेरिंग व्हील को कसकर पकडते हुए मन ही मन बोली आज नहीं आज नहीं आज नहीं संभावित नुकसान को देखने के लिए मोडी उसी देकर राहत में की जिस लडकी के स्कूटर से उसकी टक्कर हुई है । मैं पहले ही खडी हो चुकी थी और अपने कपडों को झाड रही थी । अपनी कार से निकली और उस लडकी की ओर भागी तो ठीक हूँ तुम्हारी क्या मदद कर सकती हूँ कहते हुए अपनी उस लडकी की मदद करने लगी जो अपने स्कूटर को सीधा करने की कोशिश कर रही थी । मुझे माफ कर तो मैंने कहा पूरे वर्ष करते समय पीछे नहीं देखा ये भी कोई नुकसान हुआ हो तो मैं भुगतान करने को तैयार हूँ । हाँ ठीक है कोई बात नहीं । उस लडकी ने अपनी की ओर बिना देखे ही कहा । पक्का उस लडकी ने से मिलाया और अपने स्कूटर को किस करते हुए अपनी की कार से धो ले गई । मैं हूँ । उसने कहा अपनी कुछ देर तक पहुंचा होकर वहीं खडी रही और फिर कार की ओर लौटी । उसने अपनी आंखे बंद की और कार का इंजन चालू करने के पहले छोटी सी प्रार्थना क्या उसने कारकर गेयर बदला और धीरे धीरे पीछा करने लगी । मैं निकास द्वार की ओर बडी तब तक घडी में पांच चालीस बच्चे थे । उसका कार्यक्रम में समय पर पहुंचना लगभग नामुमकिन था । जब पार्किंग शुल्क दे रही थी उसी समय उसने कार के बैडमिंटन में उस लडकी को देखा जिसे उसने कुछ देर पहले टक्कर मारी थी । मैं लडकी अपनी कमर पर हाथ रखकर खडी थी । बार बार स्कूटर स्टार्ट करने के लिए किक मार रही थी । पर स्कूटर्स पार्टी नहीं हो रहा था । हताश होकर उसने अपने सिर पर हाथ रख लिया । उस लडकी की ओर दौडी अरे सुनो क्या मैं हमारी मदद कर सकती हूँ? लडकी ने अपनी केवल देखा अपनी नहीं लडकी से पूछा क्या मैं मैं छोड दो । उस लडकी ने मना किया पर अपनी ने जोर दिया । देखो जी, अब सोच है तो अपनी स्कूटर को यही पार कर टूर पर कल किसी मकानी को दिखा देना । उसका दिल तो मुझे तीस दिन हाल । उसने लडकी को अपना बिजनेस कार्ड देते हुए कहा हाँ वो तो निफ्टी तुम प्लीज उस लडकी की आंखों में आंसू थे । मेरे बाबा ठीक है, माफी मानती हूँ हम । अभी मैं जाने के बाद चलते हूँ कि यही तो अपने माता पिता की चिंता हो रही है तो मैं उनसे बात कर सकती हूँ । मैं उन्हें बता दूंगी कि इसमें तुम्हारी कोई गलती नहीं । अब ऍम उसके हाथ पकडते हुए अपनी नहीं कहा । मैं भी उनसे बात कर लेती हूँ । लडकी ने अपने आशु पहुंच गया मैं अपने माता पिता को लेकर चिंतित नहीं हूँ । मुझे तो क्या मुझे नहीं जाना था । उस लडकी ने धीरे से कहा वो अपने धोनी पर शर्मिंदा थी, अपनी मुस्कराती है फॅमिली जा रही हूँ । अच्छा तुम जहाँ भी जाना चाहो तो मैं छोड देती हूँ । जैसे मिलना चाहती हूँ ऍम से अधिक महत्वपूर्ण है । लडकी ने नई नवेली दुल्हन की तरह शर्माते हुए कहा पीना प्रिय लेखक अग्नि ने पूछा कौन धमन जो मेरे सपनों की लडकी का लेखक आज कनॉट प्लेस में उसकी किताब पर एक कार्यक्रम है । फिर मेरे जीवन का प्यार है । उस लडकी ने मुस्कुराते हुए कहा अपनी ने अपनी मुस्कान पाने के लिए अपना चेहरा ढक लिया तो उसे लडकी प्यारी सी लगी । लडकी ने बोलना जारी रखा । कार्यक्रम छह बजे शुरू होना है और निमंत्रण पत्र के अनुसार किताबों पर अपने ऑटोग्राफ देंगे तो मैं पहले ही देर से थे ऊपर से ही । और उसने स्कूटर की तरफ इशारा करते हुए कहा दिनेश कार्यक्रम के लिए कल ही ड्रेस खासतौरपर खरीदी थी । उसका बच्चों जैसा चुलबुला स्वभाव और अपने प्रिय लेखक से मिलने का उत्साह देखकर अवनी को इतना अच्छा लगा कि वह उसे गले लगाना चाह रही थी । उसकी तरह है । लडकी भी बहुत अच्छे ढंग से तैयार होकर आई थी । अपनी सफेद टॉप और समद्दार चमडे की पैंट मेरे बहुत आकर्षक लग रही थी । अपनी कोई देख कर बहुत अच्छा लगा कि दमन के कुछ वास्तविक प्रशंसक हैं जो पैसा खर्च कर उसके किताबें खरीद सेवा पढते हैं और उस से मिलने की अभिलाषा रखते हैं । इतने तो नहीं छोड देती हूँ मैं उसी ओर जा रही हूँ तुम्हें कनॉट प्लेस ई का अपना मैं आपको परेशान धोनी करियो ना! आंखों में चमक लाते हुए उसने पूछा । बिल्कुल नहीं । आदमी हंस पडी । लडकी ने अपना स्कूटर पार कर दिया और अपनी के पीछे पीछे उसकी कार थक गई । अपनी ने अपनी कार पार्किंग से बाहर निकाल लिया । नहीं है । सोच रही थी कि उसे फिर कब अपनी असलियत बताएगी? नहीं उस किताब की लेखा की गर्लफ्रेंड हूँ । दरअसल मैं उसकी मंगेतर की तरह हूँ । कनॉट प्लेस में किसी के पर कार्यक्रम है । अपनी ने पूछा फॅार? उस लडकी ने उत्तर दिया, उसकी आंखें कहा की घडी पर स्थिर हो गई थी । मुझे बहुत ही हो गई है । मैं उनसे ऑटोग्राफ लेना और उनके साथ फोटो खिंचवाना चाह रही थी । इतनी वहाँ बहुत भीड हुई तो ये तीन हैं । वहाँ से चले गए तो मैं नहीं चाहिए तो चले गए तो फिर तो हर हर इंसान है । मुझे उनके साथ एक तस्वीर चाहिए । उस लडकी ने जहर करेगा उसने अपने बैग में से मैं सपनों की लडकी की एक प्रति निकालकर अपनी को दिखाई । फिर आ रहे है ना । देखो नहीं नहीं है वो बहुत आ रही है तो मैं उनकी किताब पढनी चाहिए । बेहतर होगा की इस किताब के पहले लिखी गई उनकी फेसबुक पोस्ट बढना उन्होंने सब कुछ सेट कर दिया है । फॅमिली उसकी प्रतियां सुरक्षित है ही अच्छी पहुँचते हैं, उस पडती हूँ । उसने भावुकतापूर्ण व कहा उन्हें दूर दल जाना था इसलिए अपनी नहीं उससे मजाक नहीं पूछ लिया । सुनो मुझे आता या मुझे लगता है कि मैं लेखक को जानती हूँ । मैं तो उसकी सहेली को डेट कर रहे हैं । हालांकि मुझे उसकी गर्लफ्रेंड का नाम नहीं पता है । अच्छा सच बताऊँ क्या तो मुझ से मैं खा सकती हूँ । इसके पूर्व की अपनी कोई उत्तर देर बात थी । उस लडकी ने फिर पूछा क्या उनकी गर्लफ्रेंड का नाम कैसी है? नहीं लडकी ने त्योरियां चढानी इससे मुझे कोई फर्क नहीं पडता है कि वह इस लडकी को डेट कर रहा है । मेरे लिए तो हमेशा ओश ऐसी का प्रेमी ही रहेगा । वही उनका सच्चा प्यार है । क्या तुम्हें जानती की उन्हें कोई अलग नहीं कर सकता? अरे दूसरी लडकिया तो सिर्फ उसका ध्यान भटकाने के लिए हैं । कहते हुए उस लडकी ने किसी स्कूली छात्रा की तरह उस किताब को अपनी छाती से लगा लिया क्या? तो नहीं जानती कि वह गाल बनी चरित्र हैं । उस पात्र को सिर्फ इस किताब के लिए ही रचा गया है । अपनी त्योरियां चढाते हुए कहा । लडकी ने तक बरता से उत्तर दिया । हाँ, ठीक ऍम वाली शहर से तो पूरी तरह से काल्पनिक है, जबकि उनकी फॅमिली पूरी तरह से वास्तविक है, प्रेम में थे और उन दोनों के बारे में जो भी कहानियां लिखी कहीं है, वह सकते हैं । मैं आपको सारी कहानियां पढाऊंगी । पूरी आठ सौ साठ कहानियाँ आप अपने आप समझ जाएंगे । वह सारी कहानियां सच्ची है तो उसे प्यार करता था । ठीक है मैं कर लुंगी मैं तो मैं अपना नाम बता नहीं भूल गई । मैं अपनी हूँ, मैं आशीष हूँ । लडकी ने कहा और अचानक उस लडकी के चेहरे के हाव भाव बदल गए, डरावनी को देखती रही । उसके मन में कोई बात आ गई थी क्या? तुम नहीं नहीं क्या तो धवन की कर रहे हो । अपनी ने मुस्कुराते हुए हामी भरी । उसने अपना चेहरा अपनी हथेलियां सच्चे पालियां । मैं गार्ड माफ कर दो । मुझे बहुत बडी गलती हो गई । मुझे आधे उसने टोस्ट । मैं तुम्हारे साथ भी तस्वीर शेयर करी थी तो दोनों एक साथ बहुत अच्छे लगते हूँ । उस ने भावुक होते हुए कहा आखिरकार हैं अपनी नहीं कहते हुए आखें झपकाई । क्या मैं तुम्हारे साथ भी एक फोटो ले सकती हूँ । आॅर्ट के लिए चाहिए । मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा है । हाँ हाँ क्यों नहीं लडकी ने अपना फोन निकालकर दोनों की तीन तस्वीरें ले ली । बाकी राष्ट्रीय भयावनी की ओर देख भी नहीं सकते । ये अपनी कही बातों पर शर्मिंदा थी तो मैं दमन बहुत पसंद है हूँ । अग्नि ने पूछा मैं उसे पसंद नहीं बल्कि प्यार करती हूँ । लडकी ने शीशे में अपने बाल देखते हुए कहा मेरे बाल ठीक लग रहा ना । मैंने कुछ देने के लिए भूरा और लाल कराया है । जल्दी ही फिर से खा लेकर डालूंगी हूँ । आशा है दमन को मेरे बाल पहुॅंचेंगे

Details
लंबे कोमा से जागने के बाद दमन को पता चलता है कि वह एक जबरदस्त कार हादसे का शिकार हुआ था, जब उसके साथ एक लड़की भी थी, जो उसे मरा हुआ समझकर हादसे के फौरन बाद वहां से गायब हो गई। अजीब बात है कि उस लड़की का धुंधला चेहरा, सम्मोहित करनेवाली आंखें और उसका नाम श्रेयसी दमन को अब तक याद है, जबकि उसकी याददाश्‍त जा चुकी है। उसने सपने में देखी अपनी और श्रेयसी की कहानियों को जोड़ना शुरू किया, और फिर उसे अपने जबरदस्त लोकप्रिय ब्लॉग में ढाल दिया। कुछ समय बाद दमन अपने ब्लॉग को एक उपन्यास के तौर पर प्रकाशित करने का फैसला करता है। तब एक खूबसूरत लड़की, जो श्रेयसी होने का दावा करती थी, दमन का पीछा करने लगी और धमकाया कि दमन को अपना जमीर बेचने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी तथा अपना बदला लेने के लिए वह किसी भी हद तक जाएगी। दमन उससे निपटता, इससे पहले उसे मालूम करना था : क्या वह सच में वही है, जैसा दावा कर रही है? उसे अब उससे क्या चाहिए? अगर उस लड़की की बात नहीं मानी तो उसके साथ क्या होगा? जानने के लिए सुनें पूरी कहानी। Author - Durjoy Dutta
share-icon

00:00
00:00