Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM
चित्रलेखा रूपसिंह से प्रेम करती है लेकिन जमीदार का दुष्‍ट बेटा यशवंत चित्रलेखा से शादी करना चाहता है और अपने पिताजी से कहकर चित्रलेखा के घर विवाह का प्रस्‍ताव भिजवाता है। चित्रलेखा अपने पिताजी जीतसिंह से यशवंत के बुरे व्‍यवहार के बारे में बताती है और शादी से इनकार करती है। रूपसिंह और अपने प्रेम के बारे में पिताजी को बताती है। जीतसिंह के सामने दुविधा है आ जाती है और फिर दंगल का आयोजन होता है जो दंगल जीतेगा उसकी शादी चित्रा से होगी। रूपसिंह विजयी होता है और हारा यशवंत घायल शेर की तरह घात लगाता है। और फिर शुरू होता है दो परिवारों के बीच खूनी खेल।
Read More
Details
चित्रलेखा रूपसिंह से प्रेम करती है लेकिन जमीदार का दुष्‍ट बेटा यशवंत चित्रलेखा से शादी करना चाहता है और अपने पिताजी से कहकर चित्रलेखा के घर विवाह का प्रस्‍ताव भिजवाता है। चित्रलेखा अपने पिताजी जीतसिंह से यशवंत के बुरे व्‍यवहार के बारे में बताती है और शादी से इनकार करती है। रूपसिंह और अपने प्रेम के बारे में पिताजी को बताती है। जीतसिंह के सामने दुविधा है आ जाती है और फिर दंगल का आयोजन होता है जो दंगल जीतेगा उसकी शादी चित्रा से होगी। रूपसिंह विजयी होता है और हारा यशवंत घायल शेर की तरह घात लगाता है। और फिर शुरू होता है दो परिवारों के बीच खूनी खेल।
share-icon

00:00
00:00