Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

Ep21 - Aao kursi kursi khele

Share Kukufm
Ep21 - Aao kursi kursi khele in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
598Listens
समाज में व्याप्त हर क्षेत्र के बारे में ज्योतिंद्र नाथ प्रसाद के व्यगात्मक विचार... Author : ज्योतिंद्र प्रसाद Voiceover Artist : Harish Darshan Sharma
Read More
Transcript
View transcript

आओ कुर्सी कुर्सी खेले । ज्योतिंद्रनाथ प्रसाद भी जाते हैं । मुझे चुनाव का बुखार चढ गया है । मैं कोई नेता नेता नहीं महज मतदाता हूँ । हम मुद्दा यह है कि मैं किसको वोट देना ज्योतीन्द्र ने सोच लिया है । उनका वोट अवसरवादी पार्टी हो जाएगा । यह पार्टी गिरगिट की तरह रंग बदल दी है । हर चुनाव में अपने नाम को सार्थक करती है । अवसर देख सत्तारूढ दल की तरह अपने हाथ मजबूत करने पर तो जाती है और कभी विपक्ष की तरह मोदी हटाओ पर मारामारी करने लगती है ना । इसका नारा है अवसरवाद जिंदाबाद इसका चुनाव चिन्ह है । कुर्सी आपके कायल है । जो तीन रहे पार्टी को साधुवाद देते हैं कि उसे चुनाव आयोग की तरफ से कुर्सी चुनाव दिन में मिला है । मगर कुर्सी के साथ कुछ और घपले हैं । एक नेता कुर्सी पर बैठना चाहता है तो दूसरा उसकी टान तोडने में व्यस्त हैं । तान तोडने वाले की भी टाइम की दी जा रही है । इस तरह कुर्सी के इर्द गिर्द अफरा तफरी मची है । ज्योतिंद्र जी कहते हैं, अवसरवादी पार्टी ने लोकसभा के सभी स्थानों के लिए अपने उम्मीदवार खडे किए हैं । कुछ को छोडकर बाकी सभी उम्मीदवार निहायत शरीफ और पाकसाफ हैं । इस हद तक शरीफ और पाक साहब की पुलिस को उन पर विश्वास नहीं होता । उन्हें तंग करने के लिए पुलिस ने झूठमूठ के उनके खिलाफ गुंडागर्दी के मामले दर्ज कर दिए हैं । एक साक्षात्कार में उम्मीदवारों ने वार्ताकार ज्योतिंद्र को बताया की हिंदुस्तान की पुलिस को हम भाई मानते हैं । आखिर चोर चोर मौसेरे भाई वाली कहावत वो चरितार्थ करना था । इसके लिए प्रत्याशी जब तब पुलिस की धौंस रहने के लिए तैयार रहते हैं जो दिन अजीब बयान करते हैं । कुछ उम्मीदवारों को पार्टी ने तमाशा के रूप में खडा गया है । यह प्रजातंत्र नहीं भीडतंत्र है । जितना ज्यादा भीड इकट्ठी कर सको उतना ही फायदा भले ही भीड वोट में तब्दील ना हो । अब तो भाजपा ने भी इस पार्टी की नकल की है । भीड खडी करने के लिए अमिताभ बच्चन को गुजरात के मोर्चे पर खडा कर दिया है । अमिताभ एक चुनाव प्रचार में अपने प्रतिद्वन्दी से कह रहे हैं मेरे हमने नहीं मैं तुम्हारा क्या चाहता है और राहुल जी कह रहे हैं कि आखिर अमित जी की मंशा क्या है? कहीं इन्कलाब तो नहीं चलने वाले । उधर मद्रास में भरत नाट्यम करके वोटरों को लुभा रही है । मालूम नहीं था कल की फिल्मों की छम्मकछल्लो के विरुद्ध विपक्षी चिल्ला रहा है । डेवलॅप अवसरवादी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में कहा है कि वहाँ यदि सत्ता में आई तो भ्रष्टाचार को बढावा देगी और दलबदल को तरजीह है ताकि विपक्ष के अस्तित्व बना रहे हैं । बिना विपक्ष के कहीं जनतंत्र होता है । ज्योतिंद्र बताते हैं, अवसरवादी पार्टी में प्रधानमंत्री पद की होड हैं । वैसे यहाँ पार्टी मानती भी है कि प्रधानमंत्री बनने का चांस से सबको मिलना चाहिए । यहाँ तक कि हेमा मालिनी को भी शायद अगले चुनाव में वे अपना भाग्य आजमाएंगी । फिलहाल अवसरवादी पार्टी की इस चुनाव में तीव्र लहर है । बहती गन्ना में आप भी हाथ बोले ज्योतीन्द्र तो अवसरवादी पार्टी को ही वोट देंगे । बोगस जी सही है ।

Details
समाज में व्याप्त हर क्षेत्र के बारे में ज्योतिंद्र नाथ प्रसाद के व्यगात्मक विचार... Author : ज्योतिंद्र प्रसाद Voiceover Artist : Harish Darshan Sharma
share-icon

00:00
00:00