00:00
00:00

Premium
भूतिया घटना in pubg game in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts

Story | 3mins

भूतिया घटना in pubg game in 

AuthorATAL PAINULY
कैसे एक Pubg Player, गेम की दुनिया में फंस जाता हैं, एक रहस्यमयी unknown player  जो अभी भी रहस्य है| Producer : KUKU FM Voiceover Artist : mohil Script Writer : Atal Painuly
Read More
Listens4,807
Transcript
View transcript

भुतिया घटना -01 ।( वास्तविक घटना) यह घटना वास्तविक है जो 2014 की है, जब मेरे विद्यालय के एक अध्यापक हो निरीकक्षण कार्य के लिए जौनसार बाबर में जाना पड़ा । जैसा कि अधिकतर विद्यालयों में होता है एक विद्यालय के अध्यापकों निरीकक्षण के लिए किसी अन्य विद्यालय में भेजा जाता है। इसी क्रम में मेरे एक अध्यापक को जौनसार बावर के एक सुदूर पहाड़ी पर स्थित स्कूल पर जाना था ।वह सुबह ही बस से अपने गंतव्य को निकल गये । उन्हें जाने में 6 घंटे का समय लगाना था रास्ता खराब होने की वजह से 9 घंटे लग गये । जिससे के 3:00 बज गए । अधिकतर पर्वतीय क्षेत्र में विद्यालय सड़क से काफी दूरी पर होता है तो उन्हें 1 घंटा लग गया जब वह रास्ते पर चल रहे थे उन्होंने थोड़ी दूरी पर एक घड़ा दिखा जिसने खून भरा हुआ था। आपके चारों तरफ काले जादू का सामान रखा हुआ था जैसे काले कपड़े में सतनाजा , नाखून, बाल, एक गुड़िया । व अध्यापक विज्ञान के अध्यापक थे उन्होंने उसे देख कर घड़े को लात मार दी । और आगे बढ़ गए । कुछ वह स्कूल मिला स्कुल ने पोजिशन के हिसाब से करता है सर की आवाभगत की । जैसा कि सभी विद्यालयों में होता है । उन्होंने गांव के समय अनुसार रात्रि का भोजन किया और कुछ देर बातचीत के बाद वे सोने को आ गये । उस समय तो उन्हे बढिया नींद आयी पर रात को लगभग 12 :30 के समय उनकी नींद अचानक खुली । तो उन्हे बिल्ली की आवाज आयी , बिल्ली रो रही थी म्याऊ ........म्याऊ । तब उन्होने उसे जोरदार आवाज से भगा दिया । परन्तु अब वह जैसे ही आखे बंद करते उन्हे लगता कि जैसे एक बहुत बडी पानी की बुंद उनके सर पर गिर रही है पर तुरन्त उन्होने आखे खोली । फिर उनको यही सब आभास हुआ । फिर उन्होने सोचा कि थोडा़ बाहार टहल लेता हुं । पर यह क्या उन्हे आभास हुआ कि वह अपने को हिला भी न पाये और मुंह खोला तो आवाज ही बाहार नही आ रही थी ।उन्हे महसुस हुआ कि कोई जैसे कोई भारी चीज रखी है । उन्हे तो आपनी मत्यु ही नजदीक दिखी । अपने अंतिम प्रयास में उन्होने अपने ईष्ट देवता को याद किया व जोर से चिल्लाया तब जाकर वे बच पाये । उस रात तो वह सो भी नही पाये । यही बात उन्होने अगले दिन बताई वहां के प्राचर्य को बताया । वह इन सब के विषय में बताया कि रात को मेरे साथ ऐसा ऐसा हुआ । तो उन्होने पुछा कि तुमने क्या किया और कैसे आये । तो उन्होने बताया कि आपने उस घडे़ को लात मारी तभी यह सब हुआ । तब उन्हे लेकर स्थानीय देवता के मंदिर ले जाया जहां उन्हे काला धागा दिया गया और बोला कि रात को कभी बिल्ली को वापिस आवाज नही देनी चाहिए क्योकि ये जौनसार -बावर है ।यहां रात को डाकिनी बिल्ली के रुप में आकर परेशान करती है ।और आपने रास्ते मे जिस चीज को छुआ वो ऊर्जा वही से आपके पीछे पडी थी ।वे अगले ही दिन वहां से वापस आ गये । शायद इस घटना के बाद पुन: उस तरफ नही गये । सीख - कभी भी किसी संदिग्ध वस्तु को न छेडे़। यह वास्तविक घटना है । भुतिया घटना 03 in pubg game . रोहन killer एक अच्छा pubg player है जो रात को एक unknown player केसाथ ............................। इस काहानी को आगे पढने से पहले भाग -01 जरुर पढे । जब सुबह दुधवाला आता है तो वह उसे उठाता है तो वह फोन उठाकर देखता है , पर उसने रात को बैट्ररी निकालू थू वह खुद फोन में कैसे लगी , वह यही सोच रहा था । कि तभी उसका वह दोस्त गांव से वापिस आ जाता है । रोहन फिर उस बात पर इतना गौर नही करता और फिर से अपने Squad के साथ शुरु हो जाता है। इंटरनेट गेंमिग की ऐसी लत लग जाती है कि चाहकर भी बाहार आना संभव नही है । क्योकि दिमाग में तो गेम चल रहा है । शाम हो गयी ,अब शाम को एक पत्र उसके घर के बाहार मिला । जिस पर लिखा था ..... हा.......हा.......हा......हा.... रोहन तु तो रात को गया। मै आ रहा हूं pubg का expart रोहन की तो सिट्टी -पीट्टी गुम हो गयी , नीचे लिखा था तुम्हारा Unknown pubg friend. अब वे तो दोनो डर गये । वह दोनो एक ही कमरे मे सेाये उस दिन उसने pubg भी नही खेला और सो गये , रात के लगभग 1:30 हो गये तो आचानक दोंनों के mobile में pubg अपने आप स्टार्ट हो रहा था । तभी उनकों वह अजीब आवाजें आने लगी । ही…......ही.…....कि.........र.........र......................चू.......................... जैसा अक्सर दरवाजा खोलने पर आती है तो वह डर जाते है कि इतनी रात को किसने दरवाजा किसने खोला । वह देखते है दरवाजा आपने आप खुल रहा होता है । तभी कुछ ऊपर से टपकता है ........... टप वह नीचे देखते है तो काला जमा हुआ खुन फार्श पर लगा है उनकी ऊपर देखने तक की हिम्मत नही होती पर जैसा मानव स्वभाव है उसके अनुरुप वह ऊपर देखते है तो एक नीली - लाल आखों वाला एक साया उनके ऊपर छिपकली की तरह लटका हुआ है । उसने उन दोनों को बुरी तरह से घायल कर दिया और वह दोनो बेहोश हो गये ,आजकल के बच्चे ऐसी चीजे मानते नही है वरना वो पहले ही सतर्क हो जाते । वास्तविकता यह है कि जिसके साथ घटित होता है वही उस पर विश्वास करता है । अगले दिन जब दुधवाला आया तो जब उसने आवाज लगायी तो उसने दरवाजा खुला देखा तो वह दंग रह गया । उसने ही पुलिस को सुचित किया । उन्हे बहुत चोट लगी थी । तो उन्हे अस्पताल पहुचाया गया , वहां उनका fist add कराके वह थोडा़ स्वस्थ हुये तो उन्होने पुलिस को सब बताया पर सब ने सोचा कि इन्होने आपस मे लडा़ई हुई जिस वजह से इन्हे चोटे आयी । तो उनके घरवालों को सुचित कर दिया गया । 2 दिन बाद जब| वह स्वस्थ होकर लौटे तो वह सबसे पहले मन्दिर भागे , पुजारी जी को सब कुछ बता दिया तो उन्हे भी विस्मय हुआ कि क्या यह संभव है । कि मोबाइल से ऐसा कुछ संभव है । तो उन्होने उन्हे काला धागा अभिमंत्रित करके दिया । तब वे ठीक हुये अब उन्होने सबसे पहले pubg हटाया और उस कमरे से दुसरी जगह सिफ्ट हो गये । ताकि फिर कभी ऐसा न हो । और मेरे दोस्त भी pubg से दुर हो गया । एक unknown playr जो अभी भी रहस्य है । वह क्या था एक प्रश्न आपके लिये ,उत्तर जरुर दीजिये । सीख - पैरानर्मल Activity से बचे । आपने आस - पास ध्यान दीजिये , और pubg छोडिये । भुतिया घटना -04(भुतिया खेत) यह घटना वास्तविक है, यह घटना मेरे दोस्त के साथ घटित हुई है जो जौनसार -बाबर क्षेत्र का निवासी है । जौनसार बाबर तंत्र मंत्र के लिए प्रसिद्ध है प्राचीन काल में शायद से ही इसे ही कामरूप नगर या मांयाेग क्षेत्र कहा जाता होगा । यहां पर तंत्र मंत्र में विशेष रूप से महिलाएं ही दक्ष होती है। सर्दियों की छुट्टियों में मेरा दोस्त रोहन अपने गांव जाने के लिए सुबह 6:00 बजे घर से निकला और वह बस में बैठकर अपने गांव की तरफ धीरे धीरे बढ़ता है . उसका सफर 2 घण्टे बाद उसका सफर बहुत सुहाना हो गया ,धीरे-धीरे मौसम में हल्की ठण्ड शुरु हो गयी क्योकि पर्वतीय घाटियां शुरु हो गयी और वह सफर का मजा ल्ने लगा वह खिड़की से बाहार देख रहा था और सड़क के दोनो और की हरियाली देखने में मजा आ रहा था । तभी नजर उसकी एक तीव्र मोड़ पर सड़क के किनारे एक कमरेनुमा सरचना ( कोठार) देखा उसे वहां बहुत सारी नीली आंखे दिखाई दी उसने ध्यान से देखा कि उसे मानवाकुति दिखाई दी । तो उसे याद आया कि यह तो वही जगह थी जहां पर अक्सर हादसे होते है और कुछ साल पहले वहां पर बस दुर्घटना ग्रस्त हो गयी थी जिसमे कोई जीवित नही बचा । तभी उसे एक परछाई दिखाई दी जो बस के पीछे -पीछे चल रहा थी , तभी उसने बगल वाली सीट में बैठे यात्री से पुछा कि तुम्हे कुछ बाहार दिखाई दे रहा है , तो उसने बोला कि मुझे कुछ नही दिखाई दे रहा है , एेसी घटनाये केवल उसी को दिखाई देती है जो बहुत नकारात्मक या जिसके असुरी ग्रह बहुत बलवान हो जाते है तो उन व्यक्तियों के सम्मुख प्रकुति के रहस्य उजागर हो जाते है ।कुछ आगे जाकर स्थानीय देवता का मन्दिर था , तो वह छाया बस को छोड़कर पुन: वापस लौट गया । अगर कोई सामान्य किस्म का होता तो वही बेहोश हो जाता ,पर हमारे ग्रुप के सभी मित्र निड़र थे ।तो उसे कुछ अधिक दिक्कत नही हुई । अब कुछ समय के बाद वह फिर से सुहानी वादियों का मजा लेने लगा और लगभग 4 बजे वह अपने बस स्टाप पर उतर गया और अब आगे का सफर उसे अकेले ही करना था । और पहाडो़ मे 4 बजे सुर्य अस्त हो जाता है और धीरे-धीरे अब प्रकाश कम होने लगा । पर्वतीय क्षेत्रों मे अधिकतर गांव सड़क से बहुत दुरी पर स्थित होते है ।आधा सफर तय करने में उसे 40 मिनट लगे क्योकि वह आराम से प्रकृति का आंनद लेकर चलता जा रहा था ,पर तभी उसे पादचापों की आवाज सुनाई दी उसने पीछे मुड़कर देखा तो कोई नही , पर 5मिनट बाद आवाज फिर शुरु अब तो ऐसा लग रहा था मानो कोई एकदम पीछे चल रहा हो ,वह फिर पलटा तो फिर कुछ नही , तभी उसके शरीर में एक ठण्डी सिहरन दौडी़ जब उसने उस खेत के बारे मे सोचा जिसे गांव के लोग भुतिया खेत घोषित किया था ,उसकी आंखों के सामने वह कल्पनाये वास्तविक होने लगी कि किस तरह एक तांत्रिक ने तंत्र क्रिया की सिद्धी के लिये एक 15 वर्षीय लड़के की हत्या कि और उसके कुछ दिनों बाद वह तांत्रिक भी रहस्यमयी तरीके से मृत पाया गया । और कई गांव वालों ने उस लड़के को उस रास्ते में कई बार देखा तभी से ये खेत भूतिया खेत बन गया। तब से कोई इस खेत पर फसल उगाता वहां बहुत झाड़ियां हो गई थी, मैं उस खेत के पहले सीरे पर पहुंचा ,तभी उसे पीछे से आवाज आयी ....श.......श.......श..........तु.......म......म.......मे.....र...........रे...........बारे में सोच रहे हो न ...........ही......ही । उसकी तो हवा टाईट हो गयी और वह ऐसा भागा कि 40 मिनट का रास्ता 10 मिनट में तय हुआ और उस आवाज ने उसका पीछा जब तक वह सुनसान रास्ते से आगे नही बढा तब तक वह आवाज आती रही । उसके बाद 3 दिन तक उसका शरीर तप रहा था फिर जब डाक्टर की दवाईयों से कुछ राहत न मिली तो गांव के मन्दिर के पुजारी जी को बुलाया तो उन्होने उसे एक कुछ उपाय बताया ( इस उपाय को गुप्त रखने को कहा गया है ।) , तब से वह हर बार उस उपाय को करता है तब से उसे तो ऐसा एहसास नही हुआ पर एक अन्य बाहारी व्यक्ति ( गांव में सामान बेचने को आने वाले ) के साथ इसी रास्ते पर भुतहा घटना हुई उसे भी जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा ।

Details
कैसे एक Pubg Player, गेम की दुनिया में फंस जाता हैं, एक रहस्यमयी unknown player  जो अभी भी रहस्य है| Producer : KUKU FM Voiceover Artist : mohil Script Writer : Atal Painuly