Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

भाग - 24

Share Kukufm
भाग - 24 in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
203Listens
"विकसित होती टेक्‍नोलॉजी एक दिन इस स्तर पर आ जायेगी कि मनुष्य और रोबोट में अंतर खत्म हो जाएगा। मनुष्य और रोबोट का यह मिलन, भविष्य में सही होगा या गलत, यह तो भविष्य के गर्भ में है, लेकिन‌ दोनों के मिलन को लेकर जो कहानियां रची गयी है वह आप 'रोबोटोपिया' में सुन सकते हैं। इस कहानी संग्रह में कुल नौ कहानियां है। रोजिना एक रोबोट है, क्या एक रोबोट से बलात्कार संभव है? क्या उसके लिए अपराधी को कानूनी सजा दी जा सकती है? मनुष्य और रोबोट के ऐसे संबधों को उजागर करती है 'रोबोटोपिया'। सुनें इस अद्भूत कहानी संग्रह को केवल कुकू एफएम पर।"
Read More
Transcript
View transcript

और फिर बुधवार दिया गया । इस एक हफ्ते में जब दिन ने कई बार रो मित्रा के साथ लवमेकिंग की थी और उससे प्रेम का हर वह पाठ पढा दिया था जो उसे आता था । अब उसे भी रो मित्रा से प्यार हो गया था । वो उसके साथ रहना चाहता था । उसका बस चलता तो अपनी सारी सैलरी करन के पास छोडकर बदले में रो मित्र को से मांग लेता । लेकिन वह जानता था कि करण जैसा हार्ड कोर बिजनेसमैन कभी उसके बाद नहीं मानेगा । उसके दिमाग में एक योजना आकार लेने लगी । करन के टोनी वागले को लेकर आने में अभी करीब आठ नौ घंटे का वक्त था जो उसके लिए पर्याप्त था । उसने रो मित्र का स्विच ऑफ किया और अपनी योजना पर काम करना शुरू कर दिया । शाम को करीब आठ बजे करण का आगमन हुआ । मिस्टर टोनी कुछ देर में पहुंचने वाले हैं । उसने जतिन से पूछा, क्या तुमने इसे एकदम फिट कर दिया है? एस मिस्टर करंट वो बोला एक बार फिर सोच लीजिए आप जो कर रहे वो सही नहीं है । ऍम करण को गुस्सा आ गया । मैं वही करूंगा जो मेरा मन करेगा तो मगर नहीं देख सकते । हो जाओ उपर अपने कमरे में आराम करो । जतिन सिर झुकाकर लैब से निकल गया । आठ पैंतालीस बज रहे थे जतिन आंखे बंद किए अपने कमरे में बैठा हुआ था तभी उसने गाडी के आकर रुकने के आवास वो समझ गया कि टोनी वागले आ पहुंचा है । उसने लैप्टॉप का फ्लैट खोला और स्क्रीन पर बने सीसीटीवी के आइकॉन्स में से एक पर क्लिक किया । अगले ही पल लैब के अंदर का नजारा उसकी आंखों के सामने था । जब मैंने देखा एक रन लैब का दरवाजा खोलकर टोनी वागले को ग्रीट कर रहा था । धोनी के साथ उसकी सिक्योरिटी के लिए दो गनर भी थे जो शायद हमेशा उसके साथ रहते थे । ऍम धोनी ने भी डर घुसते ही इधर उधर नजरें दौडाई करण ने हाथ से रो मित्रा के चैंबर की ओर संकेत क्या जहाँ वो शांति से आंखे बंद किए बैठ कर लेती थी । उसने मैरून कलर का ड्रॉप पहना हुआ था जिसमें से उसके कंधों से सीने तक का कुछ हिस्सा और घुटनों से कुछ ऊपर तक उसके पैर बाहर झांक रहे थे । उसकी गोरी उजली नहीं पर नजर पडते ही तो नहीं की आंखें चमक उठीं और उसने अपने दायें हाथ के अंगूठे को ऊपर उठाकर दिखाया जिसका मतलब था कि उसे रो मित्रा पसंद आई थी । वह चेंबर की ओर बढने लगा । रुकी है सर मैं कर देता हूँ । तभी करण उसके पास आकर बोला ऍम वो उसे एक और हटने का इशारा करते हुए बोला । फिर देखते है टोनी चेंबर में घुस गया । दोनों गार्ड उस की ओर से पीट घुमा कर खडे हो गए । लेकिन वे अभी भी चाकचौबंद थे और उन्हें देखने से साफ पता लग रहा था कि अगर कुछ गडबड होती है तो वह गोली चलाने में एक सेकंड की भी देरी नहीं करेंगे । करण भी रो मित्र के चैंबर के बगल में बने जतिन के केबिन में जाकर बैठ गया । जतिन सीसीटीवी के दूसरे आइकन को क्लिक किया जो चेंबर में लगे कैमरे से कनेक्ट था । अब वो दोनों जगह पर एक साथ नजर रख सकता था । उसने देखा कि चेंबर के अंदर जाकर टोनी रो मित्र के बैठ के पास घुटनों के बल बैठ गया । पहले उसने रो मित्रा की था । इस पर हाथ कुमार और फिर सीने के खुले हिस्से पर । इसके बाद धोनी ने उसकी रॉक की नौ खोलकर उसके दोनों हिस्सों को दाएं बाएं किसका दिया । अब रो मित्रा के शरीर का सामने का पूरा खुला हिस्सा उसके सामने नुमाया था । उसका बायां हाथ रो मित्र किसी ने को और दायें हाथ उसकी ना भी के आसपास के हिस्से को धीरे धीरे सहलाने लगा । जब मैंने देखा उसके मुंह से लार टपकने लगी थी और उसे देख कर कोई भी कह सकता था कि अब वह किसी भीषण उसके शिकार के रूप में असहाय अवस्था में बैठ कर लेती । रो मित्रा पर टूट पडने वाला है । टोनी खडा होकर अपने कपडे उतारने लगा । उसका दानव जैसा लंबा चौडा और यहाँ शरीर देखकर जतिन को उबकाई आने लगी । उसने पांच रखा, पानी का गिलास उठाया और एक ही सांस में पूरा खाली कर दिया । उसने देखा कि सारे कपडे उतारने के बाद टोनी वागले रो मित्रा के ऊपर लेट गया । उसकी विशालकाय हैं कि नीचे प्रो मित्र का शरीर पूरी तरह छुट गया था लेकिन उसके चेहरे का कुछ हिस्सा टोनी के दायें कंधे के नीचे देखा जा सकता था । उसके चेहरे पर कोई भाव नहीं थे । उसकी आंखे बंद थी क्योंकि उस वक्त वो ऑफ थी और उसमें और किसी लाश में कोई फर्क नहीं था । अगले दस पंद्रह मिनट तक उसके ऊपर पडा टोनी का शरीर हिलता रहा और जब वह से अलग हुआ तो उसके माथे पर पसीने की बूंदें चूज वहाँ आ रही थी और उसके चेहरे पर संतुष्टि के भाव है । उसने अपने कुत्ते को उठाकर उसकी जेब से मोबाइल निकाला और कोई नंबर मिला है । जाॅब स्क्रीन पर करण को फोन कान से लगाते हुए देखा । वो समझ गया कि टोनी ने करण को ही फोन लगाया था । अभी ऍम ठंडा वह करन से कह रहा था ऍम मैंने आपसे पहले ही बोला था की उसे ऑन कर देता हूँ । करने सफाई थी तो अभी कौन सा हो गया । धोनी कहाँ कहाँ लगाते हुए बोला हुआ उनको बाॅन करते हैं । इसकी गर्दन के पीछे एक छोटा सा रेट बटन है । उसे पूछ करेंगे तो हो जाएगी । करण ने उसे समझाया लेकिन जरा संभलकर हो सकता है कि ये प्रोटेस्ट करें । उसके फिगर तू मत और ऍम वो शान दिखाते हुए बोला और रो मित्रा के ऊपर आते हुए उसका स्विच दबाकर उसे ऑन कर दिया । उसे देखते हीरो मित्र चीज होती है और उसे अपने से दूर धकेल दिया । अचानक हुए इस हमले से वो अपने आप को संभालना सका और बिस्तर से नीचे आगे रहा । इस बेईज्जती पर उसकी आंखें गुस्से से दहकने लगी और उसने रो मिला के ऊपर एक के बाद एक चार पांच करारे थप्पड रसीद दिए और फिर से उस पर सवार हो गया । रो मित्र खुद को उसके शिकंजे से छुडाने के लिए काफी संघर्ष कर रही थी । लेकिन धोनी का शरीर इतना भारी था कि वो उसे अपने ऊपर से हटा ही नहीं पा रही थी । जतिन के चेहरे पर मुस्कान आ गई । अब उसकी योजना साकार होने जा रही थी । इसके बारे में रो मित्र को भी कुछ नहीं पता था । उसने देखा कि रो मित्र को अपने नीचे दबाए हुए टोनी ने अपने हाथों में उसकी दोनों कलाइयों को जगह कर उसके हाथों को विपरीत दिशाओं में फैला दिया और अपने शरीर को थोडा सा ऊपर उठाते हुए एक जोरदार झटका दिया । वो मित्र के भीतर प्रवेश कर चुका था । उसके चेहरे पर जीत की खुशी झलक रही थी लेकिन अगले ही पल अचानक उसके चेहरे के भाव बदल गए । उसका शरीर झटके लेने लगा और उसके मुंह से गोटी गोटी करहा निकलने लगे । उसके कराने की आवाज सुनकर दोनों गार्डों ने घूमकर चैंबर की ओर देखा लेकिन रो मित्रा के ऊपर पडा । टोनी जिस तरह से हिल रहा था उसे देखकर यही लगता था कि जैसे उसका शरीर आनंद के अतिरेक से झटके ले रहा है और उसकी कराहे भी उसके जोश का नतीजा लग रही थी । वे फिर से पहले की तरह मुंह घुमा कर खडे हो गए । दो मिनट से भी कम देते थे कि टोनी के शरीर में हरकत करना बंद कर दिया । उसका से हाँ जिसमें आप कोयले जैसा काला हो चुका था, उसकी इस हालत का रहा सिर्फ जाती नहीं जानता था जिसने दोपहर को हीरो मित्र की बॉडी में एक ऐसा नैनो जनरेटर फिट कर दिया था जिसकी वायर उसकी गर्दन में लगे स्विच से कनेक्टेड थी और वो मित्र को फोन करते ही वह एक्टिव हो जाता था । उसने ऐसा अरेंजमेंट किया था कि इस जनरेटर की एक्टिव रहते हुए अगर कोई रो मित्रा में पेनिट्रेट करता है तो उसे हाईवोल्टेज करंट झटके लगने लगते हैं और कुछ ही देर में उसकी मौत हो जाती तो उन्हीं के साथ भी यही हुआ था । जब तक उसकी समझ में आता है कि उसके साथ क्या हो रहा है, उसके प्राण पखेरू उड चुके थे । उसकी झुलसी भी देख को देखकर जतिन का मन जोर जोर से ठहाके लगाने का कर रहा था लेकिन अभी इस स्टोरी का क्लाइमेक्स बाकी था । उसने स्क्रीन पर देखा । दोनों गार्ड एक दूसरे की ओर बेचैनी से देख रहे थे । अंदर से कोई आवाज नहीं आ रही थी । उन्होंने भीतर झांक कर देखा । रो मित्र टोनी की भारी भरकम देख के नीचे दबी हुई थी । जिसमें अब कोई हरकत नहीं हो रही थी । वही तुरंत चैंबर की ओर लपके और टोनी को रो मित्र के ऊपर से उठाकर बाहर ले आए । धोनी को सोफे पर लिटाने के बाद उनमें से एक ने उसकी नब्ज पकडकर देखा । फिर वो उसके सीने पर झुककर उसकी धडकन तलाशने लगे । तब तक करन भी बाहर आ चुका था । उन दोनों ने टोनी का मुआयना कर रहे गार्ड की ओर सवालिया नजरों से देखा तो उसे निराश आत्मक भाव से सिर हिलाया और उठ खडा होगा । दोनों गार्ड शहर भरी नजरों से करण को खो रहे थे । इसमें मेरी कोई गलती लगी । वो हकलाते हुए बोला था रिकॅार्ड मैं अभी बाकी के शब्द उसके मुंह में ही रहे हैं । इससे पहले की वो अपनी बात पूरी कर पाता । गार्डोँ के गन से निकली गोलियां उसके शरीर को छलनी कर चुकी थी । उसका मृत शरीर हवा में लहराते हुए फर्श पर आगे रहा । दोनों गार्डों ने हिरासत भरी नजर से उसे देखा और टोनी की लाश को उठाकर लैब से बाहर निकल गए । जब इनको जब गाडी साठ होने की आवाज सुनाई दी तो उसकी जान में जाना है । उसे रो मित्र की फिक्र सता रही थी कि कहीं करण के बाद गार्डों के कहर का शिकार ना बन जाए । धीमे होते होते जब गाडी की आवाज बिलकुल सुनाई देना बंद हो गई तो लैप्टॉप लेकर सीढियां उतरने लगा । नीचे आकर जब वो लैब में पहुंचा तो उसने देखा कि रो मित्र अपने चेंबर से बाहर आ चुकी हैं और फर्श पर पडी करन की निर्जीव देह को देख रही है । उसके चेहरे पर डर, हैरानी और दुख के मिले जुले भाव थे । जतिन ये सब किया है । उसने जतिन के पास आकर पूछा टोमॅटो मित्र, उसने उसे अपने सीने से सटा लिया । अब सब ठीक हो जाएगा । तो क्या अब मैं हरो मित्र अब हमें कोई अलग नहीं कर सकता । जतिन ने उसे आलिंगन में कस लिया और रो मित्र ने खुद को उसकी बाहों में वैसे हि ढीला छोड दिया जैसा कि ऐसे पलों में वो हमेशा क्या करती थी ।

Details
"विकसित होती टेक्‍नोलॉजी एक दिन इस स्तर पर आ जायेगी कि मनुष्य और रोबोट में अंतर खत्म हो जाएगा। मनुष्य और रोबोट का यह मिलन, भविष्य में सही होगा या गलत, यह तो भविष्य के गर्भ में है, लेकिन‌ दोनों के मिलन को लेकर जो कहानियां रची गयी है वह आप 'रोबोटोपिया' में सुन सकते हैं। इस कहानी संग्रह में कुल नौ कहानियां है। रोजिना एक रोबोट है, क्या एक रोबोट से बलात्कार संभव है? क्या उसके लिए अपराधी को कानूनी सजा दी जा सकती है? मनुष्य और रोबोट के ऐसे संबधों को उजागर करती है 'रोबोटोपिया'। सुनें इस अद्भूत कहानी संग्रह को केवल कुकू एफएम पर।"
share-icon

00:00
00:00