Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

23. Capsule Ki nayi Design

Share Kukufm
23. Capsule Ki nayi Design in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
218Listens
अपनी महान् उपलब्धि हासिल करने में मात्र दो घंटे ही लगे, लेकिन इसके पीछे वर्षों की मेहनत और कठिन साधना थी। मात्र 27 वर्ष की उम्र में सफलता का कीर्तिमान स्थापित करनेवाला यह महानायक मात्र 33 वर्ष की अल्पायु में संसार से विदा हो गया। अनजाने अंतरिक्ष को जानने की ललक ने यूरी गागरिन को अंतरिक्ष अभियान की ओर प्रवृत्त किया। और वह भी पहली बार अंतरिक्ष में जाने की कल्पना करना ही दिल को दहला देनेवाली थी। वहां पहुंच भी पाएंगे और पहुंच गए तो क्या जीवित धरती पर लौट पाएंगे? इन सभी सवालों से परे यूरी गागरिन ने अंतरिक्ष में पहुंचकर मानव जीवन को एक नई ऊंचाई दी और भविष्य के अंतरिक्ष अभियानों का मार्ग प्रशस्त किया। सुनें अद‍्भुत जिजीविषा और अप्रतिम साहस के धनी यूरी गागरिन की प्रेरणाप्रद जीवनी।
Read More
Transcript
View transcript

कृष चेयर ने सोवियत यूनियन को एक आधुनिक तकनीकी राष्ट्र विश्व मंच पर अपनी मिसाइलों, अंतरिक्ष रॉकेटों, उपग्रहों, कंप्यूटरों, जेट, यानो, वायुयानों, वाहकों वो परमाणु अस्त्रों के साथ एक शक्तिशाली भूमिका में प्रदर्शित किया । कृष चाॅदी की तर्ज पर अपनी सफलता से ध्यान हटाने के लिए अंतरिक्ष की चकाचौंध की ओर अपना ध्यान एकाग्र करता था । बारह अक्टूबर को कुरुमेदेव ने वो स्कूल एक का सफल प्रक्षेपण तीन व्यक्तियों के साथ करके अपना वादा निभाया । व्लादिमीर कुमारों ऍफ तो और बोरी सीख को सक्रिय केबिन में इंजेक्शन सीटें नहीं मिलीं । उनके अंतरिक्ष पोशाक पहनने की भी जगह वहाँ नहीं थी । उन्होंने साधारण सूती वस्त्र की पोशाकों से स्वयं को पूरी तरह से ढक रखा था । किंतु वह खोड में पुराने वो स्टॉक डिजाइन के आधार पर कुछ सुधार किए गए थे । ज्ञान के सामने की ओर ब्लॅक रॉकेट पोर्ट लगा हुआ था ताकि प्राइमरी यूनिट के फेल होने की स्थिति से निपटा जा सके । रीएंट्री कैप्सूल का अंडर साइड कुछ समतल सा था जिसपर जमीन पर टकराने के प्रभाव को हल्का करने के लिए बहुत से छोटे छोटे रॉकेट लगे हुए हैं जिससे उसमें सवार सभी व्यक्ति टचडाउन तक आराम से अंदर बैठे रह सकें । सोवियत के प्रवक्ताओं ने बडे गर्व के साथ सॉफ्ट लैंडिंग धारणा के विषय में बातें वो स्कूल एक की उडान इतनी विलंब से हुई कि क्रिश्चियन को उसका लाभ न मिल सका । कैप्सूल की वापसी तेरह अक्टूबर को हुई और दूसरे दिन फर्स्ट सेक्रेटरी को अपदस्थ कर दिया गया । मॉस्को में पोलित ब्यूरो की एक विशेष बैठक में जब उसे सूचित किया गया है कि उसने अपनी उम्र वह बिगडती स्वास्थ्य की वजह से त्यागपत्र दे दिया है तो वह हैरान रह गया । क्रिश्चियन के डिप्टी लियोनिद ब्रेझनेव ने अनसुलझे अनाज संकट का फायदा उठाकर फर्स्ट सेक्रेटरी का पद हथिया लिया । आज खुश्चेव के निष्ठावान सहयोगी, जो डोर बरलाज की का कहना है, हाल ही में हुए तख्तापलट जो हाल ही में हुए तख्ता पलट जो गोर्वाचोव के समय हुआ, उसका बुरा मत मानना है । ये केजीबी और भेजने का क्रिश चिव और स्टालिन विरोधवाद के क्रिश्चिन और स्टालिन विरोधवाद के विरुद्ध हुआ । वास्तविक तख्ता पलट लगभग तुरंत ही यूरी का दर्जा भी प्रभावित हुआ । उस की विदेश यात्राओं में कटौती कर दी गई और क्रेमलिन से उसका संचार बहन समाप्त कर दिया गया । ब्रिज को अपने पूर्ववर्ती की ब्रिज को अपने पूर्ववर्ती की अंतरिक्ष विजय की परवाह नहीं थी । बदलाव की जो यूरी को भलीभांति जानता था । उसने युवा कॉस्ट मिनट के मिजाज में तुरंत आए बदलाव को पढ लिया । मुझे यकीन है कि वह नाखुश था । इसकी वजह यह नहीं है । इसकी वजह यह नहीं थी कि वह बेचने को पसंद नहीं करता हूँ । बल्कि बात इसके ठीक उलट नहीं । ब्रिज ने भी उसे दुनिया भर में खुश्चेव का प्रतिनिधि समझता था । देखते ही देखते यूरी का दर्जा वह अहमियत समाप्त हो गई । मुझे ऐसा महसूस हुआ मानो इस बात का उसे एहसास ही ना रह गया हूँ की क्या किया जाए । राजनीतिक रूप से तो सोवियत यूनियन की ओर से पश्चिम के देशों में शांति दूत के रूप में प्रतिनिधि प्रतिनिधित्व करता था लेकिन ब्रिज ने हथियारों की होड फिर से शुरू कर दी और तब ऐसे में उसे गैगरीन जैसे लोगों की जरूरत नहीं । बदलाव की रूस में राजनीतिक जीवन के निरंतर यथार्थवाद पर जोर देता है कि इतना अहम नहीं है कि कौन व्यक्ति क्या है बल्कि अहम यह है कि कौन किसके साथ है । गैगरीन खुश्चेव के साथ था और बिजनेस के समय यही बात उसके कैरियर को धाराशाही करने के लिए पर्याप्त थी । ये केवल बाॅस की की ही राय नहीं है कि नए कठोर साम्राज्य नहीं, यूरी के जीवन को इस कदर प्रभावित किया कि उसने सब कुछ खो दिया । उसे फिर से कुछ नए अनुभव में आने का प्रयास करना पडा । शायद शराब पीने की लत के कारण बर्बाद हो चुका था । किसी समय वो अपने देश का प्रतिनिधि हुआ करता था और अब बिना किसी रूपये का एक सामान्य पायलट रह गया था । किसी ने एक बार लिखा सबसे बडा दुख है । पहले सुख का अनुभव कर चुका हूँ । ब्रिज ने और उसके पोलित ब्यूरो मित्रों ने उससे वो खुशी छीन ली थी और आगे जूरी के साथ जो कुछ भी हुआ वो उसके गुनहगार थे । यूरी का निजी ड्राइवर जोडो डीएम चुक प्रथम कॉस्ट मिनट के पतन को बहुत ही खरीद ढंग से कहता है । उसे याद है कि खुश्चेव के जमाने में गैगरीन का बार बार क्रैमलिन जाना सुखद अनुभव रहा करता था । प्रायः मौज मस्ती और शराब के साथ बिजनेस के जमाने में उसकी क्रेमलिन की यात्राएं अपेक्षाकृत काफी कम हो गए । क्या ग्रीन उदास बाहर निकलता हूँ और कार में बैठ जाया करता हूँ? मैं उससे ये भी नहीं पूछता की बात क्या है । मुझे पूछने की जरूरत ही नहीं थी । मैं देख रहा था कि वह अपने विचारों में ही खोया रहता है । यूरी का सबसे बडा शुरुआती झटका था की अब अपने पास आने वाले बहुत से लोगों की मदद अपने प्रभाव के कारण नहीं कर पाता था । वो कोई साधु संत तो नहीं था लेकिन नहीं । संदेह एक अच्छी सुभाव का व्यक्ति था । सामाजिक और व्यक्तिगत उत्तरदायित्व के गुण जो उसने युद्धकालीन दौर में ग्रहण किये थे । जीवन भर उसके साथ रहे उसके पूर्व के सारे सहकर्मी जो आज उसकी सडक, दुर्व्यवहार और विचारहीनता की ओर संकेत करते हैं, भी जरूरत में मित्रों और परिचितों के प्रति उसके सहयोग और उदारता की भावना को नहीं । नकारते । वस्तुतः तक सभी काॅस्ट जिन्होंने अपने मिशन पूरे कर लिए थे विख्यात और उनका प्रभाव लंबी अवधि तक उच्च वर्गों में बना रहा हूँ । गैगरीन की उडान के दस दिनों बाद स्टार सिटि में सोवियत यूनियन वह विदेशों से भारी तादाद में आ रहे पत्रों से निपटने के लिए एक विशेष पत्राचार विभाग की स्थापना की गई । समय अंतराल में इस विभाग का विस्तार कर दिया गया है ताकि अन्य ऍप्स के पत्राचार से निपटा जा सके । इस विभाग में स्थायी ड्यूटी पर सात सेक्रेटरी तैनात रहते थे जिनमें से दो केजीबी के प्रतिनिधि सर्जे ये गुप ओरने दो प्रमुख उददेश्यों को मन में रखकर ऑपरेशन की अगुवाई की । पहला जूरी के कार्यभार की अधिकता में मदद करना दूसरा उभर सकने वाली संवेदनशील बातों पर नजर रखता हूँ । उसके कार्य राजनीतिक रूप से बहुत कम हैं और कॉसमॉस के प्रति दुनिया का खिंचाव विलुप्त हो चुका है । लेकिन वह अभी भी उस विभाग को चला रहा है । बहुत आने वाले पत्रों के संबोधन गैगरीन, मॉस्को या फॅमिली हुआ करते थे । अंत में उसे विशिष्ट कोड मॉस्को सात सौ पांच देने का निर्णय लिया गया । इन वर्षों के अंतराल में मेरे ख्याल से हमने दस लाख के करीब पत्र प्राप्त किया हूँ अधिकतर पत्रों में लेकिन सभी में नहीं । यूरी की उपलब्धियों पर खुशियाँ, आश्चर्य, प्रशंसा गर्व व्यक्त किये जाते थे । ये ग्रुप कहता है कि हमने अभी भी स्टार सिटि में सारे प्रलेख रखे हैं और हर कोई वहाँ पहुंच सकता है । आप पाएंगे कि पत्राचार में कोई भी गर्त पत्र नहीं है । ये मानना उचित प्रतीत होता है कि उनमें से कुछ छाट कर बाहर कर दिए गए होंगे । लेकिन मदद के लिए बहुत याचनाएं अब भी उनमें हैं । कुल पत्राचार का दस से पंद्रह प्रतिशत सामान्य नागरिकों द्वारा बेहतर आवास, जलापूर्ति व्यवस्था, पेंशन भुगतान में वृद्धि और किंडरगार्टन के लिए अनुरोध सम्मिलित है । संयोग वर्ष ये उन दिनों के काफी जटिल मुद्दे थे । सबसे ज्यादा सनसनीखेज मुद्दे जेल के कैदियों के हुआ करते हैं जो उनके मामलों की पुनरीक्षा से संबंधित थे । ऍफ को एक ऐसे ही कैदी का पत्र याद है । गैगरीन ने कहा, मैं क्या करूँ? मुझे मदद करनी है लेकिन यदि हम इस लडकी को बचाते हैं तो ये कहीं ज्यादा सहज और सरल होगा । यदि वह जेल में जाएगा तो सामान्य तौर पर वो हमेशा के लिए अपराध प्रणाली में खो कर रह जाएगा और इंसान बनने लायक नहीं रहेगा । वो हर जगह गया और हर किसी के कार्यालय वो सचमुच लगा रहा हूँ और मेरे ख्याल से उसे सकारात्मक परिणाम खाते हो गया । यूरी के सामने आने वाले निम्नांकित अनुरोधों पर नजर डालकर हम उसके व्यक्तित्व का अनुमान लगा सकते हैं । आदरणीय यूरी ऍम प्रथम श्रेणी विमानचालक जिसने एयरपोर्ट में उन्नीस वर्षों तक सेवा की से अनुरोध है कि मेरे बेटे का जीवन पर निर्भर है । यूरी एलैक्सिज सोवियत यूनियन का हीरो मेरी बेटी को विश्वविद्यालय में प्रवेश देने से इंकार कर दिया गया है वो भी यहूदी पृष्ठभूमि की होने के कारण । कृप्या जाब डाॅ । नागरिक आपसे अपनी बेटी के लिए अवैध रेजिडेंशियल होम में स्थान आरक्षित करने पर विचार करने का अनुरोध करता है क्योंकि वो मानसिक रूप से अस्वस्थ है । ये ग्रुप उन पत्रों के संग्रह से अन्य उदाहरण भी प्रस्तुत करता है । एक पत्र में सोलह वर्ग मीटर क्षेत्रफल के नौ सदस्यों वाला कर डिमोन परिवार यूरी से बेहतर आवाज के लिए अनुरोध करता है । एक मात्र कमरे वाले इस पुराने मकान में चारों ओर से दीवारों पर शीट चढी हुई है । एक मोरोजोवा नामक महिला नागरिक द्वारा किया गया है । उसका एक बच्चा है जो जन्म से रेवे रोग की जटिलता से रहते हैं । इसी तरह एक कैदी या कुट्टीन अपने पत्र में कहता है कि उसे गलत तरीके से फंसाया गया है । वो अनुरोधकर्ता है कि उसकी सजा के निर्णय को निरस्त किया जाए । यूरी सभी प्रश्नों का जिम्मेदारी के साथ जवाब देने की कोशिश करता है और जहाँ कहीं जितना बन पडता उनके लिए करने का भरसक प्रयास करता था । किन्तु वह कुछ पत्रों के प्रति बिल्कुल उदासीन रवैया अपनाता । जैसे रिचर एंड कंपनी नामक एक शराब कंपनी ने अपने नए उत्पाद के लिए एस्ट्रोनॉट गागरिन वोट का के रूप में उसका नाम प्रयोग करने का अनुरोध किया था । इस पत्र को पाने के बाद उसने ये गुप ओर से शिकायत की । आपने इस पत्र को मुझे दिखाया है क्यों इसे पढते हुए मैंने तीन मिनट काम आती है । वहीं उसने एक पंद्रह वर्षीय लडके को जिसने विनम्रतापूर्वक कैरियर पर सलाह मांगी थी, जवाबी पत्र लिखते हुए पूरे आधे घंटे का समय बिताया । प्राइवेट लोग यूरी के पास मदद के लिए व्यक्तिगत रूप से आते रहते थे । ऍफ कहता है कि जब भी यूरी कजाखस् में अपने परिवार के पास आता था तो उसके माता पिता के मकान में बहुत से स्थानीय बडे लोग उससे मिलकर राजनयिक लाभ लेने के लिए उसका इंतजार करते पाए जाते हैं । उसने अपने पुराने पडोसियों और स्मोलेंस्क के लोगों के लिए बहुत किया है । गजार स्वस्थता एक पुरानी शैली का व्यापारिक शहर था लेकिन सन उन्नीस सौ इकसठ के बाद ये फलने फूलने लगा और एक आधुनिक अत्यधिक विकसित नगर में तब्दील हो गया । यूरी के नाम और शोहरत से सारे क्षेत्र के भाग्य में एक महान परिवर्तन आया है । एक खास अवसर था जब यूरी ने मदद के लिए बिल्कुल साफ इंकार कर दिया । एक व्यक्ति की माँ ने उसे पत्र लिखकर बताया की उसका बेटा क्रिसमस के समय प्रतिबंधित क्षेत्र में पर का पेड काटने के कारण मुश्किल में पड गया था । यूरी ने इस मामले की पडताल की और पाया कि उसने एक से अधिक पेड काटे थे और अपने फायदे के लिए उन्हें बेच रहा था । उसने उस व्यक्ति को काम से हटा देने की अनुशंसा की । उसके ड्राइवर के मुताबिक यूरी बहुत नाराज हो गया और कहा, यदि हर एक व्यक्ति जाकर एक वृक्ष पर का काटे तो क्या होगा? हम रहेंगे हूँ । एक दिन हमारे लिए तो कुछ बचा ही नहीं रहेगा । यू नो इसे और ऐसी ही अनेक घटनाओं को जो अंतरिक्ष से यूरिको पृथ्वी के प्रति बोध हुए उस परिपेक्ष्य में लिखता है, अपनी उडान के बाद वो हमेशा कहता है कि दुनिया कितनी विशेष है और इसे बनाए रखने के लिए हमें कितना सावधान रहना होगा । आधुनिक मानकों में आज हमारे स्कूलों में सबको ये सिखाया जाता है लेकिन तब हमारे प्रथम एस्ट्रोनॉट के मन में ये बात कैसे उभरी होगी? अप्रैल में दुनिया की तीन बिलियन की जनसंख्या में यूरी ही एकमात्र ऐसा मनुष्य था जिसने दुनिया को एक छोटी सी फॅमिली गेंद के रूप में अनंत ब्रह्माण्डीय अंधेरे की ओर खिसकते देखा था । उस पेड काटने वाले व्यक्ति ने यूरी की विशेष अनुशंसा पर अपना काम खोल दिया । लेकिन प्रायर वो आपने याचिकाकर्ताओं को उच्च अधिकारियों से अपील करने में मदद करता था । यदि उस ने कह दिया तो ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो उसकी मदद नहीं करता हूँ । उसको इनकार कौन कर सकता था, ये ग्रुप कहता है ऍम कर सकता था । अपने पद पर आने के पहले ही महीने में ब्रिज ने अपने से षड्यंत्रकारी एलेक्सेई को जमीन पर प्रभाव जमाने में लगा था । कुरुमेदेव के प्रति ब्रिज नहीं का नजरिया खुश्चेव जैसा ही था । अंतरिक्ष में पृथ्वी की कक्षा में प्रथम होने और विशुद्ध तकनीकी विवरण के प्रति उदासीनता किन्तु वह छोड दो के निर्धारित मिशन के प्रति ब्रिज गेम में गहरी रूचि थी । इससे एक बडी नई विजय श्री की संभावना प्रथम अंतरिक्ष चहलकदमी थी । करौली भी इस प्रोजेक्ट के प्रति काफी उत्सुकता में उसने लियोन को तैयार किया जो सभी अभ्यार्थियों में अच्छा स्थान रखने वालों में से था । उसने मुझे बताया कि किसी भी विमानचालक को तैरना सीखना पडता है और सभी काॅस्ट को तेरना और अपने वाहन के बाहर निर्माण कार्य करना आना चाहिए ।

Details
अपनी महान् उपलब्धि हासिल करने में मात्र दो घंटे ही लगे, लेकिन इसके पीछे वर्षों की मेहनत और कठिन साधना थी। मात्र 27 वर्ष की उम्र में सफलता का कीर्तिमान स्थापित करनेवाला यह महानायक मात्र 33 वर्ष की अल्पायु में संसार से विदा हो गया। अनजाने अंतरिक्ष को जानने की ललक ने यूरी गागरिन को अंतरिक्ष अभियान की ओर प्रवृत्त किया। और वह भी पहली बार अंतरिक्ष में जाने की कल्पना करना ही दिल को दहला देनेवाली थी। वहां पहुंच भी पाएंगे और पहुंच गए तो क्या जीवित धरती पर लौट पाएंगे? इन सभी सवालों से परे यूरी गागरिन ने अंतरिक्ष में पहुंचकर मानव जीवन को एक नई ऊंचाई दी और भविष्य के अंतरिक्ष अभियानों का मार्ग प्रशस्त किया। सुनें अद‍्भुत जिजीविषा और अप्रतिम साहस के धनी यूरी गागरिन की प्रेरणाप्रद जीवनी।
share-icon

00:00
00:00