Made with  in India

Buy PremiumDownload Kuku FM

17. Kamiyabi ki Utsab

Share Kukufm
17. Kamiyabi ki Utsab in  | undefined undefined मे |  Audio book and podcasts
337Listens
अपनी महान् उपलब्धि हासिल करने में मात्र दो घंटे ही लगे, लेकिन इसके पीछे वर्षों की मेहनत और कठिन साधना थी। मात्र 27 वर्ष की उम्र में सफलता का कीर्तिमान स्थापित करनेवाला यह महानायक मात्र 33 वर्ष की अल्पायु में संसार से विदा हो गया। अनजाने अंतरिक्ष को जानने की ललक ने यूरी गागरिन को अंतरिक्ष अभियान की ओर प्रवृत्त किया। और वह भी पहली बार अंतरिक्ष में जाने की कल्पना करना ही दिल को दहला देनेवाली थी। वहां पहुंच भी पाएंगे और पहुंच गए तो क्या जीवित धरती पर लौट पाएंगे? इन सभी सवालों से परे यूरी गागरिन ने अंतरिक्ष में पहुंचकर मानव जीवन को एक नई ऊंचाई दी और भविष्य के अंतरिक्ष अभियानों का मार्ग प्रशस्त किया। सुनें अद‍्भुत जिजीविषा और अप्रतिम साहस के धनी यूरी गागरिन की प्रेरणाप्रद जीवनी।
Read More
Transcript
View transcript

निष्कर्ष में यूरी ने कहा, मैं निकिता ख्रुश्चेव द्वारा हम सोवियत वासियों के प्रति जगाए गए पिता तुल्य प्रेम को विशेष रूप से व्यक्त करना चाहूंगा । मेरी लैंडिंग के कुछ मिनट बाद ही मेरी अंतरिक्ष उडान की कामयाबी पर आपने ही मुझे सबसे पहले बधाइयाँ दी थी । निकिता ख्रुश्चेव के नेतृत्व में बढ रही सामने वाली पार्टी को छाती मिलती है । यूरी के आभार प्रदर्शन का उद्बोधन काफी निकोलता वन निष्ठापूर्वक खुशी से झूमते विशाल जनसमूह को दिया गया था । ये बिल्कुल वैसा ही था जैसा फर्स्ट सेक्रेटरी सुनना चाहता हूँ । उसी क्षण से ये युवा कॅश उसका पक्का राजनीतिक चहेता बन गया । गर्व और खुशी से फूला न समाते हुए वो अपनी आंखों से खुशी के आंसू पहुंचते हुए क्रिश्चियन बार बार यूरी को गले लगाते नहीं थक रहा था । फिर उसने अपना भाषण दिया, जिसे वहाँ उपस्थित जनता ध्यानमग्न होकर सुन रही नहीं । भाषण के बीच जोरदार तालियां उसके समर्थन में नारे लगाए जाते हैं । हम कल्पना कर सकते हैं कि चौदह अप्रैल को सोवियत यूनियन ने सच मुझे स्वयं पर यकीन क्या? इधर खुश्चेव को ऐसे प्रदर्शनों से जनता की निष्ठा हासिल करने का तरीका मालूम हो चुका था । उसके नेतृत्व की आशावादी शैली में समाजवादी क्रांति का रक्तरंजित संघर्ष काफुर सा हो गया महसूस होता हूँ जो जब स्टैलिन नहीं मौत के दर्द के आधार पर लोगों में आज्ञाकारिता का भाव पैदा किया । लेकिन क्रिश्चियन बिना कष्ट दिए प्रेम का पात्र बनने की मनोवृत्ति के कारण स्टैलिन से कई गुना कम कठोरता सत्ता में आने के बाद उसने स्टैलिन की क्रूरताओं की अर्चना करने से भी परहेज नहीं किया था । ये अपने आप में बहुत बडा राजनीतिक जोखिम था क्योंकि पुराने साम्राज्य के बहुत से रहे गए प्रशासकों में अब भी पार्टी के प्रभावित करने का दमखम था और वो ये बात सुनना कतई पसंद नहीं करते की स्टालिनवाद के झंडे के नीचे उसके प्रयास गलत थे । आज यूरी की दुनिया को हिलाकर रख देने वाली उपलब्धि केशरी के बाद क्रिश्चयन का कोई पाल भी बांका नहीं कर सकता था । अब इस बात में जरा भी शक की गुंजाइश नहीं थी कि वह युवक जिसने ये हैरानी में डाल देने वाली जीत उसे हासिल कराई थी, उसे आगामी महीनों और सालों में फर्स्ट सेक्रेटरी से खुशी खुशी व्यक्तिगत आभार के तौर पर लाभ होंगे । दुर्भाग्य वर्ष बतौर मित्र खुश चयन का विश्वास हासिल करने के साथ ही यूरी के प्रतिस्पर्धी दुश्मन भी बढने लग गए । जब खुश्चेव के डिप्टी फॅसने नुकोवा एयरपोर्ट पर यूरी को बधाई दी और रेड स्क्वेयर पर स्मारक के शीर्ष पर उसका स्वागत किया तो औपचारिक रूप से उसने कांग्रेस शिप और निष्ठा तो दिखाई लेकिन उसकी शारीरिक हावभाव जो उस घटना पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म के रूप में संरक्षित हैं, उसके मन के विपरीत मनोभाव को दर्शाते हैं । अक्टूबर में उसके प्रथम अंतरिक्ष यात्री के साथ मतभेद शीघ्र ही खुश्चेव की सत्ता पर पकड के साथ खत्म हो जाते हैं । शाम को क्रैमलिन के जॉर्ज दिवस की हॉल में शाही भोज आयोजित किया गया था । ये बोझ आशा के विपरीत छह घंटे तक चलता रहा । पीडिता उत्साह बहुत गर्व युक्त, संयम की कोई सीमा नहीं और खुश्चेव ने इस समारोह का पूरा फायदा उठाया । भोज के दौरान धोखा और फटेहाल वेलेंटीन उत्साह में खोकर भोजन शराब पर टूट पडा । एक बडी गोल मेज पर सभी तरह के पकवान रखे गए थे । यूरिको कॉर्डन स्टार और ऑर्डर ऑफ लेने से नवाजा गया था । सबसे आखिर में उसे खोली फादर्स के द्वारा बधाई दी गई । उनमें से एक ने पूछा जो रिंग क्या तुमने धरती के काफी ऊपर जीजस क्राइस्ट को देखा? उसका जवाब था, खुली फादर, आप मुझसे अच्छा जानते होंगे कि मैंने उन्हें देखा होगा या नहीं । यकीनन यौन मत निकिता ख्रुश्चेव की अपनी अभी तक की सबसे बडी उत्साही दिनचर्या । उनमें से ये एक थी फॅसने आशावादिता के उस मिजाज को अपने संस्मरण में लिखा है । उस ने घोषणा कर दी की हमारी पीढी सच्चे सामने बाद में रहने जा रही है । हम एक दूसरे से गले मिल रहे थे, जयघोष कर रहे थे, खुर्रा चला रहे थे । सच मुच हमें उसका यकीन हो रहा था क्योंकि उस वक्त हमारे देश की कामयाबी दुनिया को साफ नजर आ रही थी । आगे चलकर काफी बाद में जब हम बडे हुए पर हमें आर्थिक वास्तविकताओं की कुछ जानकारी हुई तब जाकर कहीं हमें समझ में आया कि क्रिश्चियन की घोषणाओं में उतनी परिपक्वता नहीं थी । अप्रैल के अंत तक यूरी की चेकोस्लोवाकिया कुल गैरिया तत्पश्चात फिनलैंड की विदेश यात्रा में व्यस्त दिनचर्या चलती है । जून में वो वाली या तो बच्चों के साथ एक जरूरी अवकाश पर मॉस्को लौट आया । यद्यपि अब भी वो लगातार पहुंच रहे पत्रकारों को साक्षात्कार देने का समय निकाल लेता था । एक भारतीय लेखक ख्वाजा अहमद अब्बास ने यूरी का अवलोकन इन शब्दों में क्या है उसे हर जगह मैं ऑफ मोमेंट कहकर संबोधित किया जा रहा था, लेकिन जब मेरा उस से आमना सामना हुआ तो हमारी मुलाकात नीरज रही । दरवाजा खुला और दुनिया के सबसे ज्यादा पब्लिसिटी हासिल करने वाले शख्स ने अंदर कदम रखता हूँ । मैं उसे पहचान भी नहीं सकता । उससे हाथ मिलाते वक्त मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि ये छोटे कद काठी का इंसान अंतरिक्ष शुभ का हीरो हो सकता है । अपने आकर्षक वर्दी में भी कोई जूनियर अधिकारी ही नजर आता था जो मानो असली हीरो की घोषणा करने के लिए आ गया हूँ । यूरी के व्यक्तित्व के आकर्षण का अब्बास पर शीघ्र ही असर हुआ और यूरी के प्रति उसका रुख सकारात्मक हो गया । उस पत्रकार को शुरू में निराशा हुई होगी लेकिन प्रथम अंतरिक्ष यात्री के स्वाभाविक रवैये से वो बहुत प्रभावित हुआ हूँ । आखिर क्रिश्चयन और उसके सलाहकारों ने भी यूरी को कुछ देख सुनकर ही इस ऐतिहासिक कार्य के लिए चुनाव हूँ । नौ जून को दो ब्रिटिश पत्रकार बिल फ्रेंड बचट और एंथनी थोडी ने मॉस्को में फॅस क्लब में यूरी से मुलाकात की और उसके उत्साह, गर्मजोशी से हाथ मिलाने और अपने प्रश्नों के मिले विश्वासपूर्ण उत्तरों से पेट प्रत्यक्षण प्रभावित हुए । बिना नाॅट उन्होंने यूरी को बताया कि वे उसके साहसिक कार्यों तो उपलब्धियों पर किताब लिखने जा रहे थे । यूरी ने उन पत्रकारों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यदि लेखक के रूप में उनके निश्चय में कुछ करने का जज्बा है तो अंतरिक्ष में पहुंचने वाले दूसरे व्यक्ति को लेखक ही होना चाहिए । इसके बाद नासा के अभियानों के विषय में चर्चा होने लगी । यूरी ने मर्क्यूरी प्रोजेक्ट पर सतही तौर पर चुटकी जिसने पांच मई को अंतरिक्ष में फॅमिली के साथ मात्र पंद्रह मिनट उप कक्षीय उछल कूद की थी । दोनों पत्रकारों ने कहा कि अमेरिकी कैप्सूल में कंट्रोलर्स फॅस और नेविगेशन सिस्टम ज्यादा नवीनतम प्रणाली के प्रयोग किए गए हैं ताकि ये फोर्ड इस यंत्र को वोस्टोक के पायलट की अपेक्षा ज्यादा विस्तार से चला सकता है । ये बात बिल्कुल सही थी, लेकिन यूरी ने मर्करी मिशन द्वारा तय की गई कम अवधि पर ध्यान केंद्रित करते हुए ये सवाल को टाल दिया । उसने चुनौती देते हुए कहा, आखिर पांच मिनट का कितनी ड्राइविंग कर सकते थे और मैनुअल कंट्रोल की बात ही कह रह जाती है । यदि मैं चाहता तो मैं वोस्टोक को अपने हिसाब से चला सकता था । उसमें दोहरी नियंत्रण प्रणाली थी, लेकिन मैनुअल विकल्प जरूरी या अहम नहीं था । किसी पायलट के लिए ऐसे बात करने का मतलब है कि आवश्यक कौशल का कोई मतलब नहीं था । पत्रकारों ने इस बात को बदलते हुए कहा कि मर्करी के कैबिन के उपकरण वोस्टॉक के कैबिन उपकरणों से बेहतर है । ये बात भी काफी हद तक सच चोरी ने कहा दोनों की आपस में तुलना करना कठिन है । ऍम काफी बडा है और इसके इंजन का ट्रस्ट अपेक्षाकृत काफी अधिक है । हमने इस की तुलना में अधिक ऊंचाई पर ज्यादा गति से और ज्यादा अवधि तक यात्रा की । बच्चे और पूडी ने पूछा कि उसकी उडान के दौरान सबसे बुरा क्षण कौनसा था रीएंट्री का उसने बेहिचक उत्तर दिया । फिर एक्शन के लिए उसने अपने विचार जुटाए और कुशलता से अपनी बातें नहीं । लेकिन सबसे बुरा एक तुलनात्मक सकते हैं । वस्तुत अगर कोई खास बुरा क्षण नहीं होता हूँ, सबकुछ अच्छा था । हर एक चीज सही तरीके से व्यवस्थित की गई थी । कुछ भी गलत नहीं हुआ । वस्तुतः ये पैदल शहर की तरह ही था । रूसी अंतरिक्ष के इतिहास के आज के विशेषज्ञ ब्रिटिश पत्रकार फिल क्लार्क का मानना है कि यदि वो ऑॅपरेशन प्रणाली कि अ सफलता की बात सन में पता लग गयी होती तो इससे सनसनी ही फैल गई हूँ । लेकिन यूरी ने बडी कुशलता से अपने जवाबों में उन गलतियों को नजरअंदाज कर दिया । हमेशा की तरह उसके लैंडिंग का तरीका सर्वाधिक संवेदनशील होता था । मॉस्को में उसकी वापसी के समारोह के उपरांत जूरी पर कुछ विदेशी पत्रकारों द्वारा दबाव बनाकर इस विषय में पूछा गया । सत्रह अप्रैल को लंदन टाइम्स के एक संवाददाता नहीं लिखा लैंडिंग के तरीके के विषय में कोई विवरण नहीं दिए हैं । पत्रकारों से ठसाठस भरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस विषय पर सीधे सीधे प्रश्न दागने पर मेजर गैगरीन ने अन्य जवाबों की अपेक्षा कुछ अधिक झिझकते हुए अपना पल्ला झाडने के लिए अपने जवाब में कहा, हमारे देश में लैंडिंग की कई तकनीकी विकसित की गई है । उनमें से एक है पैराशूट तक नहीं थी । इस उडान में हमने वो प्रणाली अपनाई जहाँ पायलट कैबिन में ही होता है । प्रेस द्वारा प्रकाशित तस्वीरों में भी अंतरिक्ष यान की संरचना के विषय में बहुत कम तथ्य नजर आते हैं । लेकिन जब प्लेन शब्द को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रयोग करने में छह जने के प्रति मेजर गैगरीन के गर्व से ये तथ्य कुछ हद तक स्पष्ट हो गया । जुलाई उन्नीस सौ इकसठ में स्पोर्ट्स अधिकारी इवान बोरी सिंह को इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉटिकल द्वारा होस्ट एक से तय की गई ऊंचाई के दावों के संबंध में उठाए गए प्रश्नों का जवाब देने के लिए पेरिस गए आएएफ के डायरेक्टर जनरल ने बोरी सङकों के प्रतिनिधिमंडल से सीधे ये प्रश्न पूछा । लॉटरी पर पायलट कहा था अंतरिक्ष यान के संबंध में पूछा गया सवाल ऍम कोने दृष्टता पूर्व का अमेरिकी वासियों से पूछे कि क्या उन्हें यकीन है कि यूरी के इन कीर्तिमानों को वस्तुत हासिल किया गया? दुनिया भर के लोगों ने यूरी की उडान का पहले ही समर्थन कर इसे बतौर तथ्य स्वीकार किया है । ये नोक झोंक कई घंटों तक जारी रही, किंतु अंततः आईएएएफ ने सोवियत प्रतिनिधिमंडल पर बेहतर साक्षी के लिए दबाव डाले बिना हार मान नहीं । इसके बाद बुरी सिंह को आय के एफ से हासिल प्रमाणन को बतौर सबूत इस विषय पर संदेह करने वाले लोगों के समक्ष पेश करता रहा कि यूरी अपने ज्ञान में ही उतारा था और पूरे अधिकार के साथ ऊंचाई की रिकॉर्ड का दावा किया । ग्यारह जुलाई उन्नीस सौ हो जो भी आपने सहचरों के साथ तो बोले एक सौ चार एयरोफ्लोट एयरलाइनर से लंदन पहुंचे वाम समर्थक लंदन समाचार पत्र डेली मिरर नहीं उसके आवागमन का उत्साहपूर्वक अभिनंदन करने के साथ ही अनमने ढंग से किए गए आधिकारिक स्वागत की खबर छापी । आज कुछ समाचार को आने वाली घटनाओं के भयंकर संकेत के रूप में पढा जा सकता है क्योंकि तत्कालीन कंजर्वेटिव सरकार सन उन्नीस सौ साठ के दशक में आधुनिकता के दबाव में रहना शुरू हो गई थी । गैगरीन एक बहादुर देती है, वो अभी तक हासिल किए गए महानतम वैज्ञानिक चमत्कारों का प्रतीक है । सही प्रक्रिया को लेकर दो दिनों की रस्साकशी के बाद ब्रिटिश सरकार अंततः इस दुनिया भर के हीरो के स्वागत के तरीके का निर्णय कर सकती है, जिन्हें सारे ब्रिटिश लोगों की ओर से स्वागत के लिए भेजा जा रहा है कि लोग कौन है । बिना तो प्रधानमंत्री मैकमिलन है, विदेश सचिव लॉर्ड होम है और ना ही विज्ञान मंत्री लॉर्ड ऍम इस अद्वितीय अवसर पर ब्रिटेन के प्रवक्ता होंगे । छप्पन वर्षीय एक अज्ञात नौकरशाह मिस्टर फ्रांसिस ऍम सीबीपी इसकी वजह बताई गई कि गैगरीन उस राष्ट्र की प्रमुख नहीं, अंततः हैरॉल्ड मैक्मिलन नहीं, चोरी से मुलाकात की और उसे एक खुशमिजाज इंसान बताया । वस्तुतः यूरी की यात्रा मुख्य रूप से फाउंडरी वर्कर्स यूनियन द्वारा प्रायोजित की गई थी, न कि सरकार द्वारा, किंतु ब्रिटेन की आम जनता बडी तादाद में उसके स्वागत के लिए उमड पडे । टाइम्स ने लिखा कि उसका ऐसा स्वागत किया गया जो कभी कभी उन्माद की स्थिति तक आ जाता है । प्रफुल्लित उत्साहित भीड ने एयरपोर्ट से शहर के अंदर तक रास्ते के किनारे कतारें बना रखी थी । वो वाहनों के काफिले के साथ वेस्ट लंडन के बॉटलर्स कोर्ट एक्जिबिशन सेंटर तक छात्रों को संबोधित करने के लिए आए । तत्पश्चात ब्रिटेन दुनिया भर से आए हुए लगभग दो हजार पत्रकारों की समझ प्रेस वार्ता में भाग लिया । देखते ही देखते सरकार ने अपनी योजना में संशोधन किया उसे एडमिरल्टी एयर मिनिस्ट्री और रॉयल सोसाइटी द्वारा अंत तक तीन से मिलने बकिंघम पैलेस आमंत्रित किया गया । यार उस लेवल गोलोवानोवा नामक पत्रकार जो एक सहचर पत्रकार की तरह हमेशा साथ रहता था उसका कहना है कि यूरी के कार्यक्रम में एक अतिरिक्त जोडकर इस मुलाकात की व्यवस्था की गई थी जिससे ही जाहिर होता है कि शाही स्वागत दिए जाने की पूर्व योजना नहीं बल्कि ये माहौल मांग के मुताबिक जल्दबाजी में क्या जाने वाला इंतजार टाइम्स की रिपोर्ट इस बात की पुष्टि करती थी लगती हैं । शाही महल के आमंत्रण के चलते मेजर गैगरीन पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम शुक्रवार के बदले शनिवार को स्वदेश लौट सकें । पंद्रह जुलाई को एक अनौपचारिक भोज में तीन का रवैया फिलम रहा । विषेशकर तब जब जूरी को भोजन के तौर तरीके में व्यस्त न होने की समस्या का सामना करना पडा । गोलोवानोवा कुछ दृष्टि का स्मरण दिलाते हुए कहता है, महारानी साहिबा ये पहली बार ग्रेट ब्रिटेन की महारानी के साथ भोजन का मौका मिला है । मुझे तो कटलरी का सही प्रयोग भी नहीं आता हूँ । ऐसा कहकर मुस्कराने लगा । क्वीन ने कहा आप तो जानते हैं कि मैं इस महल में चली थी लेकिन अब भी मैं कटलरी के प्रयोग में भूल कर जाती है । इसके बाद मुलाकात बहुत ही उत्साह व निष्ठापूर्वक चलती है । बातचीत के दौरान क्वीन ने यूरी से सभी तरह के सवाल के सामान्य मानवीय उत्सुकता तडक भडक से हटकर सामने आ रही थी और एक बात पर उसने काफी चतुराई से कहा हूँ । शायद आपने मुझे किसी और के साथ मिलाकर रख दिया है । मुझे यकीन है कि मेरे जैसे कई पायलट आपके रॉयल एयरफोर्स में हैं । कुल मिलाकर प्रथम अंतरिक्ष यात्री सोवियत कूटनीति के लिए एक असामान्य परिसंपत्ति सिद्ध हो रहा था । लेकिन जैसा कि उसने फुर्सत के क्षणों में गोल बनो से स्वीकारा की एक पूर्ण राजदूत की भूमिका निभाने के तनाव से वो थकान महसूस करने लगा था । प्रथम उडान के विषय में बहुत से लेख लिखे जा रहे हैं । इससे मैं सहज नहीं रहता था क्योंकि वे मुझे सुपर हीरो निरूपित करने में लगे हैं । वस्तुत था, किसी व्यक्ति की तरह मुझसे भी गलतियां हुई है । मुझे भी कमजोरियाँ लोगों का आदर्श इकरन नहीं किया जाना चाहिए । इस तरह एक अच्छे खूबसूरत छोटे से बच्चे की तरह बनाया जाना भद्दा सा लगता है । किसी को बीमार करने की तो खत्म है । जब पत्रकार वार्ताओं में अपनी प्रशंसा से ऊब गया तो उसने अपने श्रोताओं के लिए एक युक्ति अपनाई कि सोवियत यूनियन में उसके तमगे पर ग्यारह हजार एक सौ पचहत्तर नंबर कट्टप्पा लगता है । इसका मतलब है कि ग्यारह हजार एक सौ चौहत्तर लोग मेरे से पहले कुछ उल्लेखनीय कार्य कर चुके हैं । मैं लोगों को सामान्य और सेलिब्रिटी वर्गों में बांटे जाने से तूफान नहीं रखता हूँ । मैं भी एक सामान्य व्यक्ति हूँ । मैं बिल्कुल भी नहीं बदला । एक बार मॉस्को में जब भीड में से एक महिला को उसने ये कहते हुए सुना अरे देखो तो उसने अब शेविंग करना छोड दिया है तो खुशी से हसने लगा । अगस्त में यूरी का भ्रमण दाल फाइनेंसर साइडिंग पीटन के निमंत्रण पर कनाडा पहुंचा । हैलीफैक्स से दो सौ किलोमीटर की यात्रा के बाद वे पुरवास नोवा स्कॉटिया पहुंचे जहां ईटन ने उनके ठहरने की शानदार व्यवस्था की थी । उसने दार्शनिक बर्टेंड रसल के साथ विख्यात परमाणु निरस्त्रीकरण सेमिनार का जिसे तुम वाश कॉन्फ्रेंस के नाम से जाना जाता है । आयोजन किया तो शाम को से मालूम हुआ कि घर मान टिटो अंतरिक्ष उडान पर गया है । उसने पूछा कि क्या वह बधाई टेलीग्राम भेज सकता है । इसका प्रबंध निकोलाई कॉमन इनके द्वारा कर दिया गया । टीटो ने अपनी छठवीं कक्षा के दौरान यूरी का संदेश पढा क्योंकि उसकी ग्राउंड कंट्रोलर के द्वारा प्रसारित किया गया था । सेना न्यूटन ने विनम्रतापूर्वक आगामी उत्सवों को कम कर दिया हूँ ताकि यूरी अपने सहकर्मियों के साथ शीघ्र ही रूस वापस लौट सकें । अचानक रूसी प्रतिनिधिमंडल ने देश के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों से स्वयं को अलग थलग महसूस किया । कॉमन इन ने कहा, जहाँ भाषण देते हुए हम व्यस्त हैं, वहीं अमेरिकी अंतरिक्ष यान तैयार कर रहे हैं । हमें आगे बढना है । यूरी की यात्रा तीन हफ्ते के अंदर ही शुरू हो गई । चौबीस अगस्त को उसका क्यूबा आना राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण घटना नहीं । फिदेल कास्त्रो के दो वर्षीय साम्राज्य के साथ सोवियत एकजुटता का अहम संकेत सफेद रंग की ग्रीष्म पोशाक में यूरी और कानून विमान से उतरे । उनके राजनीतिक परिदृश्य देखने पर बे ऑफ पिग्स पराजय के बदले पीछे ही रही है । कॉस्टर ओके सहयोगियों ने बडे हर्ष से यूरिको बताया फॅसने दुश्मनों को पीछे धकेल दिया और यूरी ने जवाब दिया जो लोग अपने कार्य की अधिकारपूर्ण का में गहरा विश्वास करते हैं उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर नहीं किया जा सकता है । प्रायर वो इस बात को जानता था कि बिना तत्परता के कब क्या बोलना होता था । एक सामूहिक आम रैली में उसने घोषणा की, समूचे दो करोड बीस लाख सोवियत वासी क्यूबा के सच्चे और समर्पित मित्र है । सन तक जो उसके जीवन का अंतिम वर्ष था । यूरी सोवियत साम्राज्य की प्रशंसा में अधिकतक पर नहीं होता था । इसकी किसी विजयन मत घोषणा पर बहुत अधिक यकीन नहीं करता था ।

Details
अपनी महान् उपलब्धि हासिल करने में मात्र दो घंटे ही लगे, लेकिन इसके पीछे वर्षों की मेहनत और कठिन साधना थी। मात्र 27 वर्ष की उम्र में सफलता का कीर्तिमान स्थापित करनेवाला यह महानायक मात्र 33 वर्ष की अल्पायु में संसार से विदा हो गया। अनजाने अंतरिक्ष को जानने की ललक ने यूरी गागरिन को अंतरिक्ष अभियान की ओर प्रवृत्त किया। और वह भी पहली बार अंतरिक्ष में जाने की कल्पना करना ही दिल को दहला देनेवाली थी। वहां पहुंच भी पाएंगे और पहुंच गए तो क्या जीवित धरती पर लौट पाएंगे? इन सभी सवालों से परे यूरी गागरिन ने अंतरिक्ष में पहुंचकर मानव जीवन को एक नई ऊंचाई दी और भविष्य के अंतरिक्ष अभियानों का मार्ग प्रशस्त किया। सुनें अद‍्भुत जिजीविषा और अप्रतिम साहस के धनी यूरी गागरिन की प्रेरणाप्रद जीवनी।
share-icon

00:00
00:00