Made with  in India

दी पावर ऑफ़ नाउ in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Audio Book | 34mins

दी पावर ऑफ़ नाउ in hindi

AuthorRohan Mishra
हमारे चैनल The Power of Now में आपका स्वागत है। आपके लिए हम निरंतर एपिसोड बनाते रहते हैं। अगर आपको हमारा चैनल पसंद आये तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के Whatsapp पे ज़रूर शेयर करें। Producer : Kuku FM Voiceover Artist : Rohan Mishra If you are leading a troublesome life, coined by a series of depressing thoughts. Then, Eckhart Tolle’s written book ‘The power of now’ is an answer to find peace and sanctity. ‘The power of now’ was published in 1997 but became a big hit and became the New York Times bestseller in 2000. His book is driven by the basic three principles we should preach in life. He says life is all about living in the present and future is nothing but a collection of present moments waiting to arrive. He wants his readers to realize that the reason behind the occurrence of pain is the resistance to the things that you can’t change as you don’t have control over it. You must free yourself from pain but how?! The answer is simple. Constantly observe your mind and stop judging your thoughts. To know more about this book, ‘The power of now’, listen to its audiobook in Hindi now. यदि आप एक परेशान जीवन व्यतीत कर रहे हैं जो निराशाजनक विचारों की एक श्रृंखला द्वारा रचा हुआ है तो फिर Eckhart Tolle की लिखित पुस्तक 'द पावर ऑफ़ नाओ' शांति प्राप्त करने के लिए एक जवाब है । 'द पावर ऑफ़ नाओ ' १९९७ में प्रकाशित की गई थी, लेकिन सफलता प्राप्त वर्ष २००० में न्यूयॉर्क टाइम्स में बेस्टसेलर बनकर मिली । यह पुस्तक उन बुनियादी तीन सिद्धांतों से प्रेरित है जो हमें जीवन में अपनाने चाहिए । उनका कहना है कि जीवन वर्तमान में रहने के बारे में है और भविष्य में आने के लिए इंतजार कर रहे वर्तमान क्षणों का संग्रह है और कुछ भी नहीं। वह अपने पाठकों को बताते है कि दर्द के होने के पीछे कारण चीजें है जो आप नहीं बदल सकते है ,जिस पर नियंत्रण आपका नहीं है। आप अपने आप को दर्द से मुक्त कर सकते है, लेकिन कैसे?! जवाब सरल है। लगातार अपने मन का पालन करें और अपने विचारों को तोलना बंद करो। इस पुस्तक के बारे में अधिक जानने के लिए, 'द पावर ऑफ़ नाओ', अब हिंदी में अपनी ऑडियोबुक सुनें।
Read More
9 Episodes
Part13minsJul 09,2019

Conclusion

Part24minsJul 09,2019

Chapter 7

Part37minsJul 18,2019

Chapter 6

Part42minsJul 09,2019

Chapter 5

Part53minsJul 09,2019

Chapter 4

Part63minsJul 09,2019

Chapter 3

Part73minsJul 09,2019

Chapter 2

Part83minsJul 09,2019

Chapter 1

Part92minsJul 09,2019

Introduction

Details
हमारे चैनल The Power of Now में आपका स्वागत है। आपके लिए हम निरंतर एपिसोड बनाते रहते हैं। अगर आपको हमारा चैनल पसंद आये तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के Whatsapp पे ज़रूर शेयर करें। Producer : Kuku FM Voiceover Artist : Rohan Mishra If you are leading a troublesome life, coined by a series of depressing thoughts. Then, Eckhart Tolle’s written book ‘The power of now’ is an answer to find peace and sanctity. ‘The power of now’ was published in 1997 but became a big hit and became the New York Times bestseller in 2000. His book is driven by the basic three principles we should preach in life. He says life is all about living in the present and future is nothing but a collection of present moments waiting to arrive. He wants his readers to realize that the reason behind the occurrence of pain is the resistance to the things that you can’t change as you don’t have control over it. You must free yourself from pain but how?! The answer is simple. Constantly observe your mind and stop judging your thoughts. To know more about this book, ‘The power of now’, listen to its audiobook in Hindi now. यदि आप एक परेशान जीवन व्यतीत कर रहे हैं जो निराशाजनक विचारों की एक श्रृंखला द्वारा रचा हुआ है तो फिर Eckhart Tolle की लिखित पुस्तक 'द पावर ऑफ़ नाओ' शांति प्राप्त करने के लिए एक जवाब है । 'द पावर ऑफ़ नाओ ' १९९७ में प्रकाशित की गई थी, लेकिन सफलता प्राप्त वर्ष २००० में न्यूयॉर्क टाइम्स में बेस्टसेलर बनकर मिली । यह पुस्तक उन बुनियादी तीन सिद्धांतों से प्रेरित है जो हमें जीवन में अपनाने चाहिए । उनका कहना है कि जीवन वर्तमान में रहने के बारे में है और भविष्य में आने के लिए इंतजार कर रहे वर्तमान क्षणों का संग्रह है और कुछ भी नहीं। वह अपने पाठकों को बताते है कि दर्द के होने के पीछे कारण चीजें है जो आप नहीं बदल सकते है ,जिस पर नियंत्रण आपका नहीं है। आप अपने आप को दर्द से मुक्त कर सकते है, लेकिन कैसे?! जवाब सरल है। लगातार अपने मन का पालन करें और अपने विचारों को तोलना बंद करो। इस पुस्तक के बारे में अधिक जानने के लिए, 'द पावर ऑफ़ नाओ', अब हिंदी में अपनी ऑडियोबुक सुनें।