BlogAbout us
The Go Getter Written by Peter B Kyne in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Audio Book | 113mins

The Go Getter Written by Peter B Kyne in hindi

AuthorMS Ram
Click for Full Hindi Audiobook - https://anchor.fm/hindiaudiobook Great story, Great Learning. Language of book seems tough to me but I competed the book taking help of dictionary. Many topical phrases are also used in story. While starting this book, I thought that i will read it fast as it is very short book but it took me long to read and understand. Story is very interesting. The Go Getter Written by Peter B Kyne in Hindi, is one of our best motivational audiobooks available in Hindi from our catalogue. This Audiobook is created by MS Ram. MS Ram is well known for his motivational audiobooks. This The Go Getter Written by Peter B Kyne audio will fill you with all the positive vibes and make you ready to spend your day on a positive note. Sit back. Calm yourself. Close your eyes. Experience the world of motivation; some few words can sparkle life with magic. Listening to Motivational audiobooks is one of the best ways to rejuvenate your inner-self. We understand that our users emotionally connect with the audios more when it is in their language. Hence we offer a variety of motivational audiobooks in different languages like Hindi, Gujarati, Telugu, Marathi, Bangla etc. These audiobooks are available for free and can be downloaded and saved on our app. And the best part is that you can access it while travelling, while working out in the gym, and literally doing anything, anywhere at any point of time be it early morning or late night. So, stream, download, and enjoy the ad-free experience. The Go Getter Written by Peter B Kyne ,हमारी सूची में उपलब्ध हिंदी में उपलब्ध सबसे अच्छे प्रेरक ऑडियोबुक में से एक है। यह ऑडियोबुक MS Ram द्वारा प्रस्तुत की गई है। MS Ram एक प्रमुख प्रस्तोता है जो उनके प्रेरक ऑडियोबुक के लिए मशहूर है। यह The Go Getter Written by Peter B Kyne ऑडियो आपको सभी सकारात्मक उर्जा से भर देगा और आपको एक सकारात्मक नोट पर अपना दिन बिताने के लिए तैयार कर देगा। आराम से बैठे। अपने आपको शांत करें। अपनी आँखें बंद करें। प्रेरणा की दुनिया का अनुभव करें। कुछ शब्द जादू की तरह जीवन में रंग भर सकते हैं। मोटिवेशनल ऑडियोबूक को सुनना आपके भीतर के आत्म-कायाकल्प के लिए अच्छा है। हम समझते हैं कि हमारे उपयोगकर्ता भावनात्मक रूप से ऑडिओ से अधिक जुड़ते हैं जब यह उनकी भाषा में होता है। इसलिए हम विभिन्न भाषाओं जैसे हिंदी, गुजरती, तेलुगू, मराठी, बंगला आदि में विभिन्न प्रकार के प्रेरक ऑडियोबुक प्रदान करते हैं। ये ऑडियोबुक मुफ्त में उपलब्ध हैं और हमारे ऐप पर डाउनलोड किए जा सकते हैं। और सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे यात्रा करते हुए, जिम में वर्कआउट करते हुए और शाब्दिक रूप से कहीं भी, किसी भी समय कहीं भी इसे सुबह या देर रात को सुन सकते हैं। तो, विज्ञापन-मुक्त अनुभव को स्ट्रीम करें, डाउनलोड करें और आनंद लें।
Read More
6 Episodes
Part117minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 1

Part225minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 2

Part34minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 3

Part47minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 4

Part540minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 5

Part619minsSep 15,2020

The Go Getter in Hindi Audiobook by Peter B Kyne Chapter 6

Transcript
View transcript

दागो, गेटा, लेखक, ऍम, अध्याय मैनेजर और कर्मचारी के गुण पैसे भी कोर्ट के ठोक लकडी के लादान कारोबार में आइडेंटी रिक्स को फॅस के नाम से जाना जाता था । उनके पास इतनी सारी मुश्किलें थी जितने ढेर । सारे तो जो वाली मुर्गी को भी नहीं होती है और यह है बाद उन्होंने छुपाकर नहीं रखे बल्कि चिल्लाकर कही । उन्होंने जिस व्यक्ति से यह कहा वाह स्कीनर था जो रिस्क लोग इंग्लैंड लमडिंग कंपनी का प्रेसिडेंट और जनरल मैनेजर था । यह वही कंपनी थी जो पीके का साम्राज्य को चलाती थी और जिसके संसाधन से रिक्स रिटायर हो चुके थे । उन्होंने यह बात अपने दामाद कैप्टन मैच बिजली को भी जोर शोर से और दो सौ करोड से बताइए जो ब्ल्यूस्टार नेविगेशन कंपनी का प्रेसिडेंट और मैनेजर था । यह है कंपनी अमेरिकी जलपरिवहन में हैं, रिक्स का कारोबार संचालित करती थी स्कीनर नहीं है जानकारी चुपचाप सोने और सुनता भी क्यों नहीं वह ऍम हिस्सेदार नहीं था लेकिन मैच के लिए तो दामाद था इसलिए उसने अपने पैर एक के ऊपर एक रखें और अपने वाकपटु ससुर को उसी तरह आंखे तरेर कर देखा जिस तरह से देख रहे थे । मुश्किलें आपको है । उस ने आपको शब्द पर जोर देते हुए तानाका साहब अब क्या आपकी पीठ में दर्द हो गया है या फिर हर बार होगा? ऍफ कॉमर्स के लिए गलत आदमी है अपना ताना और कटाक्ष अपने पास रखो । नौजवान कहती चाहिए तो बहुत अच्छी तरह जानते हो कि मैं स्वास्थ्य या राजनीति की बात नहीं कर रहा हूँ । बुढापे में मेरे लिए यह कितने अफसोस की बात है कि मैंने चुन चुन कर अपने आस पास दुनिया के सबसे कम आत्मन् लोगों को इकट्ठा कर लिया है । जैसे इतिहास में तब से लेकर आज तक नहीं हुआ । तब फॅसने बिजली का मजाक उडाया था । मतलब कौन? देखो तो से ही कितनी कम मतलब है । अब मुझे इस बात का भी मतलब समझाना पडेगा । मतलब तुम और उसके ना क्यों? हमने ऐसा क्या कर दिया जिसकी वजह से आपका बीपी बढ गया । तुम दोनों ही तो सारे बखेडे की जड हो तुम दोनों ने ही तो मिली भगत करके मुझे राजी किया कि हम शिपिंग बोर्ड के पच्चीस बकवास मालवाहक जहाजों का प्रबंधन करने लगे । फोर्टी किस्मत देखो हमने जैसे ही जहाजों को लिया देश में मंदी आ गई और जुलाई के भाव रसातल में पहुंच गए और मैरिन इंजीनियर हडताल पर चले गए । इतना ही नहीं हम पूर्वी देशों में जिस भी नालायक युवा छोकरे को अपने ऑफिस का मुखिया बनाकर भेजते हैं, उसका दिमाग तुरंत ही फोन कर को हो जाता है और वह यह सोचने लगता है कि ईश्वर ने उसे जापान में बने सारी की सारी स्त्रौत जिसके पीने के लिए इस संसार में भेजा है और यहाँ काम करके वह हत्या से अमेरिकी को फायदा पहुंचा रहा है । मेरे बुढापे में तुम दोनों ने मुझे इस स्थिति में पहुंचा दिया है कि हमें तार भेजकर अपने मैनेजरों को नौकरी से निकालना पडता है । क्यों? क्योंकि हमें ऐसे खेल में घुस गए हैं जो घरेलू मैदान में नहीं खेला जा सकता हूँ । विदेशों में हमारा इतना सारा कारोबार है कि हम इसे इतनी दूर बैठकर नहीं संभाल सकते । मैं पिछले ने कैपेक्स की तरफ कारोबारियों उंगली उठाए । हमने कभी आपको राजी नहीं किया कि आप उन शिपिंग बोर्ड के जहाजों का प्रबंधन अपने बुजुर्ग हाथों में ले । इसके बजाय है आप थे जिन्होंने मुझे राज्य किया था । मलिका बकरा तो मैं हूँ । यह तो वही में साल हो गई कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे । इसे आपको क्या फर्क पडा? कुछ नहीं क्योंकि आप तो दस साल पहले ही रिटायर हो गए थे । जहाजों की सारी मुश्किलों का भार तो मेरे कंधों पर है । बुजुर्गवार और मैं आपको बता दूँ कि ये कंधे इस बाहर को अच्छी तरह उठा सकते हैं । तुम्हारे बात सैद्धांतिक दृष्टि से तो सकते हैं लेकिन व्यावहारिक दृष्टि से नहीं । अब तो मुझे क्या उम्मीद करते हो कि मैंने कंपनी के हित में जिस तरह शारीरिक प्रयास छोड दिए हैं उसी तरह मानसिक प्रयास भी छोड दूँ । भगवान का समय क्या मुझे अपने बनाई हुई कंपनी के मामलों में रूचि रखने का भी अधिकार नहीं है जिसमें मेरे इतने सारे पैसे लगे हुए हैं और जिसे मैंने अपने फोन पसीने से चेंज कर बनाया है । मैं यह मैं मानता हूँ कि तुम दोनों लडके मेरी कंपनी को चला रहे हो और आम तौर पर अच्छी तरह चलाते हो लेकिन तो मैं क्या हो गया है? मैं और तो मैं भी उस की ना । अगर मैं कोई गलती करता है तो यह तो हमारा फर्ज है कि परिणाम सामने आने से पहले तो उसे चेतावनी दे दो । है ना और यही मैच को भी करना चाहिए । क्या तुम दोनों ने आदमियों को परखने की अपनी योग्यता खो दी है या फिर यह है योग्यता तुम्हें कभी थी ही नहीं । स्केनर बीच में ही बोल पडा आप हैंडरसन की बात कर रहे हैं जिसे हमने संघाई ऑफिस का मुखिया बनाकर भेजा था । मैं सचमुच उसी की बात कर रहा हूँ उसके न और मैं तो मैं यह याद दिलाना चाहता हूँ की अगर हम तटीय परिवहन का अपना पुराना खेली खेलते रहते थे तो ज्यादा अच्छा होता । अगर हमने अटलांटिक के पार के परिवहन और ढुलाई को दूसरों के लिए छोड दिया होता तो हमारे पास इस समय शंघाई का ऑफिस भी नहीं होता और इस संसार के हैंडरसन ओं का सिर दर्द भी नहीं होता । स्कीनर ने उनके बचाव में कहा, देखिए लकडी बेचने में उसका जवाब नहीं था । वहाँ हमारा सर्वश्रेष्ठ ऍम था । मुझे पूरी उम्मीद थी कि वह हमें एशिया के ढेर सारे मालका उडद दिलाएगा और इसे हमारी आमदनी बहुत ज्यादा बढ जाएगी । मैं पिछले ने अपनी तरफ से जोडा और उसे इस ऑफिस के हर काम का अनुभव है । उसने काट कंपनी के ऑफिस बॉय से लेकर सेल्ज मैनेजर तक का सफर तय किया है । वहाँ नेवीगेशन कंपनी में फ्रेंड एक लाख से लेकर पैसेंजर एजेंट तक हर पद पर रहा था । जहाँ तक अनुभव की बात है उसमें कहीं से कहीं तक कोई कमी नहीं दिखाई दे रही थी । वह शंघाई ऑफिस में मैनेजर पद के लिए आदर्श दावेदार दिख रहा था । मैं यह सब स्वीकार करता हूँ, लेकिन जब तुम ने उसे उसके खुद के दम पर चीन भेजने का निर्णय लिया था तो क्या तो उन्हें मुझसे सलाह थी क्यों करता? ब्लूस्टार नेविगेशन कंपनी का बहुत हूँ हूँ कि नहीं । जब हमने एंडरसन को संघाई ऑफिस का मुखिया बनाकर बह जाता हूँ तब तक आपने मुझे बोल कर अपने मुफ्त सलाह हमें नहीं दीजिए । मैंने तुमसे साफ साफ कह दिया था कि हैंडरसन कामयाब नहीं होगा है ना । हाँ, यह बात तो माननी पडेगी । आपने यह तो कहा था और मैं तो मैं छोटी कहानी सुनाना चाहूँगा । दो । तुमने मुझे तब सुनने का अवसर नहीं दिया था जब तुमने उसे विदेश भेजा था । एंडरसन अच्छा कर्मचारी था, प्रतिभावान कर्मचारी था, बस करते हैं, किसी समझदार आदमी के नेतृत्व में काम कर रहा हूँ और उसके ऊपर कोई हो जो उसे बताए कि क्या करना है या कैसे करना है । उसमें इतनी पहल शक्ति नहीं थी कि वह खुद पहल करके अवसरों का लाभ ले सकें । उसमें यह आदत नहीं थी कि अगर उसे सही दिशा हर दिन नहीं दिखाई जाए तो वह राह भटक जाएगा और गलत रास्ते पर चलने लगेगा । मैं बीस साल से उस आदमी के दिमाग को दुरुस्त करने की कोशिश कर रहा था और अब देखो वहाँ हमारे संघाई बैंक खाते को खाली करके लापता हो गया है । स्केनर ने भावहीन स्वर में कहा, मिस्टर रिक्स, मैं आपको याद दिलाना चाहूंगा कि हमने उसे ढाई लाख डॉलर का बॉन्ड भी करवाया था तो एक सब भी मत बोलो । उसके ना एक शब्द भी नहीं । इसके बजाय मैं तो मैं यह याद दिलाना चाहूंगा कि मैं ही वह जीनियस था जिसने वह बीमा कराया था । तो मैं और मेरे को तो बेचने का पता भी नहीं था और मैं कैसे भूल सकता हूँ की तब तुमने मुझे याद दिलाया था कि मैं दस साल पहले रिटायर हो चुका हूँ और मुझे तुम्हारे ऑफिस के अंदरूनी मामलों में काम नहीं बनानी चाहिए । मैं पिछले ने जवाब दिया, देखिए मैं खुलकर स्वीकार करता हूँ कि इस मामले में आपके दूरदर्शिता सही थी जिसकी वजह से इस साल संघाई ऑफिस काटा नहीं दिखाएगा । लेकिन कहते हैं, हमारे सामने की स्थिति को दूसरे दृष्टिकोण से देखें । हमें क्या पता था कि हैंडरसन वहाँ जाकर शराब पीने लगेगा जो खेलने लगेगा और अपने वेतन से ज्यादा कर्ज ले लेगा । हमें क्या पता था कि वह कारोबार पर पूरा ध्यान नहीं देगा और इतना ही नहीं हमारे बैंक खाते से सारा पैसा निकाल कर लापता हो जाएगा । हम ये सारी बातें पहले से नहीं भाव सकते थे । जब हम अपने किसी कर्मचारी को पूर्वी देशों में मैनेजर बनाकर भेजते हैं तो हमें उस पर पूरी तरह विश्वास करना होगा कि वह सही काम करेगा । इसलिए करती । मेरी सलाह यह है कि रायता फैल चुका है और उस पर आप सोच करने का कोई फायदा नहीं है । हमारा काम तो यह है कि हमें हैंडरसन का उत्तराधिकारी चुनने और उसे अगले जहाज पर बैठाकर संघाई भेज दे । वो बहुत अच्छा मैं पीने सदाशयता से कहा मेरे बच्चे मैं इस मामले में तो मैं ज्यादा ताने नहीं मारूंगा । ज्यादा कटाक्ष नहीं करूंगा । मेरी बातों को बूढे आदमी की बढा आसमान कर भूल जाऊँ । मैं तो कह रहा हूँ वहाँ हालांकि सत्रह है लेकिन उदारता से कोसों दूर हैं । लेकिन जब तो मेरी उम्र के होंगे और बहुत सारे मान से मैं नैतिक कमजोरी या तो मैं परेशान करेंगे तो तुम्हे इंसानों के मुझसे बेहतर बाहर की और निर्णायक बनजा हो गई कि कौन इंसान जिम्मेदारी का भार उठा सकता है और कौन नहीं उठा सकता? कौन इंसान कितनी जिम्मेदारी का भार उठा सकता है और किस तरह की जिम्मेदारी का, उसके ना तो तुम बताओ । इस पद के लिए तुम्हारे पास कोई उम्मीदवार है क्या? मुझे यह कहते हुए अफसोस ऐसा लेकिन मेरे पास एक भी बंदा नहीं है तो यहाँ काम कर पाए । मेरे विभाग के सारे आदमी काफी हुआ है इतने युवा कि वे जिम्मेदारी नहीं उठा पाएंगे । युवा से तुम्हारा क्या मतलब है? देखिए इस काम के लिए मैं केवल एक व्यक्ति के नाम पर विचार कर सकता हूँ और वह ऍम लेकिन अभी उसकी उम्र इस काम के लिए हाथ से काफी कम है । यही कोई तीस साल के आस पास तीस साल है । मुझे याद आता है कि जब मैंने तो उन पर साल के दस हजार डॉलर फेंके थे और बीस लाख डॉलर की कंपनी की जिम्मेदारी सौंपी थी तब तुम्हारी उम्र अठ्ठाईस साल थी हादसा लेकिन बात यह है कि एंड्यूज का अभी इम्तिहान नहीं लिया गया है । स्केनर कैबिने अपने सबसे भयंकर आवाज में उस की बात बीच में ही करते हुए कहा मैं इस बात पर लगातार हैरान होता हूँ कि मैं तो मैं नौकरी से क्यों नहीं निकाल रहा हूँ । तुम कहते होगी एंड्यूज का कभी इम्तिहान नहीं लिया गया है । उसका इम्तिहान क्यों नहीं लिया गया है? हमें इस दुकान में ऐसा माल क्यों रख रहे हैं, जिससे जांचा परखा नहीं गया है? सामान की तरह कर्मचारी को भी जांचना परखना जरूरी होता है । वहाँ भी गुणवत्ता परीक्षण करना अनिवार्य होता है । बल्कि यह कहना चाहूंगा कि इंसान के मामले में जांचना परखना ज्यादा जरूरी होता है, क्योंकि वही तो है जो हमारे सामान को बेचेगा या नहीं भेजेगा । वही तो है जो संगाई ओपन इसको बखूबी चलाएगा या हमें चूना लगाकर संपत हो जाएगा । बोलो सही बात है कि नहीं हूँ एक शब्द मत बोलना । अगर तुम्हें राई के दाने बराबर भी होती तो तो उसका अच्छा इम्तिहान ले लेते । और कौन कहता है की तो मैं इस का मौका नहीं मिला । उन्नीस सौ उन्नीस से उन्नीस सौ बीस में लकडी की इतनी ज्यादा मांग थी कि यह हाथों हाथ और अपने आप देख रही थी । उस समय तो में एक साल की छुट्टी ले लेनी चाहिए थी और आपने डाॅॅ को बैठा कर जाना चाहिए था । इससे तो मैं यह पता चल जाता है कि वह किस मिट्टी का बना है । अच्छा ही हुआ जो मैंने ऐसा नहीं किया । स्कीनर ने से सम्मान प्रतिरोध किया क्योंकि बाजार अचानक लुढक गया था छुट्टियों में और अगर मैं अपने जहाजों में लगाने के लिए पर्याप्त लकडी बेचने की पूर्ति नहीं देखा था उसकी ना तुम्हारी है जरूरत की तुम मेरी बात का विरोध करूँ । मैं पिछले तब कितने साल का था? जब मैंने ब्लूस्टार नेविगेशन कंपनी ताला तभी समय उसके हवाले कर दी थी । अरे उस समय तो वह छब्बीस का भी नहीं था । उसकी ना तो तुम बोरडम हो । तुम जैसे खुशी के दुश्मन कारोबार की पीठ पर सवार हो जाते हैं और बचकाने सिद्धांतों से इसका गला दबा देते हैं । ऐसे बचकाने सिद्धांत के इंसान को तभी ज्यादा जिम्मेदारी देनी चाहिए जब उसकी पीठ कमान की तरह झुक जाए या उसे ज्यादा वेतन तभी देना चाहिए जब उसके बाद बर्फ की तरह सफेद हो जाए । तुम जैसे लोगों की वजह से ही हमारे सारे युद्ध होते हैं । हमारी सारी हडतालें होती है । यह युवाओं का संसार है । उसके ना और तुम यह बात कभी मत भूलना । इस संसार के गो गेटर तीस साल से कम उम्र के होते हैं । युवाओं में बहुत ज्यादा ऊर्जा होती है जिसे सही दिशा में लगाया जाए तो उस से बडे से बडा काम हो सकता है । युवाओं में इतना ज्यादा जोश होता है कि वे आसमान को झुकाकर जमीन तक ला सकते हैं या जमीन को उठाकर आसमान तक पहुंचा सकते हैं । यही कारण है इसके ना कि हमें युवाओं पर ध्यान देना चाहिए और उनके भारी क्षमता को जांचना परखना चाहिए और उन्हें जिम्मेदारी उठाने लायक बनाना चाहिए । फिर वे अपने दामाद की ओर मुडे । मैं संघाई वाली नौकरी के संदर्भ में तो मैं ॅ कैसा लगता है? मैं सोचता हूँ कि वह यह काम कर लेगा तो मैं क्यों लगता है कि वह यह काम कर लेगा क्योंकि वह यह काम जानता है । वह इतने लंबे समय से हमारे यहाँ काम कर रहा है कि उसके पास बहुत सारा लगा हुआ है, जिसकी वजह से क्या उसमें काम को संभालने की हिम्मत है? मैं कैंपेने बात बीच में ही करते हुए कहा, हिम्मत तुम्हारे लक्षण अनुभव से ज्यादा महत्वपूर्ण होती है, जिसकी तुम उसके अंदर इतनी ज्यादा दुहाई देते हो । मैं नहीं जानता कि उसमें हिम्मत है या नहीं । मुझे लगता है कि वह अच्छा कर्मचारी है और मन लगाकर काम करता है । मैं बस इतना जानता हूँ कि उसका व्यवहार और साल चल अच्छा है । देखो उसे बाहर भेजने से पहले हमें यह पता होना चाहिए कि उसमें एकाग्रता और पहल शक्ति है या नहीं । उसमें स्वतंत्र काम करने और स्वतंत्र निर्णय लेने की योग्यता भी होनी चाहिए, क्योंकि यहाँ मैनेजर की बुनियादी योग्यता होती है अच्छे कर्मचारी और अच्छे । मैंने घर में फर्क होता है । दुर्भाग्य से हम यह मानकर चलते हैं जो अच्छा कर्मचारी है, वह अच्छा मैनेजर भी बन जाएगा, लेकिन ऐसा होता नहीं है । हर अच्छा कर्मचारी अच्छा मैनेजर नहीं बन सकता, क्योंकि कर्मचारी के रूप में उसे सिर्फ काम करने का अनुभव होता है, काम कराने का नहीं । मैनेजर के रूप में आपको दूसरों से कम कराना होता है । इसलिए आपको स्वतंत्र निर्णय लेना आना चाहिए । खुद होकर अवसरों को संभालना चाहिए और अपने दिमाग का इस्तेमाल करना चाहिए । अगर आपने ये सारी बातें नहीं है तो आप संसार के किसी भी कोने में सफल मैनेजर नहीं बन सकते । तो फिर मैं बिजी लेने उडते हुए कहा, मैं एंडरसन का बारिश चुनने के काम से अपना हाथ खींचता हूँ । इस मामले में आपको इतना ज्यादा ज्ञान है जो आप पूरी उदारता से हमें दे रहे हैं कि आपको ही उस खुशकिस्मत इंसान का नाम सुनना चाहिए । हाँ सर, मुझे उसकी न रहे सहमत होते हुए कहा, मुझे यकीन है कि इतने कम समय में एॅफ करता हूँ और पहल सकते को खोजना । मेरी कमजोर योग्यताओं से काफी पर एक ही चीज है । उसमें उसके वर्तमान पद के हिसाब से तो पर्याप्त एकाग्रता और पहल सकती है । लेकिन कैंपेने उसके बाद बीच में ही काटते हुए कहा । लेकिन क्या उसमें इसी िकाकर्ता और पहले सकते? तब भी होगी जब उसे विशेषज्ञों की सलाह से छः हजार मील दूर तुरंत कोई निर्णय लेना होगा और उस निर्णय के आधार पर सफल या असफल होना होगा । हम यही जानना चाहते हैं । इसके ना स्कीनर ने भावहीन विनम्रता से जवाब दिया, सर, मेरा सुझाव यह है कि आप भी उसका इनकी हानले मैं चुनौती को स्वीकार करता हूँ । उसके न भगवान का समय हम संघाई ऑफिस में जिस अगले आदमी को भेजेंगे, वह वो बेटर होगा । हमारे तीन मैनेजर वहाँ बहुत करता है, टाइम हो चुके हैं और यहाँ बहुत बडी संख्या है क्योंकि उत्कृष्टता का तकाजा है कि कंपनी में एक भी गलत मैनेजर नहीं होना चाहिए वरना कंपनी बैठ जाएगी । अगर मैनेजर गलत होगा तो कर्मचारी चाहे कितने भी अच्छे हो, कंपनी नहीं बच पाएगी और इसके बाद कैंपेने अपने बूढे पैर उठाकर अपने डेस्ट पर रखें और अपने घूमने वाली कुर्सी पर नीचे चलने लगे और अपने पेट नीचे निकली । फिर उनका सिर उनके सीने पर आ गया और उन्होंने अपनी आंखें बंद कर ले । मैं यह सोच ने भी लगे कि एंड उसका इम्तिहान कैसे लेना है । अब उसकी खैर नहीं मैं पिछले ने फुसफुसाकर कहा जब वह है उसके ना कमरे से बाहर निकले । धन्यवाद हिंदी ऍम आप का दिन शुभ हो ।

Details
Click for Full Hindi Audiobook - https://anchor.fm/hindiaudiobook Great story, Great Learning. Language of book seems tough to me but I competed the book taking help of dictionary. Many topical phrases are also used in story. While starting this book, I thought that i will read it fast as it is very short book but it took me long to read and understand. Story is very interesting. The Go Getter Written by Peter B Kyne in Hindi, is one of our best motivational audiobooks available in Hindi from our catalogue. This Audiobook is created by MS Ram. MS Ram is well known for his motivational audiobooks. This The Go Getter Written by Peter B Kyne audio will fill you with all the positive vibes and make you ready to spend your day on a positive note. Sit back. Calm yourself. Close your eyes. Experience the world of motivation; some few words can sparkle life with magic. Listening to Motivational audiobooks is one of the best ways to rejuvenate your inner-self. We understand that our users emotionally connect with the audios more when it is in their language. Hence we offer a variety of motivational audiobooks in different languages like Hindi, Gujarati, Telugu, Marathi, Bangla etc. These audiobooks are available for free and can be downloaded and saved on our app. And the best part is that you can access it while travelling, while working out in the gym, and literally doing anything, anywhere at any point of time be it early morning or late night. So, stream, download, and enjoy the ad-free experience. The Go Getter Written by Peter B Kyne ,हमारी सूची में उपलब्ध हिंदी में उपलब्ध सबसे अच्छे प्रेरक ऑडियोबुक में से एक है। यह ऑडियोबुक MS Ram द्वारा प्रस्तुत की गई है। MS Ram एक प्रमुख प्रस्तोता है जो उनके प्रेरक ऑडियोबुक के लिए मशहूर है। यह The Go Getter Written by Peter B Kyne ऑडियो आपको सभी सकारात्मक उर्जा से भर देगा और आपको एक सकारात्मक नोट पर अपना दिन बिताने के लिए तैयार कर देगा। आराम से बैठे। अपने आपको शांत करें। अपनी आँखें बंद करें। प्रेरणा की दुनिया का अनुभव करें। कुछ शब्द जादू की तरह जीवन में रंग भर सकते हैं। मोटिवेशनल ऑडियोबूक को सुनना आपके भीतर के आत्म-कायाकल्प के लिए अच्छा है। हम समझते हैं कि हमारे उपयोगकर्ता भावनात्मक रूप से ऑडिओ से अधिक जुड़ते हैं जब यह उनकी भाषा में होता है। इसलिए हम विभिन्न भाषाओं जैसे हिंदी, गुजरती, तेलुगू, मराठी, बंगला आदि में विभिन्न प्रकार के प्रेरक ऑडियोबुक प्रदान करते हैं। ये ऑडियोबुक मुफ्त में उपलब्ध हैं और हमारे ऐप पर डाउनलोड किए जा सकते हैं। और सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे यात्रा करते हुए, जिम में वर्कआउट करते हुए और शाब्दिक रूप से कहीं भी, किसी भी समय कहीं भी इसे सुबह या देर रात को सुन सकते हैं। तो, विज्ञापन-मुक्त अनुभव को स्ट्रीम करें, डाउनलोड करें और आनंद लें।