BlogAbout us
Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Audio Book | 132mins

Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin in hindi

AuthorMS Ram
Click for Full Hindi Audiobook - https://anchor.fm/hindiaudiobook Fish!: A Proven Way to Boost Morale and Improve Results Book by Stephen C. Lundin Another one of the books that are recommended in management schools. FISH! is a philosophy. It developed when the author visited and observed the goings. Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin in Hindi, is one of our best motivational audiobooks available in Hindi from our catalogue. This Audiobook is created by MS Ram. MS Ram is well known for his motivational audiobooks. This Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin audio will fill you with all the positive vibes and make you ready to spend your day on a positive note. Sit back. Calm yourself. Close your eyes. Experience the world of motivation; some few words can sparkle life with magic. Listening to Motivational audiobooks is one of the best ways to rejuvenate your inner-self. We understand that our users emotionally connect with the audios more when it is in their language. Hence we offer a variety of motivational audiobooks in different languages like Hindi, Gujarati, Telugu, Marathi, Bangla etc. These audiobooks are available for free and can be downloaded and saved on our app. And the best part is that you can access it while travelling, while working out in the gym, and literally doing anything, anywhere at any point of time be it early morning or late night. So, stream, download, and enjoy the ad-free experience. Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin ,हमारी सूची में उपलब्ध हिंदी में उपलब्ध सबसे अच्छे प्रेरक ऑडियोबुक में से एक है। यह ऑडियोबुक MS Ram द्वारा प्रस्तुत की गई है। MS Ram एक प्रमुख प्रस्तोता है जो उनके प्रेरक ऑडियोबुक के लिए मशहूर है। यह Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin ऑडियो आपको सभी सकारात्मक उर्जा से भर देगा और आपको एक सकारात्मक नोट पर अपना दिन बिताने के लिए तैयार कर देगा। आराम से बैठे। अपने आपको शांत करें। अपनी आँखें बंद करें। प्रेरणा की दुनिया का अनुभव करें। कुछ शब्द जादू की तरह जीवन में रंग भर सकते हैं। मोटिवेशनल ऑडियोबूक को सुनना आपके भीतर के आत्म-कायाकल्प के लिए अच्छा है। हम समझते हैं कि हमारे उपयोगकर्ता भावनात्मक रूप से ऑडिओ से अधिक जुड़ते हैं जब यह उनकी भाषा में होता है। इसलिए हम विभिन्न भाषाओं जैसे हिंदी, गुजरती, तेलुगू, मराठी, बंगला आदि में विभिन्न प्रकार के प्रेरक ऑडियोबुक प्रदान करते हैं। ये ऑडियोबुक मुफ्त में उपलब्ध हैं और हमारे ऐप पर डाउनलोड किए जा सकते हैं। और सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे यात्रा करते हुए, जिम में वर्कआउट करते हुए और शाब्दिक रूप से कहीं भी, किसी भी समय कहीं भी इसे सुबह या देर रात को सुन सकते हैं। तो, विज्ञापन-मुक्त अनुभव को स्ट्रीम करें, डाउनलोड करें और आनंद लें।
Read More
Transcript
View transcript

फिर सीएटल सोमवार की सुबह सिएटल का वहस हो उदास ठंड ना और नाम बेहतर भी और बाहर भी । टीवी पर मौसम विभाग की रिपोर्ट में जो सबसे अच्छी भविष्यवाणी की गई थी वह है यह थी कि दोपहर के आसपास बादल पढ सकते हैं । तो ऐसे उदास दिनों में मैरिजेन रेमिरेज को दक्षिण कैलिफोरनिया ज्यादा जाता था । वे दिन भी क्या दिन थे । उसने अपने पिछले तीन सालों को याद करते हुए सोचता हूँ । उसके प्रति लैन्को माइक्रो रूल की तरफ से नौकरी का बढिया ऊपर मिला था और मेरी को भरोसा था कि वहां पहुंचने के बाद वह भी नौकरी ढूंढ लेगी । सिर्फ चार सबतों में ही उन्होंने नोटिस दिया, सामान किया और नई जगह पर पहुंचकर अपने बच्चों के लिए अच्छा सादुल्लानगर भी ढूंढ लिया । लाॅस में मकान बेचने के लिए यह बहुत अच्छा समय था और उनका मकान तत्काल दिन क्या, जैसा कि उसे भरोसा था । मेरी जैन को नौकरी मिल गई । उसे सीएटल की एक बडी वित्तीय संस्था फस्ट गारंटी फाइनेंसियल में सुपरवाइजर का काम मिल गया था । डेन को माइक्रो रूल की नौकरी रास आ गई थी । जब वहाँ रात को घर लौटता था तो वह जरा भी धक्का हुआ नहीं दिखता था । हुआ है । अपनी कंपनी के किस्से सुनाता और यह भी बताया था कि वे कितनी तरक्की कर रहे हैं । डाॅ । और मेरी एक सर बच्चों को सुनने के बाद देर रात तक बातें करते रहते थे । डयन आपने नई कंपनी के बारे में जितना उत्साहित था, उतने ही दिलचस्पी वह है । इस बात में लेता था कि मेरी का दिन कैसा गुजरा । उसके नए साथी कैसे हैं? उस की नौकरी में क्या क्या चुनौतियां हैं? अगर कोई दोनों को देखता तो यही कहता है कि वे बहुत अच्छे दोस्त हैं । एक दूसरे के सामने आते ही उनके चेहरे पर समझ आ जाती थी । उन्होंने अपने जीवन की पूरी योजना बना ली थी । पर एक चीज के बारे में उन्होंने सोचा ही नहीं था । सीएटल में आए हुए उन्हें एक साल ही हुआ था कि दे इनको हॉस्पिटल ले जाना पडा । उसका ऍम फट गया जो किसी रक्तवाहिनी के जन्म जब दोस्त के कारण होता है । होश में आने से पहले ही वह सलवार था । यह सब इतना अचानक हुआ कि उन्हें अलविदा कहने का समय तक नहीं मिल पाया । यह दो साल पहले की बात थी । हमें सीएटल में आए हुए अभी पूरा एक साल भी नहीं हुआ था । उनके दिमाग में यादव की बाढ सी आ गई और उसके दिल में भावनाओं का तूफान उठने लगा । मेरी ने खुद को संभाला । यह मेरी निजी जिंदगी के बारे में सोचने का समय नहीं है । अभी नौकरी का आधा दिन भी नहीं हुआ है और बहुत सब काम पडा है । फर्स्ट गारंटी फाइनेंसियल फर्स्ट गारंटी में तीन साल तक काम करने के बाद मेरी जैन ने एक काबिल सुपरवाईजर का खिताब पा लिया था । वह सुबह सवेरे से आकर बहुत देर रात तक काम नहीं करती थी परन्तु उसके काम करने का तरीका ही कुछ ऐसा था कि उसकी टेबल पर कोई फाइल एक दिन से ज्यादा नहीं रूकती थी । अपने काम को वहाँ इतने अच्छे तरीके से करती थी कि उसकी कंपनी में एक छोटी सी समस्या खडी हो गई । हर कोई चाहता था कि उसका काम मेरी की टेबल से होकर गुजरेगा । वे जानते थे कि वहाँ काम समय पर हो जाता है और बहुत अच्छे तरीके से होता है । उसके नीचे जो लोग काम करते थे वे भी उससे खुश थे । वह अपने स्टाफ की समस्या हूँ और विचारों को पूरे ध्यान से सुनती थी और इसके बदले में उसका स्टाप उसे पसंद करता था और उसकी जब करता था, हुआ है । किसी का बच्चा बीमार होता या किसी को कोई महत्वपूर्ण काम होता तो वह स्टाफ के कर्मचारी को उतने समय के लिए छोड देती थी । मैनेजर के रूप में हुए हैं । अपने डिपार्टमेंट का नेतृत्व कर रही थी और वह इतने सहज रूप से ऐसा करती की जवाबी तनाव नहीं होगा । तनाव होता भी नहीं तो सिर्फ इसका की काम अच्छे तरीके से हो जाएगी । उसके सहयोगी और उसका था । उसके साथ काम करना पसंद करते हैं । मेरी जान के स्टाफ की छवि बेहतरीन कर्मचारियों की थी । इसके बिलकुल विपरीत तीसरी मंजिल कर एक बडा आपरेशंस ग्रुप था जिसकी सभी इसके बिलकुल थे । उन्हें अक्सर लापरवाह, नीला, बेकार, बंजर जमीन, निकम्मा, उबाऊ, उनींदा, नकारा, नकारात्मक इत्यादि का खिताब दिया जाता था । हर आदमी इस समूह से नफरत करता था । कंपनी का दुर्भाग्य था की लगभग हर डिपार्टमेंट का काम तीसरे मंदिर से होकर गुजरता था क्योंकि वे फस्ट गारंटी के समझौतों, करारों को प्रोसेस करते थे । हर आदमी ऑपरेशंस ग्रुप से किसी भी तरह के संपर्क से घबराता था । सुपरवाइजर आपस में किस्से सुनाते थे की तीसरी मंजिल पर क्या नया हादसा हुआ जो तीसरी मंजिल पर जाते थे । वे लोटकर बताते थे कि वह ऑफिस नहीं मुर्दा कर रहे हैं जो आपके अंदर की जान निकाल लेता है । मैरिजेन को एक घटना याद आई । एक मैनेजर ने कहा कि उसे तो नोबल पुरस्कार मिलना चाहिए । जब मेरी जैन ने पूछा कि जो तो उसने जवाब दिया, मुझे लगता है कि मैंने तीसरी मंजिल पर जीवन का तब तो खोल लिया है । इस पर ठाकरे लगने लगे । कुछ ही हफ्तों बाद मेरी जिनको फस्ट गारंटी की तीसरी मंजिल पर ऑपरेशंस ग्रुप का मैनेजर बना दिया गया । मेरी जेल ने यह प्रमोशन थोडी अनिच्छा और सावधानी से स्वीकार किया था । हालांकि कंपनी को उसे बहुत अच्छी थी लेकिन उसे इस प्रमोशन से बहुत ज्यादा उम्मीदें नहीं थी । पहले अपने वर्तमान नौकरी से बहुत खुश थी और डैन की मृत्यु के बाद वह इतने बडे जोखिम लेने से भी हिचकने लगी थी । वहाँ समूह जिसकी वह मैनेजर थी, उसके साथ तब से था जब ऍम की मृत्यु का हादसा झेल रही थी । इस वजह से उन के बीच एक घनिष्ठ रिश्ता बन गया था । ऐसे लोगों को छोडने में बहुत तकलीफ होती है जिन्होंने इतने बुरे समय में साथ दिया हो । मैरिजेन तीसरी मंजिल की बुरी छवि के बारे में बहुत चिंतित थी । सच बात तो यह थी कि अगर डेन के हॉस्पिटल में अनअपेक्षित खर्चे नहीं होते तो शायद प्रमोशन और बडी हुई तनख्वाह को स्वीकार ही नहीं करती । बहरहाल इस तरह हुआ है । वहाँ पहुंच चुकी थी बदनाम तीसरी मंजिल पर पिछले दो सालों में उस कुर्सी पर बैठने वाली वह तीसरी मैनेजर थी । तीसरी मंदिर उस पद पर आने से पहले पांच हफ्तों में वह अपने काम को और अपने नये स्टाफ को समझने की कोशिश करती रही । हालांकि उसे थोडा काजू भी हुआ कि वह तीसरी मंजिल पर काम करने वाले कई लोगों को पसंद करती थी । फिर भी उसने जल्दी ही है समझ लिया । तीसरी मंजिल की जो छवि बनी थी वह सही थी । उसने तीसरी मंजिल पर पांच साल से काम कर रहे हैं । वो लोग को देखा जो साथ फोन की घंटी बजने देता था और फिर जानबूझकर फोन कर देता था । उसने मार था को यह कहते हुए सुना कि वह कंपनी के उन लोगों को किस तरह से ठीक करती है जो उस से जल्दी काम करवाना चाहते हैं । वह है उनकी फाइल को गलती से आउट बास्केट में डाल देती है । हर बार मेरी जेब उन के कमरे में जाती थी । वहाँ कोई नहीं कोई आदमी उन बता ही नजर आता था । ज्यादातर सुबह को यह देखने में आता था कि काम शुरू होने के समय के बाद दस से पंद्रह मिनट बात तक फोन बजता रहता था और कोई फोन नहीं उठाता था क्योंकि स्टाफ देर से आता था । जब उनसे देरी का कारण पूछा जाता तो उनके बहाने ढेर सारी और लचर होते । हर चीज धीमी गति से थी । तीसरी मंजिल को डेला कहना बिल्कुल सही था । मेरी जिनकी समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्या करेंगे, वहाँ केवल इतना ही जानती थी कि उसे कुछ करना चाहिए और जल्दी ही करना चाहिए । पिछली रात को जब हो गई अब मेरी जिनने अपनी डायरी में अपनी स्थिति के बारे में लिखा । उसने डायरी में पिछली रात के शब्दों को पडा । शुक्रवार को बाहर का मौसम ठंडा और नीरज था । परन्तु मेरे ऑफिस का माहौल तो नीरज से भी गया बीता था । वहाँ कोई ऊर्जा ही नहीं थी । कई बार तो ये कि नहीं नहीं होता की तीसरी मंजिल पर जीते जागते इंसान काम कर रहे हैं । जिंदगी के थोडे बहुत लक्षण तब देखते हैं जब किसी की शादी हो या बेबी शावर का जिक्र हो । अपने काम को लेकर वे कभी उत्साहित नहीं होते । मेरे पास तीस कर्मचारी है और काम तनख्वा में ही ले तरीके से अपना काम निपटाते हैं । कई लोग इसी डिले फंसे सालों से काम करते आ रहे हैं और पूरी तरह से ऊब चुके हैं । वे लोग भले देखते हैं परन्तु उनमें कभी जो चिंगारी रही होगी वह पूरी तरह रह बन चुकी है । यहाँ का माहौल इतना मुझे हो जाता है की नई आने वाले कर्मचारी का जो भी जल्दी ही हवा हो जाता है । जब मैं ऑफिस में से होकर गुजरती हूँ तो ऐसा लगता है जैसे हवा में से सारी आक्सीजन निकाल ली गई हो । मुझे सांस लेने में भी तकलीफ होती है । पिछले हफ्ते मुझे चार ऐसे कल लडकों का पता चला जिन्होंने दो साल पहले लगे कंप्यूटर सिस्टम का अब तक उपयोगी नहीं किया था । उनका कहना था कि उन्हें पुराने तरीके से काम करना ही अच्छा लगता है । नहीं जाने आगे मेरा पाला किस तरह की अजूबों से पडने वाला है । मुझे लगता है कि बहुत से बैकरूम ऑपरेशंस किसी तरह के होते होंगे । यहाँ पर रोमांचित होने के लिए ज्यादा कुछ है भी नहीं । केवल बहुत सारे सोते हैं जिन्हें प्रोसेस किया जाना है पर यहाँ का माहौल सुधारा जा सकता है । मुझे कोई न कोई तरीका तो ढूंढना ही होगा ताकि मैं उन्हें यह बता सकूं कि हमारा काम कंपनी के लिए कितना महत्वपूर्ण है । हमारे काम की बदौलत ही दूसरे डिपार्टमेंट के लोग कंपनी के ग्राहकों की सेवा कर पाते हैं । हालांकि हमारा काम पूरी कंपनी के लिए बहुत अधिक महत्वपूर्ण है, फिर भी यह पर्दे के पीछे होता है और इसलिए कोई इसका गुणगान नहीं करता । यह संगठन का एक ऐसा अद्भुत हिस्सा है, जो कंपनी के रडार स्क्रीन पर नजर भी नहीं आता । अगर यह इतना बदनाम और बुरा नहीं होता और मेरा लेकिन कीजिए, यह बुरा है । हम में से कोई भी इस डिपार्टमेंट में इसलिए नहीं आया है क्योंकि वह इस काम से प्यार करता है । इस मंदिर पर मैं अकेली ही ऐसी नहीं हूँ, जिसे पैसे की समस्याएं हो । कई महिलाएं और एक पुरुष अपने बच्चों के अकेले अभिभावक हैं । जैक के बीमार पिता भी उसके साथ अभी अभी रहने आ गई है । बनी और उसके पति के घर पर उसके दो नाती हमेशा के लिए रहने आ चुके हैं । हम यहाँ पर तीन कारणों से है हुआ सुरक्षा और नौकरी के दूसरे लाभ । मेरी जैन ने डायरी में लिखे आखिरी वक्त पर विचार किया । बैकरूम ऑपरेशन जिंदगी भर की नौकरी थी । तनख्वा पर्याप्त थी और नौकरियाँ भी सुरक्षित थी । अपने आप ऑफिस के बाहर डिस्को और कुर्सियों की कतारों को देखते हुए उसने कुछ सवालों पर विचार किया । क्या मेरा स्टाफ जानता है कि जिस सुरक्षा का उन्हें इतना विश्वास है, वह केवल एक बहन है? क्या वही है? समझ पाए हैं कि बाजार की ताकतें किस हद तक के इस उद्योग को नया आकार दे रही है? क्या वे यहाँ समझते हैं कि इस कंपनी को तेजी से आगे बढाने के लिए हम सभी को अपने आप को बदलने की जरूरत है? क्या वे यह जानते हैं कि अगर हम नहीं बदलेंगे तो अंततः हम सभी को कोई दूसरी नौकरी ढूंढनी पडेगी? वह जवाब जानती थी नहीं । नहीं नहीं, उसके स्टाफ के लोग अपनी कार्यशैली बदलने के लिए कभी तैयार नहीं होंगे । उन्हें बैकरूम में काम करते करते बहुत ज्यादा समय हो चुका था । वे केवल अपनी नौकरियां बजा रहे थे और यह आशा कर रहे थे कि बदलाव के पहले ही उनका रिटायरमेंट आ जाएगी और उसके खुद के बारे में क्या क्या उसका नजरिया लगे हैं । फोन की घंटियों से वर्तमान में ले गई उस फोन के बाद एक घंटे तक आग हो जाने की कार्रवाई चलती रही । पहले तो उसे पता चला की एक महत्वपूर्ण ग्राहक की फाइल गुम हो गई थी और ऐसी अफवाह थी कि वह फाइल आखिरी बार तीसरी मंजिल पर देखी गई नहीं । इसके बाद दूसरे डिपार्टमेंट का एक आदमी आकर हल्ला मचा नहीं लगा क्योंकि कोई उसके फोन का जवाब देने के लिए तैयार नहीं था । तीसरी मंजिल के कर्मचारी फोन पर बार बार होल्ड बटन दबा देते थे इसलिए उसे खुद ही ऊपर आना पडा । फिर लीगल डिपार्टमेंट से कर्मचारी ने आकर शिकायत की कि उसका फोन लगातार तीन बार काट दिया गया था और एक स्टाफ मेम्बर जो बीमारी के कारण आज छुट्टी पर था, उसने अभी तक एक महत्वपूर्ण काम करके नहीं दिया था जबकि उसे वह काम बहुत पहले करके दे देना चाहिए था । जब सुबह की आखिरी आग बुझ गई तो मेरी जान आपने लंग्स को लेकर दरवाजे की तरफ चल दी । दे लोगों का कचरा अगस्त मेरी जान पिछले पांच हफ्तों से लंच के लिए ऑफिस के बाहर जाने लगी थी । वह जानती थी की ओर इसमें काफी है । उसमें लग लेने का मतलब था तीसरी मंजिल की बुराई । सुन ना कंपनी के लोग अब भी लंच पर कंपनी की कमियों पर किस्से सुनाते समय तीसरी मंजिल के लोगों का मजाक उडाते होंगे । अब तीसरी मंजिल की बुराई या शिकायत सुनना उसके लिए संभव नहीं था क्योंकि अब वह भी तीसरे मंजिल पर पहुंच गई थी । उसे कुछ ताजी हवा की जरूरत थी । ज्यादातर समय मैं अपना लंच लेने के लिए पहाडी से उतरकर तालाब के पास जाया करती थी । वहाँ वहाँ खाना खाते समय पानी की ओर निहारती या फिर छोटी छोटी दुकानों के चारों तरफ जमा पर्यटकों को देखती । यह बहुत शांत जगह थी और यहां पहुंचकर वह प्रकृति की गोद में पहुंच जाती । वह अपने ऑफिस से दो कदम बाहर ही निकली थी । तभी उसे अपने फोन की खास गेंद बस्ती सुनाई दी । उसने सोचा शायद बोला, घर वालों का फोन होगा । सुबह ऐसी की नाक बह रही थी इसलिए उसने अपने ऑफिस की तरफ दौड लगा दी और चौथी घंटे पर फोन उठा लिया । उसने घबराई आवाज में कहा, मेरी जोन रैमीरेज मेरी जो मैं बिल बोल रहा हूँ । अपने नए बोस की आवाज सुनते ही वह चकरा गई कि अब क्या हुआ । तीसरी मंजिल पर प्रमोशन लेने से पहले उसे जिन परेशानियों का अंदेशा था, उनमें से मिल भी एक था । उसकी छवि एक खडूस बोस की थी और जहाँ तक उसका अनुभव था उसकी छवि सही थी । वहाँ आदेश देता था, सामने वाले की बात को बीच में ही करते था और कुछ करते हुए काम की प्रगति के बारे में पूछता हूँ जिससे उसके महासचिव जाते थे । मेरी जिन कॅप्टन प्रोजेक्ट पर काम करना जारी रख रही हैं जैसे कि वह यह जानती ही नहीं हो । दो साल में यहाँ पर मेरी जयंती से मैंने जब थी और वह यह समझ चुकी थी की समस्या सिर्फ तीसरी मंजिल के कर्मचारी ही नहीं है, बिल भी एक समस्या है । मैं अभी अभी कंपनी के बडे अधिकारियों की एक मीटिंग से लौटा हूँ और मैं तुमसे इसी दोपहर को मिलना चाहता हूँ । बिल्कुल बिल्कुल कोई खास बात है । कंपनी के उच्चाधिकारियों का मानना है कि अब हमारे लिए कठिन समय आने वाला है और बच्चे रहने के लिए हमने से हर एक को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा । ये नहीं कर्मचारियों से हमें ज्यादा काम करवाना होगा या फिर हमें कंपनी में बदलाव करना होगा । हमने कुछ विभागों की घटिया काम के बारे में भी चर्चा की जहाँ ऊर्जा और मनोबल का स्तर इतना कम है कि इससे सभी पर बुरा असर पडता है । मेरी के माथे पर पसीना आ गया क्योंकि उसे अंदाजा हो गया था कि आगे क्या कहा जाएगा । बोस ऑफिस में जो स्तर हुए एक सेमिनार में आए थे और वहाँ से आने के बाद भी ऑफिस का माहौल बनाना चाहते थे । मैं यह तो नहीं बता सकता हूँ की ये अकेली तीसरी मंजिल को ही निशाना क्यों बनाया गया । पर बोस मानते हैं की तीसरी मंजिल ही सबसे बडी समस्या है क्या उन्होंने केवल तीसरी मंजिल को ही निशाना बनाया । उन्होंने ने से तीसरी मंजिल को निशाना बनाया बल्कि उन्होंने इसे एक विशेष नाम दे दिया । उन्होंने इसे दे लोगों का खतरा अगर कहा है मैं अपने किसी डिपार्टमेंट को दे । लोगों का खतरा अगर कहाँ जाना पसंद नहीं करता, यह जाती है और हमारे लिए बहुत शर्म की बात है । ढेलों का कचरा गए हाँ और उसने मुझे बहुत सारे सवाल किए कि मैं वहाँ का माहौल सुधारने के लिए क्या कर रहा हूँ । मैंने उन्हें बताया कि मैं भी उनकी तरह चिंतित हूँ और इसलिए समस्या को सुलझाने के लिए मैंने तो मैं वहाँ भेजा है । उन्होंने मुझसे कहा है कि इस बारे में उन्हें लगातार जानकारी दी जाएगी । क्या उसने समस्या को सुलझा लिया है? उसे अभी वहाँ आए हुए सिर्फ पांच हफ्ते ही तो हुए हैं अभी तक तो नहीं । उसने कहा तो तो मैं यह काम तेजी से करना पडेगा । मेरी जो अगर तुम यह काम नहीं कर सकती हो तो मुझे बता देना ताकि मैं किसी दूसरे को इस काम पर लगा दूँ । बोस का पक्का विश्वास है कि हम सभी को नौकरी में ज्यादा ऊर्जा, लगन और उत्साह दिखाने की जरूरत है । मुझे यह तो नहीं पता की तीसरी मंजिल पर लगन और उत्साह क्यों नहीं है । वहाँ पर जो काम किया जाता है उसमें राकेट विज्ञान की तरह की कोई भी विशेषज्ञता की जरूरत नहीं है । वैसे भी कल लडकों की फोर से मैं बडी बडी आसानी नहीं करता हूँ । मुझे लगता है कि तीसरी मंजिल के बारे में इतने लंबे समय से मजाक किए जा रहे हैं कि बोस को लगता है कि अगर वहाँ का माहौल सुधर जाएगी तो हम समस्या को सुलझा लेंगे । तुम कब मिल सकती हूँ? दो बजे ढाई बजे ठीक है, बिल्कुल बिल नहीं । उसकी आवाज में हताशा को सुन लिया होगा । परेशान होने की जरूरत नहीं है । मेरी जो तुम सिर्फ इस काम में जुट जाऊँ, उसे झेलना आसान नहीं है । उसने फोन रखते हुए सोचा परेशान होने की जरूरत नहीं है । वह मेरा दोस्त है और समस्या वास्तविक हैं । पर ये है सुनना बुरा तो लगता ही है । रूटीन में बदलाव जब मेरी जेन दोबारा लिफ्ट की तरफ बडी तो उसके दिमाग में ज्वालामुखी फट रहा था । हमेशा की तरह पहाडी से उतरकर तालाब के किनारे पर जाने के बजाय वह दायिनी तरमोली है । ज्यादा लंबे घूमना चाहती थी उसके दिमाग में डीलों का खतरा अगर बार बार घूमता रहा दे लोगों का कचरा अगर अब आगे और ले जाने क्या क्या कहा जाएगा । वो फर्स्ट स्टेट पर चल रही थी कि तभी उसने अपने दिमाग में एक आवाज सुनी । तीसरे मंजिल के ढीलेपन से तो तुम भी छेडती हूँ, कुछ तो करना ही पडेगा । मेरी जिन चलते चलते ऐसे इलाके में पहुँच गयी जो उसके लिए नया था । तभी उसे लोगों के यहाँ के और हंसी सुनाई दी और वह यह देखकर हैरान हो गई कि उसके बाई तरफ बाजार था । उसने इसके बारे में सुना था । पैसे की तंगी के कारण हुए हैं । इस तरह के बाजार से दूर ही रहती थी । कंजूसी से जीने की आदत उसे इसलिए पडी क्योंकि अभी मेडिकल बिलों का भुगतान पूरा नहीं हुआ था । इसलिए बेहतर यही था कि वह इस तरह के बाजारों से दूर रहे । वही इस इलाके से कार में बैठकर तो पूछ रही थी परंतु वहाँ पैदल कभी नहीं घूमी । जब वो पाइप प्लेस के पास कोनसी तो उसने देखा की फिश बेचने के एक दुकान पर अच्छे कपडे पहने हुए बहुत से लोगों की भीड लगी थी और सारे लोग हंस रहे थे । हालांकि पहले तो अपनी दसा की गंभीरता को देखते हुए उसे हंसी अच्छी नहीं लगी । वह लगभग दूसरी तरफ मुड गई । अभी उसके दिमाग में का आवाज गूंजी थोडी बहुत ऐसी से बेहतर होता हो सकती हूँ और यह सोचते ही वह भीड के करीब आ गई । ऑफिस देखने वाला एक आदमी चला रहा था गुड आफ्टरनून नहीं खाने वालों दर्जनों अच्छे कपडे पहने लोगों ने अपने नही के कप हवा में उडा दिए । हे भगवान! उसने सोचा मैं कहाँ गई हूँ । दुनिया भर में मशहूर फाइनलिस्ट फिश मार्केट क्या वैसे ही हवा में उड रही थी । उसे लगा जैसे उसकी आंखे उसे धोखा दे रही थी । फिर वह दोबारा हुआ । दुकान के एक कर्मचारी नहीं एक बडी शिशु उठाई । उसे बीस मीटर ऊपर उठाए गए काउंटर की तरफ उछाला और वहाँ से लाया एक साल । मंत्री जी मिनेसोटा की तरफ उड रही है । फिर सभी कर्मचारियों ने एक स्वर में दोहराया एक साल में फिर मीना छोटा की तरफ उड रही है । काउंटर के पीछे खडे आदमी ने उडती हुई फिर इसको आश्चर्यजनक रूप से एक आपसे कैच कर लिया । फिर उसने वहाँ मौजूद लोगों का सिर हिलाकर अभिवादन किया जो उस की कुशलता पर तालियाँ बजा रहे थे । वहाँ मस्ती विराट जोरदार माहौल उसके दाहिनी तरफ । दूसरा कर्मचारी एक छोटे बच्चे को खेल खेल में चला रहा था । वहाँ बडी मछली के मुंह को इस तरह से लाता था कि बच्चे को लगता है कि जैसे मछली बोल रही है, एक थोडा बुड्डा हूँ जिसके सफेद बाल कम ही बच्चे थे । चारों तरफ घूमते हुए चिल्ला रहा था । सवाल सवाल ऑफिस के बारे में सवालों के जवाब कैश रजिस्टर पर बैठा एक युवा कर्मचारी केकडों को इधर से उधर कर रहा था । ए । आर । पी । का कार्ड दिए हुए दो सदस्य बेहताशा हस रहे थे । वह ऑफिस बेचने वाला से रेजमेंट उस इसके साथ बातें करने लगा जो उन्होंने खरीदी थी । वहाँ के लोगों पर जैसे पागलपन का दोहरा पड गया था । उसे यहाँ मजा आ रहा था और अब वह तनाव महसूस कर रही थी । उसने लोगों को हवा में दही की कब उठाये हुए देखा और सोता ऑफिस के कर्मचारी क्या वे लंच के समय सचमुच फिर खरीदते हैं? या वे सिर्फ वहाँ का मजेदार माहौल देखने आते हैं? मेरी जिनको यह पता नहीं था की फीस बेचने वाले एक आदमी ने उसे भीड में देख लिया था । उसकी उत्सुकता और गंभीरता में कुछ ऐसी बात थी जिसके कारण बहस चल कर उसके पास आया । क्या बात है? क्या आपके पास नहीं नहीं है वह फलती और उसने लंबे काले घुंगराले वालों वाले एक आकर्षक नौजवान को अपने पास खडे हुए देखा हुआ है । उस की तरफ ध्यान से देख रहा था और उसके चेहरे पर एक बडी सी मुस्कान थी । उसने हकलाते हुए कहा, मेरे बैग में नहीं नहीं है परन्तु मुझे ठीक से समझ नहीं आ रहा है । यहाँ क्या हो रहा है? क्या आप यहाँ पहली बार आई गए? हाँ हम तो पर मैं लंच के लिए तलाक के किनारे जाया करती थी । मैं समझ सकता हूँ तालाब के किनारे बहुत शांति का माहौल होता है । वहाँ पर ज्यादा शांति नहीं है, यह बात तो तय है । तो आज आप यहाँ कैसे आ गई? उसके आॅफिस बेचने वाला चला रहा था । कोन फीस खरीदना चाहता है । दूसरा एक युवती को चिढाने में जुटा था । एक केकडा मेरी जान के सिर के ऊपर से तैरता हुआ निकला । फॅमिली मोंटाना की तरफ मुड रहे हैं । किसी ने से लाया छह कितने मुंडाना की तरफ मुड रहे हैं । उन सभी ने दोहराया एक फॅमिली के पीछे डांस कर रहा था । मेरी जिनके चारों तरफ एक नियंत्रित पागल खाना था । ऐसा लगता था जैसे कोई मेला लगा हुआ हूँ । वहाँ पर पागल खाने या मेले से ज्यादा मजा आ रहा था । परंतु उसके बगल में खडा फिश सेटलमेंट बिल्कुल भी विचलित नहीं हुआ हुआ है । उसके जवाब का आराम से और धीरज से इंतजार कर रहा था । हे भगवान! मेरी जान नहीं होता । वह मेरे जवाब में सचमुच रूचि ले रहा है । लेकिन मैं एक अजनबी को अपनी नौकरी कि समस्याएं कैसे बता सकती हूँ? और उसने क्या यही उसका नाम लो नहीं था । उसने तीसरी मंजिल की उसकी समस्या को बहुत ध्यान से सुना । उस पर इस बात का कोई असर नहीं पडा की एक उडती हुई । फिर एक रस्सी से टकरा गई और उसके दाहिनी तरफ जमीन पर गिर गई । जब मेरी ने अपने कर्मचारियों की समस्याओं का वर्णन किया तो वह पूरी गंभीरता से सुनता था । जब उसने अपनी कहानी खत्म की तो मेरी ने लाने की तरफ देखा तो मेरे डीलों के कचरा घर के बारे में आपके क्या विचार है? क्या कहानी है? मैं भी बहुत सी सडी हुई जगहों पर काम कर चुका हूँ । वास्तव में यह जगह भी पहले बहुत नीरज हुआ करती थी पर अब आप इस मार्केट में क्या लोगों करती हैं? शोर, एक्शन और ऊर्जा उसने बिना देश के कहा और इस ऊर्जा के बारे में आपके क्या विचार है? मुझे बहुत पसंद है । मुझे यह सब मुझे बहुत पसंद है । मेरी जैन ने कहा मुझे भी मैं तो अब बिगड चुका हूँ । मुझे नहीं लगता कि इस अनुभव के बाद मैं किसी साधारण मार्केट में काम कर सकता हूँ । जैसा मैंने पहले ही कहा है । यह मार्केट शुरू में ऐसा नहीं था । कई सालों तक यह भी दे लोगों का खतरा अगर हुआ करता था । फिर हमने चीजों को बदलना चालू किया और उसका नतीजा यह निकला क्या इस तरह की ऊर्जा आपके ऑफिस को बदल सकती है? बिल्कुल बदल रही ऐसे ही ऊर्जा तो हमें उस कचरा घर में चाहिए । उस ने मुस्कुराते हुए कहा मुझे यह बताने में खुशी होगी की यह फिश मार्केट बाकी फिर मार्केट से किस तरह अलग है । कौन जाने आपको इससे कुछ काम के विचार मिल गए परन्तु हमारे पास उछालने के लिए कुछ भी नहीं है । हमें तो बोरिंग काम करना पडता है । हम में से ज्यादातर लोग जरा रुकिए । यह सिर्फ फिर उछालने की बात नहीं है । यह सब है कि आपका बिजनेस लगे हैं और ऐसा लगता है कि आपके सामने बहुत बडी चुनौती है । मैं मदद करना चाहूंगा । हो सकता है कि आपको हमारी इसका आने से कुछ अच्छे विचार मिल जाएँ कि हमने किस तरह स्पेस मार्केट को विश्व प्रसिद्ध पाइप प्लेस फेस मार्केट बना दिया । क्या आपको यह नहीं सीखना चाहिए कि किस तरह किसी डिपार्टमेंट में जान फूंकी जाती है और माहौल को खुशनुमा मनाया जाता है? हाँ बिल्कुल परन्तु आप मेरे लिए यह क्यों कहेंगे? इस छोटे ऑफिस, मार्केट समुदाय का हिस्सा होने के नाते और आपने यहाँ जो लोगों किया है उसने मेरी जिंदगी को पूरी तरह बदल दिया है । मैं आपको अपने व्यक्तिगत कहानी सुनाकर बोर नहीं करूंगा । पर यह सब है कि जब मैं यहाँ आया था तो मेरी जिंदगी पूरी तरह चौपट थी । यहाँ काम करने से मेरी जिंदगी बच गई है । यह तर्क लचर लगेगा । परंतु मुझे लगता है कि मुझे इस खुशनुमा जिंदगी के प्रति अपनी कृतज्ञता दर्शाने के लिए दूसरों की मदद करनी चाहिए । आपने अपनी समस्या बताकर मेरे लिए रास्ता आसान कर दिया है । मुझे पूरा भरोसा है कि आपको यहाँ अपने सवालों के जवाब मिल सकते हैं । हमने यहाँ बहुत ऊर्जावान माहौल बना लिया है । जब ऊर्जा सब कह रहा था तो एक के क्राउड रहा था और कोई टेक्सास के अंदाज में बोल रहा था । पांॅच इन की तरफ मुड रहे हैं । इसके बाद सामूहिक घूम सुनाई दी । पांच के ग्राॅस इनकी तरफ उड रहे हैं । बिल्कुल ठीक बात है । उसने जोर से हंसते हुए जवाब दिया, अगर इस फीस मार्केट में कोई खास बात है तो वह ऊर्जा तो हमारा सोना पक्का हुआ । उसने अपनी घडी की तरफ देखा और यह महसूस किया कि उसे लंच के समय तक ऑफिस पहुंचने के लिए तेज तेज चलना होगा । उसे जरा भी संदेह नहीं था कि उसके आने और जाने के समय पर उसके स्टाफ की पूरी नजर होगी । लॉनी ने उसे घडी देखते हुए देख और उसने कहा रहे, आप कल अपने लंच की छुट्टी में क्यों नहीं आ जाती और कल दही के दो कप लाना मत भूलना । वहाँ थोडा और उसने तत्काल वाइकिंग जैकेट पहने हुए एक युवक की मदद करना शुरू कर दिया । जिससे काम पर रिवर साल्मन फिश और किंग आॅफ इसमें फर्क समझ में नहीं आ रहा था । दोबारा जाना मंगलवार को लंच टाइम में वह तेज कदमों से फिर उस मार्किट में पहुंच गई । लौने शायद उसी की राह देख रहा था । वहाँ तत्काल भेड में से निकला और उसे एक करीब के रेस्तरां में ले गया । हाल के आखिर में कुछ केवल है । उसने कहा और वे दोनों वहां पहुंच गई जहां से उन्हें मार्केट का पूरा नजारा दिख रहा था । लोनी और मैरिजेन नहीं । मेरी के लाइव ये नहीं कि कब खाए । मैरिजेन ने उसे फिश मार्केट के बारे में पूछा । जब धोनी उसे वहाँ के कामों के बारे में बता रहा था तो मेरे को यह ऐसा बहुत आकर्षक नहीं लगा । उसे यह नाजुक हुआ कि इतने बोरिंग काम को ये लोग इतने अच्छे तरीके से कैसे कर लेंगे । तो इसके बाद उसे पाइप प्लेस ऑफिस के कर्मचारियों का व्यवहार और भी मजेदार लगने लगा । लोनी ने उन बहुत से बोरिंग का मौका वर्णन किया जो उसे वहाँ हर रोज करने पडते थे या सुनने के बाद मेरी जैन ने कहा ऐसा लगता है कि आपके और मेरे काम में बहुत सी बातें एक जैसी है । लोनी ने उसकी तरफ देखा वाकई हाँ, हमारा स्टाफ जो काम करता है, उसमें से ज्यादातर काम नीरज और एक सरीखा होता है । फिर भी वह कम महत्वपूर्ण होता है । हमारे पास कोई ग्राहक नहीं आता परन्तु अगर हम कोई गलती कर दें तो ग्राहक नाराज हो सकता है और हमारी बहुत आलोचना होगी । अगर हम कोई काम अच्छी तरह से कर देते हैं तो कोई उस तरफ ध्यान नहीं देता । आम तौर पर हमारा काम बोरिंग होता है । आपका काम भी बोरिंग है और आप उसे रोचक तरीके से करते हैं । मुझे यह बात पसंद आई । क्या आपने कभी यह सोचा है कि किसी आदमी के लिए कोई भी काम बोरिंग हो सकता है? कुछ फिर मार्केट वाले तो बिजनेस के लिए सारी दुनिया का चक्कर लगाते हैं । मुझे यह बहुत रोमांचक लगता है । परंतु उन लोगों का यह कहना है कि यह बहुत जल्दी पुराना पड जाता है । मेरा मानना है कि कोई भी काम नीरस हो सकता है । मैं आपकी बातों से पूरी तरह सहमत हूँ । जब मैं किशोरावस्था में थी तो मुझे एक ऐसा काम मिला था जिसके सपने बहुत सी किस ओरियन देखा करती थी । मुझे मॉडलिंग का एक कॉन्ट्रैक्ट मिला था परंतु पहले महीने में ही मुझे इतनी बोरियत हो गई कि मैं फूट फूटकर रोने लगी । ऐसा लगता था जैसे सब लोग चारों तरफ खडे हुए इंतजार कर रहे हो । समाचार पढने वालों को ही देखी । मैंने यह जान लिया है कि उनमें से कई तो दूसरे लोगों के लिखे हुए समाचारों को ही पढते रहते हैं और इसके अलावा कुछ नहीं करते तो यह भी बोरिंग लगता है । कम से कम मुझे तो ऐसा ही लगता है । ओके अगर हमें इस बात पर सहमत हैं कि कोई भी काम हो सकता है तो क्या हम इस बात पर भी सहमत हो सकते हैं कि कोई भी काम ऊर्जा और उत्साह के साथ किया जा सकता है? मुझे पूरा भरोसा नहीं है । क्या आप मुझे कोई उदाहरण दे सकते हैं? यह तो आसान है । मार्केट का एक चक्कर लगाइए और ऑफिस के दूसरे दुकानों को देखिए । महासंघ रहता था, आया होगा वे लोग जैसा आपने कहा था, ढेलों का खतरा अगर है वे लोग जिस तरह से काम करते हैं, वहाँ हमारे बिजनेस के लिए बहुत अच्छा है । मैंने आपको यह बता ही दिया है कि फॅमिली पहले उन्हें जैसे मेरा हुआ करती थी । फिर हमने एक अद्भुत बात खोजी । हालांकि काम के बारे में विकल्प नहीं होता, परंतु आप किस तरह से काम करते हैं, इस बारे में विकल्प हमेशा होता है । ये है हमारा सबसे बडा सबका है, जो हमने विश्व प्रसिद्ध फाइनलिस्ट फिश मार्केट बनाते समय सीखा । हम अपने काम को किस नजरिए और रवैये से करेंगे, यह है । हम सुन सकते हैं । अपना रवैया सुनी । मेरी जेल ने नोट पैड निकाला और उस पर लिखा, हालांकि काम के बारे में विकल्प नहीं होता, परंतु आप किस तरह से काम करते हैं, इस बारे में विकल्प हमेशा होता है । फिर उसने अपने लिखे हुए शब्दों के बारे में होता और पूछा, काम के बारे में हमारे पास विकल्प क्यों नहीं होता? आप ने बहुत अच्छी बात पूछी है । आप अपनी नौकरी छोड सकते हैं और इस तरह से आपके पास काम के बारे में विकल्प होता है । परंतु अगर आपके पास जिम्मेदारियाँ है या और भी इसी तरह की बातें हैं तो शायद ऐसा करना समझदारी नहीं होगी । विकल्प से मेरा यही मतलब था । दूसरी तरफ आपके पास काम के तरीके के बारे में हमेशा विकल्प होता है । लोनी ने कहना जारी रखा, मैं आपको अपने दादी के बारे में बताता हूँ । वे अपने काम को बडे प्यार से और खुशी से करती थी । हम सभी नाती पोतों को किचन में उनकी मदद करना अच्छा लगता था क्योंकि दादी के साथ बर्तन धोने में भी मजा आता था । इस प्रक्रिया में किचन का बहुत सारा काम निपट जाता था । हम बच्चों को सचमुच बहुमूल्य चीज मिलती थी । एक प्रेम करने वाला हो सकता है । अब मैं समझ सकता हूँ कि मेरी दादी को बर्तन धोने से प्रेम नहीं था । वे प्रेम के रवैये को बर्तन धोने तक लाई थी और उनकी यह होना संक्रामक थी । इसी तरह मेरे दोस्तों ने और मैंने यह पाया कि जब भी हम फिश मार्केट आते हैं, हम एक रवैये के साथ आते हैं । हमें खराब रवैया लेकर अपने दिन को पूरा बना सकते हैं । हम एक अडियल रवैये के साथ आकर अपने साथ ही और ग्राहकों को परेशान कर सकते हैं या हम एक अच्छा, मजेदार, खुशनुमा रवैया ला सकते हैं और एक बेहतरीन दिन को जा सकते हैं । हम किस तरह का दिन गुजारना चाहते हैं, इसका चुनाव हम ही करते हैं । हमने इस चुनाव या विकल्प के बारे में काफी बातें की और यह महसूस किया कि जब तक हम काम करेंगे, तब तक हमें यही कोशिश करनी चाहिए कि हमारा दिन अच्छे से कैसे गुजरे । क्या आपको ये बातें समझ में आ रही है? बिल्कुल वास्तव में हम अपने विकल्पों को लेकर इतने रोमांचित हो गई कि हमने विश्व प्रसिद्ध होने का विकल्प चुना । साधारण तरीके से गुजारने से बेहतर और ज्यादा मजेदार था विश्वप्रसिद्ध होकर दिन गुजारना । आप समझ रही है नहीं मैं क्या कहना चाहता हूँ । फिश मार्केट में काम करना ठंडा गीला, बदबूदार चिक चिक का कठिन होता है । परंतु जब हम यहाँ काम करते हैं तो हमें इसके बारे में एक रवैया भी लेकर आते हैं । हाँ, मुझे लगता है कि मैं समझ रही हूँ । आपने उस रवि ये को चुना, जिसके साथ आप हर रोज काम पर आते हैं । यह विकल्प आपके काम करने के तरीके को तय करता है । जब तक आप यहाँ है, तब तक साधारण के बजाय की उन्हें विश्वप्रसिद्ध बनने का विकल्प चुना जाएगा । यह बहुत आसान नजर आता है । समझने में तो ये है आसान है, पर करने में बहुत कठिन है । हमने रातोंरात इस जगह को ऐसा नहीं बनाया है । इसमें लगभग एक साल लग गया । खुद को बदलने में मुझे बहुत समय लग गया आप यह कह सकती हैं कि पहले मेरे कंधों पर समस्याओं का ढेर सारा बोझ लगा हुआ था । मेरे निजी जिन्दगी भी पूरी तरह बेकाबू थी । मैंने इस बारे में दरअसल कभी सोचा ही नहीं था और बस ये है अनुमान लगा लिया था की जिंदगी इसी तरह से चलती है । जिंदगी कठोर थी और मैं भी ऐसा ही बन गया । मैं भी कठोर बन गया । फिर जब हमने एक अलग तरह का फिश मार्केट बनाने का फैसला किया तो मैंने इस विचार का विरोध किया कि मैं यह विकल्प सुन सकता हूँ कि हर दिन में कैसे जी होगा । मैंने अपना बहुत समय तो खुद को जिंदगी का शिकार साबित करने में ही गवाह दिया था । एक बुजुर्ग आदमी जो खुद भी कठोर समय झेल चुके थे, मुझे एक तरफ ले गए और उन्होंने मुझे इस तरह समझाया जिस तरह एक फिश बेचने वाला दूसरे फिर बेचने वाले को समझाता है । मैंने भी गम्भीरता से इस पर विचार किया और यह फैसला किया । मैं कोशिश करके देखूंगा तब से मुझे इस पर भरोसा हो गया है । कोई भी आदमी अपना रवैया सुन सकता है । मैं यह है जानता हूँ क्योंकि मैंने अपना रवैया खुद चुनाव है । मेरिजेन इन बातों से बहुत प्रभावित हुई और साथ ही उस आदमी से भी बहुत प्रभावित हुई जो यह बाते बोल रहा था । उसने नजरे उठाकर देखा कि लोनी उसकी तरफ अतिरिक्त गरीबी रेखा से देख रहा है । मेरी समझ गई कि वह दिन में सपने देख रही थी । सौरी मैं कोशिश करके देखती हूँ यहाँ पर आपके सफल होने के पीछे और कौन सी बातें महत्वपूर्ण है? चार बातें परन्तु यह सबसे महत्वपूर्ण है । अपने रवैये को चुने बिना बाकी बातें समय की बर्बादी है तो हम यहीं पर रुक जाते हैं और बाकी की तीन बातों को बाद के लिए रख लेते हैं । पहली बात तो आजमाकर देखिए कि आप तीसरी मंजिल पर क्या कर सकती हैं? मुझे फोन करके बता दीजिएगा कि आप बाकी बातों पर कब चर्चा करना चाहते हैं । क्या आपको मेरा फोन नंबर मालूम है? आपकी दुकान पर चारों तरफ आपका नंबर लिखा हुआ है? अरे हाँ, हम लोग बिल्कुल संकोच नहीं करते है ना फिर मिलते हैं वहाँ नहीं के लिए धन्यवाद बदलने का साहस मैरिजेन अगले दो दिन तक ऑफिस के काम की चक्की में पिसती रही या कम से कम उसका महाना तो यही था परन्तु बार बार उसे लोनी की बातें याद आ जाती थी और वह विचार भी आप अपने काम पर आते समय अपने रवैये को चुन सकते हैं । उसने यह है महसूस किया कि हालांकि वैसे फिश मार्केट की फिलोस्पी से सहमत ही फिर भी कोई चीज उसे आगे नहीं बढने दे रही है । उसने सोचा जब भी शंका हो ज्यादा आंकडे जुटा हूँ । ज्यादा जानकारी हासिल करूँ । शुक्रवार को उसने फैसला किया कि वह बिल से पूछेगी की उसके बोस नहीं । जिस सेमिनार में भाग लिया था, उसमें उत्साह और जो उसके बारे में क्या कहा गया था, उसके अनुभवों से सीखने में ज्यादा समझदारी नहीं । उस दोपहर को उसने बिल को फोन किया । बिल हमारे बोस ने उत्साह और जो उसके बारे में जिस सेमिनार में हिस्सा लिया था, उसके बारे में विस्तार से बताएं । क्यों? तो मैं उस की क्या जरूरत है? ये नए जमाने की बातें हैं । शायद उन्होंने अपना ज्यादातर समय हाथ तब मैं नहाने में बिताया होगा तो इन बातों में अपना समय क्यों बर्बाद करना चाहती हूँ? अब मेरी जिनको गुस्साने लगा था उसने गहरी सांस ली । देखो बिल जब मैंने यह जिम्मेदारी ली थी तो हम दोनों ही जानते थे कि हमें बहुत सारा काम करना है और चुनौतियां बहुत बढ चुकी है और हमारे पास समय बहुत कम है । आप भी इसमें उतने ही फंसे हुए हैं जितने की मैं । क्या आप मेरी मदद करेंगे? क्या आप मुझे परेशान करना चाहते हैं? मुझे यकीन ही नहीं हो रहा है कि मैंने यह सब कह दिया । उसने सोचा परन्तु यह है । कहने में बहुत मजा आया । बिल ने अच्छी तरह जवाब दिया । इस तरह बडने वाली शैली ने वास्तव में उसे ज्यादा आरामदेह और मिलनसार बना दिया । वो के इस तरह गुस्सा होने की क्या बात है? मेरे पास उससे ऍफ है जो मेरे डेस्क पर रखा हुआ है । मुझे उस को सुनना था परन्तु मुझे जरा भी समय नहीं मिला । तुम है टेप ले जाऊँ और मेरे बदले में सुन लो । ठीक है बिल मैं आकर टेप ले जाती हूँ । एक यादगार यात्रा बेलेव्यू की यात्रा में बहुत बम्पर आई, पर मेरी जेन का ध्यान उस पर गया ही नहीं । वह अपनी स्थिति के बारे में सोच रही थी । मैंने अपना आत्मविश्वास कब खो दिया था? उसने अपने आपसे हैरानी से पूछा । बिल से इस तरह की बात करना पहला बहादुरी का काम था जो उसने इतने लम्बे समय में पहली बार किया था । ठीक ठीक कहा जाए तो दो साल में यह तो बहुत सोचने वाली बात है । परेशान होकर उसने कैसे प्लेयर में बिल का टेप लगा दिया । कार स्टेडियो के स्पीकर से एक गहरी दोस्ती हुई । आवाज आने लगी जो जादुई और तुम क्या थी? एक में एक कवि की कविता की रिकॉर्डिंग थी जो अपनी कविता को अपने ऑफिस में ले जाता था क्योंकि उसका ये है मानना था की कविता की बात सा से हमें अपनी रोजमर्रा की समस्याओं का मुकाबला करने में मदद मिलती है । उसका नाम डेविड वाइट था । मैं कुछ देर बातें करता था और फिर अपनी एक कविता सुनाता था । उसकी कविता हूँ और कहानियों की लहरों ने मेरी जैन को सराबोर कर दिया । शब्द निकलकर उसके चारों तरफ खुद नहीं लगी । संगठन की जरूरतें भी वही रहती है जो कर्मचारी के रूप में हमारी जरूरतें होती है । रचनात्मकता जो लचीलापन, लगन, पूरा मन लगना हाँ उसने सोचा हम गर्मियों में कार को ऑफिस के सामने पार्क करते समय अपनी खिडकियों को थोडा सा खुला इसलिए नहीं रखते क्योंकि हम गर्मी से अंदर के सामान को बचाना चाहते हैं बल्कि हमें ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि हमारा केवल साठ प्रतिशत हिस्सा ही ऑफिस में जाता है और बाकी का चालीस प्रतिशत हिस्सा कार के अंदर ही रह जाता है और उसी से को सांस लेने के लिए जगह चाहिए होती है । कितना अच्छा हूँ अगर हम अपने सौ प्रतिशत हिस्से के साथ अपने ऑफिस में जाएंगे । यह आदमी कौन है? तभी बिना चेतावनी के डेविड वाइट ने अपनी कविता फेस सुनाना चालू कर दिया और वह भाव फेल हो गया । कवि ने अपने स्रोताओं के सामने यह कहते हुए इसका परिचय दिया कि उसने यह कविता ऐसे समय में सीखी थी, जब उसमें खुद बहुत कम आस्था थी या आत्मविश्वास था । आस्था डेवलॅप मैं आस्था के बारे में लिखना चाहता हूँ इस बारे में कि चंद्रमा किस तरह ठंडी बर्फ के ऊपर एक रात फिर दूसरी रात होता है, आस्थावान रहता है । हालांकि अपूर्णता से धीरे धीरे दूध का साल बनता है और रोज ने की छुट्टी बनता हुआ आज के कारण अंधेरे का रूप धर लेता है और मैं खुद आस्थावान नहीं । मैं इसे जरा भी अखिल नहीं होने देता हूँ । तो फिर मेरी यह नहीं कभी था । एक नए चांद की तरह दुबली और खुली मेरी पहली प्रार्थना बन जाए और मेरे लिए आस्था का द्वार खोल रही तो यही उसका आवत का मतलब है । स्टूडेंट तैयार हो तो टीचर मिल ही जाता है । इस कविता ने उसे अंतर्दृष्टि प्रदान की और मेरी जिनको आखिरकार बहुत ही समझ में आ गई जो उसे आगे नहीं बढने दे रही थी । डाॅन की अचानक मौत के बाद और अकेली मां होने के दबावों को झेलने के बाद उसकी खुद में आस्था खत्म हो गई थी कि वह इस दुनिया में अकेली जी पाएगी । वह जोखिम लेने से डरने लगी, उसे सफल होने का डर लगा रहता था क्योंकि इसके बाद उसका और उसके बच्चों का बाहर कौन उठाता? नौकरी में बदलाव जोखिम बना होता हुआ है, सफल हो सकती नहीं और उस की नौकरी छोड सकती थी । यह बहुत दूर की संभावना थी, पर फिर भी संभावना तो थी । फिर उसने सोचा कि नए बदलने के क्या क्या खतरे हो सकते हैं । अगर हम नहीं बदलते तो हो सकता है कि हम सब की नौकरियाँ चली जाएगी । यही नहीं, मैं ऐसी जगह पर काम नहीं करना चाहती जहाँ नए उत्साह हो । नहीं जो मैं जानती हूँ कि लंबे समय में मेरे लिए इसका परिणाम क्या निकलेगा । और यह तस्वीर कोई बहुत अच्छी नहीं है । अगर मैं ऐसा होने देती हूँ तो मैं कैसे माँ होंगी? मैं किस तरह की मिसाल कायम करूंगी । अगर मैं सोमवार को बदलाव की प्रक्रिया शुरू करती हूँ तो मेरा पहला कदम अपना रवैया बदलना होना चाहिए । मैं आस्था का विकल्प सुनती हूँ । मुझे यह भरोसा करना ही होगा कि चाहे कुछ भी हो, मैं सही सलामत र होंगी । मैं अकेले जिंदा रहे सकती हूँ । मैंने यह साबित कर दिया है । चाहे कुछ भी हो जाए, मैं सही सलामत होंगी । अब दिलों के खतरा अगर को साफ करने का वक्त आ चुका है, सिर्फ इसलिए नहीं क्योंकि यह बिजनेस के लिए अच्छा रहेगा । हालांकि मुझे विश्वास है कि यह बिजनेस के लिए बहुत अच्छा रहेगा और सिर्फ इसलिए नहीं क्योंकि मुझे समस्या को सुलझाने की चुनौती मिली है । ये है एक महत्वपूर्ण कारण है तो यह भी एक बाहरी कारण है । आगे बढने का सबसे बडा कारण भीतरी है । मुझे खुद में अपनी आस्था को एक बार फिर जगाना होगा और इस समस्या को सुलझाने से मुझे ऐसा करने में मदद मिलेगी । उसे टेप की कुछ लाइनें याद आई । मैं नहीं मानता कि कंपनियाँ जेल होती हैं । परंतु कई बार हम लोगों ने जेल बना लेते हैं क्योंकि हम वहाँ पर काम करने का ऐसा तरीका सुनते हैं जैसे हम कैदी हूँ । मैंने एक जेल बना ली है और इसकी दीवारें आत्मविश्वास की कमी से बनी हुई है । जेल का प्रतीक जाना पैसा लग रहा था । उसे पक्का यकीन था कि उसने इसे किसी सेमिनार में सुना था । जैसे कि वह जो लाकर पहुंची उसने अपनी कार पार्क की अपनी डायरी निकाली और लिखा, जिंदगी इतनी कीमती है कि ढेलों के खतरा घर में जरा सा भी समय बर्बाद नहीं किया जाना चाहिए । जबकि मैं हर रोज अपने बहुत से घंटे यहाँ बर्बाद कर रही हूँ । मैं इस तरह से नहीं देना चाहती हूँ और मुझे विश्वास है कि अगर मेरे साथियों को विकल्प का ज्ञान हो जाएगी तो वे भी एसा ही सोचने लगेंगे । मेरे डिपार्टमेंट की यह संस् करती बहुत लंबे समय से चली आ रही है । इस संस्कृति को बदलने के लिए मुझे कई निजी जोखिम लेने होंगे और वह भी बिना सफलता की गारंटी यह है एक मतदान हो सकता है । हाल की घटनाओं ने मेरे आत्मविश्वास को डिगा दिया था और जोखिम लेने से मेरा आत्मविश्वास बढ सकता है । सच्ची बात तो यही है कि कुछ करने का जोखिम उतना बडा नहीं होता जितना बडा होता है । कुछ नहीं करने का जोखिम मेरी फाइलों में कहीं पर एक संदेश लगा हुआ है जो इस समय मेरी मदद कर सकता है । मुझे वह सन्देश ढूंढना होगा क्योंकि यह है समय मुझे मदद की सख्त जरूरत है । इसके साथ ही वह कार से बाहर निकली और अपनी बेटी को लेने चल गई । मम्मी आपकी आंखे तो मिली है क्या हो रही थी क्या कुछ गडबड? एनमी हाँ बेटा मैं हो रही थी परंतु यह है अच्छा वाला होना था तो हमारा दिन कैसा गुजरा? मैंने अपने परिवार की तस्वीरें बनाई है क्या? तुम देखोगी क्यों नहीं? उसने देखा कि उसकी लडकी ने चार लोगों की तस्वीरें बनाई थी । यह क्या उसके मुंह से निकला आस्था का एक और ऍम अपना सामान ले आओ बेटा, अब हम ब्रेड को लेने चलते हैं । रविवार दोपहर रविवार की दोपहर मम्मी का खाली समय होता था । मेरी जैन ने हर रविवार को कम से कम दो घंटे के लिए एक आया का इंतजाम कर लिया था । इस तरह मैं खुद को एक छोटा सा पुरस्कार दिया करती थी । एक ऐसा पर उसका जिससे वह तरो ताजा हो जाती थी और वह अपनी नौकरी । मैं अपने परिवार की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हो जाती थी । वही इस समय में प्रेरणा, नई पुस्तकें या लेख पडती थी या कोई अच्छा उपन्यास या फिर वहाँ बाइक चलाती थी या केवल को फिर भी खराब काम करती थी । सीएटल मेको फिश ओक्स की कमी नहीं नहीं और उसके घर के पास ही एक बढिया को ही आवस्था । उसने कुछ किताबें उठाई और बाहर चलते हैं । दुकान के एक अंतरिम कोने में उसके मनपसंद टेबल उसका इंतजार कर रही थी । कौनसी दीजिएगा वह कॉफी की कब के साथ बैठ गई और उसने कुछ प्रेरणा दायक सामग्री पडने का फैसला किया । उसने सारा बैंड रखने की सिंपल ऍम की । आपने जर्जर प्रति निकली इस पुस्तक में साल के हर दिन के लिए एक विचार था । उसने आठ फरवरी का पन्ना खोला । पेज पर लिखे विश्वव उसकी आंखों के सामने कूद पडे । हम में से ज्यादातर लोग उलझन में पड जाते हैं जब हम खुद को कलाकार के रूप में लेते हैं परन्तु हम में से हर कोई ये कलाकार है हर विकल्प के साथ हर दिन आप कला की एक अद्भुत कृति का सर्जन करते हैं । कोई ऐसी चीज जो केवल आप ही कर सकते हैं? आप इसलिए पैदा हुए हैं क्योंकि आपको दुनिया में अपनी अमिट छाप छोड नहीं है । यह है आप की प्रमाणिकता है, वास्तविकता है अपनी रचनात्मक इच्छाओं का सम्मान करिए, आस्था के कदम बनाई । आप ये है जान जाएंगे कि आपके विकल्प भी उतने ही परमाणिक है जितने की आप । इससे भी बडी बात यह है कि आप यह जान जाएंगे कि आपकी जिंदगी का कुल मिलाकर यही मतलब है । कल तक ज्ञाता का एक सुखद गीत उसने अपने काम के बारे में थोडा सोचने की योजना बनाई थी और विकल्प तथा आस्था के बारे में लिखे गए शब् एक बार फिर उसे फिश मार्केट मिलने गई । वे लोग कलाकार हैं । उसने सोचा और वे हर दिन अपनी कला का विकल्प चुनते हैं और फिर उसके मन में एक आश्चर्यजनक विचार आया । मैं भी तो कलाकार बन सकती हूँ । इसके बाद उसने लीडर सिर्फ के सेमिनार की फाइल उठाई, जिसमें उस ने हिस्सा लिया था । यहीं पर उसने पहली बार नौकरी की तुलना जेलखाने से होते सुनी थी । फाइल में जोन गार्डन के लिखे भाषण की फोटो काफी थी । उसे याद आया कि गार्डनर लोगों को प्रोत्साहित किया करते थे कि वे उनके पास लोगों की फोटो काफी बढा करें । कितना उदार व्यक्ति था, उसने सोचा उसकी बात में कुछ न कुछ तो नाम है । अभी तो इतने समय बाद भी मुझे उस की याद आ रही है । उसने भाषण को बताया, एक एक तेज जान गार्डनर की लेखनी यह है उदाहरण इस तरह शुरू हुआ । यह एक पहली है कि कुछ आदमी और थे, क्यों मुर्दा हो जाते हैं, जबकि बाकी लोग अपनी जिंदगी के आखिरी दिनों तक जोशीले रहते हैं । मुर्दा होना शायद ये हैं । स्पष्ट हुआ क्या है? इसके बजाय मुझे यह कहना चाहिए कि कई लोग जिंदगी के बीच रास्ते में ही सीखना और आगे बढना बंद कर देते हैं । मेरी जो ने यह सोचते हुए ऊपर की तरफ देखा, यह है । मेरे स्टाफ के बारे में सही है और यह मेरे अतीत के बारे में भी सही है । वह हैं मेरे अतीत । क्या उसके प्रयोग पर मुस्कुराई? वह एक बार फिर उदाहरण पडने नहीं । कारणों को खोजते समय हमें उदार होना चाहिए । शायद जिंदगी में उनके सामने इतनी कठिन समस्याएं आई होंगी जिनका समाधान उनके पास नहीं रहा होगा । शायद किसी चीज थे, उनके आत्मसम्मान या हाथों विश्वास को ठेस लगी हूँ या हो सकता है वे इतने लम्बे समय तक भागते रहे हो कि वे यह भी भूल गए हो कि वे किस चीज के लिए भाग रहे हैं । मैं उन लोगों के बारे में बात कर रहा हूँ, जो चाहे कितने भी व्यस्त नजर आती हूँ और उन्होंने सीखना और आगे बढना बंद कर दिया है । मैं इसकी आलोचना नहीं करता हूँ । जिंदगी बहुत कठोर होती है । कई बार तो जिन्दा रहना भी हिम्मत का काम होता है । हमें इस तथ्य का सामना करना पडेगा कि ज्यादातर लोगों की नौकरी इतनी वासी होती है कि वो खुद भी यह नहीं जानते । इतनी बोरिंग होती है कि वे बता ही नहीं सकते । एक प्रसिद्ध फ्रांसीसी लेखक ने कहा है, ऐसे भी लोग होते हैं जिनकी गढिया जिंदगी के किसी मोड पर रुक जाती हैं । मैंने बहुत से लोगों को इसी तरह जिंदगी गुजारते देखा है । जैसा योगी बेरा का कहना था, आप अगर ध्यान से देखें तो आप बहुत सी चीजें समझ सकते हैं । मेरा मानना है कि ज्यादातर लोग जिंदगी में हर वक्त सीखना और आगे बढना पसंद करते हैं । अगर हम यह जान जाएंगे कि मुर्दा होने में कितना बडा जोखिम है तो हम इस से बचने के उपाय खोज सकते हैं । अगर आप की घडी की चाबी खत्म हो गई हो तो आप इसमें तुम्हारा चाभी भर सकते हैं । मैं आप के बारे में ऐसा कुछ जानता हूँ तो शायद आप अपने खुद के बारे में नहीं जानते हैं आपके बेहतर ऊर्जा और जो उसके इतने बडे स्रोत चुके हैं जिनका आपने अभी तक दोहन नहीं किया है । आप में इतनी खूबियां है जिनका इस्तेमाल आपने अब तक नहीं किया है । आप में इतनी ताकत है जिसे अब तक आपने नहीं परख है और आप में देने के लिए इतना ज्यादा है जितना आपने अब तक नहीं दिया है । कोई ताज्जुब नहीं की मुझे जानकारी अगर अब तक याद हैं मुझे बहुत सी गाडियों में चाभी भर रहा है । परन्तु मुझे जिस घडी में सबसे पहले चाभी भरना है वह है मेरी खुद की जिंदगी की घडी है । उसने सोचा अगले घंटे में मेरी जैन ने अपनी डायरी लिखी और वह यह जानकर खुश हुई कि वह अब शाम हो चुकी थी । जब मैं घर लौटने के लिए तैयार हुई तो उसने अपने लिखे हुए शब्दों पर नजर डाली और उस वहाँ पर गोला लगाया तो सोमवार की सुबह उसका मार्गदर्शन करने वाला था । दे लोगों के खतरे घर की समस्या को सुलझाने के लिए मुझे हर क्षेत्र में अपने स्टाफ का लीडर बनना होगा । मुझे ऐसा पलता का खतरा भी उठाना पडेगा । कोई भी बंदरगाह सुरक्षित नहीं होगा परन्तु कोई भी कदम नए उठाने का मतलब है निश्चित रूप से सफल होना । इसलिए मुझे शुरू तो करना ही होगा । मेरा पहला कदम होगा अपना रवैया बदलना । मैं विश्वास खास था और लगन का विकल्प सुनती हूँ । जब मैं फिश मार्केट की शिक्षा का इस्तेमाल अपने डीलों के खतरे घर में करूंगी तब मैं अपनी घडी में साबित होंगी और सीखने तथा आगे बढने के लिए तैयार रहूंगी । सोमवार सुबह सुबह साढे पांच बजे उसे थोडा सा अपराधबोध हुआ । जब है अपनी बेटी के जुला घर का दरवाजा खुलने का इंतजार कर रही थी । ऐसे गिने चुने दिनों में ब्रेड भी जो लागर में रुक जाता था तब तक की उसकी स्कूल बस नहीं आ जाती थी । उसने अपने उन बच्चों को देखा और कहा मैं तुम लोगों को इतनी जल्दी बिस्तर से नहीं उठाती मत हो पर आज मुझे ऑफिस पहुँच करेगा । बहुत चुनौतीपूर्ण काम करना है । ब्रेड ने अपनी आंखे मलिंग और कहा कोई बात नहीं । फिर स्टेफी ने भी कहा रेल यहाँ सबसे पहले पहुँचना तो अच्छी बात है । हमें अपने मन पसंद, वीडियो गेम झाडते का मौका सबसे पहले मिलेगा । जब दरवाजे खुले तो मेरी जैन ने उन्हें बेहतर दाखिल करवाया और उन्हें गले लगाया । जब उसने पीछे मुडकर देखा तो वे व्यस्त दिख रहे थे । रास्ता आसान था और पांच पचपन तक वह अपने देश पर कॉफी के कब और पैर के साथ पहुंच चुकी थी । उसने अपना पैन निकाला और बडे अक्षरों में लिखा अपना रवैया सुनी । उपाय पहला एक मीटिंग बुलाऊं और दिल की बात कहे तो दूसरा एक ऐसा संदेश को जो जो अपना रवैया सुनने की बात को इस तरह से कहती है कि हर कोई आपकी बात समझ सके और मान ले के लिए तैयार हो । तीसरा लोगों को प्रेरित करूँ । चौथा आस्था और विश्वास रखो । अभी इस योजना का कठिन ऐसा सामने था । यहाँ पर मैं अपने स्टाफ से क्या कहने जा रही हूँ और उसने अपने विचार लिखने शुरू कर दिए । सोमवार की सुबह को स्टार दो शिफ्टों में मिलता था । एक ग्रुप फोन सुनता था जबकि दूसरा कॉन्फ्रेंस रूम में उसके साथ बैठा था और फिर ग्रुप बदल जाते थे । जैसे ही पहला ग्रुप इकट्ठा हुआ उसने परिवार की बातें और सोमवार की सुबह के बारे में आश्वस्त सिखाई सुनी ये अच्छे लोग हैं । उसने सोचा जब वे चुप हुए और उसकी बातें सुनने के लिए तैयार हुए तो उसके दिल की धडकनें बढ गई । अब मेरा काम शुरू होता है । मैरी जैन की मीटिंग आज हमें गंभीर मुद्दे पर बात करने जा रहे हैं । दो सप्ताह पहले हमारे वाइस प्रेजिडेंट एक कॉन्फ्रेंस में गई थी और वहाँ से वे इस यकीन के साथ लौटे की फस्ट गारंटी को अधिक ऊर्जावान और उत्साही होना चाहिए । वे यह मानते हैं की उत्पादकता, सफल नियुक्तियां, लम्बी नौकरियाँ, बेहतर ग्राहक सेवा और आज के बदलते माहौल में प्रतियोगी बने रहने के लिए जरूरी बहुत सी बातें तब संभव हो सकती है जब कर्मचारियों में ऊर्जा और उत्साह हो । उन्होंने लीडरशिप ग्रुप की बैठक बुलाई और उस बैठक में तीसरे मंजिल को उन्होंने ढेलों का खतरा अगर कहा यह सही है । उन्होंने यह कहा कि हमारी मंजिल दिलों का कचरा घर है और इसकी सफाई जरूरी है । मेरी जैन ने उनके आस रह सके चेहरों की तरफ देखा । तत्काल लंबे समय से नौकरी कर रहे एडम की तरफ से एक कमेंट आया, मैं चाहूंगा कि वे यहाँ पर काम करके देखें । यह दुनिया का सबसे बोरिंग काम है । फिर सबसे कम ऊर्जावान कर्मचारियों में से एक ने कहा, इससे क्या फर्क पडता है कि यहाँ पर ऊर्जा है या नहीं । हम काम तो करते हैं, नहीं किया । किसी ने भी इस बात पर आपत्ति नहीं कि कि उन्हें ढीला का आ गया । मेरी जैन ने कहना जारी रखा, मैं आप लोगों को बताना चाहती हूँ कि यह मामला ठंडा पडने वाला नहीं है । वाइस प्रेजिडेंट का उत्साह ठंडा पड सकता है और समय के साथ मिल भी इसे बोल सकता है । परन्तु मेरा उत्साह ठंडा नहीं पडने वाला । आप लोग जान लें कि मैं इस बात से पूरी तरह सहमत हूँ । हम लोग सचमुच देलों का खतरा घर है । कंपनी के दूसरे डिपार्टमेंट वाले हम से कोई सरोकार रखने से नफरत करते हैं । वे हमें गड्डा कहते हैं । वे लंच में हमारे बारे में मजाक करते हैं । वे हाल में हम पर हसते हैं और वे सही है । हम में से कई लोग यहाँ आने से नफरत करते हैं और हम भी से कटा कहते हैं । मेरा विचार है कि हम ऐसे बदल सकते हैं और हमें इसे बदलना चाहिए । मैं आपको यह बताना चाहती हूँ की क्यों अब हँसी रहते के चेहरों पर हवाइयां उड रही थी । पूरी तरह सन्नाटा छाया हुआ था । आप लोग मेरी कहानी जानते हैं किस तरह डैन और मैं इस शहर में अपनी आशा हूँ । अपने सपनों और अपने दो छोटे छोटे बच्चों के साथ आए किस तरह दैन की अचानक मौत के बाद मैं अकेली रह गई । किस तरह डायन की बीमारी की पोल इसे में कई बडे खर्चों का प्रावधान नहीं था । किस तरह मैं गंभीर आर्थिक कठिनाई में फंस गई परन्तु आज शायद यह नहीं जानते कि मुझ पर इसका क्या असर हुआ । आप में से कई लोग अकेली माँ है या अकेले पिता है और समझ सकते होंगे कि मैं क्या कहना चाह रही हूँ । मुझे इस नौकरी की जरूरत थी और मेरा आत्मविश्वास खत्म हो गया था । मैं बहाव के साथ बैठी रही और हर ऐसी चीज करने से बस्ती रही जिससे मेरी सुरक्षा को खतरा हो । मजेदार बात यह है कि अब मेरी सुरक्षा को सिर्फ इसलिए खतरा पैदा हो गया है क्योंकि मैं बहाव के साथ रह रही थी । लेकिन अब पुराने दिन खत्म हो चले हैं । अब मैं अस्पताल में हूँ । मुझे अब भी नौकरी की जरूरत है परन्तु मैं अपनी बाकी की नौकरी ऐसी जगह पर नहीं करना चाहती जिसे ढेलों का कचरा अगर कहा गया हूँ । डेन की शिक्षा मुझे अब तक याद है । जिंदगी इतनी कीमती है कि इसे रिटायरमेंट तक सिर्फ गुजारना फिजूलखर्ची है । हम नौकरी में इतना ज्यादा समय देते हैं कि हमें इसे बर्बाद करने से बचना चाहिए । मेरा विचार है कि हम अपने ऑफिस को एक बेहतर जगह बना सकते हैं । अब एक अच्छी खबर मैं कैसे सलाहकार को जानती हूँ जो एक विश्व प्रसिद्ध संगठन के लिए काम करता है और वह ऊर्जा तथा उत्साह का विशेषज्ञ हैं । आप लोग उनसे जल्दी मिलेंगे । आज मैं आप तक अपनी पहली सलाह पहुंचाना चाहती हूँ । हम अपना रवैया खुद चुनते हैं । मेरी जैन ने अपना रवैया सुनने की अवधारणा पर चर्चा जारी रखी । फिर उसने कहा कि क्या कोई इस बारे में सवाल पूछना चाहता है । स्टीव ने अपना हाथ उठाया । जब मेरी जैन ने सीधे लाया तो स्टीव ने कहा मान लो कि मैं अपनी कार में जा रहा हूँ और कोई देव को मुझे कट मार देता है । इससे मुझे गुस्सा आ जाता है और मैं वो बजाकर या इशारा करके अपना गुस्सा उतारता हूँ । आप समझ रही है नहीं की मैं क्या कहना चाहता हूँ । ये विकल्प क्या बना है? मैंने तो कुछ नहीं किया था । वो तो सामने वाले की गलती थी । मेरे पास कोई विकल्प था ही नहीं । मैं तुमसे बात पूछना चाहूँगा । अगर तुम मेरे बदमाश इलाके से गुजर रहे हो तो भी क्या तुम भी इसी तरह अपना गुस्सा उतार हो गया स्टीम मुस्कुराया, सवाल ही नहीं उठता । ऐसा करने से तो मुझे खतरा हो सकता है । इसका मतलब है बदमास इलाके में तो आपके पास प्रतिक्रिया देने के विकल्प होते हैं पर उपनगरों में आपके पास विकल्प नहीं होते । वो मेरी जैन में समझ गया । स्टिव तुमने बहुत बढिया सवाल पूछा है । हम यह तो तय नहीं कर सकते कि दूसरे लोग किस तरह गाडी चलाते हैं । परन्तु हम अपनी प्रतिक्रिया तो तय कर ही सकते हैं । यहाँ फस्ट गारंटी में हम अपना काम तो नहीं सुन सकते परन्तु हम उस काम को कैसे करें । ये है विकल्प तो हमारे पास होता ही है । मैं आप सभी से यह चाहती हूँ की आप इस बारे में सोचें और देखें कि हम किस तरह से ऐसी चीजों को पैसा नहीं जो हमें अपने विकल्पों की याद दिला सकें । आपको शुभकामनाएं । हमारी नौकरी इस बात पर टिकी हुई है । दूसरे स्टाफ मीटिंग भी पहली मीटिंग की तरह रही थी । जब किसी ने सवाल नहीं पूछा तो उसने स्टीव द्वारा पूछे गए सवाल का जिक्र किया । उस समय सुबह के साढे दस बज रहे थे । इन मीटिंगों से बहुत थक चुकी थी परंतु उसने ये है महसूस किया कि अपना रवैया सुनने का ये हैं । उसका पहला मौका था और उसने वह यह सुन लिया था । हफ्ता तेजी से गुजर गया । उसने इस बात का ध्यान रखा कि वह हर रोज ऑफिस में घूमती रहे ताकि अगर किसी को अपना रवैया सुनने के विचार के बारे में उसे कुछ पूछना हो, कुछ कहना हो तो वह उससे बात कर सके । जब उसने स्टीम को देखा तो स्टीम बोला, आपने तो मुझे स्टाफ मीटिंग में चारों खाने चित कर दिया । मुझे ऐसा है कि इससे तो में नेता नहीं देखना पडा होगा । मेरिजेन आपने तो मुझ पर एक एहसान किया है । मेरी जिंदगी कुछ समय से प्रतिक्रियाओं की एक श्रृंखला थी । आपने मुझे याद दिलाया कि मुझे महत्वपूर्ण विकल्प चुनने हैं और अगर मुझे थोडा सा आत्मनियंत्रण और साहस हो तो मैं यह है विकल्प चुन सकता हूँ । साहस यह आपसी संबंध बिगाडने की बात है जिसके बारे में मुझे कुछ न कुछ करना पडेगा । अब मैं देख सकता हूँ की प्रतिक्रिया करने और खुद को बलि का बकरा समझते रहने से समस्या नहीं सोलह सकती । समस्या का तो सामना करना पडेगा । मुझे खेद है कि मैं गोलमाल बातें कर रहा हूँ । पर मेरी समस्या बिल्कुल निजी समस्या है । गुडलक स्टिव और अपनी कहानी सुनाकर मुझे भरोसा दिखाने के लिए धन्यवाद ऐसी बात नहीं है । ऐसी बात नहीं है । हम सब को आप पर भरोसा है । मेरी जान बात सिर्फ इतने सी है की यह काम इतना बोरिंग है और हमें हर समय सिर्फ शिकायते हैं, सुनने को मिलती है । हमें ऐसा लगता है जैसे हम पर चारों तरफ से हमले हो रहे हैं । आप अपनी कोशिश जारी रखी है । मैं हमेशा आपके साथ हूँ । उसे सुखद आश्चर्य हुआ जब उसने उत्साह के कई सब सुने । हालांकि स्टाफ के सदस्यों को पूरी बात तो समझ में नहीं आई परन्तु ज्यादातर लोग बेहतर माहौल में काम करने के इच्छुक थे । फिर शुक्रवार को यह हो गया । वह तीसरी मंजिल पर लिप से बाहर निकली तो उसने सामने एक बडा पोस्टर देखा । सबसे ऊपर लिखा हुआ था अपना रवैया तो नहीं और बीच में ये शब्द लिखे थे । आज के मेनू के विकल्प उसके नीचे दो चित्र बने थे । एक चित्र मुस्कुराते हुए चेहरे का था और दूसरा चेहरा त्योरियां चढाए था । वह खुशी से पागल हो गई । अब ये लोग मेरा मतलब समझ गई है । उसने सोचा और वह अपने ऑफिस की तरफ तेज कदमों से बडी ताकि लोनी से फोन पर बात की जाए । उसे मेनू के बारे में बताने के बाद मेरी जैन ने आगे चर्चा करने का सुझाव दिया । लोनी ने अगले सोमवार को लंच पर मिलने की बात कही पर मेरी जैन ने कहा कि वह अगले हफ्ते तक इंतजार नहीं करना चाहती हूँ । थोडी देर बाद वे दोनों इस बात पर सहमत हो गई कि वह शनिवार को मार्केट आ गई और बच्चों को अपने साथ ले आई । शनिवार को फीस मार्केट में शनिवार को मार्केट में बहुत भीड होती थी । लोनी ने सुझाव दिया कि वह जल्दी आ जाएगी । मेरी जैन ने मुर्खतापूर्ण सवाल पूछा कि वह कितने जल्दी आ सकती है । धोनी ने कहा कि वह अपना काम सुबह पांच बजे शुरू करता है । वे आठ बजे मिलने पर राजी हो गई । ब्रेड और स्टेफी कार में उन से बैठे । पर जब वे सीएटल में फिश मार्केट के पार्किंग स्पोर्ट पर पहुंचे तो वे एक्शन के लिए पूरी तरह तैयार थे । उनके सवाल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहे थे । वे लोग फिश कहाँ से लाते हैं कि आप इस बहुत बडी होती है क्या वहाँ पर शार्क भी है? क्या वहाँ पर और बच्चे भी होंगे जब वे तीनो पाइप प्लेस पर मार्केट की तरफ बढ रहे थे तो मेरी जान वहाँ की शांति और सन्नाटे को देखकर चौंक गई । उसे फिर से जाने की जगह पर खडा लो नहीं दिखाई दिया वह है । इस बात से प्रभावित हुई की स्टैंड बहुत अच्छी तरह जमा हुआ था । फिश और समुद्री आहार बर्फ में बैठे हैं और उन पर लेबल लगे हुए थे जिन पर उनका नाम, कीमत और विशेष गुण लिखे हुए थे । एक बार खाली था जिसमें केवल बर्फ थी गुड मोर्निंग । लानी ने अपने जानी पैसा नहीं उसको रात के साथ कहा, और ये दो मुझे मेरे को नहीं मेरी जेल नहीं, अपने बच्चों का परिचय करवाया । लोनी ने उनका स्वागत किया और कहा की यह काम में जुट जाने का समय है । जब मेरी जैन ने अपने पर से अपना नोटपैड निकाला तो लोनी ने उसे रोक दिया और कहा इस तरह के काम में जुटने का वक्त अभी नहीं है । मुझे तो लग रहा था कि आप तीनो काम में मेरा हाथ बंटाएंगे क्यों नहीं । मैंने कहा मुझे आप के साइज के जूते तो नहीं मिले परंतु मैंने आप लोगों के लिए तीन ऍम जरूर भूलिये हैं । यह लीजिए इन्हें पहन ले लीजिए और ऑफिस पैक करना शुरू करते हैं । ऐसी थोडी हैरान लगी । मेरी जैन ने उसे झट से चिपका लिया । लोनी ब्रेड को स्टोर के पिछवाडे ले गया, जहां फिश रखी हुई थी । लोनी और ब्रेड फॅमिली को धक्का मारकर लाते हुए दिखेंगे । सच कहा जाए तो लोनी ट्रोली को धक्का मार रहा था । ब्रेड तो हैंडल पर लटका हुआ था और उसके पैर जमीन को छू भर रहे थे । खेल खेल में मम्मी देखो कितनी सारी फिश है । दस लाख तो होगी नहीं । चलो नहीं, मैंने भी मदद की । मैंने भी । लोनी ने उसे एक बडी मुस्कान दी, परंतु है व्यस्त होने का अभिनय करता रहा । हमें इस चीज को पैक करना है ताकि मार्केट खुल सकें । दोस्तों तो तुम मेरी मदद करोगे । ब्रेड को खूब मजा आ रहा था । वह लोनी को एक एक ट्यून उठा कर देता था और लोनी उसे बर्फ में जमा देता था । क्यों ना ब्रेड कितनी बडी थी और मेरी जैनको । अफसोस हुआ कि वह कैमरा नहीं लाई थी । जिस तरह धोनी ने ब्रेड के साथ काम किया, वह जादुई था । हर बार कुछ मिंटो में लानी ब्रेड को छोड देता था । इस तरह अभिनय करता था, जैसे फिर उसने उसे काट लिया हो । या ऐसा कुछ जैसे ब्रेड हस देता था । जब उस लाइन में केवल दो ट्यूना की जगह बच्ची तो लोनी ने ब्रेड को यह काम सौंप दिया । परंतु उठाने में उसकी कुछ मदद जरूर कि अगर ब्रेड को उस समय ऐसा एक्शन हीरो सुनने को कहा जाता है । उसने लोनी को ही चुनाव होता । अब समय आ गया है कि तुम्हारी मम्मी अपने काम में जुट जाएंगे । आप अपनी नोटबुक निकाल सकती हैं । मेरिजेन और ब्रेड आपको ऊर्जावान लगेगा । दूसरा तो बता सकता है ब्रैंड और नहीं तो क्या? हमने अपने रवैये को सुनने के साथ जो दूसरा तो सुना है तो वह है बच्चा बच्चा जानता है जब हम बडे हो जाते हैं और ज्यादा समझता हो जाते हैं तो हमें इसके महत्व को भूल जाते हैं । ब्रेड अपनी मम्मी को बताओ कि तुम ने इस दौरान क्या क्या ब्रेड ने ट्यूना से परे देखा जिसने उसे काउंटर के किनारे से चिपकाए रखा था और कहा खेल खेल में मेरी जैन ने अपनी डायरी खोली और उसमें लिखा खेल खेल में उसके दिमाग में मार्केट का पहले दिन का नजारा घूमने लगा । वह एक खेल के मैदान में थी । जहाँ जैसा बच्चे छुट्टी के समय खेल रहे थे, मछली उस साल ना एक दूसरे से और ग्राहकों से मजाक करना, वोटर को जोर से बताना और को मिलकर दोहराना वहाँ जगह जादुई बन गई थी । इसे गलत मत समझना । उन्होंने ने कहा, यह एक असली बिजनस है जिसका लक्ष्य होता है मुनाफा कमाना । इस बिजनेस में बहुत सी तनख्वाह देना पडती है और हम इस बिजनेस को गंभीरता से लेते हैं परन्तु हमने यह पाया कि हम बिजनेस के बारे में गंभीर रहते हुए भी बिजनेस करते समय उसका मजा ले सकते हैं । जरूरी नहीं है कि हम हमेशा वोट सीकर और बनकर बैठे रहे हैं । हम चीजों को खुला भी तो छोड सकते हैं । हमारे कई ग्राहकों को इसमें मजा आता है जैसे व्यसक बच्चे खेल रहे हो परंतु सम्माननीय तरीके से खेल रहे हूँ और इसके बहुत से फायदे हैं । हम ढेर सारी फीस बेच लेते हैं । हम बहुत पैसा कमा लेते हैं । हमें ऐसे काम में मजा लेते हैं जो बहुत धक्का देने वाला हो सकता है । हम अच्छे दोस्त बन जाते हैं जैसे जीतने वाली टीम के खिलाडी हम जो कर रहे हैं और जिस तरीके से कर रहे हैं उसमें हमें घरों का अनुभव होता है और हम विश्व प्रसिद्ध बन गई है और ये है सब हमने हुए है । करके क्या है जो ब्रेड बिना सोचे विचारे करता है । हम जानते हैं कि खेल किस तरह खेला जाता है । ब्रेड ने कहा, मम्मी, आप अपने स्टाफ को लोनी के पास क्यों नहीं आती ताकि वे भी खेलना सीख जाएगा । उन का दिन यादगार बनाई । अचानक अचानक किसी ने मेरी जैनको बगल से आवाज दी । अरे रिपोर्टर महिला फिर खरीद नहीं है क्या? लोनी का एक साथ ही वहाँ आया और उसके हाथ में फिश का बडा सा सिर्फ था । मैं आपको यहाँ बहुत सस्ते में दे दूंगा । हालांकि उसके कुछ हिस्से गायब हैं और उसकी कीमत सही है । उससे ऑफिस के मुझे को मुस्कुराहट का आकार दिया और कहा मैं इसे मुस्कुराती हुई कोई कहता हूँ । सिर्फ एक सिक्के का सवाल है और उसने मेरी जैन की तरफ शरारत भरी मुस्कान देखेंगे । लोनी भी हंस रहा था और ब्रेड उसे लेना चाहता था । स्टैसी मम्मी के पैरों के पीछे छुट रही थी मेरी जिनमें एक सिक्का निकाला और उस आदमी को दे दिया जिससे वह कहा जाता था । यह पूछने की जरूरत नहीं थी कि उसे बोल क्यों कहा जाता था । उसके बाल बेहतर तीन थे और उसकी आंखें हर तरफ ऐसे घूमती थी जैसे शिकार की तलाश कर रही हो । यह है । बेडिया पूरी तरह घरेलू बन गया था और यदि ऐसा होना संभव था तो वो उनका स्वभाव पूरी तरह दादा जी जैसा था । वह अपने मुस्कुराती हुई सूची को बैग में रख दिया और उसे ब्रेड को दे दिया जो खुशी से फूला नहीं समा रहा था । शर्मिली ऐसी में उस सुबह पहली बार अपनी आवाज निकली और कहा कि उसे भी एक चाहिए वो उसके लिए दो फिर और ले आया । अब उन सभी के पास एक एक मुस्कुराती हुई खुशी थी । लोनी ने कहा शुक्रिया बोल आपने हमें ये है बता दिया है कि ऊर्जावान, विश्वप्रसिद्ध मार्केट बनाने में तीसरा तो कौन सा होता है । कौन सा याद कीजिए पहली दो बार जब आप यहाँ पर आई थी मेरी जॉन आपके दिमाग में पहली चीज क्या आती है? मुझे सबसे पहले लाल बालों वाली एक युवती याद आती है जो बीस साल की उम्र की रही होगी । वह प्लेटफार्म पर थी और फिश पकडने की कोशिश कर रही थी । हालांकि चिकनी होने के कारण उससे दो बार फिर छूट गई थी । परंतु इसमें उसे मजा बहुत आ रहा था । आपको वही युवती सबसे पहले याद क्यों आई? वह है इतने जोशीली और जिंदादिल थी और भीड में हम सभी लोग उसकी भावनाओं को समझते थे । हम उस की जगह खुद को रखकर देख रहे थे और आपको क्या लगता है कि आज का दिन ब्रेड को क्यों याद रहेगा? इसलिए क्योंकि आज के दिन उसने बडो जैसा काम किया है । वाह! ठंडे । फिश लोकर में गया और उसने आपके साथ जमकर काम किया । हमें से उसका दिन यादगार बना । ये नाम देंगे । हमें ऐसे तरीके खोजते रहते हैं जिनसे हम सुखद यादे पैदा कर सकें । और हम जब भी किसी का दिन यादगार बनाते हैं तो हम उसके दिल में सुखद या दिन भर देते हैं । हम अपने काम को जिस तरह खेल खेल में करते हैं, उससे हमें अपने ग्राहकों को आकर्षित करने के नए नए रचनात्मक तरीके मिलते जाते हैं । ये है तो खास बात हैं आकर्षित करना । हम अपने ग्राहकों से दूर खडे होना पसंद नहीं करते बल्कि यह कोशिश करते हैं कि वे भी हमारे पास आकर मिलकर सम्मानजनक ढंग से खेल का आनंद लेंगे । सम्मानजनक ढंग से जब हम सफल होते हैं तो उन का दिन यादगार बन जाता है । मेरी जान ने एक बार फिर आपने डायरी खोलेगी और उसमें लिखा उनका यादगार तीन बनाई । उसके दिमाग में विचार आती गई वे ग्राहक को आकर्षित करते हैं और अपने साथ मिलकर खेलने का नियंता देते हैं । ग्राहक भी इस शो का हिस्सा बनना चाहता है और यहाँ की यादें बाद में उसके चेहरे पर मुस्कुराहट ले आती है और उस की कहानियां लंबे समय तक याद रखते हैं । दूसरों को जोडने और उन का दिन यादगार बनाने की कोशिश से ध्यान ग्राहक की तरफ रहता है । बहुत बढिया मनोविज्ञान है । दूसरे आदमी का दिन यादगार बनाने के तरीके ढूंढने पर अगर आपका ध्यान लगा है तो सकारात्मक भावनाएं तो आप में हमेशा मौजूद रहेंगी । हेलो कोई है लोनी, ब्रेड टोस्ट । ऐसी सभी उसे घोर रहे थे । सोरी मैं यह सोचने लगी थी कि यह कितना सशक्त तो है । काश की मैं उन का दिन यादगार बनाइए । तत्वों का इस्तेमाल फर्स्ट गारंटी में कर सकूँ । अब मार्केट खुलने वाला है । हम बच्चों को कुछ खिला पिला लाते हैं । हम अपनी बाकी की बातें वहीं पर करेंगे । मैं तो भूख लगी है क्या? हाँ पूरा ध्यान दो । सडक के बार काफी हाउस में टेबल मिल गई और उन्होंने काफी हॉट चॉक्लेट और स्वीट रोज का आर्डर दे दिया । मार्केट में लोग बहुत तेजी से आते जा रहे थे और लोनी ने उसका ध्यान उस तरह की की तरफ खींचा, जिस तरह से दुकान के कर्मचारी उन लोगों से व्यवहार करते रहे हैं । उसने मेरी जेब से कहा कि वह उनके व्यवहार को अच्छी तरह देखें, क्योंकि अगर बहुत सावधानी से देखेगी तो उसे अंतिम तक तो यहीं मिल जाएगा । उसकी आंखें एक कर्मचारी से दूसरे पर गई और वहां उनके मस खेलने वाले अंदाज और काम करने के मजाकिया तरीके से प्रभावित हुई । फिर उसने कर्मचारियों की तरफ ध्यान दिया । बेचो कसते उनकी आंखें अगली एक्शन का मौका तलाश रही थी । वास्तव में पिछले रात के एक बुरे अनुभव के कारण उसे जवाब ढूंढने में मदद मिली । उसे याद आया कि वह दो चिडचिडे बच्चों के साथ स्टोर गई थी । बच्चों को नींद आ रही थी । वहाँ बहुत देर तक काउंटर पर उसका लडका इंतजार करती रही थी, जो दूसरे अलग से बत्ती आ रहा था । बातें उसकी कार में होने वाले बदलावों से संबंधित थी । उसके बच्चे हो कर उसकी ड्रेस खींच रहे थे और बातें थी कि खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही थी । ऐसा यहाँ नहीं हो सकता । उस ने सोचा यहाँ पर कर्मचारी पूरा ध्यान दे रहे हैं । वे अपने काम में पूरी तरह कर लेना और चौकस हैं । मुझे हैरानी होती है कि क्या वे लोग दिवा सोपन भी देखती होंगी । उसने होने से पूछा कि क्या यही वह तो है जिसकी उसे तलाक थी? आपने ढूंढ लिया । मुझे आश्चर्य हो रहा है । उसने बच्चों जैसी शरारती मुस्कुराहट के साथ कहा, ढेलों के कचरा अगर को साफ करने का यही तरीका है । लोनी ने आगे कहना जारी रखा । मैं एक दुकान पर गया और मीट काउंटर पर अपनी बारी का इंतजार कर रहा था । स्टाफ खुशनुमा था और उनका समय अच्छी तरह से गुजर रहा था । समस्या यह थी कि वे आपस में मजे ले रहे थे और वे इस मजे में मुझे शामिल नहीं कर रहे थे । अगर उन्होंने अपने मौज मस्ती में मुझे भी शामिल किया होता तो यह मेरे लिए बहुत सुखद अनुभव होता । उनकी ज्यादातर बातें सही थी, परंतु सबसे खास बात पर उन्होंने ध्यान ही नहीं दिया था । वे मुझ पर ध्यान नहीं दे रहे थे । उन का पूरा ध्यान मुझ पर केंद्रित नहीं था । उनका ध्यान एक दूसरे की तरफ ही था । मेरी ने अपनी डायरी खोली और लिखा, पूरा ध्यान । दो । लोनी को देखकर लग रहा था कि वह खुद सामने बैठा था । फिर भी पिछले कुछ सालों से उसका ध्यान कहीं और था, वह है इसका कारण जान गई जब लोगों ने नहीं कहा मुझे काम पर लौटना है । हालांकि मेरे साथ ही एतराज नहीं करेंगे और मुझे अच्छा नहीं लग रहा है । हालांकि में जाने से पहले एक ओर सलाह देना चाहूँगा । मैं सुनने के लिए बेताब हूं । मैं यह नहीं बताना चाहता हूँ कि आप अपना काम किस तरह करेंगे । परंतु मुझे लगता है ज्यादा अच्छा यह रहेगा कि आपका साफ खुद फिर फिलोस्पी सीखे । मुझे नहीं लगता की सिर्फ इस फिल्म सिटी के बारे में बताने से आपका काम बन जाएगा । ब्रेड का यह सुझाव अच्छा था की आप अपने स्टाफ को यहाँ नहीं आई । आप और ब्रेड तो एक जैसा ही सोचते हैं । समस्या सुलझाने की आपाधापी में मैं यह भूली गई थी कि मेरे स्टाफ के लोगों को भी सीखने का मौका मिलना चाहिए और अपने अनुभवों से सीखना चाहिए । बहुत बहुत धन्यवाद । हर चीज के लिए आपने हमारा दिन सचमुच यादगार बना दिया । ब्रेड घर लौटते समय चुप होने का नाम ही नहीं ले रहा था । सुनने के सिवा मेरी जान के पास कोई चारा ही नहीं था । उसे पूरा ध्यान तो देना था । उसके दिमाग में एक फालतू का विचार आया हुआ है । मुस्कुराई और उसने इसे सोमवार के लिए रख लिया । उसने मुझे बताया और फिर मैंने खुद ही से खोल लिया । रविवार दोपहर रविवार की दोपहर को अपने निजी समय में मेरी जैन ने अपनी डायरी खोली और अपने विचारों को संक्षेप में सिलसिलेवार लिख लिया । अपना रवैया तो नहीं । मुझे लगता है कि हम लोग इस पर काम शुरू कर चुके हैं । स्टाफ के मन में जो महीनों का विचार आया था वह बहुत छानना था और प्रगति की पहली निशान नहीं थी । बिना अपने रवैये को चुने कुछ भी नहीं हो सकता था । मुझे इस तत्व के बारे में आपने जागरूकता को और भी ज्यादा बढाना चाहिए और इसे लोकप्रिय बनाना चाहिए । खेल खेल में फिश मार के व्यस्कों के खेल का मैदान है । अगर फिश बेचने वाले फिर बेचते समय इतनी मौज मस्ती कर सकते हैं तो हम फर्स्ट गारंटी वालों को निराशा नहीं होना चाहिए । उन का दिन यादगार बनाई गई ग्राहकों को भी खेलने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है । माहौल ऐसा रहता है कि ग्राहक भी साथ जुड जाएंगे । लाॅस के मेरे बॉस की तरह नहीं, जो मुझे ऐसे बात करता था जैसे मैं कोई टेपरिकॉर्डर थी । उन्होंने मुझसे कभी किसी रोचक विषय पर बात ही नहीं पूरा दिन हम लोग फीस बेचने वाले कर्मचारी पूरी तरह ग्राहकों पर ध्यान देते हैं, नहीं तो वे अपने ख्यालों में गुम रहते हैं । नए ही फोन पर व्यस्त रहते हैं । वे भीड पर नजर रखते हैं और ग्राहकों के साथ जुडने की भरपूर कोशिश करते हैं । वे लोग मुझसे इस तरह बात करते हैं जैसे उन्हें बरसों के बाद कोई दोस्त मिला हूँ । सोमवार सुबह जब वह लिफ्ट में घुसी तो उसने देखा के बिल बिल्कुल उसके पीछे था । उसने सोचा अब उसे उसके ऑफिस का चक्कर नहीं लगाना पडेगा । लिफ्ट में भीड थी इसलिए उन्होंने आपस में कोई बात नहीं परंतु जब मेरी जिनकी मंजिल पर दरवाजा खोला तो वह बिल की तरफ मोडी और उसने अपने बॉस को अपना बैक दे दिया । जिसमें से एक खास किस्म की बुआ रही थी । एक तोफा है बिल इसे मुस्कुराती हुई सूसी कहते हैं । अब दरवाजा बंद हुआ तो उसने बिल की आवाज सुनी मेरी जो उसे देश पर आए कुछ सेकंड ही हुए थे कि तभी उसके फोन की घंटी बजी । बडा अजीब तो था मेरी जान । बिल की आवाज में थोडी सी मुस्कुराहट साहब समझ में आ रही थी मेरी जिन ने उसे बताया कि उसने शनिवार को क्या क्या किया था । अपने काम में जुटी रहूँ मेरिजेन मुझे यह तो नहीं मालूम की फिश मार्केट का फर्स्ट गारंटी से क्या संबंध है परंतु अगर तुम मुझे मुझ कराने के लिए मजबूर कर देती हूँ तो तुम्हारी बातों में कुछ तो दम है । जब उसने फोन रखा तो वह समझ चुकी थी बिल के साथ उसके संबंध बदल गए हैं । बिल के साथ इस तरह के मजाक करने की हिम्मत उसके स्टाफ के ज्यादातर लोगों में नहीं थी । उसने सोचा हालांकि ये है अजीब सा लगता है परंतु मुझे विश्वास है कि उसे यह अच्छा लगा कि मैं उससे नहीं डरती हूँ । फिल्डिंग सोमवार की सुबह अपने स्टाफ की मीटिंग की । पहली पाली में वह सीधे मुद्दे की बात पर आ गई । मैं प्रभावित हुई हूँ और मेरा हौसला भी बडा है क्योंकि आप लोगों ने समझ लिया है कि अपना रवैया हर रोज सोना आपके लिए बहुत फायदेमंद है । आपने ये है याद रखने की कोशिश की आपने ये है याद रखने के लिए जो तरीके खोजे हैं वे भी बहुत अच्छे हैं । अपना रवैया चुने का मेनू एक अच्छा विचार था और इस बात की चर्चा पूरे ऑफिस में हो रही है । अपने बारे में अच्छी बातें सुनना अच्छा लगता है । अब अगला कदम उठाने की बारी है । मैं आप सब लोगों को एक जगह दिख लाना चाहती हूँ इसलिए हम लोग लंच टाइम में फिर ट्रिप पर चल रहे हैं । यह ग्रुप बुधवार को जाएगा और दूसरा ग्रुप गुरुवार को । लंच आपको वहीं करा दिया जाएगा इसलिए आप खाली हाथ चल सकते हैं । फिल्ड ऐसी जगह पर होगी जहाँ शायद आप में से कई लोग पहले जा चुके होंगी । हमें खास फिश मार्केट देखने जा रहे हैं । जहाँ हम जीवंत माहौल में ऊर्जा का दहन करेंगे, वहाँ पर कुछ लोग हैं जिन्होंने हमारी जैसी ही समस्या को सफलतापूर्वक सुलझा लिया है । हमारा काम यही देखना है कि क्या हम सफलता की उनके नुस्के समझ सकते हैं और उन्हें अपने काम में ला सकते हैं । मुझे दांतों के डॉक्टर के पास जाना है । मुझे उस दिन लंच में कोई और काम है । उसके चारों तरफ से आपत्तियां आने लगी । वह है राम रह गई जब उसने एक ढृढ आवाज सुनी जो उसकी खुद की थी । मैं चाहती हूँ कि आप सभी वहाँ पर रहें और इसे संभव बनाने के लिए अपने कार्यक्रम में फेरबदल कर लें । यह है महत्वपूर्ण, बहुत महत्वपूर्ण है बुधवार को पहला ग्रुप लोबी में मिला और मार्केट की तरफ चल पडा । मैं सबसे सिर्फ यही चाहती हूँ कि आप वहाँ का माहौल ध्यान से देखें । उसने मजा किया, अपने साथ नहीं रखना मत भूलना । उसने योगी बेरा कई उदाहरण भी सुनाया । सिर्फ देखने से ही आप बहुत सी चीजें समझ सकते हैं । उसने सोचा चलो काम शुरू तो हुआ । जब वे लोग वहाँ पहुंचे तो फिश मार्केट में काफी भीड थी । इसलिए उन सबको अलग अलग समूह में बैठना पडा । इस वजह से मेरी जान उनकी प्रतिक्रिया नहीं देख पा रही थी । परंतु उसके अपने स्टाफ के कुछ लोगों को वहाँ प्रशन मुद्रा में देखा । उसने जॉन और स्टीव तो फिर कर्मचारियों के साथ गोल मिलकर बातचीत करके देखा और ये है देखते हुए हैं उन के करीब पहुंच गई । जब आप लोगों पर पूरा ध्यान देते हैं तो आप सीधे उनकी तरफ देखते हैं जैसा आप अपने सबसे अच्छे दोस्त के सामने करते हैं । आपके चारों तरफ घटनाएं होती रहती है पर आपसे तो नहीं का ध्यान रखते हैं । लाल वालों वाले फिश कर्मचारी ने जो उनसे कहा जॉन और स्टीव के लिए यह अच्छा है । उसने सोता शुरुआत बढिया रही । गुरुवार को दूसरा ग्रुप ट्रिप पर गया और जाहीर है की उसे पहले ग्रुप से जानकारी मिल गई थी । किसी ने भी उसे कोई सवाल नहीं किया और ये है ग्रुप थोडा संजीदा रहा जब तक की कुछ खास नहीं हो गया । काफी लंबे समय से फर्स्ट गारंटी में काम कर रही हूँ । टेफनी से पूछा गया कि क्या वह काउंटर के पीछे जाकर फिर पकडना चाहेगी । हालांकि मैं ऑफिस में बहुत शर्मीले नजर आती थी और वह मान गई । उसकी पकड से दो बार फिर छूट गई जिससे भीड को मजा आया और उसके साथ काम करने वाले कर्मचारियों को तो और भी ज्यादा मजा आया । तीसरी कोशिश में उसने शानदार कैसे लिया जिसकी तालियां बजाकर सराहना की गई और लोगों ने सीटियां भी बजाई । वह सफलता के शिखर पर थी क्योंकि फीस कर्मचारियों उसका दिन यादगार बना दिया था । शुक्रवार दोपहर की मीटिंग शुक्रवार की दोपहर को वहाँ हर ग्रुप से अलग अलग मिली । क्या ऐसी जगह पर काम करना ज्यादा अच्छा नहीं होगा जहाँ हमें उतना ही मजा मिले जितना कि पाइप प्लेस फीस मार्केट के कर्मचारियों को मिल रहा था । उसने पूछा लोगों के दिमाग में उडती हुई जिसकी तस्वीर बनाई । कुछ लोगों ने सिर हिलाया और कई लोग मुस्कुराई । स्टेप्स लेने के चेहरे पर सबसे बडी मुस्कान दिख रही थी । फिर वे हकीकत की दुनिया में लौट आए । शुरूआती मुस्कराहटों के बाद विरोध के स्वर उभरे । हम लोग फिर नहीं बेचते हैं । मार्क ने कहा हमारे पास उस साल ने के लिए कुछ नहीं बेचने जोडा यह पूर्व से ही कर सकते हैं । मैंने कहा हमारा काम बोरियत बना है । किसी दूसरे ने कहा । एक मजाकिया आदमी ने कहा चलो हम लोग खरीदारी के वोटरों को हवा में उछालते हैं । आप लोग ठीक कह रहे हैं ये है कोई फिर मार्केट नहीं है । हम लोगों को काम बिल्कुल ना लगे हैं । मैं सिर्फ यह कहना चाहती हूँ की की क्या आप लोग अपने ऑफिस का माहौल वैसा बनाना चाहते हैं जहाँ पर उतनी ही ऊर्जा और आनंद हो जितना कि विश्व प्रसिद्ध फाइन प्लेस फिश मार्केट में था । एक ऐसी जगह है जहाँ आपके चेहरे पर मुस्कुराहट ज्यादा बार आई । एक ऐसी जगह है जहां आप के मन में अपने काम और अपने काम के तरीके के बारे में ज्यादा सकारात्मक भावनाएं हूँ । एक ऐसी जगह है जहां आप हर रोज मन से आना चाहिए । आपने कई तरीके से यह पहले ही दिखा दिया है कि हम अपना रवैया चुन सकते हैं । क्या आप किसी रास्ते पर आगे चलने में रूचि रखते हैं? स्टेट नहीं बोली, मैं यहाँ के लोगों को पसंद करती हूँ । लोग अच्छे हैं परन्तु मैं काम पर आने से नफरत करती हूँ । मुझे इस जगह पर सांस लेने में भी तकलीफ होती है । ये है ऑफिस किसी मुर्दाघर की तरह लगता है । इसलिए मैं यह स्वीकार करती हूँ कि मैं दूसरी नौकरी की तलाश कर रही हूँ । अगर हम किसी जगह में कुछ जान फूंक सकें तो यहाँ काम करने से मुझे ज्यादा संतुष्टि और निश्चित रूप से मैं यहीं काम करते रहना पसंद करूंगी । ऍम तुम्हारी ईमानदारी और साहस के लिए धन्यवाद । स्टीव ने जोडा । मैं चाहता हूँ कि यहाँ पर खुशी और मौज मस्ती का माहौल बन जाएगा । रैंडी ने अपना हाथ उठाया हर एंडिंग आपने उस दिन अपनी निजी जिंदगी के बारे में बातें की थी मेरिजेन मैंने किसी बोस को ऐसा कहते हुए पहले कभी नहीं सुना और इससे मैं सोचने पर मजबूर हो गया । मैं भी अपने पुत्र को अकेले पाल रहा हूँ और मुझे इस नौकरी की जरूरत है और इसके लाभों की भी मैं ज्यादा तो नहीं कहना चाहता हूँ परन्तु मुझे यह मानने में दुख होगा कि मैं कई बार अपनी कुंठा को दूसरे डिपार्टमेंट के लोगों पर निकाल देता हूँ । उनके यहाँ इतना अच्छा माहौल है जबकि मैं यहाँ पर इस मुर्दाघर में कहता हूँ, आपने मुझे यह एहसास दिलाने में मदद की की हम अपने बेजान हो गई । जैसे इस ऑफिस को मुर्दाघर बना रहे हैं तो अगर हम इसे मुर्दाघर बना सकते हैं तो हम इसे कुछ और भी बनाने का विकल्प सुन सकते हैं । यह सोचते ही मैं बहुत रोमांचित हो गया । अगर मुझे यहाँ पर ज्यादा मजा और खुशी मिलने लगे तो मुझे लगता है कि मेरी जिंदगी के बाकी पहलुओं पर भी उसका अच्छा असर होगा । धन्यबाद रैंडी वह मोडी और उसने दूसरी तरफ कर तक देता हूँ से देखते हुए कहा, मुझे कहीं सिर्फ खेलते हुए दिख रहे हैं और मैं जानती हूँ कि आपने जो कहा है वह सचमुच ही महत्वपूर्ण है । आपने अपने दिल से जो बातें कही उसने हम सब लोगों के दिलों को छुआ है । धन्यवाद । आपके सहयोग के लिए धन्यवाद । चलिए हम मिलकर काम करने की एक बेहतरीन जगह बनाई । एक ऐसी जगह है जहाँ काम करने में हम सबको मजा आएगा । सोमवार को हम लोग फिर फिलोसोफी को तीसरी मंजिल पर लागू करना शुरू करेंगे । तब तक मैं चाहती हूँ कि आप फिश मार्केट के अपने अनुभवों के बारे में सोचें और अपने सवालों या विचारों को लिखना नहीं । जब हम अगली बारी करते होंगे तो हम यह विचार कर सकते हैं की शुरुआत कहाँ से करना चाहिए । मार्केट में जो भी देखा उससे अपने विचारों को प्रेरित होने नहीं । मजाक की आदमी एक बार फिर बोला, अच्छा, अगर हम खरीददारी के वोटरों को हवा में नहीं उठा सकते हैं तो हम कम से कम अपने पुराने रवैये की धज्जियाँ उडाई सकते हैं । कमरे में हंसी फैल गई । यह कितना अच्छा माहौल है? उसने सोचा मेरी । जैन ने इसके बाद उन सभी को एक कागज दिया जिसमें मार्केट के बारे में संक्षिप्त रूपरेखा लिखी थी और उसने हर एक के पास जाकर उसे उसके बारे में व्यक्तिगत रूप से समझाया । उसने अपने स्टाफ को प्रोत्साहित किया कि वे शनिवार और रविवार को अपने खुद के विचारों को याद रखें और उन्हें लिख लें । जब दूसरी मीटिंग खत्म हो गई तो मेरी जैन अपने ऑफिस में चलेगी और थक कर अपने देश पर बैठ गई । मैंने उन्हें सप्ताह के अंत में सोचने के लिए कुछ दे दिया है परन्तु क्या वेज होते होंगे? उसे बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि उसके आधा दर्जन कर्मचारी शनिवार और रविवार को एक बार फिर उस मार्केट में जाएंगे और उनमें से कई तो अपने परिवार या दोस्तों के साथ जाएंगे । फिश मार्केट में वीकेंड तो टीचर ने आपको होमवर्क दिया है । फॅमिली ऊपर देखा और उसे एक दो चीजे देखी । हवा में उडती हुई फिश और लोनी का मुस्कुराता चेहरा हाई । मुझे लगता है आप ये कहना चाहते हैं कि मेरी बोस ने मुझे वो वर्क दिया है मेरी जो उनसे यह उम्मीद नहीं थी । नहीं आपको कैसे पता उसकी आवाज फीस बेचने वाले एक कर्मचारी की आवाज तले दब गई । तीन फॅमिली पेरिस की तरफ कर्मचारी फ्रांसीसी लेवॅल कर रहा था । लोनी ने फिर भी उसकी बात सुन ले फॅसा कोई हैरानी की बात नहीं की । ये लोग ग्राहकों पर अपना पूरा ध्यान देते हैं । उन्हें ध्यान देना ही पडेगा अगर उन्हें इतनी सारी आवाजों के बीच किसीकी आवाज सुनना है । मैंने आपको इसी हफ्ते मेरी जान के समूह के साथ देखा था । यहाँ तक मुझे याद है आप नहीं लिए हुए पहले महिला होंगी जिसने फीस पकडी भी । सत मुझे मैं आप की क्या मदद कर सकता हूँ । आप कुछ परेशान दिख रही है । उसने अपने नोट्स की तरफ देखा । मुझे लगता है मैं पूरा ध्यान दो वाले बिंदु को समझता हूँ जिसका मतलब है ठीक उसी तरह से ध्यान देना जिस तरह से आप मुझ पर ध्यान दे रहे हैं और जब मैं फिर पकड रही थी । अरे मैं भूल ही नहीं सकती कि आपने किस तरह मेरा दिन यादगार बना दिया । खेल खेल में काम करना मेरे लिए झगडा साल होगा । मुझे हंसी मजाक अच्छा लगता है परंतु अपना रवैया सुनिये अभी मुझे पहले से लगता है मेरा मतलब है क्या आपका रवैया इस बात पर निर्भर नहीं करता हूँ की आप के साथ क्या सलूक किया जा रहा है और आपके साथ क्या हो रहा है । मैं जानता हूँ आप को इस बारे में किस आदमी से बात करनी चाहिए । वहाँ से वो प्रोफेशनल रेस कार ड्राइवर का करियर शुरू करने वाला था कि तभी उसका एक्सीडेंट हो गया । बेहतर होगा कि वह भी आपको अपनी कहानी सुनाई, हमें लो कर में चलना पडेगा । आपको वहाँ ज्यादा सर्दी तो नहीं गई । क्या हम भी अंदर जा सकते हैं? स्टेफनी ने अपने बाई तरफ देखा और वहाँ उसे स्टीव रैंडी और एक प्यारा सा बच्चा दिखाई दिया । परिचय के बाद वे सब अंदर जाकर वो आपसे बात करने लगे जिसने उन्हें बताया कि जिन दिनों गए एक्सीडेंट के बाद ठीक हो रहा था तभी उसने हर दिन अपना रवैया सुनना सीखा । उसके सबतों का उन तीनों पर बहुत गहरा असर हुआ और उन्होंने सोमवार की मीटिंग में अपने साथियों को उसकी कहानी सुनाने का फैसला किया । इसके बाद स्टीव को कहीं और जाना था परंतु स्टाॅक रेड्डी और ठंडी का पुत्तर सडक के पार वाले काफी हाउस के बडों ने काफी जबकि रेड्डी के पुत्र ने बडा सा चोकलेट ठीक मफिन खाया । स्टेफिन मैंने कहा आपने ढिलों का कसरेकर साफ हो जाए तो कितना अच्छा हुआ । इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि अगली नौकरी का माहौल इससे अलग होगा और जरा इस बारे में तो सोचो । कितने मोस्ट मेरी जैन की तरह होंगे । मैं उनका सचमुत सम्मान करती हूँ । उन्होंने कितने कष्ट झेले हैं जरा इस बारे में सोचो? मैंने तो ये है भी सुना है कि वे बिल वाले से भी नहीं डरती । बाकी सभी डिपार्टमेंटों के मैनेजर तो उस खुशक आदमी से बहुत करते हैं । मेरा मतलब है कि मेरी जैन में कुछ बात तो है नहीं । क्या रंडी ऍम तुमने मेरे मुंह की बात छीन ली । अगर ये है कम फीस बेचने वाले लोग कर सकते हैं तो मेरी जान जैसी बोस होने पर हम लोग तो आसमान को जमीन पर ला सकते हैं । ये है आसान नहीं होगा । हमारे कुछ साथी उसी तरह डरे हुए होंगी जैसा की मैं कभी डरा हुआ था । उनके मन में शंका होगी क्योंकि वे डरे हुए हैं । शायद हमारे सकारात्मक उदाहरण से उन्हें मदद मिले । मैं तो बस यही जानता हूँ की चीजें तब तक नहीं सुधरेंगे जब तक हम उन्हें सुधारने का फैसला नहीं करते और मैं चाहता हूँ की चीजे बेहतर हूँ । फॅमिली अपनी कार की तरफ जा रही थी तब उसने बेटी और उसके पति को देखा । उसने हाथ लाया और तभी उसे भीड में अपने ऑफिस के तीनो लोग नजर आई । बहुत बढिया उसने सोचा योजना बनती है । सोमवार की सुबह की मीटिंग के लिए जब पहला ग्रुप इकट्ठा हुआ तो कमरे में बहुत आवाजें आ रही थी । मेरी जैन ने यह कहकर बैठक शुरू की हम यहाँ पर डीलों के कचरा घर को साफ करने के लिए इकट्ठे हुए हैं । आज हम यह देखेंगे कि क्या आप नहीं मार्केट से कोई ओर सबका सीखा है और इसके बाद हम अपने अगले कदमों पर विचार करेंगे । क्या दो दिनों की छुट्टी में किसी ने ऐसी कोई बात सीखी है जो हमारे काम आ सकती है, स्टेट नहीं और रैंडी कूद पडे और बारी बारी से उन्होंने फुल के साथ हुई चर्चा को दोहराया । स्टेफिनी ने शुरू किया वो पहले तो थोडा डरावना लगा पर जल्द ही वहन नॉर्मल लगने लगा । मेरा मतलब है कि उसकी आवाज गुर्राहट की तरह लगती है । बहरहाल उसने हमें अपने जीवन की कहानी सुनाई कि किस तरह एक एक्सीडेंट के कारण उसका प्रोफेशनल रेस कार ड्राइवर बनने का करियर चौपट हो गया । उसने कहा कि वह कुछ समय तक तो आतंकी और करुणा में डूबा रहा । फिर जब उसकी प्रेमिका ने उसे छोड दिया और उसके दोस्तों ने उसे देखने आना छोड दिया तब उसे यह एहसास हुआ कि उसे एक मूलभूत फैसला करना होगा । उसके पास दो विकल्प थे । वह जीवन जीने का और पूरी तरह से जिले का विकल्प चुन सकता था या फिर वह अपने जीवन को दुर्भाग्य की दास्तान समझकर बर्बाद कर सकता था । तब से वह हर दिन यही विकल्प चलता है कि वह पूरी तरह से जाइएगा । रेड्डी ने कहा, मेरा पुत्र तो वहाँ से बडा प्रभावित हुआ । उनकी बातें सुनकर मुझे अपने तीसरी मंजिल का माहौल याद आ गया । हमें भी यह शक्ति है कि हम जिस तरह का विकल्प नहीं, हम उसी तरह की जगह बना सकते हैं । अगर हम उनका सबका सीख लेते हैं तो हम तीसरी मंजिल के माहौल को बहुत बढिया बना सकते हैं । हमें हर रोज अपना रवैया सुना होगा और अच्छी तरह से चुनना होगा । स्टीव ने भी इस बारे में अपने विचार व्यक्त किए । नहीं आवाज स्टीव धन्यवाद रहनी नाॅट नहीं । ऐसा लगता है कि आप लोग इन छुट्टियों में काफी व्यस्त रहे हैं और ओवर टाइम ने मांगने के लिए भी धन्यवाद । जब हसी का हमारा हम गया तो मेरी जैन ने पूछा । और कोई कुछ कहना चाहता है जिससे मैं इन बिंदुओं को समझने में मदद मिले । फॅस मिनट बाद मेरी जेल ने चर्चा खत्म करने का फैसला किया । आगे करने के बारे में आपका क्या विचार है? क्यों नहीं हम लोग इन चार तत्वों की चार टीमें बना लें । एक नए कर्मचारी ने कहा, इस पर कई लोगों ने सिर हिलाकर सहमती दी । ठीक है मेरी । जैन ने कहा, पहले मुझे यह पक्का कर लेने दो कि दूसरा समूह यह करना चाहता है क्योंकि आप लोग ये काम करें । आपको जो तो पसंद हो आप उस की टीम में अपना नाम लिखकर हस्ताक्षर कर दें । इस तरह चारों तत्वों की टीम में जब तैयार हो जाएंगे तो मैं आपको कल अंतिम सूची देख होंगी । क्या कोई और मुद्दा बचा है? मीटिंग के अंत में उसने एक कागज बढाया जिसमें उसने अपने स्टाफ के चारों तत्वों में से अपनी पसंद की टीम में नाम लिखने को कहा । दूसरे ग्रुप को टीमों का विचार पसंद आया और उन्होंने राहत की सांस ली की उनके पास कोई तैयार कार्ययोजना थी । टीमें काम पर जुट जाती है । खेल खेल में टीम के सदस्य कुछ ज्यादा हो रहे थे इसलिए मेरी जिनको थोडा सौदेबाजी करना पडी । मेरे पास पाइप प्लेस फिश मार्केट की असली टीशर्ट है जो मैं उन तीन लोगों को दूंगी जो खेल खेलने वाली टीम छोडकर अपना रवैया सुने या पूरा ध्यान दे वाली टीम में जाएंगे । एक बार व्यक्ति में संतुलित हो गई तो उसने सम अन्य दिशा निर्देशों और अपेक्षाओं का मैं मूवी तैयार कर लिया । एम की रिपोर्ट छह हफ्ते भी गुजर गई । आज सब की प्रस्तुतियों का दिन था । मेरी जैन ने बिल से पूछा क्या दूसरे विभागों के लोग उस सुबह उनके डिपार्टमेंट की जरूरी काम संभाल लेंगे ताकि उनका पूरा विभाग मीटिंग कर सके । बिल ने यह टैंकरों से आश्चर्यचकित कर दिया । वह यह इंतजाम तो कर ही देगा साथ ही मदद के लिए मैं खुद भी मौजूद रहेगा । उसने कहा, मैं यह तो नहीं जानता हूँ कि आप क्या कर रहे हैं परंतु मैंने तीसरे मंजिल के काम के माहौल में जो उसका नया तेवर देखा है, काम पर लगी रहूँ और अगर कुछ और मदद चाहिए हो तो मुझे बता देना । वह थोडी नर्वस थी । हर टीम ने उसे कम से कम एक बार में लेकर मीटिंग की थी और उसने बिना नियंत्रण अपने हाथ में लिए उनका हौसला बढाया था । हालांकि उन लोगों ने उससे पडने की सामग्री मांगी थी और पिछले दो हफ्तों में कान्फ्रेंस रूम के प्रयोग की इजाजत भी मांगी थी । परंतु किसी भी टीम ने उससे इससे ज्यादा मदद नहीं मांगी थी । उसे सच में यह नहीं पता था कि उस दिन जो चार प्रस्तुतियां होने वाली थी उन में किया था और आज वह दिन था जब उसे सभी टीमों की रिपोर्ट मिलने वाली थी । सुबह नौ बजे जब बिल और दूसरे कर्मचारियों ने आकर उसके ऑफिस का काम संभाल लिया हो गए हैं और उसका स्टाफ अलेक्सीस होटल की तरफ चला गया । बिल ने कहा शुभकामनाएं । वे एलेक्सिस होटल पहुंचे और उन्हें मार्केट उनकी तरफ ले जाया गया । बिल्कुल ठीक उसने सोचा । उसने तय किया कि अपना रवैया सुनने वाली टीम की प्रस्तुति सबसे आखिर में होना चाहिए । उस ने हर टीम को यह बता दिया था । मैं चाहती हूँ कि सभी तत्वों में जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है, वह सबसे आखिर में आना चाहिए । जब मीटिंग रूम में घुसी तो वह बहुत हो गयी । कमरा रंग तरंग और उमंग से सराबोर था । हर कुछ से में गुब्बारे बंदे थे और रंग बिरंगे फूलों से सजा । कमरा बहुत सुन्दर लग रहा था । उसने सोचा उन्होंने चुनौती का बहुत अच्छी तरह सामना किया है । उनकी घडियों की चाबी फिर से भर गई है । सबसे बडा आश्चर्य तो कमरे के पीछे की तरफ अपनी मछुआरे की पोशाक में बैठा था । लोनी । जब प्रसूतियां शुरू हुई तो मेरी जिन लोगों के पास जाकर बैठ गई, खेल खेल में टीम प्लेटिंग प्ले टीम के एक सदस्य नहीं, लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा और पूरे स्टाफ से आगे आने को कहा । प्ले टीम की प्रवक्ता बेटी ने कहा, हमारे रिपोर्ट खेल के रूप में है, जिसे हम सब लोग खेलेंगे । पले टीम ने एक गेम बनाया था, जिसमें रंगीन कागजों के गोले बनाकर उन्हें खर्च पर जमाया गया था ताकि संगीत चलते समय आप एक गोले से दूसरे गोले पर पैर रख सकें । हर गोले पर उनकी रिपोर्ट का एक मुख्य बिंदु लिखा हुआ था । जब संगीत बंद हो जाता था तो किसी खास गोले पर खडे व्यक्ति से वहाँ लिखे वाक्य को पढने के लिए कहा जाता था । यह एक तरह की एक वो थी दो तरह के विचार समूह थे । पहले में लाभों की सूची थी और दूसरे में अमल में लाई जाने वाले विचार थे । बहुत खूब मेरी जो होता था खेल के फायदे पहला खुश लोग दूसरों के साथ अच्छी तरह से पेश आते हैं । दूसरा मोज मस्ती से रचनात्मकता बढती है । तीसरा समय जल्दी गुजरता है तो था । समय अच्छी तरह गुजरने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है । पांचवां काम खुद अपना पुरस्कार बन जाता है । नए कि पुरस्कारों को पाने की राह बनता है । तीसरी मंजिल पर खेल खेल में विचार को अमल में लाना । पहला कुछ पोस्टर लगाए जाएंगे जैसे यह खेल का मैदान है । यहाँ बडे बच्चे खेल रहे हैं । दूसरा अपने बुलेटिन बोर्ड पर हर महीने इस माह का छुट कला प्रतियोगिता शुरू करें । तीसरा माहौल को अधिक रोचक और रंगीन बनाई चौथा फोटो और मछली द्वारा माहौल में जान खून की जाएगी । पांचवां खास तरह के आयोजन हूँ जैसे लंच टाइम कमेडियन, छठा छोटी छोटी बत्तियां हो जो तब जलाई जाएगी जब आपको कुछ हल्का हो ना हो । या जब आपके दिमाग में कोई बढिया विचार आई । सातवां रचनात्मकता की शिक्षा दी जाएगी । आठ । हाँ, एक रचनात्मक क्षेत्र बनाया जाएगा, जिसे सेंड बॉक्स का नाम दिया जाएगा । नौवाँ विचार लगातार आते रहे, इसके लिए एक कमेटी बनाई जाएगी । अगले टीम उन का दिन यादगार बनाई थी, हुई थी, हाल में जाएगी और जब तक हम तैयारी करें, तब तक आप लोग कॉफी का आनंद लीजिए । ये है उनका पहला निर्देश था । जब सब को कमरे में बुलाया गया तो पूरा स्टाप छोटे छोटे समूह में बंट गया और हर समूह के साथ उन का दिन यादगार बनाइए । टीम का एक सदस्य था । स्टेफनी ने योजना समझाई । मैं चाहती हूँ कि हर समूह पंद्रह मिनट में रणनीतियों की एक सूची बनाई जिसमें हमारे आंतरिक इलाकों की आवश्यकता हूँ और अपेक्षाओं का पूरा ध्यान रखा गया हूँ । परंतु पहले में कुछ दाता दिखाना चाहूंगी । ये आंकडे उस ग्राहक सर्वेक्षण के परिणाम है जो हमने करवाया एक गहरी सांस खींचें । आप जो देखने जा रहे हैं वह आपको अच्छा नहीं लगेगा । एक स्लाइड सामने आई । कमरे में सन्नाटा खींच गया । लोगों के मुँह से निकलने की आवाज साफ सुनाई दे रही थी । राहत सर्वेक्षण के परिणाम पहला ग्राहक का हमारे पास आने से घबराते हैं । वे हमें नींद में चलने वाला कहते हैं क्योंकि हम उन्हें ढीले लगते हैं । हम जिस पहचान तरीके से उनके साथ पेश आते हैं, उससे तो बेहतर उन्हें यह है लगेगा कि हम उनके साथ अच्छी तरह से लडें । दूसरा, हम जो काम करते हैं, मैं पर्याप्त है । परंतु बहुत कम बार ही ऐसा होता है कि हम बाहर ही की रात की सेवा के लिए अपनी मदद का प्रस्ताव रखते हैं । हम अपना काम करते हैं, बस और इससे ज्यादा कुछ नहीं । तीसरा, हम अपने ग्राहकों के साथ ऐसा बर्ताव करते हैं, मानो वे हमारे काम में बाधा डाल रहे हूँ । चौथा, हम उनकी समस्या सुलझाने में कतई रूचि नहीं लेते और उन्हें एक आदमी से दूसरे आदमी की तरफ डालते रहते हैं । ऐसा लगता है जैसे हम जिम्मेदारियों से बचने की कोशिश कर रहे हैं । पांचवां, हमारे ग्राहक हमारे व्यवहार के बारे में मजाक करते हैं, जो उन्हें चार बजे के बाद दिखता है । वे हस्ते हैं की साढे चार बजे के बाद लिफ्ट में भगदड मच सकती है । छठा हमारे ग्राहक कंपनी के प्रति हमारी निष्ठा पर भी संदेह करते हैं । सातवां हमारे बारे में यह कहा जाता है कि हम पतन की अंतिम अवस्था में है । आठवां यह चर्चा भी आम हैं की हमारे डिपार्टमेंट के स्थान पर अब किसी बाहरी कॉन्ट्रैक्टर की सेवाएं ली जानी चाहिए । स्टेट नहीं कहा । पहले तो हमारी टीम को इन परिणामों से धक्का लगा, फिर हमें गुस्सा आया । धीरे धीरे हमें यह ऐसा हुआ कि यह ग्राहकों का नजरिया है । हम चाहे कोई भी सफाई दें या किसी भी तरह से अपने तर्क रखें, हम अपने आंतरिक ग्राहकों की भावनाओं को नहीं बदल सकते । जैसा वे देखेंगे, वैसा ही तो सोचेंगे । सवाल यह है कि इस बारे में हम क्या करते हैं? टीम का दूसरा सदस्य उतने जोशीले अंदाज में बोलने लगा । मैं नहीं समझता कि हमें यह अंदाजा है कि फस्ट गारंटी के बिजनेस के लिए हमारी भूमिका कितनी महत्वपूर्ण है । कई लोग हम पर आस लगाई रहते हैं और जब हम अपने हाथ खींच लेते हैं तो उनकी भावनाओं का हमें अंदाजा ही नहीं होता । यह है उनकी समस्या नहीं है कि हमें और भी बहुत सी जिम्मेदारियां निभानी पडती है या हमें कम तनख्वाह मिलती है । वे सिर्फ उन ग्राहकों की सेवा करने की कोशिश कर रहे हैं जिनकी बदौलत हमें तनख्वाह मिलती है और उन लोगों की ले गांव में हम अच्छी सेवा देने में रोडे अटकाते हैं । फिर कितने ने कहा, हमें आपके विचार चाहिए क्योंकि हमें विचारों की बहुत ज्यादा जरूरत है । करपिया इस अधकचरा को साफ करने में हमारी मदद की ताकि हम अपने ग्राहकों का दिन यादगार बना सकें । हर समूह के पास पैंतालीस मिनट का समय है जिसमें वो जितने विचार इकट्ठे कर सकें, कर ले कर क्या बैठ चाहिए और अब सोचना चालू कर नहीं । हमारी टीम का सदस्य आपके विचारों को लिखने के लिए तैयार है । कुछ देर तक शांति छाई रही । फिर सभी समूह समस्या पर विचार करने लगे और पहले प्रस्तुति के बाद मिली ऊर्जा का उपयोग करने लगे । समय खत्म होने पर सिर्फ मैंने घोषणा की । अब हम कुछ देर का विश्राम करते हैं ताकि लिखने वाले अपने नोट्स को सिलसिलेवार जमाले दस मिनट वाल स्ट्रीट मैंने एक बार फिर स्टाफ को बुलाया । अब हम परिणामों पर नजर डालते हैं और पुरस्कार मिलता है तो थी टेबल के समूह को चौथी टेबल के आगे उन का दिन यादगार बनाइए कि बटन का पुरस्कार लेने के लिए आए छोटे छोटे बटन बाकी सभी को बांटे गए । इसके बाद उन सभी के विचारों की संक्षेपिका पर ध्यान दिया गया । उन का दिन यादगार बनाइए के फायदे पहला यह है बिजनेस के लिए अच्छा है । दूसरा, अपने ग्राहकों की अच्छी सेवा करने से हमें संतोष मिलता है, क्योंकि दूसरों की मदद करने से संतुष्टि होती है । इसमें हमारा ध्यान अपनी भावनाओं से दूर रखता है और हम दूसरों के प्रति सकारात्मक सोच बनाकर उनकी सहायता कर सकते हैं । ये है अच्छा है । इससे हमें अच्छा लगता है और अधिक ऊर्जा मिलती है । उन का दिन यादगार बनाइए । को लागू करना । पहला अपने काम के घंटे बनाई जा सकते हैं, ताकि हम सुबह सात बजे से शाम के छह बजे तक मदद के लिए मौजूद रहे हैं । यह है हमारे ग्राहकों के लिए फायदेमंद रहेगा । दूसरा, हम कुछ अध्ययन समूह भी बना सकते हैं, ताकि हम अपने ग्राहकों की सेवा करने के नए तरीके खोज सके । क्या हम विशेष ग्राहक समूह पर ध्यान केंद्रित करते हुए अध्ययन समूह बना सकते हैं? तीसरा, अपने ग्राहकों की अनुशंषा के आधार पर सेवा के लिए और ग्राहकों का दिन यादगार बनाने के लिए कर्मचारियों को मासिक और वार्षिक पुरस्कार दिए जा सके । चौथा फीडबैक की संपूर्ण प्रक्रिया को लागू करना होगा जिसमें हमारे ग्राहक भी शामिल हूँ । पांचवां एक्सॅन फोर्स गठित करना होगा जो हमारे ग्राहकों को हासिल चकित करने और उन्हें आनंद देने के लिए समर्पित हो । छठा, अपने खास ग्राहकों को महीने में एक बार आने और खेलने के लिए आमंत्रित किया जाएगा । सातवां, इसके इस ऍम एयरलाइन्स में शुरू किए गए प्रोग्राम सत्य का क्षण को अपने यहां लागू करने के बारे में सोचा जाना चाहिए । हम अपने ग्राहकों के साथ हर सौदे को खूबसूरत मोड देने की कोशिश करेंगे । मैरिजेन मनी मन बहुत खुश हुई । अगर वे लोग इतना सब समझ गई है तो हम अपने डिपार्टमेंट का वो लिया ही बदल कर रख देगी । स्टेप नहीं का दोस्त आसमान छू रहा है और उसके समूह में भी उसी की तरह का उत्साह दिख रहा है । हम यह कर सकते हैं । मैं जानती हूँ की हम कर सकते हैं । उसने कनखियों से लोनी को देखा, जिसके चेहरे पर संतोष और प्रसन्नता के भाव थे । पूरा ध्यान दो टीम ने बिल्कुल अलग तरीके से अपनी प्रस्तुति दी, जिससे गति में सुखद परिवर्तन हुआ । पृष्ठभूमि में हल्का संगीत बज रहा था और उस टीम के एक सदस्य ने कहा, अपनी आंखे बंद कर लीजिए और एक मिनट के लिए विश्राम के लिए गहरी सांस लीजिए । मैं आपको कुछ ऐसी चीजें दिखाने वाला हूँ जिनसे हमें पूरा ध्यान देने में मदद मिलेगी । उसने इसके बाद कहा, अब सुनिये की हमारी टीम के सदस्य आपके सामने क्या विचार रखना चाहते हैं । विश्राम की अवस्था में ही बने रही । अपनी सांसों को एक जैसा रखने की कोशिश करिए और अपनी आंखे बंद रखी । इसके बाद कुछ प्रेरणा दायक पंक्तियां पडी गयी । अतिथि इतिहास बन चुका है । भविष्य है की एक पहली वर्तमान एक उपहार है तभी तो हम इसे प्रेजेंट कहते हैं । जो ने अपनी कहानी सुनाई, मैं बहुत व्यस्त जिंदगी जी रहा था । उसने दर्द भरी आवाज में कहा, मैं जैसे तैसे महीना गुजारने की कोशिश करता था । एक दिन मेरे बेटे ने मुझसे पार्क चलने के लिए कहा । मैंने उससे कहा कि विचार तो बढिया है पर मुझे उस समय बहुत से काम निपटाने थे । मैंने उससे कहा कि वह इंतजार करें ताकि मेरा काम खत्म हो जाएगा परन्तु मेरे पास हमें साम बहुत से जरूरी काम होते थे और इस तरह दिन गुजरते गई । फिर हफ्ते बन गई और हफ्ते महीने में लग गई । रोधी आवाज में उसने कहा, इस बात को चार साल हो चुके हैं और वह कभी पार्क नहीं जा पाया । उसकी बेटी और पंद्रह साल की हो गई है और उसकी अब पार्क में कोई रूचि नहीं है । नहीं, अब उसकी अपने पापा में कोई रूचि रह गई है जो एक पल के लिए रुका और उसने गहरी सांस लेगी । मैंने फिर बेचने वाले कर्मचारी से पूरा ध्यान देने की कला के बारे में बात की और मैंने महसूस किया कि मैं घर पर या ऑफिस में रहता तो था पर मेरा पूरा ध्यान नहीं रहता था । फिर बेचने वाले कर्मचारी ने मुझे सह परिवार मार्केट आने की सलाह दी । मेरी बेटी नहीं जाना चाहती थी परंतु मैंने कहा, आखिर करों से चलने के लिए मना ही लिया । हमें बहुत मजा आया और मैंने यह कोशिश की की मैं अपने बच्चों पर पूरा ध्यान दे सकूं । जब मेरी पत्नी मेरे बेटे के साथ खेल होने की दुकान पर गई तो मैं अपने बेटे के पास बैठा और उसे बताया कि मुझे दुख हैं कि मैं उसके साथ समय नहीं गुजार पाया और उस पर पूरा ध्यान नहीं दे पाया । मैंने उसे माफी भी मांगी और यह कहा कि अतीत तो बदल नहीं सकता पर भविष्य में मैं उसपर पूरा ध्यान देने की कोशिश करूंगा । उसने कहा कि मैं इतना पूरा डैडी नहीं हूँ जितना कि मैं अपने आप को समझता हूँ । बस मुझे अपनी व्यस्तता काम करने की जरूरत है । मैं जानता हूँ कि मुझे बहुत सुधार की जरूरत हैं परन्तु में धीरे धीरे सुधर रहा हूँ । पूरा ध्यान मैंने की कला सीखने से मैं वह चीज हासिल कर पाया जो मैंने पता नहीं कब खो दी थी । मेरी बेटी के साथ मेरी घनिष्ठता जब जानकी बात खत्म हुई, लोनी मेरी जैन के कान में फुसफुसाया वह फिश कर्मचारी जैकब था । वह नहीं है और किसी की मदद करने का ये है उसका पहला मौका था । जेनेट भी बहुत हो गई जब उसने अपने पुरानी नौकरी में अपनी एक सहकर्मी के बारे में बताया । यह है महिला लगातार मेरा ध्यान खींचने की कोशिश कर रही थी । परंतु मैं अपनी निजी समस्याओं के कारण परेशान थी और इसलिए हम में तालमेल नहीं बन पाया । फिर एक विस्फोट हो गया । पता चला कि वह गडबड कर रही थी और हमारी प्रगति की कमी को छुपाने के लिए फर्जी रिपोर्ट देती जा रही थी । जब यह बात उजागर हुई तो उसे सुधारने का वक्त भी नहीं बताया था । उस की नौकरी चलेगी । कंपनी से एक लाइन छिन गया और कंपनी को घाटा भी उठाना पडा । मुझे भी आखिरकार अपनी नौकरी से हाथ धोना पडा क्योंकि हम उतना बडा काम दोबारा नहीं ढूंढ पाई । यह है सब नहीं होता अगर मैं अपना पूरा ध्यान अपनी सहकर्मी पर लगती जम्मू से मदद मांग रही थी फिर बेचने अपनी कहानी सुनाई । जब है टीवी के सामने स्थिर बाइक पर व्यायाम कर रही थी और कुछ पडने की कोशिश भी कर रही थी । तभी उसका पुत्र आया और सोफे पर बैठ गया । वह जान गई कि उसका पुत्र किसी बात से परेशान है । माँ को ऐसी बात पता चल जाती है । उसने कहा, अतीत ने अगर ऐसा हुआ होता तो मैं अपना काम करते हुए उससे बातें करती रहती है । परन्तु अपने तजुर्बे और तलाक से मैंने यह सीख लिया है कि अपने परिवार वालों की कीमत पर पाई जाने वाली कार्यक्षमता अच्छी या समझदारी की बात नहीं होती । मैंने तो टीवी बंद कर दिया, साइकिल से उतरी पत्रिकाओं को एक तरफ रख दिया और एक घंटे तक अपने पुत्र का दुखडा सुनती रही । मैं सब स्पोर्ट्स अपने इस फैसले पर खुश थी कि मैंने पूरा ध्यान देने का विकल्प चुना । समूह के कुछ और सदस्यों ने निजी और बिजनेस की मिलीजुली कहानियाँ सुनाई । फिर उन्होंने अपनी इस प्रतिबद्धता को दोहराया कि वे एक दूसरे पर और ग्राहकों पर पूरा ध्यान देंगे । जवाब पूरा ध्यान देते हैं तो आप सामने वाले व्यक्ति को महत्वपूर्ण बना देते हैं । टीम के एक सदस्य ने कहा, किसी मुद्दे पर चर्चा करते समय भी उन्होंने पूरा ध्यान देने का वादा किया हुए सचमुत सुनेंगे और अपना ध्यान बंटने नहीं देंगे । उन्होंने एक दूसरे को यह पूछने के लिए प्रोत्साहित किया, क्या यह है एक अच्छा समय है? क्या पूरा ध्यान दे रहे हैं? एक दूसरे को यह सवाल पूछने में मदद करने के लिए उन्होंने एक गुप्त कोर्ट बनाया । आपका एक हो गए हैं । यह है विशेष कोर्ट । किसी संभावित तत्कालिक मुद्दे का संकेत देने के लिए चुना गया और सभी इस बात पर सहमत हो गई कि वे ईमेल पढते, समय या उनका जवाब देते समय अपने दोस्त या ग्राहक से फोन पर बात नहीं करेंगे । अपना रवैया तो नहीं, टीम अपना रवैया सुने । टीम सबसे आखिर में आई । इस टीम की रिपोर्ट संक्षिप्त और बिंदुवार थी । हमारी टीम ने यह पाया है कि अपना रवैया सुनने से आपको ये लाभ होते हैं । पहला फायदा तो यह होता है कि अपना रवैया खुद चुनने से ये है आपकी अपनी जिम्मेदारी हो जाती है और इसे तीसरी मंजिल पर ऊर्जा का संसार हो जाता है । दूसरा फायदा ये है कि अपना रवैया, तुलना और खुद को बदकिस्मत समझना दो । परस्पर विपरीत ध्रुव है । तीसरा फायदा ये है कि आप सबसे अच्छा काम करने की कोशिश करते हैं और अपने काम से प्यार करने लगते हैं । हम ये है तो तय नहीं कर सकते हैं कि हम अपना मन सा काम करेंगे । पर हम में से हर एक यह जरूर तय कर सकता है कि हम जो भी काम कर सकते हैं वहाँ हम दिल से करें । हम अपना काम जी जान से कर सकते हैं, मन लगाकर कर सकते हैं । यह है विकल्प हम सुन सकते हैं अगर हमें ऐसा कर ले तो हमारे ऑफिस में उत्साह, रचनात्मकता और आनंद का झरना बहने लगेगा । अपना रवैया तो नहीं को लागू करना टीम की जोशीली प्रवक्ता मार्ग्रेट ने सुझाव दिया कि अपना रवैया सोने को लागू करने का तरीका पूरी तरह नहीं है । हम में से कई यह भूल चुके हैं कि हम में विकल्प सुनने की क्षमता है । हमें एक दूसरे के प्रति से हर दे रहना चाहिए परन्तु हमें एक साथ काम करते हुए अपने स्वतंत्र इच्छा की अपनी योग्यता को भी बढाना चाहिए । अगर आपको विकल्प मालूम नहीं है या आपको यह भरोसा नहीं है कि आपके पास सुनने के लिए विकल्प है तो आप ऐसा नहीं कर पाएंगे । हमारे समूह में ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने जिंदगी में बहुत कठिन परिस्थितियों का सामना किया है । हम में से कईयों को इस विचार को आत्मसात करने में थोडा समय लगेगा कि हम अपना रवैया सुन सकते हैं । टीम के दूसरे सदस्य नहीं कहा हमने अपना रवैया तूने विचार को लागू करने के दो तरीके खोली हैं और इस बारे में कुछ कदम पहले ही उठा लिए हैं । सबसे पहली बात तो ये है कि हमने हर एक के लिए एक छोटी सी पुस्तक खरीद ली है जिसका शीर्षक हैं पर्सनल अकाउंटेबिलिटी, पाक टू रिकॉर्डिंग वर्क लाइन । जब आप लोग यह पुस्तक पढ लेंगे तो हम इसपर समूह चर्चा आयोजित करेंगे । अगर हमारा यह प्रयोग सफल हो जाता है तो हम कुछ और पुस्तकों पर चर्चा कर सकते हैं । ऐसे रेलिंग, कॅाल गंगा हो और रोड लिस्ट ट्रेवल इन सभी पुस्तकों से हमें यह समझने में मदद मिलेगी कि हम अपना रवैया सुन सकते हैं । दूसरा तरीका यह है कि हमने ऑफिस में प्रयोग के लिए रवैयों का एक मिनट तैयार किया है । आपने इसका एक संस्करण पहले ही देख लिया है । हम अब भी यह नहीं जानते कि हमारे ऑफिस के दरवाजे पर पहला संस्करण किसने लगाया था । इसलिए हम उसका श्री उसे नहीं दे सकते । तो यह रहा हर रोज के लिए आपका मेनू मेरी जैन ने रवैयों के मेरे को देखा । यह दोनों तरफ लिखा हुआ था । एक तरफ नाम वो सीख छोडे हुए एक चेहरा बना हुआ था, जिसके चारों तरफ गुस्सा, उदासी और कठोर शब्द लिखे हुए थे । दूसरी तरफ एक मुस्कुराता हुआ चेहरा बना था, जिसके सारों तरफ जोश, सहयोग, फिक्रमंद, ध्यान रखने वाला और रचनात्मक शब्द लिखे थे । सबसे ऊपर लिखा हुआ था, आप अपना विकल्प चुन सकते हैं । तीसरी मंजिल के मुख्य दरवाजे के ऊपर अन्य मेलों का यह बडा रूम था । मेरी जैन तत्काल खडी हो गई और उसने अपने स्टाफ के हर सदस्य को बधाई देना शुरू कर दिया । उसके पीछे लो नहीं भी था जिसने अपने तरीके से उत्साह बढाया । जब मेरी जान नहीं है, सबसे चर्चा कर ली, तब तक लंच खत्म हो गया था । वह जान चुकी थी कि अब वे डीलों के खतरा अगर को साफ करने के अपने मकसद में कामयाब हो जाएंगे । लोनी और मेरी जैन फर्स्ट गारंटी में वापस लौटे । इसमें कोई ताज्जुब की बात नहीं थी कि कई लोगों ने उन्हें रास्ते में गोरा, एक बिजनेस वूमेन और एक मछुआरे को साथ साथ देखकर लोगों को गुना स्वभाव था । ताज्जुब की बात तो यह थी कि उनमें से बहुत से लोग लोनी को जानते थे । तो आपके बोस को यह पता नहीं है कि आपको दूसरी नौकरी का ऑफर मिला हुआ है । उन्होंने ने कहा, दो हफ्ते पहले मेरी जैनको फस्ट गारंटी के मुख्य प्रतिद्वंद्वी की तरफ से एक अप्रत्यासित ऊपर मिला था कि अगर वह अपनी कंपनी बदल ले तो उसे ज्यादा तनख्वाह वाली नौकरी मिल जाएगी । मुझे नहीं लगता मैं समझती हूँ कि उन्होंने मेरी पुराने बहुत से चर्चा की थी उस महिला से जो हाल ही में फर्स्ट गारंटी छोडकर पोर्टलैंड में एक शानदार नौकरी पर चली गई है । मैंने अभी इस बारे में किसी से कुछ नहीं कहा है । पहले तो मैं यह नहीं समझ पाया था की आपने इतना आकर्षक प्रस्ताव के उनको बुलाया पर अब मैं समझ रहा हूँ आप इस प्रक्रिया के प्रति समर्पित थी और आप इन लोगों को मतदान में छोड कर नहीं जा सकती थी । नहीं किया यह बात हुई थी लो नहीं लेकिन जब मैंने इतनी मेहनत से फर्स्ट गारंटी में ज्यादा मोज मस्ती का इतना बढिया माहौल बना लिया है तो मैं इसे छोडकर भला क्यों हूँ? हमारा अच्छा वक्त तो शुरू हुआ है । रविवार, सात फरवरी एक साल बाद कॉफी हाउस में मेरी जैन ने अपनी पुस्तक सिंपल ॅ खोली और सात फरवरी की तारीख निकली । ये विचार खबर है । उसने सोचा एक साल पहले मैं यही बैठी थी और सोच रही थी कि मैं किस तरह खेलों के कचरा अगर को साफ कर पाउंगी । दरअसल यही मुझे यह ऐसा हुआ था कि मैं भी इस समस्या का एक हिस्सा हूँ और मुझे दूसरों को सुधारने से पहले खुद को सुधारना चाहिए । होटल में कमेटी रिपोर्ट्स बहुत बढिया शुरुआत थी । स्टाफ में हमेशा बेहतर बनने की काबिलियत थी । केवल उन्हें प्रेरित करने की जरूरत थी और ऐसा फिर फिलोस्पी से संभव हुआ । आज तीसरी मंजिल का हुलिया ही बदल चुका है और हमारी नई समस्या यह है कि कंपनी के दूसरे विभागों के लोग यहाँ पर काम करना चाहते हैं । मुझे लगता है कि यहाँ पर ऊर्जा पहले से थी, सिर्फ उसे बाहर निकालने की कसर थी और चेयर रोमन का पुरस्कार भी सुखद संयोग था । मैं सोचती हूँ कि चेयरवुमन हक्की बक्की रह गई थी । जब मैंने उनसे कहा कि मैं उस पुरस्कार की ढेर सारी प्रतियां चाहती हूँ, एक मेरे लिए, एक बिल के लिए, एक एक मेरे विभाग के हर कर्मचारी के लिए और एक लोनी के लिए और सभी फिश कर्मचारियों के लिए । मुझे खुशी है कि मुझे मिलने वाले पुरस्कार की एक प्रति विश्वप्रसिद्ध पाइप प्लेस फीस मार्केट के गैस रजिस्टर के ठीक ऊपर नहीं हुई है और लोनी के लिविंग रूम में भी लगी हुई है । उसने अपनी डायरी खोली और उसमें से जान गार्डन की कही हुई बातें पडी जो उसने पहले लिखी थी । यह अध्याय जीवन के अर्थ पर था । जीवन का अर्थ किसी पहली से हाल या खोजने की तलाश के पुरस्कार की तरह हमें यूँ ही नहीं मिल जाता । जीवन का आटा में खुद बनाना पडता है । आप कैसे बनाते हैं अपने अतीत से, अपने प्रेम से आपने वफादारी से । मानव जाति के अपने अनुभवों से आपने प्रतिभा और समझ थे उन चीजों से जिनमें आप विश्वास करते हैं । उन चीजों और लोगों से जिनसे आप प्रेम करते हैं कुल मूल्यों से जिनके लिए आप क्या करने के इच्छुक होते हैं सभी तब तो वही होते हैं केवल आप ये उनको एक निश्चित पेटल में जमा सकते हैं और इस तरह अपनी जिंदगी का पैटर्न बना सकते हैं । यह जीवन ऐसा होना चाहिए जिसमें आपको अर्थ और गौरव का अनुभव हो । अगर ऐसा है तो फिर सफलता और असफलता का ज्यादा मैं तो नहीं रह जाता । जोन गार्डनर डायरी पढने के बाद मेरी जैन अपनी आंखों में आई आंसूओं को पोसे लगी । लोनी क्या मैं का बताओ और थोडा ले सकती हूँ इससे पहले कि तू में से सफाई करता हूँ । लोनी कुछ पढते हुए उससे कुछ दूरी पर बैठा था । उसने मेरी जिनकी तरफ प्लेट बढा दी । जब वह एक उठाने के लिए जो की तो उसने देखा कि उसके सामने खिसका खुला हुआ बडा समूह है और उस मोमेंट छोटी सी हीरे की अंगूठी रखी हुई है । उसने लोनी की तरफ देखा जिसके नर्वस चेहरे पर एक बडा प्रश्नवाचक दिख रहा था । उसे इतनी जमकर हँसी आई की उसका गला रुंध ऐसा गया और उसने यही कहा ओह कॉलोनी हाँ हाँ जरूर करूंगी । पर तो मजाक करना कब बनकर होगी । सीएटल शहर के बाहर का मौसम उदास, ठंडा और नाम था परंतु बेहतर का मौसम अब भी पूरी तरह बदला हुआ था । चेयर वो वन का पुरस्कार समारोह चेयरवुमन मंच पर आई और उन्होंने उपस्थित लोगों को देखा । आपने नोटिस की तरफ देखते हुए उन्होंने कहा, मुझे आज जितने घरों की अनुभूति हो रही है उतनी पहले कभी नहीं हुई । फर्स्ट गारंटी में कुछ ऐसा गठित हुआ है जो समर्थकारी है । तीसरी मंजिल पर बैकरूम ऑपरेशन विभाग में मेरी जैन रैमीरेज और उनकी टीम के सदस्यों ने यह साबित कर दिया है कि जब हम सुबह ऑफिस में घुसते हैं तो हम यह चुनाव भी करते हैं की आज हमारा दिन कैसा रहेगा? क्या ये है अच्छा होगा या पूरा हमें खुद से ही है । आसान से सवाल पूछना होता है क्या यह दिन अच्छा गुजरने वाला है और इसका जवाब हमें इस तरह से देना है । हाँ, मैं इसे एक शानदार दिन बनाने का विकल्प सुनता हूँ या सुनती हूँ । लंबे समय से काम करने वाले पुराने कर्मचारियों में भी नए नए काम पर आए लोगों जितना उत्साह दिख रहा है और जिसे बोरिंग काम समझा जाता था वह अब मजेदार काम बन चुका है । मुझे पता चला है कि इस समझदारी परिवर्तन के गुर फिश मार्केट से सीखे गई है । तीसरी मंजिल की टीम ने यह होता है कि जब ऑफिस मार्केट में खुशी खुशी काम कर सकते हैं तो आप फस्ट गारंटी के किसी भी विभाग में उससे ज्यादा खुशी से काम कर सकते हैं । बस चलते की आप ऐसा करने का विकल्प क्यों नहीं? इस समर्थकारी परिवर्तन के सूत्र एक पट्टिका पर जडे गए हैं जो हमारे मुख्यालय की इमारत के प्रवेश द्वार पर लगी हुई है । इसमें लिखा है, हमारे काम करने की जगह है । जब आप इस ऑफिस में दाखिल हो तो यह विकल्प तो नहीं कि आपका आज का दिन शानदार गुजरने वाला है । आपके सहकर्मी, ग्राहक, टीम के सदस्य और खुद आप इसके लिए कृतज्ञ होंगे । खेल के नए नए तरीके खोजते रहे हैं । हम अपने काम के बारे में तो गंभीर रहे हैं पर खुद के बारे में गंभीर नहीं बनी । जब आप के ग्राहकों टीम के सदस्यों को आपकी सबसे ज्यादा जरूरत हो तो उनकी तरफ पूरा ध्यान दे और जब आप आए की आपकी ऊर्जा घट रही है तो इस क्योंकि इलाज को आजमाकर देखें, किसी ऐसे आदमी की खोज करें जिसे मदद की सहारे के शब्दों की या किसी हमदर्द की जरूरत हो और उसका दिन यादगार बनाएगी । धन्यवाद आप का दिन शुभ हो

Details
Click for Full Hindi Audiobook - https://anchor.fm/hindiaudiobook Fish!: A Proven Way to Boost Morale and Improve Results Book by Stephen C. Lundin Another one of the books that are recommended in management schools. FISH! is a philosophy. It developed when the author visited and observed the goings. Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin in Hindi, is one of our best motivational audiobooks available in Hindi from our catalogue. This Audiobook is created by MS Ram. MS Ram is well known for his motivational audiobooks. This Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin audio will fill you with all the positive vibes and make you ready to spend your day on a positive note. Sit back. Calm yourself. Close your eyes. Experience the world of motivation; some few words can sparkle life with magic. Listening to Motivational audiobooks is one of the best ways to rejuvenate your inner-self. We understand that our users emotionally connect with the audios more when it is in their language. Hence we offer a variety of motivational audiobooks in different languages like Hindi, Gujarati, Telugu, Marathi, Bangla etc. These audiobooks are available for free and can be downloaded and saved on our app. And the best part is that you can access it while travelling, while working out in the gym, and literally doing anything, anywhere at any point of time be it early morning or late night. So, stream, download, and enjoy the ad-free experience. Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin ,हमारी सूची में उपलब्ध हिंदी में उपलब्ध सबसे अच्छे प्रेरक ऑडियोबुक में से एक है। यह ऑडियोबुक MS Ram द्वारा प्रस्तुत की गई है। MS Ram एक प्रमुख प्रस्तोता है जो उनके प्रेरक ऑडियोबुक के लिए मशहूर है। यह Fish! A Proven Way to Boost Morale and Improve Results written by Stephen C Lundin ऑडियो आपको सभी सकारात्मक उर्जा से भर देगा और आपको एक सकारात्मक नोट पर अपना दिन बिताने के लिए तैयार कर देगा। आराम से बैठे। अपने आपको शांत करें। अपनी आँखें बंद करें। प्रेरणा की दुनिया का अनुभव करें। कुछ शब्द जादू की तरह जीवन में रंग भर सकते हैं। मोटिवेशनल ऑडियोबूक को सुनना आपके भीतर के आत्म-कायाकल्प के लिए अच्छा है। हम समझते हैं कि हमारे उपयोगकर्ता भावनात्मक रूप से ऑडिओ से अधिक जुड़ते हैं जब यह उनकी भाषा में होता है। इसलिए हम विभिन्न भाषाओं जैसे हिंदी, गुजरती, तेलुगू, मराठी, बंगला आदि में विभिन्न प्रकार के प्रेरक ऑडियोबुक प्रदान करते हैं। ये ऑडियोबुक मुफ्त में उपलब्ध हैं और हमारे ऐप पर डाउनलोड किए जा सकते हैं। और सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे यात्रा करते हुए, जिम में वर्कआउट करते हुए और शाब्दिक रूप से कहीं भी, किसी भी समय कहीं भी इसे सुबह या देर रात को सुन सकते हैं। तो, विज्ञापन-मुक्त अनुभव को स्ट्रीम करें, डाउनलोड करें और आनंद लें।