BlogAbout us
Angrezi Medium | Not A Movie Review by Sucharita Tyagi | Irrfan | Radhika Madan in hindi | अंग्रेज़ी मीडियम | नॉट अ मूवी रिव्यु बाय सुचारिता त्यागी | इरफ़ान | राधिका मदान हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Angrezi Medium | Not A Movie Review by Sucharita Tyagi | Irrfan | Radhika Madan in hindi

Show: Film Companion Local
 • 
 • 
Cinema

At the heart of it, Angrezi Medium was supposed to be about a helicopter parent jisse empty nest syndrome handle nahi ho raha hai. To find out what the film is all about, here's Sucharita's Not A Movie Review. Voiceover Artist : Sucharita Tyagi A father can go to any extent to fulfill his daughter's dream. This is exemplified in the movie ‘Angrezi Medium’ starring the actors- Irrfan Khan, Kareena Kapoor Khan, Radhika Madan, and Deepak Doobriyal. We bring you the film review by the movie critic Sucharita Tyagi. So, listen to the Podcast ‘Not a Movie Review’ in Hindi. This story talks about how a Champak Bansal (Irrfan Khan) leaves no stones unturned to get his teenage daughter, Tarika (Radhika Madan) admitted to a recognized university in London. Homi Adajania's ‘Angrezi Medium’ touches upon the pulse of every youngster who aspires to pursue higher studies in foreign countries, and their family's determination to go to any extent for the arrangement of fees to anything. Will the characters and the sub-plots keep you engaging? Will Angrezi Medium take you along to the journey of a Father - Daughter duo or leave you alone in the mid-way? Find out what Sucharita Tyagi has to say in her movie review. बेटी का सपना पूरा करने के लिए एक पिता किसी भी हद तक जा सकता है। इसका उदाहरण इरफ़ान खान, करीना कपूर खान, राधिका मदान और दीपक डोओबियाल अभिनीत फिल्म 'अंग्रेज़ी मीडियम ' में दिया गया है। हम आपके लिए लेकर आए हैं फिल्म समीक्षक सुचित्रा त्यागी द्वारा पॉडकास्ट ‘नॉट अ मूवी रिव्यू' जिसमे वह फिल्म अंग्रेजी मीडियम का रिव्यू करेंगी। फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' इस बारे में बात करती है कि कैसे एक चंपक बंसल (इरफ़ान खान) अपनी किशोर बेटी तारिका (राधिका मदान) को लंदन की एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय में भर्ती कराने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ता। होमी अडाजानिया की फिल्म 'अंग्रेज़ी मीडियम' हर उस नौजवान की नब्ज़ को छूता है जो विदेशों में उच्च अध्ययन करने की ख़्वाहिश रखता है, और उनके परिवार किसी भी चीज़ की व्यवस्था के लिए किसी भी हद तक जाने का दृढ़ निश्चय रखते है । क्या फिल्म अंग्रेज़ी मीडियम आपको पिता-पुत्री की जोड़ी की यात्रा के साथ ले जाएगी या आपको मध्य मार्ग में अकेला छोड़ देगी? जानिए सुचरिता त्यागी को अपनी मूवी रिव्यू में क्या कहना है।