BlogAbout us
स्मार्ट बनिए in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Audio Book | 29mins

स्मार्ट बनिए in hindi

AuthorVIKASH POONIA
Listens898
Transcript
View transcript

नमस्कार । दोस्तो नदी का दुनिया स्वागत करता हूँ आपको सैंपल जहाँ पे हम बात करेंगे ब्लॅक स्मार्ट बनी । अध्याय एक फिर कालिन बनाम अल्पकालीन दृष्टीकोण मनोज मनोज अपनी प्रस्थितियों में सुधार लाने के लिए देख रहे बंद तो अपने भीतर सुधार नहीं लाना चाहते हैं । इस प्रकार से सादा बल्ले ही बने रहते हैं । जो तीन हर तरह कष्ट सहने को तैयार रहता है, उस से उस की उनको पूरा करने से कोई नहीं रोक सकता है । मोटी दोस्तों के साथ साथ अगर किए वस्तुओं के लिए भी उतना ही सच है, दूसरे ऍम का एकमात्र दही धन अर्जन हो, उससे भी महान कोरिन इजी बलिदान करने को तैयार रहना चाहिए । तभी वह मन चालक से पा सकता है । उसे समय तय करना है कि एक ससक्त संतुलित जीवन पाने के लिए उससे पूर्व क्या कर करना होगा । ऍम आप जितना बेहतर सोचेंगे, उतने ही बेहतर नतीजे मिलेंगे । आप समय को हर क्षेत्र में सफल भर पाएंगे । आपको मिले हुए नतीजे ही रहते करेंगे कि आप आपकी सोच कीगुणवत्ता क्या चीज? आप आपने जो भी तय किया उसके निष्कर्स बताएंगे कि आप करण लेने के सारा अर्थशास्त्री मिल्टन फील्ड में लिखते हैं, गुणवत्ता से भरपूर सोच को मापना हूँ । वो तो यह देखिए कि आप अपने विचारों और उसके कार्य कार्यरूप से सामने आने वाले परिणामों माॅस्को कितनी योग्यता से माप सकते हैं । अभी ये कहना चाहते थे कि जो कुछ भी गठ्ठा, उन्होंने चोरी उससे अलग पाई गई, वह लागू करने में गलत निकली । मिस कर सिया परिणाम ही सब कुछ है तो एक सवाल ही मायने रखता है कि आप का आइडिया कारगर रहा क्या नहीं कुछ लोग दीर्घकालीन परिणामों की मैं तकलीफ भ्रमित रहते हैं तो सोचते हैं कि प्रेम परिणामों के बजाय बल्कि मनसा अधिक मैं रखती है । यही हमारे समाज में भ्रम और उलझन पैदा होने का प्रमुख कारण है । कहते हैं अगर में अच्छी मंशा के साथ अब अपने विचारों, निर्णय और कार्यों के बेहतर परिणामों के बारे में सोचता हूँ और वे उस रूप में सामने नहीं आती तो इसके लिए आप मुझे दूसरी नहीं ठहरा सकते हैं । आप अपने निर्णय और कार्यों के नतीजों को कितनी सटीकता और योग्यता के साथ आप सकते हैं, उससे ही आपकी समझदारी बुद्धिमत्ता की इसलिए माप माना जा सकता है । बुद्धिमता क्या है? बुद्दिमता केवल आईपीएल का पसंद नहीं है । इससे आप स्कूल के रेल या बच्चों की लिखाई पढाई से नहीं नहीं हो सकती । बुद्धिमता एक तरह से काम करने का तरीका है । इसका मतलब है कि अगर आप उद्यमता से काम करते हैं तो अब स्मार्ट है । अगर आप मृता से काम करते हैं तो आप मोरक् है । मैं नहीं आपके ग्रेड या अंकित ने भी क्यों नहीं रही हूँ? किसी से किसी समझदारी से भरे काम की क्या परिवर्तन दी जा सकती है? इसका ऍम ज्यादा है । एक समझदारी से मेरा काम वही है जो आपको मांॅ के और निकट ले जाता है । एक महत्वपूर्ण कार्य रहे है जो आपको आपके मन, चॅूकि और नहीं ले जाता । इससे भी बदतर स्थितियाँ तब सामने आती है जब मैं आपको आपके मिलता प्रेरणा में से और भी दूर ले जाता है । जब आपकी हैं तय कर लेते हैं कि आप क्या चाहते हैं और क्या नहीं चाहते तो अपनी जी तो स्मार्ट यमुना तब पूर्ण कम कितने बजे तक कल तहर विस्टन चर्चिल ने एक बार कहा था, मैंने बहुत पहले से वह सुनना बंद कर दिया जो लोग कहते हैं नहीं, नहीं, यह देखता हूँ क्यों? वे क्या करते हैं? व्यवहारी एकमात्र सच चाहिए । एक्सन ही सब कुछ है । आप यह कैसे बता सकते हैं कि कोई व्यक्ति वास्तव में क्या चाहता है? सोचता है, महसूस करता है, विश्वास करता या किसी चीज के लिए प्रतिबद्ध है । बहुत सारे बहुत साधा सबूत हैं । आप उसके द्वारा किए जाने वाले कामों को देखेंगे । लोगों की बात इच्छा, मनसा या आसा के कोई मायने नहीं होते । उसके द्वारा किया गया काम मायने रखता है । अगर बात किसी तरह के लाल अच्छे प्रस्थितियों के दबाव की हो तो तो ऐसे में उनके द्वारा किया गया काम और भी मैं हो जाता है । कुछ लोग कहते हैं टीमें अपने जीवन और करियर में सफल होना चाहता हूँ । मैं व्यक्ति इस बात पर भरोसा भी करता है । फिर आप उसके विवार को देखते हैं । वहाँ काम पर यथा सम्भव देरी से आता है । कितनी जल्दी हो सके काम से घर वापस लौटने की कोशिश करता है ताकि इसके प्रिया टीवी सो को आखिरी दारा भी देखने से नहीं रह जाए । उसके ऐसे व्यवहार को देखते हुए साफ तौर पर पता चलता है कि वह अपने करियर में सफल नहीं होना चाहता । उसे टीवी देखने में ज्यादा दिलचस्पी है । आपने कैसे जाना? क्योंकि वह हर रोज काम पर घर जाने के बाद टीवी देखने के अलावा कुछ नहीं कर रहा । क्या ये है कारगर रहा आपके निर्णय और कार्यों की एकमात्र कसौटी यही है । क्या ये कारगर रहे? क्या आपकी सोच के अनुसार किए गए काम आप आपको आपकी मनचाही डिसाइड या आपके लिए महत्वपूर्ण मानी जाने वाली दिशा में लेकर गई? दो नियम ऐसे हैं जो लोगों को उनके निजी जीवन, राजनीतिक ऍम मामलों में भूल जाते हैं । वे हैं लाओ यूनिट टेंडेंट, ऍफ, मुँह, ऍम, अर्थशात्री, अर्थशास्त्री, हेल्दी हेज लिट्टी अपनी क्लासिक इकोनॉमिक्स इन वन लेसन लिखते हैं, हर इंसान अपनी तलाश में है इसलिए उसका हर काम किसी दिशा में होता है कि वह किस तरह ने मीटर सुधार ला सके । लोग हमेशा कामों को तिरु और बेहतर तरह सिख करने के साधन तलाशते हैं । उसके गोन प्रेस परिणामों की परवाह नहीं करते हैं । लेकिन का कहना है कि किसी भी काम का वांछित नतीजा यह है होता है कि किसी भी तरह की दस सालों में सुधार हो । कुछ समय सुधार को ही प्राथमिकता दी जाती है । ये हमेशा सकारात्मक होता है । सभी कर्म किसी बीस तरह किस सुधार पर ही केंद्रित होते हैं? परिणामों परिणामों पर करें विचार पर ये है परिणाम सहायक बैंकोंं हैं । इसके बाद और इसके भी बाद क्या हुआ वह कहीं अधिक मायने रखता है । ऍफ इन इंडो इटिआॅस के अनुसार कई मामलों में कोई काम । ये व्यवहार अल्पकालीन रूप से सकाराम मत परिणाम लाता है । तुरंत उदयकालीन रूप से देखने पर वे नतीजे नकारात्मक हो सकते हैं । उदाहरण के लिए एक युवक स्कूल छोडकर कहीं काम करने लगता है ताकि वह कम हुई पेसोस स्वीकार ले सके । लडकियों के साथ घूमने घूमने जा सके और एक आनंद आॅॅफ यह सभी सकारात्मक है तो वह तत्काल लगते हैं जिसका युवा वर्ग अन उठाना चाहता है । हालांकि उन्हें दीर्घकालीन तो पर पढाई छोडने के नाटक नकारात्मक नतीजे भुगतने होंगे । आज उसकी आई की स्रोत सीमित रहेंगे, जीवन में आगे नहीं बढ सकेंगे और हिस्सा व्यक्ति कभी अपनी सुल्तान में प्रतिभा का पोंटे उपयोग नहीं कर सकेगा । कुछ बत्तर की हो जाए रचना लाओ फॅस तब घटता है जब किसी भी सकारात्मक कार्य की वजह से ऐसे हालात सामने आ जाते हैं । कितने मतलब होते हैं मानो इस दिशा में कुछ किया ही नहीं गया हूँ । उदाहरण के लिए आप अगर किसी जरूरतमंद को पैसा देते हैं तो समाज में उससे अल्पकालीन सहायता मिल जाती है । यहाँ अगर वह नियम लागू हो तो वह व्यक्ति आसानी से मिलने वाले पेसे आदि बन जा सकता है । मैं अपने काम को छोडकर दूसरों पर निर्भर हो जाता है । मैं अपना स्वाभिमान और आदमी स्वास्थ्य गवा देता है । वह व्यक्ति ऐसे बत्तर हालत में आ जाता है । मान लो इसके लिए कुछ किया ही नहीं गया हूँ । समाज में जब भी जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए कोई दाल या धनराशि दी जाती है तो उसका मतलब यह नहीं होता कि कुछ व्यक्ति के जीवन के दस साल में सुधार हो सके । पर जब मैं जब यह नियम लागू हो जाता है तो वे आजीवन दूसरे पर निर्भरता और कुंठित संभावना के आदि हो जाते हैं । आगे की ओर सोचें शतरंज के खेल में बहुत सारी चालू और मोहरों के बीच आपकी जीत इसी बात पर निर्भर करती है कि आप कितनी सटीकता से अपने सामने वाले खिलाडी द्वारा चली जाने वाली साल का अनुमान लगा सकते हैं । जीवन में आपकी सफलता भी काफी हद तक इसी बात पर निर्भर करती है की आप सब पालता या जीत से जुडी बाजी का कितना सटीक अनुमान लगा सकते हैं, भले ही आप इस इसे किसी भी रूप में परिवर्तित क्यों नहीं करें । हाँ, वर्ड के डॉक्टर एडवर्ड दिन फील्ड में लगभग पचास वर्षों तक यूएस में अन्य देशों में उन्नत सामाजिक आर्थिक प्रगति का दिन क्या कांड जानना चाहते थे कि कुछ परिवार अपने नियमित सामाजिक आर्थिक स्तर के बावजूद उच्च्स्तरीय सामाजिक आर्थिक कैसे पहुंचते हैं, कैसे पहुंचेंगे? उन्होंने इसके लिए पीडी दर पीढी मेहनत की कहीं घूमने तो मेहनत मजदूरी के कामों से अपने करियर प्रारम्भ किया और अपने जीवन में धनी मान मानी लोगों की सूची में शामिल हुए । ऐसा केवल एक छोटे समूह के साथ ही क्यों संभव हुआ? बाकी सभी लोगों के साथ ऐसा क्यों नहीं हो सका? आज वर्ष दो हजार बीस में केवल यूएस में ही दस मिलियन से अधिक मिलेनियर है । वो उन उनमें से अधिकतर अपने बल प्रधान अर्जित करने वालों में से है । उन्होंने लगभग सुनने से आरंभ किया और एक ही जीवन काल में इतने दौलतमंद बने । इसके अतिरिक्त फोर्ब्स पत्रिका दो हजार के अनुसार हर छप्पन बिलिनियर है जिनमें से दो सौ नब्बे नहीं । मिलिंद इस हैं मिलेंगे तो वर्ष दो हजार पंद्रह में ही बने हैं । इनमें से फॅमिली पहली पीढी से है यानी वो इस समय इस मुकाम तक आए हैं । उन्होंने अपने एक ही जीवन मीटर ननद क्या है और सिकर तक पहुंचे । सामान्य विवाद बेनफिट सारी दुनिया में फैले इन लोगों के सामान्य विभाजक के बारे में जानना चाहते थे । उन्होंने अपने अध्ययन खुद अन्य हैवनली सीटी में वर्णित किया इस विवादित पुस्तक की बहुत आलोचना में हुई । इसके सामने बहुत से लोगों की सोच के बारे में बताया की निर्दलीय और कल्याण को बहुत से मासूम लोगों पर थोपा जाता है जिनका उन बातों पर कोई नियंत्रण नहीं होता जो उसके एक साथ गठित गठी रही है । उन्होंने सादा सा डिस्कस निकालते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति की आर्थिक सफल ॅ संबंध समय के ऍम जुडा है और यही सब सिद्ध द्रवित कर देने वाला मैं महत्वपूर्ण कारण माना जा सकता है । स्टोरी बेन फील्ड ने समाज को सात हिस्सों में बांटा नियमित निम्नवर्ग, कुछ निम्नवर्ग, निम्न मध्यमवर्ग, मध्यम मध्यमवर्ग, कुछ मध्यमवर्ग निम् कुछ वर्ड था कुछ कुछ वर्ग ये पता चला की सामाजिक आर्थिक उपलब्ध देख के प्रत्येक स्तर पर लोगों ने लम्बे और लंबे समय तक के प्रदर्शित अब क्या अभ्यास किया । इस बात से कोई फर्क नहीं पडता कि वे कहाँ से आए थे । उनकी सिख और वर्तमान हालात का स्तर किया था । केवल समय के प्रति उनका नजरिया ही उनकी दस सालों में अंतर का सबसे बडा कारण रहा । समय का प्रदर्शन आई सबसे न्यूनतम सामाजिक स्तर तथा निमित्त निम्न वर्ग में समय कपीन्द्रस्य केवल कुछ दिन तो मिंटो का था जैसे कोई एक कट सर आदि या नशीले पर्दाथ लेने वाला केवल अपनी अगली बहुत लिया खुराक के बारे में ही सोच सकता है । उच्चतम स्तर पर जो लोग दूसरी या तीसरी पीढी के नहीं थे, उन का समय का परिदृश्य अनेक वर्षों का था जिसमें कई दस तक भावी पीढियां भी शामिल थी । ये पता चला की सफलता पर केंद्रित रहने वाले व्यक्ति भविष्य से केंद्रित होते हैं । निरंतर अपने भविष्य के बारे में सोचते हैं । फिर देख कर के अनुसार किसी भी व्यवस्था में नेता का प्रधान दायित्व यही होता है कि वो उसके बारे में सोचते नहीं । काम किसी दूसरे का दूसरे का नहीं है, आपका ही उत्तरदायित्व बनता है । हर समाज के सिर पर रहने वाले लोग अपने रोजमर्रा के निर्णय के बीच आने वाले समय के दस को को अब का भी विचार करके देखते हैं । वेइस बारे में सावधानी से सोचते हैं कि इससे पहले की वे कोई महत्वपूर्ण निर्णय वादा लें, उसके क्या परिणाम हो सकते हैं? ये एक बडी सोच है । दीर्घकालीन सोच आपके परिदृश्य को निकालती है और असरकारक ढंग से आपकी अल्पकालीन निर्णय निर्धारित क्षमता में भी निकाल लाती है । आप जो सोचते हैं वहीं बनते हैं की तर्ज पर जब आप ऍम सोच को अपनाते हैं तो आपका वर्तमान में काम करने और सोचने का तरीका बदल जाता है । इस तरह आपकी भारी सफलता और भी सुनिश्चित हो जाती है । भविष्य की अरे अभिलाषा उन्नीस सौ चौरासी में गेरी हेमल और सी के प्लान ने काम पीती ओफ कम्प्यूटिंग फोर फीचर नामक व्यवसाय रणनीति पर उन उल्लेखनीय पुस्तक लिखी । उन्होंने इस पुस्तक में मजे से फॅमिली किया । उन्होंने लिखा, आप भविष्य में कहाँ जाना चाहते हैं? इस बारे में आप जितना स्पष्ट होंगे आपके लिए वर्तमान से जुड इंग्लैंड को उतनी ही सटीकता से लेना सरल हो जाएगा । उनके लोग फिर विचारों में से एक यही यह था कि अगर आप अपने उद्योग नेता मिलने के अलग से रखते हैं तो आपको आने वाले पांच साल लोग को ध्यान में रखते हुए समय से पर्सन करना होगा । अगर हमें नहीं कंपनी को सिकर सिकर तक ले जाना है तो आज से पांच साल के भीतर हमारी कंपनी के पास कौन से कौशल योग्यताएं क्षमता होनी चाहिए? जब आप के पास भविष्य के लिए स्पष्ट अभिलाषा या केंद्र आ जाता है तो आप के लिए पूरी स्पष्टता से सोचना आसान हो जाता है और आप उन निर्णयों को भी सहजता से ले सकते हैं जो आपको आपकी दीर्घकालिन लक्ष्य तक ले जाने के योग्य बनाएंगे । दिलीप कालीन पेट्स में बलिदान सबको बहुत ही मैट्रो माना जाता है । सफल लोग बलिदान करने को तैयार रहते हैं । वे वर्तमान में मिलने माल अल्पकालीन सुखों में सुविधाओं को विकसित कर देते हैं ताकि आने वाले समय में भेज बेहतर पुरस्कार पढ सकें । अगर आप दीर्घकालिन पुष्कर पाने के लिए अल्पकालीन पीडा को स्वीकार करने की संकल्प शक्ति अनुशासन नहीं रखते तो आपके लिए सफलता को बनाये रखने किसन माहौल नाम बहुत एक्शन हो जाएगी । सेवानिवृत्ति का संकट वर्तमान में अमेरिका और दूसरे देशों में हम सेवानिवृत्ति संकट से जूझ रहे हैं । बेबी बूमर पीडीके दस हजार सदस्य अमेरिका में हर दिन रिटायर हो जाते हैं । न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार ॅ जोडी रिटायरमेंट के समय बोस्तन मदद केवल दस हजार डॉलर होती है । यह धनराशि ट्रीटमेंट के केवल पंद्रह से बीस साल तक चल सकती है । अगर चार प्रतिशत को पैसे निकाल की धर्म माना जाए तो जोडा पर दिवस चार हजार एक सौ छोडा तथा प्रतिमाएं तीन सौ डॉलर निकल सकता है । इसके अलावा उसके पास सोशल सिक्योरिटी होती है । इधर खोलने वाले आधे जोडी इस उस तन राष्ट्रीय से पचास करती सब लोग पर होते हैं और पचास प्रतिशत जोडों को इसमें रास्ते से नीचे से नहीं रखा जाता है । कुछ टाइम को रही जोडो के पास तो कोई भी बचत नहीं होती । मानव जाती के इतिहास में अमीर माने जाने वाले देशों में ऐसा कैसे हो सकता है? सादा सा जवाब है समय की परिदृश्य का भाव । लोगों तो ये आदत होती है कि वे अपनी सारी कमाई देख कर देते हैं । आज लगभग सत्तर प्रतिशत व्यस्क एसा ही जीवन जी रहे हैं । उसके पास कुछ भी नहीं बचता और शिकायत करते हैं कि उन का महीना पाँच जाता है पर पैसे हो जाते हैं यह नहीं । अरे यही मानकर चलते हैं कि उनकी फिजूल करती कभी उनका नुकसान नहीं करेगी । आपका पडोसी लगभग बहुत से मिलेंगे और मल्टी मिलेंगे ऐसे भी है जो स्तन मध्यमवर्गी घरों में रहते हैं । उनमें से अनेक अध्यापक, ड्राइवर और सेल्स से जुडे हैं । पर वे आजीवन अपनी आय में से दस से पंद्रह प्रतिशत बताते हैं और आज वे धनी और सुविधाओं में रहने वाले माने जाते हैं । चक्रवर्ती भी आज के कर इसमें से प्रतिमाह सोलह बीस बीस से साठ पैसठ साल की आयु तक बचाये बताए जाने पर लगभग एक मिलियन डॉलर से अधिक मिल सकते हैं । दीर्घकालीन प्रदर्शित का विकास तथा आने वाले समय के पांच से अंदर सरसों का अनुमान आपकी वर्तमान सोच और काम करने के तरीके को बदल सकता है । मैं हूँ आई को करें धोना केंद्र और हेराल् की पुस्तक डबल डबल में वे एस मेरे लिखते हैं कि आप व्यवसाय के आकार को तीन वर्ष में दोगुना कैसे कर सकते हैं? उनका संदेश बहुत सरल है । आपको सलाह देते हैं कि आने वाले तीन सालों को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय ले कि आप तब तक आप की आय को दोगुना कर लेंगे । इस दिन रासी में विविध पच्चीस पर्सेंट प्रतिशत कर सक्कर भर्ती में आज शामिल होगा । फिर वर्तमान में लौटे और निखिल की इस लक्ष्य को पाने के लिए आपको कौन से आवश्यक कदम उठाने होंगे? अगर अब आपने वैसा या आई कुछ दो प्रतिशत पर पर माँ है बढाते हैं तो ये सब बीस प्रतिशत प्रतिशत हो जाएगा और तीन साल में आपकी आय दोगुनी हो जाएगी । अगर आप काम कर रहे हैं और आप अपनी पादकता, प्रदर्शन और परिणामों अति सकता या आदर प्रतिशत बढाते हैं तो ये एक सप्ताह में दो प्रतिशत हो जाएगा । प्रतिवद्ध अतिवीर छब्बीस प्रतिशत होने और आने वाले छत्तीस माय में आपकी आय दोगुनी होगी । नवी से से आए वापिस रिकॅार्ड करने का आरंभिक बिंदु यही होगा कि आप जिसे से वापिस आने की सोच का अभ्यास करें कल अपना करेगी आप जादू की छडी से ने आने वाले समय में जीवन को संपूर्ण बना करते हैं । आपको ये सिंपल जो किसान दिखाई देता है आपके वर्तमान जीवन सिक्किम से अलग होता है । इसके बाद वर्तमान में वाॅकर पूछे मुझे आज से ही ऐसा करना । ऐसा क्या करना होगा कि मैं अपने आने वाले समय के लिए एक संपूर्ण जेल पास्को आदर्श इकरन का अभ्यास करें, कल्पना करेगी इस बात की कोई सीमा नहीं है की आप अपने जीवन में क्या पा सकते हैं । अपने जीवन का चार महत्वपूर्ण क्षेत्र में स्टेशन करें । व्यवसायिक करियर, परिवार से संबंध, स्वास्थ्य में फिटनेस और वित्तीय स्वतंत्रता । आने वाले पांच सालों की कल्पना करने की आपका व्यवसायिक करियर और आयकर आई हर तरह से आदर से अब कितना कमा रहे होंगे । अब किस तरह का का काम कर रहे होंगे? अपने करियर किस मुकाम पर होंगे? आप किस तरह के लोगों के साथ काम कर रहे हैं होंगे आपकी पांच पर से कल अपना जितेंद्र कर ने कहा था, लोग अक्सर एक साल किये जाने वाले कामों का आवश्यकता से अधिक अनुमान लगा लेते हैं पर वही है सही तरह से तय नहीं कर पाते कि वे पांच परसों के भीतर क्या कर सकते हैं । जब आप एक बार अपने आने वाले पांच सालों के आदर्श करीर और आई कुत्ते कर ले तो वर्तमान में मुड कर देखें और सोचे की आपको यहाँ से वहाँ तक जाने के लिए कौन से आवश्यक कदम उठाने होंगे । इसके बाद पहला कदम उठाएगी । अच्छी खबर यह है कि आप अपने पहले कदम को हमेशा देख सकते हैं । आपको सीडी चलिए चलते समय हर कदम को देखने के आ सकता नहीं । बस आपको पहला कदम उठाना है और जब आप पहला कदम उठा लेते हैं तो दूसरा कदम अपने आप सामने आ जाएगा । जब आप दूसरा कदम उठाएंगे तो तीसरा कदम अपने आप सामने होगा । बस आपको पहला कदम उठाने की सेल करनी है और आपको जीवन में आगे जाने के लिए पहला कदम उठाना ही होगा । ऍफ का एक ने कहा है, एक हजार में लंबी यात्रा भी पहले कदम से ही आरंभ होती है । पहला कदम उठाना मिसाइल कठिन होता है । इसके लिए आपको बहुत बडे पाॅड संगत की होगी और है तो हम बाकी उन सभी का मुझ से अलग होगा, जिन्हें आप आज तक करते आए । पर जब आप एक बार पहला कदम उठा लेंगे तो आपको तो आप के लिए दूसरा कदम उठाना उतना ही कठिन नहीं होगा और फिर तीसरे कदम कि मारिया जाएगी । आप कुछ ही माह में इतना सब कुछ हासिल कर लेंगे, जितना पिछले वर्षों के दौरान भी हासिल नहीं कर सकते । हो सके थे आपका परिवार और सम्बन्ध अपनी जादुई छडी को फिर से गुम आए और अपना करेगी । आपका परिवार और सम्बन्ध हर तरह से आदर्श है । वे किसी दिखाई देंगे । आप के साथ कौन होगा? कौन लोग आपके साथ नहीं रहेंगे? अगर आपका भी होगा तो आपके परिवार की किसी जेल से ली होगी और आप लोग किस तरह अवकाश मनाने जाएंगे? आपका परिवार के से कुछ साल होगा । इसके बाद भविष्य से मुडकर वहाँ देखिए, जहाँ आप है । फिर तय करें कि आपने इसलिए उस आदर्श अगस्त अवस्था तक पहुंचने के लिए आपको कौन कौन से आवश्यक कदम उठाने होंगे । आपकी हिस्से में आदर्श परिवार और जीवन शैली को पाने के लिए आप को क्या क्या करना होगा? अपने आप से इस विषय से संबंधित साल पूछे । तीन सारे एक स्वास्थ्य अपनी सेहत और फिटनेस के बारे में सोचते हैं । अगर आने वाले समय में आपकी सेहत फिट होगी तो ये ये है वर्तमान से किससे अलग देखेगी आप? कितने आप फिटनेस के किस तरह का आनंद लेना चाहेंगे? आपका वजन कितना होगा, आपका आर कैसा होगा, आप कौन से काॅफी तो अपने जीवन में शामिल करेंगे । आप कौन सी विश्राम तकनीकों का प्रयोग प्रयोग में लाएंगे? इसके बाद अपने वर्तमान में वापिस आ जाए और सोचे की अगर मुझे आने वाले समय में फिर फिटनेस का ये तो उस आदित्य अवस्था को पाने के लिए अभी से कौन से अवश्य कदम उठाने होंगे । इसके बाद पहला कदम उठाए कुछ करें, कुछ भी करें । पूरे भरोसे के साथ आगे चले और आप हमेशा आपने पहले कदम को देख सकते हैं । ठीक है स्वतंत्रता आपकी वित्तीय स्वतंत्रता और उपलब्धि की ठीक है । में भी ध्यान देना होगा अपने मम्मी से कि और आगे जाएँ और पूछे मुझे उससे मैं आरामदेह जीवन पाने के लिए कितने धन की आवश्यकता होगी । हम आपने सेमिनारों में व्यवसाय के मालिकों को दस नंबर के बारे में बताते हैं है । इसी विषय पर लिखी गई एक बेहतरीन किताब का नाम भी है । इसमें पूछा जाता है आप कुछ आपका नंबर क्या है? इसी कौनसी निश्चित तलासी है जिससे आप आजीवन कमाना, बच्चे बचाना या ने इस करना चाहते हैं । खासतौर पर आपको साल दर साल और महा डर्मा है । अपनी जीवनशैली कुछ चलाने के लिए कितने धन क्या सकता होगी? यहाँ नीतियां आजादी पाने का बडा सरल सूत्र है । पहले ये तय करेगी कि आप अगर आपके पास कोई आए हो तो आपकी वर्तमान जीवनशैली के अनुसार घर चला लेंगे । आपको कितनी धन की जरूरत होगी? सत्तर प्रतिशत से अधिक व्यस्त की है । तय नहीं कर पाते की उन्हें हर महाकाव्य करने के लिए अल्लादीन कितना पैसा चाहिए । वार्सी वे जब आप अपने लिए महीने में होने वाले थे तो कर ले जो आपके वर्तमान के लिए नियमित और अपेक्षित खर्चों के मेल सिंगर बनेगा तो इस नंबर को बाहर से गुणा कर दे । इस तरह आपको पता चल जाएगा कि अगर आप के पास पूरे एक साल तक आई हो तो आपके पास काम चलाने के लिए कितना बचत होनी चाहिए । अगर आपको अपनी वर्तमान जीवन सिलचर ने के लिए टैक्स देने के बाद पांच हजार डॉलर प्रतिमाह चाहिए तो पूरे पर्स के लिए यह राशि साठ हजार डॉलर होगी । अगर आपके पास कोई आया नहीं रही तो ये मतलब आपको पूरे एक साल तक सारा दे सकती है । आखिर में अब आप अपनी वार्षिक आई को बीस से गुणा कर दें । आज अपने साथी के रिटायरमेंट के बाद अंदाजे कितना समय अवस्थित जीने वाले हैं । इसी उदाहरण के अनुसार अगर आप कुछ साल भर आराम से जीने के लिए साठ हजार डॉलर सही तो इससे बीस से गुणा करने के बाद आपको वर्तमान जेल से लिख को बनाये रखने के लिए वन पोइन्ट टू मिलियन डॉलर की जरूरत होगी । अगर आप चाहे तो अपनी मासी क्या वार्षिक आय में से पेंशन की धनराशि को बता सकते हैं । पहला कदम उठाए इसके बाद पहला कदम उठाएं एक । रिटायरमेंट खाता बीती आजाती खाता खोले ये है एक लगता है जिसमें आप हिस्सा पैसा रखेंगे जिससे आप काम कभी किसी भी कारण से नहीं निकालेंगे । किसी वित्तीय सलाहकार सलाह लें, अपनी आई कैसी से नब्बे प्रतिशत के अनुसार जीना सीखें और अपनी बाकी धनराशि की बचत करें या उसका निवेश कर दे । इससे अपने जीवन के महत्व लक्ष्य में से एक मान मान ले ताकि आपको भी दिए आज अधिक मिल सके और आने वाले समय में अपने लिए हित नंबर को पा सकें । जब आप अपने लिए नंबर तय कर ले तो इससे पानी की योजना तैयार करें । अपनी योजना के अनुसार कार्य करे और लगातार बचत मैंने इस करते रहे । इस तरह आने वाले समय में आपके लिए उस नंबर को दस गुल गुना बढोतरी तक पानी की संभावना बढ जाएगी । एक निर्णय ले आज रिकॉर्डिंग प्रदर्शि विकसित करने का संकल्प ले । भविष्य के प्रति गहन रूप से के रहे अधिकतर समय भविष्य के बारे में ही विचार करें । अपने निर्णय और कार्यपरिणाम ओवर गोल करें । क्या होने वाला है और क्या हो सकता है और उसके बाद क्या होगा? आप अनुशासन, आत्मसंयम और आत्मीय नियंत्रन का अभ्यास करें । अगर आप आने वाले बेहतर भविष्य की कल्पना रखते हैं तो उसके लिए आज ही कीमत चुकाने को तैयार रहे हैं और इसके बाद पहला कदम उठाएं । अच्छी मंशा आसा इच्छा या सपनों को सफलता या असफलता की भी बात । मेरी बात रेखा नहीं माना जा सकता है । आप अपने जीवन के हर क्षेत्र से क्या चाहते हैं?