BlogAbout us

Made with  in India

सुभाष चंद्र बोस | लेखक - अतुल मिश्रा in hindi | Subhash Chandra Bose | Writer - Atul Mishra हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

सुभाष चंद्र बोस | लेखक - अतुल मिश्रा in hindi

Subhash Chandra Bose Biography Voiceover Artist : RJ Sakshi Author : Atul Mishra Subhash Chandra Bose, the man who is and will always be remembered for his great contribution in building a United India irrespective of so many religion and castes. Netaji Subhash Chandra Bose was a fierce nationalist, whose defiant patriotism made him one of the greatest freedom fighters in Indian history. Listen about the gutsy Subhash Chandra Bose in Hindi and get more Subhash Chandra Bose information in Hindi. Subhash Chandra Bose was born in Cuttack, Orrissa in 1897. Subhash Chandra death happened while he was taking off for Russia in a Japanese aircraft which met with an accident on 18 August 1945. This is Subhash Chandra Bose biography by Atul Mishra. Listen to it if you want to know more about the courageous and heroic deeds of Subhash Chandra Bose in Hindi. While fighting against the Britishers, Subhash Chandra Bose quotes while addressing to the people of nation as “You give me your blood, I’ll give you freedom”. Subhash Chandra Bose’s information and biography are the precious heritage of India which should be preserved. सुभाष चंद्र बोस, वह इंसान जो आज भी याद किया जाता है और आगे भी याद किया जाएगा उसके महान योगदान के लिए जिसने अध्यात्म के परे एक अखंड भारत की स्थापना की बावजूद इस बात के कि यहाँ कई धर्म और जाति के लोग रहते हैं और आज वे एक साथ मिलकर रहते हैं। नेताजी सुभाष चंद्र बोस वह उग्र नेता थे जिनकी देश भक्ति की भावना ने उन्हें भारत के इतिहास का सबसे बड़ा स्वतंत्रता सेनानी बना दिया। तो सुनिए साहसी सुभाष चंद्र बोस के बारे में हिंदी में और जाने उनकी वीर गाथाओं के बारे में। सुभाष चंद्र बोस का जन्म कटक, उड़ीसा में 1897 में हुआ था। सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु तब हुई जब वे अपनी रूस की यात्रा पर, जापानी एयरक्राफ्ट से 18 अगस्त, 1945 को जा रहे थे। यह सुभाष चंद्र बोस की बायोग्राफी है जो कि अतुल मिश्रा द्वारा लिखित है। अगर आप सुभाष चंद्र बोस की साहसिक और वीरतापूर्ण कार्यों के बारे में हिंदी में जानना चाहते हैं तो यह सुनें। जब सुभाष चंद्र बोस ब्रिटिश सरकार के खिलाफ लड़ रहे थे तो उन्होंने अपने देश के लोगों को कहा था “तुम मुझे खून दो उस मैं तुम्हें आजादी दूंगा”। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बारे में जानकारी और उनकी बायोग्राफी भारत के लिए महत्वपूर्ण विरासत के समान है और इस को बचाया जाना चाहिए।