BlogAbout us
जीत आपकी Epishode 2 in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Audio Book | 33mins

जीत आपकी Epishode 2 in hindi

AuthorBecome
Hello Sir...This is Saurabh Singh...and you can win is one of the best international bestseller book...So listen very carefully and stay tuned with 🌟 Thanks For more updates follow me on instagram👉https://www.instagram.com/become_star_official/
Read More
Listens1,442
Transcript
View transcript

फॅस और और और आप सभी का स्वागत है क्योंकि वो संपर्क सुने जो मनचाहे हम लेकर आ गए हैं । आॅड दिन यानी जीता कि जिसके रायॅल ऊपर और इस एपिसोड वन में हम बात करने वाले फॅर यानी हमारे नजरिए का महत्व देखो । अगर हारवर्ड यूनिवर्सिटी के विलियम जेम्स का कहना है कि हमारे पीढी की सबसे बडी खोज है कि इंसान अपना नजरिया बदलकर अपनी जिंदगी को बदल सकता है और ये एकदम सही बात की अगर कोई सक्सेस तक पहुंचा है । फॅमिली नियर मिली नहीं है वो सिर्फ और सिर्फ अपनी एटीट्यूड अपने नजरिए की वजह से उस मुकाम तक पहुंचे हैं । ये मैंने ये कई राइटर और कई बडे बडे अंतरप्रवाह नहीं बात सही है फॅस ये पता लगाया गया कि एटी फाइव परसेंट मौकों पर किसी इंसान को सक्सेस या जॉब और या कामयाबी सिर्फ और सिर्फ उसके नजरिए की वजह से ही मिलती है । जबकि फिफ्टीन परसेंट मौकों पर उसे चौक कह सकते, उसके नॉलेज, उसके तथ्यों, ये उसके आंकडों की वजह से ही मिलती है । ऍम राजा लगा सकते हैं की सक्सेस तक पहुंचने के लिए हमारे एटीट्यूड का होना कितना ज्यादा जरूरी है । नौले स्किल यह तथ्य यहाँ खडे काम नहीं आती हैं । काम आता है तो आपका एटीट्यूड आपका नजरिया देखिए । मैं आपको एक बात बताता हूँ इसमें राइटर नहीं का ये मैं अपनी तरफ से बोल रहा हूँ की लेकिन जब आप अपने आप को नहीं जानते हो जब तक आप अपने आप को नहीं पहचान हो गए कि आप क्या हो, क्या नहीं हो आप लाइफ में क्या करना चाहते हो, क्या नहीं करना चाहते हो? टाॅवर नहीं है तो बाहर की दुनिया में कैसे सरवाइव कर पाओगे । जब तक आप अंदर नहीं मजबूत नहीं हूँ तो कोई भी सिंपल सा ऐसा धारण से लोग आपको ठोकर मार के चले जाएंगे । तुरंत गिर जाओगे क्योंकि आपका फॅमिली है और जो आपका एटीट्यूड आता है, जो ऍन आता है वो आपके अंदर से ही आता है । अगर आप अंदर से स्टॉल हो, अंदर आपके मॅन बिल्कुल क्लियर है, आपकी ऍम है तो आपका पॅन होगा । जब आपका ॅ होगा तो आपको सफलता भी उतनी ही मजबूत और उतनी ही शानदार मिलेगी । यहाँ बात मानते हो सर, ये बात आपको ऍम करनी ही पडेगी लेकिन अगर आप अंदर से ही कमजोर हो बाहर से तो आप चाहे जैसे हो तो बाहर के लोग आपको गिर आगे चले जाएंगे तो मैं आप से ही बात करना चाहता हूँ कि बाहर की दुनिया से जिले से पहले आप अंदर की दुनिया में जियो बाहर के लोगों को पहचानने से पहले पहले आप अपने आपको पहचान आप अपनी ताकत का आंकडा लगाइए । क्या के अंदर कौन कौनसी पावर? आप क्या क्या कर सकते हो? वो पहुंॅच बहुत बडा क्रिएट कर देता है । अच्छा मेरे एक सवाल में जवाब दीजिए कि क्या कोई स्पोर्ट ॅ की वजह से एक अच्छा फुटबॉलर बन पाएगा? क्या महेंद्र सिंह धोनी अपने अच्छे एटीट्यूड की वजह से कच्चे क्रिकेटर बन पाते हैं? क्या एक बिजनेसमैन जिसे अंबानी ॅ अपने अच्छे लगे की वजह से कच्चे ऍन बन पाते? क्या अब्दुल कलाम सर, आपने अच्छे नजरिये की वजह से इतने अच्छे मुकाम पर पहुंच पाते हैं । आप सभी कैंसर आएगा? नहीं, ऍम नहीं, यह मेरे पास तो सोचते थे । दुनिया से हटकर चलते थे, लोगों से हटकर सोचते थे और लोगों से हटकर काम भी करते थे । देखिए, मैं देखिए इस बुक में बहुत अच्छी बात कही गई जो बुक के कवर में ही लिखी गई है । जीतने वाले कुछ लग नहीं करते हैं । वो हर काम को अलग ढंग से करते हैं और वो एकदम सही बात है । अगर आपको जीते तक पहुंचने आपको जीतना है तो आपको हर काम को अलग ढंग से करना पडेगा । अगर कोई दो घंटे पडता है आप चार घंटे पडी अगर कोई हार्ड वर्क करता है आप उसमें स्माॅल की इस काम को मैं कितने स्मार्ट तरीके से जल्दी से करता हूँ तब आप सक्सेसफुल बनेंगे । मैंने दुनिया की रेस में तो सब चल रहे हैं तो बहुत अच्छी बात । राइटर ने बोली इसमें जो मुझे भी बहुत अच्छे लगे और मैं आपसे भी कहूँ इसको आप नोट ऑन कर लीजिए कि जीतने वाले कोई अलग काम नहीं कर रहे हैं । बस वो हर काम को अलग ढंग से करते हैं और वही लाइफ में बहुत बडे ऍम करके देता है जिससे हमें पॅाल के आता है जो उनको हमेशा बूस्ट अप करता रहता ऍम कुछ हासिल करना है अपने नजरिए को बदलने आपको पता है कि आप क्या हुआ आपका एटीट्यूड कहते हैं तो तो बहुत अच्छी बात । राइटर ने बोली और जो मुझे भी अच्छी लगी । देखिए इस फॅमिली हमारे नजरिए का जो महत्व है हमारे एटीट्यूड को, हमारे नजरिए को और अच्छी तरीके से समझने के लिए मैं आपको एक स्टोरी सुनाता हूँ और ये स्टोरीज बुक में ही है । जिसका नाम है डेवलॅप । मैं समझ सकता हूँ कि आपने से बहुत सारे लोगों ने इस कहानी को या तो सुना होगा या तो पडा होगा । ऍम लोगों ने नहीं सुना या नहीं पडा तो मैं आपको बताता हूँ । देखिए गोलियाँ ऍम था । उसने हर आदमी के दिल में दहशत बना दी जबकि आता था जिसको भी चाहता था उसको मार देता था तो सारे लोग उससे डरते थे । सारे लोगों के दिल में एक कसक थी कि वह बहुत बडा राज्य है । उससे नहीं जी सकते हैं । एक दिन एक दिन क्या हुए? सत्रह साल का भेज चलाने वाला लडका अपने भाईयों से मिलने आया और जब उसने उस राज्य को देखा तो उसने गांव वालों से और आस पास के लोगों से कहा क्या फॅमिली नहीं हो वो तो खेला आप । इतने सारे सारे लोगों ने बोला तू पागल हो गया क्या इस राष्ट्र को मारा? इतनी बार बात नहीं है, जो भी इसके पास जाएगा ये उसे मार देता है । लडवाना इससे जीत पाना हमारे लिए क्या आप सब के लिए उसके लिए नामुमकिन है? हमसे नहीं मार सकते हैं ये बात उस लडकी वो अच्छी नहीं रही । उसने क्या किया उसने वो जो होता है तीस दिन गुले उससे करके उसने उस रात को एक ही बार में मार दिया । कितने बडे रात को उसने सिर्फ एक छोटे से कंकर से मार दिया । सारे लोग हैरान रह गए और सारे लोगों ने जब उससे पूछा कि तुम ने ऐसा क्यों किया तो उसने बहुत ही अच्छा जवाब दिया और वो जवाब था कि मेरा नजरिया कुछ और था और आपका नजरिया कुछ होता है । अच्छी बात बहुत अच्छी है । बहुत हंस आने वाली है की देखिए सर उस लडके का उस रात को लेकर एक अलग ने दे दिया था और जो बाकी लोग थे जो से दहशत खाते थे जिससे डरते थे उनका उस राक्षस को लेकर यानी गोलियथ को लेकर एक अलग नजरिया था । उनका नजर लिया था कि वह से डरते थे उनका नाॅट ताकि हम उस से नहीं जी सकते हैं और उस सत्तर हजार के लडके का एटीट्यूड था की मैं को हरा सकता हूँ । समझ लीजिए कितनी बडी बात एक इतने बडे रात को सिर्फ एटीट्यूड की वजह से मार के गिरा देगा । ये बहुत बडी बात होती है । तो जब एक छोटा सा लडका एक इतने बडे राज्यों को अपने एटीट्यूड की वजह से मार सकता है तो आप एक सफलता तक पहुंचने के लिए अगर आप के साथ एटीट्यूड नहीं है, आपका पाॅप के साथ नहीं है तो आप कैसे सफल हो जाएंगे? अगर आप उसको मारना होता वो अपनी ऍम उसका आॅस्टिन सोचा अच्छी फॉर्म थी । उसने दिमाग लगता है की मैं तो ऐसे मार सकता हूँ । उसने वैसा ही किया था । बाकी सारे लोग के अंदर एक था कि हम मर जाएंगे । हम अगर इससे लडेंगे, मैं मार देगा लेकिन बच्चे ऐसा नहीं है । तो अगर आपको सफल होना है तो आपको डेविड की जैसा ही आईटी टूट रखना होगा ना कि उन सारे लोगों की तरह अगर डेविड की तरह रखोगे तो गोलियाँ जैसी असफलता को अब तुरंत मारकर सफलता तक पहुंचा हूँ । मेरा मतलब था की गोलियाँ आपके लिए एक असफलता ही है । आप आप सफलता से बहुत डरते हो कि हम सफल नहीं हो पा रहे हैं । अगर हम किसी काम स्टार्ट करेंगे ये तो बहुत बडे बडे लोग करते हैं । जिनकी फाइनेंसियल कंडीशन अच्छी है वो करते हैं । हम कैसे कर पाएंगे ये उनके लिए ही है । आप अपना ऍफ बनाई है आपके अंदर एक्सॅन की । आप अपने गोल किसने जगह से देखते हो । आप आई एस ऑफिसर बनना चाहता हूँ तो आप उसको किस नजरिये से देख तो आप एक स्पोर्ट्स में जाना चाहता हूँ । आॅॅफ क्रिकेटर बनना चाहते हो तो आप क्रिकेट ऍसे देखती हूँ । क्या बाॅधें धोनी, विराट, सचिन जैसे क्रिकेटर बनता हूँ? अगर आप ये सोचो कि हमें बन जाऊंगा आॅइल ऍम तो फॅमिली का तो सबसे जरूरी है कि अगर आप कोई बोल बनाते हैं और उसमें अच्छा लेना है तो सबसे पहले आप यह सुनिश्चित कीजिए मैं जोर की आप उसको किस नजरिये से देखते हैं । क्या आपका ॅ है क्या? ये सोचते कि हाँ मैं कर लूँगा और मैं करके दिखाऊंगा आप कर लोगे ऍम तो आपको तभी हो जाता है फिफ्टी परसेंट सकते तो आपको तभी मिल जाती है जब आपको किसी काम को स्टाॅफ ये कहते हैं कि मैं ऍम को कर लूंगा तो आप कर लोगे फिफ्टी परसेंट तो फिर आपका करना ही करना रह जाता है । लेकिन अगर आप पहले यहाँ चाहती हूँ की मैं शायद कर पाऊंगा सायद कास पता नहीं तो ये चीज आपको ऍम । ये एक बहुत अच्छी चीज है कि आप अपना एटीट्यूड अच्छा बना के रखते हैं । देखिए इसमें ये बुक में ही सारी बातें नहीं लिखी है । लेकिन मेरा एक इनडायरेक्ट तरीका यही है कि जो राइटर ने इसमें बोला है कि आप अपने आॅटो उस चीज को मैं अपनी तरफ से और एक्सप्लेन कर के बता रहा हूँ । इन सॉर्ट में अगर आपसे बताऊँ तो वो सारी किया तो ग्रुप में मिल जाएंगे जो मैं आपको बोल रहा हूँ । अगर आप मैं बहुत सारे लोगों ने बुक पढी होगी तो वह कहेंगे की पता नहीं क्या बोलना है क्या नहीं बोल रहा है तो मेरा इंटरेस्ट हो नहीं है बट अगर आप ध्यान से समझो तो मेरा कहने का मतलब बिल्कुल से नहीं है कि मैं टूट के ऊपर ही बात कर रहा हूँ बस हाँ मैंने थोडे अपने से वर्ल्ड जोड दिए हैं तो आपने भी वर्ल्ड जोडने जरूरी है तो अगर मेरे अंदर नॉलेज है, अगर मैं शेयर कर रहा हूँ तो एक अच्छी बात है । इसके बाद राइटर ने जो बात कही है वह ऍम यानी संस्थाओं के लिए नजरिये का महत्व । इसमें राइटर ने कहा कि मैं बहुत सारे तौर पर एसेंस के बडे बडे अफसर से मिल चुका हूँ और उन से मैंने पूछा की अगर आप एक जादू की कोई छडी दे दी जाए तो और उस छडी से आपको एक चीज बदल नहीं हूँ । सिर्फ एक चीज तो आप क्या बदलेंगे? तो उस ऍम के उस बडी बडी कंपनी के जो अफसर थे उन्होंने सिर्फ एक ही जवाब दिया और वो जवाब था कि अगर हमें कोई जादू की छडी मिल जाए तो हम एक ही चीज बदलेंगे लोगों का नजरिया, लोगों का एटीट्यूड और वह क्यों? वो इसलिए अपसरों ने बहुत अच्छा जवाब दिया शुखेरा सर को ये अगर हम लोगों का नजरिया बदल रहेंगे, लोगों के अंदर पहुॅचाया तो लोगों के ऊपर एक रिस्पांसबिलिटी आ जाएगी कि हमें अपनी कंपनी को कैसे लेकर चलना जब रिस्पॉन्सिबिलिटी जाएंगे एक यूनिटी बन जाए । अब आप जानते यूनिटी एक सफलता था पहुंचने में कितना बडा ऍम करती सोसाइटी के लिए यूनिटी कितनी जरूरी होती है । लाइट तो जब एक यूनिटी बन जाती है तो जब सारे लोग मिलकर काम करते हैं तो सबकी अलग अलग होती हैं । जब सबकी सबकी अलग अलग होंगे तो लोग अलग अलग बातें करेंगे । अलग अलग तरीके से चीजों को समझेंगे । वो अपने विचार एक दूसरे से शेयर करेंगे । उससे नॉलेज बढेगा । जब नॉलेज बढेगा तो कई ये सारी चीजें कई सारी चीजे डेवलॅप होंगे तो कंट्री का विकास होगा । ऍफ करेगी तो वो जितनी भी कॉमर्स कंपनी है उनके अफसरों ने यही बोला कि हम नजरिया बदले अगर लोगों का नजरिया बदल जाएगा तो नेपोटिज् अपने आप खतम हो जाएगा । जो लोगों के बीच में सारी जो पार्टी क्वालिटी है वो खत्म हो जाएगी । लोग अपना समझकर कंपनी को अपना समझेंगे, किसी तरह की कोई इस्काॅन नहीं होंगे और लोग आपस में मिलकर काम करेंगे । तो जब सिखेरा करने ये बहुत पूछे उन्होंने बहुत अच्छा जवाब दिया और उसी जवाब को उन्हें जो अपसरों ने जवाब दिया उनको उन्होंने इस बुक में लिख दिया । तो अगर कोई पढ रहा है तो उनको किससे फॅमिली ऍम ये बहुत ही अच्छा टॉपिक था । बहुत अच्छा लगा आयोग आप को भी अच्छा लगता होगा । सुनकर इसके बाद जो बात कही गई है वो है ठीक यूपी यानि टोटल क्वालिटी पीपुल । टोटल क्वालिटी पीपल का मतलब क्या होता है ये मैं आपको समझाता हूँ । टोटल क्वालिटी पुल का मतलब होता है जिसके अंदर सारी क्वालिटी हूँ जिसके साथ जिस स्थान के अंदर सारी विशेषताएं । अब ये बहुत जरूरी होता आपको सक्सेस तक पहुंचने के लिए कि जब आप कहीं मार्केट जाते हैं, यह मॉल पर जाते हैं तो वहाँ पर जो कस्टूमर वहाँ पर जो सेलर होते हैं जो सेल करते हैं, ये डिलेवरी वाले कभी आपके घर आते हैं ना किसी प्रोडक्ट को डिलीवर करने तो आप ने उनके बातचीत करने का तरीका देखा होगा । मैं सारो को तो नहीं कह रहा हूँ । उनमें से बहुत सारे लोग होंगे जिसका जो बात करने का तरीका होगा वो बहुत अच्छा हूँ । मेरा कहने का मतलब ये है कि वो आप ग्रेड करेंगे । आपको थैंक्यू बोलेंगे । आपको सवारी बोलेंगे, फॅमिली बोलेंगे, फॅमिली तरीके साहब से बात करेंगे तभी आपसे नाराज नहीं । अगर आप कुछ कह भी देंगे तो आपकी बातों को बुरा नहीं आते हैं तो कई सारे से लोग मिल जाएंगे । ऍसे मिल जाएंगे या कहीं माहौल पर जाएंगे तो जो बेस्ट है । राइट तो बहुत सारे ऐसे लोग हैं या आपके जो राउंडिंग में जो बहुत सारे लोग जो सक्सेसफुल है तो फॅमिली नहीं होता है । टोटल क्वालिटी नहीं होती के अंदर लेकिन कई सारे लोग ज्यादा सक्सेसफुल भी नहीं है लेकिन अंदर लेकिन उनके अंदर ठीक यूपी है वो तो टोटल पॅापुलर और वहीं उनको आगे तक ले के जाएगी । आज नहीं तो कल लेकिन जरूर जाएगी तो आप के बहुत सारे लोगों को देखा हूँ । हमेशा ग्रेट करते हमें अच्छे से बात करते हैं । कभी आपकी बातों को बुरा नहीं मानते हैं । आप चाहे कुछ भी बोलते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो आपकी छोटी छोटी बातों को बुरा मान जाते हैं । वो टी छुट्टी नहीं है । उनके अंदर टोटल पार्टी पीपल वैसे लोग नहीं होता है तो बहुत सारे लोग यहाँ एक की जा रहे हैं । बहुत सारे लोग हैं जो टिक यूपी भरने की कोशिश करते हैं । जैसे आपने है आपने कभी ये चीज महसूस की हॅाट की है कि कई सारे लोग लाइफ में मिल जाता है । जब आप किसी काम के जब आप उनसे मिलने जाते हैं, आप से कोई बात करते हो तो आपको वो आपको पसंद नहीं करते हैं । अंदर से बहुत आपसे चलते हैं या आप कहीं जाते हैं । किसी रिलेटिव यहाँ तो आपको चाहते हैं कि आप यहाँ से चले जाओ । बट वो बाहर तरीके जो भी होता है जो कि वो एक बारी तरीके से वो मुस्कान देते हैं । मतलब अंदर नहीं मिलता नहीं चाहते हैं लेकिन वो झूठी आती हैं । ऍम बोलेंगे, आपको अच्छे से बैठाएंगे । किसी तरीके से आपको स्वागत नहीं करेंगे । वेलकम तो करेंगे ही नहीं । वो झूठी हंसी हंसेंगे । झूठा वाला वेलकम करते हैं । अगर आप कहेंगे हम जा रहे थे मैंने छुट्टी चाहिए, फॅमिली जाइए । लेकिन अगर पहले नहीं जाएंगे तो नहीं अच्छे किये जाएंगे वो झूठा फ्लॅाप समझ रहे हो इस बात को तो वो आॅफिस को जो चला लोग होते हैं जैसे हम जैसे लोग । आप जैसे लोग तो वो चीज को समझ जाते हैं । यहाँ ये जो भी आपकी यात्रा है इसके अंदर ठीक यूपी नहीं आॅल नहीं है । लेकिन जो सच में जिनका नाॅक यूपी होती है वो बहुत अच्छे होते हैं । वो आपका पूरी तरीके से आपको वेलकम करेंगे । आप का हमेशा स्वागत करेंगे, आपसे हमेशा अच्छे से बात करेंगे और वो उनका एटीट्यूड उनके अंदर वो जो यूपी होती है वो उन्हें सबसे सर लेके जाती है क्योंकि आज चाहे वो जो कर रहा हूँ कल वहीं चीज आगे तक ले के जाएगी और जो आज इतने सक्सेसफुल है उनको वही जी नीचे गिरा दे । कहता नहीं सफलता तक तो पहुंची है लेकिन जब आप चाहिए तक पहुंचेंगे, सफलता ही चाहिए था पहुंचेंगे तो उसके साथ आप सफलता को लेकर चाहिए । अपने घमंड को, अपने निगेटिव टिट्यूट को टाइम सब चीजों को अपने साथ मत लेकर जाएंगे । बनेगी आपको फिर से नीचे की जमीन फेक देंगे । इसके बाद आप फिर क्या सक्सेसफुल होऊँगा फेल हो जाओगे । फेलियर कहता हूँ ऍम यूपी नहीं । आप टोटल क्वालिटी प्यूपल नहीं है तो आप बनने की कोशिश कीजिए । स्टार्टिंग में कुछ नहीं होता है । धीरे धीरे होता है हूँ । आप मेरा अच्छा हो चाहिए । अगर कोई आपसे गलत बोल रहा है उसका जवाब मत दीजिए । देखिए एक बार दो बार तीन बार तो सुन लीजिए उसके बाद मसूद उसके बाद मैं सुनी है । मैं नहीं कह रहे क्या सुनते ही रही है वो जो महात्मा गांधी वाला ऍफ चला गया की अगर आपके एक साल में कोई तमाचा मार रहा तो दूसरे मैं भी खा लेना चाहिए । वो महात्मा गांधी के टाइम होता होगा । ऍम अगर आप काले एक डालने कराते कोई तमाचा मार देगा और अब दूसरा गाल भी कर दोगे तो आपकी एक तमाचा ही मारे । वो फिर आपकी मारता ही चला जाएगा । तो उस चीज को थोडा ओवर काम हम लोग को करना चाहिए । एक । माफ कर दीजिए । गलती दो । गलती माफ कर दीजिए । तीन । गलती माफ कर दीजिए लेकिन अगर बार बार कोई आपको गलत बोल रहा है तो वो गलत है तो उसके बाद आप जवाब दीजिए । लेकिन तुरंत जवाब दे दिया तो आपको किसी ने आपको ये जो आपको किसी ने कुछ बुरा बोला है तो उसका जवाब मत दीजिए । नहीं सफलता के साथ जवाब दीजिए । आप लाइफ में कुछ बडा कर लेंगे तो खुद उनको जवाब ऍम जो आपसे नफरत कर रहे होंगे तो हम अपने अंदर की क्यू पिला दिया । आप जितना हो सके अच्छा बनने कोशिश कीजिए हमेसा अच्छा सोची है । अपने विजन बिल्कुल के लिए रखे हैं । हमेशा अपने आपको विजली रखी है । अगर आप अपने आपको मैं जब भी जी रखेंगे तो फालतू कीजिए । आपके माइंड में कभी नहीं आएंगे । कभी ट्राई करके देख लेना ये तो यूनिवर्सल स्रोत है । तो अपने आप को मैं बीजी रखें । कोई न कोई काम करते रहे हैं । अगर आप अपने गोल पर आप कर चुके हैं । ये जो आप अपनी लाइफ में करना चाहते हैं वो आप कर चुके तो थर्ड पार्टी कोई काम कर सकते हैं । आॅडर सकते हैं । सत्या सिंगर सकते हैं । आप यूट्यूब पे कुछ भी कर सकते हैं । क्या मतलब आप समझ गए होंगे? क्या थर्ड पार्टी कोई भी काम कर सकते हैं लेकिन अपने आप को फ्री मत रखिए । श्री रखेंगे तो फालतू कि चीजें ही आएंगे । टीक्यूप फॅमिली नहीं तो कभी नहीं । धीरे धीरे हम ऐसा अच्छा सोचिए ॅ लाइए, अपना विजन के लिए रखी आपने फिर ॅ और नीचे पे काम कीजिए । क्या इसमें काम करना है और इस चीज को आपको पाना है? अब वो चीज क्या है? वो तो मैंने ज्यादा वो चीज हूँ तो ये बहुत अच्छा टॉपिक था । टोटल क्वालिटी ऍफ कोई समझ में आया होगा । इसके बाद एक बहुत अच्छी बात बताई गई । इस बुक मैं की हाउस रिकाॅॅर्ड सकारात्मक नजरिये वाले लोगों को कैसे पहचान है? आप कैसे पहचाने कि किसके अंदर पाॅड? देखिए जिस तरह सेहत खराब होने का मतलब अच्छी सेहत नहीं होता है उसी तरीके से किसी साल के निगेटिव होने का मतलब ये नहीं है कि वो निगेटिव वो पास है । इसका मतलब ये नहीं कि वह ॅ मेरा मतलब आप समझ रहे हैं कि देखिए कई बार ऐसा होता है कि अगर किसी के अंदर निगेटिव एटीट्यूड है नहीं है तो पास होता होगा । कोई न्यूट्रल भी होते हैं । जैसे देखिए मैं सबसे अच्छा एग्जांपल आपको देता हूँ, वो एक्जाम्पल आएगी जैसे आप लाइफ में कुछ करना चाहते हैं, आपके गोल है । लेकिन कुछ लोग ऐसे होंगे जिसके ना तो लाइफ कोई बोले जैसे मैंने स्टार्टिंग में बताया था बेमकसद जो तेल ऐसे लोग होते डॉक्टर की अगर आपके अंदर निगेटिव एटीट्यूड नहीं । इसका मतलब ये नहीं कि आप केंद्र पॅाल है । आपके अंदर कुछ भी नहीं ऍम अगर मैं कहूँ तो ऐसा हो जाता है । आप बात करते कि आप पांच लोगों को कैसे पहचान नहीं तो पांच लोगों पहचानने के लिए मुझे बताने की कोई जरूरत नहीं । आपने सिर्फ सारे लोगों को पता होगा की देखिए नजरिये तो कई सारे फायदे होते हैं ये तो मैंने अभी पूरा बता दिया । मैंने आईटी टूट का होना सफलता के लिए बहुत जरूरी होता है । लेकिन अगर आप ऍम लोगों को पहचानना जाते हैं, उन से बाते करना चाहते, उसे ऍम करना चाहते हैं तो वो आप कैसे पहचाने? तो देखिए जिस ॅ होगा उसका बिजनेस बिल्कुल क्लियर होगा । तब तो वो हमेशा खुश होगा वो ऍम उसके किसी तरीके की, उसके अंदर या बाहर तरीके से । वो आपको डाॅट नहीं नहीं कर रहे हैं । वो मैं कुछ दिन होगा । वो गलत चीजों में भी वो दुख में भी सुख को ढूंढ रहे हैं । ऐसा नहीं है की सफलता तभी होगा होंगे जब आप बिल्कुल से आप हर रहे । अब यहाँ से कुछ नहीं हो सकता और वहाँ क्या अच्छी चीज दूर हूँ मेरा कहने का मतलब आप जब निगेटिविटी में भी पाजिटिविटी ढूंढ लेंगे उस दिन से आप सफलता की तरह बढ जाएंगे तो वही चीज होता है उन पास के लोगों में जिनके अंदर फाॅर होता है कि वो खुश रहते हैं । उन के अंदर एक जो होता है, एक होती है, एक उत्साह होता है और जिंदगी में उनका एक ना अपनी हर एक जिंदगी । मुंबई तो मजे से जीते हैं । अगर उनके साथ कुछ गलत भी हो रहा है तो वहाँ भी वो सोचते कि कुछ न कुछ तो अच्छा होगा तो वो हमेशा ही रहते हैं । जिंदगी का पूरी तरीके से मजा उठाते हैं तो ऐसे कई सारे लोग होंगे । अगर आप ऐसे लोगों को देख रहे हैं तो समझिए की उनके अंदर फॅमिली है । ऍम के लिए आई तो आई वो आपको बातें समझ में आई होगी कि अगर आप किसी इंसान को किसी पांच टू पर्सन को अगर आप फॅार उसको पहचान जाते हैं तो तीन तरीके से उसको पहचान सकते हैं । अब हम बात करने वाले हैं जब बेनीफिट आॅफ सकारात्मक नजरिये की क्या क्या फायदा है । देखिए ॅ फायदे तो आप सबसे पहले मैं आपको बता दूँ कि उसका एक सबसे बडा जो फायदा है तो मेजर बेनिफिट है । वो है की आप सक्सेसफुल हो जाएंगे । आपको सफलता बहुत जल्दी मिल जाएगी बैठे । इसके ऍम कई सारे फायदे हैं जो मैं आपको एक एक करके बताता हूँ । सबसे पहला है कि आप मेरा कुछ रहा हूँ । आपके अंदर किसी तरह की कोई टेंसन नहीं रहेगी । कोई स्टेट नहीं रहेगा । फिर सेकंड जी जो है आप के अंदर एक होगा, एक होगी अब तीसरी चीजें जैसे कि मैंने बोला अभी बताया की जिंदगी में आनंद बढ जाता है वो बढ जाएगा । आप हमेशा लोगों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहेंगे । लोगों की हेल्प करने के लिए मैं तैयार रहेंगे । आपकी प्रोडक्टिविटी बढ जाएगी । आपकी बिल पाॅल के लिए रहेगा । आपके अंदर छुट्टी फॉर्स आएंगे । आपके अच्छे अच्छे चार के अंदर आइडियाज आएंगे । राइट अच्छी लीडरशिप होगी । ऍम या बिलकुल अगेस्ट रहोगे । बडी बडी जो सरकार ऍम ऊपर आएंगे उनका आसानी से चुटकियों में आप उनको साल हो गए । जो इनवायरमेंट होगा वो आपके ही रिकॉर्डिंग काम करें । जो भी इनवायरमेंट होगा जो भी लोग आपको करेंगे अच्छा करेंगे, पूरा करेंगे । उन चीजों काम आसानी से हैंडल कर लेंगे जो भी आपके आसपास लोग हैं या आपका कोई मालिक है या कोई कर्मचारी है । जो भी है वह कवर आपके फैमिली मेम्बर से आस पास के लोग हैं । लेकिन आपके जो दुश्मन है जो आपसे हेटर से आपके वो भी आपसे बात करना चाहेंगे । तो आपके अंदर फॅमिली तो ये बेनिफिट है तो और सबसे बडा बेनिफिट है क्या सक्सेसफुल हो जाएंगे जिस दिन आप सक्सेसफुल हो जाएंगे सारी चीजे आपके पास आएंगे, जो होंगे वो भी आपके पीछे पीछे आएंगे । ऍम मुसीबत में और मेहनत भी इंसान होता है लेकिन जिस दिन वो सफल हो जाता है सारी दुनिया उसके साथ होती है । मैंने तो आपको के नहीं करनी है तो ये बेनीफिट थे आपके पास ॅ के आई वो आज से ही आप इन पर काम करो गए और इन बेनिफिट इसको स्पाॅट हैं आप ऍम अपने अंदर लाॅट को बाहर हो गया है कि मैं कोई भी छोडना नहीं छोटी सी छोटी की जो आपसे शेयर करता हूँ क्योंकि आप आज नहीं तो कल जब दिया फेसबुक को पार हो गए । आप ये ना हो कि ये जी छूट गए हाँ जी चीजें इस बुक में जो कुछ कहानियाँ बताई गई है फॅमिली आपके बुक में जो कहानियाँ बताई गई है कि इन कहानियों को मैंने छोड दिया क्योंकि बहुत सारी कहानी अगर उसको लेकर चलता तो कई सारी बातें छूट जाती आ गए तो वो कहानियाँ पढ सकते लेकिन मैंने जैसे मैंने कई सारे एक्जाम्पल के थ्रू आपको बता दिया । बता बिल्कुल एक सारी कई सारी कहानियां थी जो पांच खानी है की तरह की थी । जिनका मतलब थी तो उसको लेकर तो मेरे एक कहानी समझा दिया । अब अगर चारों बताता तो एक की तरह किसी एक का हर पांचों कहानी का एक ही मतलब था तो सायदा छोड कर चले । इस वजह से मैंने बताया बाकी सारी चीजे क्लियर होंगी । हाइट तो वैसे मैंने बात बोली कि डाॅॅ नहीं होता है इसका तो नुकसान ही होते हैं तो नुकसान मैं बताऊंगा गया तो आप बात करने वाले हैं की नकारात्मक नजरिये की जो नतीजे होते हैं टाॅक नाइक लेकिन ॅ आएगा तो आप दुनिया से हटकर चलो । मेरा कहने का मतलब ये है की आपके जो रिश्तों में जो भी आपके रिश्ते हैं वो रिश्ता एक वो प्यार मोहब्बत वाला नहीं होता हैं फॅमिली का हो सकता है आपकी जो आपका एक रिश्ता होता है, भाई बहन से एक अलग रिश्ता होता है उनमें एक कडवाहट आ जाएगी क्योंकि उनके अंदर ऍम वो दूसरा सोते हैं और आपको दूसरा सोचते हैं । कितनी वो एक फॅमिली समझ रहे हो तो वो चार जैसा काम नहीं करना है । आपको आप को अपनी जिंदगी में क्या करने ऍम लोगों के साथ ही बात करना पसंद करते हैं? अगर आप आप गलत लोगों के साथ बैठेंगे तो बहुत लोग है जो डाइजेस्ट करने के लिए कुछ लोग हैं जो आप से बात नहीं करेंगे तो रिश्तों में कडवाहट आ जाएगी । आप से लोग हमेशा नाराज रहेंगे । इस प्वाइंट रहेंगे कि ये इंसान बनना है । हमेशा गलत बात होता है । जो काम उनकी ने उसमें उसको भी ये नामुमकिन बना देता है । क्योंकि ऍम वो छोटे से छोटे काम को करने के लिए भी रेडी नहीं है । वहाँ भी वो नाम बोल रहा है कि मत कर ॅ नहीं हो पायेगा, तू तो और नहीं कर पाएगा । दुनिया से भी ये है कि तुम भी नहीं कर पाओगे तो आप वो वाला काम करोगे । भडकाने वाला ऍम चीज होती है । आपकी जिंदगी बेमकसद हो जाएगी । कोई गोल नहीं होगा, कोई विजन नहीं होगा, लाइफ में क्या करना है, क्या नहीं करना है । जो मिल जाएगा उस को कबूल कर लोगे । पांच है दस हजार की जहाँ भी जिस कंपनी में जैसे भी जैसे तैसे जाकर लोगे तो ये सारी चीजें हो जाएगी । आपकी हेल्थ खराब रहेगी । अब हेल्थ खराब होने का मैं मतलब आप लोग सोच लो कि हेल्थ कैसे खराब हो जाए । हम तो अच्छा अच्छा खाएंगे छपी देखो आपने कहावत सुनी होगी कि आजकल लोग दूस अपने दुखों से दुखी नहीं है । दूसरों के सुख से दुखी है तो जिस ऍम करते हैं तो उनके दर का जितना भी दुखा जाएॅंगे उनसे लड जाएंगे । लेकिन अगर आप सक्सेसफुल हो उनसे इस बात से चला है ये ऐसे सक्सेसफुल हो गया तो उनकी सेहत खराब हो जाएगी । खाना नहीं खाया है वो यही सोचते रहेंगे कि क्या करें कौनसा चीज कर रहे हैं जिससे एक गिर जाए की हार जाये लेकिन तब तक आप कामयाबी तक पहुंच चुके हो गए । कामयाबी के उतने ऊंचे से करना पहुंच चुके हो गए कि वो निगेटिव लोग ऍम वो आपको हिना भी नहीं पाएंगे । गिराने की बात तो बहुत दूर ही रहे और इसके बाद जवाब लाइफ में बहुत आगे बढ चुके हो गए तो आपको इसका ऐसा होगा । आप ये बात अच्छे ऍम करोगे की फॅमिली क्यू आया और उसे तब आप बिल्कुल ना तब आप सिगरेट करोगे । आप पछताओगे तो अभी तक समय निकल चुका होगा और लाइफ में आप कुछ नहीं कर पाओगे तो खुद के लिए एक चीज होगी अपने आपको एकदम से होगे । कहाँ यार मैंने ऐसा नहीं किया होता तो मैं उन लोगों की तरह होता है तो ये सारी चीजें होती हैं हमारे जब ॅ ही नतीजे होते हैं की लाइफ में कोई गोल नहीं होता है तो नहीं ऍम वाले ये भी उनको अच्छी नहीं लगेगी । जो जीता आपकी रायॅल तो ये बुक उनके लिए भी नहीं होगी । क्योंकि उनके ॅ बाद में उन्हें समझ में आया जिंदगी पूरा टाइम निकल चुका होगा । तीज पूरा बर्बाद कर चुके होंगे । जब लाइफ में कुछ नहीं बचा होगा पांच हजार दस हजार की कहीं जॉब कर रहे होंगे, ओके रगडा खा रहे होंगे तब मुझे समझ में आए थे । आया मैंने उस टाइम मेहनत कर लिए होता हूँ । फॅमिली होता हूँ और अपने सपनों को इस दुनिया को अपने काम को एक अलग नहीं देख जैसे देखता । तो आज ये दिन देखने पर उस टाइम आपको रियलाइज होगा । उस टाइम ऐसे लोगों को रियलाइज होता है भाई वो आपसे आपकी अगर उन्हें आपके अंदर तो मैं तो यही कहूँगा कि आप हमें सबके अंदर पास ट्वेंटी टू भी बना कर के अभी से ही ऍम बहुत अच्छी बात है । तो मैं आपसे कहना चाहता हूँ आखिरी में देखिए जब कोई स्थान ये कहता है अब ये आप खुद ही बताइएगा । आप मुझे असर करके आपको में बहुत से बता सकते हैं की बहुत अच्छे कोस्टल मैं आपसे पूछ रहा हूँ की देखिए और उसका मैं घर भी दे रहा हूँ कि जब कोई इंसान कहता है यार मैं इस काम को नहीं कर पाऊंगा । मुझे नहीं हो पाएगा अब वह काम आप समझ सकते हैं । किसी भी फील्ड से रिलेटेड हो सकता है वो मैं फॅमिली देखो । जब कोई कहता है कि हम इस काम को नहीं कर पाएंगे तो आप समझते उसके सिर्फ दो रीजन है पूरी इधर कौन से हैं वो दो रीजन है जिसका पहला रीजन है वो है या तो वो इंसान उस काम को करना ही नहीं चाहता हूँ । या तो दूसरा रीजन ये है कि या वो था उस काम को करने के लिए कहते हैं बाल नहीं है उसके अंदर मिलती ही नहीं है । आप कभी भी आजमा के देख लीजिए । आप अपना ही काम कर ले लीजिए नहीं आप बुरा मत मानिएगा । आप किसी काम की शुरुआत करना चाहते हैं जैसे आप कुछ भी बनना चाहते हैं । आप आई एस ऑफिसर बनना चाहते हैं या आप आई । आई टी में जाना चाहते हैं तो आपने सोचा की हाँ मुझे ऍम कराये करना है । अगर आप ने कह दिया की मैं है कि मैं ये नहीं कर सकता हूँ । स्टेट के सिर्फ दो ही रहे हैं । या तो आप आई आई । टी का एग्जाम क्रैक कर ही नहीं पाएंगे । आपके अंदर इतनी मिलती ही नहीं है । या तो आप आई आई । टी का एग्जाम करना ही नहीं चाहते हैं । आॅटो से क्या प्रोटोकाॅल करते हैं तो देखिए अगर आप के अंदर ये है कि आप उस काम को कर ही नहीं पा रहे हैं तो वो ऍम अगर आप को नहीं कर पा रहे हम साथ ही नहीं आज नहीं हो पाएगा तो वो ॅ मेहनत कीजिए, हार्ड वर्क करेंगे । इस संसार में कुछ भी नामुमकिन नहीं । हर एक चीज मुमकिन है बस आप उसको किस तरीके से ले तो वो डिपेंड करता है लेकिन अगर आप तो किस काम तो यार मुझे नहीं करना है तो वह प्रकाश ऐसा करता हूँ । उसका कोई इलाज नहीं है । अगर आपको लाइफ में कोई या आगे चलकर कोई ऐसा इंसान मिले जो आपसे ये कहे कि मैं इस काम को नहीं करता हूँ तो उसके सिर्फ दो ही है या तो उस काम को नहीं कर पाएगा या तो उस काम को करना ही नहीं चाहता हूँ तो आपसे जरूर पूछेगा कि आप करना चाहते हैं याद कर नहीं पाएंगे अगर रसपान सर ये आएगी मैं नहीं करना चाहता हूँ तो आप उसको कोई सहमति लेकिन अगर वो ये है कि मैं नहीं कर पाऊँगा ऐसी चीजे ताबा उसे मोटिवेट करना की कुछ भी मुश्किल नहीं है । आप हार्ड वर्क की कोई पैदा हो किसी के नहीं आता है । धीरे धीरे चीजे आती हैं धीरे धीरे चीजे पडती है आई हो आपको ये पीछे छलांग होगा जो मैंने जीत आपकी ऍसे सिखेरा जी ने लिखा है आपको इस बुक की जितनी भी बातें कर आपको अच्छी लगी ॅ जरूर बताएगा अब मिलने नॅान छोड में । अब अगले एपिसोड में हम बात करेंगे कि सकारात्मक नजरिया को पैसे विकसित करें । ॅ को पैसे अपने अंदर लाए क्योंकि तो अब जो मैंने इस एपिसोड वन में जो बातें कही हैं उसमें देखो । मैंने ये भी बताया कि आईटी टूट के जरिए कैसे सफलता फाॅर कैसा होता है इसके फायदे क्या आॅउट के क्या नतीजे हो तो वो भी मैंने बताया तो आपने से बहुत सारे लोग तो निगेटिव टूटता नहीं रखना चाहेंगे । सब ही रखना चाहेंगे तो राइटर ने बहुत अच्छी बात आगे बताई है कि फॅमिली करें जब आपके अंदर फॅमिली बन जाओगे तो ये ऍम छोड में लेके आऊंगा कि सकारात्मक नजरिए को विकसित कर रहे । ऐसे करें किस तरीके से करें तो फॅमिली तरीके से मेरे साथ मैंने रही है एक किया जाए ।

Details
Hello Sir...This is Saurabh Singh...and you can win is one of the best international bestseller book...So listen very carefully and stay tuned with 🌟 Thanks For more updates follow me on instagram👉https://www.instagram.com/become_star_official/