BlogAbout us
काम पड़ सकता है आधे रिश्ते तो लोग इसी वजह से निभा रहें हैं || अनमोल वचन in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

Podcast | 17mins

काम पड़ सकता है आधे रिश्ते तो लोग इसी वजह से निभा रहें हैं || अनमोल वचन in hindi

AuthorAnmol vachan
नमस्कार दोस्तों, ओम् साईं राम जी,दोस्तों बार बार अनमोल वचन सुनने से मन को शांति और दिल को सुकून मिलता है निगेटिव विचार मन से निकलते हैं और पोजिटिव विचार मन में आते हैं और कुछ नया करने का हौसला मिलता है । धन्यवाद आपका अपना रमेश शर्मा I am a little bit confused, can you help me with the answer? In the present era, why do people obey relationships with someone? What is your opinion on this? In my opinion, in today's life, people only obey the relationships with someone because deep down they know that they might need that person sometime. Believe it or not but people have grown selfish and only think of their own profit only. We have seen in many scenarios that some relationships are based on the thought of profit only. As soon as the profit in the relationship dies, people break their relationship with each other. Do you feel the same or do you have a different opinion? I think most of us have the same opinion because I have heard many people saying this. If you have a different opinion then you should listen to a podcast on our platform titled 'Kaam pad sakta hai aadhe rishte to log isi wajah se nibha rahe hain'. This podcast is available on our platform in Hindi and you can listen to this podcast for free. You can also download and share this podcast for free from our platform. मैं थोड़ा उलझन में हूं, क्या आप मुझे जवाब देने में मदद कर सकते हैं? वर्तमान युग में, लोग किसी के साथ रिश्तों क्यों निभाते हैं? इस पर आपकी क्या राय है? मेरी राय में, आज के जीवन में, लोग केवल किसी के साथ रिश्तों का पालन करते हैं क्योंकि लोग जानते हैं कि उन्हें उस व्यक्ति की आवश्यकता हो सकती है। मानो या न मानो लेकिन लोग स्वार्थी हो गए हैं और केवल अपने लाभ के लिए ही सोचते हैं। हमने कई परिदृश्यों में देखा है कि कुछ रिश्ते केवल लाभ के विचार पर आधारित होते हैं। जैसे ही रिश्ते में लाभ मर जाता है, लोग एक दूसरे के साथ अपने रिश्ते को तोड़ देते हैं। क्या आप भी ऐसा ही महसूस करते हैं या आपकी राय अलग है? मुझे लगता है कि हम में से अधिकांश की राय एक ही है क्योंकि मैंने कई लोगों को यह कहते हुए सुना है। यदि आपकी राय अलग है, तो आपको हमारे मंच पर 'काम पड़ सकता है आधे रिश्ते तो लोग इसी वजह से निभा रहें हैं' शीर्षक से एक पॉडकास्ट सुनना चाहिए। यह पॉडकास्ट हिंदी में हमारे मंच पर उपलब्ध है और आप इस पॉडकास्ट को मुफ्त में सुन सकते हैं। आप हमारे मंच से मुफ्त में इस पॉडकास्ट को डाउनलोड और साझा भी कर सकते हैं।
Read More
Listens96,082
Details
नमस्कार दोस्तों, ओम् साईं राम जी,दोस्तों बार बार अनमोल वचन सुनने से मन को शांति और दिल को सुकून मिलता है निगेटिव विचार मन से निकलते हैं और पोजिटिव विचार मन में आते हैं और कुछ नया करने का हौसला मिलता है । धन्यवाद आपका अपना रमेश शर्मा I am a little bit confused, can you help me with the answer? In the present era, why do people obey relationships with someone? What is your opinion on this? In my opinion, in today's life, people only obey the relationships with someone because deep down they know that they might need that person sometime. Believe it or not but people have grown selfish and only think of their own profit only. We have seen in many scenarios that some relationships are based on the thought of profit only. As soon as the profit in the relationship dies, people break their relationship with each other. Do you feel the same or do you have a different opinion? I think most of us have the same opinion because I have heard many people saying this. If you have a different opinion then you should listen to a podcast on our platform titled 'Kaam pad sakta hai aadhe rishte to log isi wajah se nibha rahe hain'. This podcast is available on our platform in Hindi and you can listen to this podcast for free. You can also download and share this podcast for free from our platform. मैं थोड़ा उलझन में हूं, क्या आप मुझे जवाब देने में मदद कर सकते हैं? वर्तमान युग में, लोग किसी के साथ रिश्तों क्यों निभाते हैं? इस पर आपकी क्या राय है? मेरी राय में, आज के जीवन में, लोग केवल किसी के साथ रिश्तों का पालन करते हैं क्योंकि लोग जानते हैं कि उन्हें उस व्यक्ति की आवश्यकता हो सकती है। मानो या न मानो लेकिन लोग स्वार्थी हो गए हैं और केवल अपने लाभ के लिए ही सोचते हैं। हमने कई परिदृश्यों में देखा है कि कुछ रिश्ते केवल लाभ के विचार पर आधारित होते हैं। जैसे ही रिश्ते में लाभ मर जाता है, लोग एक दूसरे के साथ अपने रिश्ते को तोड़ देते हैं। क्या आप भी ऐसा ही महसूस करते हैं या आपकी राय अलग है? मुझे लगता है कि हम में से अधिकांश की राय एक ही है क्योंकि मैंने कई लोगों को यह कहते हुए सुना है। यदि आपकी राय अलग है, तो आपको हमारे मंच पर 'काम पड़ सकता है आधे रिश्ते तो लोग इसी वजह से निभा रहें हैं' शीर्षक से एक पॉडकास्ट सुनना चाहिए। यह पॉडकास्ट हिंदी में हमारे मंच पर उपलब्ध है और आप इस पॉडकास्ट को मुफ्त में सुन सकते हैं। आप हमारे मंच से मुफ्त में इस पॉडकास्ट को डाउनलोड और साझा भी कर सकते हैं।