आप हम और गुलज़ार साहब की शायरी in hindi |  हिन्दी मे |  Audio book and podcasts

आप हम और गुलज़ार साहब की शायरी in hindi

 • 
 • 
Cinema
Listens
211
Comments
3
Duration
00:04:55
Creator

एक शाम गुलज़ार साहब के नाम.उनके नग्मे और हमारी ज़िन्दगी के धागे कैसे जुड़े हुए है.हमारी और आपकी ज़िन्दगी के कुछ लम्हे एक दुसरे के साथ बाँटते हुए .... My aim is to bring old but beautiful poems that not only expresses our emotions but also calm us!!

  • Episodes
  • More like this

1 Episode 1 mins

Episode 1

2 Episode 3 mins

Episode 2