घर पर पॉडकास्ट स्टूडियो कैसे बनायें?आप पॉडकास्ट के बारे में पूरी जानकारी ले चुके हैं। आपको इसमें अपनी रुचि नजर आ रही है। आप चाहते हैं कि एक बार पॉडकास्ट बना कर देखें । अब आप मोबाइल, इंटरनेट और रिकॉर्डिंग माइक भी ले चुके हैं। आपने कंटेंट सोच लिया, पॉडकास्ट स्टूडियो भी तैयार है, और आप भी। लेकिन क्या आपकी आवाज दूसरे पॉडकास्टर्स की तरह है? क्या इसमें कोई कमी है? आप का कॉन्टेंट तो सही था, पर क्या रिकॉर्डिंग में कोई दिक्कत हुयी? पॉडकास्ट बनाते वक्त ये सभी सवाल व परेशानियां आपके सामने जरूर आयेंगी।

लेकिन क्योंकि आप ये आर्टिकल पढ़ रहे हैं, तो आप की परेशानियों का समाधान भी आपको यहीं पर मिलेगा। अगर आप कूकू एफएम पर अपना पॉडकास्ट बना रहे हैं, तो आपकी रिकॉर्डिंग में आई ज्यादातर खामियों को ठीक करने का ऑप्शन आपको मिल जायेगा। एक बेहतर पॉडकास्ट के उदाहरण के लिये आप यहां क्लिक करें।। लेकिन फिर भी अगर आप के ऑडियो कॉन्टेंट में समस्या है, तो इसका एक सबसे बड़ा कारण हो सकता है आपका पॉडकास्ट स्टूडियो या रिकॉर्डिंग एरिया। इस लेख में हम आप को एक बेहतर पॉडकास्ट स्टूडियो कैसे बनायें,इस बारे में बतायेंगे। तो चलिये, जानना शुरू करते हैं।

पॉडकास्ट रिकॉर्ड करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे कि रिकॉर्डिंग एरिया के आस-पास ज्यादा से ज्यादा ध्वनि को रोकने वाली चीजें जैसे पर्दे या लकड़ी के फर्नीचर। इससे आवाज गूंजती नहीं है, और रिकॉर्डिंग में कोई दिक्कत नहीं होती। इसके अलावा रिकॉर्डिंग एरिया शांत होना चाहिए। उसमें बाहरी आवाजें नहीं आनी चाहिए। बाहरी आवाजें पॉडकास्ट को सुनने के अनुभव में बाधा उत्पन्न करेंगी। इसके अलावा भी कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं, जो आपको अपने घर पर बने पॉडकास्ट स्टूडियो में ध्यान देने की जरूरत है।

1. साउन्ड प्रूफिंग :

रिकॉर्डिंग करते वक्त दो बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। पहली बात तो ये, कि आप किस जगह रिकॉर्डिंग कर रहे हैं, और दूसरा उस जगह आने वाला बाहरी आवाजों का प्रभाव। यदि आपने एक ऐसे कमरे में पॉडकास्ट स्टूडियो बनाया है जो पूरी तरह से खाली है,तो यकीनन आपकी रिकॉर्डिंग खराब होगी। खाली कमरे में जहां सिर्फ सपाट दीवारें हों , वहां आवाज गूंजती है। वहां रिकॉर्डिंग करने पर आवाज दोहराती हुई सुनाई पड़ेगी। इसलिये किसी ऐसे कमरे का चुनाव करें जहां की दीवारें खुरदरी हो या वहां पर ज्यादा से ज्यादा कपड़े या लकड़ी का सामान रखा हो। इससे रिकॉर्डिंग करते वक्त आवाज वापस नहीं आएगी और रिकॉर्डिंग सही तरीके से होगी।

इसके अलावा यदि आप कोई ऐसा कमरा चुनते हैं जहां पर बाहर का शोर ज्यादा आता है या फिर आसपास से आने वाली आवाजों के आने की ज्यादा संभावना है, तो ऐसे कमरे में रिकॉर्डिंग करना भी ठीक नहीं है। पॉडकास्ट स्टूडियो के लिए कोई ऐसा कमरा चुने जहां बाहर से आने वाली आवाजों का प्रभाव कम से कम पड़े।

2. रिकॉर्डिंग के अनुकूल पॉडकास्ट स्टूडियो:

रिकॉर्डिंग के अनुकूल पॉडकास्ट स्टूडियो

जब आप यह सुनिश्चित कर चुके हों कि आपने रिकॉर्डिंग के लिए एक सही जगह को चुन लिया है, तो इसके बाद आप वहां पर अस्थाई रूप से पॉडकास्ट स्टूडियो बनायें। अपने फोन व माइक का सेटअप करते हुए एक ऐसा सही स्थान तलाशें जहां पर आप सही से रिकॉर्डिंग कर पाएं और वहां रिकॉर्डिंग की ध्वनि साफ आ रही हो।

इसके अलावा अगर आप चाहते हैं कि रिकॉर्डिंग और बेहतरीन बने तो कुकू एफएम पर कुछ एडिटिंग फीचर्स का इस्तेमाल करके भी आप इसे बेहतर बना सकते हैं। रही बात आपकी अपनी ऑडियो रिकॉर्डिंग की गुणवत्ता की, तो आप इसे कुछ चीजों की सहायता से सुधार सकते हैं। आप चाहे तो यूएसबी माइक (जो की रिकॉर्डिंग के लिए ही बने होते हैं) ले सकते हैं। इसके अलावा रिकॉर्डिंग सेटअप के एरिया के आसपास कुछ गत्ते या पर्दे लगा कर आप अपनी आवाज को फटने या खराब होने से रोक सकते हैं।

3. शोर करें कन्ट्रोल :

आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपने जहां पॉडकास्ट स्टूडियो बनाया हैं, वहां यदि शोर या कोई परेशानी आ रही है, तो उसका कारण क्या है? यदि दिन के समय आप रिकॉर्डिंग कर रहे हैं, तो संभव है कि बाहर के ट्रैफिक, लोगों की बातचीत, टीवी या किसी जानवर के शोर से आपकी रिकॉर्डिंग खराब हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि रिकॉर्डिंग उस समय करें जब शोर कम से कम हों। कोशिश करें कि रात के समय अपने पॉडकास्ट को रिकॉर्ड करें। इससे आप के पॉडकास्ट को एक बेहतर इफेक्ट और माहौल मिलेगा।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *