पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट कैसे लिखें ?

पॉडकास्ट और रेडियो में ज्यादा अंतर नहीं होता। पॉडकास्ट बनाना भी रेडियो कार्यक्रम बनाने जैसा ही है। जिस तरह ज्यादातर रेडियो कार्यक्रम बनते हैं,पॉडकास्ट भी लगभग उसी तरह बनता है। बहुत से रेडियो कार्यक्रमों को पहले से तैयार स्क्रिप्ट देख कर बोला और रिकॉर्ड किया जाता है, वहीं कुछ रेडियो जॉकी बस विषय सोच कर आते हैं और पूरा समय उस मुद्दे पर बोल सकते हैं। अगर आप पॉडकास्ट बनाने का सोच रहे हैं, तो ये सवाल तो आप को जरूर परेशान कर रहा होगा कि आप अपना पॉडकास्ट कैसे बनायेंगे। क्या आप पहले से तैयार पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट देख कर बोलेंगे या फिर अपने आप कुछ भी बिना देखे बोल देंगे। अगर आप के मन में भी है ये सवाल, तो आपको इस लेख में मिलेगा इसका जवाब, साथ ही आप ये भी जानेंगे कि कैसे अपने पॉडकास्ट के लिए आप एक बेहतरीन स्क्रिप्ट लिखें।  

ये पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप कैसे अपना कॉन्टेंट रिकॉर्ड करना चाहते हैं। आप अगर अपने विषय पर अच्छी पकड़ रखते हैं, और समझते हैं कि आप को किसी स्क्रिप्ट की जरूरत नहीं है, तो आप बेशक बिना स्क्रिप्ट के रिकॉर्डिंग कर सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि आप बीच में अपना कॉन्टेंट भूल न जायें और कहीं अटकें नहीं। इससे बचने के लिये आप छोटे छोटे नोट्स बना लें। और रिकॉर्डिंग के वक्त उन्हें अपने साथ रखें ताकि आप यदि आप कुछ भूलने लगें तो वो नोट्स आपकी मदद करेंगे। लेकिन वहीं कई बार ऐसा हो सकता है कि एक इंसान बोलने में अच्छा हो तो दूसरे इंसान की लिखने की कला अच्छी हो। ऐसे में दूसरे इंसान की मदद लेना भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

अब आप को पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट लिखने के तरीके बतायेंगे।

1. शब्दशः लिखें

शब्दशः लिखें

आप अपने पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट को शब्दशः लिखें। शब्दशः यानि वर्ड टू वर्ड। जैसा आप अपने पॉडकास्ट को चाहते हैं, बिल्कुल वैसा ही अपनी स्क्रिप्ट में लिखें। इससे होगा ये, कि आप का कॉन्टेंट पूरे फ्लो में रहेगा। आप कहीं पर अटकेंगे नहीं और निर्धारित समय के हिसाब से आप अपना पॉडकास्ट पूरा रिकॉर्ड कर लेंगे। समय की कमी आड़े नहीं आयेगी। और सुनने वाले को भी एसा पॉडकास्ट सुनने में अच्छा लगेगा।

2. जरूरी बातें लिखें’

आप चाहते हैं कि पॉडकास्ट धाराप्रवाह रूप में चलता रहे लेकिन आप ये नहीं चाहते कि वो सुनने में स्क्रिप्टेड लगे, तो इसके लिये एक उपाय है। आप बस जिन जिन बातों को अपने पॉडकास्ट में कवर करना चाहते हैं, उनके प्वाइंट बना लें और बीच में कुछ जरूरी बातों को लिख दें। इस से पॉडकास्ट में प्रवाह भी बना रहेगा और और ये भी नहीं लगेगा कि आप पढ़कर बोल रहे हैं।

3. बुलेट प्वाइंट बनायें

अगर आप का कॉन्टेंट छोटी अवधि का है तो आप उसके लिये पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट लिख सकते है। लेकिन यदि आपका पॉडकास्ट आधे घंटे, एक घंटे या ज्यादा का है तो आप इसके लिए स्क्रिप्टिंग नहीं कर सकते। ऐसा करना मुश्किल रहेगा। इसके लिए आप अपने कॉन्टेंट को कुछ हिस्सों में बांटे, और उसके बाद हर हिस्से के बुलेट प्वाइंट्स बनाए। इससे आपको अपना कॉन्टेंट चलाने में आसानी होगी और आप मुद्दे से भटकेंगे भी नहीं।

आप के पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट कैसी हो, ये दो चीजों पर निर्भर करता है:

1. आपके बोलने की क्षमता

2. आपके पॉडकास्ट का प्रारूप

1. बोलने की क्षमता

आप के बोलने की कला अच्छी है और आप अपने विषय पर पकड़ रखते हैं तो, आपको पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। लेकिन यदि आपके बोलने की क्षमता उतनी नहीं है कि आप बिना कुछ देखे अपने पॉडकास्ट को चला पाएं, तो आपको स्क्रिप्ट की आवश्यकता पड़ेगी। यानी हम कह सकते हैं कि स्क्रिप्ट की जरूरत आपके बोलने की क्षमता के ऊपर निर्भर करती है। यदि आप धाराप्रवाह बोल लेते हैं तो फिर आपको स्क्रिप्ट के बारे में ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है।

2. आपके पॉडकास्ट का प्रारूप

आपके पॉडकास्ट की स्क्रिप्ट के लिए आपके कॉन्टेंट का प्रारूप भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आप कोई टॉक शो या कुछ भी सामान्य से कार्यक्रम बना रहे हैं तो आपको स्क्रिप्ट नहीं चाहिए होगी। लेकिन यदि आप इंटरव्यू ले रहे हैं या किसी और प्रकार का ऐसा कॉन्टेंट बना रहे हैं जो ज्यादा अवधि का है और उसमें ज्यादा दिमाग लगाने की आवश्यकता होगी, तो आपको स्क्रिप्ट लिखनी पड़ेगी। वरना आप हो सकता है कि बीच में अपनी बात भूल जायें और आपका कॉन्टेंट डमुद्दे से भटककर किसी और दिशा में चला जायेगा। और संभव है कि आपका कॉन्टेंट अच्छा न बने और सारी मेहनत बर्बाद हो जाये।

पॉडकास्ट के प्रारूप के बारे में ज्यादा जानने के लिए यहां क्लिक करें।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *