अच्छा पॉडकास्ट बनाने के 5 तत्व

पॉडकास्ट बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है, लेकिन अच्छा पॉडकास्ट बनाना थोड़ा-सा मेहनत भरा हो सकता है। पॉडकास्ट अच्छा बने, यह तो हर क्रियेटर चाहता है, लेकिन वह अच्छा “कैसे” बनेगा, यह जानना जरूरी है। एक पॉडकास्ट प्लेटफार्म पर हजारों की संख्या में पॉडकास्ट होते हैं और लाखों की संख्या में लिसनर्स। किसी एक पॉडकास्ट को हजारों लोग सुनते हैं, वहीं किसी को मात्र कुछ सौ लोग भी बमुश्किल सुन पाते हैं। यह अंतर बताता है कि कौन-सा पॉडकास्ट अच्छा है और किस पॉडकास्ट में कमी है।

यदि आप पॉडकास्ट बनाते हैं, तो आपकी ये चाहत होगी कि आपको भी लाखों की संख्या में लोग सुनें। आपका पॉडकास्ट भी बाकी पॉडकास्ट्स की तरह लोकप्रिय हो। ज्यादा से ज्यादा लोग आपको जानें और जल्दी ही आपकी अपनी एक अलग पहचान हो। लेकिन इसके लिए आपके पॉडकास्ट का भी सबसे अलग और अच्छा होना जरूरी है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि एक अच्छा पॉडकास्ट बनाने के लिए किन पांच बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। तो आइए जानते हैं।

1. कॉन्टेंट की बनावट

कॉन्टेंट की बनावट का तात्पर्य है आपके पॉडकास्ट की संरचना या ढांचा। आप जो कॉन्टेंट अपने लिसनर को दे रहे हैं, वह किस संरचना में है। क्या वह एक व्यवस्थित फॉर्मेट में है? क्या वह एक क्रम के अनुसार, एक प्रवाह में चल रहा है। यदि ऐसा नहीं है तो आप का पॉडकास्ट एक अच्छा पॉडकास्ट नहीं कहलायेगा। लोग आप के पॉडकास्ट को सुनना ज्यादा पसंद नहीं करेंगे। एक अच्छा पॉडकास्ट बनाने के लिये आपके पॉडकास्ट का एक क्रम होना चाहिये। एक प्रवाह के साथ सारे कॉन्टेंट आपको रिकॉर्ड करना चाहिए। सुनने वाले को बात क्रम से समझ आनी चाहिए। जानकारियां आगे पीछे नहीं होनी चाहिए। एक फॉर्मेट से लिखी गई स्क्रिप्ट या कॉन्टेंट आपको रिकॉर्ड करना चाहिए। इससे लिसनर का मन आपके पॉडकास्ट को सुनने में लगेगा। और संभव है कि ज्यादा से ज्यादा लोग आपके पॉडकास्ट की तरफ आकर्षित हों।

2. नियमित अंतराल

आपका पॉडकास्ट एक नियमित अंतराल पर लिसनर को मिलना चाहिए। आप कोशिश करें कि हर 3 दिन बाद या हफ्ते भर में एक पॉडकास्ट रिकॉर्ड करके पब्लिश करें। इससे आपके लिसनर को पता रहेगा कि आप पॉडकास्टिंग में सक्रिय हैं । आपका पॉडकास्ट एक नियमित अंतराल पर आने से आपका लिसनर उससे जुड़ा रहेगा। नए लोग तो जुड़ेंगे ही साथ ही पुराने लिसनर के साथ भी आपका संबंध प्रगाढ़ होगा। नियमित अंतराल पर पॉडकास्ट आना एक अच्छे पॉडकास्ट की निशानी है। इससे आपके कार्यक्रमों में एक प्रवाह और लिसनर की रुचि बनी रहेगी। वह निश्चित समय पर ही आपके पॉडकास्ट का इंतजार करेगा और साथ ही यह आप की सक्रियता को भी दिखाएगा।

3. मुद्दे से भटकें नहीं

एक अच्छा पॉडकास्ट बनाने के लिए आपको यह स्पष्ट होना चाहिए कि आप किस मुद्दे को चुन रहे हैं । आपको उस मुद्दे पर पूरी जानकारी रखनी है। लगभग हर बारीकी आपको पता होनी चाहिए। अपने मुद्दे को ध्यान में रखकर आपको पूरा कॉन्टेंट बनाना है। यदि आप एक मुद्दा चुनते हैं और उससे भटक कर किसी और विषय पर पहुंच जाते हैं, तो आपके पॉडकास्ट बनाने का कोई औचित्य नहीं रह जाएगा। आपको एक विषय चुनना है और पूरा पॉडकास्ट उसी को दिमाग में रखकर बनाना है। मुद्दे से भटकना आप के लिसनर को अच्छा नहीं लगेगा। वह जल्द ही आप के चैनल से दूर जा सकता है। इसलिये मुद्दे को ध्यान में जरूर रखें।

4. लिसनर को समझें

लिसनर

पॉडकास्ट कॉन्टेंट क्रियेटर होने के नाते लिसनर को समझना बहुत जरूरी है। लिसनर पर ही आप के पॉडकास्ट की प्रसिद्धि निर्भर करती है। अपने लिसनर को जानने की कोशिश करें। समझें कि वह किस प्रकार का कॉन्टेंट चाहता है। और एक बार आप उसकी पसंद जान लें, तो आप के लिये लोकप्रियता की राह आसान हो जाती है। आप को बस लिसनर की इच्छा के हिसाब से कॉन्टेंट बनाना है, और लिसनर उसे ज्यादा से ज्यादा शेयर कर देगा। आप के लिसनर को अगर आपका पॉडकास्ट पसंद आ रहा है, तो वह एक अच्छा पॉडकास्ट माना जाएगा। अपने लिसनर को ज्यादा बेहतर तरीके से समझने के लिये यहां क्लिक करें।

5. प्रमाणिक कॉन्टेंट

ये ध्यान रखें कि अच्छा पॉडकास्ट बनाने की आपाधापी में आप गलत कॉन्टेंट न बना दें। एक अच्छे पॉडकास्ट के लिये प्रमाणिक कॉन्टेंट होना अति आवश्यक है। आप के कॉन्टेंट में तथ्य होने चाहिए। आपके पॉडकास्ट में कोई झूठी या फर्जी खबर नहीं चलनी चाहिये। साथ ही समाज के किसी वर्ग विशेष के लिये कोई हीन भावना भी आप के पॉडकास्ट में नहीं होनी चाहिए। आप का कॉन्टेंट संतुलित और प्रमाणिक बातों पर आधारित होना चाहिए।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *